देसी चूत बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी चोदा चोदी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स विलेज वीडियो: देसी चूत बीएफ, [emailprotected]कहानी का अगला भाग:गर्लफ्रेंड की कोरी चूत में लंड से हस्ताक्षर- 2.

देहाती चूत

अपने आपको इस हालत में पाकर वह थोड़ा शर्माने लगी और कंबल में छिप गई. बिहारी भाभी के सेक्सीइसके बाद मैं भी खुशी खुशी अपने कमरे में आ गयी और मैं भी नंगी होकर सोने लगी.

मैंने उसके लंड को चूत पर रखा और बोली- मार जोर से धक्का और चोद दे अपनी मालिक की बीवी को … फाड़ दे मेरी चूत को. देसी सेक्सी सेक्स वीडियोबार बार अपनी साड़ी के पल्ले को झटका मार कर सही कर रही थीं और अपने पेटीकोट को सैट कर रही थीं.

मैंने कहा- अबे यार तुम तो टेसू टाइप की हो … उंगली अन्दर बाहर करो … बहुत मज़ा आता है.देसी चूत बीएफ: मैंने उसके लिए एक अंगूठी भी ले रखी थी और साथ ही एक स्पेशल बियर की बॉटल भी ले ली थी.

एक घंटे बाद उसने मुझको कॉल किया और बोली कि हां इस शनिवार को कॉलेज के पास छात्रसंघ वाले कमरे में मिलना.अब आगे हॉट एक्ट्रेस सेक्स स्टोरी:मैं अपने हाथ से दाइशा जी का हाथ पकड़कर स्टियरिंग को डाइरेक्ट कर रहा था और अपने एक हाथ से दाइशा जी के कंधों को अब ज़रा आराम से सहला रहा था।मेरी आंखें दाइशा जी की ओर ही थी और कभी-कभी बाहर ग्राउंड पर भी उठ जाती थी.

सेक्सी हिंदी पोर्न - देसी चूत बीएफ

पहले तो थोड़ी शर्माईं, फिर धीरे से उन्होंने अपने नितम्ब उठाकर सलवार निकलवा दी.ऋतु को मैंने बता रखा था कि मैं पल्लवी को लाइक करता हूं और उसको प्रपोज़ भी किया है.

तब मैं शादी से पहले के वाकियात और कोमल दीदी की उदासी को याद करने लगा. देसी चूत बीएफ तुम्हें देखकर तो बूढ़ों का भी लन्ड खड़ा हो जाये और वो तुम्हें चोदने को मचल जायें।ज्योति ने मेरी आँखों में देखते हुए कहा- सच बोल रहे हो भइया, क्या मैं इतनी खूबसूरत लग रही हूँ?मैंने कहा- सच में दो लन्ड का पानी पीकर तुम और रसीली हो गयी हो.

उसकी ब्रा इतनी झीनी थी कि उसमें से चुचे और ब्राउन कलर के नुकीले निपल्स साफ दिख रहे थे.

देसी चूत बीएफ?

राहुल- नहीं पहले आप वादा कीजिए कि आप मुझे रोज दूध पिलाओगी, तभी मैं पियूंगा. आईने में अजय की बैचनी मुझे साफ़ दिख रही थी।मैंने अजय को अपनी ब्रा का हुक लगाने को कहा. थोड़ी देर बाद अम्मी मेरे कमरे में आईं और कहने लगीं- बेटा शराब पीने से क्या मिलता है.

भाभी बोलती रहीं- मैं कितनी खुशनसीब हूँ कि मेरे नए पति मुझसे कितना प्यार करते हैं … आज वो मुझे ना जाने कौन सी दुनिया में ले गए, जहां सिर्फ मुझे सुख ही सुख दिखाई दे रहा है. उसके हाथ जब पीछे से अपनी नाप जोख पूरी कर चुके तो वो वापस जाके बेड पे आराम से बैठ गया. भाभी मादक सिसकारियां लेने लगीं- उई मां … और तेज चाटो उफ्फ … साले कबसे तुझे अपनी जवानी दिखा रही थी आह भोसड़ी के … आह … चाट ले मेरी चुत को उम्म्म … कम ऑन फक मी आह …मैंने भाभी के मुँह से ये सुना तो अपना सर पटकने लगा कि ये तो पहले से ही चुदने को मरी जा रही थीं.

