वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर

छवि स्रोत,साउथ हीरोइन की सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सीरीज: वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर, तभी सुरेश ने सोनी को नीचे बेड पर लिटा दिया और खुद अपने आप उसके ऊपर सवार हो गया.

चूत लेते हुए सेक्सी

तो मैं भी फ्रेश होकर विक्रम के रूम में चला गया और इधर उधर की बातें करने लगा. जौनपुर की सेक्सी वीडियोभाभी ने मुझसे पूछा- मैं खाना बना दूँ?मैंने कहा- आप परेशान ना हो … मुझे बनाना आता है.

जाते ही हम दोनों एक दूसरे से लिपट गये और एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे. एक्स एक्स एक्स फुल सेक्सी हिंदी मूवीऊपर से मैं था नशे में, पांच बियर खींचने के बाद मैं निर्मला जी को सुन रहा था और यही सोच रहा था कि क्या किस्मत है परीक्षित की, ऐसी गज़ब शरीर और आवाज़ वाली बीवी पाई है.

मैंने पूछा- कितनी बार चोद चुके हो उसे?भूरा- अरे सर, एक दिन शाम को वह बकरियां बाड़े में बंद करने जा रही थी.वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर: लंड चुत चूस रहा था और मैं उसके होंठों को चूसने में लगा हुआ लंड अन्दर बाहर करने लगा था.

कुछ ही पलों में हॉट देसी भाबी भी मस्त होकर चुदाई का मज़ा लेने लगीं.सोनी से जब कभी पूछा जाता तो वो लड़के की उम्र का हवाला देकर रिश्ते के लिए मना कर देती.

सेक्सी वीडियो क्यों नहीं आ रही है - वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर

उसके हर फ़ोटो को सेव करना, स्टेटस पर कमेंट देना शुरू कर दिया।उसने मुझसे व्हाट्सएप पर बातचीत शुरू कर दी.मुझे ऐसे देखकर उनके तो जैसे होश ही उड़ गए!वो बहुत देर तक मुझे ऐसे निहारते रहे.

किरायेदार लड़कियों में बड़ी वाली बहन गोरी थी और उसका फिगर साइज़ 34-30-36 का था. वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर क्या करूं जान? बहुत दिनों का प्यासा हूँ ना … इसलिए सब्र ही‌ नहीं हो रहा.

फिर डॉक्टर ने मेरी टांगें फैला दीं और मेरी चूत पर अपना मुँह रख कर चूत चाटने लगा.

वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर?

मैं हैरान थी 60 साल की बुड्ढे में इतनी ताकत देखकर!एक बार को तो दिमाग में आया कि इस बुड्ढे से ही शादी कर लेती हूँ. इस पोजीशन में महिलाओं की चुदाई के साथ उनके स्तनों को दबा कर उन्हें और मज़ा देना चाहिए. भाभी की सहेली की चुदाई और भाभी की गांड मारने की कहानी मैं आपके लिए आगे लिखूंगा.

लगभग 15 मिनट की चुसाई के बाद उनका पानी निकलने को हुआ तो वो बिस्तर पर खड़े हो गये. निर्मला जी भी खड़ी हुईं और पहले किचन, फिर स्टोर रूम और अंत में बेडरूम का मुयाअना किया. ट्रेनिंग सेंटर के प्रवास के दौरान मॉल और पार्क आदि जहां भी हम दोनों घूमने गए.

और सुमन भाभी अगर मेरी शादी से पहले मुझे यह प्रस्ताव रखती तो आज शायद हम पति-पत्नी होते. एकांत के क्षणों में तो कामदेव वासना के रथ पर सवार रहते हैं।वो चली गयी लेकिन जैसे मेरी आत्मा को साथ ले गयी. उसकी नंगी गांड को देख कर मन कर रहा था कि दरवाजा खोल सीधा अंदर घुसूं और उसको वहीं पर झुका कर घोड़ी बना लूं और बाथरूम में ही गांड चुदाई कर डालूं उसकी.

जैसे ही दरवाजा खुला और सामने साक्षात रतिरूपी उस अप्सरा को साड़ी में देखा तो जैसे कामदेव ने बाणों की बरसात कर दी।दरवाजे से ही देख कर जाना है क्या?” उसने हँसते हुए कहा और धीरे से हाथ पकड़ कर मुझे अन्दर बुला लिया।उस दिन पहली बार उसने मेरे शरीर को छुआ था. यह मेरा बेचारा लंड तुम्हारी चुत का दीवाना अपना वायदा निभाता हुआ अनन्या की भाबी की चुत को उसी के भाई के बेड पर चोदेगा.

