आरती की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,उच्च परिभाषा वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

टोटके हिंदी में: आरती की सेक्सी बीएफ, ” नीलम ने शर्म से पानी पानी होते हुए कहा।बेटी मैं कुछ करने की नहीं सिर्फ नाटक करने की बात कर रहा हूं” महेश ने अपनी बहू को समझाया।नाटक? हाँ पिता जी… आप सही कह रहे हैं, अगर मैं समीर के सामने आपके साथ नाटक करुं तो वे ज़रूर गुस्सा होंगे.

सीएनसीएनएक्सएक्स

ऐसा क्यों?रोहन- क्योंकि वो सिर्फ महिलाओं के ही होते हैं, मर्दों के नहीं. इंग्लिश सेक्सी ब्लू पिक्चर दिखाओवो भी मेरा साथ दे रही थी।करीब 10 मिनट तक हम एक दूसरे को चूमते रहे, मैंने उसके गालों और होंठों को खूब चूमा चूसा और चाटा.

बबलू ने पिंकी को बांहों में भरते हुए कहा- कैसी हो पिंकी रानी?पिंकी बेशार्मों की तरह उसके गले में बांहें डालते हुए बोली- मस्त हूँ मेरे राजा …पिंकी का ये अंदाज़ देख कर मैं हैरान थी. ब्लू पिक्चर चाहिए हमकोनितिन अभी भी मेरी ओर ही देख रहा था।उसके लंड पर मेरा रस सुख गया था और सफेद दाग दिखने लगे थे.

मैं फिर से वही करने की कोशिश करने लगा, तो वो प्यारी सी आवाज़ में बोली- पार्थ मत करो न … अभी नहीं.आरती की सेक्सी बीएफ: इतनी अच्छी और खूबसूरत भाभी मेरे लंड को चूस रही हैं, ये मुझे यकीन नहीं हो रहा था.

मुझे जहां जहां नाखून के निशान बन गए थे, परवीन आंटी वहां क्रीम लगाने लगीं.कुछ पड़ोस के अंकल, चाचा, मामा ने मारी उन्होंने गांड मराना व मारना सिखाया.

ब्लूटूथ एक्स एक्स - आरती की सेक्सी बीएफ

परीशा ने अपने दोनों हाथों से मुकुल राय के बाजुओं को कस के पकड़ लिया, और अपनी टाँगों को पूरा फैला लिया.वो ट्यूशन भी कोई रेग्युलर नहीं होती क्योंकि ज़्यादातर मां बाप बच्चों की ट्यूशन परीक्षा के दिनों में करवाते हैं.

मैंने पूछा- क्या अच्छा नहीं लग रहा है?वो बोली- बहुत अच्छा लग रहा है. आरती की सेक्सी बीएफ उसे तो काटो तो खून नहीं … अभी अगर वो दरवाजा खोल देती तो!?खैर उसने फटाफट कपड़े पहन कर सामान लिया.

मैंने अपनी टांगें हवा में उठा दी थीं और उनके पूरे लंड को अपने अन्दर ले रही थी.

आरती की सेक्सी बीएफ?

मैं पिछले काफी समय से इंडियन सेक्स की सबसे बड़ी साईट अन्तर्वासना की सेक्स स्टोरीज पढ़ रहा हूँ. मेरा दिल खुश हो गया और मैंने हंस कर कहा- वाह भाभी जी, आपको तो मेरा बड़ा ख्याल है. कम्मो की चूत की बास बहुत ही कामोत्तेजक लगी मुझे; मैंने उस गंध को गहरी सांस लेकर अपने भीतर तक समा लिया और दाने के नीचे नाव की गहराई में अच्छे से जीभ घुसाकर लप लप करके चाटने लगा.

और रहा सवाल बच्चे का तो मैं अपने स्पर्म से टेस्ट ट्यूब विधि से बाप भी बन जाऊंगा. मैंने भाभी की ब्रा को उतारा और एक एक करके बारी बारी से उनके रसीले दूध चूसने लगा. वो कई बार भाभी को डॉक्टर के पास भी ले गया, पर साले ने खुद कभी अपने शरीर की कभी जांच नहीं करवाई.

