सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,बहन की सील तोड़ी

तस्वीर का शीर्षक ,

বৌদি পানু ভিডিও: सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म, जैसे ही मैंने उसके आमों को मसला तो उसकी भी स्पीड तेज हो गई और भाभी जोर से मेरे लंड के ऊपर उछलने लगी।कितनी देर तक वो मेरे ऊपर उछली और फिर धीरे-धीरे शांत हो गई।शायद उसका पानी गिर गया था.

काजल अग्रवाल की हॉट सेक्सी वीडियो

एक लड़का मेरी सेक्सी मॉम को गालियां दे रहा था, कह रहा था- रेनू, आज तेरी चूत फाडूंगा मेरी रण्डी कुतिया!फिर उन दोनों ने मेरी मॉम की जीन्स उतार दी. bf डाउनलोड वीडियोमेरा तो जैसे अब झड़ने का पूरा मन कर रहा था क्योंकि एक चुदने की हवस भी अब खत्म हो गई थी और अंदर कहीं ना कहीं मैं थक सी भी गई थी.

पापा भी बूंद-बूंद करके मेरी कमर पर डाल रहे थे, तो थोड़ा तेल मेरे पेट पर आ रहा था. चाइनीस पोर्नउसके बाद क्या हुआ? मैंने उसे कैसे चोदा?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम आरव है.

पापा ने मेरे घाघरे को इतना ही सरकाया था, जहां से मेरे कूल्हे की नाली और आगे से मेरी जांघें दिखने लग जाएं.सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म: मैंने ऐसा इसलिए किया कि ताकि विशाल के अंदर सेक्स का स्टेमिना ज्यादा देर तक बना रहे और हम दोनों मां-बेटा अपनी चुदाई का मजा ज्यादा देर तक ले पायें.

इतना ही नहीं, तुम मेरी सौतेली नानी को चोदोगे तो मुझे और ज्यादा मजा आयेगा.मैंने उससे पूछा- स्नेहा तुम तो एकदम बदल गई हो?उसने कहा- मामा, आप भी बदल गये हो.

रवीना टंडन का सेक्सी - सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म

वो कहने लगी- लंड अन्दर करो ना!मेरा उसकी गांड मारने का दिल कर रहा था तो मैंने बोला- थोड़ा पीछे करूं क्या?पहले तो उसने मना कर दिया, बाद में मेरे कसम दिलाने पर मान गई.वो मुस्कुराई और बोली- वो आपको पैसे देने के लिए बोल कर गए हैं कि आप पैसे लेने आओगे.

कोई दो मिनट बाद मेरा लंड का रस लावा की तरह निकलने लगा और वो उसे पीती गयी. सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म उसके घर पहुंच कर मैंने पाया कि उसने पहले से ही सुहागरात जैसी सजावट की हुई थी.

वैसे तो हमारी 8-10 लोगों की पूरी गैंग ही जाती थी घूमने के लिए अगर शहर से बाहर कहीं जाना होता था तो!पर एक बार पढ़ाई का प्रेशर इतना था कि शिल्पा त्रस्त हो गयी पढ़-पढ़ कर … तो उसने बोला- कहीं ट्रेक पर चलते हैं.

सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म?

कल्पना ने देखा कि मेरे कंडोम से बहुत सारा वीर्य बह कर वहीं बेड पर गिर रहा है. झड़ते समय जो आनन्द की अनुभूति नसरीन को मिली, वो उसके चेहरे से साफ़ पता चल रहा था. मम्मी को अपने आलिंगन में लेकर उनकी चूचियां सहलाते हुए मैंने पूछा- मॉम, मैं आपको रेनू कहकर बुला सकता हूँ?हाँ, मेरे सोनू, मेरे राजा.

उन्हीं दिनों मेरे एक दोस्त ने मुझे अन्तर्वासना साइट के बारे में बताया. मेरी माँ ने मास्टर की बेटी तनु को भी बहाने से हमारे घर बुला लिया था. मोहन ने हाथ बढ़ा कर मेरी चुची को दबाया और बोला- बहन की चूत साली दूर क्यों खड़ी है … इधर आकर लंड चूस.

