नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी

छवि स्रोत,सामूहिक जुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

बच्ची सेक्सी: नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी, इस पर जब कभी किसी के पास फोन में जरा सा भी पोर्न देख लिया, तब तो पूछो ही मत कि चूत का हाल क्या होता था.

दोस्त की बहन की

जैसे ही मैं चाची की गांड चूसने लगा, उन्होंने मेरा लंड चूसना छोड़ दिया और मेरी जीभ से अपनी गांड चुसाई का मजा लेने लगीं. सविता भाभी कार्टून वीडियोऐसा कहते ही मैंने अपने दोनों हाथों से उनके दोनों बोबे पकड़ लिए और हल्का सा दबा दिए.

घर वापस जाने के लिए मुझे काफी देर तक रोड के किनारे खड़े होकर इंतजार करना पड़ता है, तो हम दोनों खड़े होकर बातें करते रहते हैं. बुर चोदते हुए वीडियोइस खेल में मैं एक बार … और पता नहीं संजना और शीना कितनी बार झड़े होंगे.

उसकी जीभ मेरे पूरे मुँह में घूम रही थी और वो मेरे होंठों को काट और चूस रहा था.नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी: वो व्यग्रता से बोली- और … फिर क्या करोगे?उसकी भारी होती सांसों से लबरेज आवाज से ऐसा लग रहा था कि उसको भी मज़ा आने लगा है.

मैं फिराक में था कि कब कोई मस्त चूत की चुदाई करूं और अपने लंड को शांत कर लूं.मैंने चौंकते हुए तुरंत कहा- ऐसी परेशानी अभिशाप ही है, इसे बुआ वरदान क्यूँ कह रही थीं?तब मनु ने कहा- यार ज्यादा तो मैं भी नहीं जानती, पर वो कह रही थीं कि मासिकधर्म का सही रहना … मां बनने के लिए जरूरी होता है.

स्टार उत्सव मूवीस - नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी

प्रियंका ने काफी लेकर डोर लॉक कर दिया और उसने एक एक करके सभी को काफी सर्व करनी शुरू की.धीरे धीरे मेरा इंटरेस्ट मेरे देवर में और बढ़ने लगा क्योंकि वो मेरी हर बात मानते थे.

रिया ने वीर्य को चाटने से मना कर दिया लेकिन रमेश ने फिर उसे दो थप्पड़ लगा दिये. नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी अगर छोटा लंड भी नजरअंदाज कर दिया जाये तो भी सेक्स में कोई मजा नहीं.

मैंने खुशी के दोनों पैरों पर, फिर हाथों पर, फिर गालों पर थोड़ी थोड़ी हल्दी लगाई और धीरे से हैप्पी हल्दी बोलकर वहां से हटने लगा.

नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी?

इस पर जब कभी किसी के पास फोन में जरा सा भी पोर्न देख लिया, तब तो पूछो ही मत कि चूत का हाल क्या होता था. इधर मैं अपनी गर्लफ्रेंड आलिया के रसीले होंठों को चूमने के लिए तड़प रहा था. दीपिका ने धीरे से अपनी दो उंगलियों और अंगूठे से उसे छू कर देखा और बोली- यह तो बिल्कुल असली है.

”ऐसी बात है तो किसी दिन ये भी ट्राई कर लेते हैं, व्हिस्की है कोई जहर थोड़े है. कुछ देर बाद उनकी बांहों में लेटे ही मुझे नींद आ गयी।आपको यह कहानी कैसी लगी? आप अपने विचार और सुझाव मुझे भेज सकते हैं. मैं एक पल के लिए रुका भी, मगर फिर सोचा कि भीग तो जाऊंगा ही, क्या रुकना.

उसके दो दिन बाद फिर से उन्होंने अपनी गांड की खुजली मेरे लंड से मिटवाई. उन्होंने मेरी चूचियों को भींच कर मुझे जकड़ लिया और नीचे से अपनी गांड को आगे पीछे चलाने लगे. उन्होंने अपना सीधा पैर घुटने से मोड़ा और उस पर अपना हाथ टिकाया और उस पर रिमोट से टीवी को ऑन करके मूवी चलाने लगे.

क्रिया को भी अपने मम्मी पापा से जाने की परमिशन मिल गई थी।मैंने क्रिया से पहले ही कह दिया था कि वो अपनी गांड का छेद धीरे धीरे ढीला करना शुरू कर दे. फिर भाई ने एक मोटा से पैग बना कर दिया और बोला- खींच जा इसे … तुझे कोई दर्द नहीं होगा.

