बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो

छवि स्रोत,છોકરીઓના સેકસી વીડિયો

तस्वीर का शीर्षक ,

গুজরাটি সেক্সি বিএফ: बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो, नीचे स्कर्ट मिनी थी, तो उससे वैसे भी मेरी पूरी टांगें साफ़ दिखती थीं.

ઓનલાઈન સેક્સ વીડિયો

रश्मि- क्यों? आप क्या करोगे मेरी ब्रा-पैंटी का?रमेश- मुझे चुदाई के बाद तुम जैसी रंडियों की ब्रा और पेंटी कलेक्ट करने की आदत है. सेक्सी वीडियो हद देहातीकरीब बीस से पच्चीस मिनट की चुदाई के बाद उसने अपना सारा पानी मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में छोड़ दिया.

लेकिन भाभी ने गोवा में शार्ट गाउन और भैया ने फ्रेंची अंडरवियर पहना था. मराठी व्हिडिओ बीपी सेक्सीवो- ऐसे सोते हो! कितना फोन किया मैंने, पता भी है!मैं- हां बोलो क्या हुआ?वो- क्या हुआ! जल्दी उठो और आ जाओ.

हम दोनों ही एक बार स्खलित हो चुके थे, इसलिए अबकी बार कोई भी जंग को समाप्त नहीं करना चाहता था.बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो: तो भाभी ने बताया था कि उन्हें पहाड़ पर घूमना बहुत पसंद है।भैया ने फिर कुल्लू मनाली शिमला चलने के लिए कह दिया.

व्हिस्की के बाद उसने कहा- अब हम अन्दर चलते हैं … मुझे एन्जॉय करना है.मैंने भी मौका देख कर अपनी दोनों टांगों को खोल दिया, जिससे सर को मेरी चूत के दर्शन हो जाएं.

वीडियोकॉन सेक्स - बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो

भाभी मेरे खड़े लंड को देख कर आप बोलीं कि मैं क्या करूं प्रकाश … ये मुझसे क्या हो गया.फिर उसने मम्मी की ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा उनके जिस्म से अलग कर दी.

अब उसने मेरे हाथ को पूरा खोल कर फैला दिया और टांगों के बीच में खुद को सैट करके अपने को भींच लिया. बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो तुझे उसके घर छोड़ दूंगा, तू मज़े से उसे चोद लेना … फिर जब आना होगा तो मुझे फोन कर देना … मैं आ जाऊंगा.

वो सास ससुर की सेवा में लगी रही और फिर बच्चा हो जाने के बाद तो इन सब बातों के लिए फुरसत ही नहीं मिल पाई.

बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो?

लेकिन भैया भी कम नहीं हैं, वो चुसवाकर ही मानते हैं।दोस्तो, अब आप एक मिनट अपने मन में सोचिए कि दो जिस्म एक जान नंगे शावॅर के नीचे चिपके खड़े हो तो कितना मज़ा आयेगा!जब भाभी जी ये सब मुझे बता रही थी तो मेरा लिंग खड़ा हो गया था. रीता जाकर अपना काम करने लगी और रमेश रीता की पैंटी को अपनी पॉकेट में रख कर अपने काम में लग गया. मैंने नीचे से गांड उठाई तो उसने एक करारे धक्के के साथ पूरा लंड चुत में घुसा दिया.

वो- ओहो … इतनी जल्दी है मिलने के लिए!मैं- तुम्हें नहीं है?वो- हां है न. ” शायद सानिया असमंजस में थी। उसे तो जैसे यकीन ही नहीं हो रहा था कि मैं उसे भी चाय के लिए पूछूंगा।अरे. मगर यहां मौसी फिर से गर्म हो गई थीं और शायद मुझे गर्म करने की कोशिश कर रही थीं.

हम बस में बैठने जा ही रहे थे कि उनका पैर मुड़ गया और उनको सम्भालने में मेरा हाथ उनके बूब्स पर चला गया. मैंने कहा- सारा काम तो पति वाला ही कर रहे हो, अब और क्या चाहिए?वो बोला- थैंक्स भाभी, आपकी वजह से ही सब संभव हो पाया है. अपनी दोनों टांगों को भाभी ने चौड़ा किया और मेरे हाथ को अंदर तक पहुंचने का रास्ता दे दिया.

मैंने पांच या छह बार उसी अवस्था में उतने ही लंड को थोड़ा निकाल कर अन्दर डालना शुरू किया. दोस्तो … सेक्स कहानी की इस नदी में पिछली बार आपने प्रतिभा दास की चुत चुदाई की कहानी का मजा लिया था.

