एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर ब्लू टोका

तस्वीर का शीर्षक ,

हेमंत सेक्सी वीडियो: एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में, जिस पर उसके पति ने बताया कि जब हम दोनों घर से निकले थे, तो मैं अपनी वाइफ को बुर्का पहना कर यहां लाया था.

चांदनी का सेक्सी वीडियो

क्या? ये कैसी पागलपन जैसी बात कर रहे हो आप, भला वहां गंदी जगह में भी कोई कुछ करता होगा क्या?” साली जी विरक्ति भाव से बोली. हिंदी सेक्सी फिल्मों कीरश्मि की चूत में आज दो दो मोटे और लम्बे खीरे जैसे लंड जाने वाले थे जिसके बारे में सोच कर ही उसके बदन में पसीना आने लगा था.

मैंने पूछा- भाभी क्या बात है दर्द हो रहा है क्या?भाभी- नहीं, इतना मज़ा पहले कभी नहीं आया था, आज तो कमाल ही हो गया. ब्लू पिक्चर ब्लू पिक्चर वीडियो सेक्सीये कहते हुए मॉम ने अपनी एक उंगली मेरी चूत में डाल दी और अन्दर बाहर करते हुए बोलीं- इसमें जब मर्जी हो, उंगली करवा लो, पैंटी उतारने की जरूरत नहीं होगी.

मैं अपनी किस्मत को सराहते हुए ईश्वर को बार-बार इस पल के लिए धन्यवाद दे रहा था.एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में: नित्य पूजा पाठ, सुघड़ गृहणी और रसोई की रानी के अलावा चुदाई ही उनका प्रिय शगल हुआ करता था.

रश्मि- उफ्फ… अम्म … आह्ह अंकल।उसने एक ज़ोरदार अंगड़ाई ली और रमेश की बांहों से चिपक गयी.मैंने पूछा- भाभी क्या बात है दर्द हो रहा है क्या?भाभी- नहीं, इतना मज़ा पहले कभी नहीं आया था, आज तो कमाल ही हो गया.

ट्रिपल एक्स भोजपुरी सेक्सी व्हिडिओ - एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में

फिर उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया और मेरी चूचियों को दबाने लगी.ये तो आखिर होना ही होना था … मुझे भी अफ़सोस तो हुआ पर निष्ठा गमगीन हो गयी और सहसा उसकी आंखें नम हो उठीं.

मैंने झट से लण्ड को पैंट के अन्दर किया और भाभी के पीछे नीचे उतरने लगा. एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में दोस्तो, मेरी पहली चुदाई की गर्म कहानी के पहले भागकुवारी जवान बुर की चुदाई की लालसा-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी मौसी के घर गयी हुई थी.

मैंने चूत के दाने को मसलते हुए अपनी बीच वाली उंगली चूत के छेद में चलाई तो चूत से छूटे पानी से चिकनी हुई चूत में आधी उँगली फिसल कर अंदर चली गई.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में?

वो बोली- नहीं, अगर तुम दोनों फिर से स्टार्ट हो गये तो? अब तो मैं चाय पीकर ही जाऊंगी. और मुस्कुराने लगी।सुनील ने पूछा- तुमने पहले सेक्स तो किया हुआ ही है, इतनी खिल रही हो, इतनी खूबसूरत हो, बिना सेक्स के तो नहीं हो सकता. मैंने भाभी की चुत की फांकों को फैलाकर एक एक को मुँह में भरकर जी भर कर चूसा.

वो भी मेरे लंड से अपनी चुत की सील खुलवाने के लिए पूरी तरह से मन बना चुकी थी. वो तो जैसे पूरी तरह से हिल गयी और उसने अपनी टांगों को और फैला दिया. बड़े संतरों के आकार की चूचियां जब मेरे सीने के बालों से रगड़ खाने लगीं तो बड़ी मादक आवाज में गुरजीत बोली- विजज … जजय.

प्रतिभा ने कमरे से निकलने से पहले मुझसे लिपट कर धन्यवाद दिया और कल रात फिर से मिलने का वादा करके कमरे से बाहर चली गई. फिर जब मुझे लगा कि ये सही वक़्त है कि मीता को कली से फूल बना दिया जाए, तो मैंने अपना लंड तेजी से बाहर निकाला और एक जोरदार शॉट मार दिया. काफी मादक था उसका लंड … मेरी नज़र उसपे गड़ सी गयी।चाहत, कुतिया बन के आओ और मेरे लंड को अपने मुँह के जूस से खुश कर दो.

