रियल सेक्स वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,नोट सेक्सी मूवीस

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी बीएफ वाला: रियल सेक्स वीडियो बीएफ, उन्होंने रोते हुए कहा- दीपक तुम अभी कहां हो?मैंने बोला- भाभी मैं घर पर हूँ.

सेक्सी सॉफ्टवेयर

वह सिर्फ एक हादसे के जैसा था और उसके बाद भाभी ने भैया को अपने पास नहीं फटकने दिया. ब्लू वर्ल्ड सेक्सी वीडियोमेरी इस बात पर वो कहने लगा कि अगर वो तुमसे इतना ही प्यार करता तो तुम्हारे साथ सेक्स करने के लिए उसे मेरी मदद लेने की जरूरत क्यों पड़ती भला?मुझे नहीं पता कि उसकी बातों में कितनी सच्चाई थी लेकिन अगर वो कह रहा था तो कोई तो वजह होगी ही उसके पीछे.

मैंने कभी भी कुछ नहीं किया … और ना ही मेरी किसी लड़के से किसी तरह की दोस्ती है. हिंदी सेक्सी गंदी मूवी”और वो कैसा है?”वो कौन?”वो कौन नहीं चौधरी साहब, आपका वो, जो मेरे अंदर बारिश करता है.

मगर अपने ससुर से चुदाई करवा कर उसको भी मर्द के लंड का असली सुख प्राप्त हो गया था.रियल सेक्स वीडियो बीएफ: पूजा के मम्मे को ब्रा के ऊपर से दबा कर मैंने उसकी ब्रा खुद ही निकाल दी.

मैंने कहा- यहां मुझे आपकी इज़ाज़त है या नहीं?तो उसने हंस कर कहा- आप वहां भी हाथ लग सकते हो, आपको इज़ाज़त है.जल्दी ही उसकी चूत से रस की नदियाँ बहने लगी और उसके निप्पलस कड़क हो चले.

अंग्रेजी वीडियो सेक्सी दिखाइए - रियल सेक्स वीडियो बीएफ

ये मुझे मम्मी के फोन से ही पता चल चुका था, इसलिए मैं सुबह ही उस होटल में जाकर एक कमरा बुक कर आया था.उसने पानी पीया और भाई व बिक्कू बाइक लेकर दोनों ही कहीं बाहर चले गये.

थोड़ी देर की धक्का मुक्की में धीरज ने अपना सारा माल निकाल दिया नायरा की पीठ पर. रियल सेक्स वीडियो बीएफ खैर सबसे पहले तो मैंने मुकेश औऱ निशा को शादी में न आने की क्षमा माँगकर उन्हें शादी हेतु उपहार में घड़ी का सेट दिया.

मैं उस पल को कोस रहा था जब उनके कहने पर मैं वहां बैठ कर उनसे बात करने लगा था.

रियल सेक्स वीडियो बीएफ?

तेज धक्कों के कारण मुझे दर्द होने लगा लेकिन चाचा की स्पीड तेज होती जा रही थी. मेरी चूत को सहलाने के बाद चाचा ने मेरी चूत में उंगली डाल दी और दो उंगलियों को डाल कर अंदर-बाहर करने लगे. और हमारे आपके पारिवारिक सम्बन्ध भी अच्छे हैं तो मैं नहीं चाहता कि हमारी दोस्ती टूटे या पारिवारिक सम्बन्धों में कोई दरार पड़े.

एक लड़का मम्मी का पेटीकोट उठा कर उनकी पेंटी से ही चूत रगड़ने में लग गया था. न केवल मैंने उसे सब करने की पूरी आज़ादी दे दी … बल्कि मैंने अपनी दोनों टांगें भी किसी हद तक चौड़ी कर ली थीं ताकि अगर उसका हाथ मेरी चूत तक भी जाए तो जाने दूं. हालांकि मैं यह भी सुनिश्चित करना चाहता था कि यह कोई लड़का मुझ पर प्रैंक न खेल रहा हो, इसलिए मैंने सोचा कि उसे खुद को वेबकैम पर दिखाने के लिए कहूंगा.

