कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी बिहार वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो बीएफ ओपन: कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ, बेबी रानी चिढ़ के बोली- मुझे नहीं करनी किसी से बात … इसको चुदना हो चुदे, नहीं तो साली माँ चुदवाये … तू छोड़ इस रंडी को.

फुल एचडी हिंदी बीएफ फुल एचडी

हैलो … आपने मेरी इस लम्बी सेक्स कहानी के पिछले भाग में पढ़ा था कि पायल मेरी कामुक नजरों को भांप कर मुझसे खेलने लगी थी. किन्नर बीएफ सेक्स वीडियोफिर हम लोग शाम को अस्पताल चलेंगे, मुझे दीदी और अपने भानजे को देखना है आज!” वो बोली.

मैंने भी अपनी जिह्वा की गति तेज कर दी और नेहा के अमृत कलश को अपने मुँह में खाली करवाने लगा. गर्ल का बीएफ वीडियोउस समय दिवेश भी वहीं थे, तो उन्होंने भी बोला- हां हां निशा जी आप बिल्कुल चिंता मत करिये … रमित अब रेगुलर हमारे यहां ही खाएगा.

उन्होंने कहा- जल्दी से अन्दर तक घुसेड़ो न … क्यों सता रहे हो?उनका इतना कहना हुआ और मैंने एक तेज झटका मार दिया.कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ: उसका गोरा बदन सांचे में ढला हुआ सा प्रतीत हो रहा था, अंग-अग में चिकनाई थी, रोम-रोम से मादकता टपक रही थी और उसके चेहरे को प्रेम और वासना की मिश्रित कांति चमक रही थी.

इसके सिवा एक और बात सुन ले कमीनी … मैं किसी भी रानी को कितना प्यार करता हूँ यह एक इम्तहान साबित कर देगा … वो टेस्ट तू अभी ले ले और फिर बताना कि मैं तेरे प्यार के लायक हूँ या नहीं … टेस्ट यह है कि मैं आँखों पर पट्टी बांध लेता हूँ.फिर मैंने नेहा के सर को थाम कर लंड जड़ तक उसके मुँह में ठेलने की कशिश की.

बीएफ बीएफ फोटो - कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ

मगर मैं चाहता हूं कि तुम मुझे अगले सेक्स चैट सेशन में सरप्राइज करो.हर जवान लड़का या लड़की किसी न किसी तरह से अपनी जवानी में सेक्स का पहला अनुभव कर ही लेते हैं.

फिर मैं प्रीति को सनसेट पॉइन्ट पर लेकर गया जहां से ढलते हुए सूरज का मनोरम दृश्य देखकर प्रीति बहुत खुश हुई और मैं प्रीति को देखकर खुश होता रहा. कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ मैंने भाभी को कमर से पकड़कर अपना कड़क तना हुआ लौड़ा चूत पर रखा और अंदर डालने लगा.

अब मैं सिर्फ ब्रा पैंटी में बची थी और सुनील अपने कच्छे में।छत पे बड़ी बड़ी लाइट लगी हुई थी जो नीचे रोशनी फेंक रही थी.

कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ?

उनके साथ चाहे मैं पार्क में होऊं या मॉल में … या किसी पब्लिक प्लेस में … वो लोग मेरे साथ हरकत करने का एक भी मौका नहीं छोड़ते. अपने होंठ उसके गालों पर फिराते हुए मैंने धीरे से उसकी गर्दन और कानों पर भी होंठ फिरा दिए. ” मैंने उसे भरोसे में लेते हुए कहा।सड़क की पोल-लाइट से आ रही हल्की रोशनी में उसके एब्स चमक रहे थे.

चुदवाते हुए देसी हॉट भाभी बड़बड़ा रही थी- आह्ह … संजय … शादी को इतने साल हो गये हैं … मगर चुदाई का असली मजा आ पहली बार आया है … ओह्ह … मैं तो मर ही जाऊंगी … चोद दे … आह्ह … फाड़ दे … आह्ह … और जोर से चोद।मैं पूरी ताकत झोंक कर भाभी की चूत को फाड़ने लगा. अब आगे की जीजा साली सेक्सी स्टोरी:ठीक है जीजू, अच्छा लाओ मैं कोशिश करती हूं कुछ करने की, मैं आपको इस तरह दर्द से तड़पते हुए भी तो नहीं देख सकती. दोस्तो, भाभी ने मुझसे बात करना शुरू किया … हम दोनों का इतना मन लगा कि रात के 3 बजे तक बातचीत होती रही.

