मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी

छवि स्रोत,सट्टा किंग गली दिसावर सट्टा

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू सेक्स सेक्स ब्लू: मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी, मॉम की नज़र बार बार मेरे अंडरवियर पर ही जा रही थी लेकिन जैसे ही मैं मॉम की ओर देखता था, वैसे ही वो नज़र को हटा लेती थी.

राजस्थानी फुल सेक्सी एचडी वीडियो

चाय वगैरह पीने के बाद मैं आग के सामने बैठ गया ताकि बदन को थोड़ी गर्माहट महसूस हो सके. हैप्पी न्यू ईयर का गानाइसी के चलते आज मैं आपके सामने अपना सबसे प्यारा अनुभव शेयर करने जा रहा हूँ.

नौकरी लगते ही मेरे पापा ने मेरी शादी के प्रयास शुरू कर दिए और जल्दी ही मेरा विवाह नमन से हो गया जो कि किसी सरकारी दफ्तर में अधिकारी की पोस्ट पर कार्यरत थे. भारत में सबसे बड़ा जंगल कौन सा हैउसने मेरे गाल पर चूम लिया और बोली- प्लीज … बन जाओ ना … एक रात के लिये.

मैं सिसकारते हुए, उसकी देसी चुत में धक्के लगाते हुए बोला- आह्ह … बस … हो गया मेरी जान … आह्ह … बस दो मिनट और मेरी जान … हाय … तेरी देसी चुत … आह्ह … सोनिया डार्लिंग … चोद दूंगा तुझे।इस तरह से करीब 15-20 झटकों के बाद मेरा भी हो गया.मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी: अब मैं भी जल्दी से जल्दी पाण्डेय सर के लंड से चुदकर दीवानी जवानी का मजा लेना चाहती थी.

रघु- मैं समझ सकता हूँ बाबूजी, इसी लिए तो मेरी पत्नी को आपके पास लाया हूँ.थोड़ी ही देर में वो चुत की रगड़ाई से गर्म हो गईं और अपनी पैन्टी गीली कर बैठीं.

रावण दहन कब है - मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी

उसकी टाइट कुंवारी चूत को चोदने में मुझे भी जन्नत का मज़ा मिल रहा था.मुझे तो बहुत मजा आ गया आज।मैं बोला- मेरी जान … अभी तो असली मजा आना बाकी है, जब मैं तेरी चूत में लंड डालकर चोदूंगा.

मधु ने मुझसे यह सब बताया और कहा कि आज तुम्हारी किस्मत है, तुम संजना की भी ले लेना … लेकिन तुमको अपनी आँखों पर पट्टी बांध के उसकी लेनी पड़ेगी. मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी ये शायद अशोक की दी हुई गोली का ही असर था कि हम दोनों इतने राउंड के बाद भी नीला को इतना चोद पाए और ठोक पाए.

वे दोनों अन्डरवियर में आ गए थे और दोनों के खड़े लंड टनाटन दिख रहे थे.

मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी?

उधर सुरेश ने मीनू के मुँह में लंड घुसा दिया और एक दो झटकों में ही उसका पानी निकल गया. सुरेश- अरे रघु आओ बैठो … ये मीनू है ना तुम्हारे साथ!रघु- जी बाबूजी, मैंने इसको सब समझा दिया है. वो चुपचाप भूसे पर लेटी हुई थी। उनकी पीठ और गांड में भूसा चिपका हुआ था। मैं उनके ऊपर चढ़ गया और उनकी पीठ पर किस करने लगा। उनकी पीठ पर बहुत सारा भूसा चिपका हुआ था.

अम्मी समझ गई थीं, वो बोलीं- थोड़ा अन्दर बाहर कर, तेरा दर्द खत्म हो जाएगा. लेकिन मौसा जी मेरे पास आ के मेरे दोनों बूब्स पकड़ कर पम्प करते हुए मुझे किस करने लगे. उसकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया न होने से मेरी हिम्मत भी थोड़ी बढ़ रही थी.

