बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स

छवि स्रोत,जीजा साली की चुदाई की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

राजस्थान का बीएफ वीडियो: बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स, बहुत कोशिश की उसको उसकसाने की लेकिन वो अपनी तरफ से शायद पहल नहीं कर पा रहा था.

बीएफ एचडी दिखाएं

वह गुस्से में थीं और बोल रही थीं- क्यों … अपनी चाची को भूल गया क्या? कोई दूसरी लड़की मिल गई क्या?मैंने चाची को बोला- ऐसी कोई बात नहीं है. चेन्नई की सेक्सी बीएफकॉलेज की पढ़ाई के लिए मैं दिल्ली गयी तो मुझे उस शहर की हवा लगी, मेरी रंगत बदल गयी.

चूसती रहो अच्छे से!मैं और अच्छे से उसका लंड चूसने लगी क्योंकि मुझे भी अब लंड चूसने में काफी मजा आने लगा था. हिंदी बीएफ फुल मूवी एचडीचूतड़ों की मसाज करने के बाद मैंने उसकी पैन्टी ऊपर चढ़ा दी और उसे पलट दिया.

मुझे ये भी बतायें कि मौसी के साथचुदाई का रिश्ताबनाकर और फिर उसको अपने साथ अपने घर में रखकर क्या मैंने कुछ गलत किया?मुझे आप लोगों की प्रतिक्रियाओं और मेरे सवाल के जवाब का इंतजार रहेगा.बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स: अब इतनी सी बात पर आप खाना छोड़ देंगे, तो कैसे चलेगा! अब आप ही तो इस घर के सबसे बड़े हैं … वो सब तो आपके बच्चे हैं.

मम्में 38 के, कमर 34 की और गांड 38 की पूरी पीछे को उठी हुई।उसकी गांड इतनी लाजवाब थी कि उसको देखकर किसी बूढ़े का लन्ड भी खड़ा हो जाये।जैसे जसवंत को बाहर की चूत का चस्का था वैसे ही हरदीप भी न जाने कितने मर्दों के लन्ड अपनी चूत में ले चुकी थी.मैं घुटनों के बल किरण के करीब गया, उसकी टांगों को फैलाया और अपना लण्ड उसकी चूत में पेल दिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ फिल्म वीडियो - बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स

काफी मान मनौव्वल के बाद वो मान गई और बोली- जगह ऐसी होनी चाहिए कि कोई जानकार ना हो.ये सब मत पूछ! जल्दी से मालिश कर।तो उसने लोशन लिया और मेरी चूचियों की मालिश करने लगी.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से चिपका दिया और जोर से झटका लगाया।वो तड़प उठी. बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स भाभी को चोदते चोदते जब उत्तेजना ज्यादा बढ़ जाती थी, तब मैं भाभी के होंठों को चूसने लगता, उनके चेहरे को चूमने लगता और उनकी चूचियां दबाने और चूसने लगता.

मैंने भी पैसे भर दिये।कॉलेज की ओर से फाइनल हुआ कि अगले दिन सुबह 4 बजे बस जायेगी.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स?

पसीने के कारण पूरे कमरे में चुदाई की आवाजें और उसकी कामुक सिसकारियां मुझे और जोश दिला रही थीं. जिस दिन हम जल्दी आ जाते उस दिन हम दोनों प्रियंका के रूम में आराम से पुराने दिनों की सहेलियों की तरह ब्लू फिल्में देखा करती थीं. कुछ समय तक ऐसा करते करते मैंने हेमा चाची की गांड के छेद में अपनी बीच वाली बड़ी उंगली डाल दी.

पहली बार में कोई लड़की किसी का लंड पकड़ लेगी ये बात मैं नहीं मान सकता था. इस तरह से दिन कट रहे थे और एक दिन अचानक रात के 10 बजे भाभी का फोन बजा कि उसका मन बहुत घबरा रहा है. इतनी पटाखा माल भला मुझसे क्यों चुदेगी?दीपू को स्कूटी चलानी नहीं आती थी.