और कुछ ही पलों में उसने मेरे पूरे लंड को गले में उतार लिया और रंडी की तरह मेरा लौड़ा चूसने लगी.

मैंने पूछा- क्या हुआ … मेम रात में पूरा नहीं हुआ था क्या?वो बोलीं- तीन बार!मैं- फिर मेरे साथ क्यों?वो बोलीं- अरे समझा करो ये चुदाई चीज ही ऐसी है कि जितना करो उतनी ही आग बढ़ती है.

हालांकि कहानी मेरी ही है, मगर मुझे कभी ख्याल ही नहीं आया कि मुझे मेरी पहली चुदाई की कहानी लिखनी चाहिए. न जबरदस्ती कर सकती थी और न ही वासना की आग में जल रहे अपने जिस्म के अंगों पर छिड़कने के लिए मर्दन का पानी ही मांग सकती थी. बातों ही बातों में मुझे ये पहली बार पता लगा कि उसका पति उससे 9 साल बड़ा है.

दीदी को सारी कहानी समझ आ गई और वो मेरे सीने से लग कर मुझे चूमने लगीं. मैंने मनीषा भाभी का एक निप्पल अपने मुँह में ले लिया और अपने दोनों हाथों से उनके चूतड़ पकड़ कर उनको लंड पर ऊपर नीचे करने लगा. एक चूची को मैंने कई मिनट तक पीया और उसके बाद दूसरी चूची को पीने लगा.

मैंने सब कुछ देख ही लिया।वो कुछ ना बोली और मुस्कुराते हुए मेरे दुसरे हाथ में मेंहदी लगाने लगी।मैंने पहले हाथ की मेंहदी को देखकर कहा- सचमुच तुम्हारी बनाई मेंहदी बहुत खूबसूरत है, पर तुमसे ज्यादा नहीं!मेरी बातों का असर बाहर से नहीं दिखा.

” अभी भी वसुंधरा के बायें हाथ की उंगलिया मेरे दाएं हाथ की उँगलियों में गुंथी हुयी थी और मेरा बायां हाथ वसुंधरा के बायें हाथ की पुश्त मुसल्सल सहला रहा था. इसके बाद मैं अपने घर आ गया और भाभी को अच्छी तरह से चोदने का मौका ढूंढने लगा. लेकिन सबसे सुंदर लड़की उनमें सोनल थी जो बाद में मेरा क्रश भी बन चुकी थी।अब धीरे धीरे उन लड़कियों का हरामीपन बढ़ता जा रहा था.

जीजा ने अपने हाथ से नज़मा की गर्दन को आगे धकेल दिया और अपना पूरा लंड उसके मुंह में दे दिया. इसलिए मैं जीजू से बोली- ये क्या कर रहे हो यार जीजू … मेरी चुचियों पर निशान पड़ जाएंगे. मैंने कहा- ये बिना कंधों वाला टॉप है … तो ब्रा कैसे पहनूंगी?बहन ने कहा- तो मत पहन न, तेरे बॉयफ्रेंड का हाथ अन्दर जाएगा, तो उसे भी मजा आ जाएगा.

उनके मोटे लंड से चुत घिसवाने के कारण मेरे मुँह से अपने आप सिसकारियां निकलने लगी थीं.

तो हीना ने कहा- सर आप मेंहदी के बहाने ही मुझे इसी मुकाम तक लाये हैं. अब रोहित भी उठा, उसने संजू को बांहों में कसकर दबोच लिया और चिपक गया.

नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी जो लोग लिखते हैं कि गांड मराने में दर्द होता है, मुझे वे सब इस समय झूठे लग रहे थे. शायद उन्हें मेरी आवाज से पता चल गया था कि मैंने किसी और की चुदाई कर दी है।मैं भी कुछ देर बाद वहां से उठी और भाभी के पास आ गयी.

नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी मैंने भाभी की गांड को पीछे से दबा दिया और अपने लंड को उसकी जांघों के बीच में सटा दिया. आप बस कॉल पिक कर लेना और सब कुछ देखना और सुनना।रोहन मेरे सामने ही उठा और अपने बैग से टेबलेट निकाला.

ये सिलसिला करीब 5-7 मिनट चला, उसके बाद मैं उनकी बांहों में घूम गयी ताकि अब वो मेरे पिछवाड़े को भी अपने होंठों से प्यार कर सकें.

