देसी बीएफ फुल

छवि स्रोत,டீச்சர் செஸ்

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो दूसरा: देसी बीएफ फुल, शीना ने हल्के से किवाड़ खोल कर अंदर झाँका तो कमरे में अंधेरा था और राजीव सो रहा था।कॉफी का कप उठाकर शीना बाहर जाने को हुई तो उसकी निगाह राजीव की ओढ़ी चादर पर गयी जो एक ओर से खिसक गयी थी.

सपना चौधरी का वीडियो सेक्सी

इस बीच वो भी अपने लंड को सहला रहा था, जिससे वो भी दो बार झड़ चुका था. गांव के देसी सेक्सीएक दिन रात की ड्यूटी करके मैं सुबह आया और कसरत आदि करने के बाद नहाने जा रहा था.

अगर प्यार करना है, तो केवल यही ऊपर ऊपर वाला प्यार कर लो, नहीं तो रहने दो. தமிழ் ஸெக்ஸ் மூவிवो हमेशा स्कूल की लड़कियों से छेड़खानी करता है और डर की वजह से उससे कोई कुछ नहीं बोलता है.

मैंने उठ कर शॉवर बन्द कर दिया और उसको एक झटके से नीचे उल्टी रखी बाल्टी पर बैठा दिया और अपने लंड की पूरी खाल पीछे करके लाल टोपा उसके मुँह में दे दिया.देसी बीएफ फुल: वो गांव जाकर चुपके से लड़की की बड़ी बहन से मिला; उससे लड़की के जन्म प्रमाण पत्र के लिए उसका मैट्रिक का सर्टीफिकेट ले आया.

मैंने पूछा- क्या हुआ?वो बोलीं- कुछ नहीं राज, ये तो खुशी के आंसू हैं.मैंने उसकी ओर प्यासी नजरों से देखा, उसने मेरे आंखों में आंखें डालते हुए कहा- ठीक है हम दोनों में से किसी की गलती नहीं, खुश अब?मैं चुप रहा.

காமசூத்ரா செக்ஸ் - देसी बीएफ फुल

वो बराबर लंड चूसती रही और जब तक मेरे झटके खत्म नहीं हो गए, वो मेरे लंड को भैंस के थन जैसी चूसती रही.भाभी ने कुछ दवा का इंतजाम किया और मुझे दवा लाकर देते हुए कहा- तुम्हें किसी भी चीज की जरूरत हो तो मुझसे कह देना.

राजीव नंगा सो रहा था।शीना मुस्कुरा गयी। वो चुपचाप बाहर आ गयी।बाहर अब उसे खुजली होने लगी कि एक बार राजीव का लंड देखा जाये!पर उसे डर भी था कि अगर वो जग गया तो क्या सोचेगा।आखिर हिम्मत करके शीना दोबारा कमरे में गयी और बेपरवाही से अंदर घुस गयी।अंदर का नजारा तो बेहद मजेदार हो गया था।राजीव सीधा लेटा पड़ा था, उसकी चादर पूरी हटी हुई थी और उसका लंड पूरा तना हुआ था।शीना की हालत खराब हो गयी. देसी बीएफ फुल यह कहते हुए सोनाली मेरे ऊपर चढ़ गयी और मेरे होंठों को चूमती हुई बोली- हर्षद जब से तुम्हारे इस मोटे लंड का स्पर्श हुआ है, तभी से मेरी चूत बार बार गीली होने लगी है.

भाभी हार्ड सेक्स की तलबगार थी तो वे लगातार मुझे उत्तेजित करने वाली मादक आहें और कराहें निकाल रही थीं- उहह आआह्ह राहुल … उईईई मां … चोद भोसड़ी के अपने लंड से मेरी चूत को … आंह फाड़ दे भोसड़ा बना दे इसका … आज तक ये सही से नहीं चुद पाई है … आज इसको चोद कर मुझे मां बना दे चोद साले.

देसी बीएफ फुल?

[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी थी:पड़ोसन चाची की चूत चुदाई का मजा. परेशान होकर मैंने भी कह दिया कि आप मेरे आने जाने के टिकट बुक करवा दीजिए. उसने भी खुल कर मेरा साथ दिया और मजा लिया क्योंकि अब से पहले उसने ऐसे खुल कर सेक्स किया नहीं था.

