जीबी रोड की बीएफ

छवि स्रोत,हिंदू वाली सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वाला फंक्शन: जीबी रोड की बीएफ, उसकी आंख से आसू निकल रहे थे, खून की कुछ बूंदें उसकी चूत से निकल कर मेरे लंड और वृषण से होते हुए नीचे टपकने लगी थीं.

अखाड़ा सेक्सी वीडियो

फिर एक लेडीज़ एंड जेंट्स अंडर गारमेंट्स की शॉप में गये।अब तक हम दोनों के बीच पचास प्रतिशत तक तो शर्म तो खत्म हो गई थी।मुझे महसूस हुआ कि पापाजी मेरे मन की बात को शायद समझ भी गए हों कि मैं क्या चाहती हूं।वहां पर मैंने उनसे कहा कि इस बार मैं आपकी पसंद की ब्रा पैंटी पहनूँगी।उन्होंने मेरे लिए ब्रा पैंटी के 5-6 सेट पसन्द किये जो बहुत सेक्सी थे।मुझे भी वो बहुत पसंद आये. जानवर के साथ सेक्सी लड़कीउसका ऊपरी हिस्सा हवा में जोर जोर से हिल रहा था और चुत में से जोरदार पच-पच की आवाज आ रही थी.

मॉम ने नखरे से कहा- सुनो जी, मंगलसूत्र क्यों निकाल रहे हो?रोहन अंकल- अब से मैं तुझको अपना मंगलसूत्र पहनाऊंगा, समझी … और आज से तू मेरी रंडी है, तू वही पहनेगी जो मैं तुझे दूँगा. सेक्सी फिल्म कुत्ता वाली सेक्सीफिर वो नीचे की तरफ बढ़ा और मेरी नाभि में अपनी जीभ घुमा कर चाटने लगा.

मैंने कहा- ऐसे कैसे मालूम पड़ेगा भाभी … कि मैं आपको टैं बुलवा देता हूँ कि आप मुझे टैं बुलवा दोगी.जीबी रोड की बीएफ: तो मैंने अदिति को चलने का इशारा किया और मैंने भी अपना सामान समेट कर बैग में भर लिया.

मीरा ने उससे कहा- रीमा तुम भी मेरा दुःख समझो कि इतने सालों से मैं भी कैसे बिना लंड के रहती आई हूँ.अगले ही दिन मेरे शौहर शहर से बाहर चले गए और उसी दिन मैंने शहजाद को घर बुला लिया.

मूवी सेक्सी नंगी फिल्म - जीबी रोड की बीएफ

तुम्हें फुल मजा भी मिलेगा और बदले में वहां से तुम्हें कुछ और भी मिल जाएगा, जैसे तुम अपने उस साथी के साथ घूमने फिरने शॉपिंग आदि का लुत्फ भी उठा सकोगी.आपकी सोनिया वर्मा[emailprotected]फर्स्ट टाइम सेक्स की कहानी जारी है.

फोन पर मम्मी कह रही थीं कि शीला ने मुझे दिन का बोला है और आप रात का कह रहे हो. जीबी रोड की बीएफ मैंने सारे जतन किये लेकिन मेरे तन की प्यास बुझ न पाई। चूत की खुजली मिट न पाई।फिर उसी के घर में लकड़ी का काम करने गुलाब नाम का एक मिस्त्री आया.

दवाई लेने के बाद करीब एक घंटे बाद वापिस चलने लगे, तो मेरे लंड में फिर से तनाव आ गया था.

जीबी रोड की बीएफ?

मैंने पूछा- ये सब क्यों?वो बोलीं- आपने जो मेरी इतनी मदद की, तो मेरा भी कुछ फर्ज बनता है. बहुत बरस हो गए किसी कच्ची को फाड़े, साली की चूत पर अभी बाल भी नहीं आयें होंगे।चाची बोली- अरे मैंने देखा कहाँ कि उसके बाल आये या नहीं … आप खुद देख लेना. वो बोले- जान … गंदी गंदी बातें कर। बोल कि मुकेश मेरी चूत की चुदाई करो … मेरी चूत फाड़ दो, मेरी चूत रगड़ कर चोद दो.

