बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं

छवि स्रोत,चुदाई बीएफ वीडियो एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

સેક્સી દેસી વિડીઓ: बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं, मैंने जाकर बेल बजाई ताकि सुमिना को किसी भी तरह इस बात का शक न हो कि मैंने उन दोनों की चुदाई को देख लिया है या मुझे पता चल गया है कि उसका कुणाल के साथ क्या चक्कर चल रहा है।सुमिना ने दरवाजा खोला तो उसका चेहरा खिला-खिला सा लगा मुझे.

बीएफ नंगी वीडियो सेक्सी

ऐसा कहते हुए जीजा ने मेरी गर्दन को पकड़ लिया और अपने लंड का सुपाड़ा निपोर कर मेरी चूत के छेद में जैसे ही डाला तो बिना ताकत लगाए ही फच से उनका लंड मेरी चूत में पूरा का पूरा समा गया. बीएफ सेक्सी साड़ी वाली एचडीमैं अन्तर्वासना की एक नियमित पाठिका हूँ, मुझे यहां लिखी हुई सारी सेक्स स्टोरी बहुत पसंद हैं.

उसके बाद मैंने उसकी गीली पैंटी को भी खींच कर उसकी जांघों से निकालते हुए अलग कर दिया. बीएफ इंग्लिश देहातीउसने मुझे ऐसे बांध रखा था कि मैं अपनी एड़ियों पे उचक कर असहाय सी खड़ी थी.

” मैडम के सामने टेबल पर एक मोटा सा करीब चालीस पचास कापियों का बंडल पड़ा था.बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं: जब मैं स्कूल में थी तभी मेरी चूत पर मुलायम झांटें उग आई थीं, मेरे चीकू जैसे मम्में अमरूद जितने हो गए थे और मेरी चूत में एक अजीब सी मीठी मीठी सी खुजली होना शुरू हो चुकी थी.

दूसरी तरफ मोनी हल्का-हल्का कसमसाते हुए बस टसक रही थी।जिस लड़की या औरत के बारे में आपने कभी गलत नहीं सोचा हो और उसी लड़की या औरत के साथ जब आप ऐसा कुछ करते हो तो जो उत्तेजना उसके साथ चढ़ती है वैसी उत्तेजना किसी और के साथ नहीं चढती.मैंने अपने अंगूठे को उसके चूत में डाल दिया और उसके दाने को उंगलियों से मसलने लगा.

बीएफ फिल्म इंग्लिश एचडी - बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं

मुझ पर ही भूत सवार था किसी मिल्ट्री-ऑफिसर को दामाद बनाने का और मेरी इस बेकार की जिद ने सब गुड़-गोबर कर दिया.कुछ देर तो वो दर्द से बिलखती रही मगर फिर उसको भी धीरे-धीरे मजा आने लगा.

दोनों पैर बेड पर, दोनों खड़े हुए घुटनों को अपने दोनों बाजुओं से क्रास पकड़ कर अपनी ठोड़ी घुटनों पर रख कर मेरी ओर गहरी नज़रों से देख रही वसुन्धरा किसी और ही आयाम की लग रही थी. बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं ये कहकर अपनी चूत द्वार से लेकर फांकों के बीच रगड़ते हुए दो बार ऊपर नीचे किया.

आज जो मैं कहानी आपको बताने जा रही हूँ वह भी मेरी एक ऐसी ही सहेली के बारे में है जिसको सेक्स के बारे में ज्यादा कुछ नहीं पता था.

बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं?

इसी समय नम्रता ने अपने पैरों को मोड़ा और साड़ी को सरकाते हुए कमर पर ले आयी. उन्होंने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और फिर एकदम से शांत होकर मेरे ऊपर लेट गये. जब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने आंटी के होंठों को पकड़ जोर से चूस डाला और आंटी की चूत को अपनी हथेली से रगड़ने लगा.

एक दिन भाभी के पति जैसे ही ऑफिस गए, मेरा दोस्त नेहा को मूवी दिखाने ले गया. मुझे भी उससे चुदने में काफी मज़ा आता था, तो मैं भी सौरव को कभी मना नहीं करती थी. वे दोनों इसी शहर के एक कॉलेज में पढ़ती थीं और एक हॉस्टल में रहती थीं.

मैं आज आपको अपनी बुआ की कहानी बताऊंगा जो मेरे ताऊ जी के साथ हुई एक सच्ची घटना है. मैं नजर बचाते हुए उसके पास पहुंचा और अंदर साइड में होकर मैंने उससे पूछा- क्या बात है? आज तुम यहां कैसे रुकी हुई हो?मनमीता ने मेरी पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड पर हाथ फिराते हुए उसको सहला दिया और मेरे सीने से लिपट गई. जैसे ही मेरे लंड का सुपारा भाभी की चुत में घुसा, तो उनके मुँह से आह निकल गई.

