लड़की लड़का के बीएफ

छवि स्रोत,एचडी में बीएफ इंडियन

तस्वीर का शीर्षक ,

नीचे वाला सेक्सी: लड़की लड़का के बीएफ, ये क्या बदतमीज़ी है?मैंने उसके मम्मों को दबाते हुए उसकी स्कर्ट के ऊपर से ही चूत पर हाथ फेर कर मुस्कान दी.

कुत्ते और आदमी का बीएफ

उसके बिना तुम मेरा कैसे इलाज करोगे?सुरेश- देखो रवि, तुम जो कर रहे हो, वो सही नहीं है. पुलिस का बीएफरवि गुर्रा कर बोला- देख डॉक्टर … सही ग़लत का ज्ञान मुझे ना दे, तू डॉक्टर है और भगवान के बराबर है.

मैं अम्मी की चुदाई देखता था तो …हाय दोस्तो, मैं फ्री सेक्स कहानी पर नियमित आता हूँ और यहां की सेक्स कहानी को पढ़कर मजे लेता हूँ. बाबा वाला बीएफइसलिए मैं उस दिन उनके घर का पता लगाने के लिए पीछे कॉलोनी में गया था.

उसकी गर्म सांसें और नंगी चिकनी और मुलायम त्वचा का स्पर्श मेरे लंड को एकदम खड़ा कर रहा था.लड़की लड़का के बीएफ: शाम को विनी का कॉल आया, तो उसने बताया मम्मी (यानि मेरी मामी) घर चली गई हैं.

उसके कहे अनुसार मैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में भर दिया और हमारे रस की बाढ़ उसकी चूत से बहने लगी.कॉलेज की लड़की की सेक्सी कहानी के द्वितीय भागबेटे की क्लासमेट की कुंवारी बुर की चुदाई- 2में मैंने बताया था कि मेरे बेटे की दोस्त सोनाली मेरे घर मेरे बेटे रोहित के नोट्स लेने आयी थी.

वेस्टइंडीज बीएफ वीडियो में - लड़की लड़का के बीएफ

मैंने जीजू को बोला- आखिरी चॉकलेट मैंने खायी है इसलिए मैं इस खेल की विजेता हूं।जीजू ने कहा- तो बताओ क्या चाहिये?चूचे मसलते हुए मैंने मुस्करा कर कहा- स्कूटी।जीजू भी हँस कर बोल पड़े- ठीक है। अगली बार मैं तुम्हारी ही स्कूटी से तुम्हें होटल में ले जाकर चोदने जाऊंगा.इसके बाद से ये मेरा अनुभव हो गया था कि मजबूर लड़की को समय के हिसाब से बहुत कुछ करना पड़ता है.

उसके बाद कोमल को दवाई खिलाई गयी ताकि वो जल्दी न झड़े और उन सबने भी दवाई खायी ताकि उनके लंड भी जल्दी न झड़ें. लड़की लड़का के बीएफ उसकी चुत देखते हुए दूसरी बोली- चल जल्दी जा … अपना भोसड़ा न दिखा मने.

फिर थोड़ी देर में हाथ चादर के अन्दर ले गए मुझे अहसास हो गया कि अब्बू चादर के अन्दर से अम्मी की गांड हल्के हल्के से सहला रहे थे.

लड़की लड़का के बीएफ?

इससे कासिब मस्त हो गया और आगे सुनाने लगा- गुलचीन बोली कि मजहर अपने यार का लंड अपनी बहन की चूत से अच्छे से लगा दे. मैं बाथरूम में गया, तो देखा कि भाभी बांहें पसारे मदहोशी के आलम में खड़ी थीं. उसको भी एक नया लण्ड चाहिए था जो उसे मेरे रूप में दिखने लगा था। फिर हमारी बातें फ़ोन सेक्स में बदलने लगीं।मैंने उसे ये एहसास दिला दिया था कि मैं उसे फिर से वही मजे दे सकता हूं जो वो शादी के पहले लिया करती थी।अभी तक मैंने उसे एक किस भी नहीं किया था।मगर बातों ही बातों में उसकी चूत को अपने लंड के लिए तड़पा जरूर दिया था.

