राजस्थान के बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,हरियाणवी चुदाई सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

रक्षाबंधन की सेक्सी: राजस्थान के बीएफ पिक्चर, दोस्तो मैं आपको बता दूँ इससे पहले मैं अभी तक किसी लंड से नहीं चुदी थी.

धमाकेदार सेक्सी पिक्चर

मैंने भी चाची से कह दिया कि मैं आ रहा हूँ तो कल ही बस आप तैयारी कर लेना. सेक्सी फिल्म वीडियो में फिल्ममैंने पानी की बॉटल उठाई और आगे झुकने पर उसकी गांड का जो हिस्सा दिख रहा था, उसके अन्दर मैंने पानी डाल दिया.

मेरा लंड भी उस गर्मी को सहन नहीं कर पाया और मैं भी अपना वीर्य उसकी चूत में छोड़ने लगा. सेक्सी पिक्चर चोदने वाली नंगीएक बार तो वो हिचकी मेरा लंड पकड़ने में लेकिन फिर उसने लंड पकड़ लिया और उसे अपने नाजुक कोमल हाथ से सहलाने लगी.

तेरे इस दमदार लौड़े से दर्द भी हुआ तो भी अपनी गांड को मैं चुदवाऊँगी, पर साले मादरचोद… अब चोद डाल मेरी चूत.राजस्थान के बीएफ पिक्चर: इसमें क्या है?फ्लॉरा- पापा, आप मॉम का क्या करोगे?जॉय- क्या मतलब मॉम का क्या करोगे?फ्लॉरा- पापा वो मेरे फ्रेंड हैं.

मेरा लंडआंटी की चूतके अन्दर-बाहर हो रहा था और पूरे कमरे में ‘फक फक.पांच मिनट की चुदाई के बाद मेरे लंड ने चाची की चूत में ही पिचकारी मार दी और चूत को अपने कामरस से भर दिया.

आदित्य सेक्सी - राजस्थान के बीएफ पिक्चर

मम्मी और पापा को यह देख बहुत दुख हुआ मगर अब क्या करते, जो होना था वो सब हो चुका था.फिर मैंने चूत को फैला कर अपनी उंगली डालने लगा, इतने में नेहा जग गई.

उसने आखिर में मुझे क्रिकेट में साथ देने और सिखाने के लिए थैंक्स कहा. राजस्थान के बीएफ पिक्चर मुझे आपके मेल का इंतज़ार रहेगा ताकि मैं आगे और भी अपनी स्टोरीज आपको भेज सकूं.

मैंने नताशा का उससे परिचय कराया तो रुस्लान ने उसका हाथ चूम कर अभिवादन स्वीकार किया.

राजस्थान के बीएफ पिक्चर?

अब सारे लड़कों ने उसे घेर लिया, उन्होंने अपनी शॉर्ट्स गिरा दी, मेरी तो सांस ऊपर नीचे हो गयी. हम तीनों खड़े हुए और अपने आपको सम्भालने लगे और नेहा अपने कपड़े उठा कर बाथरूम में भाग गई. मैं लेटकर चाची के सोने का इंतजार करने लगा और कल रात की चुदाई को याद करके लंड को सहलाने लगा.

दोपहर तक मोना साधु का बताया सारा सामान ले आई और नीतू की चुत को अच्छे से चमका दिया, उसके साथ साथ खुद भी चिकनी चमेली बन गई. साली की चूत पूरी गीली थी, अब उसने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था, साली की चूत में अब मैं अपनी उंगलियाँ तेज तेज चला रहा था और उसकी गांड को भी अपने लौड़े से जोर जोर से बजा रहा था. मैंने पानी पिया और फिर चाची ने ब्रेकफास्ट का पूछा तो मैंने मना कर दिया.

सुबह 10 बजे गुलशन जी की आँख खुली तो सुमन उनसे चिपकी हुई मज़े से सो रही थी और गुलशन जी का लंड उसकी जाँघों में फंसा हुआ था. कभी-कभी मैं अपनी हाथों से उसके पैरों के बीच में ले जाकर उसकी चूत को टच कर देता था. सुमन ने थोड़ी देर सोचा, उसके बाद वो उठी और उसने अपनी नई ब्रा और पेंटी का सैट पहना, उसके बाद अपने रोज वाले नाइट के कपड़े पहन लिए और अपने पापा का इन्तजार करने लग गई.

रीना ने खुश होकर एक गहरा चुम्बन विनय को दिया और भाग गयी कविता के रूम में. पानी निकलने के बाद फ्लॉरा को अपने पापा से बहुत शर्म आई, उसने सर झुका लिया और धीरे से ‘सॉरी’ कहा.

