बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो जंगली सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

दुबई का सेक्स वीडियो: बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ, बाईस साल की कमसिन बहन थोड़ी देर में सामान्य हो गई और कमर उछाल उछाल कर अपनी बुर में ज्यादा लंड की मांग करने लगी.

वीडियो सॉन्ग सेक्सी पिक्चर

दो मिनट बाद ही मैं भी झड़ गया और निढाल होकर शैली के साइड में जा गिरा. सेक्सी व्हिडिओ छानसंजू थोड़ी उदास थी, तभी विक्रम बोला- रुको एक मिनट!विक्रम ने अपने बैग से एक बॉक्स निकाला और संजू की तरफ बढ़ा कर बोला- भाभी ये मैंने अपने होने वाली बीवी के लिए खरीदा था, लेकिन मैं ये आपको दे रहा हूँ.

मैंने तुमसे भी झांटें साफ़ करने का कहा था, की या नहीं?मैंने कहा- ओह आई लव यू सबीना डार्लिंग. கேரளா ப்ளூ ஃபிலிம்मेरी चूत चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मेरी चूत के अंदर जबरदस्त आग लगी हुई थी और वह कब से पानी छोड़ रही थी.

उनका लंड मेरे दोनों चूतड़ों के बीच बार बार टक्कर पर टक्कर दे रहा था.बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ: वो किसी तरह अपनी बातों में मुझे फंसाना चाहती थी और मैं बचने में लगी थी.

जैसे ही मैंने उसकी साड़ी निकालने कोशिश की, उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और दबी जुबान से बोली- प्लीज पहले लाइट बंद कर दीजिए न.हम दोनों लोग गाड़ी के पास गए तो गाड़ी का एक टायर पंचर पड़ा था, स्टेपनी भी खराब थी.

सेक्सी वीडियो जल्दी चलने वाला - बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ

आज मैंने एक एकदम फिटिंग की जींस और एक बड़ा खुले गले का, मम्मों से चिपका हुआ और बड़ा सेक्सी सा टॉप पहना.कहानी के पिछले भागपड़ोसी भैया से गांड भी मरवा ली मैंनेमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं रोहण के साथ एक बंद पड़े पार्क में आ गई थी और उसके साथ मस्ती करने लगी थी.

सुबह फिर से मुझे गांव आना था लेकिन आज आने का मन नहीं कर रहा था क्योंकि दिव्या का इवेंट कल ही ख़त्म हो गया था. बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ मेरा हाथ मसलते हुए बाबा ने मेरे हाथों को चूमा और मेरे उसी हाथ को मसलते हुए मेरी रेखाओं को देखने लगा.

पानी पीकर एक दूसरे की बांहों में एक दूसरे की तरफ मुँह करके सटकर सो गए.

बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ?

रचना मेरे मजबूत शरीर को देख कर बोली- राज, क्या मजबूत जिस्म है तुम्हारा … तुम्हारा सीना मेरे जिस्म को मेरे मन को तुम्हारी ओर खींच रहा है. किसी भी मर्द का उसे देख कर ही पानी निकल जाए, वो इतनी कामुक दिख रही थी. जब मैंने तिरछी निगाहों से देखा कि वो दरवाज़े पर खड़ी है तो मैं और तेज आहें भरता हुआ उसके नाम की मुठ मारने लगा.

मैंने हर तरह से उसके होंठों को किस किया, फिर मैंने बूब्स पर ध्यान केंद्रित किया और एक एक करके मैंने दोनों मम्मों को चूसना शुरू कर दिया. फिर उसने नीचे से पजामे को खोलकर नीचे को सरका दिया।अब मैं नीचे से नंगी हो गई थी। मेरे जिस्म में चुदाई का नशा चढ़ने लगा। मुझे अपने नंगेपन का अहसास हो रहा था।वो मेरी ब्रा के ऊपर से मेरी चूचियों को दबाने लगा. एक मिनट बाद वो बोला- सोना रानी, तुम बहुत अच्छी हो, ऐसा मज़ा आज पहली बार आया है.

उसने फिर गर्दन पीछे करके मेरे होंठों को चूसने की कोशिश की और मैंने उसकी ये ख्वाहिश पूरी की. मगर सबसे बड़ी समस्या ये थी कि मैं एक कुंवारी लड़की थी और जहाँ भी रूम मिलता तो सब शादीशुदा वालों को ही रूम दे रहे थे।ऐसे ही दो महीने बीत गए।मैं बहुत परेशान रहने लगी क्योंकि मैं नौकरी करते हुए भी घर पैसे नहीं भेज पा रही थी। जल्द से जल्द मुझे एक रूम की जरूरत थी।फिर एक रात को करीब 9 बजे मैं अपने होटल के रूम में लेटी हुई थी कि तभी किसी का फोन आया।नम्बर अनजान था फिर भी मैंने फ़ोन उठाया और बात करने लगी. मैंने भाभी को बिस्तर पर लिटा दिया और उनके बूब्स, नाभि को चूसते हुए उनकी चूत को चाटने लगा.

