बीएफ फिल्म बीएफ मूवी

छवि स्रोत,गुलाब टैटू

तस्वीर का शीर्षक ,

अदिवासी सेक्सी: बीएफ फिल्म बीएफ मूवी, अब मैं दीदी के ऊपर लेट गया और उन्हें गले लगा लिया और कान में कहा- थैंक यू दीदी, आई लव यू सो मच.

मैं सेक्स

मैंने उन पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया और दूसरे ही झटके में पूरा लौड़ा उनकी चूत में डाल दिया. वीडियो सेक्स गानाउसके बाद मेरा मोहित से ऑफिस में मिलना हुआ, पर हम दोनों ऐसा व्यवहार कर रहे थे कि जैसे कुछ हुआ ही नहीं हो.

अब आगे पढ़ें कि कैसे मेरी गांड मारी उसने:मोहित बोला- राजसी मजा आया?मैंने कुछ नहीं कहा, खैर … कहती भी क्या कि मजा नहीं आया. सेक्स वीडियो इंग्लिश ब्लूमेरा पति तो सिर्फ नाम का था, मगर उसका लंड तो खड़ा भी नहीं हो पाता था.

मैंने पूछा- आपको कब जाना है?बुआ बोलीं- कल जाना है … दो हफ्ते के लिए, ऑफिस का बहुत ज़रूरी काम है.बीएफ फिल्म बीएफ मूवी: बस हम दोनों में छेड़खानी शुरू हो गई और कब हमारे कपड़े उतर कर अलग हो गए, मालूम ही न चला.

मैंने अपनी छुपाई हुई जगह पर किताब को उठाने के लिए हाथ डाला तो देखा कि किताब उधर है ही नहीं.मैंने दूसरी पैंटी उन्हें पहनाई ही नहीं।देख लो अच्छे से … फिर से नहीं देखने दूँगी!” वो बोली.

ইন্ডিয়ান বিএফ ইন্ডিয়ান বিএফ - बीएफ फिल्म बीएफ मूवी

वो बोलीं- इसमें इतनी देर तक खेल हुआ है … ये लोग इतनी देर तक कैसे कर लेते हैं.इधर दूसरा मेरे बेलफल जैसे कठोर उभारों को बारी बारी से जमकर चूसने लगा.

अब मैं बोला- क्यों भोसड़ी वाली साली ऐसे रंडी बनेगी … भैन की लौड़ी चिल्ला चिल्ला कर रो रही थी … क्या हुआ तेरी दम निकल गयी बहन की लौड़ी साली कुतिया रांड छिनाल. बीएफ फिल्म बीएफ मूवी वो बोली- मामूजान, तुम मुझे मार के ही दम लोगे क्या?मगर मामू जान फिरोज तो बस अपने काम में लगा हुआ था.

ऐसे कैसे सबके सामने अपनी चूत परोस देती?मेरी ननद लैला मायूस होकर चली गयी.

बीएफ फिल्म बीएफ मूवी?

वो खुद नग्न होकर मेरे हाथों से अपनी चूची मिंजवाने का मज़ा लेना चाहती थी. फिर रोज सुबह उठकर सबसे पहले मैं वो दवाइयां खाता, बाद में जिम जाकर कॉलेज चला जाता. भाभी अपनी चुत खोलते हुए बोलीं- धीरे से डालना … मुझे चुदे हुए काफी टाइम हो गया है.

उन दिनों हम दोनों पूरे दिन घूमा करते और भैया-भाभी के साथ बाहर डिनर करते. इन लोगों को सेक्स करने के पैसे मिलते हैं।मैं- हां आंटी मुझे पता है।आंटी- जब लड़का और लड़की दोनों सेक्स के लिए राजी हो सेक्स तभी करना चाहिए. लेकिन फिर उसने मुझे दीवार से सटा लिया और अपना चेहरा पास ला कर मेरे होंठों को अपने होंठों से दबोच लिया।मैं खुद एक जबरदस्त किस चाह रही थी तो मैंने होंठ भी खोल दिये और वह कायदे से मेरे होंठ चूसने लगा।साथ ही वह एक हाथ से मेरे दूध भी दबा रहा था तो दूसरे से मेरे चूतड़ मसल रहा था।हालांकि शुरुआत के लिहाज से इतना भी कम नहीं था.