फिर मैंने अपने कपड़े भी उतार दिए और अपना लंड सारिका के हाथ में दे दिया. फिर कुछ देर बाद मैंने मामी को पलटा दिया और राजधानी की स्पीड में पूरे लंड को अन्दर बाहर करने लगा. मेरा तो मन कर रहा था कि आपको हटा कर खुद नीचे लेट जाऊं कि आओ भाई … अब आप मेरी चूत को भी चोद कर इसे शांत कर दो.

तो दोस्तो, अगले भाग में मैं मैडम की चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से लिखूंगा. बॉयफ्रेंड से बी डी एस एम सेक्स- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि मैं नकली लंड से अपने ब्वॉयफ्रेंड की गांड मारने की तैयारी कर रही थी. कभी अपनी उंगलियों से उनके चुचों के निप्पल छेड़ता और कभी हौले से निप्पल को अपनी जीभ से कुरेद देता.

ऐसा लग रहा था … जैसे कोई जन्नत की हूर अपने आशिक को मदिरा पिला रही हो. अपने आस पड़ोस की लड़कियों की चूचियां और मटकती गांड देख मेरा लंड खड़ा हो जाता था.

मैं साहिल के वीर्य से भरी अपनी चूत साफ करते हुए नहा कर तौलिया बांध कर बाहर आ गयी।चुदने के बाद मैं किचन में आ गयी हम दोनों के लिए नाश्ता बनाने!फिर साहिल ने मुझे अपनी गोद पर बिठा कर खिलाया अपने हाथ से।नाश्ते के बाद साहिल टी वी देखने लगा.

अब तो दिन में भी जब चान्स मिल जाता है, तो हम दोनों फुल एंजाय कर लेते हैं.

थोड़ी देर उसने मेरा लंड अपने हाथ से सहलाया और बोली- इतना बड़ा अंदर कैसे जायेगा?मैं बोला- ट्राई तो करने दे यार … चला जायेगा. मैंने ये सुना तो अपनी बहन की चूत से लंड खींचा और उसके ऊपर पानी छोड़ दिया. कुछ देर के बाद दोनों के मुँह से सिसकारी निकली और दोनों एक दूसरे से कसकर लिपट कर एक साथ झड़ने लगे.

मैं थोड़ा सा नीचे की ओर खिसका और अपने लण्ड का सुपारा हनी के गले तक उतार दिया. दोस्ती भी ज्यादा गहरी नहीं थी लेकिन अच्छी बोलचाल थी और खाना पीना भी साथ में हो जाता था. मैंने पोर्न वीडिओज़ में देखा था कि स्ट्रैपऑन से कैसे एक लड़की एक लड़के के साथ सेक्स करती है.

इसके बाद मैंने कुलजीत को कॉल किया कि मैं आठ बजे व्हिस्की लेकर आऊंगा, पार्टी करेंगे.

करीब सवा दस बजे डॉटेड कॉण्डोम का पैकेट लेकर मैं कुलजीत के घर पहुंचा तो हनी ने दरवाजा खोला. मैंने पूछा- गांव में क्यों नहीं चुदी?आंटी मेरी गांड को अपनी चूत की ओर खींचकर लंड लेते हुए बोली- आह्ह … गांव में तेरे जैसा लौड़ा कोई मिला ही नहीं. मैंने चुटकी ली- चाचा की याद आ रही है क्या?चाची हंस कर बोलीं- नहीं रे.

वह मुझे मेरे होठों पर किस कर रही थी और अपना हाथ नीचे ले जाकर मेरे लन्ड पर फेर रही थी. पर मैंने उसे कसके पकड़ रखा था इसलिए वो मुझसे खुद को छुड़ाने में असमर्थ थी. जिस तरीके से वो मेरा लंड चूस रही थीं, मैं तो और भी पागल हुआ जा रहा था.

5 मिनट तक इसी तरह चोदने के बाद वो झड़ने लगे और उन्होंने शालू को जोर से भींचकर कहा- आह्ह … आह्ह … मेरी जान … मैं झड़ रहा हूं … आह्ह … ओह्ह … शालू … संभाल मुझे.

