मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,ક્ષ્ક્ષ્ક્ષ્

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स की वीडियो: मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी, दीदी के बूब्स दबाते हुए मैंने कहा- दीदी, मुझे इनको देखने का मन हो रहा है प्लीज देख लेने दो ना?मैंने दीदी के कान में कहा- दीदी, आपने जो किया मुझे बहुत अच्छा लगा! यह मेरी जिंदगी का पहला किस था! प्लीज दीदी एक बार और मुझे किस करो ना ऐसे ही!तब दीदी ने कहा- नहीं भाई, मुझे शर्म आ रही है.

సెక్స్ హెచ్ డి

दादी ने भी पैर अन्दर डाल दिए और बोलीं- आज हम सब एक साथ ही सो जाते हैं. छोटू कुत्तामैंने बड़े प्यार से आंटी की गांड में क्रीम लगा कर उनकी गांड ढीली की.

नमस्कार दोस्तो, मैं विकी एक बार फिर से इस कामुक कहानी की दुनिया में आपका स्वागत करता हूं. गूगल मेरी गर्लफ्रेंड कैसी होगीप्लीज अपने मोटे लन्ड से मेरी प्यास बुझाइये।अपनी सेक्सी बहन पिंकू की तड़प देखकर मुझसे रहा नहीं गया, मैं भी उसके दूधों को जोर जोर से चूसने लगा और अपने हाथों को उसके पूरे नंगे बदन पर घुमाता रहा जिससे कि पिंकू और भी गर्म हो गई.

मैं जब इंदौर एडमिशन लेने आया था तब मैं चाचा के घर खाना खाने गया था.मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी: मैंने कहा- फिर आपने मुझे धक्का क्यों दिया?भाभी मुस्कुराने लगीं और बोलीं- तुम्हारा दम चैक कर रही थी कि तुम्हारे अन्दर कितनी हिम्मत है कि तुम मुझे चोद सको.

लड़की के विदा होने के बाद मैंने नव्या से कहा- अब हमें भी घर चलना चाहिए.वैसे सीमा भी अब तक वीर के पास पहुंच गई होगी और आज रात खुल कर चुदवाएगी.

सेक्स वीडियो हिंदी इंडियन - मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी

ऋतु अपने हाथ सनी के सिर के पीछे ले आई और मस्ती से उसके बालों को सहलाती हुई उसके होंठ चूस रही थी.मुझे किसी ने मेरे शौहर के लण्ड के बारे में बताया ही नहीं था … मैं तो बस खुदा से दुआ कर रही थी उसका लण्ड मेरे मनपसंद का हो.

एक छत की सीढ़ी के नीचे एक कुठरिया सी थी, जहां हम लुक्का-छुप्पी खेलते वक़्त छुपा करते थे. मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी करीब बीस मिनट की चुदाई के बाद मैंने दिव्या से कहा कि मैं आने वाला हूँ.

उस दिन मैंने सोचा कि जब तक ये बात करेंगी, तब तक मैं भी नहीं सोने वाला हूँ और इनकी हर बात को सुनूंगा.

मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी?

मैंने भी सोचा कि कोई बात नहीं, चूत तो चूत होती है … चाहे लड़की की हो या आंटी की. विकास समता से कहने लगा- अगर आपको कोई काम ना हो, तो हम दोनों मेरे फ्लैट पर चलकर कल होने वाली सभा के बारे में कुछ प्लानिंग करते हैं. पिछले एक साल में वो घरेलू औरत समता काफ़ी कामयाबी पा चुकी थी और ना जाने कितनों के लंड से चुत चुदवा चुकी थी.

इतने दिनों के सेक्स का खेल और किताबी ज्ञान एवं संजय के दिए ज्ञान से मैं काम कला में माहिर होता जा रहा था. [emailprotected]रोड सेक्स कहानी का अगला भाग:लखनऊ वाली जवान मामी की कामुकता- 3. जो तुम्हारे मन में है वे बता दो!जब हमारी ये बातें हो रही थी, उस वक्त भी मैं दीदी के बूब्स के साथ-साथ उनके निपल्स भी छू रहा था … पर दीदी मुझे कुछ नहीं कह रही थी.