हाँ मेरा मतलब है अब क्या हुआ उसे? वो नगरपरिषद् वाला काम तो उसका करवा दिया था?”वो बीमार है, लगता है उसे हॉस्पिटल ले जाना पड़ेगा?”ओह … तो फिर?”वो घर पर और कोई नहीं है तो गौरी को एक बार अभी तुरंत घर जाना पड़ेगा. एक दिन शाम के समय अमायरा और उसकी मम्मी मेरे यहाँ दीवाली पर मेरी मम्मी से मिलने आए. मैं पूरी तरह झड़ चुका था और उसके ऊपर निढाल हो कर गिर पड़ा था। मैं शांत हो गया मगर शालिनी अभी भी कराह रही थी।जैसे जैसे मैं ढीला पड़ता गया वैसे वैसे उसका भी कराहना कम होता चला गया।5 मिनट के बाद मुझे होश आया तो मैंने अपना सिर उठा कर उसे देखा, वो भी मुझे देख कर मुस्कराते हुए शर्म सी महसूस कर रही थी.

तो दोस्तो, आपको मेरी यह चाचा भतीजी सेक्स कहानी पसंद आई या नहीं … मुझे बता देना. मुझे यह भी पता है कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड राज अब तुम्हें संतुष्ट नहीं कर पाता.

मेरी बहन एक कंपनी में काम करती थी और मैं भी उसी की कंपनी में जॉब करता था.

विक्की बोले- आ आ मेरी रानी और चूस … गीता यार तुम कितना अच्छा लंड चूसती हो।मेरी मम्मी ने भैया का लंड फिर अपने मुंह में ठूंस लिया.

मैं पहली बार डेटिंग पर जा रहा था और वो भी एक बहुत ही हॉट, खूबसूरत और अमीर औरत के साथ. अगर तुम्हें कोई पसंद आ जाए तो मुझे बता देना, मैंने तुम्हारे लिये उसको तैयार करने की कोशिश करूँगी. अगर आप सहमति दें, तो मैं आज से ही ऑफिस में काम करना चाहूँगी … और सर आपने जो तनख्वाह बताई है, यदि ये उससे आधी भी होती, तो मैं बहुत ही खुशी खुशी करने के लिए राज़ी हो जाती.

इसके बाद मैंने भाभी जी की फूली हुई डबलरोटी की तरह चूत को हाथ लगाया. चूत ज्यादा गीली होने के कारण मुझे बस हल्का सा एहसास हुआ कि मेरी चूत में लंड डाला जा चुका है, अब मैं बस चोदन का मजा लेना चाहती थी. आज जो मैं आपसे कहानी मैं बताने जा रहा हूँ! वो कहानी है पूजा और अमित की.

उसने अपने हाथ मेरे सिर पर लगाया और धीरे से लंड को मेरे मुँह के अन्दर करने लगा.

मांग में टीका (बिंदिया), बालों में गजरा, उनका मासूम सा चेहरा नीचे को झुका हुआ था. रात को ही सबसे उपयुक्त समय हो सकता था लेकिन रात में अनीता का यानि कि हमारा नन्हा मुन्ना उसको हिलने नहीं देता था. नीचे से मेरे दोनों चूचों को अपने हाथों में भर कर विकी मेरी घोड़ी को दौड़ाने लगा.

भैनचोद क्या चूचे थे … मतलब क्या बताऊँ मुझे ऐसा लग रहा था कि बस खा जाऊं इनको. सुहागरात पर तो बड़ी मुश्किल से मैंने निपटाया, तब वो भी पहली नई नई आई थी, चुप रही … पर मैंने नोट कर लिया था कि वो मुझसे संतुष्ट नहीं हुई थी. इसके बाद एक बार फिर मुझे सोनी की फुद्दी मारने का मौका उस वक्त मिला, जब उसने मेरे साथ ब्रेकअप किया.

)वो भी बताया और बताते हुए भावुक भी हो गया क्योंकि पुराने जख्म हरे होने लगे थे.

जैसे तैसे जोर लगा कर मामाजी ने मेरी गांड में डाला और मेरे ही ऊपर पसर गए. मैं तेज तेज धक्के देने लगा और कुछ ही देर में भाबी और मैं एक साथ झड़ गए.

आरती की सेक्सी बीएफ फिर धीरे-धीरे चुटकले और फिर ऐसे ही धीरे-धीरे उसने डबल मीनिंग मैसेज करने भी शुरू कर दिये. बॉस ने मुझे गोद से उतार दिया और मेरा गाऊन निकाल दिया, जिससे मैं उनके सामने बिल्कुल नंगी हो गयी.

