हिंदी में जंगली बीएफ

छवि स्रोत,एचडी टीवी सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

2022 में अमावस कब है: हिंदी में जंगली बीएफ, दर्द ठीक हो जाएगा।फिर डाक्टर ने दो दिन की दवाई दी और कुछ हमें मेडिकल स्टोर से लेनी पड़ी.

सेक्सी नंबर व्हाट्सएप

अब क्योंकि चाचा जी मेरे से दुगनी से भी ज्यादा उम्र के थे, तो मुझे भी हल्की हल्की शर्म आ रही थी. सेक्सी एम एम एस व्हिडीओप्यार से करो इसके साथ!तो उन तीनों ने मुझे मुझसे माफी मांगी और बोले- हम तुम्हारी जैसी जवान लड़की को देखकर फिसल गए थे.

मैं- बोलो न फिर … जान मेरी चूत में लंड डाल दो!नीरा- अमन, प्लीज़ मेरी चूत में लन्ड डाल दो प्लीज़!मुझे खुद पर गर्व महसूस हो रहा था. पोर्न सेक्सी विअंदर कैपरी में से उसकी सुडौल जांघों के बीच उसकी चूत के दोनों बाहरी मोटे मोटे भगोष्ठ अलग से दिखाई दे रहे थे.

जब हम फ़ोन पर अपने बिज़नेस की बातें कर सकते हैं तो फिर उससे बड़ी और क्या बात हो सकती है?रेहाना- उससे भी बड़ी बात है।रिया- अच्छा तब तो मुझे अभी जानना है कि ऐसा क्या है?रेहाना- नहीं, तू मुझसे मिल पहले, तभी बताऊंगी।रिया- नहीं, तू अभी बता।रेहाना- नहीं, तू मिल तो सही।रिया- रेहाना, तुझे तेरी बिज़नेस की कसम तू अभी बता।खीझकर रेहाना बोली- साली तू बहुत ज़िद्दी है.हिंदी में जंगली बीएफ: मेरा माल अब गिरने वाला था … मैंने उनसे बिना पूछे ही अपना माल उनकी चुत में भर दिया और हम दोनों हांफने लगे.

मैंने मामी को अपनी गोद में उठाया तो मामी घबरा कर बोलने लगीं- ये क्या कर रहे हो … मैं गिर जाऊंगी यार!लेकिन मैंने मामी की जांघों को पकड़ कर जोर से उठाया हुआ था.अगले 15 दिन, जब तक मेरे सास ससुर और पति की रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आ गई, तब तक मैं मायके में ही रही.

ज्यादा सेक्सी हो - हिंदी में जंगली बीएफ

दोस्तो, ये नामर्द इंसान अपनी पैसों की भूख के लिए अपनी बीवी के साथ अपनी सभी रिश्ते की महिलाओं को चुदवाने के लिए राजी हो गया था.साथियो आपको लंड चुत की इस गर्म पब्लिक सेक्स कहानी में मजा आ रहा होगा.

रमेश रिया के पास जाकर बोला- क्यों री रंडी? सुबह-सुबह गार्डन की हवा खा रही है।रिया सीधे मुद्दे पर आते हुए बोली- पापा तुमने रेहाना से भी Xxx कर लिया?रमेश हँसता हुआ बोला- ओह … तो उस रंडी ने तुझे सब पहले ही बता दिया?रिया- हाँ डैड, मगर आप ऐसा क्यों कर रहे हो? वह अच्छी लड़की नहीं है।रमेश- तो क्या तू है अच्छी लड़की?रिया- वह बात नहीं है डैड, वह एक मिडल क्लास लड़की है. हिंदी में जंगली बीएफ रात को जब उसने लंड चुसाई की थी, तब उसे मालूम था कि अंडकोष पर जब तक चुसाई नहीं होगी, तब तक लंड का स्खलित होना मुश्किल है.

शायरा की बड़ी बड़ी आंखें अब मेरी तरफ हैरानी से ऐसे देखने लगीं, जैसे पूछ रही हों कि मैंने इतनी जल्दी क्यों किस तोड़ा.

हिंदी में जंगली बीएफ?

उन्होंने कहा- बच्चे जब से बड़े हो गए हैं और अपने दुनिया में व्यस्त हो गए हैं. इस पर उसने भी साफ साफ कह दिया कि मैं ऐसा कुछ नहीं चाहती हूँ … शादी की बात तो क्या, मैं तो मिलना भी नहीं चाहती हूँ. मुझे कल 2 घंटे का समय दीजिए ना?सलोनी- मैं कामवाली को कल आधे दिन में घर भेज देती हूँ.