बेसन की बर्फी, नमकीन सेव, मठरी, खुरमी …क्या बात है मंजुला, मजा आ गया. अलीमा के होंठों को चूसने के बाद बलविंदर धीरे-धीरे उसकी गर्दन पर किस करने लगा. मैं बोला- डार्लिंग तुम बाहर क्यों मुँह मारती हो … जब मैं हूं न तुमको चोदने के लिए!कुछ ही पलों बाद मामी ने समर्पण कर दिया और वो बोलीं- मैं भी तुमसे कब से चुदने को बेताब थी … मगर तुम पूरे कमीने थे … मेरे करीब आते ही नहीं थे.

कुछ देर के लिए मैंने सोचा कि अगर ये मुझे चोदने को मिली तो मैं कैसे कैसे इसकी चूत लूंगा और क्या क्या करूंगा. वो किराये के मकान में रहता था।वो सुबह साढ़े आठ बजे घर से निकल जाता था और शाम को छह बजे वापस आता था।उसका घर से बाहर काफी औरतों के साथ चक्कर था। उसकी बीवी हरप्रीत कौर 30 साल की थी.

मां अब सिसकारियां लेने लगी थी- आह्ह … आह्ह … करके वो मस्त होकर अपनी चूचियां दबवाने का मजा ले रही थी.

उसने मेरी पैंट में मेरे उठे हुए लौड़े को देखा और उसको हाथ से सहला कर देखने लगी.

कुछ ही देर में हम दोनों मादरजात नंगे बेड पर गुत्थमगुत्था हो रहे थे. [emailprotected]परिवार में चुदाई की कहानी का अगला भाग:बेटी के ससुर, देवर और पति से चुदी- 4. उसको थोड़ा ही दर्द हुआ क्योंकि वो पहले भी अपने पति से न जाने कितनी ही बार चुद चुकी थी.

जिस दिन हम जल्दी आ जाते उस दिन हम दोनों प्रियंका के रूम में आराम से पुराने दिनों की सहेलियों की तरह ब्लू फिल्में देखा करती थीं. फिर उसके पति और मैंने हम दोनों उसकी चूत में एक साथ लंड देने की योजना बनाई. उसकी देखा देखी मैंने भी इस तरफ वाला मम्मा अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगा.

इस तरह करीब 15-20 मिनट तक हमने किस किया और एक दूसरे को चूसा और चाटा.

जैसे ही उन्होंने मेरे बारे में जाना तो बोलीं- अरे ये तो अपना अक्षय है … कितना बड़ा हो गया है. नीचे से मैं गरिमा की चूत चाटने लगा और उधर सोनाली मेरे सिकुड़ते लंड को फिर से मुंह में लेकर चूसने लगी. दोस्तो, मैं आपको बता दूं कि हमारे घर में दो कमरे थे जिनमें बेड डले हुए थे.

अब हम दोनों बेकाबू हो रहे थे, ऐसा लग रहा था कि कब एक दूसरे में समा जाएं. मैंने टोन्ट मारने के अंदाज से कहा- शायद आपको विडियो देख कर मजा आता है. मैंने भी दो तीन धक्कों के बाद मौसी की चूत में वीर्य छोड़ना शुरू कर दिया.

दोस्तो, ये थी मेरी और डिम्पल के बीच पहली सेक्स स्टोरी, जो मैंने आप लोगों को सुनाई.

मनजीत सभी के लिए कोल्ड ड्रिंक ले आई और हम बैठ कर कोल्ड ड्रिंक पीते हुए बातें करने लगे. वो स्टूडेंट्स के लिए कोई ना कोई काम करती रहती थी पर वो स्टूडेंट्स पॉलिटिक्स में नहीं हिस्सा लेती थी.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स तो मेरी रंडी बहन ने कहा- मुझे पिलाओगे नहीं क्या पापा?पापा मुस्कुरा दिये और कहा- ठीक है. उसके सारे बदन को सहलाया, तब जाकर वो सामान्य हुई और नीचे से अपने चूतड़ उठाने लगी.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स उसके लंड के आसपास काफी घने काले बाल थे जैसे लड़कियों की चूत पर होते हैं. दस मिनट बाद जब मैं वापस जाने लगा तो वो कहने लगी- अब यहीं रूक जाओ न!मैं उसके इस आमंत्रण को मना नहीं कर सका और उसके बगल में लेट गया.