मेरी छाती पर छोटे छोटे लेकिन नजर में आ जाएं, ऐसे स्तन आकर लेने लगे थे. मेरा लंड उसके मुँह की गर्मी नहीं झेल पाया और अपना सारा रस उसके मुँह के अन्दर ही निकाल दिया. वो जितनी कठोरता से चोद सकता था, उसने चोदा … उठा उठा कर चोदा और ऋतु उससे भी कहीं ज्यादा जोश से चुदती चली गई.

हालांकि किशन अपनी मां से कुछ नहीं बोला मगर मन ही मन सोचने लगा कि मम्मी विजय की फोटो इस तरह क्यों देख रही थीं. मैंने आसानी से बहेन की सलवार बाहर निकाल कर फेंक दी और चुत मसलने लगा.

मैंने थोड़ा झुक कर उसकी चूचियों को मसला और एक को मुँह में भरकर जोर से चूसने लगा.

फिर उन्होंने मुझसे सीधे सीधे वो पूछ लिया, जिसका इंतजार मुझे इतने दिनों से था- तब तो तूने कभी वो सब भी नहीं किया होगा?मैं- वो सब क्या बुआ?बुआ- देख ज्यादा भोला मत बन … मुझे सब पता है.

मामा- हा हा हा अभी तो रो रही थी कि इतनी जोर से डाल दिया, अब कह रही है और डालो. उन्होंने मेरे स्तनों को मसलना शुरू कर दिया।मैंने शर्माजी का खड़ा लंड देखा. तो मैंने क्या किया?नमस्ते दोस्तो, मैं मस्तराम आपके सामने एक सेक्स कहानी पेश कर रहा हूँ.

मैंने एक को मुँह में भर लिया और एक को अपने हाथों से दबाने लगा, निप्पल को दो उंगलियों में लेकर मसलने लगा. फिर मोहिनी स्वाति को कमरे में ले जाकर उसकी भरपूर चुदाई करके इतने दिन की कसर पूरी करेगी. मैंने हंस कर अपने दोनों हाथों से चाची के दोनों दूध पकड़े और अपनी गांड उठा कर चाची की चुत में लंड के धक्के देने शुरू कर दिए.

मामी की तरफ कोई प्रतिक्रिया न होते देख कर मुझे गर्मी चढ़ गई और मैंने उनकी नाइटी को और ऊपर कर दिया.

मेरे मामा के लड़के का नाम सुरेंद्र है और वह भी यहीं इंदौर में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है. मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- मेरी तबीयत ठीक नहीं है, तो मैं आराम कर रही थी. वह उसे जान बूझकर तड़पा रहा था ताकि उसकी चूत ज्यादा रस छोड़े और लंड घुसाने में आसानी हो.

आप यूं समझिये कि मैं उस जमाने के अमिताभ बच्चन जैसे लम्बे बाल बाल रखता था. नीता बहुत सुंदर और सरल स्वभाव की लड़की है मगर वो आध्यात्मिक ज्यादा थी. करीब 10 मिनट तक ताबड़तोड़ चूत चोदने में मेरी बहन एकदम बेदम और लस्त हो गयी.

हमने कभी सेक्स नहीं किया। हमारा जब भी सेक्स करने का मन होता है वीडियो देखकर मुट्ठ मार लेते हैं।आंटी- मैं तुम्हें एक बात बताना चाहती हूं.

इसी कारण चाची थोड़ी बोरियत महसूस करने लगी थीं क्यूंकि घर में उनसे बात करने वाला कोई नहीं था. इस खेल में लकड़ियों के चौकोर टुकड़े होते हैं, जिनको तीन तीन के समूह में खड़ा करके एक टॉवर बनाया जाता है.

मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी मेरा मन तो किया उसे खींच के गले से लगा लूं।लेकिन मैंने धैर्य से काम लेने का सोचा और सुमन से घर दिखाने को बोला।सुमन ने मुझे पूरा घर दिखाया. क्योंकि कल रात में मैं इतनी बड़ी गलती कर चुकी हूँ, तो अब एक बार ये गलती फिर सही.

मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी दोस्तो, मेरा नाम शनाया है। मैं आपको अपनी आपबीती बताने जा रही हूं।यह कहानी सुनें. मीना भी इस बात को समझ रही थी कि मैं उसकी चूचियों को देख रहा हूँ पर उसने ऐतराज नहीं किया.

मैंने महसूस किया कि चाची मुझसे छूटने की कोशिश कर तो रही थीं लेकिन उनकी छूटने की ताकत न के बराबर थी.