मगर मान लो कि अगर करवानी हुई तो हम ये पियरसिंग करवायेंगे कहां? किसी को पता नहीं लगना चाहिए इस बारे में. काफी अरसे से मुझे अन्तर्वासना पर आने के लिए समय नहीं मिल रहा था इसके लिए मैं माफी चाहती हूं. मैंने डरते डरते कहा- मैं तेरी छोटी बहन अविना को भी शादी से पहले भोगना चाहता हूँ.

मैंने सामने रखी टेबल से सिगरेट की डिब्बी उठाई और एक सिगरेट निकाल कर सुलगाने लगा. लंड झड़ते ही सूरज ज़ोर ज़ोर से सांसें लेता हुआ बेड पर लेट गया और मैं अधूरी रह गयी. जब उसके लंड से चुदवाती हूं तो चूत में बहुत मस्त वाली गुदगुदी होती है.

इससे मेरी चूत और उसके आसपास छोटे छोटे दाने निकल आये जिनसे खुजली मचती थी. अभी रात के 10 बजे थे और सासू माँ को लगाया हुआ ड्रिप भी ख़त्म होने वाला था.

इस पर मैं बोली- दीदी ये गलत बात है … ना आपने तो बिना बताए स्वाद बदल लिया और मुझे एक ही टेस्ट वाला खाना खाने को बोल रही हो.

(बालकॉनी की साइड से वे लोग दरवाजा बन्द रखते थे) जाली के दरवाजे पर दीपिका ने नॉक किया तो मैंने मुड़कर देखा.

पर आप सोचिए, आप अपना शरीर तो मुझे सौंप देतीं, पर जब तक आप मुझे समझती नहीं, जानती नहीं, तब तक क्या आप अपनी आत्मा मुझे सौंप सकती थीं!सलोनी ने हंसते हुए कहा- हम्म. शायरा ने जो देखा, उसके बाद मेरे आने से शायद वो घबरा भी रही थी … क्योंकि वो अब अपनी नजरें नीची करके खड़ी हो गयी थी. कभी कभी मैं पीछे से नेहा की चूची को चूसने का यतन करता और कभी कभी नेहा खुद ही अपने हाथ से अपना मम्मा मेरे मुंह में डालने की कोशिश करती.

विजय ने मुझे चोद चोद कर मेरी चूत को सुजा दिया था, लेकिन अभी तक विजय के साथ चुदाई से मेरा मन नहीं भरा था. इसके बाद हम सबने मिलकर नाश्ता किया और बातचीत करते करते न जाने समय कैसे बीत गया. रमेश- और पीना चाहोगी?रेहाना- बेशक।रमेश- उसके लिए तुम्हें मुझसे दोबारा चुदने के लिए आना होगा।वो बोली- अंकल मैं तो आपकी दीवानी बन गयी हूँ.

सेक्सी साली की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि लॉकडाउन के दौरान मैंने अपने ससुराल में अपनी साली को उसके यार के साथ डर्टी काम सेक्स करते देखा तो ….

मुझे पता चल गया कि अब विजय ज्यादा देर नहीं टिक पाएगा … मैं विजय को गालियां देकर उकसा रही थी और उसके धक्कों की रफ़्तार लगातार बढ़ रही थी. मैंने कहा- और नहीं चुदोगी?तो उसने आश्चर्य से मुँह बनाते हुए कहा- ना बाबा … अभी तो कम से कम एक साल का डोज हो गया. पर मैंने जाने से पहले नोटिस किया कि मेरे पास ही एक लड़की अपने प्लेट में पकवान निकालते हुए मेरी बातों को सुनकर मुस्कुरा रही है।फिर मैं खाना लेकर ऐसे टेबल पर बैठा जहाँ से मैं उसे देख सकूँ.

और फिर गाँव में कोई डिग्री कालेज भी नहीं है।दोस्तो, उस वक्त मैं ग्रेजुऐशन की पढ़ाई कर रही थी. दोस्तो, मेरे पास करीब सौ से ज्यादा भाभियों और लड़कियों के मेल आए थे, जिसमें उन्होंने मेरी अब तक की सभी कहानियों को काफी सराहा और अगली सेक्स कहानी के लिए रिक्वेस्ट की. मैंने अपने मुँह से सलोनी भाभी की चुत से दो इंच दूर से फूंक मारी, तो उनकी गांड का छेद ऊपर नीचे होने लगा.

इसी बात पर कभी-कभी मम्मी से मेरी लडाई भी हो जाती थी।दोस्तो, अब मैं आपको अपने जीजू के बारे बता दूँ.

उनमें से एक बोल रहा था कि काश ये लड़की चोदने को मिल जाए तो मजा आ जाएगा. नहीं तो मम्मी इधर आ गई तो हंगामा खड़ा हो जाएगा।जाते जाते रीना कह रही थी- अच्छा हुआ कि तुमने मेरे चूत का पानी निकाल दिया.

