बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,आज का सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ जिम वाली: बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी, जब मैं शादी करके आई थी तो वो 15 साल का था, मेरी सास ना होने के कारण उसकी सारी देखभाल मैंने ही की थी और उसने भी मेरा ख्याल बहुत कायदे से रखा था.

खिलाड़ी सेक्सी फिल्म

फिर उसे मैंने सीधा किया और उसके दूध की तरह सफ़ेद चूचों को और उन पर एकदम पिंक निप्पलों की छटा को देख कर मैं भी पागल हो गया. प्रतापगढ़ की सेक्सी वीडियोएक भाई अपनी सगी बहन को रक्षाबंधन के दिन चोद रहा था और वो बहन मजे से चुदवा रही थी.

रोशनी मैं जानता हूँ कि हम एक दूसरे को दिल में प्यार करते हैं, हां या ना?”उसने आँखें नीचे करके सर हिला के हां” कर दिया. सेक्सी वीडियो चुदाई वाली चलने वालीनताशा इस समय उत्तेजना के चरम पर थी और बिना किसी थकावट के दो लंडों को अपनी चूत और मेरे लंड को अपने मुंह में लेते हुए मस्त हुई जा रही थी.

क्या उनका चालचलन ठीक है?मैं- मुझे पक्का नहीं मालूम, लेकिन अगर वे किसी के साथ एन्जॉय करती भी होंगी तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है.बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी: मुझे भी पूरा मन कर रहा था कि वो मुझे अपने साथ अपने होटल ले जाए और मेरी गांड में अपना लंड डाल दे.

फ़िर मैंने मेरा लंड दीदी की चुत पर सैट किया और धक्का मारने की कोशिश करने लगा.मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी दीदी की चुत चुदाई की कहानी पसंद आई होगी.

सेक्स बीपी फिल्म सेक्सी - बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी

उसके जाने के बाद बहुत दिन मुझे मेरी प्यास को मारना पड़ा था, मैं मेरे पुरानी कंपनी में बहुत दिन से काम कर रहा था पर बढ़ती हुई महँगाई के साथ मेरी सैलरी नहीं बढ़ी तो मैंने वो जॉब चेंज करने की सोची और नए जॉब सर्च में लग गया.इस बीच मैंने माँ को खूब सारे नॉनवेज जोक्स भेजे और उन्होंने भी मुझे नॉनवेज जोक्स भेजे.

ग्राउंड फ्लोर में मेरे पापा और मम्मी रहते हैं, मेरे बड़े भैया बैंगलोर में जॉब करते हैं. बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी ‘ओह म्म्म्म ममम आआअम्म्म…’ फिर मैंने आहिस्ता से अपना लंड थोड़ा सा बाहर निकाला और तेज रफ्तार से अन्दर करने लगा.

उन्होंने भी अपने पैरों से मुझे जकड़ लिया था, जैसे कोई अजगर अपने शिकार को पकड़ लेता है.

बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी?

जिस समय नीला ने मेरे लंड को अपनी चुत में लिया था, उस वक्त उसकी एक तेज कराह भी निकली थी. मैंने दाना डाल दिया था, अब देखना था कि पक्षी उसमें फँसता है या नहीं. आज मैं अपनी बीवी को पक्का चुदवाने वाला था तो मैंने उसे फोन करके बोल दिया था कि जब हम दोनों घर आएं तो वो बिल्कुल नंगी मिले और कपड़े बदलने का नाटक करे.

मुझे पता था कि मॉम नीचे कुछ नहीं पहनती हैं, तो मैंने मॉम की मैक्सी धीरे धीरे ऊपर करना शुरू की और उनकी गांड से ऊपर तक उठा दी. उनको पता ही नहीं लगा कि उनकी मुसीबत उनकी बीवी और बेटी की चूतों ने दूर की है. मैं गाड़ी के एकदम नजदीक पहुंच गया और गाड़ी के शीशे में देखने की कोशिश करने लगा.

चाची मेरे लंड को बड़ी लालसा वासना से निहार कर बोलीं- सच में अब तुम बच्चे नहीं रहे… जवान हो गए हो. पर कुछ देर बाद उनका पीरियड ख़त्म हो गया और नेक्स्ट पीरियड के बाद छुट्टी हो गई. मैंने देखा कि कामिनी को उस बन्दे ने चिपका रखा है और वो उसको किस कर रहा है, कामिनी भी उसको किस कर रही है, और दोनों लिपटे हुए थे.

