बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात

छवि स्रोत,लड़कियां ऑनलाइन बुकिंग

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ अंग्रेज वाला: बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात, लगभग दस मिनट के बाद धक्के के बाद भाभी जी होश में आईं और अपना मुँह खोल कर मुझे किस करने लगीं.

हिंदी सेक्सी वीडियो आदिवासी

लेकिन लंड महाराज आगे हो रहे थे, पीछे निकालने में अभी भी चुत बहुत टाइट महसूस हो रही थी. डीपी चेंज करोमगर मैं नीचे स्क्रॉल करता जा रहा था, तभी मेरी नजर 21 साल की तान्या पर गयी जो एक बहुत ही सेक्सी और प्यारी वेबकैम मॉ़डल थी.

दो घंटे से बातें करते-करते शेख़र और धारा एक दूसरे से काफ़ी हद तक खुल चुके थे. पंजाबी सेक्सी वीडियो सेक्सीपापा मेरा एक दूध हाथ में पकड़ कर दबाते हुए बोले- अरे मेरी जान, अगर तू गालियां नहीं देती … तो तुझे चोदने की मेरी कैसी हिम्मत होती और पता नहीं कब तक मुझे तेरी पैंटी पर ही मुठ मारनी पड़ती.

वो कराहटों के साथ सपना अपनी गांड को आगे पीछे करने लगी।कुछ देर बाद उसको चुदाई में मजा आने लगा.बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात: मुझे सबसे ज्यादा मजा उसकी गांड मारने में आया क्योंकि उसकी गांड बहुत टाईट थी.

इसके बाद के सपने में मैं देख रहा था कि एक बार चुदाई होने के बाद अब तो हर रोज मैं पिंकी भाभी की चुदाई अलग अलग तरीकों से करने लगा था.इधर अमन अपने तीसरे धक्के के लिए तैयार था … उसने जोर से झटका दिया और इस बार अमन का पूरा लंड मेरी बहन रीना की चूत में घुस गया.

सेक्सी वीडियो अहमदाबाद - बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात

मैंने फिर एक बार फिर से मुठ मारी और अपनी चड्डी बनियान उतार कर मम्मी के पास नंगा ही लेट गया.पापा का गुस्सा देखकर मैं अपने पलंग पर चला गया और चुपचाप आंखें बंद करके लेट गया.

ये बात है सन 2007 की।लगभग पैंतीस छत्तीस साल की एक महिला रजनी एक सोफे पर बैठी किसी का इंतजार कर रही है।कुछ ही देर में एक लड़की आती है नाम है मानसी।वो आयी और बैठते हुये पूछा- आप ठीक हो?ओह हां, ठीक हूं, मैं बस कुछ सोच रही थी।” हड़बड़ाते हुये कहा उसने. बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात दीदी एकदम से चौंक गईं और बोलीं- तूने कब देखा है?मैंने कहा- जब आप बाथरूम में अपने दोनों छेदों की प्यास बुझाती हैं.

उसने अपना पैंट उतार कर हैंगर पर टांग दिया और अंडरवियर घुटनों तक करके खाट पर लेट गया.

बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात?

शेखर जानता था कि लड़के अक्सर लड़कियों के नाम से मस्ती किया करते हैं इसलिए ज़्यादा सीरीयस ना होकर हल्के-फुल्के लहजे में बात शुरू की. इन बातों से मेरा ध्यान चुदाई से हट गया था इसलिए लण्ड थोड़ा सुस्त हो गया, और मूड भी चेंज हो गया. बुर पर लण्ड का स्पर्श पाते ही पायल बड़ी मादक आवाज में बोली- विजय मेरी जान!पायल के चूतड़ों को मैंने अपनी ओर दबाया तो मेरे लण्ड का सुपारा उसकी बुर के मुखद्वार में फंस गया.

हम दोनों भाई वैसे तो निकम्मे या नाकारा नहीं हैं, बस हमारी किस्मत कुछ अजीब है. मेरी चुदाई की तमन्ना बरकरार थी लेकिन मेरे पति के पास मुझे चोदने का वक्त ही नहीं था. उसने मुझे खड़ा करके मेरी फ्रॉक नीचे से पकड़ते हुए ऊपर की ओर से निकाल दी.