मैंने उसकी ड्रेस उतारी, तो देखा कि प्रिया लाल ब्रा और लाल जालीदार चड्डी में मेरे सामने बैठी थी. बुआ के बच्चे स्कूल जा चुके थे।मैं जैसे ही उसके रूम पहुंचा बुआ को देखकर चौंक गया।बुआ के मस्त भरे और उठे हुए मम्मे और गदराई गांड।मेरा लंड एकदम से गर्म होने लगा.

लड़की लड़का के बीएफ उसकी सांसें तेज हो गयी थीं और मेरी भी।ऐसे ही 4-5 मिनट तक किस करने के बाद मैं उनके उपर से हटा. उसके बाद मैंने ड्रेस पहनी और चलने लगी तो मुझसे ठीक से चला नहीं जा रहा था.

लड़की लड़का के बीएफ इससे मैं धीरे धीरे गर्म होने लगा और कुछ ही मिनट बाद मेरा माल निकल गया जो पूरा अंकिता के हाथों में लग गया था. मैंने लंड का पूरा माल उसके मुँह में ही डाल दिया और लंड फंसाए हुए उससे कहा- पी जाओ.

सन्नो उसे चूमते हुए बोली- आपसे एक बात पूछूँ … आप नाराज़ तो नहीं होंगे ना!रणजीत- अरे पूछ मेरी रानी मैं क्यों नाराज़ होने लगा भला.

बरगद के पेड़ का दूध कैसे निकाले

मुझसे भी अब रहा नहीं जाता था, इसलिए मैंने संगीता के दायें स्तन को अपने मुँह में लिया और दूसरे स्तन को मेरे हाथ से मसलने लगा. अब मेरी चूत उसके मुंह के सामने थी और मेरे मुंह के सामने उसका लौड़ा आ गया. मैंने स्वीटी से कहा कि जानू क्यों न हम अभी कुछ करें!उसने मुस्कुरा कर कहा- जैसी तुम्हारी मर्जी.

रात में मेरी बहन ने डिनर बनाया और हम दोनों ने साथ में ही डिनर किया. वो मुझसे बोला- साली तू बहुत बड़ी चुदक्कड़ है ना … बहुत हवस है ना तेरे अन्दर … आज इस लंड से तेरी सारी हवस मिटा दूंगा. फिर अगले ही पल उसने करवट ली और मेरे हाथ को अपनी चूचियों पर ही दबाये हुए सीधी होकर पीठ के बल लेट गयी.

उसने अपनी सुहागरात के मजे किए, इधर उसी के बगल वाले कमरे में मैंने प्रिया को फिर से चोदा और सुहागरात की तरह दूल्हे की भूमिका निभाई.

उसके बाद 5 मिनट तक हम ऐसे ही एक दूसरे को देखते रहे और किस करते रहे. अब मैं भाभी के पैरों के बीच में आ गया और अपना लंड उनकी चूत पर रगड़ने लगा. मैंने पूछा- आप लखनऊ किस काम से आई थीं?वो बोलीं- मैं दरअसल अपनी एक सहेली के परिवार में किसी की शादी में आई थी.

जब उनसे रहा न गया तो उन्होंने दीदी को नीचे लिटाया और उनकी चूत पर लंड टिका दिया. अस्मा कासिब का लंड मुँह से निकाल कर बोली- भाई, पहले अब्बू ने मेरी गांड मार कर मेरी चूत की आग भड़का दी और अब तूने चूस और चाट कर मेरी चूत से रज निकाल दिया. भाभी ये सुन कर थोड़ा हंसी और बोलीं- आपको मालूम तो है ना कि मैं शादीशुदा औरत हूँ?मैं बोला- हां मालूम है … लेकिन मैंने जब आपको पहली बार मेरे घर की पूजा में देखा था, तभी मुझे आप पसंद आ गयी थीं.

फिर उसके दो पल बाद जीजू ने अपना पूरा लंड बाहर निकालकर फिर से एक जोर का धक्का दे दिया।मैं इसके लिए बिल्कुल तैयार नहीं थी, उनके धक्के से मैं दर्द से चिल्लाई।उस धक्के से उनके लंड के अंदर बचा सारा पानी मेरी चूत में निकल आया. तो पूजा ने कहा- क्या करूं मैडम, शादी सैट हो चुकी है … लेकिन बर्दाश्त ही नहीं होता है.

