देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म

छवि स्रोत,త్రిబుల్ ఎక్స్ వీడియోస్ త్రిబుల్ ఎక్స్

तस्वीर का शीर्षक ,

मशीन वाली बीएफ सेक्सी: देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म, चाचा ने एक बार मम्मी को देखा और फिर से मम्मी की चुत के दाने पर जोर से अपनी जीभ रगड़ने लगे.

ववव सेक्सी विडिओ कॉम

दोनों की रजामंदी से निर्णय लिया गया कि मंदिर में ही शादी होगी मगर इससे पहले उनकी कोर्ट में शादी होगी. सपना चौधरी सेक्सी गानेये सुन उसका चेहरा ऐसे लटक गया, जैसे बच्चे को अपनी मनपसंद की चीज़ न मिली हो.

अब मम्मी को स्कूल ले जाने के लिए महेश सर घर आने लगे थे और वो उन्हें छोड़ने भी आते थे. इंडियन सेक्स वीडियो वीडियोमैंने देखा कि अंकित जा चुका था और मिक्की वहीं बेड पर सिर्फ पैंटी पहने सो रही थी.

फिर हम दोनों नंगे ही सो गए थे।अगली सुबह जब जागे तो दोनों साथ में नहाये और एक बार मैंने बाथरूम में बाथटब में उससे जमकर चुदवाया.देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म: मेरे मन में कुछ करने का विचार आया और मैंने उसकी चूचियों पर हाथ रख दिया.

कपल स्वैपिंग स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपनी बीवी के साथ दो अन्य कपल के साथ अदला बदली करके चुदाई का मजा लिया और अपनी बीवी को गैर मर्द से चुदवाया.मैंने अन्दर आकर थोड़ा पानी पिया, फिर फ्रेश होकर बाथरूम में नहाने के लिए चला गया.

प्रियंका पंडित लीक वीडियो xxx - देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म

लव यू मेरे लंड के सरदारोअपनी अपनी मम्मियों के प्यारोऔर माया के जोशीले यारोमेरी चूत खींच के मारो!तो मिलती हूं नेक्स्ट सेक्स स्टोरी में.मुझे आपके प्यार भरे मेल और संदेशों का इंतजार रहेगा![emailprotected].

थोड़ी ही देर में वो भी चुदाई के मज़े लेने लगी और अपने मुँह से मादक सिसकारियां निकालने लगी. देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म पर लगभग 1 बजे के आस पास मेरी नींद खुली।मुझे प्यास लगी थी। मैं किचन की तरफ गया और पानी साथ लेकर दोबारा बिस्तर की तरफ गया.

मैंने अपने दोनों पैरों के बीच में उसे लेकर अपने ऊपर खींच लिया और उसके लंड को पकड़ कर अपनी चूत पर घिसने लगी.

देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म?

जब तुम मुझे रुला देते हो जबकि मैं मोटी भी नहीं हूँ, तो बुआ के पास तो सब कुछ बहुत मस्त मस्त है, न जाने बुआ को कितना न रुलाते होगे. मैंने लंड हल्के से बाहर निकाला और जोर से धक्का मारा … उसकी जोर से सिसकारी निकल गई. अब वो ब्लाऊज़ पर हाथ रखे थी और दूसरा हाथ पेंटी के ऊपर से चूत पर!मैंने पेट पर तेल डाला और मलने लगा।पेट को मलते मलते उनके बूब्स तक हाथ ले गया और उनका हाथ हटा दिया.

यह भाई बहन पोर्न स्टोरी वास्तविक घटनाओं पर आधारित है।मेरी बहन रिशू को देखकर किसी का भी मन उसको चोदने के लिए व्याकुल हो जायेगा क्योंकि उसकी पतली कमर और छोटी छोटी चूचियां जो बहुत ही मस्त हैं. ये बात मुझे बाद में पता चली थी कि मर्द के आगे जितनी ज्यादा चिल्लाओ, उसकी स्पीड उतनी ही बढ़ जाती है. सच बोलूं तो मुझे भी अच्छा लग रहा था कि एक इतना हैंडसम बंदा मेरे बदन के मज़े ले रहा है.

