बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,हॉट टीचर सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी जंगल सेक्सी जंगल: बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो, मैंने पूछा- लहंगा चोली कब दोगे?उसने कहा- कल ट्रायल के लिए 12 बजे के करीब तेरे घर पर आऊंगा.

अनुष्का शेट्टी xxx

मैं जब उसकी कोमल जांघों पर अपनी उंगलियों से सहला रहा था तो ऐसा लग रहा था जैसे उसके बदन से सेक्स की गर्मी निकल रही हो. राजस्थान सेक्स पिक्चर वीडियोमैंने देखा सिम्मी के स्तन के ऊपर एक छोटा प्यारा तिल है जो काफी मनमोहक था।मैं एक हाथ से जैसे ही सिम्मी के बायां स्तन दबाने लगा.

तभी मैंने रानी से कहा- रानी, ये लड़का जो सुबह तेरे साथ वो कर रहा था, वो तेरा बॉयफ्रेंड है क्या?रानी कुछ बोल नहीं रही थी. फौजी शायरी फोटोयहां पर मैं ये देख कर हैरान हुआ कि मेरे पापा के लंड में पूरा तनाव नहीं था.

मेरी पत्नी से सम्बन्ध विच्छेद के बाद मेरा सेक्स जीवन ख़त्म हो गया था.बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो: शायद आप ये कह सकते हो कि कल्पना के बूब्स बहुत बड़े थे और उस छोटी सी ब्रा में फंसे से कैद थे.

उसका रंग एकदम दूध सा गोरा था, छोटी छोटी आंखें, आंखों में काजल, माथे पर छोटी सी बिंदी, होंठों पर लाल लिपस्टिक.तो उसका जवाब यह है कि इन सब हरकतों के अलावा वे एक बहुत अच्छा पति हैं.

सेक्स व्हिडिओ शूटिंग - बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो

मैंने ध्यान से देखा तो उसकी चूत फूल कर पकौड़ा सी लाल हो गई थी, जिससे उसको दर्द होने लगा था.जब वो नॉर्मल हो गयी तो बोली- हां, अब शुरू कर।मैंने लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.

आह्ह … क्या कर रहे हो आप … ऐसा मत कीजिए न … आह्ह … प्लीज।मैं जानता था कि वो नाटक कर रही थी. बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो नीलम के होठों पर अपने होंठ रखते हुए मैंने अपना हाथ नीलम की चूत पर रख दिया.

उसके मुंह में तो उसके पति का लंड था लेकिन उसकी चूत को छेड़ने की वजह से उसकी सिसकारी बाहर नहीं आ रही थी.

बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो?

सोचता था कि कैसे उसकी चूत में लंड दूंगा पहली बार, कैसे उसकी चूचियों को दबाऊंगा. इससे वो पहले हड़बड़ा गयी, फिर उसने मुझे भी पीठ पर हाथ ले जाकर जोर से पकड़ा और ‘सी…’ की आवाज करते हुए मेरे गाल पर भी किस कर दिया. फिर जैसे-तैसे मैंने उनको तैयार किया और उसके बाद मैंने डॉगी स्टाइल में करके उनको अपना 8 इंच का लंड उनकी गांड पर टिका दिया.

कभी मेरे गालों को खींच कर नोंच रही थी तो कभी मेरे होंठों को जोर से काट रही थी. वो मुझे हटाने का ज़रा मरा प्रयास करती रही लेकिन उसका विरोध ज्यादा प्रबल नहीं था. तो जब इस बार बहू ने फिर से गाड़ी रोकी तो मैंने अपने हाथ बहू की कमर पर लगा दिए और उसकी कमर जोर से पकड़ ली.

फिर बहू ने मेरा लंड पकड़ के अपनी चूत में डाल लिया और मैं उसकी जोरदार चुदाई करने लगा. अनिल ने कहा- वैसे तुम्हारा फिगर भी लाजवाब है, शॉर्ट्स और टॉप में मस्त लगती हो. आह्ह … उसके गर्म गर्म मुंह में लंड जैसे ही अंदर गया, मैं तो जन्नत की सैर पर निकल गया.