वो मेरे लंड के नीचे कैसे आयी?लेखक की पिछली कहानी:राजनीति में सेक्स से मिली सफलतासभी मित्रो को प्रणाम, आज फिर से आपके बीच एक सच्ची घटना पर आधारित सेक्सी हॉट चाची चुदाई कहानी लेकर हाजिर हूँ. मैंने भी झट से अपने पूरे कपड़े खोल दिए और अपना लंड उसके सामने कर दिया- ले चूस साली रंडी लंड तैयार कर मादरचोदी. एक बार फिर से चुदाई की धकापेल हुई और सब नंगे ही चिपक कर साथ में सो गए.

बाक़ी परिवार दूसरे शहर में है।30 साल की उम्र और एक एथलेटिक बॉडी का मालिक हूँ मैं … जिसके साथ एक चोदू दिल है जो ख़ूबसूरती की क़द्र भी करता है और रसपान भी।कई बार ख़ुद पर यक़ीन नहीं होता.

हीरोइन (ट्रेनी) कह रही थी- आह सर … आपकी इस ट्रेनिंग का मैंने बहुत इंतज़ार किया है … अब मैं आपकी हूँ सर … आज आप जो चाहें कर सकते हैं. तभी उसने मेरे कमर के दोनों बाजू में अपने पांव रखे और अपनी चूत मेरे लंड के सुपारे पर रख कर धीरे धीरे अपनी कमर ऊपर नीचे करने लगी. वो कामुकता से बोल रही थी- आह अब बस करो मुझे जल्दी से चोद दो आह मुझसे अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

यहीं घर पर खा लेंगे, यहीं ड्रिंक करके खाना खा कर सो जाएंगे, सब अपने घरों में खबर कर दो. उसने मुझसे सीधे कहा कि क्या तुम मुझे चोदना चाहोगे?उसके मुँह से इतना स्पष्ट ऑफर सुन कर मैं चौंक गया.

बाद में पार्क से बाहर निकल कर हम दोनों ने नाश्ता किया और उसी दरमियान उन्होंने मुझसे मिलने की बात कही. वो मेरी तरफ देख कर हल्के से मुस्कुराई और हां में सर हिला कर अन्दर चली गई. फिर वो फ्रेश होकर आई और मुझसे बोली कि मेरी गांड और चूत में फिर से डाल दो डिल्डो.

चेतन सेक्सी

वो ‘अअअह ऊऊह … अंकित रुको अअह प्लीज़ रुको … अअअअ बसस्स अब नहीं … ऊऊउ अअअह …’ कर रही थी.

अस्मा मेरी चुदाई देख कर बोली- आपा, मुझे भी भाई के लंड से मजा लेना है. अब मैंने उसकी चूत को सहलाना शुरू किया और अपनी जीभ को चुत पर ले जाकर चाटना शुरू कर दिया. अब पूजा की चुदाई का पूरा मजा कैसे लिया, इसका वृतांत मैं इस गांड मारी कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

कुछ देर तक लंड चूसने के बाद मैं उठा और उसके लंड को अपनी गांड के छेद में लेकर उसके लंड पर धीरे धीरे बैठने लगा. मैं अपने बारे में बताता हूं आपको कि मेरा नाम राकेश है और मैं दिल्ली से हूं. इंडिया सेक्सी बीएफ चुदाईभाभी ने मेरी आंख को देखा और हंस कर कहा- इसका मतलब ये हुआ कि मुझे ही सब सिखाना पड़ेगा.

धवन साहब की उम्र करीब 55 साल, कद मुझसे दो इंच कम, दुबला पतला शरीर, गंजा सिर, आँखों पर चश्मा. आआआह साले भड़वे मादरचोद, चूत क्या पूजा करने के लिए रखी है क्या? उसका भोसड़ा बना पहले … बाद में गांड में मस्ती कर लेना.

