सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर

छवि स्रोत,श्रीदेवी की सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

नौकरानी की चुदाई दिखाओ: सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर, ”मैंने भी नशे के झोंक में कौशल्या को पीछे से कमर के बल उठा लिया और कहा- अब तो हाथ पहुँच जाएगा ना.

अक्षरा सिंह का गाना

मेरे पति मुझसे कहने लगे- मनीषा, अब मान भी जाओ!और उनका दोस्त भी कहने लगा- भाभी जी, अब मान भी जाओ ना … हमें भी तो मौका दो आपकी सेवा करने का। आप चाहो तो मैं अगली बार अपनी पत्नी को भी लेकर आऊंगा और फिर हम चारों मजे लेंगे।धीरे धीरे वो दोनों मुझे मनाने लगे. जापानी मालिशमैंने अन्दर आने के लिए रास्ता छोड़ दिया, तो वो चाय का कप हाथ में पकड़ाते हुए बोली- प्लीज तुम राहुल को स्कूल छोड़ आओ, आज उसका ट्रिप दो दिन के लिए शिमला जा रहा है, स्कूल बस नहीं आएगी.

तुम ध्यान से देखो, क्या तुम्हें अब अच्छी नहीं लग रही है?उसने ड्रेसिंग टेबल में देखा और बोली बहुत अच्छी लग रही है, अब तो यह कुछ-कुछ मम्मी जैसी लगने लगी है. मराठी सेक्सी पिसातुरेनेहा की तड़प बता रही थी कि वो अब पूरी तरह से उत्तेजित हो गयी‌ है और उसकी चुत अब कुछ मांग रही है.

मेरी बहन की चुदाई कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि की मैंने अपनी बहन को बताया कि उसके आशिक ने मुझे अपना लंड चुसवाया.सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर: तुझे मैं बस रोज ऐसे ही चोदूंगा और तुझे ऐसे ही मस्त लौड़ों से चोदते देखूंगा.

पर अंकल का लौड़ा फिसल गया और मेरी जांघों के बीच में चूत तरफ से आ गया.मन कर रहा था कि अभी इसको लात मार कर यहाँ से भगा दूं। मैं मन ही मन अपनी किस्मत को रो रही थी। उसने अपनी वो लुल्ली पूरी भी नहीं घुसाई मेरी चूत में और 10-12 धक्के मारने के बाद उसने अपना वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया और करवट लेकर सो गया। मैं पूरी रात अपनी किस्मत को कोसती रही।मैं सुबह उठी और फ्रेश होकर आयी.

सेक्सी के फोटो - सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर

सोनू की मम्मी को चोदने की, मेरी और सोनू की कल्पना साकार हुई या नहीं … यह अब मैं अगली कहानी में लिखूंगा.उसने बोला- बाहर विराट आ गया होगा और मेरी मॉम भी सोच रही होगी कि मैं कहां हूँ तो अभी रुक जाओ.

कुछ देर बाद मैंने उसे रोका और उसे घोड़ी बनने को कहा तो वो डर गई कि कहीं मैं उसकी गांड तो नहीं मारना चाह रहा हूँ. सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर तभी दूसरा करार धक्का मारकर मेरे पति ने अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में घुसेड़ दिया.

प्रमिला बोली- हां यार … ये तो सच में घोड़ा ही है … तभी तो अन्नू और डोली ने इसे अपने साथ रखा हुआ है.

सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर?

इसी मजे के कारण मैंने अब नेहा की चूची को छोड़ दिया और अपनी गर्दन उठा कर उसके चेहरे की तरफ देखने लगा … वो भी मेरी तरफ ही देख रही थी. करीब एक घंटे तक उसने उस दिन बात की और मुझे सुबह दुकान पर दूध लेने आने का पूछा. वह- चंदा! तुम्हें नफरत नहीं हुई मेरे काले कलूटे लंड से?मैंने न चाहते हुए भी उसके लंड को आजाद किया और उसकी आँखों की तरफ देखते हुए कहा- तुम नहीं जानते प्यारे! तुम्हें ईश्वर ने क्या दे दिया है? यह नफरत करने की नहीं, प्यार करने की चीज है.

अब मैं भी गर्म होने लग गयी थी तो मैंने भी उसका साथ देना शुरू कर दिया. जब 3 साल पहले हम एक शादी में मिले थे तो उस वक्त वो मुझे इतनी पसंद नहीं थी और हमने कभी भी बात नहीं की थी. वो नई मैडम जैसे ही में ऑफिस के अन्दर आई, पूरा रूम एक सुंदर सी खुशबू से भर गया.