इतनी में राखी दीदी बोलीं- बुआ, आप अपनी चुत के बाल साफ क्यों नहीं करती हो.

सेक्सी बीपी आदिवासी वीडियो

मैं और वो बुरी तरह पसीने में भीग चुके थे, पर मैंने धक्के मारना बंद नहीं किए. उसके साथ जब चुदाई का दूसरा राउंड चल रहा था तो मेरी सौतेली मां भी उसी कमरे में आ गयी जिसमें मैं तनु की चुदाई करके उसके साथ नंगा लेटा हुआ था. पहले मैं एक हॉस्टल में रहता था, परन्तु जब कॉलेज में आया … तो खुद का कमरा किराए पर लेकर रहने लगा.

ऑफिस के कंप्यूटर ऑपरेटर से पूछा, तो पता चला कि उसका नाम नताशा परमार है और वो मैरिड है. मैं नंगा हो गया था मेरा मूसल लंड उसकी आंखों में चुदाई की खुमारी बढ़ा रहा था. मेरे बड़े बड़े दूध और उभरी हुई गांड पर सभी की निगाहें बरबस ही ठहर जाती थीं.

अब मेरी चरम सीमा आ चुकी थी तो मैं झड़ गयी और निढाल होकर अक्षय को सहलाने लगी.

मेरे घर में मैं इमरान (25 वर्ष), पिताजी (50 वर्ष), मां (47 वर्ष), मेरी बहन रुबीना (23 वर्ष), बहन राबिया (21 वर्ष), बहन इसराना (19 वर्ष) और मेरी दो विवाहित बहन हैं- नजमा (29) और आसिफा (27). उसको जब मैंने कसके जकड़ा, तो उसने भी आने हाथ पीछे करके मुझे कमर से अपने से लगा लिया. मेरा लंड आज तक इतने उफान पर नहीं आया, पर खुद की बहन के चुचे देख कर आज साला क़ुतुबमीनार को भी मात दे रहा था.

ठीक साढ़े छह बजे मेरे फोन पर फोन आया और मैं अजय से माफ़ी मांगते हुए चला गया. खेत में सेक्स की कहानी मेरी माँ की चूत चुदाई की है, वो हमारे ही पड़ोसी से गन्ने के खेत में चुद गयी. पर मैंने उस टाइम ऐसा वैसा कुछ भी नहीं सोचा था कि उससे बात होगी या कुछ और होगा.

फिर मैंने अपने लंड को धीरे धीरे हेमा चाची की चूत में डाला निकाला तो चाची को उस समय ऐसी चरम सुख की अनुभूति हुई कि उनकी आंखें ऊपर की ओर चढ़ने लगी थीं. मेरे बहुत फोर्स करने पर वो बोलीं- ठीक है … थोड़ी सी पीकर देख लूंगी.

मुझे शौच करने का महसूस हुआ तो मैं उठकर टॉयलेट में चला गया।कुछ 10 मिनट तक मैं अंदर ही था. तब मैंने मौसी से पूछा- आपकी फैमिली में कौन-कौन है?मौसी बोली- मेरा एक बेटा है अजय. चौरसिया जी के निधन के बाद उनके परिवार की मदद करते करते मैं और किरण आपस में काफी खुल गये थे.

ससुर जी अपने लण्ड का सुपारा मेरी चूत पर रगड़ने लगे, कलेजा मजबूत किये, आँखें बंद किये मैं बेसुध होकर सो रही थी तभी ससुर जी के लण्ड का सुपारा टप्प की आवाज के साथ मेरी चूत के अन्दर हो गया.

तुम्हारे मामा तो बस खोल कर चढ़ जाते हैं और उनका दो मिनट में ही काम तमाम हो जाता है. फिर दूसरे दिन वहां शादी होनी थी, तो मैं अपने कामों में व्यस्त हो गई. मुझे नहीं पता कि उसने पहले किसी लड़की की चूत चोदी थी या नहीं लेकिन उस दिन उसका जोश देखने लायक था.