सविता भाभी की इस आवाज को सुनकर शोभा एकदम से पूछने लगी- क्या हुआ भाभी आप ठीक तो हैं?जिस पर अमन और सविता भाभी दोनों ही एकदम से सम्भल गए.

मैं तो दिल ही दिल में खुश हो रही थी कि अब मेरा काम कुछ दिनों में पक्का हो जाएगा और फायनली मुझे भी लंड मिल जाएगा.

मैंने 5 मिनट तक चुत चुसाई की और वो एकदम से उठ गई और उसने मेरा मुँह हटा दिया. अब आप सभी तो जानते ही हो कि बॉक्सिंग वाले बंदे का शरीर और स्टेमिना दोनों ही अच्छे होते हैं. वो अपनी चूत से पप्पू का लंड निकालने की नाकाम कोशिश करते हुए ज़ोर से चिल्ला उठी- आहह हहह मैं मर गईईई ईईईई, उफ्फ्फ… नहींईंईं.

अब मैं आराम से चाची की चुदाई कर रहा था और बीच-बीच में उनके मम्मों को किस भी कर रहा था. वो तीनों ही जीन्स और टॉप में थीं और उनमें से 2 ने ब्रांडेड शूज पहने हुए थे और एक ने सैंडिल पहनी हुई थी. मॉम घबराते हुए बोली- आरती बेटी तू यहां?मैंने कहा- मॉम, अब ये वक्त सवाल जवाब का नहीं है, मैं बहुत देर से तुम दोनों का यह खेल देख रही हूँ.

चुत चाटते समय मैं कुत्ते की तरह चुत पर जीभ लपलपा रहा था, जी भर के चुत चाट रहा था.

तभी अमन ने धीरे से सविता भाभी के चूचुक मसलते हुए उनके कान में कहा- भाभी तुम बड़ी चालू हो. मैं भी काफी उत्तेजित हो रही थी, मेरा दिल करने लगा कि मैं अपने भैया के कमरे में जाकर उसके लंड को हाथ में लेकर मुंह में चूसूं और अपनी टाईट चूत में डाल के अपनी सील तुड़वाऊं. उसने आँखें बंद की, इसके बाद मैंने हनी की बोतल उठाई और धीरे-धीरे उसके जिस्म पर हनी डालता गया.

अतः सुमन का गाउन उतार कर उसकी टांगों को अपने कन्धों पर रख कर चुदाई शुरू कर दी. मैं कोई रंडी हूँ क्या… जो मेरी गांड में ऐसे लंड पेल रहा है… भोसड़ी के… अपना लौड़ा निकालता है या नहीं?यह सुन कर मुझे डर भी लगा क्योंकि मुझे तब तक ज्यादा एक्सपीरिएंस नहीं था और जोश भी आ गया और मैं उसके बाल पकड़ कर जोर-जोर से उसकी गांड मारने लगा. काफी देर तक अलग अलग पोजीशन में चोदने के बाद मैं और चाची एक साथ ही झड़ गए.

ये सब देखने के लिए आप सभी का सविता भाभी की सेक्स कॉमिक्स साईट पर अभी स्वागत है.

दीदी ने फिर टी-शर्ट और शॉर्ट पहन लिया, मैं अभी भी दरवाजे पर ही खड़ा था. फिर धीरे आगे बढ़ते हुए मैंने हिम्मत करके पूछा- आप इतनी सुंदर हो और ऐसे क्यों घूमती हो?उसने बताया- पैसे के लिए काम करना पड़ता है.

राजस्थान के बीएफ पिक्चर मेरे ज्यादा समझाने पर और शायद चुदास के चक्कर में एक दिन सुबह कॉलेज न जाकर हम होटल में गए. वो बोलीं- मैं लड़की होकर तुम्हारे सामने नंगी होने को तैयार हूँ और तुम लड़के हो कर शरमा रहे हो?रितु दीदी ने जब फिर कपड़े उतारने को कहा, तब मैंने एक एक कर कपड़े उतारने शुरू किए.

राजस्थान के बीएफ पिक्चर वहां पहुँच कर हम दोनों अन्दर गए और मैंने अन्दर से मेन गेट लॉक कर दिया. उसके पास नोकिया का एक सिम्पल फोन था और मेरे पास नोकिया का टच स्क्रीन फोन था.

फिर भाई की थोड़ी हिम्मत बढ़ी और उसने मेरे टॉप को मेरी चूची तक उठा दिया.

सेक्सी पर्दाफाश

साधु ने दोनों को लेटा दिया और गोपाल को कहा कि तुम जाकर देसी घी ले आओ, तब तक में इन दोनों की योनि से अपना लिंग स्पर्श करा देता हूँ. कुछ देर बाद मैं नहा कर आई, और मेरे बाल सुखाने लगी उस समय मैं उनके सामनेपूरी नंगी थी. जैसे ही रूपा उनके पास आई, पप्पू ने उसे खींच कर अपनी गोद में ले लिया और चूमने लगा.