आरती की सेक्सी बीएफ अनिल तौलिया लपेटे खड़ा था, तौलिये में से उसका तना हथियार दिख रहा था।मैंने कहा- तू भी यार … कर ले।वह बोले- मैं रगड़ दूंगा तो छिल जाएगी।मैं बोला- करके देख!मामा जी ने उसका तौलिया निकाल दिया और कहा- अनिल बातें देता रहेगा या कुछ करेगा भी?उसका खड़ा लंड उत्तेजना से ऊपर नीचे हो रहा था. जब मैं उसमें इंटरेस्ट लेने लगा तो वो मुझसे और ज्यादा चिपकने लगी और बाहर मिलने के लिए बोलने लगी.

वह चले गए हैं यहाँ से!” समीर ने अपने पत्नी को समझाते हुए कहा।तुम मुझे सँभलने के लिए कह रहे हो? अब बचा क्या है मेरे लिये?” नीलम ने फिर से रोते हुए कहा।नीलम वह सब तुम्हारी ही गलती की वजह से हुआ है अगर तुम मुझे हर चीज़ का सुख देती तो मैं कभी दूसरी तरफ नहीं जाता.

एचडी व्हिडिओ बीएफ

बिना एक भी सेकंड गंवाए उसकी उँगलियाँ इलास्टिक को नीचे खिसका रही थी. मैंने अपना हाथ न जाने कौन सी अदृश्य ताकत से उठा दिया और उसके मम्मों को दबाने लगा. सिर्फ़ आप ही हैं, जिससे मैं सभी तरह की बातें कर लेता हूँ क्योंकि मैं भी आपको अपना ही मानता हूँ.

दो चार धक्के में ही लंड चूत में सैट हो गया और चुदाई की सरगम बजने लगी. मैंने अपनी झाँटों को अच्छे से साफ किया रेजर से और तैयार होकर निकल लिया होटल के लिए. हम दोनों में बातें हो ही रही थीं कि उसकी सास ने आवाज दी कि मुन्ना रो रहा है.

इसी तरह से हम दोनों लोग का एक दूसरे से बात करना और उनका मेरी चूची को देखना चलता रहा.

रोनित ने रचना को अपना 9 इंच का लंड पकड़ा दिया और बोला- इसको मुँह में लो. मुझे यह भी पता है कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड राज अब तुम्हें संतुष्ट नहीं कर पाता. फिर जैसे ही मैं वापिस गाड़ी घुमाने लगा, तो उसने मुझे आवाज दे कर रोका.

ऋतु ने अपने हाथों से पहले वाले के लंड को पकड़ा और अपने मुंह में लेकर चूसने लगा. अब तक की चुदाई में ऐसा दो बार हो चुका था और मैं उन दोनों बार ऐसा महसूस कर चुकी थी कि मोहन भैया के लंड के मेरी चूत में थम जाने से मैं पानी पानी हो गई थी. उनसे गांड मरवाने की आदत तो लग गयी, लेकिन मरद साला ढिल्ला है … चूत में ही बराबर नहीं करता, तो गांड क्या मारेगा.

आपकी उसकी फोटो भी देख सकते हो।और मैंने इसे घर की जगह कॉलेज में मंगाया। मुझे बड़ी आसानी से आर्डर मिल गया।मेरी फ्रेंड्स ने पूछा भी इस बॉक्स में क्या आर्डर है. मैंने जैसे ही भाबी को गले से लगाया, तो उन्होंने भी मुझे कसके पकड़ लिया.

अब भाभी क्या क़यामत लग रही थीं, वही जालीदार एकदम सिल्क साड़ी और बड़े गले का बिना पीठ पर कपड़े वाला ब्लाउज. आंटी, हालांकि आतिफ मेरा सबसे अच्छा दोस्त है, लेकिन क्या हम केवल वहीं तक सीमित रहेंगे? क्या हम इसके अलावा कुछ नहीं हो सकते?”शबनम को लगा कि जैसे वह कुछ भी कहेगी उसको रोकने के लिए, वह टूट जाएगा और रोना शुरू कर देगा. कुछ देर किस करने के बाद नितिन ने मेरे कपड़े उतारते हुए मुझे नंगी करना शुरू कर दिया.

मैंने कहा- तुम्हारा और मेरा कुछ ज्यादा ही हो गया था और आपके पति को शक भी हो गया था … इसलिए मैंने जॉब छोड़ दी और नंबर भी बदल दिया.

एक दिन मैं बेटी को लेकर स्कूल से घर आयी, तो देखा तो सामने कुंवर साहब बैठे थे. मैं देखने में काफी हॉट लगने लगी हूँ और मेरी गांड भी ऊपर की तरफ उठ गयी है।फिर मैंने एक दिन नकली लंड को अपनी गांड में घुसाने की सोची. फिर धीरे-धीरे परीशा का दर्द कुछ कम होने लगा और उसे अपनी चूत में अजीब सी सरसराहट होने लगी। अब उसे मज़ा आने लगा था और उसने अपनी टांगों को जो कि उसने अपने पापा की कमर पर कस रखी थी, को ढीला कर दिया.