लेकिन शायद उन औरतों को तैरना नहीं आता था इसलिए वे किनारे ही नहा रही थीं।उस दिन तब तक हम उन औरतों को दिखा दिखा कर नहाते रहे जब तक की वो नहाकर चली नहीं गयीं।अब तो यह रोज का काम हो गया था हम लोग रोज निर्धारित समय पर नहाने जाते और वो भी उधर से नहाने आती. मुझसे भी अब रहा नहीं जा रहा था, तो मैंने जल्दी से उसे बेड पर लिटाया और उसकी जांघों के बीच में बैठकर उसके दोनों पैर उठाकर अपने कंधों पर रखे और लंड को चूत पर सैट किया और अन्दर डालने लगा. मैं उत्तर प्रदेश के एक शहर का रहने वाला हूं और एक जिम ट्रेनर की नौकरी करता हूं.

माँ!तभी मैंने उसके ऊपर लेटकर उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और जोर से दो तीन धक्के मारे. धीरे धीरे धक्के लगाते हुए मैंने ट्रिक से उसकी चूत में पूरा लंड उतार दिया और उसको दस मिनट तक चोदा.

और इसी बहाने मैं तुम्हें और अच्छे से मालिश करने के नए तरीके सीखा दूंगा ताकि तुम कल भी मेरी मालिश उन नए तरीकों से कर सको।यह कह कर चिन्ना बेड पर से खड़ा हो गया और अपनी लुंगी उतार कर बिल्कुल नंगा हो गया.

डिस्चार्ज का समय करीब आते आतेहनी भी पूरे जोश में आ गई और अपने चूतड़ उछाल कर कहने लगी- मारो फूफा जी … और जोर से मारो.

कुछ परेशानियां होती हैं, कुछ मजबूरियां होती हैं, जिनसे उसे इस नर्क में जाना पड़ता है. मैंने देखा कि वो मेरे इस प्रेमरस की भूखी हैं तो क्यों न इनको इनका सुख दे दिया जाए, तो मैं और ऊपर को गया और उनके रसीले होंठों को अपने दोनों दांतों के बीच में ज़ोर से दबा लिया. वे शायद अटेंडेंट के साथ मिल कर यही प्लान बनाने गए थे कि अटेंडेंट कुछ देर में आ कर ये कह दे कि मालिश वाली नहीं मिली और फिर करोना को फंसा देने का प्लान था।अब करोना का दिल जोर जोर से धड़क रहा था.

सम्भोग में जब नर और मादा दोनों बराबर सहयोग करें तो जो आनन्द दोनों को मिलता है, उसका कोई सानी नहीं. मैंने उसके हाथ में 1000 रुपये दिए और बोला- देख, तू जो उसके साथ कर रही थी, मुझे भी करना है. मैंने लंड आगे पीछे करना बंद कर दिया वो बोली- जीजू अन्दर बाहर करो ना.

मैंने कहा- तो फिर उनका खड़ा नहीं होता था क्या?वो बोली- होता था लेकिन दो धक्कों में ही ढेर हो जाते थे.

मैंने इससे पहले आंटियों की चुदाई और कई औरतों की चुदाई भी की हुई थी लेकिन अम्मी के बारे में कभी इस तरह से नहीं सोचा था. तनवी मैम ने बताया कि उसके पति का लंड मेरे लंड के जितना लम्बा और मोटा भी नहीं है. अब तक हम लोग काफ़ी करीब आ गए थे … तो बात करते करते पता चला कि वो शादीशुदा है और उसका पति, एक इनवेस्टमेंट बैंकर है, जिसकी वजह से वो हमेशा ही बाहर टूर पर रहता है.

हम दोनों ने साथ में डिनर किया और फिर उसने हम दोनों के लिए दो बिस्तर लगा दिये. भाभी ने मुझे अपना नम्बर दिया और कहा कि जल्दी ही तुमको मेरे घर आ कर मेरी आग शांत करनी होगी. मैंने नसरीन की चुत पर अपने 9 इंच लंबे लंड को सैट करके हल्के से दबाया, तो वो दर्द के मारे कंप गई.

शिल्पा सरक पर मेरे सीने पर अपने बूब्स गड़ा कर लेट गयी … और मैंने भी उसे बांहों में भरे रखा.

मेरी उम्र 23 साल है।यह कहानी मेरी मॉम और उनकी सहेली की है कि कैसे मॉम और उनकी सहेली अपने हुस्न और जवानी का मजा लूटती हैं. मैंने पूछा- तो फिर उन्होंने अपनी शालिनी डार्लिंग को चोदा नहीं?वो बोली- नहीं, बस चूचियों की मालिश ऊपर से करके चले गये.

सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म और ये पैसे मैं तुझे इस लिए नहीं दे रहा हूँ कि मुझे तेरे साथ वो सब करना है. तनवी मैम ने बताया कि उसके पति का लंड मेरे लंड के जितना लम्बा और मोटा भी नहीं है.

सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म मैंने उसकी मर्जी समझते हुए धीरे धीरे उसके दोनों मम्मों को सहलाना शुरू कर दिया. फिर उसकी चूत में धीरे धीरे लंड को नीचे से ही रगड़ता रहा ताकि वो खुद ही चुदने के लिए पूरी गर्म हो जाये.

तो अगले दिन क्या हुआ?टेलर मास्टर से मेरी चूत और गांड की चुदाई कहानी के पहले भागलेडीज टेलर का लंड और मेरी चूत गांड-1में आपने पढ़ा कि मोहन नाम के टेलर ने मुझे अपनी दुकान में ही चोद दिया था और अगले दिन मेरे घर आकर मुझे लहंगे चोली की ट्रायल लेने की बात कही थी.

भारत दुल्हन फोटोग्राफी

मगर तुम्हें अभी पूरी तरह से औरत बनने के लिए कई बार बुर चुदवानी होगी. जिससे उसके ब्रैस्ट का कोई भी भाग नहीं दिख रहा था। मगर उसकी दोनों अंडरआर्म्स पसीने से भीगी थी।शायद उसने अपनी अंडरआर्म्स शेव नहीं की थीं. तो मैंने अपना दिमाग लगाया और पापा से कहा कि पापा मेरा एक काम और कर दो.

ऐसे ही बात करते करते उसने अपने चूचे मेरी पीठ से लगा दिए और मुझसे चिपक कर बात करने लगी. वैसे तो मैं भी शादीशुदा हूँ और मेरा शादीशुदा जीवन भी बहुत अच्छा है. चेकअप के दूसरे दिन जब सब लोग खाना खा रहे थे, तब मम्मी ने कहा कि जोधपुर में उनकी एक सहेली है, जिसके लड़के की शादी है, उसमें उन्हें जाना है तो वो आज ही निकल रही हैं.

करोना झिझकती हुई बैड पर चढ़ गई और चिन्ना के दोनों तरफ एक एक पैर रख कर खड़ी हो गई और खड़े खड़े ही झुक कर मालिश करने लगी।शातिर चिन्ना ने तुरंत अगली चल खेल दी और बोला- बेटी ऐसे नहीं, मेरी गांड पर अपने चूतड़ टिका कर बैठ जाओ और फिर मालिश करो.

वो लंड को जल्दी जल्दी अन्दर बाहर करने लगी, इससे मुझे भी मजा आ रहा था. जिंदगी में यह सुनहरी मौका एक ही बार आता है।चिन्ना अब अपनी पर आ चुका था. पीरियड से निवृत होने के दूसरे दिन आपा नसरीन को ब्यूटी पार्लर ले गईं.

भाभी फिर मेरे पास बैठकर बोलीं- ऐसे नहीं … खुल कर बताओ, अब मुझसे क्या शर्माना. दोस्तो, बस इसी के साथ मैं प्रियल राज आप लोगों को धन्यवाद देते हुए आपसे विदा लेती हूं. लंड का टोपा घुसते ही रूबी ‘आःह्ह…’ की सिसकारी के साथ ऊपर की तरफ खिसक गई.

मेरा मकान मालिक भी उसी बिल्डिंग में रहता है और उसकी पत्नी है नाम है रचना. फिर भाभी ने चादर के अन्दर ही अपने कपड़े पहने और उतर कर टॉयलेट चली गईं.

मैं अब चुदाई के लिए तुम्हारे पास ज्यादा भी नहीं आ सकता … क्योंकि घर वाले अगले साल मेरी शादी कर देंगे. एक दिन मेरे घर के पास रहने वाले एक दूसरे दोस्त ने मुझे कुछ काम से बुलाया था. अब मैंने हिम्मत करके उसका एक हाथ जो मेरी कमर पर था, पकड़ कर अपनी जांघ पर रखवा लिया.

मैंने निशा को गले लगाया और उसी तरह उससे बातें करने लगा- मैं तुमसे मोहब्बत करता हूँ … तुमसे कभी अलग नहीं होना चाहता.

मैंने अपनी बहन की बुर कैसे देखी और उसको साफ़ किया?सभी पाठकों को फिर से स्वागत है, जैसा कि मैंने अपनी सेक्स कहानी के पिछले भागभाई बहन के प्यार से सेक्स तक-1में बताया था कि कैसे मेरी छोटी बहन श्वेता ने मेरा लंड देखा और किस परिस्थितियों में मुझे उसकी बुर छूने का सौभाग्य मिला. जैसे ही सुपारा उसकी गांड के छेद में घुसने लगा तो वो दर्द से तड़पने लगी. तभी बुआ की आवाज़ आने लगी तो मैं जल्दी से अपने छत पर आ गयी और अनिल ने भी तुरंत शर्ट डाल ली.