कुछ देर बाद मेरे लंड ने अकड़ना चालू कर दिया, तो मैंने भाभी से कहा- भाभी हट जाओ … मैं आ रहा हूँ. जब शालू की सास प्रेमा को इसका अहसास हुआ कि भानू जानबूझकर पैसे नहीं दे रहा है तो उसने भानू से इसको लेकर झगड़ा किया. मैं तौलिया उठाने के लिए नीचे झुका तो उसने मेरे लंड को हाथ में पकड़ लिया.

अब मैंने उनकी साड़ी को हटा कर उनके पेटीकोट को भी खोल दिया और उनकी चूत को पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा. सिगरेट खत्म होने के बाद उसने मुझे उठाया और मेरी गांड से लंड बाहर करके मुझे लेटने को बोला. आपकी प्यारी पिंकी सेन[emailprotected]गरम लड़की की चुदाई कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 17.

चाची मादक सिसकारियां भरते हुए अपनी गांड उठा कर लंड का साथ दे रही थीं.

मैंने कहा- मैडम चारबाग़ काफी दूर है और मुझे वापसी में काफी देर हो जाएगी. कुछ ही देर में मैं पूरी तरह मामी से चिपक गया और उनके पीठ को डरते डरते किस कर लिया.

मगर दोस्तो, ऐसा जोश था कि बस किसी तरह फंसा देना चाहता था उसकी चूत में लंड को. आआह ओफ्फो … हाय दइया ऊई मा अहहए असगर के अब्बू … आज तो बहुत मज़ा आ रहा है. फिर जब सुयश ने उसकी चूत में उंगली चलानी शुरू की तो वो मछली के जैसे तड़पने लगी.

मैं लंड पेल कर उसकी छाती पर चूमने लगी और उसके निप्पलों को बारी बारी से चूसने लगी. तभी मुखिया ने कुछ सामान भेजा था, जिसको कालू और एक दूसरा नौकर सुमन को सामान देने आये थे. उसपे एक बिल्कुल टाइट छोटी कुर्ती निकाल कर बाथरूम में जाकर बदलने लगी.

लड़की लड़का के बीएफ मेरी बुर को तहस-नहस कर दिये हैं आप!मैं बोल पड़ा- मगर तुम्हें मजा आया कि नहीं?वह कॉलेज की लड़की झट से खुश होकर बोली- मजे में तो कोई कमी नहीं रही. इस ऑफिस गर्ल सेक्स कहानी में जिसकी बात मैं करने जा रहा हूं उसका नाम पुष्पा है.

অস্ট্রেলিয়ান সেক্স ভিডিও

कोई आ गया तो क्या होगा?वो बोला- कुछ नहीं होगा, हम लोग छत पर चलते हैं. मैंने फिर से लंड उसकी चूत पर सैट किया और फिर से उसके लिप लॉक करके ज़ोर से झटका मारा. मैंने मामी से पूछा तो मालूम हुआ कि पूरे इलाके की लाइट रात भर के लिए कट हो रही है.

भाभी शाम को मौसी के पास आईं और बोलीं- मौसी, मेरी तबियत ठीक नहीं है, आप आज रात मेरे कमरे में आ जाएंगी, तो मुझे काफी सहायता हो जाएगी. भाभी ने कहा- देखो, तुम मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बनाओगे … तो तुमको अपनी गर्लफ्रेंड के सब नखरे झेलने पड़ेंगे. सेक्सी बीएफ चोदने वाली देहातीलेकिन राहुल ने वैसलीन मेरी गांड के छेद पर लगाई और पेनिस स्लीव पर मलने लगा.

तभी राजसी का फ़ोन आया मेरे फ़ोन पर!लड़की की सेक्सी आवाज में यह कहानी सुन कर मजा लें.

फिर एकदम से मेरे बरमूदे में हाथ डाल दिया और मेरे लंड को हिलाने लगी. अब मेरी चूत उसके मुंह के सामने थी और मेरे मुंह के सामने उसका लौड़ा आ गया.

मैं तो सोच ही नहीं पाया कि क्या करूं!वो भी मेरी तरफ ऐसे खड़ी होकर देखने लगी कि पता नहीं उसने क्या देख लिया हो. मैंने तुरंत बात को संभालने की कोशिश करते हुए कहा- नहीं आंटी, आप मां को कुछ मत कहना. उसकी चूत में अब मैं लगातार उंगली चलाने लगा और मकान मालकिन ने अपनी चूचियों को खुद ही दबाना शुरू कर दिया.