चाची ऊऊऊँ आआआय्ययाआ सससस … करते हुए मेरे साथ झड़ गई।मैंने लंड चूत से बाहर खींचा और चाची के बगल में लेटकर उनके लिपट गया और चाची के पूरे नंगे शरीर पर हाथ फेरने लगा।चाची- यार तुम से मेरी शादी हो जाती तो मेरी पूरी लाइफ रंगीन होती।मेरा लंड मस्त गीला था, लंड के सुपारे पर मेरा थोड़ा सा वीर्य लगा हुआ था. कमर पर किस करना मेरे लिए मानो सबसे बड़ा आनंद था, चुदते वक्त कमर पर किस पागल कर देती है. दोनों की शादी को 3 साल हो गये हैं, वैवाहिक जीवन भी सुंदर चल रहा है.

” नीलम ने मन ही मन में मुस्कराते हुए अपने ससुर से कहा।अब नीलम को यह जानकर खुशी होने लगी थी कि उसका ससुर उसकी चूत का दीवाना बनता जा रहा है. मैंने अपनी एक टांग को बॉस के कंधे पर रख दिया, जिससे बॉस मेरी चूत में मुँह डाल दिया था और वे अपनी जीभ से मेरी चूत चाट रहे थे.

फिर उसने एक हाथ से मेरी गांड में उंगली डाल दी और मेरी चूत में लंड पेल दिया.

वो मेरे होंठ को जानवर की जैसे चूसे जा रहा था और मेरे मम्मों दबाए जा रहा था.

कबीर ने मेरी चूत में लंड को लगभग पूरा फंसा कर अब मेरी चूत को चोदना शुरू कर दिया. प्रारंभ में इस तरह का प्रयोग करने में आपको कुछ दिक्कत हो सकती है क्योंकि सेक्स करते समय इस तरह का प्रयोग करना बहुत मुश्किल होता है. १) फोल्डेड डेक सेक्स पोजीशन२) डॉगी सेक्स पोजीशन३) लव फ्रॉम बैक साइड४) 69 पोजीशन५) मिशनरी पोजीशन६) दीवार के अगेंस्टये सारी पोज़िशनें हमने ट्राई कीं.

उसने पहली बार में तो मुझसे अपनी कंपनी में शामिल होने से मना कर दिया किंतु दूसरी बार उसे मैंने अच्छा पैकेज ऑफर किया जो कि उसके वर्तमान वेतन से करीब 50000 रूपये महीना ज्यादा था। ऊपर से अहमदाबाद में रहना मुंबई में रहने से सस्ता था. वह मेरी गर्दन पर उसके दांतों के निशान और मैं उसकी कमर पर मेरे नाखूनों के निशाँ बना रही थी. मैंने जब उसकीफुद्दी में उंगलीडाली, तो मुझे पता चल गया था कि उसकी फुद्दी बहुत टाईट है.

फिर उसने मेरी गांड को फैला कर मेरे गांड के छेद में अपनी पूरी जीभ डालनी शुरू कर दी और धीरे धीरे एक उंगली मेरी गांड के अन्दर डाल दी.

मैं हैरान हो रही थी कि ये कहां से आ गई?मैंने दिव्या से पूछा- तुम कहां से आ गई?वो भाई की तरफ देख कर मुस्कराने लगी. बस इतना याद रखना कि आज की रात के बाद तुम्हारी सैलरी 40000 हज़ार से डेढ़ लाख हो जाएगी. मैंने दीदी चूत पर एक मिनट का विश्राम लिया और दाने को छेड़ता हुआ ऊपर बढ़ गया.

शहर तक रोज़ आने जाने के झंझट से छुटकारा पाने के लिए उसने उधर ही एक रूम किराए पर ले लिया और वहां रहने लगी. फिर मैंने अपने होंठों को उसके होंठों के करीब ले जाने की कोशिश की और फिर उसने मेरी आंखों में देखा. संजय ने कहा- मुझे पता है कि ऐसा कुछ हो सकता है … इसलिए मैं हॉल में ही रुकने वाला हूँ और तुम दोनों बेडरूम में जा सकते हो.

मैंने भी उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया, पूजा ओर मैं दोनों मस्ती में आ गये.

शाम को जब मैं अपनी सहेलियों से मिली और उनको अपनी नौकरी की बात बताई, तो वही हुआ. और फिर फिर धीरे धीरे अपनी कमर को हिलाने लगा।कुछ देर बाद मुझे इतना मजा आने लगा कि मैं ख़ुद ही अपनी गांड को पीछे की तरफ हिलाने लगा.

रियल सेक्स वीडियो बीएफ उसकी लगातार पड़ती चोटों से अब मैं फिर से गरम होकर पूरे मजे से चुद रही थी. आलिया मुझको मनाने के लिए गुदगुदी करने लगी लेकिन मैं आलिया को रोक कर खड़ा हो गया और अपने कमरे में चला गया.