विक्की बोला- पर सर आपने तो हमें सिखाया ही नहीं कि लौड़े को अंग्रेजी में क्या बोलें?मैंने कहा- ओके हम कल इस विजुअल डिक्शनरी से शरीर के अंगों के इंग्लिश शब्द सीखेंगे. कहने लगी- राजे… बड़ा मज़ा आ रहा है… मेरा ऐसा दिल कर रहा है कि तुम मेरा कचूमर बना दो… तुम धीरे हो जाते हो तो ये बदन काट खाने को हो जाता है… प्लीज़ राजे पूरी ताक़त से धक्के ठोको.

कुछ देर बाद मां सिसकारी भरने लगीं- उम्मआहह आआहह आअहह उफ़ उईई उफ्फ उफ्फ…चुदाई का यह नजारा देख कर मेरा मन भी हो रहा था कि मैं भी अपनी चुदक्कड़ मां को चोद दूँ.

!मुझे नशा तो चढ़ ही गया था, मैंने भाभी को देखा और कह दिया- मुझे प्यार व्यार में भरोसा नहीं है, मैं सिर्फ मज़े लेता हूँ और देता हूँ.

मेरी नजर अपनी बहना की बुर पर थी, उसकी बुर पर छोटे छोटे बाल थे, लग रहा था कि वो अपनी झांटों की सफाई करती थी. अब आगे:मैंने कहा- अंकल कुछ करिये… उंहहह अहहह… मुझसे रहा नहीं जा रहा!अंकल बोले- सच में मेरी बीवी बनना हो तो मैं चोद दूं?मैं चुप रही तो बोले- चलो ठीक है आरती, मेरी रखैल बनोगी? इसमें तो दिक्कत नहीं है।मैंने कहा- ठीक है, जो आप कहो!तो अंकल बोले- आरती, रखैल मतलब जानती हो?मैंने कहा- नहीं!तब वे बोले- आरती, बिना शादी के चुदाई करवाने वाली… जब मैं जिससे बोलूं चुदवाना पड़ेगा. मैंने उनसे चुदाई की बात भी की, पर उन्होंने अगले दिन बताया कि वो 4-5 दिन के लिए गोवा जा रहे हैं, चिंटू का कोई काम है.

चिंटू मेरे छेद में उंगली का ज़रा सा हिसा रखा कर उसे गोल गोल घुमाने लगा, मुझे अच्छा लगा रहा था तो मैंने उसे कुछ नहीं कहा. मेरे चाचा बहुत शराब पीते हैं, उस कारण से उनकी और चाची की ज्यादा नहीं बनती है. पहले मैंने अपनी जीभ से उसके होंठ को चाटा, फिर उसके नीचे के होंठ को अपने दोनों होंठों के बीच दबा कर चूसने लगा.

जब कंपनी के एमडी से पूछा गया तो उसने साफ साफ़ कह दिया मुझे कुछ पता नहीं है कि यह क्या करती है.

मैंने वैसा ही किया, ड्रेसिंग टेबल से तेल की बोतल उठा कर उसकी चुत में उड़ेल दी और उंगली से अन्दर तक घुसा दिया. पहले उसे जी भर के इतना तड़फाता हूँ कि वो खुद ही बोलने लगे कि डॉक्टर अन्दर का इलाज कब करोगे?यानि उसकी चुदास भरी हरी झंडी मिलते ही मैं उसकी चूत में मेडिसिन यानि गर्भनिरोधक गोली डाल देता हूँ. इसके बाद भी काफी दिन नार्मल ही बीते, पर धीरे धीरे अब वो भी मुझे प्यार करने लगी थी.

दोनों उरोजों के बीच की घाटी को चूमा-चाटा पर सब्र कहाँ?हम लोग बड़ी ही असुविधजनक स्थिति में बैठे थे लेकिन परवाह किस को थी. लगभग दस मिनट के बाद उसका शरीर अकड़ने लगा और वो तेज आवाजें करते हुए झड़ गई. उसका खड़ा लंड देख तो मैं हक्का बक्का रह जाती और मैं उसे टीज़ करने का कोई मौका नहीं छोड़ती थी.

जीतू ने मुझे गरम होता देखकर अपना लंड सहलाना चालू कर दिया और मुझे लिटा कर मेरी चुत के मुँह पर अपना लंड रख दिया.

उस दिन के बाद जब भी मौका मिलता था, तब हम दोनों सेक्स कर लिया करते थे. तो प्रिया की मम्मी को साथ चलने के लिए फ़ोन लगाया गया और साली साहिबा भी फटाक से सुधा के साथ चलने को तैयार हो गयी.

बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी विनय- अच्छा क्या मेरा लंड तुमको पसन्द आया?मैं- वो तो टेस्ट करके ही पता चलेगा. जैसे ही मैंने अपना लिंग पूरी सख्ती से प्रिया की योनि से बाहर खींच कर वापिस प्रिया की योनि की गहराई की आखिरी हद तक पंहुचाया, तभी मेरे अंदर… मेरे खुद का ज्वालामुखी फट पड़ा.

बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी ऐसे ही बात करते करते हम 20 मिनट बाद एक साथ झड़ गए और एक दूसरे से चिपक कर नंगे ही सो गए. चिंटू मेरे छेद में उंगली का ज़रा सा हिसा रखा कर उसे गोल गोल घुमाने लगा, मुझे अच्छा लगा रहा था तो मैंने उसे कुछ नहीं कहा.

उसको अपने नजदीक खींचा तो उसने कोई आपत्ति न करते हुए सीधे मेरी गोद में बैठ जाना ठीक समझा.

भाभी की चुदाई वीडियो एचडी

मैं कबसे पागलों की तरह आपको देखने का वेट कर रहा था और आप मुझे तरसा रही हैं. उस दिन पूरा दिन मेरे हाथ कुछ नहीं लगा, लेकिन रात में सोने की प्राब्लम सामने खड़ी हो गई. अब हम कभी कभी फ़ोन सेक्स भी करने लगे थे और वो मुझे अपने बूब्स की पिक्स भी भेजने लगी थी.

अगले रविवार को उसने कहा- आज तुम मेरी गेस्ट हो और मुझे होटल में मिलना, हम दोनों वहीं पर लंच करेंगे और डिनर फिर तुम्हारे घर पर करेंगे. मेरी सेक्सी कहानी के पिछले भागबॉय से कॉलबॉय का सफर-2में अब तक आपने पढ़ा. फिर मैंने अपना सर रजाई के अंदर डाल दिया और चूत को किस करने लगा, वो मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी.

वाशरूम से लौटी तो एक ही कुर्सी खाली रहने के कारण उसके पीछे कुछ देर खड़ी रही.

इस वक्त मां की चूत एकदम रसीली हो रही थी क्योंकि रमेश अंकल के दोस्त के लंड से चुदने के कारण मां की चूत ने मलाई छोड़ दी थी. फिर धीरे धीरे मेरे जेवर उतारने लगे और नथ छोड़ कर सब उतार दिया।अब मेरी बेटी के पति ने मेरी साड़ी भी उतार दी. तुम्हारे सामने ही चुदाई शुरू हुई थी, उस साले ने पूरी रात पाँच बार मेरी चुत का हलवा बनाया है.

मैंने कई सेक्स कहानी पढ़ी हैं, लेकिन सच्ची घटना बताने के लिए कहानी लिख रहा हूँ क्योंकि आज तक ये बात मैंने किसी को नहीं बताई है. तो सोचो दोस्तो, मेरे लंड का क्या हाल हुआ होगा?खैर मैं मिंकी से लिपटते हुए किस करने लगा और नीचे की ओर खिसक कर मैं उसकी नाभि पर आ गया और उसमें जीभ डाल कर घुमाने लगा तो मिंकी सिसकारी भरने लगी. उसने मुझे अपना कार्ड भी दिया और उस पर अपने फ्रेंड का नम्बर भी लिख दिया, तब मुझे पता लगा कि जिसे वो चोदूराम कह रहा था, उसका नाम विमल है.

फिर पिंकी ने गोलू को लंड दिखाने को कहा, उसने शर्मा कर मना कर दिया; गोलू 18 साल का बहुत शर्मीला लड़कियों जैसा स्वभाव वाला लड़का है. जिससे चाची को थोड़ा बुरा सा लगा और वो झल्ला कर बोलीं- ये क्या किया?मैंने कहा- सॉरी चाची मैं अपने आपको रोक नहीं पाया, मुझे माफ़ कर दो.

मेरी एक मीठी सी चीख भरी सिसकारी निकल गई और मैं उससे और अधिक चिपक गई. मैंने मां को फ़ोन पकड़ा दिया और पास वाले रूम में चला गया और चुपचाप मां की बातें सुनने लगा. अगले ही पल मैंने अपनी पैंट को घुटने तक सरका दिया और मैं नंगा हो गया.

मैंने झट से खींच कर पेंटी उतार दी और अपनी जीभ आंटी की बुर पे रख कर चाटने लगा.

फिर मैंने भाभी को सीधा कर दिया और उनके होठों को किस करने लगा। कसम से भाभी इतनी गर्म थी, मुझे पता नहीं था. जैसे ही उसने लंड को देखा, वो बोली- बाप रे बाप इतना बड़ा और मोटा लंड, मेरे पति का तो इससे काफ़ी छोटा है. और तभी आर्थर के लंड से निकले गाढ़े वीर्य का थक्का उड़ता हुआ उसके खुले मुंह में समा गया.

