चोदा सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,साउथ हीरोइन की सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स बीएफ देवर भाभी: चोदा सेक्सी बीएफ, अब तक मैं उसकी दीदी, बहन, भाई सभी से मिल चुका था लेकिन उस दिन मैंने उसकी मां को पहली बार देखा था.

इंग्लिश मे सेक्सी पिक्चर

इसके बाद मैंने साबुन से उसके पूरे बदन को झाग से भर दिया और उसके बोबों को मसलता रहा. सेक्सी मूवी एचडी हिंदीशाम को उनका फोन आया तो उन्होंने पूछा- कैसा लगा था सैट?मैंने कहा- बहुत ही मस्त!वो खुश हो गए.

दोस्तो, आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीदोस्त की शादी में मेरी पत्नी का रंडीपनाको पढ़ा था उस सेक्स कहानी का लिंक दे रहा हूँ. वॉलपेपर मस्तएक दिन जब मैं सलमा को अपने कमरे पर चोद रहा था तब सलमा ने मुझसे कहा- अलीज़ा कैसी लगती है?मैं लंड चूत में चलाते चलाते जरा धीमा हुआ और सलमा की जगह अलीज़ा को इमेजिन करके लंड और तेजी से चुत में अन्दर बाहर करने लगा.

कोमल ‘हाई मां ईस्स आह उई ओह्ह …’ करती हुई लंड को आगे पीछे करने लगी.चोदा सेक्सी बीएफ: वहां जाकर तू कोई जॉब कर ले, साथ में ही गवर्मेंट जॉब के लिए भी कोशिश करते रहना.

मैंने रिप्लाई किया- टू मच सेक्सी!हमने दोपहर का खाना भी पैक करवा लिया.कुछ देर बाद मैंने कहा- डार्लिंग, अब कुतिया बन जाओ, पीछे से हमला करूंगा.

घोड़ा की सेक्सी मूवी - चोदा सेक्सी बीएफ

मेरे मामा ने जाने से पहले एक दिन मेरी मम्मी के पास फ़ोन किया और कहा- हम दोनों को शादी में दिल्ली जाना हैं, लेकिन रितिका साथ नहीं जाना चाहती है.अंकल ने कुछ देर बाद धीरे से मां की पैंटी को निकाल कर एक तरफ रख दिया और मां की चूत, जो सुबह ही क्लीन की गई थी, उसे अंकल सूंघने लगे थे.

लेकिन यह लड़की ऐसी थी कि क्या बोलूं!सोशल मीडिया पर मुझे एक दिन नन्दिनी नाम की एक लड़की का संदेश आया. चोदा सेक्सी बीएफ घर से हम करीब 8 बजे निकल गए और बस कुछ ही देर में मैं राजीव सर के घर पहुंच गई थी.

फिर सीधा शीना की दोनों चूचियों को बारी बारी से मुँह में भरकर उसके गुलाबी निप्पल चूसने लगा.

चोदा सेक्सी बीएफ?

मैंने अपनी उंगली सुमन की बहन सरोज की गांड के सुराख पर रखी और उसकी गांड को सहलाने लगा. मैंने अपनी उंगली उनकी ठोड़ी पर लगा कर उनका चेहरा ऊपर किया तो उनकी आंखें बंद थीं पर मुझसे और इन्तजार नहीं हो रहा था. दीदी की मस्त चिकनी गांड देख कर विक्की ने झट से दीदी की पैंटी को भी नीचे कर दिया.

चाय की ट्रे को रखने के लिए मौसी जैसे ही झुकीं, तभी अचानक से मेरी नज़र उनके गाउन के गले से दिखतीं उनकी बड़ी-बड़ी चुचियों पर जा पड़ी. सर को पहली बार मैं इस हाल में देख रही थी और ये सोच भी रही थी कि वो सही भी हैं. वो बोली- उस दिन सुबह तुम क्या देख रहे थे? तुम्हें शर्म नहीं आती है ऐसे किसी को नहाते समय देखते हुए? मैं अंकल और आंटी को बता दूंगी तेरे बारे में!मैं बोला- नहीं अश्मि, तुम उनको कुछ मत कहना.