ऐसे संबंधों में ज्यादा चंचलता नहीं होनी चाहिए … धैर्य के साथ इस तरह के सम्बन्धों को जारी रखना चाहिए, वरना सावधानी हटी और दुर्घटना घटी की कहावत आपके सामने होगी. कोमल- राज तुम चुप क्यों हो … कुछ बोल नहीं रहे हो?मैं- क्या बोलूं?कोमल- वैसे राज तुम बहुत लक्की हो, जो तुम्हें जिया जैसी सुंदर हॉट लड़की के साथ सेक्स करने का मौका मिल रहा है. मैं मुस्कुराते हुए बोली- थोड़ी सब्र करो … इंतजार का फल मीठा होता है साले बहनचोद.

हमने अपने कपड़े पूरी तरह से ठीक ठाक किये और फिर वहां से बाहर निकल आये. चूंकि वीर्य निकलने का ये पहला अनुभव था तो मैंने अपने दोस्त के साथ इसको शेयर करने का सोचा.

हल्की हल्की सीईईई … करते हुए चूत में ले गयी और उस पे झुक के बैठ गयी।सुनील ने हल्की सी आहह … भरी।अब मैं खुद ही धीरे धीरे उसके लंड पे ऊपर नीचे सरक सरक के चुदवाने लगी।धीरे धीरे मैं अपनी स्पीड बढ़ाने लगी और उसकी छाती पे हाथ रख के चुदवाने लगी। मेरे मुंह से आहह … आहह … अहह … सी … स्सी … स्सीईईए … की आवाज निकल रही थी.

पर भोसड़ी वाले … अभी तो तू मुझे तो चोद माँ के लौड़े … साले चुत बड़ी चुनचुना रही है.

शीला ने दूकान पर फोन किया तो वो बोला कि आप सुबह 7 बजे दूकान के पीछे घर है, वहां आ जाना, वहीं से दूकान का अंदर का रास्ता है, सामान निकलवा लेना और फिर मैं भिजवा दूंगा. मैं बोली- कुछ नहीं होगा … अगर किसी ने देख लिया, तो तेरा एक जीजू और बढ़ जाएगा. मैंने- नमकीन मलाई खिलाओगी?वो बोली- हां मगर वो आपको चम्मच से नहीं बल्कि चाट कर खानी पड़ेगी.

मैंने उसकी गर्दन को चूसते हुए बाइट के निशान दे दिए और लगातार पूरी गर्दन पर दांतों के निशान बना कर लाल कर दी. उसके बाद उसके दोनों स्तन अपने हाथों से दबाने लगा और किस भी करने लगा. वो बोली- क्यों सेठ, बड़ी जल्दी है तुम्हें मेरे छेद देखने की?रमेश- जरा मैं भी तो देखूं तेरे छेद बड़े होकर कैसे हो गये हैं?तभी रवि मज़ाक़ में बोला- क्यों रमेश, तूने इसके छेदों को पहले कब देखा था?रमेश बात बदलते हुए बोला- मेरा मतलब है यह इतनी बड़ी रंडी है तो इसका छेद भी तो बड़ा ही होगा ना।रिया- देखते क्या हो सेठ, इस छेद में तो मैं तुम दोनों को पूरा घुसा लूंगी.

अब आगे की सेक्सी हिंदी में कहानिया:अगले रोज मैं यूनिवर्सिटी चला गया.

भाभीजी की चूत चुदाई कहानी में पढ़ें कि भाभी ने मुझे अपने घर में रोक कर सुला लिया और रात को मेरे पास आ गयी. पहली बार मैंने इतना एन्जॉय किया वरना मेरे पति तो चार झटके लगा कर मुँह ढक कर सो जाते थे. साथ ही सरोज के मुंह से तरह तरह की सी … सी … आह … आह … की आवाजें निकल रही थी.

नेहा ने बड़ी बेचैनी से लिंग को कुछ देर और चूसने के बाद मुझे हाथ खींचकर बाथटब के अन्दर बिठा लिया. क्या आपको ये प्रस्ताव मंजूर है?मैं- बहुत अच्छा प्रस्ताव है मधुलिका. उस दिन मेरे मॉम डैड शहर के बाहर एक शादी में गये थे और मुझे आंटी के घर रहने के लिए बोल दिया.

दोनों बहनों की चूतों का मांस उनकी सलेक्स और निक्कर में से बिल्कुल साफ दिखाई दे रहा था.

भाभी मेरे लोअर में हाथ मारने लगी और लंड पकड़ कर बोली- ये आज क्यों सुस्त है?मैंने कहा- कल की तैयारी में है. जो भी मुझ कम समय में ज्यादा गर्म करेगी, मैं उसी की ही चुदाई करूंगा.

कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ मैंने सरोज को बेड पर बैठा दिया और खड़े खड़े लंड को उसके होंठों पर लगा दिया. उसके बाद मैंने उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी गांड के छेद पर आसपास रगड़ा.

कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ नीरजा- आह राज … दर्द हो रहा है इतनी जोर से कर रहे हो!मैं- दर्द तो रात में भी हो रहा था, तब कुछ नहीं बोलीं. हम लौंडे यदि कोई चिढ़ाने को कह देते थे कि मेला ग्राउंड चलोगे … तो सामने वाला या तो गालियां देने लगता या चुप होकर मुस्कराने लगता.

वैसे वो मुझसे बहुत बात करती थीं लेकिन कभी भी ऐसी वैसी कोई बात नहीं की थी.

सेक्सी वीडियो देखने वाली हिंदी में

कुछ देर ऐसे ही लंड चूसने के बाद हम सभी अलग अलग हुए और नेहा बाथरूम में भाग गयी. मेघा- लो, अब मैं तुम्हें दिखाती हूं कि मैं अपने बदन की सफाई कैसे करती हूं. सामने ही हाथ जोड़े एक सुंदर युवती खड़ी थी। वो देखने से ही किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी.

रानी ने मुझे गुड्डी रानी की चूची से हटा दिया और अपना मुंह निप्पल से लगा कर चूसने लगी. फ्री देसी सेक्स गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी कामवाली की जवान बेटी को पटाने के चक्कर में उसे दाने पे दाना डाले जा रहा था. उसने उस दिन के विडियो और मैगजीन में छपी फोटुओं से दो दिन में ही बहुत सीख लिया था.

को … आईईईईईइ …”मैंने कसकर उसे अपनी बांहों में कस लिया और फिर अंतिम 3-4 धक्कों के साथ ही मेरा लावा फूटकर पिचकारियों की शक्ल में उसकी चूत को सींचता चला गया। नताशा को भी अंदाज़ा हो गया था तो उसने जोर से अपनी चूत को अन्दर सिकोड़ लिया और मेरा पूरा वीर्य अन्दर लेने की कोशिश करने लगी जैसे अंतिम बूँद तक चूस लेना चाहती हो।हम दोनों की ही साँसें बहुत तेज हो गई थी। कमरे में हालांकि ए.

इसके साथ ही उसके मुंह से जोर की सीत्कार निकली- आहहहा … आहआह आआआ … ओ … ओहह … आह्ह … करते हुए वो परम आनंद में चीख पड़ी. अब मैंने अपना कच्छा उतार दिया और उसके बंधे हुए पैरों से उसकी उंगलियों को चूसने लगा. अब आगे की हिंदी चूत की अन्तर्वासना कहानी:तीन चार दिन के बाद मैंने देखा कि बाड़े में एक बिल्कुल नया छोटी उम्र का ताजा ताजा जवान हुआ भैंसा ले आया गया.

शर्मिष्ठा बार बार प्रतिवाद करती कि नयी साड़ी पहिन कर कल मंदिर चलेंगे उसके बाद आप जो चाहे सो कर लेना; पर मैं कहां मानता था. गांड मरवाते मरवाते निष्ठा भी मजे लेने लगी थी और उसके मुंह से कामुक कराहें निकलने लगीं थीं. फिर उसने अपने हाथ से मेरे हाथ को पकड़ा और अपने लंड पर रख कर हिलाने लगा.

फिर मैंने उसे शांत करवाया और कुछ देर बाद हम तीनों होटल के कमरे में चले गए. वहां मालूम पड़ा कि साले साहब आते समय मेहसाणा से अनीता और उसके बच्चों को भी ले आए थे.

मैं उनकी कमर पर हाथ फिराने लगा, फिर बिना कुछ बोले उनके कान के नीचे किस कर दिया. थोड़ी देर में वो तैयार हो गई और जाते जाते बोली- इस दिन को मैं कभी नहीं भूल सकती. मुझे किसी स्पीच से क्या लेना देना था, मगर मैं तब भी थोड़ी थोड़ी देर में ताली बजा देता था, जिससे कुछ चूतिया टाइप के लोग भी ताली बजाने लगते थे.

मैं सरोज को लेकर दीवान पर बैठ गया और सरोज को अपनी गोदी में बैठा लिया.

बर्तन साफ़ करके वो मेरे पास सोफे पर आकर बैठ गईं और मुस्कुराते हुए कहने लगीं- कैसा लगता है वेट करना? वैसे संजय तुम में बहुत धैर्य है यार. फिर क्या था दोनों रानियां लग गयीं पीछे कि राजे कुछ खोपड़ी लगा और सोच कि होटल में रिस्की सेक्स कैसे किया जाए. सुमन का शरीर भारी था और हाइट में कम होने की वजह से वो बहुत मोटी लग रही थी.

