हिंदी बीएफ बुर वाली

छवि स्रोत,शेर शाह फुल मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

सील टूटने वाली वीडियो: हिंदी बीएफ बुर वाली, मैंने कहा- आकांक्षा, बोलो ना मैं तुम्हारे लिए क्या कर सकता हूँ?तो उसने जवाब दिया- मैं आपको हुकुम बुला सकती हूँ?मैंने कहा- हाँ, लेकिन क्यूँ?तो बोली- मेरी माँ मेरे पापा को हुकुम बुलाती हैं और मैं एक पत्नी की तरह आपकी सेवा करना चाहती हूँ.

नवरतन गोल्ड कूपन

मैंने मॉम की पेंटी उतारने लगा, जैसे ही थोड़ा खींची, वो हाथ से पकड़ने लगीं और रोकने लगीं. दुनिया का सबसे बड़ा जंगल कौन सा हैइधर अकीरा और शालिनी प्रेम रस में डूबती जा रही थीं और दूसरी तरफ विक्रान्त अपने पहले काम में बस सफल होने ही वाला था।हिंदी सेक्सी कहानिया जारी रहेगी.

उसने लाल रंग का टॉप पहना हुआ था और नीचे जीन्स थी, वो बहुत ही हॉट लग रही थी. सेक्सी वीडियो 2020 सेक्सीमैंने उससे पूछा कि दिव्या मजा आ रहा है?तो उसने मेरी तरफ देखा और अपनी आँखें बंद कर लीं.

वो 12वीं में आई तो, ब्यूटीफुल वो पहले ही थी, अब सेक्सी भी लगने लगी.हिंदी बीएफ बुर वाली: आपको किसी चीज की जरूरत होगी तो प्लीज आप हमें फोन कर दीजिये, आपका वीकेंड हैप्पी हो.

उसे बहुत मजा आ रहा था और मैं अपनी बीवी की चुदाई अपने दोस्त के बड़े लंड से होते देख कर खुश हो रहा था.मैं इतने रूपये सुनकर चौंक सी गई कि केवल गले लगने के इतने रूपये क्यों देने को तैयार है.

बाल बढ़ाने वाला तेल - हिंदी बीएफ बुर वाली

मैंने एक हाथ पिंकी की कमर कस कर पकड़ ली और दूसरे हाथ से उसका मुँह बंद कर दिया.दीदी 1 मिनट बाद ही तेज तेज और ज़ोर से सिसकारियाँ लेते हुए झड़ गई और सारा पानी बेड पर गिरने लगा लेकिन मैंने फिर भी स्पीड स्लो नहीं की और तेज़ी से दीदी की चूत को चोदता रहा.

लेकिन जाते ही उसी स्पीड से भागते हुए वापस आई तो उसने बोला कि उसने वहाँ पर एक सांप देखा. हिंदी बीएफ बुर वाली मेरी देवर भाभी की चुदाई कहानी के बारे में अपने विचार, सुझाव मुझे मेल करें.

फिर मैं विवेक के लंड को पकड़कर सहलाने लगी और फिर नीचे बैठ कर उसके लंड को अपने मुँह में भर कर फिर से चूसने लगी.

हिंदी बीएफ बुर वाली?

उसने अपना वीर्य मेरे मुँह पर फैला दिया, कुछ मेरे मुँह के अन्दर भी चला गया. गांड के दो छल्ले होते हैं, एक जो बाहर हमको दिखता है और दूसरा उससे क़रीबन आधे इंच अन्दर होता है, जिसको आपका सुपाड़ा पार कर जाए, बस आपका काम हो गया. मैंने धीरे से उनके ब्लाउज को खोला तो देखा कि उन्होंने ब्रा नहीं पहनी हुई थी.

ध्यान रखें कि आप घटनाक्रम के साथ बहते चले जाएं, इससे आपके मन में स्वतः ही विचार आते चले जायेंगेऔर कहानी का प्रवाह और तेज होता चला जाएगा. मैं भी पूरा साथ दे रही थी, हम एक दूसरे के होंठों को चूसे जा रहे थे, मैंने दोनों हाथ चाचा जी की पीठ पे सहलाते हुए उनसे चिपक गई. आदाब अर्ज़ है दोस्तो, मैं महबूब अहमद खान 29 वर्षीय युवक हूँ और मैं लखनऊ, उत्तर प्रदेश से हूँ.

इस तरह हमारा प्रोग्राम सेट हो गया और मैं छह दिसम्बर की सुबह बैंगलोर जा पहुंचा. मेरी इन हरकतों से रुचि की कामुकता जानने लगी, वो बेचैन होने लगी, उसके मुख से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ जैसी आहें निकलने लगी. अचानक पूनम ने मुझे हिलाया और कहा- शेखर क्या हुआ क्या देख रहे हो?तो मैंने कहा- जानेमन, जन्नत देख रहा हूँ.