बाद में पता चला कि साली लंड का दर्द सहन ही नहीं कर पाई और …सुमन- क्क्क. मैं घूंघट में बैठी राहुल का इंतज़ार करने लगी और मन ही मन अपनी सुहागरात के बारे में सोच सोच कर पगला सी रही थी. सर ने भी पक्का वादा किया कि उनकी बीवी को वो चोदने के लिए जरूर आयेंगे.

जब से मेरा दिल पाण्डेय सर पर आया था तब से ही मैं नीरज को जैसे भूल ही गयी थी. मैं ज्यादा कुछ कर भी नहीं सकता था क्योंकि रात होने के बाद भी कोई देख सकता था.

खुश होकर वो बोली- सच! तो फिर कब से शुरू करोगे?मैंने कहा- जब तुम कहो.

वो जोर से सिसकारते हुए बोली- आह्ह … राज … चोद दो। अब नहीं रुका जा रहा.

अगर किसी और पाठिका को भी अपनी कहानी लेखन में सहायता चाहिए … या फिर अपने निजी जीवन के सम्बंध में कोई सलाह मशविरा चाहिए, तो बेझिझक मुझे मेल कीजिए. कालू- जी मालिक, कहिए क्या सेवा करूं!मुखिया- कल तूने मां चुदवा ली … अब और क्या मेरी गांड मारेगा तू!कालू- क्या हो गया मालिक … सुबह सुबह इतने गुस्से में क्यों हो?मुखिया- उस हरामी को तूने सुमन का बोल दिया था. अरे बेटा होटल में चलने की कौन कह रहा है तुझसे?”तो?”बेटा, यहां से थोड़ी दूर पास के गाँव में हमारा फार्म हाउस है.

सुमन- आप तो गांव के मुखिया हो … और ना जाने कितनी लड़किया चोद चुके हो. वो मुझे जोर से पीछे धकेलने लगी लेकिन मैंने उसकी चूचियों को जोर जोर से दबाना शुरू कर दिया. रीमा मैडम के साथ मैंने और क्या क्या किया और उसके पति ने फिर क्या क्या किया ये सब मैं आपको अपनी आगे आने वाली कहानियों में बताऊंगा.

उस समय मैं अपनी पढ़ाई खत्म कर चुका था और यूरोप में आगे की पढ़ाई के लिए जाने वाला था.

मैंने हॉस्टल में वार्डन सर से कहा कि मैं अपने अंकल के यहां सैटर-डे सुबह जाऊंगा और संडे शाम को वापस आऊंगा. उसने नीचे से पैंटी हुई थी और उसकी चूत के मुंह के ठीक बीच में एक गीला धब्बा बन गया था. वहां पर हमारे एक करीबी रिश्तेदार का घर भी है और हमारा एक निजी मकान भी है.

मैंने एक हाथ से पैंटी को अपने मुँह में भर लिया और दूसरे हाथ से ब्रा को लंड में लटका कर मुठ मारने लगा. जब मैं अंडरवियर बदलकर गमछी लपेटने लगा तो वह मेरी ओर तेजी से आने लगी। उसे देखा तो मालूम हुआ कि उसकी नजर तो मेरी गमछी से ढके लंड के उभार पर ही थी. उसने घर फोन कर दिया और कह दिया कि वो दूसरे शहर में घूमने के लिए चली गई है और सुबह आएगी.

फिर मैंने भाभी को गले से लगा लिया और इतना कसकर भींच लिया कि भाभी की चूचियों बुरी तरह से मेरी छाती के नीचे दब गयीं.

अब मैंने उसके गोरे गोरे बूब्स को अपने हाथों में लेकर दबाया और मुंह लगाकर किसी बच्चे की तरह उसकी चूचियों को बारी बारी से पीने लगा. उनका कन्धा पकड़ कर उनके होंठों को चूसने के लिए मैंने अपने होंठों को आगे बढ़ाया तो मौसी ने होंठ हटाकर अपना गाल मेरे आगे कर दिया.

मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी दिसंबर महीने में बाइक चलाने का अनुभव तो आप में से भी कईयों ने किया होगा. मैं नीला को सरप्राईज देना चाहता था और चाहता था कि आज उसे पूरा निचोड़ कर रख दूँ.

मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी जाते हुए नीला ने मुझे आंख मारी, मैं समझ गया कि अब ये पूरी रांड बन चुकी है. चलती बस में सुमन भाभी के साथ मस्ती होते होते किस तरह से उनकी चुत चुदाई का मजा आएगा, मैं बस यही सोचे जा रहा था.

फिर पांच मिनट के बाद फिर से वो मेरी टांगों के पास गयी और मेरे लंड को चूसने लगी.

देसी लड़कियों का नंबर

उसका परिवार उसी ट्रेन में चला गया और उधर से हफ्ते में एक ही ट्रेन उसके शहर को जाती थी, जिसको लेकर उसने ज्यादा पता किया कि अगली ट्रेन कहां से मिलेगी. मेरे पिताजी के दोस्त की एक बेटी थी और मेरे पिताजी चाह रहे थे कि मेरी शादी उनके दोस्त की बेटी के साथ हो जाये. इसलिए किसी न किसी चैप्टर में सेक्स से संबंधित कोई न कोई टॉपिक आ ही रहा था.

क्योंकि मुझे पता था कि उसने मुझे चादर उढ़ाया था और टीवी भी उसी ने ऑफ किया था. अब आगे की देसी चूत की इंडियन चुदाई कहानी:फिर मैं अपने रूम में गया और आधे घंटे के बाद कॉन्डम लेकर आ गया. उसकी हाइट मेरे जितनी ही थी, लेकिन दिखने में उसका रंग जरा सांवला था.

उसके वो छोटे छोटे निम्बू के जैसे बोबे देख कर मेरा 6 इंच लंबा लंड फिर से फनफनाने लगा.

अब मुझे मजा आने लगा था और मालिश की जगह मेरे हाथ उसके पैर की मसाज करने लगे थे. मैंने भी उनसे वादा किया कि मैं हमेशा उनकी ही थी और शेष जीवन भी उनकी ही रहूंगी. फिर उसने बहुत सारा रंग हाथ में लिया और मॉम के सामने आया। मॉम की आंखें बंद थीं।सामने आकर वो बोला- आंटी, थोड़ा पैरों को और ज्यादा खोलो।मॉम ने पैर खोल दिये।मॉम की चूत बिल्कुल साफ दिखाई दे रही थी। वो मॉम के पास गया और अपना हाथ मॉम की चूत पर रख दिया। मॉम को झटका लगा और वो पीछे हो गयी।विक्रम ने तपाक से कहा- लो, आंटी मान गयी बुरा.

क्योंकि वो जानती थी कि मुखिया हरामी है, कहीं गुस्सा होकर उसकी बकरी ना ले जाए. गिफ्ट में भाभी के लिए दो बच्चों की फ्रेम में फोटो थी और सोनिया के लिए स्कर्ट और टॉप. इसलिए मैं गांड को पीछे धकेल धकेल कर उसके लंड को पूरा अपनी गांड की जड़ तक ले रहा था.

हैलो, मेरा नाम अशफाक है, मैं 19 साल का जवान लड़का हूँ और दिल्ली का रहने वाला हूं. राहुल का लंड देखकर मेरा मन भी करने लगा था कि मैं भी मां के पास ही चली जाऊं और राहुल के लंड को खूब जोर जोर से चूसूं.

उसके मुँह से चीख निकल गई ‘आह मर गई दीदी बचाओ मुझे …’दीक्षा ने मेरा हाथ पकड़ा तो मैंने आराम आराम से लंड को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. आह मेरा पानी निकल गया चुतिये साले तेज तेज चोद मुझे आह चो…द… दे …वो झड़ गई थी और मैं उसकी गीली हो चुकी चुत में लंड के झटके दिए जा रहे थे. ये क्या … मैं दंग रह गया कि अभी दो दिन पहले तो अम्मी के चूत पर बाल थे और अब बिल्कुल चिकनी चूत थी.