हालाँकि वो शादीशुदा था मगर साला बहुत हरामी था और आज उसकी हवस की शिकार मेरी बेटी होने वाली थी.

कुल मिलाकर बीस साल की कचक जवान लड़की मेरे लंड की पुरानी आशिक रही थी.

मगर मैंने उनको जब ये बात बताई कि मैं उनकी पत्नी की तरह फील कर रही हूं; तो वे बोले कि मैं शादीशुदा हूं और इसलिए तुम मेरी रखैल हो।ये सुनकर मुझे थोड़ा झटका सा लगा।मैं रखैल नहीं पत्नी के सपने देख रही थी. संजीव ही नहीं बल्कि दूसरे सारे लड़के और लड़कियां भी मेरी ओर ऐसे देख रहे थे जैसे कि मैं स्वर्ग से आई हुई कोई अप्सरा हूं. उसने एक हाथ में दिया पकड़ा और मैंने उसकी बॉडी को टच करना चालू कर दिया.

यह बड़ी बहन चुदाई कहानी हिंदी तब की है, जब अम्मी एक दिन किसी रिश्तेदार के घर शादी में गयी थीं. क्या पता किसी और विकी ने फोन किया हो?वो बोली- मैं इस फोन के इनबोक्स मैसेज और व्हाट्सएप मैसेज भी पढ़ चुकी हूं. मैंने उसके चेहरे को पकड़ कर उठाया और उसके होंठों पर होंठ रखकर उसको चूमने लगा.

देसी आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी चाची की फुफेरी बहन के घर में पेयिंग गेस्ट बन गया.

मैंने अपने दोनों हाथों की उंगलियों को उन दोनों की मखमली गांड में डाल दीं और गोल गोल घुमाने लगा. बहुत जगह पर आवेदन दिये और फिर किस्मत से मुझे मुंबई में नौकरी मिल गई. रात में भाभी का दर्द बढ़ गया तो मैं भाभी और मां को गाड़ी में बिठा कर शहर के अस्पताल की ओर निकल पड़ा.

हे ईश्वर … क्या नज़ारा था … उसके दोनों माँसल नितंबों का आपस में घर्षण देखकर बेजान से पड़े लिंग में फिर करण्ट सा दौड़ गया।उसका गदराया हुआ जिस्म बिना कपड़ों के कहर बरपा रहा था. उसने मेरी चूत से उंगली निकाल कर सीधा उसको अपने मुंह में डाल दिया और उंगली पर लगे हुए मेरे चूत के रस को पूरा चाट लिया।यही कहानी लड़की की मधुर आवाज में सुनें. उसको आता देख, मैं अब गुस्से में तेजी से चलने लगा और बस स्टाप पर आ गया.

यह कहकर उन्होंने दुबारा मेरा सिर पकड़ लिया और अपने लॉलीपॉप को मेरे मुँह में लगा दिया.

घर में सेक्स करने का बहुत मन था, पर नहीं किया … क्योंकि घर में मेरे परिवार वाले भी थे. वो आंखें नचाने वाली इमोजी के साथ बोलीं- ऐसा मुझमें क्या ख़ास है?मैंने बोला- मेरी आप जैसे फिगर वाली गर्लफ्रेंड हो … तो मेरी तो किस्मत ही खुल जाए.

वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर करीब 20 मिनट तक चूत चुदाई के बाद मैंने पूरा माल उसकी चूत में भर दिया. फिर मैंने राकेश को अपनी बांहों में लेकर रोना शुरू कर दिया और बोली- प्लीज़ मुझे माफ़ कर देना, मैं ये सब उसे मज़ा देने के लिए कर रही थी ताकि उससे हमें चैक मिल जाए.

वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर अब आगे सिस्टर सेक्स्क्स स्टोरी:मनीष के ऑफिस निकलते ही घर के अन्दर नेहा और स्नेहा दोनों बहनें सोफे पर आ गईं. फिर मैंने अपने तने हुए लंड को देखा और शर्म का नाटक करते हुए उस पर तकिया रख कर उसे छिपा लिया.

मेरे गर्लफ्रेंड की शादी हो गयी पर उसे अपने पति के साथ सेक्स में मजा नहीं आता था.