पर भैया तो रोज रात को चुदाई करते थे आखिर उनकों चूत का लाइसेंस(शादी) जो मिल गया था. वो चुदाई के नशे में एकदम चूर थी। इसी पोज में करीब 7 से 8 मिनट तक चुदाई करने के बाद मैंने उसको अपनी गोद में बिठा लिया और फिर गोद में बिठा कर झटके लगाए.

वो बोली- ठीक है फिर, जाओ।उसको हग करके मैं अपने ऑफिस के लिए निकल गया. अब आगे:सर मेरी गांड में अपनी थूक से भरी जीभ डाल कर अन्दर बाहर करने लगे और अपने दोनों हाथों से मेरी गांड को नोंचने और मसलने लगे. अब तो अगले 15 दिनों तक जब तक शीला की सास का फोन नहीं आया कि कल उसका आदमी आएगा, दिन में दो तीन बार हर जगह, हर मुद्रा में चुदाई हुई.

बच्ची की सेक्सी

क्या होता है तो तुम क्या करोगी जानकर?” मैंने थोड़ा झुंझलाते हुए कहा.

पहले तो वह फिर कुछ दर्द से कराही लेकिन फिर चूत में आते हुए मज़े ने उसको सब दर्द भुला दिया. जैसे ही गीत साइड को हुई तो मैंने बेड से नीचे उतर कर हमारे पास खड़ी नेहा को बेड पर खींच लिया और उससे कहा- तू इधर आ साली … तेरी चूत को भी डिस्चार्ज करेंगे बहनचोद।संजय ने भी नेहा के बड़े मम्मों को पकड़ लिया और मैंने गीत जैसे ही नेहा की चूत को चुसना शुरू कर दिया. और फिर रात भर जम कर मेरी चूत चुदाई की और मेरे ऊपर ही सो गया।अब जब सुबह मेरी आँख खुली तो मेरे सिर में दर्द था.

भाभी मस्ती से लंड ले कर ‘हा हा हू हू …’ कर रही थीं उनकी टांगें हवा में उठ गई थीं और मेरे लंड की चोटें सीधे गहराई में जाकर लग रही थीं. वो भी ‘मेरी जान … आज तेरी चूत फाड़ दूंगा साली … आआह्ह मेरी जान … मुझे अपना बना ले मेरी जान!’ और पता नहीं क्या क्या बके जा रहा था. नेपाली बीएफ देसीहम दोनों चुदाई करना चाहते थे तो मैंने थियेटर में में चुदाई का प्लान किया.

कुछ देर ऐसे ही लंड चूसने के बाद हम सभी अलग अलग हुए और नेहा बाथरूम में भाग गयी. और आप यकीन मानिये हर बार मैं कहानी को संक्षिप्त करने का प्रयत्न करता हूँ.

दिया बोली- क्या बनाना है?मैं- मस्त दाल चावल और रोटी-सब्जी बनाते हैं. मगर जो लड़के किसी लड़की को सैट नहीं कर पाते हैं, उनके लिए रंडियों का इंतजाम किया जाता है. इस पर मैंने कहा- हम्म … तुम्हारे साथ अच्छा ही हुआ साली रंडी, लंड की भूखी कुतिया.

इस बार मैं गर्म कपड़े लेकर नहीं आया था, मुझे मालूम ही नहीं था कि इस बार इस तरह की यात्रा करने को मिलेगी. सलीम भाई का लंड गांड को ऐसे सलामी देने लगा था, जैसे कह रहा हो कि ठहरो बस अभी घुसता हूं. उनमें हर तरह की मॉडल्स थीं जैसे सेक्सी जवान लड़की, मेच्यौर आंटी, मैरिड लेडीज, औरतें, आंटियां और सेक्सी भाभियां.

मैं बोला- तुम्हारा पति इतनी शराब पीता है और तुम्हारे साथ लड़ाई करता है.

रमेश- हां होगी क्यों नहीं!रवि- हां पता है, तू तो यही बोलेगा कि नाम तेरी बेटी वाला ही है. आपको मेरी यह भाभी की चूत स्टोरी कैसी लगी, मुझे इसके बारे में अपने कमेंट्स में जरूर बतायें.

