सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,देहाती बीएफ देहाती

तस्वीर का शीर्षक ,

मोटी आंटी की सेक्सी: सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो, वो मेरी आंखों में आंखें डाल कर बोला- तुम तो बहुत प्यासी हो, तुम्हारी आंखें बता रही हैं कि तुम्हारा बहुत ज्यादा मन है बंध्या.

सेक्स सांग

क्या मटकती थी गांड उन मस्तानी लड़कियों की … उफ्फ्फ …वैसे मैं देखने में ज्यादा खास नहीं हूँ, लेकिन मुझे इतना भरोसा है कि मैं जिससे भी, जो भी बात करूँ, उससे वो दीवानी हो जाएगी. ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियो बीएफमैंने उसे समझाया- तुम उन्हें प्यार से समझाओ, अपनी पसंद नापसंद बताओ यहाँ तक कि सेक्स करते हुए तुम्हें क्या अच्छा लगता है, क्या नहीं … खुल के बताओ.

उसको बहुत ज़ोर से दर्द होने लगा था; मुझे लंड वापस बाहर निकालना पड़ा. साउथ इंडियन सेक्सी बीएफकुछ लोग मुझे ईमेल करते हैं और कहते हैं कि ऐसा इंडिया में नहीं होता है.

वो इतनी अधिक मस्त हो चुकी थीं कि उनकी ज़ोर जोर से निकलती हुई आहें और कराहें ‘आआह.सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो: मैंने धीरे धीरे अपने कपड़े उतार दिए और सिर्फ ब्रा पेंटी में आ कर अपने पापा और चाचा से लिपट चिपट कर डांस करना चालू किया.

वो बोली- दीदी वो हमसे दगा कर गया तुम्हें फंसा गया और खुद भाग गया भोसड़ी का … और दीदी तुमको कितनी सजा मिली.काफी टाइम से उससे बात भी हो रही थी तो मुझे वह पसंद भी था और भरोसा करने के लायक भी लग रहा था.

बीएफ ना सेक्सी वीडियो - सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो

मुझे बहुत मजा आ रहा था, पर उसने मेरे मुँह पर हाथ रखा और एकदम जोर से धक्का लगा दिया.मेरी चूची को चूस कर और मेरे निप्पल्स को बाईट करके वो मुझे चोद रहा था.

प्रशांत तो जैसे उससे बात करने का बहाना ही ढूंढ रहा था, उसने तपाक से पूछा- क्या हुआ मैडम? तबियत तो ठीक है न?इस पर नीना ने बड़े ही नाटकीय अंदाज में दिल धक-धक करने की समस्या साझा की, तो प्रशांत ने उसके करीब आते हुए मदद करने का ऑफर दिया. सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो जिसने मुझे ये कहानी भेजी है, वो एक आंटी है, उसने अपना नाम भी बताया है, लेकिन मैंने इधर उसका नाम बदल दिया है.

मेरी सेक्स करने की पिपासा मुझे बहुत गरम करे जा रही थी, मैं एकदम से बेकाबू सांड सा हो गया था.

सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो?

मैं उनकी चुचियों को जम के चूस रहा था, बच्चों की तरह उनका दूध पी रहा था. जब मेरी नींद खुली तो भोर के 3 बज चुके थे, कौशल्या मेरी तरफ पीठ करके लेटी थी, मैंने कमर से सटते हुए उसकी चुचियों को पकड़ा और उसके निप्पल मसलने लगा. अभी मेरा आधा ही लंड अन्दर घुसा था कि सीमा आंटी दर्द से करहाने लगीं.

उसके बाद तो बस लाइफ बिताया जाता है … तो जब तक जवानी है तब तक जी अपनी लाइफ … और जवानी के बाद जिसके पास पैसा है. जब मेरी नींद खुली तो भोर के 3 बज चुके थे, कौशल्या मेरी तरफ पीठ करके लेटी थी, मैंने कमर से सटते हुए उसकी चुचियों को पकड़ा और उसके निप्पल मसलने लगा. वहां जाकर उसने ही बाथरूम खोला और मुझे नीचे उतार कर कहा- आप फ्रेश हो जाएं … मैं बाहर दरवाज़े के पास खड़ा हूँ.