अब आगे कॉलेज Xxx कहानी:मेरे दोनों साथी नवीन और विवेक का लंड तो पहले वाली लौंडिया हुर्रेम की चुदाई देख कर ही खड़ा हो गया था. मामी जी मादक सिसकारियां लेते हुए कह उठीं- आह … कस कर दबाओ ना!मैं मामी के दोनों मांसल चूतड़ों को अपनी मुट्ठी में लेकर मसलते हुए, चूमते हुए चाटने लगा. मैंने कहा- कैसा है?इस पर लवली बोली- तुम्हारा लंड बहुत मोटा है, मेरी चूत का सुराख बहुत छोटा है, तुम तो फाड़ ही दोगे.

मामी जी ने पास में पड़ी अपने साड़ी उठाई और मेरे लंड को अपनी साड़ी से अच्छी तरह से पौंछ कर साफ कर दिया. पर अब मैं तुम्हारी बुर को नंगी करके चाटूंगा और औरत मर्द का लन्ड चूसती है. ये सब मैं बहुत जोर जोर से कर रहा था ताकि भाभी जी जल्दी गर्म हो जाएं और मुझे लंड डालने के लिए खुद ही बोल दें.

लड़कियों की चूतों ने कभी इतना पानी नहीं छोड़ा होगा, जितना इस सेक्स कहानी पढ़ने के बाद आपकी चूत में से निकलने वाला है. मैं धीरे धीरे उंगली करने लगा।अब उसने मेरे लौड़े को बाहर निकाल लिया और हिलाने लगी।फिर उसने मेरे कपड़े उतार दिए और दोनों नंगे हो गए।अब दोनों को नशा होने लगा.

जवानी वाली बात तो अब हो नहीं सकती … पर फिर भी दिन में 2-3 बार छेड़खानी कर देते हैं.

बहुत प्यासी नजर से उसको देखती और सास का भी ख्याल रखती कि कहीं वो देख ना ले।वो भी जब मुझे देखता तो बिना नजर हटाए देखता रहता.

मैंने चित्रा का हाथ चूमकर कहा- चित्रा, मैं तुम्हारी हर जरूरत पूरी करने की कोशिश करूंगा. कुछ देर बाद रमेश दीदी के ऊपर बैठ गया और उसने मेरी दीदी के दोनों मम्मों के बीच अपना लंड रख दिया. मैं उन आवाजों को सुन कर अंदाजा लगा रहा था कि वहां अब कौन सा सीन चल रहा होगा.

अभय ने ममता की चूची पीते हुए एक हाथ नीचे ले गया और उसकी चूत की दरार पर फेरने लगा. दादाजी- हां बोलो बेटा क्या हुआ?मैं- दादाजी मैंने झूठ बोलकर आपसे साइन करा लिए हैं. एक दिन हम दोनों ने मेरे घर में बैठ कर ड्रिंक एन्जॉय करनी शुरू की और बातों का दौर चल पड़ा.

अबकी बार उसका धैर्य जबाब दे गया और वो बोली- प्लीज पहलेएक बार मुझे चोद दो… मैं सहन नहीं कर पा रही हूँ.

स्टेशन पहुंच कर मैंने प्लेटफोर्म टिकट लिया और अन्दर जाकर ट्रेन की प्रतीक्षा करने लगा. फोटो शूट के थोड़ी देर के बाद रमेश बोला- अब तुम अपनी ये पैंटी भी निकाल दो. होटल के रूम में पहुंचने के पांच सात मिनट के भीतर ही हम दोनों के कपड़े फर्श पर पड़े थे और हमारे मादरजात नंगे जिस्म बेड पर एक दूजे से लिपटे पड़े थे.

अब मैंने अपने हाथ पर थूका और लण्ड के सुपारे पर मलकर लण्ड को निशाने पर रखा, उसकी दोनों जांघें फैला कर ठोंका तो टप्प की आवाज से सुपारा अन्दर हो गया. मेरे ऐसा करते ही उन्होंने भी अपने एक हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया और हिलाने लगीं. फिर मैंने उसे घुमा कर उसके हाथ दीवार पर लगा दिया और अपना लंड पीछे से उसकी चूत में डालने लगा.

उसके बाद उन्होंने कहा- अब तू मेरे लिए पसन्द कर!फिर मैंने भी उनके लिए वी-शेप के 4 अंडरवियर पसन्द किये और उनसे कहा कि शाहिद भी यही पहनते हैं और बहुत सेक्सी लगते हैं इसमें.

मैंने पूछा- किधर आना है?उसने एक होटल का अड्रेस दिया और बोला- यहां आ जा, फिर देखते हैं कि तुझ जैसे गांडू के लंड में कितना दम है!मैं तय समय पर होटल पहुंच गया और उससे मिला. दोस्तो, मैं आशा करता हूं कि आपको मेरी ये पंजाबी भाभी चुदाई कहानी अच्छी लगी होगी.