बिपाशा बसु का सेक्स

बुआ चुदने के लिए बेहद गर्मा रही थीं और मुझसे चोदने के लिए कहे जा रही थीं. आपको बताना चाहता हूं कि आज के मेरे आशिक मनोज का लंड 6 इंच लंबा और दो इंच मोटा था जो एकदम गोरा था. उसका लंड हाथ में लेकर मैं सहलाने लगी।विजय का लंड बहुत ही ज्यादा कड़क और तना हुआ था.

मैंने हामी भर दी क्योंकि मुझे एक गर्म औरत को छूने का आनन्द जो मिल रहा था. मैंने पूछा- कैसे मदद?उसने बताया- मौलवी जी कुछ ताबीज वगैरह देते हैं. काफी देर तक उसके होंठों का रस पीने के बाद मैं उठा … और उसके पेटीकोट का नाड़ा खींच कर पेटीकोट को निकाल दिया.

इस दौरान बीच में जब हम दोनों थक कर एक दूसरे को प्यार करने लगते थे तब उसने मुझसे अपनी बहुत सारी बातें साझा की थीं.

‘अंकल वो पेमेंट करना है, कैश नहीं है, आप गूगल पे के थ्रू ले लो प्लीज. तभी मेरे लण्ड ने पिचकारी छोड़ दी और मामी की चूत मेरे मक्खन से भर गई. मैंने उसके चूतड़ों को चूमना जारी रखा, साथ ही मैं उसकी जांघों को भी किस करता रहा.

मैंने उसकी तमन्ना कैसे पूरी की? मजा लें!मित्रो, मैं विवान अपनी सेक्स कहानी में चुदाई का रंग भरने एक बार फिर से हाजिर हूँ. तुम मेरा हर काम करते हो तो मैं भी इतना कर ही सकती हूं कि अपने भाई का लंड चूस लूं. मैं और सन्नी बहुत ही प्रोफेशनल और मस्त सेक्स के लिए हमेशा रेडी रहते हैं.

फिर एक दिन मैं अपने निवास के क्वार्टर से डाकबंगले की ओर आ रहा था तो देखा कि रास्ते में भूरा से एक लड़का उसी का समवयस्क झगड़ रहा था. कुछ समय तक वो मेरे ऊपर लेटी ही रही जब तक कि मेरा लिंग उसकी योनि से बाहर नहीं आ गया। हम दोनों के साथ हमारे दोनों महारथी भी घमासान युद्ध करके थक चुके थे।मैंने रेनू के होंठों को अपने होंठों में भर कर चूसना शुरू कर दिया। 10 मिनट के बाद वो बेड से उठी और कपड़े से अपनी योनि और मेरी जाँघें साफ कीं.

खाना ख़ाने के बाद हम तीनों पिक्चर देखने चले गए और रात को होटल से खाना खाकर ही वापिस आए. मैंने उससे उसका फोन नंबर भी नहीं लिया था … न कोई और कॉन्टैक्ट ले सका था. वो ये सब देख कर मुस्कुराती हुई बोली- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- कुछ नहीं नीता.

हिन्दी Xxxx चुदाई की कहानी में पढ़ें कि हमारे घर चूड़ी बेचने वाला आया तो वो जवान लड़का मुझे अच्छा लगा, मैंने उसे घर के अंदर लेकर दरवाजा बंद कर दिया.

उसके दोनों कूल्हों को पकड़ कर फैलाया और ठीक बीच में हल्के से काला रंग का छोटा सा टाइट छेद नजर आ गया था. ऊपर से मैं था नशे में, पांच बियर खींचने के बाद मैं निर्मला जी को सुन रहा था और यही सोच रहा था कि क्या किस्मत है परीक्षित की, ऐसी गज़ब शरीर और आवाज़ वाली बीवी पाई है. मैंने उनकी आंखों में आंखें डालकर कहा- जब तक आप दोनों बात करो, मैं ऊपर टॉयलेट से होकर आता हूँ.

मैंने अपने लौड़े पर खूब सारा तेल गिराया … और ‘जय हो चूत चमेली की …’ बोल कर उसकी गांड में धीरे धीरे लंड डालना शुरू कर दिया. आज वह कहीं चला गया है। उसका भाई बुलाने आया था।ये सब बातें होने के बाद कल्लू ने मुझसे इजाजत मांगी और वो दोनों वहां से साथ साथ बाहर निकल गये.

मैंने उनसे उनकी फोटोज के बारे में लिखा, तो उन्होंने भी मुझे अपनी फोटो भेज दी. लेकिन मेरा शरीर और मेरी चूत मेरे मन के बिल्कुल बस में नहीं थे अब!मैंने विजय की मजबूत पकड़ से खुद को छुड़ाया और अपने खुले हुए तौलिये को दोनों हाथों से संभाल कर अपने आधे बूब्स को ढक लिया और तौलिया दोबारा बांध लिया. सुबह फिर से मुझे गांव आना था लेकिन आज आने का मन नहीं कर रहा था क्योंकि दिव्या का इवेंट कल ही ख़त्म हो गया था.

सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर चुदाई

मेरा मुँह पूरी तरह से चूत के ऊपर था, जिसे मैं अब हिला भी नहीं पा रहा था.

सामने कल्लू को देखा तो बोली- आज तुम नहीं दिखे तो मैं ही दूध देने चली आई. मैंने कहा- ये?उसने कान में कहा- तुम दोनों के लिए … अच्छे से एंजॉय करना और एक ही बार में पूरा इस्तेमाल मत कर देना, कहीं अगली बार के लिए बचे ही न!वो मुस्कुराती हुई अपना छोटा पाउच लेकर रूम से बाहर चली गई. मुझे इससे कुछ फील हुआ कि भाभी को चोदने के लिए जितनी आग मेरे अन्दर लगी है, भाभी के अन्दर भाभी उतनी आग लगी है.

इस पर वो बोली- जब कोई भी ज्यादा उत्तेजित हो जाता है तो उसके शरीर के सारे अंग तन जाते हैं, जैसे कि तुम्हारे लोअर में टेंट बना हुआ है. चूंकि मैं लड़कियों से जब तक मिला नहीं होता हूँ तब तक थोड़ा रिजर्व रहता हूँ. बिहारी सेक्सी वीडियो खतरनाकउसने थोड़ी बेइज्जती महसूस की और फिर मेरे पैरों को मसलना शुरू कर दिया.

मैंने धीरे से उसकी पैंटी को किनारे किया और उसकी मस्त साफ़ फुद्दी देखकर तो मैं जैसे आंखों से ही बुर का रस पीने लगा. फिर वो चले गए और मैं भी फिर से नंगी होकर नहाने चली गयी।उस दिन मैं खूब रगड़ रगड़ कर नहाई.

मैंने पीछे से उसकी ब्रा के हुक खोल दिये और धीरे से उसके अतिविकसित स्तनों को ब्रा की कैद से आज़ाद कर दिया।अब तक उसके दोनों स्तनों के बीच कत्थई रंग के चूचक तन कर खड़े हो गए थे, मानो दो कबूतर उड़ने को तैयार हों।अब वो सिर्फ पैंटी में थी. वैसे मैंने तो जो किया सो किया, शायरा ने भी तो इसमें मेरा साथ दिया था … तभी तो मेरी इतनी हिम्मत हुई. मैंने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और दबाते हुए आंटी की कमर चूमने लगा.

जब मेरा पूरा लंड अंदर चला गया तो मैंने उसके पैरों को अपने कंधों से उतार दिया और मोड़ दिया. मेरे हर धक्के के साथ मेरी जांघें अदिति की गोरी मांसल जांघों से टकरा रही थीं. इसके बाद सुरेश ने सोनी को कुछ कहा जिसे मैं सुन नहीं पाया मगर सोनी ने कोई जवाब नहीं दिया.

वो राजी हो गई और उधर फ़ार्म हाउस में रहने के लिए उसने अपना मन बना लिया.

उसकी चूचियां, जो 40 साइज की ही थी इस कसी हुई टी-शर्ट में एकदम तनी हुई लग रही थीं. अब मैं उसकी ख़ूबसूरती को निहारने लगा और मेरी निगाहें उसकी चौंतीस साइज के मम्मों पर टिकी हुई थीं जो ऊपर से दिख भी रहे थे.

भाभी लगभग साड़ी ही डालती है और इतनी कस कर बांधती है कि उनकी पैंटी की लाइन भी दिखने लगती है. उसके बाद उन्होंने मेरी मॉम को पकड़ लिया और एक ने मेरी मॉम के मुँह में लंड दे दिया. तब रागिनी ने मेरे चेहरे को अपनी हथेलियों में भरकर कहा- मेरे राजा, मैं तो आजन्म तुम्हारी ही हूँ.

फिर एक दिन पार्क में कोई बैंच खाली नहीं थी, तो मैं हिम्मत करके उसी बैंच पर बैठ गया, जिस पर वो बैठी थीं. मेरे पीछे रुखसार भाभी आ गईं और मुझे पीछे से हग करके हल्का सा धक्का दे डाला. अब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने भाभी से पूछा कि कहां निकालू?उन्होंने कहा- मुझे तेरा बीज चाहिए, मैं मां बनना चाहती हूँ प्लीज अपना माल मेरी चूत में ही झाड़ना.

वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर मैं- अच्छा मैं अब चलता हूँ … और इस स्वीट से नाश्ते के लिए शुक्रिया, आज तो लंच और डिनर करने का दिल नहीं करेगा. इस बात पर पहले तो आंटी हंस दीं, फिर बोलीं- मुझे गर्लफ्रेंड बना कर तुझे क्या मिलेगा?मैंने कहा- आंटी, जो बात आप में है, वो आजकल की लड़कियों में कहां मिलता है.

सेक्सी चुप चुप

जहाँ ज्यादा दर्द होता … वहीं रुक जाता और बाहर निकालकर और तेल लगाता गांड पर भी और लंड पर भी! फिर अंदर देता. मैं अधखुली आंखों से देख रहा था कि मेरी बीवी सरदार का पूरा लंड मुँह में ले जा रही थी और बड़े प्यार से चूस कर पूरा बाहर निकाल रही थी. फिर जिस हाथ में उन्होंने कंडोम का पैकेट पकड़ा हुआ था, उस हाथ को मैंने पकड़ लिया.

मुझे कुछ समझ नहीं आया लेकिन अगले ही पल उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों से होंठों को मिलाकर मुझे अपनी आगोश में ले लिया. फिर राज बोला- भाभी अंदर ही निकाल दूं क्या?मैंने कहा- नहीं, हरगिज नहीं. सेक्सी घरवाली की चुदाईमैंने उसके कंधे पर हाथ रखा तो वो मेरी कमर से लिपट कर सुबकने लगी- जान, क्यों मेरी ही किस्मत में इतने गम लिखे हैं ऊपर वाले ने?मैं घुटनों के बल बैठा और उसे गले लगा लिया- तुम्हारी नहीं जान … हमारी किस्मत में!ज़ारा- मैंने ऐसे कौन से गुनाह किये थे?मैंने उसे उठाया और वाशबेसिन पर ले जाकर उसका चेहरा धुलवाया और वापस ले आया.

मैंने उसके दोनों चूचे हाथ में पकड़कर होंठों से होंठ मिलाकर एक करारा धक्का मारा और उसके नाखून मेरी पीठ पर आ गड़े.

भाभी थोड़ी घबरा कर बोली- आराम से करना, तेरे लंड के हिसाब से मेरी चूत काफी छोटी है. ”तुम्हें कोशिश करने का कोशिश की कोई जरूरत नहीं है, बस तुम मेरा साथ दो.

मुझे आज भी याद है … जब मुझे ताई जी ने अपने पीठ की मसाज के लिए पहली बार अपने कमरे में बुलाया था. मैं कराह उठा- ओह अदिति … आहिस्ता से चूसो … मेरे लंड में बहुत दर्द हो रहा है. उसको भी अपनी कमनीय काया का ज्ञान था।ये नजारा देखने के बाद मेरे कई सालों के संयम के बाँध की दीवारें कमजोर होकर उसके नितम्बों के घर्षण से टूट चुकी थीं।वासना से वशीभूत होकर मैं रसोई में गया और उसके माँसल और सुपुष्ट नितंबों को देखने लगा.

फिर कुछ ही देर में मैं उसकी चूत के अंदर ही झड़ गया।कुछ देर उसके ऊपर ऐसे ही लेटे रहने के बाद हम दोनों उठे.

मैंने महसूस किया कि उसकी चूत काफी टाइट थी, इसलिए मैंने उस जवान लड़की की चुदाई को कुछ आराम से करने की सोची. कशिश दीदी, पापा और इन्द्रेश अंकल के रूम में चली आई थीं- अरे वाह, इधर तो गजब की चुदाई लीला चल रही है. वो हंस कर बोलीं- मेरे अन्दर ऐसा क्या है?मैंने भी खुल कर बोल दिया कि मुझे आपका फिगर बहुत अच्छा लगता है.

सेक्सी फिल्मे इंडियन प्रीमियरअब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने भाभी से पूछा कि कहां निकालू?उन्होंने कहा- मुझे तेरा बीज चाहिए, मैं मां बनना चाहती हूँ प्लीज अपना माल मेरी चूत में ही झाड़ना. मैं अपनी से तौलिया से बदन पौंछने में लगा था कि इतने में गाँव की लड़की नीता तौलिया लेकर दरवाजे पर खड़ी होकर मेरी तरफ ही देख रही थी.