कुछ देर चूसने के बाद मेरा जोश पूरा भर गया और उसने मेरे लंड को सही वक्त पर बाहर निकाल दिया नहीं तो मैं उसके मुंह में ही झड़ जाता. मैं दर्द से चिल्ला उठी- भोसड़ी के मार डाला मुझे, निकाल बाहर अपना लंड … मुझे नहीं चुदवाना है.

मेरी बात खत्म होने से पहले ही नम्रता घूम गयी और लंड के चारों तरफ जीभ फिरा कर अच्छे से लंड चाटने लगी.

वो मेरी तरफ देख कर बोला- तू आराम से खुल कर मजे ले रंडी, मुझे भी अपने बाप की तरह ही समझ.

हाय नहीं … बस बस … आह … ह … ह!कहते-कहते वसुन्धरा ने मेरे सर के बाल पकड़ लिए और बहुत बेदर्दी से मुझे बेड पर अपने ऊपर खींच कर मेरे होठों पर अपने होंठ रख कर मेरे होंठ चूमने लगी … चूमने क्या लगी, यहां-वहां काटने लगी. पेशाब करने के बाद वो जैसे मुड़ने लगी, मैं जल्दी से बिस्तर पर आकर सीधा होकर लेट गया. मैंने टीवी बंद किया और उठा कर किचन की तरफ जाने लगा, तो किचन की ओर से आती हुई मामी अचानक मुझसे टकरा गईं.

अब मैं आंटी की ड्रेस पर ध्यान दिया तो उसकी नाईटी तो एकदम ट्रांसपैरेंट थी. यह सुनते ही उसने मेरी चूत में अपनी जीभ डाल दी, फिर अपनी दो उंगलियों को एक साथ मेरी चूत में घुसाने लगा. हम दोनों ने अपने आपको ठीक किया और कपड़े वगैरह सब अच्छी तरह करके हम दोनों होटल से बाहर आ गये.

आंटी मेरी बात सुनकर हंसने लगीं और बोलीं- अब बोला तू सही बात … चल बैठ जा.

मेरा पूरा लंड भाबी के मुँह में जाते ही मुझ पर न जाने कौन सा शैतान सवार हो गया, मैंने अपना लंड एकदम से भाबी के गले तक ठांस दिया. इस बार वार बहुत तगड़ा था, उनकी चीख़ निकल गयी, वो बोली- धीरे कर!मैंने उनकी एक न सुनी, मैंने कहा- अभी मुझे अपनी मर्जी कर लेने दो, आपको मज़ा न आए तो कहना!उन्होंने कुछ नहीं कहा और मैं उनकी चुदाई करता रहा. मैंने उसके बोबे अपने हाथ में लिए और उसकी नंगी पीठ से बिल्कुल चिपक गया।मेरे ऐसा करने से वो वासना में डूब गयी। मैं उसी अवस्था में उसके कंधों पर चूमने लगा। उसके मुंह से कामुक सिसकारी निकली- आहह!मैंने चुंबन जारी रखा.

वो बहुत ज़ोर से तड़प उठी- आआहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… यसस्स उफ़ … आअहह. घर आकर जब मैंने इस पूरे घटना क्रम के बारे में सोचा, तो पाया कि कामिनी के साथ हुई चुदाई बहुत ही लाजवाब थी. बीच बीच में अपना अंगूठा उसकी गांड के छेद पर रखकर हल्के से दबा देता.

दीदी मुझे जयपुर घुमाना चाहती थी और मेरे लिए वहाँ से कुछ खास तरह के कपड़े भी खरीदना चाहती थी.

साली, तू इतनी गजब माल है कि तुझे चोद कर इतना मजा आयेगा मैंने कभी सोचा भी नहीं था. फिर जीजू ने पीछे से ही अपने खड़े हुए लंड को मानसी की उबल चुकी चूत में सट से घुसा दिया तो मानसी खुद ही अपनी गांड को जीजू के लंड पर ऊपर नीचे पटकती हुई उनके गोरे लम्बे लंड से चुदने लगी.

बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं आप सभी को मेरी पहली कहानीप्यासी औरत की मालिश और चुत की चुदाईपसंद आई, उसका शुक्रिया. पर उन्होंने मौसी के कपड़े और बैग फेंक दिए थे तो उन्होंने मेरे कपड़े और एक वाइट सूट सलवार दिया, जो बहुत चुस्त था, जिसे पहन कर मौसी की हर चीज़ दिख रही थी.

बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं सुमन एकदम से उठ कर कहने लगी- क्या कर रही है?मगर मैंने फिर से सुमन के भीगे हुए चूचों को अपने हाथों में पकड़ लिया और उनको दबाने लगी. वर-वधू की कुंडलियाँ तो मिलाई जाती हैं लेकिन वर-वधू की मानसिक-अनुकूलता की किसी को कोई परवाह नहीं रहती.

पहले दोस्ती मजबूत हुई, फिर हम दोनों अपनी पर्सनल जानकारी एक दूसरे से साझा करने लगे.

भोजपुरी बीएफ वीडियोस

अपने इसी स्वभाव के चलते वो मेरे साथ और मेरे पति के साथ भी मजाक करने लगे. उसने मेरी छाती पर चूमना शुरू कर दिया और मैंने नीचे से हाथ ले जा कर उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर फिराना शुरू कर दिया. उसने मेरी चूत को मसलने के बाद मेरी चूत पर अपना लंड रख दिया और मेरी चूत को लंड के सुपारे से रगड़ने लगा.

उसकी काली रंग की ब्रा और उसके 36 साइज के चूचों पर पसीने की बूंदे मानो ऐसी लग रही थीं जैसे किसी कमल के ऊपर ओस की बूंदें गिरी हुई हों।मेरा दोस्त उन पसीने की बूंदों को चाट-चाट कर मेरी गीतू को गर्म करता जा रहा था और गीतू हवस की आग में बदहवास होती जा रही थी. उसने मुझे ऐसे बांध रखा था कि मैं अपनी एड़ियों पे उचक कर असहाय सी खड़ी थी. मैंने उसकी गांड को दबाना शुरू कर दिया और उसकी चूत की तरफ अपने लंड को धकेलता हुआ उसके कपड़ों के ऊपर से चोदने की कोशिश सी करने लगा.

तभी मामी ने मुझसे फिर से कहा- चलो छत पे चलते हैं, इधर मेरा मन नहीं लग रहा है.

कुछ दिन गुजर जाने के बाद आखिरकार वह दिन भी आ ही गया मेरी जिंदगी में. फिर नाभि में जीभ चलाता और फिर उसकी उजली जांघों में जीभ चलाते हुए पैंटी से ढंकी हुई चूत पर भी जीभ चला देता. उसके बाद मैंने थोड़ा सा जोर लगाया, तो इस बार वो ज्यादा जोर से नहीं चीखी.

थोड़ी देर में मेरे लण्ड ने पिचकारी छोड़ दी, आंटी की चूत मेरे वीर्य से भर गई लेकिन मैंने चुदाई जारी रखी, धकाधक पेल रहा था. मैंने उसको देखा और उसको ऐसे देख कर यही सोच रहा था कि ये खुद टॉवल खोल दे या मैं खोल दूँ. तभी मुझे जोर का करेंट सा लगा;अंकल जी ने अपने होंठ मेरी नंगी चूत पर रख दिए थे और मेरा मोती अपनी जीभ से छेड़ रहे थे.

सौरव ने मुझे इतना चोदा कि मेरा फिगर दो महीने में ही काफी बड़ा हो गया. ऐसा कहते हुए किस करने के साथ मम्मों को दबाते हुए मैंने उसकी चुदाई को जारी रखा.

उसके फ्री के गिफ्ट ने मेरा वो गुस्सा ठंडा कर दिया था, जो उसको लेकर था. इसलिये मैं अब उससे दूर ही रहने लगा।दो-चार दिन तो मोनी भी मुझसे अलग-अलग सी रही मगर फिर धीरे-धीरे उसने भी मुझसे‌ थोड़ा बहुत बात करना शुरु कर दिया। वैसे भी वहाँ घर में हम दोनों ही थे और लगभग दिन-रात एक साथ ही रहते थे।आप भी इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि एक ही घर में दिन‌ रात एक साथ रहेंगे तो एक-दूसरे से बात किये बिना‌ कब तक‌ रह सकते थे. सौरव मेरी चुचियों को चूसता हुआ नीचे आने लगा मेरी नाभि से खेलने लगा.

कभी मौका मिले, तो ट्राई जरूर करना और जिसने भी कभी ट्राई किया हो या ट्राई करने की इच्छा हो, मेल करके मुझे जरूर बताना.

तब राजेन्द्र जी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और किस करके बोले- बहुत हॉट और सेक्सी लग रही हो. जब निहारिका आई, तो मैंने उसको समझाया- निहारिका, जो रात को हुआ, मैं उसके बारे में कुछ नहीं बोलूंगी. मैंने अपनी गर्लफ्रेंड और उसकी फ्रेंड के साथ एक ही बेड पर दोनों के साथ एक ही समय में सेक्स किया है और उसके बारे में मैंने अपनी पहली कहानीपहला आनन्दमयी अहसासमें जिक्र किया है। मुझे तो बेहद आनन्द आया था और उस आनन्द की कल्पना करूँ तो कई बार मन में आया भी कि काश एक बार फिर से वैसा ही करने का मौका मिले।5.