मेरी पिछली कहानीमैं उसकी चूत का हीरोको आपने प्यार दिया, उसके लिए शुक्रिया. फिर दांतों से मेरे गाल काटने लगे और नाक से मेरी बगलों को सूंघने लगे.

मौसी ने मुझे मना कर दिया और बोलीं- मैं अपने पति को धोखा नहीं दे सकती. तब मैंने भी गुस्से में आकर शीना से सीधा कह दिया- मैं चाहे जो भी कर लूं पर जो लड़की मुझसे इतना प्यार करती हो मैं उसको धोखा नहीं दे सकता. ” नीलम अपने ससुर की बात सुनकर शरमाते हुए बोली।ओह बिल में घुसने वाली बात?” महेश ने हँसते हुए कहा।हाँ पिता जी!” नीलम ने शर्म से अपनी नज़रें झुकाते हुए कहा।बेटी, बेचारे को एक बार अपने बिल में ले ही लो.

कामवाली की

उनका बिजनेस काफी बड़े स्तर का है और इसी कारण वो अक्सर विदेश के दौरे पर रहते हैं.

मगर उस दिन जब उसने मेरे बूब्स को नंगा किया तो मैंने खुद को उसकी बांहों में सौंप दिया. उन्होंने उंगली पर थोड़ा थूक लगाया और फिर से उंगली को मेरी गांड में डाल दिया. चूत को चाटने के साथ में मैं एक उंगली भी उनकी चूत में अन्दर बाहर कर रहा था.

ये बात जब मुझे पता लगी तो मैंने राज से ब्रेकअप कर लिया और कबीर व मेरे बीच में नजदीकियां बढ़ गईं. ठीक है गुड़िया रानी, चूस दे जल्दी से!”फिर मैं उसके ऊपर हुआ और लंड खोल कर सुपारा बाहर निकाल कर उसके गालों और होंठों पर घिसा. निक्की बेलापिंकी गजन का लंड चूसने लगी और बबलू सामने आकर मेरे मुंह में अपना मुरझाया हुआ लंड डालने लगा.

”मैंने उठकर लाईट बंद कर दी और जीरो वाट का हल्का बल्ब जला दिया और फिर गौरी के पास आ बैठा।गौरी तुम बहुत खूबसूरत हो. ’ कहते हुए मैं ज़ोर ज़ोर से अपना लंड उसके मुँह में घुसेड़े घुसेड़े झड़ गया.

फिर मैंने वन्दना को बेड पर पीठ के बल लिटा दिया और उसकी पैंटी निकाल दी. फिर एक दिन मैंने एक गर्ल को जाते हुये देखा, तो मैं भी ऊपर चली गई और खिड़की से देखने लगी. हालांकि मैं उनकी ठरक समझ गई थी, इसी लिए मैं उनसे तुरंत कहने वाली थी कि गले वाला रानी हार दिला दो … हाहाहह … क्योंकि फ्री के गिफ्ट्स मुझे बहुत पसंद हैं.

बिस्तर में आने के बाद मैंने पूजा से पूछा- कहानी कैसी लगी?पूजा- शुरू शुरू में अटपटी सी … लेकिन बाद में मज़ा आया. जब उसने ‘आप’ से ‘तुम’ पर आते हुए मुझे ‘तुम्हें’ कहा तो मुझे वो बहुत अच्छा लगा. तुझे वो इतनी अच्छी लगती है?मैं- मुझे तो तुम तीनों बहुत अच्छी लगती हो.

मैंने चौंकने का नाटक करते हुए कहा- अरे ऐसा क्या करोगे तुम?रशीद ने कहा- अम्मी बातों में मेरा टाइम मत ख़राब करो.

’ भरते हुए एकदम से अपनी चूत को मेरे मुँह से लगा दिया … और मेरे सर को अपने हाथों में पकड़ कर अपनी चुत को दबाने लगी. माँ, शिल्पा भाभी (राहुल भाई की पत्नी), रजनी बुआ, कोमल आंटी और उनकी बहु मधु खाने की तैयारी में लगे थे और बाहर आंगन में बच्चे खेलने में।और मैं छत में अपनी एक्सरसाइज कर रहा था।वैसे बता दूँ कि मेरा घर दो मंजिला है, नीचे 3 बैडरूम हाल रसोई के दो सेट हैं, एक हमारा और एक चाचा जी का।दूसरे मंजिल पे एक दो बैडरूम हाल किचेन का सेट है जो किराये पे दिया रहता है.

