हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,बच्चा पैदा करने वाली सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

मारवाड़ी सेक्स भाभी: हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म, वो अपने मुँह को पौंछ रहे थे और नीचे गीले जांघिये में से उनका मोटा लंड बड़ा ही मोहक लग रहा था.

पीरियड पेन किलर टेबलेट नाम

मैं साहिल के घर फ़ोन करके बोल देती हूं कि साहिल को वो कुछ दिन के लिए भेज दें. घोड़ा फिल्म सेक्सीआधे घंटे तक चूमाचाटी के बाद फिर से गर्मी हो गई तो दुबारा से चुदाई शुरू हो गई.

अब लग रहा था कि मैं कुतिया हूं और मामा एक ठरकी कुत्ते का रूप ले चुके हैं जो अपनी कुतिया को बुरी तरह चोद देना चाहते हैं. सेक्सी वीडियो फुल एचडी नईमैं उन पर झपट पड़ा और उनके मम्मों को बारी बारी से मसलते हुए उनसे खेलने लगा.

उसने मॉडलिंग का कोर्स किया हुआ था जिससे उसकी बॉडी एकदम स्लिम और पूरी शेप में थी.हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म: उसकी चुदास इतनी ज्यादा बढ़ गयी थी कि वो जोर जोर से आवाजें करने लगी.

अब सीट के नीचे हम दोनों की टाँगें पूरी तरह से चिपकी हुई थीं और सीट के हैंडल पर हाथ का हाथ पर घर्षण हो रहा था.मुझे भी उनकी चूची को दबाने में मजा आ गया तो मैंने भी अपने हाथ से उनकी चूची को पकड़े ही रखा.

मटकी डिजाइन - हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म

उसका लंड मेरे मुंह में था और उधर से उसके लंड से भी वीर्य की धार मेरे मुंह में आ गिरी.अगले दिन सुबह जब मैं उठा तो मां मेरे लिये खाना बनाकर स्कूल में जा चुकी थी.

मैं उनकी दूसरी बीवी हूँ वो ज्यादा उम्र के हैं और मैं उनसे बीस साल छोटी हूँ. हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म मेरा आधा लंड उसकी चूत को चीरते हुए अंदर चला गया।लंड घुसते ही वो एकदम से चिल्लाई- अह्ह्ह्ह … अह्ह्ह … रुको … ओओ … आईई … आह्ह।मैंने बोला- क्या हुआ?रानी- दर्द हो रहा है.

मैंने उसको बताया कि मेरे एक प्रोपर्टी डीलर फ्रेंड के फ्लैट्स मोहाली में खाली पड़े हैं.

हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म?

बस वहीं से मुझे ये सोनम नाम पसंद आ गया था और मैंने अपना नाम भी सोनम रख लिया था. इस चैट में भाभी मुझे अपनी नग्न फोटो और चुत चुची की फोटो भेजती रहती थीं. हिंदी सेक्सी चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मामा के घर में मैं भाई भाभी के समीप सो रहा था.

ये सब देख कर मैंने अपने मोबाइल को साइलेंट मोड पर किया और मोबाइल के कैमरे से अम्मी की चुदाई की वीडियो बनाने लगा. बस कमी रह गयी थी तो ये कि वीर्य से भरे हुए गांठ लगे कॉन्डम फर्श पर नहीं पड़े थे. मेरी बहन रोने लगी और चिल्लाने लगी- उई मां मर गई रे … आह मुझे बहुत दर्द हो रहा है … निकाल ले साले.

उसने मेरा एक हाथ अपने कंधे पर रखा और मुझसे अपने सहारे से चलने को कहा. नूपुर भी समझ गयी थी कि मेरी नजरें कहां हैं और वो किस अंग को पाने के लिए प्यासी हैं. मैं अपनी जीभ को नुकीला करके उनकी चुत के अन्दरर डाल कर उनकी चुत चोद रहा था और आंटी सिर्फ एक ही बात कह रही थीं कि आह मजा आ गया आह और तेज चोदो मेरे राजा … आज जी भर के चोद दो मुझे.

मैं विश्वास के साथ तो नहीं कह सकता था लेकिन उसको शायद मैं पसंद आ गया था. जय ने मुझसे कुछ देर बात की और एक पता देकर बोला- कल शाम को इस पते पर मुझसे मिलने आ जाना … और सुनो तुम जींस टॉप पहन कर ही आना.