उसका ये हमला मैं बर्दाश्त नहीं कर पाई और मैं पानी बिन मछली की तरह तड़पने लगी. फिर मामी ने मेरा पूरा लंड जीभ से चाट कर साफ कर दिया और बोलीं- तुम्हारा लंड बहुत मस्त है, मोटा और बड़ा भी है … बहुत प्यारा है.

मेरी रंडी बीवी ऊपर से पूरी नंगी होकर मेरे दोस्त के गोदी में बैठी हुई थी और अपने चूत का भोसड़ा बनवा रही थी. मैंने थोड़ा गांड के सुराख के मुहाने पर थूक लगाया और लंड सेट करके घुसा दिया. अन्तर्वासना की काफी सारी सेक्स कहानी पढ़ने के बाद मेरे मन में भी आया कि मैं अपने जीवन की सबसे हसीन यादों को आप सभी के साथ शेयर करूं, जैसे कि और लोग करते हैं.

കേരളം സെക്സ്

शादी के एक दिन पहले बुआ ने कहा- मेरा सर दर्द हो रहा है, तू मेरे लिए दवा ले आ.

तो ट्रेन से दिल्ली तक के लिए जैसे तैसे अपर क्लास में वेटिंग की टिकट मिली और भाग्य से वो कन्फर्म भी हो गयी. रंडी के घोड़ी बनते ही मैंने अपना भनभनाता हुआ लंड उसकी गांड में पेल दिया और उसको अलग अलग पोजीशन में कोई 25 मिनट तक चोदा. इस तरह आज मैं भी अपनी पहली चुदाई की कहानी आप सभी को सुनाने जा रही हूँ.

उसके बाद मैंने उसको थोड़ा सा और तड़पा कर चुदाई की पोजीशन में लिटा दिया. मगर अब तो मुझे और बुआ को भी चुदाई का मजा लेने में हर तरह का सेक्स पसंद आने लगा है. बीएफ सेक्सी चोदा चोदी वीडियो मेंभाभी की चूत बहुत ही मस्त थी … ये थोड़ी सी फूली हुई और बिल्कुल क्लीन शेव्ड थी.

मैंने भाभी की गांड की गोलाई के ऊपर उंगली को फेरा पूरे चूतड़ों को उंगली की छुअन महसूस करा दी. पर मेरा अभी हुआ नहीं था, तो मैं थोड़ी देर रुक गया और फिर शुरू हो गया.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से चिपका दिया और जोर से झटका लगाया।वो तड़प उठी. मैंने चुत पर हाथ फेरते हुए कहा- क्या बात है मॉम आज तो चुदने की पूरी तैयारी करके आप मुझसे लंड लेने आई हो. उनके हाथ मेरे मोटे मोटे चूतड़ों पर आ गए, जिनको वो बड़ी ही मस्ती से मसलने लगे.

संयुक्त परिवार होने के कारण सारा परिवार एक साथ एक बहुत बड़ी हवेली नुमा घर में रहता है. शराब का भभका मेरे नथुनो में समा गया और शराब का स्वाद मेरे मुंह में भी आने लगा. मैं चुदना चाहती हूं जमकर!मेरा लौड़ा खड़ा होने लगा और हम दोनों एक-दूसरे को बेतहाशा चूमने लगे।फिर उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया और तेज़ तेज़ लंड को अंदर तक गले में लेने लगी.

बाहर आकर मैंने कहा- कुछ पता चला क्या?उसने हड़बड़ाते हुए कहा- नहीं दीदी, देख रहा हूं कि क्या दिक्कत है.

कुछ दिन बाद मामा को बाहर जाना है, तब मैं तुम्हें रात में बुला लूंगी. फिर रजक लाल बोला- अशोक आ तू भी पीछे आ जा … तू भी रोहन की गांड मार ले.

मैं कुछ पल ऐसे ही पड़ा रहा … लेकिन मेरा लंड ट्रेन की गति के वाइब्रेशन से उनकी दोनों जांघों के बीच मस्ती ले रहा था. जिसकी वजह से उनके काफी ज्यादा क्लीवेज दिख रहे थे।वो दोनों कुछ बात कर रहे थे. उसकी आवाजें कमरे में गूंजने लगी थीं- आह मर गई … निकाल लो …वो कोशिश कर रही थीं कि मैं लंड निकाल लूं.

