देसी बीएफ चूत

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म चुदाई बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू पिक्चर सेक्सी कॉम: देसी बीएफ चूत, हालांकि ऐसा मैंने पहले भी महसूस किया था … लेकिन इतनी अच्छी तरह से नहीं किया था.

हिंदी बीएफ फिल्म हिंदी बीएफ फिल्म

मेरी बबीता भाभी से बहुत अच्छी जमने लगी थी तो हम दोनों मैसेज भी कर लिया करते थे. आंटी सेक्सी वीडियो एचडीइसलिए शनाया को नए लंड से कोई दिक़्क़त नहीं थी बल्कि उसे तो अपनी चूत के लिए एक नया लंड मिल रहा था.

दिन में जब ससुर जी बाहर गये तो सासु जी मेरे पास आई और बोली- बहू, जो भी घर में हो रहा है, बहुत गलत हो रहा है. ब्लू वीडियो ब्लू वीडियो सेक्सीमैं जितनी जीभ बाहर निकाल सकता था, उतनी निकाल कर उसकी चुत के दाने पर रख कर चाटने लगा.

मैं समझ गया कि ये पीती तो है, मगर आज घर जाने की वजह से मना कर रही है.देसी बीएफ चूत: फिर तीनों को आंखों पर पट्टी बांधकर पलंग के किनारे घोड़ी की तरह खड़ा किया गया.

अब मैं भी मन बना चुकी थी कि इस लण्ड को अपनी चूत की गहराई में उतारना है.साले लगता है … तुम लोग मुझे सड़क छाप रांड बना कर छोड़ोगे!मैंने कहा- तेरा मन नहीं है तो ना बोल दे ना.

हिंदी बीएफ वीडियो सॉन्ग - देसी बीएफ चूत

हुआ यूँ कि एक दिन रास्ते में साइकिल रुकवाकर वो मुझसे बोली- यहां बगल के गांव में मेरी एक सहेली रहती है.तुम नहीं मानोगे ना?”फिर सरिता ने मेरे कान में मुँह लगाकर कहा- लंड छोटा है.

मैं अपने लंड को भाभी के कपड़ों के ऊपर से ही उनकी चुत पर रगड़ने लगा और किस करता रहा. देसी बीएफ चूत फिर जैसे ही मेरे हाथ भाभी के कमर को जाकर लगे, उनके मुँह से ‘आह …’ निकल गयी.

एक दो बार कोशिश करने के बाद भी लंड का सुपारा प्राची की गांड में नहीं जा रहा था.

देसी बीएफ चूत?

अब मौसी मेरे लंड को मरोड़ रही थीं और मैं उनकी गीली ब्रा और पैंटी को देख रहा था. विवेक अपनी बहन की चुची दबाते हुए बोला- बहना, तुमको चोदने में भी हम को डर लग रहा था. यह सब सुनकर सीमा का दिल धक-धक करने लगा और उसकी चुत में भी सनसनी होने लगी.

उसने लगातार धक्के लगाते हुए मेरी गांड में ही पानी छोड़ दिया और अलग हट गया. फिर उसने मुझे अपनी गोद में उठाया और खुद नीचे लेटकर मुझे अपने लंड पर बैठा लिया. लेकिन मेरे पति कहां कुछ सुनने वाले थे, उन्होंने अपना मोटा तगड़ा लंड पूरा जड़ तक मेरी चुत में घुसा दिया और एक दो तीन करने लगे.

तो अंजलि भाभी बोलीं- हां तो क्या हुआ?मैंने कहा- इनको तो उठाना ही नहीं आता. वो अब कुछ बोल नहीं पा रही थी, बस आह … ऊह … की आवाजें निकाल रही थी।कुछ देर ऐसे ही मजे लेने के बाद वो बोली- अरे शुभम, कॉफी तो पी लो, ठंडी हो जाएगी, मेरे दूध बाद में पी लेना।मैंने उनके कहने पर कॉफी जल्दी से फिनिश की और वो भी पीने लगी।कॉफी पीकर मैंने खाना आर्डर किया और फिर से सासू माँ पर कूद गया. और तब मैंने उसका झड़ता हुआ लण्ड चाटा और खूब एन्जॉय किया।दूसरे दिन जब मैं अपने जेठ से चुदवा रही थी तो मेरी ननद अपने चचाजान का लौड़ा पकड़े पकड़े पकड़े मेरे कमरे में आ गयी।वह भोसड़ी की नंगी थी।मुझे लण्ड दिखाती हुई बोली- लो भाभी जान, अब मेरे चचा जान के लण्ड का मज़ा लो.