मेरे भाई बहन भी अपने स्कूल गए थे और अब्बू तो घर में रहते ही नहीं थे.

उसकी कमर को पकड़ कर मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और एक तेज झटका दे दिया.

वो बोली- उधर मिलने से क्या होगा?उसकी इस बात से मैंने रेस्टोरेंट में न जाकर होटल के रूम में मिलने का प्लान बनाया. वो बोलीं- हां बोलो?मैंने बोल दिया कि बुआ मैं आपको पसंद करता हूं और आपके साथ वो सब करना चाहता हूँ. हम दोनों के बीच बहुत मस्ती मजाक होता रहता था। वो मुझसे हमेशा ही खुश रहती थी.

वो जोर से सिसकार रही थी- ओह्हह … आह्ह … आउच … ह्म्म्म … आह … काटो … जोर से काटो … आह … ऐसे ही!उसकी चूचियों पर मेरे दांतों के निशान पड़ गये थे. इसलिए हमने बहुत जल्दी एक दूसरे के कपड़े उतार दिये।कपड़े उतारने के साथ ही हम बेड पर आ गए और मैंने उसके बूब्स को मुंह में भर लिया और उसके बूब्स को हल्के हल्के बाइट्स से काटने लगा. मैंने सोचा पहले बुआ को बता दूँ, पर मैंने नहीं बताया कि कहीं वो ‘रस अन्दर नहीं लूंगी.

आज ये साहिल से चुदवाएँगी ज़रूर!कैसे? अब वो ही देखना था।पूनम मैडम उठी और अपने पल्लू पर लगी पिन को निकाल कर रख दिया जिससे उनका पल्लू आसानी से गिर सके.

पापा ने पढ़ाई के लिए मुझे भी गांव से शहर दीदी के पास भेज दिया।शहर आने के बाद मैंने कॉलेज में एडमिशन लिया और तैयारी के लिए कोचिंग में दाखिला ले लिया. मैं बोला- तो फिर आपने क्या कहा?दीदी- मैं अब उनको मना कर दूंगी कि मुझे शादी नहीं करनी. वहाँ अर्पित और हर्षदीप अपने घर जाने को तैयार थे। दोनों ने कहा- तो अब हम चलें आंटी जी?आंटी- ठीक है जाओ।हर्षदीप- अब हम दोबारा कब मिलेंगे?आंटी- तुम्हारा नंबर दे दो.

ये देख कर बलविंदर ने बोला- प्लीज़ मेरी खातिर एक बार और ट्राई करो … थोड़ा सा और अन्दर तक लो और थोड़ा देर तक रखो. फिर हम दोनों ने कपड़े पहने और साथ में लायी गर्भ रोकने की दवा उसे खाने के लिए दी और साथ में पेनकिलर भी।हमने एक दूसरे को किस किया. बलविंदर ने गीले हो चुके चूचों पर एक बार अंतिम बार जोर से चूसा और अलीमा से पूछा- किसके अन्दर कीड़ा रेंग रहा है बेबी!अलीमा एक बार को तो साफ बोलने में हिचक गई मगर फिर भी वो बोली- नीचे बहुत कुछ हो रहा है … खुजली हो रही है.

यही वो पल था … जब मुझे मालूम था कि यदि मेरी जीभ इसके मुँह के अन्दर होती तो शायद ये जीभ काट सकती थी.

फिर मैंने उसके चेहरे को ऊपर उठाकर अपने होंठों को उसके होंठों से चिपका दिया और किस करने लगा. मैं उनकी छोटी सी पैंटी को देखने लगा।दीदी की पैंटी इतनी छोटी थी कि उनके चूतड़ भी नहीं ढक पा रहे थे.

हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म वरना सर्दी हो जाएगी तुमको!इतना बोल कर वो साहिल के शर्ट के बटन को खोलने लगीसाहिल ने उनके हाथों को पकड़ लिया और बोला- नहीं मैम, कोई दिक्कत नहीं है. आपको कुंवारी स्कूल गर्ल सेक्स कहानी कैसी मुझे अपने मैसेज में जरूर बताना.

हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म महिला वर्ग के लिए लिखना चाहता हूँ कि मेरे लंड की लम्बाई औसत ही है … मैंने अपनी इस पहली चुदाई के पहले लंड को मापा ही नहीं था. भाभी ने पूछा- तुम मुझसे झूठ क्यों बोल रहे थे कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

अब वो हमारी क्लास में पूरा नंगा खड़ा था जिसका लन्ड मेरी ही मैडम चूस रही थी।अब वो नीचे आया तो पूनम ने उसे अपनी कुर्सी पर बैठा दिया और खुद नीचे बैठ कर साहिल का लौड़ा चूसने लगी.

भीगी सेक्सी वीडियो

फिर उसने रानी को घुटनों पर बैठाया और अपनी पैंट उतारकर अपना 8 इंची लंड मेरी बहन के मुंह में डाल दिया. इस पर अलीमा बोली- अच्छा जी, प्यार करते हैं कि मुझे चोदना चाहते थे?बलविंदर ने कहा- वो तो तुम्हारी खूबसूरती देखकर कौन नहीं मचल जाएगा. मैडम की सिसकारी निकल गई और वो मुझे इस तरह से चूची काटने के लिए मना करने लगीं.

उन्होंने अपना पेटीकोट उतारा और अपनी गीली चड्डी पहने हुए ही साड़ी लपेट ली फिर अपने नीचे से चड्डी को उतार कर निकाल दिया. कोई पांच मिनट बाद सलमान एकदम भभक गया और उसने मेरी अम्मी को एक रबर की गुड़िया की तरह खींचा और उनको नीचे लिटा कर उनके ऊपर चढ़ गया. मैंने अपने लंड को जोर जोर से तेजी के साथ हेमा चाची की चूत के अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया था.

मेरी मामी जी, मेरे मामा जी का बड़ा लड़का और भाभी जी सूरत में रहते हैं.

वो एक हट्टा-कट्टा जवान लौंडा था, उसकी उभरी हुई छाती, कसा हुआ शरीर और 16 इंच के डोले थे. भाभी ने भी मेरी कमर पर हाथ रख कर धक्का दिया और हम जोर जोर से एक दूसरे को चोदने लगे।कुछ देर के धक्कों के बाद वो फिर झड़ गई और मेरे कंधे पर सिर रख कर लंबी सांसें लेने लगी. उसके बाद मैं कुछ देर भाभी से लिपटा रहा और फिर अपने रूम में वापस आ गया.

वो भी धीरे धीरे आगे बढ़ रहे थे और उनकी गर्मजोशी में मुझे मजा आने लगा. मगर मुझे पति के दोस्तों से चूत और गांड चुदाई करवाने में बहुत मजा आया. हेमा चाची के बदन से वीर्य की चिपचिपाहट और चिकनाई को दूर करने के लिए मैंने हेमा चाची के पूरे बदन पर 3 बार शैम्पू रगड़ा.

उसने वो हाथ उसके सर से हटाकर बलविंदर के हाथों पर रख दिया और मम्मों को दबवाने के कहते हुए मस्ती भरी आवाज निकालने लगी- आह अंकल … और जोर से दबाओ … आह मेरे मम्मे मसल दो … आह. भाभी की मादक कराहें निकलने लगीं- आह उंह … जल्दी से मेरी आग ठंडी कर दो सुरेश मैं बहुत प्यासी हूँ.

और न जाने कितनी लड़कियों ने साहिल से अपनी चूत का उदघाटन करवाया।ये सब तो ठीक था लेकिन एक दिन मुझे अपने घर जाना था कुछ ज़रूरी काम से तो मैं घर से निकल गयी. मुझसे चिपक कर वो भी मेरे साथ ही झड़ गई।फिर मैंने अपना लोड़ा निकाल के उसके मुँह में दिया और उसने सारा लंड चाट चाट के साफ कर दिया।उसके बाद इन 2 दिनों में मैंने उसे कई बार हर एक पोजिशन में जवान लड़की की चुदाई की. नहाने के बाद हम दोनों ने एक ही तौलिया से अपना अपना बदन पौंछा और बिना कपड़े पहने नंगे ही हेमा चाची के कमरे में आ गए.

आपको मेरी यह वास्तविक आंटी की Xxx चुदाई कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करके बताएं.

वो तो पहले से ही काफी तंगहाल था और ऐसे में उसकी माली हालत उसको और भी बुरी स्थिति में ले आई थी. फिर अंदर लंड को गीला करके बोली- राज अब तड़पाओ न चोदो मुझे!मैंने मामी को लिटा दिया और चूत में लन्ड घुसा कर झटके मारने लगा. मैंने धीरे से उसकी ब्रा का हुक खोलकर उसकी मस्त चूचियों को आजाद किया और अपने आप को भी कपड़ों से मुक्त करने के साथ ही मैंने उसकी तंग सलवार भी उसके शरीर से आजाद कर दी.