यह कह कर मैंने अनन्या को अलग से कहा कि अगर मनोज कुछ करना चाहे, तो थोड़ी नानुकर करके कर लेने देना. एक मिनट बाद वो बोला- सोना रानी, तुम बहुत अच्छी हो, ऐसा मज़ा आज पहली बार आया है.

Xxx हिन्दी सेक्स कहानी को अगले भाग में लिखूंगा, आप सब मुझे मेल करना न भूलें.

ये कामनाएं मैं मेरी पत्नी से और शामली उसके पति से पूरी नहीं कर सकी थी.

अब अनामिका मिन्नतें करने लगी- आह मम्मीई मर गई रे … आह जीजू प्लीज़ मेरे हाथ पैर खोल दो. यह तो जब वह निलेश के साथ शहर गया तो उसके एक साथी ने भूरा को देख कर कहा था- यार! बड़ा नमकीन लौंडा लाए हो. अगले दिन मुझे अपने घर के लिए निकलना था, तो विपिन मेरे पास उस वक्त आया, जब मेरे आसपास कोई नहीं था.

जब कभी भी वो बाजार में ठुमक कर चलती है तो सब उसकी गांड को देख कर उसको स्पर्श करते हुए निकलने की कोशिश करते हैं. फिर उसके दोनों हाथों के नीचे से हाथ डालकर कंधों को कसके पकड़ लिया और उसके होंठों को मुँह में भर लिया. कैसी भी नखरैल लौंडिया हो, यह पटा लेता है।मैं- बात बनाने में भी चालू है.

फिर मैंने कच्छे को पूरा ही निकाल दिया और अब मेरा लंड बाहर आकर भाभी के हाथ में था.

मेरा लौड़ा धीरे धीरे खड़ा होने लगा।मैंने कहा- आंटी चलो, अफसाना के बेडरूम में चलते हैं।हम दोनों अफसाना के बेडरूम में आ गए. उसके बैग को बाइक पर पीछे बांधकर हम दोनों बाइक पर सवार होकर बनारस के लिए निकल पड़े. मैंने चुपके से कंडोम निकाल कर अपना लंड पौंछा और उसकी चूत भी साफ़ की.

कहां मिला? आज तो मस्ती होगी।लौटने पर भूरा ने मुझे बताया- सर जी उन्होंने मेरी तीन बार रगड़ी. फिर मैंने एकदम से लंड को बाहर निकाला और उसके घर्षण से मेरे लंड पर मेरा नियंत्रण छूट गया. दरअसल एक बार जब हम दोनों उसके घर में सेक्स कर रहे थे, तो उसकी बेटी विदेश से उससे बिना बताए घर आ गई थी.

सभी लंडों को मेरा प्रणाम।[emailprotected]इससे आगे की कहानी:राजेश से शिवानी रंडी बनने तक का सफर- 2.

पहले मैंने अपने लिए व्हिस्की मंगाई तो पीहू ने भी पीने की इच्छा ज़ाहिर की. पोर्न मूवी और अन्तर्वासना से जो कुछ भी सीखा था, वो सब आज प्रैक्टिकल करने का मौका मिल रहा था.

बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ बारिश थोड़ी कम हो गयी थी तो मैंने बाईक चालू कर दी और नीता पीछे मुझसे सटकर बैठ गयी. रुखसार- मैं ये सवारी नहीं रोकने वाली … कशिश, तू ही मेरे कपड़े उतार दे.

बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ अब आगे सेक्सी बीवी चुदाई स्टोरी:मेरे खड़े लंड को देखकर मेरी पतिवत्रा बीवी ने विक्रम का लंड छोड़ दिया और मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया. इससे लड़कियों को दर्द होता है क्यूंकि उनकी गांड फट जाती है और खून भी आता है.

फिर उस लौंडे ने अपने लंड का सारा माल मेरी बीवी के मुँह में ही निकाल दिया.