मैंने उनकी आंखों में देखा तो भाभी ने मेरे सर को अपने हाथ से पकड़ा और अपना दूध पिलाने लगीं. इस सारे सेक्स के दौरान मजेदार बात ये थी कि मोहित और मैं दोनों एक दूसरे की आंखों में देख रहे थे … बिना कुछ बोले. इतना सब करने के बाद अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था; मैंने अपना लंड निकाला और सीधा उनकी चुत पर टिका दिया.

हमारे बीच इस सबका इतना गहरा असर हुआ था कि हम दोनों ही एफबी पर कोई कस्टमर ढूँढ़ने लगे थे. फिर धीरे-धीरे वो नॉर्मल हो गई।मैंने मन में सोचा इससे अच्छा पिंकू को चोदने का मौका नहीं मिलेगा.

ऋतु ने अपना मुँह खोल कर अपना थूक अपने हाथ में लिया और नीचे सनी के लंड पर ले जाकर बाकी बचे हुए लंड को पूरा गीला कर दिया.

मामी- अभी तो लौड़ा बाहर निकालो, बाद की बाद में देख लेना … और गांड कैसे मारोगे … इस छोटी सी गांड में तुम्हारा उतना मोटा लौड़ा कैसे जाएगा?मैं- मेरी जान जैसे चूत में जाता है, उसी तरह गांड में भी चला जाएगा.

रोड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने चलती कार में मामी की वासना जगायी, फिर कार सुनसान सड़क पर लगा कर मामी के गर्म जिस्म को मसला, ओरल सेक्स किया. तब मुझे घोड़ी बना कर मेरी पैंटी उतार दी और मेरी गांड पर थप्पड़ मारने लगा. करीब 10 मिनट बात उन्होंने लड़खड़ाती हुई आवाज से कहा- राज … अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है … जल्दी से मेरी चूत में अपना ये मूसल डाल दो.

अब्बू ने लंड पेलते हुए बोला- चुप रंडी छिनाल … तेरी मां का भोसड़ा मादरचोदी … आज तुमको फहीम भी पेलेगा … आह तुम्हारी मां का चोदूं … साली तुम बहुत बोलती हो … आज तुम रात भर चुदोगी. दवाई और दो तीन ड्रिप लगने के बाद दीदी ठीक हो गईं मगर अभी उन्हें हस्पताल से छुट्टी नहीं मिली थी. वह अपनी गांड मटकाती हुई नीचे आ गई।उसके चलने के अन्दाज़ से लगता था कि मुझेचुदाई का ऑफरदे रही है।वह चाय बनाने के लिए लगी.

मैंने आंटी से कहा- ये क्या हो रहा है क्या आप दोनों लेस्बियन हो?आंटी ने हंस कर कहा- हां … जब तुम नहीं थे, तब यही मेरा सहारा थी.

अब आगे बुर फाड़ चुदाई की कहानी:मीना- उई मांआआ आह मर गईई … मार डाला आशु तूने … आंह निकाल बाहर … नहीं करना मुझे … आंह निकाल जल्दी से. मनोज हंस कर बोला- ठीक है, तू मुझे खुश कर दे … मुझे तेरे ठोकू से क्या लेना-देना. फिर एक दिन मैं बाजार गयी थी और घर लौटी तब नजारा देखा, तो आंख फटी की फटी रह गयी.

मैंने कहा- कुछ नहीं होगा … बोल दीजिएगा कि घर में ब्रा नहीं पहनती हूँ और कहीं जाना होता नहीं है, इसलिए ऐसा हुआ है. सुमन उठी और मेरे मुंह पे चूत दे कर बैठ गई, चूत को मेरे मुंह पे रगड़ने लगी जैसे कि वो मेरे मुंह को चोद रही हो।कभी चूत में मुंह डलवाती, कभी नाक डलवाती. मैंने देखा कि प्रदीप ने प्रिया को अपने ऊपर बिठा लिया और लंड चूत में डालकर प्रिया ऊपर नीचे होने लगी.

‘शनाया तू शांत लेटी रहना, नहीं तो आज तेरी दीदी जगी तो मैं उनको सारी बात बता दूँगा.

