बीएफ बीपी ब्लू

छवि स्रोत,सेक्स फुल एचडी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

जिला का सेक्सी वीडियो: बीएफ बीपी ब्लू, अब से पहले मैंने कभी गौर ही न किया था। तभी जीजा जी ने दीदी के सब कपड़े अलग कर दिये.

च अक्षर के नाम

मैं क्लास खत्म होते ही जल्दी चला जाता था क्योंकि शाम की रेस का समय नहीं बचता था. दिसावर गली की खबर सट्टा किंगहम दोनों ऊपर चल दिए और वह मुझे अपने साथ दोबारा ऊपर कमरे में ले गया.

ब्रा को खोलने के बाद मैंने उसकी ब्रा को उसके शरीर से अलग कर दिया और उसके तने हुए चूचे मेरे सामने नंगे हो गए थे. न्यू हिंदी सेक्स व्हिडिओ’उपिंदर ने शैली को अपनी गोद में बिठाया और उसकी ब्रा खोल दी, उसकी चुचियां दबाने लगा.

मगर कुछ बातें हम औरतें ऐसे पचा लेती हैं कि डकार भी न निकल पाए! मैंने बस दो-तीन बार ऊषा को पिन मारी कि सारा का सारा वाकया उसने मेरे सामने उगलते हुए अपने मुंह से उल्टी कर दी.बीएफ बीपी ब्लू: हालांकि मुझे बड़ी उम्र की भाभियां या आंटियां चुदाई में सबसे ज्यादा पसंद हैं.

इस तरह से उसने मेरी बुर को दुबारा से चाटना शुरू कर दिया और बहुत देर तक चाटता रहा और तब मैं पूरी तरह से गर्म ह कर अपनी बुर को उसके मुँह के आगे ऊपर नीचे करने लग गई.कभी कभी वीक एंड की छुट्टियों में हम साथ में घूमने जाते थे इसलिए थोड़ी बहुत पहचान थी उन सबसे.

ব্লু ফিল্ম দেখাও - बीएफ बीपी ब्लू

उस बीच वो लेडी मेरे पास आकर मुझसे बोली- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने कहा- कोई नहीं है.अब मैंने उसकी जीन्स घुटनों तक उतार कर उसकी चूत के होंठों पर अपने लबों को रख दिया.

वह दिखने में ऐसी है कि किसी का भी दिल करेगा कि उसके साथ सेक्स हो जाये. बीएफ बीपी ब्लू अगले बीस मिनट में मेरा लंड मामी की चूत में घुस चुका था और उनकी कमर मेरे लंड का मजा लेने के लिए पूरी मस्ती से हिलने लगी थी.

फिर मैंने माँ की गांड के छेद में अपने लंड को ज़ोर से दबाकर घुसाया, तो मेरे लंड का सुपाड़ा वैसलीन की चिकनाई से अन्दर तक घुस गया.

बीएफ बीपी ब्लू?

मामी जी- आह मेरे लंडधारी पतिईईई … सीईईई … ओ मेरे राजज्जा कल रात को ही तो आपने मेरी कुंवारी गांड की सील अपने विशालकाय लंड से तोड़ी है. मैं लंड पर कूदते हुए अपने बेटे से बोली- बेबी मुझे कुछ दिन तेरी गर्लफ्रेंड बन के रहना है. फिर हम दोनों सो गये, रात को करीब 3 बजे जब मेरी नींद खुली तो मैंने महसूस किया कि इंदु मेरे लंड से खेल रही है.

उसके हाँ करते ही मैं और मेरा दोस्त आर्यन दोनों ही जाने के लिए तैयार होने लगे. कामुक सिसकारियों से भरी जोर की आवाज़ के साथ लण्ड ने आत्म-समर्पण करते हुए चूत में रस की बौछार कर दी और चूत ने भी अपने को समर्पित करते हुए अपने रस को छोड़ दिया. मैं उसके होंठों को प्यार से चूस रहा था और उसकी आँखों में देखा तो वो प्यार से मुझे देख रही थी.

कल्पना भाभी चुदी चुदाई होतीं, तो खुद ही लंड के लिए अपनी चूत खोलकर बैठ जातीं. मैं भाभी की चूत को धीरे-धीरे सहलाने लगा, उन्होंने मुझे खींच लिया और मेरे मुंह को अपनी चूचियों में दबाने लगी. मैंने उससे झूठ बोला, तभी मेरी सहेली सोनम आ गई और मुझसे बोली- चल यार मेरे साथ … मैंने जीजा के जूते चुराए हैं.