मैं और वो साथ में लेट जाते थे लेकिन अभी तक कभी चुदाई जैसा कुछ नहीं हुआ था. वो ये सब खेल देखते हुए निकले तो हम दोनों ने अपने आप को ठीक कर लिया.

रमेश कॉन्डम का पैकेट उठाया और गुस्से में बोला- तुम्हें पता नहीं है कि जब मैं मैडम के साथ आता हूं तो मुझे कॉन्डम की जरूरत नहीं होती है?रीता ने अपनी छिनाल हंसी के साथ कहा- जाने दीजिये ना … इस बेचारे को क्या पता कि मेरी चूत में ऐसा क्या है जो आपको कॉन्डम की जरूरत ही नहीं पड़ती.

मेरे जेठ जी मेरी बहुत इज्जत करते हैं … क्योंकि मेरे संस्कार आजकल की लड़कियों की तरह नहीं हैं.

मगर मुझे किसी के लंड से चुदने में बड़ा डर लगता था कि कैसे किसी से चुदने की बात कहूंगी. मम्मी ने उनको समझाया और बोला- बच्चों और बहुरानी को यहीं लेकर आ जाओ … और यहीं रह कर बच्चों का स्कूल में एडमिशन करवा दो … क्योंकि बच्चों के स्कूल के दिन खराब हो रहे हैं. तभी बैलेस बिगड़ने से मैं गिरने को हुआ, तो मेरा हाथ कुछ टेकने को बढ़ा.

जब सांसें कुछ काबू में आईं तो मैं निष्ठा की पीठ और नितम्ब सहलाने लगा और मेरी उंगलियां स्वतः ही उसकी गांड की दरार में रेंगने लगीं. और जब मन करता है अपने बॉयफ्रेंड को बुला कर चुदाई का मजा ले लेती हूँ. मैं भाभी की चूचियों को पीने लगा और वो मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ कर उसकी मुठ मारने लगी.

ऐसा कह कर मैंने उसके हाथ को पकड़ा और अपनी तरफ खींच कर उसके लबों को अपनी लबों से जोड़ कर एक प्रगाढ़ चुम्बन लिया.

फिर अचानक ही उन्होंने मेरी पैंटी को खींच दिया और मेरी नंगी चूत को रगड़ने लगे. थॉमस अगले ही पल मेरे ऊपर चढ़ गया और अपने मोटे मोटे होंठ मेरे गुलाब जैसी पंखुड़ियों वाले होंठों पर रख कर चूसने लगा. कुछ देर बाद बॉस ने अपनी शर्ट उतार दी और मेरी गर्लफ्रेंड को उठा कर टेबल पर लिटा दिया.

फिर क्या था … थॉमस ने मुझे अपनी गोद उठाया और हम दोनों ऊपर की ओर जाने लगे. मामी ने मेरी तरफ देखते हुए मुस्कुराते हुए देखा और ये बोलते हुए पेटीकोट उतारने लगीं कि मुझे मालूम था कि तू मुझे वाशरूम के दरवाजे की झिरी से देख रहा है. मैंने महसूस किया कि मामी थोड़ा पीछे होकर मेरे लंड से अपनी गांड को टच कर रही हैं.

प्रतिभा मेरा पूरा साथ देने लगी … पर कुछ देर बाद उसने मुझ रोकते हुए कहा- तुम थोड़ा इंतजार करो, पहले मैं उससे बातें कर लूं!मैं सोचने लगा कि ये इस वक्त किससे बात करेगी … पर दूसरे ही पल मुझ जवाब मिल गया.

मैं उसके लंड से उतरना चाहती थी, पर उसने मुझे उतरने नहीं दिया और मेरी चुत में ही अपना रस छोड़ दिया. विनीता के मुख पर यौन सुख का मज़ा मिलने से जो सुकून दिख रहा था उसे देख कर मुझे खुद पर गर्व सा होने लगा और मैं मन ही मन खुद से कह रहा था ‘राज, आज तू किसी जरूरतमंद के काम आया है.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में जैसे ही वह संभला तो उसने मुझे धक्का दिया और मुझे मारने के लिए अपना हाथ चलाया. कुछ ही देर में मुझे जैसे ही लगा कि मेरा निकलने वाला है, मैंने लंड खींचा और उसे उसके मम्मों में स्खलित कर दिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में उसने पहले तो मेरे होंठों को चूमना शुरू किया, जिसमें मैं भी उसका साथ अपनी पूरी उत्तेजना के साथ देने लगी. उस बात के लिए मैं शर्मिंदा भी था, पर माफी मांगने का मौका मुझे नहीं मिला था और मैं ये भी नहीं जानता था कि नेहा मुझसे नाराज थी या नहीं.