जीबी रोड की बीएफ फिर उसको साफ करने के लिए बाथरूम ले गया और वहां पर उसकी सफाई करते करते लंड एक बार फिर से खड़ा हो गया वो भी लंड को पकड़ कर सहलाने लगी. फिर भाभीजी से टिकटॉक वीडियो के लिए कपड़ों की बातें होने लगीं।वो बोलीं- राजा, तुम बताओ कि कौन सी ड्रेस सही रहेगी?मैं- आप वेस्टर्न ड्रेस टाई कीजिये, आप देखने वालों के दिल में आग लगा दोगी भाभीजी.

जीबी रोड की बीएफ लेकिन मैंने उस पर जरा सा भी रहम न करते हुए एक जोर का झटका दे दिया और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. उन्हें देख देख कर मुझे लगता कि इनकी चूत भी ब्लू फिल्म्स की सुन्दरियों की तरह गुलाबी मक्खन जैसी होगी जो हाथ भर लम्बा मोटा लंड अपनी छोटी सी चूत में बड़े आराम से झेल लेती है.

काफ़ी देर तक धक्के मारने के बाद वो बोले- कहां निकालना है?मैंने कहा- मेरे मुंह में निकाल दो अंकल.

सेक्सी डॉक्टर के साथ

अगले दिन काफी देर तक सोती रही, फिर उठी और नहा कर नाश्ता बना कर नाश्ता करने जैसे ही बैठी थी कि किसी ने दरवाजा खटखटा दिया. वो आगे बोली- तुम अपना लंड हिला कर खड़ा कर लो और आ जाओ बिस्तर में … मैं चुदने को तैयार हूं. मैं मां के पास सरक गया और मां के दूध पर मैंने अपने हाथ रख अपनी आंखें बंद कर लीं.

थोड़ी देर तक चूमने के बाद वो उठे और बोले- शबनम, मैं अहमद को बाहर ले जाता हूँ. उन्होंने मुझे वाशबेसिन के प्लेटफार्म पर लिटा दिया और अपना गर्म लंड मेरी चुत में डाल दिया. [emailprotected]कॉलेज सेक्स स्टोरी का अगला भाग:कॉलेज टूर में लंड चुसाई का मजा- 2.

मैं बोली- चल अब बहुत हो गया, ला अब मैं तेरी मुठ मार दूं!अफ़रोज़- आपा, एक दरख्वास्त करूं?मैंने पूछा- क्या … लेकिन तेरी दरख्वास्त ऐसी होनी चाहिए कि मुझे बुरा ना लगे.

दूसरे दिन से हम दोनों ने अपने इस टूर को हर दिन बिना कंडोम के चुदाई करके सेलिब्रेट किया. नीचे फ़लक ने बहुत ही टाइट जीन्स पहन रखी थी जिसमें उसके कसे हुए पट और ट्रॉएंगल में से उभर कर बाहर दिखाई देते चूत के मोटे भगोष्ठ और बाहर को निकली गोल सुन्दर कसी हुई गांड ने ग़जब ढा रखा था. कमर मेरी कमर से चिपकी हुई थी और उसके बूब्स मेरे सीने से चिपक गए थे.

यह सुनकर भाभी ने मुझे गले से लगा लिया और मुझे 5 मिनट तक लम्बा किस किया. मेरे पेट में राजेश का बच्चा था और बिंदु के पेट में गोविन्द का बच्चा था. जोया ने कहा- ठीक है मैं अभी तुम्हारे लंड को चूस कर ठंडा कर देती हूँ.

आप तो मेरे लंड के मजे लो बस … आह आह भाभी सच में आपकी चुत बड़ी टाईट है. उसने मेरे कपड़े भी उतार कर नंगा कर दिया।हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए और चूसने लगे.

मैंने मामी की गांड के छेद को चाटने के साथ-साथ अपनी जीभ को ऊपर से नीचे और फिर नीचे से ऊपर पूरी दरार में फेरना शुरू कर दी. थोड़ी देर दूध चूसने के बाद हम दोनों ने वापस हगिंग और किसिंग की और एक दूसरे को मसलने लगे. भाभी अब मुझे अपने एक मम्मे को मेरे मुँह में डाल दिया और चूची चुसवाने लगीं.