फिर जब हम दोनों का काम खत्म हो गया तो दोनों लड़कियाँ बोली- चलो अच्छा हुआ, एक बोतल और मिल गयी मूतने के लिये, अब जब हम लोगों को पेशाब लगेगी, तो एक दूसरे के मुंह में मूत लेंगी।लेकिन अभी मुझे पेशाब आयी है!” सोनी बोली. अंजलि सोफे से उठ कर हमारे पास आ गयी थी और पीछे से मेरी कमर पर किश करने लगी.

”उसने मेरी एक ना सुनी और एक और झटका मारा और थोड़ा और लंड अन्दर कर दिया, मैं और जोर से चिल्लाने और चीखने लगी. अब साहब ने मेरी चूत में पीछे से लंड डाल दिया और जल्दी जल्दी चोदने लगे. फिर उन्होंने भी देर नहीं की और चिंटू ने मुझे उनकी गोदी में उठा कर अपने लंड को मेरी चूत में फंसाने लगा.

हिंदी चुड़ै की वीडियो

मुझे नीट शराब बड़ी कड़वी लग रही थी तो मैंने सिगरेट लेकर शराब की कड़वाहट खत्म करने की कोशिश की.

मैंने अब अपनी जीभ उनकी चूत के अन्दर डाल दी और उनके दाने को मसलने लगा, जो वो बर्दाश्त न कर पाईं और मेरे मुँह में झड़ गईं. सो मैंने बेझिझक अपने कपड़े उतारे और उसकी गोद में बैठ कर उसके कपड़े भी उतारने लगी. जो मधु ने अपनाया। क्योंकि खाली पैसे से तो शरीर की भूख नहीं मिटती।अब मेरे सामने दो समस्या थीं।एक तो इस काम के पैसे लूँ या नहीं। दूसरी.

तभी अचानक बाहर से गाड़ी के हॉर्न की आवाज़ ने पूरे माहौल में डिस्टर्बेंस डाल दिया. मां के इस ब्लाउज का गला बहुत गहरा था, जिससे उनकी चूचियां आधी से ज्यादा दिखाई डी रही थीं. सेक्सी ब्वॉय एंड ब्वॉयदीदी के बड़े बड़े बूब्स ब्लू रंग की ब्रा में जकड़े हुए थे… ब्रा इतनी टाइट लग रही थी कि मानो बीच से अभी टूट जाएगी और दीदी के चुचे अभी ब्रा से बाहर कूद पड़ेंगे.

खैर मैंने दुबारा पूजा को घोड़ी बनाया और थोड़ी ज्यादा सी क्रीम लगा कर लंड को पूजा की गांड के छेद से सटा के जोर का धक्का मार दिया. वो बोली- प्लीज़ अब सहा नहीं जा रहा है, लगता है जैसे बेहोश हो जाऊंगी.

सब्जी तथा ग्रीन सलाद परस कर भैया की दिया और पूछा कि प्याज लेना चाहेंगे तो उन्होंने हाँ में सर हिलाया. मैंने कहा- सर अगर किसी को कुछ लेना देना हो तो खुल कर बता दीजिए, मैं भाई से कह कर सब कुछ करवा दूँगी. लेकिन बर्थ छोटी थी, जिस वजह से परीक्षित को थोड़ी सी समस्या हो रही थी.

वो मेरी तरफ कुछ अजीब तरह से देखने लगी और अपना चेहरा मेरे पास लाने लगी. इसलिए मैंने और कुछ नहीं किया बस सिर्फ उसको बार बार अपने मम्मों के दर्शन करवाती रही. मेरी इसी खासियत के चलते आंटियां भाभियां और लड़कियां, सबकी सब बिंदास मेरे लंड का मजा लेने आ जाती हैं.

कुछ देर बाद मैं नीचे लेट गया और वो मेरे लंड को अपनी चूत में फंसा कर उछल उछल कर चुदवाने लगीं.

मैंने कहा- यार पंकज, मुझे आए हुए तीन दिन हो गए, पर कहीं घूमने नहीं गया घर पर अब बहुत बोरियत हो रही है. मेरी हालत तो उस लोमड़ी की तरह हो गई थी, जिसके सामने अंगूर लटके हुए थे, पर खा नहीं सकता था.

कुछ देर बाद मूवी में एक हॉट गाना आने लगा तो उसको भी कुछ कुछ होने लगा. उनकी आँखें बंद थीं और वो जोर जोर से सिसकारी भर रही थीं- आ आ आ आ ऐसे ही चूसो. खैर मैं ज्यादा देर रुक भी नहीं सकती थी, तो मैंने अपना दिल थाम कर बाहर निकल गई.

मैं दिन में भईया और रात को सैयां बनकर रहूँगा। इसके अलावा कोई रास्ता नहीं दिख रहा। आगे तुम्हारी मर्जी।किसी को पता चल गया तो?”किसी को पता नहीं चलेगा. फ़िर मैंने दोनों टांगों से पैंटी को काट दिया और पैंटी कटी फटी हालत में नीचे गिर गई. बीच बीच में वो बोल देती थी- यस राजेश उम्म्ह… अहह… हय… याह… फक मी हार्ड.

बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी उसने ब्लू कलर की पेंटी पहनी थी और उसकी जांघ बहुत पतली सी ट्यूब लाइट जैसे चमक रही थीं. पहले तो भाईसाहब ने मना कर दिया, पर बाद में बोले कि आप चलिए मैं आता हूँ.

ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ಬ್ಲೂ ಫಿಲಂ

मैंने उससे मिलने का पक्का करके उसके घर पीछे के रास्ते से बचता बचाता अन्दर गया. भाभी के मुँह से भी धीमी धीमी आवाज़ आने लगी, उनकी सांसें एकदम तेज होने लगीं. मैंने फिर से सुपारे को चूत के अन्दर डाल कर निकाल लिया, फिर पूरे तेजी के साथ उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया.

वहां के होटल ढाबे की तरह थे और सब लड़के लड़कियां छोटे छोटे कपड़ों में लेटे थे, घूम रहे थे. मुझे लगा कि वो मेरी चुदाई से संतुष्ट नहीं हुई थी और शायद जॉब के कारण उसने शहर भी छोड़ दिया है, तभी कॉल नहीं लग रहा था. सेक्सी हिंदी में वीडियो दिखाएंएक दिन मैंने उनसे बात करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने मुझे कोई भाव नहीं दिया.

अब प्रीति की आवाज़ साफ़ सुनाई दे रही थी… वो फोन पे अपनी चुदाई की कहानी सुनाए जा रही थी.

मैं बालकनी में रखी प्याज को वहीं वाशवेसिन में धोकर झुक कर काटने लगी. विनय ने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरे ऊपर लेट कर मेरे होंठों को अपने होंठों में फंसा लिया.

फिर मैंने उसे बेड पर लिटाया और उसकी टांगों के बीच जाकर उसकी चूत पर अपना लंड फेरा और बोला- तू कितने दिन से नहीं चुदी है?वो बोली- दो महीने से नहीं चुदी हूँ… पर आज जी भर के चोद दो, कई दिनों से चाहती थी कि आप मुझे चोदो. कुछ देर बाद नताशा आँखों ही आँखों में मुझसे कुछ कहने की कोशिश करने लगी, तब मैंने ध्यान दिया कि वो तो बोलने की हालत में ही नहीं थी. चलती गाड़ी में कोई आपका लंड चूस रही हो तो उस फीलिंग को शब्दों में बयाँ नहीं कर सकते।और ऊपर से कोई लड़की पहली बार लंड का स्वाद चख रही हो तो कहना ही क्या!मेरे लंड की चुसाई और गाड़ी की स्पीड दोनों लगातार बढ़ रहे थे। आखिरकर मेरे लंड ने कुछ मिनट बाद हार मान ली और एक गरम धार अर्पिता के मुख में डाल दी.

मेरा बुरा हाल हो चुका था, मैं सिर्फ अपने लंड पर हाथ रख कर मदहोश होकर ये सब देख रहा था, मेरी अकल ने काम करना बंद कर दिया था.

ये क्या कर रहे हैं… कोई देख लेगा!”वो देखो उस साइड… सब मस्ती कर रहे हैं…” मैंने नजर घुमाई तो वे मेरे को गले से लगा कर किस करने लगे. एक हाथ से उसके बाल मैंने पीछे से पकड़ लिए और दूसरे हाथ से उसकी गांड पे झापड़ मारता हुआ उसको धकापेल चोद रहा था. मैंने लैपटॉप वगैरह बंद किया और अब मॉम और दीदी को कैसे चोदूँ, बस यही सब सोचने लगा.

जंगल की सेक्सी दिखाओआंटी ने अपने घर का एड्रेस दिया और मैं ऑटो पकड़ कर उसके दरवाजे पर पहुंच गया. अब मैं मुख्य घटना पर आती हूँ, मेरी शादी को 20 दिन ही हुए थे और हम दोनों हर रात चुदाई का मज़ा भी ले रहे थे.

ಸೆಕ್ಸ್ ಬಿಎಫ್ ವಿಡಿಯೋಸ್

एक तो मेरी ड्रेस ऐसी थी कि उस ड्रेस में तो कोई भी लड़की हो, सब उसे ही देखेंगे. वो जैसे ही चर्च से बाहर निकला, मैं ऐसे उसके पास चली गई, जैसे यह कोई इत्तेफाक हो. फिर मैं उसकी लेग्गिंग्स को धीरे से खींचने लगा तो उसमें मुझे उसकी रजामंदी बिल्कुल साफ़ समझ आ गई क्यूंकि उसने अपने कूल्हे उठाकर लेंगिंग्स निकालने में मदद की.