” शायद सानिया असमंजस में थी। उसे तो जैसे यकीन ही नहीं हो रहा था कि मैं उसे भी चाय के लिए पूछूंगा।अरे.

अगले दिन से मैंने नेशनल कॉलेज की छुट्टी के समय गेट के आसपास मंडराना शुरू कर दिया.

कुछ देर बाद शालिनी ने मुझे रोका और मेरे गाल पर एक किस करके वो मुझे सो जाने का इशारा करने लगी. फिर उसने माहौल हल्का करने के लिए कहा- सर, सफाई वाले ने बताया कि शायद आपकी तबियत ठीक नहीं है, इसलिए मैं आपका हालचाल जानने चली आई. बताओ … इतनी सीधी-सादी भोली-भाली दिखने वाली इतनी खूबसूरत हो कर ऐसा भी कर सकती है.

तब उन्होंने मुझे चूमते हुए कहा- बहू, इसकी मोटाई नाप कर क्या करेगी, बस मजे लेती रह!मैं शर्म के मारे पानी पानी हो गयी. नेहा अपने ही बेड पर अपने ही घर में, एक अजनबी से चुद रही थी और खुश हो रही थी. मैंने पूछा- आज पढ़ाई में मन लगा?बिन्दू- हाँ, आपके सामने पढ़ ही तो रही थी, पहले मन भटकता था, लेकिन अब नहीं भटकता.

प्रिंसीपल जब गांड में लंड को अंदर करते तो अधिकारी साहब चूत से लंड को बाहर निकाल लेते.

अंकुश- कौन आएगा … यहां मेरे तुम्हारे रोमा और रिशेप्शन में जो लड़का बैठा है. यहां पर मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि खुशी के साथ किसी प्रकार के शारीरिक संबंध के बारे में मेरे मन में विचार तक नहीं आया। और ना ही मैंने कभी खुशी के सामने अपने प्रेम का ही इजहार किया था. ये शरद का थोड़ा सा अजीब व्यवहार था, पर इससे मुझे उत्तेजना ज्यादा मिल रही थी.

और आए भी क्यों नहीं … सालों बाद मेरा लंड फिर से एक कुंवारी चूत का उद्घाटन करने जा रहा था. ये दिन कैसे बीते?मेरी प्रिय साईट अन्तर्वासना के प्रिय पाठको और पाठिकाओ, नमस्कार!आशा है आप सब पूर्ण स्वस्थ और सुखी होंगे. उस दिन मेरे घर में कोई नहीं था। मैंने भी मौका देखा मामा भांजी की चुदाई का … जैसे ही वो वापस जाने को अपनी सहेली के घर से बाहर आयी, मैं उसके सामने पहुंच गया।साथ में उसकी सहेली भी खड़ी थी.

आपका लंड बहुत लम्बा और मोटा है … और मेरी चूत अभी एकदम नई है … ये आपके लंड को झेल नहीं सकेगी.

इस अचानक हुए हमले से बॉस का आधा लंड मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में घुस गया. मैंने भी उसकी सारी आप बीती को सच मान कर उसका प्रपोजल स्वीकार कर लिया था.

बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो तुम्हें कैसे सूझा।मैंने जवाब में कहा- मैंने सोचा कि जो मुझे खुशी दे उसे खुशी कहना ठीक होगा।खुशी संदीप की प्रेम कहानी और कुसुम के साथ डिजिटल सेक्स की कहानी जारी रहेगी. मैंने उसके लंड को अपने हाथ में लिया और उसके लंड पर धीरे धीरे बैठने लगी.

बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो मैंने देखा कि मीता के गोरे चूतड़ों पर मेरी उंगली के लाल निशान उभर आए थे. वो जाने लगी तो मैंने पूछा- अच्छा बताओ कैसा लगा?बिन्दू- बहुत अच्छा लगा, आई लव यू!मैंने एकबार फिर से बिन्दू को अपनी बांहों में लेकर उसके होठों पर एक लंबा किस किया जिसका बिन्दू ने भी अपनी एड़ियां उठा कर साथ दिया.

अभी मैं उन चटाई के बारे में सोच ही रहा था कि तभी भाभी के चिल्लाने की आवाज़ आई.

जबरदस्त सेक्सी फिल्म दिखाइए

रमेश ने अपनी जीभ निकाली और रीता की गांड के छेद पर रख कर उसकी गांड को चाटने लगा. और हमारे पास पूरे पाँच दिन हैं।भैया बोले- मेरी जान, अब सब्र नहीं हो रहा है. फिलहाल पूजा मेरे लंड पर हाथ रख कर सहला रही थी और मैं अपनी चढ़ी हुई जवानी, गाड़ी की रफ्तार पर दिखा रहा था.