मैंने सोचा इस नाटक को ख़त्म करके असली खेल का मज़ा लेने का यही सही टाइम है, तो मैं नीद खुलने का बहाना बनाते हुए उठा और चौंकते हुए बैठ गया. इस बार मेरे लंड ने अपना पानी छोड़ दिया और मैं उसे किस करते हुए थोड़ा थक गया.

मैंने जाने की बात की तो उन्होंने बोला कि मैं तुम्हारे लिए ट्रेन का टिकट बुक करवा देता हूँ, तुम अकेली चली जाओ.

दोस्तो, जिंदगी एक बार ही मिलती है इसलिए फुल मस्ती करो और हो सके तो घर की ही लड़कियां पटाओ और चोदो.

तभी उसने अपने हाथ पीछे ले जाकर लहंगे में डाल दिए और मेरे चूतड़ पकड़ कर कहा- तेरे चूतड़ बड़े सालिड हैं. पहले तो वो झांटें साफ़ करने वाले वीडियो को देखने से शर्मा रही थी, फिर उसने बड़े गौर से देखा. क्योंकि मुझे मेरे जिस्म में जो सेक्स की आग लगी हुई है, अब बर्दाश्त से बाहर हो रही है.

अब निधि फिर आँखें बंद कर मस्ती में आहें भरने लगी।निधि की चूचियों के निप्पल मसलने के बाद मैं उसकी बायीं चूची के निप्पल को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा और दायें हाथ से उसकी दायीं चूची को दबाने लगा।कुछ देर बायीं चूची को चूसने के बाद मैं उसकी दायीं चूची को मुख में लेकर चूसने लगा और बायीं को दबाने लगा।अब तक निधि फिर से चुदासी हो गयी थी. मेरी मां मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर लोलीपॉप के जैसे चूस रही थी. कुछ देर बाद अनिल के घर से लड़ने की आवाज़ आने लगी और फिर अनिल ऊपर छत आ गया.

वह भी नीचे से अपनी गांड उठाकर उस लंड को अपनी चूत में लेना चाहती थी.

शादी के बाद वो बिल्कुल बदल गयी थी या यूं कहें कि वो और भी रसभरी जवानी की मालकिन हो गयी थी. वो अभी भी शर्मा रही थी तो मैंने अपना लोअर और चड्डी एक साथ नीचे कर दिए और उसका हाथ में अपना लंड फिर से पकड़ा दिया। वो उसको हल्के से दबाने लगी।शिल्पा- वोओ ओआओ … ये कितना मोटा और इतना सख्त है और इतना गर्म भी है. सीमा ने भी अपनी चूत के दरवाजे को खोल दिया और खड़े खड़े ही मेरे लंड को अपनी चूत के अन्दर समां लिया.

अब उसे यह डर सताने लगा था कि कुछ ही देर में उसकी चड्डी पूरी गीली होकर उसकी नाईट ड्रेस के लोअर को भी गीली कर देगी. एक दूसरे से डेढ़ से दो मीटर की दूरी बना कर रखें, भीड़ वाले स्थान पर मत जाएँ. मैंने दीपिका के सिर को पकड़ लिया और उसके मुंह को मैंने अपने लंड पर दबाना शुरू कर दिया.

वो दर्द से चीखते हुए बोली- आंह जीजू … बड़ा दर्द हो रहा है … लंड जल्दी से बाहर निकालो … उई मां बहुत दर्द हो रहा है.

मैंने कहा- कोई बात नहीं!फिर मैंने तनु की चूचियों को दबाते हुए उसकी चूत को तेजी के साथ जोश में पेलना शुरू कर दिया. नेहा की छोटी सी कुंवारी चूत को भेदते हुए लंड का सुपारा अंदर जा घुसा.

बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो कुछ देर में पापा बोले- बहू तुम अपने घाघरे को नीचे कर लो, मुझे तेल लगाने में दिक्कत हो रही है. उसने कहा- वह बहुत वैसी है … उसे बिल्कुल दया नहीं आती … वो खुद काफी देर तक चुदाई करवाती है.

बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो जब उनको लगा कि मैं इससे ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर पाऊंगा तो आंटी ने मुझे कुछ पल रुकने के लिए कहा. मैंने तुरंत तनु को अपने पास खींचा और उसके मुंह में लंड को डाल दिया.