तो दोस्तो, इस इंडिया सेक्स गर्ल चुदाई स्टोरी को लिखा मैंने है लेकिन बताया अर्पित और अदिति ने ही है.

जीजा साली की ब्लू फिल्म सेक्सी

दोस्तो, बुर्के की खास बात ये है कि वो हुस्न में अन्दर से चांद सा निखार दे देता है. उसने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और मेरी दोनों टांगों को फैला कर अपनी जीभ मेरी चूत में रगड़ते हुए चाटने लगा. उसने मुझे अपने ऊपर चढ़ा लिया और नीचे से मेरी चूत में लंड को पेल दिया.

ये बात तब की है, जब मेरे अब्बू टूर पर बंगलोर गए हुए थे और मेरी बहन अपनी कोचिंग क्लास के लिए गई हुई थी. रमेश ने अपनी जीभ निकाली और रीता की गांड के छेद पर रख कर उसकी गांड को चाटने लगा. वो हंसते हुए कहने लगा कि इस स्विमिंग ड्रेस में या तो तुम फ्लोट कर सकती हो … या तो ये तुम्हारी स्विमिंग ड्रेस … दोनों एक साथ नहीं.

उसके जाते ही मैंने रूम लॉक करके रूम का टेम्प्रेचर 17 पर किया और बाथरूम में चला गया.

और मुझमें भी चुदवाने की जबरदस्त इच्छा जाग चुकी थी।मैं उसे चूम रही थी. अर्पित ने भी एक चूची को मुँह में डाला और दूसरी को दूसरे हाथ से मसलने लगा. फिर सर जो अपना एक हाथ मेरे कंधे पर रखे थे, उन्होंने उसे वहां से हटा कर मेरे पेट पर रख दिया.

मैंने बिन्दू के पेट के निचले हिस्से और चूत पर हाथ फिराना शुरू किया. सुलेमान- मतलब?मतलब तू शैली को अपने नीचे लिटा, मैं और कुरैशी मालिनी को दोनों छेदों में बजाते हैं. इतने में मां बोलीं- हर्षद मैं तुम्हें अपना बेटा नहीं बल्कि एक दोस्त मानती हूँ.

बार बार उछाला देकर उसका लंड ये बता रहा था कि रश्मि के कोमल जिस्म को भोगने के लिए कितनी प्यास है उसके अंदर। रमेश ने धीरे से रश्मि का कोमल मुलायम हाथ पकड़ लिया और आहिस्ता से अपने झटके दे रहे लंड पर टिका दिया. अगर यकीन नहीं होता तो जाकर सोसाइटी में बोल दो कि इस केक पर तुम बैठी हो.

अगली बार मैं थॉमस के मोटे लंड से अपने पति के सामने अपनी चुत चुदाई का मजा लूंगी. फिर एक दिन बहुत बारिश हो रही थी उस दिन पूरे स्कूल में बहुत कम बच्चे आए थे. हमने जल्दी से 2 महिला पुलिस वालियों का हाथ पकड़ लिया और एक दूसरे को कहने लगे कि फोन करके गांव से लोग बुलाओ, इनको नंगी ही पंचायत में लेकर चलेंगे.

मैंने भाभी से पूछा- लंड चूसने में मजा आ रहा है?तो भाभी ने मुझसे बोला- हां … मुझे लंड चूसना बहुत पसंद है.

जब मैं डेज़ी से मिला, तो मेरा उतरा हुआ चेहरा, परेशानी और काम का दबाव देख कर डेजी मुझसे बोली- क्या बात है राज, क्लास-वन अफसर क्या बने, तुम तो जीना भूल गए हो?मैं पहले तो उसे इग्नोर करता रहा, लेकिन जब वो बिल्कुल मेरे पास सट कर बैठ गई और मेरे हाथ अपने हाथों में लेकर बोली- बताओ ना मुझे … क्या बात है बाबू?मैंने उसे अपनी बुरी आदतों और सेक्स के लत के बारे में बताया. मेरी वाली तो बेहद सीत्कार करते हुए कह रही थी- तेरा बहुत बड़ा है … मजा आ गया. थोड़ी देर बाद मैंने दूसरे नम्बर पे व्हाट्सएप चालू किया देखा तो ये ऑनलाइन थी.