”तुम मेरा दिल नहीं बहला सकती क्या?” महेश ने ज्योति को अपनी बातों में फंसाने की कोशिश की. मुकुल राय का आधे से ज़्यादा लंड एक ही बार में परीशा की कुँवारी चूत के अंदर जा चुका था. थोड़ी देर वैसे ही रहने के बाद मैंने उसे सीधा लिटा दिया और खुद उसके ऊपर आ गया.

कोई भी लड़की कितनी भी मॉडर्न या इंडिपेंडेंट क्यों न हो, वह हमेशा यही उम्मीद करती है कि लड़का पहले उसे प्रपोज करे. आगे की सेक्स स्टोरी में मैं बताऊँगी कि कैसे अपनी चुत की भूख को मिटाने के लिए अपने मामा के यहां जाकर रंगरेलियां मनाईं. तो वो बोली- जीजू, आशा (उनकी नौकरानी जिसकी उम्र 35 से 40 साल के बीच होगी रंग सांवला आंखें काली और बड़ी बड़ी उसके चुचे 36 कमर 30 और गांड का साइज38 था) के आने में डेढ़ घण्टा रह गया है.

आरती की सेक्सी बीएफ यहां पर जो पाठक मेरी इस कहानी को पहली बार पढ़ रहे हैं उनके लिए मैं एक बार अपना नाम जरूर बताना चाहूंगी क्योंकि इससे उनको मेरी आगे आने वाली कहानियों को पढ़ने में परेशानी नहीं होगी. तभी इतने में हिना आंटी झड़ गयी थीं, उन्होंने एक ज़ोर से चीख मार दी- आहह.

एक्स एक्स गर्लफ्रेंड

मैंने उसके कहे अनुसार उसके घर की तरफ बाइक दौड़ा दी और कुछ ही समय में हम दोनों उसके घर पहुंच गए. अब मैं उनके कपड़े उतारने लगा, तो मौसी मुझे रोक कर बोलीं कि समीर इस से आगे नहीं. ” उसने मरियल सी आवाज़ में जवाब दिया। उसकी मुंडी झुकी हुई थी और एक हाथ से वह अपनी छाती को सहला रही थी।ग … गौरी … प्लीज … मुझे माफ करना … मुझसे अनजाने में गलती लग गयी प्लीज, आई अम सॉरी.

तभी मेरा दोस्त आया और मुझसे बोला कि यार तू गेट पर चला जा … मैं इधर सम्भाल लेता हूँ. अब मेरा भी होने वाला था, मैं बोला- मौसी मेरा होने वाला है, पानी कहां निकालूँ?मौसी बोलीं- समीर बेटा, अपनी मौसी की चूत के अन्दर ही निकाल दो, बहुत दिनों से ये चूत प्यासी है, इसे अपने वीर्य से भर दो. सोनाक्षी सिन्हा का सेक्सी वीडियोलेकिन गदगद बिस्तर पर चोदने में ज्यादा मजा आता है, ऐसा सोचकर मैं कमरे में पहुँचकर उसे गदगद बिस्तर पर पटक दिया और उत्तेजना में अपना शर्ट खोलने लगा.

यह बात आज से 3 साल पहले की है जब मैं छुट्टियों में अपने घर गया हुआ था.

उस समय मैं 46वें साल में थी और रशीद 27 साल एक तंदरुस्त नौजवान लड़का था. उसकी गर्म सांसों का स्पर्श मेरे गर्दन के पास हुआ … फिर लंबी सांस लेने की आवाज.

उसने पहले थोड़ी मम्मी को गर्म करने के लिए मसाज की और चूत में उंगली की. उसने मजा लेते हुए आगे कहा- क्या मीटिंग्स अब रेस्टोरेंट्स में हुआ करेंगी?मैंने कहा- नहीं शिवानी, ऐसी कोई बात नहीं. उसकी आँखें उबल पड़ी थीं और उसकी चीख मानो उसके कंठ में ही कहीं खो गई थी.

मैंने लपक कर उन्हें पकड़ा और उन्होंने भी संभलने के लिए मुझे पकड़ लिया.