रियल सेक्स वीडियो बीएफ नमस्कार दोस्तो, आज मैं आपको मेरी मम्मी की कामुकता और चुदाई के बारे में बताने जा रहा हूँ. ’धकापेल चुदाई के बाद आख़िर मैं भी निकलने वाला हो गया था, मैंने कहा- कहां निकालूँ?मेरी सास बोलीं- सब तुम्हारा ही है बेटा … जहां मन करे, निकाल दो … अब कोई रिस्क नहीं है.

जब मैं घर पर वापिस आई, तो उसका फोन आ गया और बोलने लगा कि पूनम जी मैं बहक गया था, आप बुरा ना मानना … मुझे अपने किए पर बहुत अफ़सोस है.

एक्स एक्स एक्स वीडियो हिंदी में दिखाइए

ऐसा कहते हुए चाचा ने मुझे दोबारा किस किया और वो अब थोड़ा और ज्यादा उत्तेजित हो गये थे. बीस मिनट से ज्यादा समय हो गया था उसकी चूत चोदते हुए मुझे। मैं तो अपने रूम में पहले भी झड़ चुका था इसलिए मेरा जोश इतनी जल्दी ठंडा होने वाला नहीं था. ऋतु ने अपने हाथों से पहले वाले के लंड को पकड़ा और अपने मुंह में लेकर चूसने लगा.

असल में सेक्स की बातें इतनी गर्म हो जाती थीं कि दीपा कि चूत भी गीली हो जाती थी. ”ईईईईई …”गौरी क्या तुम हमारे इस प्रथम मिलन के लिए तैयार हो?”मेले साजन … अब तुछ मत पूछो, जो तलना है जल्दी करो … आह …” कह कर गौरी ने अपनी बांहें मेरे गले में डाल दी और मुझे जोर से भींच सा लिया।गौरी एक मिनट रुको मैं निरोध लगा लेता हूँ. उन्होंने भी मेरे प्यार को प्यार से स्वीकार करते हुए ‘आई लव यू टू दीपक …’ बोल दिया.

शबनम ने खुद को धीरे से अलग करते हुए अंकित को हल्का सा धक्का देते हुए अपने बगल में गिरा दिया.

तुम तो आज मेरे हर एक छेद को अपने पानी से भर दो और मुझे अपने बच्चे की मां बना दो. अगले दस मिनट तक ऐसे ही चुदाई और चुसाई का खेल चला और फिर हम दोनों ही साथ में झड़ गये. चूमते हुए हमारे मुँह पूरे खुले हुए थे, जिसके कारण हम दोनों की जीभ आपस में टकरा रही थीं.

रचना ने रोनित से हाथ मिलाने को आगे किया, तो रोनित ने रचना को हग करके जोर से पकड़ लिया और पीठ पर और उसकी उभरी हुई गांड को महसूस करने लगा. दूसरे लड़के ने कहा- मैडम को दोनों चूची एक साथ पिलाने को मन कर रहा है. मेरी बहन एक कंपनी में काम करती थी और मैं भी उसी की कंपनी में जॉब करता था.

सुबह जब उठे तो देखा कि मुकेश हम दोनों के लिए चाय लेकर आया और निशा की ओर देख कर बोला- अब तो खुश हो न, लड़कियों का एक पति होता है, तुम्हें दो- दो पति मिल गए हैं. तभी मसाज वाली ने मम्मी को बोला- आप बोलो तो मैं नक़ली लंड से आपकी प्यास मिटा सकती हूँ.

मैं पहले तो शरमा रही थी लेकिन जब उसने अपने लंड और अपनी जांघों पर हाथ फिराना शुरू किया तो मैंने भी कपड़े उतार ही दिये. अतः आनन-फानन में हम दोनों की शादी हुई।श्लोक- वाह यार नील, बिना देखे भी तुम्हारी किस्मत तो चमक गई. खुद भी पूरा मजा ले रहे थे और मुझे भी उतना ही मजा दे रहे थे।कहानी जारी है.

उसने बताया कि वो करीब 8 महीने से नहीं चुदी है और अब बर्दाश्त नहीं कर पा रही है.