कुछ मिनट बाद मैं दुबारा बेड पर खड़ी हो गयी और थॉमस को बेड पर बैठा दिया. उसने भी ठान लिया कि वो अपने बाप के सामने अपना असली रूप आज दिखा ही देगी.

वो मेरी जांघ पर अपना सर रख कर लेट गई और मेरी आँखों में झांकने लगी। उसकी आँखों में लाल डोरे तैर रहे थे। वह कुछ कह नहीं पा रही थी पर मैं सब समझ रहा था।मैं उसके चेहरे पर झुका और उसके होंठों को पुनः चूसने लगा. मैं हल्के से चीखी … और तभी थॉमस ने अपना पूरा लंड मेरी चुत में डाल दिया. उसके बाद रोहन मुझे अपनी गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया और मुझे नंगी कर दिया.

दुल्हन सुहागरात सेक्सी वीडियो

कॉलेज गर्ल की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने प्रोजेक्ट के बहाने पड़ोस की जवान लड़की को अपने घर बुलाया.

मैंने एकदम रोने वाला मुँह बना कर कहा- प्लीज मुझे जाने दो, गलती हो गयी. एक दिन उन्होंने मुझे अपने शहर में बुलाया और …आप सभी लोगों को मेरा नमस्कार. फिर प्रकाश भाई ने मेरे चूतड़ पर हाथ फेरा और बोले- अगला नम्बर इसका; तीन दिन बहुत हैं.

हम दोनों सिसकारियां लेते हुए बड़े ही मजे से एक दूसरे के अंग को चूस रहे थे. मैंने बिन्दू को इशारा किया तो उसने मुझे इशारे से बताया कि वह आ रही है. सेक्सी खूबसूरत वीडियोमैं धीरे से उसके गालों को चाटते हुए उसके होंठों पर भी जीभ से चाटने लगा.

उन्होंने मेरे सिर को अपनी चूचियों पर दबा लिया और जोर से सिसकारते हुए मेरे बालों को सहलाते हुए बोलने लगे- आह्ह … बेटा … चूस ले इनको … ओह्ह … पी ले इनको आह्ह।मैं भी मजे से उनका एक दूध पी रहा था और दूसरा दूध दबाये जा रहा था। मेरा लंड अब भी खड़ा हुआ था. मैंने उनके कमरे में सिलेंडर रख दिया, तो आंटी ने तारीफ करते हुए कहा कि वाह भैया आप तो बड़े आराम से ऊपर ले आए.

मैंने उसके बाल पकड़े, सर को कंधे से हटाया और घुटनों पर बैठ कर अपनी जीभ निकाली और नुकीली करके उसकी नाभि में लगा दी. मैंने कहा- अच्छा तो तुमको मेरी चीखों से मजा आ रहा था और मैं मरी जा रही थी. जैसे ही भाभी ने सुपारा मुँह में लिया, भैया ने धीरे से धक्का लगाया और पूरा लंड मुँह में अन्दर कर दिया.

मैंने उसको उकसाया- क्या देखना है? नाम लो न!मीता- अरे आप भी ना बस दिखाओ. मैंने सोचा कि जब तक ये लोग नहीं आते हैं, तब तक मैं थोड़ा घूम लेती हूँ. उन्होंने उसी वक्त मेरी गांड कस कर पकड़ ली और बेरहमी से मुझे चोदने लगे.

love का उपयोग करके जुड़ सकते है और फेहमीना से फेसबुक पर जुड़ने के लिए www.

और मैं गद्दों पे जाकर टाँगें पूरी चौड़ी कर के लेट गयी और कहा- लो चोद लो जितना चोदना है, पर मुझे ही जिताना।उसने कहा- फिक्र मत करो, तुम ही जीतोगी. मैंने पूछा- क्या?वो कंटीली नजरों से मेरे लंड को देखते हुए बोली- कुछ नहीं.