वहां पहुंचे तो मैंने देखा कि मेरे कपड़े मेरे शरीर से भीगने के कारण चिपक गए थे और उसमें से मेरे स्तनों की गोलाई साफ दिख रही थी. वो मेरी मलाई अपने मुँह में पाते ही एकदम से हड़बड़ा गई और बोलीं- ये क्या किया बेबी … मुँह में ही निकाल दिया.

बीएफ फिल्म बीएफ मूवी वो दोनों चुदाई में इतना खो गए कि भूल गए कि बगल के कमरे में मैं भी हूँ और ऊपर फहीम चचा भी हैं. वो मेरी बात सुनकर मुस्कुरा दीं और बोलीं- प्लीज प्लीज … बस मैं नहा लूं.

बीएफ फिल्म बीएफ मूवी उसने मुझे खुद की तरफ देखते हुए देखा, तो बोला- तुम भीग गयी हो, तो पहले कपड़े चेंज कर लो. कुछ देर बाद मैं उसको चित्त लिटा कर उसके ऊपर चढ़ गया और बोला- बस अब मेरा होने वाला है.

इसके बाद ज्योति और नीता दोनों ने मुझे अपना पति मान लिया और हम सब एक साथ सेक्स का मजा लेते हैं.

बीएफ बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ

मुझे बहुत ज्यादा गुस्सा आ रहा था, पर मेरे पास कुछ विकल्प नहीं था … तो मैं चुपचाप उसके साथ केबिन के अन्दर चला गया. लगभग 45 से 55 मिनट तक मनोज ने मेरी चूत की चुदाई की और अब वो चरम पर आ गया था. मैंने पहले तो पीछे से भाभी की चुत बजाई, इसके बाद भाभी के ही कहने पर उनकी जमकर गांड मारी.

उन्होंने मुझे बताया कि कितना देर तक चोदा तुमने … मालूम मैं कई बार झड़ चुकी हूँ और तेरा लंड झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था. चाची ने अपने गाउन के अन्दर शायद कुछ भी नहीं पहना हुआ था, जिस वजह से उनके बड़े बड़े मम्मे साफ़ नुमाया हो रहे थे. वहां जाकर उन्होंने मुझे कसकर हग कर लिया और होंठों पर होंठ रखकर किस करने लगीं.

राहुल ने मेरी चुत में अपना लंड डाल दिया और उधर गांड में भैया का लंड घुस गया था.

मैंने जोर जोर से चोदते हुए उसकी गर्म चुत में अपने लंड का पानी निकाल दिया और उसके ऊपर ही लेट गया. बाद में मंजू मान गई थी, पर उस शाम मंजू के साथ कुछ ज्यादा नहीं हो पाया था. पर घर की परिस्थितियों को देखते हुए मुझे विवश होकर महाराष्ट्र के जलगांव जाने की तैयारी करनी पड़ी.

‘आह्हह … ओह्ह आऊ … खा जा … आह्ह मैं मर गयी ईईई … आःह्ह्ह उफ्फ … तू तो बहुत मस्त है रे … आआ आआ अहहह … एम्म् … एम्म्म … और जोर से चूसो … याआआ …’मैं भी किसी भूखे बच्चे की तरह उसकी चूचियां चूसने लगा. तभी चाची ने अपने गाउन में हाथ फेरना शुरू कर दिया और बोलीं- न जाने मुझे क्या होने लगा है. जब कोई चुत किसी लड़के के मुँह में जाती है, तब तो जैसे चुत का सपना सच हो जाता है.

मैंने बेड पर उसको लिटा दिया और उसकी चुत के छेद पर लंड सैट करके एक ज़ोरदार धक्का दे दिया. वाह क्या दूध हैं मेरी मम्मी के … मेरी मम्मी के दूध देख कर कोई भी पागल हो जाएगा.

लेकिन कहते हैं ना कि हाथी के दांत दिखाने के कुछ और होते हैं … और खाने के और. फिर मैंने भाभी के पैरों के नीचे तकिया लगा दिया और उनकी चूत में अपना लंड पेल दिया. मामी- अभी तो लौड़ा बाहर निकालो, बाद की बाद में देख लेना … और गांड कैसे मारोगे … इस छोटी सी गांड में तुम्हारा उतना मोटा लौड़ा कैसे जाएगा?मैं- मेरी जान जैसे चूत में जाता है, उसी तरह गांड में भी चला जाएगा.