मौसी तुरंत नीचे बैठ गई और मेरी चड्डी के ऊपर से ही मेरे लंड को चाटने लगी. बाजी मुस्कराकर बोली- तो आ जा … और चोद दे गांड को।साली रांड बुला रही थी तो मेरा लौड़ा कैसे मानता? मैं बाजी के पास गया और उनके चूतड़ों पर हाथ फेरने लगा. उसने कातर भाव से मेरी तरफ देखा, तो मैंने बिस्तर के दूसरी तरफ से उठते हुए उसके करीब आकर उसे उठाने के लिए हाथ बढ़ाया.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स मैंने उससे पूछा- आप अकेले रहते हो?उसने कहा- नहीं, मेरे पति भी रहते हैं … पर वो बाहर टूर पर चले जाते हैं तो में अकेली हो जाती हूं. हां बेटी, पिता तुल्य हूँ, इसीलिये ये सब कर रहा हूँ, मुझसे तुम्हारा अकेलापन देखा नहीं गया.

साडीवाल्या सेक्सी

फिर ये बड़ा होगा; दुनिया को देखेगा सीखेगा समझेगा और बिन बाप के खुद को अकेला पा कर कुंठित हो जाएगा, आगे तुम खुद समझदार हो. भाभी के चेहरे को कुछ देर चूमने के बाद, मैं उनके होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा. फैमिली Xxx कहानी मेरे और मेरी बेटी के ससुराल के मर्दों के साथ सेक्स संबंधों की है.

उन्होंने मेरी चड्डी के ऊपर से मेरे लंड को चाटते हुए मेरे अंडवियर को पूरा गीला कर दिया. एक बार संयोग से उसके मम्मी पापा को दफ्तर के काम के लिए 15 दिनों के लिए बाहर जाना पड़ा. बीएफ चुदाई का बीएफउसने पूछा- कैसी चल रही पढ़ाई?मैंने कहा- बढ़िया … और आपकी?उसने बोला- हां मेरी भी ठीक ठाक ही चल रही है.

गुरप्रीत अपनी बड़ी बहन मनमीत की कॉपी थी लेकिन थोड़े भरे बदन की थी जिसके कारण बहुत सेक्सी लग रही थी.

क्या मैं फिर से अक्षय से चुदने जाऊं या नहीं?शादी तो भले ही मुझे अनीश से करना है लेकिन मेरी चुत की तड़प मुझे लाचार कर रही है. वैसे तेरी जोरू का बदन काफी कसा हुआ है, शायद नई नई शादी हुई है तेरी.

मंजुला को होटल पहुंचा कर मैं डर रहा था कि कहीं वो ये न कहने लगे कि आप भी इसी होटल में रूम ले लो. फिर से पीछे से मेरी चुत में लंड उतारा और इस बार भी मीठे दर्द के साथ मैंने अमन का लंड अपने चुत में ले लिया. फिर मैंने उसकी चोली खोल दी तो उसने अपनी चूचियों को चोली से ढक लिया.

पूरे दिन मैं आपके लिए नंगी रहूँगी, जितना चोदना हो चोद लेना अपनी रंडी भाभी को.

विवाह के दो साल होने के पहले ही उसके पति की दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी और वो उस टाइम दो महीने की गर्भवती थी. मुझे पीने की आदत थी क्योंकि मैं अपने घर में रोज़ दो पैग दारू और एक सिगरेट पीकर मजा ले लेती थी. क्योंकि मेरी चुत से खून नहीं निकला था और न ही मुझे दर्द ज्यादा हुआ था.

हॉट बीएफ सेक्स वीडियोरोहन कुछ बोल पाता, उसके पहले अशोक ने रोहन को अपनी बांहों में भर लिया और उसको चूमने लगा. मैंने टोन्ट मारने के अंदाज से कहा- शायद आपको विडियो देख कर मजा आता है.