मैं इस मौके को छोड़ना नहीं चाहता था और आज की रात दीप्ति की यादगार रात बनाना चाहता था. [emailprotected]देसी बुर चुदाई कहानी का अगला भाग:कमसिन लड़की की कुंवारी चूत की सीलतोड़ चुदाई- 2. मैंने सारी चुदाई लाइव वीडियो की तरह अपनी आँखों से देखीमैं रिशांत जांगड़ा एक बार फिर से आपको अपनी मम्मी की कामवासना से भरी हुई सेक्स कहानी का रस पिलाने के लिए हाजिर हूँ.

दीदी की चूत के गर्म पानी से मेरे लंड ने भी हार मान ली और अब मेरा शरीर भी अकड़ने लगा. फिर वो अकड़ गईं- आह उइ उइ उइ आ गई!दीदी गांड हिलाती हुई डिस्चार्ज हो गईं और पापा के ऊपर लेट गईं.

आपको मेरी हॉट वर्जिन फर्स्ट सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज मुझे मेल करके जरूर बताना.

फिर वो मुझे देखने लगी।मैं अभी भी सोच ले डूबा हुआ था।मुझे ऐसे देखकर वो थोड़ा चिढ़कर बोली- अगर गाड़ी नहीं सिखाना … ऐसे ही सोचते रहना है … तो मुझे घर ड्रॉप कर दो।घर ड्रॉप करने के नाम पर मेरे शरीर में जैसे जोश आ गया था, अपने हाथों में आई इस चीज को में ऐसे तो नहीं छोड़ सकता था.

दोस्तो, आप लोगों के काफी सारे मेल आए, जिनमें आपका प्यार भरा हुआ था. मैंने उसके साथ जान पहचान बढ़ाने के लिए उससे दूध लेना ही सबसे बढ़िया और आसान समझा. आधे घंटे बाद पापा भी डिस्चार्ज हो गए और दीदी के बगल में लेट कर बात करने लगे.

मैंने टिश्यू पेपर से उसके पेट को साफ़ करते हुए पूछा- कैसा लगा?वो हंसने लगी और उसने मेरे गाल पर एक किस दे दिया. उसने मेरे दोनों बूब्स को अच्छे से मसलने के बाद खूब चूसा और काटा भी था, जिसके काटने का एक निशान आज भी मेरे लेफ्ट दूध पर बना हुआ है. मैंने भी यह सुन कर बिना देर करे अपना पूरा लंड एक ही ज़ोरदार झटके से अन्दर कर दिया.

वो अपनी चूत में धीरे धीरे उंगली डालने लगी।मैंने तेज करने को बोला तो कहने लगी- दर्द हो रहा है!अब मुझे पता चल गया कि वो वर्जिन है।आह आ … दर्द हो रहा है आ …” वह सिसकारियां भर रही थी।फिर वो एकदम ढीली पड़ने लगी.

फिर मैं भाभी पर टूट पड़ा और उन्हें बिस्तर पर पटक कर जोर जोर से किस करने लगा. कभी गांड में डाल कर पेलता तो कभी चूत में!यह मजा मेरे लिए भी नया था, मुझे मजा आ रहा था और वो भी खूब मजा ले रही थी. वो इतनी गर्म हो गयी थी कि उसने मेरे सिर का पकड़ लिया और जोर जोर से ऊपर नीचे हो रही थी.

इस वक्त मोनिका मुझे बिलकुल आशीर्वाद देने वाली देवी की तरह लगी तो मैंने झट से मोनिका को फोन किया और उससे मिलने के लिए बोला. वो रुक गया, मैं सीधा लेट गया और उसके लंड को अपने हाथ से हिलाने लगा. मम्मी- इतनी दूर क्यों बैठे हो, पास आ जाओ न!चाचा थोड़ा झिझकते हुए मम्मी के पास सरक आए.

महेश सर मम्मी को पीछे से पकड़े हुए थे वो अपने हाथ को मम्मी के शरीर के आगे कमर पर इधर उधर कर रहे थे और वो दोनों आपस में कुछ बात कर रहे थे.

कुछ देर बाद मैंने उस मिस्त्री को फोन लगाया तो वो मुझे गाइड करने लगा. हमारे पड़ोस में एक फैमिली रहने आई थी, उसमें एक आंटी, उनका बेटा और उनकी बेटी थी.

देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म जिन्हें देखते ही मेरा लंड बेकाबू हो गया था, फिर भी मैंने खुद पर काबू रखा. अब मैं जोर जोर से धक्के लगाने लगा और दीप्ति को न चाहते हुए झेलना पड़ रहा था.

देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म फिर मैडम मुझे ऊपर सेकंड फ्लोर के एक क्लास रूम में लेकर गई और डांटने लगीं. कुछ देर बाद मैंने चुत से उंगली निकाल कर उसकी चूत चाटना चालू कर दिया.

उसे भी थोड़ी तकलीफ हुई तो वो चिल्ला पड़ी और उसने मुझे ज़ोर से पकड़ लिया.

वीडियो पिक्चर सेक्सी ब्लू

वो मेरे साथ चिपक गया और हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में कुछ मिनट पड़े रहे. मैंने कहा- नाश्ता कर लूं पहले!उसने बेचैन निगाहों से अपना सर हां में हिलाया. फिर वो दोनों छत पर सोने गईं लेकिन गर्मी के कारण अकुलाहट बहुत हो रही थी.

फिर मैंने देखा कि कुक्कू की आंखों के वासना के डोरे लाल हो गए थे और वह मदहोश हो गयी थी. बामुश्किल दो मिनट उसने मेरी चूत को चाटा होगा कि मैं खुद बा खुद उसके लंड को अपने मुंह में ले गई. मैं उसकी बगल में लेटा तो देखा कि उसकी टी-शर्ट थोड़ी ऊंची सी हो रही है, जिसकी वजह से उसका पेट दिख रहा है.

उनके बदन से एक अलग ही प्रकार की खुशबू आ रही थी जो मुझे और भी ज्यादा उत्तेजित कर रही थी.

वो काफी शर्मीला लड़का था।शुरू से ही कम उम्र के लड़के मुझे काफी पसंद हैं. किस यानि चुम्बन के बारे में सोच सोच के दिल की धड़कनें बढ़ी हुई थीं. मीरा के निप्पल कड़क होने लगे थे, जो इस बात का संकेत दे रहे थे कि मीरा गर्माने लगी है.

इस एक घंटे के सेक्स में न जाने कितनी बार नैना की चूत से गर्म गर्म मधु निकल गया था. मैं- अऔच आहह निकालो ओ प्लीज़ आअहह …पर उस्ताद जी नहीं माने और हल्के हल्के धक्के देते रहे. मेरा अनुभव है कि इस तरह धक्के मारने से लड़की को बहुत मज़ा आता है और लंड भी बहुत देर तक टिकता है.

मुझे अभी भी लग रहा था कि मुझे मेरी ब्रा पैंटी वापस मिल जाएगी और हम शरीफ बच्चों की तरह रात बिताएँगे. मैं उसके पीछे खड़ा होकर ब्रा पहनाते हुए उसके कड़क मम्मों के ऊपर ब्रा के कप सैट करने लगा.

पर थोड़ी देर तक जब उसकी तरफ से कोई विरोध नहीं हुआ तो मैं अपने हाथों से उसके को कुछ जोर से दबाने लगा. वैसे आपने तो दीदी की चूत पर चुम्बन किया ही होगा ना … तो आपके लिए कोई नई बात थोड़ी होगी. मुझे उन दोनों पर थोड़ा शक भी होने लगा था परन्तु मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया.

मैं- ज्यादा नाटक मत कर, रात को तो नंगा सोता है, ऊपर से सपने में मुझको चोद भी देता है … और अब मेरे सामने नाटक कर रहा है.

तो उसने कहा- तुम मुझे मेरे जन्मदिन पे अकेला छोड़कर चली जाओगी?पर पूरा एक दिन मैं करूँगी क्या? हास्टेल में भी सब जा चुके होंगे!” मैंने कहा. मैंने कहा- तुझे कैसे मालूम कि इतनी बियर में ये ठंड नहीं जाएगी?हीर हंसने लगी. उन्होंने मेरा लंड हाथ में लिया और बोलीं- इतनी जल्दी यह फिर से खड़ा हो गया?मैंने बोला- दीदी, यह अब आपकी चूत को चोदना चाहता है.

इसके बाद मैंने उसके एक दूध पर हमला किया, उसके एक निप्पल के पास अपने नथुने लाया और निप्पल पर गर्म हवा फैंकी. ये सुनकर उसने अपनी ब्रा खोलकर एक तरफ रख दी और दोनों हाथों से अपनी चूचियों को छुपाने लगी.