और खुशी का मैसेज आते ही मन में उमंग फिर से भर गया था, इसलिए मैंने भी कह दिया- मैं भी सो गया था यार, नोटिफिकेशन की आवाज से नींद खुली।खुशी ने कहा- यार, मेरा मैसेज जाते ही तुमने जवाब दिया है. मैं धीरे दे बोला- आंटी क्या मैं आपकी कुछ हेल्प करूं?मेरी बात सुनकर आंटी चुप रहीं. अस्पताल के गेट पर उसने वो दुपट्टा फिर से अपने सिर और कन्धों पर डाल लिया जिससे उसका पूरा जोबन छुप गया.

मगर उन औरतों के पति तो जैसे मुझसे बात करने के लिए मरे ही जा रहे थे.

भाभी चुप हो गईं और धीरे से अपनी उंगली पर अपनी साड़ी के पल्लू को लपेटते हुए बोलीं- वो ये सब नहीं करते हैं. गुरजीत की चूत जब गीली होने लगी तो मैंने अपने अपना चेहरा गुरजीत की टांगों के बीच लाया और अपने होंठ गुरजीत की चूत के होंठों पर रख दिये. फिर उन्होंने मुझसे कहा- तुम ज़रा अपनी मामी को फोन लगा कर पूछ कि वो घर पर है कि नहीं.

तो मैंने उसे बोला- ये किसी से कुछ नहीं बोलेगा क्यूंकि हम इसे रोज सेक्स का लालच देंगी. मैं अपने बॉयफ्रेंड से जी भरके चुदना चाहती थी वो भी अपने पति के सामने बिना किसी हिचकिचाहट और डर के. पिताजी के जाते ही मां आ गईं और पिताजी को न पाकर मुझसे पूछने लगीं- क्या हुआ? तेरे पिताजी किधर चले गए?मैंने मां को आते देख आकर उठ कर दरवाजे की कुंडी लगा दी और सब बताते हुए उनको अपनी गोद में खींच लिया.

इस बात से अमित बिल्कुल अनजान था। उसे इस बात की बिल्कुल भनक भी नहीं थी कि उसके जाने के बाद उसकी सेक्सी बीवी क्या करती है! वो तो बस ऑफिस से आता और फिर हम दोनों के जिस्मों के बीच जबरदस्त जंग होती और दोनों ऐसे ही मस्त जवानी के खेल करते करते सो जाते।मैं अमित के साथ बहुत खुश थी क्योंकि वो मेरी सारी गर्मी उतार देता था लेकिन मुझे तो लन्ड बदलने की आदत थी। यहाँ मैं किसी को नहीं जानती थी. वो बोली कि जब तक उसका पति यहां घर पर है तब तक मैं उसको मैसेज या फोन कॉल न किया करूं.

एसएचओ कहने लगे- यदि दोबारा इस शहर में दिखाई दिया या इन्होंने तुम्हारी कंप्लेंट इस थाने में की तो मैं तुम्हें ऐसा टांग दूंगा कि दुबारा कभी इनकी गली की तरफ मुंह नहीं करोगे. थॉमस ने मुझे बेड पर लेटा दिया और खुद भी मेरे ऊपर आ गया और मुझे इधर उधर चूमने लगा. मुझे दो तीन दिन में ही ये काम करवाना होगा ताकि डैड का दिया चेक भी पास हो जाये और अपनी मर्ज़ी से मैं सेक्स करूँ।ये सोचकर रिया ने रतनलाल को कॉल किया.

और हाँ अगर मैं व्यस्त रहती हूँ तो उसका मतलब यह नहीं कि मैं कहीं किसी और से बात करने लगी हूँ.

वैसे भी मैं तो पहले भी लड़कियां चोद चुका था, तो मुझे सब पता था कि कब कितनी गहरी चोट मारनी है. मैंने कहा- नहीं, मैं गांड नहीं मरवाता हूँ।वो बोले- तो मेरा अपने हाथ से ही हिलाकर निकाल दो. ऐसा लगा कि मैं किसी पोर्न फ़िल्म के अंदर आ गयी हूं। सच में आज समझ आया कि क्या होता है वाइल्ड फक।उसके बाद हम दोनों नींद की आगोश में बातें करते हुए ही समा गये.

