बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस

छवि स्रोत,सेक्सी सेक्स चुदाई वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म भेज दीजिए: बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस, आखिरी में तो बहुत जल्दी मेरा लौड़ा ढीला हो गया था, लेकिन इस बार करीब 5-7 मिनट मेरा लौड़ा हार्ड रहा और फिर धीरे-धीरे मेरा लंड एक तरफ लुढ़क गया.

സെക്സ് വീഡിയ

मेरी आँखों से आसुओं की धार निकल पड़ी। मैं किसी तरह उससे छूटना चाहती थी मगर उसने बहुत जोर से मुझे जकड़ लिया था।उसने जोर से मेरा मुँह दबा रखा था इसलिए मैं कुछ बोल भी नहीं पा रही थी।मैं जोर जोर से अपने पैर पटकने लगी। अपने दोनों हाथों से उसकी कमर को धक्का देने लगी. సెక్స్ బ్లూ ఫిలిం సెక్స్वो बाइक पर दोनों तरफ पैर करके बैठ गईं, जिससे उसके नरम नरम चूचे मेरी पीठ से रगड़ने लगे.

वो भी मस्ती में बड़बड़ाने लगी- आंह … आह … और तेज चूसो … और तेज दबाओ … मज़ा आ रहा है … और तेज. जानवर जानवरों की सेक्सीमैंने दीदी से उनके हाल चाल पूछे और यूं ही ही हिम्मत जुटाती रही कि कैसे जानूं कि बाहर बैठा वो मस्त माल कौन है.

इस बार मुझे डिल्डो से दर्द हो रहा था और दर्द के कारण साथ ही मुझे मोहित अंकल के लंड चूसे जाने के कारण भी अजीब लग रहा था.बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस: वो पीछे हटी और बोली- क्या कर रही है ये? औरतों के बीच में ये सब नहीं होता, मैं तेरी मां हूं.

वो अपनी चुत पौंछने लगीं और मैं कमरे में लगे फ्रिज से दो ठंडी बियर बोतल निकालने लगा.उन निशानों पर जेठजी का गाढ़ा वीर्य मल कर मुझे अलग ही सुख मिल रहा था.

देसी सेक्सी झवाझवी - बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस

हिन्दुस्तानी Xxx कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं कुछ अपनी मां के बारे में बता देता हूँ.मेरा लण्ड लोअर से बाहर निकाल कर मौसी ने हिलाना शुरू किया तो मेरा लण्ड टनटनाने लगा.

उसके बाद मैंने भाबी की पेंटी में हाथ डाला, तो उनकी चुत पूरी गीली हो चुकी थी. बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस मैं उसकी बुर में तेज तेज उंगली चला रहा था और वो तेज तेज सिसकारियां भर रही थी.

मैंने बनते हुए भाभी से पूछा- भाभी जी, ये दोनों लड़कियाँ कौन हैं?भाभी ने बताया- ये मेरी बुआ सास की लड़की पारुल है और यह पारुल की सहेली साधना है.

बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस?

मेरी मेरी सेक्स लाइफ स्टोरी पढ़ने के लिए आप सभी का धन्यवाद।[emailprotected]. वीडियो काल पर मैंने उन्हें अपना खड़ा लंड दिखाया और उनकी चूत और गांड को पूरी तरह से नंगी करवा कर लंड हिलाया. मैंने आंटी को सीधा कर दिया और उनकी चूत में लंड पेल कर चुदाई चालू कर दी.

अशोक ने भी देर न करते हुए मेरी मां को बाथरूम में ही कुतिया बनाया और मां की चिकनी गांड में लंड डालकर एक जोरदार झटका मार दिया. लेकिन इसके बाद भी एक सकून था कि मेरे पति के चोदने की ताकत लंबी थी।दूसरी तरफ मैं यह भी सोच रही थी कि हो सकता हो कि नया नया हो और उन्हें भी लगता होगा कि अभी वाइल्डनेस नहीं दिखानी चाहिये।थोड़ी देर बाद मेरी सभी सहेलियाँ चली गयी।रात को सोते समय एक बार फिर मुझे उनकी याद आयी. मैं- क्यों, भाईसाहब आपको खुश नहीं करते क्या?अनीता- नाम ही मत लो उनका तो, दिन में काम और रात को खाना खाते ही आराम.