बीएफ सेक्सी बीएफ

बात करते करते मैंने आपा से कहा- आपा आपसे एक बात बोलूं, आप गुस्सा तो नहीं होगी ना!आपा ने कहा- बोलो क्या बात है?मैं बहुत हिम्मत करके आपा से बोला- आपा आप बहुत खूबसूरत हो, मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ आई लव यू!आपा बोली- पागल हो क्या, मैं तुम्हारी बहन हूँ. मैं उठा और विक्रम के कमरे में गया, तो बड़ा ही उत्तेजक दृष्य देखने को मिला. वो मेरे लिंगमुंड को दांतों से काटते हुए बोली- मेरा तो सारा योनिरस ना जाने कितनी बार पी लिया और अपना एक बार भी नहीं पिलाओगे? मुझे तुम्हारे वीर्य का स्वाद लेना है।फिर मैंने उसे थोड़ी सी पोजीशन बदलने को कहा।अब मेरा मुँह उसकी योनि पर था और उसके मुँह में मेरा लिंग.

वीर्य की कुछ बूंदें प्रियंका के चूचों पर गिरते हुए उसकी नाभि तक गिरती चली गईं. साला … मैं जिसको अपना जिगरी यार मानता था वो साला मेरी बेटी की चूत चोदने के बारे में मुझसे ही कह रहा था!मेरा खून खौल गया लेकिन मैंने अपने गुस्से को अपने भीतर ही दबा लिया. उधर नीचे से मेरा लंड ममता के मुँह के पास था, जिसका उन्होंने भी अपना पूरा मुँह खोलकर स्वागत किया और अपने मुँह‌ में पूरा लंड भरकर जोरों से चूसना चाटना शुरू कर दिया.

चाची जी लंड देखते हुए मस्त होने लगीं- हाय राम इतना बड़ा और मोटा मूसल है आपका?मैंने चाची जी का हाथ पकड़ कर लंड पर रखते हुए कहा- चाची जी मूसल नहीं सिर्फ लंड ही है ये.

ममता जी को‌ लेकर मैं शायरा के घर आ तो गया … पर हाय रे मेरी फूटी किस्मत. ”उन्होंने मेरी कमर को दोनों हाथों से थामा और अचानक से एक जोरदार शॉट दे मारा. हमारे होंठ आपस में लड़ने लगे जैसे एक दूसरे के होंठों का सारा रस आज की रात ही पी जाना चाहते हों।चुम्बन के बाद मैंने उसकी कमर पर हाथ रखते हुए उसकी गांड को अपने लौड़े पर टिकाते हुए उसे घुमा दिया और उसकी गर्दन पर चुम्बनों की बरसात करने लगा.

आप लोग हिंदी में मां बेटे और बाप बेटी सेक्स कहानी पढ़कर कैसा महसूस कर रहे हैं, प्लीज़ मुझे मेल करें. उसके बाद भाभी ने मेरी कमर में टांगें डाल दीं और मुझे कस कर अपने बदन से सटा लिया. मैं उसके होंठों को चूसने लगा और वो भी जैसे मेरी बांहों में लिपटती चली गयी.

उधर मेरे क्लास का मॉनिटर गेट पर खड़ा था और वो मुझे नंगी देख अपने हाथ में लंड लेकर हिला रहा था. शायरा के साथ स्कूटी से कॉलेज चला जाता था मगर आज तो शायद पहले की तरह ही पैदल जाना था इसलिए मैंने बस मकान मालकिन से नमस्ते किया और अपने कदम‌ सीधा बाहर की तरफ बढ़ा दिए.

बनाना चाहते थे पर उन्होंने बहाना कर दिया कि कई अफसर उनकी इंगलिश ड्राफ्टिंग व उनकी बनाई डिश के फैन हैं।वे मेरे से बड़ी दोस्ती रखते थे. देखते ही देखते हमारे रिश्ते को पांच साल हो गए, पांचवी सालगिरह हमने इमैगिका जाकर मनाई. मैंने भाभी की ब्रा खोल दी, उनके बड़े और कड़क कबूतर फड़फड़ा कर बाहर आ गए.

मैं भी जानबूझकर आगे हो जाती थी ताकि उसको मेरे बूब्स का पूरा स्पर्श मिल सके.

वो उसे देखकर हंसने लगे और बोले- तेरी बेगम को इससे तू खुश रख पायेगा?मैं बोला- मैं क्या करूं चचा … अब मेरा है ही इतना. कशिश- रुखसार भाभी तो अपनी चूत में उंगली कर रही हैं … आज भैया नहीं है ना!रूचिका आंटी- अरे उसे ऐसा करने की क्या ज़रूरत है. दो मिनट बाद ही मैं भी झड़ गया और निढाल होकर शैली के साइड में जा गिरा.

