इंडियन सेक्स देसी बीएफ

छवि स्रोत,नेपाल बीएफ सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

गांव की लड़की की चु: इंडियन सेक्स देसी बीएफ, मैं मजा तो सातवें आसमान का ले रही थी … लेकिन मेरी चुदास इतनी ज्यादा बढ़ गयी थी कि और सह पाना मेरे वश में नहीं रह गया था.

बीएफ डॉग वाला

पर भाभी ने कहा- पहले हमारे घर चलो, मैं चाय बनाने जा रही हूं, तुम चाय पी कर जाना. हिंदी वाली बीएफ मूवीवो कभी मेरे पीठ को दोनों हाथों से जकड़ लेती थी, कभी चादर को भींचने लगती थी.

जब उसकी चुत से रस गिरा, तो उसने किलकारी मारते हुए कहा- आह … मैं गई … तुमने तो मेरी जान ही ले ली. हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदीऔर तू जब तक यहाँ है, अपने बाप से मजे लेती रह! मेरा क्या है मैं तो यहीं हूँ न।मैंने कहा- भाभी सुनो, बाऊजी तो बहुत स्ट्रांग हैं.

तब तक हम दोनों ऊपर यहां पर ठुकाई करते हैं और नीचे से अपने तू हाथों को अपनी चूत और गांड के अन्दर ही रखना.इंडियन सेक्स देसी बीएफ: तो!मैंने कहा- चलिए मैडम डांस सिखाइए, बातों में तुमसे नहीं जीता जा सकता.

जब तुम चोदने के लिए आतुर थे तो पेशाब करने के बहाने बाथरूम जाकर मैंने आशा को भेज दिया था.आज तक वो अपने स्टैमिना के बारे में जो बातें करता था, आज वो सब सच लग रही थीं.

सेक्सी बीएफ व्हिडिओ मूव्ही - इंडियन सेक्स देसी बीएफ

मुझे अपने सामने चाची नहीं एक चुतवाली माल दिख रही थी और चाची को मैं सिर्फ एक खड़े लंड वाला मर्द दिख रहा था.तो मैं दूसरे कमरे में चली गई और वो दोनों अकेले रह गए। पर मेरे मन में अभी भी यही चल रहा था कि इनकी रासलीला तो देखकर ही रहूंगी।मैंने उनका कमरा पूरा बंद नहीं किया था और ना ही उनको याद आया कि कमरा बंद नहीं किया है। मैंने गेट को कुछ खुला रख दिया जिससे उनके सेक्स को देख सकूं मैं।फ्रैंड्स, कहानी बहुत लंबी हो गई है तो मैं दूसरे भाग में इस सेक्सी कहानी को पूरी करूंगी।तब तक के लिए बाय.

वो भी पढ़ते-पढ़ते अपना लण्ड हिला रहा था। उस बेचारे को तो पता ही नहीं चला कि इतनी देर में मैं अपने लिए नई चूत का जुगाड़ कर आया था।अब मुझे उस किताब में क्या मजा आना था. इंडियन सेक्स देसी बीएफ वैसे तो वह हमेशा आते जाते रहते थे, पर उस तरफ से कभी ख्याल नहीं आया.

चित्रा- अब तुम लोग बोल रहे हो, तो मैं क्या बोलूं?तभी हमारा खाना आ गया और हम खाना खाते हुए बात करने लगे.

इंडियन सेक्स देसी बीएफ?

बाबू ने जल्दी से अपना लंड मेरी चूत घुसा कर मुझे फटाफट चोदना शुरू कर दिया … पर वो बहुत धीरे धीरे चोद रहे थे ताकि कोई आवाज न हो. उन सभी की प्राइवेसी का ख्याल रखते हुए मैंने अपना और बाकी सभी का नाम बदल दिया है. लगातार चपत लगने से कोमल के चूतड़ लाल हो चुके थे और उसके कातिलाना चूचे हवा में झूल रहे थे.

फिर लगभग 11:00 बजे के करीब मेरी अचानक आंख खुली तो मैंने सोचा कि मेरी मम्मी की चुदाई तो शुरू हो गई होगी. अब संजू ने भी अपनी जीभ रोहित के मुँह में दे दी, तो रोहित बेतहाशा जीभ को चुभलाने लगा. जैसे ही मुझे लगा कि अब रोहित का लण्ड बिल्कुल फिट है तो मैंने वापस से अपनी जाँघों को वापस चिपका लिया जिससे रोहित का लण्ड मेरी जांघों के बीच में ही जकड़ गया।मैंने रोहित से कहा- अब मैं इससे ज्यादा आगे कुछ और नहीं कर सकती।रोहित का मन तो मेरी चूत चोदने का था पर मेरे इस बर्ताव से उसके तो सपने ही धरे रह गए।रोहित ने कहा- कोई नहीं मौसी … अभी ऐसे ही सही.