पर मैंने मना कर दिया क्योंकि मैंने सुना था कि चुचियाँ दबवाने से मम्में लड़कियों की तरह हो जाते हैं. मैं- कुछ खाना है … या सीधा चलें?वो- न … कुछ नहीं खाना है यार उधर का माल ही खाने को मिलेगा न … सीधा चलते हैं. मेरी बात सुनकर वो बोली- नहीं दीदी … मैं अब मन लगा कर पढूँगी और आपको कोई शिकायत का मौका नहीं मिलेगा … आप प्लीज़ पापा से कुछ ना बोलना.

लेकिन कॉन्डम के साथ भी उसकी चूत की गर्मी मुझे अपने लंड पर अलग से ही महसूस हो रही थी. मैंने उसकी जीन्स पर हाथ रख कर उसके तने हुए लम्बे और मोटे लंड को ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया.

हमने चुदाई के अलावा सब कुछ कर लिया था, जबकि मैं अपनी कामुकता के कारण चुदाई के लिए भी पूरी तरह से तैयार थी. अब छोड़ो और मूड बनाओ; अभी एक ही राउंड हुआ है।” उसने आंखें चमकाते हुए कहा।कभी पोर्न देख पढ़ के सिक्सटी नाईन का मूड हुआ था क्या. उस दिन एक कमसिन उम्र की लड़की की चुदाई की स्टोरी पढ़ कर फ्रिज पर रख दी थी.

देहातीsex

तो पक्का उन्होंने मेरी कामुक आवाजों में अपना नाम सुन लिया होगा।पर जिस हिसाब से वो बात कर रही थी, वो मुझे इंगित कर रही थी कि वो भी मुझ से मजे लेना चाहती हैं।कहते हैं ना कि दिमाग वही सोचता है जो वो सोचना चाहता है.

इस तरह शादी अटेंड करके मैं अगले दिन शाम की ट्रेन से अपने घर वापिस आ गया. आगे जो लिखा गया है वो उन लोगों के लिए है जो अपने जीवन में कई बार सेक्स कर चुके हैं और शीघ्रपतन की समस्या से जूझ रहे हैं. मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि मैंने आज एक लन्ड चखा है। आंखें बंद करने पर बार बार उसका लन्ड मेरी आँखों के सामने आ जाता।उस रात मैंने दो बार मुट्ठ मारी तब जाकर मुझे नींद आयी।सुबह उसकी काल आयी, उसने मेरा हाल चाल पूछा हमने बात की।कुछ दिन बाद ही हमने पुनः मिलने की योजना बनाई.

”तो आपने खुद ही मुझसे क्यूँ नहीं पूछा या कोई कदम नहीं उठाये?” अंकित ने हँसते हुए पूछा. इस पैकेट में माल के साथ तुमको अपने अनुभव शेयर करना होगा, जो इसमें रखा हुआ है. साड़ी वाली लड़की का सेक्सीफिर मैंने एक दिन आराम आराम से नकली लंड तेल लगा कर अपनी गांड में घुसा लिया.

और साथ ही मम्मी भी उठ गयी और उन्होंने भी अपने कपड़े पहन लिए।थोड़ी देर बाद जब मम्मी रसोई की तरफ गई तो हम बाहर के गेट से अंदर आ गए।जैसे ही मम्मी ने हम दोनों भाई बहन को देखा, एक पल के लिए तो उनके चेहरे पर हवाइयां उड़ने लगी लेकिन शीघ्र ही खुद को संयत करके बोली- अरे … तुम दोनों यहाँ? कॉलेज से इतनी जल्दी कैसे आ गए?हमने जल्दी छुट्टी होने का कारण बताया और अपने कमरे में चले गए. तभी वेरोनिका ने एक कंडीशन रखी कि पहले सेक्स की शुरुआत हम सभी अपने अपने पार्टनर के साथ करेंगे और फिर अपने अपने पार्टनर को एक दूसरे से बदल लेंगे.

फिर मोहिनी और मेरी वाइफ दोनों 69 की पोज़िशन में आ गए … और मैं मोहिनी के पीछे से उनकी गांड चाटने लगा. कभी वो दिव्या की चूत में उंगली करने लगता तो कभी मेरी चूत को सहलाने लगता. मैं घर आते ही अपने कमरे में एकदम नंगी होकर अपनी चूत से खेल रही थी कि तभी शिवानी का फोन आ गया.

कृपया अपने अपने सुझाव और कमेंट्स मुझे मेरी मेल आई डी पर अवश्य भेजें ताकि मैं अपनी अगली कहानियों में और सुधार ला सकूं. पर दरभंगा बहुत दूर था और मेरी कंपनी की मीटिंग के कारण मैं उसकी शादी में नहीं जा पाया. ” अंकित ने शबनम के कान में फुसफुसाते हुए उसके कान को अपने मुंह में रख कर चूस लिया.