सिगरेट खत्म होने के बाद उसने मुझे उठाया और मेरी गांड से लंड बाहर करके मुझे लेटने को बोला.

फिर बॉस मुझे बहुत प्यार करने लगे थे और मैं भी उनको जान से ज्यादा चाहने लगी थी. उसने अपने दोनों हाथ मेरी छाती पर टिका दिए और धीरे धीरे वो खुद हिलने लगी. अम्मी की मांसल गांड का छेद फूलने खुलने लगा और अम्मी अपने दोनों चूतड़ों को आपस में मिलाने और खोलने लगीं.

इयत्ता बीएफपापा ने मेरे दोनों मम्मों को अपने हाथों से पकड़ लिया और मस्ती से दूध मसलने लगे और चूसने लगे. मैंने तुरंत बात को संभालने की कोशिश करते हुए कहा- नहीं आंटी, आप मां को कुछ मत कहना.

पिंकी भाभी के सेक्सी वीडियो

उसकी चिकनी टांगों के बीच फूली हुई गीली बुर बड़ी ही मनमोहक लग रही थी. दीपक मेरी लोअर और पैंटी उतार कर मेरे पैरों के बीच में आ गया और मेरे ऊपर झुक कर चूचों से खेलने लगा. अब उसके होंठ मसलते हुए और गले को, बांहों को हाथों से सहलाते हुए चूचों पर आ गया.

मैंने एक बार मधु की वासना से भरी हुई आंखों में झांका और एक जोर का झटका दे दिया. मैंने मामी के बाल पकड़ कर एक जोरदार किस किया और एक तेज धक्का लगाकर लंड चुत के अन्दर पेल दिया. उसने झट से किसी भूखी शेरनी की तरह मेरे लंड पर झपट्टा मारा और मेरा पूरा लंड अपने मुँह में भर लिया.

जैसे ही संगीता ने अपनी मैक्सी उतारी, उसकी धारदार फिगर को देख कर में हैरान ही रह गया. चाय पीने के दौरान एक दूसरे के अंगों से खेलने के कारण हम लोग उत्तेजित हो गये और मैंने ड्राइंग रूम में ही हनी को कुतिया बनाकर चोद दिया. थोड़ी देर बाद मम्मी को मैंने अपनी जगह कर दिया और मैंने अपने दोनों छेदों में लंड डलवा कर अपनी चुत गांड की एक साथ चुदाई करवाई.

जिस पाठक या पाठिका ने इससे पहले की दोनों कहानियां नहीं पढ़ी हैं … वो उन्हें पहले पढ़ लें. उसने मेरे दोनों पैर बांध दिए, जिससे मेरी चुत और गांड दोनों उसके सामने खुल गई थीं.

मैंने नम्बर सेव किया और देखा तो भाभी व्हाट्सएप्प पर थीं और उनकी एक बहुत प्यारी तस्वीर डीपी में लगी थी.

मेरे पीछे से पापा ने अपना हब्शी लंड मेरी चुत के छेद पर घिसा और एक ही ज़ोर के झटके से चुत के अन्दर से पेल दिया. बाबा के बीएफ वीडियोउनकी चुम्मियों से अब मैं भी गर्म होने लगा था और मेरा लंड भी खड़ा हो रहा था. मराठी बीएफ सेक्स मूवीफिर हीरोइन ने जेनिल की देख कर कहा- अरे यार पगली हो तुम जेनिल … तुमने इतने कीमती वीर्य को ऐसे कैसे बह जाने दिया. मैं- क्या आप मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी!भाभी- गर्लफ्रेंड बनाकर क्या करेगा!तभी मैं भाभी के गुलाबी होंठों को चूमने लगा और भाभी ने मेरा साथ दिया.

सोचा कि स्तनों के दर्शन भी हो जायें तो रात के लिए मुट्ठ मारने का जुगाड़ हो जाये.