ब्ल्यू फिल्म सेक्सी

जीजू सीधे हुए, मेरे होठों पर होंठ रखकर चूसने लगे, मैं जीजू का टाइट लण्ड सहलाते हुए जन्नत के द्वार पर थी, जीजू का लण्ड मेरे शरीर में प्रवेश करने को तैयार था. इस तरह 10 मिनट बाद भाई स्खलित हो गया और उसने अपना गर्म गर्म लावा मेरे मुँह में उड़ेल दिया. मैंने लन्ड पहली बार देखा था तो मैंने सोनल से पूछा- ये क्या है?तो वो बोली- इसे लन्ड कहते हैं, यहाँ से लड़के सुसु करते हैं.

फिर मैं दीदी को घुमाकर उनकी एक टांग को ऊंची करके लंड चुत में पेलने लगा. जब मुझे अहसास हुआ कि कोमल को बहुत दर्द हो रहा है और वो मुझसे बार-बार निकालने को रिक्वेस्ट कर रही है, तो मैं रुक गया. बाहर पवनदेव की तान पर बारिश की बूंदों का नृत्य जारी था, बारिश कभी हल्की, कभी तेज़ लेकिन लगातार हो रही थी.

पूजा की हल्की से चीख निकली उम्म्ह… अहह… हय… याह…अब पूजा सामने दीवार से सहारे पीछे को झुकी हुई थी और मोहित पीछे से उसके बूब्स पकड़कर उसे चोदे जा रहा था.

मेरी बात सुनकर वो हैरान हो गईं और पूछने लगीं- क्या देखा था?मैंने कहा- बनिए मत … अब आप मुझको ये बताओ कि वो सब तुम अपनी मर्ज़ी से उनके साथ करती हो या वो फोर्स करते हैं?वो गहरी सांस लेकर बोलीं कि बस एक त्योहार के दिन उन्होंने मुझे हग कर दिया था, लेकिन काफ़ी सालों बाद एक मर्द की बॉडी टच हुई थी, तो मैंने भी उनको हग किया. मैंने तुरंत उसका एक मम्मा अपने एक हाथ में पकड़ा और दूसरे को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा. बेबी रानी ने ये बहस आगे नहीं बढ़ने दी- ओके पिंकी … ओके … ग्रुप चुदाई ओके!गुड्डी रानी ने मुंह तो बनाया मगर बोली कुछ नहीं.

उनके जाते ही मेरी पत्नी ने गेट बंद कर दिया और अन्दर से लॉक कर दिया. आप बस कॉल पिक कर लेना और सब कुछ देखना और सुनना।रोहन मेरे सामने ही उठा और अपने बैग से टेबलेट निकाला. चाची बोलीं कि क्यों … क्या तुझे भी साड़ी बांधनी है?मैं हंसने लगा और बोला- नहीं किसी और की बांधनी है.

मयंक ने अब सोनम की ब्रा को उतरवा दिया और उसके बूब्स एकदम से बाहर निकल आये. अब आगे:मैं समझ गयी थी कि शायद जेठजी भी मेरी तरह अभी भी उलझन में ही हैं.

ऐसा करती हूं कि मैं दूसरा बच्चा तुमसे ही पैदा करवा लेती हूं, हम दोनों दोस्त भी हैं और ये बच्चा किसका है इसके बारे में किसी को पता भी नहीं चलेगा. उसकी चूत पर अभी भी काले बाल नहीं आए थे, जो थे वो भी अभी भूरी रंगत लिए रेशमी से दिख रहे थे. अब आगे:कुछ पल बाद कोमल ने मुझे रोका और घूम कर मेरे होंठों को चूमने लगी.

ठंडी सांस भर के बेबी रानी ने कहा- राजे … इसकी एक तमन्ना है कि यह तेरा लंड चूसे … यह रंडी बहुत ब्लू फ़िल्में देखती है जिसमें लड़कियां लड़कों के लंड चूसती हैं.

मैं बेचीं हो गयी, मैंने अपने चूतड़ नीचे से उचकाये तो समीर का लंड थोड़ा सा मेरी चूत में घुस गया. राहुल सुबह ही अपनी गाड़ी लेकर आ गया और हम उसके दोस्त के फ्लैट के लिए चल पड़े. मेरी बच्चेदानी का जम कर चुदान हो रहा था, बाबूजी पूरी ताकत लगा रहे थे और अब मुझे मुश्किल हो रही थी.