मुझे हंसते देखकर वह भी मुस्कुराकर अन्य ग्राहकों को दूध देने में लग गया. धीरे धीरे सोनल ने लुंगी उनके जांघों के भी ऊपर सरका दी और उनकी जांघों पर अपनी उंगलियां घुमाने लगी. इतनी तपिश मैंने आज तक किसी चूत में नहीं देखी, जैसी तेरी चूत में है.

यह कहते हुए वह मेरी गोदी में सर रख के लेट गए, मैं फिर भी कुछ नहीं बोली. उन्होंने जैसे ही नीचे देखा, दूध सी सफेद चिकनी जांघें देख वह अपना आपा ही खो बैठे और मेरी रेशमी जांघों को बेहताशा चूमने लगे.

हमें कसके पकड़ लेना अगर डर लगे तो!मानसी- ठीक है।मेरा लंड और खड़ा होकर धोती से उछलने लगा.

मैं अब उसकी चुत के प्रवेशद्वार के भीतर तक चाटने लगा था, जिससे प्रिया की कमर की हरकत के साथ साथ उसकी आवाजें भी बढ़ने लगी थीं.

उसने पानी बाल्टी में डाला, तो उस वक्त उसकी साड़ी का पल्लू थोड़ा खिसका और उसके मम्मे दिखाई दिए. अब तक इस सेक्स स्टोरी के पहले भागदोस्त ने अपनी बहन को चुदवाया-1में आपने जाना था कि मेरे दोस्त रवि ने अपनी बहन को रंडी बनाने की ठान लिया था. उन्होंने मेरा लौड़ा पकड़ लिया, तो उनको पेंट के अन्दर से लंड तम्बू बनाये हुए लंड मजा देने लगा.

मैंने कहा- मतलब?तो वो बोली- मेमसाब ने बोला था कि मेरे आने तक साब की अच्छी से सेवा करना … उन्हें मेरी कमी नहीं महसूस होनी चाहिये. तभी उन्होंने मुझसे कहा- तुम्हें बहुत अच्छी तरह से पता है कि मैं एक शादीशुदा औरत हूँ. मैंने चाची के चूतड़ों को पकड़ कर लंड को ठेला, चाची ने भी नीचे से जोर लगा दिया.

हम दोनों ने साथ में कपड़े पहने और 5 मिनट बाद बाहर सोफे में आकर बैठ गए.

देखा … कितना मज़ा आया ना? इसको भी समझा … ये भी थोड़े मज़े लेना सीख ले मुझसे … जवानी चार दिन की होती है … फिर पछताएगी नहीं तो …” सर ने कहने के बाद एक बार और जीभ लपलपाते हुए मेरी योनि की फांकों में खलबली मचाई और फिर बोले- कह दे ना इसको … दे दे मुझे तो अलग ही मज़ा आएगा … बोल दे इसको … मौज कर दूँगा ससुरी की … मेरिट ना आए तो कहना!मैं कुछ ना बोली … मैं क्या बोलती? मेरा बुरा हाल हो चुका था. मैंने उसके बोबों के बीच में तने हुए उसके निप्पल्स को अपनी चुटकी में भरकर मसल दिया तो वो उछल पड़ी. मैंने उसकी लेगिंग को उतारने के लिए कहा क्योंकि वहां पूरे कपड़े उतारना संभव नहीं था.

बिना किसी झिझक और शर्म के बगैर किसी पर भरोसा करके देखें बहुत मजा आता है. इतना कह कर चाची एक हाथ को पीछे करके मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर लगा दिया. कुछ देर मैं यूं ही भाभी को छेड़ता रहा और भाभी चाय बनाने में लगी रहीं.

मैंने उसकी चुची दबाते हुए अपने पैर मेज़ पर से नीचे किये और उसे गोद में ले लिया.

दो मिनट के बाद वो एकदम से फ़िर होश में आयी, उठी और बोली- कर दी ना बदमाशी, अब मैं तुम्हें बताती हूँ और मज़ा चखाती हूँ. उनकी चुदाई देखने से मुझे भी ऐसा लगने लगा था कि रियल ब्लू फिल्म की शूटिंग चल रही हो.

सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर यह तो मेरा बड़ा सौभाग्य है, जो उसकी जैसी खेली-खाई ग्रेट चुदक्कड़ कन्या से मेरी शादी हुई. मुझे से उतरते ही आंटी किसी प्यासी दुल्हन की तरह मेरे सीने से चिपक गईं.

सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर थोड़ी देर बाद मैं थोड़ा आराम से करने लगा, जिससे उन्हें भी पूरा मजा आने लगा. इसी स्पीड में चाची की चुदाई लगभग 10 मिनट तक चली और उसके बाद चाची की चूत ने एक बार फिर से पानी छोड़ दिया.