वे मुझे स्टेशन पर लेने आ गईं और अपनी गाड़ी में बैठाकर वो मुझे अपने घर ले गईं.

मैंने भी उन्हें अपने लंड के दीदार करवाए और उनकी चुचियों के दीदार किए. जॉन बोला- कैसे हैं मेरे ये मोटे चंगू मंगू … आज तो पहले से भी मस्त और कड़क लग रहे हैं. मैं समझ गया कि दीदी राजी हैं और मैंने उनकी पैंटी उतारना चालू कर दी.

दीदी झट से रजाई मुँह से हटा कर छोटी बहन से बोली- सो गई तू?छोटी बहन ने कुछ जवाब नहीं दिया. उस समय लैंडलाइन फ़ोन का जमाना था, पर वो भी कुछ ही घरों में होता था और जिनके घर में होता था, वो अपने एरिया के राजा होते थे.

उसके बूब्स मेरे हाथ में नहीं आ रहे थे पर उसके बूब्स बहुत ही मुलायम थे. तभी भाभी बोलीं- अमित जब तुम्हारे भैया घर पर न रहें, तो तुम मुझे भाभी मत कहा करो. आंटी के पीछे नाईट ड्रेस के ऊपर ही मैंने अपना लंड सटा दिया और वहां से कहने लगा- आंटी, खाना बनाना मुझे भी सीखना है, आप मुझे भी सिखाओ न!आंटी मेरा लंड महसूस कर रही थीं लेकिन कोई विरोध नहीं जता रही थीं मतलब उनकी तरफ से मेरे लिए हां थी.

देहाती हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी

फिर रसोई में जाकर एक कटोरी में तेल लिया और दीदी के कमरे में चला गया.

चचा मेरे एक चूतड़ पर हाथ फेरते हुए बोले- आज मेरा लंड भी तर जाएगा … इतनी गोरी और कमसिन गांड मार कर मेरे लंड की भी तबियत खुश हो जाएगी. मैंने उससे कहा- प्लीज़ आगे ही कर लो, आपका बहुत बड़ा लंड है और मेरी गांड बहुत टाइट है. उसकी टांगें चौड़ी करके उसके ऊपर लेटकर मैं उसके चूचों और होंठों का रसपान करने लगा.

उसी के साथ उसने बताया कि मम्मी का फोन आ गया है कि वो भी दो दिन बाद घर आएंगी. मेरे मुँह से मादक आवाजें निकलने लगीं- उम्म्म्म आंह मेरी जान और मजे से लंड चूसो … आह कितना मस्त चूसती हो!कुछ पल बाद उन्होंने मेरे लंड को अपने मम्मों के बीच में दबा लिया और बूब्स से लंड को मसाज देने लगीं. இந்தியன் எக்ஸ் வீடியோदरअसल मुझे उसके लंड रस लगे अंडरवियर को सूंघने और चाटने में बड़ा अच्छा लगता था.

छवि घर आई, उस वक्त मैं एक ब्लू फिल्म देख रहा था और सिगरेट पी रहा था. मीना मेरे पीछे की ओर होने की वजह से मैं अपने लंड को छिपाने में में सक्षम रहा.

लंड चुत के अन्दर बाहर अन्दर बाहर करते करते मैं 20-25 मिनट तक मीना को चोदती रही. मेरा उसी समय मूड बन गया था लेकिन मैंने कैसे भी करके चिराग को रोक लिया और उससे बोली- अभी मैं जा रही हूं … रात में आऊंगी. फिर मैं भैया से बोली- भैया मेरा शरीर दुख रहा है, क्या आप मेरी थोड़ी मालिश कर देंगे!मैंने नाइटी के अन्दर सिर्फ पैंटी ही पहनी थी, ब्रा नहीं पहनी थी.

मेरे पिताजी के मरने से पहले भी उनका बहुत से मर्दों से चक्कर चलता था. मैंने उसे अपने से अलग किया और बोला- तू ये क्या कर रहा है?उसने कहा- तुझे प्यार करने को जी कर रहा है. मीना खुशी से उछल पड़ी और उसने अगले ही पल मेरी फैली हुई बांहों में खुद को गिरा दिया.

दीदी ने कहा- फिर भी कुछ तो बताओ, मैं बुरा नहीं मानूंगी बस मैं तुम्हारी फीलिंग समझना चाहती हूं.