इतना कहते ही भैया लूसी की चूत में से लंड निकालकर अपने भारी भरकम लंड को मेरी चूत के मुंह पर रखकर रगड़ने लगे. उसने उसी समय अपनी गर्लफ्रेंड रेणु को फोन लगाया और उससे कहा- मेरे दोस्त के घर में जगह का इंतजाम हो गया है.

यही सोच कर मैंने अपने पति की वोडका की बोतल से दो पैग जल्दी जल्दी खींचे और बाहर निकल आई.

प्रिया तेज़ स्वर से चीखी और बोली कि मेरी पीठ पर किसी कीड़े ने कुछ काटा सा है.

अब मैं अपना लंड आहिस्ता आहिस्ता अन्दर बाहर करने लगा तो सरिता भी नीचे से अपनी गांड उठाकर लंड को चूत में लेने लगी. मैंने भी अपना हाथ उसके हाथ से हटाया नहीं, हम ऐसे ही हंस हंस कर बातें करते रहे. Xxx बहन भाई सेक्स कहानी मेरी मौसी की बेटी और मेरी है। हम दोनों एक दूसरे को चाहने लगे थे। मैं एक बार अपनी मौसी के घर गया तो वहां हम चुदाई का मौका ढूँढने लगे.

अपने हाथ से मैंने उसकी पैंटी निकाल कर चुत को भी पूरी तरह से नंगी कर दिया. मैंने एक गोली लेकर दरवाजा फिर से लॉक कर दिया और गोली सोनाली को लेने को कहा. शबाना के जिस्म पर लेटे हुए वीरू ने शब्बो चाची को जोर से जकड़ रखा था।शब्बो ने उसके सिर पर प्यार से हाथ घुमाते हुए उसको भी इस आनंद का मजा लेने दिया।तभी उसको याद आया कि वीरू का सारा माल उसकी चूत में ही निकल चुका था- हायला … काफिर की औलाद मेरे पेट में?कहते हुए उसने वीरू को अपने आप से अलग करने की कोशिश की मगर वीरू ने उसको उठने नहीं दिया।उल्टा उसको दबाकर फिर से उसको किस करने लगा.

मौका मिलते ही मुझे बुला लेती थीं और हमारी जोरदार चुदाई का दौर शुरू हो जाता था.

उन्होंने कहा- मैं तो तुमको अच्छा लड़का समझती थी, पर तुमने तो मेरा विश्वास ही तोड़ दिया. धीरे से मैंने अपना हाथ उसके लोअर में डाल दिया और उसके चूतड़ों को दबाने लगा. गन्ने के खेत के अन्दर एक जगह पर कुछ साफ जगह पड़ी थी, शायद वहां पर गन्ने की फसल नहीं उगी थी और ये जगह खेत के लगभग बीचों-बीच थी.

प्राची को भी गांड मरवाने में मजा आने लगा था, उसके मुँह से भी मादक सिसकारियां निकल रही थीं. मैंने भाभी की चूत को चाटना चालू कर दिया- आह … आह … राज … मैं बहुत प्यासी हूँ आहंह चाट लो मेरी चुत को आह!भाभी तेज तेज सिसकारियां भरने लगीं. मैंने धक्के जोर जोर से मारने शुरू कर दिए, चाची ने भी अपनी टांगें पूरी खोल दी थीं.

मेरे हस्बैंड को भी पता था कि वहां कोई मर्द तो रहता नहीं है, भाभी अकेली ही घर पर रहती हैं.

मैं बोला- क्या तुम्हारा … साफ बोलो न … इसे लंड बोलते हैं, बोलो लंड. मैं शादीशुदा हूँ और मुझे अपनी बीवी की याद आती है मगर वो अभी पेट से है इसलिए मैं इस बार की छुट्टियों में उसके साथ सेक्स भी नहीं कर सका था.