बदले में तू ये बात किसी से बोलेगा नहीं … वरना हम बोल देंगी कि तूने हमारे साथ छेड़छाड़ की है. मैंने कहा- अच्छा तुम्हें सबसे ज़्यादा क्या अच्छा लगा?वो- जब तुम मेरी चूची को चूसते हो, तो मुझको बहुत अच्छा लगता है.

बहुत सोचने के बाद मैंने आपको मैसेज किया है, क्या आप मुझसे दोस्ती करेंगे? आप मेरे लिए और मैं आपके लिए अनजान हैं. वो- सोच लो पूरी रात का मौका है और इस बार मज़े करने का पूरा इंतज़ाम भी रहेगा. मैंने भी उन्हें अपने दोनों हाथों से कसके जकड़ते हुए भींच लिया और उनके मम्मों को सहलाने लगा.

मराठी सेक्सी बीपी फुल

सनम भी पागल हुई जा रही थी, उसने नीचे बैठकर राजू का लंड अपने मुंह में ले लिया.

मैंने प्रतिभा के दोनों पैर हवा में उठा कर अपने हाथों में थाम रखे थे और प्रतिभा के चेहरे की ओर ही झुका रखे थे. फिर रोहन बोला- अंजलि चलो अब मुझसे रहा नहीं जा रहा, मुझे अब तुम्हें चोदना है. मैं- क्लेरिसा, तुम्हें काम करने के लिये ये नई जगह पसंद आई? यहां पर हमें ऑफिस के उस उबाऊ माहौल को भी नहीं झेलना पड़ेगा.

जीजा साली सेक्सी कहानी में पढ़ें कि लड़की जब पहली बार चुद जाती है तो उसकी चाल हमेशा के लिए बदल जाती है. अब उसने भी मेरी टी-शर्ट निकाल दी और साथ में मेरा लोअर भी निकाल दिया. एक्स वीडियो डॉक्टरमैंने पूछा- क्या?वो कंटीली नजरों से मेरे लंड को देखते हुए बोली- कुछ नहीं.

अब मर्ज़ी तो मेरी भी थी, लेकिन मैं तुरंत तो उससे नहीं चुदवा सकती थी … तो पहले मैंने थोड़ा नाटक किया. मैंने शरद को अलग जगह पर छुपने के लिए कहा … क्योंकि शाजिया उसको देखकर शायद लौट सकती थी.

उनकी तो ऐसी तैसी हो जाती है, पर भोसड़ी वाले मेरे से पूछते रहते हैं कि मजा आ रहा है कि नहीं. पायल ने गले में महंगा आर्टीफिशियल हार पहना था, जिसका पेंडल घाटी के बीचों बीच लटक कर मुझे मुँह चिढ़ा रहा था. अभी पिछले हफ्ते फिर से बाँदा गयी थी मगर अबकी बार कोई और दो नम्बरों में लगातार 15 दिन से खूब बात होती हैं.

मैंने जैतून का तेल अपने लंड पर खूब अच्छे से लगाया और थोड़ा सा तेल उसकी गांड के छेद पर टपका कर सुपारा रगड़ने लगा. मैंने नेहा से कहा- अपनी मम्मी की नहीं दिलवानी क्या?नेहा- भागो, शरारती कहीं के. इंडिया हॉट गर्ल्स सेक्स स्टोरी के पिछले भागजैसेलमेर की सेक्स सफारी- 1में आपने पढ़ा था कि कैसे वो चारों दोस्त मिल कर जैसेलमेर गये और रास्ते में कार में ही उन्होंने मस्ती शुरू कर दी.

मेरी एक गर्लफ्रेंड है पर मैं प्यार शादी के झंझट नहीं पालता। दोस्ती करता हूं अगर इरादा हो तो सेक्स भी करता हूँ.

एक बात का ध्यान रखना!” मैंने मुस्कुराते हुए कहा।क्या?” सानिया ने मेरी और आश्चर्य से देखा।इन पैसों के बारे में अपनी मम्मी या और किसी को मत बताना।हओ. मुझे अब किसी भी तरह अंकुश का लंड अपनी चुत में लेने का दिल करने लगा था.

वो गरम होकर पूछने लगीं- फिर क्या हुआ प्रकाश … जल्दी जल्दी बताओ न!मैं- मैंने कहा कि भाभी आपने मुझसे पूछा कि क्क्कहां है आपका लंड. दो दो लंड की मस्ती में आकर रश्मि ने खुद ही अपनी एक टांग ऊपर उठा ली. इसलिए देर रात में मैं बार बार वॉशरूम में जाकर अपनी चूत को सहलाती थी.