उसका लंड जोया के मुँह के बड़ी आसानी से अन्दर बाहर हो रहा था और वो लौंडिया भी बड़े मजे से लंड चूस रही थी.

अब आगे हॉट कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी:मैंने शीना से पूछा– कैसा लगा शीना, मजा आया?शीना- बहुत मजा आया अंकल, अगर मुझे पहले पता होता कि सेक्स में इतना मजा आता तो मैं भी कब की अपनी बुर चुदवा लेती।मैं- अभी तुम्हारी बुर चुदी ही कहाँ है मेरी जान, अभी तो तुम्हारी बुर को मैंने छुआ क्या देखा भी नहीं. राजकुमारी पूजा की कुंवारी चूत और तरणताल के पानी की वजह से कुछ दिक्कत हुई लेकिन मैंने हार नहीं मानी. दीदी भी चुदास से भर गई थीं तो अपनी गांड उठा कर लंड चुत में लेने को मचल रही थीं.

मैंने शीला आंटी के घर से कुछ दूरी पहले ही बाइक बन्द कर दी थी ताकि किसी को शक न हो. मैंने चाची की आवाज सुनी- भई, मैं तो अपना मसला हल कर लेती हूँ … तेरी तरह मोमबत्ती से काम नहीं चलाती हूँ.

मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके सीने की धड़कनों को सुनकर सुकून लेने लगा. वो इतनी अच्छी तरह से लंड को चूस चाट रही थीं कि मेरा लंड एकदम सख्त हो गया. मैं- चाची अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा है … मुझे हिलाना है, मैं अभी आया 5 मिनट में.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी डाउनलोडिंग

ऐसा ही सिलसिला चलता रहा और पता ही नहीं चला कि कब हम दोनों एक दूसरे के एकदम करीब आ गए.

पापा अक्सर रात में मम्मी की नंगी करके चुदाई करते थे, बाद में उनकी गांड चुदाई भी करते थे. विवाह समारोह तो जैसा कि आजकल चलन है, एक मैरिज गार्डन में होना था वहीँ पर वर वधू दोनों पक्षों के रिश्तेदारों के ठहरने का भी इंतजाम था. मगर उसने फिर से मेरी गोटी मारी और बोला- लो जी, आपकी भी हमने पूरी मार दी.

मम्मी पहले नानुकुर करती रहीं … मगर पापा ने मम्मी की चुत में अपना लंड डाल दिया और उनके ऊपर चढ़ गए. मां बोलीं- तुझे शर्म नहीं आती, ये सब क्या दिखा रहा है!मैं बोला- मां आप गांव की औरत हो इसलिए आपको मैं ये दिखाने लाया हूं. गधे वाली सेक्सी फिल्मथोड़ी देर बाद जब उसे अच्छा लगने लगा, तो उसने अपनी गांड उठा कर मुझे इशारा किया.

वो अपने भाई के हाथ को महसूस करके गर्मा उठी और उसकी चूत लगातार पानी छोड़े जा रही थी जिससे अभय का हाथ गीला होने लगा. वहां मेरा ये काम था कि उस बाहर वाले काउंटर से एक बार में दस पर्चे लाना और फिर एक एक को बुला कर डॉक्टर साहब से मिलवाना.

मैंने उसके मस्तक पर चुम्बन करते हुए उससे कहा- तुम अपने भगवान को याद कर लो, मेरे प्यार की निशानी तुम्हारे शरीर में जाने वाली है. उसने कहा- किसने कहा कि खरीद कर ही दिया जाता है?मैं उसकी तरफ देखने लगी. रमेश ने मेरी दीदी की चूचियों को मसलते हुए और अपना लंड दीदी की चुत पर रगड़ते हुए कहा- तुम बहुत हॉट आइटम हो यार … फोटो शूट के समय ही मेरा तुमको चोदने के मूड बन गया था.

मैंने भी चिल्ला चिल्ला कर उसे पूरा खुल्ला छोड़ दिया था- आह चोद और तेज चोद दे मेरी चुत को … आह तू चाहे मेरी चुत फाड़ भी दे. मैंने कुछ सोचा, तो वो बोली कि ज्यादा मत सोचो और शांति से वो करो, जैसा मैं बोलती हूँ. देसी आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मौसी की जेठानी की चूत चाटकर भरपूर मजा देने के बाद मैंने उसे मेरा लंड चुसवाया.

तभी दो लोग पण्डाल के अन्दर घुसे और वहां से दो गद्दे निकाल कर एक किनारे में बिछा दिए.