इधर सायरा ने भी पलंग का चादर बदल कर, उस चादर को लाकर बाल्टी में डालकर उसे गीला कर दिया।उसके बाद मैं और सायरा वापिस पलंग पर आकर बैठ गये।थोड़ी देर बाद मैंने सायरा को बिस्तर पर ही खड़े होने के लिये कहा. अन्तर्वासना सेक्स कहानी साइट पर आपने मेरी पिछली कहानीपुरानी दोस्त की चुत चुदाई का मजापढ़ी. श्यामली पगला गयी और गाली बकने लगी और बोली- जल्दी कर गांडू, अब और बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

तभी मम्मी ने पूछा- अब तक मनोज नहीं आए?आंटी ने कहा- वो कल होली के दिन सुबह आ जाएंगे. उफ्फ़ बेटा आअहह … चोद दे अपनी माँ को … अपने मूसल जैसे लंड से फाड़ दे चुत को … आआहह!”लगातार 30 मिनट की चुदाई के बाद जब मेरा पानी निकलने वाला था, तो मैंने कहा- मम्मी मेरा रस निकलने वाला है … कहां डालूं?वो कहने लगीं- बेटे मेरी चुत बहुत प्यासी है … अन्दर ही डाल दे अपनी मम्मी की चुत में!कुछ तेज धक्कों के साथ में मैंने सुनीता मम्मी की चुत में अपना गर्मागर्म वीर्य निकाल दिया.

पहले तो मैं इस शादी के लिए राजी नहीं थी … लेकिन फिर!इतना कहकर कोमल एकदम से मेरे करीब हुई और मेरी बांहों में आ गई.

मैंने लंड पर छतरी चढ़ाने के बाद उसकी तरफ देखा तो उसने बड़े अश्लील भाव से अपनी चूत पर हाथ फेरते हुए मुझे आंख मार दी.

धर मेरा लोहे जैसा अकड़ा हुआ लंड देख कर, सूंघ कर उसकी कामोत्तेजना बढ़े जा रही थी. पर थोड़ा अजीब भी लगता है क्योंकि भाई है न इसलिए।मैंने कहा- उससे कोई नहीं … बस मौज ले. अब तक तो मैंने उन चारों के साथ बहुत चुदाई का आनन्द लिया था, लेकिन अब घर जाकर मेरे लिए थोड़ा मुश्किल होने वाला था.

मैंने उसके मम्मों को भी सहला दिया, लेकिन जिया ने अपने हाथ से मुझे रोक दिया. उस दिन किसी तरह से रूम में जाने के बाद मैंने और सुधा ने जम कर चुदाई की थी और हम दोनों थक गए थे. मुझे कोई भरोसेमंद इन्सान नहीं मिला जो मेरी इस समस्या का हल बता सके.

मेरे मन में आया कि बोल दूं कि साली तेरे आईडिया के चक्कर में आठ लोगों ने मुझे रंडी की तरह चोदा है.

मैं भी एक्टिव मोड में आ गयी और उनकी जांघों की ओर घूम कर अपने होंठों को उनकी जांघों के बीच में तन चुके लंड पर रख दिया. मैंने पंद्रह बीस ज़बरदस्त धक्के ठोके और फिर मेरे गोलियों में एक विस्फोट जैसा हुआ. मेरा एक पैर कार की सीट के नीचे और एक सीट के ऊपर था … और मेरे दोनों हाथ पीछे दरवाजे को पकड़े हुए थे.

अब ठप ठप और फच फच की आवाज के साथ जेठजी का लंड मेरी चूत की गुफा में फिर से सैर करने लगा और वो आवाज पूरे माहौल को और ही गर्म बना रहा था. मेरी बीवी सोनम और मयंक ने उस रात चुदाई का प्रोग्राम फिक्स कर लिया था. वो बोली- यही सुनने के लिये आप लोग परेशान रहते हैं न? चलिये उठिये अब अपने कपड़े पहन लीजिये.

दीदी ने कहा- ओके … लेकिन जब मेरे ससुर घर पर नहीं हों तब तुम कर सकते हो.

कभी कभी हंसी मजाक में वो मेरे बूब्स भी दबा देता या निप्पलों मसल कर खड़े कर देता था. बाकी सब तो परसों सवेरे 10-11 बजे के आस-पास दिल्ली से स्कूल की बस से वापिस डगशई के लिए निकलेंगे.