हम दोनों के पास वो सब कुछ था जो किसी मर्द को ललचा दे।उस रात हम दोनों ने एक दूसरी के गुप्तांग के बाल साफ किये और अपनी पहली रंडी चुदाई के लिए तैयार हो गई।दोस्तो, आगे हम दोनों के साथ क्या हुआ?क्या हम कॉलगर्ल बनने में सफल हुई?और कौन थे हमारे पहले ग्राहक?ये सब आप इस चुदाई की कहानी के दूसरे भाग में जरूर पढ़ें।[emailprotected]. जब से तुम्हें देखा है, मैं भगवान को इस कृपा के लिए धन्यवाद ही दे रहा हूँ.

नीचे से हाथ ले जाकर मायरा ने मेरे लंड को अपनी चूत पर सही पोजीशन में सेट करवा दिया. आह … ये क्या हुआ … आज वजन भी कम लगा … पकड़ने में भी उतनी मोटी नहीं लग रही थी. यदि आपको मजा लेना है तो आपको मुझे अपना पति ही समझना पड़ेगा। आपने देखा नहीं कैसे आपकी बेटी अपनी टांगें उठा-उठा कर मेरा लण्ड अन्दर तक ले रही थी। वैसे ही आप भी जब करेंगीं तभी इस लण्ड का पूरा मजा ले पायेंगी। वैसे एक बात कहूं ‘आपकी चूत आपकी बेटी की चूत से बहुत मस्त है.

लड़कियों का सेक्स लड़कियों का सेक्स

मैंने उसे सहलाते हुए पूछा- दर्द होगा … तैयार हो?हां अंकल, मेरी फ्रेंड ने बताया है.

फिर मैंने धीरे से वहां एक गर्म सांस छोड़ी जो सीधे उसकी चूत को टकराई. स्नेहा भाभी बोलीं- आपको कैसी लड़की पसंद है?मैं- मुझे तो बिल्कुल आपके जैसी चाहिए. फिर बाहर आकर मैंने जिज्ञासावश इधर उधर नज़रें दौड़ाई तो वहां का नज़ारा बेहद कामुक था.

फिर बड़ी ही कातिल अदा से अपनी काली ब्रा निकाली और मेरी तरफ फेंक कर झटके से घूम गयी. चल अब मेरे लंड पर लगे हुए माल को भी चाट जा। चल … चाट साली कुतिया।रिया ने कुतिया बनकर अपने डैड के लंड पर लगे माल को किसी पालतू जानवर की तरह अपनी जीभ से चाट चाट कर साफ कर दिया. अम्मी की चुदाईआआआहह … हमम्म्मम …मेरी जांघों को चाटते चाटते वो मेरी चूत के दाने को चाटने लगा.

पायल ने वहां जाकर बूढ़ी दादी से मेरी शिकायत की- दादी देखो ना … ये कल के संगीत में भाग नहीं ले रहे हैं!दादी ने कहा- क्यों बेटा क्या हुआ? छोरियों जैसे शर्माओगे … तो सबकी हंसी का पात्र नहीं बन जाओगे. मैंने भी उसे एक हवा में चुम्मी दे कर थैंक्स बोला और हम कार स्टार्ट करके स्टूडियो की तरफ बढ़ गए.

फिर मैंने उसे खड़ा किया और उसे बियर का गिलास दिया और मैं सामने रखे सोफे पर जा कर नंगा ही बैठ गया. मैंने उसके दर्द की ओर ध्यान नहीं दिया और उसकीचूत की चुदाईशुरू कर दी क्योंकि मैं पूरे जोश में आ चुका था. दीदी के नग्न फिगर को देखकर मेरे अन्दर की हवस पूरी तरह से बेकाबू हो जाती है.

मैं भी खुल कर बोल रही थी- और चोदिये … और जोर से … आपके भतीजे से कुछ नहीं होता … ऐसे ही चोदते रहिए. अब मैं उसे दिखाऊंगी कि ये होता है लण्ड!मैंने कहा- इसे डिलीट कर दो, नहीं तो कोई मुसीबत हो जाएगी. मैंने पूछा- कैसा सामान?तो वो बोली कि चलो तो … आपको सब पता चल जाएगा.

मैंने देखा तो रोशन (दुकान का लड़का) एक लड़की के साथ दीवार पर चिपका खड़ा हुआ था.

तो पता चला कि उसने कॉलेज छोड़ दिया है और उसका एडमिशन कनाडा की किसी यूनिवर्सिटी में हो गया है. इसलिए हम चाहते हैं कि तुम दोनों हमारी फैंटेसी पूरी करने में हमारी मदद करो.