मैं- सच में बताओ, होटल में मिलोगी, तो करवा लोगी?दीक्षा- हां करवा लूंगी.

रुक्मणी भाभी के जाने के बाद मैंने सुमन भाभी को आज के बारे में सब बता दिया, जिस पर भाभी गुस्सा होने के बजाए मुस्कुराने लगीं. मैंने ध्यान से सुना, तो वो कह रही थी कि उसके पति को घर आए पांच महीने हो गए थे और इस वजह से वो शारीरिक सुख के लिए तड़प रही थी. दस मिनट में वो हाँफने लगा तो मैंने पैरों से उसकी कमर को पकड़ लिया और उसको पलट कर उसके ऊपर चढ़ गया.

मेरे पापा भी काम से बाहर गये हुए थे और खाना हम लोग मौसी के यहां पर ही खाकर आ गये थे. मैं बैठा तो मेरे बैठते ही मेरे पीछे एक गोरी सी लड़की लंगड़ाती हुई आई और वो भी ऑटो में आकर बैठ गयी.

रात को सोते समय मेरी आदत थी कि मैं एक निक्कर और टीशर्ट पहन कर सोता था. कुछ ही देर में वो नीचे से चूत को ऊपर उकसाने लगी तो मैं समझ गया कि अब इसका दर्द मिट गया है और ये चुदने के लिए तैयार है. मैंने उसकी दोनों टांगों को अपने दोनों बगल में करके उसकी कमर को पकड़ लिया.

देवर भाभी के सेक्सी बीएफ हिंदी में

कॉलेज गर्ल सेक्सी चूत स्टोरी में पढ़ें कि मेरी क्लास में आयी नयी लड़की मेरे पीछे पड़ गयी.

मॉम के मुंह से सिसकारियां निकल पड़ीं- आह्हह … रवि … आराम से … यहीं हूं मैं … मजा लेकर भींच बेटा … आह्हह … धीरे से … पूरा मजा ले. उसने एक गुलाबी रंग की साड़ी पहन ली थी जिसमें वो एकदम मस्त माल लग रही थी. बीस मिनट तक रणजीत ज़बरदस्त चुदाई करता रहा, उसके बाद दोनों एक साथ झड़ गए.

उसकी पतली कमर के नीचे बड़ी बॉम्ब जैसी गांड देख लो, या तनी हुई मस्त चुचियां हों, या स्लिम पेट हो. मीता- गलती हो गई भाई … ज़ोर से लगी क्या! आपको वहां पहले किस चीज का दर्द है … मुझे बताओ आपको क्या हुआ है!महेश- कुछ नहीं … आज काम करते वक़्त कांटेदार झाड़ी लग गई थी, तो चमड़ी छिल गई … उसी कारण दर्द हो रहा है. इंडियन सेक्स व्हिडिओ हिंदीमुझे देखकर बोलीं- शुभम! लाइट चली गयी है, तुम्हें अभी भी चादर चाहिये है?अवनी चादर के अंदर बर्फ बन गयी थी.

उसके आते ही हम दोनों एक दूसरे के लंड चूसने लगे और काफी देर की चूमा चाटी के बाद हम साथ में झड़ गये. जब मैं ऑफिस से लौट कर 4 बजे वापिस आया, तो देखा समीक्षा बेड पर ही लेटी थी.

दोस्तो, आपको मेरी मॉम की एडल्ट सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे बताना न भूलियेगा. मेरी गांड का छेद राजेश के लंड से चुदकर पहले राउंड में ही ढीला हो गया था. कुछ देर बाद उन्होंने कहा कि तुम तो बड़े एक्सपर्ट लगते हो … अब तक कितनी चुत चोद चुके हो?मैंने कहा कि मैंने चुदाई की शिक्षा अपनी बड़ी मां से ली है, जिनको मैंने सबसे पहले जंगल में पेला था.