सेक्स के लिए

कोई पंद्रह मिनट तक भीषण चुदाई करने के बाद अमन ने मुझे घोड़ी बना दिया. चाय पीने के बाद मैंने फिर से पूछा- क्या बात करनी है?मनजीत बोली- सुमन के घर के हालात खराब हो गए हैं. उसके बाद फिर शादी हो गयी लेकिन जब भी घर आती मैं भाई का लंड जरूर लेती थी.

ताजा ताजा जवान हुआ रोहन इतना मस्त और चिकना दिखता था कि उसके साथ सेक्स करना गांडू लौंडों की खुशनसीबी हो जाती थी. ऐसे ही एक बार मैंने उससे पूछ लिया- तुमने ऐसे आदमी से शादी क्यों की?वो बोली- हमारी लव मैरिज हुई थी. ट्रेन तेज चलने के कारण मेरा हाथ हिल रहा था और मैं उसी का फायदा लेते हुए उनकी गांड को सहला भी रहा था.

बातें करते समय उसने मम्मी से बोला कि आज गर्मी कुछ ज्यादा ही हो रही है. मेरा मन करता था कि कब मेरी सीलबंद चूत में किसी का लंड जाए और वो मेरी जम कर चुदाई कर दे. मैं उनके ऊपर चढ़कर चूत में लंड घुसाने लगा और बाजी थोड़ा सा हिलने लगी.

कुछ देर तक वो खुद ही चुदती रही और फिर मैंने उसको घोड़ी बनने को कहा क्योंकि अब मेरा भी मन उसको जोर से पेलने का कर रहा था. मैंने उसको लगातार धक्के मारे तो वो भी थोड़ी मस्ती में आ गई और आह … आह … की आवाज़ निकालने लगी।मैं जोर जोर से चोद रहा था.

अपनी जीभ से उनकी चूत की अन्दर तक कुरेदते हुए उनकी चूत की दोनों फांकों को मुँह में भर कर चूसने लगा.

वो दिसंबर 2018 की बात है सर्दी में उसके गर्म होंठ मेरे लंड के टोपे पर मस्त हरकत कर रहे थे।वाह क्या लंड चूसा उसने!मैं करीब 10 मिनट में ही उसके मुख में ही झड़ गया और वह मेरा सारा माल पी गई. ब्राउज़र बीएफ सेक्सदोस्तो, मैं विक्की फिर से अलीमा की चूत चुदाई की कहानी में अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. भाभी की चुदाई बीएफ मूवीउस दिन उसका दोस्त किसी काम से बाहर गया हुआ था और वो शाम को आने वाला था. आपको खेत में सेक्स की कहानी अच्छी लगी या नहीं, मुझे मेल करके जरूर बताईएगा.

राजेस मास्टर मेरी मां से कहने लगा- शालिनी डार्लिंग, तुम्हें एक काम मेरे लिए करना होगा.

मेरी बीवी ने मामी (मनजीत कौर) को यह बोलकर रोक लिया कि शाम को मैं उनको इनसे छुड़वा दूंगी. अब सागर निश्चिन्त होकर उस सन्नाटे वाली सड़क पर एकदम मेरे चिपक के बैठ गया और अपने होंठों से मेरे गले को चूमने लगा. फिर अमन कमरे में आया तो उसके हाथ में एक शहद की बोतल थी जो वो किचन से उठा लाया था.

मैं उसकी इन बातों को सुनकर और जोश में आ गया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. यह बात मुझे पक्का पता थी।कुछ देर के लिए हम एक दूसरे से अलग हो गए और थक कर लेट गए. तीसरे दिन बलविंदर अपने ऑफिस से बहुत पहले आ गया और उसके रूम में पहुंच गया.

सेक्सी ब्लड

फिर मैं और मेरे भैया पानी लेकर रूबैया मामी के पीछे गए, तो मामी भागने लगीं. मैं भी अपनी इस सजावटी चुत का मुजाहिरा करते हुए अमन की प्रतिक्रिया को देखने के लिए उत्सुक थी कि मेरा प्यार क्या रिएक्ट करता है. जो पाठक नये हैं वो मेरी पिछली कहानीमां-बेटी ने चुद कर चलाया बिजनेसपढ़ सकते हैं.