हम दोनों ने कसकर एक दूसरे को बांहों में जकड़ा और होंठों को एक कर दिया. कुछ देर बाद उसका लंड पूरा खड़ा हो गया और उसने अपना लंड बाहर निकाल कर मेरे हाथ से पकड़ा दिया और धीरे धीरे से हिलाने लगा. फिर मैंने भी कंट्रोल खो दिया और मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी उसकी चूत में लगने लगी.

बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो जब भैया ऐसा करते हैं तो लिंग का सुपारा मुँह के अन्दर सीधा तालू से टकराता है. मेरे कुछ ही दोस्त ऐसे थे, जिन्होंने उस सामूहिक चुदाई में उपस्थित रहते हुए भी बिना कोई कारण बताए लौंडिया चोदने से मना कर दिया था … जबकि वे उन लौंडों में सबसे मस्त लौंडे होते थे.

बीपी सेक्सी सेक्सी वीडियो सेक्सी

मैंने पूछा- नया नम्बर कौन सा है?तब उसने बताया- जो आप अपनी आई डी से जो जिओ की 2 सिम खरीद कर मेरे भाई को दिया था उसी से एक नम्बर भाभी ने दीदी को दे दिया हैमैंने उसके भाई से कहा- दिखाओ कौन सा नम्बर है?जब उसने नम्बर बताया तो संयोग से उसके पास वही नम्बर पहुँच गया था जो मैंने अपने जिओ ऐप में लिंक किया था. फिर धीरे धीरे उसके पेट को सहलाते हुए उसकी पजामी में हाथ डालकर मैंने सपना की चूत को सहलाया तो मालूम हुआ कि उसकी चूत पूरी तरह से पानी पानी हो गयी थी. तभी उसने मुझे आवाज़ लगाई।मैं रुका वह पास आते हुए बोली- आप तो दो दिन में ही भूल गए?क्यों?” मैंने पूछा।आप देख कर भी मुझे रुके नहीं?”मैंने सोचा कि बोलने से आप बुरा न मान जायें?”क्यों?”लड़कियों का क्या भरोसा?”ऐसा क्यों?”लड़कियों से दोस्ती करने से पहले उनको जानना जरूरी होता है।” मैंने कहा।अच्छा? अब जान गए?” उसने पूछा.

मैं उसके हर धक्के के साथ ऊपर को उठते हुए आहह … सीईईई … सीईई … आई … आहह … करने लगी।सुनील मुझे ऐसे ही खड़े खड़े पट्ट पट्ट धक्के मार मार के चोदता रहा कुछ देर तक।उसके मुंह से ज़ोर लगाने की हम्म … हम्म … हम्म … आवाजें आती रही. मेरे गाल चिकने थे दाढ़ी मूंछ का कोई निशान नहीं था … न ही कहीं शरीर पर सिर के अलावा कहीं बाल थे. சன்னிலியோன் பிஎஃப்तो मैं अपनी पोजीशन संभाल ना सका और मेरा लण्ड किट्टू की चूत से बाहर निकल गया।किट्टू रोने लगी थी और उसकी आवाज़ तेज़ होती जा रही थी।मैंने समझते देर ना लगाई कि इसकी आवाज़ घर से बाहर तक भी जा सकती है क्योंकि मैं बाहर वाले कमरे में ही चुदाई अभियान चला रहा था।तो मैंने उठ कर उसको थोड़ी सांत्वना दी और उसको अंदर वाले कमरे में चलने को कहा।बिलबिलाती हुई किट्टू ने पहले तो कुछ नहीं कहा.

वैसे भी मैं तो पहले भी लड़कियां चोद चुका था, तो मुझे सब पता था कि कब कितनी गहरी चोट मारनी है.

जिसमें मैंने पूजा को अपनी कामुकता जगाने वाले बुर्का की फैंटेसी के बारे में बताया. और खुशी का मैसेज आते ही मन में उमंग फिर से भर गया था, इसलिए मैंने भी कह दिया- मैं भी सो गया था यार, नोटिफिकेशन की आवाज से नींद खुली।खुशी ने कहा- यार, मेरा मैसेज जाते ही तुमने जवाब दिया है.

तो उसने भी साजिया के मदमस्त यौवन को बुर्के के ऊपर से ही निहारा और मुझसे कहा- हां यार, माल तो कंटाप है. मैंने उसको तौलिया दे दिया और उसको बाहर वाला बाथरूम इस्तेमाल करने को बोल दिया. अन्दर जाकर मैं कार से उतरी, तो अंकुश ने कहा- चलो शेफाली, कबसे तुम्हारा वेट कर रही है.