हिंदी में जंगली बीएफ मैं बोली- हां तो साफ साफ बोलो ना … क्या बोलना है … जब से घुमा रहे हो. अब नेहा की गांड में संजय का लंड घुस रहा था और नेहा संजय के लौड़े के ऊपर बैठती ही जा रही थी.

हिंदी में जंगली बीएफ चीटिंग वाइफ इंडियन स्टोरी में पढ़ें कि जब मैं अपने पति से चुद कर बोर हो गयी तो मैंने अन्तर्वासना पर अपने लिए एक नए लंड की खोज की. कुछ ही देर में भाभी ने दो पैग खींचे और मटन की चाप उठाकर ऐसे चूसने लगीं कि जैसे लंड चूस रही हों.

मैं शायरा को किस करने में इतना खो गया था कि मेरी आंखें कब बंद हो गयी थीं, मुझे पता भी नहीं चला.

सेक्सी वीडियो बताओ जल्दी

तभी बड़े चाचा ने मुझे आवाज दी- साहिल, तुम अभी हमारे साथ एयरपोर्ट छोड़ने चलना. दवाई लेकर मैं वहाँ से बाहर निकली तो वो बूढ़ा भी मेरे साथ ही बाहर आ गया और मुझसे बात करने लगा. मैंने अपने कुत्ते नौकर श्यामू से पूछा- ये क्या कर रहा है मादरचोद!तो वो बोला- मालकिन, आपकी गांड की मालिश कर रहा हूं.

मेरी जवानी ऐसी है कि मर्द अगर देख ले तो पैंट में ही उसके लंड का पानी निकल जाए. मुझे लगा कि मेरी जानेमन सुनकर थोड़ा नखरे करेगी, पर उसने तो मुझे ही सकते में डाल दिया. अब मैं अपनी न्यू अन्तर्वासना कहानी मतलब चुदाई के किस्से पर आती हूँ.

तभी दादी ने अपने चूतड़ ऊपर उठाये और चूतड़ों के नीचे एक तकिया रख दिया.

नहीं तो डाँट मार भी पड़ सकती है और पेमेंट कटेगा सो अलग।नेहा ने होटल का स्विमिंग एरिया भी दिखाया. वो धीरे धीरे दर्द को सहती हुई आगे आई और उसने मेरे मोटे लंड को अपनी कसी हुई चूत में सैट कर लिया. फिर वो बोली- मैंने दिवेश से बोला कि मैं दूसरा बच्चा करना चाहती हूँ.

मुझे तो मालूम ही था कि वो जाग रही है … पर फिर भी मैंने पूछा- तुम जाग रही थी?पूजा- मैं तो कब से जाग रही थी … पर बोली नहीं, मैं बोलती तो मजा ख़राब हो जाता. इधर मेरा लंड पैंट के बाहर निकला हुआ था ही, मैं रोहिणी से चिपका हुआ होने के कारण उसकी चुत पर ऊपर से नीचे हिला दिया. मैं पिछले 5 साल से अंतर्वासना कहानियों का नियमित पाठक हूं।यह मेरी पहली कहानी है। अगर लिखने में कुछ गलती हो जाए तो माफ करना।कहानी मेरी और मेरी बहन की है.

मेरा हाथ उसकी गर्दन से लेकर उसकी चूचियों से होता हुआ उसकी चूत तक सहला कर आ रहा था. उसे इन सब चीज़ों के बारे में कुछ भी पता नहीं। कसम से!रमेश मन ही मन सोचता है ‘रन्डी तुझे झूठी कसम खाने की कोई जरूरत नहीं, मैं तुम दोनों सहेलियों के रन्डीपन को जान गया हूँ।’तभी रेहाना बोली- अंकल मुझे माफ़ कीजिये.

फिर मैंने सोचा कि मुझे इसकी खातिरदारी का ऐसे गलत फायदा नहीं उठाना चाहिए. अब आगे:रिया गार्डन की बेन्च पर बैठ कर सोच में पड़ी गयी- हे भगवान, डैड रेहाना तक भी पहुँच गए। यह तो बहुत बुरा हुआ। रेहाना जैसी मिडिल क्लास रंडियों पर डैड कहीं अपनी सारी दौलत ही ना लुटा दें। हे भगवान अब मैं क्या करूं, कैसे डैड को रोकूँ?उधर रमेश अपने कमरे से फ्रेश होकर निकला. मैंने उसे उठा कर पलंग पर लिटा दिया जहां दीपक बेसुध पड़ा था।मैंने भाभीजान की दोनों टांगों को फैला कर चूत के दर्शन किए.