मैं ठीक हूँ, आप कैसे हो और भाभी कैसी हैं?भावेश- सब मजा मा … ये कौन है?उसने स्नेहा की तरफ देख कर कहा. चाचा जी इतना बड़ा नहीं है क्या?चाची ने लंड को पकड़ते हुए कहा- नहीं उनका तो तुम्हारे लंड से आधा ही होगा.

समय समय पर मैं उनसे वार्तालाप करता रहता था ताकि नाता जुड़ा रहे और जरूरत पड़ने पर चूत मिल सके. पोर्न मूवी और अन्तर्वासना से जो कुछ भी सीखा था, वो सब आज प्रैक्टिकल करने का मौका मिल रहा था. जैसे ही में नहाई तो मुझे याद आया कि में बैग में से ब्रा और पैंटी तो लाना भूल ही गई, और तौलिया भी इतना छोटा था कि इससे या तो बूब्स ढक सकते हैं या मेरी चूत!घर पर तो पति के सामने इसी तौलिये में बाथरूम से नहा कर बाहर निकलती थी और कभी-कभी तो नंगी ही बाहर निकल जाती थी.

सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर वीडियो

लेकिन मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, जो सच्ची घटना मेरे साथ हुई, वह मेरी जिंदगी का एक ऐसा लम्हा है.

फिर वो उठ गई।मौनी बोली- जाओ अब … कही मेरी माँ न उठ जाए!वो अपनी छत पर चली गई।मैं भी उठा और लंड को अंडरवियर में डाला और जो माल छत पर गिरा था उसे पैर से रगड़ दिया और फिर अपने कमरे में आकर सो गया।फिर हम रोज तो नहीं लेकिन दूसरे या तीसरे दिन छत पर मिलने लगे. उसकी आवाज़ रोकने के लिए मैंने उसकी ही कच्छी उसके मुँह में ठूंस दी और फिर से उसकी फुद्दी का रस पीने लगा. मुझे रूपा भाभी की कही हुई बात याद आ गई कि एक दो बार नानुकर करने के बाद, वो जो करे … उसे करने देना.

5 या इंच के लगभग है।मेरे लंड का सुपारा काफी मोटा है जिसको शुरू में अंदर चूत या गांड में घुसाने में बहुत परेशानी होती है लेकिन बाद में बहुत मजा आता है. कुछ तो मैं थोड़ी देर पहले नंगी भाभी देखकर आया था और लंड पहले से ही तना हुआ था. ब्लू सेक्सी पिक्चर वालीउससे दो चार बार मिलना होगा, धीरे धीरे उससे खुलना होगा और इसके लिए बातों को सिलसिला मुझे ही चालू रखना होगा.

दरअसल शर्ट और पैंट साइज में टाइट होने के कारण, और लड़कियों के चूतड़ भारी होने के कारण, पैंट पीछे की ओर खिंच जाती है और सामने की सिलाई चूत के बीच दरार होने के कारण, अंदर की ओर घुस जाती है जिससे चूत की पुट्टीयां दिखाई देने लग जाती हैं. चाहे जो‌ कुछ भी मगर आज ये तो पता चल ही गया था कि शायरा भी प्यासी थी.

देसी चाची पोर्न कहानी में पढ़ें कि मैं मेरी चाची की भारी गांड मारना चाहता था. इसके बाद बहुत बार भाभी ने मुझसे चुदवाया, जिसमें चूत भी थी और गांड भी।अब तो भाभी को भी गांड मरवाने में मजा आता है।दोस्तो, यह स्टोरी भाभी से पूछ कर लिख रहा हूँ. मैंने उससे उसका फोन नंबर भी नहीं लिया था … न कोई और कॉन्टैक्ट ले सका था.

मैं बोला- ठीक है जान … आराम से करूंगा … बहुत प्यार से।मैंने भाभी को लिटाया और उनके ऊपर आ गया. ममता जी‌ का मुँह दूसरी तरफ था इसलिए उन्हें तो वो‌ नजर नहीं आई मगर मेरा मुँह कमरे की‌ जो अन्दर की‌ खिड़की होती है, उसकी ओर था. थोड़ी ही देर में भाभी अचानक से अकड़ने लगीं और एक ‘आह …’ के साथ झड़ गईं.

तब से मामी और अर्चना दोनों ने ही मुझे चुदाई के लिए कभी भी मना नहीं किया.

दोनों दिन मनोज मेरे घर पर रह कर मेरी चुत की सेवा की और अपने लंड की सेवा मुझसे करवाता रहा. मैं बोला- दे दूंगा मेरी जान, तू टाइम तो निकाल, जिन्दगी का असली मजा चुदाई में ही है.