तो मुझे समझ आया कि मैंने अनामिका को नहीं पटाया बल्कि अनामिका ने अपनी कामुकता की संतुष्टि के लिए मुझे साधन बनाया है. तुझे इस खेल के बारे में क्या-क्या पता है?नीतू- नहीं दीदी मुझे कुछ नहीं पता. यूं तो सारे ही पहलवान मर्दाना जिस्म के मालिक थे लेकिन रवि उनमें सबसे अलग ही दिख रहा था.

वो बोल रही थी- मैं तुम्हें एग्जाम टाइम में प्रपोज के लिए बाहर आ जाती थी, तो तुम निकल जाते थे.

लेकिन मुझे बड़ी गलावट आ रही थी… शायद रतना के साथ की चुदाई का कारण था. मेरी सहन करने की क्षमता अब खत्म हुई, मैं तपाक से उठी और एक लड़के को पीछे से जा लिपटी। मुझे वैसे लिपटे देखकर रिया के होंठों पे एक बेहद कमीनी मुस्कान आई. जैसे ही उसे थोड़ा आराम मिला, तो वो भी चुदाई का मज़ा लेने लगी और बहुत तेजी से मादक सिसकारियां लेने लगी ‘आह आह.

मेरी बड़ी जोर की चीख निकली… इतना ज्यादा दर्द… मेरी जान ही निकल गई, मेरी चूत चिर गई जैसे, मेरी आँखों से झर झर आंसू बहने लगे, मेरी चूत से बहुत खून निकलने लगा, मैं घबरा गयी तो मॉम ने कहा- डर मत बेटी, ये खून तेरी चूत की सील टूटने की वजह से निकला है. कुछ देर बाद मैं परीक्षित की गोदी में बैठ गई और उन्हें मेरे बूब्स चुसवाने लगी तो चिंटू उठकर मुझे किस करने लगे. और सबसे बड़ी बात ये थी की वो खुद को बड़ी अच्छे तरीके से मेंटेन करती थी.

सुमन मान गई तो गुलशन जी ने उसे कुर्सी पे बैठा कर पीछे हाथ बाँध दिए और आँखें भी बंद कर दीं. उसने पैरों को भी एकदम भींच लिया ताकि उसकी चूत ना दिखे मगर ये आसान नहीं था.

ऐसा करते-करते अभी 5 मिनट हुए होंगे कि वह बहुत ही गरम हो गई और मुझसे लिपट गई. मैं बिना किसी को डिस्टर्ब किए किचन से खाना निकाल कर अपने रूम में आ गया और एक मूवी देखते हुए खाना खा लिया. मैंने उसको बहुत चोदा, कभी लेटा कर, कभी घोड़ी बना कर, कभी खड़ी करके कभी अपनी ऊपर बैठा कर। बार बार आसान बदल कर मैंने उसे करीब आधा घंटा और चोदा। मेरा दोस्त तो कब का फारिग हो चुका था बल्कि उसकी पार्टनर भी मुझे देख रही थी।आधे घंटे की चुदाई के बाद जब वो थक गई, फिर मुझसे बोली- अब तुम भी अपना काम खत्म करो.

उसका लाल सुपारा और आगे से मोटा लंड देख कर तो मैं धक्क रह गई और लंड में खो गई.

जब वह अपने शरीर को पौंछते हुए घूमा तो मुझे उसके जघन स्थल पर उगे हुए काले बालों के बीच में उसका तना हुआ लिंग और उसके नीचे लटकते हुए अंडकोष दिखाई दिये. मगर फिर सुमन को सब पता लग जाता, उसके बाद ममता और गुलशन जी अभी ये बिल्कुल नहीं चाहते थे कि उनकी बहन से उनका सामना हो. मैं दोनों हाथ ऊपर करके चाची के मम्मों को दबाने लगा और चूत के छेद में जीभ डाल के चूत चाटने लगा.

इसके जवाब में उसने मेरा लंड पकड़ कर मसलना चालू कर दिया और मेरा सिर पकड़ कर अपने चूचे पे दबाने लगीमैं बारी-बारी से मम्मों को चाटने और चूसने लगा… साथ ही दूसरे हाथ से उसकी चुत में उंगली भी करने लगा. अगले ही पल उसने मेरे और अपने सारे कपड़े उतार दिए और मेरे मुंह में अपना लंड दे दिया और मैं बड़े प्यार से उसे चूसने लगी.

धीरे धीरे यश ने मेरी चूत चोदने की स्पीड बढ़ाई… अब मुझे मजा आने लगा, मेरे आनन्द की कोई सीमा नहीं थी, आह… म्म्म्ह आहहा हां… हां… ओह… मेरे मुख से लगातार सिसकारियां निकलने लगी, मैं गर्म साँसें छोड़ने लगी. अनुभवी आशीष को समझ आ गया मेरे बिना कहे ही; वो उठे…उनके हटते ही मेरी आँखें खुली, देखा आशीष पूर्ण नग्न थे, बीच में करीब सात इंच का लम्बा सा मोटा सा लंड बिल्कुल कड़ी अवस्था में था. दरअसल उसे किस करने में ज़्यादा मजा आ रहा था, इसलिए वो अपना मजा खराब नहीं करना चाहती थी.

తెలుగులో బిఎఫ్ సెక్స్

लंड को उस की चुत में अन्दर बाहर करने के दौरान संगीता 2 बार मुझसे तेज़ी से चिपक कर अकड़ गई थी.

अब मैंने उं भाभी से पूछा- भाभी, आप कहाँ जा रही हैं?भाभी ने कहा- मैं अपने घर जा रही हूँ. वो एक खण्डहर के पास जाकर रूक गया और मैं खण्डहर के दूसरी तरफ़ से होता हुआ उस सेक्सी मर्द के सामने की तरफ़ आ गया और छिप कर देखने लगा. फिर मैंने चूत को फैला कर अपनी उंगली डालने लगा, इतने में नेहा जग गई.

फिर जिस तरह वो अपनी उंगली को उनकी चूत तक लाया था, उसी तरह अपने मुंह को उनकी नाभि को चूमते हुए उनकी चिकनी चूत पर ले गया. अब गुलशन जी कभी अपनी जीभ से चुत को कुरेदते, अपनी जीभ की नोक चुत में घुसेड़ने की कोशिश करते और एक बार तो उन्होंने उंगली चुत में घुसाने की कोशिश भी कि जिसका परिणाम जल्दी उनके सामने था. दामाद ने सास को चोदा सेक्सी वीडियोयह सिलसिला लगभग एक महीने तक चला, पूरे महीने तक मैंने जय से खूब मजा लिया.

दस मिनट में मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और उसकी चूत से पानी बहने लगा. मैं गेम पॉज़ करके दरवाज़ा खोलने गया तो देखा कि एक औरत हाथ में बैग लिए खड़ी है.

टीना- अच्छा फिर क्या हुआ तू रोई क्यों?सुमन- यार पापा के जाने बाद मैं सो गई थी, थोड़ी देर बाद कुछ अजीब सी आवाजें आईं, जिसे सुनकर मैं डर गई और पापा को देखने गई कि वो आए या नहीं, मगर वो नहीं आए थे. धन्यवाद दोस्तो और प्यारी प्यारी गर्म चूत की मलिकाओ!नए पाठकों के लिए बताना चाहता हूँ कि मेरा नाम राहुल है. पराई चूतका आकर्षण होता ही ऐसा है कि इंसान अपनी मान मर्यादा रुतबा इज्जत सब कुछ लुटाने को तैयार हो जाता है एक छेद के लिए.

खैर अभी उसकी मां को माँ चुदाने दीजिए, हम लोग अनुराधा की जवानी से ही खेलते हैं. तुम तीनों माँ-बेटी हो ही इतनी मस्त कि हम मर्दों का लंड तुम्हें देखते ही खड़ा हो जाये. आंटी मोटे लंड के कारण चिल्लाती रहीं लेकिन मैं नहीं रूका और 15 मिनट के बाद में झड़ गया.

मैंने उनसे पूछा- आप अपनी झांटें साफ़ नहीं करती हैं?वो बोलीं- कभी कभी करती हूँ, पर इधर समय ही नहीं मिल पाया.

वो तो मानो पागल हो गई थी, उसने अपने पांवों से मेरी कमर को जकड़ लिया और अपने हाथ मेरी पीठ पर कस लिए. इस बारे जब मैंने उनसे पूछा- ये कौन है?तो उन्होंने बताया कि ये मेरी बेटी हैं.

फिर उन्होंने यह कह कर राहुल का मोबाइल नम्बर ले लिया कि अगर वो अपने घर से कभी लेट होती हैं तो राहुल को बता कर एक दो मिनट के लिए बस को रोका जा सके. दीपिका की टी-शर्ट में गले के पास तीन बटन थे, उसने अपने तीनों बटन खोल दिए, फिर वो बोली- तुम मेरे दोस्त हो राजीव, अगर तुम ये चाहते हो तो मैं मना नहीं कर सकती. अब मैं उसके लंड पर कूदने लगी और उसके हाथ पकड़ कर बोली- भेनचोद चुचे कौन दबाएगा साले.