पन्द्रह मिनट तक उनके दोनों चुचों को बारी बारी से चूस कर मैंने लाल कर दिए थे. तब सुरेश बोला- जो यह पानी चूत में डाले वो पति … और जो बाहर डाले उसकी तू रन्डी! समझी कुछ?तो मैं बोली- यह रन्डी क्या होती है?तब सुरेश बोला- भोसड़ी वाली … अभी तू 19 साल की है. चाची एकदम से पागल हो गयी और उसने मुझे धक्का देते हुए नीचे पटक लिया.

अंकित- वाह … मुझे भी अन्दर ही डालना था … तूने तो दिल खुश कर दिया रानी. लेकिन राजसी थी बहुत बड़ी रंडी … इतने दर्द के बाद भी उसने साहिल से ना तो अपना लन्ड बाहर निकलने को बोला और न ही रुकने को!इधर साहिल भी हर धक्के में अपना लन्ड राजसी की गांड में ठूँसता चला जा रहा था. फिर मैंने देखा कि उसकी चुत के दोनों तरफ से पकड़कर अपनी जीभ उसमें डाल दी.

गाली गलौज शायरी इन हिंदी

फिर वो तड़प कर बोली- बस … अब कर दो ना … राज … बहुत दिनों से तुम्हारे साथ इस पल का इंतजार था. निकिता मैडम मुझसे कहने लगीं- आह रिची धीरे धीरे आह … मैं झड़ चुकी हूँ अब मुझे जलन हो रही है. सच बताऊं तो मुझे बहुत टेस्टी भी लगा जैसे किसी ने मुंह में नमकीन पानी भर दिया हो.

यह सुन वो बोली- तू मेरा हौसला बढ़ा रहा है … या मुझे डरा रहा है?मैंने बोला- जो तू अच्छा समझे.

मगर थूक से गीला होकर वो मेरे हस्बैंड से ज्यादा टाइट और विकराल लग रहा था.

मेरा क्या होगा?”तुम कल सुहागरात मना लेना, विक्की बाबू तो आप पर मरे पड़े हैं. मैंने कहा- सुनो यदि मुझे चाहती हो, तो घर से स्कूल के लिए निकलना और मेरे घर में आ जाना. जॉनी सेक्सी बीएफप्लीज़ अपना लंड हिलाने के चक्कर में मुझे इस ऑफिस सेक्स स्टोरी के लिए मेल करना न भूल जाना.

उसने मुझसे कहा कि मैं तुम्हारे सोने का बंदोबस्त यहां हमारे पास वाले कमरे में कर देती हूँ. चाची बोलीं- हां अब बोल … क्या कर रहा था?मैंने कहा- बस चाची जी, नींद नहीं आ रही थी तो मैसेज करने लगा था. अब चाची बोले जा रही थीं- आह इसमें इतना मजा आएगा … मैंने कभी सोचा ही न था … आह और जोर से पेल आह और जोर से चोद … आज फाड़ दो मेरी गांड.

दोस्तो, इस सेक्सी लड़की की वासना की कहानी के अगले भाग में आपको नूपुर की सीलपैक चुत की चुदाई का मजा मिलेगा. दोस्तो, इस सेक्सी लड़की की वासना की कहानी के अगले भाग में आपको नूपुर की सीलपैक चुत की चुदाई का मजा मिलेगा.

जीजू- क्यों, मैंने क्या कर दिया ऐसा?मैं बोली- कल रात को मैं अकेली सोती रही और आप दीदी के साथ सोते रहे.

पानी पीते ही मेरे अन्दर फिर से आग लग गई और मैंने उनको अपने साथ खींच लिया. खेत में चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैं अपने खेतों में पानी लगा रहा था. Xxx पड़ोसन चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि एक रात मुझे माकन मालिक के घर सोना पड़ा.

हिंदी फिल्म दिखाइए बीएफ लड़कियो, आपके लिए ख़ास लिख रहा हूँ कि मेरा लंड एकदम सख्त है और सामान्य से बड़ा है. उस वक़्त अम्मी के दोनों विशाल चूतड़ हर तमाचे पर और उसी के साथ अम्मी के हर झटकों पर बुरी तरह से हिलते दिख रहे थे.