मेरी जान भी मुझे आनन्द मिलते देख बहुत खुश थी और मुझे किस किये जा रही थी और बोल रही थी- मेरा बेटा थक गया!थोड़ी देर हम दोनों साथ साथ लेटे रहे.

जानवर वाली फिल्म सेक्सी

वो बोली- इतना मोटा और लम्बा लंड मेरी छोटी सी चूत में चला कैसे गया?मैंने कहा- अगर तुम रोज अपनी चूत चुदवाने की प्रेक्टिस करोगी तो तुम आदमी क्या किसी भी लंडधारी का लंड अपनी चूत में ले सकती हो. तभी अचानक से मेरे लंड का बांध छूट गया और मेरे लंड से सारा वीर्य उसके हाथ में लग गया. मैंने पूछा- क्या आप बता सकती हैं मुझे कि इस एड्रेस पर कैसे पहुंचा जा सकता है?फिर मुझे उसने मेरे को बताया कि यह पता तो काफी दूर है … उधर पहुंचने में आपको काफी समय लग जाएगा.

उसकी बात सुनकर मुझे बुरा लगा और मैंने फिर उसे सॉरी बोलकर धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करना शुरू किया. मैंने बहुत कोशिश की खुद को समझाने की लेकिन मैं तीन साल तक प्यासी ही रही. मेरी इस बात से वो थोड़ा नाराज हो गई और मेरी तरफ आंखें तरेर कर देखने लगी.

बच्चा जैसे पहली बार किसी चीज को देखता है, ठीक उसी तरह निशु मेरे लंड को आगे पीछे करके देख रही थी.

एक चिकना लड़का मेरा क्लास में आता था तो मैंने सोचा कि इस चिकने की गांड से काम चलाया जाए. अब मेरे दोनों छेद में दो लंड घुस गए थे और मैं भी खूब उचक उचक कर चुदवा रही थी. यह आपके अंतरंग सम्बंधों को एक मधुर शुरूआत देने में काफी मददगार साबित हो सकता है.

मैंने कहा- लेकिन मुझे अब कण्ट्रोल नहीं हो रहा, तुम आज कल वाली जगह पर मिलो. कई बार मैंने कोशिश की कि पापा और मां की पूरी चुदाई देखने का मौका मिल जाये लेकिन ऐसा अभी नहीं हो रहा था. उसके बड़े बड़े संतरे जैसे चूचे उसकी ब्रा से बाहर आने को बेताब दिख रहे थे.

फिर …फिर वो मेरा लंड चूसकर घर चली गयी।अगले महीने … एक दिन सीमा बोली- अब तो मेरी इच्छा पूरी कर दो। तुम नामर्द हो क्या? जो एक लड़की आगे से तुमको चोदने के लिए कह रही है और तुम कुछ करते ही नहीं।मुझे बड़ा गुस्सा आया। फिर उसे मैंने घर से निकाल दिया।आगे कैसे उसने रात के 4 बजे मेरी नींद उड़ाई? यह तो मैं सोच भी नहीं सकता था. जैसे ही मैंने उसे प्रपोज़ किया, तो उसने मुझे कसके गले से लगा लिया था और किस किया.

उसके पूरे बदन में एक झुरझुरी सी दौड़ गई और वो शरमाते झिझकते धीरे से चिन्ना की सख्त गांड पर अपने नाजुक और कोमल चूतड़ टिका कर बैठ गई।क्योंकि चिन्ना की पूरी गांड सख्त काले बालों से ढकी थी और उसने एक पतली से लुंगी ही पहनी थी. बलविंदर साहब की आंखें भी छलक पड़ी और उन्होंने भी बोल दिया- मुझे नहीं पता बेटा … मुझे भी कभी कभार ऐसा ही लगता है कि मधु ने कहीं बाहर जाकर मुंह मारा है. बीस मिनट के बाद भी मेरे लंड ने वीर्य नहीं छोड़ा और उसके भी कोमल हाथ दुखने लगे.

थोड़ी देर बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और इस बार मैं लेट गया और उसे ऊपर करके अपने लंड पर बिठाया.

चिन्ना- ऐसे कैसे निकाल लूँ बहन की लौड़ी … इतना आगे जा कर मेरा लण्ड कभी वापस नहीं आता. वो अपनी जुबान मेरे होंठों से रगड़ने लगी, मैंने अपना मुँह खोल कर उसकी जीभ को अन्दर ले लिया और चूसने लगा. इससे एकदम से उत्तेजित होते हुए भाभी ने मेरा लंड पकड़ लिया और उसे सहलाने लगीं.