इंडियन सेक्स देसी बीएफ जिस दिन उन दोनों को मिलना होता था तो वो मेरे बेडरूम में एक दूसरे के साथ चिपक कर पड़े रहते थे और बातें करते रहते थे. तो उसने मुझे सीधा लिटा लिया और फिर से मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया।हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे.

इंडियन सेक्स देसी बीएफ वो बात बढ़ाते हुए बोली- देवर जी, जब आपने अपना भाभी बना ही लिया, तो ये बताओ कि क्या सचमुच आपकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. सुधा रोने लगी … वो बार बार बस एक ही चीज़ की भीख मांगने लगी कि प्लीज़ अब मत तड़पाओ … चोद दो यार … मुझे चोद दो.

क्रिया को भी अपने मम्मी पापा से जाने की परमिशन मिल गई थी।मैंने क्रिया से पहले ही कह दिया था कि वो अपनी गांड का छेद धीरे धीरे ढीला करना शुरू कर दे.

खो से लड़कियों के नाम latest hindu

अचानक मेरी नजर कमरे के फर्श पर गयी, तो देख कर मैं हक्का-बक्का रह गया. इसके बाद हम दोनों को जब भी मौका मिलता था, हम दोनों चुदाई कर लेते थे. रोहित ने संजू की पेंटी में उंगली घुसाना चाही, तो वहां उसे कुछ उठा हुआ महसूस हुआ.

आलिया- जीजा जी की बहन और मेरी गर्लफ्रेंड, उम्र 25 साल, हॉट फिगर, सुंदर, कातिलाना स्माइल, स्टाइलिश अंदाज. रीना बोली- अबे करना है तो कर … नहीं तो भाग साले!धीरज ने ताव में फच्चाक से पूरा लंड घुसेड़ दिया और बोला- ले साली छिनाल, हैप्पी न्यू ईयर!और तभी 12 बजे गए थे और नया साल हो चला था. मेरी पिछली कहानी थीमेरी गर्लफ्रेंड की दूसरे यार से चुदाई की ललकअब आते है नयी सेक्स स्टोरी पर.

फेसबुक साइट का ये काफी अच्छा उपयोग मैं मानता हूं कि आप अपने पुराने बिछड़े हुए यारों को फेसबुक साइट अकाउंट बना कर खोज सकते हैं.

चाची बोलने में लगी थीं- आह भड़वे अआह साले मादर…चोद ओह अआह बस कर … अआह ओह्ह हाय अआह. तो हीना ने अपने एक हाथ से मेरे सिर को सहारा देकर उठाया और दूसरे हाथ से अपने स्तन पकड़ कर मुझे चुसवाने लगी. अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो पा रहा था, तो मैंने भी उसके निप्पलों को सहलाना चालू कर दिया.

उसने आव देखा ना ताव, संजू का सर पकड़कर अपनी तरफ खींचते हुए अपनी जीभ निकालकर संजू के मुँह में प्रवेश करा दी. घर वापस जाने के लिए मुझे काफी देर तक रोड के किनारे खड़े होकर इंतजार करना पड़ता है, तो हम दोनों खड़े होकर बातें करते रहते हैं. ये बोल कर में अपने रूम में आ गया और एक बार मुठ मार कर बिस्तर पर सो गया.

मेरे होंठों पर अपनी चूत के लगे पानी को चाटते हुए वो मुझे वासना से देख रही थी. बाहर पवनदेव की तान पर बारिश की बूंदों का नृत्य जारी था, बारिश कभी हल्की, कभी तेज़ लेकिन लगातार हो रही थी.

मैंने पूरी ताकत से झटका दिया, मेरा पूरा का पूरा लंड भाभी की चूत में आवाज करते हुए चला गया. फिर अचानक से मेरा पानी निकल गया, मेरी टांगें कांपने लगी, कसम से दोस्तो … ऐसा लगा कि मैंने अपनी अब तक की ज़िन्दगी बर्बाद कर दी ये सब ना करके!मज़ा ही आ गया था।फिर मैं आकर बिस्तर पर लेट गयी और सो गई।तो दोस्तो आप सबको मेरी कहानी कैसी लग रही है? आप मुझे इमेल करके बता सकते हैं।[emailprotected]और जो पाठक मुझसे फेसबुक पर जुड़ना चाहें, वो मुझेhttps://www. पहले तो मुझे गन्दा सा लगा, पर दूसरी तरफ सोचा कि राजन सह ले … बाद में मजे आने हैं.

उसके बाद मयंक नहा धोकर फ्रेश होने के बाद सुबह की चाय पीकर अपने घर के लिए निकल गया.