मैंने बोला- लंड खड़ा करके रखो और जब बहन तेरे रूम में आए उसी समय आंखें बंद करके मुठ मारने लगना, उसे ऐसा फील होगा तुम तो आँखें बंद किए हुए हो तो तुमने बहन को देखा ही नहीं. नीता चुदाई का मजा ले रही है… यह देख, पप्पू ने उसे तड़पाना चाहा और अपने लंड की टोपी अन्दर रख कर बाकी लंड बाहर निकाल लिया. सेक्स कहानी का पिछला भाग :इश्क विश्क प्यार व्यार और लम्बा इन्तजार-1दोस्तो, मैं विक्की खन्ना आपने मेरे और मोनिका के बारे में पिछली कहानी में पढ़ा, मैंने मोनिका की मदद की और उसने मुझको अच्छे से जाना कि कोई उससे मुझसे ज्यादा प्यार नहीं कर सकता.

राजस्थान के बीएफ पिक्चर बहुत मज़ा आ रहा है तेरी गांड चाटने में और तुझसे अपनी गांड चाटवाने में. नीता के जवाब से पप्पू का लंड और कड़क हो गया तो वो नीता की एक चूची चूसने और दूसरी को मस्ती से मसलने लगा.

आदिवासी रंडी सेक्सी

मैंने जवाब दिया- तुम्हें तो मजा आया पर मेरा क्या, मेरी तो जान निकल गई थी एक बार तो… मेरी तो फट गई ना…वो बोला- ये दर्द तो एक ना एक दिन होना ही था… आज हो गया तो अब आगे दोबारा तो नहीं होगा. तो उसमें ऐसा क्या खास है?संजय- यार उसकी मासूमियत और भोलापन देख कर मन में ख्याल आया कि अगर ये शराफत का नकाब उतार दे तो हम सभी को कितना मज़ा देगी. जब मैंने जय का लंड देखा तो मुझे पूरा विश्वास हो गया है कि रानी सही कह रही थी.

फिर उसने नाश्ता बनाया और बताया कि उसकी सहेली अपने परिवार के साथ 3 दिनों के लिए ऊटी गयी है और आज वो अपना पूरा दिन मेरे साथ बिताना चाहती है. रात को तरुण हवेली कब लौटा था, इसका मुझे पता ही नहीं चला था इसलिए दूसरे दिन सुबह पांच बजे उठ कर सब से पहले उसके कमरे में जा कर देखा तो उसे सोया पाया. শাকিলা সেক্স ভিডিওयहाँ पर आपको बता दूँ कि ये मेरी वही मौसी की बेटी हैं जिनको मैं मेरी एक पिछली कहानीदीदी की गर्म चूत की चुदाईमें चोद चुका हूँ.

फिर मैंने धीरे-धीरे अपना शॉट लगाना चालू रखा, थोड़ी देर बाद जब वो पूरी कंफर्टबल फील करने लगी, तब मैंने अपनी स्पीड बढ़ाना चालू कर दिया.

मैं थोड़ी देर बाद उनके घर गया और डोर बेल बजाई तो आंटी ने दरवाजा खोला. आज मुझे जवानी का असली मजा मिला है जो कि तुम मुझे कभी नहीं दे सकते थे.

मैंने कहा- मजा आया था?तो उसने कहा- उसका तो एक मिनट में अंदर जाते ही छूट गया था. दूसरे दिन मैं पिंकी को लेकर पार्क में गया और एक सुनसान जगह पर बैठ गया. कुछ ही देर में हम दोनों का मूड फिर बन गया, साली ने मेरे लंड को हाथ में लेकर कहा- अब क्या मूड है जीजू?मैंने साली के होंठों को चूमते हुए कहा- मूड बता तो रहा है जो तेरे हाथ में है, उससे पूछ!वो मेरे लंड पे हल्के से चपत लगाती हुई कहने लगी- ये तो साला बदमाश है.

इतनी करीब से उस सुन्दर और मनमोहक लिंग को देख कर मैं कुछ देर के लिए अपने सभी दुख भूल गयी और मेरे शरीर में झुर-झुरी सी होने लगी.

जब मैं तुम्हारी गांड भी मार लूँगा, तब तुम पूरी तरह से औरत बन जाओगी. मैंने ब्लाउज के बटन खोले तो अन्दर आंटी ने वाइट कलर की ब्रा पहनी हुई थी. काकू ने ढेर सारा तेल उसके मम्मों पर डाला और साइड में खड़े होकर उसकी गोलाइयों की मालिश शुरू की.

