रोमांस वाला बीएफ

छवि स्रोत,సెక్స్ గుర్తు

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी सिनेमा: रोमांस वाला बीएफ, Xxx चाची की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे जेठ का बेटा मेरे घर रहने लगा तो एक दिन मैंने उसका लंड देख लिया.

आई लव यू पर शायरी सुपरहिट

मैंने नैना की ओर देखते हुए आनन्द से कहा- यार आनन्द, भाभी बहुत अच्छा खाना बनाती है. ಕಲ್ಯಾಣಿ ಜೋಡಿफिर उसने मुझे सौम्या का व्हाट्सप्प नंबर दिया।कुछ देर तक हम इधर उधर की बातें करते रहे.

मैंने उसको अपने रूम में छोड़ दिया और नहाने चली गई और वहां से तौलिया लपेट कर बाहर आ गई।उसके सामने ही मैं अपने हाथ पैरों में लोशन लगाने लगी. ऐश्वर्या राय के सेक्सी गानेतो नीता हंस कर बोली- अरे पगली, इतनी उंगली नहीं करनी है, बस थोड़ा सा ताकि तुम हमें सेक्स करते देख सको, और हम तुम्हें उंगली करते.

कुछ समय गुजरने के बाद उसने मुझे फिर से चुंबन करना शुरू कर दिया लेकिन इस बार वो कुछ सहमा हुआ था.रोमांस वाला बीएफ: तभी राहुल आ गया और बोला- भाभी, मेरे बाथरूम का पानी नहीं आ रहा, क्या मैं आपका बाथरूम यूज़ कर सकता हूँ.

वो हंस कर मजाक जरूर कर रही थी लेकिन उसकी आवाज कांप सी रही थी और जुबान सूख सी गई थी.मेरी चुत में आग लगी पड़ी थी और मुझे बार बार अपने देवर का मोटा लंड गर्म कर रहा था.

चाचा कार्टून - रोमांस वाला बीएफ

अब लौंडिया खुद चुदने को मरी जा रही हो, तो मुझ जैसे लौंडे से कैसे रहा जाता.मैंने गीला हाथ बाहर निकाला और उसके नमकीन जूस वाले हाथ को उसके ही मुँह में डाल दिया.

अब वो मैरिड गर्ल सेक्स के लिए तैयार थी, उसने कहा कि चलो जगह बताओ किधर चलना है?मैंने कहा- ओके कुछ मिनट का टाइम दो. रोमांस वाला बीएफ उस दिन के बाद से मैंने अपने घर में लड़कों को आने ही नहीं देता था, जिस कारण मेरी कई बार लड़ाई भी हो गयी थी.

ऐसा सेक्स आज तक मैंने नहीं किया था, क्या गजब का सेक्स हो रहा था नैना के साथ.

रोमांस वाला बीएफ?

मैं बहुत रो रहा था- मैडम प्लीज, मुझे माफ कर दो दोबारा ऐसे नहीं करूंगा प्लीज मैडम प्लीज!वो मानने को तैयार नहीं थीं. मैं उसको फिर से बहुत जोर जोर से चोदने लगा, जिससे हमारे पूरे रूम में फच्च फच्च की आवाज आने लगी. तभी उसकी मां आ भी गई और उनसे भी बात हुई।लड़के ने अपना नाम अमर बताया.

वगैरा वगैरा!यह सब सुनकर वह लोग बोले- आज से तुम हमारी पर्सनल रंडी बन कर रहोगी. वो बोले- जल्दी से बाहर आ जाओ, सासू मां जाग गई हैं और टॉयलेट गई हैं. पांच मिनट बाद भाभी अपने कमरे का दरवाजा बंद करके मेरे कमरे में आ गईं.

मुझे तो लगा कि मानो मैं स्वर्ग में चला गया हूं।उस दिन वह चूत बिल्कुल साफ करके आई हुई थी।अब मैंने भी उसकी चूत चाटनी थी तो हम 69 की पोजिशन में आ गए. मैं बोला- मतलब?तो बुआ बोलीं- तुम खुद दिमाग लगाओ … जो इतने सारे लड़के आते हैं, वो 10 बजे के ही बाद क्यों और 4 बजे के पहले क्यों चले जाते हैं?तब मेरे दिमाग की बत्ती जली कि क्यों ये बहनचोद लड़के आते हैं. मीरा ने अब अपनी आंखें खोलीं और अपने सामने तीन कामवासना से मस्त मर्दों को देख कर शर्माने लगी.