हर तरफ सजावट और खाने-पीने की तैयारियों के साथ ही सुरक्षा व्यवस्था मजबूत की जा रही थी. आप भैया से लगवा लेना।”भाभी बोली- अच्छा देवर जी, बहुत नक्शेबाज़ी दिखा रहे हो? हुक नहीं लगा सकते हो? आपके भैया पता नहीं कहां हैं. इधर ननद अपनी शॉर्ट्स उतार कर नंगी हो गयी और मेरे मुँह पर अपनी चूत लगा कर उसकी रगड़ाई करवाने लगी.

ठीक है जीजू, ले चलो मुझे अपने साथ, यहां तो मैं डर के मारे मर ही जाऊँगी. वो एकदम से सिसकारी- आह्ह … नहीं पंकज … इतनी अंदर नहीं … आह्ह … नहीं, बाहर खींचो इसे … आह्ह बाहर खींचो. मेरे और नैना के बीच पनपे रिश्ते की पूरी जानकारी के लिए आपको मेरी कहानी ‘पड़ोसन भाभी के साथ सेक्स या लव.

कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ फिर मैंने सोचा कि ये सही मौका है, इसे ही पटा लेती हूँ, अच्छा खासा लड़का है. खैर वो बाहर निकली अपने बालों को टॉवल से लपेटकर और धुले कपड़े लेकर पीछे गैलरी में वो कपड़े सुखाने गयी.

दिल्ली किंग सट्टा 786

आंटी मुझे अपनी बांहों में समेटे हुए मेरे बालों को सहलाने लगीं … और मेरे माथे पर चूमने लगीं. मैं बोली- कुछ नहीं होगा … अगर किसी ने देख लिया, तो तेरा एक जीजू और बढ़ जाएगा. और सभी डिनर पार्टी और स्टेज में दूल्हा दुल्हन से भेंट कार्यक्रम के लिए स्पेशल तैयारी में जुट गए.

नीचे मालिक रहते हैं और फर्स्ट फ्लोर पर गर्ल्स पीजी है और सेकंड फ्लोर पर बॉयज पीजी. फिर सर ऐसा करते हुए मेरे नीचे आने लगे और मेरे पूरे पेट को चूमते हुए मेरी नाभि को चाटने लगे. हिंदी बीएफ पंजाबी मेंउसने लंड को पूरा मुंह में भरा और अन्दर गले तक ले जाकर उसको महसूस किया.

और भाभी नंगी ही अपनी भारी गांड को मटकाती हुई बाथरूम चली गई और पेशाब करने के बाद चूत को साफ करके बाहर आ गई.

मैंने कहा- अभी तक आपकी छोटे लंड से चुदाई हुई है कुछ दिन में ठीक हो जाएगा. फिर रमेश मेरे मुंह में झड़ गया और कमल ने एक बार फिर मेरी गांड में लंड पेल दिया.

तो शाही सर बिजली की तेज़ी से दौड़ कर गए और उन्होंने आगे जा कर दरवाजा बंद कर दिया. तुम्हें चोदने के लिए तो … आहह … ये प्रतियोगिता क्या जिंदगी हार जाऊँ. जावेद मेरी ओर देखने लगा- उठो भाई … ज्यादा चिनमिना रही है क्या? लगता है भाई ने कसके रगड़ दी है.

राजे तू तो एक अनोखा ही आइटम है … तूने यह टेस्ट देकर मुझे भावुक कर दिया … मैं बहुत किस्मत वाली हूँ जो तू मिल गया … कोई झूठा वादा नहीं, कोई चूत के पीछे पागलपन नहीं … मैं सदके जाऊँ तुझ पर राजे.

सारे नीचे के बाल साफ करके तैयार हो गया।वो दिन आ ही गया जब उसके घर वाले चले गए और मैं उसकी चूत फाड़ने उसके घर पहुँच गया। वो भी पूरी तैयारी के साथ मेरा ही इंतजार कर रही थी। मैंने उसे गले से लगाया और फिर हम थोड़ी देर एक दूसरे को चूमते रहे।फिर जब मैं आगे बढ़ने लगा तो वो बोली- अब बाकी सब बाद में, पहले खाना खाते हैं. उस दिन मैं और आंचल दीदी भी उसी कमरे में थी, आंचल दीदी बाथरूम में नहा रही थीं और मैं बिस्तर पर लेटी हुई थी. मैं आपको बता दूं कि मैं घर में अकेली ही रहती हूं क्योंकि मेरे पति का काम ऐसा है कि वो कई बार महीनों तक बाहर ही रहते हैं.

बीएफ वीडियो एचडी में दिखाएंमैंने पूछा- कहिये मैडम? सफर में कोई परेशानी तो नहीं हुई?प्रीति- नहीं, अब तक तो कोई खास परेशानी नहीं हुई. वह मदमस्त होकर मेरे लंड का मज़ा ले रही थी। अब वो लंड को पूरा मुंह में लेकर मज़े से चूसने लगी थी। उसकी हर हरकत में एक कामुक प्रेयसी सा प्यार महसूस हो रहा था.