उसके मोटे मोटे चुचे, फिर पतली सी कमर और फिर उठी हुई गांड … मेरा लंड तो पूरा खड़ा हो गया. उसके बाद मैंने जैसे ही अपने लंड का सुपारा उसकी गांड के छेद पर रखा, उसने अपना मुँह दबा लिया.

मैं बार बार दोनों बहनों को मज़ा लेते हुए उसी बात को सोचती और बाप को ये कहते हुए सुनती कि घबराओ नहीं, आज रात किसी लड़के को बुलवाकर तुम दोनों को चुदवा ही दूंगा. वापस आते समय विकी ने मेरी सास से बात की- कैसी हो आंटी, बाकी सब ठीक है न?उसने मेरी तरफ देखा भी नहीं. आगरा से ट्रांसफर होकर जब मैं कानपुर आया तो मैंने कानपुर में जो मकान किराये पर लिया.

अंग्रेज की सेक्सी बीएफ

मैं लंड हिलाते हुए उसकी गांड के छेद पर टिकाया और अन्दर करने की कोशिश की, लेकिन मेरा लंड उसकी गांड के छेद के अन्दर नहीं गया.

सेलिना के होंठों को चूसते हुए मैंने उसकी नंगी चूत को हाथ से रगड़ा तो उसने मेरे लौड़े को अपने हाथ में भर लिया. फिर थोड़ी देर में 7-8 झटकों के साथ मैंने अपना माल चाची की चूत में भर दिया. मैंने उसकी मस्त सी चूत को अपने हाथों से प्यार से छुआ और फिर उसकी टांगों को फैलाते हुए अपने होंठ उसकी चूत पर रख दिये.

वो थोड़ी सी डरी हुई थी क्योंकि ये कोई होटल नहीं, उसका खुद का घर था। यहाँ सब उसे जानते थे।हालाँकि इस फ्लोर पर कोई रहता नहीं था. आशा है कि मेरी पहले वाली सब घटनाओं के वर्णनों की तरह यह भी पढ़ने वालों को पसंद आएगी. बंदर और लड़की का बीएफमुझे बाजार से सामान भी लेना था, तो उसने सामान लेने में मेरी सहायता की.

अक्सर बड़े लंड से बेहतर छोटे लंड ही होते हैं। चुदाई में ओरल, फॉर प्ले जितना ज्यादा होगा उतना आनन्द आयेगा। अत: जो है उसमें ही आनंद प्राप्ति की इच्छाशक्ति बढाएं और सेक्स का आनन्द लें। बड़ा लंड नाइजरिया, अफ्रीकन, वेस्टइंडीज की तरफ के लोगों का होता है लेकिन वहाँ की लड़कियाँ उनके साथ सेक्स करने में सन्तुष्ट नहीं होती हैं। कभी गूगल पर जरूर पढ़ना उनके आर्टिकल्स, आपको हकीकत खुद ही पता लग जायेगी. सामने वाले टोयलेट में भी कोई है, इसलिए चैक कर रहा था।फिर कुछ देर बाद सामने वाले टॉयलेट के गेट की खुलने और बन्द होने की आवाज आयी तब हम दोनों को थोड़ी शांति मिली.

अब तो वो भी अपने डर को भूलकर मुझपर टूट पड़ा और सीधा मेरे दूध में हमला बोल दिया, अपने हाथ से मेरे दोनों दूध को मस्त मसलने लगा. उसने मुझ पर लाइन मारने की बहुत कोशिश की लेकिन मैं उसको इग्नोर कर देता था. जिस सिटी में एग्जाम था, वो थोड़ा दूर था इसीलिए हम दोनों ने ट्रेन से जाने का फ़ैसला किया.

लोअर के अन्दर लण्ड और पैन्टी के अन्दर चूत लेकिन बेबी उनको मिला कर मजा ले रही थी. मैं उसके चूचों को जोर से दबाने लगा और वो भी मुझे जोर से किस करने लगी. सुमन का जिस्म एक खिलता हुआ यौवन का फूल था जो किसी बूढ़े का भी लंड खड़ा कर सकता था.

मुझे बहुत जोर से दर्द हुआ और मैं दर्द से तड़पने लगी, लेकिन बलवन्त ने बिना रुके 3-4 झटकों में ही अपना पूरा लंड मेरी गांड में पेल दिया.

