बीएफ भोजपुरी सेक्स

छवि स्रोत,देसी सेक्सी देहाती बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सैक्स पावर medicine: बीएफ भोजपुरी सेक्स, पिछली सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि मैं अपने चार यारों से चुद रही थी तो कॉलेज के दो टीचर ने मुझे अपनी चूत चुदाई करवाती पकड़ लिया था.

एक्स एक्स एक्स फुल सेक्स बीएफ

दीदी बोली- अरे पी ले, जब तेरी चूत में लंड जायेगा तो दर्द का पता भी नहीं चलेगा. रसिया बीएफजब लण्ड को अन्दर बाहर करना शुरू किया मैंने तो थोड़ी देर बाद रेखा बोली- मेरी टांग नीचे उतार दो, दर्द हो रही है.

मेरी चूत तो पहले से ही पानी पानी हुई थी और जेठ जी मेरी चूत के पानी को अपनी उंगली गीली करके चटखारे लेकर चाटने लगे. एक्सएक्स बीएफ फिल्ममैं आअहह आहह करते हुए अपनी कमर ऊपर नीचे हिला रही थी और उसके सिर को अपनी टाँगों में दबाए हुए दोहरी तिहरी हो रही थी.

मगर अगले ही पल उसने मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूमना शुरू कर दिया और एक हाथ से मेरी चुत को रगड़ने लगी.बीएफ भोजपुरी सेक्स: कुछ देर लंड ऐसे ही चूसने के बाद मैंने उसका लंड अपने मुंह से निकाल दिया और उसे मेरी चुदाई करने को कहा.

मैं प्रीति को चोदने में इतना मगन था कि प्रीति मेरी पीठ पर अपना नाखून धंसा दिये और मुझे मालूम भी नहीं पड़ा.फिर जोर जोर से मेरी गांड पर तमाचे लगाते हुए मेरी गांड में लंड को घुसाने लगा.

ब्लू पिक्चर वीडियो में हिंदी बीएफ - बीएफ भोजपुरी सेक्स

मैं और मनु परमीत के यहां उदास चेहरे लेकर पहुंचे, शायद उनके घर वाले आज भी नहीं आए थे, क्योंकि बाहर उनकी गाड़ी नहीं थी.तूने उसको न जाने क्या नशा पिला दिया है कि वो तेरे सिवा किसी को देखता ही नहीं है.

मुझे चुनने का क्या मकसद?भाभी- भरोसा डियर … बाकी लोगों में मुझे हवस दिखती है. बीएफ भोजपुरी सेक्स मैंने पीछे घूमा और उनसे पूछा- आंटी, आप ये क्या कर रही हो?आंटी- तुम्हें क्या लगा … मैं तुझे इतनी सी सजा देकर माफ़ कर दूंगी.

मैंने कहा- क्या हुआ जीजू? आपको कुछ काम था क्या?वो बोले- नहीं, मैं तो अपने रूम में बोर हो रहा था इसलिए सोचा कि अपनी साली से जाकर बात कर लूं ताकि थोड़ा मन बहल जाये.

बीएफ भोजपुरी सेक्स?

मैं- तो क्या किया उसने आपके साथ?भाभी- ये बात मेरी शादी से पहले की है. फिर मैंने थोड़ा नाराज होने का नाटक किया, तो उसने डिल्डो मुझे देते हुए कहा- ले देख ले गीत डार्लिंग, पर सीधे चूत में मत डाल लेना. कुछ महीने ऐसा ही चला फिर मेरी बैचलर डिग्री कम्प्लीट हो गयी तो अब मैं मास्टर्स करने के लिए पुणे आ गई.

”चलो एक सिम्पल सी बात बताओ?” इतना कहकर मैंने हनी की चूची दबाते हुए पूछा- ये चूचियां क्यों बनाई गई हैं?हनी शांत रही तो मैंने कहा- बेटा मैंने पहले ही कहा था, शरमाना मत. जीजा का लंड मेरी चूत में ही था लेकिन तभी उनके लंड से वीर्य निकलने लगा. मैंने उसके पेट को चूमते हुए उसकी नाभि पर जीभ से वार किया तो वो सिहर गई.