लेकिन इधर ये हाल रहा कि एकाध नहीं … चार-चार बार 20-20, 22-22 पन्नों की अगली कड़ी की अलग-अलग कहानियां लिख कर फाड़ डाली. फिर एक दिन एकदम सर्द रात को रीना बोली- क्या जी, आजकल तो आपका चुदाई में मन ही नहीं लगता. मैं दोनों हाथों से चाची के मदमस्त चुचे पकड़े और नीचे से लंड के झटके चाची की चुत में देने लगा.

मेरा 7 इंच का लंड टाइट हो कर मेरे अंडरवियर के अन्दर से ही आंटी की जवानी को सलामी दे रहा था. जेठजी का तो पता नहीं, पर मुझे लंड चूसने में और चूत चटवाने दोनों में बहुत मज़ा आता है. उन्होंने घुटने से मेरी जांघें चौड़ी की और अपना निहायत ही मोटा लण्ड मेरी फुद्दी पर रख दिया.

नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी तभी प्रिया ने मसाज आयल उसके और अपने मम्मों पर और सुनील की छाती पर उड़ेल दिया. होती भी क्यों नहीं … जिसको रोक्को स्टील (पोर्न अभिनेता) चोदे और उसकी गांड में दर्द न हो, ऐसे बहुत ही कम लोग होते हैं.

सैक्सी लडकी

बस दिमाग में उन दोनों की इतनी तगड़ी ठुकाई करना चाहता था कि वह दोनों अगले दो-तीन महीने तक लौड़ा आपने चूत और गांड में लेने के लिए सोचे भी ना. मैंने एक हाथ उसकी पैंटी में डाल दिया और उसकी पैंटी में उसकी चूत में अपनी दो उँगलियाँ डाल कर उन्हें सहलाने लगा। जिससे सीमा के मुंह से सिसकारियां निकलने लगी. वायग्ररा के असर और दीदी के ब्लो जॉब से मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था.

गुड्डी रानी ने बार बार ‘राजे राजे राजे’फुसफुसाते हुए मुझे सब तरफ से कस लिया. मैंने रोषपूर्ण, कुंठित दृष्टि से ज्ञान की ओर देखा तो उन्होंने मुझे इस हालत में अधूरा छोड़ने के कारण की ढाल को पहले से तैयार कर लिया था. बुढ़वा मंगल 2022अपनी प्यारी बहन के खातिर, प्लीज!चित्रा ने अविनाश की तरफ मुस्कुरा कर देखा.

उसका घेराव बड़ा सा था, उत्तेजना में चुचूक उठ खड़े हुए थे।हीना ने अपने दोनों हाथों को स्तन पर भरपूर गोलाई में घुमाया फिर अंत में हाथों से चुचूको को हलके से मसला और फिर अपने ही दांतों से अपने ही होठों को काट कर इस्स्स की आवाज निकाली, और फिर झुक कर उसने अपने गजब ढाते स्तन मेरे मुंह में चूसने के लिए दे दिया।मैं तो पहले से बेसब्र था, मैं स्तन चूसने लगा.

अगले ही पल उसने अपना बड़ा मोटा लंड अपनी माँ की चूत में सैट कर दिया और एक बार में पूरा अन्दर कर दिया. लेकिन मैं इतना हरामी टाइप का चोदू हूँ कि मुझे बिना चूत को तड़पाए चोदने का मन ही नहीं होता है.

खाना बनाते बनाते मैं खुद पसीने से नहा रही थी, ऊपर से मेरा गाउन भी शरीर से चिपका जा रहा था।हर दिन की तरह जब घर पर कोई नहीं रहता था या सिर्फ रोहन ही रहता था तो मैं बिना गाउन के ही घर के काम करती थी. जिया- वैसे इसमें मेरा क्या फायदा है?कोमल- अगर तुम चाहो, तो इसमें शामिल हो सकती हो. साल भर पहले रिटायर होने के बाद मैंने भी फरीदाबाद में एक फ्लैट खरीद लिया और रहने लगा.

लगभग तीन मिनट में उसका लंड फिर से खड़ा हो गया और उसने मुझे टेबल पर लिटाकर मेरी टांगों को अपने कंधों पर रख कर अपना लंड मेरी चुत में डाल दिया.