मैंने कहा- असली मर्द का सुख भोग कर पहली बार मुझे भी इतना मजा आया है मेरे राजा!2 बजे तक राजीव जी ने मुझे भरपूर सुख दिया।मैं राजीव जी के पास से औरत होने का पूरा एहसास लेकर वहां से लौटी।यह थी मेरी ज़िंदगी की यादगार चुदाई। मैं अगली बार एक नई आपबीती के साथ जल्दी वापस लौटूंगी.

सेक्सी वीडियो बूर चाटने वाला

बोलो न चाची रोज रोज चुदवाओगी न मुझसे?चाची- हाँ रे … अब तो रोज चुदवाऊंगी तुम से … तुमको जब भी मुझे चोदने का मन करे … आ कर चोद लेना. उनके मम्मों का आकार इतना मस्त था और स्पर्श का अहसास बिल्कुल मखमल के जैसे मुलायम था. उन्होंने मेरी एक टांग उठाकर अपने हाथ से साधी और अपने लंड को धीरे से मेरी चूत में पेल दिया.

मेरी योनि की पंखुड़ियों में सनसनाहट पैदा होने लगी और ऐसा लगने लगा कि कुछ रेंगता हुआ गुदगुदाता हुआ मेरी योनि के भीतर जाने लगा. अनिल फुल मस्ती में हो कर मीनाक्षी को खूब गालियां दे रहा था- हाय मेरी कुतिया … मेरी रांड … खा जा रे मेरा लौड़ा … मजा आ रहा रे रंडी वेश्या!वो ऐसा बोलता जा रहा था. महेश ने सुनील को बोला- यार तू कुछ पहन के नीचे जा, दारू की बोतल ले आ.

आह्ह्ह्ह… भाभी के होठों की छुअन से मेरे लंड में जैसे बिजली सी दौड़ गई और मेरा लंड दोगुनी शक्ति के साथ झटके देने लगा.

आज दोनों बच्चे साथ ही यहाँ सोने वाले हैं भाभी जी, आप चिंता ना करना. फिर उन्होंने मुझे पकड़ा और बीच वाली लंबी सीट पर वहीं मुझे पकड़ कर पूरा लिटा दिया. मेरे पति ने शादी की पहली ही रात में मुझे उनके भाई के बारे में बता दिया था.

उसके बड़े-बड़े और गोरे बूब्स को देखकर मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था. पर लेटने से पहले ठीक उसी तरह उसने मेरे मुँह में कपड़ा डाला, जैसे मैंने उसके मुँह में. मैं ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध पीने लगा, मालिनी मेरे लौड़े से खेलने लगी.

वो दोनों हॉल में बैठ गए और मैंने और नेहा ने सब बर्तन साफ किये और रसोई का काम निपटाया. सन्नी मेरे सामने गांड खोले खड़ा था और मैं उसके सामने से पीछे हाथ करके उसकी गांड में उंगली कर रहा था.

उभरे हुए सुडौल स्तन, मस्त ठुमकते हुए नितम्ब, कमसिन चिकनी कमर, रसीले होंठ. पर अंकल का लौड़ा फिसल गया और मेरी जांघों के बीच में चूत तरफ से आ गया. करीब 5 मिनट और धक्के मारने के बाद उसकी टांगें कन्धे पर रखे रखे, मैं उसके ऊपर झुक गया और उसके होंठों को मुँह में लेकर चूसने लगा.

मुँह में मेरा लंड होने के बाद भी भाभी की नशीली आवाज़ हमम्म्म ममम ह्म्‍म्म्मम कर के आ रही थी.

उसे देखकर अक्सर मैं मुट्ठ मारकर खुद को शांत कर लेता था, मगर उसे जमकर बजाने का सपना मन में लिए बैठा था. गुड़िया लगातार सिसिया रही थी- आह … आ … आऊ … बाबू स्लोली कर … दुख रहा है. तभी मैंने महसूस किया कि आंटी का हाथ अपने आप मेरे ट्रैक पैंट के ऊपर से मेरे लंड को सहलाने लगा था.

यह कहकर दादा अंकल ने सीधे मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठों की जोरदार चुम्मी ले ली. चूंकि हम दोनों पड़ोसी थे, इसलिए जब मेरी सहेली अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ कहीं घूमने निकल जाती थी, तो मैं उसके भाई से बात कर लेती थी.