हम दोनों अन्दर गए तो वहां सब मुझे बड़ा घूर कर देख रहे थे क्योंकि सबको मालूम था कि मैं चुदने आयी हूँ. आँटी मेरे लौड़े और मेरी बाजुओं में जकड़ी, मेरे ऊपर उल्टी हो कर लटक रही थी. इसके साथ ही नीता मेरे लंड को पैंट के ऊपर से ही कुछ और ज्यादा दबाती हुई सहलाने लगी थी.

मैंने अब लंड को अंडरवियर से बाहर ही निकाल लिया और फिर से उसका हाथ पकड़ने लगा. मैंने उसे ग्रुप सेक्स के लिए तैयार किया और शिमला लेजाकर तीन लड़कों से एकसाथ चुदवाया. ड्रेस का गला थोड़ा बड़ा था, तो उसकी उठी हुई चुचियों के बीच की दरार एकदम घाटी जैसी लग रही थी.

बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ वरना लास्ट ऑप्शन वही है कि मैं समीना को बिना बताए उसकी बेटी को पटा कर चुदाई कर लूं. मैंने विजय को बोला- जान अब बर्दाश्त नहीं हो रहा, प्लीज मेरी चूत को अपने लंड से धन्य कर दो और मुझे हमेशा के लिए अपनी बना लो!दोनों के लिए अब और इंतज़ार करना मुश्किल था।विजय ने पलंग पर मेरे कूल्हों के नीचे एक तकिया लगाया जिससे मेरी चूत उभर कर ऊपर की ओर हो गई।उसने 2-3 बार मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटा और अपने मूसल लौड़े को मेरी चूत की फांकों पर लगाया.

बीएफ पोर्न हिंदी

अब मेरे मुँह से मादक कराहें निकलना शुरू हो गई थीं ‘उम्महह … उम्महह … चाट साले स्सी … स्सी …’मेरी चूत अन्दर से पूरी गीली होकर चिकनी हो चुकी थी और सेक्स के लिए ऐसी उतावली हो रही थी, मानो उसमें चीटियां काट रही हों. बुआ एकदम छोटी सी दिखने वाली ब्रा पैंटी ले रही थीं, जिसमें से उनका कुछ भी छुपने वाला नहीं था. सोनी की चूत से कुछ खून जैसा बह रहा था हालाँकि वो काफी कम मात्रा में था.

निर्मला जी सुन्दर महिला हैं, वो सोसाइटी के मार्किट में ब्यूटी प्रोडक्ट्स की शॉप चलाती हैं. मैंने कहा- इस लॉलीपॉप में से दूध भी निकलता है?उन्होंने कहा- हां इसमें से दूध निकलता है और वह दूध तुम्हें पीना है, जिससे तुम्हें नींद आ जाएगी. गाना गाने वाला सेक्सी वीडियोपता नहीं सोनी उसके बदन का भार कैसे सहन कर रही थी जबकि वो बहुत नाजुक कली की तरह थी।सुरेश ने अब अपनी बनियान भी उतार दी और सोनी की स्कर्ट भी। सुरेश का बदन सांवला था और काफी गठीला था.

हम पति-पत्नी दोनों इधर उधर एक हफ्ते तक हाथ पैर मारते रहे मगर रूपए नहीं मिले.

यहाँ तक कि उसने दो अधेड़ उम्र की औरतें भी, जिनके बड़े बड़े बेटे हैं, पेल कर रख दीं. नंगी चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी गर्लफ्रेंड की सहेली अपनी चुदाई के लिए मारी जा रही थी.

वहां से लौटकर अपने घर आया और कम्पनी ज्वाइन करने के लिए बंगलौर रवाना हो गया. उसके होंठों को मैं दो मिनट तक चूसता रहा और फिर उसकी चूचियों को दबाने लगा. तभी मैंने उसको एक और तमाचा मारा और बोली- कुत्ते, मैं तुम्हें दिखाती हूं कि मर्द को औरत के साथ कैसे पेश आना चाहिए.

फिर शाम को पांच बजे के लगभग उसकी नींद खुली, तो वो अपनी बड़ी दीदी के ख्यालों में उठ कर बाथरूम में गयी और एक एक कर सारे कपड़े उतार दिए.