उसके सामने कपड़े उतारने की बात सोच कर मैं शर्म से पानी पानी हो रहा था. बहूरानी की पारदर्शी नाइटी, जो सामने से खुलने वाली थी, में से उसके गुलाबी जिस्म की आभा दमक रही थी; उसने ब्रा या पैंटी कुछ भी नहीं पहना था. उसने भी मुझे मना नहीं किया तो मैंने उसे खींच कर अपने सीने से लगा लिया.

तो मैंने उसे पुणे के बारे में और यहाँ के इंटरव्यू के बारे में सब बता दिया. मैं उस समय भी खाली था, तो मैंने पूछा- अभी आ जाऊं?उसने कहा- हां आ जाओ. तभी मेरी फ्रेंड अवि ने ये देखा और मुझे बचाने के लिए उनका ध्यान नीचे पड़े काग़ज़ की तरफ कर दिया- सर देखिए ये क्या पड़ा है?तो उन्होंने मुझे बैठने को कहा और मैं अपनी सीट पर जा कर बैठ गई.

कॉलेज के पहले दिन मैं क्लास में बैठा हुआ बाकी स्टूडेंटस को आते देख रहा था. मेरा नाम राहुल है, मेरी उम्र लगभग 34 साल है, मेरी बीवी का नाम कामिनी है और उसकी उम्र 31 साल की है, उसकी फिगर बहुत ही कामुक है, उसकी फिगर 36 डी 30 और 38 है और वो बहुत सुन्दर महिला है.

पर तभी मुझे ख़याल आया कि अभी उन दोनों को रंगे हाथ पकड़ता हूँ, पर मैंने सोचा मैं पकडूँगा और बाद में घर में ये बताऊंगा तो बहुत काम लोग मेरा यकीन करेंगे क्योंकि मेरी साली की छवि ही इतनी उजली थी कि हर कोई यही सोचता कि वो ये नहीं कर सकती.

मैं बड़ा वाला फर्राटा लेकर उन कमरे में लगाने पहुँचा तो देखा कि भाभी सो रही हैं. माधुरी दीक्षित का फुल सेक्सी वीडियोअगले दिन जब पूरी तरह से चुद कर घर वापिस आई तो थकान की अवस्था में ही मैं ऑफिस चली गई मगर मेरी आँखें लाल और खुमारी से भरी हुई थीं. वीडियो सेक्सी चुदाई वीडियो सेक्सी चुदाईरात को जब वो डिनर करके वापिस जाने लगा तो मैंने उसको बाहर तक छोड़ा और उसके इतना पास चिपकी सी रही कि अपने मम्मों की रगड़ भी उसको लगाती रही. मैंने पूछा- अब क्या करना चाहते हो?वो बोला- तुम मेरे लंड पर बैठ कर, उसको अपनी चुत में घुसा कर धक्के मारो और नेहा मेरे मुँह पेर बैठ जाए जिससे मैं उसकी चुत को पूरा चूस कर चुत का रस निकालूँगा.

तभी समधन जी ने अपना एक हाथ मेरे ब्लाऊज पे रख दिया और मेरे ब्लाऊज के हूक को खोलने लगी।मैं कुछ समझ पाती, इससे पहले उन्होंने मेरे बूब्स को नंगा कर दिया, एकदम से मेरे ऊपर आ गयी और अपने होंठों को मेरे होंठों से जोड़ दिया.

चर्रर… की आवाज़ के साथ कैंची का एक हिस्सा पैंटी में घुस गया और फ़िर मैं धीरे धीरे उनकी पेंटी काटने लगा. मैं कभी उसकी चुत को ज़ुबान से चोदता, तो कभी उसके क्लाइटॉरिस को दांतों से काट लेता. मैं छुप गया, वो समझी कि मैं बाथरूम में ही हूँ और फिल्म म्यूट करके देखने लगी.

मैं अंजान बनती हुई बोली- ओह… चलो कहीं बैठ कर चाय पीते हैं अगर तुमको कोई काम ना हो तो!वो बोला- मुझे कोई काम नहीं है. भाभी खाना बनाने लगी तो मेरे मन में ख्याल आया कि मैं भी भाभी के साथ रसोई में जाता हूँ. मैं और मेरा दोस्त इलाहाबाद से मुंबई के लिए घर से निकले और एक लम्बे सफर के बाद हम मुंबई पहुँच गए.