वो अपने दोनों मजबूत हाथों से मेरे बोबों को ऐसे दबा रहे थे जैसे कि कोई स्पंज को दबा रहा हो. जैसे जैसे हाथ आगे बढ़ाया, वैसे वैसे अर्शिया कीचुत की गर्मीका अहसास होने लगा था. मैंने उनकी आंखों में देखा और उनका इशारा मिलते ही लंड को रफ्तार दे दी.

और मुझसे बोली- राज तूने जाटनी चोदी है … तो सजा तो तन्ने जरूर मिलेगी. और 10 मिनट बाद भाभी ने कहा- चलो!अब मैं आपको भाभी के फीगर के बारे में बता दूं.

कैब वाले ने सही समय पर साइड में रोक दी थी, लेकिन अब कोमल को कोई होश नहीं था और उसने अपने कपड़ों पर ही उल्टी कर ली थी.

पर अरविन्द जी के समक्ष अपने को मासूम साबित करने की कोशिश में मैंने अपने नंगे जिस्म को ढक कर लज्जा का प्रदर्शन किया था.

अपने दाएं हाथ की पूरी मध्यमा उंगली जिस पर अभी भी मेरा योनि रस रोड लाइट में चमक रहा था, उसने नशीले अंदाज में अपने मुख में लेकर चूस लिया. मैं सारा दिन मां को घूरता रहता उनके भरे जिस्म देखकर रोज़ मुठ मारता. वो अपनी मस्ती में बोला- आह सोनिये … मैंने सही जगह लंड पेला है … आज मेरा लंड बहुत कड़क है, इसे तेरी गांड की सैर करनी थी.

उससे आगे कैसे मैंने अपनी बीवी की चुदाई देखी:दूसरे दिन मेरी बीवी गैर मर्दों से ऐसे और ना चुदे, इसलिए मैं खुद जाकर गाड़ी ले आया था. वो बोलीं- हां देखती हूँ कि कैसे काम बनता है … तुम बस मेरे इशारे समझते रहना. मैंने कहा- आंटी ये किस क्या होता है?वो हंस कर बोलीं- तुझे किस नहीं मालूम कैसे किया जाता है?मैंने ना में सर हिला दिया, तो आंटी ने मुझे अपनी तरफ खींचा और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मुझे चूमने लगीं.

उसकी चुत एकदम बड़ी और सुर्ख लाल दिख रही थी, लेकिन कोई खून नहीं आया था.

उसका लहंगा ऊपर करके उसकी टांगें खोल दीं और उसे आगे को खींच कर लंड चूत के अन्दर डालने लगा. सेक्स कहानी व्यक्त करने के लिए ऐसे शब्दों का चयन करना ही पड़ता है, जिन्हें चयन किए बिना दृष्य और भावनाओं को व्यक्त नहीं किया जा सकता है. मेरे लंड ने पीहू की बच्चेदानी पर चोट की थी तो पीहू जोर से चिल्ला पड़ी- उई मां मर गई … लंड को निकाल लो.

इससे मेरी हिम्मत और भी बढ़ गई और मैंने थोड़ा जोर से बोबे दबाना शुरू कर दिए. बॉय बॉय सेक्स कहानी के पहले भागचिकना लड़का लौंडा बनना चाहता थामें मैंने अब तक आपको बताया था कि नील नाम का नमकीन लौंडा मेरे लिए दारू की बोतल लाया था. वो मेरी तरफ देख कर बोली- क्यों तुम एसी में ठंडे हो गए क्या?मैंने उसका मतलब समझ गया और बोला- कहां यार … मेरी तो गर्मी बढ़ गई.

ये सुनकर मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से लंड अन्दर-बाहर करने लगा.

मैम ने सूट पहन कर अपनी एक फ़ोटो भेजी थी, जिसमें वो एकदम बवाल लग रही थीं. एक दिन मुझे मेरी कमर में दर्द हुआ तो मैंने अपने बेटे विराट से कहा कि किसी डॉक्टर को दिखाना पड़ेगा … बहुत दर्द है.