सभी पाठकों को नमस्कार। एक बार फिर से अपनी रियल हिंदी सेक्स स्टोरी में आपका स्वागत करता हूं. उन दिनों सर्दी के दिन थे, सो एक दूसरे के जिस्म की गर्मी हम दोनों को ही बेहद सुकून दे रही थी. चुत में लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर चल रहा था और लौंडिया भी गांड हिला हिला कर लंड ले रही थी.

मैं- पक्का भाभी … मेरे नंगे सोने से आपको कोई दिक्कत तो नहीं होगी ना!भाभी- नहीं रे … तू बिंदास नंगा सो जा … मुझे कोई दिक्कत नहीं होगी. आपको हॉट देसी औरत चुदाई कहानी कैसी लगी … बताने के लिए मुझे मेरी मेल पर अपनी राय जरूर भेजिएगा.

सामने से पैंट इतनी टाइट थी कि चाची की चूत उसमें से फूलकर बिल्कुल बाहर दिखाई दे रही थी.

मैंने दीदी की गीली पैंटी को उठा लिया और उसे उल्टा किया, तो देखा कि जहां पर दीदी की चूत का छेद था … वहां पर सफ़ेद मलाई सा चूत का पानी लगा हुआ था.

वो कभी अपनी जीभ को पूरे सुपारे पर गोल गोल घुमा देती, तो कभी सुपारे के मुँह पर अपनी जीभ की नोक से कुरेदने लगती. गरम औरत की गांड से बहते खून के निशान मुझे अपने लंड पर दिखने लगे थे. फिर उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी।वह मेरा लौड़ा चूसते समय मेरी आँखों में देख रही थी.

अब ऐसा तो हो नहीं सकता कि समीर गया … उसका पेटीकोट उठाया, चूत में लंड डाला … चोदा और चला आया. मैंने उसकी चूची दबाकर और चूत सहला कर उसको गर्म किया और वो चुदने के लिए तैयार हो गयी. वो बोलीं- अरे भईया आप कब आए?मैंने बोला- बस अभी ही, मगर आप कहां थीं?भाभी बोलीं- मैं जरा वाशरूम में गई थी.

मानस की आंखों में आंखें डाल कर सोनम अब उसका लौड़ा साफ़ कर रही थी और मानस उसको देख मुस्कुरा रहा था.

यामिना चुदते चुदते, हिलते हुए मेरी आँखों में देखकर मुस्कराई और आंखों के इशारे से सहमति दे दी और बोली- पहना … देना. बौराया सा मैं भाभी के ऊपर चढ़ा हुआ कभी उनके होंठों को चूमता चूसता तो कभी उसके कानों के पीछे अपनी जीभ से सहलाने लगता, तो कभी उनकी गर्दन को जीभ से चाटते हुए गीला कर रहा था. कभी दूर तक तैर जाता, तो बधाई देने के बहाने मेरे मुँह चूम लेते और जोर से होंठ काट लेते, गाल रगड़ लेते.

अब मैं मार्केट में जाता, तो कॉल करके बोलती- जल्दी आओ, मुझे खुजली हो रही है. मेरे वीर्य से प्राची का मुँह पूरा भर गया; होंठों की कोरों से भी बाहर बहने लगा. जैसे ही मेरे लंड ने भाभी की गांड को टच किया, तो भाभी फटाफट से हट गईं और गांड मरवाने से इन्कार करने लगीं- तुम चुत मार लो … गांड मरवाने बहुत दर्द होता है.

उनकी दबी हुई आवाज में मादक सिसकारियां उनके आनन्द की पराकाष्ठा को बयान कर रही थीं.

प्रीति एक अमीर घर की लड़की थी और हम दोनों मिडिल क्लास के लड़के हैं. तभी विधि भाभी ने मुझसे कहा- साली दिन में कह रही थी कि चूत में बड़ी आग लगी है.

बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात उनके स्तन एकदम गोल और बड़े बड़े, ऐसे लगते हैं, जैसे पानी से भरे हुए दो गुब्बारे मचल रहे हों. अब मैं अपने लंड से रीना को गपागप चोद रहा था और उंगली से उसकी बेटी शालू को रगड़ रहा था.

बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात किंजल अपनी प्यारी सी नशीली आंखों से देख कर मुझे स्माइल पास कर देती. मैं उसे फोन पर ही ज्ञान बांटता रहता था और उसको अपनी ओर खींचने की कोशिश करता.

उस समय तक मेरी बहन रीना का कोई बॉयफ्रेंड नहीं था, ये मुझे मालूम था.

सेक्स सेक्स मारवाड़ी सेक्स

चाची ने मुझे देखकर मोंटू को बेड पर लिटा दिया और बड़े आराम से अपने मम्मे को शर्ट से ढक लिया. मैंने कहा कि इंसान की बॉडी में सबसे गर्म हिस्सा चुत और लौड़ा होता है. बहुत देर तक उसके नाज़ुक गोरे मम्मों को चूसने और काटने के बाद मैंने लिली को घोड़ी बनाया.

उसने मुझे 2 डब्बी ग्लिसरीन की देते हुए कहा- लो ये रखो, अब हम दोनों आगे भी मिलते रहेंगे. मैंने पूछा- आपकी और अमितेश की इतनी बहस क्यों होती है?श्वेता बोलने लगी- यार, वो मेरा ध्यान नहीं रखते हैं. नहीं तो मेरा पानी यहीं सबके सामने निकल जायेगा और मेरी ड्रेस गन्दी हो जाएगी!मेरी बात सुनकर वो चारों रुक गए.

जंगल सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक ट्रेनिंग में मेरी मुलाकात एक भाभी से हुई.

दोस्तो, आपको मेरी चुदाई की स्टोरी हिंदी में कैसी लगी मुझे कॉमेंट में जरूर बताइगा. बीस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद मैंने लंड का रस बाहर गिरा दिया और हम दोनों निढाल होकर लेट गए. रात को जब दोनों अपने कमरे में जाते तो उसकी सारी मस्ती और चिढ़ाने का बदला उसे मसल कर लिया करता था.

कुछ देर के बाद उसका पति बाहर आने लगा तो वो रुक गयी और फिर बाथरूम में चली गयी. जब मैंने रानी से मतलब अपनी चुत से मिलवाने को मना किया, तो वो लगभग रोते हुए बोला- क्यों इस पर जुल्म कर रही हो रूपा. उसके इस तरह से झूठ बोलने के कारण मैं भी मन ही मन खुश हुआ और मैंने सोचा कि शायद इसके मन में भी कुछ है मेरे लिये.

फिर मैंने यामिना से पूछा- क्या तुमने कभी चूची और चूत से शरीर की मालिश की है. मेरा हाथ डालने पर जूली कुछ नहीं बोली, उसने बस गर्म सांस छोड़ कर अपनी उत्तेजना दिखाई.

मैं कुछ सोचता, उससे पहले ही बुआ ने एक जोर की चीख के साथ अपने पैरों में मेरे सिर को जकड़ लिया और उनकी चुत से कामरस बहने लगा. फिर उन्होंने मुझे गोदी में उठाया और मेरी चूत अपने लंड पर सेट की और वो मेरे वज़न से अंदर चला गया और मेरी जान निकल गयी।वो मुझे ऐसे ही लेकर सोफे पर लेट गए और जोर जोर से चोदने लगे. मैंने उसको कहा- अपनी बहन को रंडी कहना मादरचोद, मैं यहाँ बस मज़े लेने आई हूँ!तभी उसके बराबर वाला बोला- सॉरी, ये तो चुतिया है.

अभी तक जिसने भी मेरी सेक्स कहानी को पढ़ा है, मैं उन लोगों का धन्यवाद करना चाहूंगा.