हम दोनों बिस्तर पर नंगे लेटे रहे, उसने खाना तैयार किया और चली गई।फिर हमने नंगे बदन खाना खाया और दिन में दो बार जमकर चुदाई की और शाम को अपने घर आ गए।दोस्तो, आज मैंने मालती को जमकर चोदा था और जान गया था कि मेरा लौड़ा उसकी पहली पसंद हैं।मेरी कहानी पढ़कर कमैंट जरूर करें।[emailprotected]. उसके होंठों को चूसते हुए कब मैं उसकी गर्दन पर आ गया, मुझे पता ही नहीं चला.

इस बार भाभी ने फिर से मेरे दोनों हाथों को दोनों किनारों से रस्सियों से बांध दिए. मैं जाग गया था तो मैंने आंटी को अपनी बांहों में खींच लिया और उन्हें बेख़ौफ़ चूमने लगा. जैसे ही नियाशा ने मेरे लंड को ले के चूसना शुरू किया मेरी आह … निकलने लगी.

वो बार बार अपनी कमर उठा कर लंड चुत में लेने की कोशिश करतीं और मैं लंड हटा लेता. वो मेरी तरफ मुड़ी और उसने मुझे देखकर कहा- लेकिन तुम यहां क्या कर रहे हो और तुमने मेरे साथ ऐसा क्यों किया?मैंने बोला- मैं बस तुम्हारे साथ सेक्स करना चाह रहा था … मगर तुम्हारा मन नहीं है तो सॉरी. कुछ देर तक यूं ही रसीली और हॉट करने के बाद हम दोनों ने किसी दिन फिर से मिलने का प्रोग्राम बनाया.

जीबी रोड की बीएफ फिर आंटी की दोनों टांगें फैलाकर अपना लंड चुत पर घिसने लगा और एक ही झटके में आंटी की चुत में लंड पेल दिया. वो इस लिक्विड चॉकलेट के टपकाए जाने से ही समझ गई कि मैं क्या करने वाला हूँ.

बॉलीवुड सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स

मैंने उनसे कहा- भाभी आपको तो मालूम ही है कि यहां सिर्फ मैं आपको ही जानती हूं. उन्होंने मेरे होंठों को चूमना चूसना शुरू कर दिया और मैं उनके बदन को सहलाने लगी. तभी मालिक की पत्नी कार से निकल कर आई, पूरी बात सुनी और पंप मैनेजर से कहा- साहब की बाइक में तेल कम डाला गया है या ज्यादा, भूल जाओ.

धीरे धीरे मैंने अपना एक हाथ उसकी मस्त चिकनी गांड पर रख दिया और बारी बारी से उसके दोनों चूतड़ों को सहलाने दबाने और मसलने लगा. पूनम को ठसका लगने लगा और वो खांसने लगीं पर उनकी खांसी उनके ही गले में घुट कर रह गयी. भाभी देवर की सेक्सी ब्लू वीडियोमैंने अपने हाथ से उनका लंड निकाला और अपनी चूत पर रखकर बोली- प्लीज मामा जल्दी डालो … अहमद ने मुझे प्यासी छोड़ दिया.

अब मेरी चूत फड़कने लगी थी और मन कर रहा था कि मोबाइल से लंड बाहर निकाल कर खा ही लूं.

उस लड़के ने उंगली के इशारे से मेरी मम्मी को करीब बुलाया और अपने बाजू में बिठा लिया. अबकी बार मुझे कुछ अलग ही फीलिंग्स आ रही थी पर मैंने इग्नोर करते हुए उर्वशी को अपने ऊपर ले लिया और उसकी चूत पर अपना लंड सैट करते हुए उसे अपने लंड पर बिठा दिया.

और उस पर झड़ने के कारण उसकी बुर का पानी ऐसे चमक रहा था जैसे फूलों पर ओस की बूंद चमकती है. जैसे ही वे दोनों मेरे रूम में दाखिल हुई, रूम फ़लक के पर्फ्यूम और हुश्न से महक उठा. वैसे मेरी चूत पर कभी बाल होते ही नहीं हैं, फिर भी साफ कर ली क्योंकि मुझे कुछ अंदेशा था कि आज कुछ होने वाला था.

अपने लंड पर मम्मी का हाथ महसूस करते ही मेरे मुँह से ‘आआ … आअह आआअह …’ की आवाज निकल पड़ी और मैंने मम्मी की दोनों चूचियों बहुत जोर से मसल दिया.

मुझे तो वे विदेशी सुंदरियां लुभा रहीं थीं जो किसी पोर्न स्टार की तरह चड्डी नुमा निक्कर और टॉप पहने हुए अपने जिस्म की नुमाइश करती डोलतीं फिर रहीं थीं. मेरी मां रज्जी मेरा नाम लेते हुए मीठी सिसकारियां लेने लगीं- आंह विशूऊ आआह चोद दे … हम्मम ईईईई … जोर से पेल दे. मुझे बहुत मजा आ रहा था और लंड मिहिका के हाथ में दबा हुआ जोश में झटके मार रहा था.

चुदाई वीडियो सेक्सी देसीहॉट गर्ल्स सेक्सी कहानी दो सहेलियों की है जिसमें एक लड़की ने अपनी सहेली को अपने पति के बिस्तर पर बुलाकर नंगी कर दिया. भाभी मुझसे बोलीं- हां हां क्यों नहीं मेरी रानी … जैसा तुम चाहो, वैसा ही होगा.

कन्नडा ऑंटी सेक्स व्हिडीओ

अब एक नंगी महारानी सी बनी कृति मेरे लौड़े पर बैठकर सवारी कर रही थी. पूजा लंड पर चूत सैट करके धीरे से हल्की सिसकारी के साथ बैठ गई और ऊपर नीचे होने लगी. तब मैंने ध्यान से उस लड़की की प्रोफाइल देखी तो पाया कि ये मेरे दोस्त की दीदी हैं.

वरना तो साड़ी उठाई सूखी भोसड़ी, भोसड़े में लंड डाला, चोदा, पानी निकाला और मामला टांय टांय फिस्स. वो बोला- ये लंड आज तेरी आगे पीछे से मारे बिना नीचे नहीं बैठने वाला. स्टूडेंट एंड टीचर सेक्स कहानी में पढ़ें कि सेक्स कि प्यासी एक कुंवारी लड़की ने अपने ट्यूशन टीचर को सेक्सी हरकतें करने की चूत दे दी.

वो जानता था अगर लंड फर्स्ट टाइम सेक्स में इसकी चूत से निकाल लिया … तो ये कभी नहीं चुदवाएगी. मैं आगे बढ़ कर भाभी के एक मम्मे के निप्पल को अपने होंठों के बीच दबाया और चूसने लगा. वो अपनी दोनों टांगें मेरे दोनों तरफ डालती हुई मेरे बुल्ले पर अपनी चूत सैट करके बैठ गईं और मुझे बांहों में कस लिया.

नीता अक्सर हमारे घर आती रहती थी और उससे मेरी मुलाकात भी होती रहती थी. अफ़रोज़ मेरे इन शब्दों का बुरा ना मानकर ख़ुश होता हुआ बोला- सच आपा?उसने फ़ौरन से मेरी चुत में अपना लंड धकाधक पेलना शुरू कर दिया कि कहीं मैं अपना इरादा ना बदल दूं.

थोड़ी देर बाद चाची की सिसकारी गूंजने लगीं- आहह ओह इस्स आह प्लीज़ नहीं करो आईईई आहह ओह.

मैं एक एक घटना को पूरे विस्तार से लिखूंगा, आप गन्दी भाभी की सेक्स कहानी का मजा लेते रहिए. डॉग और गर्ल्स की सेक्सी फिल्मवो मेरे प्यार में अंधी हो गई थी, उसने कहा- जब ओखली में सर दे ही दिया है तो मूसलों से क्या डरना. ओपन सेक्सी हिंदी मराठीभाभी का दोस्त मेरे साथ था और चुदाई से पहले की चूमा चाटी शुरू कर चुके थे. कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन में हम दोनों ही सेक्स के लिए तड़प उठे थे.

फिलहाल खास बात ये कि मेरे उस घर की एक चाभी कार में थी और अभी दो दिन पहले ही पापा उधर जाकर आए थे, तो सब चौकस व्यवस्था होने का तय था.

इतना बोल कर वो भी उसी झाड़ी के पीछे चली गई और वहां से एक बार पलट कर देखा कि भैया देख रहे हैं कि नहीं. फिर जो चुदाई शुरू हुई तो इस बार साढ़े पांच बजे तक बहुत ज़बरदस्त तरीके से शहज़ाद ने मुझे चोदा. इससे मेरी मम्मी एकदम से चिहुंक पड़ीं- आह आआह … यार ये तू क्या कर रही है साली कुतिया … वैसे ही मेरी चुत में बहुत खुजली मची है और तू मेरी आग को और भड़का रही है.

जब कोई नहीं आया तो उन्होंने मुझे भी अपनी तरफ से वेलेंटाइन डे विश करने का अनुरोध किया. फिर सुम्मी और हरीश दोनों कार में बैठकर शहर से दूर जंगल के बीच में बने सुम्मी ने पति के फार्महाउस में आ गए. उसकी टांगों को चौड़ा करके एक ही झटके में पूरा लंड चुत में घुसा दिया.

फुल्ल हँड सेक्सी विडिओ

वो लो-वेस्ट साड़ी पहना करती जिससे उनकी धुन्नी एक अलग सा नशा बनकर उभरती थी।शाम को कभी-कभार भाभीजी से मुलाकात हो जाती थी. आपकी गोरी[emailprotected]इससे आगे की मेरी देसी गांड चूत चुदाई कहानी:ससुरजी के बाद ननदोई को अपने ऊपर चढ़ाया. इस बार मैं आपको इस सेक्स सीरीज का आखिरी भाग डेलिवरी बॉय सेक्स कहानी लिख रही हूँ.

कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस वाले घर में किराए पर कॉलेज की लड़कियां रहती थी.

मेरा लम्बा लंड भाभी कीगीली चुतके अन्दर सरसराता हुआ अन्दर चला गया था.

मैंने उसकी चूची दबाई तो वो हंसने लगी और बोली- इनमें अभी दूध नहीं आता. अब आगे माउथ सेक्स कहानी:रास्ते में …ममता- क्या बात है आप भैया चुप चुप क्यों हो? अभी भी उसी बात को सोच रहे हो क्या … भूल जाओ न उस बात को. हिंदी सेक्सी वीडियो पिक्चर मारवाड़ीमैंने भाभी से कहा- तो आप मना कर देतीं!उन्होंने मुझसे कहा- बेबी, यह मौका रोज रोज नहीं आता है.

उसने मेरे साथ लेट कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया और धीरे धीरे मेरी बेबी डॉल उतारने लगा. कुछ देर बाद मैंने उससे पूछा- क्यों मज़ा आया मेरे भैनचोद भाई को, अपनी बहन की चुत चोदने में?उसका लंड अभी भी मेरी चुत में ही था. मैंने जोया से कहा कि तुम मुझे बहुत अच्छी लगने लगी हो, मैं तुम्हें किस करना चाहता हूं.

दोस्तो, मेरा नाम मोना है। मैं अन्तर्वासना की नियमित पाठिका हूँ। सबकी कहानी पढ़ने के बाद मेरा भी मन हुआ कि मैं भी नंगी बहन की चूत कहानी बताऊं. मेरी चूत में खुजली तो होती थी पर मैंने अपनी कुंवारी बुर में कोई लंड लेने की सोची नहीं थी.

ये मुझे मालूम था कि इतनी जल्दी लंड तो झड़ सकता था, चूत तो कभी नहीं रोने वाली थी.

मैं भी समझती थी कि अंकल का मूड बन रहा है मगर मैं सब कुछ देख कर अनदेखा कर देती थी. भाभी बोलीं- राज, मैं कल बात करूंगी, अभी मेरे पति खाने के लिए इन्तजार कर रहे हैं. तो मैंने अदिति को चलने का इशारा किया और मैंने भी अपना सामान समेट कर बैग में भर लिया.

सेक्सी ट्रिपल एक्स एचडी राजकुमारी पूजा की दर्द भरी आवाज को नजरअंदाज करते हुए मैंने दूसरा प्रहार भी कर दिया. उनके लंड चूसने से दो चीजें समझ आने लगी थीं कि एक तो बहुत दिन से भाभी लंड की भूखी हैं … और दूसरी बात ये कि उन्हें लंड चूसने का अनुभव बहुत ज्यादा है.

अब राजकुमारी से महारानी बन चुकी पूजा ने चिल्लाते हुए चुदाई का मजा लेना शुरू कर दिया था- आह … उम्म … चोदो मुझे मेरे पति देव … आह … मैं कब से इसी प्यार के लिए तड़प रही थी … आह … महाराज मुझे अपनी दासी बना लो. इसके बाद उस बंदे ने पूरी रात मेरी चूत और गांड की अच्छे से बैंड बजायी. राजेश ने कहा- यार बात तो सही है, पर कोई शरीफ घर की औरत इसके लिए कहां से लाएंगे.

सेक्सी वीडियो दोस्ती वाली

उस दिन भी मैंने उसकी चुदाई का मजा लिया और उसकी कुंवारी गांड की चुदाई भी की. डैड- अरे ये कलूटा सांड कौन है … और तुम सब कहां पर हो इस हालत में नंगे क्यों हो?मॉम- जब तू वापस आएगा, तब देख लेना मेरे गुलाम. मैंने राजेश का लंड मुँह से निकाल लिया और बोली- यार, आज तक मेरी चूत ने वीर्य नहीं चखा है.

गोविन्द ने डाक्टर को सारी स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा- डाक्टर मैं राजेश नहीं हूँ. लण्ड अन्दर तो फंस गया लेकिन यामिना की टाँगें जमीन पर न लगने से उसे ऊपर नीचे होने में परेशानी हो रही थी और वह मेरे ऊपर बैठकर चेयर में धंस गई.

उनका नाम हरलीन कौर था, उम्र 27 वर्ष, फिगर 32-28-34 का और रंग एकदम गोरा.

जब बिस्तर पर लेटो, तो पेटीकोट अपने आप आसानी से घुटनों तक आ जाता है और थोड़ी कोशिश से ही और ऊपर आ जाता है. उसका नाम गुलाब चंद था। घर में बात होती थी कि कश्मीरी है, बहुत ज़बरदस्त कारीगर है. अपने लण्ड का सुपारा चित्रा की चूत के मुखद्वार पर रखकर उसकी टाँगें फैला दीं.

मैंने पूछा- चाची क्या हुआ?अचानक से उन्होंने अपनी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर कर दिया और बोली- देख मुझे मधुमक्खी ने काट लिया है मेरी जांघ पर … तू ज़रा डंक निकाल दे. मैंने उसके कंधों को दबाते हुए कहा- अरे यार, अगर यही करना था तो कम से कम दरवाज़ा तो बंद कर लिया होता. मैंने आगे झुक कर उसके होंठ को चूम लिया जिससे उसकी भी आँख खुल गयी और उसने भी मेरे होंठों पर छोटा सा चुम्मा चिपका दिया।हम एक दूसरे को देख कर खुश हो रहे थे.

मैंने कुच्ची से पूछा- फिर क्या हुआ?कुच्ची- फिर शब्बो ने बाद में कहा कि ऐसा करो, मेरी एक सहेली है जमीला.

जीबी रोड की बीएफ: तो मां बोलने लगीं- बेटा ये कैसी साड़ी है, इसे पहन कर मैं बाहर कैसे जा सकती हूँ, मुझे बहुत शर्म आएगी. मुझे उनके शरीर का मादक स्पर्श मिल रहा था जिससे मैं और अधिक उत्तेजित होकर अपनी मां की चुदाई करते टाइम ये भूल गया था कि आज मैं अपनी मां की चुदाई कर रहा हूँ.

कुछ दिन बाद जब दीदी की बच्ची पैदा हुई थी, तब से मुझे उनको चोदने का और मन करने लगा था. उसने लंड चूस कर साफ़ कर दिया।हम दोनों नशे में थे तो हमें नींद लग गई. मैं धीरे से मामी जी के कमर के पास बैठ गया और उनके चूतड़ों पर साड़ी के ऊपर से ही सहलाने लगा.

थोड़ी देर बाद हम दोनों की ही आंख लग गई परन्तु अभी चुदाई का खेल बाकी था.

मैंने पूनम बुआ को आश्वस्त किया और बराबर के कमरे में जाकर उनके बेटे को चॉकलेट दी, जो मैंने रास्ते में उसके लिए ही खरीदी थी. कुछ दिन पहले मेरे नीरस पति शम्भू को व्हाट्सएप पर एक अनजान व्यक्ति से एक फोटो मिला।उसने फोन को मेरे मुंह के सामने किया और उसके बारे में मुझसे गुस्से से पूछने लगा।अब मैं कैसे बताती कि मैं दो हैंडसम मर्दों के बीच में क्या कर रही थी? जिनका लंड एक मेरी गांड में था और दूसरा मेरी चूत में!हैलो फ्रेंड्स, मैं आपकी सेक्सी बेब सिमरन फिर से आ गयी हूं. चित्रा ने एक बार फिर से अलमाँरी खोली और खाकी रंग का एक लिफाफा मुझे देते हुए कहा- यह मैं कल ही लेकर आई हूँ.