देसी बीएफ चूत उसकी इस इच्छा को पूरी करने के लिए कुछ इंतजाम करना था, तो बाद में उसे पूरा करने का तय किया गया. उस वक्त भाभी नीद में थीं और मैं भी नींद में होने का नाटक कर रहा था.

देसी बीएफ चूत दीदी मेरी इच्छा और मेरी खुशी के लिए अपना पूरा बदन मुझे सौंप चुकी थीं. पांच मिनट गांड मारने के बाद सत्या ने अपना लंड बाहर निकाला और शनाया के मुँह में दे दिया और मुँह में ही झाड़ दिया.

फिर मैं पेट को चूमते हुए उनकी नाभि तक आया और नाभि को चूसने लगा, काटने लगा.

राजस्थान के बीएफ सेक्सी वीडियो

दोस्तो, सेक्सी भाबी Xx कहानी किस तरह से परवान चढ़ी, ये मैं आपको अगले भाग में लिखूँगा. विलियम को अभी भी कुछ समझ नहीं पा रहा था कि मैं जगी हुई हूं या यह सब अनजाने में हो रहा है. बाद में पता चला कि भैया भाभी से 8 साल बड़े थे और उनकी बड़ी दीदी के पति थे.

उस दिन ये सब सोच कर मैंने अपना लंड निकाला और चाची की याद में मुठ मारने लगा. पूजा अब अपने गांव चली गयी है लेकिन आज भी उससे फोन पर बातें होती हैं. उस दिन भैया घर पर नहीं थे, उनका बाहर का काम ज्यादा रहता था तो वो अधिकतर बाहर ही रहते थे.

उसी में एक लड़की भुवनेश्वर से आई थी जिसे मैंने सुबह ऑफिस में देखा था.

सामान लेने के बहाने वो थोड़ा और आगे को होते, जिससे थोड़ा दबाव बनता और उनका लंड मेरी गांड में और ज़्यादा टच होने लगता. उसकी कमर से पीठ तक हाथ फेरा और एक शानदार चुम्बन के बाद उसे अपनी पकड़ से आज़ाद कर दिया. तभी उसके मुँह से गर्म आवाजें निकलने लगीं और वो लंड पेलने की कहने लगी.

कुछ दिन बाद वो मायके चली गईं … मैंने भाई के फोन से उनके नम्बर निकालकर उन्हें फोन किया और धीरे धीरे हमारी बातें होने लगीं. कहानी के पहले भागवासना से भरपूर बीवी ने चुदाई का मजा दियामें आपने पढ़ा कि अपने दूसरे हनीमून के लिए मालदीव्ज़ जाने के चाव में वासना से भरपूर पत्नी ने कैसे अपने पति को सेक्स का मजा दिया. ट्रेनिंग लेने के लिए भी लड़के और लड़कियां दोनों आए थे और ये ट्रेनिंग 3-4 दिनों तक चलने वाली थी.

वो मुझसे अलग हुई और बोली- झूठ?मैंने कहा- नहीं यार सच में!वो बोली- तो तुमने पहले क्यों नहीं कहा?मैंने उससे कहा- यार सच बताऊं, तो बात ये है कि भले ही हम दूर के रिश्तेदार हैं, पर रिश्ता तो हमारा भाई बहन वाला है. इस पर फूफा जी ने मेरी चुत पर अपने लंड को सैट किया और हल्का सा दबाव डाला.

कुकोल्ड वाइफ सेक्स स्टोरी मेरी बीवी के साथ मेरे दोस्त की चुदाई की है. इतनी नर्म चूचियां थीं कि सारी पॉर्न स्टार भी इसके सामने कुछ नहीं थीं. फिर मैंने आंटी से खड़े होने के लिए कहा और उन्हें एक मेज के सहारे खड़ा कर दिया.

पागल हो तुम … और इसका किसी को पता चला तो बदनामी का क्या?जयदीप- यार कैसे पता चलेगा! न उसके घर पर कोई है और न हमारे.

साथ लाए हुए फूल वहीं बिस्तर पर डाल कर और उसको पीछे से बांहों में भरकर मैं सीमा की गर्दन पर किस करने लगा. कुछ मिनट बाद मैं भी भाभी की चुत में ही झड़ गया और हम दोनों नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर अपनी सांसों को नियंत्रित करने लगे. मौसी बाथरूम में एक तरफ होकर बोलीं- आ जाओ … तुम पहले जल्दी से नहा लो, फिर मैं बाद में कपड़े धो लूंगी.