मैं खुद भी गर्म होती जा रही थी, मैंने कब अपने कपड़े उतार फैंके, मुझे खुद नहीं पता चला. इधर सुनील भी शिशिर की तरह मेरी चुत के पिंक होल में अपनी जीभ पेल कर मुझे टंग फक कर रहा था.

मैंने एक ही गच्चा मारा तो मेरा लंड उनके चूतड़ों को चीरता हुआ अन्दर हो गया.

एक दिन मेरे मम्मी पापा और भाई बहन सब लोग 7 दिनों के लिए नानी के घर गए हुए थे.

लंड उसकी गांड में अन्दर गया तो उसने दांत भींच लिए, आंखें बंद कर लीं. पुनः कहानी का निरीक्षण कीजिये; ऐसा करते समय आप खुद अनावश्यक भाग मिटा देंगे और जो नये विचार मन में आयेंगे उन्हें सम्मिलित कर लेंगे. अब क्या आगे मैं अकेला और पीछे तुम अकेली बैठोगी?मैं आगे बैठ गई और वो चल दिए.

अब मेरे लंड का तो बुरा हाल हो रहा था तो अब मैंने ज्यादा टाईम बर्बाद ना करते हुए उसकी टाँगें खोली और कूल्हे के नीचे दो तकिये लगा दिए ताकि वीर्य अच्छी तरह से गहराई से अंदर जाये और उसे जल्दी प्रेग्नेंट करे. ये बात भाभी ने भैया के सामने ही कही तो मैंने कहा कि नहीं भाभी मेरे एग्जाम भी खत्म हो चुके हैं और मेरा पढ़ाई के अलावा कोई काम इम्पोर्टेन्ट नहीं है. अंदर से गुलाबी, जब पुलकित ने उसकी चूत के दोनों होंठ अपनी उंगली से खोल कर देखे तो अंदर से उसकी चूत पूरी तरह से गीली थी.

वो एकदम लाईट के नीचे ही बैठी, उससे लाईट का फ़ोकस उसकी चुत पर जा रहा था.

मुश्किल से मैंने सिमरन को 10 मिनट ही चोदा होगा कि उसे बहुत मजा आने के कारण वो झड़ गई लेकिन मैं लगातार धक्के लगाता रहा और मैंने उसे अलग अलग पोजीशन में काफी देर तक लगातार चोदा. पहले तो मैं डर गया, पर ये क्या… वो तो खुद मेरे हाथ को अपनी चुत तक ले गईं. उसका लंड थोड़ा गया, मुझे आज दर्द कम हुआ लेकिन मैं चीखी ज्यादा तेज ताकि उसे लगे कि मैं पहली बार कर रही हूँ.

हम दोनों की जीभें आपस में फाइट करने लगीं, हमारी स्मूच 15 मिनट तक चली. जिसको मैं सीनियर लड़कों को उंगलियों पर नचाना समझती थी, वह अब समझ आ रहा था. मैंने ज़ोर से दो झटके लगाए और अपना सारा माल उसके मुँह में ही निकाल दिया.

फिर एक लम्बी सी सांस लेते हुए वो जल्दी से मुझे अपने से दूर धकेलते हुए बिस्तर से उठने का प्रयास करने लगी.

वाओ… क्या सनसनी हो रही थी… जब वो लंड के मुँह से नीचे तक हाथ ले जाती थीं तो पूरा शरीर सिहर उठता था. यहाँ जैसे ही मैंने उसकी बेटी को देखा में झटका खा गया क्योंकि कांफ्रेंस के दौरान मैं उससे दो बार मिल चुका था.

हिंदी बीएफ बुर वाली ‘अच्छा जब ऊके दोस्त चले जैं, तब आप रोशन से बात करहौ?’चाचा ने मजाक में उसे डांटा- हट बदमाश. उसका ड्रेस मैंने निकाल कर तौलिया में लपेट लिया ताकि चिपचिपा वाला भाग दिख ना जाए.

हिंदी बीएफ बुर वाली ’ की आवाजें निकालने लगीं और मेरे सर को बालों से पकड़ कर अपनी चूत पर दबाने लगीं. मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी मेरा लंड अपने दोनों मम्मों के बीच में लेकर दोनों मम्में मेरे लंड पर दबायें.

मैं आपको अपनी पहली रियल सेक्स कहानी बताना चाहता हूँ जो मेरे साथ लगभग 3 साल पहले घटी थी.