मौसी के बूब्स बहुत बड़े थे, मुझे उनके मम्मे चूसने में बहुत मजा आ रहा था और मौसी को भी बड़ा अच्छा लग रहा था.

बेडरूम के अन्दर घुसते ही मैं फिर से हैरान हो गया, पूरा बिस्तर सुहागरात की तरह सजा हुआ था. मेरी बहन का साइज़ लिखूँ, तो उसके मम्मे 32 इंच के, कमर 28 की और कूल्हे 36 इंच के हैं.

भाभी बाहर आकर डोर लॉक करने लगी और मुझे कहा- हमारे यहाँ एक ही बेड है. अब विक्की मेरा ख्याल रखने के लिए है रात में! तुम सो जाओ।मैं काफी कुछ समझ चुका था तो मैं बोला- ठीक है मम्मी।मैं अपने कमरे में जाकर लेट गया. अब मुझे बॉस को ये बताना था कि मेरे पति घर पर नहीं है और जिनसे मिलवाने के लिए मैं बॉस को घर लेकर आई थी वो घर पर नहीं हैं.

हुआ यूं कि मैं एक दिन बाइक पर अपनी एक अच्छी दोस्त के साथ घूमने निकला था, अचानक उसके फ़ोन पर उसके घर से फोन आया कि किसी का गृह प्रवेश है और उसे वहां जाना है. नीलम अब अपने ससुर के साथ खुल चुकी थी और वो ससुर-बहू वाली लाज वासना के गर्त में समा चुकी थी. हमने पूरे कपड़े नहीं उतारने का फैसला किया था क्योंकि सासू मां किसी भी वक्त आ सकती थी.

रियल सेक्स वीडियो बीएफ उसने हाथ नीचे करके पैंट के ऊपर से ही मेरा लंड पकड़ लिया और मसलने लगी. मैंने पहले से ही अपने अंडरवियर में दो हजार रुपये दबा कर रखे हुए थे.

चाची की चुदाई सेक्सी वीडियो

नेहा थोड़ा घबरा तो रही थी मगर पहले के जैसे नहीं कि मेरा हाथ छुड़ाकर वहां से भाग‌ जाए, वो अब भी अपने आपको सामान्य ही दिखाने का प्रयास कर रही थी. मैं गेट से चिपक कर बिल्कुल नंगी खड़ी थी और विनय बाहर से आवाज दे रहा था. बॉस- ले मादरचोद रंडी … तेरी चूत और गांड दोनों में एक साथ लंड घुसेगा, तब तेरी प्यास बुझेगी … भोसड़ी वाली.

‘उम्मीद है तुम्हें पता होगा कि एक्साइटमेंट को कैसे बाहर निकलते हैं. कोई 15 मिनट की धुआंधार चुदाई के बाद उसकी गरमी अब ढलान पर आने लगी थी. सेक्सी ओपन वॉलपेपरहालांकि मेरे अन्दर भाभी के लिए फीलिंग थी, पर एक शादी-शुदा औरत के साथ भागना, वो भी भाभी के साथ … ये मुझे ठीक नहीं लगा.

हमारी अलग होने वाली बात आग की तरह चारों ओर फैल गयी। ऐसे ही एक साल गुजर गया उसने मुझे हर जगह से ब्लॉक कर रखा था.

लेकिन मुझे कम से कम अपनी गांड से खेलने तो दो?तब पूजा बोली- ठीक है, लेकिन मेरी गांड में ना तो उंगली करना और ना ही अपना लंड पेलना. मेरे दोस्त मुझसे कहते थे कि यार बुरा मत मान, पर बॉस तेरी बहन के साथ भी वही करना चाहता है, जो उसने शेफाली और निशा के साथ किया है.

किंतु यदि आपके मन में अपनी समस्या से छुटकारा पाने का दृढ़ निश्चय है तो आप यह आसानी से कर जायेंगे। इसलिए अपने मन को वश में करते हुए प्रयास करते रहें।अगर आप सेक्स करते समय कंडोम का प्रयोग नहीं करते तो कंडोम भी इस समस्या में आपकी मदद कर सकता है. पीछे बेड पर सिर लगने के कारण ऋतु की आंखें कुछ देर के लिए बंद सी हो गईं. अभी तीन चार साल पहले ही तो कहीं और शिफ्ट हुए हैं वे!”उनकी बीवी बड़ी चुदक्कड़ थी.