दीपक पांडे, रिया के हज़्बेंड, उम्र 24 साल लंड दस इंच लम्बा मूसल जैसा. तो शालिनी ने मेरा बरमूडा नीचे खिसकाया और एक हाथ से मेरा लंड पकड़ कर अपने मुँह में डाल लिया और उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. इस दौरान हमारे बीच कुछ भी बात नहीं हुई थी लेकिन हमारी सांसें बता रही थीं कि हम दोनों अन्दर ही अन्दर बहुत सारी बातें कर रहे थे.

अब मैं बोला- अब अगली बार कब चुदना है?वो बोली- अब अगले साल चोद लेना. कोई पांच मिनट तक मेरी बहन चोदने के बाद उन लोगों ने पोजीशन चेंज कर ली.

मैंने फिर से लौड़ा पेल दिया।ये तो अच्छा हुआ था कि हम दोनों जंगल में कुछ अंदर थे.

उसकी उत्सुकता देख कर रोहन बोला- सारा इंतजाम कर दिया है मैंने, लड़की अंदर बेडरूम में ही है.

ये सब देख कर मुझे बहुत हैरानी हुई और कुछ गुस्सा भी आया … लेकिन पास के सोफे पर मेरे पति और जेठ भी ड्रिंक कर रहे थे और वो दोनों राज को वेरी गुड वेरी गुड बोल रहे थे. मगर मुझे केवल इस बात की तसल्ली रहती थी कि मेरे इस पेशे के बारे में मेरे घर वालों को पता नहीं चला था. उनकी अलमारी के सामने जाकर मैंने अपने सारे कपड़े उतारे और अपने आप को देखा.

मैं जोर जोर से अपनी बीवी को चोद रहा था और उसे गाली दे रहा था- साली रंडी, तेरी चूत को आज भोसड़ा बना दूंगा छिनाल साली … जिन्दगी भर तुझे अपनी रंडी बना कर चोदूंगा … तुझे हमेशा अपने लंड की सवारी कराऊंगा. उसने अपना मुंह जोर से मेरे लंड पर कस लिया और मेरे लंड से चूस चूस कर एक एक बूंद को निचोड़ने लगी. एक दिन की बात है … मैंने देखा कि सलमा और उसकी बहन स्कूल जा रही थीं.

जिया ने कभी अपनी गांड को लंड टेस्ट नहीं करवाया था इसलिए उसकी गांड लंड के प्रहार से अंजान थी.

कोई पांच मिनट तक मेरा लंड चूसने के बाद मैंने अपनी दीदी के मुँह में ही अपना पूरा रस निकाल दिया. आपके सोने के बाद फिर मैंने धीरे से उठ कर बाहर हॉल में देखा तो हरी टीवी पर फैशन शो वाली ब्रा पैंटी की मॉडल्स देख रहे थे. एक ने आगे आकर रानी को अपनी बांहों में भरा और बोला- तू बता … तुझे मजा आया कि नहीं?रानी उसके सीने से चिपक गई और धीरे से बोली- बहुत मजा आया.

मैं इतनी जोर से झड़ने लगी जैसे ज्वालामुखी में से गर्म लावा निकल कर बह रहा हो. मैंने बोला- हां आंटी मैं अपने काम के सिलसिले में गुजरात से बाहर गया था. इससे पहले कि वो कुछ बोलता, दीपक बोल पड़ा- जा जल्दी से शटर गिरा के आ जा, तेरे भाई की तरफ से तुझे एक तोहफा है.

बाल साफ हो जायेंगे।मगर उस समय तक मेरी चूत में उतने बाल नहीं उगे थे कि कभी साफ करने की जरूरत होती। बस हल्के हल्के भूरे रोम ही उगे हुए थे। मैंने उससे कहा कि आज पहली बार में ही तो ये सब नहीं होगा न? आज तो बस बातें होंगी।रूपा बोली- पगली अगर वो चोदने के लिए बोले तो चुदवा लेना.

फिर पांच मिनट के ज़ोरदार शॉट के बाद रवि हट गया और उसने समीर के लंड को जेठानी जी की गांड का रास्ता दिखा दिया. दोस्तो, मेरा घर बहुत छोटा है और मेरे परिवार में मम्मी, पापा और एक छोटी बहन है.

बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस मैंने कहा- उसके सामने अपने मम्मों को थोड़ा सा दिखा कर देखो और उसके साथ मस्ती करो. इस तरह से करीब आधे घंटे तक मैं उसकी चूत और चूची को छेड़ छेड़ कर खेलता रहा.

बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस नताशा की आंखें हैरत से फ़ैल गईं, जिसे देख कर मेरे मन में एक गर्व का अनुभव हुआ. ग्रुप बनते ही सनी का मैसेज आया- हाय?मैंने कहा- हाय … कैसे हो डियर?वो बोला- सोना और विवेक को भी जोड़ लो.

मैं काजल भाभी और उसकी स्वीटी ननद को नाटक करके दिखा रहा था कि मुझे कुछ पता ही नहीं है.

ઇન્ડિયન સેકસી વીડિયો

आज बहुत दिन बाद किसी ने मेरे मम्मों को मसला था तो मेरे मम्मे एकदम से कड़क हो उठे. वो काउंटर से बाहर आ गया और मेरी बांह पकड़ते हुए बोला- आज कोई बहाना नहीं चलेगा, अरे जब तक इनिशियल स्टेप नहीं लेंगे तो शुरूआत कैसे होगी? चलिए पहले तो मैं आप को टेस्ट कर लेता हूं. मैंने भी उसके लंड को अपनी चूत में घुसेड़ने के लिए नीचे से अपनी गांड उठा दी.

मैं उसकी आंखों में वासना से देखते हुए उसके एक निप्पल को चाटने लगा और काटने भी लगा. दोस्तो, ये थी मेरे दोस्त अविकार और उसकी मां की चुदाई की स्टोरी। आपको यह माँ बेटा सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझे अपने ईमेल और कमेंट्स में जरूर बतायें. बड़ा मजा दे रही है कुतिया … मेरी चुत में रबर फिट है रंडी … मैं सनी के लंड से भी बड़ा लौड़ा झेल जाऊंगी.

इतने दिनों से मैं इसी मजे को कल्पना में जी रही थी जो आज सच हो गया था.

दो मिनट तक उंगली से चोदने के बाद मैंने अपने लंड को उसके मुंह में दे दिया और खड़ा करने को बोला. मुझे तेरा लंड चाहिए, जल्दी डाल दे अंदर।इस बार मैंने थोड़ा तेज धक्का मारा और फक्क की आवाज के साथ मेरा लंड अन्दर चला गया. उसका वीर्य इतना गाढ़ा था कि मानो कई दिनों से उसने अपना वीर्य न निकाला हो।उत्तेजित होकर मैं उसके वीर्य को चूत में उंगली डाल कर फैलाने लगी और उसको चूत के अंदर तक डालने लगी। इस चुदाई में मेरा एक बार भी पानी नहीं निकला था.

एक अजीब सी कसक उसके और मेरे दिल में उठी, जब मैंने कमरे का दरवाजा बंद किया. उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखा और आगे से अपने लंड के सुपारे को उसकी चूत पर रखकर कसके एक झटका दे मारा. बटन खोल कर ब्लाउज अलग किया और इसके बाद उनकी रेशमी ब्रा भी को भी खोल दिया.

सनी ने अब अल्पना की टांगें खोलीं और उसकी चुत की फांकों पर लंड घिसना शुरू कर दिया. तब मुझे पता चला कि पैंटी नहीं उतारी अभी उसने।मैंने पैर का अंगूठा उसमें फंसाया और नीचे खिसका दी। उसने जल्दी से पैंटी निकाल दी.

इतना कह कर उसने अपने दोनों हाथों से मेरे स्तनों को पकड़ा और मसलने लगा. लंड घुसते ही ऐश्वर्या के मुँह से तेज आवाज़ निकल गई और ससुर अपनी बहू को चोदने लगे. नाश्ता खत्म करते करते सुभाष का नाश्ता भी खत्म हो गया और अमिता अन्दर चली गई.

मेरी ननद मुझे छेड़ते हुए बोली- भाभी, आज तो बहुत से लड़कों का आप पानी निकाल देंगी.

मेरी ननद मुझे छेड़ते हुए बोली- भाभी, आज तो बहुत से लड़कों का आप पानी निकाल देंगी. यद्यपि ये इंडियन चुदाई कहानी एक प्रताड़ना जैसी है मगर मेरे लिए ये एक सुखद अनुभव था, जिसने मेरी फंतासी को पूरा किया था कि एक ही दिन में मुझे कई लोग चोदें. मैंने उसे अल्पना की चुत पर रगड़ रही थी और बॉल अल्पना की चुत के दाने को अपने धागों के उभारों से रगड़ते हुए बड़ा सुकून दे रही थी.