वो मेरे गुलाबी होंठ बहुत प्यार से चूस रहे थे और एक हाथ से मेरी चिकनी जांघ को सहला रहे थे. मैं सहम गयी। मेरा सपना टूटा, मैं सावधान हो गयी। एक हाथ मेरी कमर पर मुझे महसूस हुआ। भाई मुझे खींच के अपने साथ ले जाने लगा.

मेरा मन तो कर रहा था कि उसकी चुत में मुँह डाल के उसका रस चूस लूँ … खा लूँ, लेकिन मुझे उसे तड़पाना था. ये सीन देख कर नैना हंसने लगी और बोली- इससे अच्छा होता अगर ये कोई लड़की पटा लेता. कुछ देर बाद मैंने अपने हाथ उसके टॉप में डाल दिये और उसके चुचे ब्रा के ऊपर से दबाने लगा.

उसको देख कर ऐसा लग रहा था जैसे खेत में खरपतवार के बीच में कोई सूरजमुखी का फूल खिला हुआ है. कुछ ही पलों बाद उसकी गुलाबी चूत ने कामरस छोड़ दिया था, जिस वजह से रूम में फच्छ फ़च्छ. मैंने अब तक अपने खड़े हो चुके लंड को हिलाया, तो भाबी अपनी दोनों टांगें मेरे सामने खोलती हुई बोलीं- और अब आओ ना देव … देखो ना इसमें क्या चुभ रहा है.

बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं तभी जैक ने भी नीचे आकर मेरी चुत में हल्की सी जगह बना कर अन्दर डाल दिया. फिर दो-तीन घंटे ऐसे ही बीत गये और मानसी ने खाने के लिये पूछा तो मैंने बोल दिया कि आज बाहर से पिज्जा मंगवा लेते हैं.

चोदने वाली सेक्सी बीएफ वीडियो

कंडोम अंकल के पूरे लंड पर फिट नहीं हुआ था, पीछे से अभी भी कभी जगह थी. मेरे लंड में लोहे जैसी सख्ती आ चुकी थी और वो अपने विकराल रूप में अब नैना की जांघों को ऊपर की तरफ उठा रहा था. मैंने उसको लण्ड चूसने का इशारा किया तो लण्ड पकड़ कर चूमने, चाटने और चूसने लगी.

अब मैंने अपना एक हाथ ले जाकर उसकी एक चूची पर रख दिया और धीरे धीरे दबाने लगा. अपने बेटे को नहलाकर खिला कर खेलने के लिए घर में छोड़ दिया और बोलीं- आ जा अब मेरी चूत के बालों को साफ कर दे. हिंदी हीरोइन के बीएफ एचडीअलका- थैंक्यू … लेकिन क्या लाइन मार रहे हो?मैं- नहीं यार … सच बोल रहा हूँ.

जब हमारी चैट होती थी तो मैं डिलीट कर देता था ताकि किसी प्रकार की कोई समस्या ना हो।आखिरकार हमने मिलने का एक प्लान बनाया.

उसने मेरे लंड को खा लिया था और टांगें उठा कर मुझसे पूरा अन्दर आने को कह रही थी. पहाड़ी लोगों के विपरीत वसुन्धरा वैसे तो खुले-खुले हाथ-पैरों वाली, करीब 5’6″ लम्बी, गोरी-चिट्टी, क़दरतन एक खूबसूरत स्त्री थी लेकिन बन कर ऐसे रहती थी कि खुदा की पनाह! चेहरे पर कोई मेकअप नहीं, कोई क्रीम नहीं, होंठों पर कोई लिपस्टिक नहीं, भवों की कोई थ्रेडिंग नहीं, कोई नेल-पालिश नहीं, कोई मैनीक्योर-पैडीक्योर नहीं.

अतः गांड मरवाने में रीना काफी अनुभवी हो गई थी।विक्रम ने धीरे-धीरे करके अपना पूरा लिंग रीना की गांड में घुसेड़ दिया तथाशुरूआती धीमे धक्कोंके बाद जोर जोर से रीना की गांड चुदाई शुरू कर दी। रीना की कसाव भरी गांड के कारण विक्रम ज्यादा देर रीना की गांड चुदाई में नहीं टिक सका. गुप्ताइन ने मेरा हाथ कसकर पकड़ा और बोली- वादा रहा, अब बताओ काम क्या है?मैंने कहा- एक बार बेबी को मेरे पास भेज दो. मैंने उसे रास्ता सुझाते हुए कहा- उंगली को थूक से गीला करके गांड के अन्दर डालो, चली जाएगी.

मैंने देखा कि रानी के चूचुक पर मेरे हाथों के लाल लाल निशान पड़ गए थे.