सेक्सी फिल्म सेक्सी वीडियो में सेक्सी

वो अपनी गांड हिला हिला कर चोदने का सिगनल देने लगी।मैंने अब दूसरा झटका मारा और पूरा लन्ड उसकी चूत में पेश कर दिया. पापा का नंबर भी उनके पास नहीं था लेकिन किसी तरह उनको मेरी मम्मी का नंबर मिला तो उन्होंने मम्मी को फोन करके बहुत जिद करते हुए कल शाम की शादी में आने के लिए कहा. उस रात मैंने उसे तीन बार चोदा और हम दोनों सुबह 4:00 बजे तक सेक्स का मजा लेते रहे.

चाहता तो मैं आम लड़कों की तरह सीधे लौड़ा उसकी चूत में पेल सकता था, पर मैं इस खेल का कोई नौसिखिया नहीं … बल्कि एक शातिर खिलाड़ी था. वो तो मुझे ऐसे चोद रहे थे जैसे ये उनकी आखिरी चुदाई थी और इसके बाद उन्हें चूत देखने को भी नहीं मिलेगी।खैर 25 मिनट की लगातार जबरदस्त वाली चुदाई के दौरान मैं पता नहीं कितनी बार झड़ी. मैंने अब देर करना ठीक नहीं समझा और मौनी के होंठों को अपने होंठों में कैद कर लिया.

मैं धकापेल चोदता गया और बड़बड़ाता गया- आह प्रियंका तू मस्त है यार … कितनी बार चूत देगी अपने इस लंड महाराज को … मुआह तेरी जैसे साली हर किसी को मिले. तभी भैया ने फिर से झटका मारा और लॉलीपॉप का आगे वाला हिस्सा मेरे मुँह में चला गया. लण्ड चूंकि लंबा था अतः लोअर में सीधा नहीं हो रहा था फिर भी आँटी की चूत पर अड़ गया था.

वे अपनी गांड उठा कर मेरा लंड अंदर बाहर करवाने लगी थी और मेरा पूरा साथ दे रही थी. अब मैं और कशिश दीदी खड़े खड़े ही एक दूसरे को ज़ोर ज़ोर से चोदने लगे थे.

और जैसे ही मैं उसके घर पहुंची, वो सिर्फ़ अंडरवियर में ही था और उसका लंड पूरा बाहर निकला हुआ था.

अब सनी ने अपनी कोहनी मेरी कमर पर रखी और मेरी कमर को नीचे दबाते हुए मेरी गांड में पूरा लंड अंदर तक घुसेड़ दिया. इंडियन वेब सीरीज सेक्सीउसका नाम विजय था। मैंने उसको गले से लगाया। मेरे लगाए हुए लेडीज़ पर्फ्यूम की खुशबू से वो मस्त हो गया।मैंने बिना कुछ सोचे समझे मुदित जी की पैंट पर धावा बोला और हुक व चेन खोलकर बड़ा सा लंड बाहर निकाल लिया।मैं जोर जोर से चूसने लगी।उधर विजय मेरे बालों पर हाथ फेरते हुए मेरे गालों को किस करने लगा. सेक्सी व्हिडीओ नेपाली सेक्सी व्हिडीओफिर अचानक से वो मेरे बालों को पकड़कर मुझे अपने ऊपर खींचने लगी और बोलने लगी- आह भैयाय्य्या … मैं मर जाऊंगी … कुछ्ह्ह्ह करो. मेरे जैसे चुदक्कड़ आदमी के लिए ऐसी चूत का मिलना बहुत किस्मत की बात थी.

‘मुझे तुझमें अपनी मां दिखती है!’हमारी सोच, विचार और आचार व्यवहार में बड़ा परिवर्तन आ गया था.

आंटी शायद काफ़ी तजुर्बेकर औरत थीं, लंड के टोपे को वो ऐसे चूस रही थीं मानो लंड को निचोड़ कर उसके अन्दर का सारा रस निकाल लेंगी. हम तीनों का पानी एक साथ निकला था और तीनों की हालत एकदम बेदम हो गई थी. उसी जिम में एक साल पहले मेरी रचना नाम की लड़की से मुलाकात हो गयी थी.

अब मैं और सोनी दोनों ही आश्वस्त हो गए कि ये भी रिश्ता कैंसल हो ही जाएगा. मेरे मुंह से ये बात सुनकर धीरू अंकल बोले- अच्छा ऐसा क्या करने वाली हैं?तो मैंने कहा- वो सब आपको बाद में पता चल जायेगा।यह सुनकर उन्होंने मेरे ब्लाउज को खोलना शुरू कर दिया और ब्लाउज को मेरे जिस्म से अलग कर दिया. मैंने भी जोर जोर से अपनी उंगलियां चलाते हुए उसकी चूत का दाना दांतों से हल्का सा चुभलाना चालू कर दिया और कुछ ही देर में मेरी मेहनत रंग ले आयी.