अब आगे:मैंने कहा- जल्द ही यह काम भी कर दूंगा, ये तो क़िस्मत की बात होती है, तुम्हारी शादी हो गयी … फिर भी तुम कुंवारी रही और मेरी सुहागरात तुम्हारे साथ मन रही है. वह बोला- देख, एक तो रात को बाकी लोग भी साथ में थे और दूसरा मैं यह देख रहा था कि तू कुछ करता है या नहीं.

इसलिए मैंने मोनिका की सलवार किस करते करते ही उसकी घुटनों तक उतार दी, जिसका उसने कोई विरोध नहीं किया.

वह मेरे लिंग को अपने हाथों से मसलने लगी और साथ ही मेरे होंठों को भी चूम रही थी.

’‘क्या दीदी! आप भी …’‘वैसे एक बात है, जब मम्मी यहां आयी थीं, तब तो तुम लोगों को बड़ी मुश्किल हुई होगी, क्योंकि मम्मी के सामने तो दीदी ऐसे नहीं रह सकती. और निकालो?” सर ने ज़ोर देकर कहा।जी … और नहीं है एक भी अब मेरे पास!” मैंने जवाब दिया।तुम कुछ भी कहोगी और मैं विश्वास कर लूँगा? तलाशी तो देनी ही पड़ेगी तुम्हें!” उन्होंने बनावटी से गुस्से से मुझे घूरा. उसने अपनी ऊपर वाली ड्रेस उतार दी तो मैं उठ खड़ा हुआ और उसकी कमर पे हाथ रख कर कहा- अब मैं उतारूंगा.

जैसे ‘वह देखो उस लड़की की गांड बहुत सेक्सी है … रीमा के बूब्स बहुत मटक रही है … ज्योति की तो कमर लाजवाब है. वो अति उत्तेजना में मेरे बाल खींचने लगीं, मैं भी भाभी की पीठ को जोर जोर से दबाए जा रहा था और चुचे चूसे जा रहा था. पहले मैंने उसके मम्मों को धीरे धीरे सहलाया और उसके बाद जोर जोर से दबाना चालू किया.

उसने कहा- थोड़ा सब्र तो करो!मैंने उससे कहा- यार, अब इन्तजार नहीं होता तुम बस मेरी हो जाओ!फिर उसने मुझे कहा- बस 5 मिनट में मैं फ्रेश होकर आती हूँ.

मैं बस उसको देख रही थी और वो कंबल के अन्दर मेरी जांघों पर हाथ फेर रहा था. हम्म … कौन है वो? तेरी क्या लगती है?” सर की आवाज़ में बड़ी मिठास थी अब. वह मचल रही थी और बार बार अपनी कमर उठा कर मेरे लिंग को अपनी योनि में प्रवेश करवाना चाह रही थी.

एक तरफ भाभी दीवार से सटी हुई थी और दूसरी तरफ से मैं उनकी चूत को अपने मोटे लण्ड से चोद रहा था, फ़च-फ़च … की आवाजें आने लगी थी. वह मेरे सामने पूरी की पूरी नंगी पड़ी थी और अपनी चूत को मेरी जीभ से चटवाने का मजा ले रही थी. वो कहने लगी- जीजू, अब तो करो!और खुद ही मेरे ऊपर आकर लंड पे बैठ गयी और एक हल्की से आहहह उनके मुंह से निकली.

उसने पूछा- तू संजीव को कैसे जानता है?मैंने उसे बताया कि इंटरनेट पर हमारी बात हुई थी और मैं ऐसे ही उससे मिलने के लिए आ गया.

इससे मेरे शरीर में करंट सा दौड़ गया, जिससे मैंने उसके मुँह में अपना लौड़ा ठेल दिया और वो मेरे लौड़े को चूसने लगी. अगर मैं कहूँ कि दर्द नहीं होगा, तो ये कहना मेरा गलत होगा, हां मैं ये कह सकता हूँ कि आपको बहुत कम समय के लिए दर्द होगा.

बीएफ बीपी ब्लू उसने कहा- मुझे रास्ते से रिसीव कर लेना!फिर मैं गया और उसको मेन रोड से लेकर आया. फिर हम दोनों ने कपड़े पहन लिए और बिस्तर पर लेट कर ही एक दूसरे को किस करने लगे.