उसके बाद क्या हुआ?दोस्तो, एक बार फिर से आप सभी को मैं उस रॉंग नम्बर वाली लौंडिया की देसी सेक्स चैट कहानी के दरिया में नहलाने आ गया हूँ. मैं अब्बू के कमरे के बाहर पहुंचा ही था कि अब्बू की आवाज सुनाई दी- आ गई, मादरचोद. तो क्या चाहते हैं आप?अमन ने मेरी साड़ी खोलते हुए मेरी नाभि में किस करना शुरू कर दिया.

वॉलपेपर लड़कियों कीसुबह मेरे दिमाग में आईडिया आया कि मेरे और मेरे नशे के बीच मेरा भाई ही दीवार है, अगर मैं इसको खुश कर दूं, तो फिर मुझे कोई रोकने वाला नहीं रहेगा. मैं- थोड़ी देर रुक जाओ, दर्द कम हो जाएगा।मैं वापस उसकी चिकनी चूत चाटने लगा तो मेरी गर्लफ्रेंड गर्म होने लगी.

बड़ी गांड

स्कूल और घर में पढ़ाई का प्रेशर और मन में जवानी का तूफान सबको एक साथ संभाल पाना, बहुत मुश्किल होता है. सुहास मेरी चुत को चोदे जा रहा था … मैं भी गांड उठाकर उसका भरपूर साथ दे रही थी. उन्होंने मेरे लंड को छोड़कर अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़कर मेरा मुँह अपनी चूत पर रख दिया.

वो खामोशी तोड़ते हुए बोली- क्या सोच रहे हो … मुझे प्यार करो, बस प्यार करो. और जब मैंने खुद को आईने में देखा, तो दिल में आया राजन तू तो पक्की लौंडिया लग रहा है. पर उसने एक्सेप्ट नहीं की।फिर मैंने देखा कि वो कौन से कॉलेज में जाती है.

थोड़ा आराम से किया करो भाई जान… कहीं मेरी भाभी की चूत का कचूमर न निकाल दो किसी दिन!फिर वो बोली- आज जब आपने काम से छुट्टी ले ही ली है तो किसी रेस्तरां में चलो या फिर हमारे घर ही चल लो. दरार से अब दिखने लगा था कि बाबूजी कुछ देर बाद भाभी के हाथ दबा रहे थे. वो मेरी पीछे से कोली भर कर मेरी चूत में धक्के लगाने लगा।मेरे बूब्स नीचे की तरफ लटक रहे थे.

मैंने कहा भी- यार, मैं ऐसे कैसे किसी से लिफ्ट ले सकती हूं?तो उसने मुझे सुझाव दिया- तुम किसी ट्रक में लिफ्ट ले लो. पांच मिनट में ही सोनम की चूत मेरे दोस्त मयंक के लंड को पूरा का पूरा अंदर लेने लगी.

फिर मुझसे रहा नहीं गया और उसी टाइम मैंने लगातार 2 बारी मुठ मार कर खुद को शांत किया.

मैं चित्रा दीदी के पास बैठ गया और हम सभी मिलकर खाना आर्डर करने लगे. बॉलीवुड एक्स एक्स एक्स फोटोअविनाश ने इमोशनल होकर कहा- कोई बात नहीं, मुझे लगा तुम जरूर मदद करोगे. हमारे सेक्सीमुझे मेरी पिछली कहानीभाभी की सहेली ने चुदाई के लिए ब्लैकमेल कियाके बाद काफी मेल आए. सुनीता- समीर, मैं हमेशा अन्तर्वासना पर माँ बेटे की चुदाई की कहानियां पढ़ती हूँ.

मन्नू भाई मोटर चली पम पम पम …”यदि आप यह गाना यू ट्यूब पर सुनेंगे तो आप पाएंगे कि चुदाई के लिए यह गाना कितना उपयुक्त है.

भाई ने मुझे घूरा, तो मैंने भी डर कर मम्मी पापा से कह दिया कि भाई अकेला कैसे रहेगा … आप दोनों चले जाओ. मैंने उससे पूछा- आपको ये नम्बर कहां से मिला?तो वह बोली- आपने ही एक विज्ञापन में ये नम्बर दिया था. आप से अनुरोध है कि मुझे मेल करके बताएं!आप मुझे हैंगआउट पर भी जुड़ सकते हैं.