मॉम और डैड को किसी जरूरी काम से गांव जाना पड़ गया। मैं और मेरी बहन नहीं जा पाए क्योंकि अगले महीने बोर्ड एग्जाम होने वाले थे।मेरी बहन की एक सहेली थी जिसका नाम रानी था. मैं लंड से तेज तेज झटके मारने लगा।अब तक मामी की चूत लाल हो गई थी क्योंकि मेरा लौड़ा बिना रुके अंदर बाहर अंदर बाहर हो रहा था।मामी जैसे स्वर्ग का मज़ा ले रही थी उसकी चूत के पास मेरे लौड़े का कोई जवाब नहीं था।अब उसकी आवाज तेज हो गई और शरीर अकड़ने लगा.

हेल्लो जी, क्या हाल हैं आपके?” मैंने अपनी आवाज में मिठास घोलते हुए पूछा. अगली सेक्स कहानी फिर किसी दिन लिखूंगा, जिसमें गे सेक्स का भरपूर मजा होगा. मैंने कहा- ठीक है चाची जैसा आप चाहो, लेकिन थोड़ा जल्दी करना … कोई आ न जाए.

गांव रानी सेक्सी

कुछ मिनट बाद वो मेरे ऊपर आ गयी और फिर से मेरे लंड को अन्दर बाहर करने लगी.

थोड़ी देर बाद मुझे अहसास हुआ कि कोई मेरे पीछे खड़ा है और मेरी गांड को सहला रहा है. उस रात गर्मी बहुत ज्यादा हो रही थी तो मेरे पापा बोले- आज गर्मी बहुत है, हम सब हॉल में ही सोएंगे. जब उन्होंने मुझे ये बताया तो उस वक्त मैंने झूठा नाटक करके ये दिखाया कि मुझे बहुत बुरा लगा कि वो अकेले ही जा रहे हैं.

उनके साथ बात करते समय मेरा हाथ अक्सर उनके लंड को छूने को लालायित रहता था. और मैं तैयार हो गया।चाची ने एक बैग लिया और बाइक लेकर हम दोनों आ गए दोपहर के 3 बजे हम चाची के घर पहुंच गए।नानी का इलाज करवाने में शाम हो गई।चाची ने मम्मी को फोन किया दीदी राज आज रात यहीं रूक जाएगा।मम्मी ने कहा- ठीक है. हिंदी में न्यू सेक्सउसकी चूत मेरे मुंह पर आकर मेरी सांस रोक लेती थी और वो मेरे सिर को जैसे अपनी जांघों में दबाकर अपनी चूत में घुसाने की कोशिश कर रही थी.

मैंने उन्हें अपना नाम बताया और कहा कि अगर आपको मेरी किसी मदद की जरूरत हो तो बताइएगा. पास में तीन ईंट रखी थी जिसको मैंने बड़े धीरे से एक के ऊपर एक रखा और मैं उसपे चढ़ गई.

उन्होंने अपने दोनों हाथों से मेरे चेहरे को पकड़कर अपने होंठ मेरे होंठों पर लगा लिया. मैंने पूछा- इस तरह से रस्सी से बंध कर तुम कभी चुदी थी?वो बोली- मैं ग्रुप में एक साथ 3-4 लंड से चुदी हूं. उसकी आंखों से आंसू बहने लगे थे मगर मैं पूरी बेरहमी से उसके मुँह को चुत समझ कर चोदे जा रहा था.

थोड़ी देर में मैंने उसका टॉप उतार दिया और उसकी पिंक ब्रा में कसे हुए उसके मम्मों को देखने लगा. [emailprotected]देसी नंगी भाभी की कहानी का अगला भाग:ममेरी भाभी की शानदार गांड मारी- 2. आह अल्लाह मैं तेरा शुक्रिया अदा करती हूँ आह सनम चोद दो मुझे … आह मुझे रोज तुमसे ही चुदवाना है.

फिर जैसे ही हेमा चाची को चाचा के बाहर आने की आहट महसूस हुई, तो वो जल्दी से अन्दर चली गईं.