बीएफ बीपी ब्लू उसके बाद भी हमारी जायदाद का आधा हिस्सा तो तुझे मिलेगा ही … और अगर हम पर भरोसा है, तो तू यहां भी अपने हिसाब से रह सकती है. उसे घर के बाहर ही छोड़ कर मैं जाने ही वाला था कि उसने मुझे रोकते हुए कहा कि अन्दर नहीं आओगे?मैंने बोला- नहीं … आज देर हो गई है.

फिर एक दिन वो रात को मेसेज पर मुझसे बोली- मुझे वीडियो कॉल पर तुमसे बात करनी है.

इंग्लैंड सेक्सी हिंदी

उसके बाद संजीव ने मेरे हाथ को अपने हाथ में पकड़कर अपने लंड पर रखवा दिया. मैंने एक हाथ से उसकी जीन्स का बटन खोला और उसकी पेंटी समेत जींस को नीचे घुटने तक खिसका दिया. दूसरे दिन मैं सुबह नौ बजे उनके पास पहुंचा, तो देखा दीदी तो गजब लग रही थीं.

घर पहुंच कर मामी अपनी तैयारी में लग गईं और मैं नानी के साथ गप मारने में व्यस्त हो गया. बंद दरवाजे के अंदर कमरे में शीशे के सामने खुद को ही निहारती रहती थी. घोड़ी बनकर चुदना मुझे बहुत अच्छा लगता है, परंतु प्रोफेसर साहब ने यह कभी नहीं किया, क्योंकि मेरे हिप्स भारी हैं और उनका लंड छोटा है.

वो मुझे बताने लगे कि खेतों में भेड़ बकरियां चराने के लिए जो गड़रिये आते हैं, उनकी महिलाओं और लड़कियों की चूत भी उन्होंने कई बार ली है और उन्होंने मुझसे भी पूछा कि क्या मुझे चूत के दर्शन करने हैं, यदि हां तो वह मुझे भी जल्दी ही चूत दिखाने का जुगाड़ लगाएंगे.

मगर कुछ बातें हम औरतें ऐसे पचा लेती हैं कि डकार भी न निकल पाए! मैंने बस दो-तीन बार ऊषा को पिन मारी कि सारा का सारा वाकया उसने मेरे सामने उगलते हुए अपने मुंह से उल्टी कर दी. जैसा कि मैंने आप लोगों को बताया कि मैं कंप्यूटर में तेज़ हूँ तो मैं मात्र 15 दिन में ही सब स्टूडेंट्स के बराबर में आ गया. गांड के चक्कर में मेरी झुमरी तलैया, मेरी मुन्नी, मेरी भोसड़ी प्यासी ही रह जाती है। मादर चोद भड़वे … पहले इस सुलगती भट्टी में अपना लौड़ा डाल कर इसे शांत कर दे फिर चाहे गांड मार या गांड चाट। चल पहले मैं मूत कर आती हूँ.

उनको कहकर भी आई हूँ कि अगर किसी चीज की जरूरत हो तो वह मामी से मांगने में शर्म न करें. जब उसने मेरा मोटा और लम्बा लंड देखा तो उसने मुझे अपने पास बुलाया और मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी. वो पहले पहले तो मुस्कुरा के बात कर रही थी लेकिन जब मैंने कुछ नहीं किया तो थोड़ा नाराज़ सी होने लगी और उसको छिपाने के लिये बहुत क्यूट सी कोशिश करने लगी.

जब मैं उसे पटा रहा था, तो साथ के साथ हमारे बाजू में अमीषी (बदला हुआ नाम) एक मकान छोड़ कर रहती थी, जिस पर भी मैं ट्राई मार रहा था. अंडरवियर गहरे काले रंग का था इसलिए लंड की शेप या साइज नापने में मुझे दिक्कत हो रही थी.

उन्होंने दूध को दो गिलासों में निकाला और हम दोनों एक एक गिलास दूध पी लिया. आज मेरी चूत को फाड़ दो, आज कुछ भी हो जाए लेकिन मेरी चूत फाड़े बगैर मत झड़ना … आआह और ज़ोर से … उउउईईई अम्मी … आहह. मैं यह देखकर हैरान हुआ, और खुश भी कि उन्होंने कोई कपड़े नहीं पहने थे, पूरी तरह नंगी, चादर में लिपटी सोई थी.