ऑस्ट्रेलिया सेक्स मूवी

नैना ने मुझे चिकोटी काटी और बोली- अच्छा जी … मैं बोरिंग खाना बनाती हूँ. मैंने दादी से पूछा- दादी ये क्या कर रहा है?दादी- बेटी ये इसे प्यार कर रहा है. उसकी गरम बातें सुनकर मैं जोश में आ गया और अपना लंड उसकी चूत पर रख कर एक ही झटके में उसकी चूत में घुसेड़ दिया.

आप कैसे रहना पसंद करेंगे सर?अब मैंने लाइन मारते हुए कहा- अगर हर बार तुम ही आओगी, तो प्राइवेसी जाए भाड़ में! लेकिन बैरा, वेटर या कोई और बार-बार परेशान करेगा तो अच्छा नहीं लगेगा।उसने हँसते हुए कहा- आप बहुत फनी हैं सर! सॉरी सर, यहाँ सबका काम बँटा हुआ है. कुछ दूर चलने के बाद सर ने एक साइड में गाड़ी रोकी और मुझे अपने ऊपर खींच कर बिठा लिया. ” सानिया ने कहा तो जरूर पर मुझे लगता है अब यह दर्द उसके लिए असहनीय नहीं रहा है।मैंने उसके गालों और होंठों पर फिर से चुम्बन लिया और फिर उसकी बंद आँखों पर भी चुम्बन लिया। मेरे ऐसा करने से उसके शरीर में झनझनाहट सी होने लगी थी।सानू जान मेरी प्रियतमा … अपनी आँखें खोलो.

उसने अपने मुँह से एक बार मेरे लंड को झाड़ कर अपनी चुत की शामत बुला ली थी. ईशिता ने मुझसे कहा- यार आशना … मुझे इसके साथ ही जाना होगा, वरना प्राब्लम हो जाएगी. वैसे प्रतिभा का शरीर ही बता रहा था कि वो एक्सरसाईज करके अपने आप को फिट रखती है.

वो मेरे साथ मेरी सौतेली बेटी का रोल प्ले करने के लिए एक परफेक्ट मॉडल थी. कोमल- वैसे तो तुम दोनों अब एक दूसरे को जान गए हो … लेकिन फिर भी मैं तुम दोनों का परिचय करवा देती हूँ.

कमल से रुका नहीं जा रहा था और उसने मेरे पास आकर मेरी जांघ को सहलाना शुरू कर दिया.

पहले तो उसने ना में गर्दन हिलायी लेकिन मैंने उसके होंठों पर प्यार से किस करके कहा- प्लीज जान … एक बार कर दे ना!दोस्तो, हसीनाओं को छेड़ने के नियम में मैंने ये पढ़ा था कि लड़कियों को कैसे अपनी बात के लिए मनाया जाता है. मेरी बीएफअशी एक कॉलेज गर्ल है वह छोटी सी कद काठी की है। उसके बदन का साईज 28-26-28 था. सेक्सी व्हिडिओ बीएफ देसीमैं फड़फड़ा गया … लंड चूसने की ऐसी कला बहुत कम लड़कियों में ही देखने को मिलती है. उसकी उम्र बयालीस साल की थी मगर वो पैंतीस साल से ज्यादा की नहीं लगती थी.

आ रहा है ना मजा जीजा साली का सेक्स कहानी में! कमेंट्स में मुझे बताएं.

दोस्तो, मैं इंडियन गर्ल सिमरन एक बार फिर वापस आ गयी हूं अपनी एक और रोमांचक घटना के साथ। ये घटना एक बहुत ही हैंडसम लड़के के साथ हुई थी जिसने मेरे सामने एक स्लेव (गुलाम) का रोल प्ले किया था. फिर मैंने उसे समझाया कि जब उसका पति उसे चोदने लगे तो उसे क्या करना है. कैप्री में कसे हुये उसके गोल चूतड़, बलखाती कमर, चिकनी जांघें, मोटी पिंडलियाँ।और ऊपर से गोरा रंग, 5 फीट 5 इंच का कद।चेहरा तो सुंदर था ही!मेरे दिमाग में ये भी ख्याल आया कि यार मैंने आज तक इतनी औरतों और लड़कियों के बारे सोच कर हिलाया है.