एक तो चूत का नमकीन स्वाद और ऊपर से आइसक्रीम का मीठा स्वाद मिल कर कमाल का स्वाद मिल रहा था. तो गांड का तो फट कर हाथ में आ जायेगी।मैंने कहा- भाभी, धीरे धीरे करूंगा, ज्यादा से ज्यादा तेल लगाऊँगा।फिर उन्होंने कहा- ओके मेरी जान, कर ले पर धीरे धीरे।मैंने उन्होंने वापिस डॉगी स्टाइल में किया और उनकी गांड पर खूब तेल लगाकर एक उंगली उनकी गांड में डाल कर गांड का छेद थोड़ा ढीला किया. हम दोनों कुछ देर तक ऐसे ही नंगे चारपाई पर बैठे रहे, पर किसी के पास कुछ कहने को नहीं था.

भाभी को चोदने की सेक्सी वीडियोइसलिए मैंने तुम्हें इस बारे में कुछ कहा नहीं।विजय ने तुरंत अपना मोबाइल निकाला और अपने मोबाइल से मेरी नंगी फोटो लेनी शुरू कर दी. बुआ एकदम छोटी सी दिखने वाली ब्रा पैंटी ले रही थीं, जिसमें से उनका कुछ भी छुपने वाला नहीं था.

सेक्सी बीएफ हिंदी में जबरदस्त

मैं उसकी काली चूत चाटना नहीं चाहता था और शायद वह और इंतज़ार भी नहीं करना चाहती थी. अगले दिन इंस्टीट्यूट में छुट्टी थी तो रात को ही उस ऑटो वाले लड़के को कल मिलने को बोला. गांड मारने वाला सिर्फ गांड मारने में भरोसा रखता है, वो लंड चूसना पसंद नहीं करता है.

मेरा नाम सिर्फ़ उस कॉलेज में चलता है बाक़ी मैं हमेशा हॉस्टल की ही टीम के साथ प्रैक्टिस करती और खेलती हूँ. मैंने रात की 9 की बस में स्लीपर की पीछे तरफ की एक पूरी सीट बुक कर ली. अपनी दो उंगलियों से उसकी गुलाबी पंखुड़ियों को फैलाया, तो उसका छोटा सा अनछुआ छेद मेरे सामने आ गया.

वो बोली- मैं वापस इसलिए नहीं गयी कि शाम को किसी से अकेले में मिलना चाह रही थी, वो मिले नहीं, इसलिए रात में वहीं रूक गयी. नेहा पीछे से स्नेहा को मारते हुए बोली- क्या आप भी … इसकी बातों में आ जाते हो. पर बड़ी हिम्मत थी उसमें … उसने पूरी कोशिश से अपनी आवाज को रोका हुआ था.

अब जय का लंड भी राज के धक्कों के साथ ही मेरी गांड में अंदर बाहर होना शुरू हो गया. बाद मैंने ध्यान से देखा तो पता चला कि उसकी पैंटी थोड़ी सी गीली हो गई थी.

विपिन के मुँह से निकला- आहह … साली दीदी ले … आह मैं भी गया आहह … आ … ले रबड़ी खा ले आहह … मेरी रांड … आहह.

बड़ी मुश्किल से रुक रुककर मैंने भाभी की गांड में टोपा घुसाया और उसकी पीठ पर लेटकर उसकी चूचियां दबाने लगा. रूस की सेक्सी वीडियोजब मैं अनन्या तो लेकर वहां गई, तो रोहन पूरा नंगा होकर अपने लंड को खड़ा किए हुए बेड पर बैठा लंड हिला रहा था. dhaani सेक्सीदीवाली के मौके पर मैंने सम्मान के साथ उनके पैर छू लिए तो उन्होंने दीवाली की बख्शीश के तौर पर सौ रुपये दे दिए, साथ में मुझे गले से भी लगाया. दरअसल एक बार जब हम दोनों उसके घर में सेक्स कर रहे थे, तो उसकी बेटी विदेश से उससे बिना बताए घर आ गई थी.

नीता ने अपना हाथ जोर से मेरे लंड पर दबाया और बोली- बाहर ठंडी हवा चल रही है, बीमार पड़ जाओगे हर्षद.

इसी बीच मैंने उसकी पूरी पैंटी उतार दी। सामने नग्न हल्के काले बालों से ढकी हुई अत्यंत उभरी हुई सी योनि थी। ईश्वर ने उस रतिरूपा का हर अंग फुरसत से बनाया था. इस तरह से अचानक से हाथ रख देने से भाभी थोड़ा चौंक गईं और धीमे से बोलीं- क्या कर रहे हो?मैंने भी कहा- क्या भाभी अब मुझसे क्या शर्माना … और वैसे भी मुझसे आपका दर्द देखा नहीं जाता है. वो अभी भी सिर्फ पैंटी में लेटी हुई थी और ये सब देखकर सुनकर मुझे लग रहा था कि मेरा लंड आज फट जाएगा.