मैंने उससे कहा- मेरा किराया?वो बोली- कितना हुआ … बताओ?मैंने कहा- बस एक बार घूंघट उठा दो. तुम्हारा मस्तक मुझे तब बड़ा ही दिलकश लगता है, जिस पर गुस्से में बल पड़ जाते हैं. मैं उनके चूचे चूसने में लगा हुआ था और वो अपना एक हाथ मेरे अंडरवियर में डालकर मेरे लंड को सहला रही थीं.

कभी उसके होंठों पर अपने अंगूठे को फेर देता था तो कभी उसकी चूत पर हाथ रख देता था. उनकी बतायी हुई कहानी उन्ही की जुबानी सुनें।अन्तर्वासना के सभी पाठकों को नमस्ते.

हो सकता है ये मेरा भ्रम ही हो, पर लोगों का मुझे घूर कर देखना … मेरी खूबसूरती के लिए इनाम जैसा था.

आप की तमाम पुलिस वालों से दोस्ती है, किसी से कहकर इसको टाइट करा दीजिये.

वो दोनों आगे और पीछे से मेरी जांघों और मेरी गांड में फंसी हुई पैंटी को देख कर लार टपकाने लगे. सब लोग चले गए और जब हम अकेले थे तो मैंने उससे कहा- तुम बहुत मस्त लग रही हो. बिक्कू ने पूछ लिया कि तुम लोग कब तक घर पहुंच रहे हो तो मेरे भाई ने वहां से जवाब दिया कि हम लोगों अभी घर आने में एक या डेढ़ घंटे का टाइम और लगने वाला है.

पिछली सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि मैं अपने चार यारों से चुद रही थी तो कॉलेज के दो टीचर ने मुझे अपनी चूत चुदाई करवाती पकड़ लिया था. ये पहला मौका था, जब मैं किसी लड़की के मुँह में उसे बिना चोदे झड़ गया. वो थोड़ी छिटकी और खिलखिला कर हंसते हुए बोली- ओ…हो … थोड़ा सब्र कीजिए … मैं आपकी सलहज नहीं हूँ.

मैंने उसके पेट को चूमते हुए उसकी नाभि पर जीभ से वार किया तो वो सिहर गई.

दूसरी तरफ संगीता भी चुदवाने के लिए तैयार हो चुकी थी, कई बार उसकी चूत में उंगली चला चुका था. मैंने सपना के मम्मों को दबाना शुरू किया, तो वो भी गर्म होने लगी और सीधे बोली- यहीं चोदेगा क्या … अन्दर चल मेरी चुत की खुजली ठीक से मिटा. चूत के नशे के आगे राजा महाराजा छोटा बड़ा अमीरी गरीबी जात पात सब फेल है.

दस दिन में प्यार और चुदाई का खुमार इतना चढ़ गया कि हम दोनों सारी हदें पार करने लगे थे. अगली रात मैं पूरी दुल्हन की तरह सजी और जेठजी दूल्हे की तरह और पूरी रात में उन्होंने मुझे तीन बार चोदा. मैं लगातार उनकी चूचियों को दबा रहा था और चूत को रगड़ रहा था … जिसे उनको डबल मजा आ रहा था.

इस बात को काफी दिन हो गए और मैं भूल भी गया था और तो और … मैंने उसका नाम भी नहीं पूछा था.

ये सुनकर मेरी बांछें खिल गईं और मैं जल्दी से एक थाली में हर रंग के अबीर ले आया. जब मैंने उससे मालिश की बात कही, तो मेरी बात सुनकर वो मुझे देखने लगी कि मैं क्या कहे जा रहा हूँ.

बीएफ भोजपुरी सेक्स एक बात यहां पर मैं पाठकों को बता देना चाहता हूं कि औरत के शरीर में दो प्रकार होंठ होते हैं. फिर उसने मेरे लंड पर जुबान फिराना शुरू की और मेरे गोटों को भी चाटने लगी.

बीएफ भोजपुरी सेक्स एकदम से मेरे लंड से वीर्य निकलने लगा और मैंने अपना माल उसके मुंह में गिराना शुरू कर दिया. दोस्तो, इस चुदाई की कहानी के बाद भी मेरे साथ एक घटना हुई है, जिसका जिक्र मैंने इसी कहानी के शुरू में किया था.