मैंने तेल की शीशी उठाई, चार बूंद तेल सारिका की गांड के छेद पर डाला और अपने अंगूठे से मसाज करने लगा. इस बार मेरी पढ़ाई पूरी हो चुकी थी इसलिए मैं गांव में काफी दिनों के लिए रुकने वाला था.

फिर वे पूछने लगे- तुम्हें भी रोज चुदने की आदत होगी?मैंने उन्हें हम्म कहकर कर जवाब दिया।अब उन्होंने फिर से मेरी चूत में लंड डाल दिया और मुझसे कहा- अब मैं तुम्हें मजा दिलाऊंगा. अब इसी तरह टिके रहना मुश्किल था तो उसने कहा- यार अब और मत तड़पाओ। तुम्हें और जो कुछ भी करना है वह बाद में कर लेना. धीरे धीरे मैं आकांक्षा की चूची को सहलाते हुए अपना एक हाथ नीचे चुत पर ले गया और उसकी चुत को सहलाने लगा.

సెక్సీ స్టోరీస్

मैंने उसको पीछे से पकड़ कर उसकी चूत पर अपना लंड सैट कर दिया और बहन की चुत चुदाई करने लगा.

मैं अपनी अन्तर्वासना पर कुछ कंट्रोल कर सकती हूं लेकिन मुझे डर है कि कहीं वे कुछ साइको जैसे ना हो जायें. फिर कल्पना ने भी मेरी पैंट और अंडरवियर उतार दी और बैठ कर मेरे लंड को चुम्मी किया. मैंने देखा कि उसमें एक दुबला पतला लड़का मोटी औरत के साथ चुदाई कर रहा था.

एक सहेली बना ली और उसके बाद …नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अरुण कुमार है. उसकी चूत पर रगड़ने से लंड के टोपे में जो सनसनाहट हो रही थी वो एक अलग ही मजा दे रही थी. इंडिया मराठी सेक्सीसभी लड़के अपने लंड को पकड़ लें और लड़कियां अपनी चूत में उंगली अन्दर कर लें क्योंकि यह कहानी इतनी मजेदार है कि आपके छेद से पानी निकल जाएगा.

आंटी ने मेरा लण्ड मुंह में ले लिया और मेरे लंड को मुंह में लेकर लॉलीपोप के जैसे चूसने लगी. सामान्य स्वस्थ व्यक्ति को इससे हल्के से तेज संक्रमण और रोग के लक्षण हो सकते हैं.

मैंने आकांक्षा के पीछे से आकर उसे अपने बांहों में भर लिया और अपने होंठ आकांक्षा की गर्दन पर रख दिए. तब हम एक दूसरे के बदन को चूम चाट रहे थे।यह सब करने से मेरी वासना जाग उठी थी तो फिर मैं उनका लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. कभी मेरे लंड के टोपे को काट रही थी, तो कभी टोपे पर अपने होंठ और अपनी जीभ घुमा घुमा कर मुझे मजा दे रही थी.

फिर से मैं रचना के होंठों को चूसने लगा और चूचियों को खूब मसलने लगा. हालांकि मैंने बहुत बार अपने को समझाया कि यह गलत है, पर जवानी का जोश और बहन के बदन के आगे मैं सब भूल जाता. मैं दीदी की बातों को नजरअंदाज करके तेजी से उनकी चुदाई किये जा रहा था.

मैं भाईपना दिखाते हुए उसके पेट को दबाने लगा, जिसका उसने बिल्कुल भी विरोध नहीं किया.

मैंने देखा कि उनकी गांड से खून की हल्की सी धार निकलने लगी थी … लेकिन मेरा लंड तो खड़ा था. बेचारी नसरीन इन बातों से अंजान थी कि उसके अपने सगे बड़े भाई की नियत उसकी जवानी पर खराब हो चुकी है.

अंधेरा होने की वजह से उसने फोन की लाईट जला रखी थी, जिस वजह से मुझे उसका लंड दिखाई दे रहा था. मैं आगे ड्राइवर के साइड वाली सीट में बैठ गयी और दूल्हा दुल्हन दोनों पीछे की सीट पर बैठे थे. वो ऊपर से मेरे लंड पर धक्के लगा रही थी मैं उसकी ताल में ताल मिलाकर नीचे से लंड को उसकी चूत में गचागच पेल रहा था.