मैं समझ गया कि मेरी बहन अब अपनी चुदाई का मज़ा ले रही है।मैंने ज्योति से पूछा- बहना … चुदाई का मज़ा आ रहा है?तो उसने कहा- हाँ भइया।लगभग दस मिनट बाद उसका शरीर अकड़ने लगा और उसकी बुर ने पानी छोड़ दिया।उसके बाद मैंने भी जोर जोर धक्के लगाकर ज्योति को चोदना शुरू कर दिया.

जब मैं उनके रूम में पंहुचा, तो पूजा आंटी पंजाबी ड्रेस में थीं और देव अंकल टी-शर्ट, जीन्स में थे.

अचानक से मैंने टीवी बंद कर दिया और वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराने लगी. मामी के होंठ बिल्कुल पतले गुलाबी, कटीली चितवन, बड़े बड़े से स्तन, उभरी हुई जबरदस्त मोटी गांड … कुल मिलाकर मेरी मामी हमेशा चुदासी सी दिखने वाली माल लगती हैं. भाभी की गांड मारने वाली बीएफये सब मंजू को पसंद भी आने लगा और अब तो मानो उसने खुद ही ठाकुर के सामने आत्म समर्पण कर दिया था.

रात में लगभग ग्यारह बजे कमरे का दरवाजा खुला और मेरी बहन ज्योति अंदर आकर दरवाजा बंद करने लगी।इतने में मैं उठकर उसके पास गया और पीछे से बहन की दोनों चूचियाँ पकड़ कर दबाते हुए बोला- कितना इंतज़ार करवा कर तड़पा रही थी!तो उसने कहा- भईया, जब सब सो गए तो मैं आयी हूँ।ज्योति को पलट कर मैं उसके पूरे चेहरे पर किस करने लगा. जल्दी ही मैंने एक एक कर के मामी की साड़ी, ब्लाउज, ब्रा सब निकाल दिया. उसको अंदर लाकर मैंने फोन की टॉर्च से बेड देखते हुए उसे बेड पर लिटाया और फिर दरवाजा अंदर से बंद करके आ गया.

आपको मेरी यह सेक्स रिलेशन स्टोरी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपनी राय जरूर देना और मेरी ईमेल पर मैसेज करना. मैंने कहा- क्या आपके यहां बर्फ मिल सकती है?वो बोली- बर्फ लेने आये हो या दूध की आइसक्रीम खाने?मैं उसकी बात का मतलब उस वक्त समझ नहीं पाया था लेकिन वो जान गयी थी कि मेरे मन में क्या है.

कुछ देर तक काम वगैरह के बारे में बातें करने के बाद अचानक से उसने मुझसे पूछा- तुम्हारी पत्नी तो प्रेग्नेट है, तुम इतने दिन कैसे रहोगे?मैं उसका सवाल सुनकर चौंक गया.

उसका चेहरा शर्म से लाल हो गया और उसने अपने दोनों हाथों से अपनी आँखों को ढक लिया. फिर इसी तरह बात करते करते उन्होंने मुझे गले से लगा लिया और मैं भी उनके गले से लिपट गई. फिर वो मुझे खुद अपने हाथ से अपने दोनों दूध बारी बारी से चुसाने लगीं.

सेक्स के बीएफ वो धर्मपाल के घर का काम खत्म होने के बाद भी हरप्रीत को न जाने कितनी बार चोद चुका था।चुदाई की ये अजब दास्तां अभी भी जारी थी और कब खत्म होने वाली थी इसका किसी को कोई अंदाजा नहीं था. दोस्तो, सूखी हुई गर्म चुत में सूखा हुआ सख्त लंड जब घुसता है, तो जो रगड़ होती है … वो बेहद दर्दनाक होती है.

वो नंगा होकर मेरे ऊपर आ गया और मेरे होंठों को चूसते हुए मेरे जिस्म पर अपने जिस्म को रगड़ने लगा. वो अजीब से चेहरे बनाकर कुछ सोच रही थी।तभी बाजी बोली- इमरान, कहां चलें?तो मेरे से पहले राबिया बोल पड़ी- रसोई में चलो. वो मेरा हैवी लंड देखकर हैरान हो गयी और बोली- आह मैं नहीं ले सकती इतना बड़ा!मैंने उसको समझाया, तब भी वो मानने को तैयार नहीं थी.