मेरी सहेली का पति मेरी चूत को चाटने लगा और मैं उसके लंड को चूसने लगी. फिर मैंने उससे किस मांगा, तो उसने जैसे ही मेरे तरफ मुँह किया, मैंने मेरी जीभ उसके मुँह में डाल दी और नीचे के होंठ काटने लगा. अचानक से उसका बदन अकड़ गया, उसने अपनी दोनों जांघों से मेरे सिर को जोरों से भींच लिया और सुबकियां भरते हुए रह रह के अपनी चुत से मेरे चेहरे पर प्रेमरस की बौछार सी करनी शुरू कर दी, जिससे मेरा सारा चेहरा भीग गया.

बाप और बेटी की ब्लू फिल्म सेक्सी

आह … कितना गर्म मुँह है तेरा। इसको बोल … जितना आज तूने किया है … ये भी करे … वरना मैं तुझे चोद दूँगा आआह्ह्ह!”कुछ देर बाद उन्होंने मेरे मुँह से लंड निकाल लिया- बोल … क्या कहती है? इसको मनाएगी या अपनी चुदवायेगी?उन्होंने गुस्सा दिखाते हुए कहा.

मिल में काम करने की वजह से जेठ जी की तीनों शिफ्ट में जॉब रहती थी, इसलिए जब भी उनको समय मिलता, वह खाने के लिए यहीं हमारे फ्लैट में आ जाते थे. मैंने अपने मुँह से महेश का लंड बाहर निकाल दिया और जोर से चिल्ला उठी- उई माँ … मर गई … निकालो मुझे बहुत दर्द हो रहा है. मैंने उसके कान में बताया कि मैं तुम्हारी चूत में अपने लंड को डालना चाहता हूँ.

वह इतनी बेकरार हो गई थी चुदने के लिए कि एक दिन खुद ही शटर डालकर कह उठी कि राज मुझे चोद दो. इसलिए धीरे धीरे मैंने अब अपने धक्कों के माप को बढ़ा दिया और अपने पूरे लंड को नेहा की चुत में अन्दर बाहर करने लगा. करिश्मा की नंगी तस्वीरइसके बाद उसने मेरी जीन्स की चैन खोल कर मेरा लंड निकाला और हिलाने लगी.

मेरे मुँह से एकदम से आह निकल गई- आह मर गई!जेठ जी ने हंसते हुए धीरे धीरे धक्के देने शुरू कर दिए. ठाकुर अंकल ने मेरी चूत में हाथ लगाया और अपनी एक उंगली मेरी चूत में पेल दी.

दादाजी ने ही अपने दोनों हाथ सोनल के गाउन के ऊपर से ही दोनों स्तनों पर रखे और उनको मसलने लगे. चूँकि मैं एक अमीर घर का लौंडा हूँ इसलिए घर में कम रहता था और दोस्तों के साथ घूमता रहता था. फिर लंड टिका कर मैंने ज़ोर का झटका मारा तो भाभी चिल्ला दीं- आह्ह … मर गई!मेरा आधा लंड अन्दर घुस गया था.

इस बात का मेरे पास कोई जवाब नहीं था, मैंने कहा- तुम्हें मेरी कसम है. वो बोली- थैंक्स!उसने अन्दर आने को कहा, मैं अन्दर जाकर सोफे पर बैठ गया. बात उन दिनों की है जब हम मौहल्ले में खेलते थे, हमारी बिल्डिंग के सामने वाली चॉल में एक भाभी रहने आई.

अपनी इस विशाल गांड वाली चाची को … आह … तू बहुत मस्त चोदता है रे!चाची की रंगीन बात सुन कर मैं और ताव में आ गया और जोर जोर धक्का देने लगा.

क्योंकि डिल्डो तो कोई रस निकालने वाला था नहीं, उससे तो चाहे पूरी रात धक्के लगवाओ, उसे क्या फर्क पड़ने वाला था. उसके बाद मैं मॉम को वहीं छोड़ कर अपने दोस्त के घर के लिए कुछ मिठाई लेने के बहाने घर से निकल आया.

क्योंकि मुझे मालूम था कि मेरे पति का मोटा मूसल लंड मेरी गांड में आसानी से नहीं घुसेगा, ये मूसल मेरी गांड को फाड़ देगा. मैं प्रिया के बारे में सोच ही रहा था कि तभी नेहा ने अपनी चुत को मेरे पूरे चेहरे पर जोरों से दबाकर रगड़ दिया. फिर उसने मुझे उठने को कहा और मैं भी अपनी प्यारी सहेली का कहना मानकर उठ कर बैठ गयी.