वो मदहोश होकर बोली- जो भी करो भैया … पर जल्दी करो … मेरी बुर में चीटियां रेंग रही हैं. कभी टोपे के छेद पर जीभ लगा रही थी तो कभी पूरे टोपे पर जीभ फिरा रही थी. उसने देरी ना करते हुए उसे मुँह में ले लिया और मैं भी बहुत मज़े से उसको लंड मुँह में दिए जा रहा था.

बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो मुझे शर्म आ रही थी, पर पापा के लिए ये सब ऐसा कुछ नहीं था … क्योंकि उनका रोज का काम था. और पुष्पा आंटी दूसरे लड़के का लन्ड पकड़ कर पैंट के ऊपर से ही हिला रही थी और वो लड़का मॉम की जीन्स की चैन खोलकर उसमे हाथ घुसाए था.

hindi सेक्सी वीडियो

मैंने कहा- वो कैसे होगा … मुझे तो कुछ नहीं आता, तुम सिखा दो न!उसने मेरे लंड से मुँह हटा कर कहा- अभी मैं तुम्हारे लंड पर बैठ जाती हूँ. अपने बूब्स पर अपने हाथ से मेरे हाथ को दबाते हुए मामी ने कहा- अब दबाओ इनको!मुझे मामी के बूब्स काफी सोफ्ट लगे. आप मुझे नीचे दी गयी ईमेल आईडी पर अपने मैसेज भेज कर कहानी के बारे में अपने विचार बतायें.

फिर उन्होंने मुझे सीधी लिटा लिया और मेरे ऊपर आकर मुझे चूमने लगे, मेरे जिस्म का चाटने लगे, काटने लगे, चूसने लगे. कुछ ही देर में उसकी चूत इतनी गर्म हो गयी कि उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों को जोर से चूसने लगी. बाल लंबे करने वाला तेलमैं सबकी नजरों से बच कर बाथरूम के पास जाकर खड़ा हो गया।थोड़ी देर बाद सौम्या भी वहां पर आ गई.

मैं 10वीं के बाद पढ़ने के लिए उत्तर प्रदेश के एक जिले में आ गया, जो बिहार से सटा हुआ था.

मैंने देर न करते हुए उनकी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर करके चड्डी को निकाल दिया. निधि आहें ने भरते हुए अपने दोनों हाथों से मेरे सर को पकड़ लिया और अपनी चूत की तरफ खींचने लगी।कुछ देर बाद निधि कहने लगी- प्लीज जान.

लेकिन कहते हैं ना खुशियां बहुत देर तक नहीं रहती!ऐसा ही कुछ सेजल के साथ हुआ. तभी मुझे जैसे महसूस हुआ कि उसकी चूत मेरे लंड को दबा के तोड़ देगी, निचोड़ देगी. मैं भी सेक्सी टीचर की चूत और मखमली जिस्म को निचोड़ना चाहता था तो … जब मैं रात को उसके घर पहुंचा तो वहां का नजारा कुछ और ही था.

हम दोनों के जिस्म की आग बहुत ज्यादा बढ़ गई थी और मुझे उसकी कुंवारी चूत फाड़नी थी।अब मेरा ही लंड मेरे कंट्रोल में नहीं था तो मैंने उसकी टांगें चौड़ी की और अपने लंड का सुपारा उसकी चूत के मुहाने पर रगड़ने लगा.

वह गाँव देखने में बहुत ही सुंदर था। हम वहां तीन घंटे तक घूमे और फिर वापस जाने के लिए चले. शायद वो भी मेरी तरह पहला वीर्य अपने अंदर ही महसूस करना चाहती थी।वो फिर से झड़ने को हो रही थी और फिर 10-15 झटकों के बाद वो झड़ने लगी और मैं भी उसकी चूत में ही सारा माल छोड़ने लगा। आज तक मेरा इतना माल कभी नहीं निकला था जितना अभी निकला।मैं 2 मिनट वैसे ही उसकी चूत में अपना लंड डाल कर पड़ा रहा … फिर मैं उठ कर उसकी बगल में लेट गया. मैं पेशाब करके आया और सारिका की चूचियां चूसने लगा तो सारिका जाग गई और हम दोनों ने फिर से जन्नत का दीदार किया.