अम्मी- तेरा लंड तो बहुत बड़ा है रे … अपने अब्बू से काफी बड़ा लंड है रे तेरा … मेरी बहू के तो मजे रहेंगे. मेरी उठी हुई टांग को अपने हाथों से पकड़कर दूसरे हाथ से अपना लण्ड मेरी चूत पर लगाकर उसे अंदर करने लगे. कुछ रोल प्ले भी हुए जिनमें सबसे ज़्यादा दिलचस्प था मेमरानी का मुग़ल-ए-आज़म वाली अनारकली का रोल प्ले करके चुदना.

मैंने उनकी पैंट की जिप को खोल कर अंदर हाथ दिया और उनके लंड को पकड़ लिया. पिछली सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कियात्रा में सलहज की चूत चुदाईकिस तरह हुई थी.

अब उसके मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह फक मी, आह्ह … और तेज से चोदो. कुछ पल बाद मैंने उंगली में ढेर सारा थूक लिया और चाची की गांड के टाइट छेद में उंगली पेल दी. मेरी गर्म चूत की कहानी के पिछले भागतलाकशुदा मौसी की चूत कैसे मिली-2में अब तक आपने पढ़ा था कि रात को मौसी की धमाकेदार चुदाई के बाद जब रात को उनसे सामना हुआ, तो उनकी प्रतिक्रिया एकदम अनजान जैसी थी.

दुष्ट पत्नी की पहचान

यह कहानी पूरी तरह से काल्पनिक सोच पर आधारित है, जिसे आप अन्तर्वासना वेबसाइट पर पढ़ रहे हैं.

फिर भी मैंने थोड़ा साहस किया और बोला- भाभी उस दिन के लिए सॉरी। मुझे नहीं पता क्या हो गया था उस दिन मुझे. उसमें पानी होता हुआ पाइप में होता हुआ भाभी के गांड में जाने लगा और भाभी की गांड बढ़ने लगी।भाभी बोली- सचिन क्या कर रहे हो? मेरा पेट भर रहा है पानी से!मैं बोला- चुप रहो, अभी तुम्हारी गांड की सफाई कर रहा हूं।और जब भाभी को बर्दाश्त नहीं हुआ तो बोली- सचिन बस करो. रानी ने तुरंत ही मेरी पैंट को ऊपर से खोला और ज़िप ढीली करके पैंट नीचे को टपका दिया.

हालांकि कविता ने खुद के बेटे के साथ सेक्स करने के पीछे कई कारण भी बताए थे, जो कि कहीं न कहीं सही थे. हम बहुत मज़े से चाट का मजा ले रहे थे पर मेरी नजर तो लगातार साड़ी से ढकी स्वीटी आंटी की नंगी कमर पर थी. ब्लू पिक्चर बीएफ चोदने वालीमैंने लन्ड पहली बार देखा था तो मैंने सोनल से पूछा- ये क्या है?तो वो बोली- इसे लन्ड कहते हैं, यहाँ से लड़के सुसु करते हैं.

कुछ देर के बाद हम दोनों एक दूसरे के जिस्म की गर्मी का मजा लेते हुए उनके घर की बिल्डिंग के नीचे पहुंच गए. रात के 3 बजे मैं अपने रूम में वापस आकर सो गया।अब तो 15 दिन मेरा यही काम था.

मेरी सेक्स स्टोरी के बारे में अपनी राय मुझ तक पहुंचाने के लिए आप नीचे दी हुई ईमेल आईडी पर अपने मैसेज जरूर भेजें. रोहित उठा, उसने रोहन को टांगें फैलाकर बिठा दिया और खुद उसकी टांगों के बीच आकर घुटनों के बल बैठ गया और झुककर रोहित के लण्ड को अपने मुंह में ले लिया।कैमरे से दृश्य कुछ ऐसा था कि रोहन अपनी टांगें फैलाये अपने हाथों को बिस्तर पर टिकाकर सीधा बैठा था. तब तक हम दोनों ऊपर यहां पर ठुकाई करते हैं और नीचे से अपने तू हाथों को अपनी चूत और गांड के अन्दर ही रखना.

ये मेरी तरफ से जेठजी के लिए एक इशारा था और जेठजी भी शायद मेरा इशारा समझ गए. जो लोग लिखते हैं कि गांड मराने में दर्द होता है, मुझे वे सब इस समय झूठे लग रहे थे. मैं भी कोशिश करूंगा कि आप लोगों के लिए इससे भी अच्छी व सच्ची सेक्स कहानी लिखता रहूं.

दोस्तो, आपको मेरी पत्नी की चुदाई की ये कहानी पसंद आई हो तो मुझे अपने विचार इस कहानी के बारे में मुझ तक जरूर भेजें.