उसको सेक्स का तो पता नहीं था, फिर भी ये अहसास हर लड़की को होता था और वो था औरत और मर्द का अंतर. सुमन लाल रंग के वन पीस में बिस्तर पे लेटी हुई थी।मैं सुमन के पास गया, बिना समय बर्बाद किए उसे किस करने लगा,वो भी मेरा साथ देने लगी, मेरे होंठों को काटने लगी।मैंने भी सुमन के जीभ और होंठ को हल्के दांतों से काटना शुरू किया.

मैंने थूक से सुमन की चूत को गीला किया, फ़िर एक झटके में लन्ड को चूत में उतार दिया. वह अपनी दो उंगलियां चूत के अंदर बाहर कर रही थी और कभी अपनी गांड के छेद को उंगलियों से सहला रही थी. उस जमाने में अंतरवासना की तरह की मस्तराम की किताब 5 रुपए (ठीक से याद नहीं) में आती थी और वापस करने पर एक रूपया किराया देना होता था.

तुम मेरा कितना ख्याल रखते हो, मुझे तुमसे प्यार हो गया है।मैं बोला- मोहिनी, मैं बहुत दिनों से तुम्हें बताने की कोशिश कर रहा हूं कि मुझे तुमसे प्यार हो गया है. नीचे एक लड़का मेरी चिकनी चूत पर जीभ फिराए जा रहा था … बीच बीच में वो मेरी चुत की पंखुड़ियों को चूसता, हौले से काटता … तो कभी ठिठनी को जोर जोर से चूसने लगता था. लंड को कुछ सुगमता हुई तो मैंने उसके मुँह पर हाथ रखा और एक ज़ोर का झटका देकर पूरा लंड चुत के अन्दर डाल दिया.

बीएफ फिल्म बीएफ मूवी तीन दिन मैं उसके साथ उसके घर में रही और तीन दिन तक हम दोनों ने एक कपड़ा भी नहीं पहना. आह … और चूसो ना … बहुत मस्त चूस रही हो तुम, तुम्हारी भाभी भी अभी नहीं हैं … अब मुझे तुमसे रोज मज़े करना है.

बीएफ कुत्ता और लेडीस की

फिर अब तो मैं शायद अपनी चुत को मोहित की इच्छा के लिए भूखा रख सकती थी. मैं किसी तरह उस पर चढ़ कर बैठ गया और खुद को एक सामान की बोरी के पीछे छिपा लिया. कुछ देर बाद भाभी ने लंड को चूसना बन्द कर दिया और सीधी होकर मेरे सर को अपनी चुत में दाबने लगीं.

ननहीं … आह्ह मर गई आहह … मम्मी बहुत दर्द हो रहा है … उफ्फ्फ मीना दी बचा लो मुझे. मैं- आआ अहहह आआह … ईईईई!मेरी चीख के साथ मीना की भी तेज चीख निकली और पूरा लंड अन्दर जाकर कहीं फंस गया. राखी चुदाईवो दोनों एक दूसरे को कभी बांहों में भर रही थीं तो कभी दूध चूस चाट रही थीं.

घूमते घूमते शाम हो गयी, हम दोनों वापस निकलने के लिए तैयार हुए ही थे कि तभी जोरों की बारिश शुरू हो गयी.

मैंने उसको पेट के बल पलट दिया और उसके चूतड़ों पर बैठ कर कमर से दोनों हाथ डाल कर उसकी चूचियों को दबाने लगा; साथ में उस पर झुक कर उसकी गर्दन को चूमने लगा. मैं अंदर गया तो देखा कि राहुल अपने कपड़े उतारकर अंडरवियर में बेड के ऊपर लेट कर सो रहा था.

मुझे वो मदहोश कर देने वाली जवानी लगती हैं और अब तो मुझसे चुदवा कर वो मेरी जान ही बन गई हैं. लंड चुत में घुसा तो मेरी चीख निकल गई- आईईई मर गई … ओह …फाड़ दी मेरी चुत!उसने मेरे दर्द की कोई परवाह न करते हुए एक और झटका दे मारा. हम दोनों आज लॉबी में ही चुदाई करने वाले थे क्योंकि बेडरूम में बच्चे सोते हैं.

दीपक ने कहा- आह रानी एक बार इसे मुँह में लो न … फिर मैं भी तुम्हारीचुत चाट कर मज़ेदूँगा तुम्हें! तुम नाइटी उतार दो.