दोस्तो, हम सभी पुलिस वालों से नफरत करते हैं और उनके लिए हमारे दिलों में कोई दिल विशेष सम्मान नहीं होता.

इस वक्त उसने टी-शर्ट और जीन्स पहनी थी, तो पहले तो मैंने उससे कहा कि अपनी टी-शर्ट उतार दो. वो अब मुझे गालियां देने लगे थे- आह्ह … आह्ह … रंडी, मैं आ रहा हूं!ऐसा बोल कर भाई ने मेरी गांड पर थप्पड़ देने शुरू कर दिये और अपने वीर्य को मेरी गांड में निकाल दिया. भाभी जी बोलीं- मैं आपका अहसान कभी नहीं भूलूंगी, मेरे पति को भी आपने काम में लगवा दिया.

शादीशुदा वाली सेक्सी वीडियोमैंने कार रोकी, तो वो झट से उतर कर वहां से 4 बोतल बियर की ले आयी और कार में बैठ गई. पहले तुम ऊपर नीचे हो कर धक्के लगाओ। फिर मैं लगाऊंगा।” मैंने दोनों हाथ उसकी कमर पर सपोर्ट के लिहाज से जमाते हुए कहा।ओके जानेमन.

मारवाड़ी एक्स एक्स बीपी

उन्होंने मेरा लंड ज़ोर से अपने हाथों में पकड़ कर अपनी चूत की तरफ मोड़ लिया. उसने कहा- अम्मी खुदा के वास्ते ये सब मत कहो … रात को मैं नशे में था. तू शादी के बहाने मेरे घर आ जाना और यहाँ से ही उनसे मिलने भी चली जाना.

आप प्लीज़ इस बात ध्यान रखना कि यह सिर्फ़ कहानी ही नहीं है बल्कि मेरी और शांति मौसी जी की सच्ची प्रेम कथा है. तुमने पहले क्या किया, क्या नहीं किया, वैसे भी मैंने तुम्हें दिल से प्यार किया है. हैलो दोस्तो मैं गुरू … एक और सच्ची कहानी लेकर आपसे रूबरू होने जा रहा हूं.

उन्होंने बताया कि संजय बहुत अच्छा इंसान है … और ये घर ढूंढने में तुम्हारी मदद कर देगा. मैंने भी बिना कुछ सोचे समझे तेज धक्का लगाया और मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर चला गया. उसमें भी उषा जैसी कामवाली हो, तो चुदाई में चार चाँद तो लगना लाजमी है.

तभी मैंने अपने एक उंगली को उसकी गांड के छेद पर रख कर थोड़ा दबाव बनाया, तो उसने खुद अपनी गांड को खींच कर और थोड़ा खोल दिया. मेरा हॉफ पेंट छोटा था, इतना छोटा कि मुश्किल से मेरे चूतड़ों को ढक पाता था.

मेरी लाश थोड़ी आयी है जो इतना रो रही हो?तो वो बोली- जानू, ये खुशी के आँसू हैं.

” महेश ने अपनी बेटी को घूरते हुए उसकी तारीफ की।वो पिता जी … मैं सोने वाली थी इसलिए नाइटी पहन ली. हिंदी वीडियो सेक्सी डाउनलोडिंगमैंने उसकी कमर को अपने हाथों से जकड़ लिया और अपने पैरों से उसके पैरों को बांध सा लिया. सेक्सी देवर भौजाईक्या आपके कोई बच्चे हैं?सोनिया- हां … एक बेटा है, जो अगले महीने 12 साल का हो रहा है. मैंने उसे पीठ के बल लेटा दिया और उसकी गांड के नीचे तकिया रख दिया जिससे उसकी चूत ऊपर की ओर हो गयी.

कुछ देर ऐसे ही करने के बाद मैंने भाभी को बोला- भाभी अब असली काम के लिए तैयार हो जाओ.

मैंने ही उससे पूछा- फिर शिवानी से मीटिंग कैसे रही? मेरा मतलब है कि उसने कुछ पूछा होगा ना कल के बारे में, जब हमें देखा था यहां पर?वो बोला- मैं बहुत हैरान था क्योंकि उसने तो कोई जिक्र तक नहीं किया, जब कि मुझे पक्का विश्वास था कि वो ज़रूर पूछेगी. उसका लंड वाकई में ही बहुत बड़ा था जैसा कि मैंने बाकी लड़कियों से उसके बारे में सुन रखा था. तू राक्षसों की तरह कर रहा है। थोडा़ आराम से कर यार … मुझे दर्द हो रहा है.