जिससे उसकी चूत खुलकर मेरे सामने आ गई और मैंने अपनी जीभ सीधे उसके छेद में डाल दी. जब मैं कुछ नहीं बोला तो उसे लगा कि शायद मेरा लंड नींद में ही खड़ा हो गया.

हाय दोस्तो, आप सब कैसे हो … आशा है सब अच्छे ही होंगे … और अपने अपने आइटम के साथ मस्त होंगे. जैसे ही मैं गिलास उठाने के लिए हाथ बढ़ाती, चारों मेरे भरे हुए स्तनों को एकटक घूरने लगते और जब मैं गिलास रख कर जैसे ही अपने स्तनों को ढक लेती, वो लोग अपने बातों में मशगूल हो जाते. मैंने लण्ड को उनकी चूत में डाल दिया और धीरे धीरे उनकी चूत की गहराई नापने लगा.

যৌন মিলনের ভিডিও

फिर उसने अपने मुँह में बीयर भरी और इस बार उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया.

ऐसे ही हम दोनों एक दूसरे के गुप्तांग मसलते रहे और आनन्द लेते हुए अन्दर हो रही सोना और सनी की चुदाई देखते रहे. इसलिए मेरे लंड ने एक बार फिर से मामी जी की चूत को अच्छी तरह से रगड़ दिया और पूरा का पूरा रस मामी जी की मखमली चूत में भर दिया।दूसरे राउंड के बाद भी हम कुछ देर पड़े रहे. मैं अपने दोस्तों के साथ दोस्त की बहन की शादी का काम निपटवाने में लगा गया था क्योंकि बारात आने वाली थी.

मेरा लंड भी 9 इंच लम्बा है जिसकी दीवानी कई सेक्सी भाभी, चुदक्कड़ आंटी और हॉट जवान लड़कियां भी हैं. मैं उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ मेरी लम्बाई 6 फीट है तथा शरीर गठीला है. राधे राधे लोगोमैंने नीचे से ब्रा नहीं पहनी थी इसलिए मेरी चूची उसके सामने नंगी हो गयी.

उसकी चूचियां बहुत ही शानदार थीं और बहुत ही मस्त भरी हुई लग रही थीं. मेरा खड़ा लंड उनकी नजरों के सामने था, जिसको देखकर ऐश्वर्या देखती ही रह गईं.

इतना हक तो विकास का भी था मेरे जिस्म पर कि वो मेरे जिस्म के साथ छेड़खानी करके खेल सके. उन्होंने ओर आंख मार कर सेक्सी इशारा किया और मुझे इशारे से अपनी ओर बुलाने लगी. फिर एक ने अपना लंड निकाल कर नानी की गांड में पेल दिया और नानी की गान मारने लगा.

तो मैं पीछे मुड़ी और झुक गई। झुकते ही मेरे दोनों छेद देखकर रोहन बोला- यहां तो दो छेद हैं।तो मैं अपनी उंगली लगाकर उन्हें बताया कि नीचे वाली चूत है. वो अब आराम से मेरा मुंह चोदने लगा। अब पूरा लंड मेरे मुंह में जा रहा था। कुछ देर मेरे मुंह को चोदने के बाद उसने मुझे बॉल्स चटवाए, बॉल्स चटवाते चटवाए वो ऊपर आ गया. अब भैया का क्या होगा?मैं बोली- भैया का तो कुछ नहीं होगा, लेकिन मैं देखती हूँ कि आप पर क्या असर होता है.

मेरा पूरा बदन उनके मुँह के पानी के गीलेपन और चिकनाहट से चमक रहा था.

अगर मैं उस पर दया करता तो फिर वो लंड को बिल्कुल भी अंदर नहीं जाने देती. अब आगे की फेमिली सेक्स स्टोरी:समीर ने झट से अपना लंड जेठानी जी की गांड में पेल दिया.

इस दौरान मेरा भी एक बॉयफ्रेंड बन गया था, लेकिन मैंने ये सब अपनी दोनों सहेलियों से छुपा कर रखा था. मैंने फोन उठाया तो उधर से मेरे एक बचपन के एक दोस्त गोल्डी ने हैलो किया. उसने अगले ही पल मेरे लंड को मुँह में ले लिया और ऐसे चूसना शुरू कर दिया जैसे वो लंड न हो, कोई आइसक्रीम हो.