चोदा सेक्सी बीएफ मैं अपनी आधी खुली आंखों से देख रहा था कि निशा की आंखें लाल होने लगी थीं. मैंने उसके गले को पकड़ कर नीचे खींच लिया और जोर जोर से किस करने लगा.

चोदा सेक्सी बीएफ जैसे ही शहर से थोड़ा बाहर आए मैंने गाड़ी को साइड में लगाया और उसको अपनी तरफ खींच लिया. मेरे लौड़े के नीचे मार खा रही लता दर्द की वजह से लगातार कराह रही थी- ऊईई ईमा मां मर गईईई फाड़ दी आह रुक जा हरजाई … आह.

उसकी गांड का साइज़ 30 इंच का है, चूचे 28 इंच के एकदम टाईट हैं और कमर 24 इंच की है.

सब्जी बताइए

उस एक्टर को देखते ही पब्लिक मानो पागल हो गई और इसी वजह से उस होटल में काफी भीड़ हो गयी थी. उसके गोरे बड़े मम्मों पर काले काले अंगूर से कड़क निप्पल ऐसे मस्त लग रहे थे, जैसे रस से लबालब भरे हों. मैंने असीम को कुछ पैसे दिए और कहा कि मुझे देर हो सकती है, तो तुम कुछ खा-पी लेना और मेरे फ़ोन का इंतजार करना.

नवीन- हां साली रंडी … तुझे पेल कर चोदूंगा … आह तेरी चुत में बहुत चुल्ल थी न चुदने की … आह ले साली मादरचोद मेरी पर्सनल रंडी … ले लौड़ा खा. किसी का भी ज्यादा ध्यान ना देने का प्रमुख कारण हम दोनों का उम्र अंतराल भी था. कार्तिकेय- हैलो जानू … क्या कर रही हो!मैं- कुछ नहीं … बस तुम्हारे लंड का इंतजार कर रही हूँ.

मेरी पिछली कहानी थी:जुम्मन की बीवी और बेटियाँअशफाक़ नर्सरी से मेरा सहपाठी था.

वो मुझसे कैसे चुदी?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम फरमान है ये नाम बदला हुआ है. इंतज़ार करते करते कॉलेज टाइम खत्म हुआ और मैं मैम को बाइक पर लेकर घर की तरफ निकल गया. क्योंकि फ्लैट का आधा किराया दस हजार मेरा बच सकता था … अगर मैं ये सब अनदेखा कर दूं.

उसने मेरे लंड पर और अपनी गांड पर तेल लगाया और मेरी गोदी में बैठ गई. चुत के दाने को धीरे से रगड़ा और चूत की दोनों फांकों को अलग करके लंड घुसाने का रास्ता बनाया. इससे सुमोना का शरीर अब अकड़ने लगा और वो और तेज और तेज कहकर तेज तेज कमर हिलाने लगी.

पैंटी हटाई तो मैंने देखा कि उसकी चूत बिल्कुल गोरी, कसी हुई और झांट रहित थी. भाभी की फैंटेसी सुनकर एक पल के लिए तो मेरी गांड फट गई और डर सा लगा कि ये भाभी तो मरवाने की प्लानिंग कर रही हैं.

कोई दस मिनट तक मुझे इसी पोज में रगड़ कर चोदने के बाद उसने लंड खींच लिया और मुझे डॉगी स्टाइल में होने को कहा. उसने रोशन को अपना हथियार हिलाते हुए देखा, तो वो पहले तो एकदम से गर्म हो गई. भाभी की पनियाई हुई चूत से लंड की थापें ‘छोपप चुप्प्प पच्छ पच्छ पच्छ …’ की ताल छेड़ रही थीं और मेरी हुंकारें ‘अहह अहह ओह्ह ममहह ले मेरी जान …’ कमरे के माहौल में काम भावना को और अधिक बढ़ाने में मदद कर रही थीं.

एक बार उसने मुझे पकड़ लिया और …मेरे प्यारे दोस्तो, कैसे हो सब? मुझे पता है कि आप सभी को अन्तर्वासना पर ऐसी बहुत सी कहानियां पढ़ने को मिलती हैं और आप सभी रोज ही पढ़ते हैं.