दुल्हन का सेक्स वीडियोमैं मन मसोस कर बस मामी को छुप छुप कर देखता रहता था और अपना लंड हिलाता रहता था. आप स्वयं अंदाजा लगा सकती हैं कि आपका जीवनसाथी आपके जिस्म के हर इंच हिस्से को प्यार किये बिना अपना बिस्तर शायद ही छोड़ पाये.

जानवरों की सेक्सी पिक्चर हिंदी में

मैंने कहा- कोई बात नहीं!फिर मैंने तनु की चूचियों को दबाते हुए उसकी चूत को तेजी के साथ जोश में पेलना शुरू कर दिया. और वह वहां से चला गया।रात को रात बरात आने के बाद सौम्या ने मुझे फोन करके शादी में आने के लिए कहा. कुछ मिनट ऐसे ही चोदने के बाद मुझे लगा कि अब मेरा लंड भी अपना सारा लावा छोड़ने की हालत में आ गया है.

और अपनी कुंवारी गांड भी मेरे लण्ड के हवाले करोगी बोलो है मंजूर?करोना बिना अंजाम की परवाह किये- मुझे आपकी सारी शर्तें मंजूर हैं अंकल. वो बस तड़प रही थी, कभी मजे में और कभी दर्द में।उसके बाद नीचे की ओर जाते हुए मैंने उसकी नंगी कमर को सहलाया. और फिर मुझे पूरी तरह से उल्टा लेटा दिया और उसके बाद अपने दोनों हाथ मेरी कमर के नीचे डाल कर मेरे भारी-भरकम कूल्हों को थाम कर एकदम ऊंचा उठा दिया और मेरे घुटने नीचे मुड़कर मुझे उसी अवस्था में रहने दिया.

एक चिकना लड़का मेरा क्लास में आता था तो मैंने सोचा कि इस चिकने की गांड से काम चलाया जाए. इसी के साथ मैंने एक चीज और नोट की कि अब वो घर में हमेशा बिना पैंटी के ही रहने लगी थीं. मेरा लिंग रॉड की तरह खड़ा हो गया, मानो जैसे आज मेरी पैंट को फाड़ कर बाहर निकलेगा.

अब उसने मां के बालों को पकड़ा और अपनी ओर खींचा और अपने लंड को सटासट मां की चूत के अंदर घुसाता चला गया. मैंने कहा- नहीं जी, एक ही तो इतनी प्यारी साली है मेरी, आपको तो मैं हमेशा याद करता हूँ, आप ही मुझे नहीं याद करती।फिर पूजा ने मुझसे कहा- जीजाजी, मेरी मौसी के यहाँ शादी है तो मम्मी और पापा वहाँ जाएँगे, मेरे एग्जाम के कारण मैं वहाँ नहीं जा पाऊंगी। पापा ने निधि दीदी को रात को मेरे यहां सोने के लिए कहा है.

लड़की को मैं पहले से जानता था परन्तु वो उस समय काफी छोटी थी। मैंने मन ही मन यह सोच दिया था कि लड़की को देखकर ना बोलना है।जून 2012 को जब मैंने सिम्मी (लड़की का नाम) को 4 साल बाद देखा तो देखता ही रह गया.

मेरे हाथ में तीन कप आईसक्रीम देख कर कल्पना बोली- इतनी क्यों मंगा ली. सट्टा मटका भूतशिल्पा- और वो कैसे करेंगे?मैं- जैसे मैंने तुमको अभी उधर किस किया ना, तुम भी मेरे उधर करो … तो मुझे भी वैसे ही मज़ा आएगा. सेक्स बनानामैंने अपना होश संभालते हुए, अपने बाएं पैर को पकड़ते हुए उससे कहा- मुझे बहुत जोर से लग गई है. उसने मेरे लंड को मुंह में ले लिया और एक दो बार चूसा था कि मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी छूटने लगी.

उसने मुझे कस के पकड़ लिया और मेरे लंड पर जोर जोर से उछलने लगी।मैंने भी अपने हाथ उसकी चूची पर रख दिए और उन्हें जोर जोर से मसलना शुरू कर दिया.

