बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर

छवि स्रोत,xxx வீடியோ

तस्वीर का शीर्षक ,

सबसे सुपरहिट शायरी: बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर, फांकों को फैलाया तो अन्दर वाली पिंक कलर की दो छोटी फांकें होती हैं, वो भी बाहर को निकली हुई थीं.

सेक्सी वीडियो देसी मारवाड़ी

शुरुआत में मुझे दर्द कुछ ज्यादा होने लगा था क्योंकि उसका लंड पूरा बाहर आकर एकदम अन्दर घुसा जा रहा था. एक्स एक्स वाई वीडियोवो मेरी बहन को प्यार करने लगा और बहन से रिक्वेस्ट करने लगा- जानू मान जाओ ना प्लीज … मैं एक बार तुम्हारी गांड की रस मलाई चखना चाहता हूं प्लीज … मान जाओ ना!मगर मेरी बहन नहीं मानी और अपने कपड़े पहनने लगी.

कुछ देर बाद नवाब ने मुझे बेड पर लेटा दिया और खुद भी बेड पर घुटने के बल बैठ गया. सेक्सी फुल ब्लू पिक्चरलकी किसी मीटिंग में था, फिर भी उसने बाहर आकर सारा से बात की और उसे लव यू बोला.

ऐसे ही कुछ मिनट किस करने के बाद उसने मेरी साड़ी का पल्लू हटा दिया और मेरे ब्लाउज में तने हुए मेरे मम्मों को मसलने लगा.बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर: हम दोनों ने एक दूसरे को होंठों को चूमते हुए शुरूआत की, जिसके बाद मैंने उसको भी नंगी कर दिया.

मैंने उसके दूध मसले, तो वो चिहुंक कर बोली- तुम बड़े गंदे हो … तुमने मुझे गाली बकी.मेरी बीवी बोली- आपा, सिर्फ एक रात साथ बिताई थी, तो सात दिन तक सही से चल भी नहीं पाई थी.

हिंदी क्सक्सक्स वेदिओ - बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर

वो बोली- तो फिर मैं किसके साथ जाऊं?फिर वो कुछ देर सोचने के बाद वो बोली- तुम तो संडे को खाली होगे.मेरी चुचियाँ 38-E नाप की हैं, जबकि मेरी कमर 30 की … और गांड 40 इंच की है.

शहर इधर से लगभग 20 किलोमीटर दूर था, तो हम दोनों बातें करते हुए चलने लगे और रास्ते में ब्रेक लगाने से समीक्षा के चूचे मेरी पीठ से रगड़ रहे थे. बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर इससे उसकी पैंटी गीली हो गई और मैं चुत का स्वाद लेकर अपने रूम में चला आया.

वो मेरे नीचे कैसे आयी?नमस्कार दोस्तो, मैं रॉकी आपके सामने हाजिर हूँ.

बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर?

अब सत्यम मेरी चूत में धकापेल अपना लंड पेले जा रहा था और मैं उसको साथ देते हुए सिसकारियां लिए जा रही थी. अब कुछ समझा बुद्धुराम या नहीं?मैं लवली के सारे लेक्चर को ध्यान से सुन रहा था।अभी मेरा बीज नहीं निकला था जबकि लवली झड़ चुकी थी।अचानक मुझे ध्यान आया कि एक बार खाली पीरियड में कुछ शरारती लड़के ब्लू फिल्म देख रहे थे तो थोड़ी सी फ़िल्म मैंने और अजय ने भी देखी थी. मैंने उसका कोई विरोध नहीं किया तो वो मेरे ऊपर भूखे शेर की तरह टूट पड़ा और उसने मुझे लगभग दबोच लिया.

वो कहती थी कि राज अब तो कैसे भी करो, लेकिन मुझे चोद दो, मेरे भोसड़े को चूसो. दो चार धक्कों के बाद ही मेरा लावा फूटा और मैं मामी के मुंह में स्खलित होने लगा. वो पूछने लगा- तुम्हें बुरा नहीं लगेगा?सारा बोली- जब तुम मेरे सामने कर रहे हो तो बुरा क्यों लगेगा और तीन में तो ज्यादा मजा आएगा.