सेक्सी पिक्चर चूत में

मुझे फेसबुक पर चैटिंग करने का बहुत शौक है इसलिए मैं अधिकतर समय फेसबुक पर ही ऑनलाइन रहता हूँ. मैंने अपना लंड चूत के छेद पर रखा और उसके ऊपर उसको शोल्डर से पकड़ कर लेट गया क्योंकि मुझे पता था कि ये सील पैक है तो लंड के दर्द से छुड़ाने की कोशिश करेगी. तभी किसी ने मेरे हाथ में अपना लंड पकड़ा दिया। मैंने देखा जो कुछ देर पहले मेरे मुँह में खली हुआ था वो फिर से जिन्दा हो गया था.

मैं सुबह 7 बजे दिल्ली पहुँच गई, उस दिन कॉलेज था तो दिव्या कमरे पर आ चुकी थी. मैंने कहा- सुमन डार्लिंग आज ट्राई कर लो… अगर अच्छी लगे तो बाद में भी मजा ले सकोगी. फिर मैंने कुछ देर रुक कर एक और ज़ोर का धक्का दिया और साथ ही साथ उसको किस करता रहा और वो ज़ोर ज़ोर से सिसकारियाँ लेती रही और चीखती चिल्लाती रही- आह्ह आईईई इईई! लेकिन मैंने लगातार धक्के मारने चालू किए.

अब उनके बच्चे वापस आ गए थे, तब भी मौक़ा देख कर मामी की चुत चुदाई का सिलसिला जारी रहा.

मैंने शीतल की ब्रा खोली और उसके मम्मों को दबाने लगा और निप्पल चूसने लगा. मैं अभी लंड चूस ही रही थी कि उसने पिचकारी छोड़ दी, जो पूरी कि पूरी मेरे मुँह में भर गई. शिशिर मेरी चुचियों को छेड़ रहा था जबकि सुनील सलमा की गांड सहला रहा था.

मौसी- हहह आहह रोहण… कितना तड़पाते हो! रोहण आज तो जी भर कर चुदाई करवाऊँगी! कर दो शांत मेरे मन को!हां रानी, तुम कितना अच्छा चुदाई कराती हो! मजा आ जाता है!”हह हाँ… और करो और हइ इइ इइइइ आह… बस बस रोहण, बस करो!”तभी मौसी खड़ी हो गई, रोहण अपने दोनों हाथों से मेरी मौसी के मम्मों को सहलाने लगा, दोनों आपस में चुम्बन करने लगे. मुझे अपने पुरूषत्व पर शक हो रहा था और भाभी मुस्कराते हुए अपने कपड़े ठीक करके चली गईं. मैं दिखने में काफी आकर्षक हूँ लड़कियां देखते ही मुझसे चुदने के ख्वाब देखने लगती हैं.

मैंने पूरा पानी साफ करके उन्हें गोद में उठाकर बेड पर लेटा दिया और खुद फ्रिज से कुछ बर्फ के टुकड़े ले आया. वो अभी जवान हुई ही है, पांच छह महीने पहले तो उसका सीना बिल्कुल सपाट मैदान था, पर अब उसके चुचे चीकू जैसे उगने लगे हैं.

मेरी कहानी के पहले भागमेरी चूत का टैटू-1में आपने पढ़ा कि मुझे अपने ससुराल के गाँव जाने का मौका मिला। वहां रहने वाली मेरी भतीजी के चूतड़ों पर टैटू देख मेरी गांड जल गई. हाय दोस्तो, कैसे हैं आप सब! मैं राजेश फिर से हाज़िर हूँ अपनी आगे की इंडियन इन्सेस्ट स्टोरी लेकर।आप सब ने मेरी पहली कहानी पर मुझे ईमेल करके अपने विचार भेजे, आप सब का बहुत बहुत धन्यवाद. बेडरूम रानी की चूत से निकलती फचफच फचाफच की मधुर ध्वनि से गूँज रहा था, उनकी चूत से जैसे रस की नदिया सी बह रही थी.

अगले ही पल मैंने भाभी की चुत में लंड डाल दिया और जोर जोर से चोदने लगा, लेकिन अति उत्तेजना की वजह से मैं 2 मिनट भी टिक नहीं पाया और भाभी की चुत में ही बह गया.

वो एकदम लाईट के नीचे ही बैठी, उससे लाईट का फ़ोकस उसकी चुत पर जा रहा था. वो बोली- प्लीज़ मस्ती मत करो, बताओ विधि कहाँ है? कब तक आएगी?मैंने कहा- उसकी माँ का कॉल आया था तो वो वहां गई है, एक घंटे में आ जाएगी. इधर रमेश ने अपनी बहन काजल को सोफे पर लिटा दिया और उसके बगल में बैठ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

उसके पीछे उसके दोनों बेटों में से एक अपनी बहन की चूत चोद रहा था और दूसरा अपनी भाभी की चूत मार रहा था. रमेश ने अपनी दो उंगलियां उसकी चूत में डालकर चैक किया, तो उंगलियां फिसलते हुए एकदम से चूत के अन्दर चली गईं.