मेरे वीर्य को … और वो दोनों माँ बेटी एक दूसरे से साझा करते हुए मलाई के जैसे चाट गईं. मुझे वीर्य का स्वाद अच्छा लगा, तो मैं चटखारे लेते हुए माल चाट रही थी. पर चलिये एक बार और बता देती हूँ।मेरा नाम सुहानी चौधरी है और मैं उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले से हूँ। मेरी उम्र 22 साल है और फिलहाल मैं दिल्ली से बी.

सुहागरात की चूत

अदा खान सा चेहरा और तमन्ना भाटिया से शरीर वाली रीना को जब मैंने देखा तो उसकी चुदाई का ख्याल मन में आखिरकार जाग ही गया।जैसे ही सफेद व गुलाबी देह की मालकिन मेरे बिस्तर में आकर गिरी तो उसे चूमे बिना नहीं रहा गया। मैंने अपना मुंह अति आकर्षण पैदा कर रहे कूल्हों में घुसा दिया और उसके कूल्हों को दांतों से काट कर लाल कर दिया। उसने मेरी उत्तेजना को समझते हुए अपनी गांड का छेद मेरे मुंह पर दबा दिया. मेरा भी यही हाल था!मेरी बीवी भी अब बेकाबू हो चुकी थी उसने मेरा लन्ड कसकर पकड़ लिया और मुँह में लेने लगी. मैं भी गाली देते हुए बोली- मादरचोद तू भी चोद ले आज … मैं भी तो देखूँ भोसड़ी के तेरे लंड में कितनी दम है.

इस बात पर संजय ने भी हां में हां मिलाते हुए हंसिका भाभी से सहमति जता दी.

रोहन- इतनी कम उम्र में … मैं यह नहीं मान सकता कि बैंगलोर जैसे शहर के लोग भी कभी-कभी ग्रामीणों की तरह व्यवहार कर सकते हैं.

लेकिन शुरूआत में, किसी भी लड़की के साथ बातचीत कुछ मिनटों से आगे नहीं बढ़ पायी थी. इतना सुनते ही वो मुस्कुराते हुए चली गयी और मेरा लंड उसकी चूत के सपने देखने लगा. संगीत वाली सेक्सी फिल्मइस पर मैंने उसे कहा- भाई निराश मत हो, मार्केट में इसके लिए दवाई मिलती है.

अब मैं उनके कपड़े उतारने लगा, तो मौसी मुझे रोक कर बोलीं कि समीर इस से आगे नहीं. मैं अपने काम में कुछ ज्यादा ही बिजी ही गया था जिससे मुझे उनको फोन करने का वक़्त भी नहीं मिला. मेरे मुंह से सिगरेट निकाल कर कश लगा कर उसने धुआं हवा में उड़ाते हुए अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:भाभी की सहेली ने चुदाई के लिए ब्लैकमेल किया-2. पर संतोष कहने लगा, उस वक्त मेरे रूम में कोई नहीं था, अब अमोल भी आ गया है.

शहर तक रोज़ आने जाने के झंझट से छुटकारा पाने के लिए उसने उधर ही एक रूम किराए पर ले लिया और वहां रहने लगी.

उसकी चूची को मैंने मुंह में ले लिया और उसकी चूत में उंगली करने लगा. उसने बताया कि वो करीब 8 महीने से नहीं चुदी है और अब बर्दाश्त नहीं कर पा रही है. जब मैं बाहर निकलती हूं, तो सब लोग मुझे ऐसे घूरते हैं जैसे मुझे अभी के अभी चोद देंगे.

सेक्सी पिक्चर पूरा नंगा मैंने कभी भी कुछ नहीं किया … और ना ही मेरी किसी लड़के से किसी तरह की दोस्ती है. नमस्कार पाठको … मेरा आप सबको प्रणाम, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ.

न ही राज मेरे करीब आने की कोशिश करता था और न मैं ही उसके साथ कुछ करने के ख्याल मन में लाती थी. चाचा मुझसे बात करते करते कभी-कभी मेरे गालों को जोर से खींच रहे थे जो कि उनकी आदत थी. हालाँकि दीपा को ये सब बातें पसंद नहीं थी पर वो सोचती थी ये सब बेड की बातें हैं तो वो भी मनोज का इस गप्पखोरी में साथ दे देती.