मेरे मन में तो उसकी चुदाई की चुल्ल थी पर डर भी लग रहा था कि साली कहीं कुछ बवाल ना कर दे. पापा- मज़ा आ गया तुम्हारी चुदाई करके … अगर तू मेरी लड़की न होती तो मैं तुम से शादी करके तुम्हारी रोज़ लेता. कुछ देर बाद रश्मि ने मेरा हाथ पकड़ कर हल्के से चूम लिया और मेरे कान में फुसफुसाई कि मेरे बगल के नीचे से आप हाथ डाल कर मेरे सीने पर रखिए.

मॉम- इतने पैसे अभी मेरे पास नहीं है, आप थोड़े दिन का समय दे दीजिए, मैं आपके सारे पैसे चुका दूँगी. देसी हॉट चूत की कहानी में पढ़ें कि मेरी चाची घर में ब्यूटीशियन का काम करती थी.

वो अपने हाथ मेरे हाथ पर लाकर मम्मों को दबाती हुई बोली- राजा मेरा दूध नहीं पीना है क्या?मैं उसके गले पर किस करता हुआ मम्मों को चाटने लगा.

कल्पेश अब बिंदास हो गया और मीरा के मम्मों को उसकी मिनी के ऊपर से ही दबाते हुए मजा लेने लगा.

कुछ ही पलों बाद उन दोनों ने एक साथ पानी छोड़ दिया और हम सब चिपक कर लेट गए. उस दिन के बाद मैं और बुआ कुछ ज्यादा ही साथ रहने लगे थे जबकि हम दोनों में कुछ भी गलत नहीं था. आपकी उसी फरमाइश पर मैं आपके लिए अपनी नयी हॉट लेस्बो सेक्स स्टोरी लेकर आई हूं.

मैंने महसूस किया कि उसे वो चांटा बहुत जोर से लगा था इसलिए वो उन्ह करती हुई जल्दी से आगे हो गई और चूत में से लंड निकल गया. इस समय दोनों तरफ आग लगी हुई थी और शायद आज की रात मुझे दीप्ति जैसी खूबसूरत और नशीले जिस्म वाली औरत के साथ सेक्स करने का मौका मिल सकता था. एक दिन मेम का फोन आया और उन्होंने मुझसे कहा- मुझको कुछ पैसों की ज़रूरत है, क्या कुछ हो सकता है?मैंने कहा- मेरे पास तो नहीं है.

कहानी के पिछले भागदो लंड से एक साथ चुदाने का अनुभवमें पढ़ा कि मुझे दो अमीर क्लाइंट मिल गए थे.

उन्होंने अपनी टांगें खोल दीं, तो मैंने अपनी उंगली अपनी सासू मां की चूत अन्दर पेल दी और चूत में उंगली चलाने लगी. उसकी खिलखिलाती हुई आवाज आई- इतनी देर में मेरी याद आई!मैंने कहा- मुझे लगा कि तुम किसी और का चूस रही होगी. मैंने उससे पूछा- हम यहां सेक्स करेंगे?वो बोला- नहीं, पर अब हम जो चाहें, वो कर सकते हैं न!मैंने कहा- हां.

उसने मेरी नजरों का पीछा किया और बोली- अच्छा ये चाहिए?मैं बोला- क्या है इसमें?अनन्या- तुम्हारा गिफ्ट. जब मैंने बुआ के चूतड़ पर लंड लगाया तो बुआ में कुछ हरकत हुई तब भी मैंने अपने लंड को बुआ के चूतड़ों से नहीं हटाया. कुछ देर बाद बेल बजी, तो ममता बोली- वही है, तुम चुपचाप आवाज सुनते रहना.

मेरा भी अब होने वाला था, तो मैंने अपनी रफ्तार बढ़ाई और तभी वो एक बार फिर से झड़ गई.

बीच बीच में मैं उसके निप्पलों को हल्के से अपने दांतों से चुभला देता था. अब मैं मौके की तलाश में रहने लगी थी और जानबूझ कर विशु के सामने बिना ब्रा के टी-शर्ट में रहने लगी.

देसी चूत बीएफ अनिल मुझसे बोला- चल आ जा अंकित, अब तुम भी अपना लंड अपनी मॉम की चूत में पेल डालो. मुझे बहुत अजीब लग रहा था, पता नहीं निकिता मेरे बारे में क्या सोच रही होगी.

देसी चूत बीएफ चाचा की ये बात सुनकर मुझे बहुत ही मजा आ गया और मम्मी ने भी शर्म के मारे अपनी मुंडी नीचे कर ली. उसकी सांसें तेज तेज चलने लगीं और इसी वजह से उसकी चूचियां उठने बैठने लगीं.

उसी वक्त मैंने फैसला कर लिया था कि मैं एक दिन देवर से जरूर चुदवा लूंगी.

सेक्सी डाउनलोडिंग फुल एचडी

[emailprotected]अलोन वाइफ वांट सेक्स कहानी का अगला भाग:देवर भाभी की चुदाई बनी हकीकत- 3. इतना जोर से मुझे अपने सीने से लगाया था कि भाभी के बूब्स मुझे मेरी छाती पर चुभते हुए महसूस होने लगे. मेरी धड़कनें इतनी तेज हो गयी थीं मानो दिल छाती फाड़कर बाहर आने वाला हो गया था.

मैं- कैसा लगा वाइन का मज़ा?मीना- बहुत मज़ा आया जीजू पर …मैं- पर क्या हुआ बोलो?मीना- जीजू, आप ये वाली बात किसी बताओगे तो नहीं ना!मैं- अरे पागल है क्या … ये अपन जीजा साली की बात है. उसका लंड जैसे ही चूत में घुसा, मैं ऊईई ईई ईईई सीईई ईई करके चिल्ला उठी. तेल को उसके पैरों पर लगाना शुरू किया, पर आज मैंने देखा ज्योति कुछ ज्यादा ही उत्तेजित थी.

उसका लंड मुँह में लेते ही वो कामुक सेक्सी आवाज करने लगा ‘आह … आह …’कुछ मिनट तक उसने मेरे मुँह में लंड दिया.

मैं बहुत शर्मा रहा था क्योंकि मैंने ऐसे कभी किसी से बात नहीं की थी. फिर सुनील ने नीचे बैठकर मेरी गांड में अपना मुंह लगा दिया और मेरी गांड चाटने लगा. हम दोनों ने एक दूसरे की तरफ देखा तो मैडम ने अपनी बांहें फैला दीं और मुझे करीब आने का इशारा कर दिया.

फिर मैंने भी सोचा कि हम अभी पार्क में हैं और इधर इससे ज्यादा कुछ भी ठीक नहीं होगा, तो मैं मान गया. भाभी रविवार के दिन बहुत उदास रहती हैं, क्योंकि उनको मेरे पास आने का मौका नहीं मिलता है. तब उसने अपनी एक पच्चीस साल की गर्लफ्रेंड का जिक्र किया और कहा कि मैं किसी तरह से उसकी मौसी को पटा लूँ.

महेश सर ने मम्मी के दोनों पैरों को पकड़ कर अपने लंड को चुत पर सैट किया और एक ही धक्के में पूरा लंड अन्दर डाल दिया. अपनी उसी कामुक कल्पना को मैं आप लोगो के सामने एक सेक्स कहानी के रूप में परोस रहा हूँ.

अगली सेक्स कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने पल्लवी को चोदा. हेमा- क्या हुआ फोन कैसे किया?मैंने झूठ-मूठ में उससे प्यार मुहब्बत की बात करना शुरू कर दी- बस ऐसे ही किया डार्लिंग. दीदी मुझसे मेरी पढ़ाई के बारे में पूछती रहतीं और मेरे बदन पर हाथ भी फेरती रहती थीं.

दीप ने मुझे कस के अपने से चिपका लिया और सांत्वना देते हुए मेरे कान में बोले- जितना सोचा था उससे भी मुलायम हो तुम तो! लाजवाब हुस्न … जी करता है तुझे तो अभी उठा के ले जाऊं!मैंने भी धीरे से कहा- सब्र कर लो थोड़ा सा!और फिर मैं अलग हो गई.

फिर हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और मैंने उनकी पैंटी को उतार कर फैंक दिया. मैं पीछे मुड़ा तो जैसे ही उसने अपने मुँह पर बांधा कपड़ा उतार दिया था. चूंकि मैं एक गरीब फैमिली का हूँ इसलिये छोटे क्लास के बच्चों को अपने घर ट्यूशन दिया करता था.

‘अइइया इइया … अइया आहया … इयाआह आइया … इया आह आइ…’कुछ पल बाद मम्मी चाचा के सर को अपनी चुत से पीछे हटाने में कुछ सफल हो गईं- अइइ … उह … देखो मान भी जाओ … रहने दो ना … नरेश उधर अपनी जीभ मत लगाओ … अहह … अपना मुँह हटा लो वहां से!चाचा चुत को चाटते और सूंघते हुए कहने लगे- तुम्हारी चुत में एक अलग ही स्वाद है मेरी जान. फिर मैंने एक हल्का सा धक्का दिया, तो सुपारे ने कुक्कू की चूत में जगह बना ली.

वो अपने हाथों से मम्मी के पीछे पीठ का मजा लेने लगे, मम्मी के ब्लाउज के बाहर उनकी गोरी पीठ पर अपने होंठ फेरने लगे. हमारी जीभें आपस में लड़ने लगीं ‘ऊऊम्मा … आंह … उन्ह …’मैंने बोला- अभी तेरे बच्चे नहीं हुए हैं. इसके बाद चाचा अपना लंबा, मोटा और सख्त लंड मम्मी की चुत की तरफ ले गए.

செஸ் வீடியோ பிலிம்

लेकिन उसकी ये चीख मेरे होंठों से दबी रह गई, उसकी आंखों से आंसू आने लगे और वो मुझे पीछे को धकेलने लगी.

मैं उसे अपनी गोद में उठा कर बाथरूम में ले गया जहां मैंने उसे साफ किया और खुद को भी. कभी कभी जब मेरा घर खाली रहता, तो रोहन अपनी जुगाड़ जैनब को मेरे घर लाकर इसके साथ मस्ती करता था. यह बोल कर उसने मेरे लंड पर एक प्यारा सा चुम्बन किया, जिससे मेरा लंड उचक उचक कर मीना के होंठों को सलामी देने लगा.

मैं रात को उनके पास गया और कहा- बताइए, मैं आप की मालिश कर दूं!तो उन्होंने मना कर दिया. वो मुझे देखते ही बोली- आज पापा नहीं है, उन्होंने कहा था कि सिंह साहब का बेटा आएगा, तो उसे दूध दे देना. सेक्सी चोदा चोदी सेक्सी चोदा चोदीमैंने उससे पूछा- राहुल, क्या तुमको मेरी चुत चाटने में मजा आ रहा था?राहुल- हां भाभी, मुझे आपनी चुत चाटने का बड़ा दिल कर रहा है.

मैंने ऋतु को रूम में जाकर पीछे से हग किया और उसके कान और गले पर किस करने लगा. उसकी मां अकेली रहती है।उसने कहा- तुम यहां रहोगे तो मेरी मां को भी कुछ सहारा मिल जाएगा.

अब चाहे कुछ भी हो जाए … चाहे जान भी चली जाए, मैं अब पीछे नहीं हटूंगा. वो मेरे पास आई और बोली- विक्रम तुम कल शाम को आना और अपनी रिपोर्ट ले लेना और साथ में दवा भी. भाभी और मेरे बीच जो और भी कुछ भी हुआ या होगा, उसको मैं कुछ दिन में आपके सामने पेश जरूर करूंगा.

मैंने उसकी चूत पर उंगलियां रगड़ना शुरू कर दीं और उसके नुकीले निप्पल को दांत में भर कर दबा दिया. वो- मालकिन थोड़ा पीने को पानी मिलेगा!मैं- हां देती हूं, अन्दर आ जाओ. अगली सेक्स कहानी में आपको माया और अपनी चाची की चुदाई लिखूँगा, आप मुझे मेल करें कि आपको यह देसी हॉट चूत की कहानी कैसी लगी?[emailprotected].

क्या मैं तुम्हारी बांहों में सो सकती हूं?मैं बोला- आ जाओ ना मेरी जान, तुम्हारे लिए तो कुछ भी कर सकता हूँ.

मैंने मालिश करते हुए पूछा- दर्द कहां है?वो बोली- थोड़ा सा कमर के नीचे. झड़ने के बाद मिताली अब निढाल सी हो गई थी पर मेरा तो अब तक हुआ नहीं था.