मैं- अच्छा जी और औरतों ने?भाभी- बस मेरी मामा की लड़की ने ही मेरे साथ लेस्बो किया था.

हंसिका सेक्सी

फिर वसुंधरा ने प्लेट के खाने में से एक कौर तोड़ा और उसमें सब्ज़ी भर कर मेरे होंठों के आगे किया. मेरी सेक्स कहानीऑफिस गर्ल से रोमांस फिर चूत चुदाईमें अभी तक आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपने ऑफिस में मेरे साथ ही काम करने वाली खूबसूरत लड़की को पटाया, फिर उसको चुदाई के लिए तैयार किया. मैं जैसे ही उनके कमरे मैं गया … तो कमरे में इतनी अच्छी खुशबू आ रही थी कि मैं बयान नहीं कर सकता.

मैंने भाभी की टांगों को फैलाया और उनकी चूत पर अपने होंठों को रख दिया. मैंने आलिया की बात सुनकर और उत्साहित होकर जोर से झटके मारना शुरू कर दिए. वो बोली- क्या आइडिया है?मैंने कहा- आप मेरी गोद में बैठ कर ड्राइव करना सीखो.

इस बार मैंने उसके पांव को अपने हाथों में लेकर धीरे धीरे चूमना शुरू कर दिया.

मैंने उनकी आवाज पर ध्यान न देते हुए स्वीटी आंटी के चुत में दूसरा धक्का दे दिया. फिर उसने मुझे एक हेलमेट दिया, वो मैंने पहन लिया।उसने मुझे बाइक पर बिठाया और चल पड़े. संगीता की चूत के लब खोलकर मैं अपना लण्ड वहां रगड़ने लगा, संगीता मदहोश और बेताब हो रही थी.

बेचारा मेरा बाबू … वो तो डर के मारे रोने लगा और बोला- प्लीज़ दीदी … मम्मी को मत बताना, सॉरी दीदी अब नहीं करूंगा. खाने के बाद मैं अपने कमरे में गयीं और उस केले पर मैंने कंडोम चड़ाया, फिर मैंने केले पर और अपनी गांड में खूब तेल लगाया।अब केला मेरी गांड की सैर करने को तैयार था. मुझसे छोटी बहन के लिए तो उसके कम उम्र का होने के कारण उसे में नजरअंदाज कर देता था कि चलो अभी तो ये 23 की ही है, पर बड़ी दीदी तो 30 साल की होने जा रही थीं.

पूरा लंड मेरी फुदी में घुस गया और मेरी बच्चेदानी को टक्कर मारने लगा. स्नेहा भाभी पूरे जोश में चीखते चिल्लाते हुए लंड पर ऊपर नीचे हो रही थीं.

अपनी ननद आलिया की चुत को दीदी ने टिश्यू पेपर से साफ किया और उसको चूम लिया. मैंने चाची को बताया कि चाची मेरा होने वाला है … जल्दी बताओ … रस कहां निकालूं. अगर आप लोगों का रेस्पोन्स अच्छा रहा तो मैं अपने साथ हुई घटनाओं के बारे में और भी काफी कुछ बताऊंगा.

मेरे मुँह में भानुप्रताप अंकल का लन्ड था तो मेरे मुँह से सिर्फ गों गों की आवाज आ रही थी.

फिर अंकल बाथरूम के फर्श पर सीधे लेट गए और मुझे अपने ऊपर आने को कहा. मैं जिस शहर में जॉब करता हूँ … वहां हम लोगों के आग्रह पर मेरी वाईफ संजू के बड़े भाई नीरज और भाभी प्रियंका का आने के प्रोग्राम तय हो गया. तभी श्वेता दीदी बोली- मैम इनके मम्मी पापा भी क्यूट हैं इसलिए ये दोनों भाई बहन भी क्यूट हैं.

मैं उसके सिर के बालों को सहलाने लगा, तो उसने अपना मुँह मेरे सीने में छुपा लिया. दीदी के साथ आपका मन नहीं लगता है क्या?वो बोले- तुम्हारी दीदी में अब वो रस नहीं रहा रिया.