थोड़ी दूर आगे एक पत्तों का सायाबान दिखाई दिया, तो मैंने बाईक की गति बढ़ाकर उस शेड तक पहुंच कर साईड में बाईक लगा दी. हॉट गांड Xxx कहानी में पढ़ें कि बहन की जेठानी की बेटी की धमाकेदार चुदाई के बाद मैंने अपने बड़े लंड से कैसे उसकी गांड फाड़ डाली. उसकी समझ में आ गया कि लौंडा मस्त हो गया है; वो गांड उठा कर अपनी चूत में मेरी उंगली घुसवाने लगी.

रात हुई तो फिर मैं वहीं पहुंच गयी, फिर डांस किया और लगभग नंगी होकर डांस किया. चूत चाटने के बाद मैंने उसकी टांगें फैलाईं और लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा. निकाह के कुछ साल तक तो उसका शौहर उसके बदन के साथ खेल लिया मगर उसकी चूत की आग कभी ठंडी ना कर सका, जैसे तैसे एक लड़की पैदा हो गयी और उसके बाद तो उसने खुद अपने कमजोर शौहर को अपने पास फटकने नहीं दिया.

मैं उससे कुछ कह पाऊं कि इतने में उसने अपना नम्बर दिया और बोली- सिर्फ दोपहर में बात करना क्योंकि मुकेश दोपहर में घर नहीं होता. सुबह जब शैली मामी ने जगाया तो वो हम दोनों की नंगे बदन देख कर शर्मा गईं और चेतना की चूचियों को दबाती हुई पहली चुदाई की अनुभूति को जानने की कोशिश करने लगीं.

जब मुझसे बर्दाश्त से बाहर हो गया तो मैंने कहा- अब सब कुछ हो जाने दो प्लीज.

जब बाईस साल की किसी पोर्न स्टार की जैसी अर्चना के उजले जिस्म का उतार चढ़ाव देखेगा, तो उसके लंड में आग न लगे तो साला नामर्द ही कहलाएगा.

किसी भी तरफ से वो शादीशुदा नहीं लग रही थी बल्कि अभी भी वो कोई अनछुई कमसिन लड़की ही लग रही थी. उसने अपने लौड़े का टोपा मेरी गांड पर एक दो बार घिसा और छेद पर सैट कर दिया. उन्होंने मुझे बैठाया और बोलीं- तुम नहीं होते, तो पता नहीं कौन हेल्प करता.

फिर मैंने एक मिनट रुक कर सोचा कि इनको पता है शायद … और आग दोनों तरफ लगी है. फिर मैंने उससे पूछा- अगर तुम उसकी जगह पर होती तो तुम्हें शर्म आती?वो नज़रें झुका कर शर्म से नीचे देखने लगी और हल्का सा हंसने लगी. मैंने शाम को उनसे नीचे जाकर माफी मांगी और भविष्य में ऐसा ना करने की कसम खायी.

वो जैसे ही फिर से सोने जाने को हुए, मैंने अपने बदन से चिपकी नंगी बदन अर्चना दीदी के ऊपर से रजाई उतार कर फैंक दी.

जल्दी ही मैं अपनी कोई और मस्त चुदाई की कहानी लेकर आपके सामने आऊंगी. ससुर जी की हवस भरी नज़रें मुझे बेहद ही गंदी तरह से देखने लगीं और अब मुझसे भी अपने आप पर कंट्रोल नहीं होता था. फिर रात में 10 बजे मेरी मम्मी सो चुकी थी, मैं सोने का नाटक कर रहा था.

मैं अपनी करवट बदलकर सीधा पीठ के बल लेट गया तो मौसी भी करवट बदलकर मेरी तरफ मुँह करके मुझसे चिपक गयी. मिहिका बोली- वो तो मने भी पता है … पर डर लागे है … कदै किसी को पता चल जाए और बदनामी हो मेरी. देखते ही देखते लाल ब्रा और पैंटी में एक हसीन खूबसूरत औरत उन देहातियों के सामने आ गई थी.

ये सुनकर उसकी पकड़ मेरे लंड पर तेज़ हो गयी, जिसे वो मस्ती से सहलाने लगी.

एक हाथ से मैं उसके दूध सहला रहा था और अब नाइटी हट जाने के कारण मैं उसकी पैंटी के ऊपर से ही चूत को सहला रहा था. सेक्स विद फ्रेंड वाइफ की इच्छा उसे देखते ही हो गयी थी मेरी! मैंने उसे लाइन देना शुरू किया तो उसकी प्रतिक्रिया ने मेरी वासना को और भड़का दिया.