मादरचोद सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी सौतेली मॉम को नहाते हुए देखने लगा. वह जोर से चिल्लाई- उईई अम्मी … मार दिया … हाय रे … अल्लाह … मार दिया। थोड़ा आराम से नहीं कर सकता था क्या हरामी?मैं थोड़ी देर रुका और फिर एक धक्का मारा. तब तक मेरे पति ने मेरी टीशर्ट को उतार दिया और मेरी ब्रा को खोलकर मेरी चूचियों को आजाद कर लिया.

वैसे ये सब कोई और भी करता है, मगर उस वक़्त मीता होश में नहीं होती थी.

राहुल मेरे ऊपर ही लेट गया और मेरे एक बोबे को मुँह में लेकर चुसकने लगा. मेरे साथ ऐसी हरकत कैसे कर सकता है तू?मैं बोला- देखो मामी, आप सबसे पहले एक चूत हो और मैं एक लंड हूं.

एक तरफ उसे झटके पर झटके देकर मैं उसकी गांड का बाजा बजा रहा था और दूसरी तरफ उसे लिपलॉक किस कर रहा था. डॉक्टर मेरे अन्दर बहुत सेक्स भरा पड़ा है, लेकिन मैं कुछ कर नहीं पाता हूँ. उनकी कुर्ती काफी खुले गले की होती थी, जिससे उनके मस्त चूचे साफ़ दिखते थे.

मैंने बाकी सबको ये कहते हुए नीचे भेज दिया कि अब कोई नहीं है … तुम लोग चलो, मैं वाशरूम होकर आता हूँ. मैंने एक और धक्का मारा तो वो चिल्ला उठी- आराम से कर … आह्ह … दर्द हो रहा है. मौसा जी तो अब चुप चुप से रहने लगे थे, मेरी ओर कभी देखते भी नहीं थे.

मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी फिर पैसे भी मिलने लगे तो मैंने अपनी सहेलियों को इसका मजा दिलवाना शुरू कर दिया है. मैं समझ रही थी कि अब वो सुनसान जगह पर मुझे छेड़ेंगे और फार्महाउस में पहुंच मेरी जम कर चुदाई करेंगे; मैं भी तो यही कब से चाह रही थी.

बीएफ वीडियो चोदा चोदी सेक्सी

मैंने कहा- भोसड़ी के … तू मेरे ऊपर मूतेगा?आदिल बोला- मां की लौड़ी, जैसा कह रहा हूं वैसा कर, वर्ना तुझे यहीं पर नंगी छोड़कर चले जायेंगे. उसने वो गलती भी बताई कि किस तरह से उसका रिजर्वेशन दूसरे डिब्बे में हो गया था और बाकी का परिवार दूसरे डिब्बे में था. वो मदमस्त सी आंखों को बंद किए अपने मम्मों पर शहद टपकता हुआ महसूस कर रही थी.

लेटकर मैंने उसके सामने बांहें फैला दीं और उसे मेरे ऊपर आने का इशारा किया. मेरा लंड अभी भी उनकी चूत में ही था। अब मैं उनकी दोनों टांगों के बीच में उनकी चूत में लंड डाले हुए उनके ऊपर झुका था।मैंने बोला- अब आप मुझे अपनी बांहों में कसकर पकड़ लीजिए. जानवरों वाली सेक्स वीडियोचूचियां दबाते हुए मैं उनके रसीले, गुलाबी, कोमल होंठों को चूसने लगा.

मेरी बीवी उसकी चूचियों को सहलाने लगी और उसको होश में रखने की कोशिश करती रही.

मैंने कहा- मेरे साथ तुम्हें कैसा लगा?वो बोली- आज मैं पहली बार तुम्हारे साथ डेट पर आई हूँ. धीरज के लंड ने लावा उगल दिया और उसने मेरी अम्मी के मुँह में ही अपने लंड का पानी छोड़ दिया.

मेरा एक हाथ मेरी चूत को सहला रहा था, तो दूसरे हाथ से मैं पैंटी सूंघने लगी. आपको मेरी यह स्टोरी कैसी लगी, मुझे अपने कमेंट्स और मेल में जरूर बतायें. मैंने कहा- ये सिर्फ अपने पति को सब कुछ दे देगी … और किसी को नहीं देगी.