मैं सिर्फ उनकी बातें सुन रहा था, पर कुछ बोल नहीं रहा था क्योंकि मैं सब समझ गया था कि दीदी को कहां दर्द है. वो कहने लगा- बंध्या, ज्यादा नाटक मत कर, मैं जानता हूं कि तू और तेरी चूत दोनों ही गर्म हैं. यह एक बढ़िया होटल था कनाट प्लेस के बहुत पास और उसकी बुकिंग मैंने अलग से करवा के रखी थी.

सेक्सी सेक्सी वीडियो चीन

मुझे नहीं पता था कि इन छुट्टियों में मुझे एक खुशबूदार चूत मिलने वाली है.

एक दिन मनु के घर वाले दिन भर के लिए बाहर गए थे तो हमने दिन में ही मजे करने का प्रोग्राम बना लिया. साथ ही जेठजी अपने दोनों हाथ ऊपर करके मेरे दोनों दूध दबाने लगे, जिससे मेरे निप्पल तन गए और मुझे चूत चुसवाने का मज़ा आने लगा. फिर एक दिन दोपहर के समय मैं भाभी के कमरे में सो रहा था तो नींद में भाभी की चूचियों पर मेरे हाथ चले गये और उसने कुछ नहीं कहा.

जब मामी लौटकर आईं, तो मैंने आखें बंद कर लीं और सोने का नाटक करने लगा. यह कोई झूठी कहानी नहीं है, ये सब मेरे परिवार में हुआ है और होली के बाद से तो किसी को भी किसी तरह की रोक टोक नहीं है. भाई और बहन की बीएफ पिक्चरऊपर से हम दोनों के ऊपर पानी गिर रहा था और नीचे अंकल मुझे चोद रहे थे.

दो मिनट में ही मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी निकल कर वहीं दीवार पर जा लगी. मैंने जल्दी आकर चाची की चूत के बाल मैंने अपने हाथों से साफ़ किये क्योंकि मुझे शेव की हुई चूत बहुत पसंद है।फिर उस दिन रात भी मैंने बहुत जम के चाची की चुदाई की.

जब भी कोई लड़की मेरे पास किसी काम से आती थी तो मेरा ध्यान उसकी चूचियों की वक्षरेखा पर चला जाता था. ऐसा ही हुआ, अगले दिन सब ताजमहल देखने चले गये तो मैं हनी को लेकर अपने कमरे में आ गया. इतना कहकर साड़ी पेटीकोट ऊपर उठाकर मेरे लण्ड पर चढ़ गई और अपनी चूत की कुलबुलाहट मिटाने में जुट गई.

ज्योति की दोनों टांगें अपने कंधों पर रख लीं और बुलेट ट्रेन दौड़ा दी. पर आज सब कुछ मेरे लिए था, बेपर्दा था, बेइंतिहां था और मैं इसी अहसास से ही मदहोश होने लगी. मेरा आगे का टोपा उसकी प्यारी सी चूत में घुस चुका था, उसकी चूत की सील टूट चुकी थी.

उनके लंड को मैंने हाथ में पकड़ लिया तो वो मेरी चूचियों को दबाते हुए पीने लगे.

मनीषा की ननद भी आगरा में ही रहती है, उसकी लड़की का रिश्ता हैप्पी के लिये आया है. अब मुझे सिर्फ़ सामने से भाभी को चोदने के ख्याल आ रहे थे … और आते भी क्यों नहीं … पहली बार सामने से चुत चोदने का आमंत्रण मिला था.

यह मेरा आजतक का सर्वश्रेष्ठ मुखमैथुन का अवसर था जिसकी लज्जत को मेरा रोम रोम महसूस कर रहा था. मेरी हथेली को देख कर बिक्कू ने ऐसे मुझे देखा कि जैसे उसके मुंह से रोटी का निवाला छीन लिया हो मैंने. ये देख कर मुझे समझ आ गया कि दीदी शायद पहले भी अपनी गांड खुलवा चुकी हैं.