मेरा काफी देर से वीर्य नहीं आया था … तो बहुत ज्यादा मात्रा में वीर्य उसके चेहरे और सीने पर लग गया था. भाभी की कामुक सिसकारियों से रूम भी गूँज उठा- उम्म्म … आह … मत रुको जान, खूब चूसो … आह आई मिस्ड इट अ लॉट … उमम्म्म … आउच!मैं एक हाथ से अपने लंड को ऊपर से शेक कर रहा था. भाभी के इस सेक्सी अंदाज को देखकर किसी बुड्ढे के लंड में भी आग लग जाए.

देसी सेक्सी सुहागरात वीडियो

मैं मज़े से उफ़्फ़ आह हहह ओहह आओहह उई मा और तेज़ साहिल और तेज़ आह आह करके चुदवाने लगी. तभी चाची की नजर मुझे पर पड़ी और उन्होंने मुझसे भी बात करनी शुरू कर दी. उनको चूमने के बाद चाचा मेरी गर्दन को चूमते हुए, कंधों से होते हुए मेरी चूचियों पर आ गये.

हैलो फ्रेंड्स, मैं रिची एक बार फिर से अपनी Xxx टीचर चुदाई कहानी के साथ आपके सामने उपस्थित हूँ. इसके बाद से ये मेरा अनुभव हो गया था कि मजबूर लड़की को समय के हिसाब से बहुत कुछ करना पड़ता है.

उन्होंने कहा- नहीं यहां नहीं … ये भी कोई मुँह लगाने की जगह है!मैंने कहा- स्स्स्स्स … आप बस चुप रहो और बस इस पल को एन्जॉय करो.

जब सर का लण्ड काले नाग की तरह फुफकारने लगा तो सर ने कहा- पम्मो रानी, अब ये लण्ड हमारे बस में नहीं है. तो वो दोनों भी ये सब सुनेंगे और उनको भी पता चल जाएगा कि हम चारों की सेम इच्छा है. चल जल्दी से लंड को चूस कर इसको चिकना कर दे … ताकि तेरी चुत में आराम से चला जाए.

अब इस औरत सेक्स की कहानी के अगले भाग में मैं आपको अनजान मैडम की चुदाई की कहानी का पूरा वर्णन लिखूंगा. उसकी मटकती गांड देखकर मैं यही सोच रहा था कि आज इन्हीं पहाड़ियों पर चढ़ाई करनी है. इतना कहकर वो उठे और अपने फोन की टॉर्च से देखते हुए तेल की शीशी उठा लाये.

अपनी वह कहानी अभी बाद में लिखूंगी कि कैसे मैंने अपनी चुदाई अपने टीचर से करवाई।मैं राजेश का लौड़ा चूसने लगी और मैं लोड़े को गले तक ले जा ले जा कर चूस रही थी.

लड़की लड़का के बीएफ: लगभग 15 मिनट मेरी गान्ड मारने के बाद उसने अपना वीर्य मेरी गान्ड में छोड़ दिया और मेरी गान्ड चिकनी हो गयी. इस तरह के स्टाइल से सेक्स करने का अपना मजा है।फिर मैं काले खीरे को घुसाए ही अपना पूरा बदन उसके बदन पर टिकाकर उसके होंठों को चूमने लगा.

कोई बीस मिनट बाद चुदाई का खेल शुरू हुआ और मैंने स्यू मामी को आज निगार समझ कर चोदना चालू कर दिया. ये देख कर उसने अपनी स्पीड बढ़ा को दिया और वो अपना पूरा लंड मेरी गांड की जड़ तक डालने लगा. दीदी ने केवल ब्लाउज पहना था और चूत पर केवल एक पतली सी पैंटी थी जिस पर रुमाल ही था.

मैंने अपना लौड़ा उसकी गांड के ऊपर रखा और धीरे धीरे से अन्दर धकेलने लगा.

कुछ देर पहले तक दो ढाई इंच का मुरझाया हुआ लण्ड खड़ा होकर करीब चार इंच का हो गया था. उन्होंने मुझे देखा और पूछने लगे- अरे बेटा, तू शहर से कब आ गया?मैंने उनको प्रणाम किया और बताया. और उन्होंने मेरे हाथों से सलवार और समीज लेकर अलग रख दिये।अब मैं उसके सामने बिल्कुल नंगी अपने हाथों से अपनी चूचियाँ ढक कर बैठी थी.