మరాఠీ సెక్స్ బిఎఫ్

वो भी इतनी गरम हो गई थी कि जैसे ही मेरे होंठ उसकी चुत को चूमते, वो अकड़ जाती. पापा जी अब बस भी करो ना, चलो पहले खाना खा लो फिर ये सब बाद में कर लेना अब तो टाइम ही टाइम है अपने पास!”अरे बेटा, इतनी जल्दी नहीं अभी आठ बीस ही तो हुए हैं. बोली- कहीं लोंग ड्राइव पर चलें?मैंने कहा- आपको घर तो जल्दी नहीं जाना??वो बोली- नहीं, अभी कोई जल्दी नहीं है.

फिर उसने मेरी शर्ट के बटन जल्दी से खोल दिए जिसे मैंने खुद ही बनियान सहित उतार के फेंक दिया और बहूरानी के नंगे जिस्म को पूरी ताकत से भींच लिया.

जल्दी से मैंने बैग खोला, अपनी जीन्स और शर्ट निकाली और अन्दर से एक पिंक कलर की ब्रा और पैंटी निकाल कर पहन ली.

चूत गीली होने की वजह से उनका लंड मेरी चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया।मैं उछल गयी- आआह… रे…फाड़… ड़ी!वे फच्च फच्च… मुझे चोदने लगे, मैं रंडी की तरह उनके हर ढ़क्के का जवाब अपनी कमर से देने लगी- सस्स्स… पट…पट… हाआआ…चोदो कुत्ते अपनी कुतिया को!वो भी मुझे गाली देने लगे, बोले- ले रंडी… चुद ले… बहुत गर्म चूत है तेरी !कुछ देर में ही मैं एक बार और झड़ गयी। पर वो मुझे चोदे जा रहे थे. काव्या जागी तो खुद को नंगी देख कर वो एकदम से थोड़ा शर्मा सी गयी लेकिन मैंने उसे अपनी बांहों में जकड़ लिया और चूमना चाटना शुरू कर दिया. घोड़े के साथ सेक्सी बीपीमेरा एक हाथ उसकी गर्दन पर था और दूसरा हाथ उसके एक नंगे चूतड़ पर!थोड़ी देर में सांस ना आने के कारण वो बेचैन हो गई और उसने अपने होंठ मुझसे छुड़वा लिये.

मैं भी उसको ऐसे देख रहा था, जैसे मैंने भी आज उसकी जवानी के जाम को पी कर उसको खा जाने का मन बना लिया हो. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राकेश है (बदला हुआ नाम) मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और पिछले कई साल से अन्तर्वासना पर प्रकाशित कहानियां पढ़ रहा हूँ. यह कहानी जीजा साली की चूत चुदाई की है, मेरी उस साली के साथ सेक्स के बारे में है जिसे मैं बहुत पसंद करता था.

जब चूत ने पानी छोड़ा तो उसने पेपर्स पर जहाँ साइन किए था, उसके नीचे चूत का पानी डाल दिया. लेकिन भैन की लौड़ी नाटक तो ऐसे कर रही थी, जैसे पहली बार लंड लिया हो.

उसके चूचे बहुत बड़े होने की वजह से मुझे उसकी शक्ल अच्छे से नहीं दिख रही थी.

मैं तो यह समझ कर आपके कमरे में आई थी कि आप भी मुझसे वही काम करेंगे, जो सब करते हैं, मगर आपने तो मुझे हाथ भी नहीं लगाया. कल मार लेना लेकिन तू पीछे से भी लंड डाल कर मेरी चुत चोदेगा तो गांड का भी मजा मिल जाएगा और तेरा लंड भी चुत में आराम से चला जाएगा. मैंने उससे पूछा कि ये सब कहाँ से सीखा?तो बोली कि उसने ये सब उसी वीडियो से देखा, जो मेरे मोबाइल में था.

कुंवारी भाई-बहन की सेक्सी वीडियो वे फिर बोले- प्लीज करो!मैंने उनकी पैंट खोल दी और जैसे ही अंडरवियर नीचे करने लगी कि उनका लंड बहुत बड़ा होकर खड़ा था, उसे देख कर मैं चौंक गई, मेरे हाथ के बराबर मोटा और दस इंच लम्बा रहा होगा। अंकल बोले- आरती, अपने हाथों से पकड़ो प्लीज!और मेरा हाथ ले जाकर अपने लोड़े पर रखवा दिया. मुझे नींद नहीं आ रही थी तो मैं बेड पर करवट लेकर लेटा हुआ माँ बेटे की चुदाई स्टोरी पढ़ रहा था.

उसने कहा- मैंने तो इस काम के लिए कम से कम 15 दिन का टाइम सोचा था जो आपने एक ही रात में कर दिया अगला दिन भी नहीं रुकने दिया. तभी वो बोली– यार ज़रा मेरे निप्पल चूसो ना!मैंने उसका एक निप्पल मुख में लिया और चूसने लगा, दूसरी चुची को मैंने हाथ में दबोच लिया और से जोर जोर से मसलने लगा. मैंने उसकी बात से कोई इन्कार नहीं किया था, जिससे उसने मुझे चूमना चालू कर दिया.