मैं कुछ बोल पाता, उससे पहले ही आंटी ने मेरी पैंट और अंडरवियर उतारकर मेरे लंड को आज़ाद कर दिया. अगर तू कुछ करना ही चाहता है तो हम किसी और दिन कर लेंगे या फिर 24 तारीख को शिल्पा दीदी के शादी के दिन ही तू भी कर लेना. फिर उन्होंने मुझसे कहा- रूचि डियर, तुम्हारे जैसा मजा मुझे किसी लड़की ने नहीं दिया.

बीएफ भोजपुरी सेक्स अब मैं चाची की चूत पर अपना लंड फेरने लगा तो उन्हें बहुत मजा आने लगा. मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और उसके होंठों को चूसने लगा.

बंगाली भाभी की चुदाई सेक्सी

तो वो मान गया और अपना लंड मेरी फुदी में से निकाल कर मेरे साथ ही लेट गया. वो ना-नुकुर और हल्का विरोध करती रही … लेकिन उससे बहला फुसला कर मैं उसका जम्पर और ब्रा उतारने में कामयाब हो गया. उसने मेरे मुंह पर भी हाथ रख दिया और धीरे से मेरे कान में कहा- डरो मत, मैं सुधीर हूँ.

दिन का समय, तो जैसे तैसे कट गया, लेकिन शाम को परमीत से मिलने की व्याकुलता होने लगी. अब मैं झल्ला कर पैर पटकते हुए जाने लगी, तो संदीप ने लपक कर मेरा हाथ पकड़ लिया और कहा- अरे जरा रुको तो, इतनी जल्दी नाराज होना भी अच्छी बात नहीं. लंका चोपड़ा का बीएफ” बोलते हुए उन्होंने मेरे हाथों को अपने पेट के पास किया और कस लिया जिससे मेरे बायाँ हाथ तो उनके पेट पर था पर दायाँ हाथ थोड़ा नीचे उनके लंड के पास में था।उन्होंने एक गहरी मुस्कान ली और हम घर से निकल पड़े.

जब घर के अंदर पहुंचा तो देखा कि ड्राइंग रूम में ही मॉम की साड़ी उतरी हुई सोफे पर पड़ी थी.

कुछ देर ऐसे ही मैं कभी भाभी की चूत के दाने को चूसता, तो कभी चूत के अन्दर जीभ डाल कर चूसता. सपना बोली- सब यहीं करना है? बेडरूम में चलो!हम दोनों नंगे ही बेडरूम में चले गए.

पर स्नेहा का मुँह अभी भी दरवाजे की तरफ ओर था और उनकी पीठ मेरी तरफ थी. सपना अचानक अकड़ने लगी, मेरी छाती नौंचने लगी और हांफते हुए मेरे ऊपर लेट गई. मुझे कई कई दिन तक प्रीत का लंड नहीं मिलता था, इसलिए अब मेरी चुत में आग लगने लगी थी.

जैसे ही कुर्सी से उठी तो मैंने उसको पीछे से पकड़ कर उसकी चूचियों को एक बार फिर जोर से दबाना शुरू कर दिया.

कुछ देर बाद मेघा ने बोला- अब मुझसे रहा नहीं जाता, अपने इसको मेरे अन्दर डाल दो. तभी उसने अचानक से गेट खोला और कहा- अरे भाभी आप?मैं- मुझे लगा सब ठीक तो है, तो चेक करने आयी आखिर पड़ोसी हूँ. एक दिन वो मौका भी मुझे मिल गया जब मुझे अपने अपने छोटे मामा की शादी में जाना था.

ब्लू बीएफ जबरदस्तीउनका गर्म गर्म लंड मेरी चड्डी के ऊपर से ही गांड के दरार को सहला रहा था. फिर मैंने घर पर आदी को कॉल करके बता दिया कि हम पहुंच गए हैं, मम्मी को बता देना.

सेक्सी राजस्थानी भाभी की चुदाई

मेरे पास बाइक नहीं थी तो वो खुद ही मुझे पिक करने के लिए आने वाली थी. मैंने कहा अपनी चूत के लब खोलकर मेरे लण्ड पर बैठ जाओ और फुदक फुदक कर चोदो. मैं उसे चेक करने लगा देखा तो करीब 25 से 30 की बीच की एक औरत की फ़ोटो प्रोफाइल में लगी हुई है.