फिर भाभी ने कहा- देखते ही रहोगे या अंदर भी आओगे?मैं भाभी के पीछे पीछे अंदर आ गया. मैं अपने दोस्तों को मैदान में छोड़ कर बहाना बना के कक्ष में चला आया.

ये सब हुआ कैसे?कुच्ची- सुन बे भोसड़ी के … हुआ ये कि जब मेरी छमियां ने फोन करके मुझे सारी बात बताई और मुझे मिलने को बोली, तो मेरे दिमाग में आया कि यही सही समय है कि गुड्डू भी जमीला की चूत रस का स्वाद चख ले. फिर मेम ने मुझे माफ भी कर दिया, वो मेरी मजबूरी को शायद समझ रही थीं. सच बोलूँ तो अनजान जगह की वजह से मैं खुल कर बोल नहीं पा रहा था … पर साधारण विषय पर चर्चा शुरू हो चुकी थी, जैसे मौसम और माहौल आदि.

xxx सेक्स विडियो

मैं फटाफट चूड़ियाँ उतारने लगी तो उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर कहा- अरे मेरी रानी … रहने दो, मैं तुम्हारा पड़ोसी चाचा ही तो हूँ.

मुझे ऐसा महसूस हुआ कि मेरी चोरी पकड़ी गई है और मैंने तुरंत अपना हाथ तुरन्त चूत के ऊपर से हटा दिया. मैं तब कॉलेज के दूसरे साल में था और पत्राचार के माध्यम से पढ़ाई पूरी कर रहा था. ये हॉट लड़की सेक्सी कहानी जो मैं आपको बताने जा रही हूं, वो मेरे और मेरे फूफाजी जी बीच हुई थी जिसमें मैं एक नादान कली से फूल बन गई थी.

फिर वो साड़ी के ऊपर से ही मेरे सामान्य से थोड़े बड़े चूचों को दबाने लगे. मैं अपनी उंगलियों को तेज तेज सलवार के ऊपर से ही चूत पर रब करने लगी. बीएफ चोदने वाली बुरीपहले मैंने धीरे धीरे झटके दिए तो दीदी बोली- साले क्या हुआ तेरे लौड़े में दम नहीं बचा क्या … आह ज़ोर ज़ोर से चोद ना अपनी बहन को … तेरी बहन कमज़ोर नहीं है … चोद सेल तेज तेज चोद.

इस तरह पांच मिनट जोरदार चुदाई के बाद वो फिर से झड़ने के कगार पर आ गई थी. भाभी को मालूम चल गया था कि आज सारी रात का मामला है तो वो खुश हो गई थीं.

सीमा को कंपनी देने के लिए मैंने भी अपने बाल बढ़ाये थे और जो हालत सीमा की थी ठीक वैसी ही मेरी थी।हमारी बग़ल में से बदबू आ रही थी और अभी तो शाम के 6 ही बजे थे. मैंने उसके चेहरे पर किस करना शुरू कर दिया और धीरे धीरे उसके होंठों के आजू बाजू किस करता रहा. पंजाबी भाभी सेक्स कहानी मेरे घर में किराये पर रहने वाली लेडी के साथ मेरी पहली चुदाई की है.

मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया और उसके बड़े बड़े चुचों को हाथों में भरकर मसलने लगा. मैंने रुकने को बोला, तो वो सड़क के एक किनारे झाड़ियों की आड़ में खड़ी हो गई. उसने मुझसे मेरा फोन नम्बर ले लिया।उसके बाद हमारी एक दो बार फोन पर बात हुई है।अब वो भी मुझसे मिलने के लिए बेताब है और मुझसे जल्दी ही चुदने के लिए वादा किया है.

रीना भी नीचे से अपनी कमर हिला रही थी और हसित को अपनी बांहों में लिए हुए थी.

लेकिन बस तुम ही से हम दोनों तुम समझदार हो अनिकेत विवेक अच्छे नहीं हैं. फिर मैं वैसे ही उनके ऊपर लेट गई और उन्होंने नीचे से कमर चलाना शुरू कर दिया.