अभी भी मैं बुत बना बैठा था कि तभी मंजू ने निक्कर उतारने का इशारा किया. मंजू, अंजू और मस्तराम की किताबों का ज्ञान और संजय का दिया ज्ञान सब एक साथ आजमाने की सोच ली. अचानक हुई बारिश से हम दोनों को छिपने का कोई मौक़ा ही न मिल सका और मैं बहुत भीग गयी.

सेक्सी रोमांटिक गानामैंने उस लड़के की गांड में अपनी एक उंगली डाली और तेल के कारण उंगली बड़ी आराम से अन्दर सरक गई. उन्होंने मुझसे बोला- तुम जो यह कर रहे थे, यह तुम्हारे लिए बिल्कुल सही नहीं है.

सेक्सी वीडियो बीएफ सेक्सी वीडियो एचडी

आकांक्षा ने मुझसे कहा- मैं तुम्हें बर्तन घिस कर देती हूं, तुम पानी में डाल कर उसे अल्मारी में रखते जाना. हम दोनों बिस्तर पर फिर से 69 की पोजीशन में आ गए और एक दूसरे के लंड चुत को चाटने लगे. वो मुझे किस करने लगा और बोला- क्या जिस्म है तेरा … आज मजा आ जाएगा … कहां की हो?मैंने कहा- गुजरात.

मीना समझदार थी तो वो काफी सावधानी बरत लेती थी, पर मंजू में बचपना बहुत था. फिर उसने मुझे पकड़कर नीचे खींचा और मेरे होठों पर एक लिप किस किया और फिर से मेरे लंड को चूसने लगी. सनी ने आगे बढ़ते हुए ऋतु की आंखों में देखा और उसके हाथ ऊपर की ओर उठने लगे.

वो …पापा बोले- अबे कुछ नहीं है … हम दोनों के बीच में कोई पर्दा नहीं है. मैं सोचता था कि मैं बिल्कुल सेफ गेम खेल रहा हूँ, पर अंजू सब देख रही होगी, ऐसा तो मैंने सपने में भी नहीं सोचा था. इतना सब करने के बाद अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था; मैंने अपना लंड निकाला और सीधा उनकी चुत पर टिका दिया.

ईश्वर की दया से उस उम्र में भी मेरा लंड मेरे अन्य दोस्तों के मुकाबले ज्यादा ही बड़ा था. मेरे पति का लंड खड़ा होकर भी 6 इंच ही होता है और आज अनजान आदमी का 8 इंच का लंड मेरी छोटी सी चुत में चल रहा था.

कुछ मिनट तक अपनी सास से अपना लंड चुसवाने के बाद मैंने ढेर सारा थूक सास की गांड के छेद पर लगा दिया और उनकी गांड फैलाकर अपना लंड उनकी गांड के छेद पर टिका दिया.

मैंने उसको पेट के बल पलट दिया और उसके चूतड़ों पर बैठ कर कमर से दोनों हाथ डाल कर उसकी चूचियों को दबाने लगा; साथ में उस पर झुक कर उसकी गर्दन को चूमने लगा. बीपी फिल्म बीपी‘पट पट पट पट …’उसी के साथ मंजू की आवाजें संगीत को मदमस्त कर रही थीं. रोमांस कैसे होता हैमैंने कहा- फिर आप क्या करती हो?वो बोली- अभी तक तो हाथ से ही खुद को ठंडा कर लेती थी, फिर खीरा मूली की मदद लेने लगी. मैंने भी उसकी गांड पर हाथ फेर कर उसकी चूत में अपने खड़े होते लंड को रगड़ दिया.

मैंने बुआ की पैंटी की इलास्टिक में उंगलियां फंसाईं और उनकी पैंटी को नीचे कर दिया.

मैंने उनके आंसू पौंछे और कहा- आप दूसरों से क्यों चुदवाती हो मां?वे कहने लगीं कि औरतों को मन की जरूरतों के अलावा तन की जरूरत भी होती है. बाथरूम से आकर मैं दोबारा उसके ऊपर चढ़ गया और फिर से बहेन की चुदाई करने लगा. मैंने रेणु का एक पांव अपने ऊपर चढ़ा लिया और उसे ऊपर की और इस तरह से ले रहा था, जिससे उसकी चूत मेरे लंड के सुपारे को छू सके.