अगर मेरी इस आपबीती को आप लोगों का पॉजीटिव रेस्पोन्स मिला तो अपने जीवन में घटी और भी सेक्स घटनाएं मैं आप तक लेकर आऊंगा. मुझे सनसनी होने लगी और मैं जानबूझ कर झुक झुक रेडी होने लगी, जिससे पीछे से मेरी पूरी नंगी गांड दिख रही थी.

मैं भी दीपिका की चूत को चोद कर मजा लेने लगा और दीपिका भी अपनी चूत में मेरे लंड का आनंद लेने लगी. रास्ते पर चलता हर आदमी बहू को खा जाने वाली नज़रों से देख रहा था और मेरा ध्यान भी मेरी मेरी बहू की चिकनी कमर पर था. दूसरे और तीसरे वादे को पूरा करने के लिए समय, स्थान और अवसर की आवश्यकता होती है इसलिये कभी कभी इन्कार चल सकता है लेकिन पहला वादा सौ प्रतिशत पक्का होना चाहिए.

सेक्सी विडिओ हद

मुझे बहुत गुस्सा आ गया और मैंने ठान लिया था कि इसको सबक सिखा कर ही रहूँगा.

लेकिन मामी का परिवार बहुत बड़ा है, तो मामी के घर में ऐसा कोई चांस नहीं मिल पाता है. एग्जाम सेंटर पर मैं फ़ोन नहीं ले जा सकता था, तो मैं अपना फ़ोन मानवी को दे गया और उससे बोला कि मैं एग्जाम देने जा रहा हूँ, तुम ध्यान से जाग जाना और घर से फ़ोन आए, तो बात कर लेना. मैंने लंड को बाहर निकाल लिया लेकिन उसकी चूत का दर्द कम नहीं हो रहा था.

उसने आज फिर से लंड पकड़ लिया और बोली- इसको इतनी ठंड क्यों लगती है?मैं पीछे होकर बोला- पकड़ क्यों लेती है … छोड़ पहले. हम दोनों ने उससे नज़रें चुराईं और नीचे उतर कर बाइक पर बैठ कर घर आ गए. प्रियंका चोपड़ाxxxxxएक दो मिनट तक मैंने आंटी की चूत में लंड को अंदर बाहर किया और आंटी ने मेरा साथ दिया.

जिस चाची की चूत के बारे में सोच कर मैं मुठ मारा करता था, वह चूत आज मेरे लंड से चुदने के लिए तैयार थी. चिन्ना अभी भी कुंवारा है और कहते हैं कि उसने अपना पूरा जीवन गरीब लोगों की सेवा के लिए लगा दिया.

मैं भी उसके होंठ चूस रहा था, एक हाथ से उसके बूब्स दबा रहा था और एक से उसकी चूत में उंगली कर रहा था. मन तो कर रहा था कि नेहा की चूत में लंड देकर ही अपनी प्यास बुझाऊं लेकिन वो हरामी मेरे लंड में सेक्स की आग जला कर भाग गयी. मैं साथ ही उसकी छाती पर हाथ रख कर उसे गर्म करने का काम कर रहा था!फिर मैंने उसका कुर्ता उतारा तो नीचे उसने काली ब्रा पहन रखी थी.

किस करते हुए उसने पैंटी को मेरे मुँह में डाल कर मुँह पर हाथ रख दिया. फिर एक बार मैंने उसके लंड को दबा दिया, तब भी उसने कुछ नहीं कहा, तो मैंने मन बना लिया कि इसको अपने लंड की आग बुझाने का साधन बनाना ही है. कुछ समय के बाद मां ने पापा के लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

उसकी गीली बुर के लकीर में मैंने एक उंगली से उसकी क्लिट को रगड़ना शुरू किया, तो वो ‘अहह ऊंह.

फिर जब शाम को पंकज और मैं चाय के लिए मिले, तो उसने मुझसे पूछा कि आर्यन तूने उससे बात की या नहीं? क्या कहा उसने? और तू कब जा रहा है उसके पास?मैंने उससे कहा- यार उससे बात करने की मेरी हिम्मत ही नहीं हुई. थोड़ी देर बाद उरोजों को चूसते हुए मैंने माया की पेंटी उतार दी और उसकी चूत को सहलाने लगा.