जब मैंने पहली बार नग्न अवस्था में देखा तब अन्दर से मुझे अजीब फीलिंग हो रही थी. चप चप छप छप हंय हंय और जोर से हं और जोर से, दम लगा कर हं हं …माई अब जोर जोर से बोल रही थी- आंह … निकल रहा है … निकल रहा है बस!उन्होंने बाबू के कंधे पर दांत ऐसे लगा दिए, माने काट कर खा जाएगी. लेकिन जैसे ही मेरे देवर मेरे सामने आए, वे मुझे देखकर हल्का शर्मा रहे थे.

मारवाड़ी लड़की चुदाई

क्या हुआ?” कहते हुए मैंने उसे बेड पर खींचा और उसकी टांगों के बीच आ गया. दोस्तो, कैसे लगी माँ सेक्स स्टोरी हिंदी … जरूर बताना कमेंट्स करना न भूलना प्लीज़. तो मैंने उन्हें नीचे उतरने को कहा, वो उतर गईं और बेड पर सीधी लेट गईं.

ससुर का लंड चूत में क्या घुसा, मेरी तो आंखें ही पूरी खुल गईं, मैं जोर से चिल्ला दी.

मैंने सुहास के लंड को अपने हाथ में लिया ओर उसके टोपे के ऊपर से खाल हटा दी.

उसने लुब्रीकेंट लेकर अपने लंड और मेरी गांड पर लगाया और लंड रख कर एक जोरदार धक्का लगा दिया, जिससे उसका आधा लंड मेरी गांड में चला गया. उन दिनों एक बड़ी ताज्जुब की बात ये हुई कि भाई ने इस पूरे समय तक मुझे तंग नहीं किया और कुछ नहीं कहा. जबरदस्त रोमांस वीडियोबस मुद्दा ये है कि तुम गलत मर्द से अपनी सील तुड़वा रही हो … या सही आदमी से.

फिर मैंने कहा- यदि तुम दोनों की आशिकी हो गयी हो तो अब डिनर कर लें?सोनम बोली- हां, मैं जाकर खाना लगा देती हूं. तभी प्रिया ने मसाज आयल उसके और अपने मम्मों पर और सुनील की छाती पर उड़ेल दिया. मैंने उनके सभी छेदों को अपने पानी से भर दिया था। कोई दिक्कत तो थी नहीं.

अब उसे मुझ पर पूरा भरोसा था। मैंने धीरे-धीरे उससे अब सेक्स की तरफ धकेलना शुरू किया. अन्दर ब्रा पहनी हुई नहीं थी, उसकी गोलाइयां एकदम बड़ी साइज़ में ऊपर को ओर उठी हुई थीं.

मुझे गुस्सा आ गया और मैंने भी ताव से कहा- तुमको क्या लगता है कि मैं ट्रक से लिफ्ट नहीं ले सकती?उसने कहा- है हिम्मत … तो करके दिखा!मैंने कहा- ठीक है … आज लेकर दिखाती हूं.

जुलाई महीने की दस तारीख को हम मालदीव जाने के लिए फ्लाईट में बैठने वाले थे. अब सुधा भी ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी- आह … और जोर से चोदो प्लीज़ … मुझे और मज़ा दो … आह आज तो जन्नत में ही जाना है. अब मेरी गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया, मैंने निर्णय ले लिया कि अब मुझे इसे सबक सिखाना पड़ेगा.

पॉर्न hub चाची बोलीं- मेरी जान इतनी जानदार चुदाई से तेरा मन नहीं भरा क्या, जो तेरा ये मूसल फिर से खड़ा हो गया है?मैंने कहा- मेरी चाची जान, आपका ये सेक्सी बदन है ही इतना लाजवाब कि मेरा दिल ही नहीं भरता. फिर मैं दीदी को घुमाकर उनकी एक टांग को ऊंची करके लंड चुत में पेलने लगा.

मेरा नाम जय है और मैं आपके लिए अपनी दूसरी चूत चोदने की कहानी लेकर आया हूं. रात में जाकर मैं आंटी चूत और गांड की ठुकाई करके आता। दिन में मैं उनके घर के आस-पास भी नहीं फटकता था ताकि हमारे बीच में पक रही खिचड़ी का किसी को पता न चले।अब तो हम दोनों ने भी दिल भर के चुदाई कर डाली थी. रात में जाकर मैं आंटी चूत और गांड की ठुकाई करके आता। दिन में मैं उनके घर के आस-पास भी नहीं फटकता था ताकि हमारे बीच में पक रही खिचड़ी का किसी को पता न चले।अब तो हम दोनों ने भी दिल भर के चुदाई कर डाली थी.