रात के 12 बज चुके थे और गोवा में हम दोनों एक दूसरे की बीवी चोदने का आनन्द ले रहे थे. मैंने कोमल दीदी की चूत की गहराई में लंड डाल दिया और धक्के लगाने लगा. मैंने कहा- कुक्कू, तुम्हारा शरीर बहुत लाजवाब है, इसे मैं गदरा दूंगा.

तेरे सेक्स वीडियो

कोमल दीदी- तुम दोनों तो हर महीने झगड़ा करते हो … इसमें क्या नया है.

और अगर तुमने हम सब को एक साथ खुश कर दिया तो हम तुझे इतना पैसा देंगे कि शायद फिर तुझे कभी यह काम करना ना पड़े!सुनील ने बताया कि उसके बाकी के 4 दोस्त बहुत ज्यादा अमीर है और वे भारत से बाहर रहते हैं. हम दोनों की आंखें साफ-साफ बता रही थीं कि हम दोनों इस समय क्या सोच रहे हैं. लेकिन अभी तक वो किसी से भी नहीं पटी और ना ही उन्हें कोई चोद पाया है।हमारे मोहल्ले में उनके जैसी कोई और माल नहीं है जो भी उन्हें देखता है, उसके लण्ड में तूफान आ जाता है।इसलिये हर कोई उन्हें अपने लंड की सवारी करवाना चाहता है।पहले मैंने कभी भी भाभी को गन्दी नजर से नहीं देखा था.

आशा करती हूं आपको मेरी ये ब्यूटीफुल गर्लफ्रेंड Xxx चुदाई कहानी काफी पंसद आयी होगी. वहां से मुंबई का 6 घंटे का रास्ता था तो मुझे सुबह ऑफिस में बहुत काम रहता था. इंडिया हिंदी सेक्सीमैंने कहा- अरे मैं उंगली क्यों करुँगी? मैंने तो तुम्हें पहले ही कह दिया था कि मुझे सब्र नहीं हो रहा.

दो तीन बार तो उन्होंने मुझे किस किया, मेरी जांघ पर हाथ रख कर मुझे उकसाया, पर मैं बस चुप रहा. फिर भाई ने दुबारा अपना लौड़ा मेरी चूत में लगाया और थोड़ा अंदर करने के बाद एक जोरदार धक्का लगाया जिससे उनका आधा लौड़ा मेरी चूत में समा गया.

अगर कुछ काम है तो बता दो, मैं बता दूंगा।वो बोली- नहीं उन्हीं से काम था।मैं बोला- ठीक है!वो बोली- फोन में क्या करता रहता है सारा दिन?मैंने कहा- कुछ नहीं. शनिवार को उसने मुझसे कहा- यार, मेरे कुछ डाउट्स हैं, तो क्या मैं पढ़ाई करने तुम्हारे रूम पर आ जाऊं?ये सुनकर मैंने बोला- हां आ जाओ. मैंने अब भाभी के दोनों हाथ पकड़ कर दीवार पर ऊपर को कर दिए और बालों को आगे की ओर कर दिया.

आप ये जान लीजिए कि लड़की चाहे कितनी ही सुंदर क्यों न हो अगर वो मोटी नहीं है … और खास कर उसका पिछवाड़ा मस्त भरा हुआ नहीं है, तो मुझे वो जरा भी पसंद नहीं आएगी. मैंने एक दिन उसे अन्तर्वासना साईट के बारे में बताया, उसने गूगल किया तो उससे नहीं बना. मम्मी- मम्मम्म … आह आ …चाचा- रेखा, तुम्हारी चुत मुझे बहुत मजा दे रही है.

मैं अभी भी उससे ब्रा वापस माँग रही थी और वो सुनने के बजाय मेरी टाँगों के पास बैठ गया और मेरे तन पे बचे एक मात्र वस्त्र मेरी पैंटी को धीरे धीरे नीचे सरकाने लगा.

चाचा- जान, अब इसे सहलाती ही रहोगी या इसे प्यार भी करोगी?मम्मी- अब और कैसे प्यार करूं, कर तो रही हूँ ना. मैं चाहता था कि मैं उसको ये दोनों काम में मास्टर कर दूँ और गांड मारने का उस्ताद बना दूँ.

मेरी चुत में आग लगी पड़ी थी और मुझे बार बार अपने देवर का मोटा लंड गर्म कर रहा था. वो मेरे होंठों को चूसते हुए ही आगे बढ़ा और उसने मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल दी. पहले तो ठीक ठाक बात होती थी मगर जल्द ही हमारी बात का सिर्फ एक ही विषय रह गया … सेक्स.

ए सेक्स स्टोरी ऑफ़ लस्ट के पिछले भागजवान भाभी से सेक्स चैटमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं और भाभी दोनों कोई साथ में एक दूसरे की बांहों में सो गए थे. हम दोनों होंठों से होंठ लगा कर जीभ भी एक दूसरे के मुँह में डालने लगे. ये मेरी बात मेरी गर्लफ्रेंड भी नहीं जानती कि मैंने उसको और उसकी बहन दोनों को चोद रखा है.

देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म कसम से दिल खुश हो गया था क्योंकि जब वो मेरी सिगरेट सुलगा रही थी तो उसके कुर्ते के गहरे गले से उसकी चूचियों की मादक घाटी मेरा लंड खड़ा करने लगी थी. फिर हम दोनों नंगे ही बाथरूम में जाकर एक साथ नहाये और उधर भी मैं उसे एक बार चोद कर बाहर आ गया.

छोटी लड़की बीएफ

मम्मी- इसमें इजाज़त कैसी, अपनी पत्नी से आप कुछ भी कह सकते हैं और ये आपका हक भी है. नीता बोली- तुमने कभी अपने पति को पेशाब करवाया है?मैंने हाँ में सर हिलाया तो वो बोली- अरे तुम लोगों ने किया क्या था, 6 साल में न लंड चूसा, न चूत चाटी, लगता है गांड भी नहीं मरवाई होगी?फिर से मैंने ना में सर हिलाया तो नीता बोली- चल ये भी करके देख. पर जबसे मैं 22 साल का हुआ हूँ मैं भी सोचता था कोई मुझे भी मिल जाय चुदायी करवाने वाली!क्योंकि मेरे कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

गुरुवार की रात मुझे नींद ही नहीं आ रही थी, बार बार बस मिताली का ही ख्याल आ रहा था. मैं बहुत खुश हुआ क्योंकि मैं बहुत दिन से रिशू की बुर चोदना चाहता था. बस सेक्सी वीडियोफिर मैंने कहा- ओके मम्मी, जांघों पर तो लगा दूँ?उन्होंने कहा- हां उधर लगा दे.

”अब मैंने उनकी दोनों टांगों को चौड़ा कर दिया और लंड को चूत की गहराई तक पेलने लगा.

अगर आप इस कहानी को आधा अधूरा पढ़ने वाले हैं, तो रहने दें, क्योंकि फिर आप इसका आनन्द नहीं उठा पाएंगे. चाचा की इस क्रिया से मम्मी बहुत ज्यादा गर्मा गईं और कामुक सिसकारियां निकालने लगीं ‘आंह नरेश आह क…क्या कर दिया है … आह मर गई आंह उह …’फिर चाचा ने मम्मी के पेटीकोट को थोड़ा और ऊपर उठा दिया.

थोड़ी देर चलने के बाद सबके घुटनों में दर्द होने लगा, तो सब लोग बैठ गए. मैं उसके करीब होकर उसे समझाने लगी कि एक रिश्ता टूटने से तुम्हें कमजोर नहीं होना चाहिए. मम्मी- अब भी मुझे भाभी बोलोगे? शादी हो चुकी है हमारी!चाचा- ठीक है जी, आप ही बता दो कि मैं क्या कहूँ?मम्मी- इसमें कहने वाली क्या बात है, नाम लेकर बुलाया करो मेरा.

दीदी झड़ चुकी थी और निढाल होकर लेटी थी उसकी सांसें धौंकनी की तरह चल रही थीं.

उस दिन उसने वो चुदाई की वीडियो देखी और खुद को किसी तरह से शांत कर लिया. उसके जाते ही मैं मुस्कुरा दी और अपनी नंगी चुत पर हाथ फेर कर सहलाने लगी. तभी मोनिका ने बोलना शुरू किया- दीदी जो हुआ वो सब याद नहीं करते हैं, वैसे भी अब तो आपकी शादी होने वाली है.

सेक्सी पिक्चर सेक्सी सेक्सी सेक्सीमैंने उसके सर पर हाथ फेर कर कहा- हां राहुल वादा है, मैं रोज दूध पिलाऊंगी. अब वो सिसकारियां भर रही थी।यहां मेरा भी हाल बुरा था … लण्ड बाहर आने को बेताब था.

सेक्सी वीडियो बीएफ सील पैक

मैं बेड पर लेट गया तो कोमल दीदी बेड पर आईं और बोलीं- कुछ अलग तरीके से करते हैं. मैं रात को खाना खाने गया तो बोली- गोलू मेरी कमर और पीठ का दर्द नहीं ठीक हो रहा।तो मैं बोला- आप मालिश नहीं कराओगी तो कैसे ठीक होगा?वो बोली- किस से कराऊं … कोई नहीं मिला. गुल्लू- जल्दी करो!मैं- क्या करूं, निकल ही नहीं रहा है, अगर तुम कुछ मदद करो तो शायद जल्दी निकल जाए.

मैं एकदम से जाग कर उसकी कुंवारी चूत की महक लेकर अपनी सुबह को सराहता और खूब मजे से उसकी चूत चाट लेता. मैं और अंकल वैसे ही सिर्फ़ सामान्य बात कर रहे थे ताकि मेरे भाई को शक ना हो. दरवाजे पर ही मैंने नैना की ओर देख कर अपनी आंख दबाई और उसका हाथ पकड़कर अन्दर आकर दरवाजे की कुंडी लगा दी.

उसकी बिकिनी पैंटी इतनी टाइट और पतली थी कि जेनीका के दोनों चूतड़ों के बीच की दरार में फंस गयी थी. बताया होता तो अब तक जाने कितनी बार चुदवा चुकी होती!मैं चुदाई की स्पीड बढ़ाता गया, झटके पर झटके लगाता गया और वह हर झटके का जबाब झटके से देती गई।मुझे मालूम हो गया कि वह बड़ी चुदक्कड़ औरत है।मेरे मन उसकी बेटी की भी बुर चोदने का हो गया. मैं रिया हूँ, मेरी पिछली कहानीदेवर को पिलाया अपना मीठा गाढ़ा दूधमें आपने पढ़ लिया था कि मैं अपने देवर को कैसे रोज दूध पिलाने लगी थी.

अलोन वाइफ वांट सेक्स … सुहागरात के बाद पति विदेश चला गया तो दुल्हन को पति के लंड की याद तो आनी ही है. मम्मी- मम्मम्म … आह आ …चाचा- रेखा, तुम्हारी चुत मुझे बहुत मजा दे रही है.

मैंने उससे कहा- दीदी अब तुमको नींद आ जाएगी … तो मैं भी सोने जाऊं?दीदी ने कहा- हां अब तुम सो जाओ.

हमें प्रदर्शनी देखते हुए तीस मिनट ही हुए थे कि रश्मि ने अपने डैड से कहा- डैड मेरी तबियत ठीक नहीं लग रही है. बर्थडे वाला केकउसके बाद मैंने एक और झटका दिया और पूरा लन्ड उसकी चूत की दीवारों को फाड़ता हुआ अंदर चला गया. ओरिजनल मराठी सेक्स व्हिडिओलेकिन मैं उनके घर नहीं रहना चाहता था इसलिए मैंने एक किराए में कमरा ले लिया था. अब महेश सर ने मेरी मम्मी को लेटा दिया और उनकी ब्रा के ऊपर से उनके मम्मों को मसलने व चूमने लगे.

मेरा मन एकदम से कामुक हो गया और ऐसा मन करने लगा कि इसको अभी यहीं पर पकड़ कर चोद दूं.

अब तक ये तो मेरी समझ में आ चुका था कि मुझे मेरे कपड़े आसानी से तो नहीं मिलने वाले … इसलिए उनको लेने के लिए इसके पास जाना ही पड़ेगा. हल्के ही प्रयास में अंजलि मुझसे अलग होते हुए बोली- चाचा, सब्र रख। बाहर ही माँ और बाबूजी हैं।फिर मुस्कुराते हुए एक बार फिर लंड को मुट्ठी में भरकर बोली- चाचा, सब्र का फल मीठा होता है. मैं काफी उधेड़ बुन में अपने कॉलेज में गया और पार्क में बैठ ख्याली बातों से अपना दिल बहलाता रहा.