चूंकि एक दिन पहले मुझे उससे कुछ देर की बात में ये मालूम चल गया था कि ये उसका रोज का जॉब टाइमिंग था, वो नर्स थी और घर जाने के लिए 4 बजे इधर रोज आती थी.

मैं तो यही सोच रही थी कि बस … मगर 10-11 मिनट में तुमने क्या क्या कर दिया … पूछो ही मत!मैं- क्यों?वो- क्यों क्या … घर आने के बाद में 10 मिनट तक बैठ कर यही सोच रही थी कि तुम कहां कहां क्या क्या कर रहे थे … मेरे गले पर सीने पर … और तुमने वहां भी हाथ लगा दिया था. उन्होंने तुरंत मुझे एक चाभी दी और बोले- यहां बगल में मेरा एक फ्लैट है … तुम वहां रह लो … क्योंकि तुम दूर से आती हो … और तुम जैसी खूबसूरत महिला एक छोटी सी खोली में रहे, ये मुझे अच्छा नहीं लगेगा. मैंने भाभी से कहा- भाभी, आप इतनी सुंदर, इतनी सेक्सी और हॉट हो, फिर आप का काम बिना हस्बैंड के कैसे चलता है?भाभी कहने लगी- राज, बस इस बात को तो यहीं रहने दो और अपना यह निकालो.

सेक्सी दो हिंदीमैंने धीरे से दरवाजे की दरार में से देखा तो पाया कि वहाँ भाभी कपड़े बदलने लगी थी. मैंने थॉमस के लंड को हाथ में लिया और रोहन के सामने ही उसे मुँह में लेकर चूसने लगी.

यूपी के सेक्सी ब्लू फिल्म

तो मैंने कहा- हम्म… ठीक है।सुनील ने मेरे दोनों हाथ पकड़े और मुझे खड़ा करके अपने पास ले गया।उसने अपने हाथ को मेरे सिर के पीछे ले जा के मेरे जूड़े का क्लचर खोल दिया और मेरे बाल झूलते हुए खुल गए।मैं मुस्कुराती हुई नीचे देखने लगी तो साइड से थोड़े से बाल आगे भी आ गए।सुनील तो मानो मुझे ऐसे देख के पिघला ही जा रहा था. अब तक की जबरदस्त चुदाई की कहानीतन्हा चूत की प्यास लंड से बुझी- 2में आपने पढ़ा था कि मैडम मेरे साथ कुछ अलग तरह का सेक्स करना चाहती थीं. अब वो जैसे जैसे चुदाई की रफ़्तार बढ़ाता, मेरी चूचियाँ अपनी हिलने की रफ़्तार बढ़ा देती.

तुम्हें सहज रूप से एक्ट करना है और पूरे विश्वास के साथ आगे बढ़ना है। एक तलाकशुदा औरत तुम जैसे मर्द को कभी मना नहीं कर पायेगी. उनका लंड फूल कर एक मोटे तंदरुस्त साढ़े सात इंच लम्बे लौड़े में तब्दील हो चुका था. पर मामी बोलीं- टेंशन ना ले … सही किया, जो तेरे मामा ने फ्लैट किराए पर ले लिया.

तभी मैंने मुँह से लंड निकाल लिया और उसको लिटा कर उसकी टांगों के बीच आ गया. फिर मैं अदिति के बालों में उंगलियों से सहलाने लगा और फिर उसका सर पकड़ कर अपने लण्ड पर दबाने लगा. मेरी छाती जो कि बिल्कुल चिकनी थी … मीता उसको चूसने के साथ चुम्बन भी करने लगी.

मैंने बिस्तर पर ही अखबार बिछा दिया और साली जी ने खाना उस पर लगा दिया. मैंने भाभी को गोद में उठाया और लंड को दुबारा चूत में सैट करके गोद में उछाल उछाल कर चोदने लगा.

मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी चुत को फैलाया और अपनी जीभ अन्दर तक डाल दी.

तभी आया जी मुझे बुलाने आईं और बोलीं कि उदय सर तुम्हें बुला रहे हैं. त्याची सेक्सनसीम नखरे करने लगा- वाह भाईसाहब … बार बार मेरी ही लोगे?प्रकाश भाईसाब बोले- साले नखरे नहीं … जल्दी से खोल … वरना समझ ले. नंगी सेक्सी नंगीऑफिस पहुंचने के बाद रिसेप्शन पर बताया कि मैं इंटरव्यू देने आयी हूँ. उसने मेरी मसाज की उसके बाद मैंने शॉवर लिया और फिर अपने रूम में आ गयी.