कोई पांच मिनट तक मेरे लंड की गोटियों को सहलाते हुए लंड चुसाई से पम्मी ने मुझे स्खलन के लिए मजबूर कर दिया. फिर मैंने भाभी जी को खड़ा किया और दीवार के सहारे खड़ा करके मैंने उनकी एक टांग उठा कर अपने कंधों पर रख ली और भाभी जी की चुत में अपना लंड पेल दिया. तो मैंने पूछा- तुमने अपनी बुर के बाल साफ किये या नहीं?तो उसने ना कहते हुए मुंह नीचे कर लिया.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो वीडियो

रमेश ने रिया को गले लगाते हुए कहा- आ गयी मेरी बिजनेसवूमेन बेटी! बता कल रात का तेरा इवेंट कैसा रहा? आगे से चला या पीछे से?रिया- बहुत ही तगड़ा इवेंट था डैड. अभी मैं सम्भलती कि उसने एक जोरदार झटका दे मारा और एक ही झटके में मेरे भाई के लंड ने मेरी बच्चेदानी की पप्पी ले ली. मैं एक बार और अपने लंड को जोर से रगड़ना चाह रहा था लेकिन उसमें अब जरा सा भी तनाव नहीं बचा था.

मुझे उस वक्त तक ज्यादा नहीं पता था की सेक्स में मजा किन किन चीजों से आता है लेकिन जब भाभी मेरे ऊपर चढ़ती थी और उनका नंगा बदन मेरे बदन से मिलता था.

तो दोस्तो, मैंने अपनी इस सेक्स कहानी में मेरी पहली गांड मराई के अनुभव के साथ अपनी स्टेमिना को लेकर भी लिखा है.

मैं समझ तो गयी थी कि उसके मन में क्या चल रहा है … पर मैं कुछ नहीं बोली. रिंकी की मस्त गांड को देखकर मैंने हल्के हल्के अपने लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया. देसी मराठी बीएफहम दोनों अब करवट ले कर लेट हुए थे और एक दूसरे को बांहों में जकड़े हुए थे.

निष्ठा मेरी जान, तुम्हारी चूत का रस तुम्हें ही चखा रहा हूं, लो अच्छे से चख लो!” मैंने कहा और उस होंठ अच्छे से चूसने चाटने लगा फिर गाल भी चाट चाट कर चूम डाले. तो मैंने अनीता को बांहों में जोरों से जकड़ लिया और कहा- साली कुतिया, तुझमें बहुत आग है, चल मुझे अपनी अगन से पिघला दे. बड़ों की प्रस्तुतियों के बाद आंचल ने अपनी प्रस्तुति दी, उसकी मनमोहक अदा और सादगी भरे खूबसूरत चेहरे पर नजर ऐसे अटकी, मानो समय स्थिर हो गया हो.

उसने पीछे हाथ बढ़ाकर ब्रा का हुक बंद करना चाहा तो मैंने कहा- एक मिनट रुको, स्वरा. इस बार मैंने बालकनी में फिर से देखा, तो बहुत सारे लोगों के बीच खुशी और आंचल को खड़ा पाया.

और तुम किसी और वजह की बात कह रही थी?तो खुशी ने कहा- संदीप, मैं तुम्हें अपने करीब पाना चाहती हूँ.

मुझे एक सभ्य अधेड़ व्यक्ति अपने साथ ले जा रहा था, वो होटल का कर्मचारी नहीं लग रहा था. उसने वापस से पूछा- तुम ये क्या कर रहे थे … बताओ नहीं, तो मैं यहां पर सब को बता दूंगी. तो भाभी जी ने हंस कर पूछा- नम्बर किस लिए चाहिए?मैंने कहा- आपसे बात करनी है.

सेक्सी में बीएफ हिंदी मेरा लंड तो पैंट के अन्दर बहुत टाइट हो गया था और इस बात को प्रीति ने भी नोटिस कर लिया था. तो मेरे प्रिय पाठको, आपको भाभीजी की चूत चुदाई कहानी कैसी लगी? मुझे कमेंट्स में बताएं.

हमारी बातचीत के दौरान ही मेरा सामान भी ऊपर आ गया।फिर नेहा ने मुझे एक अलमारी खोल कर दिखाई और कहा- सर, यहाँ नाइट गाऊन और टावेल वगैरह रखे हैं. दोस्तो, कैसी लगी मेरी मामी की गांड की यह सेक्स कहानी आप मुझे ज़रूर बताइएगा. वैसे ही वो चिपक कर बोली- जाने क्यों मन नहीं भरा … अभी नहीं जाना है.