इस डर्टी सेक्स स्टोरी में अब तक आपने पढ़ा कि दो बार चुदाई करवाने के बाद पूजा पेशाब के लिए टॉयलेट जाने लगी तो मैंने उससे पेशाब की धार का मजा लेने की इच्छा जाहिर की. इसके बाद उसकी और रवि की दूरी बढ़ गयी क्योंकि रवि बार बार उसे सेक्स के लिए कहता, जो दीपा नहीं चाहती थी. हालांकि मुझे मालूम था कि ये बात पूरी तरह से सच नहीं है, अन्दर की बात ये थी कि उनका पति शराबी था.

इंग्लिश बीपी पिक्चरहाँ मेरा मतलब है अब क्या हुआ उसे? वो नगरपरिषद् वाला काम तो उसका करवा दिया था?”वो बीमार है, लगता है उसे हॉस्पिटल ले जाना पड़ेगा?”ओह … तो फिर?”वो घर पर और कोई नहीं है तो गौरी को एक बार अभी तुरंत घर जाना पड़ेगा. उन्होंने नीचे ब्रा नहीं पहन रखी थी, जिस वजह से उनके गोरे गोरे सुडौल बड़े बड़े मम्मे मेरे सामने फुदकने लगे थे.

विदेशी ब्लू पिक्चर वीडियो में

पर इस बार मुझे अलग सी अनुभूति हुई, ऐसा लगा कि वो अचानक से थोड़ी सी स्थूल सी हो गयी है और इस बार खुशबू भी कुछ और ही आ रही थी. लेकिन दिल कर रहा था कि मैं चुदती ही रहूँ।करीब दस मिनट की चुदाई के बाद देव की स्पीड एकदम बढ़ गई, मैं अपने कूल्हे उठा उठा कर लंड खा रही थी. ‘आअहह क्या मज़ा आ रहा था … मेरी सास, जिनको मैं शादी के बाद से ही चोदने के सपने देखता था.

रोहन- ह्म्मम … तो आप मेरे बारे में क्या सोचती हैं?सोनिया- अब तक की बातचीत से यही लगता है कि तुम एक अच्छे लड़के हो. अब आगे:कार में म्यूजिक बज रहा था, करीबन आधे घंटे बाद हम चित्रा के घर पर पहुंच गए थे. उन दोनों के अलावा मेरे घर में मैं अपनी स्कूटी किसी को भी चलाने के लिए नहीं देती हूं.

उसने मेरे चूतड़ पर एक चांटा मारा और कहा- साली कुतिया रंडी … इसको चूस नहीं तो मैं तेरे ऊपर सूसू कर दूंगा. अभी तो उंगली डाली है, इसके बाद मैं अपना लंड तुम्हारी गांड में घुसाऊंगा. ऐसी घबराने वाली कोई बात नहीं बस सांस की थोड़ी तकलीफ़ उनको रहती है लगातार, बहुत इलाज कराने के बाद भी.

मगर मेरी बीवी बीच में एक दो बार जरूर गई थी लेकिन मुझे यह अवसर नहीं मिल सका था. राजवीर के शब्दों में- तो मेरे प्यारे दोस्तो, अब समय आ गया है श्लोक के मुंह से याराना के चौथे दौर की पहली घटना सुनने का, जब मेरी बीवी रीना मेरे साले श्लोक के साथ अहमदाबाद में थी.

उसका गदराया हुआ शरीर, गोरा चिट्टा रंग … कद 5 फुट 5 इंच के करीब, मीडियम साइज के चुचे और गांड बाहर को आती हुई ऐसी मटकती थी कि कितना भी ढीला सलवार सूट पहन ले, तब भी चलते हुए में उसकी गांड साफ दिखती थी.

धीरे धीरे ये बातें पढ़ाई से चल कर दोस्ती में बदल गई और फिर पता ही नहीं चला कि कब हम एक-दूसरे से प्यार करने लगे. मेडी क्रीमउसके कहे अनुसार मैं कॉलेज के बाथरूम में चली गई और उसका इंतज़ार करने लगी. बड़े भाई ने छोटी बहन को चोदामैंने भी अपने ऑफिस से 3 दिन की छुट्टी ले ली और उसके साथ देहरादून जाने की तैयारी कर ली. यह कह कर एक बार फिर से उनकी योनि चूसने लगा और धीरे से अपना पेनिस उनकी योनि में डालने लगा.

उसके शहर में रहने के कारण मेरी सोनी से फोन पर काफी देर देर तक बातें होने लगीं.

फिर मालविका ने मुझे आवाज़ दी तो मैं किचन के तरफ गया, वो चाय बना रही थी। वो मुझे देखकर नई दुल्हन की तरह शर्माने लगी. आंटी अपनी चूत खोल कर मेरे ऊपर बैठ गईं और मेरे सीने पर काटने और चूसने लगीं. मेरे होंठों को किस करते हुए उसने अपनी दो उंगलियां एक झटके के साथ मेरी चुत के अन्दर डाल दीं.