मेरी तरफ से हरी झंडी मिलते ही नवीन जी ने मेरा ब्लाउज खोल दिया और मेरी साड़ी पेटीकोट भी खींच कर अलग कर दिया. पहले तो मैंने आज उसको कुछ अलग नजरिए से देखा और दो दिनों में … और आज दिन में जो हुआ, उसको सोच कर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. यार, अगर सामने एक मस्त माल चुदने के लिए तैयार हो तो ऐसे में भला खाने और भूख मिटाने का होश किसे रहता है.

उसने मेरे चूचुक देखे और बोला- बहन की लौड़ी साली … कल मैंने कहा था, अगर निप्पल खड़े नहीं होंगे, तो फिटिंग ठीक नहीं आएगी. हनी चुपचाप उठी और कपड़े पहनने के लिये सोफे के पास जाने लगी तो मैंने उसका हाथ पकड़कर कहा- कुछ नहीं करते, बस एक बार मेरा लण्ड चूस लो. और फिर मैंने उनको पलट दिया और उनकी जांघों पर किस करने लगा, चाटने लगा.

सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म मैंने उसको अपनी गोद में उठा कर ले जा कर बिस्तर पर लिटा दिया।मैं निधि के पैरों के पास आकर उसकी बायें पैर की उंगलियों को चूमने लगा. अब करोना भी समझ चुकी थी कि उसका कुंवारापन अब कुछ ही देर का मेहमान है क्योंकि उसे अपनी कुंवारी नाजुक चूत का दुश्मन यानि चिन्ना का खड़ा लण्ड लार टपकता झटके मरता हुआ अपनी आँखों के सामने नजर आ रहा था.

अंग्रेजी सेक्स वीडियो दिखाएं

अब मैंने दीदी के सिर को पकड़ लिया और उसके मुंह को लंड पर दबाने लगा. इधर मैं भी बड़ी आहिस्ता से अपनी बहन की गांड में लंड डालने की कोशिश कर रहा था. अगर मेरी इस आपबीती को आप लोगों का पॉजीटिव रेस्पोन्स मिला तो अपने जीवन में घटी और भी सेक्स घटनाएं मैं आप तक लेकर आऊंगा.

जब मैंने पहली बार उसे देखा तो देखता ही रह गया। वह एक चुस्त टॉप और शॉर्ट्स में मिलने आयी थी।मैंने उसे सोफ़े पर बिठा दिया और पानी दिया। वह 6 महीने से चुदी नहीं थी। उसके हाव भाव से लग रहा था कि जैसे वो चुदाई के लिए ही मेरे पास आई है. … उउह … चोद डालो मुझे … आह भोसड़ा बना दो आज मेरी चूत का … फक मी … फक मी हार्ड…’ इतना ही कह रही थीं. सिस्टर एंड ब्रदर सेक्सी वीडियोटेलर के लंड से चुत चुदाई की कहानी का पूरा मजा आपको अगले भाग में लिखूंगी.

20 मिनट की चुदाई के बाद मेरा पानी निकल गया और मैंने कंडोम निकल के साइड में ही रख दिया.

हम दोनों ने एक दूसरे को अपनी बांहों में डाल एक दूसरे के होंठों को चूसना आरम्भ कर दिया. पहले एक राउंड जल्दी-जल्दी में निपटा लेते हैं। देखो मेरी चूत कितनी ज्यादा गीली हो गई है और अब इसका इलाज अब तुम्हारा लंड ही कर सकता है। अब जल्दी से इसे मेरे अंदर डाल दो और दिखाओ तुम पर कितना दम है।बात तो वो भी सही कह रही थी क्योंकि अब तो मेरी भी बर्दाश्त के बाहर हो गया था.

अब जब भी हम बात करते, ऐसा लगता कि हम एक दूसरे को सालों से जानते हैं।पहले फोन पर नॉर्मली बातें होती थी. पांच मिनट बाद मुझे लगा कि मैं अब झड़ने वाला हूँ, तो मैंने अपनी रफ्तार बढ़ा दी और जोर जोर से कल्पना की चूत में लंड पेलने लगा. मैं भी दीपिका की चूत को चोद कर मजा लेने लगा और दीपिका भी अपनी चूत में मेरे लंड का आनंद लेने लगी.