उसने मेरे लंड को हाथ से सहलाया तो मैंने जल्दी से अपने लोअर को उतार फेंका और नंगा लंड मैडम के हाथ में खेलने को दे दिया.

दोस्तो, ये तय बात है कि अगर किसी औरत को पूरा सैटिस्फैक्शन देना हो, तो उसे पहले खूब गर्म करो. उसने कहा- आज मुझे वाकयी में बहुत सर्दी लग रही है, मैं सो जाती हूँ, तू कुछ देर बाद मुझे उठा देना. मैंने उसके पूरे बदन को किस किया वो सिर्फ किस्सिंग से ही उत्तेजित हो गयी.

मेरी बहन ने मेरे मुँह को अपनी टांगों में फंसा लिया और एक हाथ से मुंह को जोर से दबाने लगी. कुछ देर बाद वो मेरे ऊपर आ गई थी … तो उसके चुचे मेरे मुँह पर ही रगड़ रहे थे.

मैं उसे पास के ही एक होटल में ले गया औऱ एक कमरा बुक करके हम दोनों रूम में आ गए. मैंने फिर से मैडम को चूमना शुरू कर दिया और उसके रसीले होंठ को काट लिया. भाभी भी बोलीं- ठीक है मम्मी … मैं अभी यहीं आदी के साथ बैठी हूं, फिर चली जाऊंगी.

निरहुआ अमरपाली के सेक्सी वीडियो

मैं बोला- मेरी रानी … बस इस बार बर्दाश्त कर लो … आगे मजा ही मजा है.

तो तुमने कहा था कि मैंने कब मना किया तुम्हें, इसका मतलब क्या निकालूं, क्या मेरा चान्स है?मैं मुस्कुराने लगी तो वो और बैचन हो गया और बोला- प्लीज बोलो न कुछ तो?मैं बोली- हो भी सकता है और नहीं भी हो सकता।उसने बोला- चलो मैं ट्राई कर लेता हूँ. मैंने उसको उठाने की कोशिश की, पर उसने बोला कि अभी उसका लंड खड़ा नहीं हो सकता. क्योंकि उस समय इन्टरनेट वाले फोन का दौर कम था और बच्चों को फोन से दूर ही रखा जाता था.

दस मिनट बाद फिर उसके पैरों ने जवाब दे दिया और वो मुझसे अलग होने लगी. मैं लेडी के मम्मों को मुँह में लेकर चूस रहा था और हाथ से उसकी फुद्दी में उंगली कर रहा था. अलार्म बंद करोफिर अचानक से पायल ने मेरे ऊपर आकर अपनी चुत को लंड पे सैट कर दिया और बोली- जीजू मुझे भी रहा नहीं जा रहा … चलो चुदाई शुरू करो.

फिर आरती ने कहा- अपनी कज़िन को तुम भी क्या याद करोगे, चलो तुम आज पुन्नी को ही चोदो. सोनिया- आपकी बुआ कल ऑफिस में रो रही थीं और उन्होंने मुझे बताया था कि आपकी तबियत खराब है.

मैंने उसे पकड़ ओर अपना लंड उसके हाथ में दे दिया, वो लंड दबाने लगी थी. इस तरह से उसने मुझे गंदी गंदी सेक्सी बुक्स और पिक्चर वाली मैगजीन्ज़ देनी शुरू कर दी. बेचैन होकर मैं रोने लगी, तब दीदी ने अजय को रोकने का प्रयास किया पर अजय गुर्राकर आंख दिखाने लगा.

सभी लोग पसीने से तरबतर थे और सेक्स का अलग ही आनंद मिला था सबको। फिर सभी लोग अपने अपने कमरे में जा कर सो गए, बैडमैन मेरे कमरे में सोया और सुबह में उसके साथ एक राउंड और चुदाई का प्रोग्राम चला. अब वह पूरी गर्म हो चुकी थी और मेरी किसी भी हरकत का विरोध नहीं कर रही थी. आरती ने मेरी तरफ इशारा करके कहा- वो क्या है? उसे देखा नहीं?फिर मेरी तरफ देख कर वो बोला- वाउ … क्या माल ढूँढा है आरती तुमने.

नीचे की तरफ विनय जीजू ने दीदी की चूत में अपनी जीभ डाल दी और चूत में उसको अंदर बाहर करने लगे.

हम दोनों जैसे बिछड़े प्रेमी की तरह एक दूसरे में समाने की कोशिश कर रहे थे. लंड को भाभी के मुँह की गर्मी का अहसास होते ही मुझे बड़ा मजा आने लगा था.