बीच में वो एक बार और झड़ चुकी थी।मैंने देखा कि चूमते, चुसाते हुए और चोदने में करीब दो घंटे कब बीत गए पता ही नहीं चला। अब मुझे भी लग रहा था कि मैं झड़ने वाला हूँ. इसके बाद भाभी ने मेरी आंखों पर काजल लगा दिया और होंठों पर लिप लाइनर लगा दिया. मैं पहुँच गया उसके घर और उस को सब बता दिया।उसने कहा- मज़ा आ गया! क्या खबर लाये हो।मैंने कहा- हो जाये फिर?उसने कहा- मोस्ट वेलकम!मैंने गेट बंद किया और वहीं उसको पकड़ के उसके होंठ चूसने लग गया.

कोई 12-15 मिनट की लंड चुसाई के बाद उसने सारा लंड माल मेरे मुँह में छोड़ दिया. अब मैं आपको अपने एक दोस्त की सहेली की चुदाई की कहानी आपको बताने जा रहा हूं. आज सुबह से ही मेरी चूत फड़क रही थी। मुझे अहसास हो रहा था कि आज कुछ होने वाला है लेकिन मुझे इसकी उमीद नहीं थी कि मैं भाई के साथ घर से इतनी दूर इस होटल में अकेले एक कमरे में होंगी।पिछले कई महीनों से मैं एक किसी ऐसे ही अवसर की तलाश में थी.

मैं और मनु परमीत के सामने घुटने के बल बैठ कर टकटकी लगाये उसकी चूत का मुआयना करने लगे. उसने इतनी जोर से मेरे दूधों को भींचा कि मेरे मुंह से चीख निकलने को हो गई मगर क्योंकि मेरे मुंह से विवेक का मुंह जुड़ा हुआ था इसलिए वो चीख बाहर नहीं आ पाई.

काले बालों की चोटी, काली नागिन से बलखाते दोनों चूतड़ों पर बारी बारी से थपकी देते हुए किसी भी मर्द का कलेजा मुँह में लाने को मजबूर कर दे.

मुझे अब तो बस संजय का लंड चाहिए था।जब मैं संजय के घर जाती तो वो दूसरे कमरे में जाता और मैं नीचे आने लगती तो वो खिड़की खोल कर लंड हिलाता. देसी बीएफ लेडीसतो मैंने उस भाभी की चुत पर अपनी नाक लगा कर चुत की महक को अपने अन्दर समा लिया. चलने वाली बीएफ पिक्चरउसने मुझे पहले भी मेरे एक ब्वॉयफ्रेंड के साथ चुदते हुए देख लिया था, पर तब वो और छोटा था. तो दीदी ने दूसरी बार ठंडी सांस लेते हुए हाययय काश …दीदी ने इतना ही कहा और हम बाहर आ गए.

पानी का तापमान ऐसा बनाया कि जब उसकी चूत पर गिराऊं तो उसको कुछ राहत मिले.

मगर अगले ही पल उसने मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूमना शुरू कर दिया और एक हाथ से मेरी चुत को रगड़ने लगी. मुझे अन्दाजा हो गया था कि मेरी बहन के अन्दर कुछ ज्यादा ही सेक्स भरा हुआ है. सागर बोला- क्या कर रही हो?मैं- कुछ नहीं … बस ड्रेस पहन कर देख रही थी.

उसके बाद उसने मेरी चूत में धक्के लगाते हुए मेरी चूत चुदाई शुरू कर दी. कुछ देर तक ऐसे ही करने के बाद उन्होंने मुझे सिर से बाथरूम की दीवार से सटाकर घोड़ी की अवस्था में खड़ा कर दिया और पीछे से मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया. अविनाश ने सिगरेट सुलगाते हुए कहा- हमारी फैंटेसी पूरी करने के लिए तुम दोनों का धन्यवाद.

बंगाली सेक्सी वीडियो जंगली

वो जब भी अकेले में मिलती थी, तो कभी मेरी चूची मसल देती थी, तो कभी चुत को सहला देती थी. हमारे अन्दर जो ज्वाला कुछ देर पहले भड़क रही थी, वो कुछ संयमित ढंग से अलग दिशा का रूख करने लगी थी. जीजू ने मेरी पैंटी को उतार दिया और मेरी चूत को अपनी हथेली से सहलाने लगा.