फिर उसने शैम्पेन की बोतल उठाई और बची हुई शैम्पेन दोनों गिलास में डाली. मेरी एक लम्बी चीख कुछ ही पलों बाद कामुक आवाज में बदल गयी ‘उम्म्म … ऊउम्म्ंह … उम्ंम्ंहह … आअह म्हाआं म्ह्ह’मेरे होंठों को उसने अपने होंठों में दबा लिए और मैं 5 मिनट में ही झड़ गयी. पहले अंकल ने बारी-बारी से मेरे सारे कपड़े उतारे और फिर मैंने उनके सारे कपड़े उतारे।जैसे ही अंकल के पूरे कपड़े उतारे, मैं अंकल को देखता ही रह गया।ओह्ह्ह यार … क्या बॉडी थी उनकी! एकदम चिकनी, गोरी, मांसल बॉडी और बिल्कुल दूध जैसी गोरी त्वचा.

एसएचओ ने एएसआई और उस लेडी कांस्टेबल से पूछा- इनको किस से पूछ कर बुला कर लाए हो?एएसआई ने कहा- इन लोगों के खिलाफ रोहित ने शिकायत दी थी. जीजा साली सेक्सी कहानी पढ़े कर आपनी अन्तर्वासना जागृत हुई या नहीं?[emailprotected]जीजा साली सेक्सी कहानी जारी रहेगी. मैं तो तैयार थी मगर पापा नहीं मान रहे थे।किसी तरह से पापा मान गए। मैं और मौसी अगले ही दिन बस से चल दिये.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में ऐसे करते करते ही मैं तेज सिसकारी लेते हुए बिस्तर पर झड़ गयी।कुछ देर ऐसे ही निढाल पड़ी रही फिर भीगी हुई मूली को चूसते हुए बाथरूम की तरफ चल दी. अह्ह्ह मा मैं आई!हाँ मेरी रानी … और ले … उफ्फ क्या चूत है तेरी!” कह कर अर्जुन ने रफ़्तार बढ़ा दी और मैं उसके लंड पे झड़ने लगी।मेरा जिस्म शांत हो गया था लेकिन अर्जुन मुझे चोदे जा रहा था.

हिंदी सेक्सी 2021 के

थॉमस बोला- अरे अंजलि, तुम वहां रोहन की गोद में क्या कर रही हो? तुम्हें मेरे पास होना चाहिए. मुझे अंत में मौसी के कहे कुछ शब्द याद रहे, जो मैंने बेहोश होने से पहले सुने थे. दो दिन बाद तालाब पर नसीम ने फिर से हमारे उस दोस्त की गांड में दो उंगलियां डाल दीं.

दीवार से लगे हुए रवि का लंड उसकी चूत में घुस कर उसको मजा दे रहा था और पीछे से रमेश का लंड उसकी गांड में मजा दे रहा था. उसका लंड एक सेकंड भी रुकने को तैयार नहीं था।वो मेरी तरफ झुक कर मुझे चूमने लगा, मेरी चूचियों को दबाने लगा. సెక్స్ తెలుగు మూవీస్इसी तरह मैं उसके दोनों मम्में दबोच कर उसे स्पीड से और बेरहमी से चोदने लगा.

मामी ने मुझे अपने कमरे में ले जाकर बेड पर बिठाया और मेरे सामने कोल्ड ड्रिंक और नमकीन की प्लेट रखते हुए कहा- अतुल तू ये खा … जब तक मैं नहा कर आती हूँ.

स्सस … इतनी देर से अपने होंठ मेरे लंड के टोपे पर छुआ कर बैठी है, जान निकालेगी क्या? फटाफट चूस इसे. उन्होंने कांपते होंठ मेरी ओर बढ़ाए … और मैंने उन्हें अपने होंठों से थाम लिया.

मेरे मुंह से चुदास भरी गालियां निकल रही थीं- फाड़ दे मेरी चूत को, इसका भोसड़ा बना दे … आह्ह … चोद दे मुझे जोर से … और फाड़ … आह्ह … हां … चोद … और चोद।रॉकी भी शायद झड़ने के करीब आ गया था. मैं थोड़ी सी उदास होते हुए बोली- तुम्हारे भैया के बिना मैं केक नहीं काटूंगी. इस बार जब मैं पीछे से शाजिया की चूत में लंड पेल रहा था, तब शरद सामने से उसके होंठ को चूम रहा था.

वो जो पहले सो गया था, वो मेरी जांघ पर अपना हाथ फेर रहा था और शायद उसने कमरे की बड़ी लाइट बंद करके छोटी जला दी थी.