मैंने भाभी के सामने गुलाब का फूल आगे कर दिया और आंखें खोलने के लिए कहा. कुछ ही देर में मेरी ठंड गायब थी और मेरा लंड अब मेरे बस में नहीं था। मेरा लंड अब बेकाबू हो रहा था और वो पूरी तरह से आंटी की चूत में घुसने को तैयार था।आंटी शायद शर्म की वजह से ज्यादा आगे नहीं बढ़ पा रही थी। सभी औरतों का यही हाल होता है.

वो- कितना टाइम लगेगा?मैं- वो तुमको भी पता होना चाहिए, वहां से तुम्हारे घर तक आने में कितना समय लगता है. वह जमकर मेरी गांड को चोद रहा था और मैं हल्के हल्के दर्द के कारण चिल्लाए जा रही थी. जब मैंने अपने दोस्त से बात की तो उसने कहा- अभी सोनम मेरे मामले में नयी है.

उसकी आंखों में तैरते लाल डोरे मुझे एक अजीब सी मदहोशी का अहसास करा रहे थे. काफी देर हो जाने पर बुक नहीं मिली तो निधि भी आ गई बोली- मैं भी हेल्प कर देती हूं. और फिर हम दोनों बातें करते करते अंदर आ गए।रोहित को अभी कुछ दिन रोहन के साथ ही रूम शेयर करना था.

इंडियन सेक्स देसी बीएफ जीजा जी- एक काम करो, तुम दोनों भी हमारे साथ आ जाओ, वैसे भी वहां एक कमरा खाली है. मेरी बहन के पैर उठने से उनकी चुत का मुँह खुल गया और उनके ससुर से एक ही शॉट में अपना पूरा लंड मेरीबहन की चुतके अन्दर पेल दिया.

कल्याण मटका कार्टून

मैंने दीपिका के टॉप में पीछे से हाथ डाला और उसकी कमर को सहलाने लगा. उन दोनों की इस दोस्ती को प्यार में तब्दील होने में ज्यादा समय नहीं लगा. उन्हें ऐसा लग रहा था कि उनमें सच में दूध भरा हुआ है और वो लोग सच में दूध पी रहे हैं.

ज़ेबा के लिए मेरी चाहत और प्यार को देख वो कुछ सोचने पर मजबूर हो चुकी थीं. हम दोनों सिर्फ अच्छे सहपाठी थे और अक्सर पढ़ाई के बारे में बातें किया करते थे. बीएफ एक्स हिंदी मेंमैं विनय फिर हाजिर हूँ आपकी खिदमत में!आपने मेरी सेक्स स्टोरी के पिछले भागमें पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी क्लासमेट और गर्लफ्रेंड तान्या की सील तोड़ी और आंटी की चूत चाटी।मैं अगले दिन कॉलेज नहीं गया.

इसलिये आतुर न होकर थोड़ा आराम से सोच समझ कर काम लीजिये!मैंने सीमांशी के बदन को चाटना शुरू कर दिया.

कुछ ही समय में मैं हद से ज्यादा उत्तेजित हो गया था … मैं ज्यादा देर तक टिक नहीं पाया और स्खलित हो गया. इस बार मैंने सुधा को एक खम्बे के सहारे खड़ा किया और मुँह से मुँह लगाते हुए खड़े खड़े चुदाई करना शुरू कर दी.

कुछ सवालों के जवाब मिल गए थे, पर कुछ नये सवालों ने जन्म भी ले लिया था. मैं ऊपर वाले से प्रार्थना करती हूं कि मेरे सारे पाठकों को मेरी जैसे ही चुदक्कड़ और हॉट बीवियां मिलें और आपके और आपके लंड के साथ हमेशा खेलती रहें. बस दो पल और फिर तुम्हारे जीवन का नया सुनहरा अध्याय शुरू होने वाला है.

हम बहुत मज़े से चाट का मजा ले रहे थे पर मेरी नजर तो लगातार साड़ी से ढकी स्वीटी आंटी की नंगी कमर पर थी.

उसके बाद मैं भी संजना के होंठों को किस करते हुए संजना ने भी इसमें मेरा पूरा साथ दिया. उसके हाथों के अंगूठे जब मेरी चूत के इर्द गिर्द आकर रगड़ दे रहे थे तो मन कर रहा था उसके कपड़ों को फाड़ कर उसे नंगा कर लूं और उसके गठीले मजबूत जिस्म को बेतहाशा चूमने लगूं. रानी के मुंह पर एक मुस्कान सी खेलने लगी और बुर में फिर से रस बहने लगा जिससे लंड को भी मज़ा आने लगा.

बूढ़े आदमी का बीएफमैं सोने की तैयारी ही कर रही थी रूम में अपने कि उन्होंने पीछे से आकर मेरी कोली भर ली और मुझे किस पर किस करने लगे. अब उसकी लेग्गिंग उतारनी शुरू की मैंने … इसमें मुझे कोई मुश्किल नहीं हुई.