उत्तेज़ना-वश कांपते हाथों में से ब्रा गिरा कर मैंने वसुंधरा की यूज़्ड पिंक पैंटी उठायी और पैंटी को अपने दोनों हाथों में ले कर सहलाने लगा.

आलिया ने दोनों हाथों से बेडशीट पकड़ ली थी … मैं पूरी ताकत से आलिया को चोदने में लगा हुआ था.

मैं भी रुका नहीं … और जल्दी ही जोर जोर से भाभी की चूत की चुदाई करने लगा. भानुप्रताप अंकल ने अपना लन्ड मेरी चूत से निकाल कर मेरी गांड में डाल दिया. सपना चौधरी की बीएफ मूवीहमने अनमने मन से हां में सर हिलाया, क्योंकि हमें लगा कि दीदी के कहने से हम घर थोड़े देर से पहुंचेंगे, तो चलेगा.

मेरे मन में सौ तरह के सवाल उठ खड़े हुए कि ऐसी भला कौन सी चीज है जो सिर्फ मॉम ही देख सकती है!जब मैं अपनी कोचिंग क्लास पहुंचा तो देखा कि हमारे टीचर की तबियत खराब थी और उस दिन वो कोचिंग क्लास देने के लिए नहीं आये थे. मैंने धीरे धीरे लंड को आगे सरकाना शुरू कर दिया और पूरा लंड उसकी चुत में उतार दिया. इसके बाद मैं 69 की पोजीशन में आकर उसकी बुर चाटने लगा और उससे कहा कि मेरा लण्ड मुंह में ले ले.

मैंने शैली को कहा- बेटा, चाय तो बहाना थी तुम्हें बुलाने का, मुझे तुम्हारी बहुत याद आ रही थी. शुरुआत में मैंने बस दीदी के मम्मे छुए थे, जब उसकी तरफ से कुछ नहीं हुआ, तो अगली बार मैंने काफ़ी देर तक वहां हाथ रखा.

उसकी चीख निकलने वाली थी लेकिन मैंने पहले ही उसका मुँह अपने मुँह से बंद कर दिया था.

मैं- हैलो … तुम्हारा नाम क्या है?वो बोला- आप जो बोलो, वही मेरा नाम है. खैर … उनसे बात करके मुझे भी अच्छा लगा और उन्होंने भी मुझसे प्रसन्न होकर मेरा नंबर ले लिया. मैंने विक्की से पूछा- अब क्या करूं?विक्की बोला- वो क्या कर रहा है?मैं बोली- कुछ नहीं … चुपचाप खड़ा है.

बीएफ फिल्म फिल्म वीडियो में अब मेरा दिल डोली को चोदने के लिए और भी बेक़रार हो गया, अब मुझे मालूम था कि डोली भी मेरे लंड से चुदना चाह रही थी. आप को देखकर मेरे मन में भी आया था कि हम दोनों एक दूसरे की जरूरतें पूरी कर सकते हैं लेकिन मैं दो बातें सोचकर रह गई.

सपना ने अपनी चुत खोली और मेरा लंड अपनी चुत पर रख कर बोली- आराम से डालना … बहुत दिनों से इसमें लंड नहीं गया. मेरी पिछली कहानी थी:अन्तर्वासना ने मिलाया भाभी सेआज मैं आपको अपनी एक ऐसी कहानी बारे में बता रहा हूं जो आज से लगभग 5-6 साल पहले मेरे साथ घटी थी।मैंने नई-नई बैंक जॉब ज्वाइन करी थी और ट्रेनिंग लेकर कोलकाता से वापस आ रहा था। शालीमार से चलकर कुर्ला तक जाने वाली ट्रेन थी. फिर उन्होंने अपने पॉकेट से दो चॉकलेट निकाल कर दीं और बोले- तुम्हें चॉकलेट पसंद है न.