भाभी एकदम दूध जैसी गोरी थीं और उनका शरीर एकदम मखमल के जैसा चिकना था. मैंने एक जगह पढ़ा था कि स्त्रियों के कान सहलाने से उन्हें जल्दी सेक्स चढ़ता है.

मैंने कहा- हां प्रिया, मैं अपनी पत्नी की चूचियों की मस्त उठान को देख रहा था.

मैं छूटने के लिए छटपटा रही थी, पर लव मुझे ऐसे ही कहां छोड़ने वाला था.

जब मैंने उनसे उनके लंड के लिए कहा था तो उन्होंने बताया था कि उनके भी एक उस्ताद हैं. तो मैंने उस मैकेनिक को कॉल किया और उसको बताया- पुणे से दस किलोमीटर दूर पर एक महिला की कार बंद हो गई है. जवान भाभी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की यंग बीवी को रेलवे स्टेशन के आरामकक्ष में पूरा मजा लेकर और देकर चोदा.

यह हरियाणा सेक्स कहानी तब की है जब मैं अपना डिप्लोमा करके अपने गांव में 2 साल बाद वापिस आया था।मेरे पड़ोस में एक निकिता नाम की एक लड़की रहती है, वह दिखने में बहुत ही सैक्सी है।मैं कभी उस पर ध्यान नहीं देता था।वो भी कॉलेज में बी. मेरी बात पर उसने कहा- मुझे शहर घूमना है, मैं अकेली कैसी रहूँगी! तुम्हें रुकना पड़ेगा. मैंने कहा- ठीक है, आ जाओ!मैं घुटनों के बल नीचे बैठ गयी और सलीम ने लंड मेरे मुंह में डाल दिया और धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा.

मैंने भाभी की मखमली चूत को हाथ में भरकर जोर से मसल दिया, वो तिलमिला गईं.

मैं भी एकदम से चौंक गया कि ये क्या हुआ?फिर कुछ 10 सेकंड के बाद उसने मेरे होंठ छोड़े और मेरे माथे पर एक किस करके मुझे हग करके लेट गयी. मैंने खड़े खड़े ही अपना लंड उसकी चूत में घुसाया और धक्के लगाने लगा. उसकी तरफ से कोई विरोध नहीं होने पर मैं हल्के हाथ से अपनी बहन के मम्मों को दबाने और सहलाने लगा.

दरअसल मैं अपनी गर्लफ्रेंड फौजिया के परिवार से काफी पहले से जुड़ा हुआ हूँ और उसकी अम्मी मुझे काफी पसंद करती थीं. तो भाई ने अपनी प्यारी बहन की बात को मांन के अपना लौड़ा बाहर कर लिया. मैं अपने बर्थ सूट में उसके सामने अलफ नंगी खड़ी थी और वो ऊपर से नीचे तक मेरे प्रत्येक अंग को निहार रहा था.

मैंने उसे कहा- अब तुम्ही रोज मेरी ब्रा का हुक लगा दिया करना, मुझे हाथ पीछे जाने में प्रॉब्लम होती है।वो हामी भर कर वहीं खड़ा रहा, जैसे वो बुत बन गया हो, जैसे उसे कुछ समझ ही ना आ रहा हो.

अब चाचा ने अपने होंठों को चुत से निकलती खाल या यूं कहें कि चुत के होंठों पर रख दिए. मैं अभी भी उससे ब्रा वापस माँग रही थी और वो सुनने के बजाय मेरी टाँगों के पास बैठ गया और मेरे तन पे बचे एक मात्र वस्त्र मेरी पैंटी को धीरे धीरे नीचे सरकाने लगा.

रोमांस वाला बीएफ मैं इनमें से दूध निकालना चाहती हूँ, पर प्रसाद सो रहा है और दूध निकालने के लिए बोटल भी नहीं है. उसका 5 मिनट में ही पानी निकलने लगा और उसने रानी की चूत में अपना पानी बहा दिया.