बिन्दू- आपके कमरे की सीढ़ियां तो बिल्कुल हमारे घर के गेट के सामने हैं, मम्मी देख लेंगी, मैं वहां नहीं आ सकती.

सेक्स कहानी के अगले भाग में हॉस्पिटल में नर्स की चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से लिखूंगा. लेकिन भैया भी कम नहीं हैं, वो चुसवाकर ही मानते हैं।दोस्तो, अब आप एक मिनट अपने मन में सोचिए कि दो जिस्म एक जान नंगे शावॅर के नीचे चिपके खड़े हो तो कितना मज़ा आयेगा!जब भाभी जी ये सब मुझे बता रही थी तो मेरा लिंग खड़ा हो गया था. मैं आशा करता हूं कि आप इस सेक्स स्टोरी को भी मेरी पहली सेक्स स्टोरीज की तरह ही सराहेंगे.

दोस्तो, सबसे पहले तो मेरी पिछली सेक्स स्टोरीपहली बार गांड मरवाने का सुखhttps://www. वो आंखें बंद कर होंठों को भींचने लगी … अपने ही दांतों से अपने होंठ काटने लगी. दोस्तो, आप सभी ने मेरी कहानियां पढ़ी हैं और उन कहानियों को बहुत पसंद भी किया.

हिंदी सेक्सी देहाती चोदा चोदी

मेरी ये सब कामनाएं तब पूरी हो सकती थीं, जब उसे मेरा चुदाई का अंदाज पसंद आए और वो मेरे लंड की शैदाई बन जाए. उसने भी मेरे कपड़े उतार दिये और हम दोनों एक दूसरे को जोर से चूमने और चूसने लगे. थॉमस अपना लंड मेरी चुत से बाहर निकाल कर मेरे पेट के ऊपर आ गया और अपना लंड हिलाने लगा.

मेरा हुस्न भी ऐसा कातिलाना दे दिया है बनाने वाले ने कि जो भी एक बार देख ले वो मुझे बिस्तर में ले जाये बिना न माने।मेरी पिछली कहानीलंड बदलकर चुत चुदाई का मजापढ़ कर कितने सारे ही पाठकों ने भी मेरे साथ चुदाई की इच्छा जाहिर की.

मैंने पूजा से पूछा- खाना बाहर चल कर खाना है … या बाहर से मंगवाना है?पूजा ने रूम पर ही मंगाने का कह दिया.

मम्मी और पापा का तलाक़ हुए अभी कुछ दिन ही हुए थे कि एक दिन जब मैं कोचिंग से लौटा तो एक आदमी हमारे घर आया हुआ था जो 35-40 साल का होगा. ’ करते हुए मेरे मम्मों को मसलने लगा, जिससे मैं और ज्यादा उत्तेजित होने लगी. सेक्स वीडियो ब्लू एचडीसर्दियों का समय होने की वजह से रात को ओस गिरती थी और कोहरा भी कहर बरपा रहा था.

उसने लंड को बुर के छेद पर रखा और मेरी आंखों में ऐसे देखा … जैसे मुझसे इजाजत मांग रहा हो. हमारी रोज़ मुलाक़ात होना शुरू हुई, तो आंखों ही आंखों में थोड़ी बात होने लगी. मम्मी ने मुझे कुछ सामान दिया और बोलीं कि लो ये सामान मामा के घर देकर आओ.

नेहा होटल की स्टॉफ थी, जो खास मेहमानों की मेहमान नवाजी में लगी हुई थी. इस हिन्दी सेक्सी कहानिया में प्रतिभा के साथ गरम रासरंग को अगले भाग में पूरे विस्तार से लिखूंगा.

शाम के पांच बजे के करीब शर्मिष्ठा को हॉस्पिटल में भर्ती कर लिया गया.

बेड पर लेट कर उसने अपनी टांगों को ऊपर करके अपनी पैंटी निकाल दी और उसकी गांड में हवा में ऊपर आ गयी. मैं बिस्तर से उठा और कमरे में रखी कुर्सी को आहिस्ते से उठा लाया और बिस्तर के समीप रखकर बैठ गया. फिर वो बोलीं- और?मैं बोला- और क्या … अभी तक जो दिखा वो मैंने बताया.

गांड में सेक्स अब हर रोज छुट्टी के बाद गुरजीत मुझे कॉल करके पूछती- अंकल, आ रहे हैं क्या?धीरे धीरे एक महीना बीत गया, बरसात का मौसम शुरू हो गया. और रही बात सेक्स की … तो हम गरीबों का जिस्म तो होटल की चादर के समान होता है, एक रात के लिए कोई भी सोकर निकल जाता है.