परसों सुबह 6 बजे जीजू चले गए और दीदी को मैंने अपने रूम में बुला लिया. भाभी को चोदने के बाद मैंने उनसे पूछा- आपने दूसरी शादी की थी तो दूसरे पति से अलग क्यों रहने लगी हो?उन्होंने कहा- अरे वो चूतिया निकला. उसकी बड़ी बड़ी मोटी छाती और कूल्हे दिखाकर वो मुझे चुदाई के लिए उकसाती थी.

फिर मैंने पूछा- कोई आने वाला है … आपके हस्बैंड कितने बजे आते हैं?भाभी मदहोशी में मेरी आंखों में झांकते हुए बोलीं- कोई नहीं आने वाला है. यह सुनकर मेरा लंड औऱ भी फनफनाकर चुत चोदने लगा क्योंकि मुझे चुत के अन्दर माल निकालने में बहुत ही आनंद का अनुभव होता है.

भैया ने श्वेता को मेरे पास सोने के लिए कह दिया था।रात में वो मेरे पास सो रही थी।मैं उसके सोने के बाद अन्तर्वासना पर सेक्स स्टोरी पढ़ने लगा। मेरा लंड खड़ा हो गया। मैं खुद को रोक नहीं सकता था क्योंकि जवान लड़की मेरे बगल में सो रही थी।मैंने अपने लंड को सहलाना शुरू कर दिया.

उसे बंद पड़े मकान में मैंने कैसे चोदा?हैलो फ्रेंड्स, मैं नील अपनी देसी बिल्लो रानी की चुत चुदाई की कहानी के पिछले भागलॉकडाउन में देहाती जवानी मिलीमें बता रहा था कि कैसे ही बिल्लो ने मेरा लंड हाथ में लिया वो एकदम से चौंक गई.

नासिर जी की बात सुनकर मुझे मेरी चूत में खुजली होने लगी क्योंकि मैं एक बेवा हूँ और पति के जाने के बाद मैंने दुबारा शादी नहीं की. पहले दस मिनट तक मैं धक्का ज्यादा जोर से नहीं मार रहा था, लेकिन चुत में चिकनाई आते ही मैंने पलना शुरू कर दिया. तभी आंटी मुझे गले लगा कर बोलीं- नौटंकी … लेकिन मैं आज ये लंड खा जाऊंगी … तेरे लिए सिर्फ लंड चूसना कर रही हूँ.

झट से पलट कर लेट गई और मेरे मुँह पर चुत रखते हुए बोली- ले चूस ले भैन के लंड. उनकी कामुक नजरों को भांपना मुझे भली भांति आता था और मुझे सब मालूम था कि ये साले मुझे नंगी करके चोदना चाहते हैं. मैंने पूछा- आपको कोई प्रॉब्लम न हो तो मैं भी आ जाऊं!इस पर वो हंस दीं और बोलीं कि कोई प्रॉब्लम नहीं है … चलो.

मैं बस मुस्कुरा कर रह गया और मैंने बताया कि ये मेरी एक परिचित की आंटी की बेटी है.

कमल के सो जाने के बाद भी सारा एक दो घंटे फोन पर इधर उधर चैटिंग करती और उलटी सीधी हरकतें करती. कुछ देर बाद कार्तिक चूमते हुए ऊपर मेरे नाभि पर आ गया और उसको चूमते हुए मेरे एक स्तन पर आ गया. वैसे मैं यह चाहता था कि एक बार इसको लौड़ा भी चुसवा दूँ, लेकिन सब कुछ मैं एक ही रात में नहीं करना चाहता था इसलिए लौड़ा चुसवाने का काम बाद के दिनों के लिए छोड़ दिया.

बहन बड़े प्यार से अपने भाई के हाथों से अपनी चुत साफ़ करवाती हुई देखती रही. हॉट साली सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे अपने साले की पत्नी बहुत पसंद थी. और मामी जी के सामने मेरा लंड चूत में घुसने के लिए तैयार खड़ा था।आपको मेरी मामी की जंगल सेक्स कहानी आपको कैसी लगी? मुझे मेरी मेल पर सन्देश भेज कर जरूर बताएं.

एक दिन रात में उन्होंने मुझे नॉनवेज जोक्स भेज दिए, जिसमें चुदाई की बातों का खुल कर बखान किया गया था.

मैं खुश हो गया और लन्ड को तुरंत चौथे गियर में डाल दिया और फुल स्पीड से उसकी चुदाई करने लगा. लंड गांड में घुसा ही था कि सीमा बुक्का फाड़ कर चिल्लाने लगी- उई बाप रे … मेरे फट गई गांड … आह दर्द हो रहहाई.

बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर तो मैंने धीरे धीरे अपना हाथ चलाना शुरू कर दिया।तभी उसने करवट बदल ली अब उसकी नाईटी पैरों से ऊपर चढ़ गई।मैंने उसे कहा- थोड़ी खिसको, मैं किनारे पर हूं. मैंने कहा- आप कुछ कहना चाह रही थीं?उसने कहा- खाना खत्म करो फिर बताती हूँ.

बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर यह बात उसने अपने दोस्त सोनू को भी बताई और सोनू भी उसका साथ देने को तैयार हो गया. एक दिन बेटे ने माँ को नंगी देखा तो …हैलो फ्रेंड्स, आप रोहन और उसकी मॉम के बीच शुरू होने वाली सेक्स कहानी का मजा ले रहे थे.

अब सेक्स कैसे शुरू हुआ?दोस्तो,आपने मेरी पिछली कहानीमॉल में मिली लड़की की चूत और गांड चुदाईपढ़ी और पसंद की.

सेक्सी फुल बीएफ

लेकिन मैं न तो चाची के पास और ना ही प्रियंका भाभी के पास चुदाई के लिए गया. वो बोली- नहीं राज!लेकिन मैं नहीं माना और उसकी गान्ड में उंगली घुसा दी. चुत का रस स्वाद में थोड़ा खारा और थोड़ा खट्टा था, विजय पूरे रस को पी गया.

मैंने भी इस बात का मज़ा लेते हुए कहा- अंकल, आपसे तो छोटी ही हूँ और आप मुझे इसलिए नहीं बैठाओगे क्योंकि अगर कहीं आंटी को पता चल गया, तो आपको वो छोड़ेंगी नहीं. मैंने नीचे झुककर उसे अपनी बांहों में उठाया और उसके कमरे की तरफ ले जाने लगा. मगर उनकी हंसी देख कर मैं समझ गया कि अब भाभी मेरी मम्मी से कुछ नहीं कहेंगी.

मैं रोज उसकी ब्रा खोल देता, थोड़ी देर उसके गोल गोल गुब्बारों को सहलाता और सो जाता.

बिस्तर के बीच में मैंने दोनों लड़कियों को बिठा दिया और सुरीली की तरफ मैं बैठ गया और मेरी दीदी युविका की तरफ सुनील बैठ गया. मैं डर रहा था कि दीदी कहीं एकदम से गुस्सा न हो जाये लेकिन वो शायद गर्म हो चुकी थी और चाहती थी कि मैं उनके दूध पर मसाज करूं।मसाज करते हुए मैंने अब दूध को दबाना शुरू किया।दीदी अब भी चुपचाप लेटी हुई मसाज करवा रही थी।5 मिनट बाद मैं कसकर दीदी के दूध दबाने लगा. उसके हाथ मेरी गांड पर थे और मेरी गांड को बार बार दबाते और उन पर चांटे बरसा रह थे.

फिर जब मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने उसकी पैंट की चैन खोलकर उसका लौड़ा बाहर निकाल लिया. दीदी की चूचियों का ऊपरी उभार मैंने बहुत बार देखा था लेकिन आज दीदी के निप्पल भी दिख गये थे. ऐसे ही हम दोनों रोज मिलने लगे और प्यार मुहब्बत की बातें कब सेक्स की बातों तक पहुंच गईं, इसका अंदाजा ही न हो सका.

कुल मिला कर अब वो अपनी सेक्स की प्यास पोर्न साइटों, चैटिंग और आखिर में वाइब्रेटर से बुझाने लगी. उनकी चूचियां 36 के साइज की थीं और उनके सूट में उनके सीने पर पूरी कसी हुई रहती थीं.

जेठ जी मेरे एक दूध को अपनी हथेली में लेकर कसकर भींचते हुए मसलने लगे. वो मेरी पीठ सहलाते हुए बोली- यार कसम से आज जैसा मजा मुझे आज तक नहीं मिला … और सच कहूं तो आज तक मेरी चूत किसी ने नहीं चाटी. जब भी जेठजी का लंड अन्दर तक मेरी चूत में जाता, उनके बड़े बड़े अंडकोष मेरी गांड पर हथौड़े की तरह चोट मार देते.

वो हाथ को रखे रही और मैं भी बैठा रहा लेकिन मेरा लंड खड़ा होने लगा था.

कुछ ही देर में शीना कि चुत का माल निकाल गया और वो भी बहुत ज्यादा निकला था. किसिंग, निप्पल चूसना और काटना, बूब्स को जोर जोर से रगड़ना मुझे अच्छा लग रहा था. फिर पंकज मेरी बहन की चूत चाटने लगा और बहन कामुक सिसकारियां लेने लगी- आह आह ई उईई म्म उफ़ पकंज चाटो … और चाटो मेरी चूत … आह मजा आ रहा है.

अमित ने झुक कर अपना मुँह मेरी चूत पर लगा दिया और अपनी जीभ से मेरी चूत को अन्दर तक चाटने लगा. जीजू ने जल्दी से कपड़े पहने और मुझसे कहा कि तुम सोने की एक्टिंग करो.

थोड़ी देर बाद अंजुमन आंटी की चूत से नमकीन पानी निकलने लगा और मैं पी गया. मेरी दीदी वहां पर मुझे पिक करने के लिए आई हुई थी; वो मुझे एयरपोर्ट के बाहर खड़ी मिली. तो दोस्तो, ये था मेरा मेरी गर्लफ्रेंड की चूत के साथ मेरा कमाल का अनुभव। उम्मीद है कि आपको ये प्रयास पसंद आया होगा। इस बारे में आप अपने सुझाव मुझे नीचे दिये गये ईमेल आईडी पर जरूर भेजें.

सेक्सी हॉट बीएफ चुदाई

यदि आपको मेरी कुकोल्ड सेक्स कहानी अच्छी लगी हो, तो मेल कीजिए, कमेन्ट कीजिए मगर मुझसे भाभी की चुत दिलाने के लिए न कहिए.

हॉट लेडी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे एक शोरूम की मालकिन पसंद आ गयी, मैं रोज उस शोरूम में जाने लगा. कुछ देर बाद मैंने मॉम के बाजू में लेटते हुए उनकी गांड देखी, तो वो बड़ी टाइट लग रही थी. मैंने अपनी घड़ी में टाइम देखा, मुझे बाथरूम में आए एक घंटा हो चुका था.

मैंने उसे बेड से नीचे बिठाया और वो मेरे लंड की मुठ मारते हुए मेरी बात सुनने लगी. इसके बाद क्या क्या न हुआ, बीवी के अलावा मेरी साली भी मेरे लंड से चुदी, वो सब अभी बाकी है. रंडी वाला सेक्सइससे उसकी पैंटी गीली हो गई और मैं चुत का स्वाद लेकर अपने रूम में चला आया.

मुझे नहीं पता था कि मीनू का मामा के साथ ऐसा चक्कर भी चल रहा है।फिर उन दोनों की कुछ बात हुई. इससे कुसुम की मादक सिसकारियां और तेज़ हो गईं- आआ आहह … ओह माय गॉड नोओओ उम्म्म्म … नोऊओ.

मैंने महसूस किया कि सुहैला लंड चुसाई के मामले में बहुत परिपक्व लड़की निकली. अब तक तो मैं किसी भी मर्द का लंड चूसती थी, तो दो पांच मिनट में ही उसके लंड का पानी निकल जाता था. इंडियन कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी मेरी दोस्त की एक मस्त माल सहेली की है.

उसके होंठ ऐसे फड़फड़ा रहे थे मानो वह मुझे न्यौता दे रहे हों कि आओ … अपने होंठों से चूसकर मेरी प्यास बुझा दो. वो मुझसे बात करने के साथ ही साथ जो ग्राहक आते, उनको सामान भी देती जा रही थीं. अब ये तो पक्का था ही कि ये भी सिंधी होगी और सिंधी औरतों की बहुत मोटी मोटी गांड होती है.

अब पूरी पीठ पर कोई कपड़ा नहीं था। पूरी पीठ पर मैंने तेल लगाया। तेल लगाते लगाते मेरा हाथ उनके दूध तक छू जाता था।उस दिन मेरा लंड बहुत देर तक तड़पता रहा.

कभी मेरे टोपे को सहलाती तो कभी मेरे गोटों को।मुझे गुदगुदी हो रही थी और मजा भी आ रहा था।फिर वो दोनों नीचे झुककर मेरे लंड को चूसने चाटने लगीं. मैंने तुरंत मामी को मैसेज किया और उधर से सिर्फ दिल वाला निशान ही आया.

मैं आगे बढ़ना चाहता था, तो मैंने उसके सूट के ऊपर से उसके चुचे दबा दिए. उसने लाल साड़ी पहनी हुई थी जोकि कमर से नीचे नाभि को दर्शाती हुई बंधी थी. मैं जानता था कि वो शर्मा रही थी।मैं उसके बूब्स को चूसने लगा।वो आह्ह … आह्ह की आवाजें करने लगी थी।फिर मैंने उसकी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया.

मैंने दो पैग पीकर तीनों अंकल के लंड चूस कर खड़े कर दिए और एक बार फिर से मेरी चुत की मां चुदना शुरू हो गई. हम दोनों घर से दूर थे, मैंने सोचा बरसात में घर पहुंचना मुश्किल रहेगा और रात भी हो गई है. शायद इसका एक ही सबब था कि वो मेरे लंड की परफ़ॉर्मेंस से बड़ी खुश थीं.

बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर वो मेरे लंड को तेजी से अपने मुँह में लेने लगी और मुझे भी मज़ा आने लगा. बस दोस्तो यह थी मेरी सच्ची सेक्स कहानी, जब मैं अपने एक प्रशंसक दोस्त से मिली और मैंने उसको सेक्स का मजा दिया.

बीएफ भेज बीएफ

हम दोनों ने ठीक वैसे ही किया और एक सांस में पैग खाली करके मैंने सुहैला से सिगरेट लेकर अपनी सांसों को खुशबू दे दी. मैंने गाड़ी की चाबी वहीं पास में छुपा दी और नंगी ही सड़क पर चलने लगी. मैं दवाई लगातार खाती रहूंगी।इस तरह से हम दोनों का एक ही साथ झड़ गया.

उस दिन शाम को जब मैं उनके साथ बैठा था, तो वो बोलीं कि कल मुझे कचहरी जाना है … अगर तुम मेरे साथ चल सको, तो बहुत अच्छा रहेगा क्योंकि वहां सब अकेली औरत को बड़ी अजीब नज़रों से देखते हैं. मैंने लंड निकाला और उससे पूछा- मेरा लंड कैसा है?यास्मीन बोली- बहुत मस्त और बड़ा है … मुझे तेरा बड़ा लंड पसंद आ गया है. सेक्सी गुजराती भाभीमैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए, वो अपने कपड़े उतरवाते समय कुछ नहीं बोली.

एक दो पल बाद मैंने उसका हाथ छोड़ दिया मगर वो अपने हाथ से मेरे लंड को हिलाती रही.

मुझे लगा कि ये शायद इनसे गलती से हो गया होगा … या इन्हें मालूम ही नहीं होगा कि इधर से मेन स्विच खोलना होता है. मैंने चूस-चूस कर उसकी चूत को लाल कर दिया था और प्रिया लगातार मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चूत पर दबाए जा रही थी।5 मिनट तक चूत चुसाई के बाद उसकी चूत झरने की तरह झड़ गई। प्रिया की सांसें बहुत तेजी से चल रही थीं.

जिसके कारण मेरे लौड़े में तनाव आना शुरू हो गया।अलग होने के बाद उसने मुझे आंख भी मारी और धीरे से बोली- ऐसे केवल थैंक्यू से काम नहीं चलेगा, पार्टी देनी होगी।दोस्तो, मैं रिसेप्शनिस्ट का परिचय देना तो भूल ही गया।वो लगभग 28 से 30 साल की भरे बदन की औरत थी। उसकी चूचियां लगभग 36 के आसपास थीं. वो मेरे मुँह से मुँह लगा कर अपनी चुत की मलाई का स्वाद खुद लेने लगी थीं. फ्री की चूत कौन छोड़ेगा भला?दोस्तो, मैं आपको सरिता भाभी के जीवन की रंगीनियों को एक सेक्स कहानी के रूप में सुना रहा हूँ.

उनके होंठों को चूम कर मैं उठ गया क्योंकि रिट्ज भी उठ कर नीचे आ सकती थी.

कुछ मिनट हमारे बीच मौन रहा और इसी बीच मैंने तय करते हुए कहा कि इधर तो दो घंटे भी खड़े रहेंगे तो बारिश नहीं रुकेगी. मैंने हंसते हुए पूछा- कैसा लगा मेरा गाढ़ा वीर्य!वो शर्मा गई और बोली- कुछ नहीं भाई … तुम चुप रहो. ये अनीषा मैडम ऐसा क्या काम करती हैं?वो आदमी बोला- यार तुम इस बिल्डिंग के सिक्योरिटी गार्ड हो, तुम्हें पता नहीं है कि क्या काम होता है?मैं बोला- अरे यार मुझे नहीं पता है, अगर पता होता तो मैं तुमसे क्यों पूछता.

भोजपुरी सेक्सी वीडियोxxxअब मैंने उसके ऊपर पानी डाला और अपने लंड को साफ करके उसे नीचे बिठा दिया. लेकिन मैंने अपनी सांस पर संयम बरतते हुए उसका लन्ड हलक में बनाए रखा और धीरे धीरे उसको अंदर-बाहर करने लगी।अब मैं खुद से ही उसके लन्ड को हलक तक के लेकर चूसने लगी।कुछ देर लन्ड चुसवाने के बाद सागर ने मेरी पैंटी उतार के सूंघा और मुझे टेबल पर टांग फैला कर बिठा दिया, खुद कुर्सी पर बैठकर मेरी चूत को चूमने लगा।थोड़ी देर चूमने के बाद वह मेरी चूत को चाटने लगा.

हिंदी में बीएफ दे

फिर ऐसे ही एक दिन की बात है कि जब हम मूवी देखने गए थे तो फिल्म में हीरो हीरोइन का रोमांटिक सीन चल रहा था. इतने दिनों तक जिन चूचियों को देखकर मुठ मारता था, आज वो मेरे हाथ में थीं. आपके मेल के बाद मैं आपको और भी बहुत सारी सच्ची सेक्स कहानी लिखूंगा, जो आपको मजा देंगी.

उस दिन मैं ये सब सोचते हुए इतनी अधिक उत्तेजित हो गई थी कि मैंने उस रात अपनी चुत से पांच बार रस निकाला. तो इससे पहले कि हम उस राह पर आगे बढ़ें, मैं चाहता हूँ कि हम एक दूसरे के विचारों, भावनाओं और जरूरतों को अच्छे से समझ लें!वो बोली- बिल्कुल सही कहा आपने!मैंने पूछा- देखो, अब हमारी वो जवान उम्र तो नहीं रही कि रोज़ ये सब कर सकेन. कमल की समझ में नहीं आ रहा था कि नशे में उसने कैसे चुदाई कर ली?अब सारा ने आखिरी दांव मारा कि तुम रात में बार बार रीना डार्लिंग का नाम ले रहे थे.

मुझे अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा था कि मामा अपनी बेटी जैसी भान्जी मीनू के साथ कैसे ऐसा कर सकते हैं. उस दूध वाले ने सरिता भाबी की चुचियां दबानी शुरू कर दीं और खूब जोर जोर से दबाते हुए चुचों को चूसने लगा. दरवाजा बंद करके वो दरवाजे से ही अपनी पीठ लगा कर मेरी तरफ कामुकता से देखने लगी.

उसने मुझे कुछ और दूसरे डायरेक्टर्स से मिलवाने की बात भी कही थी, जो पोर्न एक्ट्रेस बनने के मुझे दस से बीस लाख तक दे सकते थे. फिर एकदम से मामा ने उसकी चूत में उंगली दे दी और अंदर बाहर करने लगे।दीदी मदहोश सी होने लगी थी.

प्लीज मुझे हैंगआउट्स पर मैसेज करके जरूर बताएं या आप मुझे ईमेल भी कर सकते हैं.

हमारी बातें बढ़ने लगीं, तो वो बोली- तुझे पता है, तू मेरा पहला क्रश था. ऑंटी बीपीमैं पैंटी को सूंघते हुए मैं उनके बाथरूम में मुठ मारने लगा और मेरा वीर्य वहीं ज़मीन पर पड़े उनके कपड़ों पर छूट गया. नेपाली एक्स एक्स एक्सआप बताओगी क्या किसी को?आंटी बोलीं- मैं क्यों बताऊं भला?मैंने बोला- जब आप चुप, मैं चुप … तो किसे पता चलेगा. मेरी कराहें निकलती रहीं मगर उस बेदर्दी ने किसी सांड की तरफ मुझे चोदा.

मैं उसका सिर पकड़कर अपने मम्मों पर दबा रही थी और मस्त होकर उससे अपने दोनों चूचे चुसवा रही थी.