माधुरी वाला सेक्सी वीडियो

मैंने कहा- जो मौके का फायदा न उठाए, वो आपका चाहने वाला ही क्या!भाभी हंस दीं. जैसे ही चूत पर होंठ लगे, ऋतु की सिसकारी निकल गई और वो ‘आह आह उफ्फ …’ करती हुई गांड उठाने लगी. उसने ऐसा कोई रिएक्श्न नहीं किया जिससे लगे कि उसने जानबूझ कर लंड टच किया हो.

यहां विकास को समता चोदने आया था मगर समता खुद विकास को चोदने लगी थी. इसके बाद मैं उनके गहरे बादामी स्तनों को चूसने लगा और चूचुकों से खेलने लगा; उन्हें अपने दांतों के बीच दबा कर चुभलाने और काटने भी लगा. आकांक्षा ने पहले मेरी और नेहा की दोस्ती कराई और फिर हम दोनों रिलेशनशिप में आ गए.

अब आगे Xxx भाभी सेक्स कहानी:भाभी मुझसे बैठने की कह कर फिर से बाथरूम में चली गईं और कुछ देर बाद वो मुझे खाना परोसने आ गईं.

उधर मेरे मूत लेने के बाद जीजू ने मुझे फिर से घोड़ी बना दिया और चुदाई चालू कर दी. तभी उसके धक्के बहुत तेजी से पड़ने लगे और ऋतु तो अपनी एक उंगली मजे के कारण चूत में घुसा बैठी. ये है हमारी अनोखी शादी!अब आप लोग समझ गये होंगे कि यह शादी कितनी अनोखी रही।आज भी रतन और मोहिनी अपने 26 साल लम्बे वैवाहिक जीवन का भरपूर आनंद ले रहे हैं।सुहागरात का सेक्स अच्छा लगा होगा आपको!तो अपने मैसेज और कमेंट्स के जरिए जरूर बतायें।अपने मैसेज इस ईमेल पर भेजें[emailprotected].

ये कहकर मामी ने मेरा हाथ पकड़कर अपनी जांघ पर रखा और अपना हाथ मेरी जींस के ऊपर सीधे मेरे लंड पर रख दिया. ‘आआ … आआह मजा आ रहा है डियर … चोदो … चोदो मुझे … आंह और ज़ोर से चोदो फाड़ दो मेरी छूट … आंह इस साली में बहुत खुजली होती है आंह इसकी पूरी खाज मिटा दो … आआहह …’मैं ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा और वो अचानक से अपने शरीर को ऐंठने लगी. कुछ देर बाद मम्मी ने किताब इतनी ऊपर रख दी, जहां मैं पहुंच नहीं सकता था.

मेरी मम्मी अपने स्कूल के कामों में काफी बिजी रहती हैं इसलिए वो घर की साफ सफाई नहीं कर पाती हैं. स्कूल गर्ल टीन सेक्स कहानी मेरी अपनी जवानी की है, मैं लंड लेने के सपने देख रही थी। एक रोज मुझे घर जल्दी पहुंचना था। मैंने एक रिक्शा ले लिया.

वो तेज स्वर में आह आह कर रही थी तो तीसरे लौंडे ने मेरी बहन के मुँह में लंड पेल दिया. मामी- हां मेरे राजा, तुम्हारे लंड की आदत पड़ गयी है मुझे … आह आह आह आह उफ उफ्फ … निकाल दो सारी गर्मी. मैंने रोज़ 4 से 5 बार उसकी चुदाई की।उसके बाद सुमन अपने मां के घर चली गई अपने बच्चों के पास!वापस आने के बाद सुमन के साथ मैं फ़िर से रहने चला गया, इस बार मैंने गांड मारी.

आंटी बोलीं- हिमांशु मैंने इतना सुख अपने पति के साथ भी कभी नहीं पाया.

मैंने अपना लंड भाभी की चुत पर लगाया और अन्दर पेलने ही वाला था कि तभी मुझे कंडोम की याद आ गयी. अब आगे पढ़ें कि मैंने अपनी हॉट मामी की गांड मारी:कुछ देर बाद मैंने मामी को घोड़ी बनने को कहा, तो वो घूमकर अपने घुटनों पर आ गईं. फ़िर मैं चाची की टांगों को चूमते हुए उनकी चूत तक आ गया और उनकी चूत चाटने लगा.