मगर पता नहीं क्यों मुझे उसके निश्छल बर्ताव पर प्यार आ गया और मैंने कहा- ठीक है, मैं तो आपका मन देख रहा था. यह मेरी अपनी खुद की सेक्स कहानी है, मॉम डैड सेक्स कहानी पढ़कर आपको बहुत मजा आया होगा. फिर मैंने कहा- चलिए अब आप मेरी चुदाई कीजिए! अब मुझसे और बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

मैंने उनसे कहा- देवर जी, बड़ी देर से समझ पाए … मैं तो कबसे आपका प्यार पाने के लिए तरस रही थी. फिर मुझे चूमने लगा वो!उसके होंठ मेरे होठों से शुरू होकर मेरी गर्दन से फिसलते मेरी चूचियों तक पहुंच गये।मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

होंठों से होंठों को चूसने का वो आनंद मुझे अपने पति के साथ इतना गहरा कभी नहीं लगा जितना इस लड़की के साथ लग रहा था. मगर वो सामने से बोला- क्या है ये हां … पास वाले रूम में स्नेहा है, कुछ तो सोच रंडी. ऐसे ही कुछ दिन निकल गए, फिर एक दिन कॉलेज में हम दोनों साथ में बैठे थे, तो एक बार फिर से मम्मों को बड़े करने की बात निकल पड़ी.

साउथ हीरोइन की सेक्सी

फूफाजी ने पुराने मकान के साथ पड़ी खाली जमीन पर और कमरे बनवा कर अपने मकान को बहुत सुंदर और बड़ा बना लिया था.

बहुत ही सुंदर गोल चेहरा, बड़े बड़े मम्मे, भरा हुआ शरीर!और एक फोटो में तो फ़लक ने बहुत ही छोटी नायलॉन की निक्कर पहनी थी जिसमें से उसके मोटे गोरे पट और सुड़ौल टांगें दिखाई दे रही थीं. हालांकि इससे भाभी को तकलीफ़ हो रही थी और उन्हें थोड़ी खांसी आने लगी. मैंने फिर से अपना लंड उसकी चूत पर रखा और इस बार उसकी कमर को कस के पकड़कर एक ज़ोरदार झटका दे दिया.

मैं सोचने लगा कि जब बाहर से आधे ही इतने मस्त दिख रहे हैं तो अन्दर से पूरे कितने मस्त और बड़े आकार के होंगे. हनीमून सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी माशूका जिसे सेक्स बहुत पसंद है, मेरे साथ सुहागरात मनाने की इच्छा जाहिर की. लन्ड देखना हैभींचते हुए वो सिसकार भी रही थी जो मुझे और ज्यादा उत्तेजित कर रहा था.

उसका पति उसको कॉल करता है, तो वो बोल देती है कि अभी नहीं बाद में बात करना, अभी वो किसी के साथ चुदाई करवा रही है. वो चिल्लाती, उससे पहले ही मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और चूसने लगा.

मोना भाभी को इस सबसे काफी अच्छा लग रहा था; वो आंखें बंद किए मादक आवाजें भरते हुए मजा ले रही थीं. मुझे अपने वीर्य की गति नीचे से उठकर ऊपर आती हुई महसूस होने लगी और कुछ ही झटकों के बाद मेरे लंड से मेरे माल की पिचकारी बाहर निकल पड़ी. मुझे भी कोई दिक्कत नहीं थी … मगर ये सब एकदम से हुआ तो कुछ समझ नहीं आया कि मामला क्या है.

अब मैंने उसके होंठों को चूमा और उसके कान की लव को झुमके समेत मुंह में लेकर चूसने लगा. कुछ देर के बाद उसका कॉल आया और उसने सॉरी बोलते हुए कहा- थैंक्स यार, तुमने पब्लिक प्लेस में मुझे रोका. फिर मैं थोड़ी इठलाते हुए बोली- अब आप इतनी मिन्नत कर रहे हो … तो मैं मना कैसे कर सकती हूँ.

मैंने भी झटकों की रफ्तार तेज कर दी और तेजी से लंड को अंदर-बाहर करने लगा.

मैं डर गया क्योंकि मैं इस समय गांव में था और जरा में बदनामी हो सकती थी. मैंने देखा कि वे चारों लड़के भी धीरे-धीरे करके मेरे पास ही आ रहे थे.

ख़ैर दूसरे दिन यानि रविवार की रात क़रीब 10 बजे दोनों फिर से चैट रूम में मिले और इस बार शेखर ने अपनी असमंजसता को दूर करने के लिए उससे फ़ोन पर या फिर वीडियो चैट पर आने को कहा. मैंने कहा- क्या बात है सर?वो बोले- तेरी भाभी किचन में फिसल गई है और चोट लग गई है. बॉस ने मेरी बीवी अंकिता को इशारा किया और वो सबके लिए पैग बनाने लगी.