पर दाइशा जी की ओर से कोई भी ना नुकर ना होने से अपने हाथ से दाइशा जी कंधों से लेकर बांहों तक छूने लगा था. जीवन में पहले बार किसी औरत के होंठों को चूसा मैंने!दीप ने मेरी जाँघों को चूमते हुए मेरी पेंटी उतार दी और मेरी दोनों टाँगें फैला कर जैसे ही उसने अपने होंठों से मेरी चूत को छूआ. बस कुछ झटके मारकर मैंने भाभी की चूत के अन्दर ही मेरा सारा माल खाली कर दिया और निढाल होकर उनके ऊपर ही गिर गया.

सेक्सी फोटो सनी

मैं- पर तू तो रांड लग रही है साली भोसड़ी की!वो- कब का चुदने का मन कर रहा था, कोई चोदने ही नहीं आया. मुझे समझते देर न लगी कि आज हेमा बॉस के साथ और क्लाइंट के साथ दोनों के साथ बिस्तर में सोई है यानि उसने अपनी चुत और गांड में दोनों के लंड लिए हैं. उसके लंड चूसने का स्टाइल ऐसा था कि आज भी वो सीन याद करता हूँ, तो मुठ मारना पड़ता है.

क्योंकि मैंने उसके साथ टाइम स्पेंड करने का दोपहर का प्लान बनाया था, ताकि मैं शाम को फ़्लैट पर जा सकूँ.

और ये भी नहीं पता चला था कि कब वो मेरे कंधे के सहारे फोटोज देख रही थी।अचानक मुझे कुछ याद आया और मैंने कहा- वो वेटर के आने से पहले तुम पूछ रही थी ना कि क्या कर रहे हो?हाँ, मतलब तुम बैग के पास गए कुछ निकला था.

हमारी जीभें आपस में लड़ने लगीं ‘ऊऊम्मा … आंह … उन्ह …’मैंने बोला- अभी तेरे बच्चे नहीं हुए हैं. मुझे पानी सा महसूस हुआ तो पूरा लंड घुसा घुसा कर उसकी चूत पूरी खोल दी. कॉलेज वाली की सेक्सी वीडियोमदन- हम लड़कों को पुरुष वेश्या नहीं, बल्कि कॉल ब्वॉय बोलते हैं, याद रखना.

सुबह सुबह मेरा लंड पूरा खड़ा था, जिससे अंडरवियर में मेरे लंड में तंबू बना हुआ साफ़ दिखाई दे रहा था. मेरी बुआ की लड़की का नाम निशा (बदला हुआ नाम) है। निशा की शादी हो चुकी है लेकिन शायद उसकी उफनती जवानी का रस उसका पति नहीं निकाल पाता था।यह हॉट कजिन Xxx कहानी उसी निशा के साथ की है. उन्होंने जब अपनी चूत का पानी छोड़ा तो ऐसा लग रहा था जैसे कोई ज्वालामुखी फट गया हो और उसका लावा बह रहा हो.

जब लॉकडाउन लग गया तो काफी समय खाली मिल गया और मेरे दिमाग में फिर से एक लेखक ने जन्म ले लिया. पर अन्नू की आँखों में झलकते प्यार को वो देख चुकी थी।जवान जिस्म जब करीब हों और मन में अरमान मचल रहे हों तो क्या नहीं हो सकता।अन्नू ने रूपा को हल्के से माथे पर किस कर लिया.

मैंने पूछा- कब देखा?कुक्कू ने कहा- जब वो मम्मी के साथ कमरे में ये सब करते हैं.

तभी मिक्की ने जोर से अपने घुटने से मेरे आंडों पर झटका मारा, मेरा लंड सुन्न पड़ गया और मैं नीचे गिर गया. उनकी बात से मेरे दिमाग में एक तरकीब आ गयी कि क्यों ना अम्मी को शराब पिला कर उनकी चुदाई की जाए. मैं तुम्हें अपना भाई समझती हूं और एक अच्छा दोस्त … बस इससे ज्यादा कुछ नहीं.

सेक्स वीडियो 2020 उसका ध्यान हटाने के लिए मैंने बोला- गिफ्ट यहाँ नहीं बल्कि ये टीशर्ट है. यह दोस्त सेक्स कहानी है मेरे ग्रॅजुयेशन के पहले साल की!मैं होस्टल में नई नई रहने आई थी.