सेक्सी वीडियो अच्छा बच्चा

मेरी पत्नी को मैं सहमति से चुदवा चुका था, इसलिए वो भी मेरी एहसानमन्द थी. उसने मुझे अलग अलग पोज़ में करीब 20 मिनट तक चोदा और मेरे अन्दर ही झड़ गया. इस बार भी भैया का जवाब हम नहीं सुन पाए, पर दीदी ने फोन रखने के पहले दो तीन बार थैंक्स … थैंक्स कहा.

आशीष को मैं प्यार करती हूं लेकिन उस वक्त के हालात ऐसे थे कि मेरे जीजा ने मुझे रंडी बनने पर मजबूर कर दिया था. इसलिए उसके लंड को रास्ता मिलते ही उसने अपनी पूरी ताकत लगा दी और मेरी झूठी चीख वाली नौटंकी असल हो गई.

मुझे नहीं पता था कि इसमें क्या होता है, लेकिन मेरी जिज्ञासा बढ़ती जा रही थी.

मैंने आलिया को बेड पर पटक दिया … और आलिया के ऊपर चढ़कर उसके होंठों को चूमने लगा. तभी प्रीत भी बाथरूम में आ गया और हम साथ में नहाने लगेतभी उसका लंड खड़ा हो गया और बाथरूम में ही उसने मुझे चोद लिया. नमस्कार दोस्तो … मैं बिंदू देवी अपनी चुदाई की नई कहानी लेकर आप सभी के सामने फिर से हाज़िर हूँ.

मैंने कहा- साले चूतिया, अगर प्रोटीन खाकर बॉडी बनायेगा तो लंड भी खड़ा होना बंद हो जायेगा. और वसुंधरा के कूल्हों के दोनों तरफ से मेरे दोनों हाथों की सारी उंगलियां वसुंधरा की पैंटी के इलास्टिक के साथ-साथ वसुंधरा की पीठ पीछे तक का घेरा नापने लगी. मुझे दर्द हो रहा था, मैं छः रही थी कि अंकल अपना लंड मेरी चूत में से निकाल लें.

मैंने उसको दबी सी आवाज में कहा- सॉरी बाबू, आर यू ओके? तुम ठीक तो हो?उसने मेरी तरफ देखा और फिर से एक थप्पड़ मारा.

बीएफ भोजपुरी सेक्स: फिर उसने मेरी मेरी मुँह से अपना लंड निकाला, जिससे मेरी लार से मेरे मुँह से उसके लंड तक एक तार बन गयी थी. अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा नमस्कार! मेरी पिछली सेक्स कहानीमेरी पत्नी ने चुत से क़र्ज़ चुकायापढ़ी और खूब ईमेल भी किये।आप सबकी मांग पर ये नयी कहानी रीना की कलम से!यह कहानी काल्पनिक है, मनोरंजन मात्र के लिए लिखी गयी है।मेरा नाम रीना है, जयपुर में अपने पतिदेव विक्रम के साथ रहती हूँ.

जेठजी की इस हरकत पर मुझे हंसी आ गयी … जल्दी ही हमने बर्तन धो कर रख दिए. अब मेरा वीर्य निकलने के कगार पर आ पहुंचा और उस असीम आनंद को भोगने के लिए मेरी आंखें भी बंद हो गईं. वो नहीं आयी, तो मुझे लगा कि शायद अपनी सहेलियों के कहने पर उसने मुझसे एक बार चुदवा लिया था, पर अब शायद वो नहीं आएगी.

दोस्तो, अगर लड़की की चुत चोदनी हो, तो ये सबसे जरूरी होता है कि पहले उसको इतना गर्म क़र दो कि वो खुद लंड के लिए मचलने लगे.

मैं बाहर गई और देखा तो पूरा घर खाली था केवल वह नौकर और हम तीन लड़कियां ही बची थी. उसमें लिखा हुआ था- हाँ बोलो?मैंने बोला- आपने मेरी बात का जवाब नहीं दिया?उसने बोला कि उसके हसबेंड आ गए थे तो नेट ऑफ कर दी थी, अभी नहीं हैं तो मेसेज किया. आह्ह्हह … धीरे संदीप … दर्द होता है!”पर सिल्क ने रोकने की कोशिश नहीं की.