चुदाई करते टाइम मैंने कभी भाभी को कभी लिप किस किया, कभी उनके मम्मों को चूसा. जैसे मेरे को पूरी मस्ती चढ़ गई थी, वैसे ही दीदी का भी बुरा हाल हो गया था, वो पागलों की तरह मेरे लिप्स को काटने और चूसने में लगी हुई थी, ऐसा लग रहा था कि मैं दीदी को नहीं, दीदी मेरे को चोद रही थी. दस पन्दरह मिनट की इस क्रिया के बाद पेनिस फिर से सुरंग मे जाने के लिए तैयार था और मैंने फिर उसकी चूत पर लंस घुसा दिया और अंदर बाहर करना शुरू कर दिया तो वो भी कामुक आवाजें आह आह निकालते हुए मस्ती से कमर उछाल उछाल कर मेरा साथ देते हुए अपनी चूत में लंड लेने लगी.

தமிழ் க்ஸ்க்ஸ்க்ஸ். com

वो किचन में बर्तन साफ़ कर रही थी, मैंने पीछे से जाके उसको हग किया और गर्दन पर एक किस कर दिया.

वो गरम होकर आहें भर रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’कभी मैं उसके निप्पल को काटता, तो कभी चूचों को चाटता, कभी उसकी नाभि में जीभ डाल देता, तो कभी कानों के नीचे चूम लेता. लेकिन शायद मोनिका के घर वालों को उस पर शक था, तो उन्होंने स्कूल में बोल रखा था कि मोनिका को किसी के साथ ना भेजें. पहले नीचे का फिर ऊपर का और उसने मेरे मुँह में अपनी जुबान भी डाल दी.

अब वो भी इतने जोश में आ गयी कि उसने मेरा लंड पकड़ लिया मेरी शॉर्ट्स में हाथ डाल कर… उसे हिलाने लगी. अगले दो दिन मैं टयूशन नहीं गया तो उसका फोन मेरी मॉम के पास आया कि सैंडी दो दिन से टयूशन क्यों नहीं आ रहा है?मॉम ने मुझे ज़बरदस्ती उसके पास टयूशन के लिए भेज दिया. साइकिल दिखाइएफिर अमित ने हर चीज करना अचानक से बंद कर दिया और धीरे से अपने लंड को मेरी स्कर्ट से निकाला और खड़ा हो गया.

कल की रात में एक बुरा सपना समझकर भूल चुकी हूँ, दीदी प्लीज मुझे वो मनहूस रात मत याद दिलाओ. मोहन लाल ने दोनों को चूसते हुए देखकर उनके सर पे हाथ रखते हुए कहा- सदा खुश रहो मेरे बच्चों.

भीड़ ज्यादा होने की वजह से आंटी आगे के गेट से उतरने की कोशिश कर रही थीं. ओमार खुश हो गया, उसने अपनी नजर दौड़ाई और वो हमारी नाव के नजदीक तैरती नाव जिसमे सांवली रंगत वाला लड़का बैठा था पर जा कर मुस्कुराते हुए स्थिर हो गई. मैं उसे देख रही थी, बड़ी शांत और खुश थी, मुझे समझ आ गया कि काफी देर की चुदाई के बाद कैसा महसूस होता है.

मुझे भी कई दिनों से लंड नहीं मिला था इसलिए चुदने के लिए मेरा बदन तड़प रहा था. कुछ ही देर में मुझे काफी नशा हो गया था और निहारिका को भी नशा चढ़ गया था. उनका नाम विनीता है उम्र 41 साल, कद 5 फुट 6 इंच, वजन 56 किलो, उठे हुए मम्मों 38 इंच के हैं.

मैं बहूरानी के ऊपर झुक गया और उसकी प्यासी चूत का दाना अपनी छोटी छोटी नुकीली झांटों से घिसने लगा.

अब मुझ में और बुलेट ट्रेन में कोई ज्यादा फर्क नहीं था, बहुत तेज चोदने लगा अपनी बहन की चूत को, पूरा बेड ऐसे हिल रहा था कि मानो बहुत तेज वाला भूकंप आया गया हो!अब वो बेड भी डांसिंग बेड बन गया था. मैं उनकी हैंडसम पर्सनलिटी अच्छे पहनावे और स्टाइल से काफी इम्प्रेस भी थी.

अब हम 69 की पोजिशन में थे, वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उस की चूत और गांड चाट रहा था. मैं अपने देश की राजधानी दिल्ली का रहने वाला हूँ और इंजीनियरिंग कर रहा हूँ. मैंने खोलकर देखा तो बोला- देखो लिखा तो 34″ ही है, लो सही से चेक करो जाकर!वो बोली- कर चुकी हूँ! नहीं आ रही है.

वो ऐसे मस्ती से लंड चुसाई कर रही थीं, बिल्कुल लॉलीपॉप की तरह से जोर जोर से चूस रही थीं. मैंने कल्पना भी नहीं की थी ऐसी… अब मजा आ रहा था, मौसी मेरे बदन को सहला रही थी. मैंने जोर से एक झटका मारा तो लंड आधा अन्दर चला गया… और फिर एक और झटका मारा तो सुमन मामी की रसीली गांड में पूरा लंड चला गया.

हिंदी बीएफ बुर वाली हालाँकि उसके बूब्स से दूध नहीं निकलता था लेकिन चूसने में ऐसा लग रहा था जैसे अभी दूध निकल पड़ेगा. सलमा गाल पर चुम्बन पाकर मस्त हो गई और खड़ी होकर शिशिर से चिपक कर उसके होंठ चूमने लगी.

किन्नर सेक्सी किन्नर सेक्सी

लगभग 5 मिनट तक मेरी सास की चूत से पानी निकलता रहा, मैंने और रिया दोनों ने सास की चूत का पानी पिया, बहुत मस्त था, मजा आ गया. अब मम्मी की चूत एकदम लाल दिख रही थी।मम्मी ससुर जी के साथ लेटी रही, उनके लंड को सहलाती रही तो वो कुछ देर में फिर से खड़ा हो गया. मैंने उसके मम्मों को हसरत भरी निगाहों से देखा और जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए.

उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल नज़र आ रहे थे, जैसे उसने अभी कुछ दिन पहले ही चूत की झांटें साफ़ की हों. धीरे धीरे मैंने मामी की पेंटी भी उतार दी और उनको लिटा कर जीभ से उनकी चूत को चाटने लगा. सेक्सी वीडियो पिक्चर मद्रासीमैं गुस्से में सोचने लगी कि ये क्या बात हुई, इससे ऐसा जवाब मिलेगा, ये पता नहीं था.

”कुछ देर धकापेल के बाद मेघा कराहने लगी आआअ मेरा पानी निकलने वाला है.

तभी तो लौड़े आयेंगे तेरे पास! फिर किसी को अपना बना लेना!मैं नहीं नहीं कहती रही, मौसी बोली- जैसे मैं कहती हूँ, वैसा कर… फिर देख!और जबरन मुझे वे कपड़े पहनाने लगी. शिशिर ने उस अजनबी का परिचय देते हुए कहा- सबीहा डार्लिंग, ये मिस्टर सुनील हैं.

मेरे ससुर जी की एक छोटी बहन (शौहर की बुआ) और एक छोटा भाई (चाचा ससुर) हैं. हालांकि मेरी भाभी से बातचीत होती रहती थी और उनकी सास यानि मेरी पड़ोस की चाची भी मुझ पर बहुत भरोसा करती थीं. तो उसने मुझे रूकने का इशारा किया, फिर खुद ही पैन्ट व अंडरवियर खोल कर धान के पुआल पर लेट गया.

मैंने जल्दी से सलवार पहनी और एकदम तृप्त होकर ख़ुशी से सीधे घर की तरफ जाने लगी.

मयूरी ने ब्रा नहीं पहनी थी, पर एक ब्लैक कलर की पैंटी पहनी हुई थी, जो जालीदार सी बड़ी ही सेक्सी लग रही थी. और काफी दिन हो गए थे चाची की चूत मारे हुए भी तो कब तक मुट्ठी मार के काम चलाता यार!वो मेरी बहन थी इसलिए ये काम थोड़ा मुश्किल था!लेकिन अगर शिद्दत से चाहो तो हर काम आसान हो जाता है. फिर धीरे-धीरे मैंने मेरे हाथ उसके चूचों की तरफ बढ़ा दिए और उन्हें सहलाने लगा.

बागी सेक्सीमेरे दोनों भाई, एक मुझसे बड़ा और एक मुझसे छोटा है, दोनों ने मुझे खूब चोदा है और प्यार दिया है. मैंने मोना को किस किया, फिर उसकी नाइटी उतारने लगा तो मुझको दूर कर दिया.

கேரளா ஆன்ட்டி பிஎஃப்

टीवी देखते देखते मुझे नींद आने लगी तो मैं रीना मौसी से बोला- मैं सोने जा रहा हूँ!और जाकर बिस्तर पे लेट गया।तभी माँ का फ़ोन आया तो मैं बोला- मैं सोने जा रहा हूँ, कल बात करते हैं!तो माँ बोली- बहुत जल्दी थक गया मेरा बेटा क्या ?तो मैं बोला- माँ, बहुत ग़ुस्सा आ रहा है मुझे… यहाँ वैसा कुछ नहीं है जैसा मैंने सोचा था. खैर मैंने कॉफी बनाईं और फ्रेश होने चला गया और वापिस आकर उसे उठाया और कॉफ़ी दी. लेकिन कॉलेज पहुँचने पर मेरी दोस्ती अपने से बड़े सीनियर लड़कों से हो गई.

पहले तो उन्होंने हाथ पकड़ा तो मैं डर गया लेकिन जब वो चुप रहीं तो मुझे लगा कि अभी इस मौके का फायदा उठाने का और भी समय बाकी है. मैंने जोर से एक झटका मारा तो लंड आधा अन्दर चला गया… और फिर एक और झटका मारा तो सुमन मामी की रसीली गांड में पूरा लंड चला गया. कोई भी लेखक अपनी लेखनी से कुछ भी लिखने को स्वतंत्र होता है या कोई भी कलाकार या मूर्तिकार अपनी पसन्द से अपनी कला को रच सकता है.

अब मैं तो बड़ी असमंजस में पड़ गई कि क्या करूं, क्या ना करूं!तो रिसेप्शन पर बैठी लड़की बोली- आप चाहें तो हमारे किसी दूसरे आर्टिस्ट से भी अपनी जॉब पूरी करवा सकती हैं।मैंने कुछ सोच कर कहा- और कौन है?कहानी जारी रहेगी. शिशिर मेरी चुचियों को छेड़ रहा था जबकि सुनील सलमा की गांड सहला रहा था. इस तरह हमारा प्रोग्राम सेट हो गया और मैं छह दिसम्बर की सुबह बैंगलोर जा पहुंचा.

तभी उनके ससुर करीब आ गए और फिर शिवानी की चूत में लंड डाल कर उन्हें चोदने लगे. धीरे धीरे करके उन्होंने एकदम से अपने आधे से ज्यादा लंड को मेरी गांड में खोंस दिया.

अब मैंने पूनम को पलटाया और उसको लिप किस करने लगा और लिप किस करते हुए उसके गले को चूमते हुए उसकी ब्रा के ऊपर से उसके मस्त मम्मों पर मेरा मुँह आ गया.

फिर 8-10 झटकों के बाद उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी और मुँह खोल कर ज़ोर ज़ोर से साँस लेते हुए आवाजें निकालने लगी. रानी हार दिखाओउसने मुझे अपना घर बताया जो लाजपत नगर में था, मेरे घर से 2 मिनट की दूरी पर था. इंडियन मटका143तो उन्होंने मुझसे कहा कि मैंने सिद्धार्थ (उनके पति का बदला हुआ नाम) से बहुत प्यार किया था; खुद से भी ज़्यादा, पर उसने जिस तरह मुझे धोखा दिया है, मैं आज तक उससे उबर नहीं पाई हूँ. उस वक्त दीवाली का समय था और सभी लोग अपने अपने घरों की सफाई में लगे हुए थे, तो मैं पीछे के गेट पर चला गया और अपने पालतू डॉग के साथ खेलने लगा.

मैंने व्हिस्की की दो बोतलें गाड़ी में रख ली और हम अपने अनजान सफर पे निकल पड़ी.

फिर मैंने देखा मामी मेरे और पास में आकर साड़ी का पल्लू थोड़ा नीचे गिराकर पास में हो गईं. हम दोनों की जीभें आपस में फाइट करने लगीं, हमारी स्मूच 15 मिनट तक चली. जब उन्हें होश आया तो वो अपने आपको संभाल कर शरमाते हुए खड़ी हो गईं और कहा- दरवाजे खिड़कियां बंद कर दो.

नंगी माँ की कामुकताशांत नहीं हुई और फिर में बेड पर जाकर सो गई।जब सुबह मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि रोहण ने मेरी एक चूची को अपने मुह में ले रखा था पर मेरी पूरी चूची उसके मुंह में नहीं जा रही थी क्योंकि वो बहुत बड़ी थी. रिया हमारे यहाँ 5 दिन रही, उन पाँच दिनों में रिया ने हम दोनों की चूत का भुरता बना दिया और हर रात को चुदाई जारी रहती थी।आपको मेरी और मेरी सास की रियल लेस्बीयन सेक्स एवं लेडीबॉय (हिजड़े) के साथ सेक्स स्टोरी कैसी लगी जरूर बतायें।मुझे अपने कमेन्ट मेरी इमेल आई डी पर जरूर भेजें! मैं इन्तजार करूंगी. कुछ देर बाद वो वापिस चलने के लिए कहने लगा, मैंने उससे कहा कि मैं वापिस तभी वापिस चलूँगी जब वो मुझे अपना लन्ड दिखाएगा.