देसी बीएफ फुल मैंने गांड उठाते हुए कहा- आंह तू आज चोद ले मेरी बुर … साले कल मैं तेरी गांड मारूँगी. और मैं चीख पड़ी- ओह माई गॉड अह हअअ … अह मार ही डालोगे … तुम अअह … बहुत दर्द दे रहा है हाय साले हरामी … मेरी चूत को फाड़ डाली रे!मैं रोने लगी मगर उसे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था.

देसी बीएफ फुल उसने अपनी जीभ बाहर निकाल कर मेरे गालों से चाटती हुई मेरे पूरे मुँह को साफ कर दिया. चाची बोलीं- कौन है और ये क्या कर रहे हो … छोड़ो मुझे और जाओ यहां से.

वो बोला- क्या गड़बड़ हो जाएगी?तब तक मेरा खड़ा हो गया और टुनकी मारने लगा.

सेक्सी वीडियो दिखाइए इंडियन

धीरे धीरे ललिता भाभी को भी मज़ा आने लगा और वो मस्ती ने बोलने लगीं- आह आह आहह राज … और चोदो मुझे … आहह आहह … कितना अच्छा लग रहा है. मेरी नजरें उसके नीचे गईं तो उसकी गोरी गोरी चिकनी जांघें देख कर मेरे लंड में हरकत शुरू हो गई. हम दोनों हंसी मज़ाक बहुत करते थे लेकिन कभी भाभी के साथ सेक्स हो, ऐसा वैसा विचार मेरे मन में नहीं आया था.

मैंने कहा- कोई नहीं, एक बाईट पर साथ बैठो न!उसने कहा- ठीक है, एक मिनट बस अभी आई. उसके तने हुए दूध और पीछे उभरी हुई गांड किसी को भी अपना दीवाना बना सकती थी. डॉक्टर ने उन्हें कामोत्तेजना बढ़ाने वाली और देर तक लंड खड़ा रखने वाली दवाएं लेने से मना किया हुआ था.

मैं- चल मादरचोद, तेरी भी बात मान लेता हूँ, पर उसके बदले में तुझे मेरा हर हुकुम मानना पड़ेगा, वरना तेरी सच्चाई पूरी दुनिया को दिखा दूंगा भोसड़ी के गांडू.

उनका मुँह मेरे लंड को चूसने लगा और उनकी गांड मेरे मुँह की तरफ निकली हुई थी. फिर उस लड़के के मस्त चूतड़ों पर हाथ मारते हुए- क्यों भाई, ठीक है न!वो भी दांत निकाल कर हंसा. मेरी आंख शाम को 7 बजे खुली, तो देखा कि दोनों बाबा मेरे दोनों चूचे पकड़े सो रहे थे.

फिर मैंने अपना लंड दीदी की चूत में डाल दिया चूत बहुत टाइट लग रही थी. हम दोनों ने उस दिन एक बार और चुदाई का मजा लिया फिर मैं अपने घर आ गया. वो लंड देखते हुए आगे कहने लगी- ऐसा तो मैंने सिर्फ ब्लूफिल्मों में देखा है.

अब आगे रियल फॅमिली Xxx कहानी:दीदी- ये क्या कर रहे हो अजय, तुम मेरे साथ ऐसा कैसे कर सकते हो?उनकी बात सुनकर मेरा लंड एक बार में ही नुन्नू बन गया. मेरा भाई शिवम हंसने लगा और वो मुझसे बोला- चल बहना, आज तेरी चुत की ओवरहालिंग कर देता हूँ.

अपने होंठ दांतों से चबाते हुए अपने दाएँ हाथ की हथेली को नीचे ले जाकर, नत्थूलाल को ऊपर उठाया. उसकी चलने की अदा तो इतनी सेक्सी थी कि चलते समय उसके हिलते हुए चूतड़ों को देखकर किसी का भी लंड बेकाबू हो सकता था. फिर ऊपर गई और उधर का काम देख कर जब मैं वापस निकलने लगी तो मैंने देखा कि एक बलिष्ठ सा मजदूर बाहर लुंगी पहनकर नहा रहा था.

कोई 20 मिनट इसी पोजीशन में चुदाई के बाद उसकी चूत की सील टूट गयी और उसकी चूत से खून निकलने लगा.

मेरी मौसी फिर से गर्म होने लगीं और उनके मुँह से मादकता भरी सिसकारियां निकलने लगीं. मैं- अब क्या हुआ?भाभी- भैया मैं जहां खुजली है … उस पर क्रीम लगा रही हूँ, तो वहां पर जलन बहुत हो रही है. जब मैं घर से ऑफिस के लिए निकलता, या जब भी फ्री होता … सोनी को कॉल कर लेता.