ज्योति- तू मेरे साथ क्यों आई बीसी? मैं चिराग के साथ उसके रूम में जाने वाली थी, पर तूने तेरी बहन चुदवा ली. अब पापा ने एक जोर का झटका मारा तो उनका आधा लंड चुत में घुसता चला गया. फिर जैसे मुझे कुछ पता ही नहीं, ऐसा दिखावा करते हुए मैं प्राची को आवाज लगाते उसके बेडरूम में घुस गया.

बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात मामी भी सिसकारियां लेती हुई अपनी चुत में मेरे लंड के मजे ले रही थीं. मैंने इशारा किया कि कुछ चखना चाहिए, तो उन्होंने अपनी चुत में उंगली डाली और चुत रस से उंगली को भिगो कर मेरे मुँह में डाल दी.

जानी दुश्मन हिन्दी फिल्म

मैं भाभी की चूत के दाने को कभी कभी जब अपने होंठों में दबा कर खींचता तो भाभी गांड आगे करके उछल सी पड़तीं. दिनकर हंसने लगा- हां बेटा, तुझे तो मालूम ही है कि तेरी लुगाई तेरे लंड से पहले अपने ससुर के लौड़ों को खुश करेगी. उसके बाद मैंने चाची के पेटीकोट को उतारा और अंदाजे से जहां पर चाची के चूत और चूतड़ लगते थे उस जगह को अपने लंड से रगड़ा.

थोड़ी देर बाद मैं उठा, तो मैंने देखा कि भाभी गांड से खून और मेरा वीर्य एक साथ बाहर निकल रहा था. अब यामिना थोड़ी ऊपर उठी और मेरे कान के पास अपना मुँह ला कर बोली- सर, पैंट खराब हो रही है. अंग्रेजी सेक्सी ओपनपति से सेक्स में भी संतुष्टि ना मिली तो …नमस्कार मेरे प्यारे दोस्तो!आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद कि आप सब ने मेरी कहानीमेरा प्रथम समलैंगिक सेक्सको इतना सराहा।मुझे आप सबके संदेश मिले लेकिन मैं किसी को जवाब नहीं देती.

पर ये क्या कम था कि मेरी ड्रीमगर्ल (स्वप्नसुंदरी) रमिला चाची की चूत मुझे चोदने को मिल गई थी.

दीदी भी मस्ती से मुझे अपनी औलाद के जैसे दूध पिलाने लगीं और मेरे सर पर हाथ फेरने लगीं. ये जीजा साली Xxx कहानी लॉकडाउन से पहले जनवरी की एक सच्ची घटना पर आधारित है, जो मेरे साथ हुई.

लिली की शानदार खड़ी 34 साइज की चूचियाँ और सुन्दर जांघें गजब ढा रही थी. अब तो तू खुश होगा आखिरकार तुझे तेरे घर की दूसरी चुत भी चोदने के लिए मिल जाएगी. जिससे कुछ ही देर में मेरी बहन को भी मजा आने लगा … अब वह भी अमन का पूरा साथ दे रही थीं.

मैं यामिना की चूत में जबरदस्त तरीके से अपना लौड़ा चला रहा था और साथ ही साथ उसकी भारी, गोरी चूचियों को कभी हाथों से मसल रहा था और कभी चूस रहा था.

मैंने हंसने का कारण पूछा, तो बोली- मेरे उभारों को देख लिया हो … तो अपने चूहे को काबू में कर लो वरना चूहा शॉर्टस से बाहर आ जाएगा. ख़ैर दूसरे दिन यानि रविवार की रात क़रीब 10 बजे दोनों फिर से चैट रूम में मिले और इस बार शेखर ने अपनी असमंजसता को दूर करने के लिए उससे फ़ोन पर या फिर वीडियो चैट पर आने को कहा. मेरे प्यारे प्यारे पतियो, आपको मेरी पति के दोस्त से सेक्स की कहानी में मजा आ रहा है न.