मैंने प्रिया की कमर को पकड़ कर थोड़ी ऊपर नीचे की तो वो मेरे हाथ पकड़ कर मुझे रोकने लगी. पैंटी का चूत पर का हिस्सा सरकाया और उसकी चूत को अपने हाथ से मसल दिया. मेरा पूरा अंडरवियर लंड के पानी से भीग चुका था और लंड बहुत देर खड़ा था, तो उसमें दर्द होने लगा था.

एचडी बीएफ हिंदी बीएफ

उन्होंने खुद ही नाड़ा खोल लिया और मैंने फिर उसे उनकी कमर पर से नीचे कर दिया।फिर वो अपने पैर चिपका कर बैठी थीं ताकि उनकी पैंटी ना दिखे. लेकिन अब पहली बार तो सेक्स मिला है … फिलहाल आगे से ही एंजाय करने पर फोकस है. उसने कहा कि सिर्फ उसने ही नहीं, उसके साथ दो और लड़कों ने एक साथ मेरी शिल्पा दीदी को चोदा है.

मैं दर्द से चीख रही थी- आआहह … उउऊह्ह्ह … मर गई … धीमे चोद आह फट गई मेरी … आह.

भाभी कुछ नहीं बोलीं तो मैं भी समझ गया कि भाभी अब फुल जोश में हैं और अब इनका भी मन चुदवाने को कर रहा है.

नेहा ने फोन उठाते ही स्पीकर पर कर दिया- तुम तो बात ही मत करो यार … वीकेंड का सारा खराब कर दिया. एक दो बार पकड़ा भी गया, मां के द्वारा मार भी खाई … पर ये बात मां तक ही रही. बलात्कारी सेक्सीसुमन 5 मिनट में झड़ गई लेकिन मैं बिना रुके पेलता रहा।20 मिनट पेलने के बाद मैं चूत में ही झड़ गया और सुमन के ऊपर लेट गया।दोपहर में हम दोनों नंगे लेटे हुए थे.

उसके मामा प्राइवेट में जॉब करते थे तो उस वक्त उनका काम बंद हो गया तो भर दिन दोनों घर में ही रहते थे. तभी मंजू का बदन अकड़ने लगा- आह उफ्फ्फ आशु … कुछ निकल रहा रहा है मैं कट सी रही हूँ. मैं बोला- ऐसा क्यों बोलता है तू … बता न क्या जिम्मेदारी है बेटा!किशन बोला- अंकल मैं चाहता हूं कि आप मेरी मम्मी से शादी कर लें.

मेरी नजर मम्मी के नीचे थी, आग के पास बैठी होने के कारण मम्मी की चुत साफ़ दिख रही थी. पर जैसे ही बिस्तर पर मैं उसके ऊपर आया तो वो मुझे धक्का देकर बाहर आ गई।फिर सलीम बोला- राज मेरे भाई, आज मेरा जन्मदिन है.

तभी अभिषेक ने पूछा- क्या हुआ, मुझे भी बताओ?तो मैंने उसे चुप रहने को बोला और फिर से उस लड़की को देखने लगा.

आपको सही बात बताऊं तो शुरूआत में मुझे अपनी बहन के लिए ऐसे कोई विचार नहीं थे. मेरी गर्लफ्रेंड ने मेरी मदद की और मुझे बताया कि हमें सेक्स का मजा कैसे लेना है. जुबैदा आंटी ने भी एक बार में लंड को मुँह में ले लिया और चूसना चालू कर दिया.

व्हाट्सएप सेटिंग करना है तो सारे रिश्ते को साइड में रखो और एक दूसरे को सहयोग करो।फिर से मामा उसके होठों पर किस करने लगा।इस बार साफिया फिरोज का साथ देने लगी और कहने लगी- फिरोज हमने इतना दिन क्यों खराब कर दिए? जब आप जानते थे तो क्यों नहीं पहले आपने पहल की!साफिया के मुंह से फिरोज अपना नाम सुनकर और ज्यादा जोश में आ गया, उससे जोर जोर से किस करने लगा और उसके बूब्स को दबाने लगा. इस समय भाभी मेरे सामने बैठी थीं, वो मुझे झुक झुक कर खाना परोस रही थीं.