रोमांस वाला बीएफ मगर थे सब तगड़े शरीर वाले!तब मुझे सुनील की वो बात याद आ गयी जब उसने बोला था कि उसके दोस्त बहुत बड़े किस्म के चोदू हैं, वो हर लड़की की हालत ख़राब कर देते हैं. अब मैं उन्हें चोदने की तरकीब सोचने लगा कि कैसे अम्मी की चूत चुदाई की जाए.

उधर मेरी बीवी थामस के लंड पर बैठी हुई झुक कर उसका लंड ही मर्दों की तरह चोदने लगी.

एक्स एक्स वीडियो सेक्सी न्यू

भोसड़ी के इतना कमजोर लंड लगता तो नहीं है तेरा!वो सब हंसने लगे और कुछ देर बाद रानी वहां से चली गई. तभी मेरा ध्यान उसकी नाइट पैंट पर गया तो मैंने पाया कि उसका लंड पूरा कड़क हो गया था. मैंने अपने सब कपड़े उतार दिए और भाभी से भी कहा कि आप भी अपने कपड़े उतार दीजिए.

फिर अपना लम्बा और मोटा लंड उसकी चूत पर रखा और एक हल्का सा झटका दे मारा. अब्दुल लंड हिला कर बोला- हां देख ले मेरी रांड … आज से ये लौड़ा तेरा हुआ, जब तू चाहेगी, आ जाना और अपनी चुत में ले लेना. नीता बिलकुल उसके साथ उसके कंधे पर हाथ रख कर खड़ी अपने पति को दूसरी औरत को चोदते हुए देख रह थी.

हम दोनों फुल चुदाई का मज़ा ले रहे थे और एक-दूसरे को पागलों के जैसे चूम रहे थे.

मगर कहते हैं ना कि हर डूबती नैया को कोई न कोई मांझी मिल ही जाता है. उधर एक कमसिन सी लड़की अपना मुँह ढके खड़ी थी जिसके दूध निम्बू जैसे थे. आज मैं पहली बार उसे इतने पास से देखूंगी, उसका हाथ पकड़कर बातें करूंगी.

यहां के लिए ये भी रिपोर्ट थी कि वहां वही जोड़े जाते हैं, जिनको दूसरों के साथ सेक्स करने का मजा लेना होता है. मैं अपने हाथ में तेल लेकर दीदी को पैरों में और हाथों में मालिश करने लगा, उसकी नंगी गांड की भी मालिश करने लगा. दरवाजा खोलते ही मेरी सामने साक्षात रम्भा (स्वर्ग की अप्सरा) नैना खड़ी थी.

चल आ जा!मेरी मॉम अब्दुल के पास आ गईं और अपने हाथों से अब्दुल के लंड को सहलाने लगीं और बालिश्त लगा कर लंड को नापने लगीं. अब आगे ए सेक्स स्टोरी ऑफ़ लस्ट:जब मैं सोकर उठा, तो भाभी उठ चुकी थीं.

फिर मैंने गर्लफ्रेंड की बहन को उठाया और कहा- चलो अब सेक्स करते हैं. महल की सबसे छोटी रानी साहिबा की तो चूत में गर्मी ज्यादा थी और व्यापारी के जवान लौंडे को देखकर उनकी चूत में चींटियां चलने लगती थीं. फिर एक बार उसके बही खाता में जिसका नाम लिख जाए, तो वो जल्दी से हटता ही नहीं था.

वो समझ गई और कसमसा कर बोली- भाईजान ये क्या कर रहे हो?मैंने बोला- कुछ नहीं … तुमको मजा दे रहा हूँ.

और थोड़ा देर के लिए हम दोनों चुप हो गए।फिर थोड़ी देर बाद भाई बोले- अरे पागल, तू डरती क्यों है? मैं हूं ना … कुछ नहीं होने दूंगा तुझे!भाई के ऐसे बोलने पर मैं मुस्कुराने लगी. चोली और लहंगे की बीच में ज्योति का खुला बदन उसकी खूबसूरती को और बढ़ा रहा था. मेरी जान का तो मेरे से भी बुरा हाल हो रहा था; वह बहुत ही मस्त और कामुक भरी आहें भर रही थी.

रात को खाना खाने के बाद दिनेश ने पूछा- क्या सोचा तुमने?मैं बोली- इतनी जल्दी क्या है … कल परसों बताऊंगी. उसको मैं नंगा नहाते हुए अपनी छत से देखता और उसके लम्बे मोटे लंड को देख कर मैं अपनी गांड में उंगली करते हुए अपनी मुठ मार लेता.