जयपुर पहुंच कर मैंने अपना काम वहां से खत्म किया और वर्ल्ड ट्रेड पार्क चला गया. कुछ देर बाद पीयूष मेरे लिए रात में पहनने के लिए एक लोअर और टी-शर्ट ले आया. और आपको चोदकर किनारे हो जाते हैं।हाँ तो? इससे ज्यादा और क्या चाहिये?” मैंने बनते हुए कहा.

बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस मेरे पूरे बदन में वासना की लहर दौड़ गयी मगर पहले मैंने उस लड़की को सँभाला और उसे ठीक से बैठने को बोला. नहीं तो तुम्हारी चूत जख्मी हो जायेगी।लेकिन मैं हल्का फुल्का हिलती ही रही.

बाबाजी की चुदाई

कमरे में पहुँच कर उन्होंने मुझे अपने पलंग पर बिठाया और खुद भी मेरे सामने खड़े हो गए। जेठजी ने झुक कर मेरी कुर्ती को मेरी कमर पर किनारों से पकड़ कर ऊपर करना शुरू कर दिया. आपको यह मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स स्टोरी हिंदी में कैसी लगी, आप मुझे ईमेल जरूर करें. मैंने कहा- क्या करोगी जान कर!वो तमक कर बोली- मैंने पूछा कि अपने हॉस्टल का नाम बताओ.

उसकी सिसकारियों में अब आनंद के साथ दर्द भी झलकने लगा- आह्ह … आईई … याह्ह … सस्स … आईया … आह्हह चोदो … ओह्ह … चोदते रहो … फाड़ दो मेरी चूत को मेरी जान. मेरे पास कई सारी फीमेल रीडर्स का मैसेज भी आया कि बहुत ही अच्छी स्टोरी थी. देसी आंटी सेक्सी वीडियो एचडीपर चुदाई की सीन याद आते ही मैं स्कूल और कॉलेज के ख्यालों में खो गयी। जहाँ पर मेरी फिगर और खास तौर से मेरी गांड की तारीफ लड़के तो लड़के … मेरी सहेलियां भी करती थी.

कोई एक मिनट बाद मैंने लंड चूत से बाहर निकाला, तो अमित ने अपनी मॉम की चूत में लंड पेल दिया और उन्हें चोदने लगा.

उन्होंने पूछा- तू यहां क्या कर रहा है?तो मैं हड़बड़ा गया और बोला- मैं आपको देख रहा था. उसकी गर्दन का और मुलायम पेट का मजा ले रहा था।अभी मेरा मन आगे बढ़ने को था।मैंने एक हाथ उसकी पाजामी की इलास्टिक में डालने की कोशिश की तो उसने अपनी कमर ऊपर की और जल्दी से अपनी पाजामी निकाल कर अलग कर दी।मैंने उसका हाथ पकड़ कर नीचे खींचा और उसके ऊपर आ गया.

थोड़ी देर बाद किसी ने कहा- क्या यार खुद बैठ गए हो और उसे खड़ा रख दिया है. बीस मिनट तक बहन की चुत चोदने के बाद जब मैं झड़ने वाला था, तो मैंने बोला कि मैं झड़ने वाला हूँ. कोई दस मिनट तक तेज धक्कों वाली ताबड़तोड़ चुदाई के साथ मेरा पानी निकालने वाला हो गया था.

इससे बच्चे का डायपर भी बदल लेना और मैं पीछे से तुम्हें चोदता भी रहूंगा.

उसके उभार निम्बू की तरह थे और वो जब सांस ले रही थी, तो उसके टिकोरे ऊपर नीचे हो रहे थे. दोनों औरतें सुंदर के आगे आ गईं और उसके घुटनों के बल नीचे बैठ कर लंड चूसने लगीं. कुछ देर बाद पापा ने मां को बेड पर ही कुतिया बनाया और पीछे से चूत में लंड डालकर चोदने लगे.

xxx मराठी स्टॉलउन्होंने मेरे हाथों को पकड़ कर मेरे सिर के पीछे अपने हाथ में बांध दिया. अमित ने बहुत कोशिश की मगर उसकी मॉम ने उस रात दूसरी बार लंड लगाने ही नहीं दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वाली

अब पूजा आंटी ने मोर्चा संभाल लिया और वीडियो बनाने का काम मोहित अंकल कर रहे थे. अब मैंने भी मंगलसूत्र उतार कर जेठजी का दिया हुआ हार पहन लिया और उनकी दी हुई ब्रा और पैंटी भी. फिर भाभी के बाल पकड़ कर मैं उनको किसी बाजारू रंडी की तरह चोदना शुरू कर दिया.