হিন্দি বইয়ের নায়িকার এক্স এক্স ভিডিও

मैंने कुछ और पल उसको सूंघा और फिर अपनी जीभ निकालकर, जहाँ जहाँ वीर्य का कुछ हिस्सा बचा हुआ था, वहां से उसे चाटने लगी।मैं रोहित की मेहनत को ऐसे ही बर्बाद नहीं जाने देना चाहती थी. वो सब लड़के मुझे अपने बिस्तर पर पटक पटक कर चोदना चाहते थे मगर सब बेचारे मन मारकर ही रह गए और पैंट के ऊपर अपना लंड सहलाते रह गए।फिर शालिनी मिली तो उसने मौका देखकर मेरे चूतड़ दबा दिए और कान में बोली- जल्दी से स्टोर रूम में मिल मुझे!उस दिन तनु आयी नहीं थी तो मैंने शालिनी की बात को अनसुना कर दिया और अपने काम में लग गयी. अब तक की मेरी इस मस्त ग्रुप सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि कल रात जीजा ने अपनी बहन आलिया की गांड मारी, तो आकाश ने मेरी बहन चित्रा की गांड बजाई.

वो दोनों कुछ बोलने के काबिल तो थे नहीं … बस दोनों मेरे पैरों में गिर कर माफी माँगने लगे और कहने लगे कि तुम जो सज़ा देना चाहो, हमें दे दो, पर यह बात किसी को मत बताना. मैंने उसके उंडरवियर पर हाथ लगा कर देखा, तो सच में लंड टाइट हो गया था. इस कहानी को पढ़कर लड़के मुठ मारने से व लड़कियाँ व भाभियाँ चूत में उंगली करने से अपने आपको नहीं रोक पाएंगी।मैं उम्मीद करता हूं कि आपको मेरी कहानी पसंद आएगी। आप लोगों का प्यार व आपके मेल मुझे प्राप्त होंगे.

मैंने मैसेज पर पूछा- कब मिल रहे हो?वो बोले- आज तो मैं काफी थक गया हूं. मैं दोनों हाथों से चाची के मदमस्त चुचे पकड़े और नीचे से लंड के झटके चाची की चुत में देने लगा. फिर जीजा ने नज़मा को नीचे पटक लिया और उसकी चूचियों के बीच में लंड को रख दिया और नज़मा को अपनी चूचियां दबाने के लिए कहा.

वैसे तो मुझे खुद की तारीफ बिल्कुल पसंद नहीं, पर यहां अपने बारे में मैं नहीं बताऊंगा … तो और कौन बताएगा. फिर अचानक मेरे करीब आकर लण्ड मेरे मुंह में डालते हुए बोले: इसे चूसो, चूसने से टाइट हो जायेगा तभी अन्दर जायेगा.

भाभी कहने लगी कि उनके पीरियड्स चल रहे हैं इसलिए चुदाई नहीं हो सकती है.

कुछ देर में नाश्ता खत्म करके वो तीनों नहाने के लिए चली गईं और हम सोफे पर बैठकर सिगरेट फूंकते हुए उन तीनों का इन्तजार करने लगे. भोजपुरी वीडियो बीएफ एचडीहर महीने एक सीमित पैसा घर से आता और किसी तरह बस हम दोनों रह रही थी।धीरे धीरे हम दोनों की ही जरूरत बढ़ने लगी हम बाहर घूमने जाती, बाहर खाना खाती, फ़िल्म देखती. बीएफ ब्लू एचडीउसने रमेश की ओर घूम कर अपने चूतड़ों पर एक कसकर थप्पड़ मारा और बोली- दे दो अपना लौड़ा मेरी चूत में डैडी।रमेश भी घुटनों पर आकर रिया के चूतड़ों के पीछे आ गया जिससे उसका लण्ड रिया की चूत से टकरा रहा था। रमेश ने अपने लण्ड पर थूका और पूरा मल दिया। फिर उसने रिया की चूत पर थूका, जिसकी जरूरत ही नहीं थी क्योंकि रिया की चूत पहले से ही काफी चिकनी हो चुकी थी।रिया की चूत का रंग उसके शरीर से गहरा सांवला था. मेरी एक टांग को उठाकर उन्होंने मेरी चूत को पीछे चाटना शुरू कर दिया.

मैं- साली रंडी कबसे बोल रही थी कि चुत फ़ाड़ दे … ले रंडी कुतिया ले … मेरा मूसल ले.