इसी के साथ उसने मेरी पीठ पर अपने नाखून गड़ा दिए और चिल्लाती हुई झड़ने लगी. मैंने बाइक साइड स्टैंड पर खड़ी की और उसका एक हाथ अपने गले में डाल लिया. उस दिन काफी गर्मी पड़ रही थी, हल्की बारिश की वजह से उमस भी थी और लाईट भी नहीं थी.

कुछ ही पलों बाद उन दोनों ने एक साथ पानी छोड़ दिया और हम सब चिपक कर लेट गए. मुझे लगा कहीं घर वाले उठकर मुझे ढूंढ न रहे हों इसलिए मैंने जल्दी से कपड़े पहने और उन्होंने घर का दरवाजा खोल दिया. अब उसने अपना सर हल्के से घुमाया और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

देसी चूत बीएफ यश ने कहा- मेरा तो हुआ नहीं।तब मैंने कहा- यार वेट कर … सब होगा।मैंने अपनी उंगलियां निधि के चूचे पर साफ़ करी और निधि को कहा- चल यश का लोड़ा चाट कर साफ़ कर।उसने अपना मुंह खोल दिया. यह कहकर मैंने भाभी के गर्दन पर अपने होंठ रख दिए और हल्के हल्के से चूमने लगा.

सेक्सी मूवी दिखाएं हिंदी

ये आज तक कभी नहीं हुआ था कि मुठ मारने के बाद इतनी जल्दी मेरा लंड फिर से तैयार हो गया हो. प्रियंका अपने ही हाथों से अपने दोनों बूब्स को मसलती हुई बोली- साली, अब सिर्फ देखती ही रहेगी या आकर चूसेगी भी!मैं इधर उधर देख कर बेख़ौफ़ हुई और प्रियंका के दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसने लगी. वह मुझे भी किसी और की बीवी चोदते हुए देखती है, तो बहुत खुश होती है.

कुछ पल बाद मैंने दीदी से कहा- दीदी, तुम अपनी कैपरी को थोड़ा ऊपर कर लो, तो मैं और ऊपर तक दबा देता हूं. कुछ देर की पीड़ा के बाद वो भी धीरे धीरे अपनी गांड उठाकर मज़े से चुदाई का मजा लेने लगी. बिहार के एक्स एक्स एक्सवह हमेशा ही अपनी साड़ी को चुस्त ही बांधती हैं और एकदम टाइट गहरे गले और बिना आस्तीन का ब्लाउज पहनती हैं जिसमें से उनके बड़े-बड़े संतरे और अधिक आकर्षक लगते हैं.

पर बात घर की थी तो मजबूरन मुझे मानना पड़ा।मैंने ऊपर के कमरे में उसके रहने का इंतजाम कर दिया।यश Xxx चाची की चुदाई कहानी उसी के साथ की है.

अम्मी ने मेरा अंडरवियर उतारा और मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं. एक लड़के ने उससे दोस्ती करके उसकी पहली चुदाई कैसे की?यह कहानी सुनें.

मैंने एक हाथ से नीरज का लंड सहलाना शुरू कर दिया और एक हाथ से सुनील का लंड सहलाने लगी. वो मेरी चुदायी से संतुष्ट लग रही थीं, तो हंस कर मुझे विदा करने लगीं. तभी कोमल दीदी और मोनिका स्कूटी पर आ रही थीं, मोनिका ने स्कूटी रोक ली तो मैंने दीदी को मनाने की कोशिश की.

जब तक तुम आंटी का पूरा पैसा नहीं चुका देते, तब तक सिर्फ़ आंटी के बताए ग्राहक के ही पास ही जा सकते हो.

मैंने घबरा कर कहा- निकाल लूं क्या?वो बोलीं- नहीं, मेरे ऊपर लेट जाओ. आपको मेरी ये Xxx देसी जवानी की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें. मैंने वो पैकेट लिया और उसको खोला उसमें से एक कंडोम को बाहर निकाल लिया.

सेक्सी सेक्सी एक्स एक्स एक्सउसने अपने पति को गोली देना शुरू कर दी कि उसको सपना आया है कि उसको औलाद तभी होगी, जब वो तीर्थ करके लौटेगी. मैंने मन में सोचा कि इन बुड्ढों का तो मुझे ब्रा पैंटी में देखकर ही खड़ा हो गया.