ये देख कर उसने मेरी चूची चूसते हुए मुझसे कहा- बाजी, कपड़े उतारो न!तब मैंने अपनी मैक्सी उतार दी. रास्ते में भाभी मेरे साथ और बच्चे आगे चल रहे थे तभी भाभी ने मुझसे धीरे से कहा- मेरे रूम की खिड़की से होटल का मेन गेट दिखता है. तभी एक अनाउंसमेंट हुआ कि जिसको जिसको रंगोली बनानी आती हो, वे अपने हाथ खड़े करें.

जापान सेक्सी वीडियो में

मैं बोला- तुम्हें अभी से पैसों की लगी है, पहले बच्चे को ठीक तो हो जाने दो. मीता- क्या आप भी … मुझे क्यों बना रहे हो … मैं इतनी भी खूबसूरत नहीं हूँ, जितनी आप तारीफ कर रहे हो. रीता बेड से उतर कर किनारे खड़ी हो गई और झुक कर अपनी गाँड रमेश की तरफ कर दी.

मम्मी ने उनको समझाया और बोला- बच्चों और बहुरानी को यहीं लेकर आ जाओ … और यहीं रह कर बच्चों का स्कूल में एडमिशन करवा दो … क्योंकि बच्चों के स्कूल के दिन खराब हो रहे हैं. रॉन के जाने के बाद मैंने नेहा को बांहों में भर लिया और कहा- थैंक्स जान … तुमने मेरी विश पूरी कर दी.

मम्मी अस्पताल जाएगी भाभी और बाबू को लेकर!”ओह … पर क्यों?”बाबू को टीका लगवाना है.

मैं ये पल कभी नहीं भूलूंगी … आज का ये सुनहरा दिन मेरी जिन्दगी में मुझे हमेशा याद रहेगा. और हमें भी अपनी मानसिकता बदलनी पड़ेगी।मैंने पूछा- तो आप मुझसे क्या चाहते हो कि मैं आपके किसी बिज़नस पार्टनर के साथ सेक्स करूँ?दीपक बोले- अरे नहीं मेरी जान, पर अगर तुम चाहो तो तुम अपना कोई बॉयफ्रेंड, या दोस्त रख सकती हो. तुम्हें तो पता ही है कि मैं तेरे जीजू के अलावा और किसी को घास तक नहीं डालती हूँ.

मैं अपनी गांड घुमा कर घोड़ी बन गयी उसके सामने और कहा- लो, चोद लो अपनी कुतिया को।सुनील ने पीछे से मेरी चूत पे लंड रखा और धीरे धीरे पूरा डाल दिया।मेरी नज़र साइड की दीवार पे बन रही दोनों की परछाई पे पड़ी तो मुझे मुस्कुराना आ गया. मैंने उसके स्तनों को मसलते हुए उसकी गांड पर जोर जोर से थप्पड़ से मारना चालू कर दिया. पैर दीवार में अड़े होने से लंड की मार चूत में अत्यधिक गहराई तक होने लगी थी.

मतलब हम सभी तालाब के बीच में पानी से घिरी एक पहाड़ी तक तैर कर पहुंच जाते थे.

बीएफ फिल्म भेजिए वीडियो: ये सोच कर मेरे चूत की गर्मी थोड़ी और बढ़ गयी, मैं अपनी गांड हिला हिला कर उसका साथ देने लगी. अब तक मामी के दो बच्चे हो चुके थे और मामी भी मामा के साथ सूरत ही चली गई थीं.

बडा लंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे पड़ोसन भाभी की बड़ी बेटी मेरा लंड लेने के लिए उतावली हुई जा रही थी. मैं अभी खाना ऑनलाइन ऑर्डर कर ही रहा था कि पूजा के फोन पर उसके पति का फोन आ गया. पहले तो कुछ देर तक अंकुश मेरी नंगी चुत को देखता रहा, फिर अपने कड़क लंड को मेरी नंगी चुत पर रगड़ने लगा.

तभी इसका मोबाइल रोमिंग में था जो मुझे बाद में पता चला क्योंकि वो छतरपुर का ही कोई इसका दूर का रिश्तेदार है.

फ्रेश चुत का सेक्स मजा लेते हुए मैंने अगली रात दोबारा भाभी की छोटी बेटी को चोदा. मैंने रॉबर्ट से कहा- सर क्या अब डील साइन कर लें?उसने कहा- हां जरूर … यू आर सो स्वीट. लेकिन तभी सना ने एक बम और फोड़ा- मेरे पास उस काम की रिकॉर्डिंग भी है और कुछ फोटो भी हैं.