मैंने शीशे में देखा तो बहू के होंठों को लिपस्टिक हल्की सी मेरे होंठों पर लगी हुई थी. शादी की सालगिरह पर नीरस दाम्पत्य जीवन में नई ऊर्जा पैदा करने के लिए-अक्सर देखने में आता है कि शादी के कुछ वक्त बाद, मसलन दो-तीन साल बाद स्त्री और पुरूष के शारीरिक संबंधों में मिठास कम हो जाती है. तीन-चार मिनट के बाद उसका दर्द कम हुआ तो मैंने उसकी चूत में दूसरा धक्का दिया.

उसने पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और एक ही झटके में पूरा अन्दर तक पेल दिया. मम्मी की चूत भी काफी गीली हो चुकी थी और धक्का मुक्की में मैं भी जल्दी ही डिस्चार्ज हो गया. उस दिन मैंने भाभी को तीन बार चोदा और करीब शाम को 7 बजे हम दोनों बिस्तर से उठे.

छत्तीसगढ़ी वीडियो गाने

मैंने भी उनको रोका नहीं क्योंकि जब चूत में ससुर का लंड ले चुकी थी तो गांड में भी ले लिया. थोड़ी देर लंड चूसने के बाद मेरे बेटे ने बहू को किस करते हुए उसकी नाइटी निकल दी. अब दीपिका का दर्द बर्दाश्त के बाहर होता जा रहा था लेकिन मैं भी झड़ने के करीब पहुंच ही गया था.

फिर वो मेरे मम्मों को देखते हुए बोले- क्या क्या बना लेती हो?मैं लजाते हुए बोली- साहब, मैं हर डिश बना लेती हूँ.

मैंने टी टी से गुजारिश भरे अंदाज से कहा- साहब, जो रिकार्डींग करी है, मुझे भी दे दीजिए.

फिर मैंने गर्म पानी से उसकी बुर के बाकी बचे बालों को भिगो कर मुलायम किया और शेविंग फोम लेकर बुर पर मलने लगा, जिससे उसको मजा भी आ रहा था और मुझे भी. उसकी वक्षरेखा पर रुकी हुई पानी की बूंदें देख कर मेरा मन भी उन बूंदों पर जीभ से चाटने के लिए कर गया. साडी वाला सेक्स व्हिडीओमैंने अपने हाथ और लंड दोनों की स्पीड बढ़ा दी … और हम दोनों एक साथ झड़ गए.

मुझे भी मज़ा आने वाला था, मैंने अपना लंड निकाल कर उनके चूतड़ों पर सारा वीर्य निकाल दिया. प्लीज मुझे पकड़ा दो मेरे कपड़े।जैसे ही मैं कपड़े देने के लिए दरवाजे की तरफ गया, तभी मुझसे हड़बड़ाहट में कपड़े नीचे गिर गए. वो सोच में पड़ गई और मैंने इसी का फायदा उठाकर उसके टॉप को उतारना शुरू कर दिया.

20 मिनट की चुदाई के बाद मेरा पानी निकल गया और मैंने कंडोम निकल के साइड में ही रख दिया. मैं भी सेक्सी टीचर की चूत और मखमली जिस्म को निचोड़ना चाहता था तो … जब मैं रात को उसके घर पहुंचा तो वहां का नजारा कुछ और ही था.

क्या मम्मे थे यानि उसके बूब्स बड़े बड़े ब्रा के अन्दर पैक … और टी-शर्ट को फाड़ने को तैयार बिल्कुल तने हुए.

मैंने फिर से माया को चूमना शुरू किया और एक हाथ से उसके चुचों को सहलाए जा रहा था. दीदी की टी-शर्ट हटते ही मेरे सामने उनकी काले रंग की ब्रा दिखने लगी, जिसमें से मेरी दीदी के टाईट मम्मे फंसे हुए बड़े कामुक लग रहे थे. मेरे शौहर को जरा भी अफसोस नहीं था अपने कारस्तानियों पर!जैसे तैसे कार्यक्रम निपटा और हमने वापसी का प्रोग्राम बनाया.

ओल्ड सेक्स वीडियो हिंदी दस मिनट तक मैंने उसकी चूत चोदी और उन दस मिनटों में वो एक बार झड़ गयी थी. मैंने जल्दी से उसकी ब्रा के हुक को खोल कर उसके चुचों को आज़ाद कर दिया.