मेरा मन उनके चूचे को खाने का मन कर रहा था तो मैं उन्हें अपने ऊपर लेकर पीछे लेट गया. अच्छी कद-काठी का था, एकदम मस्त जवान लड़का था, जिसे कोई भी लड़की देख कर अपना दिल दे बैठे. मैं अब निकिता को रोज उसके आने के टाइम पर दरवाजे पर आकर उसे गुडमॉर्निंग बोलने लगा.

ब्लू सेक्सी पिक्चर टोका

वह घूम कर मेरी तरफ देखते हुए बोली- ये क्या हरामीपना है? मजे की मां क्यों चोद रहे हो?अपने लंड को हिलाते हुए मैं बोला- जानेमन, लंड कह रहा है कि उसे अंजलि की चुसाई चाहिए।अंजलि मेरी तरफ उसी घोड़ी पोजिशन में घूमी और लंड को मुंह में भरकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

जब मैंने देखा कि उनके दर्द में आराम हो गया है और वो खुद से कह रही हैं कि जानू प्लीज अब चोदो और जोर से चोदो. कुछ देर बाद मैंने नेहा दीदी को घोड़ी बनाया और उनकी चूत में अपने लंड को घुसा दिया. वो बैठते ही अपने आपको भुलाकर स्टियरिंग पर अपने हाथों को फेरने लगी थी और उसके होंठों पर एक मधुर सी मुस्कान थी.

फिर नीरज ने मेरी गांड पर अपने हाथ रख कर मेरी चूत में जोर जोर से झटके देने शुरू कर दिए. देसी सिस्टर सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं दीदी के ससुराल में रहने गया. देसी सेक्सी विडियोंवो रुक गया, मैं सीधा लेट गया और उसके लंड को अपने हाथ से हिलाने लगा.

तभी मेरी नजर एक नर्स से जा टकराई, वो भी हर रात को उसी समय टहलने आती थी. मैं आज आपको अपनी गर्लफ्रेंड की बहन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हूँ.

पर लगभग 1 बजे के आस पास मेरी नींद खुली।मुझे प्यास लगी थी। मैं किचन की तरफ गया और पानी साथ लेकर दोबारा बिस्तर की तरफ गया. उनका शरीर देख कर अच्छों अच्छों के लण्ड खड़े हो जाएं … खासकर उनके बूब्स देख कर!पर वो नेचर से कड़क थी. तब मैं शादी से पहले के वाकियात और कोमल दीदी की उदासी को याद करने लगा.

पीछे से आती गाने की धुन, ऐरकण्डीशनर पर भारी पड़ती एरोमा कैंडल्स की लौ, खुशबू को मादक बनाता अगरबत्ती का धुआँ और उसके पसीने में महकता उसका लगाया इत्र!मैं खुद को उसके बूब्स चूसने से नहीं रोक पा रहा था. ”अब मैंने उनकी दोनों टांगों को चौड़ा कर दिया और लंड को चूत की गहराई तक पेलने लगा. मैंने उसका स्कर्ट ऊपर किया और नीचे काली पैंटी में कैद हुस्न की फांकें नजर आने लगी थीं.

तैयार होने के बाद मैंने उससे बोला- मीना नाश्ता ले आओ, साथ में कर लेते हैं.

चूत चाटने के बाद महेश सर ने अपना अंडरवियर उतार दिया और मम्मी के ऊपर लेट गए. इस बीच उसकी नज़र मेरे लोअर पर पड़ी जो कि मेरे खड़े लंड के वजह से तंबू जैसा लग रहा था.

तुम्हारा पहली बार है … तो थोड़ा दर्द भी होगा, पर यह ठीक भी तुरंत हो जाएगा. भाभी मेरा मुँह देखने लगीं, लेकिन मूड उनका भी बन रहा था तो उन्होंने कहा- ठीक है. हम सब जब खेलते थे, तब मैं मौके का फायदा उठा कर खेल खेल में उसके चूचे दबा देता और उसकी गांड पर हाथ रख कर मसल देता.

करीब बीस दिन बाद साक्षी भाभी के पति को एक महीने के लिए शहर से बाहर जाना पड़ा. सीन देख कर मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था और रश्मि के सर के नीचे से दबाव बना रहा था. मम्मी- अह्ह …चाचा झटके मारते हुए मम्मी की चुत चोदते रहे और पट पट की आवाज आती रही.