तभी उसने पीछे पलट कर देखा, तो मेरा हाथ लोवर के अन्दर था और लोवर में मेरा लंड तना हुआ अलग ही दिख रहा था. कभी कभी वो किस करते करते मेरे पेट पर, मेरी नाभि पर … और कभी निप्पलों को काट लेती. अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने परवीन आंटी के घर जाकर उनकी चूत चाट कर उनको खुश किया, फिर उनकी गांड मारी.

सेक्सी पिक्चर बीएफ सेक्स

मैंने बोला- अच्छा तुझे उस मरियल बुड्डे के साथ करते वक़्त शर्म नहीं आई. इसी तरह से हम दोनों लोग का एक दूसरे से बात करना और उनका मेरी चूची को देखना चलता रहा. उसकी खुशी इतनी ज्यादा थी कि वह अपनी आंखों के आंसू छलकने से रोक न सकी.

चुदाई के बाद मामाजी को अंधेरे में दरवाजा नहीं सूझ रहा था, मैंने उठ कर लाईट जला दी व दरवाजा खोल दिया.

अंकित के हर धक्के शबनम को और जोर से चीखने के लिए मजबूर कर रहे थे- ओह अंकित!! आह बेटा!! ऐसे ही.

मैंने कहा- बोलिए मैडम कैसे क्या करना है?उसने कहा- जो करना है, करो! लिप किस मत करना!नहीं करूंगा. अगर तुम भी मुझे चाहती हो तो मुझे किस करने से मत रोकना।बेशक मैं नशे में थी मगर बेहोश नहीं थी, मैं वैसे ही लेटी रही. तितली वाली साड़ीऐप इंस्टाल कैसे करेंदोस्तो … आज मैं फिर एक बार अपनी सेक्स कहानी लेकर आई हूँ.

”दीदी तो पता चला तो मुझे और आपतो तच्चा चबा जायेगी?”प्लीज बस एकबार वो शॉर्ट्स और टॉप पहनकर दिखा दो फिर और कुछ नहीं मांगूंगा. मैडम ने मेरी तरफ गुस्से से देखा और कहने लगीं- इतनी देर से कहां गई थीं?मैंने कहा कि मैडम मुझे नींद नहीं आ रही थी इसलिए मैं टहलने चली गई थी. शबनम ने प्यार से अंकित की आँखों में गहराई से देखा और प्यार के साथ उसके दोनों गालों को चूमने लगी.

सोनिया- क्यों, क्या हुआ?रोहन- वो कहते हैं ना ‘बटरफ्लाइज़ इन द स्टोमैक. मैडम ने कहा- सॉरी बोलने से कुछ नहीं होगा … इसका एक ही रास्ता है बस!मैम ने अपनी बात आधी कह कर छोड़ दी थी.

” नीलम ने अपने ससुर को यकीन दिलाते हुए कहा।ठीक है बेटी फिर आज के लिए कोई प्लान बनाते हैं.

एक तो बीवी पूरे मज़े में सिसकारियाँ ले रही हो और उसका चेहरे में स्खलित होने का जो जोश दिखता है. कुछ देर तक मेरी गांड लाल करने के बाद उसने मेरी चूचियों को दबोच लिया. दो मिनट की चुम्मा चाटी के बाद वो बोलीं- तूने समझने में इतना टाइम लगा दिया, मैं तो कब से तुझमें समाना चाहती थी.

रोबोट बॉय मैं अपने रूम में गयी, तो देखा, तो बेड पे एक बॉक्स रखा था, ऊपर ‘हैप्पी बर्थडे टू यू रसिका’ लिखा था. मेरी हिंदी सेक्सी कहानी पर अपने विचार नीचे दिये गये मेल आईडी पर दें.

अपनी नंगी वीडियो देख आकर वो सहम गई और मेरे मोबाइल को छीनने के लिए झपटी. उन्होंने जवाब में कहा- हां पता है … और मुझ पर भरोसा करो, समय आने पर सब बता दूंगी. तभी उन्हें पता नहीं क्या सूझी कि उन्होंने पूरा गिलास अपने ऊपर गिरा लिया.