रात को जब मैं पानी पीने के लिए उठा तो मैंने उनके कमरे में जाकर देखा कि उनकी मेक्सी उस समय उनकी गोरी जांघों से ऊपर आ गई थी और मैं उनकी गोरी गोरी जांघें वहां पर खड़ा होकर देखने लगा. मुझे अभी होटल जा कर कपड़े बदलने थे इसलिए मैंने उससे बोला कि मैं चलता हूँ. मुझसे बात करते हुए रवि ने मेरे कंधे में हाथ रख कर पीछे से मेरे सीने में हाथ रख दिया और बोले- मैंने तुम्हारी बड़ी तारीफ सुनी है.

सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर आपको भाई बहन की सुहागरात की कहानी कैसी लगी, उसके लिए कमेंट्स कीजिये. अब हमारे पास बहुत समय था, तो मैंने और आनन्द ने बार में जाकर पीने का मन बनाया.

जुदाई जुदाई जुदाई सेक्सी

अरे उतारिये मुझे मास्टर जी, कोई आ जाएगा तो क्या सोचेगा?”कोई नहीं आएगा … मैंने आते वक़्त बाहर का दरवाजा लॉक कर दिया था. मैंने गीला लंड उसकी गांड में लगाया और एक कस के धक्का मारा तो एक ही धक्के में मेरा पूरा लंड उसकी गांड में चला गया. अब मैंने उसे पलंग के किनारे पर करके उसकी चुचियों को पकड़ कर धक्के लगाने शुरू कर दिए.

नेहा आंटी झट से वहीं नीचे जमीन में बैठ कर मेरा लंड चूसने लगीं और मैं उनके बूब्स मसलने लगा. तुमने तो अपना परिचय भी नहीं दिया … अच्छा चलो यहीं बैठो मेरे पास … थोड़ी बातें करते हैं. चोदा चोदी वाली फिल्मवहां वो उनको नल चालू करके फंक्शन बता ही रही थीं कि तभी अचानक शावर चालू हो गया और मॉम भीग गईं.

पर अभी तक जेठ जी ने मुझे गंदे इरादों से छुआ नहीं था, पर आगे चल छुएंगे नहीं, इस बात की भी कोई गारंटी नहीं थी.

मगर प्रशांत को छोड़ने से पहले नीना एक बार फिर उसके लौड़े की कुल्फी गटकना चाह रही थी. उसने हंसते हुए कहा।मैं बेशर्म होते हुए बोला- यार कैसे शांत करती हो चूत को … चूत को तो लंड ही शांत कर सकता है.

मुझे बहुत तेज दर्द हो रहा था, पर दर्द को छुपाते हुए मैंने कहा- जी मम्मी …अब मम्मी सीधी हो गईं. खाना खाने के बाद भाभी बोली- तुम यहीं ड्राइंग रूम में 10 मिनट बैठो, मैं आती हूँ, तुमने अन्दर नहीं आना है. इतना सोचने के बावजूद भी न जाने क्यों मेरे दिमाग में सरोज चाची को चोदने की बात नहीं आई थी, जबकि मैंने कई कई बार उनको गांड हिलाकर मटक मटक कर चलते देख कर मुठ मारी थी.

आ … उह … समर, प्लीज लंड बाहर निकाल ना … बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज बाहर निकाल ले, मैं मर जाऊँगी …”नहीं मेरी जान … कुछ भी नहीं होगा बस दो मिनट में दर्द चला जाएगा.

मुझे अभी होटल जा कर कपड़े बदलने थे इसलिए मैंने उससे बोला कि मैं चलता हूँ. जब तू यहां से जाएगी, तो हम दोनों भाई दबा दबा के तेरे दूध बहुत मस्त कर देंगे. कुछ देर तक लंड चूसने के बाद अब मुझसे बिल्कुल रहा नहीं जा रहा था, मैं बोली- रवि जी सीधे हो जाओ और अब मत तड़पाओ.

बड़े बड़े स्तन वाली औरतउसके बाद कोलकाता आने तक मैंने उसे 5 बार और चोदा, एक बार उसकी गांड भी मारी. जब मैं उसकी चूत पर अपनी गर्म जीभ लगा रहा था तो उसके मुंह से ‘इस्स्स …’ करके एक कामुक सिसकी निकल जाती थी।मुझे उसकी चूत को चाटने में बहुत मज़ा आ रहा था। मैंने उसकी चूत में अंदर तक जीभ को घुसाने लगा था और वो तड़पने लगी थी.

20 ईयर सेक्सी

फिर वह उठी और मेरे ऊपर आ गई 69 की पोजीशन में! हम दोनों लड़कियां एक-दूसरी की चूत चूस रही थी. मैं उनकी इस रुखाई से डर गया कि कहीं वो मेर इस हरकात को मेरी मम्मी को ना कह दें. उसने मुझे सुझाया के यदि मुझे पति से सुख नहीं मिल रहा, तो तुम किसी अन्य से ये सुख प्राप्त कर सकती हो.