सेक्सी वीडियो फिल्म अंग्रेजों की

मेरे दोनों नन्हें चुचे उनके हाथों में थे और हर धक्के के साथ वो मेरे चुचे भींच देते. वो सोचने लगीं कि उनका बेटा राहुल होगा मगर थोड़ी देर में ही वो होश में सी आईं और उन्होंने पलट कर देखा तो उनके होश उड़ गए. मैंने भाभी के रूम के पास जा कर देखा कि भाभी गहरी नींद में सो रही हैं तो मैं भाभी के पास बेड पर जा कर लेट गया.

जब मैं घर पहुंची तो देखा कि माँ के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था जो कि मुझे बहुत अजीब लगा.

मेरी बहन की साँसें गहरी गहरी चलने लगी थी और वो अब पूरी तरह गर्म हो चुकी थी, उसने मेरे पैंट की जिप खोल कर मेरा लंड बाहर निकाल लिया और चूसने लगी.

मुझे रिप्लाइ ज़रूर भेजिएगा[emailprotected]पर, जिससे मैं आगे आपको मेरी दूसरी कहानियाँ भी सुना सकूँ. ”इधर मुझे तो जैसे आज जन्नत ही मिल गई थी इस चोदन से… क्या टाइट लंड जा रहा था उस की चूत में. तोड़ोगे मेरा दिल मुझे बर्बाद करोगेकैसे कैसे क्या क्या हुआ था?पहले तो भाभी मना करने लगीं और बोलने लगीं कि रहने दो.

हैलो फ्रेंड्स, मैं शिबू यानि शिवम गर्ग बिहार से हूँ और दिल्ली में जॉब करता हूँ. भाभी बोली- तुम रहने दो, मैं करती हूँ!और उन्होंने मेरी गांड साफ़ कर दी और अब वो टट्टी करने लगी, उन्होंने मेरे आगे ही अपनी पेंटी उतार दी और मेरी आँखें फटी की फटी रह गयी. मेरी इस कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि आंटी की कामुक चुदाई कैसे आगे बढ़ रही है.

अब चाचा भी मेरे चूतड़ थपथपा रहे थे, ये इशारा था गांड थोड़ी और ढीली करो. आपको मेरी ये सेक्स कहानिया अच्छी लगी या नहीं, कृपया अपने सुझाव ईमेल करें.

जब मैं फ्रेश हो कर आई तो दिव्या चाय छान चुकी थी और मेरा इंतजार कर रही थी, उसने फ़ोन भी रख दिया था.

मैं किस करने लगा और मुझे लगा कि भाभी मुझसे ज्यादा किस करने का मजा ले रही थीं. मैंने शीतल की ब्रा खोली और उसके मम्मों को दबाने लगा और निप्पल चूसने लगा. उनका फिगर भी ठीक था; करीब 32-30-36 था और उन्होंने रेड लिपस्टिक लगा रखी थी, जो मुझे पागल कर रही थी.

ओपन सेक्स राजस्थानी मैंने फटाफट से अपना मुँह उसके एक चूचे पर रख दिया और उसे चूसने लगा, उसके मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगी, वो अपना हाथ मेरे सर पर रख कर मेरे सर को ज़ोर से अपने बूब्स पर दबाने लगी. मैंने अपना लंड चूत से बाहर खींच लिया और वो सीधी हो कर बिस्तर पर लेट गईं.

मैं सलमा से बोली- अरे सलमा, तुम क्या हम लोगों को ब्लू फिल्म की तरह देख रही हो? अरे क्यों मजा खराब कर रही हो. मैं पेंटी के ऊपर से ही उस की चूत चाटने लगा और वो मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत में ऐसे दबाने लगी, जैसे वो मुझ पूरे के पूरे को चूत के अन्दर डाल लेगी. कभी कभी तो दोनों साथ में ही मुझे आगे पीछे से लंड पेल कर सैंडविच बना कर चोदते थे.

இந்தியன் செக்ஸ் படம்

करीब 2 मिनट बाद तेज़ी से चिल्लाते हुए दीदी की चूत ने पानी छोड़ दिया और मेरे लंड ने भी दीदी की गांड को स्पर्म की पिचकारियों से भर दिया, मैं हांफता हुआ बेड पर गिर गया और दीदी ऐसे ही अपने नीचे पड़े पिल्लो पर पेट टिका कर गिर गई. अनुष्का बोली- देख कर क्या करेगा?मैंने कहा- मेरा बहुत मन करता है तुम्हें नंगा देखने को. 30 पर योगिता पिंक कलर की नाइटी पहने मेरे कमरे में आयी। मैंने उसे अपनी बाँहों में भर लिया और पूछा- अवनी सो गयी क्या?तो वो बोली- हाँ सो गयी है और अब सुबह ही उठेगी.