उसने मुझे लेटते देखा, तो वो मेरे खड़े लंड की तरफ लालसा से देखने लगी. दूसरे दिन भी मैं सारा दिन मायूस बना रहा और दीदी से ठीक से बात भी नहीं कर रहा था. क्योंकि मैंने बड़ी होशयारी से नसरीन को देखने के लिए लैपटॉप में पॉर्न वीडियो डाल रखे थे और उसे अपने फनफनाते हुए लंड का दीदार भी करवा चुका था.

सेक्सी वीडियो 2018 सेक्सी वीडियो

वो बोली- क्या मैं सच में अब एक औरत बन गयी हूं?मैंने कहा- हां, तुम्हारे औरत बनने की शुरूआत हो गयी है. थोड़ी देर तक नीलम की चूत सहलाने के बाद मैंने नीलम की लाल रंग की सिल्क की सलवार उतार दी और हल्की हल्की गीली हो चुकी पैन्टी को नीचे खिसकाकर उसकी चूत में अपने दायें हाथ का अंगूठा डाल दिया. तभी वो मेरे और पास आया और मेरे खुले हुए मम्मों को पकड़ कर दबाने लगा.

क्या मस्त अहसास था मुलायम बुर का … वो भी अपनी छोटी बहन की बुर का अहसास मुझे अन्दर तक मजा दे रहा था. वो मदहोश होकर बोली- जो भी करो भैया … पर जल्दी करो … मेरी बुर में चीटियां रेंग रही हैं.

जैसे ही उसकी चूत ने पानी छोड़ा, उसने अपने नाख़ून मेरी पीठ पर गड़ा दिए.

मेरा लिंग रॉड की तरह खड़ा हो गया, मानो जैसे आज मेरी पैंट को फाड़ कर बाहर निकलेगा. यह कह कर कल्पना ने मेरे लंड को मुँह में भर लिया और मेरा लंड चूसने लगी. मैंने लुंगी इसलिए उतारी कि कहीं तुम्हारी मालिश करते समय इसमें तेल न लग जाये.

करीब आधे घंटे बाद मेरे लंड महाराज ने दुबारा दस्तक दी, तो मैंने अपनी बहन को वैसे ही अपनी बांहों में लिए धीरे धीरे किस करना शुरू कर दिया. मैंने अपने लंड पर थूक लगा कर उसको चिकना कर लिया और उसकी चूत पर लंड को रख दिया. अब तुम्हारे लंड राजा को कभी चूत की कमी महसूस नहीं होने दूँगी, यह मेरा वादा है.

30 बजे योजना बनाई थी।रात के खाने की अच्छी व्यवस्था बस में ही की गई थी.

बिहारी भाषा में बीएफ वीडियो: फिर धीरे-धीरे उसने अपना मुंह मेरे लंड के ऊपर लगाया और लंड को अपने मुंह में ले लिया. इस समुदाय में शौहर की मृत्यु बाद बीवी को दूसरा निकाह करने के तीन महीने तक दूसरे आदमी के साथ बैठना पड़ता है.

निशा- अरे वाह मैडम … ऐसी क्या खास बात है … जो इतनी बेसब्री से इंतजार कर रहे थे?मैं उसे पट्टी देते हुए बोला- इसे आंखों पर बांध लो, सरप्राइज़ है. मां ने जैसे ही उसका लंड अपने मुंह के पास पाया तो झट से उसने मेरे दोस्त का लंड अपने मुंह में डाल लिया. उसके मुंह से मस्त सेक्सी आवाजें आ रही थी- आह्ह … आह्ह … अम्म … ओह्ह.

बाद में उसने एक सवाल फिर से किया, जिसे सुनकर मैंने भी खुलने का फैसला किया कि या तो वो सच में नादान है … या फिर बन रही है.

मेरे कमरे में मामी औऱ मैं बस हम दो लोग ही बचे थे, तो मैंने मामी से कहा- मामी जी, मुझे नींद आ रही है. पर मैंने उसे उठने नहीं दिया और थोड़ी देर बाद मैंने उसे ऊपर नीचे होने को कहा. वो मुस्कुराई और बोली- वो आपको पैसे देने के लिए बोल कर गए हैं कि आप पैसे लेने आओगे.