उसने कहा कि घर में सास ससुर को बता दो कि उसकी बस रास्ते में खराब हो गयी है और वो कल सुबह ही दूसरी बस पकड़ कर आएगी. हम लोगों ने बहुत सारे तरीकों से, बहुत सेक्स पोजीशन में लेस्बियन सेक्स किया. लेकिन फिर भी मैं उससे बात न कह पाया, न ही उसने मुझसे कोई ऐसे बात कही, जिससे मुझे लगता कि वो मुझमें रुचि ले रही है.

मैं अपनी पत्नी और नीरू की चूत में पीछे से लंड डालकर बारी बारी दोनों की चुदाई करता रहा. मैं उसको चूमना छोड़ कर सीधा हुआ और उसकी आंखों में देखा, तो उसने आंखों के इशारे से पूछा- अब क्या?मैं बोला- नैना, मैं तुम्हारे बूब्स देखना चाहता हूँ. अंधा क्या चाहे, दो आँखें … मुझे बिना अधिक प्रयास के इंदौर की उस रात को रंगीन बनाने का साधन मिल गया था.

कुछ देर के बाद जैसे ही वो शांत हुईं तो मैं उनके मम्मों को चूसने लगा. वो मेरे सीने पर अपने हाथ रख कर चूत चुदवाते हुए कहने लगी- आह राज और जोर से करो.

ना ही मैंने उनकी कभी गांड मारी थी, ना कभी उन्होंने ये सब करने को कहा था.

उसकी चूत पर थोड़े थोड़े बाल थे और मादक मदन रस टपक रहा था, जिसे मैंने चाट चाट के साफ कर दिया. जेठालाल मोबाइल नंबरमैं अपने दोस्त से बोला- कोई बात नहीं भाई देखते हैं, एक बार मुलाकात हो जाएगी तो वो समझ जाएगा कि अब केस मेरे पास आ गया है. देसी49 कॉमनहीं तो मैं किसी को मुँह दिखाने के लायक नहीं रहूंगी, मेरी ज़िंदगी बर्बाद हो जाएगी. क्योंकि मुझे अकेले ड्रिंक करने की आदत नहीं है।मैंने उसे ‘हाँ’ कर दी।वो दो ड्रिंक ले के आई.

इसके अलावा और भी बहुत कुछ पता लगा कि दुनिया में क्या-क्या होता है। अब मैं कहानी पर आती हूँ।मेरा नाम सुनीता है और मैं उत्तर प्रदेश के एक गांव से हूँ। ज्यादा पढ़ी-लिखी भी नहीं हूँ। मेरी लंबाई 5 फ़ीट 3 इंच है और शरीर पूरा भरा हुआ है। मेरे चूचे भी अच्छे खासी मोटाई वाले हैं क्योंकि मैंने जवानी में कदम रखते ही उनको दबवाना शुरू कर दिया था.

अन्तर्वासना के लेखकों की हिम्मत को जानकार, मैंने भी मेरी जिंदगी में हाल में हुई एक सत्य घटना को प्रस्तुत करने का मन हुआ. उसने मेरे बाल पकड़कर मेरे कूल्हों में दो थप्पड़ भी लगाए और पूरा लंड सैट करके एक झटके में घुसा दिया. मेरा लंड चूत में घुसते ही चाची सि … सी … करने लगीं और अपने भारी भरकम चूतड़ों को पीछे लंड की ओर ठेलने लगीं- आह … चोदो अब जितना मर्जी उतना पेलो!मैंने धक्का मारते हुए आवाज दी- आह … चाची गांड की तरफ से आपकी चूत चोदने में बहुत मजा आ रहा है.

बस्स … अब … एक बार में तो ऐसी हालत कर दी कि अभी तक बदन दुख रहा है … मेरी हिम्मत नहीं है अब … बाकी की दवाई अब तुम‌ उन दोनों से ही ले लेना …”सुलेखा भाभी ने‌ ताना सा मारते हुए कहा और मेरे पास से उठकर फिर से अपने कपड़े ठीक करने लगीं. मेरे हाथ को महसूस हुआ कि उसकी चूत गीली हो गई थी।मैंने उसकी चूत में अपनी उंगली डाल दी और अंदर-बाहर करने लगा।इतने में वो बोली- मुझे चोदो अभी!तो मैंने कहा- अभी कैसे चोदूँ?तो बोली- कुछ भी करो वरना मैं मर जाऊंगी!मैंने सोचा यहाँ तो सब लोग सो रहे हैं, यदि मैंने इसको यहीं पर चोदना शुरू कर दिया तो किसी न किसी को ज़रूर पता लग जाएगा। मैंने दिमाग से काम लिया और सोचा कि बस वाले भैया से सेटिंग करनी पड़ेगी. फ्लैट पर आने के बाद मैंने भाभी को बोला- भाभी, मुझे आपको कुछ कहना है, आप बुरा तो नहीं मानोगी?भाभी बोली- हां बोलो, क्या बोलना चाहते हो आप?मैंने कहा- भाभी आप बहुत सुन्दर लग रहे हो, आपकी जैसी सुन्दर लड़की मैंने आज तक नहीं देखी है.