विधवा औरत चाहिए

ये देख कर मैं अपने दोनों हाथ उसकी पीठ पे चलाने लगा और मेरे हाथ रेंगते हुए उसके लोवर के ऊपर से उसकी गांड पर चलने लगे. उसका लंड मेरे होंठों के पास आया तो मैंने फिर से उसको मुंह में लेने की कोशिश की लेकिन उसने फिर से अपने लंड को वापस हटा लिया. अब मुझे सब तरह के कपड़े सूट करते हैं और लड़के मेरे फिगर को देखते ही रह जाते हैं.

अब हमारी पोजीशन ऐसी थी कि चूत से लेकर पैर तक का भाग नीचे था और बाकी का आधा शरीर बिस्तर पर था. मैंने उससे चौंककर पूछा- भाभी को देखकर तो मुझे ऐसा कुछ लगा नहीं? और मुझे नहीं लगता कि तेरे में कोई प्रॉब्लम हो!क्योंकि मुकेश एकदम हट्टा कट्टा शरीर वाला था.

मैंने कहा- कुछ दिन क्या कुंवर साहब … बल्कि कितने भी दिन और महीनों के लिए आ जाइए, घर आप ही का है, हम क्या … घर में सिर्फ तीन ही तो लोग हैं.

मूतने के बाद भी मेरी बीवी झड़ी तो नहीं थी … तो उसने फिर से मोहिनी का सिर पकड़ लिया और अपनी चूत पर रख दिया. उनको मंजूर नहीं था, उन्होंने साफ साफ मना कर दिया और साथ में ही मुझे ताने मारना चालू कर दिया. एक बार चूत को लंड का चस्का लग जाता है तो फिर उसको हर हाल में लंड चाहिए ही होता है.

मैं झड़ गई थी, लेकिन चुदने का एक ऐसा भूत सवार था कि मैं फिर से तैयार हो गई. अब मैं भी झड़ने वाला था, तो मैंने उसे फिर से सीधा किया और वो फिर घुटनों के बल बैठ कर मेरा लंड चूसने लगी. आप सब आए दिन अखबारो में, या समाचारों में इस बारे में पढ़ते ही रहते होंगे।उम्मीद है कि आप सब समझते हैं ये सब! मैं जानती हूँ कि आप सब बुरे नहीं है, पर आप ये भी जानते हैं कुछ लोगों की वजह से ही सब पे से भरोसा उठ जाता है।रही बात पैसे कि तो मुझे पैसा कमाने का कोई लालच नहीं है.

उनकी कहानियां पढ़कर मैंने भी कई बार सोचा कि मैं भी अपने जीवन से जुड़ी ऐसी घटनाओं के बारे में लिखूँ.

आरती की सेक्सी बीएफ: उसके बाद दूसरी बार की चुदाई में मम्मी ने दोनों का पूरा वीर्य मुँह में खा लिया. इसके बाद हम दोनों आने लगे, तो संजय ने मुझसे उसके घर चलकर चाय नाश्ता करने का आमंत्रण दिया.

”अरे कभी-कभी बच्चे बन जाने में भी बहुत अच्छा लगता है। मेरा मन तो कई बार फिर से छोटा बच्चा बन जाने का करता है।त्यों?”हाय! बचपन के भी क्या मज़े थे? जो चाहो खाओ, जहां चाहो घूमो फिरो ना कोई फिक्र ना कोई फाका!”हम दोनों ही हंसने लगे।एक और भी मजे वाली बात है?”त्या?”जो चाहो पहनो और अगर मन ना हो तो कुछ ना पहनो बस नंग-धडंग घूमो. मैंने उनको पूरा वाकिया सुनाया कि कैसे ना चाहते हुए भी मुझे उनकी बात सुनाई दी. इसके बाद वो बोली- सुन पूनम, जब तुमको भूख लगती है, तो खाना खाती है ना.

यह बात कहते हुए नीलम की साँसें ज़ोर से चल रही थी।बेटी मुझे गलत मत समझना, मगर जब तक समीर न आ जाये हमें एक दूसरे की बांहों में बांहें डालकर सोना होगा.

वो- क्या तुम मुझे वहां तक छोड़ दोगे?मैं समझ गया कि उसे उसी गृह प्रवेश वाली जगह पर जाना है- अरे यार इसमें इतना क्यों पूछ रही हो, मुझे कोई काम हो या न हो, मैं तो वैसे भी तुमको उधर छोड़ दूंगा. कहानी में आपको पता चलेगा कि कैसे मैंने पिंकी और रिचा की संगत में पड़कर नये-नये तरीकों से चुदाई का सुख भोगा. अब तो मुझे कुछ याद भी नहीं था लेकिन उसकी हालत को देख कर थोड़ा अंदाजा तो हो गया था मुझे.