ये बात तब की है, जब मैं 21 साल की थी और मैंने बीए सेकंड ईयर में एडमिशन लिया था. मैं सुमिना से भी इस बारे में बात नहीं करना चाहता था क्योंकि वो मेरी बड़ी बहन थी; इसी कश्मकश में फंसा था कि अब आगे क्या किया जाये. एक दिन क्लास से घर जाते वक्त मैंने स्वीटी को लिफ्ट के लिए पूछा, तो वो बोली कि वो ऑटो रिक्शा से जाएगी.

बीएफ सेक्सी बंगाल कावो बोली- आते आते शुरू हो गए?मैंने बोला- बहुत तड़फाया है, अब नहीं छोडूंगा. वे शूज पहनने लगीं, इससे उनका जिस्म मुझे टच कर रहा था और उनकी खुशबू मुझे मदहोश कर रही थी.

भोजपुरी सेक्स बीएफ व्हिडिओ

कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप कमेंट जरूर करें और अपने विचार मेल के द्वारा भी साझा कर सकते हैं. पहले तो टेंडर अटेण्ड करने और नेगोटिएशन्स के लिए, फिर इक बार प्री-डिलीवरी इंस्पेक्शन के लिए आदि-आदि. इसके बारे में तुम्हें पता नहीं था। तुमने सोचा घर पर केवल रीना और तुम ही हो। तुमने अपने स्तनों पर टॉवल लपेटकर अपने कूल्हे व स्तन ढक रखे थे। उस वक्त मैं ऊपर वाले कमरे में ही था.

कुछ देर के बाद मैंने बातों ही बातों में उसके बारे में जानने की कोशिश की तो पता चला कि उसका नाम सेलिना है और वो जयपुर के मुरलीपुरा की रहने वाली है. चूंकि प्रिया मैथ्स में बहुत कमजोर थी इसलिए उसको लालच आ गया और वो पूछ बैठी- मुझे क्या करना होगा सर?मैंने कहा- अगर तुम मनमीता से मेरी बात करवा दो तो मैं तुम्हें मैथ्स में आसानी से पास करवा सकता हूँ. फिर मैं अपने लंड पर भी क्रीम लगा ली और धीरे से उसकी चुत पर रखकर रगड़ने लगा.

मैंने कहा- दीदी मैं आपकी टी-शर्ट उतार दूं?तो दीदी ने हां में सिर हिलाया. अब सर्दियों का मौसम में अँधेरी, ठंडी रात में पहाड़ी सड़क पर कार चला कर वापिस अपने शहर आना बहुत दुरूह कार्य था, लिहाज़ा! मुझे रात शिमला में ही ठहरने का इंतज़ाम करके जाना था. वो मेरी कुतिया बनी थी और मैं उसको चोदने वाला कुत्ता! उसको डॉगी स्टाइल में चोदने लगा.

उसकी चूत के बीचों बीच एक पतली सी रेखा और उसमें से एक छोटा सा गुलाबी छेद दिख रहा था. फिर भी हार मानने की जगह मेरी तरफ से स्वीटी को पटाने की कोशिशें जारी रहीं.

मैं जब लंड चूसने लगी तो वो भी उत्तेजित होकर कामुक सिसकारियाँ लेने लगा.

मुझे ऐसा लग रहा था कि शायद ये अपनी जिन्दगी में शायद दस बीस बार की चुदी हुई चूत ही थी. कम उम्र की लड़कियों की बीएफ वीडियोनीचे से अंडरवियर न पहना होने के कारण मेरी निक्कर मेरे वीर्य से गीली हो गयी. पंजाबी सेक्सी बीएफ बीएफदो तीन दिन क्रेन का काम चलता रहा और हम लोगों का एक दूसरे को देखने का अपना खेल चालू रहा. ये तो अच्छा था कि मैंने अपने होंठ मौसी के होंठों पर ही रखा था, वरना मौसी की चीख बाहर तक सुनाई दे सकती थी.

मेरा जोश और ज्यादा बढ़ गया और मैंने भाभी की चूत की चुदाई और तेजी से करनी शुरू कर दी.

वैसे अभी एक राउंड और हो जाए तुम्हारी अम्मी की बातें करके लंड पूरा टाइट हो गया है. वो चला गया।मम्मी तैयार हो गयी, राजेश आया, वो उसके साथ चली गयी।अंशु ने डॉक्टर शोभा को फोन किया- मम्मी का जो प्रोसीजर होगा, वो हम भी देखना चाहते हैं, ऐसे कि उन्हें पता चले. कई बार मेरा मन भी डोल जाता कि पति से चुदे हुए हफ्ता भर हो गया, चलो कोई नयी कहानी बना लें.