उन्होंने एक हाथ से मेरे चूतड़ पकड़ कर मुझे उठाया और अपने लंड को मेरी गांड की छेद पर सैट कर दिया. धीरे-धीरे फिरोज अपनी प्यारी भांजी के कपड़े उतारने लगा और एक एक कपड़ा उतारते हुए उसे पूरी नंगी कर दिया.

[emailprotected]लड़की की पहली बार चुदाई का अगला भाग:मेरी यौन अनुभूतियों की कामुक दास्तान- 6. पूरे दिन मेरे दिमाग में बस एक ही ख्याल आता रहा कि कब रात हो और कब मैं अपनी ज्योति की चुदाई करूंगा. पहले तो वो मुझे पीछे हटा रही थीं … लेकिन कुछ मिनट बाद मौसी सामान्य हो गईं और लंड का मजा लेने लगीं.

चोरी चुपके वाली सेक्सी

दादी तिरछी हुईं तो उनकी गांड मेरे पेट पर आ गई थी;यानि दादी लेटी हुई घोड़ी जैसी हो गयी थीं.

अगले ही मैंने पल एक दूसरे तेज झटके के साथ अपना पूरा लंड गांड के अन्दर पेल दिया. कुछ दिन बाद दीपक को एक मल्टीनेशनल कम्पनी से जॉब कर अपायंटमेंट लेटर भी मिल चुका था. लेकिन मम्मी ने बोला- चलो प्रिंस, तुम और पापा और मैं बुआ जी के यहां चलते हैं.

जैसे ही मैं उठा, मीना तेज़ी से उठ कर अपने कपड़े लेकर बाथरूम में घुस गई. दोनों की पहली चुदाई संपन्न हो चुकी थी, मामा भानजी दोनों शांत हो चुके थे।थोड़ी देर बाद मामा अपनी भांजी के नंगे जिस्म से अलग हुआ और उसकी आंखों में देखने लगा. घोड़ा चार्टसनी और ऋतु दोनों इस जोरदार चुदाई के बाद एक दूसरे की बांहों में पड़े हुए थे.

अब आगे माउथ सेक्स का मजा:‘आंह आशु … बड़ा अच्छा आआअहहह लग रहा है … आआह … ईईईई …’चूची चूसने के साथ साथ मेरी एक उंगली जो उसकी चूत के रस में भी डूबी थी, वो सटासट अन्दर बाहर हो रही थी. उसके पापा के सामने हम अच्छी बातें करते लेकिन जब वो थोड़ा घूमने बाहर निकल जाते थे, तब हम दोनों अपनी अश्लील बातों का बाज़ार बनाने लगते थे.

मेरे पास चुदाई के लिए एक खूबसूरत चुत थी, रहने के लिए आलीशान घर था और पैसों की भी कोई कमी नहीं थी. हर धक्के के साथ भाभी की चीख निकल रही थी और मेरा लौड़ा सीधा उनकी बच्चेदानी से जाकर टकरा रहा था. हम घर आए तो पापा ने चाय बना कर रखी थी और वो छोटे भाई को पढ़ा रहे थे.

सपना ने मेरी तरफ देखा, उसने मेरा सुडौल हट्टा-कट्टा शरीर देखा, तो वो एक कटीली स्माइल देकर हंसने लगी. जो तुम्हारे मन में है वे बता दो!जब हमारी ये बातें हो रही थी, उस वक्त भी मैं दीदी के बूब्स के साथ-साथ उनके निपल्स भी छू रहा था … पर दीदी मुझे कुछ नहीं कह रही थी. मैंने मंजू की एक चूची को चूसना शुरू कर दिया और दूसरे हाथ से उसकी दूसरी चूची की मसलने लगा.

मैंने कहा- तेरी बगलों में से बड़ी मस्त महक आ रही है … क्या लगाती है?वो बोली- आज ही ट्राई किया … नया फूड क्वालिटी वाला डियो है.

फिर मेरे कान में बोली- भाई, तुम मुझसे इतना प्यार करते हो कि तुम्हारे लिए मैं हर दर्द सह लूंगी! मैं भी तुम्हारी खुशी चाहती हूं क्योंकि तुमने आज मुझे दुनिया की सबसे बड़ी खुशी दी है. मुझे खुद पता न चला कि कब उसके होंठ चूसते चूसते मैं भी बराबरी से उसके होंठ चूसने लगी.