सरोज बोली- लंड लेने का मन कर रहा है क्या?मैंने कहा- हां, मगर कहां से लायेगी?वो बोली- वो सब मुझ पर छोड़ दे. मैं देख रहा था कि डेज़ी की गांड का साइज पक्का अड़तीस इंच का रहा होगा. फिर उसने मेरी गर्लफ्रेंड की ब्रा उतार दी और उसके मम्मों को अपने हाथों में भर कर जोर से दबाने लगा.

गांव की लड़कियों की देसी सेक्सी वीडियोमुझे पता था कि रेलवे स्टेशन के पास एक मेडिकल स्टोर रातभर खुला रहता है. मेरी बहन निकिता पापा के साथ दिल्ली में रहती है, भाई पंजाब में जॉब करते हैं.

सेक्सी पिक्चर के शॉट

पर देखा रास्ते में गार्ड आपस में गप्पे मार रहे हैं।हम दोनों वापस आ गए. ” कहकर मैं हंसने लगा।मैं देखना चाहता था कि वह मेरी इस बात पर किस प्रकार की प्रतिक्रया व्यक्त करती है।मुझे लगा वह गौरी की तरह ‘हट!’ बोलकर शर्मा जायेगी पर वह तो मेरी बात सुनकर खिलखिलाकर हंसने लगी थी।थोड़ी देर बाद वह बोली- मुझे भी वह ड्रेस बहुत पसंद है पल. वो कहने लगे कि अगर रोशनी बहू चली जायेगी तो यहां घर को कौन देखेगा? सरोज (मेरी ननद) भी तीन-चार दिन के बाद जाने वाली है तो फिर मेरी देखभाल कौन करेगा?ससुर की बात मैं टाल नहीं सकती थी और भाई ने भी यही कहा कि मैं यहीं पर रुक जाऊं.

X स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि सेक्सी पड़ोसन की चुदाई के बाद मैं अपनी कमसिन कामवाली का इंतजार कर रहा था पर वो नहीं आयी. लिहाज़ा मैं ज्यादा देर न करते हुए विन्नी को लेकर कुर्सी पर बैठ गया. आपको मेरी यह इंडियन ससुर बहू सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में बताना.

मैंने नेहा को अपनी पकड़ से आजाद किया और हाथ जोड़ते हुए घुटनों पर आ गया. उसने अपने लंड को उसकी नर्म नर्म गोरी गांड की दरार में घुसा लिया और उसकी चूचियों को भींचते हुए उसकी गर्दन पर किस करने लगा. उसने मेरी मसाज की उसके बाद मैंने शॉवर लिया और फिर अपने रूम में आ गयी.

जैसा कि आपको पहले से ही पता है, वो सब ब्रा-पैंटी मेरे साइज से छोटे थे और पैंटी भी थोंग वाली थी. मगर इस मोटी गांड का बोझ तो मुझे ही ढोना है ना!रमेश- तो आजा मेरी रानी … तुझे भी मजा दे देता हूं.

मैंने अपना मेकअप भी किया और मैंने अपने बैग में एक मिडी और ब्रा-पैंटी का सैट रख लिया.

तो प्राची भाभी ने खुद अपने उरोजों को दोनों हाथों से दबाकर लंड को घाटी में फंसा लिया. ಎಸ್ ಎಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋफनफनाते हुए लंड को देख कर मीता की एक तेज सिसकी निकल गई- उई मम्मी … ये क्या है?मैं- ये तुम्हारा खिलौना है … खेलो जी भर कर. बालकृष्ण महाराज मोगल”क … क्या?” मुझे लगा नताशा अब इतनी बेरहमी से गांड मारने का उलाहना और शिकायत करने वाली है।तुमने आज अपनी प्रियतमा के साथ सुहागरात तो मना ली. कैसी हो डार्लिंग?” मैं उसके पास बेड पर बैठ गया और उसका गाल चूमते हुए कहा.

वो- हम्म मत करो … कब से फोन कर रही हूँ … उठाते क्यों नहीं?वो मुझ पर भड़क रही थी.

किस कॉलेज मे पढ़ती हो?रमेश उसके माथे से उंगली फिराता हुया उसके बूब्स तक पहुंच गया था।रश्मि- जी वो मत पूछिये. मैंने ‘ठीक है’ कहकर फोन रख दिया।मैंने जल्दी से उसको नींद से उठाया और बाहर जाने को बोला. मैं डेज़ी के चूतड़ों पर थप्पड़ देता गया और उसके चूतड़ों को पकड़ कर जोर जोर से झटके देता रहा.