वे अपने एक नौकर को साथ लेकर शाम के 5 बजे ही चले गए और मुझसे कह गए- आज तुम यहीं रुक जाना और मोना भाभी का ख्याल रखना. दोस्तो, ये मैंने अपने तरीके से बताया है, लेकिन भाभी जो कह रही थीं, वो शब्द और भी खराब थे. एक शाम मैं अपने छत पे बने गार्डन में चाय पी रहा था।मेरे बगल वाली छत से भाभी ने आवाज़ लगाई.

गांव वाली सेक्सी वीडियो बीएफ

हम दोनों की इतनी गहरी दोस्ती थी कि हम दोनों हर तरह की बातें कर लेते थे और बहुत कुछ शेयर भी कर लेते थे. पता नहीं मुझे जीजू के अलावा किसी और का लंड मिलेगा या नहीं!मेरी डबल सेक्स की कहानी अच्छी लगी या नहीं … कमेंट करना भूलना मत ओर प्लीज गलत या गंदे कमेंट मत करना. ऋतु का पूरा जिस्म उसके काबू से बाहर हो गया था … सेक्स के मजे के कारण उछलने लगा.

कुल मिला कर हम तीनों की लाइफ के ये करीब 18 महीने बहुत मस्त और कामुक थे. साफिया फिरोज के लंड को मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी एक रंडी की तरह … फिर उसको तो बहुत मजा आ रहा था।मामू फिरोज के मोटे लंड को चूसकर मानो अब साफिया को उसकी सबसे फेवरेट चीज मिल गई हो!फिरोज भी उसके माथे को सहला रहा था और नीचे झुककर उसकी चूची को जोर से दबा रहा था.

तुझे खाना खाना है या अभी और पिएगा?वो बोला- नहीं, अब मैं भी खाना खाऊंगा.

चूंकि मैंने अपने एकब्वॉयफ्रेंड शैंकी से चुदने के बादसब कुछ जान लिया था कि चुदाई के बाद लड़की के जिस्म की चाल ढाल कैसी हो जाती है. फिर मैंने सोचा कि मां चुदाए … साली को देखा तो देखा … अब अंकल भगाएगा तो दूसरा कमरा देख लूंगा. उसकी चुदाई में मैं दो बार झड़ गई थी पर वो मुझे अभी भी चोदे जा रहा था.

क्योंकि जो मैं महसूस करता हूं वे केवल एक बॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड के लिए महसूस कर सकता है. अब तो व्हाट्सएप पर हम जोक्स भी शेयर करने लगे हंसी मजाक वाले … जिनमें कोई बुराई भी ना थी. वो भीबाजारू रंडीके जैसे मुझसे चुदती और हम दोनों सेक्स का मजा ले लेते.

मामा ने पीछे से मामी की चूत पर लंड सैट करके एक धक्का मारा, उनका पूरा लंड एक बार में ही मामी की चूत में घुस गया.

बीएफ फिल्म बीएफ मूवी: अब मैंने उनकी दोनों टांगें अपने दोनों कंधों पर रख उनकी चूत में अपना लम्बा मोटा लंड रख दिया. उसकी चुदाई में मैं दो बार झड़ गई थी पर वो मुझे अभी भी चोदे जा रहा था.

मामी ने अपनी लैगिंग्स और पैंटी घुटनों तक कर दी, जिस वजह से उनकी चिकनी जांघें नंगी हो गईं. अब विकास ने समता की नाइटी को खींचकर फाड़ दिया और समता के मम्मों को पागलों की तरह भींचने लगा. फिर मैंने उन्हें नाश्ता दिया और उनकी दवाइयाँ दी।उन्होंने फिर मुझे कहा कि उन्हें नहाने जाना है.

दो लड़कों ने कैसे दो लड़कियों को अलग अलग अपनी चूत में उंगली करते पकड़ा तो उनके साथ सेक्स का जुगाड़ किया.

हुआ यूँ कि एक बार भरतपुर की तरफ के किसी कस्बे से गलत फोन नंबर पर मेरी कॉल पर बात हुई. हितेश को मेरे भैया भी जानते हैं और वो हमारे करीब होने से वाकिफ़ हैं. तभी मेरी नजर उनकी टांगों के बीच में पड़ी, उनकी जांघें एकदम चिकनी थीं.