रोमांस वाला बीएफ उसने आते ही मुझे किस किया और बोला- बड़ा मस्त चुदवाया तूने!मैं बोली- हां यार, लंड ही ऐसे थे दोनों के … तूने फिल्म बनाई?वो बोला- हां, गुरु बाबासेक्स की पूरी वीडियोबना ली. पहले मुझे शर्म सी आ रही थी कि कैसे इन दो अनजान लोगों के साथ मैं ये सब कर पाऊँगी क्योंकि आज पहली बार ही तो मैंने इन दोनों को देखा था.

सेक्सी बीपी सेक्सी हिंदी

यह कहानी उस समय की है, जब मैं और मेरे कुछ दोस्त मिलकर एक क्विज कॉन्टेक्स्ट सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन कर रहे थे. थोड़ी देर बाद जब वो वापस आया तब उसमें एक खुशी सी थी और एक नई ताज़गी भी थी. मैं घबराने का नाटक करती हुई बोली- वह कुछ करेगा तो नहीं ना!मामा बोला- जो करेगा, तेरा भला करेगा.

अब तो अन्तर्वासना सबसे अच्छी साईट है हिंदी सेक्स कहानियों की!69 मेरा और पति देव का प्रिय पोज है।लन्ड चूसने और चूत चटवाने का मुझे खूब शौक हो गया।मेरे हसबैंड नेपाल से खरीदकर वीसीडी प्लयेर लाये थे और चोदने से पहले तीसरे चौथे दिन 1-2 ब्लू फिल्म जरूर दिखाते थे. तो हमने पूछा- कैसे आएगा?तब तपिश उठा और हम दोनों की कटोरी लेकर टेबल पर रख दी और कहा- तुम दोनों अलग अलग तरफ़ सोफ़े पर लेट जाओ. செகஸ் படம்जब मेरी बहन घर आई तो उसने इस वाकिये को अपनी डायरी में लिखा, जो आज मेरे हाथ लग गई और मैंने आपको उसकी ग्रुप सेक्स की कहानी को आपके सामने पेश कर दिया.

दरवाजा खोलते ही मेरी सामने साक्षात रम्भा (स्वर्ग की अप्सरा) नैना खड़ी थी.

क्या आप मेरी मदद कर सकते हैं?मैं- जी हां, मैं आपकी हेल्प जरूर करूंगा. अंकल बोले- अब बोल, वहां अगर राहुल (मेरा भाई) उठ जाता तो गड़बड़ हो जाती न!मैंने उनसे कहा- अंकल मैं वर्जिन हूँ और किसी को पता चल गया तो क्या होगा?वो बोले- किसी को कुछ पता नहीं चलेगा.

करीब 2 महीने ही निकले थे मुझे उनके घर में रहते हुए … मुझे उनसे डर लगता था क्योंकि कभी कोई गलती होती तो वे मुझे डांट दिया करती जैसे लेट आने या कोई दोस्तों के ज्यादा देर तक रूम में रहने पर!उनसे मेरी कम ही बात होती थी।गर्मी के दिन थे. वो भी मेरे साथ मस्ती करती हुई बोलीं- अब जल्दी से चोद दे मुझे … वर्ना कोई आ जाएगा तो सब खेल बिगड़ जाएगा. अब मेरी गांड से सुनील का पानी निकल रहा था तो मैं तुरंत भाग कर बाथरूम में चली गई और अपनी गांड को साफ करने लगी.

मैंने गांड चुदाई पहली बार … वो भी अपने मामा से! मामा हमारे घर आए हुए थे.

ददी अभी सोई तो नहीं थीं लेकिन उन्होंने नाटक भी नहीं किया और पापा का साथ देने लगीं. और यहाँ कोई नहीं इसलिये कोई नहीं देखेगा।फिर मैं भाभी को पकड़ कर उनके रसीले होंठ को चूमने लगा. अब वो उन 4 मकानों में जा नहीं सकती थी … क्योंकि उधर पॉजिटिव मरीज थे.