अपनी गांड और चूत चटवाते हुए रिया भी मज़े में सिसकारी लेने लगी- आह्हम … आआ … डैड … ओह्ह … माय गॉड … आआऊ … अम्म … ओह्ह जोर से।कुछ देर ऐसे ही चाटने के बाद रमेश खड़ा हुआ और अपने लंड पर थूक लगा कर उसने रिया की गांड में लंड को लगा दिया और एक धक्के के साथ अपना लंड रिया की गांड में पेल दिया.

मैंने अपने दोनों हाथ धीरे से उसकी गांड पर रखते हुए उन्हें दबा दिया. मेरी 49 वर्षीय आंटी (जो मेरी मां की तरफ से थी) ने अपने शराबी पति को कुछ साल पहले ही खो दिया था. मेरे लिए सब नया था, पहली बार किसी औरत से मुझे चरम सुख की प्राप्ति हुई थी और अब मैं पहली बार किसी औरत को चरम सुख देने की सोच रही थी.

धीरू अंकल के किसी दोस्त ने मेरी तरफ इशारा करके धीरू अंकल से कुछ पूछना चाहा. भाभी बोली- राज, एक बार मुझे नीचे गिरा कर रगड़ कर चोद दो ताकि कुछ चैन पड़े, बाकी काम फिर रस लेकर सारी रात करते रहेंगे.

हाईईईई संजय … कहां थे अभी तक यार …मैं- जानेमन, अब तो मैं सारी उम्र तुम्हारी चूत को भोगूंगा … तुम्हारे चिकने बदन को खा जाया करूंगा जानेमन. मैंने कहा- मतलब!वो बोली- जिस तरह मेरी बहन तुम्हारी सेवा कर रही है, उसी तरह तुम्हारा भाई मेरी सेवा कर रहा है. घर आकर मैंने अपनी सिम तोड़ कर फेंक दी और मेल आईडी भी बंद कर दी, जिससे रवि मुझे कॉल न कर सके.

आदिवासी सेक्सी हिंदी वीडियो

मैं आप सभी का शुक्रगुजार हूँ कि आप सभी ने मेरी पिछली कहानीखूबसूरत किरायेदार भाभी को पटा कर चोदाको बहुत प्यार दिया.

वो भी मेरा साथ देती रही।तभी मैंने उसकी टीशर्ट में हाथ डाल कर उसके मम्में पकड़ लिये और जोर से दबा दिया।अब मैंने उसकी गर्दन पर किस किया तो वो कसमसा गयी. मैं काफी देर वैसे ही उल्टी लेटी रही और विजय मेरे ऊपर ही लेटा रहा और मुझे चूमता रहा. ऐसी भूखी और प्यासी फुद्दी देखकर उसका लंड भी छलांगें मारने लगा और एक ही धक्के से पूरा मेरी फुद्दी में घुस गया.

फिर उस दिन हम दोनों ऐसे ही नॉर्मल रहने लगे … लेकिन हमारे पति लोग नार्मल नहीं थे. वो बोली- चलो जल्दी से चाय पियो और फ्रेश हो कर ब्रेकफास्ट करने आ जाओ. न्यू सेक्सी व्हिडिओ सेक्सीतरबूज के आकार की चूचियों वाली वो भारी भरकम औरत पीछे खड़ी हुई मेरी मां के साथ कुछ बात कर रही थी.

यह कहानी मेरी असल जिन्दगी में हुई घटना पर ही आधारित है जो किसी सपने की तरह एकदम से खत्म भी हो गयी. कमरे का वातावरण ऐसा शांत था मानो किसी तूफान के निकल जाने के बाद महसूस हो रहा हो.

इस सेक्स कहानी के अगले भाग में लंड चुत के प्रेम और सेक्स कहानी को रसीले अंदाज में लिखूंगा. उसके बाद मेरा मोबाइल खोने की वजह से मुझे पैसों की जरूरत ने और उसके सीनियर से उसकी जॉब बचाने के लिए रंडी की तरह चुदना पड़ा. मैंने बिना सोचे उनके होंठों पर होंठ रख दिये और उनके कोमल गुलाबों का रस पीने लगा.

मैंने उत्तेजित होकर अपने लंड को सहलाना शुरू कर दिया था और अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था. तो दूसरे सलीम साहब बोले- अरे मोहन भाई … ये तो तगड़ी घोड़ी है, एक सवार की सवारी से नहीं थकती, इसे तो लगातार सवार बदल बदल कर भगाना पड़ेगा, ताकि इसको भी मज़ा आए और हमें भी. दोस्तो, मैं अमित अपनी साली की चुदाई की कहानी के पिछले भागलॉकडॉउन में चूत कैसे मिलीमें आपको बता रहा था कि किस तरह से लॉकडाउन में मैं अपनी ससुराल में फंस गया था और एक दिन मेरी साली मेरे लंड को चूसने लगी थी.