मेरा मन तो कर रहा था कि अभी किस कर लूं, पर क्या पता … वो बुरा मान जाती. शबाना बोली- अन्नू, मेरी जान तुम आज मुझे इतना चोदो कि मेरी जन्मों की प्यास बुझ जाए.

मुझे शुरू में एक दो मिनट तक बहुत ज्यादा अजीब लगा लेकिन फिर उसका टेस्ट अच्छा लगने लगा. मैं एक भरे पूरे बदन की मालकिन हूँ … जो भी मुझे देखता है, बस देखते ही रह जाता हैं. दीदी उसको अंदर लेकर जाने लगी और पीछे से उसकी गांड उसकी पजामी में मटकती हुई दिखाई दे रही थी.

फिर रात को फोन सेक्स की बारी आती थी, तो मैं नेहा से बात करने लगता था. वो जोर जोर से सिसकारी निकाल रही थीं- आह आह आह मेरे राजा … अपनी बुआ के दूध पी ले … आह निचोड़ दो इन्हें. आंटी ने कहा- आप बहुत अच्छे हो, मुझे आपसे चुदाई करवाके बहुत अच्छा लगा.

हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म क्या मैं आपके वाट्सऐप पे भेज दूँ?वो बोला- ठीक है, भेजो!और उसने अपना नम्बर बताया. हाय … क्या कातिल मुस्कान थी … कसम से हेमा चाची के कामुक चेहरे को चाटने और उनके रसीले होंठों को चूसने का मन कर रहा था.

செஸ் விதேஒஸ் ஹட

मैंने कहा- तेल लगा कर पहले ढीली कर लूंगा … बाद में तेरी गांड में लंड पेलूंगा. मैं उसके होंठों को चूसते हुए अब नीचे हाथ लाकर उसके चूचों को दबाने लगा. वो पागलों की तरह सिसकारने लगी थी- आह्ह … आह्ह … और जोर से … आह्ह पी लो … ऊह्ह मम्मी … आह्ह … चूस जाओ.

तुम दोनों देख लो फिल्म।वो चली गई तो मुझे बहुत अच्छा लगा कि अब भाभी के साथ कुछ हो सकता है।हम फिर से अंदर आ गए. वो मना करने का नाटक करने लगी और थोड़ी देर बाद मेरा साथ देने लगी।चाची बोली- राज तू तो खिलाड़ी लगता है। अब तेरा चाचा तो लंड का मज़ा नहीं दे पाता! शराब ने उनकी मर्दानगी को खत्म कर दिया है. साउथ हीरोइन के सेक्स वीडियोआज तक जिस मजे के लिए मेरी जवानी तड़प रही थी, वो मजा मुझे मिल रहा था और मैं आंख बंद करके उस मजे का पूरा मजा ले रही थी.

कोई गलती हो तो मुझे माफ़ करना।यह देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी मेरे लिये बहुत खास है.

जैसा कि मैंने बताया कि रमेश का अपनी कंपनी के काम से बाहर आना जाना बहुत ज्यादा लगा रहता था. कुछ देर में ही उसने मेरा पल्लू हटा कर एक ही झटके में मेरी पूरी साड़ी खोल कर अलग कर दी.

कुछ देर ऐसा करने के बाद मैं नन्दा के ऊपर से अलग हुआ और मैंने अपना पेंट बनियान निकाल दिया. उसके मुंह से सीत्कारें निकल रही थीं- आह्ह … ओह्ह … जोर से … स्स् … थोड़ा कस कर … आह्ह … हां … ऐसे ही … ओह्ह … पी जाओ. मैंने अगले दिन ऑफ़िस में अपने दोस्त अमित से साथ रहने की बात को रखा.

मैंने जानबूझकर अपना लंड हेमा चाची की गांड से थोड़ा टच कर दिया और तभी न चाहते हुए भी मेरे मुँह से ‘आह्ह.

मैंने शबाना के कान में कहा- बाजू के कमरे में अम्मी हैं न!शबाना को भी जैसे कुछ याद आया; वो बोली- वे रोज नींद की दवाई लेती हैं, मैंने उन्हें दूध से नींद की गोली दे दी थी मगर तब भी हम दोनों को ऊपर मेरे कमरे में चलना चाहिए. बर्थडे के एक दिन पहले ही मैं दोपहर को उनके घर पहुंच गया।दी के घर पर ताला लगा हुआ था. मुझे तो मज़ा आ गया।मैंने दीदी का सिर पकड़ा और लंड अंदर गले तक धकेल दिया.