मुझे उनकी मटकती गांड देख कर रहा नहीं गया और मैं भी उनके पीछे चला गया.

मैंने एक और धक्का मारा तो वो चिल्ला उठी- आराम से कर … आह्ह … दर्द हो रहा है. धीरे धीरे मैंने खुद को उन्हीं के अनुरूप ढाल लिया यही सोच के बैठ गयी कि सेक्स ऐसा ही होता होगा. जब एक चौथाई लंड उसने घुसवा लिया तो मैंने लंड को छोड़ उसके बड़े-बड़े चिकने चूतड़ों के मांस को जोर से पकड़ लिया.

मल्लू हॉटउनमें से मैंने दो कपड़े उठा लिये ताकि मॉम अपने बूब्स और अपनी चूत को ढक सके. मेरे अब्बू की घर में ही मोबाइल की दुकान थी और हम जहां रह रहे थे, वहां की बस्ती में सभी जातियों के लोग रहते थे.

ब्लू फिल्म के वीडियो दिखाओ

उसने कहा- भाई, जब चूत खुद चुदवाने के लिए तैयार है, तो तू उस लड़की की चुदाई कर दे. उसके बड़े बड़े और मज़बूत बाजू थे, छाती पर हल्के हल्के बाल थे, जो उसे और भी सेक्सी बनाते थे. वो दर्द से कराह रही थी। उसके मुंह से आईई … आईई … उफ्फ … मर गयी … जैसे शब्द निकल रहे थे.

अब वो केवल एक छोटी सी चड्डी में, दुनिया की बेशकीमती चीज़ छुपाए खड़ी थी. मैं- आप अपने पति को बता देना कि जब तक वो यहां पर नहीं हैं, तब तक आप मेरी गर्लफ्रेंड हो … और मैं अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कुछ भी कर सकता हूं. अब मुझे पता ही नहीं था कि वो कौन से में है?मैं बारी बारी से एक एक गोडाउन में गया.

पहले लंड सोई अवस्था में टेढ़ा था इसलिए खड़ा होने पर अंडरवियर के अंदर एक जांघ के पास तक पहुंच गया था। वह बार-बार अब मेरे बॉल्स और लंबे लिंग दोनों को मालिश करते हुए छूने लगी।जब भी उसकी उंगलियों से मेरा लंड छूता तो वह अपने होंठ को दांत के नीचे दबा कर आंखें बंद कर लेती थी. सोचा कि फिर से बोतल वाली मस्ती करते हैं।राजेश ने शरारती अंदाज़ में बोला- लगता है लौंडे की गांड की अच्छी तरह से सर्विसिंग करनी पड़ेगी. अगर आपको इस एडल्ट सेक्सी चैट में मज़ा आए, तो फिर हम लोग आगे की सोचेंगे कि क्या करना है.

हम दोनों को थकान कुछ ज्यादा ही थी और ऊपर से तेज बियर का नशा भी हावी हो रहा था, तो हम दोनों ऐसे ही नंगे चिपक कर सो गए. इतने सुंदर और रसीले चूचक मैंने आज तक किसी औरत या आंटी के नहीं देखे थे.

फिर मैंने बाथरूम में नहाते हुए उनको अपना तना हुआ लंड दिखाया और फिर सेक्स वीडियो दिखाकर मामी को गर्म कर दिया.

जैसे ही उसने मुझे देखा कि वो तुरंत ही चिल्लाती हुई घबरा गई और दौड़ कर अपने रूम की ओर भागी. सेक्सी वीडियो डाउनलोड सेक्सीआज मेरी अम्मी ने एक बहुत ही पतले कपड़े की सफ़ेद रंग की कुर्ती पहनी थी और ऊपर से एक ओढ़नी डाल रखी थी. कुत्ता की सेक्सी पिक्चरकुछ पल सहलाने के बाद राहुल ने एक ही बार हल्के से उन्हें दबाया ही था कि उसको एक जोरदार करंट सा लगा. सुमन ने जल्दी से सुरेश की आंखों पर अच्छी तरह पट्टी बांध दी और उसको अपनी कसम दे दी कि जब तक वो ना कहे, पट्टी मत निकालना … और जैसा वो कहे, वैसा ही करते रहना.