सेक्सविडियो

उसके बाद मैं धीरे धीरे होंठों से होकर कानों तक गया और उसके कानों को धीरे धीरे काटने लगा, जिससे उसकी मादक सिसकारियां धीरे धीरे बढ़ने लगीं. उसने नोट्स देखे और बोला- इसमें परसों वाले एग्जाम के नोट्स तो है ही नहीं. मैं मर गईइ कुत्ते…लेकिन मैंने उसका मुँह बंद करते हुए ज़ोर से एक और तगड़ा शॉट मारा और अब पूरा लंड उसकी गांड में घुस चुका था.

मैंने उनके जबाव का इन्तजार नहीं किया और उनको फिर से झुका कर उनकी गांड के छेद पर लंड का सुपारा टिकाने का प्रयास किया. इधर मैंने रेहाना को बोल दिया कि वो मिंकी के दूध दबाये।रेहाना द्वारा मिंकी के दूध दबाने से मिंकी चूत का दर्द मजे में बदलने लगा तो मिंकी अपनी कमर उचकाने लगी.

और इधर मुझे मेरी आपबीती आपके साथ शेयर करने का मौका मिला है, इसलिए मैं इस साईट का बहुत शुक्रगुजार हूँ.

उसके बाद परीक्षित मेरी चूत को चाटने लगे, जो मेरी चूत से रस निकल रहा था, इन्होंने उसे भी चाट लिया. उसने एक एक करके मेरे कपड़े उतारे और मैंने भी उसकी सलवार खींच कर उतार दी. उसके कमरे में आते ही मैंने अपनी बहन को चूमना चालू कर दिया और पागलों की तरह उसका चेहरा तो कभी उसका गला चूमने लगा.

मैं दस मिनट ऐसे ही दम साधे पड़ा रहा और इंतजार करने लगा कि आगे क्या होगा. क्या तुम इसे मुझमें नहीं डालोगे?मैंने कहा- चाहता तो मैं भी हूँ, पर मुझे नहीं लगता मैं तुम्हें वो बहुत अच्छी तरह दे पाऊंगा, मैं जल्द ही झड़ जाऊंगा और तुम प्रेग्नेंट हो गईं तो?उसने कहा- डरो मत, मैंने तुम्हारे लिए ये कंडोम लाकर रखा है… और रही बाद झड़ने की, तो मैंने तुम्हें जो दूध पिलाया है… उसमें मैंने जादू डाला है. अम्मी ने एक झटके में मेरा लोअर उतार दिया और अपनी भी सलवार उतार कर पैंटी नीचे सरका के मुझे अपनी चूत दिखा के बोली- देख यहाँ अभी तक सूखा पड़ा है, तुझे बड़ी जल्दी है आंसू बहाने की?फिर अम्मी ने मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चूत में अपनी जीभ लगा के चूत चाटना शुरू कर दिया.

अगले दिन मॉर्निंग में छत पर भाभी मेरे पास आकर खड़ी हो गईं, मैं पुशअप मार रहा था.

बीएफ सेक्सी भेजो बीएफ सेक्सी: कुछ देर बाद मूवी में एक हॉट गाना आने लगा तो उसको भी कुछ कुछ होने लगा. काफी देर हो चुकी थी, चाची भी आ सकती थी तो फिर हम दोनों ने अपने कपड़े पहन लिए और एक दूसरे को किस किया.

यह कहानी मेरी नई भाभी की है, जिनकी शादी में शामिल होने के लिए मैं गांव आया था. मैंने धीरे से उसकी पेंटी उतार दी और अपनी बहन की चुत को मुँह में भरके बेतहाशा चूसने लगा. बस मेडिसिन के पैसे लूँगा, जो डेली तुम्हारे अन्दर अपना लंड डालने से पहले डालूँगा.

यह सब नजारा नीलम अपनी आंखों से देख रही थी लेकिन नशे की वजह से उसे मजा आने लगा था और वह उन दोनों को नाचते हुए देखकर खिलखिला कर हंस रही थी।मैं समझ गया कि धीरे धीरे इस पर नशा का असर हो रहा है और यही मौका देखकर मैं उसका हाथ पकड़ कर डांस करने के लिए खड़ा कर दिया.

वो दर्द से चिल्ला उठी और बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… बाहर निकाल साले… फाड़ दी. साले ने मेरे मम्मों को देख लिया था, इसलिए वो अपने लंड का पानी हाथ से निकालने लग गया. जब वो पूरा 7 इंच का हो गया तो भाभी ने अपनी साड़ी ऊपर की और मेरे लंड पर एकदम से बैठ गईं.