वो लगातार मुझे देख रहे थे और मैं खुश हो रही थी कि मेरा प्लान काम कर रहा है. अंजलि ने साड़ी भी अपनी नाभि से काफ़ी नीचे बांधी हुई थी जिससे अंजलि भी एक मादक माल लग रही थी. मायरा की आंखें अभी भी बंद थीं लेकिन उसकी सांसें काफ़ी तेज़ हो चुकी थीं.

मैं तो सोच रहा था कि आखिर इस चूत से मूत्र भी कैसे बाहर निकलता होगा. अब लड़की थी, तो अपने मुँह से सुरेश से नहीं कह पा रही थी कि मुझे चोद दो. क्या ये वही है … नशीली आंखें, गोरा रंग, पतली लंबी इकहरी देह की मंजू मस्त माल लग रही थी.

भाभी की एक्स

मगर आज तो मैं इसे देख कर खुद पर काबू ही नहीं रख सकी।मैंने कहा- तुम्हें लंड चूसना पसंद नहीं?वो बोली- पहले नहीं था. तुम अकेले ही सफ़र कर रहे हो या तुम्हारे साथ कोई और भी है?मैंने कहा- मैं अकेला ही हूँ. मैंने भाभी से पूछा- आपके घर में कौन कौन रहता है?उन्होंने बताया कि मेरे शौहर दुबई में रहते हैं.

उसने लंड सहलाते हुए कहा- ठीक है लेकिन मैं तुम्हारे लंड पर बैठकर चुदाई करूंगी.

मैंने अपना लौड़ा पूरा उसके मुँह में अन्दर डाल दिया और वहीं झड़ गया.

’ये बोलते हुए मैंने भाभी के दूध दबाने जारी रखे और किस करते करते उनके पूरे चेहरे पर किस करने लगा. अपनी टांगों को मेरे कंधों पर रख कर मेरे गले को एकदम से दबा कर मुझे अपनी चूत में लगभग बांध लिया था. সানি লিওন সেক্সি সেক্সি ভিডিওअब धीरे से जेठजी अपना दाहिना हाथ नीचे की तरफ ले गए और मेरी गांड के नीचे से लेते हुए मेरी चूत के चारों ओर अपनी उंगली फेरने लगे.

बस इतना समझ लीजिए कि पहली बार फोन पर बातचीत में मेरी उससे सीधे चुदाई की बात नहीं हुई थी. अब आगे आंटी की सेक्स स्टोरी:इसी तरह एक दिन आंटी ने मुझे सुबह सुबह कॉल करके अपने घर बुला लिया. मेरे मुँह से मादक आवाजें निकलने लगीं और मैं ‘आह श्रुति जान … आह तेरी गांड कब मारने मिलेगी …’ कहते हुए लंड हिलाने लगा.

मैं तो जिन गश्तियों के पास भी जाता था, मैं तो उनकी चूत भी चाट लेता था।खैर मुझे तो चूत चाटना पसंद था, और जो मैं मज़े ले ले कर उसकी चूत चाट रहा था कि अचानक वो तड़प उठी, और अकड़ गई. उस दिन चुदाई में मैंने उसकी बहन को अपने लंड के नीचे समझ कर चोदा और उसने मुझे राज समझ कर चुदवाया.

उस दिन सोनू ने मुझसे कहा- तुम अपना लंड मेरी गांड में डाल कर मेरी गांड मारो.

11 वीं से हमारे सब्जेक्ट्स अलग हो गए थे, इसलिए हम दोनों अलग अलग क्लास में हो गए थे. सेक्स की जरूरत की कहानी में पढ़ें कि पत्नी की मौत और अपंग होने के बाद मेरी सेक्स लाइफ खत्म हो गयी. चंचल मुझे अन्दर आते देख कर बोली- ओह जीजू … आप कब आए?मैंने कहा- बस अभी.

बिपि सेकसि मुझे चूमते हुए आंटी बोलीं- मेरी जान, मेरी चुत ने मुझे एक सप्ताह तक बहुत तड़पाया है. किसी की क्या परवाह!मैंने कहा- हां … हम दोनों है ही ऐसे, लोगों की सोच का क्या करें.