मैने सोचा कि क्यों न मैं भी अपनी एक कहानी लिखूं। मैं बहुत ही ठरकी किस्म का इंसान हूं लेकिन मैंने अभी तक किसी को चोदा नहीं है।अपनी ठरक के चलते मैं रोज पोर्न सेक्स वीडियो देखा करता हूं और सेक्स स्टोरी पढ़ कर मुठ भी मारा करता हूं.

उसकी गर्दन को चूमा और फिर उसकी चूचियों को मुंह में लेकर हाथों से दबाते हुए पीने लगा. हम दोनों खेलने के साथ बात कर रहे थे, तो उन्होंने अपने बारे में बताया था कि वो दिल्ली पेपर देने आई थीं और उनके पति हलवाई की शॉप चलाते हैं. बाहर व दरवाजा बार बार आवाज कर रहा है, टीवी देखने में भी मजा नहीं आ रहा है।”दरवाजा बंद कर भाभी मेरे पास ही आकर बैठ गयी और हम दोनों चाय पीने लगे.

ब्लू पिक्चर देखनाउसने लजाते हुए अपनी आंखें नीचे कर लीं और अपने हाथ अपने चेहरे पर रख लिए. फिर उसके दोनों चूचे जोर से दबाओ, बूब्स को किस करो, निप्पलों को हल्के से खींचते हुए काटो.

सेक्सी पिक्चर हिंदी देहाती

अब मैं कभी पीछे से अपना लंड कभी उसकी चुत में डालता, तो कभी उसकी गांड में डालता. फिर मुझे याद आया कि मैंने अपनी बहन को दिए थे, उससे पैसे वापस ले लेता हूँ, तो मेरा काम बन जाएगा. मैंने उस औरत से कहा- मैडम, ठीक तो हम कर देंगे लेकिन जो खर्चा आयेगा वो तो आयेगा ही, उसमें हम कुछ नहीं कर सकते हैं.

कुछ ही देर में वो भी मजे लेने लगीं और अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगीं. अब मैं कविता को धीरे धीरे भूल ही गया था क्योंकि वो अपने ससुराल में थी और कभी दिखाई ही नहीं देती थी गांव में भी. उसे देखकर मैंने कहा- वाओ यार … लुक लाइक ए पोर्न स्टार वन्ना … फ़क यू लाइक ए व्होर … हां चोद लेना … जैसे चोदना हो … अब जल्दी से आओ और मेरी चूत को अपने माल से भर दो … इसने बहुत दिन से लंड नहीं खाया है.

इधर मैं भी बड़ी आहिस्ता से अपनी बहन की गांड में लंड डालने की कोशिश कर रहा था. वो मेरे पास आई और मेरे लिप पर चुम्मी देकर झुक गई और मेरे लंड को चूम लिया. अब मैं प्रीति को चोदने का मौका ढूँढ रहा था, पर वो मुझसे बहुत नॉर्मली बात कर रही थी.

मैंने देखा मेरा बेटा ब्रेकफास्ट करके जा रहा है मगर बहू नहीं दिखाई दी. मैंने इस बार थोड़ा थूक उसकी बुर के छेद पर लगाया और लंड सैट करके अपनी बहन के ऊपर लेट गया.

अब मुझे उनका रसपान भी करना था … लेकिन किसी के आने के डर से मैंने उसके मम्मों को हाथ से दबाते हुए बाहर की तरफ देखा कि कोई है तो नहीं.

तो बोली- वाह … जियो मेरे राजा … तेरे जैसे लड़के से चुदवाने में बहुत मजा आ रहा है। भला हो उस छोटी सी खिड़की का जिसकी वजह से ये मस्त लंड मुझे अपनी चूत में डलवाने का मौका मिला।मैं भी मजे के साथ लंड को उसकी चूत में अंदर बाहर कर रहा था। मैंने उसकी टांगों को पकड़ लिया और अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में जा रहा था. चोदा चोदी करते हुए वीडियोमैंने कहा- अगर तुम्हें दर्द हुआ तो?वो बोली- चाहे फट जाये लेकिन तुम अंदर डाल दो प्लीज … जल्दी. राधिका भाभी की चुदाईमैं अपना लंड चुत पर टिका दिया उसके छेद पर सुपारा घिसा तो बंदी मस्त हो गई. राजनीति विज्ञान में रिसर्च कर रही एक लड़की ने चुनाव के दौरान एक उम्मीदवार नेता के साथ रह कर उसके कार्यकलापों का अध्ययन किया.

अम्मी ने फिर हाथ में थोड़ा सा तेल लगाया और मेरे लंड की मालिश करने लगी.