इसके जवाब में मैंने एक औऱ उंगली उसकी छोटी सी चूत में डाल दी, जिससे उसकी हल्की सी चीख निकल गई. तो दोस्तो, आपको मेरी ये कॉलेज गर्ल हिंदी हॉट कहानी कैसी लगी … मुझे उम्मीद है कि आपको भी मजा आया होगा. अभी मैं चीख ही पाती कि उसने अपने होंठों का ढक्कन मेरे होंठों पर लगा दिया था और रुक गया.

काम करने के कारण उनके अवैध संबंध खेत के मालिक रविन्द्रनाथ से हो गए थे. आप मुझे पहले क्यूं नहीं मिली?तो मैंने चूत का रस लगे उसके होंठों को अपने होंठों से लगा दिए और उसको किस करने लगी. लंड का पूरा लावा निकलने के बाद मैं उसके ऊपर गिर गया और कुछ मिनट लम्बी लम्बी सांसें लेते हुए पड़ा रहा.

पहले पैसेंजर ट्रेन, फिर एक्सप्रेस और अंततः शताब्दी की रफ्तार से चोदते चोदते मेरा सफर पूरा हुआ और मेरे लण्ड ने फव्वारा छोड़ दिया. ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी खाला (मौसी) की बेटी की यानि मेरी बहेन की चुदायी कहानी है.

उधर दीदी ने रवि के लंड के सुपारे को अपने मुँह में ले लिया और जोर-जोर से अंडकोष दबाने लगीं.

पांच मिनिट के बाद वो वापस मेरे बगल में आई और बोली कि भाभी अब आप चढ़ जाओ. ಕನ್ನಡ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋಸ್बार बार वो अपनी टी-शर्ट के ऊपर से ही अपनी चुस्त ब्रा को ठीक करने लगतीं, जो मेरे लंड को खड़ा करने पर मजबूर कर रहा था. बॉलीवुड की सेक्सी वीडियो फिल्मअब वो अपनी गांड उठा उठा कर जोर जोर से कमर हिलाते हुए उछल उछल कर लंड ले रही थी. एक दिन वो मेरे घर आयी और मुझसे बोली- अंजलि, तेरी बेटी जारा करती क्या है … इतने सेक्सी कपड़े और खूब पैसे वाली कैसे हो गई?तब मैं गर्व से बोली- अरे वो जॉब करने लगी है.

मैंने ओके कहा और जल्दी से उनके लिए खाना बना कर टिफिन लगाया और विशाल को फोन करके सब बताया.

वो अपनी मादक आवाजें निकालते हुए मेरा साथ देते हुए चुदाई का मजा लेने लगी थीं. चाची बोली- संदीप, जरा बाइक को किनारे लेकर किसी पगडंडी पर अंदर की तरफ ले ले, मुझे जोर से पेशाब लगी है. मुझे देख कर बोला- बेटा, तुम्हारी ज़िप खुली है … अन्दर के बाल दिख रहे हैं.

‘सर की बीवी की गांड कौन मारेगा’ यह तय करने की बारी आई तो सर और मेरा नाम पर्ची में लिख कर डाला गया. इससे पहले कि मामी संभल पाती और मुझे हटाने की कोशिश करती, मैंने मामी को जोर जोर से किस करना शुरू कर दिया. तुमने जबसे उसकी चूत की तारीफ की, मुझे उसकी चूत चुदाई के लिए बहुत ही चुदास उठ रही है.

आंटी के साथ सेक्स

इस बार मम्मी ने कहा- तुम्हें मेरी खुशी की बड़ी चिंता है!मैंने सोचा कि आज मौका अच्छा है तो कह ही देना चाहिए. जानना चाहती थी कि पुरूष का लिंग जब योनि में जाता है तो कैसा लगता है. जैसे ही ब्रा अलग हुई, मैंने जल्दी से एक बूब को मुख में ले लिया।ये सब मेरी जिंदगी में पहली बार हो रहा था.