सेक्सी गर्ल चूत

बातों ही बातों में उसने मेरा नम्बर ले लिया और आइ-डी पर मुझे ब्लॉक कर दिया. जेठ जी बड़े ही उतावले हो गए थे, मुझसे फोरप्ले करने की बजाए, वह मुझे जल्द से जल्द नंगी करने पर तुले थे. मैंने उसको आइडिया दिया कि नीचे चलकर सबके सामने एक सीढ़ी से गिरने का नाटक कर लो, तो तुमको चलना ही नहीं पड़ेगा और जब चलोगी नहीं, तो तुमको कोई बोल ही नहीं पाएगा और तुम धीरे धीरे लंगड़ा कर चल भी सकती हो.

मुझे कुछ देर दर्द हुआ पर गांड का कोरापन खत्म होते ही मुझे बहुत अच्छा लगने लगा था.

मुझे उठाने के बाद मम्मी मुझसे नजरें नहीं मिला पा रही थीं, ना मुझसे बात कर पा रही थीं.

वहां काफी देर हम लोगों ने मस्ती की और फिर हम गेस्ट हाउस के अन्दर डीजे पे डांस करने के लिए गए, तो देखा कि वहां पहले से ही एक खूबसूरत लड़की डांस कर रही थी. मैंने पूछा- कैसा लगा आज?उसने कहा- बहुत अच्छा लगा। कल का क्या प्रोग्राम है?मैंने कहा- अभी तो कोई प्रोग्राम नहीं है, तुम आ जाओ तो बना लेंगे प्रोग्राम।रोजी थोड़ा सोचते हुए बोली- कहाँ मिलेंगे?मैंने कहा- मेरे रूम पर आ जाओ, दिन में यहाँ कोई नहीं होगा, मेरे सारे दोस्त अपने अपने ऑफिस में होंगे. देसी औरत का नंगा फोटो बुड्ढेमैंने उनको उठाया और कमरे में ले गया वहाँ जाते ही उन्होंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और मेरे कपड़े उतार कर चूमने लगी.

मैंने कहा- नहीं यार, हमारी ऐसी किस्मत कहां और ऐसी कोई बहन भी तो नहीं जिसे जरूरत हो. मैंने उसके हाथ को अपने हाथ में ले लिया और वह मेरे गले लगकर नीचे से मेरे लंड को सहलाने लगी. इधर आगे अनवर मेरी एक टांग को अपने कंधे में रखकर जोर से अब पूरा लौड़ा मेरी चूत में अन्दर करने लगा.

फिर उतने में ही गैब्रियल और मैक दोनों शांत होकर आराम से मुझे रगड़ने लगे. अब जैसे ही मैंने अपना अंडरवियर उतारा और अपना लंड चाची की चुत में डालने को हुआ, तो चाची ने रोक दिया.

पल्लवी की चुदाई के बाद भूख लगने लगी थी इसलिये मैंने खाने का आर्डर दे दिया।इधर पल्लवी पेट के बल लेटी हुयी थी, मैंने कैपरी पहनी और टी-शर्ट डाल ली और पलंग के पास आ गया। मेरी नजर पल्लवी के गोल-गोल उभारदार कूल्हों पर पड़ी और मैंने कस कर पल्लवी के कूल्हे को पकड़कर फैला दिया और लार को गांड की छेद में गिराने लगा.

सोनू की चूत से गर्म-गर्म वीर्य निकलता हुआ सोनू की गांड को भिगोता हुआ नीचे गिरने लगा. वो बुरी तरह से थक गई थी तो मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा और पीछे से जोरदार चुदाई करने लगा. रेखा के बारे में आपको बता दूं कि उसका चेहरा, उसका फिगर देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाएगा.

सेक्स pics सोनू जब सोफे के ऊपर बैठी थी तो मैं उसकी मोटी जांघों और चूचियों को देख रहा था. उधर मॉम तो चिल्ला भी रही थी- अआहह हहह … और तेज चाटो हहह … ससस हहह हहह …और तेज!लेकिन मैं तो चिल्ला भी नहीं पा रही थी.