मैंने कहा- अच्छा यह बताओ, तुम्हारी मम्मी की चूत कैसी है?सोनू कहने लगी- एकदम सुंदर, चिकनी और गोरी, अंदर से पिंक कलर की है. उनके नंगे बदन को देख कर रात की घटना अब मेरे दिमाग में आने लगी थी और मेरा ध्यान मामी जी की चिकनी चमकती हुई गुलाबी चूत पर केंद्रित हो गया. मैंने उसको हिलाया, सहलाया और फिर अपने हाथ में लेकर मुट्ठ मारनी शुरू कर दी.

तभी उसने अपना लंड निकाल के मेरे मुँह में डाल दिया और जोर जोर से धक्के मारने लगा और एक मिनट बाद उसने अपना पूरा माल मुझे पिला दिया. वो कामवासना में कह रही थी- आह … मेरी योनि को मसलो … उसे प्यार करो …लेकिन मैं उसे और तड़पाना चाहता था. मैं इन्हीं ख्यालों में ही बिजी था कि तभी कल्पना मेरी तरफ देखते हुए मुझे टहोका- ओ हैलो, कहां खो गए?मैं- हां, कहीं नहीं.

बीएफ बीपी ब्लू तभी मैडम ने उठकर अपने बैग में से ट्रिपल फाइव की डिब्बी निकाली और मेरी तरफ बढ़ा दी. मैं पहली बार में ही किसी मर्द के सामने इस तरह से नहीं जाना चाह रही थी.

ఎక్స్ వీడియోస్ డాట్ కాం

मैंने एक हाथ से उसकी जीन्स का बटन खोला और उसकी पेंटी समेत जींस को नीचे घुटने तक खिसका दिया. मैंने लंड से चूत के छेद का रास्ता खोजा, तो आंटी ने खुद से मेरा लंड पकड़ कर मेरा लंड अपनी चूत पर लगा दिया. मैं उसको हल्का सा कांपते हुए और साथ ही साथ साँस थामे हुआ देख रहा था.

उसकी चूत को देख कर ऐसा लग रहा था कि यह किसी कम उम्र की लड़की की चूत है. उसको भी शायद इसका अहसास हो गया था; उसने झट से सीधे होकर अपने आप को ठीक कर लिया. न्यू बालवीरभाभी के मुंह की चुसाई से मैं जल्दी ही झड़ जाता अगर लंड को बाहर नहीं निकालता.

ननकू ने दो-एक बार चिन्टू को कहा भी कि मौसी के घर में पड़े रहने से बेहतर है वो कोई कामधंधा करे, दो पैसे कमा कर अपने माँ बाप का सहारा बने.

उसने कहा -शिट…उसके बिना बाजू वाले ब्लाऊज़ में उसके बूब्स मेरे सामने ही थे. इससे चिन्टू का हौसला बढ़ गया और इसके बाद मीना भी अपने को नहीं रोक पायी तो मौसी भांजा रिश्ते की मर्यादा तार तार हो गई.

मैं मामी जी के होंठों को चूसते हुए, नीचे जोर जोर से अपने लंड को उनकी की गांड के अन्दर बाहर कर रहा था. इतने में भाभी ने अपना शरीर ढीला छोड़ दिया, तो मैंने दूसरे हाथ से भाभी के बड़े बड़े चूचों पर रख दिया और उन्हें दबाने लगा. खैर, बड़ी आरजू-मिन्नत का दौर चला तो नीना रानी चुदने को तैयार हुर्इं.

पर एक बंदा ऐसा भी निकला जिसका मेल तो पहुंचा ही, पर वो खुद भी पहुँच गया.

हाँ! ले मेरे लंड को अपनी चूत में!मैंने करीब 15 मिनट तक अपनी बड़ी बेगम सारा की चूत चुदाई की और इस बीच में वो दो बार मेरे लंड के ऊपर ही झड़ गई. पर ये तो उसकी जिज्ञाषा थी, इसलिए सब कुछ तैयार होने के बाद मौके को कैसे जाने देता. जब दोनों की चुम्मा-चाटी समाप्त हो गई तो सुधा पूछने लगी- जीजा को कहाँ छिपा दिया है?सुधा बोली- यार ममता तू तो अभी से इतना पजेसिव हो रही है.