अफ्रीका सेक्सी वीडियो ओपन

आप सभी ने मेरी पिछली कहानीचलती बस में रात भर चुदीऔरखुल कर चुत चुदाई का मजा लियाको बहुत प्यार दिया, इसके लिए आप सभी का मैं दिल से धन्यवाद करता हूँ. नीरजा देवी उस हालत में देख कर ठाकुर बलदेव का नागराज फन निकाल कर फुंफकार मारने लगा. फिर मैंने उसका टॉप उतार दिया और उसके 32 इंच के मम्मों को जैसे ही मैंने हाथ लगाया … मेरे हाथ की पूरी उंगलियां उन मक्खन से मम्मों पर यूं छप गईं मानो किसी ने मोम पर अपनी सख्त छाप छोड़ दी हो.

बलदेव ने नीरजा देवी को किसी फूल के भांति घास पर लिटा दिया और साड़ी ऊपर करके उनकी चुत को चाटना आरंभ कर दिया. मैं पुणे में रहता हूं।आपने मेरी कहानीचाची के साथ मस्ती भरा सफरअगर नहीं पढ़ी है तो जरूर पढ़ लें।मैं आपके लिए आज अपनी एक और आपबीती लाया हूं.

आरजू की फैमिली उसकी देखभाल के लिए उसी बंगले के पीछे के रूम में रहती है.

उस समय तो मेरी पहली चुदाई थी, इसलिए मैं ज़्यादा कुछ नहीं कर सका था. मैंने इस लिए सुमन को जाने दिया क्यों कि वो उस दिन से लेकर अगले सात दिनों तक मेरे से चुदने वाली थी. कुछ देर में विजय मुझे ढूंढता हुआ मेरे पास आया और बोला- आप कहां चली गई थीं, मैं आपको कब से ढूंढ रहा था.

फिर मैंने थोड़ा सा सुपारा अंदर रख कर कमर दोनों हाथों से पकड़ ली और धक्का मारा तो बाजी का सिर राबिया की चूची से टकरा गया और फिर से चीख निकल गई. मैंने पूछा- क्यों?संजय- आप इतनी उम्र में भी अभी भी इतनी सेक्सी हो और वो अभी से एकदम ठंडी है. मैं अपने दोनों हाथों से भाभी की दोनों चूचियों को साड़ी के ऊपर से ही दबाते हुए उनकी गर्दन पर किस करने लगा.

मैं बदन ऐंठने की कोशिश करके लगी पर इतने में दोनों बगल के हवलदारों ने मेरे टांगों पर दबाव बढा़ दिया.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स: मैं देखना चाहता था कि अगर वो जाग रही होगी तो अपने कपड़े जरूर पहनेगी. मैंने अपने ब्लाउज की डोरी संजय से बांधने के लिए बोली, तो वो तुरंत आकर बांधने लगा.

अंकल- टीना, तुम्हें मेरी एक बात माननी पड़ेगी … फिर मैं वीडियो डिलीट कर दूंगा. वो बोली- देख कर नहीं चलते हो?मैंने भी हिम्मत करके बोला- अंधेरे में आपको दिखाई देता होगा … मुझे तो नहीं दिखता. वो मेरे मम्मों को आटा सा गूंथता हुआ कभी मेरे होंठों का रस पीने लगा … तो कभी मेरे दूध की घुंडी को होंठों से दबा दबा कर खींचते हुए चूसने लगा.

जब मैं नहा कर नंगी बाहर कमरे में आकर अपना जिस्म पौंछ रही थी, तभी मेरे दामाद का छोटा भाई विजय उधर से गुज़र रहा था.

चूंकि ये मेरी पहली सेक्स कहानी है इसलिए ग़लती को नजरअंदाज करते हुए इस देसी बुआ सेक्स कहानी का आनन्द लीजिएगा. कहानी के पात्रों की गोपनीयता बनाये रखने हेतु पात्रों के नाम मैंने बदल कर कुछ और ही लिखे हैं. तुरंत मैंने उसकी चूची को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया और वो जैसे मेरे काबू में होने लगी.