चूंकि पीछे से ब्लाउज पूरा खुला था, जिसकी वजह से मैं ब्रा नहीं पहन सकती थी. ऊपर से हम दोनों अलग अलग जाति के हैं इसलिए उसके घरवालों ने उसे मना किया है. हनी का स्कर्ट, ब्लाउज, ब्रा और पैन्टी उतारकर सोफे पर फेंक दिया और उसे पूरी नंगी कर दिया.

और कभी बीच बीच में उनका लड़का आ जाता है।फिर जब चाय बन गई तो हम दोनों सोफे पर बैठ कर चाय पीने लगे. फिर अपनी दीदी के घर आकर उसे फ़ोन पर बात कर पूछा- आज का दिन कैसा बीता? आपको कैसा लगा?तो उसने बताया- विकी, आज बहुत दिन के बाद ऐसा परम सुख मिला है. कभी टोपे को जीभ से चाट रही थी तो कभी फिर से पूरा लंड गले तक ले जाती थी.

मीठी सुपारी

एक उदाहरण के लिए यदि टाइटेनिक फिल्म को लें तो आपको जैक और रोज़ के किरदारों पर फिल्माया गया वह दृश्य अवश्य ही अपने मानस पटल पर उभर कर दिखाई देने लगेगा जो फिल्म का एक बहुचर्चित हिस्सा रहा है. लेकिन विशु तो अपने ही मजे में था, उसने अपना पूरा लंड एक बार फिर से बाहर निकाला और एक झटके में फिर से अंदर डाला. मेरा चिकना लंड धीरे धीरे सरकता हुआ नसरीन की चुत में घुसता जा रहा था.

एक दो बार मैंने पापा को मेरी मां के मुंह में लंड देकर चुसवाते हुए देखा लेकिन चुदाई नहीं देख पाया था.

मेरे पूछने पर उसने बताया कि वो लोग अब घर जा रहे हैं और मुझको बोलकर गए हैं कि तुम आराम से एंजाय करके आना.

उसने कहा- ठीक है … तुम अन्दर जाओ और ट्रायल रूम के बाहर वाले कमरे में बैठो … मैं वहीं आता हूं. इस दौरान कई बार चाचा को उठाते समय चाची के बूब्स मेरे बदन से टच हो जाते थे. वीडियो 2020फिर मैंने पूरी हथेली से उसकी बुर को दबाया और चुत की लकीर के सहारे उसकी बुर को ऊपर नीचे कई बार सहला दिया, जिससे वो थोड़ा मचल उठी.

वो हंसते हुए बोलीं- अरे तुम तो घबरा गए यार … डोंट वरी मैं तुमको डांट नहीं रही हूँ … बस ऐसे ही मज़ाक कर रही हूँ. खैर पेट के बल लेटने से दोनों चूतड़ आपस में चिपक गए थे, तो रेजर जाना मुश्किल था. आह्ह … साहिल तू पहले क्यों नहीं आया बेटा! अब अपनी अम्मी की चूत को चोद दे, आह्ह चोद दे बेटा… चोद मुझे।मैंने कहा- हां मेरी अम्मी, अगर मुझे पता होता कि मेरी अम्मी लकड़ी का लंड कॉन्डम लगा कर लेती है तो मैं पहले ही आपकी चूत को मजा दे चुका होता.

चिन्ना फिर से नीचे झुक कर जीभ से करोना की नाजुक चूत के टीट को चाटने लगा और करोना की बेचैनी बढ़ने लगी. फिर शिकायत करते हुए बोली- इतने दिनों के बाद याद आई है तुझे अपनी चाची की?मैंने कहा- नहीं चाची, ऐसी बात नहीं है.

उसके पैरों की उंगलियों को चूसने और चाटने में मुझे भी अलग सा ही सुरूर चढ़ रहा था.

मैंने उसको चुप करवाने की कोशिश की लेकिन वो मेरे हाथ को काट कर फिर से चीखने लगती थी. लगभग पंद्रह मिनट तक मैंने दीदी की चूत को पेला और फिर मैं भी एक बार फिर से झड़ने के करीब पहुंच गया. अब मैंने हनी को घोड़ी बनाया और उसके पीछे आकर उसकी चूत में अपना लण्ड सरका दिया.

गंदा वीडियो गंदा मेरी तरफ से हरी झंडी मिलते ही नवीन जी ने मेरा ब्लाउज खोल दिया और मेरी साड़ी पेटीकोट भी खींच कर अलग कर दिया. अब उसने नीचे से अपनी गांड को हिलाना शुरू कर दिया था और उसके मुँह से गरम सिसकियां निकलनी शुरू हो गयी थीं.