సారీ సెక్స్ వీడియోउस समय मेरी मम्मी इतनी ज्यादा गर्म हो चुकी थीं कि उनके दूध बिल्कुल सख्त और निप्पल एकदम खड़े हो गए थे. मैंने तुरंत आगे बढ़ कर भाभी के ब्लाउज के दो हुक खोल दिए और पीछे से उनकी पीठ को अपने हाथों से सहलाने लगा.

वीडियो चुदाई वीडियो सेक्सी वीडियो

फिर हम बातें करते हुए बाहर आ गए और मैंने कपड़े पहन लिए।उस दिन मुझे अजय पे काफी गुस्सा आ रहा था, इतनी सुन्दर औरत जिसकी दीदार को सारा मुहल्ला परेशान रहता है, वो नंगी खड़ी है और इस चूतिये को बाथरूम दिख रहा था।अजय समझ गया कि मैं नाराज हूँ. बिहारी सेक्स स्वैप स्टोरी मेरी सहेली के साथ पति बदल कर चूत चुदाई की है. लगभग दोपहर 3 बजे चुके थे, आनन्द भी दूसरी फैक्ट्री के लिए निकल चुका था.

वो मजे से एक एक करके मेरे दोनों निप्पलों को बारी बारी से चुसने लगी. गाड़ी आगे की ओर चल दी।मैंने थोड़ा सा एस्केलेटर बढ़ाने का इशारा किया।मेरी गर्म-गर्म सांसें अब दाइशा जी के चेहरे पर पड़ रही थी और शायद वो भी इसे एंजॉय कर रही थी क्योंकि उन्होंने किसी तरह से मुझे रोकने की कोशिश नहीं की।पर शायद उन्होंने सब कुछ मेरे हाथों में सौंप दिया था. तब मैंने अपने चचेरे भाई को भी बताया कि कि मैंने अपने माँ बाप को सेक्स करते हुए देखा.

वो बोलीं- आप अपने संग मीना को ले जाइए और वहीं किसी अच्छे से कॉलेज में इसका दाखिला करा दीजिए. मेरे मामा की बेटी की उम्र 19 साल है, हाइट 5 फुट 2 इंच और फिगर 30-28-32 का है. सूट सलवार में मेरी पतली कमर, मोटी गांड और पकने को रेडी मस्त बूब्स थे.

कोमल दीदी बोलीं- अब कोई फर्क नहीं पड़ता … वैसे भी सुहागरात में पति भी तो अन्दर ही निकालेगा. मैं अनुमान लगाता रहा कि भाभी मेरे साथ कितनी सहज हो रही हैं और क्या ये मेरे लंड के नीचे आ सकती हैं.

मॉम बोलीं- अब तुम दोनों ने अपनी तमन्ना पूरी कर ली या कुछ बाकी है?हम दोनों थक गए थे.

अनन्या ने मेरे होंठों में से अपने होंठों निकाल लिए और बोली- कंडोम लगा कर करो. चाची की सेक्सी मूवीमैंने कहा- देखिए मैडम, जब तक आपकी यहां ड्यूटी है, आप मेरा मकान इस्तेमाल कर सकती हैं. देसी सेक्सी वीडियो गांव वालातो ज्योति ने मुस्कुराते हुए कहा- सबके सामने मेरे भैया … अकेले में मेरे सैंया! आ जाओ, अपनी बहन को प्यार से चोदो।मैंने ज्योति के नंगे बदन पर एक नजर दौड़ाई. यह सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई कि मैंने एक कॉलगर्ल को संतुष्ट कर दिया!और ऐसे ही बातों बातों में मैं उसके चूचे दबाने लगा जिससे हम दोनों गर्म हो गए और वो फिर से मेरा लन्ड चूसने लगी.

उसके कमरे में सिंगल बैड था पर उसकी चौड़ाई ज्यादा थी तो रवीना ने एक तकिया मुझे दिया और हम दोनों ने रजाई ओढ़ ली.

गुल्लू मेरे पास आई, उसने मुझे मेरा पैंट दे दिया और कहा- मेरे साथ आओ. चूँकि मुझे बहुत जोर से मूत आ रहा था तो मैंने बहुत सारा टॉयलेट सलीम के मुंह में डाल दिया जिसे सलीम ने पी भी लिया. [emailprotected]इंडियन X हिंदी कहानी का अगला भाग:रास्ते में मिली लड़की के साथ चुदाई का मजा- 2.