డానీ డేనియల్స్मैंने पूछा- आपको जाना कहाँ है?उसने बताया- मैं जनकपुरी में उत्तम नगर में रहती हूँ. इस बीच एक बार और उसने अपना कामरस निकाल दिया और बेड पर लम्बी लेट कर ‘हम्मम्म अअअह.

गंदी सायरी

मैंने बोला- तो फिर घर से क्यों आ गई?तो उसने मुझे किस करना चालू कर दिया. वैसे अगर वो हमारे साथ शहज़ाद की दूसरी बीवी की तरह रहना चाहती है तो रहती रहे हम लोगों को बोल देंगे कि वो शहज़ाद की दूसरी बीवी है. अन्दर और जगह नहीं है क्या?मैं बोला- साली मेरा तो अभी आधा लंड ही गया है और आधा जाना बाकी है.

थोड़ी देर बाद मैंने अपने वॉलेट से अपना कार्ड निकाल कर उसको देते हुए अनजाने में उसे वॉलेट में लगे अपनी वाइफ के फोटो की झलक दिखा दी. पहले तो एक-दो मिनट वो आह-आह करते रहे, फिर उसने मेरे चूतड़ को दबा कर इशारा किया, जिसका मतलब मैं समझ गई. कॉम पर आइये और पूरा खेल देखने के सविता भाभी की चुदाई की कहानी के इस एपीसोडयौन कसरतको अभी डाउनलोड करें.

करीब 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद गोपाल का लावा बह गया और उसने नीतू की चुत को रस से भर दिया. फिर वो बोली- कुत्ते… सिर्फ़ मेरी बेटी को चोदेगा? मुझे नहीं छोड़ेगा क्या हरामी? मैं जाह्नवी से ज्यादा सेक्सी हूँ, खूबसूरत हूँथोड़ी देर तो मैं कुछ नहीं बोला और ऐसे ही खड़ा रहा, मालती मुझे किस करती रही. वैसे उसकी मोटाई से उसको दिक्कत हो रही थी मगर स्वाद के मारे वो चूस रही थी.

हमने ज्यादा देर नहीं लगाई और शहज़ाद ने मुझे नीचे किया और लंड मेरे अंदर डाल दिया. वो शहज़ाद के ओर नज़दीक हो गई जिससे मेरी आधी जांघ शहज़ाद के लंड को रगड़ रही थी और आधी जांघ सैफिना के उपर उसकी जांघ से रगड़ खा रही थी.

गाड़ी चलाते हुए मैंने रिया की तरफ देखा तो वो किसी ख्याल में खो चुकी थी.

फिर मेरा लंड खड़ा हो गया और मैं उसकी गांड की दरार पर लंड रगड़ने लगा; वो मादक आहें भरने लगी. सेक्सी वीडियो हिंदी बिहार कीसाली तुझे पहली बार चोद रहा हूँ पर अभी तक जो मजा मुझे मिला है वैसा मजा किसी को भी चोदने में नहीं आया था. सेक्सी फिल्मे नंगीमैं भरपूर जिस्म की एक सम्पूर्ण नारी थी तो मुझे आनन्द भी भरपूर मिल रहा था. दस मिनट तक धकापेल चोदने के बाद भाई ने पोजीशन चेंज की और मुझे सोफे पे लिटा कर मेरे दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख कर मुझे ज़बरदस्त चोदने लगे.

मेरे जीवन के उस भयानक, कठिन एवं संकटमय समय का प्रारम्भ 16 जुलाई 2013 को हुआ जब केदारनाथ में प्राकृतिक त्रासदी घटी और रामबाड़ा में हमारा घर तहस-नहस हो गया.

मुझे भी चुदे हुए 10 दिन हो चुके थे, मैंने चिंटू और परीक्षित से बोला भी, पर वो किसी काम में व्यस्त थे तो मैंने भी जिद नहीं की. लड़कियों के नखरे, क्या करें? चूत पाने के लिए तो करना ही पड़ता है।फिर रात को करीब 12. मैं- पर दीदी मैं घर पर क्या बहाना बनाऊं?दीदी- वो सब तू मुझ पर छोड़ दे, मैं बोल दूँगी मौसी को, तू बस आ जा शाम को, ओके.

दीदी अपने चुचे उठाते हुए बोलीं- तेरा मतलब क्या है?मैंने सोचा दीदी भी गरम सी हो रही हैं तो मैंने उनको छेड़ा. मैं मामा जी के लंड को चूसने लगी, थोड़ी ही देर में लंड गीला हो गया, मैंने थोड़ा थूक मामा जी के लंड के गुलाबी टोपा पर लगाया और लंड को कस कर मुट्ठी में भर कर ऊपर नीचे करने लगी. तभी मैंने उसके होंठ को काट लिया और उसने चिल्लाते और मुझे दूर धक्का दे दिया.