ಮಲಯಾಳಿ ಸೆಕ್ಸ್ ಮೂವಿ

भाभी- हां पक्का … चलो मैं तैयारी करती हूँ और इन दोनों को भी बता देती हूँ. मैं उससे मिन्नत करने लगी- जानू, मेरी जान निकल जाएगी ऐसे तो … मैं तुम्हारे आगे हाथ जोड़ती हूँ. मुझे उसकी चूचियां मेरे सीने पर महसूस हुईं और मैंने उसको कस कर अपनी बांहों में भींच लिया.

पच … पच … फच … फच … की आवाज से कमरा गूंज उठा और एकाएक मेरे लंड से वीर्य निकल पड़ा.

वो मेरा सर पकड़ कर कराहने लगी- आह आह जोर से चाटो ना … आ … आह … आह … और जोर से चाटो मेरी जान.

वह सारा दूध तुम्हें सारा पी जाना है, जिससे तुम्हें अच्छी नींद आ जाएगी ओके. अंत में भाभी से न रहा गया तो उन्होंने भी मेरा लन्ड मुंह में ले लिया और लॉलीपोप की तरह चूसने लगी।कुछ देर लन्ड चूसने के बाद भाभी अपनी चूत खोलकर लेट गयी और बोली- चूस लिया तेरा लंड भी मैंने … अब डाल दे अंदर!मैं समझ गया कि भाभी की चूत रिस रही है और उसको अब लंड चाहिए है. एक्स सेक्सी वीडियो जबरदस्तीस्नेहा- बाप रे, भाई का भी लंड ले लिया, ये तो बहुत बड़ी वाली रांड है साली?नेहा- हां, ये एक लंबी कहानी है, जिसे सुनाने में ही चार पांच दिन लग जाएंगे.

मेरा दिल‌ तो‌ कह रहा था कि मैं अभी जाकर उससे मिल लूं और उससे बात करूं. तुम हो गयी हो पहलवान!ज़ारा- क्या बात कर रहे हो? मेरा फिगर देखो कितना सेक्सी है!मैं- तुम सिर्फ बदन से लड़की हो वैसे तो पूरी गुंडी हो गयी हो!वो खिलखिलाकर मुझसे लिपट गयी काफी देर तक हम लेटे हुये बातें करते रहे. उसके बाद मैंने चाय खत्म की और उठकर जाने लगा तो वो भी उठकर मुझे दरवाजे तक छोड़ने आने लगी.

आपको जितना मज़ा चूत मरवाने में आएगा, उससे ज्यादा गांड मरवाने में आएगा. जैसे जैसे हमारी वासना की रफ़्तार बढ़ने लगी, वैसे वैसे ट्रेन ने भी मुंबई की तरफ अपनी गति बढ़ा दी.

उन्होंने लंड को हाथ में भरा और उनके मुंह से पहले शब्द ये ही निकले- आह्ह … बहुत मोटा है।फिर उसको मरोड़ते हुए बोले- ये तो सख्त भी बहुत जल्दी हो गया.

मेरे कच्छे में हाथ घुसाकर जैसे ही उसने मेरा लौड़ा पकड़ा, तो ख़ुद ही उसकी सिसकारी निकल गयी. मैं भी उसे प्यार करता हूँ, रोज मुझसे कहती है कि कब लॉकडाउन खत्म हो और मैं उसे जमकर नए नए पोज़ में चोदूँ. पता नहीं क्या मन में आया कि अपने लण्ड पर कोल्ड क्रीम मलकर मैंने मामी की नाइटी ऊपर उठाई और अपना लण्ड मामी की चूत में पेल दिया.

एक्स एक्स हिंदी सेक्सी चुदाई वीडियो मैं आगे आपको अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि कैसे मैंने भाभी की गांड मारी और कैसे वो मां बनी. उनका फिगर 34-30-36 है। वो लगभग मेरी ही उम्र की है। वो थोड़ी मोटी है.