मेरा माल निकले, उससे पहले मैंने उसे सीधा लेटा कर लंड चुत में डाला और गपा गप चोदना चालू कर दिया. हम दोनों गरम हो गए थे और उसकी गान्ड की थप थप थप की आवाज से पूरा कमरा गूंज उठा।अब मैंने उसकी गान्ड से लंड निकाल लिया और मैं सोफे में बैठ गया. उनकी कामुक नजरों को भांपना मुझे भली भांति आता था और मुझे सब मालूम था कि ये साले मुझे नंगी करके चोदना चाहते हैं.

सेक्सी आर्केस्ट्रा बीएफ

मुझे बहुत जोर की पेशाब लगी … तो मैं पेशाब करने बाथरूम में जाने लगा. आप मुझे मेरी ईमेल पर मैसेज कर सकते हैं अथवा कहानी के नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स में भी अपने विचार व्यक्त कर सकते हैं. उसे पता था कि उसकी मॉम सही है और ये रिश्ता उन दोनों के बीच पाप का रिश्ता कहलाएगा.

मगर धीरे धीरे मैंने सत्यम का पूरा लंड अपने मुँह में उतार लिया और खूब सुकून से चूसा उसका लंड एकदम से मेरे मुँह पर अपना प्री-कम टपकाने लगा. कमल वीकेंड पर पूरा दम लगाकर दो बार चुदाई करता मगर अगले दिन 10 बजे से पहले सोकर नहीं उठता था.

मामी ने पूछा- क्या इच्छा है?मैंने कहा- मैं आपको दुल्हन के रूप में भोगना चाहता हूँ और पूरे मन से आपको दो बूंद जिन्दगी की देना चाहता हूँ.

मेरी और लिली की सील पैक चूत की कहानी आपको कैसी लगी, मेल करके जरूर बताएं. नासिर जी के घर हालात ठीक नहीं थे क्योंकि कोरोना की वजह से उनकी फैक्ट्री बंद हो गई थी और उनकी बीवी भी को कोरोना हो गया था, जिससे उनकी मृत्यु हो गई थी. उसने ध्यान से सुना तो भाबी की ही आवाज थी और ऐसी आवाज आ रही थी, जैसे कोई भाबी को चोद रहा हो और वो मीठे दर्द से बिलबिला रही हो.

भाई की शादी में किरायेदार से चुत चुदाईइस प्यार के लिए मैं आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद करता हूं. वो तब तक मेरे लंड को चूसती रही जब तक कि मेरे लंड में फिर से तनाव नहीं आ गया. उन्हें ऐसे देख कर मैंने फुद्दी में दूसरी उंगली भी डाल दी और चोदने लगा.

अब जब तब मैं भाभी की चुदाई करता रहता हूँ और भाभी को भी लंड की खुराक मिलने लगी थी.

बीएफ ब्लू सेक्सी हिंदी पिक्चर: ऐसा लग रहा था जैसे कि वो बहुत बड़ी जंग जीतकर एकदम से थक कर सो गयी हो. आज की बातें सुन कर मुझे इतना तो यकीन हो गया था कि मैं अगर कुछ करूं भी, तो ये मुझे कुछ नहीं कहेगी.

फ्रेंड्स, रोहन के डैड ने इस लैटर को पढ़कर क्या कहा, इस सबका खुलासा सेक्स कहानी के अगले भाग में होगा. अगले कुछ ही पलों में 5-6 झटके लेकर मैंने चूत का ढेर सारा रस जेठजी के चेहरे और हाथों में उढ़ेल दिया. मुझे पता चल गया था कि लौड़ा इस जरा से छेद में घुसेगा, तो आज पक्के में इसकी चूत बुरी तरीके से फट जाएगी.

इसके बाद चाहे उसे कमल की झपकी लगने के बाद वॉशरूम में जाकर वहां अपनी उँगलियों से या किसी पतली बोतल से अपनी चूत को मसाज क्यों न देनी पड़े.

मैं सोच में पड़ गया कि जब मामा ही नहीं है तो मामी कॉन्डोम का क्या करती है?फिर वहीं पास में एक अखबार के टुकड़े में लिपटा हुआ मुझे एक छोटा बेलनाकार लकड़ी का डंडा मिला. अब जब मैं उनकी चूत में धक्के लगा रहा था तो पच पच की ध्वनि सी पैदा हो रही थी. कुसुम के गले लगते ही रोहन को अपने सीने में अपनी मॉम के 38 साइज के बूब्स का बहुत मादक अहसास हुआ.