फिर हम लोग घर आ गये।अब मुझे बस एक बार अस्पताल जाना था क्योंकि डाक्टर ने मम्मी से बोल दिया था एक सप्ताह बाद आकर चेक करवाने को।इसी बीच गाँव से पापा का फोन आ गया तो भैया मम्मी को लेकर गाँव चले गये.

कैसे करूँ?”क्या कैसे करना है, मैं आपको समझा दूंगा, एक बार मल्लिका इस खेल में शामिल हो गई तो हमारी मौज ही मौज है. मेरी समझ में ये आ रहा था कि किसी को चोदने से ज़्यादा प्यार की भावना होना कितना ज़रूरी होता है.

मैं अंधेरे में तीर चला कर बोला- मुझे अभी अर्जेन्ट जाना है … एक घंटे बाद मुझे जरूरत ही नहीं रहेगी. वो मेरे साथ बैठ गईं और बोलीं- तुम्हें मुझमें क्या पसंद आ गया है, जो तुम मेरी और अपनी उम्र का ख्याल भूल गए हो. अब्बू अम्मी के चले जाने के बाद जायदाद को लेकर परिवार वालों के साथ हमारा बहुत विवाद हुआ.

अब मैंने हम दोनों के रात को मिलने का हर रास्ता साफ कर दिया है, मैं थोड़ा बाथरूम में फ्रेश हो लेती हूँ, तुम्हें 15- 20 मिनट बाद बुलाती हूँ. मैंने नेहा के होंठों को अपने होंठों में लेकर उसकी चूत को अपने लंड से स्पीड से चोदना शुरू कर दिया और ऊपर से संजय भी उसके चूतड़ों पर चपत लगाता हुआ उसकी गांड को चोद रहा था. कुछ देर होंठों को चूसने के बाद रमेश नीचे खिसक गया और उसके चूचों को मुंह में लेकर चूसने लगा- उम्म … पुच … पुच … आह्ह … ऊंह … हम्म … आह्ह … क्या बूब्स हैं तेरे रेहाना.

हिंदी में जंगली बीएफ उसने अपने चूतड़ों को दोनों हाथों से फैला लिया और अपनी गांड का काला छेद दिखा दिया. लगभग आधे घंटे बाद भाभी ने बेडरूम का दरवाजा खोला तो मैं अंदर चला गया.

एक्सएक्सएक्स हिंदी सेक्सी video

मगर उस बेदर्दी ने अपने मोटे हथियार को मेरी प्यारी सी कमसिन गांड में डाल दिया और मेरी गांड मारने लगा. वरना बाकी कहानी को तो पढ़कर अलग से ही पता चल जाता है कि यह कहानी काल्पनिक है।फिर मैं अपने उस दोस्त से दोबारा भी मिली और फिर हमारे मिलने पर क्या क्या हुआ मैं आपको इस कहानी के अगले भाग में बताऊंगी. मैं मन ही मन खुश हो रहा था कि आज मेरे लंड ने एक मजेदार चूत फ़ाड़ दी।मैंने उसकी एक टांग अपने कंधे पर रख ली; लंड को चूत में घुसा दिया और झटके पे झटके मरने लगा.

और राज जी ने मुझे बताया था:अगर आप चाहते है कि आपकी वाईफ खुल कर सेक्स करे, स्वेप करे, थ्रीसम करे. मैंने नेहा को कहा- क्यों तेरी गांड नहीं फटी क्या?मेरी बात का जवाब देती हुई गीत ने नेहा को सुना कर कहा- इसकी कहाँ फटी है, इसके अंदर तो दो दो लौड़े भी एक साथ चले जाएँ तो भी न फटे. सेक्सी वीडियो नौकरानी वालीपूरा कमरा चुदाई की आवाज से गूंज उठा- आहह हहह आहहह ऊईई ईईई ऊईईईई चोदो चोदो चोदो मुझे लेलो मेरी आहहहह आहहह चोदो और चोदो।अब वो भी गांड को आगे पीछे करने लगी.

अब भाभी बोलीं- देवर जी आप देर मत करो … आज मेरी गांड का भी उद्घाटन कर ही दो, मुझे नहीं पता था कि इसमें भी इतना मजा आता है … नहीं तो मैं कब का आपका लंड अपनी गांड में घुसवा चुकी होती.

मैं- तुम बहुत दिनों बाद ऐसे बातें कर रही हो ना?वो- क्यों? और तुम्हें कैसे पता?मैं- तुम्हें पहले जब भी देखा था तो एटिट्यूड के साथ देखा … ना किसी से बात करना और ना हंसना, पर आज बिल्कुल अलग लग रही हो. मुझे याद थे रानी के कहे हुए साफ साफ शब्द कि चुदाई की पूरी क्रिया उसके हिसाब से होगी.