शायरा कुछ देर तो किचन की ओर बढ़ती हुई मुझे दिखाई देती रही‌, फिर शायद वो किचन में घुस गयी थी. वो मुझे लंड पेलने के लिए कह रही थीं, मगर मैं कुछ देर यूं ही ममता की चुत चाटता रहा. मुझे महिलाओं को संवारने की कला भी आती है- मैनीक्योर, पैडीक्योर जो कुछ भी आप करवाना चाहो.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी एचडी बीएफ

मैंने भी उसके होंठों को अच्छी तरह से चूमा और हल्की से मुस्कराहट बिखेरते हुए पूछा- अब ठीक है. हमने फ़ॉरप्ले शुरू कर दिया और उसके पूरे बदन को चूमते हुए अपने दांतों से उसकी ब्रा और पैंटी को निकाल फेंका. फिर बुआ मुझे एक अंडरगारमेंट की दुकान में लेकर गईं और अपने लिए ब्रा पैंटी खरीदने लगीं.

वो पागल हो गई और नीचे से गांड उठा कर अपनी चूत मेरे मुँह पर धंसाने लगी.

वो खुश हो गईं और नमन से कहने लगीं- तू मेरे लिए मस्त लंड वाले लौंडे लाया है.

मैंने मुँह मोड़ कर नीता से पूछा- क्या करें, रुकें या चलते चलें?मेरा गाल नीता के कोमल होंठों पर सट गया तो उसने मुझे चूमकर कहा- अब नहीं रुकना हर्षद … आहिस्ता आहिस्ता चलते चलो. कुछ ही पलों में हॉट देसी भाबी भी मस्त होकर चुदाई का मज़ा लेने लगीं. सेक्सी ऑंटी सेक्सी बीपीरेशमा का जिस्म भी वैसा ही गोरा था, चूचियों के ऊपर लगे दो किशमिश के जैसे गुलाबी चूचुक मेरे हाथ की उंगलियों से मसले जा रहे थे.

उनमें एक लेडी पियोन भी थी जो पेपर्स आदि इधर उधर देने का काम करती थी और केवल मेरा चाय आदि बनाने और पानी पिलाने का काम करती थी. संजू कुछ मिनट में बाथरूम से फ्रेश होकर आ गई और उसने अपनी नाईटी चेंज कर ली. इसलिए मैंने बिना जाने अपनी ओर से उत्तेजक और रोमांस भरी बातें करना शुरू कर दिया.

अब मैंने उसकी बुर के अन्दर लंड डाला, तो वो ‘सस्स्शह … आआअहह’ करने लगी. उसे कहां अंदाज़ा था कि गांड मारने में उसे दिन में तारे दिखने वाले हैं.

तभी मैंने ध्यान दिया कि उनके रूम की तरफ किसी की चलने की आवाज़ सुनाई पड़ने लगी.

उस दिन मैंने एक स्लीवलेस ब्लाउज पहना था और काले रंग की साड़ी पहनी थी. फिर एक दिन ऐसा हुआ कि मुझे पूरी तरह से पक्का हो गया कि वह भी मुझे प्यार करती है. कोई और लड़की तो होगी ना?इतने में वो बोली- सॉरी मेम, अभी कोई फ्री नहीं है। आप कल आओ!इस पर मुझे बहुत तेज गुस्सा आया। और आये भी क्यों ना … आज मेरे भाई के साथ मेरी सुहागरात थी।और ये नखरे दिखा रही थी।मैं उसे गुस्से में डांटने लगी। वो बार-बार रिक्वेस्ट किये जा रही थी और मैं सुनने को तैयार नहीं थी।इतने में वहाँ का ओनर आ गया।फिर वो रिसेप्सन्नीस्ट बोली- सन्नी सर आ गए.

தமிழ் வீடியோ செஸ் பிலிம் किसी दिन मैं उसका इंटरव्यू ले लेता हूँ, तुम उसे किसी दिन यहीं, इसी कमरे में ले आना. पूरे कमरे चुदाई की मस्त आवाजें आ रही फच फच फच की आवाजें हम सभी को और भी ज्यादा उत्तेजित कर रही थीं.

ललिता भाभी मेरे लौड़े को सहलाने लगी और मैं उसकी चूचियों को मसलने लगा. फिर दो लड़के सामने सोफे पर बैठ कर आराम करने लगे और कुछ देर बाद नमन ने मॉम की टांगें खोल कर उनकी चूत पर लंड टिका दिया. संजू विक्रम को देख कर बोली- अब तो मन भर गया न … तब से बच्चे की तरह जिद किए जा रहा था.