मुझे अपनी गर्दन पे उसकी साँसों की गर्माहट और कमर पे कुछ कड़ा सा महसूस हो रहा था. मुझे ऐसा महसूस होने लगा था कि औरत को अपने पति की रजामंदी मिल जाए तो वो किसी के सामने भी अपनी चुत खोलने को राजी हो सकती है. मैं- कैसे … बताओ?मीना- आप अपनी बीवी का ज्यादा ख्याल रखते हो और साली का नहीं.

सेक्सी वीडियो भाभी की चूत चुदाई

मैंने अम्मी का घूंघट उठाया और अपने होंठ अम्मी के होंठों पर रख कर उन्हें चूमने लगा. बीच में मीनाक्षी बोली- आंह लग रही है … थोड़ा आराम से करो न!मैं कहां कुछ सुनने वाला था. दीदी ने अपना मुँह खोल दिया और मैं फिर से दीदी के मुँह में ही झड़ गया.

मैंने उसे अपने सीने से चिपकाया और उसकी गांड पर हाथ लगाते हुए उसकी लेग्गिंग को निकाल दिया.

अब वो गर्म हो गई उस पर सेक्स हावी होने लगा तो बोली- अब करो ना!तो मैंने बोला- पहले मेरा लन्ड चूसो.

पहले आड़ लगा कर आदमियों का अलग गुसलखाना और औरतों का अलग गुसलखाना होता था. मेरी इतनी गंदी हवस हो गई थी कि मैं अपने लंड पर तेल लगा कर हिला रहा था. बिट्टू की सेक्सी वीडियोभाभी भी मेरे सर पर दबाव डालते हुए अपने बूब्स चुसवा रही थीं और बोल रही थीं- बहुत बढ़िया राज … तुम तो बहुत पक्के खिलाड़ी निकले … आंह और चूसो राज!मैंने भाभी की साड़ी की ओर हाथ किया और उनकी साड़ी और पेटीकोट को कमर तक खींच लिया.

फिर मेरी बहन जैसे ही वापस आने के लिए मुड़ी तो उनमें से एक लड़के ने मेरी बहन का हाथ पकड़ लिया और खींच कर अपने से सटा लिया. मैं अपनी बीवी और चार साल के बेटे के साथ एक किराए के मकान में रहता हूँ. लेकिन उसकी ये चीख मेरे होंठों से दबी रह गई, उसकी आंखों से आंसू आने लगे और वो मुझे पीछे को धकेलने लगी.

फिर कुछ देर बाद उन्होंने मुझे डॉगी स्टाइल में कर दिया और पीछे से मेरी चूत चोदने लगे. जैसे ही मैंने उसकी पैंटी के ऊपर से ही योनि पर किस किया, वो थरथरा सी गई.

मैं उसके लौड़े को अपनी चूचियों के बीच में लेने के प्रयास में लगी थी जबकि उसके दोनों हाथ मेरे चूतड़ पर थे और उसपे पड़ने वाले चमाट उनको लाल कर रहे थे.

फिर पापा का कॉल आया कि मैं कुछ दिन और नहीं आ सकता, पिताजी की तबियत भी ठीक नहीं है और यहां फसल की कटाई भी करवाना है. मैंने दीदी से कहा- यार दीदी, ऐसे तो मालिश करते समय जिस्म पर कपड़े होने ही नहीं चाहिए. उसकी चुत चुदाई का मजा किस तरह से मिला, ये मैं आपको इंडियन X हिंदी कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

हिंदी सेक्सी चुदाई फुल एचडी साले एक छोटा सा काम लेकर आते और 3 से 4 घंटे ऐसे ही मेरी बुआ से बात करते रहते. मैंने उनके सामने जाकर अपने मोबाइल में गाना चला दिया और धीरे धीरे डांस करना शुरू कर दिया.

चूंकि कैमरे में सिर्फ सीन आ रहा था, आवाज नहीं आ रही थी, मैं झट से बाथरूम के दरवाजे के पास आकर उनकी आवाजें सुनने लगा तो वो मेरा ही नाम लेकर अपनी मुठ मार रही थीं. मैं अपनी अलमारी से लोअर और टी-शर्ट लेकर और जानबूझ कर अलमारी खुली ही छोड़ कर बाथरूम में चली गई. सास बहू फैमिली पोर्न कहानी मेरे घर में चुदाई और वासना के चल रहे नंगे खेल की है.