वो बुरी तरह से भीग चुकी थी और उसकी सलवार कमीज उसके बदन पर चिपकी हुई थी. एक दिन शाराब पीते हुए अमित ने ही मुझे बताया कि सविता उसके न रहने पर अपने पुराने दोस्त को उसके घर बुलाया करती थी और उसके कितने ही मर्दों के साथ संबंध थे.

फिर मैंने उसकी सलवार नीचे की और लंड सीधा उसकी गांड में उतार दिया और हचक कर चुदाई चालू कर दी. मैंने अपना दूसरा हाथ भी सोनाली की गांड पर रखकर जोर का धक्का मारकर आधा लंड चूत में घुसेड़ दिया. यह मेरी सच्ची सेक्स कहानी है जो मैंने अन्तर्वासना पर आपके सामने पेश की.

बीपी भोजपुरी वीडियो

मेरी कमीज और बनियान निकाल कर मुझे ऊपर से नंगा कर दिया, फिर मेरे बदन को जगह जगह चूमना शुरू कर दिया.

मुश्किल से 10 मिनट ही मैंने उसकी चूत में उंगली की होगी कि वो अकड़ गई और झड़ गयी. नीता ने अपना हाथ मुँह पर रखकर हैरान होकर मेरे लंड को देखकर कहा- बापरे तुम्हारा ये कितना मोटा और लंबा है हर्षद?मैं उसे अपनी बांहों मे फिर से कसकर चूमने लगा. क्या तुम मेरे घर आ सकते हो?मैं बोला- भाभी घबराइए मत, मैं आ रहा हूँ.

छोटी कमर और गदरायी हुई बाहर को निकली हुई गोल मटोल छत्तीस इंच की गांड देखकर मेरा लंड तनाव में आने लगा था. उन्हें पता नहीं कि मैं गांडू हूं, मेरी गांड लंड लेने को तड़पती है पर कोई मारने वाला नहीं मिलता. मराठी सेक्सी गेम ओपनपहली बार मुझसे रुका नहीं जा रहा था और मन कर रहा था कि जल्दी से इसकी चूत में अपना फौलादी लंड उतार कर इसकी ऐसी चुदाई करूं कि इसे जीवन भर याद रहे.

मुझे काले मर्द से पूरी नंगी, सिर्फ सेंडल पहनकर जंगलियों की तरह चुदना था. मैं पायल की अंदरूनी जाँघों तक पहुंच चुका था और पायल अपनी आँखें बंद किये गहरी सांसें ले रही थी।पायल की छाती ऊँची – नीची होती देख मुझमें जोश बढ़ता जा रहा था।वह शराब के नशे में मदहोश थी या मेरे नशे में … यह कहना तो मुश्किल था पर मैं पायल के नशे में पूरा मदहोश था और इसका पता हम दोनों को ही था।अगले भाग में आप पढ़ेंगे कि पायल ने मुझे उसके पास आने की कितनी छूट दी.

मैं बड़ा अचम्भित हुआ और उससे पूछा कि क्या हुआ?तो उसने मुझे रुकने का इशारा किया. कुछ देर बाद मैं अपनी चुत में उंगली करते हुए बड़बड़ाने लगी- आह पापा … आप मुझे कितना सताते हो … मेरी चुत में अपना लंड क्यों नहीं पेल देते हो. भाभी ने भी लंड मुँह से बाहर नहीं निकाला, वो मेरे लंड का पूरा माल पी गईं.

अपने निप्पल को मसलवाते हुए अञ्जलि ने अपने होंठों और दांतों में मेरे होंठ चूसने चबाने लगी, साथ ही तेज और लंबी सिसकारियां भरी सांसें लेने लगी. मैंने कहा- यार, अभी तो मैंने अपने लंड का आधे का आधा भी अन्दर नहीं घुसाया है और तुम ऐसे कर रही हो. मेरी चूत पूरी गीली होकर ऊपर उठ चुकी थी; वह मेरी चूत के ऊपर अपना लंड रगड़ने लगा.

”पांच मिनट में ऐंठती चेतना की बुर बरस गई, जो मैं अपने लंड पर गर्म गर्म महसूस कर रहा था.

बीच बीच में ही मैं निप्पल को एक पल के लिए चूसता और खींच कर काट देता. वो, मैं और हमारे कुछ कॉमन फ्रेंड्स, पंजाबी बाग़ में एक क्लब में गए.