चूंकि मेरी शॉप उनके घर के पास ही थी, तो रोहित भैया भी मुझे अच्छे से जानते थे. मैंने पूछा तो बोली- आप बस डालो बाबू … जितना दर्द होगा, उतना मज़ा आएगा. उनका लन्ड मुरझाया हुआ होने के बाद भी मेरे पति के लन्ड से मोटा लग रहा था.

सरिता पूरी तरह से कामवासना में डूबकर अपनी आंखें बंद करके आनन्द ले रही थी. मैंने उसकी टी-शर्ट को गर्दन तक ऊपर कर दिया और ब्रा का हुक खोल कर उन दोनों कपोतों को जैसे अपना बना लिया था. मैंने यहां गणित और रसायन विज्ञान की तैयारी के लिए एक कोचिंग में दाखिला ले लिया.

देसी बीएफ चूत मैंने इस चुदाई की मस्ती में अपनी दीदी की तड़प भरी आहों और कराहों को अनसुना कर दिया था. [emailprotected]न्यूड गेम X कहानी का अगला भाग:टास्क गेम: नंगे बदन पर जेवेलरी के साथ फोटोशूट- 2.

हिंदी देसी बफ फिल्म

जो मर्द मेरी चुत में धक्के लगा रहा था, उसने पानी मेरी चुत में ही छोड़ दिया और अलग हो गया. रीना ने कंडोम का रैपर खोला और कंडोम बाहर निकाल कर हसित के खड़े हुए लंड एक बार फेर दिया. मैंने भाभी से कहा- यदि आप मुझे भी चरम सुख प्राप्त करवा दो, तो मुझे भी मजा आ जाएगा.

मैं आगे बढ़ने से पहले आपको उस भाभी के बारे में थोड़ा बता दूँ जिस भाभी की चूत मारी मैंने!भाभी का नाम आंचल था, उनकी उम्र 33 साल थी. फिर शनाया सत्या के सामने बैठ गई और उसकी पैंट को चड्डी समेत नीचे कर दिया. बीएफ सील तोड़ते हुएअब भाभी को भी मजा आ रहा था, वो भी बेड के नर्म गद्दे पर अपनी गांड उठा कर धक्के लगाने लगी थीं.

उसकी गांड शायद पहले भी चुदी हुई थी तो मुझे ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी.

और जितने भी भारतीय किलों और हवेलियों में घूमा है, सब में भारतीय रानियों की और भारतीय औरतों की खूबसूरती का वर्णन किया गया है. क्या मतलब है तुम्हारा?मैं- हां मैंने वो सब देखा, जो तुम गन्ने के खेत में अपने तीनों सहेलों के साथ कर रही थीं और मैं भाभी को आज सब बताऊंगा कि तुम्हारा पढ़ने में अब मन क्यों नहीं लगता है.

उसने दो तीन बार चेहरा इधर उधर किया, फिर वो भी अपनी गर्दन नीचे करके चोर नजरों से मुझे देखने लगी थी. मैं बिना डरे अम्मी से बोला- अम्मी मुझे आपसे प्यार हो गया है, दिन रात मैं सिर्फ आपके बारे में ही सोचता रहता हूँ. तभी तो वो दोनों इतनी ऐशो आराम की ज़िंदगी जीती हैं और उनको कोई दिक्कत नहीं है.

अबकी बार कहानी के बाद मेरी चूत के चाहने वालों ने मुझे कई नए नाम भी दे दिए अपनी मेल के जरिये …जैसे गदराई घोड़ी, मदमस्त हथिनी, चूत की मल्लिका, काम की महादेवी वगैरा वगैर नए नामों से मुझे नवाजा!आप सभी को ज्यादा इंतजार नहीं करवा कर सीधे आज की हॉट भाभी सेक्स कहानी पर आती हूँ.

उसका क्या होगा?मैंने अपनी बीवी के जवाब के आगे हथियार डालते हुए कहा- ठीक है, मैं देखता हूँ. जब मैंने देखा कि सभी अब घर से जा चुके हैं तो मैं जल्दी से नहा धोकर तैयार हो गया।10 बजे तो हमारे दरवाजे पर एक दस्तक हुई. सोनम कपड़े पहनने लगी, प्रकाश ने उसे रोककर कहा- सोनम रानी, तुम बिना कपड़ों के ज्यादा सुंदर लगती हो, अभी तो रात बाकी है.