भाभी की चुदाई सेक्सी फोटो

दोस्तो, आपने हमारी सेक्स कहानीएक दूसरे की मॉम की चुदाईपढ़ी थी, उसकी लिंक मैंने ऊपर दी है. फिर जैसे ही मैं सीढ़ियों की तरफ मुड़ा तो मैं सातवें आसामान पर था क्योंकि वो लड़की और कोई नहीं प्रिया थी और वो भी मुझे ऐसे देख कर मूर्तिवत हो गई थी. यंग भाभी कहानी में पढ़ें कि मैंने अपने दोस्त की बीवी की अन्तर्वासना जान कर उसे सेट करके चोदा.

वो हंस कर मेरा मुँह देखने लगीं, लेकिन वासना की वजह से बोलीं- अभी चोद न हरामी … साले मेरी चुत की आग ठंडी कर मादरचोद. कुछ पल बाद जैसे ही हम दोनों ने किस खत्म किया, तब मुझे अहसास हुआ कि मैंने कितना बड़ा कदम उठा लिया था.

वापस आते वक़्त वो दोनों साइड में अपने पैर करके बैठी थी और मेरी पीठ से चिपकी हुई थी.

पीछे से आती गाने की धुन, ऐरकण्डीशनर पर भारी पड़ती एरोमा कैंडल्स की लौ, खुशबू को मादक बनाता अगरबत्ती का धुआँ और उसके पसीने में महकता उसका लगाया इत्र!मैं खुद को उसके बूब्स चूसने से नहीं रोक पा रहा था. दोस्तो, मैं बड़ी चुदक्कड़ लड़की हूं और 24 घंटे चूत चुदवाने के मूड में रहती हूं. एक दिन की बात है, मेरी बुआ का फोन आया कि राज तू जल्दी से मेरे पास आ जा.

बुआ बोलीं- जैसी मैं हूँ, वैसी?मैं बोला- बुआ, मैंने आपको कभी देखा ही नहीं है. फिर मैंने दीदी से पूछा- दीदी, कुछ आराम मिला?तो नेहा दीदी ने कहा- इतनी अच्छी मालिश कहाँ से सीखी तुमने राहुल? बहुत आराम मिल रहा है।फिर मैं धीरे धीरे दीदी के टांगों पर तेल डालकर अच्छे से मालिश करने लगा।दीदी ने कहा- राहुल तुम्हारे हाथों में जादू है, बहुत अच्छी मालिश करते हो तुम तो!मैंने दीदी को पेट के बल लेटने को कहा और उनकी मैक्सी टांगों के ऊपर तक उठा दी. उसका लंड बड़ा था और वो मेरी कोरी गांड के छोटे छेद के हिसाब से एक मूसल लंड था.

हम दोनों की आंखें साफ-साफ बता रही थीं कि हम दोनों इस समय क्या सोच रहे हैं.

रोमांस वाला बीएफ: दो मिनट बात करने के बाद वो अपने हाथ को धीरे धीरे मेरी छाती तक ले गया और मेरी छाती को हल्के से दबाने लगा. गुल्लू ने मेरे पैंट को पूरा निकाल दिया और मेरे हाफ पैंट को थोड़ा नीचे करते हुए बोली- सर हो गया.

मैं भी उनके लंड को रगड़ रगड़ कर उनके जिस्म को सहला सहला कर उन्हें नहला रही थी. उसका लंड मेरी चूत को चीरता हुआ अन्दर जाने लगा और मैं ‘ऊई ईईई ऊईई ई आहह हह’ करके चिल्लाने लगी. मैं रश्मि के सर को मसाज दे रहा था और रश्मि अपने हाथों को मेरे सीने पर प्यार से फिरा रही थी.

करीब 15 मिनट पापा ने दीदी को और चोदा और उनकी चुत में ही डिस्चार्ज हो गए.

उसकी आंखों से साफ़ समझ आ रहा था कि मैं अब उसे उसके होंठों पर किस करूंगा. मैं अपनी आंखों से एक गैर मर्द के हाथ से अपनी बीवी के दूध दबाकर देखते हुए मस्त होने लगा. सच्चाई यह है कि मैं अपनी सुहागरात यहीं मनाने आया था और यहीं पर दूसरे ही दिन मुझे एक लखनऊ का कपल मिल गया था.