देहाती लड़की की सेक्सी पिक्चर

मैं- हाथ सामने कर और इस बॉटल से हनी अपने हाथ पे लेकर मेरे लंड पर लगा. कुछ तेज धक्कों के बाद विनय ने अपना सारा माल कविता के पेट पर निकाल दिया. मगर फिर सुमन को सब पता लग जाता, उसके बाद ममता और गुलशन जी अभी ये बिल्कुल नहीं चाहते थे कि उनकी बहन से उनका सामना हो.

मैं समझ गया कि चाची मेरे लैपटॉप की लाइट को जलते देख कर रूम में आ गई थीं.

आप लोगों को मेरी चुदाई की मस्त सेक्सी कहानी कैसी लगी, मुझे ज़रूर मेल करके बताएं.

उसने ड्रिंक सर्व किया और तारीफ-ए-काबिल नजर से हमें देखकर अंग्रेजी में कहा- मैम, आप भी एशियन हैं ना?हाँ, हम भारत से हैं. इतने में प्रिया चाय लेकर आ गई और मुस्कुराते हुए बोली- क्या बात हो रही है?राहुल बोला- सन्नी भाई बोल रहे हैं कि इनकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, इन्हें टाइम नहीं है. राजस्थानी सेक्सी रेपयहाँ से download करें!देसी लड़कियों से हिन्दी अंग्रेजी या अन्य भाषा में सेक्स चैट करने के लिएदेलही सेक्स चैटपर आयें और मजेदार सेक्स की बातों का मजा लें! यहाँ पर आप वीडियो सेक्स चैट यानि कैमरे पे भी लड़कियों को नंगी कर सकते हैं.

उसमें ताक़त नहीं बची थी कि वो उठ पाए, तो मैंने उसे कमर से पकड़ कर उठाया और दीवार से सटा के खड़ा करके फव्वारा स्टार्ट कर दिया… हम अब भी हाँफ़ रहे थे… क़िसी तरह हम दोनों ने फव्वारा का मजा लिया और बिस्तर पर आकर नंगे ही गिर गए. मॉर्निंग में मैं जब उठी तो गांड का शेप ही बदल गया था… वो और मैं न्यूड ही सो रहे थे. उस बात का अहसास मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकती।बीच पे कई जगह बहुत से लोग नंगे ही घूमते मिले। कहीं जोड़े तो कहीं ग्रुप में सेक्स क्रीड़ा चल रही थी.

मेरे लिए जन्नत कहीं और नहीं… तेरी चूत में है, मालिक का शुक्र है जिसने मुझे तेरी चूत चोदने का मौका दिया और जिस वजह से मुझे जन्नत का दर्शन हुआ. मेरी तो गांड फट गई थी, मैंने कहा- दीदी प्लीज़, मॉम डैड को मत बताना, तुम जो कहोगी मैं करूँगा.

फिर 6 या 7 ज़ोर के झटकों में मेरा लंड अन्दर घुस गया मगर उनकी चुत फट गई थी, उनको दर्द हो रहा था.

मैं बोला- रानी, डरो मत… मैं तुम्हारी गांड में पूरा तेल लगा दूंगा और अपने लंड पर भी पूरा तेल लगा दूंगा। फिर मैं तुम्हारे अंदर डालूंगा तो आराम से चला जाएगा. एक दिन की बात है जब मेरी नानी की तबीयत अचानक खराब हो गई और मम्मी पापा को नानी के यहाँ जाना था. मेरे जिंदगी के वे साढ़े तीन घंटे इतने खूबसूरत गुजरे कि मैं स्वर्गलोक में विचरण कर रहा था.

நிஃரோ செஸ் मैं अंकित को बोली- क्या कर रहे हो?तो अंकित बोला- पिंकी मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ, मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ. तुम तो वापस यहाँ आआगे नहीं, फिर मेरी बुर की प्यास कौन बुझाएगा?मैं- हां सही कहा तुमने.

आह!अब मैं जोर-जोर से आगे-पीछे होने लगा और अपनी गोटियां उसके चेहरे पे पटकने लगा. वो मेरे पूरे लौड़े को मुख में लेकर मजे से चूस रही थी और मैं उनकी चूत को चाट रहा था और अपनी जीभ की नोक से उसे चोद रहा था. इतनी दूर से उस लिंग के माप का सही अनुमान लगाना तो कठिन था लेकिन वह लिंग मेरे स्वर्गीय पति के लिंग की लम्बाई एवं मोटाई के बराबर ही लग रहा था.