मैं- आह बहनचोदी, अब तक किस किस के लौड़े चूसे है तूने रंडी, आंह बड़ा मजा दे रही है कुतिया. उस रात मैं दीदी को सुबह तक चोदता रहा दूसरे दिन दीदी ठीक से चल भी नहीं पा रही थी और हम दोनों रोज ऐसे ही सेक्स करते रहे. मुझसे रहा नहीं गया, मेरी चीख निकल गयी- आउच ओह्ह मोहक इतना ज़ोर से क्यों मारा?मेरा बूब तो टमाटर की तरह लाल हो गया।मोहक बोला- डेज़ी, वो ब्लू फ़िल्म में करते हैं न ऐसा … तो मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने मार दिया।मैंने कहा- बेबी प्यार से मारो न … देखो कैसे लाल हो गया।फिर मोहक ने मुझे लेटने को कहा और मेरे ऊपर आकर उसने मेरी चूत में लंड डाल दिया.

फिर जब मैंने उनके चूत के ऊपर तेल लगाया और मालिश करना शुरू किया तो वो ऐसे सिहर सी गईं, जैसे उनको करंट लगा हो. मैंने उससे पूछा- क्या तुम पहले भी सेक्स कर चुकी हो?उसके कहा- नहीं, मैं आज पहली बार चुदने जा रही हूँ. शुरू के 9 महीने तक तो वो साथ में रहे लेकिन उसके बाद वो सूरत चले गए और मैं अपने देवर और ससुर जी के साथ घर पर अकेली रहने लगी.

देसी बीएफ फुल हम सब आपस में बातें करते करते आराम से साढ़े तीन बजे विलास के घर पहुंच गए. ये सेक्स कहानी मैं, अपनी पिछली सब कहानियों के कारण मिली प्रंशसा से प्रेरित होकर लिख रही हूँ.

मराठी मंगलसूत्र

अब मेरा निकलने को था तो वो समझ गई और अपने मुँह को हटाने लगी पर मैंने उसका मुँह कसकर पकड़ लिया और उसके मुँह में ही अपना सारा माल निकाल दिया. वो बोली- यहां के लिए मना किया था न मैंने!मैंने कहा- यार ,मैंने आज तक रियल में नहीं देखी है, प्लीज सिर्फ दिखा दो, मैं करूंगा कुछ नहीं. वो मेरा सर अपनी चूत की तरफ दबा रही थीं और आह आह कर रही थीं- अहह उफ्फ मेरे राजा … चाट लो मेरी बालों वाली चूत को … आह मेरी जान उफ्फ रुकना मत!मैंने भाभी की चूत को एकदम से साफ़ कर दिया था.

मैं समझ गया कि इसे ज्यादा तकलीफ नहीं हुई और मैं इसे तेजी से चोद सकता हूँ. मैंने सिगरेट उसके मुँह में लगायी और वो एक कश मार कर धुआं बाहर छोड़ने लगी. भाऊ-बहीण सेक्सी व्हिडिओतभी उसने मुझको एक थप्पड़ मारा और बोला- हराम के लौड़े गांडू भोसड़ी के … चिल्ला क्यों रहा है मादरचोद … लंड का मजा ले.

हो सकता है कि पर्वी ने मेरी हालत नोट की हो लेकिन वो नॉर्मल लग रही थी.

मैं उसको पलट कर उसकी गांड देख कर समझ गया था कि इसकी गांड अभी तक सील पैक है. जैसे ही मैंने वो आईस उसकी पैंटी में डाली, वो तड़पने लगी और आआ ह्ह ऊऊह ह्ह्ह ईईह ह्ह्ह की आवाजें निकालने लगी.

मैंने उसके मुँह से अपना लंड निकाला और उससे कहा- साली भड़वी … जा और मेरे बिना धुले हुए कच्छे अपने मुँह से उठा कर ले आ. तब तक मेरा हाथ उसके बूब्स पर चला गया था और मैं दबा रहा था।मैंने कहा- देखो, मैं और तुम्हारी माँ एक दूसरे को पहले दिन से ही चाहते हैं।और मैंने उसे वो वीडियो दिखाया जो मैंने मुग्धा के साथ बनाया था।मैं- तुम्हें ये रिश्ता मानना होगा. कमरे में चुदाई की मधुर आवाज़ फचा फच फच चट की जबरदस्त गूंज आ रही थी.

वो नशीली आवाज में बोली- यार, मैंने आज तक इतनी ब्लू-फिल्म देखी हैं, लेकिन मैंने ये सीन कहीं भी नहीं देखा.