चूंकि मैं अभी तक कुंवारी कमसिन कली थी, तो मुझे काफ़ी उत्तेजना हो रही थी. अब तक इस बात का मुझे कभी अहसास नहीं हुआ, पर मन ही मन में शायद मैं भी तो यही चाहती थी. फिर मैं हर दिन कोशिश करने लगी कि अंकल जी के सामने कामुक बन कर रहूँ.

नन्दिनी ने भी आह की सीत्कार की मगर अगले ही पल उसने दर्द से भींचे हुए होंठों के साथ मेरे लंड पर अपनी कमर चलानी शुरू कर दी. मैं सोच रहा था अब या तो दीदी मुझसे नाराज हो जाएंगी या कुछ इशारा देंगी.

उन्होंने मुझसे मेरी जानकारी लेते हुए पूछा- क्या तुम मेरी बेटी के साथ ही काम करते हो … रहने वाले किधर के हो?वगैरह वगैरह. मैंने उनके नंगे चूतड़ देखे और चूतड़ों के बीच सेदीदी की पसीजती चूतको देखा तो मैं मदहोश हो गया. दस मिनट से कम समय में हम दोनों नंगे होकर एक दूसरे गुत्थम गुत्था थे.

बीपी ब्लू पिक्चर बीपी ब्लू पिक्चर

अन्दर जाते ही पहले तो उसने मेरी अधखुली साड़ी उतारी और बिस्तर पर मुझे लिटा कर मेरे ऊपर चढ़ गया.

मैंने उसकी टांगों को अपने कंधे पर लिया और उसकी गांड पकड़ कर जोर जोर से झटके मारने लगा. हालांकि मैंने उससे यह भी कहा कि कोई बात नहीं, जो हुआ सो हुआ … अब सुधर जा. दीदी को चुप देख कर विक्की ने तुरन्त अपना लंड निकाला और दीदी की ओर बढ़ा.

एक दिन मैं ऑफिस में ही था कि मेरी मौसी का फोन आया और उन्होंने बोला कि आज वो कुछ थकी हुई सी फील कर रही हैं और तबीयत भी सही नहीं लग रही है. वहां जाकर मैंने देखा कि उन्होंने एक दूध का गिलास रखा था और साथ ही में कमरे में बिस्तर को ऐसे सजा रखा था जैसे उनकी आज सुहागरात हो. गुड़िया कैसे बनती हैवो ड्रिंक बनाने बाहर आया और मुझसे बोला- तू ड्रिंक करेगा?मैंने हां कहा.

मेरी इस ड्रेस को देख कर घर का कोई सदस्य मुझसे सवाल जवाब न करे, उसके लिए मैंने टॉप के ऊपर से एक शर्ट डाल ली. कुछ देर बाद श्रुति ने लंड जज्ब कर लिया और चुत चुदाई का मजा लेने लगी.

मैं- ठीक है मेरी चुदक्कड़ बहना!ये बोलकर मैं धीरे धीरे लंड की स्पीड बढ़ाने लगा. जैसे ही मेरी पकड़ निशा पर से ढीली हुई, वह तुरन्त अपने मुँह पर हाथ लगा कर उठी और मेरे अपने मुँह को मेरे मुँह से चिपका दिया. मैंने दीदी से पूछा- जीजा जी के अलावा भी किसी और को भी सैट किया है?तब दीदी ने हंस कर बताया कि अभी नहीं … मगर तुम्हारे जीजा का छोटा भाई भी मेरी चूचियों को घूरता रहता है.

एक दिन जब मैं सलमा को अपने कमरे पर चोद रहा था तब सलमा ने मुझसे कहा- अलीज़ा कैसी लगती है?मैं लंड चूत में चलाते चलाते जरा धीमा हुआ और सलमा की जगह अलीज़ा को इमेजिन करके लंड और तेजी से चुत में अन्दर बाहर करने लगा. शाम को 4:00 बजे उनका फोन आया तो मैंने उनका फोन नहीं उठाया और ना ही मैं उनके घर गया. इसी दौरान अरविन्द थोड़ा पीछे हो गए थे और मुझे पूरी तरह से चुदाई के बाद का मजा लेने दे रहे थे.

मैं उसके नजदीक गई तो उसने अपने बैग से एक डीवीडी निकाल कर कहा- इसे लगा दे.

पहले भी हम दोनों एक दूसरे के साथ फ़्लर्ट कर लेते थे … लेकिन ये थोड़ा ज्यादा था और ये हम दोनों जान रहे थे. उसने फोटो लेने की बात कही तो डायरेक्टर ने मेरी बीवी की कमर में हाथ डाला और उसके साथ कुछ सेल्फ़ी फ़ोटो निकालने लगा.

बेड पर गिरते ही मैं घूम गई और मेरी पीठ उनकी ओर करके मैं मुस्कुराने लगी. वो हड़बड़ा कर बोलीं- ये क्या कर रहा है योगी?मैंने कहा- उस दिन का अधूरा काम पूरा कर रहा हूँ. मैंने दीदी से कहा- तुम्हारी सास बड़ी मस्त माल हैं, उनकी मुझे लेने का मन है … कैसे मिलेगी.

जिसके जवाब में मेरी बीवी ने उसको अपने नंगे मम्मों की फोटो भेजी हुई थी. तभी हम दोनों ने जोर से एक दूसरे को कस कर बांहों में जकड़ लिया और एक साथ झड़ने लगे. मैंने उनसे कहा- अब से इस तरह के अनुभव की आदत डाल लो!फिर उन्होंने मुझे बताया- मैं भी तुम्हें शुरू से ही पसंद करती थी पर ये बात बताने की मेरी कभी हिम्मत नहीं हुई.

चोदा सेक्सी बीएफ वैसे भी संजना जवान हो गयी है और कल को ये किसी ने किसी के नीचे आती ज़रूर. उनके मुंह से कामुक आवाज निकलने लगी भी और बोलने लगी- जानू प्लीज जोर-जोर से करो.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो भेजो

आशीष मुझे सहारा देने के लिए आगे आया और उसने मेरी कमर में हाथ डाल कर मुझे पकड़ लिया. अब अब्बू ने मुझे अपनी गोद में बिठा लिया और मेरी बुर के मुँह से अपना लण्ड सटाकर मुझे अपनी ओर खींचा. 5 इंच मोटे लंड का मालिक भी बनाया है, जिसे मैंने सेक्स कहानी लिखने से पहले नटराज कम्पनी के स्केल से नापा है, ताकि लड़कियों को सही नाप की जानकारी दे सकूं.

काफी देर तक उन्होंने मेरी गांड में उंगली की, फिर वो रुके और मुझे सीधा कर दिया. फिर मैं हर दिन कोशिश करने लगी कि अंकल जी के सामने कामुक बन कर रहूँ. राजस्थानी सेक्सी फिल्म पिक्चरमैं पलटी तो देखा मेरा फोन बज रहा था और उस पर राजीव सर का कॉल आ रहा था.

क्योंकि जिस पल ये हुआ, वो बस कुछ सेकंड का था … पर इतना मधुरम था कि सोचने समझने की क्षमता समाप्त सी हो गई थी.

उन सेक्स कहानियों में जहां भी नायिका का नाम आता था, उसकी जगह मैं रूपा भाभी ही को पढ़ कर मजा ले रहा था और अपने एक हाथ से लौड़े को सहला रहा था. वो लंड देख कर कहने लगी कि य…ये क्या है … इतना बड़ा और सख्त!मैंने कहा- ये मेरा औजार है और इसे लंड भी कहते हैं.

मैंने उसका सर पकड़कर अपने लौड़े पर दबाव बनाया और नीचे से तेज झटके मारने लगा. वो फ्लैट फुल फर्नीचर वाला था, हम दोनों ने एक घंटे में अपना सारा सामना जमा लिया और किचन को भी लगभग रेडी कर लिया था. मैंने पूछा- ऐसा क्यों?उन्होंने कहा- उनका लंड लंबा होता है और स्टैमिना भी ज्यादा होता है.

उसकी निगाहों से मुझे लगता था कि इसको कभी मौक़ा मिल गया तो ये मुझे पकड़कर रौंद ही देगा.

जैसे वो बैठी थी, तो अन्दर घुसाने में दो तीन बार उसके मुँह पर भी लंड लग गया था. मेरी बॉय बॉय सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, कृपया कर अपनी प्रतिक्रिया मुझे मेरी ईमेल पर भेजें. दोस्तो, उस रात को मैं सो नहीं सका था और मेरे दिमाग में अशी और गमन ही आने लगे थे.

हिंदी में सेक्सी फिल्में सेक्सी फिल्मेंवो दृश्य कितना उत्तेजना पैदा करने वाला था … उफ़ … मेरा लौड़ा उफान मारने लगा. मैं उनकी कामुक भरी नजरों को समझ गया था पर मैं अपनी तरफ से कोई पहल नहीं करना चाहता था.

سكس فيديو هندي

मैंने उसकी ब्रा को उतारा और उसके एक मम्मे को अपने मुँह में भर लिया. मैंने उन चाची को बहुत बार चोदा और उनके अंदर ही अपना माल गिराया क्योंकि चाची मेरा बच्चा अपने पेट में चाहती थी. हालांकि पहली सेक्स कहानी का थोड़ा सा जिक्र जरूरी है, उसी कारण से इस सेक्स कहानी जन्म हुआ था.

वो फिर मेरी तरफ देखने लगा, तो मैंने बोल दिया कि हां मैं भी तुम्हें पसंद करती हूँ. कुछ देर बाद मेरे लंड ने वीर्य की धार छोड़ दी और मैं उसके ऊपर लेट गया. लेकिन ये तो बताओ कि ये सब तुमने कब और कैसे सीखा?अभी भी उसका हाथ मेरे हाथ में ही था और एक हाथ से मैं उसको सामान्य करने के बहाने से उसकी पीठ को सहला रहा था.

उसने मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसना चालू कर दिया और थोड़ी देर में ही पानी निकाल दिया. सेक्स के लिए शादी थोड़ी करनी थी मुझे … इसलिए कामवाली बाई काम चलाने के लिए मिल गई. मेरी आंखों से आंसू ही बह रहे थे और मुँह से दर्द भरी चीख निकल रही थी.

पहले तो एकदम से कड़क लंड हाथ में आ जाने से वो थोड़ा घबरा गई और उसने हाथ हटा लिया. इससे सुमोना का शरीर अब अकड़ने लगा और वो और तेज और तेज कहकर तेज तेज कमर हिलाने लगी.

फिर मैंने उसको बेड पर लिटा लिया और तेजी से उसकी टांगों से पैंटी खींचकर उसकी चूत नंगी कर दी.

जैसे तैसे बस में चढ़ने के बाद कंडक्टर की हमेशा वाली आवाज आने लगी- पीछे सरको, पीछे दरवाजे पर भीड़ क्यों लगाई है!भीड़ में एक आवाज आई- भाई पीछे जगह कहां है, जो पीछे सरकें!भीड़ की धक्का-मुक्की में मैं दरवाजे से दो सीट पीछे तक चली गई. नित्या नाम की लड़कियां कैसी होती हैमां की गांड काफी मस्त लग रही थी, एकदम गोरी गोरी गोल गांड पिंक कलर की पैंटी में फंसी हुई बड़ी ही मादक लग रही थी. जीजा साली की सेक्स वीडियोजब मुझे चोदने के बाद तेरे जीजा जी सो गए, तब मैं विक्की के रूम में गयी. साली रोज रोज ऐसा करती है, तो क्यों न एक दिन इसको फिर से लंड दिखा ही दूँ.

जब मैंने मैम से उनके पति के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि वो एक हफ्ते के लिए बाहर गए हैं … और घर पर उनके अलावा कोई नहीं है.

गांड फाड़ सेक्स के बाद मैंने अपनी गांड को पौंछा और हम दोनों ने अपने कपड़े पहन लिए. नींद में ही अर्शिया ने अपने पेटीकोट को थोड़ा नीचे किया और करवट बदल कर सो गई. अब उन्होंने अपनी अस्त-व्यस्त हो चुकी साड़ी को उतार कर एक तरफ रख दिया और गीली पैंटी पहने हुए ही मेरे ऊपर आ गईं.

लंड की कामना के चलते मेरा भी आंटी के घर आना जाना शुरू हो गया था, हालांकि ये अभी कम था. मैंने अपनी कमर उठा कर उसके लंड को चुत में लेने की कोशिश की, तो उसी समय उसने धीरे से धक्का लगा दिया. इससे उसे मजा आने लगा और आवाजें करती ही उछल उछल कर लंड अन्दर तक लेने लगी थी.

करीना कपूर के सेक्सी बीएफ

मैंने भी बिना कुछ बोले आंटी के एक चूचे को मुँह में दबाया और चुत में लंड की फ्रंटियर मेल दौड़ा दी. भाई घर में ना है … वा बड़ी बहन के घर जा रहा सै, तो मैं मौका पाकर तेरे गेल आ ली. मैं- क्या हुआ, क्या देख लिया?सुशी जी- मां और पापा चुदाई कर रहे थे … मां पापा के लंड को चूस रही थीं.

अब सुशी जी अपने आपको कंट्रोल ही नहीं कर पा रही थी तो उन्होंने मुझे धक्का देते हुए बेड पर गिरा दिया.

इसके बाद मैंने उसकी नजरों का पीछा करना शुरू किया कि लंड देखने के अलावा और क्या क्या करती है.

उसने मेरी कामुक आवाजें सुनी तो जैसे उसे जोश चढ़ गया और वो मेरी दोनों टांगों को फैला कर मेरी पूरी चूत की मां चोदने लगा. भाइयो, भौजाइयो और हरजाइयो, आप सभी का अन्तर्वासना सेक्स कहानी साईट पर स्वागत है. पंजाबी सेक्सी वीडियो प्लेलौड़ा फूल कर और भी मोटा हो गया था और उसकी मस्त चुत के चिथड़े उड़ा रहा था.

कूल्हों के ऊपर मैंने कमर से साड़ी इस कदर हटाई हुई थी कि उसकी बगल में मेरा पेट पूरा नंगा था और ब्लाउज तक उसकी बगल मेरी नंगी बगल के बीच सिर्फ उसकी पतली सी कमीज़ की रुकावट थी. मेरा मन तो कर रहा था कि अभी लपक कर बहन चोद दूँ … पर मैं ये पहली चुदाई स्पेशल बनाना चाहता था. मुझमें इस समय इतनी हिम्मत नहीं थी कि आशीष का इतना मोटा लंड अपनी सील पैक गांड में ले सकूँ.

मैं सोचने लगा कि अनन्या ऐसी है!‘ये सब क्या है अनन्या?’‘मैं बताती हूँ. मैं चित लेट गया और खड़े लंड पर अपनी चुत फंसा कर भाभी घुड़सवारी करने लगीं.

काफी सारे लोग बार बार दूल्हे के रूम में आ-जा रहे थे तो मेरी नजरें बीवी की तरफ से हट गईं.

मैंने उससे पूछा- इतना बड़ा ले पाएगा!उसने कहा- मालूम नहीं लेकिन अगर तुम ही मेरे कुंवारेपन को खत्म करो … तो मैं तुम्हें जिंदगी भर याद करूंगा. उसे मैंने घोड़ी बनने को कहा तो वो घोड़ी बन गई और बोली- आ जा साले जाटनी चोद, अब जल्दी से चोद … फिर मुझे घर भी जाना है. मुझे मर्द के लंड का अहसास अपनी चुत पर हुआ तो मैं अपनी गांड उठाने लगी.

सेक्सी हिदी उसकी तेज़ तेज़ चुसाई से मेरे लौड़े ने वीर्य छोड़ दिया तो वो गटागट करके पी गई. अर्शिया की उम्र भले ही अभी 19 साल की है, लेकिन उसके फिगर से वो लगती नहीं है कि वो अभी सिर्फ 19 साल की है.

वो बोली- चुप … कोई आवाज नहीं!मैं समझ गया कि ये लंड छोड़ने वाली नहीं है. हमारी कभी ज्यादा बातचीत नहीं होती थी, पर जब भी हम दोनों की नज़रें मिलतीं, तो उनके कुछ ना कुछ इशारे होते रहते थे. मेरी मौसी की उम्र लगभग 52-53 साल की होगी और वो मेरे ही शहर में रहती हैं.

तारा बीएफ

मैंने उसको उठाया और किचन की पट्टी पर बिठा कर उसके जांघों के बीच में आ गया था. मैं निशा की कोमल सी चूत को ऐसे चूस रहा था, जैसे मुझे पहली बार चूत मिली हो. फिर मैं उसके एक गाल पर अपने होंठ घुमाते हुए उसके गाल को अपनी जीभ से चाटने लगा.

लेकिन मैंने अपनी पसन्दीदा क्रिया अर्थात उसकी चूत की चुसाई की और उसकी चूत से मलाई निकाल कर चाट ली. निशा ने चड्डी भी सफेद रंग की ही पहन रखी थी, जो आगे से पूरी तरह गीली थी.

‘आह … आह शरद आआह … ओ हहहह … और तेज़ शरद … और जोर से चोदो … आह आह … ओह शरद मैं कैसे रहूंगी तुम्हारे लंड के बिना जानू … आह आह.

इसी दौरान ऊपरी हाथ ने अपना जवाब दिया ‘तरुण सिंह … क्या हम दोनों नम्बर अदल बदल सकते हैं?’चश्मे से आंखों पर जोर देकर मैंने उसका मैसेज पढ़ा और उसी के अंदाज को अपना कर ऊपरी हाथ से पहले मैंने निचले हाथ से जवाब दिया. उसने अपने लंड पर कोई जैली लगा ली और लंड का सुपारा चुत में अन्दर पेल दिया. खैर … जैसे तैसे हम कॉलेज पहुंच गए और मैंने महसूस किया कि मैम मेरी इस हालत का मज़ा ले रही थी.

उसके कड़क हो चुके निप्पलों को भी अपनी उंगलियों में भर कर मींजने लगा. प्रकाश ने उसे पीछे से जकड़ लिया औऱ रंगोली के भीगते हुए मम्मों को अपने हाथ से मसलने लगा और गले पर किस करने लगा. वो झट से कुतिया बन गईं और मैंने पीछे से लंड पेल कर उन्हें ताबड़तोड़ चोदना चालू कर दिया.

इससे तो भाभी और जोर से उछलने लगीं और मेरी गांड पर चमाट लगाती हुई मेरी जीभ को चूसने लगीं.

चोदा सेक्सी बीएफ: मैं वापस लौटने लगी तो बड़ी मौसी बोलीं- इधर आ!मैं अन्दर गई, बड़ी मौसी ने जल्दी से अपनी चोली बंद की और ‘किसी से कहना नहीं’ कहकर चली गईं. मैंने अपने कमरे की लाइट जला रखी थी, जिससे बाहर वालों को अन्दर का नज़ारा साफ साफ दिख सके.

अगले दिन मैं फिर एक बहुत शॉर्ट और सेक्सी टी-शर्ट पहन ली और घर से निकली. लता- आपने जो सेक्स कहानी लिखी है … क्या वो घटना सच में हुई थी!मैं- हां मेरे साथ जो सत्य घटना होती है … उसी को मैं कहानी के माध्यम से बताता हूँ. अब जेठ जी मेरी चूत को चाटना चालू किये और मेरी चूत से पानी निकल रहा था.

[emailprotected]बड़ी बहन सेक्स कहानी का अगला भाग:दीदी की ससुराल में चुदाई का घमासान- 2.

उनके चूची मसलने और चूसने के अंदाज मैं बहुत गर्म हो गयी थी और सिसकारियाँ लेने लगी थी- आह उह्ह … आह उह्ह जेठ जी … आराम से करिए. हमारे साथ में कुछ और लड़के लड़के लड़कियों ने जॉइन किया था लेकिन इसकी जैसी बात किसी लड़की में नहीं थी. सीलपैक गर्ल की चुदाई कहानी के पिछले भागकुंवारी लड़की के साथ 69 सेक्समें अब तक आपने पढ़ा था कि निशा मेरी कामना के अनुरूप ही गंदा सेक्स पसंद करने वाली जवान लौंडिया थी.