साब अब लड़खड़ाता हुआ खड़ा हुआ और मेमसाब और शीला का सहारा लेते हुए अपने कमरे में जाने लगा. अगले ही मिनट में मैंने अपना माल अपनी बीवी के मुंह में गिरा दिया जिसे वह अंदर ही अंदर गटक गयी. मैंने कहा- भाभी आपके सर का दर्द कैसा है?भाभी बोलीं- अब ठीक है … तुमको ऐसा नहीं करना चाहिए था.

जहां मैं रह रहा था, वहीं पर मैं अपने कपड़े सिलवाने के लिए एक टेलर मास्टर के पास जाता था. मेरे पीछे नताशा खड़ी थी, जिसका मुझे डर था कि क्योंकि कल रात मैंने उसकी गांड को अच्छे से पेला था. इसलिए आज मैंने भी सोचा कि मैं भी अपनी रियल सेक्स कहानी आपको सुनाऊं.

बिना रुके 1 घंटे तक पत्नी को खुश करे

मैंने में पूरी मूवी देखी और मुझे समझ में आ गया कि सेक्स क्या होता है. इस पर पहले तो मैंने मना किया, लेकिन चाची ने अब मुझे सुबह वाली बात पर धमकी देकर मुझे हां करवा ली. मैं- वैसे तुम्हारे पति की फैमिली में कौन कौन है?कोमल- मेरे सास-ससुर अहमदाबाद में रहते हैं … और आकाश की एक बहन है.

रोहित नीचे झुका और मेरी बीवी की चूत में किस करने लगा और संजू की क्लिट को चूमने चूसने लगा.

मगर तभी ज्ञान ने 69 की पोजीशन ले ली और उनका मुंह मेरी चूत पर जा लगा.

बेबी रानी के गले से सी…सी…सी … उम्म्ह… अहह… हय… याह… आवाज़ें आ रही थीं. मैंने अपनी बहन चित्रा को सबके सामने दोनों हाथों से उठाया और सबको गुड नाइट कहकर चला गया. बीएफ वीडियो साउथ इंडियनकुछ फीमेल्स को लंड चूसने का सही तरीका नहीं पता होता है, उन्हें मैं बताना चाहता हूँ कि लंड को केवल होंठों से चूसना चाहिए.

दोस्तों उनका फिगर देखर बूढ़ा भी उनको चोदने को राजी हो जाए, स्वर्ग से आयी हुई अप्सरा सा मक्खन जैसा उनका बदन था. अगर तूने दूसरा कुछ भी किया, तो उसका बहुत ही ज्यादा बुरा परिणाम तुझे भुगतना पड़ेगा. कोई 2 मिनट तक मेरे ऊपर लेटे रहने के बाद उन्होंने मेरे माथे पर किस करते हुए कहा- मेरी जान … आज तुमने मेरी सारी तमन्ना पूरी कर दी.

सबेरे अगर मैं दस बजे भी घर से निकलूं तो सारा काम निपटाता हुआ मैं आराम से चार बजे तक डगशई पहुँच सकता था. खुशी, प्रतिभा और सुमन की मेंहदी सूख जाने के बाद उन्होंने हाथ धो लिए थे.

काली साड़ी के ऊपर गाढ़े महरून रंग का गर्म शॉल ओढ़े वसुंधरा सच में किसी और ही दुनिया की लग रही थी.

मेरे मुंह से दर्द भरी आवाज निकली और भाभी के मुंह से भी हलकी सी चीख निकल गयी!कविता भाभी मेरे लंड पर कूदते हुए मुझसे कह रही थी- हां सचिन, कब से मैं तुझसे चोदना चाहती थी। आज आया है तू मेरी चूत के नीचे. पर मैंने इन सभी चीजों की तरफ ध्यान नहीं दिया और अपना एक हाथ संजना के मम्मों पर रख दिया और दूसरे हाथ से शीना के मुँह को संजना के दाने के ऊपर ले आया. अपने नए जुड़े पाठकों से कहना चाहता हूँ कि अगर आपको इस सेक्स कहानी का पूरा मजा लेना है, तो इससे पहले की मेरी सेक्स कहानीदो बहनों के साथ थ्रीसम चोदन-1औरगर्लफ्रेंड की बहन की कामवासनाजरूर पढ़ें.

बिहार का वीडियो बीएफ उधर शीना भी मेरा लौड़ा पूरी तरह से अपने गले तक ले जाकर चूस रही थी जैसे मुझे दिखा रही हो कि वह आज इसको थोड़ा सा भी अपने से अलग नहीं करेगी और पूरा का पूरा खा जाएगी. थोड़़ी देर में सामान्य होकर बोली- तुम्हारा बहुत बड़ा है यार, थैंक गॉड, मैं इतना लम्बा और मोटा लण्ड झेल गई.