तब मेरा स्वप्न टूटा और मैंने हाथ से छूटते हुए मौके के चौके को ऐसे कैच किया कि यह कैच मेरे प्यार की पिच पर काजल को क्लीन बोल्ड करने का एकमात्र अवसर है।मैंने तुरंत हां कर दी. बहुत सारे मेरे मित्रों ने मुझसे पूछा है कि ये कहानी सच्ची है या नहीं. इस बारे में मैं आगे खुलासा करूंगा, आप मेरी कहानी पढ़ते रहिये और मजा लीजिये.

अमरीकन बीएफ वीडियो

मुझे याद है कि 21/09/2015 को मेरी दीदी को लड़का हुआ, बदले में उसने मुझसे कहा कि मुझे मिठाई खानी है. पूरा एक हफ्ता हो गया था, अब मुझसे सौरव के बिना बिल्कुल ही रहा नहीं जा रहा था. सामने वाले टोयलेट में भी कोई है, इसलिए चैक कर रहा था।फिर कुछ देर बाद सामने वाले टॉयलेट के गेट की खुलने और बन्द होने की आवाज आयी तब हम दोनों को थोड़ी शांति मिली.

फिर उसने मेरे गले में से दुपट्टा भी उतार दिया और मेरी चूचियों की दरार बाहर दिखने लगी.

अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ते पढ़ते मेरे मन में भी चाह जगी कि कोई मेरी भी सत्य कथा लिखे जब मैं पहली बार शादी से पहले किसी से चुदी थी.

मेरी चुदाई का आलम यह था कि बीवी को किचन में चाय बनाते हुए, पीछे से साड़ी उठाकर चूत चाटकर गर्म कर देता था और रसोई में ही उसे कुतिया बनाकर चोद देता था. भाभी गांड उठाते हुए बोली- यार अब बर्दाश्त नहीं होता … मुझे और मत तड़पाओ … जल्दी से अपने लंड को मेरी चुत में डाल कर मुझे तृप्त कर दो. सेक्सी वीडियो दिखाओ बीएफ वीडियोये कहकर वो नीचे की तरफ सरक गयी, क्योंकि उसने पूरी कोशिश की कि मेरी गांड में वो उंगली कर सके, लेकिन लम्बाई कम होने के कारण कर नहीं पा रही थी.

वह मेरा हाथ पकड़ कर आगे-आगे चल दी और मैं अंधेरे में अपने खड़े लंड की भूख मिटाने के इरादे से उसके पीछे-पीछे. या तो मैं तुम्हारे गांव ही आ जाऊंगा वरना तुमको फिर सतना ही बुला लूंगा. उन्होंने दीदी के कूल्हों को पकड़ लिया और दीदी की चूत में लंड को न डालकर दीदी की गांड के छेद पर सेट कर दिया.

कहकर वो तेजी के साथ मेरी चूत में जीभ चलाने लगा और मैं मचलते हुए अपने चूचों को दबाने लगी. क्षण-भर बाद ही मेरी उँगलियों के पोरुओं की गिरफ़्त में सिर्फ दो निप्पल ही थे.

जीजा-साली शायद पहली बार एक-दूसरे के जिस्म को भोग रहे थे इसलिए रितेश जीजू के अंदर इतनी उत्तेजना भर गई थी.

आप सभी ने मेरी पिछली कहानीहोली में चुदाई का दंगलपढ़ी होगी कि कैसे होली के इस दिन पर हम ताश खेलते हुए मैं अपनी हॉट, मॉडर्न ख्यालात वाली बहन की घमासान चुदाई करता हूं. टीना आंटी और उनके बच्चों के साथ समय के साथ मेरा अच्छा संबंध, बोलें तो व्यवहार हो गया था. सेक्स का असली मजा क्या होता है वह तो तब पता चलता है जब किसी मर्द का लंड चूत में लिया जाता है.

हिंदी की सेक्सी बीएफ वीडियो मगर फिर भी मैं उसकी तरफ कोई ऐसा भाव नहीं रखता था जिससे उसको लगे कि मैं भी उसमें रूचि रखता हूं. मैंने भाबी के भारी चूतड़ों को थोड़ा सा खोला, जिससे कि उनका वो छोटा सा गुलाबी छेद मुझे दिखाई दे गया.

कुछ देर उसकी चूत को चोदने के बाद मेरे लंड ने उसकी चूत में ही वीर्य की पिचकारी लगानी शुरू कर दी. मैं अपनी बहन के कमरे के नजदीक पहुंचा तो उसका दरवाजा हल्का सा खुला हुआ था. मैं एक हाथ से अपने लंड को हिलाने लगा और दूसरे हाथ से माँ की चूत को सहला रहा था.