उसका लंड थोड़ा सा घुसा था, तो मैं बिल्कुल रंजना दीदी से लिपट गई और कान में बोली- दीदी बहुत मन कर रहा है कि कोई अन्दर कर दे. मेरे अचानक झटके से वो ज़ोर से चिल्ला पड़ी और उसकी आंखों से आंसू निकल आए- उम्म्ह… अहह… हय… याह… माँ … मर गाइई … नि …का …लो इसे … सांड का लंड है … मैं मर जाऊंऊगी … रहम कर चूतिए … निकाल साले!उसकी हालत देख मैं थोड़ी देर रुक गया और उसका ध्यान उसे चूम के … उसके कबूतरों के साथ खेल कर थोड़ा हटाया. हितेश और पापा जी के ऑफिस जाने के बाद मैं सीधा सासू माँ के कमरे में गयी … देखा वो कोई मैगजीन देख रही थीं.

वो बहुत गुस्से में थी तो मैं बहुत ज्यादा डर गया और डरते-डरते अंदर गया तो उन्होंने दरवाज़े को बंद किया. मैंने भाभी से कहा- भाभी आपकी तो तबीयत खराब थी, और ये सब आप क्या कर रही हैं?तो भाभी रोने लगीं.

मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी हथेली पर रख दिया, मेरे मुंह से निकल पड़ा- ठीक है, हम दोस्त हैं अमित जी.

फिर माँ ने मुझे बताया कि वो हमारे दूर के रिश्तेदार हैं और रिश्ते में तुम्हारे मामा लगते हैं.

रात भर तड़पना, करवटें बदलना और शौहर की याद में जिस्म की आग भड़की रहती थी. खिड़की के बाहर लोग आ जा रहे थे, लेकिन हमारी पोजीशन ऐसी थी कि उन्हें केवल वाणी दिख रही थी और फिलहाल उसने अपना पल्ला भी सही कर लिया था. लेकिन अभी कुछ दिन पहले मेरी लंड लेने की इच्छा अनायास ही पूरी हो गई.

कुछ देर बाद भाभी मेरे ऊपर से उतर कर मेरी साइड में लेट गई, मैंने भाभी की टांगों के ऊपर अपनी एक टांग रखी और उनकी गर्दन के नीचे से हाथ डालकर उनको अपनी साइड में लेकर सीने से चिपका लिया. उसने मुझे गाली देते हुए कहा- बोला- साली अभी चुदवाएगी या नहीं?मैंने ना में सर हिलाया, तो बोला- साली मेरे को पता है … तेरा बेटा भी आया है. तभी मैंने आंटी की चूत के मुंह पर लंड रखा और उनके मुंह में अपना मुंह लगाकर चूमने लगा.

उसके बाद मेरे पति एक महीने बाद बिजनेस के काम से तीन महीने के लिए बाहर चले गए.

उसी के साथ में वाणी ने गीता का मुँह पकड़ा और अपनी चुची उसके मुँह में घुसा कर बोली- साली, इन्हें चूसने के लिये क्या तेरे बाप को बुलाऊं. ऐसे ही बातें करते-करते मैं भाभी के होंठ और चूचियां पीने लगा और चूत के ऊपर हाथ लगाने लगा, भाभी फिर गर्म हो गई और उन्होंने मुझे बेड पर धक्का देकर नीचे लिटा लिया और खुद मेरे ऊपर चढ़ गई. मामी- किधर वाला नाश्ता?मैंने कहा- गर्म वाला जिधर से भी मिलेगा, सब खा लूँगा.

मेरे दिमाग में भी बहुत कुछ चल रहा था, जैसे कि कल्पना कैसी दिखती होंगीं? क्या क्या करना पड़ेगा आज? कैसे खुश करूँगा उन्हें? और खुश कर भी पाऊंगा या नहीं!यही सब सवाल मन में लिए मैं अपनी तैयारी में लग गया. फोरप्ले तो उसके बस का था ही नहीं और मैं तड़पती सुलगती और उसे गालियां देती रह जाती थीं।साल भर बाद मैंने कोई भी नौकरी करने की ठानी. मैंने उसकी गांड में उंगली को डालने की कोशिश की तो उसने मेरा हाथ हटा दिया.

मुझे थोड़ा अजीब सा लगा, लेकिन मैं अपनी मस्ती में उसे चोदे जा रहा था.

मैंने भाभी को पीछे करके उनको अपनी बाहों में भरा और ज़ोर से भींचकर ऊपर उठा दिया. इतने में फिर से पता नहीं कैसे उधर से निहाल आ गया और वह जो मेरी गांड में लंड डाले हुए था, उससे बोला- अरे भैया तुम यह सब क्या कर रहे हो.

सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो मुझे लगा था कि कुछ न कुछ बवाल होगा, पर उन्होंने भी मेरा कोई विरोध नहीं किया. इसके बाद मैं उसके ऊपर आया और उसकी चुचियों के ऊपर अपना लंड फिराने लगा और उसके मुँह के ऊपर सुपारा रख दिया.

सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो उसका फोन आया तो इसके बाद मैंने उसका नंबर सेव कर लिया और जब वो सब दर्शन करके वापस आए, तो मैंने उसके नम्बर पर उसे बधाई भेजी. उसने अभी भी मेरी पीठ से अपना हाथ नहीं हटाया और मेरी पीठ पर हाथ फेरने लगी.

मैं इन लोगों की परेशानी समझ गयी, पर मेरी परेशानी कौन समझेगा, यही सोचते हुए मैंने बात की- ये सब तो ठीक है मम्मी जी पर वंश कैसे बढ़ेगा आपका … जब हितेश कुछ करेगा ही नहीं तो?सासू माँ ने लंबी सांस लेते हुए कहा- ये जरूरी तो नहीं ना बेटा कि हितेश ही कुछ करे, तो ही हमारा वंश आगे बढ़ेगा.

बड़ी गांड वाली सेक्सी एचडी

वह मिशिका के होंठों को चूस रहा था और साथ में उसके चूचों को भी मसल रहा था. उसके मुँह से सिसकरी निकल रही थी, ‘ओहहह हहहह आआह हहहह आमिर ये क्या कर डाला तुमने. हितेश और पापा जी के ऑफिस जाने के बाद मैं सीधा सासू माँ के कमरे में गयी … देखा वो कोई मैगजीन देख रही थीं.

अब इस चारों तरफ के मेरी मुँह से सिसकारियां निकल रही थी- अअहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… उम्म्म्म …. मुझसे बोला- तुम बहुत सुंदर हो, आई लव यू … बंध्या … मैं तुम्हारे बिना लगता है कि नहीं रह पाऊंगा. ज़िन्दगी का असली मज़ा तो यही होता है। मैं राहुल के सिर को पकड़कर कर अपनी चूत में दबाये जा रही थी। ऐसा मज़ा मैंने आज तक नहीं लिया था.

उसकी चूत जो कि कामरस से भीगी हुई थी, जिसकी खुशबू मेरी नाक में आ रही थी। उस खुशबू ने मुझे बहुत ही उतेजित कर दिया और मैं जोर से चाटने लगा और वह भी उत्तेजित हो गयी और अपनी चूत में मेरा सिर छुपा लिया और अपना हाथ मेरे सिर पर रख दिया.

मैं अब पूरी तरह से सामान्य हो गयी थी और बहुत हल्का महसूस कर रही थी. उसने काफी देर तक भिन्न भिन्न आसानों में मेरी फुद्दी का भोसड़ा बनाने की पूरी क्रियाविधि को अंजाम दिया. वहां जाकर उसने ही बाथरूम खोला और मुझे नीचे उतार कर कहा- आप फ्रेश हो जाएं … मैं बाहर दरवाज़े के पास खड़ा हूँ.

उसके आगे हमारी जो भी बातें हुईं, वो सब व्हाट्सएप पर कुछ इस तरह हुई थीं. मैं बेड के ऊपर लेट कर सोनू की चूत का क्लिटोरिस मसलने लगा और धीरे-धीरे एक उंगली उसकी चूत के छेद में भी चलाने लगा था. पर मैंने नहीं की, तो उन्होंने खुद से कमर पर हाथ लगाकर मुझे दबाया और मेरे टांगों पर नीचे लिपट कर अपनी उंगली चुत की रेखा पर चलाते हुए अपनी नाक भी मेरी चुत में रख दिए.

भैया बोले- भाई चला जा ना … नौकरी का सवाल न होता, तो वहीं चोद कर आता. मैंने उनकी मम्मो को दबाते हुए कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, आज से आप मेरी गर्लफ्रेंड.

थोड़ा बोलने के बाद मैंने उनके होंठों पर होंठ रख दिये, वो साथ नहीं दे रही थीं, लेकिन विरोध भी नहीं कर रही थीं. वो किचन से एक खीरा लायी और मुँह में लेकर ऐसे चूसने लगी जैसे लंड चूस रही हो. सुबह उठकर मैंने प्रीतम से पूछा- क्या आपको मेरी रात की बात याद है?प्रीतम बोले- इतनी भी नहीं पी थी.

उसके बाद मैंने सुषी की चूत में अपना लंड डाल दिया और सुषी ने हल्की सी आह्ह निकाल दी अपने मुंह से.

उसके चेहरे पर संतुष्टि के चिह्न दिख रहे थे, पर मुझे गुस्सा आने लगा था. मुझे ज़ोर से चोदते हुए उसने अपने लंड का पानी मेरी चूत में ही छोड़ दिया. झा- वो सब तो ठीक है … आप रात में घर कितने बजे आये?इस पर मैंने भी सरलता से झूठा जवाब दे दिया.

मैं मुंबई में अपने घर में जहां रहता हूँ, वहां हम सात साल पहले आए थे. तूने अभी देखा किस तरह से अभी राज तेरी मम्मी से आगे वाली सीट में चिपके हुए उसके दूध दबा रहा था और अन्दर टांगों में हाथ डाले था.

उसकी चुत टाइट होने से केवल थोड़ा ही लंड अन्दर गया और वो एकदम से चिल्ला उठी और बोली- उई माँ मर गई … बाहर निकालो इसे. आंटी मेरे हाथ पर हाथ रख कर बोलीं- क्या तुम मेरी सेक्स की इच्छा पूरी करोगे?मैंने हां बोल दिया. गीता की चुचियां बहुत मस्त थीं और अब तक के खेल में उसकी निप्पल भी टाइट हो गये थे.

सेक्सी वीडियो सबसे सेक्सी वीडियो

तुम यह बताओ कि कितनी देर में निकल चलोगी?मुझे भारी चुदास चढ़ी हुई थी तो न जाने कैसे मैंने एकदम से बोल दिया- अन्दर आ जाओ … मैं डीजे के पास दिख जाऊंगी.

मैंने भी उसके कहे अनुसार उसकी चुचियों का हलवा बनाना शुरू कर दिया और फ़िर से दोनों निप्पल एक साथ मुँह में ले कर जोर से चूसने लगा. प्रमिला एकता की चुत को चाटती कभी मेरे लंड पर जीभ फेरती, तो कभी गोटियों को मुँह में ले के हम दोनों को मजा दे रही थी. थोड़ी देर बाद ही प्रशांत की बीवी माधुरी आंगन में आकर तार से अपने घर के कपड़े समेटने लगी.

दो पल तक उसका इंतजार करने के बाद मैं उसको पीछे से पकड़ने के लिए अपने हाथ आगे बढ़ाने ही वाला था कि निहारिका ने मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया. आखिर मेरी बहन थी, कैसे कहता कि बहना … मैं तेरे मम्मों से खेलना चाहता हूँ। बेशक मैं सबसे नज़र चुरा कर सुमन के मम्मों को ताड़ रहा था. देसी इंडियन सेक्सी वीडियो बीएफमैंने तो अभी अपना सुपारा ही तुम्हारी बुर के अन्दर डाला है, इसमें ही तुम्हारा यह हाल है, तो पूरा लंड तुम्हारी बुर में जाएगा.

इस वक़्त मेरी सास मुझे आदर्श औरत लग रही थी, जो कि हर तरह से एक मर्द को खुश कर सकती थी. तो मैंने उनकी चूत में 15-20 ज़बरदस्त झटके लगाए और उनकी चूत को अपने लंड के वीर्य की पिचकारियों से भर दिया.

सब कुछ कर करा कर शाम 5 बजे तक घर पहुंचे, तो चौबे जी के घर से खाना वगैरह आ गया था. मैंने किशोर को चाय का थरमस दिया और धीमे से कहा- फ्री हो क्या?वो बोला- अभी नहीं कल. इस तरह की बहुत सारी खबरें यहां के समाज में एक मुंह से दूसरे कान और दूसरे मुंह से तीसरे कान में पहुंचती रहती हैं.

अब मैं भी चलता हूं … इस रंडी को कभी मेरे को अकेले में देना … साली को दिल से खुश करूँगा. थोड़ी ही देर में हमारे बीच में पिछली बार की मस्त चुदाई को लेकर बात होने लगी. मेरा लण्ड माँ की चूत में गहराई तक चला गया और मेरी गेंदों ने हर झटके के साथ उसकी चूत के होंठों को मारा और ‘थड … थड़ … थड़ …’ की तरह आवाज़ दी।कमरा वासना से भरा हुआ था।मैंने मम्मी को 5 मिनट तक उसी अवस्था में चोदा.

इस कारण वो और भी गर्म हो गई और उसने मेरी पैन्टऔर अंडरवियर निकाल कर मुझे पूरा नंगा कर दिया.

आंटी ने दोनों हाथों से मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अपनी चूत की तरफ धकेलने की कोशिश की. भाभी- ठीक है, बाय!मुझे भाभी की बात सुनकर लगा कि घर पर सब ठीक है और किसी को इस बारे में नहीं पता है.

क्या करूँ कौशल्या मेरी रानी … तू है ही इतनी रसीली कि सब्र नहीं होता. अब डेविड ने मुझे पीछे से कसकर मेरे मम्मों को पकड़ लिया और अपने लंड को मेरी गांड के छेद में फिट करते हुए सीधे मुझे उठा लिया. मैंने उसे लाइन मारी, पर वह इग्नोर कर देता था या फिर उसे समझ नहीं लगी कि मैं क्या चाहता हूं.

मैं अपना मुँह उनके पेट पर लगाए उन्हें किस करता करता उनकी पैंटी के ऊपर ले गया और पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को चाटने लगा. सरदारजी का लिंग अभी तक मेरी योनि में था और मुझे ऐसा महसूस हो रहा था जैसे कोई साँप दम तोड़ता है, वैसे ही अकड़न ढीली कर रहा. कुदरती तौर पर उसकी बुर में छोटे-छोटे काले बाल थे, जो ज़्यादा घने भी नहीं थे.

सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो निप्पल चूसते चूसते पद्मा बोली- तू सही कह रही थी, दिल करता है कि अपने सैयां का लंड चूसते रहें और मज़ा लेते रहें. कुछ समय तक उंगली अन्दर बाहर करने के बाद मैंने अपनी उंगली निकाल लिया, जो उनके रस से भीग चुकी थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो सीजी

मगर वो अभी भी मेरी कमीज़ में बिना ब्रा के ही तनी हुई मेरी चूचियों को घूर रहे थे।तो कैसा करूँ?” उन्होंने मुझे देख कर कहा और फिर मेडम की तरफ बत्तीसी निकाल कर हँस दिए. तो मैंने अपनी सलवार का नाड़ा खोला ही था कि अचानक किसी ने दरवाजे पर आवाज लगाई. तो मैंने अपनी सलवार का नाड़ा खोला ही था कि अचानक किसी ने दरवाजे पर आवाज लगाई.

मुझे इस बात का डर भी लग रहा था कि कहीं सास को हम दोनों के सेक्स कांड का पता न लग जाए. मैं उसकी चूत को पीछे से चोदने में लगा हुआ था और सुषी के चूचों को अपने हाथों से आगे की तरफ भींच भी रहा था. देसी भाभी चुत फोटोअच्छी लगी हो तो लाईक भी करना और कोई सुझाव हो तो वो भी मुझे खुल कर बताना.

ऐसे ही काफी देर तक करने के बाद मैं रिवर्स पोजीशन में आ गया और किस करते हुए उसकी चूत के पास आ पहुंचा.

मैं अभी और मज़ा लेना चाहता था, मैंने उनको लंड चूसने को कहा, पहले तो उन्होंने मना कर दिया लेकिन जब मैंने कहा कि आप चूसोगी तो ये और भी बड़ा हो जाएगा तो वो राज़ी हो गयी. क्या मस्त लग रही थी वो … कुर्ते के नीचे उसकी नंगी गोरी गोरी जांघें बहुत सेक्सी लग रही थीं.

मेरी एक उंगली मामी की चूत में क्या गई, वो तो एकदम से कामुक आवाजें लेते हुए जोर से ‘अओउउ. उस लड़के ने मुझे किस करने के बाद मेरे कपड़े निकाल दिए और मैं ब्रा और पेंटी में रह गयी. मैंने उन्हें किस किया, खूब चूसा … उनके मस्त होंठों को और मम्मों को मैक्सी के ऊपर से दबाने लगा.

थोड़े दिनों के बाद हमारे और अंकल के परिवार की अच्छी बनने लगी और वो हर रोज़ हमारे घर पे दोपहर को रसोई बनाने के लिए मीठी नीम के पत्ते लेने आने लगी.

अपने कपड़े पहने और बेडरूम में चला गया जहाँ मेरे सोने का इंतज़ाम किया गया था. मैं कौशल्या को वैसे ही गोद में उठा कर खड़ा हो गया और उसे ऊपर नीचे करने लगा. मैंने फ्रिज में से दूध निकाला, चाय बनाई और थरमस में चाय भरके मेरे यार से मिलने निकल पड़ी.

झारखंड बीएफफिर रवि ने सोफे पे रखी क्रीम उठाई और ऋतु की पूरी गांड पे लगाने लगा. मेरी स्पीड बढ़ती जा रही थी और उसकी गांड उछलने की लय भी लंड के साथ मिलने लगी थी.

चुम्मा वाला सेक्सी वीडियो

उस वक़्त कल्पना ने कुछ भी कन्फर्म नहीं बोला, तो मुझे लगा शायद टाइम पास ही कर रही थीं. फिर हम लोग ने बाइक पान दुकान के पास लगाई और उसकी गाड़ी में बैठ कर बार पहुंच गए. चोदाई के बाद हम दोनों ही बिना कपड़ों के ही लेटे हुए थे, तब मैंने उससे पूछा- तुम रंडी का काम ज़रूर करती हो, पर तुम रंडी तो नहीं हो, सही बात क्या है?उसने कोई जवाब नहीं दिया.

मुझे उसकी ये सब बातें सुनाई तो दे रही थीं, पर मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा था … क्योंकि एक तो मैं नशे में थी, ऊपर से निक और नामित मुझे इस तरह चाट और मसल रहे थे कि उनकी वजह से मैं कामवासना में डूबती जा रही थी. मैं- हाँ ठीक है, मेरा व्हाट्सएप नंबर यही है, जिस पर आपने कॉल किया है, आप इसी नंबर पर मैसेज भेजिए. उसके करीब 10 मिनट बाद मुझे वही गाड़ी फिर से आती दिखी, लेकिन इस बार गाड़ी सोसाइटी के बाहर नहीं, अन्दर की तरफ जाने वाली थी.

और ज़ोर ज़ोर से पेल मेरे हीरो रॉकी!उसकी ये बातें उसकी इतने सालों से दबी कामुकता को बयान कर रही थीं. जैसे ही मैंने एक उंगली थोड़ी सी घुसाई, वो एकदम से उछल कर मुझसे लिपट गई. जहां शीला ने मेरा सारा वीर्य पी लिया, वहीं मैंने पद्मा की चूत का पानी पिया.

सबसे परेशान होके मैंने किसी दूसरे शहर में नौकरी तलाश करने का फ़ैसला कर लिया. मैं और मेरा बॉयफ्रेंड हम दोनों एक दूसरे को बहुत देर तक किस करते रहे.

अब हम दोनों अकेले थे और उसकी गोल-मटोल मोटी चूचियाँ मेरे अंदर सेक्स की आग जला रही थीं.