जबरदस्ती सेक्सी वीडियो हिंदी में

इसके बाद चुदाई कैसे हुई?हाय मेरे प्यारे दोस्तो, मैं नाज़िया पहली बार यहां पर ये सेक्स कहानी लेकर आई हूँ जो मेरी और मेरे सबसे प्यारे देवर फैसल की है. फिर मैडम मुझे ऊपर सेकंड फ्लोर के एक क्लास रूम में लेकर गई और डांटने लगीं. मेरे मन में डर भी था कि कहीं साली के चक्कर में कोई चूतियापने वाली हरकत न हो जाए.

मैंने कहा- अभी खुश कर दूँ क्या?वो बोलीं- नहीं, अभी जल्दी जल्दी में मजा नहीं आएगा. उसने मुझसे मेरे प्राइवेट पार्ट की पिक्चर मांगी लेकिन मेरी देने की हिम्मत ही नहीं हुई. फिर जब मैं कॉलेज में पहुंचने को हुआ, तो मैंने भी पापा से बात की कि मैं भी दीदी के साथ मुंबई में कॉलेज की पढ़ाई करूंगा.

ये बात मुझे बाद में पता चली थी कि मर्द के आगे जितनी ज्यादा चिल्लाओ, उसकी स्पीड उतनी ही बढ़ जाती है. मैंने फोन काट दिया और उसी वक्त मैंने आनन्द को अपने केबिन में बुलाया. उस दिन तीन बजे तक उसे मैंने चार बार रगड़ा और उसे दर्द की गोली खिला कर उसके घर के पास छोड़ आया.

कुछ पल बाद जैसे ही हम दोनों ने किस खत्म किया, तब मुझे अहसास हुआ कि मैंने कितना बड़ा कदम उठा लिया था. नैना- मैं तो आपको नाश्ते के लिए बुलाने आयी थी, आप नाश्ते में क्या खाएंगे?मैं- नैना जी, आप भी बेकार में तकल्लुफ कर रही हैं.

हम एक दूसरे में खो जाते, थोड़ी देर सुस्ताते और फिर से वही धमाल चालू हो जाता.

उसने आते ही मुझे किस किया और बोला- बड़ा मस्त चुदवाया तूने!मैं बोली- हां यार, लंड ही ऐसे थे दोनों के … तूने फिल्म बनाई?वो बोला- हां, गुरु बाबासेक्स की पूरी वीडियोबना ली. தமிழ் செக்ஸ் ஆன்ட்டி செக்ஸ்निकिता अब मेरे पास आने के लिए टाइट नहीं बल्कि ढीले कपड़े पहनती हैं ताकि कपड़ों के ऊपर से उसकी चूत पूरी खुल जाए और मैं उसकी चुदाई कर सकूं. सेक्स डॉट कॉम व्हिडीओआज मैं आपके सामने इंडियन X हिंदी कहानी प्रस्तुत कर रहा हूं जो एक काल्पनिक पात्रों की कहानी है मगर सच्चाई पर आधारित है. मैंने कहा- ये सब बातें बाद में कर लेना … जाओ पहले स्प्रे लाओ, मैं लगा दूँ.

मोनिका ने मुझे कॉल किया और समझाया कि तुम आज शाम को कहीं रूम अरेंज कर लो, मैं तुम्हें कोमल दीदी की चूत दिलवाऊंगी.

मैं- कैसा लगा वाइन का मज़ा?मीना- बहुत मज़ा आया जीजू पर …मैं- पर क्या हुआ बोलो?मीना- जीजू, आप ये वाली बात किसी बताओगे तो नहीं ना!मैं- अरे पागल है क्या … ये अपन जीजा साली की बात है. मैं पहुंची तो वहां 2 बच्चे और थे।उसने उनकी भी आधा घंटे बाद छुट्टी कर दी और मुझे पढ़ाने आ गया।हम दोनों अकेले … उसने हथेलियों से शुरू कर हाथ सहलाना शुरू कर दिया।पर थोड़ी ही देर बाद वो मेरे दूध दबाने लगा. उसकी मदभरी आवाजें सुनकर मेरा लंड और गर्म होने लगा और मैं दुगनी रफ्तार से उसे चोदने लगा.