कुछ देर यूं ही देखने के बाद मुझसे रहा नहीं गया और मैंने हिम्मत करके उसके पेट को छू लिया. उसके बाद अनु ने कैंची से बाल सैट किए … और पीछे से, साइड से, वो बाल काटने लगे. अचानक उसकी नज़र मेरी खिड़की की ओर आई और मुझे मेरा लन्ड हिलाते देखकर वो चौंक गई! मगर अगले ही पल उसने अनजान बनने का नाटक किया जैसे उसने कुछ देखा ही न हो.

बैठे हुए दीपिका की साड़ी में से उसके सुडौल पट और भरी हुई जाँघें और उसका सुन्दर चिकना, सेक्सी पेट दिखाई दे रहा था.

मेघा ने अपनी पैंटी को पूरी नीचे खींच दिया और उस लकड़ी के डेस्क पर जा बैठी. मैंने उसके टॉप को ऊपर उठा कर चुचियों को बाहर निकाला और उन्हें दबाने और मसलने लगा. मगर उसे मुझ पर भरोसा था कि मैं उसे ज्यादा तकलीफ नहीं दूँगा।अब मैं भी जल्द से जल्द उसे चोद देना चाहता था और उसको शांत कर देना चाहता था.

सेक्सी एचडी वीडियो चाइनीसमैंने कहा- अब नीचे जाओ और बसन्त अंकल को साड़ी उठा कर दिखाओ कि मैं चूत और कच्छी दोनों फड़वा कर आई हूँ. वो रुक रुक के धक्के मारने लगा और अपनी हर एक पिचकारी को मेरे अंदर तक भेजने की कोशिश करने लगा.

संगीता की सेक्सी वीडियो

साथ साथ में बोले जा रही थी- साले … राजे मेरे मुफ्त में खरीदे हुए दास … ले अपनी मालकिन के पांवों का स्वाद चख … सूंघ और चाट … सूंघ और चाट कमीने … तेरी माँ की चूत हरामी … मुंह खोल भोसड़ी वाले … खोल मुंह. मगर बिना लंड चुत के ये सब कितनी देर तक मजा देता!अब मुझे रश्मि की चूत को चोदना ही था. गीत को अपने ऊपर आने का इशारा किया तो गीत भी संजय के लंड से उठकर आ गयी.

गीत के ऐसा करने से संजय ज़ल्दी ही उतेजित हो गया था और इधर मैंने भी नेहा को अपनी गोद में बिठा कर उसके मम्मों को दबाना शुरू कर दिया था. धीरे धीरे जब उसका काला नाग मेरी ज्वालामुखी के सुरंग में पूरा घुस गया, तो वो रुक गया और मेरी तरफ देखने लगा. रोहिणी स्टूल खींच कर मेरे सिराहने आकर बोली- अभी दस बजे मैं घर चली जाऊंगी … शाम को फिर से आऊंगी.

इस बीच मेरी हालत काफी ठीक हो गई थी और अब मुझे अपनी पुरानी आदतों की याद आने लगी थी. वो तो मुझे पता था कि ऐसा कुछ करते समय बिस्तर पर दाग लग जाते हैं … इसलिए मैं पहले ही अपने साथ अपनी बेडशीट लेकर आया था. पर मेरा मन अभी झड़ने का नहीं था तो मैंने उनको बेड पर चित लिटाया और मैं उनके ऊपर आकर वापस उनकी चुत में अपना लंड घुसा कर धीरे धीरे चोदने लगा.

मैं रश्मि के गोल-गोल मम्मों के साथ-साथ उसके तने हुए दोनों निप्पलों को मसल रहा था. मैंने उससे पूछा- तुम क्या चाहती हो और मेरे साथ ऐसा क्यों कर रही हो?उसने उत्तर दिया- तुम तो अपना बदन ऐसे छुपा रही हो, जैसे मैंने कभी तुम्हें नंगी या चुदते हुए नहीं देखा.

मैं स्क्रॉल करता गया और मुझे एक से बढ़कर एक सेक्सी वेबकैम मॉडल मस्त कामुक पोज में चुदासी हुई नजर आईं.

मेघा- बहुत अच्छे! बताओ कि तुम्हारे लंड को ऐसा क्या दिखा कि वो तुम्हें ऐसे परेशान कर रहा है?मेघा को मैंने उस सेक्सी भाभी के बारे में बताया जो मेरी दुकान पर ब्रा-पैंटी लेने आई थी. सेक्सी १८अगर मेरा एहसान मान कर चुकाना ही चाहती है तो विजय का लण्ड हमेशा खाती रहना. पाली सेक्सी वीडियो पिक्चरमगर शाही सर बोले- ओके मोहन, तू चाहे तो अभी शाहीन मैडम के साथ सेक्स कर सकता है, मगर करेगा हम सबके सामने … यहीं पर. मैं कुछ देर उसकी आंखों में देखने लगी और अपने हाथ पांव ढीले करने लगी.