अगर आप चाहते हैं कि मैं इससे आगे की सेक्स कहानी लिखूं कि कैसे मैंने उस मोटी नंगी लड़की को जिम के बाथरूम और उसके घर में चोदा और उसकी गांड मारी, तो मुझे मेल करके जरूर बताएं.

इससे ये बात साफ़ हो गई थी कि उस दिन मेरे सॉरी बोल देने से उसकी नजर में मेरी छवि अच्छी बन गई थी.

मुझे चोद दीजिये दादा जी।ये सुन कर विजय बोला- देखा दादाजी, कितनी तड़प रही है साली लंड लेने के लिये! इसे तो पीछे बाड़े में ले चलते हैं. कि ख्याल आया कि घर में इस समय चहल-पहल ज्यादा है और किसी की नजर पड़ सकती है।मैंने तुरन्त ही रोहित को झटका देकर अपने से दूर किया और भागते हुए कमरे से बाहर होने ही वाली थी कि रोहित ने पुकारा. गंदे गंदेचूंकि दिया मेरी बेस्ट फ्रेंड थी और उसकी मां की बात को मैं टाल नहीं सकती थी इसलिए मैंने हां कर दी.

मैंने उसको थैंक्स बोला और कहा- जब बुर इतनी मस्त हो, तो चाटने का मन कर ही जाता है. मैंने कहा- मेम, अगर आप बुरा न मानो तो क्या मैं आज बिना प्रोटेक्शन के … ? कर सकता हूं क्या?वो थोड़ा सोचने के बाद बोली- चलो ठीक है, लेकिन एक बात ध्यान रखना कि तुम्हारा माल अंदर नहीं गिरना चाहिए. आपको ये मेरी कॉलेज गर्ल्स सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझे इसके बारे में जरूर बतायें.

खैर शेखर मेरी सास की चूत में ताबड़तोड़ धक्के मार कर मेरी सास की चुदाई कर रहा था और आकाश मुँह में लंड को पेले जा रहा था।15 मिनट तक लगातार धक्के मारने के बाद शेखर ने मेरी सास की चूत में अपना माल छोड़ दिया. भाभी की चूत पर लंड रगड़ मार रहा था और मैं उनकी आंखों में देख रहा था.

मुझे नहीं पता कि वो ध्यान भी दे रहे थे या नहीं! लेकिन मैं बार बार उनके सामने जाती रहती थी.

चूंकि मुझे भी जींस उतार कर लैगी पहननी थी, तो मैंने कहा- ठीक है, पहले लैगी दो. अब और ज्यादा समय न लेते हुए मैं मेरी कॉलेज गर्ल्स सेक्स स्टोरी पर आता हूं. मुझे उल्टी होने लगी लेकिन सर मेरे मुंह को पूरा जोर से दबाते हुए चोदते रहे.

ક્સક્સક્સક્સ गांड चोदाई की कहानी में पढ़ें कि मैं नौकरी की बात करने गयी तो बॉस ने मुझे चोद दिया. मगर भाभी की नजर बार बार पारुल की चूचियों पर जा रही थी जो मैक्सी में साफ नंगी प्रतीत हो रही थी.

अपनी जांघों से मेरी टांग हटाते हुए मौसी ने मेरी ओर करवट ली और अपना हाथ मेरे लण्ड पर रख दिया. फिर से चूत चाटने की वजह से मैं बहुत जल्द ही गर्म हो गयी थी और अजय का लंड पकड़ कर अपनी चूत पर सेट करने लगी. खैर अब मैं वर्तमान में आती हूं। मजा लेते रहें देवर भाभी रोमांस सेक्स स्टोरी का:कुछ रोज मायके में रहकर अपनी ससुराल आ गयी। पतिदेव कई दिनों बाद मुझसे मिले। मिलने में तो उनके उत्साह बहुत था लेकिन जल्दबाजी नहीं थी।रात आयी, सब सो गये, मेरे पतिदेव मुझे पुचकारते और चूमते रहे।मुझे लगा कि काफ़ी दिनों बाद मिले हैं तो आज की रात कुछ अलग होगी.

కాలేజీ అమ్మాయిల సెక్స్

जेठ जी मेरे स्तनों के लिए पागल हो चुके थे और मैं उनके लंड के लिए।अब मेरे यानि सुनील के मुख से:मैंने सोनी से पूछा- अच्छा डार्लिंग, ये तो बताओ कि मेरे बड़े भाई का लंड कितना बड़ा है?वो बोली- आपके लंड से 3 गुना लम्बा है और 2 गुना मोटा है. बहुत दिनों बाद छुट्टी मिली थी, सो मैंने घर पर मूवी देखने का सोचा और एक लोकल सी. मैंने उसको पीछे के रास्ते से घर में एंट्री करवायी ताकि किसी को शक न हो.