मैंने मौसी के कानों के लव को मुँह में भर के चाटते हुए कहा- मैं जानता हूँ मौसी आप चुदाई के लिए कितनी तड़प रही हैं … मैंने आपकी गीली पैंटी देखी है. अम्मी के जाते ही मैंने दरवाजा लगा दिया … जल्दी जल्दी खाना खाया और प्लेट वगैरह धुलने में रख कर कमरे की तरफ आ गया. विशाल ने रिंकी को पोर्न मूवी का शौक लगा दिया था तो रिंकी ने प्रिया को भी पोर्न दिखा दिखाकर सेक्स का शौक़ीन बना दिया था.

काजल हीरोइन का फोटो

क्योंकि अभी तक मैंने उनका लंड नहीं देखा था, जो शॉर्ट के अन्दर से ठीक ठाक ही लग रहा था. रमेश को रोकते हुए रिया बोली- नहीं डैड अभी नहीं, प्लीज बाद में … इस वक़्त तो मुझे तुम्हारा लौड़ा चाहिए। मैं बहुत चुदासी हो गई हूं. साथ ही अपने दोनों हाथों से मेरे मैक्सी के अन्दर से डाल कर मेरी कमर को सहलाने लगे.

मेरा लंड लीलते ही अम्मी की एक तेज आवाज़ निकल गई- आआह … मर गई … कितनी अन्दर तक चला गया. मैं उम्मीद कर रही थी कि जेठजी का लंड मेरे पति के लंड से बड़ा और मोटा ना सही.

आज तक वो अपने स्टैमिना के बारे में जो बातें करता था, आज वो सब सच लग रही थीं.

आप लोगों को एक बात बता दूं कि मेरे बच्चे में जीजू के स्पर्म का ही योगदान था. गुड्डी रानी भी तो थी ही सुपर हसीन तो उसपर यह सब हाव भाव बड़े मनमोहक लगते थे. फिर ग्यारह बजे के आसपास सब लोग अपने अपने रूम में सोने चले गए।मैं रूम में थोड़ा देर से पहुँची ताकि रवि सो जाए और मैं रोहन को वीडियो कॉल कर सकूं और हुआ भी ऐसा ही।मैं बैडरूम के अंदर कुर्सी पर बैठी हुई थी.

वो बोली- तो फिर हल्की हल्की बीयर भी हो जाये तो कैसा रहेगा?मैंने कहा- बहुत अच्छा रहेगा. तभी अचानक कार की ब्रेक लगी … और ब्रेक लगते ही रुमित मेरे ऊपर आ गिरा. फिर वो फ़ाइल दिखाने को बोला तो मैं जैसे ही उसकी तरफ झुकी, उसने पीछे से मेरी गांड पर हाथ मारा और मेरी गांड दबाने लगा.

और मैं वादा करता हूँ मैं फिर तुम्हारे पास आऊंगा, तुम जहाँ रहोगी, जहाँ कहोगी वहाँ आऊंगा.

इंडियन सेक्स देसी बीएफ: आकाश, कल रात तुम जिसके साथ सेक्स कर रहे थे … उसका भाई तुम्हारी बहन से प्यार करता रहा था. लेकिन अभी भी तुझे बहुत कुछ सीखना बाकी रह गया है।मैं बोला- वह तो मैं सीख लूंगा धीरे-धीरे सब सीख जाऊँगा।भाभी बोली- जितनी जल्दी सीख जाएगा, उतना ज्यादा मजा लड़की को और औरत को भी दे पाएगा.

मैंने शीना के बोबों को कस कर दबाया और उन दोनों से कहा- हां मेरी रंडियों … मैं तो तुम्हारे दोनों के पूरे खानदान की औरतों की लूंगा. शायद उसको अपनी चूत पर मेरे मोटे गर्म लौड़े का मदमस्त करने देने वाला अहसास मिल रहा था. मैंने देर न करते हुए मौसी की चूत की फांकों में लंड फंसाया और जब तक मौसी संभलतीं, मैंने एक ही झटके में अपने लंड को उनकी चूत में पेल दिया.

अम्मी नाइटी पहन कर चली गईं और दूध लेकर वापस दरवाजा बंद करके अन्दर आ गईं.

उसके लिये सरप्राइज ये होना चाहिये ये सब।इधर श्लोक ने सीमा से कह दिया कि हमें मालदीव घूमने के लिए चलना है. जैसा कि हमारी बीवियों को नहीं पता कि हम सब यहां है तो हम उन्हें बड़ा सरप्राइज देने वाले हैं। वो अपने अपने पतियों का इंतजार कर रही होंगी. मैंने उनसे पूछा- तो फिर उनके सामने भी कुछ कर सकते हैं क्या?वो बोले- उनको सब पता है.