आंटी पूछने लगी- क्या बात है, कुछ हुआ है क्या?मैं- आंटी मैंने सुबह नहाने के बाद गलती से तुम्हारी पैंटी पहन ली.

मैं उनकी बातों को बड़ी धैर्यता से सुन रहा था और वे मुझे सब बताती जा रही थीं. मेरी ज़िन्दगी पर, मेरे तन पर दिवेश का पूरा अधिकार है … पर मन पर सिर्फ तुम्हारा हक़ है रमित. मैंने भोलेपन से पूछा- क्यों क्या हुआ?वो- नहीं … ऐसे ज़्यादा अच्छा लगेगा.

खासकर तब तक नहीं जब तक कि वह अपनी चूत में तुम्हारी पूरी मुट्ठी ही न ले ले. आगे भाग में इस सेक्स कहानी को पढ़ कर आपके लंड से पानी जरूर निकल आएगा. शायद ये शायरा के पति ने भेजा था … क्योंकि उस पर एक तरफ तो यहां का पता था, मगर दूसरी तरफ सऊदी का कोई पता लिखा हुआ था.

सेक्सी इमेज दिखाइए

[emailprotected]हिंदी सेक्ससी कहानी का अगला भाग:तन्हा चूत की प्यास लंड से बुझी- 3. शुरू-शुरू में मेरी बीवी चुदाई के समय थोड़ा नखरा करती थी, लेकिन अब वो भी मस्त चुदवाती है. मैंने उनके मुँह से चुदने की बात सुनकर कहा- कोई बात नहीं … मैं आपके लिए ही आया हूं … पहले चुद लीजिए.

इतने में दीदी बोलीं- तेरा पति तो मेरी पूजा कर भी चुका है … और प्रसाद भी खा चुका है.

आँटी ने ऐसे ही दो तीन बार किया तो मैं बोला- आँटी, आपको तो कमाल का तरीका पता है, कभी बसन्त अंकल का भी ऐसे ही दबाया था क्या?आँटी बोली- एक बार किया था, परन्तु इतना छोटा था कि भींचने से बाहर ही निकल गया.

क्योंकि शायरा की चुत देखने में ही इतनी तंग लग रही थी कि मानो बस एक लाईन भर में ही उसने अपना सारा अनमोल खजाना छुपा रखा हो. मेरी गोरी नंगी जांघें भाईजान के सामने थीं और मुझे देखकर उनका मौसम बन रहा था. मोहनी सेक्सीजब मेरा होने वाला था, तो मैंने विनीता से पूछा- मेरा होने वाला है, कहां निकलूं?वो कहने लगी- मेरी चूत में ही छोड़ दो.

मैंने भी निशी की बात को ध्यान से सुना और सिक्के के दूसरे पहलू को देखना शुरू किया. आह्ह … फक यू … आह्ह चुद साली रंडी … फाड़ दूंगा तेरी गांड के छेद को मैं. अब पोजीशन ये थी कि नेहा बेड पर लेटी हुई थी और संजय उसका सिर गोद में रख कर नेहा के होंठ और जीभ चूस रहा था और वो एक हाथ से नेहा के मम्मों को भी मसले और सहलाए जा रहा था.

अब अगले भाग में आपको लिखूंगा कि कोविड वार्ड में चुत चुदाई कैसे हुई और कौन कौन लंड के नीचे आया. उसने मेरी नाइटी उठाई और दरवाजा खोल कर कमरे की सारी बत्तियां जला दीं.

अब आगे होमोसेक्सुअल स्टोरी:कविता लगातार एक ही लय में प्रीति की चूत में धक्के मारे जा रही थी और प्रीति भी उसी लय में कराहती हुई धक्कों का मजा ले रही थी.

दस मिनट बाद रश्मि उठी और बलखाती हुयी गांड के साथ बाथरूम में घुस गयी. कुछ ही देर बाद जिया ने नीचे से अपनी गांड उठा उठा कर लंड लेना शुरू कर दिया. कुछ देर बाद मैडम लंड पकड़ कर बोलने लगीं- आप इसे इसके साथी से मिला दो.

देवर भाभी सेक्सी इंडियन अनु थोड़ी देर बाद चेयर पर बैठ गए और बोले- हीनू, मेरे रॉकेट पर बैठ कर इसे अन्दर ले लो. मैं मन में बहुत खुश हो रही थी कि आज रात को मेरी फुद्दी पेलने वाला कोई ना कोई लंड मुझे मिल ही जाएगा.