लेकिन उसकी असलियत सिर्फ मैं जानती थी क्यूंकि वो अक्सर रात को अपने फ़ोन में ब्लू फिल्म देखकर अपनी जवां चूत में उंगली करती थी. कुछ पल लंड चूसने के बाद मामी ने मेरी आंखों में झांका, तो मैंने उनकी चुत चूसने के लिए कहा. मैं बाथरूम से होकर आया और प्राची भाभी के पास बैठकर उन्हें निहारने लगा.

अंग्रेजी सेक्सी वीडियो चोदी चोदा

कुछ देर तक पीछे से मेरी चूत में लंड पेलने के बाद सर ने मुझे सीधे किया और मेरे सारे कपड़े उतार तक अलग रख दिए. फिर वो थोड़ी सी झुकी और उसके मोटे बूब्स की वो घाटी और उसके मस्त मोटे तने हुए निप्पल्स का नज़ारा मुझे दिखाने लगी. नेहा अपने कमरे में जाने का बहाना बनाकर आई तो मैंने नेहा से कहा- नेहा मुझे बाथरूम जाना है.

आप सब को इसमें वो सब रस मिलेंगे जिनका आनंद लेने के लिए आप यहां अन्तर्वासना पर आते हैं.

रॉबर्ट ने चोद चोद कर मेरी हालत ख़राब कर दी थी और मैं बहुत थक भी गयी थी.

फिर कुछ देर में मेरा हल्का सा संतुलन बिगड़ गया, क्योंकि सर बिल्कुल मेरे ऊपर चढ़े हुए थे. भैया को भाभी के साथ बाथरूम में नंगे होकर शावॅर में नहाना बहुत पसंद है. सेक्सी फोटो फोटो वीडियोकुछ दिनों तक ऐसे ही चलता रहा और इसी सीखने सीखने के चक्कर में मेरे सर ने मेरे साथ बहुत मज़ा भी लिया.

उनके जाते ही मैंने शादी कार्ड का पीडीएफ खोला, जो मुझे खुशी ने भेजा था. जब हमारे पास इतना पैसा है ही तो इसे ऐसे काम करने की इसे क्या जरूरत है? और तुम भी तो इसकी पॉकेट मनी नहीं बढ़ाते. मैं अनिकेत, मुझे उम्मीद है कि अब तक आप लोगों ने इस सेक्स कहानी को पढ़ कर अपना रस निकाला होगा.

मैंने नेहा को खड़ा किया और उसे बांहों में लेकर उसकी थोड़ी सी टांगें चौड़ी की और अपने लंड के सुपारे को उसकी चूत के छेद पर लगा दिया. मौसी- मतलब तू और प्रीति?मैं- अरे नहीं नहीं मौसी … ये आप क्या सोच रही हो.

मैंने भाभी की हिंदी सेक्सी चूत और उसके क्लिटोरियस को मसलना शुरू किया.

आरूषि- जानू, अपने लिंग को अपने अंडरवियर में ही रखो, वरना तुम शुरू करने से पहले ही अपना माल गिरा दोगे. बात करते करते उसने नेहा को नीचे लिटा दिया और उसके गालों को चूमने लगा. ताऊ जी के घर पर ही बस लग गई थी, सब आ गए थे।उस दिन भाभी बहुत ही अच्छी लग रही थी और उनके चेहरे पर कुछ अलग ही मुस्कान थी।भाभी मेरे पास आकर मुझसे बाते करने लगी और मेरी पढ़ाई के बारे में पूछने लगी.

सुहागरात के दिन क्या क्या होता है जीजाजी आई लव यू टू … यू आर माय फर्स्ट लवर कम हस्बैंड इन ऐ वे; आई एम् आल योर्स एंड विल बी आल माय लाइफ, फ़क मी एनी टाइम यू लाइक!” साली जी बोली और मेरा लंड पूरी तन्मयता के साथ चूसने लगी. उधर वे भी इसी बात से बड़े उत्साहित थे कि उनको कुंवारी गांड ओपनिंग का मौका मिल गया है.

थोड़ी ही देर में हम दोनों में वो वाली बातें आ गईं, जैसे फोन पर हुआ करती थीं. फिर में महरूम वाली ब्रा-पैंटी पहनने लगी, तो थॉमस ने मुझे रोक दिया और कहा- रुको अंजलि … पहले तुम मुझे ऐसे ही कैटवॉक करके दिखाओ न. चुदाई करते करते मैंने अपने दोनों हाथों से भाभी की दोनों चूचियों को पकड़ लिया और लंड से चूत की ठुकाई करता रहा.