पर फिर अंदर से आवाज़ आई ‘कर पाओगी?’रास्ते भर इसी की हिम्मत जुटाती उसके घर पहुँची जहाँ वो अकेला रहता था. मैं उसे लेने चला गया और ले भी आया। मैं अपनी साली के आने से बहुत खुश था।अब होती है असली कहानी शुरू!जब वो हमारे घर आई तो बहुत खुश हुई और मैं भी बहुत खुश था।उसके 2-3 दिन बाद मैंने गौर किया कि वो किसी से चोरी छिपे बात करती है. मैं अब अपने मामा की बेटी की मस्त मस्त चूचियों को अच्छे से दबाने लगा.

क्सक्सक्स कॉम सेक्सी

उसकी शक्ल से लगता ही नहीं था कि ये सेक्स आदि के बारे कुछ जानती भी होगी. मेरी बात का जवाब देती हुई रश्मि मुझसे बोली- अंकल दूसरा टॉयलेट न जाने कब से एंगेज है. अमित से मेरी खुल कर बात हुई तो वह भी बोला कि हम लोग भी वाइफ स्वैपिंग करना चाहते हैं.

उधर वो जोड़ा भी एक दूसरे से सटने लगे थे; मुझे उनकी चिपका चिपकी में कोई रूचि नहीं थी.

मैंने उसे अपने फ्लैट में ले गया और उस Xxx देसी जवानी को नंगी करके पहले उसकी झांटें साफ़ की और साथ में नहाया.

अब चाचा जोर जोर से झटके मारने लगे जिससे फिर से पट पट की आवाज आने लगी. इधर मैंने दोनों हाथों से कोमल दीदी के चूचे पकड़ लिए और उनके निप्पल को खींचने लगा जिससे कोमल दीदी को दर्द हुआ … पर उन्होंने मुझे रोका नहीं. xxx हरियाणाचीटिंग वाइफ पोर्न कहानी में मैंने बताया है कि कैसे मैंने अपने सहकर्मी की गर्म बीवी को पटाकर उसी के घर में पूरी रात उसकी चूत का मजा लिया.

मैंने उसके चूचे को चूस चूस कर लाल कर दिया और दूसरे चूचे को मसल कर मजा लिया. मैं भी अपने कमरे में जाने लगा, तो मामा की बेटी बोली- भैया, मुझे नींद नहीं आ रही है. बहुत समय से मैं एक ही मोहल्ले में रह रहा था, तो पड़ोस के लोगों से काफी अच्छी पहचान हो गई थी.

मैं घबराने का नाटक करती हुई बोली- वह कुछ करेगा तो नहीं ना!मामा बोला- जो करेगा, तेरा भला करेगा. मैंने उससे कहा- यार मीना, तुझे क्या लेना था, चल अभी चलते हैं … वरना 8 तक कुछ नहीं मिलेगा.

मेरा मन कर रहा था कि मम्मी को सामने से जाकर अपनी बांहों में भींच लूं और उनके लिपस्टिक लगे होंठों को अपने होंठों में भर लूं और गहरा चुंबन देकर उनको बिना किसी रुकावट के देर तक चूसता रहूं.

कुछ देर बाद वह लड़का हट गया और उसने रानी के मुँह में अपना सामान ठूंस दिया. इस सेक्स विद टीचर कहानी में मेरा नाम के अलावा सब कुछ शहर और मोहल्ले का नाम भी सच है।यह बात सन 2003-04 की है. मैंने बाथरूम में देखा कि मेरी ब्रा और पैंटी अलग से ऊपर की तरफ पड़ी हुई थी, जबकि मैंने दोनों को बाकी कपड़ों के नीचे रखा हुआ था.

देहाती सेक्सी सुहागरात कुछ देर बाद जब मैं उठा तो देखा कि पूरी बेडशीट पर खून और वीर्य के निशान लग गए थे. कुछ देर की पीड़ा के बाद वो भी धीरे धीरे अपनी गांड उठाकर मज़े से चुदाई का मजा लेने लगी.

उसकी बिकिनी पैंटी इतनी टाइट और पतली थी कि जेनीका के दोनों चूतड़ों के बीच की दरार में फंस गयी थी. मैडम- अशोक तुम अब कुछ और बहाने मत बनाना प्लीज, रात में जो उसके बाद तुमसे प्यार हो गया मुझे … और आज हम दोनों बस इसी लिए ही घूमने जा रहे हैं. हॉट भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पहली बार कोई चूत चोद कर सेक्स का मजा लिया.