हिंदी में देहाती सेक्सीवो अभी तक कुंवारी कैसे हो सकती है?मैंने चौंकते हुए कहा- क्या? क्या कहा अभी आपने?कल्पना थोड़ा उदास होते हुए बोलीं- हां, मैं अभी तक कुंवारी हूँ. वोह बहुत चुस्त कपड़े पहन के आयी थी और बहुत स्माइल कर कर के बात कर रही थी.

b4 सेक्सी वीडियो

तो मुझे अगली बार उनकी तबीयत खराब होने तक इंतज़ार करना था उनके साथ असली चुदाई करने के लिए. थोड़ी देर बाद जब मैं सीढ़ियों के पास खड़ी हुई तो फिर से आया, वो बोला- प्लीज अपना नाम बता दो, नहीं तो मैं खाना नहीं खाऊंगा. मगर क्या आपने सोचा कि यदि कोई आपकी पसंदीदा हिरोइऩ किसी दिन आपके सामने ऐसे लिबास में आ जाए, जिसमें से उसका मलाई बदन करीब से निहारा जा सके तो आप पर क्या गुजरेगी.

उसके बाद हम लगातार तीन दिन ऋषिकेश घूमे और बहुत बार प्यार भरी चुदाई की रितिका के साथ बिताए. अब आगे:अगले हफ्ते एक शनिवार को कुछ यूं हुआ कि मॉर्निंग को मेरा कैंटीन पे जाना हुआ और दीदी का उसी वक्त वहां पे आना हुआ. और मेरी बेटी प्रिया की शादी कुछ महीने पहले ही मैंने एक अच्छे वेल सेटल्ड लड़के से कर दी.

मैंने उसे पतली डोरी वाली पैंटी दिलवाई क्योंकि उसके चूतड़ और जांघें बहुत अच्छे आकर में सुडौल थे. सारा ने अपना हाथ बढ़ाया और अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर फिर से रख कर फिर से नीचे दबाने को कहा. अब मैंने अपनी जीभ से उनकी चूत के ऊपर की घुंडी को सहलाना शुरू किया, तो वह और ज़ोर-ज़ोर से गांड हिलाने लगी.

मैंने धीरे से उसके कानों में कहा कि उसके बूब्स बहुत ही ज्यादा सेक्सी हैं और उसका जिस्म बहुत ही मखमली है. फिर मैंने उसे बताया कि मैंने ये नाटक क्यों किया क्यों तुम्हारे भाई के डर से मैं हर कदम सोच समझ कर उठाना चाहता था.

भाभी ने नॉर्मल ही पूछा- वैसे कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?तो मैंने कहा- भाभी है तो, पर क्यों?भाभी बोलीं- अरे जब से आए हो, पर मोबाइल से नहीं लगे हो ना, इसलिए पूछा.

मेरे चूमने से उनको बहुत प्यार आया; मुझसे कहने लगी- राज! तुम औरत से बहुत प्यार करना जानते हो और औरत को अच्छी तरह से कैसे चोदा जाता है, कैसे संतुष्ट किया जाता है, यह भी बहुत अच्छी तरह से जानते हो. दिल्ली में तुझे बिठाकेमैंने सोनू को समझाया कि तुम अब पूरी जवान हो चुकी हो, औरत की चूत में भगवान ने इतनी जगह बनाई है कि वह बड़े से बड़ा लंड भी ले सकती है. एनिमल्स गर्ल्स सेक्सीउसकी कराहट से और जिस तरह उसका हाथ चल रहा था, मुझे समझ आ गया था कि उसे मज़ा आ रहा था. वो अंदर गयी और जैसी उसने गिरने की एक्टिंग की तो विपिन उसको लपक कर बचाने लगे.

मैंने एक हाथ से उसकी चूची तो दूसरे हाथ से पजामे के ऊपर से उसकी चूत को सहलाना शुरू कर दिया.

अगले ही दिन मुझे साक्षी का फोन आया, उसने पूछा- तुम कहां पर हो?मैंने कहा- मैं कॉलज में हूँ. मेरे पास सोचने का समय नहीं था, मैं और ज़ोर-ज़ोर से उनके मुंह में लंड घुसाने-निकालने लगा. मैंने शिखा की चूत को बड़े ही ध्यान से देखा और फिर उसकी चूत के पास अपने नाक को ले जा कर सूंघने लगा.