सेक्सी फिल्में सेक्सी फिल्में सेक्सी

वैभव ने उसे बड़े गौर से देखा फिर अपनी उंगलियों को उसके होंठों पर फिराते हुए कहा- माल देखने में तो अच्छा है, पता नहीं परफार्मेंस कैसा देगी?सुरेश ने तुरंत कहा- सर एक बार मैंने भी इसकी टेस्ट ड्राइव की है. भाभी कहने लगी- राज, बताओ कमरा पसन्द आया?मैंने कहा- भाभी कमरा तो एकदम आलीशान है लेकिन इसका किराया कितना है?भाभी बोली- जो तुम देना चाहो दे देना. मैंने उसकी गांड के छेद को मसाज किया और धीरे से उसमें उंगली करने लगी.

तभी नैना बोली- खाना मैंने बनाना है … मैं रमित से खुद ही अपनी मेहनत वसूल लूंगी. अब आगे की सेक्सी हिंदी में कहानिया:अगले रोज मैं यूनिवर्सिटी चला गया.

वो दोनों मेरी ओर देखकर कमरे में चली गईं और मैं पांच मिनट होने का इंतजार करने लगा.

उसने भी अब धीरे धीरे अपनी गांड हिलाना शुरू कर दिया … ताकि लंड अन्दर बाहर होने लगे. भाभी बोली- राज, तुमने कभी पहले भी किया है किसी के साथ?मैंने सफेद झूठ बोलते हुए कहा- नहीं भाभी, मैंने तो किसी जवान लेडी की चूत ही पहली बार देखी है. करीब 6 महीने पहले मैंने अपनी पहली सेक्स कहानीनयी नवेली कुंवारी दुल्हन भाभी को चोदाअन्तर्वासना पर लिखी थी जिसमें मैंने अपने दोस्त मुकेश जो कि बालाघाट में एमआर (दवा प्रतिनिधि) है.

जब तू उसके साथ सब कुछ कर चुका है … तो एक बार बिना गर्भ निरोधक गोलियां दिए निशा से सेक्स कर ले. लेकिन जो भी हो फ़ायदा तो मेरा ही था। मेरी सुहागरात मनाने की प्रेक्टिस जो होने वाली थी। तो लीजिये अब हमारी चुदाई की दस्तान जरा विस्तार से सुनिए-फिर क्या था, मैंने उसे गले लगा लिया और बेड पर लिटा दिया। फिर अपने होंठों को उसके सुलगते हुए होंठों पर रख दिया तो वो मुझसे लिपट गई। फिर तो जैसे तूफ़ान आ गया, पता ही नहीं चला कि हमारे कपड़े कब हमारे जिस्मों से अलग हो गये. नेहा ने टॉवेल संभाले रखा और मुस्कुराती हुई मेरी मस्ती का आनन्द लेती रही.

बढ़ती उम्र के साथ मेरे शरीर का वज़न भी बढ़ गया है और अब मैं मोटे लोगों की श्रेणी में आता हूं.

कुंवारी लड़कियों की चुदाई बीएफ: मैं- आंटी … क्या मैं आपकी ड्रेस को उठाकर आपकी गांड में लंड लगा लूं? चमड़ी से चमड़ी मिलेगी तो गर्मी अपने आप आ जायेगी. कहानी अगले भाग में जारी है। आप कहानी पर कमेंट करके बतायें कि कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे मैसेज करने के लिए नीचे दी गई मेल आईडी का प्रयोग कर सकते हैं।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:रिश्तेदार की लड़की को प्यार में फंसा कर चोदा-2.

वे वीडियो कालिंग नहीं करती थीं क्यूंकि उनकी सूरत किसी को दिख सकती थी. मैं हवस भरी आवाज में कहा- आह्ह… मस्त है।वो बोली- क्या?मैंने कहा- खाना!वो बोली- हाथ किसके हैं?मैं- हां जी, हाथ तो आपके ही हैं. इसी तरह बिन्दू ने भी टॉप और नीचे बहुत ही टाइट बिल्कुल छोटी सी नाइलोन की निक्कर पहन रखी थी.

मैंने पूरा लंड रस उसकी चुत में ही खाली कर दिया और हांफते हुए उसी पर लेट गया.

अब आगे:तीन चार दिन बाद की बात है, मैं शाम को तालाब के किनारे सड़क पर से गुजर रहा था. वो बोली- आह्ह आदि … अब डाल दे यार … मेरी चूत को चोद दे … जब से तेरे लंड को लोअर में लटकता देखा था मेरी चूत इसके लिए प्यासी हो गयी थी. राजेश ने उससे कह दिया था कि लॉकडाउन खुलने के बाद वो उसे कॉपर टी लगवा देगा ताकि चुदाई में कोई रिस्क न हो.