पुराने कपड़े दान करेंमैं सास को बोल दूंगी कि पापा का ध्यान वो रखे। फिर हम दोनों को कोई दिक्कत नहीं होगी. तुम समझ जाना और फिर से सीढ़ियों की तरफ चले जाना।ये बोलकर अब अनमोल भी रूम में अंदर चला गया और अंदर जाकर बोला- मामला सेट हो गया, अब शुरू करते हैं।मैं भी रूम के बाहर पहुंच कर अंदर झाँकने लगा तो देखा कि मेरी बहन को रोहन और मोनू नंगी कर रहे थे.

बिहारी फुल सेक्सी वीडियो

एक ने बोला- इतना मजा तो कभी नहीं आया … जितना आज तुमने हम चारों को दिया है. इसलिए अब कुछ ऐसा दृश्य हो गया था कि लंड अलीमा के मुँह के सामने था और बलविंदर को लग रहा था कि अलीमा लंड को मुँह में ले लेगी. कुछ समय में ही मुझे भी मजा आने लगा और मैंने विजय को जोर से थाम लिया.

मेरा लंड और आसानी से गपागप गपागप अंदर बाहर होने लगा।चाची बोली- राज, आज तक मैंने इतनी चुदाई करवाई लेकिन तेरे लंड जैसा मज़ा कभी नहीं मिला!अब तो मेरे लंड को जैसे पंख लग गए गपागप गपागप गपागप अंदर बाहर करने लगा. वो भी मस्त होकर लंड लेने लगी।अब दोनों जबरदस्त तरीके से चुदाई करने लगे. अलीमा अंकल के होंठों का रसपान बहुत ही मजे से कर रही थी और वह भी इस आनन्द पूर्ण पलों में पूर्णरूपेण खो गई थी.

उनके मुंह से पहले हल्की दर्द भरी आवाजें आती रहीं लेकिन फिर बाद में दर्द की जगह आनंद ने ले ली. इस बार के धक्के से लंड चुत को चीर कर कुछ अन्दर पेवस्त हो गया था, जिससे अलीमा की चीख निकलने को हुई. उनकी वीडियो क्लिप्स में ज्यादातर बाथरूम में नहाते समय नंगी वीडियो हुआ करती थीं.

इस बार मैंने सीधा उसकी चुत पर हमला किया और एक झटके में ही दो इंच लंड चुत के अन्दर पेल दिया. वे जब ऐसा कर रहे थे, तो मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं तो स्वर्ग में हूं और मुझे इतना आनन्द आ रहा था कि मैं बता नहीं सकता.

और प्रेमा भी जानती थी कि अगर शालू को कहीं से सहारा नहीं मिला तो वह ज्यादा दिन नहीं रह पायेगी प्रमोद के साथ।उधर भानू अपनी बहू की चूत चुदाई करने की फिराक में रहता था.

खाना मेज पर रख कर वो ठाकुर को बताने गयी थी, तब उसने देखा कि ठाकुर भी कपड़े पहन चुका था. विदेशी पिक्चर सेक्सीफिर मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से भींच लिया और उसके होंठों का रस चूसने लगी. रेशमा अधिनियमउसने दोनों हाथों से मेरे चेहरे को पकड़ के ऊपर किया और मेरे नर्म होंठों पर अपने गर्म होंठ रख दिए. फिर कुछ समय बाद कुछ ऐसा हुआ कि मेरे हस्बैंड को बिजनेस के सिलसिले से बाहर जाना पड़ा.

मैंने पोर्न वीडियो में देखा था कि लड़कियां कैसे इतना बड़ा लन्ड बड़े आसानी से चूस लेती है पूरा अपने मुँह में घुसा कर!उसी तरह धीरे धीरे उसका भी लन्ड मैं अपने मुँह में घुसाती गयी.

फिर मैंने इंटरनेट पर देखा और पता चला कि कैसे मैं साक्षी की मदद कर सकता हूं. मैंने कहा- अरे कल ही बताया था कि आपके जिसे कोई माल मिलेगी तभी उसे गर्लफ्रेंड बनाऊंगा. हम दोनों मिलने का प्लान बनाने लगे, लेकिन वो सामने मिल कर चुदाई से डर भी रही थी.