मारवाड़ी सेक्सी मारवाड़ी सेक्सी फिल्म

वो सिर्फ पेटीकोट में झुककर झाडू लगा रही थीं, उससे पीछे से उनकी गांड की दरार भी साफ़ दिख रही थी. मेरा मन उसका लंड देखने का फिर हुआ तो मैंने जानबूझ कर अपना एक बिस्किट गिरा दिया और झुकी तो अब मैं देखती रही. तभी राहुल ने अपनी पैन्ट उतार दी और करीब 7 इंच का तूफानी लंड उनके सामने आ गया.

मैंने अपना लंड रखा ही था कि उसने रोका और बोली- बच्चा, प्लीज रेनकोट पहन कर भीगो ना!उसकी बात मस्त लगी, मैंने जल्दी से कंडोम लगाया और फिर अपना लंड पीछे से उसकी चूत पर रखा, उसने धीरे से जोर लगाया और घप से मेरा लंड अपने अंदर ले लिया ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मैंने उसके गर्दन पर किस करना शुरू किया और धीरे धीरे उसको चोदने लगा. अंकित मेरी ब्रा खोल कर मेरी मोटी चूची को चूसने लगा, दबाने लगा, मैं भी अंकित का साथ दे रही थी.

मेरी नींद सुबह तब खुली, जब रागिनी मुझे जगाने आई- गुड मॉर्निंग!मैंने भी सुप्रभात कह कर तौलिया लपेट लिया.

मेरे होंठ अपने आप उसकी चूत पे जा पहुंचे, मैंने उसकी चूत के आस पास जीभ घुमाई और फिर चूत पे अपने होंठ जमा दिए. ये तकरीबन एक साल पहले की बात है… मुझे किसी अनजान नम्बर से फोन काल आई. अन्तर्वासना के सभी पाठकों को नीटू का नमस्कार, मेरी उम्र 25 साल है और मैं जयपुर का रहने वाला हूँ.

सुबह बच्चे और रात में पति की सेवा मेरा ख्वाब चकनाचूर करते चले गए, जिसे देखने और समझने वाला कोई ना था. मैंने अपनी पोजीशन बदली और अपना सिर शहज़ाद के पैरों की तरफ कर दिया जिससे मेरी टांगें शहज़ाद की तरफ हो गई और मेरी चूत उसके नजदीक हो गई. कुछ ही मिनटों बाद मुझे अनुभव हुआ कि मेरे लंड पर गांड का कसाव कुछ ढीला पड़ गया साथ ही बहूरानी भी कुछ रिलैक्स लगने लगीं थी.

उसने अपने लंड पर भी बहुत सारी वैसलीन लगा ली और लंड मेरी गांड के होल पर ले कर आया.

राजस्थान के बीएफ पिक्चर: जरा अपनी मॉम का भी ख्याल कर, वो जिंदगी और मौत से जूझ रही है और तुझे इस सबकी पड़ी है. उसकी चूचियाँ मेरे छाती से दबी थी, मेरा लंड उसकी चूत को छू रही थी और हम एक दूसरे की पीठ को सहला रहे थे.

मैं उठी और लंड को बुर पे सेट किया और एक बारगी अनाड़ीपन से बैठ गई लंड पे…‘उई ईई ई ई माँ आ आ आ आ आह…’ दर्द की तीखी अनुभूति हुई… एकबारगी ऐसा लगा कि साँस ही रुक गई है. मैंने पूछा- ये तुम्हारी बहन है क्या?वो बोला- हां, मुझसे बड़ी है… इसकी शादी हो चुकी है. कॉलोनी के सभी लोग सभी एक साथ होली खेलने लगे और धीरे धीरे मस्ती में मशगूल होने लगे.

टीना ने बरखा की चुत को एकदम क्लीन कर दिया, साथ ही उसने अपनी चुत भी चमका ली थी.

तभी मेरा फोन बजा और उसने मुझे नीचे पार्किंग में पैसे देने बुलाया।मैं भाभी से पैसे लेकर तैयार होकर नीचे गया तो देखा वो अपनी नई हीरो की रेंजर सायकल से टिक कर खड़ा हुआ पैसे गिन रहा है और आसपास 4-5 लोग खड़े हुए हिसाब करवा रहे हैं।यार वो बिल्कुल छोटा हीरो की तरह लग रहा था… उसकी उम्र कम थी लेकिन हरकतें किसी बड़े हीरो जैसी… सब लोग उससे हंसी मजाक कर रहे थे… उसकी बातों से वह मुझे नादान लगा. गुलशन जी को असीम आनन्द की प्राप्ति हुई, मगर वो अपने ज़ज्बात को काबू में किए हुए वैसे ही खड़े रहे. चुत चाटते समय मैं कुत्ते की तरह चुत पर जीभ लपलपा रहा था, जी भर के चुत चाट रहा था.