चोदा चोदी सेक्सी वीडियो डॉट कॉम

फिर बहुत धीमे स्वर में मिठास भर कर अनुरोध भरे स्वरों में बोला- भैया. मर्दाना निप्पलों भी सेक्स में सेंसटिव होते हैं … इसका अहसास मुझे आज हुआ था. )श्लोक- जी वीना जी। मैं भी सीमा के साथ मालदीव घूमने आया हुआ था।वीना- क्या यह इत्तेफाक है? या आप और विक्रम मिलकर यहां हमें घुमाने लाये हैं?श्लोक- आपको क्या लगता है?अंदर आते हुए मैंने कहा.

मैंने उनसे पूछा कि सुबह सुबह इतनी जल्दी क्यों उठना?वो बोलीं- सुबह हम 3-4 दिन के लिए बाहर जाएंगे. फिर आपने मेरे लंड को पकड़ा और अपनी चूत पर सैट करके मुझसे झटका मारने को कहने लगीं.

मैंने भाभी से कहा- भाभी, आप इतनी सुंदर, इतनी सेक्सी और हॉट हो, फिर आप का काम बिना हस्बैंड के कैसे चलता है?भाभी कहने लगी- राज, बस इस बात को तो यहीं रहने दो और अपना यह निकालो.

उसके मस्त मम्में तन कर खड़े थे जैसे मुझे चुनौती दे रहे हों कि आओ दम हो तो दबोच लो हमें और मीड़ डालो मसल दो. मैं लंड को धीरे धीरे चूत के अन्दर ही हिलाता रहा … थोड़ा थोड़ा निकाल कर अन्दर करता रहा. च … च … च … बेचारा अमित!मैं दीदी की इस बात से बड़ी चुदासी हो उठी थी कि अब तक मैंने अपनी चुत में न जाने कितने लंड लिए हैं.

तो मैं हल्के से मुस्कुराई और उसकी मदद करने लगी।हम दोनों ने 3-4 मोटे मोटे गद्दे रख के अस्थायी बेड बना दिया. मैं देख रहा था कि डेज़ी की गांड का साइज पक्का अड़तीस इंच का रहा होगा. मैंने थॉमस की पीठ पर अपने नाखूनों से उसकी पीठ को खरोंच रही थी और अपनी तरफ से थॉमस को जकड़ रही थी.

मैंने भाभी से कहा- भाभी, कुछ खाने का लाऊं?उन्होंने आंखों से इशारा किया और मैं बाहर जाने के लिए उठने लगा.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी हिंदी में: मेरे मन में भी उसको या किसी भी अन्य महिला को किसी भी प्रकार की परेशानी देने का खयाल नहीं आता. मैंने देखा वो मेरी तरफ ही आ रहा था … शायद किसी को चाय देने!तो मैंने उसे बुलाया और बोली- शाम को जब हॉस्टल आओ तो मेरे रूम से भी कपड़े ले लेना!वो बोला- ठीक है.

मैंने आरूषि को क्लेरिसा के लिए मेरी वासना के बारे में बताया और उसको समझाया कि मैं कितनी बुरी तरीके से उसकी चुदासी चूत को चोद देना चाहता हूं. उसकी गर्म चूत पर हथेली रगड़ते हुए मैंने महसूस किया कि उसकी चूत से पानी निकल रहा था. तभी मामी बोलीं कि तुम बताओ … तुम्हारी रातें कैसे कट जाती हैं?इस पर मैंने कहा कि बस रोज रात को ब्लू फ़िल्में देख लेता हूँ … और मुठ मार कर सो जाता हूँ.

चूचियाँ भारी भारी गोल होनी चाहिए, गांड भी भरी और गोल होनी चाहिए, चूत भरी और मोटी होनी चाहिए, मुझे सूखी हुई चूत जिसमें से केवल छेद दिखाई दे, वैसी चूत कम पसन्द है.

एक रात मैंने विन्नी से कहा- कल मैं श्रीनगर गढ़वाल यूनिवर्सिटी आ रहा हूँ, मुझे कुछ काम है. रमेश- रवि? रवि कुछ बोलता क्यों नहीं तू?रवि को कुछ सूझ ही नहीं रहा था कि वह क्या बोले. मैं बोली- मुझे कूड़ादान समझे हो क्या?उसने कहा- नहीं मेरी रानी … तुम तो परी हो.