वो अपने दोनों हाथों से मेरे बाल सहला रही थीं और अपनी मादक आवाज में कह रही थीं- आह … आह … अह्ह्ह … काटो और जोर से काटो … और अन्दर तक चाटो. आप एक नौकर साथ कर दो, जो बैलगाड़ी हांक भी लेगा और तीर्थ में मेरी मदद भी कर देगा. कुक्कू ने जूस खत्म किया और मैंने व्हिस्की का पैग खत्म किया और एक और नीट पैग लगा लिया.

ઓરલ સેક્સ વીડિયો

मेरी जीभ को अपनी चूत पर पाते ही मेरी सास की तड़प बहुत ज़्यादा बढ़ चुकी थी. मैं- बात तो सही है, पर तुम्हारे कपड़े चेंज करना मुझे सही नहीं लग रहा है. मैंने उन दोनों को जगाया तो जगते ही नीरज ने मुझे पकड़ कर किस करना शुरू कर दिया.

वो मेरे पास आई और बोली- विक्रम तुम कल शाम को आना और अपनी रिपोर्ट ले लेना और साथ में दवा भी. ज्योति भी मुझे कसकर पकड़ कर मेरा साथ देने लगी।कुछ देर बाद उसके उपर से उठ कर मैं खड़ा हो गया और ज्योति को खड़ा होने का इशारा किया.

मैंने दीदी से डबल मीनिंग में बात करते हुए पूछा- कहां कहां दबवाना है?दीदी ने भी कुछ ऐसे ही कहा- पूरा बदन ही दबा दो ना भाई … अच्छा लग रहा था.

टीचर की सेक्सी चुदाई कहानी के अगले भाग में मैं आगे लिखूँगा कि शादी के बाद दीदी ने मेरे साथ कैसे चुत चुदाई का मजा लिया. मैं दरवाज़ा लॉक करने के बाद बेड पर उसके पास जाकर लेट गया और उसे किस करने लगा. वही लड़के मेरी बुआ से बात करने के लिए भी कोई न कोई बहाना बनाते रहते थे.

मैं उन्हें अब कुछ बोल नहीं सकता था क्योंकि दो साल शादी होने के बाद मेरा और कोमल दीदी का कोई रिश्ता रहा ही नहीं … फिर चुदाई करने का उन्हें ऐसा क्या कह दूँ, जिससे वो फिर से मेरे लिए वही प्यार बरसा सकें. दाढ़ी रगड़ते रगड़ते वो जांघ को चूमने लगे ‘उम्म्म … पुच्छ … पुच्छ … पुच्छ. मीना भी चाय लेकर मेरे रूम में आ गई, वहां बैठ कर हम दोनों ने साथ में चाय पी.

दोस्तो, आपको तो पता ही है कि स्पा में मालिश के समय दोनों अपने कपड़े निकाल कर मालिश करते और करवाते हैं.

देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म: मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर अपनी मुँह में डाल लिया और रंडी की तरह लंड चूसने लगीं. वो बोली- ये कैसे जान लिया?मैंने कहा- पता नहीं कैसे मुझे ये अंदाजा हो जाता है कि किसकी चूचियां बच्चे ने चूसी हैं और किस की नहीं.

अपनी उम्र के हिसाब से शिवानी का शरीर काफ़ी भरा भरा और गदराया हुआ था; मुझे ऐसा लगता था कि ये खेली खाई है. वो बोली- अभी खाना खाते वक्त मेरे साथ बैठ जाना, मैं तेरी बात करा दूंगी. मैंने होटल जाने को बोला पर मोनिका ने मना कर दिया कि प्रॉब्लम हो जाएगी, तुम कुछ और सोचो.

मैं ज़ल्दी से स्लाइडर डोर के पीछे चली गयी और ग्लास के पीछे से देखने लगी.

मैंने पूछा कि मजा क्यों नहीं आया … मेरा मतलब क्या कारण रहा?उन्होंने बताया कि अरे यार उनका दो मिनट में ही काम तमाम हो जाता है और मैं प्यासी रह जाती हूँ. राहुल- नहीं पहले आप वादा कीजिए कि आप मुझे रोज दूध पिलाओगी, तभी मैं पियूंगा. चुत से रस रिसना किसी को भी ये बताने के लिए काफी होता है कि चुत गर्म होने लगी है और चुत वाली को मजा आ रहा है.