वो अपने हाथों से मेरे शरीर के एक एक अंग को दबाकर मुझे पागल किये जा रहा था. अगर नहीं पढ़ी है तो अब पढ़ लो। मजा आ जाएगा।गर्म गर्म हिन्दी सेक्स कहानी पढ़कर आपको सर्दी में गर्मी का अहसास मिलेगा. वो इतने लजीज तरीके से मुझे चूस रहे थे कि बस समझो मैं नीचे से पिघल सी उठी.

తెలుగు బాయ్స్ సెక్స్ వీడియోస్

मैंने उसको पहले ही बता दिया था कि मुझे इन सब चीजों के बारे में ज्यादा नहीं पता है. मेरी चूत में पानी निकलने की वजह से उस पूरे कमरे में पच पच की आवाज़ गूंज रही थी. शबाना भाभी भी नीचे अपनी गांड उठाते हुए चिल्ला रही थी- आह मजा आ रहा है या अल्लाह इतना सुख तो मुझे अब तक कभी नहीं मिला था … आह और तेज चोदो अन्नू तुम्हारा लंड मेरी बच्चेदानी तक चोट कर रहा है.

फिर पता नहीं मेरा वहम था या सच्चाई … मुझे ऐसा लगा जैसे उसने मेरी गांड की चीर पर हल्की सी उंगली घुमा दी.

अगर आपने पहले दो भाग नहीं पढ़े हैं तो आप इस कहानी को शुरू से पढ़ें और देसी लड़की की चूत कहानी का मजा लें.

अलीमा ना नुकुर करते हुए कुछ देर बाद राजी हो गई और बलविंदर उसके चूचों को बड़े प्यार से चूसने में लगा गया था. थोड़ी देर बाद हेमा चाची उठीं और उन्होंने पलंग के तकिए से खोली उतार ली. मंगला एक्सप्रेसकुछ खाने पीने का दौर चला और मैं दुबारा से उनसे मिलने का वादा करके चली गई.

बहन चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मेरे जीजा की मौत के बाद मैं दीदी की मदद के लिए उनके साथ जीजा का बिजनेस देखने लगा. मैंने उसके हाथों को दोनों तरफ बेड पर दबा लिया और उसकी चूत को ऊपर से नीचे और नीचे से ऊपर चाटने लगा. मैं घबरा गई- नहीं नहीं … विजय वहां से मत करना … वहां से बिलकुल मत करना.

मैंने दो-चार धक्कों के बाद ही रूबी को सामान्य कर दिया और हचक कर चोदने लगा. सफर बहुत लंबा है।करीब 2 घंटे बाद हम नाना के घर पहुँच गए।अब मेरे दिमाग में सिर्फ मौसी को चोदने के ख्याल आ रहे थे।क्योंकि बहट पहले से जब भी वो मेरे सामने आती तो मेरे सामने सिर्फ यही फीलिंग आती थी।और आज भी आती है।मेरे नाना के घर में नाना हैं, नानी हैं, मामा – मामी हैं.

इससे पहले कि मैं कुछ बोलता उसने मुझे धकेलते हुए दीवार से सटा लिया और मेरे होंठों को किस करने लगी.

वीर्य उसकी चूत में कॉन्डोम में भरने लगा और मैं उसके ऊपर निढ़ाल हो कर गिर गया. जब तनाव नहीं आता दिखाई दिया तो उसने अभय को बेड पर गिराया और उसकी टांगें फैलाकर उसके सोये लंड को मुंह में ले लिया. बुआ ने कहा- मैं यहीं अपने भतीजे के साथ रहूंगी … आप अकेले गांव चले जाओ.

वीडियो में सेक्सी फिल्म हिंदी में हर कोई नव उर्जा से संचरित रहता है।बाहर बैण्ड वाला बाजा बजा रहा था और गाना बज रहा था- आज मेरे यार की शादी है, लगता है जैसे सारे संसार की शादी है. दोस्तो, मेरी ये गरम सेक्स भाई बहन कहानी कैसी लगी, आप मुझे मेरी मेल आईडी पर बताना न भूलें.

जिसपे मैंने भी अपना हल्का सा सर झुका कर उसको शुक्रिया कहा।मैं उसके ही बगल में जाकर बैठ गयी. थोड़ी देर बार आंटी ने अपना दूसरा पैर भी हर्षदीप की कमर पर रख अपने दोनों पैरों से उसकी कमर को पकड़ लिया. जब सभी लोग खाना खाने के बाद सोने के लिए जाने लगे, तो भैया बोले- मनीष तू हमारे साथ छत पर सो जाना!मैं भाभी और भैया छत पर एक साथ तीनों बिस्तर लगा कर सोने लगे.