गांव की गांव की सेक्सी वीडियोअशोक को पता था कि इसी दर्द में अगर उसने पूरा लंड घुसा दिया तो ठीक … वरना फिर नहीं होगा. फर्स्ट इयर में मेरी ज्यादा लड़कियां दोस्त नहीं बन सकी थीं, क्योंकि मेरा लड़कों का ग्रुप इतना बड़ा था कि मैंने उनकी तरफ ध्यान ही नहीं दिया.

luliment क्रीम

2008-09 में भारत में इंटरनेट पर सेक्स सम्बंधी कई सारी साईटें उपलब्ध थीं जो कामुक प्रवृति के इंसानों के लिए अपनी अंतर्वासना को शांत करने का अहम ज़रिया हुआ करती थीं. अब मेरी भी शर्म खुल गयी और मैं बोला- आप चाहोगी तो सब कुछ हो जायेगा. फिर दीदी मेरे पास आकर बैठ गईं और मेरे हाथ से सिगरेट लेकर खुद पीने लगीं.

टीटीआई ने हमें एक प्रथम श्रेणी के कूपे में बिठा दिया और कहा- मैं साथ चल रहा हूं कोई पूछे, तो मेरा नाम ले देना. मुझे ये सीन देख कर एकदम से झुरझुरी सी आ गई और मेरा लंड इतना कड़क हो गया था कि मुझसे रहा नहीं जा रहा था. तो मैं सीधे उसके बेडरूम में चला गया और जो नजारा मैंने देखा, उसके बाद तो मेरा प्राची को देखने का नजरिया ही बदल गया.

मेरी पिछली सेक्स कहानीपड़ोस की मस्त प्यासी भाभी की चुदाईको काफी लोगों ने पसंद किया था और मुझे काफी मेल भी मिले. उसने अपने दोनों पट मेरे दोनों पटों से बाहर कर लिए और चूत को लण्ड पर घिसाने लगी. सच बताऊं तो इतने दिन बाद चूत नसीब हुई थी … सलहज की चुदाई … वो भी इतनी टाइट कि लंड को बाहर निकाल कर अन्दर डालने में जो मजा आ रहा था, उसे मैं लिख ही नहीं सकता.

मुझसे अब रुका न गया और मैंने उठकर उसका ब्लाउज जल्दी से उधेड़ खींचा और उसकी चूचियों को भी नंगी कर लिया. भाभी ने अपनी नाइटी को उतार कर बाथरूम में डाल दी और 5-7 मिनट तक भाभी टब में बैठी रहीं.

एक के बाद एक 3-4 बार हमारी मुलाकात हो चुकी थी मगर अभी तक सब कुछ सिर्फ बातों तक सीमित था.

मेरे लंड का रस पूनम बुआ के मल से मिलकर उनकी गांड से बाहर बहने लगा था. kamukta.com ऑडियो स्टोरीमुँह से अपने आप धारा-धारा-धारा की आवाज़ें निकलने लगीं और 5-6 घंटे से जमा हुआ लावा लंड की नसों को चीरता हुआ छत की ऊंचाईयों तक फैल गया. सेक्सी वीडियो 2020 का सेक्सी वीडियोमेज पर एक क्रीम की शीशी रखी थी, उसे खोल कर उंगलियों में क्रीम लेकर मेरी गांड पर मलने लगे. मुझे भी वो अच्छा लगा तो …हैलो मेरे प्यार दोस्तो और मुँहबोले पतियो, मैं आपकी मतवाली जोरू मधु जैसवाल अपनी पेशेंट डॉक्टर सेक्स कहानी को आगे बढ़ाने आ गई हूँ.

मैंने अपना मुँह हटाकर हाथ से उसका पानी उसकी चूत और गांड पर मसल दिया.

फिर मेरे साथी को देख कर बोले- क्या एक ही जांघिया है बे … मेरा चलेगा?वह बोला- नहीं … ठीक है. फिर थोड़ा घी लंड पर भी लगा लिया और अब गांड को दोनों हाथों से चौड़ा करके लंड को गांड में सैट कर दिया. लेकिन उससे पहले आप सभी से मैं एक बात कह देना चाहती हूं कि मेरी सभी कहानियां सच्ची होती हैं अपनी काल्पनिक कहानियों के शुरुआत में ही मैं उसे काल्पनिक कहानी बता देती हूं.