गांव की लड़कियों की नंगीसोनाली ने मेरा मुरझाया हुआ लंड पूरा अपने मुँह में लेकर चूसकर साफ कर दिया. वो बोली- यार, मैंने कभी गांड मरवाई नहीं है, मनीष का तो तुम्हें पता ही है, उसे इस सबमें इतना इंटरेस्ट नहीं है.

बंगाली रंडी सेक्स

फिर अगले ही झटके में मैंने उन्हें बिस्तर में लिटाया और उनके ऊपर चढ़ कर चिपक गया. 21 साल की उम्र में भी उसका लौड़ा इतना मोटा और लम्बा हो चुका था जो आज अपनी कामवाली शब्बो चाची की चूत को भोसड़ा बनाने पर तुला था. मैंने शनाया से पूछा- तुम्हें दिक़्क़त तो नहीं है?शनाया ने कहा- नहीं, वंश तो मेरा दोस्त है, वो मुझे चोद सकता है.

वो तो खिड़की में से बारिश की बूंदें अन्दर आ रही थीं, तो बारिश होने का अंदाज हुआ. करीब दस मिनट बाद वो पुनः बहुत गर्म हो गयी और मुझे नीचे लेटा कर काऊगर्ल की पोजिशन में आ गयी. जमीला मादक सीत्कार के साथ हां हां हां ऊम्म ऊम्म करने लगी इधर खाट से भी चुर चर्र चुचू चर्र चर्र की आवाज़ आने लगी.

मेरे अंदर आने पर काफी फॉरेनर्स ने मुस्कुराकर और सर हिलाकर मेरा अभिवादन किया और मैंने भी मुस्कुरा कर उनका अभिवादन स्वीकार किया और जहाँ मुझे बैठना था उस सीट के पास मुझे वह लड़का लेकर आ गया,मुझे जिस स्लीपर में बैठना था उसके जस्ट नीचे की डबल सीट पर दो अंग्रेज मर्द बैठे थे. रीना शैतानी करती हुई बोली- ऐसे कैसे झील दिखा दूँ आपको!हसित बोला- तो कैसे दिखाओगी?रीना बोली- मैं तो अपनी तरफ से बिल्कुल भी नहीं दिखाऊंगी. सोहल ने हनी की चुदास को समझ लिया और वो उसकी टांगों को खींच कर उसे बेड के किनारे पर ले आया.

तो भाभी ने कहा- ठीक है, मैं मैगी बनाकर वहीं ले आती हूं।मैंने कहा- ठीक है. मैं उसकी पीठ, कमर और उसकी गांड अपने दोनों हाथों से सहलाते हुए उसे शांत करने लगा.

तो मैं सासू माँ के ऊपर से हट गया और उनको मौका दिया अपना ज़ोर दिखाने का!मैं लेट गया.

शायद अब तक मैंने जितना उसको तंग किया था, वो उसका बदला लेने का इरादा किए मेरे ऊपर बैठी थी. बीएफ फिल्म नईमैं उसी दिन समझ चुका था कि राहुल अब तक अपने घर क्यों नहीं जा रहे हैं. क्सक्सक्स सेक्स हदउस रात के कुछ दिनों बाद मुझे पता चला कि वो अपने उसी मौसी के लड़के के साथ किसी होटल ने 2 रात रहकर आयी है. वो कहने लगी- शादी के बाद शुरू में अशोक मेरा बहुत ख्याल रखते थे पर अब वो मुझपर ध्यान ही नहीं देते। अपने काम के सिलसिले में कई कई दिनों तक घर के बाहर रहते हैं.

फ्रेंड्स, मैं अगम आपको अपनी दूर की रिश्ते में लगने वाली बहन लवी की चुत चुदाई की कहानी सुना रहा था.

मैं उनको चुप करवा ही रहा था कि तभी उन्होंने मुझे गले से लगा लिया और बोलीं- तुम मेरी हेल्प करो. हम चारों लोग के मन में यह था कि भैया कहीं मजा तो लेकर निकल ना जाएं. कुछ पल बाद सोहल ने धीरे से अपनी एक उंगली से हनी की गांड के फूल को कुरेदना चालू कर दिया.

तभी रवि ने मेरे होंठों को अपने अपने होंठों में कैद कर लिया और वो मेरे होंठों को चूमने लगा. वो बोली कि मुझे उसको फर्टिलिटी टेस्ट के लिए भेजना है, इसलिए मैंने तुम्हारा वीर्य बोतल में स्टोर करके रखा है. दरअसल हुआ ये कि मेरे कॉलेज के अंतिम वर्ष के दौरान मेरे लिए रोजाना कॉलेज जाना बहुत दिक्कत वाला हो गया था.

देसी चोदने वाली वीडियो

मैं फटाफट चूड़ियाँ उतारने लगी तो उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर कहा- अरे मेरी रानी … रहने दो, मैं तुम्हारा पड़ोसी चाचा ही तो हूँ. मैंने सुरक्षा की दृष्टि से दोनों साधन छोड़ दिए और चाय पीने पर ध्यान लगाया. दीदी की 36 की साइज की चूची जो बिल्कुल गोरी थी, मुझे साफ साफ दिखाई दे रही थी.

तो जब वह चाहते तो मुझे तो नीचे आना ही पड़ता वापस!उनमें से एक अंग्रेज बोला- नहीं, हमें कोई दिक्कत नहीं है आप आराम करिए.

हैलो फ्रेंड्स, कैसे हैं आप सब लोग … उम्मीद करता हूँ कि मस्त चुदाई कर रहे होंगे.

मेरी बीवी ने मुझे उस छाया को देखने के लिए कहा और पूछा- आज यह इतना बड़ा और फुंफकार क्यों रहा है?मैंने ऐसा इसे पहले कभी नहीं देखा था. मैंने लोवर और टी-शर्ट पहन लिया और बेड पर बैठकर फोन में आज के फोटोज देखने लगा था जो दोस्तों ने खींच कर व्हाट्सैप ग्रुप में डाल दी थीं. ऑंटी फुल सेक्सफिर उसकी गर्दन से चूमते हुए कान की लौ को चूसा और जमीला के कान में धीरे से बोला- मेरे लंड को चूसो.

वे ‘आह हहहह अहह …’ की आवाजें करने लगीं और बोलने लगीं- आंह आशु पी जाओ … खा जाओ मेरे मम्मों को नौंच डालो … आज मेरे बदन को पीस दो. वो मेरा लंड चूसती हुई कहने लगीं- सोनू, तेरा लंड तो अच्छा खासा लंबा और तगड़ा है … आज तेरे साथ चुदने में मजा आ जाएगा. उसने बोला- एक बार फिर से सोच लो गौरव, तुमने कुछ भी करने के लिए वादा किया है.

जिया दीदी- मतबल आज की रात तुम अपनी दी को गर्लफ्रेंड बनाना चाहते हो!मैं- नहीं. मैंने उसके दूध दबाते हुए कहा- आज मैं तुम्हें खूब मस्त तरीके से चोदूंगा, तुम बस आगे देखती जाओ.

तब मैं बोला- आप मुझे अपना बॉयफ्रेंड बना लो, हम हमेशा अच्छे दोस्त बनकर रहेंगे.

हम दोनों को ऐसा लगने लगा था, जैसे हम दोनों एक दूसरे के लिए ही बने हैं. फिर मैंने ज़्यादा ज़ोर दिया तो वो रोती हुई बोली- एक लड़का है, वो पहले मेरा ब्वॉयफ्रेंड था, मगर अब वो मुझे परेशान कर रहा है. जब से तुम्हारा मोटा और लंबा लंड देखा है, तब से मेरी चुत बार बार गीली हो जाती है.

बीएफ बीएफ न्यूज़ meaning 2017 वहां पहुंची तो उनके लीडर से मैंने पूछा- आज तो कार्यक्रम खत्म हो गया, फिर किस लिए बुलवाया है?उसने कहा- आप तो देख ही रही हैं कि हमने कितनी मेहनत की है. उसके बाद हमने शनाया को बेड पर लेटा दिया, उसकी टांगें फैला कर चूत रगड़ने लगे.

कुछ देर बाद मैंने चुपके से देखा कि वो ब्लाउज खोलकर अपने एक चुचे से उसे दूध पिला रही थीं और उनका बेबी भाभी के निप्पल चूसता हुए साफ दिख रहा था. माय बेस्ट फ्रेंड वाइफ Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मेरी सेटिंग मेरे दोस्त की बीवी से हो चुकी थी. मेरी शादी को 4 साल हो गए हैं और अभी मेरे पास 1 साल का बेबी है।मैं एक हाउसवाइफ हूं। मेरा फिगर एकदम मस्त है.

बीएफ आजा बीएफ

कुछ देर के बाद तो वो हाथ में हाथ डालकर घूमने लगा, दोनों फोटो लेने लगे. पर मैं एक समस्या था … मेरे साथ होने पर दोनों रोमांस नहीं कर पा रहे थे और ना कुछ और. मगर हसित रीना की एक नहीं सुन रहा था, वो बस अपनी भाभी की चूत चाटे जा रहा था.

काली ब्रा में बहुत सेक्सी लग रही थी वो!मैंने 2 मिनट उसे ब्रा में देखा. विलास अपनी जीभ मेरी गांड के छेद के आजू बाजू गोल गोल घुमाने लगा तो मैं सह नहीं पा रहा था.

अब मैंने प्रिया की पूरी पीठ पर किस करना शुरू कर दिया और जीभ से चाटा भी.

हम दोनों के बदन बहुत गर्म हो चुके थे … एक दूसरे के शरीर स्पर्श से कामोत्तेजित हो गए थे. उस दिन मैंने अपने मोबाइल में चुदाई का सेक्स वीडियो डाउनलोड कर लिया था ताकि बाद में नेट स्लो होने पर मेरा प्लान खराब ना हो जाए. मैं दोनों पैरों से धीरे धीरे ऊपर बढ़ता हुआ उसकी पैंटी तक पहुंचा, जहां उसने योनि में परफ्यूम लगा रखा था जो उसके रस से बह कर पूरे कमरे में खुशबू भरे जा रहा था.

पूरे कमरे में भाभी की आवाज गूंजने लगी थी- आहहह आईईई … हाहहह … उम्म उम्म्म हाय!फिर भाभी ने अपना पानी छोड़ दिया और भईया भी थोड़ी देर बाद उनकी चूत के अन्दर ही झड़ गए. चूंकि मेरे गांव से शहर बहुत दूर था, पर कोरोना संकट की वजह से कोई हॉस्टल नहीं खुला था. सरिता अपने दोनों हाथ से मेरे सर को पकड़कर अपनी चूचियों पर दबाने लगी और साथ ही वो अपनी गांड हिला रही थी.

कुछ ही देर में रीना का हाथ हसित के अंडरवियर के ऊपर पहुंच गया तो हसित ने रीना के ब्लाउज के ऊपर से ही उसके मम्मों को दबाने लगा और दूसरे हाथ से रीना को अपने पास खींच लिया.

देसी बीएफ चूत: मैं उसके घर गया तो उसने मुझे कसकर गले से लगाया और मेरी गर्दन पर जोर से किस करके थैंक्स कहा. फिर चाचा अपना एक हाथ मेरे सर के पीछे ले गए और सिर को लंड के पास झुका दिया.

ये दृश्य आज से पहले मैंने सिर्फ एक बार देखा था, जब हमारी भैंस को भैंसा चोद रहा था. तभी जिया दीदी मुझे रोक दिया- अब ज्यादा मत खेल … वर्ना मेरा फिगर लूज हो जाएगा. भाभी इतरा कर बोलीं- सारा कुछ यहीं पूछ लोगे तो फोन पर क्या बात करोगे?मैंने रास्ते पर नजर मारी और जल्दी से भाभी के गाल पर किस कर लिया.

दोनों एक साथ धक्के लगाने लगे और लगातार धक्के लगाते हुए एक साथ पानी छोड़ दिया.

फिर एक मिनट बाद वो फिर से गर्म हो गई और अब मैं उसे तेज़ी से धक्के मारे जा रहा था. थोड़ी देर बाद मैंने जब देखा कि लोहा गर्म हो गया तो मैंने अब हथौड़ा मारा और कहा- भाभी आप कब आई?तो उन्होंने कहा- जब तुम चुदाई की कहानी पढ़ने में व्यस्त थे, तभी मैं आ गई थी. मैंने लंड चुत में पेल दिया तो मौसी की आंह निकल गई और हमारी चुदाई शुरू हो गई.