क्योंकि मुझे अकेले ड्रिंक करने की आदत नहीं है।मैंने उसे ‘हाँ’ कर दी।वो दो ड्रिंक ले के आई. मैं जैसे ही राजा जी बोली, वो ठाकुर अंकल बोले- वाह तेरी आवाज भी बहुत सेक्सी है वन्द्या. मैंने ख़ुशी ख़ुशी उसे नंबर दे दिया और उसका मोबाइल नंबर भी ले लिया।छुट्टी के दूसरे दिन उसका फोन आया- क्या हो रहा है सुन्दर साहब?मैंने कहा- कुछ नहीं … बस तुम्हारे बारे में ही सोच रहा था। लगता है गेम बढ़िया तरीके से सीख गयी हो?हाँ … जब आप सिखाओगे तो बढ़िया ही सीखूंगी.

ससुर बहु की चुदाई सेक्सी वीडियो

बहुत देर तक लंड चुसाने के बाद करण ने मेरी बीवी को घोड़ी बना लिया और अपना विशाल लंड अनु की चूत में अन्दर तक डाल दिया. ’ये कहते हुए उन्होंने अपने मज़बूत किसानी हाथों से मेरी गांड को मसल दिया. मैं कुछ नहीं बोला तो उसने मुझसे पूछा- क्यों क्या आप अपनी गर्लफ्रेंड से भी यही सब करते हो??मैंने उसको कहा कि हम दोनों 2 साल पहले ही अलग हो गए हैं.

एक शाम, मैं अपने दोस्त के साथ एक सुनसान रोड पर बाइक पर बैठ कर सिगरेट पी रहा था. पूरा कमरा हम दोनों की धक्कमपेल और नेहा की किलकारियों से गूंज रहा था.

बस सर्विस ही तो की है लेकिन मीना ने प्यार से कहा- आप रख लो ना प्लीज!मीना के कहने पर मैंने वो पैसे रख लिए और मैं वहां से वापस आ गया.

कुछ देर बाद फिर से उत्तेजना बढ़ गई और चुदाई का खेल फिर से शुरू हो गया. मेरे फायनल साल की परीक्षा आने वाली थी, तो मैं रोज रात को बहुत देर तक अपने कमरे में पढ़ाई करता रहता था. उसके बाद मैंने उसकी जींस पहनी और उसे एक किस देते हुए वापस अपने घर आ गया.

तभी चाची का फोन आया, उन्होंने बोला- तू श्वेता के यहाँ खाना खा लेना, मैं सुबह आऊँगी. हमने बाद में भी दो तीन बार मूवी देखी, लेकिन हफ्ते के बीच वाले दिन में, शनिवार को नहीं. अभी मेरा दिमाग बिल्कुल सुन्न था, चारों तरफ से गाड़ी बंद कर दिया था.

मैंने भी सोचा चलो दूसरा काम भी हो गया और सब कुछ प्लान के मुताबिक़ चल रहा है और अच्छा ही हुआ कि आंटी ने मेरे सिगरेट और शराब की बात बोल दी.

सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर: वो गजब आवाज करने लगीं- छोड़ दो मुझेईई … आह डाल दो मेरी बुर में अपना लंड मोटा लंड. मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी पैंट पर रखवा लिया और उसने खुद ही मेरे तने हुए लंड को ढूंढ लिया.

उसने कहा- अरे यार यह क्या किया … मेरा मुँह खराब कर दिया … इधर उधर ही छोड़ देते. मैंने सोनू से उसके घर के बारे में पूछा, उसकी मम्मी के बारे में पूछा और उससे बहुत ही फ्रेंडली तरीके से पेश आता रहा. वो गुस्सा थे मुझसे इसलिए मैं उन्हें मनाने की कोशिश करने लगी।मैंने अपने हाथों से वो गिलास उनके मुँह पर लगाया तो उन्होंने वो पी ली.

इस पर वे मुझे छेड़ते हुए बोली- अगर वो सांड कलूटे बड़े लंड वाले चोदू फिल्म में से बाहर आ जाते तो पक्का चुदाई करवा लेती.

मैं अभी खड़ा रहा सोच रहा था कि क्या करूं, अन्दर जाऊं या नहीं … गेट बजाऊं या नहीं … ऐसे सोचते-सोचते काफी देर हो गई. लेकिन मैं देखना चाह रही थी कि तेरी गांड में कितना दम है?मैं भाभी की बात सुनकर हैरान था. मैंने लता भाभी की साड़ी ऊपर उठा कर उसके पटों (जांघों) पर हाथ फिराया.