तभी उसके लंड से वीर्य का फव्वारा निकला, जो मेरे मुँह से गले में चला गया और कुछ माल मेरे मम्मों पर गिरा दिया. तभी ललिता भाभी की सिसकारियां तेज़ होने लगीं और वो जल्दी जल्दी उछलने लगीं. अब आगे गाँव की Xxx चुदाई कहानी:अब मैंने जैसे ही नीता की गांड के छेद पर अपनी जीभ फिराई तो नीता एकदम से मचल उठी.

नीम सेक्सीवो जानबूझ कर पलट गई क्योंकि वो जानती है कि मुझे उसकी गद्देदार गांड कितनी पसंद है. ऐसा नहीं था कि एकदम नहीं मिल पाए, मिले … लेकिन बाहर पार्क में, कहीं या ऐसे ही किसी रेस्टोरेंट में मिले.

தமிழ் xvideos

मैंने भी उसके पास जाते हुए उसका हाथ फिर से अपने हाथ में लिया और उसके बिल्कुल करीब जाकर खड़ा हो गया. अब मुझसे चला भी नहीं जा रहा था क्योंकि मेरी चूत और गांड में दर्द और जलन बड़ी तेज़ हो रही थी. कुछ ही झटकों में वो झड़ गई और चूत में पानी की गर्मी से मेरा लौड़ा भी विचलित हो गया.

इतना कहकर मैंने खड़े होकर उसकी दोनों टांगें अपने दोनों हाथों में पकड़ लीं और दोनों तरफ फैलाकर अपने लंड को सुपारे तक बाहर निकालने लगा. एक दिन जब मैं नदी के पास चल रहा था तो मुझे एक छोटे लड़के के साथ एक सुंदर लड़की दिखी. फिर इसी तरह से मैंने उसे थोड़ी सी लिफ्ट दी तो वो मेरी तरफ आसक्त होने लगा.

उसके बाद नीता ने अपनी टांगें मेरी कमर से हटाकर मुझे अपनी पकड़ से आजाद किया और वो अपने हाथों से मेरी पीठ, कमर और गांड को बारी बारी से सहलाने लगी. मैं जोर जोर से उछलने लगी क्योंकि उनके चाटने से मुझे काफी गुदगुदी हो रही थी- आह हहह आहहह ऊईईई मां आआऊच ओह होह रुकिए आहहह!जल्द ही मेरी चूत पानी से भर गई थी. मैंने सना से पूछा कि क्या मैं इन्हें अपने हाथ में लेकर चूस सकता हूँ?सना ने हां में सर हिला दिया.

पर अभी दोस्त से चुदाई का क्रम जारी था कि अचानक एक दिन बैंक से आते समय मेरे पापा का एक्सीडेन्ट हो गया. भाभी को अपनी चूचियां चुसवाने मजा आने लगा था तो वो अपने हाथ से अपने दूध पकड़ कर मास्टर को पिलाने लगी थीं.

बहुत ही प्यारे बबले थे उसके!वो जोर जोर से बोले जा रही थी- ओह्ह आर्यन मैं कब से प्यासी हूँ … आंह चोद डालो मेरी इस चूत को.

मैंने थोड़ा और आगे बढ़ते हुए उससे कहा- वैसे पसंद तो तुम भी हो, चाहो तो बिना किसी को पता चले हम दोनों कुछ कर सकते हैं. मीणा की सेक्सी फिल्मइससे मैडम मदमस्त हो गयीं और मुझसे बोलीं- अब उंगली निकाल कर सकिंग करो … बहुत मजा आ रहा है. नेपाली सेक्सी दिखाइए वीडियो मेंमैंने उसकी चूत की फांकों में लंड का सुपारा रखा और धीरे धीरे रगड़ना शुरू किया. उसके इस जवाब से मेरी झिझक खत्म हो गई, मैं बोला- अभी कोई भी चलेगा, बाद में आ जाऊंगा केले लेने!उसने ओरेंज वाला 5 पीस का पैकेट दिया.

मैं उसके रसीले होंठों को चूसने लगा और एक एक कर सारे कपड़े उतार कर उसे मादरजात नंगी कर दिया.

फिर जल्दी से नंदा ने अपने गिलास में पैग बना कर रखा ही था कि रुचिका एक थर्मस में आइस के छोटे पीस के साथ आ गई. थोड़ी देर बाद कोई बाइक से आया तो मैं दरवाजे से हटकर खेत में छुप गया. मैं दिखावे के लिए मना करती रही पर मैं खुद चाहती थी कि उसके आगे नंगी हो जाऊं.