मैंने लंड चुसवाते हुए जैसे ही चाची की मैक्सी में हाथ डाला, मेरा हाथ सीधा जाकर उनकी गीली चुत से टकरा गया. उनकी मुस्कान में एक शरारत भी थी। उसके बाद मैं दोबारा से उसके बदन पर हाथ फिराने लगा. उनसे पूछा- मजा आ रहा है? लग तो नहीं रहा?वे प्रसन्न हुए और उनकी गांड धीरे धीरे हरकत करने लगी.

हिंदी ब्लू सेक्सी फिल्म एचडी

अनामिका चिल्ला चिला कर प्रियंका को खिजा रही थी- हां जीजू चोद अपनी साली को … आह ऐसे ही रगड़ से आह ऐसे ही चोद कर फाड़ दे मेरी चूत … आह ये साली बहुत तड़फाती है. यही तो सच्चा प्यार होता है कि अपने प्रेमी के दिल की बात सामने वाला भी जान जाए!वो आगे बोला- मैं भी यही चाहता था लेकिन मैं डर रहा था कि कहीं तुम चुदाई के इन पलों को कैमरे में कैद करने के लिए मना तो नहीं कर दोगी. उसने पहले अपने दोनों अंडरआर्म देखे, उसके बाद अपनी चूत के आस पास हाथ लगाया तो उसको सुनहरे रोंयें जैसे लगे.

जब मैं लुल्ली को हिलाता हूं तो कुछ ही सेकेण्ड्स में मेरा पानी निकल जाता है. अपनी मां को कम उम्र के लौंडे के साथ यह सब करता देखा तो वह यह धारणा बना बैठी थी कि उसकी मां बहुत बड़ी चुदक्कड़ है और सालों से यही करती चली आ रही है.

मैंने भाभी से कहा कि मेरी एक गर्लफ्रेंड पहले थी … पर अभी मैं सिंगल हूँ.

मैं उसे एक बंद पड़े पार्क में लाई और मैंने अपनी हुडी उतारकर उसके साथ छेड़खानी करके भागने लगी. इस तरह से मेरी बीवी ने शिमला में गैर मर्दों से चूत चुदवा कर फोरसम सेक्स के खूब मज़े लिए. सबके जाते ही मैंने सबसे पहले समीर भैया को कॉल किया तो मालूम चला कि वो भी शहर से बाहर गए हैं.

ललिता भाभी मेरे लौड़े को सहलाने लगी और मैं उसकी चूचियों को मसलने लगा. फिर उसने मेरी गांड के छेद को उंगली से टटोला और फिर अपने हाथ पर थूक लेकर मेरी गांड में मसलने लगा. फिर अपनी चूत फैलाकर मेरे लंड पर बैठ गयी और लंड को अंदर लेकर उस पर कूदने लगी.

यह मेरी पहली कहानी है, उम्मीद करता हूं कि आपको यह ऑफिस गर्ल Xxx कहानी पसंद आएगी.

वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर: हम दोनों घर आकर मस्ती करने लगे और उसे एक बार पूरी मस्ती से चोद कर मैं अपने घर निकल गया. उसमें दो लड़के मेरी बुर और गांड मारने में लगे थे और एक लड़का मुझे अपना लंड चुसा रहा था.

ताई कहने लगीं- अब मत तरसाओ अमन … बस जल्दी से चोद दो … घुसा दो अपना लंड … आह आज मुझे पूरा शांत कर दो. मैंने उसे पीछे से बांहों में ले लिया- ज़ारा!ज़ारा- बोलो!मैं- नाराज हो?ज़ारा- मेरी नाराजगी से आपको क्या फर्क पड़ता है?मैं- यार मुझे तुम रूठी हुयीं बिल्कुल अच्छी नहीं लगतीं. उसकी बुर बहुत टाइट थी, आधा लण्ड अन्दर गया लेकिन सोनल कराहने लगी थी.

मैंने बोतल हाथ में पकड़ कर उसकी तरफ सिर्फ इशारा किया कि क्या वो पीना चाहती है?तो उसने गुस्से से मेरी तरफ देखते हुए मना कर दिया.

मेरे मुँह से आह निकलती गई- आह आह अंकल … सीईई अंकल … मेरी गांड फट गई आह अंकल मुझे दर्द हो रहा है … अंकल छोड़ दो अंकल. कहते हुए मैंने थोड़ा उदास सा मुंह कर लिया और वो बोली- बुरा मान गया क्या?मैं बोला- नहीं, मगर दोनों ही खुश होकर करें तभी तो मजा है ना?वो बोली- ठीक है, वैसे तुम अच्छे लड़के हो. मैंने वैसे ही किया और स्पीड बढ़ाते हुए उनकी चूत को अपने माल से भर दिया.