मुझे अपनी गांड खुली खुली महसूस हो रही थी।इसके बाद में कई बार राहुल के पास गया और अपनी गांड मरवाई. मैं अपनी टी-शर्ट और शॉर्ट्स पहनकर उसके फ्लैट पर पहुंच गया और किचन में चाय बनाने लगा. चाची मुझे देख कर कहने लगी- देख राज, ये मेरी शादी के वक्त की पैंट है, देखो कितनी टाइट हो गई है, अब फंसती ही नहीं है, इसका आगे से बटन भी बन्द नहीं हो रहा, तुम जरा हेल्प कर दो.

वनमानुष सेक्स वीडियो

जब उनकी अच्छी तरह रगड़ गई, तो बोले- यार तेरा लंड है या हथौड़ा … साली गांड का कचूमर निकाल दिया. बात यहाँ रह कर करें या वहां … बात तो एक ही है।उसने कहा- यहाँ तुम्हारे बिना एक-एक दिन काटना मुश्किल है और तुम हो कि समझते ही नहीं कुछ भी करो बस जल्दी से जल्दी यहाँ आ जाओ. मैंने उसका इंटरव्यू लिया और फिर उसका प्रैक्टिकल लेने के बहाने उसे अपने रूम में बुलवाया.

मैं भी उस रात की घटना को महज ठंड से बचने के लिए किए उपाय समझ कर नार्मल जिंदगी बिताने लगी.

अबजिस्म की भूख मिटानी हैजिसमें प्यार कहाँ होगा, केवल जिस्म के लिए चुदायी तो उसकी करते हैं जिससे प्यार नहीं हो.

अब आगे होटल रूम सेक्स स्टोरी:वो बोली- ठीक है, मैं कहानी पढ़कर आपको बताऊंगी. अब वो सिसकारते हुए एक हाथ से अपनी चूत में उंगली करने लगी और दूसरे हाथ की उंगलियों से उसने अपनी चूत के होंठों को फैला दिया. हिंदी वीडियो सेक्सी एचडी मेंपता नहीं ऐसे क्यों कांप रहे थे शायरा के होंठ … मेरे होंठों से मिलने के लिए या मेरे होंठ उसे ना छुए इसलिए?ये तो मुझे नहीं पता था … मगर फिर भी मैं अब उसके होंठों की तरफ अपने होंठ ले जाने लगा.

चोद दे जब तक है … पूरी ताकत से चोद दे मुझे … मैं तुझसे रोज़ चुदूंगी. रमण के कमरे में अनीता ने रमण से अपनी चूत मरवाई और फिर जल्दी से नीचे आ गयी. आज मैं आपको अपनी ठरक की ऐसी ही बॉस की हॉट बीवी सेक्स कहानी सुनाने जा रहा हूं.

चाची के नाइटी में से उभरे हुए चूतड़ और उनकी सुडौल चूचियां मुझे सोने नहीं दे रही थी. प्रीति एक अमीर घर की लड़की थी और हम दोनों मिडिल क्लास के लड़के हैं.

उसने भी मुझे मेरा लंड दिखाने के लिए बोला, जब मैंने अपना लंड दिखाया तो मेरे लंड को देखकर उसकी आंखें चमक उठीं.

फिर मेरे दोनों हाथों को फैला दिया और ऊपर कर दिया और बोली– हाथ जरा से भी हिलाये तो फुद्दी के सारे बाल नोंच लूंगी।मैं उसके कहे अनुसार हाथ ऊपर किये हुए खड़ी रही।उसने अपना मजा लूटना शुरू कर दिया। मेरे गले व गालों को चूमती हुई वो मेरे स्तनों तक गयी और उन्हें बारी-बारी से मसल मसल कर कर चूसा. मैं- ओके भाभी जी, पर अब आप इसमें गोली तो नहीं डालोगी न!भाभी जी- नहीं, अब गोली नहीं लेकिन अब जो दर्द तुम्हें मिलेगा, इसके लिए तुम्हें इसकी जरूरत पड़ेगी. उसे अपने कुछ काम के लिए मेरे घर पर आना था क्योंकि मेरी बीवी ने ही उसे बुलाया था.

नुदे मीनिंग ये करना बहुत जरूरी था, जिससे मुझे बार बार पूनम बुआ के साथ सेक्स करने का मौका उनकी बिना किसी आपत्ति के मिलता रहे. अब तक आवाजें सुनकर दिनकर भी उठ गया था, उसने चमेली को आता देखा, तो वो उससे सवाल करने लगा.