मामा- आंह मैं भी गया … बस आह आह ओह ओह …साली तेरी चूतहै या आग की भट्टी. फिर एक के बाद एक आदमी आ-जा रहे थे, तो मैं कुछ देर के लिए आगे के एक पार्क में जाकर बैठ गई और थोड़ी रात होने का इंतजार करने लगी. सात दिन तक रोज रात को लंड के मसलने के प्रोग्राम के बाद एक दिन मैंने लंड को सहलवाते हुए अपने हाथों से उसकी चुचियां भी धीरे से मसल दीं.

मीना एक बार को उछल सी गई और उसके मुँह से चीख निकल गई- आआह … ऐईईई … बहुत दर्द हो रहा है!वो सीधी होकर बैठ गई. मैं मेरी हॉट मौसी के ऊपर चढ़ गया और उनके होंठों को अपने होंठों से दबा कर चूसने लगा. उसके बाद अंकल ने अपने मोटे लम्बे लंड को मेरी मम्मी की चुत की फांकों में लगा दिया और मम्मी के ऊपर छा गए.

मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी मेरे पास कई सारी लड़कियों के प्रपोजल भी आए … पर जैसा कि मैंने बताया कि मुझे सेक्स में ज्यादा लगाव नहीं था. आपको भाभी की देसी चुदाई कहानी में मजा आया या नहीं? मुझे मेल ज़रूर कीजिएगा.

पोर्न सेक्सी वीडियो पोर्न सेक्सी वीडियो

वो मेरी तरफ देखती हुई बोलीं- तुम अभी अपने रूम में जाकर सो जाओ, सुबह बात करेंगे. तभी अचानक मैंने महसूस किया कि उसने अपना लंड मेरी चुत पर लगाने की बजाए मेरी गांड के छेद पर लगा दिया और हल्का सा जोर लगा रहा था. अब दिव्या ने भी अपने हाथों से मुझे अपनी तरफ खींचने के लिए हल्का जोर लगाया और अपने चेहरे को मेरी तरफ बढ़ा दिया.

कुछ देर बाद हमारे बीच फिर से माहौल बन गया और मैंने बुआ को लिटा दिया. मैंने अब उसे घोड़ी के स्टाइल खड़ी किया और पीछे से चुत में लंड पेल कर उसे चोदना शुरू कर दिया. एक मैसेज भेजोमैंने उनकी पैंटी अपनी पैंट की जेब में डाल ली और नाश्ता करने चला गया.

कॉलेज में संजय मिला- अब दर्द कैसा है सीमा!अचानक से पता नहीं कब वो मेरे बराबर चलने लगा था, मुझे पता ही नहीं चला.

चाची ने आंह आंह करके पूरा लंड अपनी चुत में लिया और मेरे सीने पर झुक कर मुझे नशीली आंखों से देखने लगीं. लेकिन चौथे दिन बाबूजी मुझसे बोले- अञ्जलि, तुम वो गाउन नहीं पहनती हो क्या?बाबूजी, रात को पहनती हूँ!”बहू, तुम जो ड्रेस पहनती हो, वो मुझे दिखाती हो.

चूंकि उन्होंने इस बात को साफ़ शब्दों में कहा था कि उनके पति बिस्तर में नाकारा हैं, तो मुझे काफी आस जग गई थी. कुछ देर बाद जीजू ने सन्नी को अलग किया और वो मेरे पेट पर दोनों तरफ टांगें डाल कर बैठ गए. तो कमेन्ट करना और अपने दोस्तों से शेयर करना।मिलता हूँ अगली कहानी में … तब तक आप मुझे मेल करके बतायें कि कैसी लगी आपको कज़िन सिस्टर Xxx चुदाई कहानी।मेरा ईमेल एड्रेस है[emailprotected].

जब मैंने लंड निकाला तो मेरा वीर्य मेरे दोस्त की अम्मी की गांड निकलने लगा।अब मैं भी साइड में लेट गया।थोड़ी देर बाद नफीसा उठी और उसने मेरे लंड को चूस कर साफ़ कर दिया।तब वो रसोई से बिरयानी लेकर आई; हम दोनों ने साथ में खाना खाया।बिरयानी खाकर दोनों बैडरूम में आ गए.

वो पापा से कुनमुनाने लगा- नहीं अंकल जी आपके में कांटे तो नहीं हैं, लेकिन गांड में लेने के बाद दो दिन तक हाजत सही से नहीं होती. फिर एक दिन मैंने मंजू से कहा- मुझे अपना लंड तुम्हारी चूत में डालना है. जैसे ही मेरी उंगली ने चूत को टच किया, मंजू उछल सी गई, उसकी पीठ और चूतड़ उठ गए.

किचन की सफाईमैं अपनी उत्सुकता ससुर जी पर जाहिर नहीं होने देना चाहती थी।मेरी चूत में खुजली तो थी लेकिन मैं चाहती थी कि ससुर जी ही शुरूआत करें।मैं खुद खुलना नहीं चाहती थी।एक बार फिर वे बोले- अञ्जलि, कुछ चाहिये तो बता दो।मैंने जवाब नहीं दिया. थोड़ी देर बाद हमें वहां कुछ आवाज सुनाई दी तो हम दोनों डर गए और हम लैट्रिन में जाकर छुप गए, गेट बंद कर लिया।कुछ देर बाद जब हमने बाहर जाकर देखा तो वहां कोई नहीं था.

देखा सेक्सी वीडियो

मेरा सुझाव है कि आप सेक्स कहानी के नीचे कमेंट्स जरूर किया करें और बाकी के लोगों के कमेंट्स भी देख कर सेक्स कहानी को लेकर अपनी बात कहें. मैंने अपनी निक्कर और चड्डी सरका कर लंड चूत में डाल दिया और धीरे धीरे धक्का मारने लगा. मैंने बहुत शालीनता से जवाब दिया- भाभी मैंने अभी तक चुत नहीं चोदी है.

चिराग बोला- ठीक है … पर ये तो बताती जाओ कि रात में कितने बजे आओगी?मैं बोली- 10 बजे के बाद और कंडोम लिए रहना, मैं बिना कंडोम के नहीं करूंगी. जब मैंने रिसेप्शन पार्टी में मुकेश की वाइफ क्षिति को देखा तो मैं भौचक्का रह गया. झड़ने के बाद अब्बू लेट गए और उस रात में एक बार चुदाई का राउंड और चला.

जब हमने छुप्पन छुपाई खेलना शुरू किया तो मैं उसका हाथ पकड़ कर उसे उसी फ्लोर पर ले आया और उसी अलमारी के पीछे छुप गया. पर मैंने थोड़ा जिद किया और कहा- थोड़ी देर और देखने देने के लिए!तो वो बोलीं- इतनी अच्छी लगी तुम्हें मेरी चूत? बस देखते ही रहोगे क्या?हाँ मासी!” मैं बोला. मामी एकदम से कराह उठीं- ऊम्म्म ऊमह मर गई … ऊमह उमह … उन्ह जीभ मत डालो बेबी … अब असली चीज डाल दो … मुझसे नहीं रहा जा रहा!वो अपनी कमर उचका कर बोलीं तो मैंने लौड़े को चूत के मुँह पर रख कर धीरे से धक्का दे मारा.

देसी सेक्सी आंटी की चुदाई की मैंने! मैं उन्हीं के घर में किराए पर रहता था. चाचा हाथ बाहर निकल कर सूंघ रहे थे और कुछ बोल रहे थे जिस पर मम्मी हंस रही थीं.

पर ऐसे मौके को हाथ से गंवाया नहीं जा सकता था इसलिए मैंने आँखें बंद होने का नाटक करते हुए पैंटी उनकी जांघों पर ऊपर कर रहा था.

सनी ने मुझे प्यार से देखा और पूछा- कैसा लगा?मैं शर्मा गई और उसके सीने में अपने मुँह को छुपा लिया. आयशा न्यूज़ मटकामैं- बस भी करो दीपक, तारीफ करके ही मारोगे क्या? या इरादा कुछ और ही है?प्रकाश- उसका जी चले तो वो तो तुम्हारी कब से लेना चाहता है. हिंदी सेक्सी वीडियो रोमांटिकवो मेरे लंड पर बैठीं और उन्होंने खुद अपने हाथ से लंड पकड़ कर अपनी चुत के छेद में सैट किया. चुदते समय वो जिस तरह से पापा का लंड चूस रही थीं, उस समय वो एक पेशेवर रांड लग रही थीं.

उस दिन जीजू ने शायद दीदी की हचक कर चुदाई की थी जिस वजह से दीदी चल नहीं पा रही थीं.

मैंने नाड़ा खोला और अपना लंड दीदी की चुत में डाला तो मेरा लंड आराम से अन्दर चला गया. सनी ने ऋतु से कहा- मैंने तुम्हें फिर से पाने के लिए अपने जिस्म को कसरत करके कड़ियल और सख्त बनाया है. देसी कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे कहने पर एक लड़की जो मुझसे कई बार चुद चुकी थी, ने दूसरी लड़की की चुदाई के लिए जुगाड़ किया.

तभी विकास ने उसका हाथ अपने हाथ में लेकर उससे कहा- पिताजी के चुनाव जीतने के बाद मैं आपकी सिफारिश करूंगा. ये सुन के मीना ने अपनी दाहिनी मांसल टांग उठा कर प्रकाश की टांगों के बीच रख दी. न जाने क्यों मुझे लग रहा था कि मेरा दोस्त अपनी लाइफ से खुश नहीं है.

शारदा सिन्हा सेक्सी

फिर दादा दादी आ गए थे तो मुझे लगा कि रायता और ज्यादा न फ़ैल जाए इसलिए मैंने आपसे माफ़ी मांग ली थी. हम दोनों रसोई में एक साइड में बैठ गए ओर मैंनेमिया खलीफा की एक मस्त वीडियोनिकाली और हम दोनों देखने लगे. मामी चिल्ला पड़ीं- आउच आउच … मर गई … क्या कर रहे हो आज … तुमने इतनी जोर से डाल दिया आंह मर गई.

स्मूच करने के बाद मैंने मैंने दीदी के बूब्स दबाते हुए कहा- दीदी, मुझे इनको देखने का मन हो रहा है.

जब मम्मी अन्दर आईं, तो बोलीं- तू कहां चला गया था?तो मैंने बोला- मैं दोस्त के घर गया था.

वे मेरी गर्दन के पास आकर अपनी गर्म सांसें मेरी गर्दन पर छोड़ रही थीं. इसके बाद मैंने चाची को पूरे लॉकडाउन में हर रोज़ चोदा और लॉकडाउन खुलने के बाद भी जब सब वापस आ गए, तब भी मैं मौक़ा पाते ही उन्हें चोद देता था. पप्पी लव मूवीदूसरी बात ये थी कि भैया भाभी की चुदाई एक दो मिनट तक ही कर पाते थे जिस वजह से भाभी की चुत प्यासी रह जाती थी.

मैं समझ गई कि अब मेरी खैर नहीं है क्योंकि मेरे पति ने मुझे एक बार सेक्स के दौरान बताया था कि लोग गांड बहुत फाड़ते हैं. इस कारण से मीना ने लंड चूसना छोड़ दिया और बिस्तर पर टांगें खोल कर लेट गई. ये तो मैं उनके लंड चूसने के तरीके से ही समझ गया था इसलिए मुझे लंड पेलने में जरा भी दिक्कत नहीं हुई.

जैसे ही लंड चूत की नरम दीवारों को रगड़ता हुआ बाहर अन्दर बाहर होता तो ऋतु मस्ती से सिसक पड़ती. चाची- हां, वो तेरे दादा दादी आ गए थे वर्ना मैं भी कुछ देर बाद तुझे समझाती और शायद तुझे मुझसे बात करने में इतना डर न लगता.

वहां थोड़ी देर घूमने के बाद मुझे भूख लगी, तो मैंने फ़ूड जोन में जाकर खाने का कुछ आर्डर दिया और एक सीट पर जाकर बैठ गया.

कुछ ही देर में भाभी की चुत एकदम गीली हो गयी और उनकी आवाजें तेज हो गईं. कुछ देर बाद जब भाभी ठीक हुईं तो बोलीं- ये चुदाई मैं जिंदगी भर याद रखूंगी … सच में आज मुझे चुदाई में मजा आ गया. तभी चाची बोलीं- अरे प्रतीक, आज सुबह सुबह कैसे आना हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं चाची, आज कॉलेज की छुट्टी थी … तो सोचा आपके यहां आ जाऊं.

आई विषयी शायरी धक्के धीरे धीरे तेज होते गए और ऋतु की जोर जोर से जीभ से चाटते हुए उसका लंड चूसने लगी, जिस कारण सनी पागल सा हो गया. लंड झड़ा तो मैंने अपना लंड अपनी बहेन की चुत में ही पड़ा रहने दिया और यूं ही उससे चिपक कर सो गया.

[emailprotected]शीमेल पोर्न स्टोरी का अगला भाग:धर्म से धारा बनने तक का सफर- 3. एक बार उसके हज़्बेंड को इन दोनों का पता लग गया और ऑब्जेक्ट करना तो दूर, उस लंड के फकीर ने वीर के साथ मिलकर सीमा की ज़ोरदार थ्रीसम कर डाली. चिपका हुआ गाउन था तो आंटी के जिस्म का एक एक कटाव साफ़ नुमायां हो रहा था और मेरे लंड में आग सी लग रही थी.

जानवर सेक्सी सेक्सी

दीदी अपने बच्चों से बोलीं- चलो छत पर चिकन बनाने चलते हैं, तुम दोनों वहीं छत पर रहना. कुछ देर की गांड चुदाई के बाद मैंने अपना पूरा माल उसकी गांड में ही छोड़ दिया. ये कह कर जीजू मेरे पीछे आ गए और मेरे कान में बोले- अब तक कितने लौड़ों से चुद चुकी हो?मैंने उनको बताया- जीजू, मैंने सिर्फ अपने ब्वॉयफ्रेंड से ही सेक्स किया है या आपने अपने दोस्त के साथ मुझे चोदा था.

उनका फिगर तो था ही … हॉट कुर्ता थोड़ा टाइट होने के कारण उनके बूब्स साफ समझ आ रहे थे. चचा के लंड से निकल रहे प्रीकम की बूंदें बल्ब की रोशनी में चांदी सी चमक रही थीं.

फिर मैंने लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और कुछ ही धक्कों में भाभी को भी मजा आने लगा.

वो लॉकडाउन में ढील के समय में कुछ घर कि जरूरत का सामान लेने गई थीं. सुरेन्द्र ने अपने दोनों हाथों से मेरी चूचियों को पकड़ लिया और मुझे धकापेल चोदने लगा. पिक देख कर मैंने उससे कहा- अगर अभी तुम सामने होती तो मैं तुम्हें रगड़ कर चोद देता और चुत की सारी मलाई खा जाता.

मैंने तुरन्त उसकी सलवार उतारने की कोशिश की तो उसने हल्के से अपनी गांड ऊपर उठा दी. जीजू मुझे किस करते हुए मेरे दोनों मम्मों को दबा रहे थे, चूस रहे थे. मैंने उसकी चूत में लन्ड घुसा दिया और मैं उसकी कमर पकड़कर चोदने लगा.

खाना खाकर हम दोनों फ्री हुईं तो जीजू को लेकर दीदी बताने लगीं कि सुबह से जीजू ने उन्हें किस तरह से ताबड़तोड़ चोदा था.

मनीषा कोइराला की बीएफ सेक्सी: जहां खाना बनाते थे, वहां पर बिस्तर लगा कर दादी, मम्मी, बड़ी दीदी, छोटी दीदी कोने में लेट गईं. भाभी कहने लगीं- अमित यदि तुम्हें कोई प्रॉब्लम न हो … तो तुम्हारे भैया जैसा प्यार मैं तुम्हें भी करना चाहती हूँ.

नफीसा ने लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया।थोड़ी देर बाद मेरा लंड पूरा खड़ा होकर तैयार हो गया. मैं अपनी बहन को चोदने में इतना ज्यादा मस्त हो गया था कि उसके लंड चूसने से सिर्फ 5 मिनट में दुबारा रेडी हो गया. मैं भी उसकी चिकनी टांगों के बीच बैठ गया और उसकी चूत में एक उंगली डाल दी.

मैंने भाभी से पूछा- मजा आया या नहीं!इस पर भाभी बोलीं- तुम तो यार बहुत बड़े चोदू निकले … तुम तो कह रहे थे कि तुमने कभी सेक्स ही नहीं किया और पहली बार में ही मेरी जान निकाल दी.

मामी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी जवान मामी को लंड चुसवाकर इतना गर्म कर दिया कि वो चूत में लंड घुसाने की जिद करने लगी. उत्तेजना के मारे मामी ने बेडशीट को अपनी मुट्ठियों में जकड़ लिया और अपनी चूत बार बार ऊपर उछालने का प्रयास करने लगीं. इस बार मैंने आंटी कोलंड की सवारीकरवाई और उन्हें घोड़ी बना कर भी चोदा.