भाई बहन का ब्लू फिल्म सेक्सी

इस नर्स सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आगे लिखूंगा कि डॉक्टर ने मुझे क्या बताया और नर्स की सहेली को कैसे चोदा. उसने मेरी चूत में अपना लंड बिना किसी तेल लगाए ही आधा लंड घुसा दिया. मैंने अपना खाली करने के बादमैडम को बोला तो वो बोलीं- मुझे तुम्हारी गोद में बैठ कर पीना है.

तुम ठीक से रहना और हां अनुराग जी के दोपहर का भोजन और रात के भोजन का ख्याल रखना. मैं आंखें बंद करके कामुक सिसकारियां लेने लगी- हम्म्म चाट यार … अच्छे से पूरी जीभ डाल दे आंह मजा आ रहा है.

वो बड़ा सभ्य लड़का था।अब मैं छत पे कपड़े सुखाने को अजय को भेज दिया करती थी जिसमे मेरी ब्रा और पैंटी भी होती थी।वो भी बड़े प्यार से मेरे ब्रा पैंटी को सुखाता था।एक दिन मुझे अपनी एक सहेली के यहाँ जाना था.

फिर वो मेरी गोद में बैठने लगी और मेरा लंड अपने हाथ में लेकर अपनी गांड में डालने लगी लेकिन उसकी गांड बहुत कसी हुई और काफी टाइट थी. विभा मुझसे सामान्य बात करने लगी और रश्मि ने भी यूं ही साधारण बात करना शुरू दी. अब मेरी जान इसी तरह मुझे हर रोज प्यार और खुशी देते रहना मेरे राजा आह … मजा आ रहा है.

मीना का शायद यह पहला अनुभव था जिसे वो ज़रा भी ख़राब न करने के मूड से लंड चूसे जा रही थी. वो बोली- भाई, तुमने आज मेरी जवानी और मेरी कुंवारी बुर को जवान होने का अहसास कराया है. यह कहानी उस समय की है, जब मैं और मेरे कुछ दोस्त मिलकर एक क्विज कॉन्टेक्स्ट सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन कर रहे थे.

उनकी ये पैंटी इतनी पतली थी कि उनकी चूत की दरार मुझे साफ़ दिखाई दे रही थी.

देसी चूत बीएफ: मैंने उसका फोन लेकर मेज पर रख दिया और उसे फिर से गले लगा कर बोला- आई ट्रस्ट यू अनन्या. उसका लंड मुँह में लेते ही वो कामुक सेक्सी आवाज करने लगा ‘आह … आह …’कुछ मिनट तक उसने मेरे मुँह में लंड दिया.

मैं चुदाई में अनाड़ी था तो इंजन के पिस्टन की तरह चुत चुदाई में लग गया. भाभी बोलती रहीं- मैं कितनी खुशनसीब हूँ कि मेरे नए पति मुझसे कितना प्यार करते हैं … आज वो मुझे ना जाने कौन सी दुनिया में ले गए, जहां सिर्फ मुझे सुख ही सुख दिखाई दे रहा है. तभी वो मुझसे बोली- मेरा दूध पीना है तो पी लो … लेकिन ज्यादा जोर से मत दबाना!लेकिन फिर मैं कहाँ मानने वाला था … मैंने हाथ से उसके चूचे दबाए और खूब सारा दूध पिया, साथ साथ उसके होंठों पर गुलाबी लिपस्टिक लगी हुई थी, उसे चूस चूस कर साफ़ कर दिया.

मैंने मिताली की दोनों टांगें उठाकर अपने कंधे पर पर रख लीं और लंड को जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा.

बाबा जी बोले- उस्ताद जी, ये वही कन्या है … मैंने जिसके बारे में आपको बताया था. करीब 30 मिनट बाद उसका फोन आया तो मैंने उसे पूछा- तुझे मजा आया आज की चुदाई में?तो वो शर्मा गई और हंस पड़ी. तीन लोगों की चुदाई का सीन देखते हुए रमेश से भी नहीं रहा गया और वो मीरा के नीचे आ गया.