उसने मेरे हाथ पकड़ कर मुझे अपनी टांगों के बीच में खींचा और मेरे सर को अपने लण्ड की तरफ दबाया. कुछ पल बाद जब मेरा दर्द जरा कम हुआ, तो उसने मुझे छोड़ा और मेरे एक दूध को मसलने लगा. इसी के चलते मैं ऑफिस से बाहर फील्ड पर निकल गया और शाम को घर आकर मैंने कल्पना को कॉल किया- कल जरा जल्दी आना … और देर तक रुकना.

इंग्लिश सेक्सी मूवी इंग्लिश सेक्सी मूवी

यह सब सुनकर मैं थोड़ा सकपका गयी लेकिन उन्होंने बहुत ही प्यार और आग्रह से यह सब कुछ करने को कहा ना कि आदेश के रूप में … तो मैं मना भी नहीं कर सकी. इसके लिए मैंने आंटी को चेक करने के लिए आंटी को अपना लण्ड खड़ा करके दिखा कर गर्म करने का प्लान बनाया. मैं उसके जवाब को सुनकर हैरान हो गया … और बोला- वोअहह … कहाँ छुपा रखा था इस आइटम को अभी तक!शिल्पा- और क्या!और उसने गर्व से अपना सीना चौड़ा कर दिया … मैंने उसके बूब्स को हल्के से दबा दिया।मैं- हमने इतना कुछ कर लिया, पर अभी तक किस नहीं किया.

मुझे देख के उसका लन्ड आकार लेने लगा जिसे वो छुपाने की कोशिश कर रहा था. मैंने उससे पूछा- शिप्रा मज़ा आ रहा है ना!उसने कहा- भाई काफी दिन से कोई बॉयफ्रेंड नहीं था … इसलिए मजबूरी में तुमसे करवाने को तैयार हुई, पर तुमने पूरा मज़ा दे दिया या.

मैंने मग में पानी लेकर उसकी चूत पर डाला और अपने हाथों से उसे रगड़ने लगा.

मेरी जांघें उसकी चूत से टकराने से थाप … थाप की मादक आवाजें आ रही थीं. उसने कहा- ठीक है … तुम अन्दर जाओ और ट्रायल रूम के बाहर वाले कमरे में बैठो … मैं वहीं आता हूं. मैं मजाक में पूछा- वो क्या?शिल्पा- मजाक नहीं अब जल्दी से डाल दो … बहुत मज़ा आ रहा है.

अपनी बहन की चूत में लंड को डाले ही हम दोनों वैसे ही पड़े रहे और एक दूसरे को नंगे जी अपनी बांहों में पकड़े वैसे ही लेटे रहे. उसने मेरे बारे में सब पूछा कि ‘कहाँ से हो और क्या कर रही हो?’मैंने सब बता दिया. मैंने कहा- क्यों क्या हुआ… तू भी तो जवान और समझदार है अब, और मुझे मालूम है एक बात.

कहानी पर अपनी राय देने के लिए नीचे दी गयी मेल आईडी पर मैसेज करें और कमेंट भी करें.

सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म: मैंने एक झटके में उसका टॉप उतार दिया, देखा कि सिम्मी ने एक सोने की पतली चैन पहनी है. मगर उसकी एकदम से चीख निकल गयी और मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

बहू की गांड मुझे पागल कर रही थी और मैं बाहर खड़ा होके मुठ मार रहा था. मैं थोड़ा सब्र से काम लेना चाहता था इसलिए मैंने मम्मी को सिनेमा चलने के लिए राजी कर लिया. फिर मैं उसके होंठों पर अपना लंड रगड़ने लगा, तो उसने हाथ से हटाने की कोशिश की, जिससे उसके हाथ चूचों से हट गए और मैंने उसी समय उसके मम्मे पकड़ लिए.

अब मुझे भी शर्म आना कुछ बंद सी हो गई थी, तो मैंने भी बोल दिया कि उसे आराम मिल रहा है … और अच्छा लग रहा है … इसलिए वो खड़ा हो रहा है.

मैंने ऐसे ही कुछ देर कल्पना के साइड में लेटे लेटे उसके निप्पल को पकड़ा और मुँह में ले लिया. पर आज ना जाने उसे क्या हो गया था … उसने एक बार मुझे देखा और बिना कुछ बोले चला गया. यह कहानी मेरी एक कल्पना है जिसमें मैंने अपनी सेक्स इच्छा को उजागर किया है.