सुबह होते ही मैंने अवनी से कहा कि वाशरूम में जा और अपनी ब्रा-पैंटी उतार ले.

मुखिया- लेकिन वो जाग गया, तो क्या होगा!सुमन- आप भी ना बहुत सवाल करते हो. सुरेश- ये क्या है सुमन, तुम ऐसे बिना बोले वहां से आ गई, मुखिया जी क्या सोचेंगे. मैं भी पूरा नंगा था और मेरी बीवी भी पूरी नंगी थी जो मेरे लंड को गांड में लेकर बैठी थी.

घर में चोदा चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे रसोई में मैंने बुआ की चूत चाटी. इस स्ट्रीट सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी मामी को चुदाई के लिए पटाया. कभी मैं उसकी चूत में उंगली से चोदने लगता तो कभी फिर से जीभ डालकर चूसने लगता.

देहाती सेक्स करते हुए वीडियो

उनको दबोच कर उनके गुलाबी, रसीले, फूल की पंखुड़ी जैसे होंठों पर किस करने लग गया।वो नखरे करते हुए कहने लगी- छोड़ो मुझे, कोई आ जायेगा।अब मैं पीछे हटने वाला नहीं था. शाम तक हम दोनों कार से ही शहर में घूमते रहे, फिर मैंने उसे उसके घर छोड़ दिया. एक दिन आंटी ने बताया कि अगले दिन से अंकल की नाइट शिफ्ट शुरू हो रही है.

उसको चूत फटने की खबर न लगे इसलिए मैं उसके होंठों को फिर से चूसने लगा और उसके बदन को सहलाने लगा.

दोस्तो, मैं शिल्पा अपने सर और अपने पति के साथ नंगी लेडी की मस्त थ्रीसम चुदाई का अन्तिम भाग लेकर आई हूं.

मैं उन्हीं के बोबों और चूतड़ों के बारे में सोचकर लंड को हिलाया करता था. बलराम- ये कौन है राजू … इसे यहां क्यों लाया है तू!राजू- सर जी ये मंगला है, मुखिया जी के खेत में काम करती है. హెచ్ డి బిఎఫ్मैंने धक्का मारा तो एक ही झटके में आधा लंड मौसी की चूत में घुस गया.

हम दोनों एक दूसरे से लिपट गये और दोनों एक दूसरे को बांहों में कस कर भींचने लगे. उनके बड़े मस्त और रसीले लिप्स थे, जिसे देखने के बाद मेरे मन में आया कि चूस चूस कर भाभी के होंठों को और लाल कर दूं. मुझे अब लंड को और अंदर लेने का मन करने लगा और मैंने दबाव डालकर पूरा लंड अपनी चूत में घुसड़वा लिया.

मैंने नताशा को जोर से भींच लिया और कुत्ते की तरह उसकी चूत को फाड़ने लगा. शायद सिमरन को लगा होगा कि मैं सो रहा हूँ तो वो बेधड़क कमरे में आ गई.

शादी में से वापस आने के बाद सुजाता का ख्याल मेरे दिमाग से निकल ही नहीं रहा था.

मेरे कम मार्क्स की वजह से मुझे अगली क्लास में भी आर्ट्स में ही एडमिशन मिल सका. आज मैंने भी ये चांस छोड़ना उचित नहीं समझा और फुल वॉल्यूम करके वीडियो देखना शुरू कर दिया. हालांकि शिखा ने मेरी चूत पर अपने होंठों और जीभ से लपलप तो की थी, लेकिन आज वाली मेरी चूत चुसाई कुछ अलग ही अहसास करवा रही थी.

सेक्सी मराठी शॉट शादी के लिए हमारे छत्तीसगढ़ में लड़के, लड़कियां ढूंढने के लिए सपरिवार जाते हैं, तो मैं अपने पिताजी और अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ गया था. मैं हुक क्या लगाता, उनके बाल पीठ से आगे करके उनकी चूची दबाते हुए पीठ चूमने लगा.