फ़लक की मादक सिसकारियां निकलने लगीं- ओह बेबी … ये क्या कर रहे हो … आह मुझे बेहद मजा आ रहा है आह चाट लो आंह …कुछ देर बाद मैंने केक को लेकर पूरे मम्मों पर अच्छे से फैला दिया और उन्हें बारी बारी से चाट चाट कर फ़लक को मस्ती देने लगा. अब घर की चुत घर में चुदेगी क्योंकि पकड़े जाने का कोई डर नहीं था और न ही देरी का काम था. रेखा- आंह अंकल, मुझे आपका लंड का पानी मेरी इस कुंवारी चूत में चाहिए, जो कि अब आपने फाड़ दी है.

सेक्स वीडियो रोमांटिक सेक्स

काफी अंधेरा था मगर इन्वर्टर की लाईट से कम वाट का एक बल्ब जल रहा था. मैंने किचन में जाकर उससे पूछा- दीदी आपका फिगर बहुत टाइट है और सेक्सी भी. अन्तर्वासना और फ्री सेक्स कहानी की साईट पर कुछ कहानियां तो इतनी अच्छी होती हैं कि बस चूत गीली हो जाती है.

वह बार-बार मेरे शौहर का नाम लेकर मुझसे कहता- जुल्फिकार ऐसा नहीं करता है क्या, जुल्फिकार तुम्हारे साथ कैसे सेक्स करता है.

मैं सोचने लगा कि अब कैसे पता करूँ?तो मैं अपना लंड धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा.

लेकिन मैं इस तरह से चुदना भी नहीं चाहती थी क्योंकि मेरे पति ने हमेशा प्यार से सेक्स किया था. इसके लिए मैंने उनको बताया कि मैं उनकी चूत की फांकों को पकड़ कर बाल निकालूंगा, कोई दिक्कत तो नहीं है. वीडियो की सेक्सी वीडियो फिल्मइस काम में बड़ी मेहनत करनी पड़ी थी … और भी कई तरकीबें भिड़ाना पड़ी थीं.

मैंने दरवाजा वापिस बंद किया तो उन्होंने बोला- मेरे पैर और कमर दर्द से उठा नहीं जा रहा है, कुछ करो. हम दोनों ही थक चुके थे, तो ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में कुछ मिनट लेटे रहे. आज तक ऐसी कोई लड़की या आंटी नहीं मेरे लंड के नीचे से नहीं निकली, जिसे मैंने पूरी तरह से संतुष्ट न किया हो.

कमरे के अन्दर पहुंचकर सविता कपड़े बदलने के लिए चली गई और मैं बाहर सोफे पर बैठ गया. ’‘आपकी या आपके लंड की आहह सर … मेरा पानी निकल जाएगा … अब और मत चूसिए.

वो टब के पास आकर झुक गयी और अपने दोनों हाथों से मेरे सीने, कमर पर सहलाने लगी.

कुछ देर बात करने से महसूस हुआ कि चेतना की कच्ची उम्र के साथ सेक्स ज्ञान भी कच्चा है. हां दोस्तो, चूत की चुदाई तो पता नहीं लगता है, पर चेहरे का चुम्बन खतरनाक होता है. फिर भी मेरी यह इच्छा थी कि किसी औरत के जिस्म का सुख भोगने को मिल जाए.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो देवर भाभी की कुछ ही पलों में मेरा समूचा लंड चाची की चूत में खो गया और चाची अपनी चूचियां मेरे सीने पर झुलाने लगीं. इस बार मैंने उसे हर तरीक़े से चोदा और तीस मिनट तक चोदने के बाद उसके ऊपर ही लेट गया.

हम दोनों एक ही रूम में रुके तो अनीशा ने मुझसे कहा- वो फाइल अप्रूव करवाने के लिए ये फाइल खुलना जरूरी है. तब मुखिया जी बोले- अभी कहाँ कपड़े पहन रही है चन्दा!माँ- जी, मैं कुछ समझी नहीं?तो मुखिया जी ने अपने मोबाइल से एक कॉल किया और बोले- मेरा काम हो गया है. आज जो मैं आप के साथ दुबई सेक्स का किस्सा सांझा करने जा रहा हूँ, उसमें थोड़ी उर्दू जबान देखने को मिलेगी क्योंकि किस्सा ही कुछ ऐसा है.