राजस्थानी एक्स एक्स सेक्सी वीडियो

अगले भाग की प्रतीक्षा करे और तब तक आप मुझे मेल कीजिएगा कि यह गर्म कहानी आपको कैसी लगी?. वहां बैठी सभी लड़कियां मेरी बेबसी का मजा ले रही थीं और मुस्कुरा कर तमाशा देख रही थीं. मैंने सोनम की चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और उसके होंठों को चूसने लगा.

”हम्म … क्या बोल रही थी?”अरे यही कि मुझे अकेली को डर तो नहीं लग रहा … गुलफाम से बात हुई क्या … ये … वो …”वो वापस कब तक आयेंगे?”यहाँ से 3 घंटे की ड्राइव हैं अगर सुबह 8-9 बजे वहाँ से निकलेंगे तो 1 बजे से पहले तो नहीं आ पायेंगे. एक दो पल बाद वो पलट गई, जिससे उसके पैर रोहित के मुँह की तरफ … तथा मुँह रोहित के लंड की तरफ हो गया था.

पोर्न देखते देखते दोनों ने बॉक्सर के ऊपर से ही एक दूसरे का लण्ड सहलाना शुरू कर दिया।पोर्न खत्म होने के बाद रोहन ने अपना मोबाइल एक तरफ रख दिया। रोहित अभी भी लेटा हुआ था लेकिन रोहन उठ कर रोहित की टांगों के पास बैठ गया.

उसके बाद फोन पर बात करने बाद स्वीटी आंटी ने मुझे बताते हुए कहा- मनोज आ चुके हैं, वो नीचे दरवाजे के पास हैं. यार रुस्तम, मुझे ना चुदाई में रोल प्ले करके बहुत मज़ा आता है … मैं तो तुझे बिना बताये रोल प्ले कर रही थी मालकिन और ग़ुलाम का … मैं तुझको परखना चाहती थी. मैंने सोच लिया था कि अगर उसके दुखी होने का कारण मैं हूं तो मुझे ही उसकी खुशी के लिए भी कुछ इंतजाम करना होगा.

पांच मिनट में ही सोनम की चूत मेरे दोस्त मयंक के लंड को पूरा का पूरा अंदर लेने लगी. उसके आगे की कहानी मैं अब लिख रहा हूं।अपने बारे में बता दूँ, मैं सचिन भोपाल का रहने वाला हूं। मेरी हाइट 5 फुट 9 इंच, वजन 58 किलो होगा, ज्यादा नहीं है. मैंने कहा- भाभी आपके सर का दर्द कैसा है?भाभी बोलीं- अब ठीक है … तुमको ऐसा नहीं करना चाहिए था.

वसुंधरा वाले इस सारे घोटाले में मेरी पत्नी और मेरे बच्चों का रत्तीभर भी कोई कसूर नहीं था और मैं खुद कोई इख़्लाक़ से गिरा हुआ शख़्स नहीं था जो ऐसा चाहता हो.

नेपाली बीएफ सेक्सी हिंदी: ये तो बेचारा तो मर ही जाएगा!’मैं जोर से बोला और अपनी आंखें बंद कर लीं. तो मैंने पूछा- वो क्या?वो मेरी जींस के ऊपर से मेरे लंड को दबाते हुए बोली- ये.

मैंने अमनप्रीत का हुक्म माना और उसका लंड श्यामली की चूत में डाल दिया. नंगी लड़की सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने ऑफिस की लड़की को खूब चोद चुका था. मैंने उसकी चूचियों पर अपने होंठों को रखा और बारी-बारी से उसके दूधों को पीने लगा.

लेकिन अब वो मेरी बहन से प्यार करता है, वो ही कल रात तुम्हारी बीवी के साथ सेक्स कर रहा था.

रिंकी ने बेड पर दो बड़े तौलिये बिछाए और सुनील को बेड पर धक्का दिया और उसकी शॉर्ट्स उतार दी. उधर उसका पति कंपनी के काम के सिलसिले में बाहर गया था और उसके साथ रहने वाली ननद भी घर पर नहीं थी. होंठों पर खेलती हैं तबस्सुम की बिजलियाँ,सजदे तुम्हारी राह में करती है कहकशांदुनिया ऐ हुस्न ओ इश्क़ का तुम ही शवाब हो!मेरी आवाज़ सुनकर या चूचुक में होती सुरसुरी से बेबी रानी की तन्द्रा टूटी, जबकि गुड्डी रानी सिर्फ ऊँऊँऊँ करके रह गई.