एक दिन मेरी मम्मी को जरूर काम से कुछ दिनों के लिए मेरे मामा के घर जाना पड़ा. मैं अब उसकी मोटी-मोटी रानों को चूमने लगी और योनि के किनारे वाले हिस्से को जुबान से चाटने लगी. अब आगे की हिंदी कामवासना स्टोरी:अंधेरे में ही हम दोनों एक दूसरे की बांहों में आ गये और एक दूसरे के होंठ चूसने लगे.

आम्रपाली दुबे की नंगी तस्वीर

मौसी हम सबके साथ काफी फ्रेंडली रहती हैं, इसलिए मैं खुल कर बोल पाया. कभी कभी उसकी चूत की दोनों फांकों को अपने दूसरे हाथ से अलग अलग करके उनकी साइड पर जीभ से चूस लेता तो कभी कभी मैं नेहा की चूत और गांड के बीच के भाग पर जीभ से चाट लेता. रोहन मुझे नंगी देख कर चोदने के मूड में थे, मगर मैंने उनका मन खाने की तरफ मोड़ दिया था.

इसलिए मैंने उससे उसके अतीत की कुछ बातें की और उसके समीप बैठ कर उसका भरोसा जीतते हुए उसकी वासना को जगाने का प्रयत्न करने लगा. वो रुक रुक के धक्के मारने लगा और अपनी हर एक पिचकारी को मेरे अंदर तक भेजने की कोशिश करने लगा.

मैं इसमें अनुभवी नहीं हूँ पर ट्राइ ज़रूर करूंगा, तुम कोई पुरानी चादर फर्श पर बिछा लो और लेट जाओ.

अब मैंने उनसे उनकी पिक मांगी, तो उन्होंने अपनी दो-तीन पिक मुझे भेज दीं. भावना ने अपने उरोज मेरे अधरों पर टिकाए ही थे कि मेरी जीह्वा ने बाहर निकल कर उसे ऐसे चाटा, मानो घर का मुखिया घर के द्वार पर उसका स्वागत करने निकली हो. वहां जाकर मैंने उसकी दोनों चाचियों की तीन दिन तक होटल में जम कर चुदाई की.

कुछ देर के बाद उसने मुझे अपनी बांहों में उठाया और सोफे पर बिठा दिया. मनु ने मुझे दीवार की ओर मुँह करके खड़ा कर दिया और मेरी एक टांग चेयर पर रखकर मेरी गांड को थोड़ा सा ऊपर किया और उंगली से मेरी गांड में क्रीम लगाना स्टार्ट कर दिया. मेरे पाठक और पाठिकाएं जो मेरी कहानियों का बेसब्री से इंतज़ार करते हैं, उन्हें पूरा पढ़ते हैं और मुझे मेल्स करते हैं, उनका बहुत बहुत धन्यवाद.

मैंने उससे पूछा- क्या हुआ मेरे कुत्ते?वो बोला कि मालकिन अब मैं आपकी इस गदराई हुई चूत की लंड से मालिश करने जा रहा हूं.

हिंदी में जंगली बीएफ: मुझे एक ही ख्याल आ रहा था कि अगर मैं आज चूका तो फिर शायद कभी भी सलोनी भाभी के प्यार को ना पा सकूंगा. मुझे एक शरारत सूझी और मैंने कहा- देखिये, आपको तो पसन्द है, लेकिन यह फ्लैट तो मैंने किसी और को दे दिया.

सलोनी भाभी मेरे लंड को अपनी छूट में जड़ तक डाले हुए दोनों टांगों को मेरी कमर में लपेटे मेरी बांहों में हवा में झूल रही थीं. उसे रोते देख कर मैंने उससे पूछा- अनु रो क्यों रही है?अनु बोली- सच में, जिन्दगी में आज ही मेरी असली चुदाई हुई है. सेशन खत्म होने से पहले अन्जना ने मुझे टिप्स दिये कि कैसे मैं अपनी आंटी की चुदाई कर सकता हूं और कैसे उसके साथ मस्ती भरा सेक्स कर सकता हूं.

अब इस समय पैड कहां से लाऊं … आप रास्ते में बाजार से‌ खरीद लेना!” मैंने कहा.

मैं खा नहीं जाऊंगा तुम्हें!वो मेरे पास आकर बैठ गयी और मैंने उसको अपनी गोद में अपनी जांघ पर बिठा लिया. मैंने अपने मुंह की तरफ इशारा करके बताया कि मुंह तो बंद है मेमसाब की चड्डी से. क्योंकि खुशी का पूरा ध्यान मुझे पर केंद्रित हो गया था और मेहमानों तक ये संदेश पहुंचना गलत प्रतीत हो रहा था.