कपड़े दिखाइए

बस टाइम निकलता रहा और हम लोग ऐसे ही बातें करके, वीडियो कॉल करके टाइम पास करते रहते थे. और मैंने अगले दिन के लिए एक और सेशन बुक किया! यह मेरी अब तक की सबसे अच्छी खरीदारी थी।***मुझे आशा है कि आप सभी ने मेरे रोमांचक एक्सएक्सएक्स कैम अनुभव का आनंद लिया होगा।यदि आप हॉर्नी महसूस कर रहे हैं और केवल मुठ मारने के बजाय वास्तव में एक रोमांचक और संतुष्टि भरा अनुभव चाहते हैं, तो आपको निश्चित रूप से इस कामुक, वाइल्ड लड़की डिम्पल के पेज कोयहां देखना चाहिए।. मैं अपनी आंख बंद करके उंगली में अपनी क्रीम लगा लेता हूं और आप खुजली वाली जगह मेरी उंगली रख देना.

मैंने चार पांच बार ऐसे ही अपना लंड सुपारे तक बाहर निकाल कर धक्के मार दिए. जैसे जैसे मैं अन्दर गया, वैसे वैसे चुदाई की आवाज तेज सुनाई देने लगी.

उनकी मांसल जांघों को सहलाते चूमते हुए ऊपर चूत तक का सफर पूरा किया लेकिन उनकी चूत पर अभी पैंटी पर्दा बनाये हुए थी.

विलास बोला- तुम सोहम को संभालो, मैं सब सामान कार में रख कर आता हूँ. काफी थकान हो गई थी तो हम दोनों नंगे ही बेड पर पड़े रहे और एक दूसरे को देख रहे थे. मेरी सौतेली मॉम मुझे चुदना चाहती थी और मैं भी उसे उतने ही दिल ओ जान से चोदना चाहता था.

शादी के समय मेरे पति अपना खुद का एक बिजनेस चलाते थे लेकिन उसमें लगातार नुकसान होने के कारण उन्होंने उसे बंद कर दिया और शादी के 9 महीनों बाद ही वो सूरत में जाकर नौकरी करने लगे. कुछ पल तक अञ्जलि वैसे ही खड़ी रही और उसके पीछे खड़े हुए मैं अपनी आंखों से उसके नग्न बदन छूने लगा. ‘सर कोई आ गया तो?’‘आज यहां कब तक है तू?‘सर वो लोग तो रात को ग्यारह बजे आएंगे.

उसने कहा- क्या हल है?मैंने कहा कि घर वाले कभी बाहर जाते हैं … जैसे किसी रिश्तेदार के यहां?आरजू बोली- हां दो तीन दिन में ही जाने वाले हैं.

देसी बीएफ फुल: मम्मों पर मेरा हाथ जाते ही वो और कामुक हो गई और मेरा सर पकड़ कर अपने मम्मों पर दबाने लगी. सविता जॉब पाकर मुझसे काफी खुश थी और इसके लिए कई बार मुझे धन्यवाद बोलती थी.

बस वो पागलों की तरह किसी भूखे भेड़िये की मानिंद मेरी चूत पर टूट पड़ा. रेशमा के ऊपर से अब मैं थोड़ा खड़ा हो गया और घुटनों के बल बैठ कर उसकी चूत का भोसड़ा बनाना चालू रखा. मैंने इशारा किया तो उसने टांगें चौड़ी कर लीं और अपने आप आगे की ओर झुक गया.

नहीं तो अब मालिश करते समय यह खराब हो जाएगी।मैं- हाँ, सही कहा। मैं थोड़ी ऊंची होती हूँ और तुम मेरी साड़ी को पेटिकोट से निकालकर साइड में रख दो।अमन ने पेटिकोट से साड़ी निकालते वक़्त जानबूझकर अपनी अंगुलियां मेरी चूत के ऊपर वाले हिस्से से टच करवा दी।मैं- आ आह आह!अमन- क्या हुआ चाची?मैं- कुछ नहीं!उसने साड़ी को खींच के निकल दिया.

मैंने कहा- जाने दे जस्सी, मैं लंड निकाल लेता हूँ, तुझे बहुत दर्द हो रहा है. उसने रुक कर लंड को जोर-जोर से अपनी जीभ पर मारना चालू किया और फिर से चूसने लगी. सोफे पर नंगे बैठे बैठे मैंने वो बेल्ट रेशमा के गले में डाल दी और बेल्ट खींच कर उसका मुँह फिर से मेरे लौड़े के पास कर दिया.