सेक्सी नंगी चूत की चुदाई

अब तक धीरे धीरे मैंने उनकी पेंटी के अंदर भी किनारे से उंगलियों को डालना चालू कर दिया तो महसूस हुआ कि उनकी योनि में एक भी बाल नहीं है. उसने मेरी इस बात पर स्माइल करते हुए खुल कर कहा- हां मेरे मम्मे उससे ज्यादा बड़े हैं … लेकिन तुमने कैसे जाने?मैंने भी हंसते हुए जवाब दिया कि मैं उसके हाथ में लेकर देखे हैं और तुम्हारे सिर्फ दूर से ही देखे हैं. मुझे वहां एक फैक्ट्री में काम भी मिल गया था, लेकिन रहने का कुछ समझ नहीं आ रहा था कि कहां रहूँ.

मैं ऑफिस में नई नई थी, जिस कारण मुझे ऑफिस का काम ज्यादा नहीं आता था. मैंने अपने पहले हाथ को उसकी चूचियों पर रख दिया और दूसरे हाथ की उंगली से उसकी चूत में सहलाने लगा.

कुछ देर के चुम्बन के बाद मैंने आंटी की साड़ी खोल दी और उनके मम्मे ब्लाउज के ऊपर से ही मसलने लगा.

फिर एक दिन मैं घर पर अकेला था कि वो एक मूवी की सीडी के लिए मेरे पास आई और बोली कि मुझे विवाह मूवी देखनी है, आप ला दोगे क्या?तो मैंने कहा- ठीक है, कल ला दूँगा. उसमें भी उषा जैसी कामवाली हो, तो चुदाई में चार चाँद तो लगना लाजमी है. अब आगे की फ्री हिंदी सेक्स स्टोरी:नीलम ने कुछ देर तक यूं ही हाँफने के बाद अपने ससुर को अपने ऊपर से हटा दिया और खुद उठकर बाथरूम में चली गयी।नीलम बाथरूम में घुसते ही नीचे बैठकर मूतने लगी एक मधुर आवाज़ के साथ नीलम की चूत से पेशाब निकलकर नीचे गिरने लगा, नीलम मूतने के बाद पानी से अपनी चूत साफ़ करने लगी.

मैंने जैसे ही धक्का लगाया, मेरे लंड का टोपा उसकी चूत में घुस गया, पर दर्द के मारे उसके आंखों से आंसू आ गए. उन्होंने मेरी चूत से निकल रहे पानी को अपने होंठों से चूस कर साफ कर दिया. तभी दादाजी ने उसे 1000 रूपये का नोट दिया जिसे उसने अपनी ब्रा में खोंस लिया.

नमस्कार दोस्तो, कैसे हो?आपने मेरी पिछली कहानीपापा ने अपनी सगी बेटी की कुंवारी चूत चोदीपढ़ी.

रियल सेक्स वीडियो बीएफ: चाचा मुझसे बात करते करते थोड़ा खुल गए और मुझसे सेक्स के बारे में बात करने लगे. शबनम की सांसें काबू से बाहर थी- अब इसको बाहर निकालो और फिर अन्दर डालो.

शायद उसका दिल तो मुझ पर आया ही था पर क्या करें उसने ऐसा रास्ता चुना था जो शायद हम तीनों को बर्बाद कर सकता था. मैंने भाई के लंड को अपने मुंह में लेकर पूरा गीला कर दिया ताकि चिकना होकर लंड मेरी और मेरे चाचा की लड़की की चूत में आसानी से चला जाये. इस तरह से आप उपर्युक्त बताये गये उपायों से अपनी इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं.

मैं चाहत खन्ना जल्दी ही अपनी चूत चुदाई की किसी और कहानी को लेकर फिर से आऊंगी.

दोस्तो मैं 5 सालों से अन्तर्वासना का पाठक हूँ, इस वेबसाइट पर मैंने बहुत कहानियां पढ़ी।अब सोचता हूं कि मुझे भी अपनी स्टोरी यहाँ पोस्ट करनी चाहिए।मेरा नाम शिबू है (बदला हुआ नाम) और मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 32 साल है। मेरे लण्ड का साइज 6 इंच लंबा और 2. मैंने ऐसी हालत में मैंने संजना की तरफ देखा तो वह तो बिचारी पसीने से भीग चुकी थी. एक दिन जब मैं बॉस के केबिन में गयी, तब मैंने साड़ी की सेफ्टी पिन नहीं लगाई थी.