गन्दी बात वेब सीरीज

मैंने बोला- कब और किसके साथ!भाभी- मैं वो सब बाद में बता दूंगी, बस तुम यहां आने के लिए रेडी रहना. मैं बहुत ही कातिलाना तरीके से अंगड़ाइयां ले रही थीं और बहुत ही मादक आवाज में मस्ताई जा रही थी- आआह … आआह बसस्स करोओ … आआह छोड़ो नाआ!मगर उन दोनों को तो जैसे रबड़ी खाने को मिल गई थी. अब हेमा चाची ने अपने कमरे में घुसते ही बैग पटक दिया और धड़ाम ने अपने बिस्तर में चित लेट गईं.

ऊपर से उसने टॉप और लैगी इतनी टाइट पहनी थी कि उसकी ब्रा की लाइनिंग दिख रही थी. क्या चुत थी जया की … आह बिना बाल की उसकी चिकनी चूत देखकर मैं तो पागल सा हो गया और टांगें फैलाते हुए चुत को पसार दिया.

ये सुन कर मेरा लंड बिल्कुल टाइट हो गया, जो अभी मेरी बीवी ने हाथ में पकड़ा हुआ था.

फिर उन्होंने दोबारा से मुझे लंड पर झुका लिया और मैं लंड को लॉलीपोप के जैसे चूसने लगा. मेरे बदन पर मेरी काली ब्रा और पैंटी बची थी और अपने गोरे रंग पर उस काली ब्रा और पैंटी में मैं किसी रंडी से कम नहीं लग रही थी जो तीन तीन मर्दों का एक साथ मनोरंजन करने वाली थी. आंटी ने भी मुझे अपनी बांहों में भर लिया और चुदाई का खेल आगे बढ़ चला.

दरअसल मंडी के बाहर रोड पर जो गंदा पानी पड़ा था, उसमें कुछ खराब सब्जियां पड़ी हुई थीं. मैं अपने हाथ से ज्योति की बुर को सहलाने लगा। उसकी बुर पर हाथ फिराते हुए बहुत मजा मिल रहा था. उनकी हाइट 5 फिट से कुछ कम ही थी … क्योंकि जब वो खड़ी थीं, तब मेरे सीने तक ही आ रही थीं.

उसकी शादी हो गयी थी लेकिन उसके जाने के बाद मैंने उसकी छोटी बहन नेहा को पटा लिया था.

हिंदी फिल्म बीएफ फिल्म: कुछ समय बाद उसने मुझे फिर गर्म किया और फिर एक बार मेरी चूत गांड की चुदाई की. मेरी मामी जी, मेरे मामा जी का बड़ा लड़का और भाभी जी सूरत में रहते हैं.

सलमान उठ कर अम्मी के बाजू में आ गया और अम्मी ने उसके चेहरे पर लगा, अपनी चुत के रस को चाटना शुरू कर दिया. [emailprotected]भाभी सकिंग लंड स्टोरी का अगला भाग:ममेरी भाभी की शानदार गांड मारी- 5. कविता हंसने लगी और बोली- अरे क्या हुआ? अब बोलिए भी? या मुंह से आवाज़ निकलनी बंद हो गयी?मैं- अरे नहीं नहीं, मैंने तो बस आपको इसलिए रोका ताकि हाल चाल पूछ सकूं.

मेरी हवस की आग और ज्यादा भड़क उठी तो मैंने हेमा चाची को उठाकर अपने ऊपर छाती से छाती मिलाकर लेटा लिया और अपने दोनों हाथों से हेमा चाची की मस्त गोल घुमावदार गांड को मसलने लगा.

वो मेरी गर्दन को चूमते हुए बोला- जान, तुम्हारा आज तो जान लेने का इरादा दिख रहा है. मेरा लौड़ा पूरा गीला हो गया और मैंने उसकी चूत पर लौड़े को रखा और धीरे-धीरे ऊपर नीचे करने लगा. कविता- आह्ह साले … जा ना … तू क्या मेरे पति की बराबरी करेगा? तेरे लंड में इतना दम कहां मिलेगा.