क्या लंड इतने मजे और इतने अच्छे से भी चूसा जाता है, मैं तो अवाक रह गया।तभी आंटी ने एक और हरकत की, उन्होंने मेरी गोलियों को सहलाया और लंड के आसपास के हर हिस्से को चूमा चाटा, ऐसा शायद वो मुझे जल्दी झड़ाने के लिए कर रही थी।आखिर मेरा पाला भी एक अनुभवी औरत से पड़ा था और उन्होंने अपने अनुभव का लोहा मनवा दिया. तभी मैंने खुद के हाथ बेड पर रखे और हाथों के सहारे बेड से ऊपर उठ गया.

भाभी बोली- तुम रहने दो, मैं करती हूँ!और उन्होंने मेरी गांड साफ़ कर दी और अब वो टट्टी करने लगी, उन्होंने मेरे आगे ही अपनी पेंटी उतार दी और मेरी आँखें फटी की फटी रह गयी.

वो भी मेरा साथ देने लगीं, मैंने उनके मम्मों को दबा दबा कर निचोड़ दिया और वो तो मुझे इतनी गाली दे रही थीं कि आप पूछो ही मत… साथ में मैं भी उनको चोदते हुए उनको गाली दे रहा था. तभी मैंने उसके सारे कपड़े उतार कर उसे एकदम नंगी कर दिया और हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए. फिर मैंने मंगलवार सुबह 10:00 बजे होटल में चेक-इन कर लिया और अंदर जाकर सबसे पहले अपने नीचे के बालों को साफ किया और बेड पर मैगनेट परफ्यूम लगा दी क्योंकि दोस्तो, खुशबू में सेक्स करने मजा ही अलग है.

सजा… सजा तो मुझे मिली है… तो क्या मैं बुरी हूँ।मैं हड़बड़ा गया मेरे पास जवाब नहीं था, लेकिन एक विक्षिप्त इंसान से बात करते हुए उसे बच्चों जैसा बहलाने फुसलाने की कोशिश कर रहा था- नहीं छोटी, तुम तो बहुत अच्छी हो, उन दुष्टों को सजा मिलेगी जिन्होंने तुम्हारी ये हालत की है और वो भी बहुत भयंकर सजा मिलेगी।तो उसने अचानक ही रोते हुए कहा- कब मिलेगी सजा. तभी अंकल बोले- आरती, मैं तुम्हें अभी एक बार पूरी नंगी देखना चाहता हूं. वो लड़का अपना लगभग 6 इंच का लंड पीछे से मॉम की गांड और चूत की दरार के बीच में रगड़ने लगा.

जाते टाइम माला ने मुझे पीछे से कस कर पकड़ लिया और एक झप्पी देने के बाद उसने अपने दोनों हाथ हवा में फैला कर टाइटैनिक वाला पोज़ दिया.

हिंदी बीएफ बुर वाली: अब मेरी बहन मुझसे बोली- भाई, आज मुझे एक रंडी की तरह चोद दे!मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर रख दी, कसम से आग निकल रही थी मेरी बहन की चूत में से! बिल्कुल गुलाब की पंखुरी की तरह उसकी चूत के दोनों फांकें थी. चुदास के मारे चूत एकदम गीली हो चुकी थी, उस पर मुलायम मुलायम बाल थे, जो मुझको बाद में हाथ फेरने से महसूस हुए.

एक एक करके ऊपर हाथ से यही करता रहा और नीचे अपने लंड को पकड़ कर उसने मेरी स्कर्ट में घुसा दिया. हम दोनों बाथरूम गए, मैं पेशाब करने लगा और उसने कुल्ला करके अपना मुंह साफ़ किया. दोस्तो, सच में उतना तो मज़ा नहीं आया पर फिर भी थोड़ी देर के लिए मैं उसकी चूत चाटता रहा और साथ में अपने एक हाथ से उसके चुच्चे भी मसलता रहा।वो मज़े में अपना सर इधर उधर पटकने लगी, मुझे लगा कि कहीं ये झड़ गयी तो फिर पप्पू के साथ धोखा ना हो जाए इसलिए जल्दी से उसके ऊपर आया और अपना पप्पू उसके छेद पर फिट कर दिया.

सलमा ने मेरी गरदन को अपने हाथों से पकड़ लिया और मेरे सिर को अपनी चुचियों पर लाने लगी.

इस बार मैं सफल हो गया और लंड करीब 4 इंच तक दीदी की गांड को फाड़ता हुआ अंदर चला गया, दीदी मछली की तरह तड़पने लगी थी और मेरे से छूटने की कोशिश करने लगी थी लेकिीन मैंने दीदी के कन्धों को कस के पकड़ा हुआ था और दीदी को हिलने का मौक़ा नहीं दे रहा था. मगर जैसे ही पुलकित स्खलित हुआ, मंजरी बोली- थोड़ी देर और करो यार, मेरा भी होने वाला है. कुछ देर बाद जब उसकी कामुकता उसके काबू से बाहर होने लगी तो वो मुझे अपने ऊपर को खींचने लगी.