अंकल ने मुझसे कहा- मेरा ऑफिस का टाईम दस से चार होता है … दस बीस मिनट का फर्क पड़ेगा, उसे तुम मैनेज कर लेना. कुछ देर तक वो चूत को चाटते रहे और फिर बोले- शमा, तेरी चूत मेरे लंड को सह लेगी क्या?मैं बोली- आप डालो तो सही, अब नहीं रुका जा रहा चाचू.

मैंने शालिनी से पूछा- शालिनी जी, क्या आज सूरज पश्चिम से निकला है जो आप मेरे घर आई हो? आप तो मुझे हमेशा अपनी जगह पर बुलाती हो.

बहुत दिनों से मैं भी अपने जीवन की असली घटना मेरी कॉलेज गर्ल्स सेक्स स्टोरी को आप लोगों के साथ शेयर करना चाह रहा था, जो मैं आज लिख रहा हूँ. मैंने देखा तो मेरे चाचा मेरी मां के ऊपर चढ़े हुए मां की चुदाई कर रहे थे. मेरा लण्ड मौसी की चूत में जाने के लिए उतावला हो रहा था लेकिन मैंने खुद पर नियंत्रण रखा हुआ था.

मैं कुछ नहीं कर सकता था … मैंने आंटी की चुत पर बंधे नकली लंड को चूसना शुरू कर दिया. अल्पना और सनी के साथ जब मेरी चुदाई का मजा आएगा … तो मैं उस रसीली बॉयफ्रेंड एंड गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी से आप सभी लंड चुत से पानी निकालने की कोशिश करूंगी. जैसे ही चाची ने मेरे लण्ड की खाल पीछे करने की कोशिश की, मुझे हल्का सा मीठा दर्द हुआ.

मैंने जोश में आकर सर को बोल दिया कि मैं जिया मेम के साथ एक बार सेक्स करना चाहता हूं.

बीएफ क्सक्सक्स वीडियोस: मेरी बेटी दर्द से चीखने लगी- आआह … मार दिया हाय अल्लाह … पूरा घुसेड़ दिया … ऊऊ अम्मी … आआह …अगले एक मिनट बाद मेरी बेटी शमशेर का पूरा लंड अन्दर लेकर अपनी गांड मरवा रही थीं. इतनी उत्तेजना बहुत दिनों के बाद महसूस की थी मैंने। बस अब मेरा पानी निकालने ही वाला था। उतने में मेरा संतुलन बिगड़ गया और मेरा हाथ धाड़ से बेड पर लगा.

हम दोनों ही रात होने का इंतजार करने लगीं।रात करीब नौ बजे सबने खाना खा लिया और अपने अपने कमरे में आ गए। हम दोनों बस किसी तरह बात करते हुए समय काट रहे थे। रात के 1 बजे हम दोनों ने आराम से दरवाजा खोला और कमरे से बाहर आ गए।रूपा ने जाकर मामा-मामी का कमरा चेक किया. अब वो अपनी गांड उठा उठा कर जोर जोर से कमर हिलाते हुए उछल उछल कर लंड ले रही थी. मैंने दांत पर दांत कसते हुए विशाल से कहा- प्लीज़ … विशाल जरा रुको … मेरी फट जाएगी.

आज तुम लक्की हो जो तुम्हें मेरे साथ अपना डेब्यू मैच खेलने का मौका मिल रहा है.

मैंने पूछा- कोई नजर में सैट किया है क्या?उजमा बोली- क्या सैट कर रखा है?मैंने पूछा- कोई नीग्रो हब्शी का लंड!वो मेरी छाती पर प्यार से मुक्का मरते हुए बोली- अपने मोहल्ले में कहां कोई अफ्रीकन रहता है. अंजलि बोली- तो फिर क्या क्या चेंज देखा?मैंने उसकी बात को समझते हुए उसे आंख मार दी- अब क्या खुल कर जानना है?इस पर अंजलि भी हंस पड़ी. चूत और लंड दोनों इतने चिकने हो चुके थे कि लग रहा था लंड मलाई में चल रहा है.