बीएफ सेक्सी वीडियो देखनी है

इस बार मेरा पूरा लंड मेरी बहन सोनल की चूत में जा रहा था, जिससे सोनल की आंख में आंसू आ गए थे. मैं- रुको न मौसी, इतना क्या जल्दी कर रही हो आप?मौसी ने खीजते हुए कहा- तू समझ नहीं रहा है, अगर कोई आ गया तो बहुत बड़ी प्रॉब्लम हो जाएगी, इसलिए जल्दी कर रही हूं, बाद में फिर कभी आराम से करना. लंड तो पहले से ही खड़ा हुआ था, ऊपर से काजल के हाथ का स्पर्श सीधा मेरी जांघ पर … वो भी मेरे तने हुए लंड से दो-तीन इंच की दूरी पर! उफ्फ लंड झटके पर झटके देकर जैसे पागल हो उठा.

आपने मेरी कहानी का पहला भागदेसी भाभी का प्यार और सेक्स-1पढ़ लिया होगा. जैसे-जैसे दोनों का माल बाहर आ रहा था, दोनों की ही एक-दूसरे पर पकड़ ढीली पड़ती जा रही थी और जैसे ही नम्रता की बांहों का बन्धन खुला, मैं लुढ़कते हुए उसके बगल में लेट गया.

मैंने उसके दूसरे कंधे पे दांत से काट के किस किया और वैसे ही दांत से काटते हुए नीचे आने लगा.

अब ऐसे ही दिन निकल गया और रात हो गयी। अब रात को खाना खाने के बाद पहले की तरह ही मैं टीवी चालू करके बैठा हुआ था और मोनी बर्तन आदि साफ कर रही थी। अभी तक मोनी ने‌ ना तो मुझसे कुछ कहा था और ना ही कोई बात की थी. सेलिना को देख कर मेरे मन में हवस जागना शुरू हो गई थी और मेरे लंड ने अपना आकार लेना शुरू कर दिया था. तो मेरा जबाब यह है कि बंदानवाज़ … दरअसल काम-कथा में अश्लीलता का होना लेखक के संकुचित दृष्टिकोण और एक लेखक के तौर पर उस के सीमित सामर्थ्य को दर्शाता है, ऊपर वाले की मेहरबानी है कि मुझ पर ऐसा कोई आरोप नहीं.

उसने कहा- यह टॉवल उठा कर अपने बदन पर लपेट कर चली जा और बाहर बाथरूम में जाकर खुद को अच्छे से धो ले. हम दोनों को इतनी अधिक थकान हो गई थी कि इसी नंगी हालत में कब नींद आ गई, कुछ पता ही नहीं चला. मैं उन जीजा-साली की वो कामुक रास-लीला वहीं खड़ा रह कर देखने लगा क्योंकि मेरा लंड फिर से खड़ा हो चुका था ये कामुक दृश्य देख कर.

मैं भी वहीं उसके कमरे के बाहर खड़े खड़े उन आवाजों को सुनती रही और मज़े लेती रही.

बीएफ सेक्सी फिल्में दिखाएं: मगर वो जालिम नहीं रुका और पूरा का पूरा लंड मेरी गांड में उतार दिया और दनादन चुदाई करने लगा. मेरी मोटी और गोल चूचियों को देख कर नीचे वाले लड़के ने अपने दोनों हाथों में उनको भर लिया और उनको कस कर दबाने लगा.

मुझे ये भी यकीन नहीं हो रहा था कि उसने अपनी इसी चूत से बच्ची को बाहर निकाला है. जिंदगी के इस अनवरत प्रवाह में अभी बहुत सारे नए किस्सों ने आकार लेना है, अभी जाने कितने नये अफ़सानों की बुनियाद रखी जानी है, अभी कितनी जानी-अनजानी प्रेमगाथाओं ने मानव-इतिहास में अमर होना है लेकिन ये सब तो अभी नियति की कोख में भविष्य में सृजन होने की प्रक्रिया की कसौटी पर कसे जा रहे हैं. चलो कोई बात नहीं गुड़िया रानी, जैसी तुम्हारी मर्जी!” अंकल जी बोले और मुझे बेड पर लिटा कर मुझसे लिपट गए.

मैं धीरे-धीरे उसके बच्चे से सम्पर्क बढ़ाने लगा, पर वो न जाने क्यों मुझसे डरता था.

जब भाभी मुँह में मेरा लंड ले के चूस रही थी, तो मुझे बड़ा मजा आ रहा था. फिर उसने अपना लंड मेरी चुत पर सैट किया और मैं लंड ले कर ऊपर नीचे होकर मज़े लेने लगी. मैंने तुरन्त नम्रता को उठाकर उस टेबिल पर इस तरह लेटा दिया कि उसकी कमर टेबिल के बाहर थी और इस तरह से मेरे खड़े होने की सही पोजिशन बन पा रही थी.