गांव में मुझे भांग खाने की आदत पड़ गई थी, तो मैं अपने साथ गांव से भरपूर मात्रा में भांग लाया था. मैंने सोच लिया कि मैं भी चुपचाप घर जाऊंगा और देखूंगा कि मामला क्या है. फिर उसने बाथरूम में रखी अपनी शेव करने वाले रेजर से मेरी चूत साफ की और मुझे लेकर फिर से बिस्तर पर आ गया.

सेक्सी ब्लू पिक्चर सेक्सी ब्लू फिल्म

अब आगे की ओरल सेक्स फ्री सेक्स स्टोरीज:अभी कालू आगे कुछ और बोल पाता, तभी मुखिया का मुनीम नारायण वहां आ गया. नंगी लेडी की मस्त चूत चुदाई कहानी पर आपकी प्रतिक्रियाओं इंतजार करूंगी. कोई 10-12 मिनट बाद भाभी का कॉल आया और उन्होंने मुझे टिकट काउंटर पर बुलाया.

ये अप्रैल की बात थी। एक बार मेरे कहने पर सोनू ने फोन कॉन्फ्रेंस पर नीरज से मेरी बात भी कराई. मैंने कहा- हां, ऐसा करते हैं कि हम दोनों ही नीचे ही बिस्तर बिछा लेते हैं.

छोटा सा तो गांव है हमारा … कौन गायब है … ये पता लगाना क्या मुश्किल है?शिवनाथ- मालिक, पूरा गांव छान लिया हमने … कोई गायब नहीं हुआ है.

उनके गीले बाल खुले थे, जो कि उनकी गांड तक लहरा रहे थे और उन्होंने पंजाबी सूट पहना था. मुझे अब लंड को और अंदर लेने का मन करने लगा और मैंने दबाव डालकर पूरा लंड अपनी चूत में घुसड़वा लिया. कुछ देर के बाद आंटी की चूत ने पानी छोड़ दिया मैंने उसकी चूत को चाट चाट कर साफ कर दिया.

धीरे धीरे मैंने खुद को उन्हीं के अनुरूप ढाल लिया यही सोच के बैठ गयी कि सेक्स ऐसा ही होता होगा. अचानक मेरी पकड़ ढीली होते ही पूजा भाभी खड़ी हो गई और मुझे धक्का देकर भागने की कोशिश करने लगी. दोस्तो, आज मैं आपको मेरी और मेरी प्यारी भाभी सुनयना (बदला हुआ नाम) के बीच हुई एक सच्ची घटना के बारे में बताना चाहता हूँ कि किस तरह मैंने अपनी भाभी को पटाया और उनकी चुदाई की.

अपने होंठों पर पटकने लगी ताकि वो जल्दी से अपने चुदाई वाले आकार में आ जाये.

मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी: अब हरी का देसी लंड भी आग की तरह जल रहा था, जिसे सुमन मज़े से चूस रही थी. मगर फिर बेड की ओर नजर गयी तो पूरा बेड गुलाब के फूलों से सजा हुआ था.

धोती में ही मोटा मूसल उछल कूद करके धोती को जैसे उतार फेंकना चाह रहा था. उसने जाते टाइम मेरे हाथ में एक छोटा सा बैग पकड़ा दिया और गले लग कर मिली. मैंने दोबारा से उसकी चूची पर हाथ रखा तो अंदर ही अंदर मेरी सिसकारी निकल गयी थी.

मीता ने बिना कुछ बोले लंड के सुपारे को मुँह में भर लिया और मज़े से चूसने लगी … और साथ ही हाथ से हिलने भी लगी.

घर में हम दोनों ही अकेले थे और मेरा चूत मारने का बहुत मन कर रहा था. मेरी बीवी दीक्षा एकदम कमाल की है, उसकी चूत से मेरा लंड बहुत खुश है. मेरी कामुक नजरें दीदी के बदन पर पड़ी तो …नमस्कार दोस्तो, मैं राज, उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूं.