बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी

छवि स्रोत,देहाती सेक्सी वीडियो साड़ी वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

शुक्राणु का चित्र: बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी, भाभी की सहेली ने मुझसे कहा- तो तुम अपनी चीज का कमाल दिखाओ?मैंने कहा- आप 10 मिनट और रुको, भाभी को आने दो.

ब्लू सेक्सी ब्लू सेक्सी वीडियो में

खूब चुदती थी उनसे! पर शादी के बाद तो एक ही लण्ड से गुजारा करना पड़ रहा था। जब तुम रूम मांगने आये तो तुमसे चुदने की उसी दिन सोच के बैठी थी. सेक्सी फोटो एल्बमअगर हम ही शर्मायेंगे तो फिर बाकी लोगों का क्या होगा। लाओ मैं तुम्हारी शर्म दूर कर देता हूँ.

उस डिब्बे में रात में जलने वाली नीली लाइटें शायद खराब थीं … इसलिए घुप्प अंधेरा हो गया था. भोजपुरी गाना2021वहीं दूसरी ओर पुरूष कलाकार के समकक्ष आप तभी सहज हो सकती हैं जब आप मानसिक रूप से पहले से ही तैयार हों.

सामान्य स्वस्थ व्यक्ति को इससे हल्के से तेज संक्रमण और रोग के लक्षण हो सकते हैं.बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी: अगले 30 सेकेंड में ही मेरा पूरा का पूरा लावा उसके मुँह में निकल गया.

ऊपर से हम दोनों अलग अलग जाति के हैं इसलिए उसके घरवालों ने उसे मना किया है.अब वह बीच- बीच में अपने दोनों हाथ चिन्ना के हाथों पर रख कर उन्हें वहीं रोक लेती थी जैसे इशारा कर रही हो कि ‘प्लीज, मेरे निप्पलों को अपनी चुटकियों में पकड़े रहो.

साड़ी वाली की सेक्सी चुदाई - बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी

हल्के से आह कहकर सारिका ने मोबाइल रख दिया, अपनी आँखें बंद कर लीं और सिसकारियां भरने लगी.मैंने उसको कुछ देर मसलने के बाद बोला- चलो अब वो काम करें, जिससे आग शांत हो जाती है.

निशु ने अपने नाखूनों से मेरी पीठ पर बहुत बार खरोंच कर नाखून गड़ा दिए थे … लेकिन इसमें भी मज़ा आ रहा था. बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी मुझे उसके मुँह में अपने लंड के जाने से मजा आने लगा और मैं अपनी शर्ट ऊपर उठा कर उससे लंड चुसवाने का मजा लेने लगा.

कुछ पल रुकने के बाद मैंने भाभी को अपने नीचे किया और धीरे-धीरे झटके लगाना चालू किया.

बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी?

अगले दिन सुबह हम लोग जगे और नहा धो कर नाश्ता किया व पैदल यात्रा शुरू कर दी. भाभी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत की फांकों में फंसा लिया और गांड आगे करते हुए लंड लीलने की कोशिश की, उसी समय मैंने धक्का दे दिया और भाभी की चूत में अपने लंड को घुसा दिया. इधर मेरा लंड ट्रेन की गति से होने वाले वाइब्रेशन से उनकी दोनों जांघों के बीच में मस्ती ले रहा था.

पापा नई जगह चले गए 1 हफ्ते बाद … मैं और मॉम वहीं रहने लगे।पापा के जाते ही मॉम ने अपना रंग दिखाना शुरु कर दिया, वो बाहर घूमने जाने लगी, बाहर रेस्टोरेंट में खाने पीने जाने लगी. मुझे सेक्स को लेकर आकर्षण तो था लेकिन अब ये आकर्षण मेरा जुनून बन गया था. दूसरी बार तो वो और भी ज़ोर से झड़ी … मानो बहुत समय से उसकी चुत नहीं झड़ी हो.

वो चिल्लाने लगी, दर्द और मजे के चलते अपने मुँह से कामुक आवाजें निकालने लगी. चूंकि मैं उनको ऐसी ड्रेस में अक्सर देखता रहता था, इसलिए मुझे कोई ताज्जुब नहीं हुआ. फिर हम लोग लेट गए क्योंकि हम दोनों थोड़ा थक गए थे इसलिए थोड़ा आराम करने लगे.

लेकिन निशा ने लंड का रस न केवल पी लिया था, बल्कि वो अब भी लंड को चूसे जा रही थी. मैंने घर जाकर पाया कि मेरे घर में मम्मी पापा, दादी औऱ बहन रिचा के अलावा मेरे अंकल की बेटी आई हुई थी.

मैंने भाभी की चुत में उंगली डाल दी और उनकी चुत के दाने को सहलाने लगा.

मेरे घर के सामने एक मेरा बगीचा है और बगीचे के बाद रोड है रोड की दूसरी तरफ सौम्या का घर है।मैंने फोन काट कर उसके भाई को देखा तो वह गहरी नींद में सो रहा था.

उसकी टांगें उत्तेजना की अधिकता में और मस्त चुदाई से हवा में उठी हुई थीं. मैंने जब रूम खोलके देखा तो बाहर भाभी सिर्फ ब्रा पैंटी में खड़ी थी और उनके सामने एक आदमी खड़ा था. अब मैंने अपना लंड उसके मम्मों के बीच लगाया और उसके दोनों मम्मों को दबाकर उसके मम्मों को चोदने लगा.

हाय… एक जवान और सेक्सी देसी लड़की की मस्त मलाई जैसी चूचियां मेरे सामने नंगी हो गयी थीं. वे थोड़ा मेरी तरफ झुक कर बैठी हुई थी तो मुझे उनके बूब्स दिख रहे थे. अब तक भाभी ने अपनी सलवार को पूरी तरह से उतार दिया था और उनकी ब्रा भी खोल दी.

करीब पचास धक्कों के बाद जैसे ही भाभी फिर अपने चूतड़ों को उठाने लगीं, तो मैंने भाभी के दोनों पैर अपने कंधों के ऊपर ले लिए और जोर से उनकी चुत में लंड के झटके लगाना चालू कर दिए.

मां अब उह्ह्ह् अह्ह ह्ह्छ उफ्फ की आवाजें निकाल रही थी और विशु मां के दूध चूस रहा था. मेरा खड़ा लंड उसकी गांड में चुभ रहा था, जिसको वो अपनी गांड को और हिला हिला के रगड़ रही थी. मैं बोली- साहब जी … कोई बात नहीं … मैंने भी अपने पति के मरने बाद आज़ आपसे सुख पाया.

दो मिनट बाद उसने मेरे मुंह को अपनी चूत पर कस कर दबा दिया और उसकी चूत से पानी निकल गया. वो बोली- भैया आप बुरा न माने, तो एक बात कहूँ?मैंने कहा- मैंने तेरी कोई बात का कभी बुरा माना है?वो बोली- भैया, मेरी सहेलियां स्कूल में ऐसे ही सेक्स को लेकर उल्टी सीधी बात करती थीं. आज के दिन उससे अपने प्यार का इजहार करने का मेरे पास मौका था और उसी दिन मैंने अपने प्यार का इजहार कर दिया.

वो वासना से तड़प रही थीं, उन्होंने मेरे लंड पर हाथ फेरा, तो मैंने अपनी पैंट को उतार दिया.

जैसे ही भाभी पापा के पास गयी तो उसने भाभी का हाथ पकड़ लिया और उसकी चूची को दबाने लगे. मैंने उसकी टांगों को अपने कंधों पर रखा और अपने दोनों हाथों से उसके मम्मों को दबा दिया.

बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी उसने मुझे नीचे से ही घूर कर देखा, फिर उसको पूरा मुँह में लेकर चूसने लगी … मेरा पहली बार कोई चूस रहा था तो मैं सातवें आसमान में था. जैसे ही हम दोनों रूम में गए, उसने कहा- पहले रूम का दरवाजा अच्छे से बंद कर दो.

बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी मैंने मम्मी की चूत के होठों को खोलकर अपने होंठ उस पर रख दिये और अपनी जीभ मम्मी की चूत में फेरने लगा. मैंने उसका ब्लाउज पकड़ कर खींच दिया तो वो पूरी तरह फट गया। मैं उसके 38 साइज के मम्मों को पकड़ कर चूसने लगा।आह.

चाची बोली- आज मेरी प्यास को बुझा दो, कल जब मैंने तुम्हारा लंड अपनी गांड पर महसूस किया था तो तब से ही मेरी चूत में आग लगी हुई है.

न्यू वॉलपेपर डाउनलोड

गन्दा मुहल्ला था, घर काफी दूर दूर थे, बबूल के पेड़ थे आसपास!वो चारों एक घर में घुस गए. खेत पर जाकर मैंने देखा कि एक बहुत ही कम उम्र की लड़की वहां पर बकरियां चरा रही थी. उसे देख कर मेरा मन कर रहा था कि अभी के अभी सीमा की चुत पर अपना मुँह लगा दूं और उसकी चुत का सारा जूस सारा पी जाऊं.

शुरू शुरू में मैं समझता था कि वे ऐसी औरत नहीं है और मैं उस पर ध्यान नहीं देता था. मुझे उसके मुँह में अपने लंड के जाने से मजा आने लगा और मैं अपनी शर्ट ऊपर उठा कर उससे लंड चुसवाने का मजा लेने लगा. लेकिन एक दिन मेरी एक सहेली ने मुझे पढ़ने को एक किताब दी, जिसमें सेक्स का मजा दिया हुआ था.

कभी उसके कमरे में नहीं गए आप?नहीं रानी, वैसे उसके कमरे में ऐसा क्या है?”रानी मेरा हाथ पकड़ के मुझे बहू के कमरे में ले गयी.

जब दो जवान गर्म जिस्म साथ हों तो …नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम सुनील कुमार है। मैं हरियाणा का रहने वाला हूं।आज मैं आपको अपनी एक ऐसी कहानी बताना चाहता हूं जिसमें मैंने अपनी बुआ की लड़की को रात में उसके ही कमरे में चोद दिया।तो आईए शुरू करते हैं. हालांकि मैं मोहन की इस हरकत से एकदम से शॉक थी, पर न जाने क्यों मैंने उससे कुछ बोला नहीं. यह कहकर मैंने कल्पना को बेड पर लिटाया और उसकी टांगें फैला कर चूत को किस किया.

घर में कोई दूसरा तो था नहीं इसलिए मैं कुछ देर चाचा के पास ही बैठ गया. थोड़ी सी नानुकुर के बाद मैंने हाँ कर दी और कमल से बात करके आठ दिन का पूरा प्रोग्राम तय कर लिया. मासिक पीरियड से निवृत होने के बाद लड़कियों की सेक्स करने की इच्छा पूरे उफान पर होती है.

पहले तो मैंने मना किया, लेकिन फिर उसने बोला कि भाई चलो कोई दिक्कत नहीं है … आप सुबह निकल जाना. अब जब भी हम बात करते, ऐसा लगता कि हम एक दूसरे को सालों से जानते हैं।पहले फोन पर नॉर्मली बातें होती थी.

मामी मेरे पूरे लंड को मुँह में डालकर जोर जोर से चूस रही थीं … और मैं भी अब मामी के बड़े बड़े मम्मों को दबा रहा था. हनी के ऊपर लेटे लेटे मैं सोच रहा था कि कहां मैं 63 साल का मर्द और कहां ये 18 साल की कमसिन काया. मैंने अपने लंड को उसके होंठों पर रगड़ा और उसने मेरे लंड को किस कर लिया.

ये देख कर वो मुस्कुराने लगी और बोली- इतनी जल्दी माल निकल गया!मैंने अपने सर को नीचे कर लिया और चुपचाप वहीं बाथरूम में खड़ा रहा.

मेरा दिन तो दुकान पर कट जाता था लेकिन रात को बिस्तर पर जाते ही अनु की याद आने लगती और मेरा लण्ड टनटनाने लगता. ये सब मैं अकेले में ही करता था क्योंकि गांव में इस तरह की बातें बहुत जल्दी फैल जाती हैं. और ऐसा ही चलता रहा तो चिन्ना की लुंगी भी गीली हो जाएगी।इससे पहले उसका ये डर सच साबित होता, चिन्ना बोला- बेटी, पीठ की मालिश बहुत हो गई अब मैं पलटता हूँ मेरी छाती की मालिश भी कर दो।करोना यह सोच कर खुश थी और वह ऊपर से उठ कर बैड के नीचे आ गई.

तभी मेरी नजर बालकनी में गयी जहाँ से मेरी बहू मेरी और रानी की चुदाई देख रही थी. मैंने कहा- बहू, मुझे तुम्हारे कपड़ों से कोई प्रॉब्लम नहीं, जो चाहो वो पहन लो.

जैसे ही वो अन्दर आयी, मैंने जल्दी से कमरे के दरवाजे को बंद किया और पीछे से उसको कसके पकड़ लिया. मैंने उसको जगा कर जाने का बोला तो वो बोली- कल भी आओगे न?मैंने उसको हां बोला और वापस अपने घर आ गया. थोड़ा बाहर निकला पेड़ू, और गहरी, बड़ी और बिल्कुल गोल नाभि, जिसकी गहराई 1 इंच होगी और गोलाई 2 इंच! उसके चारों तरफ पानी की छोटी छोटी बूंदें चमक रही थी, कटिप्रदेश से नीचे काले रंग छोटी सी पैंटी कसी हुई थी, जो भीग कर बिल्कुल चिपक गयी थी.

कैमरा लोड करना है

हम वहां से थोड़ी दूर अंधेरे जगह पर गए, जो कि शहर से 2-3 किलो मीटर दूर था.

इसी स्थिति का फायदा उठाते हुए करोना ने धीरे से अपनी थोड़ी सी चादर हटा कर बाथरूम में देखा तो सन्न रह गई. उधर पहले वाला वेटर सामने से मेरी बुर में अपना लंड डाल कर चोद रहा था. मैं उसके मदमस्त मादक रूप में ही खोया हुआ था कि तभी तनु ने पास आकर मेरे चेहरे पर उंगली फेरते हुए पूछा- कहां खो गए ज़नाब? देखते ही रहोगे क्या!बिना वक़्त गंवाए मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

इसमें मां-बेटा, भाई-बहन, बाप-बेटी के बीच हुए सेक्स की कहानी लिखी होती थीं. ये सुन कर नसरीन शर्म से लाल हो गई और बोली- दीदी कुछ खतरा तो नहीं है … कहीं मैं पकड़ी गई … तो?मैं- अरे कुछ टेंशन मत ले … मैं हूँ ना. कामसूत्र हिंदी सेक्सी मूवीउसकी नाइट ड्रेस में उसकी उभरी हुई चूचियां देख कर मेरा मन बहकने लगा.

और फिर मैंने उनके दोनों पैर फैलाये और अपना लंड एक ही झटके में अंदर डाल दिया। उनके मुख से बहुत तेज आवाज निकली और फिर वो बोली- आराम से करो मेरी जान।मैंने मैम की चूत से आराम से पूरा लंड बाहर निकाला और फिर पूरा अंदर डाल दिया. निशा आंटी की उम्र करीब 45 साल थी, कद पांच फीट चार इंच, रंग गोरा, छाती 42 इंच, कमर 36 इंच व चूतड़ 44 इंच के थे.

जब मैं चाचा के घर में रहने के लिए गया था तो उनके वहां पर दो ही कमरे थे. मैंने भी उसे आई लव यू टू कहा और इस अनोखे अहसास के लिए धन्यवाद दिया. निशा- मेरे सेक्स स्लेव (गुलाम) बनोगे पूरी लाइफ के लिए?उसने ये कातिलाना मुस्कुराहट के साथ कहा.

अपनी बहन की चूत गांड मारने में क्या मज़ा आ रहा था, इसको कैसे लिखूँ, कहा नहीं जा सकता. मैंने उनका जवाब सुनते ही उनके एक चुचे को ज़ोर से मसल दिया और चूत के अन्दर अपनी जीभ डाल कर उनको चोदने लगा. अपने पास आज ही का दिन है … कल की हमारी ट्रेन है … सोच लो!उसकी इस बात पर मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपनी तरफ खींच लिया.

लण्ड अभी भी चूत के अन्दर था और शिलाजीत के असर से अभी भी ढीला नहीं हुआ था.

पर आज ना जाने उसे क्या हो गया था … उसने एक बार मुझे देखा और बिना कुछ बोले चला गया. एक दिन मैंने सभी छात्रों के सामने उससे अपने पेरेंट्स के साथ आने को बोला.

उसके बाद फिर मैं घर को संभालने में लग गयी और सेक्स की ओर कभी ध्यान ही नहीं गया. पहले के 2 साल जिसमें हम दोनों में बहुत कम बातें हुई, सिर्फ काम की बात हुई. बहू की जीभ का स्पर्श मेरे लंड पर पड़ते ही मेरी आँखें बंद हो गयी और में सुख के सागर में थामैं बहू के बालों में हाथ फेर रहा था और वो मेरा लंड बड़े मज़े से चूस रही थी.

तनवी मैम ने बताया कि उसके पति का लंड मेरे लंड के जितना लम्बा और मोटा भी नहीं है. तो बुआ ने भी नमस्ते की और पूछा- और अनिल कैसे हो?तब मुझे पता चला कि उसका नाम अनिल है. रेखा आंटी की मिस्ड कॉल के साथ व्हाट्सएप पर उनके मैसेज भी दिखाई दिये तो मैंने व्हाट्सएप खोल दिया.

बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी लग रहा था जैसे भगवान ने बड़ी फुरसत से खुद के लिए ये नायाब अप्सरा बनाई और फिर ग़लती से उसे धरती पर भेज दिया।मैं तो उसे ही देखता रह गया. लगभग पंद्रह मिनट तक मैंने दीदी की चूत को पेला और फिर मैं भी एक बार फिर से झड़ने के करीब पहुंच गया.

सर्दियों में कितना पानी पीना चाहिए

इस बीच सिम्मी और मुझे बात ना किए हुए एक हफ्ते से ज्यादा का समय हो गया था. भाभी की आंखों में आंसू निकल रहे थे पर उन्होंने मुझे रोका नहीं।जब पूरा लंड भाभी की चूत में चला गया तो भाभी ने कहा- थोड़ी देर के लिए रुको!मैं उनके ऊपर ही लेट गया।कुछ देर बाद भाभी ने नीचे से उछलना शुरू किया तो मैंने कहा- भाभी जी, बड़े मजे कर रही हो मेरे लंड से।तो वो बोली- चलो बातें ना करो. मैंने उसको फिर से पकड़ा और उसकी गर्दन को पकड़ कर जोर से उसके होंठों पर अपने होंठों से चूसने लगा.

मैंने कहा- क्या हुआ, दर्द हो रहा है क्या?वो बोली- हां, बहुत दिनों के बाद चूत में लंड जा रहा है इसलिए दर्द तो होगा ही लेकिन तू रुक मत. मैंने दीदी के कमीज में हाथ डालने की कोशिश की लेकिन दीदी ने मेरे हाथ को पकड़ लिया. पिक्चर पिक्चर सेक्सी पिक्चरलेकिन उसके छूने से मेरा लंड खड़ा होने लगा था, जिसे देखकर वो पूछने लगी कि भैया ये क्या होने लगा, आपका सुसु अब बड़ा क्यों हो रहा है … और फिर से गर्म भी हो रहा है.

करोना ने भी तुरंत अपना शर्ट ऊपर कर लिया और अपनी सख्त चूचियों पर हाथ फेरने लगी.

अत्यधिक मजे और उत्तेजना की वजह से अब शब्दों ने करोना का साथ छोड़ दिया था- आआह उहहह सी सी, आआह उहहह सी सी,उईईई मेरी मां मैं गईईईई ईईई ईईईई…और इस प्रकार चिन्ना के लण्ड की लगातार पड़ रही ठोकों के आगे करोना की चूत पस्त होकर जवाब दे गई और कर झड़ने लगी. मैंने कहा- ओह … आप जिम के ट्रेनर हैं क्या?अनिल बोला- ट्रेनर भी हूँ और जिम का मालिक भी हूँ.

इस पर वो खुश होकर एक पैर मेरे ऊपर फेंकते हुए और जोर से पकड़ते हुए मुझसे चिपक गयी और प्यार से मुझे एक पप्पी दी. हनी की बांह पकड़कर उसे कुर्सी से खड़ा करते हुए मैंने पूछा- ये क्या देख रही हो?हनी आँखें नीचे किये चुपचाप खड़ी रही. और इन्हीं से मुझे आज अपना यह नया सेक्स आर्टिकल लिखने का विचार आया और मैं हाज़िर हूँ.

सारिका बहुत नखरीली है, दसियों लड़कों को रिजेक्ट कर चुकी है और दसियों ल़ोग इसको रिजेक्ट कर गये हैं.

मैंने लुंगी इसलिए उतारी कि कहीं तुम्हारी मालिश करते समय इसमें तेल न लग जाये. उसने उस रंडी को कॉल किया और फोन स्पीकर पर लेकर कहा- मेरा एक दोस्त है, वो तेरे साथ बैठना चाहता है, बता कितना लोगी और कब मिलोगी?उसकी इस तरह की सीधी बात सुन कर मैं तो चकित रह गया कि साला ये तो किसी भी रंडी से फ़ोन पर ऐसे सीधे बात कर रहा है. उसी समय दूल्हे की मम्मी ने बोला- कोई दुल्हन के साथ नहीं चलेगा क्या?उनकी बात का मतलब था लड़की की बहनें साथ जाती हैं, लेकिन उसकी तो कोई बहन ही नहीं थी.

हिंदी सेक्सी चूत चूतवो अपनी जुबान मेरे होंठों से रगड़ने लगी, मैंने अपना मुँह खोल कर उसकी जीभ को अन्दर ले लिया और चूसने लगा. मुझे उसके इस मैसेज से कोई आश्चर्य नहीं हुआ क्योंकि आज के दिन की हमारी पहले से प्लानिंग हो चुकी थी.

सेक्स पॉवर फ़ूड

मैं तो शादी के बाद ही चुदाई करने वाला था, लेकिन ऑफिस के दोस्तों के बहकावे में आकर मैंने चुदाई करने का फैसला किया था. फिर मैंने दोबारा से बात शुरू करते हुए कहा- तुम्हारे पिताजी को गुजरे हुए काफी वक्त हो चुका है. मैं धीरे से उसके ऊपर आया और उसके होठों को चूमने लगा, उसे बोला- थैंक्यू भाभी मजा देने के लिए।भाभी ने कहा- थैंक्यू तो मुझे कहना चाहिए। कब से इस चूत ने ढंग से पानी नहीं पिया था.

बेटे के हर धक्के से बहू के बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे और बहू की आवाज ‘आह आह … जोर से करो!’ आ रही थी. जीभ लगते ही उसकी चूत के पानी का और आईसक्रीम का टेस्ट मुझे भी महसूस हुआ. कई बार जब मैं उसके घर में होता था तो वो मेरे सामने ही कुछ काम कर रही होती थी.

दीदी ने गुस्से से मेरी तरफ देखा और कहा- पहले ये बता कि ये वीडियो तुम्हारे पास कहां से आया?मैंने हिचहिचाते हुए कहा- लैपटॉप में से. मेरे होंठ पूरे गीले हो गये उनकी चूत के रस से … और मेरी लार भी उनकी चूत को गीला करने लगी. आज पहली बार मुझे इतनी खुशी हो रही थी कि मैंने अपनी दीदी की चुत चोद ली थी.

लेकिन दोस्तो, मेरे पास आने वाली यौन समस्याओं और उन पत्रिकाओं में आने वाली यौन समस्याओं में एक भारी अंतर देखा मैंने!असल में ये सभी पत्रिकाएं पारिवारिक होती हैं. मैंने अपना अंगूठा सारिका की गांड में डाल दिया तो अं…क…ल कहकर चिहुँक उठी.

मैं 23 साल का हूं। मैं मुंबई का रहनेवाला हूं। पिछले साल ही मेरी होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई पूरी हुई है।यह मेरी पहेली कहानी है। आशा करता हूं कि आपको मेरी यह पहली हिन्दी सेक्स कहानी पसंद आएगी। अगर कोई गलती हो तो माफ़ कर देना।बात लगभग 5 साल पहले की है, जब मैं 18 साल को पार ही कर रहा था.

मुझे भी कॉलेज तक तो जाना ही था, तो मैंने उसे बताया कि मैं भी एग्जाम देने के लिए कॉलेज जा रहा हूँ, तुम मुझे कॉलेज तक लिफ्ट दे दो. செஸ் ப்ளூ பிலிம் தமிழ்मैं- क्या हुआ मां क्यों चिल्ला रही हो?मम्मी- तू कल कहां गया था?मैं- कल घर के बाद क्रिकेट खेलने गया था. भरतपुर सेक्सअब भाभी मेरा लंड अपने चूत में लेकर मेरे ऊपर उछल रही थीं और मैं जन्नत की सैर कर रहा था. इसमें से मेरी 43 इंच की गांड तो सबका ध्यान आकर्षित करने के लिए काफी थी.

दस मिनट की मेहनत के बाद मैंने अपनी बहन की कुंवारी बुर को एकदम चिकना कर दिया.

जीभ का अहसास पाते ही मामी की सिसकारी निकल गई और उन्होंने अपनी टांगें फैला दीं. मैंने फिर से पहल की और उसकी उंगलियों की तारीफ करते हुए कहा- आप बड़ी खूबसूरत हो. स्खलन के करीब पहुँचने के बाद चिन्ना के रोकने से गुस्से से फनफनाई भोली करोना अनमने भाव से अपने दोनों हाथों के अंगूठों और तर्जनी उंगली को तेल में डुबोकर उसके दोनों निप्पल्स के चारों तरफ उँगलियों से सर्किल बनाने लगी.

मैंने उसकी एक चूची को मुँह में दबा कर ताबड़तोड़ धक्के देना शुरू कर दिए थे. वो और जोर से चिल्लाई- प्लीज मेरे राजा, आराम से करो … मैं रंडी जरूर हूँ पर इतने जोर जोर और काट कर चुदाई करोगे, तो मुझे भी दर्द होगा, मैं तुम्हें पूरा मजा नहीं दे सकूंगी … प्लीज आराम से चोदो मुझे. मैंने आकांक्षा को कॉल किया और उसे बहाना बनाकर आज के लिए मना कर दिया.

मारवाड़ी सेक्सी गर्ल

कुछ समय बाद वह दिन भी आ गया और रात भी … मैंने सब तैयारियां कर ली थी, बस मुझे वहां जाना था. मेरा लंड पूरी तरह टाइट हो चुका था, ऐसा लग रहा था कि अब यह लंड गर्मी के मारे फट जाएगा।वह बहुत धीरे-धीरे अच्छे बहुत अच्छे से चूसने लगी. मुझे यह सब करते हुए देखकर वे बहुत उत्तेजित हो रहे थे, यह उनके हावभाव से ही जाहिर हो रहा था.

फिर हम दोनों उठे और चाची खुद को साफ करने के लिए बाथरूम में चली गयी.

पाठकों की कुछ बातें बहुत ही शर्मनाक अप्राकृतिक सेक्स जैसी होती हैं जिनको वहां लिखने में और उसका समाधान पूछने में ही शर्म आती है.

मुझे लगता है तुम्हारा कपसाइज़ ‘डी’ होना चाहिए।” मैंने कहा।अरे जब सब कुछ आपको पता ही है तो ले आइये ‘डी’ ले आइये। हद हो गयी आज तो हर चीज़ की।” रीना बुरी तरह नाराज़ लग रही थी।गुस्सा मत हो … रीना … मैं ला रहा हूँ अभी!”कुछ देर बाद मैंने एक जालीदार ब्रा और पैंटी लाकर बाथरूम का दरवाज़ा खटखटाया. उसने मेरा लोअर उतार दिया और मेरे कच्छे का नाड़ा खोलने लगी जैसे ही मेरा कच्छा नीचे गिरा रानी की आँखें फटी रह गयी. देवर भाभी का फुल सेक्सी वीडियोमेरी इस मस्ती भरी हॉट सेक्स कहानी के पहले भागसहेली की शादी में मेरी चुत चुद गई-1में आपने अब तक पढ़ा कि मैं अपनी सहेली की शादी में गई थी.

अक्सर वो रास्ते में मुझसे बात करते हुए बताती कि उस लड़की चक्कर, उस लड़के से है, उसका उससे है।वो अक्सर मुझसे भी पूछती थी- तुम भी किसी को पसन्द करते हो तो बताओ?तब मैं उसे हर बार मना कर देता था।वो मुझसे कहती- अगर किसी को पसन्द करते हो तो कहो; मैं उससे बात कर लूं?मैं तब भी उसे मना कर देता।कभी कभी वो मुझसे कहती कि अगर किसी को पसन्द करते हो तो उसे कह दो. जब मैं हटा तो मम्मी बोलीं- सोनू, तुम लोटा भरकर डिस्चार्ज करते हो, मेरी पूरी चूत भर दी. चाची को दर्द तो हो रहा था लेकिन वो चाचा के उठ जाने के डर से ज्यादा जोर से नहीं आवाज कर रही थी.

मानी तो ठीक नहीं तो उसके स्तनों को देख कर ही हिला लूंगा।मैंने उसको रिक्वेस्ट की- प्लीज़ मुझे चूत दिखा दो, नहीं तो मेरा लंड बैठेगा नहीं।वो मान गयी, उसने कॉल किया और बोली-जल्दी से देख लो, मैं बाथरूम में हूँ।ओह हो … क्या चूत थी उसकी! बस देखते ही चाटने का मन कर रहा था. ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, इसलिए अगर कोई गलती हो जाए तो प्लीज नजरअंदाज कर दीजियेगा.

फिर मैंने झटके देना शुरू कर दिए … हर झटके के साथ उसके बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे.

वे यह कह रहे थे कि मेरे पराए मर्द के साथ संभोग को वे खुद देखना भी चाहते हैं. कमर से ऊपर तनी हुई चूचियों का नाप 36 इंच है और बीच की बलखाती हुई कमर 32 इंच की है. वो कुछ देर तक लंड देखने के बाद बोली- भैया मुझे तो समझ नहीं आ रहा, तुम बताओ न!मैंने अपनी गोटियों की तरफ हाथ फेर कर बताया कि यहां लगी है.

મોબાઇલમાં फिर मैंने धीरे से अपना एक हाथ बढ़ा कर उसके चूचियों पर रखा और मैं धीरे-धीरे सहलाने लगा। उसका भी सारा शरीर एक भट्टी की तरह तप रहा था उसकी गर्म सांसें मेरी सांसों से टकरा रही थीउधर मेरे लंड का भी बहुत बुरा हाल था, वह पहाड़ की तरह तन कर खड़ा था और पैंट से बाहर आने के लिए मचल रहा था।मैंने उसका हाथ पाजामे के ऊपर से ही लंड पर रखवा दिया. मैंने उसे दोबारा बुक करना चाहा तो …मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागचूत चुदाई की हवस कॉलगर्ल से बुझी-2में आपने पढ़ा कि मैं कल्पना नाम की रंडी की चुदाई करते हुए उसकी चुत में झड़ गया था.

मुझे आप लोगों के रेस्पोन्स का इंतजार रहेगा कि आपको तनवी मैम की चुदाई की ये कहानी कैसी लगी. मेरे पूछने पर उसने बताया कि वो लोग अब घर जा रहे हैं और मुझको बोलकर गए हैं कि तुम आराम से एंजाय करके आना. बाकी तुम ज़ब बोलोगी, जो बोलोगी सब करूंगा।वो बोली- मैं भी शादी से परेशान हूँ.

नशे की टेबलेट

मैंने उसकी चूत को कुछ देर चाटा और फिर मैं उसके नंगे जिस्म पर सीधा होकर लेट गया. माँ उसका लंड मुंह में लेने की कोशिश कर रही थी लेकिन उसका लंड मां के मुंह तक नहीं पहुंच पा रहा था. मैंने एक दिन भाभी से बोला- आप इतनी मुलायम कैसे हो? मसाज वगैरह करवाती हो?तो उन्होंने कहा- नहीं, पर पहले करवाती थी.

मेरी बहू मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं उसके होंठों का रसपान कर रहा था. मुझे तो मजा आ गया चाचू आपका लंड अपने अंदर लेकर!मैं बोला- मेरी जान, मैं तो कब से तुझे चोदना चाहता था, पर डरता था कि तू बुरा ना माँ जाए।अब हम लोग रोज रात में चुदाई का मजा लेने लगे। वो प्रेगनेट ना हो जाये इसके लिये उसके लिए ‘सहेली’ गोलियाँ लाकर रख ली थी, मैं उसे रोज गोली खिला देता था। अब कोमल मेरे साथ बहुत खुश थी.

मैंने अपने ब्लाउज से दोनों चूचियों को आधा बाहर निकाल कर दबाना शुरू कर दिया और दीवार के सहारे खड़े होकर नीचे से साड़ी उठा कर अपनी बुर में उंगली करने लगी.

सुमित मोटरसाइकिल से उतरा और अपने दोस्तों को जो पीछे बैठे थे उनसे बोला- अरे यार वो तो उतर जायेंगे तुम हां तो बोलो पहले. जब तक मैं सम्भलती, उसने एक ही झटके में मेरी गांड में लंड डाल दिया और गांड ठोकने लगा. यह कहानी पूरी तरह से हकीकत में हुई घटना है जिसमें मैंने अपनी वर्जिनिटी खोयी थी और अपने से 10 साल बड़ी औरत को चोद कर गर्भवती किया।बात दो साल पहले की हुई घटना की है.

एक दिन उसने मेरे फोन में ब्लू फिल्म देख ली और मेरी मम्मी को बता दिया. मेरे होंठ पूरे गीले हो गये उनकी चूत के रस से … और मेरी लार भी उनकी चूत को गीला करने लगी. रानी की आँखें बंद थी और हल्की सी प्यार भरी आवाज ‘आह’ उसके मुँह से निकली.

अगले दिन ऑफिस के टॉयलेट में भी मैंने दो बार अपनी बहन के नाम की मुठ मारी.

बीएफ मूवी सेक्सी वीडियो हिंदी: सुमित मोटरसाइकिल से उतरा और अपने दोस्तों को जो पीछे बैठे थे उनसे बोला- अरे यार वो तो उतर जायेंगे तुम हां तो बोलो पहले. फिर मैंने भाभी से बोला- कुछ भी कर लें क्या?तो उन्होंने बोला- और कुछ क्या?मैंने कहा- जब मसाज कर ली, सब कुछ देख लिया तो मेरे मन की इच्छा भी कर दो पूरी!तो उन्होंने कहा- आप क्या कर सकते हो मेरे साथ?मैंने कहा- जो आप बोलो, वो कर सकता हूं.

अब निधि फिर आँखें बंद कर मस्ती में आहें भरने लगी।निधि की चूचियों के निप्पल मसलने के बाद मैं उसकी बायीं चूची के निप्पल को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा और दायें हाथ से उसकी दायीं चूची को दबाने लगा।कुछ देर बायीं चूची को चूसने के बाद मैं उसकी दायीं चूची को मुख में लेकर चूसने लगा और बायीं को दबाने लगा।अब तक निधि फिर से चुदासी हो गयी थी. और निधि बड़े ही प्यार से मेरे लन्ड के साथ साथ मेरे अंडकोष को भी चाट रही थी।कुछ देर बाद मैंने निधि के सर को अपनी हाथों में पकड़ लिया. एक दिन मौका मिला और मैंने रचना को यह बात बोल दी- भैया के शरीर को मैंने देखा चड्डी में … वे छत पर टहल रहे थे.

क्या बात है?बाबू, मैंने बहुत बार रात में अपनी दीदी और उसके बॉयफ्रेंड की सेक्सी बातें सुनी हैं.

जैसे ही मेरे होंठ उसके होंठों से लगे तो उसने मेरे कंधे पर हाथ रखा और अपने शरीर को ढीला छोड़ दिया. उसके बाद उसने मेरे लंड को भी मुंह में ले लिया और मेरे लंड पर लगा सारा माल साफ कर दिया. उन्होंने एक दिन मुझे समूचा नग्न करके बहुत छोटे बच्चों वाली टॉयज कार और दूसरे खिलौने मेरे नग्न जिस्म पर चलाएं.