शायद वो पल आ गया था, जब मेरे रूम के सामने मुझे एक परी दिखायी देने वाली थी. मैंने उसके अंडकोषों से उसे पकड़ कर रोक लिया और उसके सामने खड़ी हो गयी. घर में मैं ऐसे सूट पहनने लगी, जिसमें मेरे बूब्स के उभार थोड़ा दिखते थे.

लड़की पटाने के नुस्खे

मैं झट से उनके करीब हो गया और मैंने उनके एक मम्मे के निप्पल पर अपने होंठ लगा दिए. मानो मेरा लण्ड लॉलीपॉप हो।फिर मेरा एक हाथ रेनू की छोटी सी कोमल चूत के ऊपर गया. मैं- तो तुम्हारा दोस्त कैसा है?वह- अरे वो मेरा दोस्त है और मेरी ही उम्र का है.

मैं उसकी पीठ की तरफ जाकर लेट गया और मेरा लण्ड उसकी गाँड को छेड़ने लगा. कुछ देर बात करने के बाद भाभी ने बताया कि मम्मी पापा कुछ दिन के लिए गांव जा रहे हैं.

पर मानस अपने काम में पूरा फोकस करके उसकी जंगली किस्म की चुदाई कर रहा था.

प्रभात के साथ मेरी भी गांड लुकलुका रही थी, पर कुछ कह नहीं पा रहे थे. मैंने पायल का हाथ अपने हाथ में लेकर कहा- तुम मेरी अच्छी दोस्त ही नहीं, मेरा साइलेंट प्यार भी हो. वो लड़की मुझसे कैसे चुद गयी?नमस्ते दोस्तो, मैं आकाश राजस्थान का रहने वाला हूँ.

मैं सोचने लगा कि जब बाहर से आधे ही इतने मस्त दिख रहे हैं तो अन्दर से पूरे कितने मस्त और बड़े आकार के होंगे. थोड़ी देर रिलैक्स होकर हम दोनों ने बातचीत की, उसके बाद उसने खाना बनाया. इस समय दीदी सामने वाशबेसिन से अपने शरीर को झुकाए हुए पीछे हाथ करके अपनी गांड में प्लग ले रही थीं.

आपकी सोनिया वर्मा[emailprotected]हॉट कॉलेज गर्ल्स स्टोरी का अगला भाग:लंड चुत गांड चुदाई का रसिया परिवार- 13.

बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सुहागरात: तो मैंने बुआ की चुत से अपना लंड बाहर निकाल कर उनको डॉगी स्टाइल में होने को कहा. लिली- नहीं, सर आपने तो मुझे कुछ कहा ही नहीं, आप तो इतने अच्छे निकले कि मेरे उल्टा बोलने पर आपने मुझे डाँटा भी नहीं, आप तो इतने अच्छे हो, मैं ही गन्दी हूँ जो सबसे झगड़ा करती रहती हूँ.

प्रिया के पति के बारे में सोचने लगी कि कैसे वो मेरी नर्म कोमल गांड पर चपेट मारकर मुझे चोदने की तैयारी कर रहा है. आपको मेरी बड़ी बहन की चुदाई की कहानी कैसी लगी आप इसके बारे में अपनी राय जरूर दें. [emailprotected]कजिन सेक्स कहानी का अगला भाग:मौसेरे, फुफेरे भाई बहनों की खुली चुदाई- 2.

अब तो मुझे भी भूख लगी थी, तो मैंने भी प्राची के एक उरोज को मुँह में भर लिया और फ्रेश दूध पीने लगा.

जब तक मैं बाइक पर उसे बिठा कर गांव की सीमा में चलता रहता, तब तक तो वो बड़ी शालीनता से दूर को बैठती, जैसे ही गांव से बाहर निकल आते, वो मुझसे चिपक जाती. [emailprotected]सर्दी में चुदाई की कहानी का अगला भाग:ताई और भाभी की एक साथ चुत चुदाई- 2. कुछ देर बाद मोना भाभी को जब ठीक लगने लगा, तो मैंने लंड को मोना भाभी की चूत में पेलना शुरू कर दिया.