उससे ऐसा लग रहा था कि भाभी भी सेक्स के लिए प्यासी है।मैं भाभी के होंठ 10 मिनट तक चूसता रहा. वो बोला- तुम कहां जा रही हो?मैं पहली बार उसे सामने पाकर देख कर घबरा गई. मुझे ज्यादा मस्ती छाने लगी थी, मैं उसकी पैन्ट की चैन खोल के उसके लंड को बाहर निकल कर हाथ से हिलाने लगी, जिससे वो और जोर जोर से मेरे चूचों को काटने लगा और चूसने लगा.

मराठी बीपी सेक्सी व्हिडिओ मराठी

जब मुझसे और ज्यादा बर्दाश्त करना मुश्किल होने लगा तो मैंने कोमल को अपने पास बुलाकर उसको अपने दिल का हाल बताया. मैं और मेरा भाई जो मुझसे डेढ़ साल बड़ा है, हम दोनों एक ही कॉलेज में पढ़ाई करते हैं, हम दोनों के लिए पापा ने कॉलेज जाने के लिए एक स्कूटी दे रखी है, कॉलेज में मेरी बहुत सारी सहेलियां हैं जो काफी स्मार्ट और खूबसूरत हैं और मैं भी कम नहीं हूँ, मैं दिखने में गोरी, चिट्टी, अपने उम्र से काफी बड़ी लगती हूं. अब्बू ने अम्मी को, भाई ने भाभी को और बैडमैन ने मेरे को!अब्बू ने अम्मी के कपड़े सीधे उतार दिए और उनकी ब्रा में हाथ डाल कर उनके चूचे दबाने लगे और उनके गले में और कान में किस करने लगे.

उसके बाद मैंने उसको किस किया और साइड में लेटकर उसको भी अपनी तरफ घुमा लिया.

साथ ही साथ उसकी गर्दन घूमने लगी और मेरे होंठ उसके गाल से होते हुए उसके लिप्स पे आ गए और अगले पांच सेकंड में उसकी लिपस्टिक गायब हो गयी और हम एक दूसरे के होंठ चबाने लग गए.

मीरा- हां जाओ, लेकिन एक बात ध्यान से सुनो, जहां मैं तुम्हारे काम की बात करूँगी, वहां पर मेरी नाक नहीं कटनी चाहिए. मैं- हां पता है, कल ही पापा घर में आप के किसी आर्टिकल की तारीफ कर रहे थे. मारवाड़ी सेक्स वीडियो डाउनलोडउसने मेरी छाती को अपने हाथ से ऐसे मसला मानो कोई संतरा निचोड़ रहा हो.

उसने जैसे ही मेरी जांघ पर हाथ रखा, मैं चौंक गई लेकिन मैंने कोई रिएक्ट नहीं किया. आज वो स्कर्ट पहन कर आई थी, पता नहीं कैसे खेलते खेलते उसकी स्कर्ट जरा ऊंची हो गयी. उसने बहुत सारा थूक मेरी गांड में थूक दिया और अपने लंड में भी लगाया.

उनमें से एक ने मेरी बाइक को साइड में झाड़ियों में ले जाकर खड़ी कर दी और हम दोनों गाड़ी में ज़बरदस्ती बैठा लिया. कुछ देर बाद आदिल फिर से आगे आया और प्रेम ने मुझे पेलना शुरू कर दिया.

इसी स्थिति में वो धीरे धीरे नीचे हो रही थीं, उनका बांया हाथ मेरे लिंग पर आ गया और दूसरा हाथ मेरी टांगों के बीच से निकलकर मेरे अखरोटों से खेलने लगा था.

‘भैया, तुमसे मिलने आने का सोच रही हूँ, तुम तो दोस्त के साथ रहते हो, कोई दिक्कत तो नहीं होगी?’‘शैली, मैं अभी थोड़ी देर में फोन करता हूँ. दीदी की टांगें अनन्त की उंगलियों की रफ्तार के साथ और ज्यादा फैल रही थीं. शॉवर में चोदते वक्त मैंने दीदी से पूछा- दीदी बता ना … तेरी सासू माँ क्या बोली थी और तुम दोनों हंस पड़े थे?दीदी ने कहा- उसने मुझे चाबी दी और जड़ी बूटी वाला पावडर हाथ में थमाकर कहा था कि इस बार दो चम्मच ज्यादा डालना … आज रात तुम्हारी असली सुहागरात है … पलंगतोड़ कबड्डी होनी चाहिये … मैं देखने आऊंगी.

बेंगलुरु की सेक्सी मैंने उसकी चूत पर होंठ रख दिये तो मेरे लंड ने एक जोर का झटका दे दिया. उसके बाद हम दोनों घूमने जाने लगे कभी पार्क तो कभी मूवी देखने जाते! मैं मौका देखकर उसको किस कर देता, वो भी उसका पूरा जवाब देती.

मैंने अगले दिन का ऑफ ले लिया और आगे के लिए एक महीने अपनी नाईट ड्यूटी लगा ली. नमस्ते दोस्तो, मैं बैडमैन, याद तो होऊंगा ही, बिलकिस बानो जो हमारे साथ थी उसकी आईडी ब्लॉक हो गयी है उसके लिए कहानी मैं भेज रहा हूँ. मैं अपनी चूची चुसवाते हुए मैनेजर सर के बालों में अपना हाथ फिरा रही थी.

2 सेक्सी ब्लू पिक्चर

तो मेरे भाइयो, भाभियो यह थी मेरी भाभी की फस्ट नाइट … बोले तो सुहागरात थी. तभी मैंने उससे कहा कि जान आज हमें ब्लू फिल्म की तरह करना था, जैसे उसमें होगा वैसे ही हम करेंगे. मैं अपने हाथों से उसकी टी-शर्ट में हाथ डाल कर उसकी कमर पर हाथ घुमा रहा था.

वो देखने में एकदम गोरी थी, जब जींस टॉप पहनती थी, तो बस उसको देखते रहने का मन करता था. उंगली आज़ाद होते ही मैडम ने मेरी पैंट खोल के नीचे घसीट कर टखनों तक कर दी.

इसके बाद मैनेजर सर ने एक सिगरेट सुलगाई और मेरी चूत में उंगली डाल कर मेरी चूत के दाने को मसला.

क्या लंड चूस रही थी, बिल्कुल किसी पोर्न स्टार की तरह लंड उसके मुँह की गर्मी का मजा मिल रहा था. उसके बाद मैंने एक हाथ को उसकी चूत पर लगाया और उसकी चूत को रगड़ना शुरू कर दिया. मैंने उसके सारे कपड़े उतारकर उसे बिल्कुल नंगी कर दिया था और खुद भी अंडरवियर में आ गया.

मैंने उससे नार्मल बात की और जो उसने डाउट पूछा, वो बताया और उसे बिना हाथ लगाए वापस आ गया. नया नया था तो सीधे उसकी चूत में लंड डालने की कोशिश करने लग गया, कोई किस नहीं, कोई चूत की चटाई नहीं, ना फूलमती ने लंड चूसा. उस लड़की में न जाने क्या बात थी कि हमारी बातें जल्दी ही सेक्स पर पहुंच गईं.

घर की सारी ज़़रूरतें पूरी हो जाती हैं और बेटियों की पढ़ाई का खर्च निकलने के बाद भी हमारे पास पैसों की कमी नहीं होती है.

बीएफ बीपी ब्लू: धीरे-धीरे करते हुए मैंने लंड को पूरा उसकी चूत में डाल दिया और मैंने उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया. कहीं बाहर घूमने से तो अच्छा है हम दोनों रूम पर ही कुछ वक्त बिता लेंगे.

मैं ग्रेजुएशन के पहले साल की परीक्षा के बाद गर्मियों में मामा के घर छुट्टियां बिताने पहुंचा था. खैर उसने शाम में मुझे अपने फ्लैट में बुलाया और मैंने भी उसको तड़पाने की सोची. लंड का सुपाड़ा चूत पर लगाया और शरीर का भार नीचे की तरफ छोड़ा तो लंड को जाने में परेशानी हुई.

उसके ऊपर लेटे लेटे मिशनरी पोजीशन में ही थोड़ा अपने चूतड़ों का दबाव डाला, तो लण्ड अंदर जाने लगा.

उसने अपने होंठ मेरे होंठों के नजदीक लाकर अपनी जीभ अपने होंठों के बाहर निकाली. उसे घर के बाहर ही छोड़ कर मैं जाने ही वाला था कि उसने मुझे रोकते हुए कहा कि अन्दर नहीं आओगे?मैंने बोला- नहीं … आज देर हो गई है. आपमें से जो प्राइवेट कम्पनी में काम करते हैं, उन्हें तो अच्छी तरह पता होता है कि नए नए माहौल में कितना मुश्किल होता है.