भाभी देवर की सेक्स बीएफ

आपा वैसे भी घर में ऐसे ही कपड़े पहनती थी मगर आज तो वो और भी ज्यादा हॉट लग रही थी. मेरे धक्कों के गांड पर लगने से पूरे कमरे में चट्ट चट्ट की आवाज़ आने लगी. मैं कुत्ते की तरह उसकी चूत चाट रहा था … जीभ डाल कर अंदर भी घुमा रहा था जिससे वह बहुत ज्यादा कामुक हो गयी.

मेरी लम्बाई 6 फुट 5 इंच है, मेरा शरीर मांसल है, मैं नियमित रूप से दौड़ लगाना और वज़न उठाने वाले व्यायाम करता हूँ. मैंने ये बात अपनी बीवी को बताई कि वो ऐसे कह रहा था तो मेरी बीवी कुछ देर सोचती रही.

मेरी बीवी झड़ कर विक्रम के ऊपर पस्त होकर गिर गई और उसने विक्रम को कसके पकड़ लिया.

धीरे धीरे मेरी स्पीड बढ़ने लगी और भाभी की धक्कमपेल चुदाई शुरू हो गयी. जानू आज रात नहीं, आज मैं बहुत थक गया हूं … और अगर आज हम चुदाई करेंगे तो मैं तुझे चुदाई का पूरा मजा नहीं दे पाऊंगा. चिकनाई कम लगी, तो मैंने अपने मुँह से ढेर सारा थूक उसकी वर्जिन पुसी पर लगा दिया.

फिर मैंने अपने तने हुए लंड को देखा और शर्म का नाटक करते हुए उस पर तकिया रख कर उसे छिपा लिया. ”तुमने इतना मस्त माहौल बनाया है तो मैंने भी इस माहौल और मजेदार बनाने के लिए कुछ किया है. फिर सुरेश ने सोनी को करवट लेकर ऐसे अपनी बाँहों में भींच लिया कि सोनी की कमर मेरी तरफ थी और सुरेश के हाथ उसकी स्कर्ट के अंदर कमर पर सहला रहे थे.

अब हम दोनों ने मोबाइल को बंद करके फोटो देखने का नाटक बंद दिया था और मैं खुल कर उसके बूब्स को दबाने लगा था, उसके बालों को सहलाने लगा था.

बॉलीवुड की हीरोइनों की बीएफ: मैंने उसके गालों को चूमते हुए उससे कहा- थोड़ी बहुत तकलीफ होगी, तुम सह लेना … फिर कुछ ही देर में सब ठीक हो जाएगा. मैं सोच रहा था कि पता नहीं … संजू की चूत से इतना पानी कहां से आ रहा था.

मैं मन ही मन खुश हो गयी कि चलो मेरे सब्र का फल बहुत मीठा होने वाला है. उसके होंठ जैसे खुल जाते थे मेरा लंड तना हुआ देखकर।अब मैं ये जान चुका था कि ये कामवासना की आग दोनों तरफ लग चुकी है। वहाँ लोगों की भीड़ में और सारे जाने पहचान वालों के सामने इससे ज्यादा करना मुमकिन न था।मैंने उसके कानों में कहा- अगर इस हसीन रात का मजा लेना है तो कहीं और चलो!उसने एक तिरछी नजर से मेरी ओर देखा और फिर वापस आगे देखते हुए मुस्कराने लगी. ज़ारा- आ … ह … उह … जान … चोदो … आह …!कुछ देर बाद मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत की चुदाई शुरू कर दी.

शरीर बनना शुरू हो चुका था और मेरा लण्ड मेरी उम्र के औसत लड़कों से बड़ा और मोटा हो चुका था लगभग 8 इंच!पढ़ाई में तो मैं होशियार था ही लेकिन साथ ही साथ मुझे सेक्स का भी चस्का था.

हम दोनों ने बाहर से खाना मंगाया और साथ में खाना खाया।उसका मेरे घर पर होना मुझे बहुत अच्छा लग रहा था क्योंकि वो मेरे लिए बहुत ही खास बन चुकी थी; मैं उसे अपनी सबसे अच्छी दोस्त मानता था।वो अपने साथ एक बैग लायी थी जिसमें उसके कपड़े थे. इसलिए कुछ पुराने पाठकों को लगता है कि ऐसा तो मैं मेरी किसी कहानी मैं लिख चुका हूँ. मेरे पास उसके पापा की तबीयत के बारे में पूछने का बहाना तो था ही, इसलिए उसी शाम मैं उसके घर उसके पापा का हालचाल पूछने पहुंच गया.