क्योंकि ज्यादातर पिक्चर्स फेक होती हैं या फिर इक्का दुक्का पिक्चर्स जो पसंद आती थीं उन्होंने अपनी बॉडी को इस तरह से दिखाया होता है कि कामदेव की आखिरी औलाद यही बची है अब. लड़कियों का मसाजमेरी फिगर की वजह से ही स्कूल टाइम से ही बहुत से लड़कों ने मुझे प्रपोज़ करना शुरू कर दिया था, पर मैंने किसी के भी प्रपोजल को स्वीकार नहीं किया. बीएफ पाकिस्तानएकाध जो बचे थे, उनके लिए पहले से ही गेस्टहाउस में सारी व्यवस्था कर दी गयी थी. हम काफी देर तक बातें करते रहते थे, उस दौरान मेरा बॉयफ्रेंड मुझे किस भी करता था.

अंकल बोले- भैया को मस्का लगा रहा है क्या? बेटा वो जा सकता, तो वो रूकता ही नहीं … तू चला जा.

फिर मैंने धीरे से उनके चूचे पर हाथ रखा, जब उन्होंने कोई ऐतराज नहीं किया तो मैं उनकी एक चूची को सहलाने लगा. ‘आप थके होंगे, थोड़ा आराम करेंगे या पहले चाय बना दूं?’वो मुस्कुराया- थोड़ी शराब पियूँगा और नहाऊंगा. मैंने प्यार से चुत को ऊपर से ही को सहलाया … फिर मैं उनके होंठों को चूमने लगा और वह भी मेरा साथ देने लगीं.

कुछ देर बाद मैंने फोन किया और पूछा कि वो दोनों कहां हैं तो उन्होंने बताया कि वो स्टेशन से बाहर की तरफ निकल रहे हैं. तो मैं भी नहाने चली गयी और तैयार हो कर रसोई में चली गयी, नाश्ता बनाने लगी. मैंने उसे कई बार प्रपोजल भी भेजा, लेकिन वह हमेशा मजाक में टाल देता था.

भाई बहन की सेक्सी वीडियो बताइए

एकाध जो बचे थे, उनके लिए पहले से ही गेस्टहाउस में सारी व्यवस्था कर दी गयी थी. खैर अब पूनम मेरे नीचे लेटी थी, उसकी टांगें हवा में थीं, उसका लहंगा उसकी कमर पर सरका आया था. फिर उसने अपनी साड़ी वैसे ही लपेट कर बांध ली, जैसे शो शुरू होने से पहले थी.

फिर हफ्ते भर बाद जब उससे बातें करने के बाद जब असलियत बताता तो हरामी ब्लॉक कर देता था.

पड़ोसी का लड़का पढ़ाई में कैसा है, बगल वाले की बेटी रात में किसके साथ आती है, ऊपर वाले फ्लोर पर रहने वाली आंटी का चक्कर किसके साथ चल रहा है.

मैंने बहुत लड़कियों की गांड मारी, पर जो मस्त मजा तेरी गांड चोदने में मिल रहा है, इसका दस प्रतिशत भी उन लड़कियों की गांड में नहीं मिला था. उन्होंने थोड़ा रुक फिर से एक तगड़ा झटका दे दिया, कुछ देर ऐसा करने के बाद मुझे सकून मिला और अब मुझे भी गांड मराने में मज़ा आने लगा. बीएफ सेक्सी हिंदी नया नयाअब मुझे लगा कि मीशा अपनी अक्षत योनि के भेदन के लिए पूर्णतया तैयार है.

ऐसे लग रहा था कि लिपकिस करने का कोई कम्पटीशन चल रहा है और हम उसको जीतने का इरादा लेकर ही उतरे हैं. यह सब सोचते सोचते मैंने नहाना पूरा किया और टॉवल लपेट कर बाथरूम से रूम में निकल आया. शिखा बोली- तुम कहीं बाहर घूमने नहीं जाते क्या? तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैंने कहा- नहीं, अभी तक तो नहीं है.

मैं और लता भाभी चुपचाप हर रोज़ चुदाई करते रहे और जैसे कि इश्क और मुश्क छिपाए नहीं छुपता, हमारे इस खेल का हेमा भाभी को शक हो गया था. अचानक उसका जिस्म थोड़ा थर्राया और उसने मुझे जोर से भींच लिया ‘ऊऊऊऊऊ आमिर मेरी चूऊऊत गई…’ये कहकर वो निढाल हो गई.

मिशिका को घर से निकलते देख कर मेरे मन में भी उत्सुकता जागी और मैं भी मिशिका दीदी के पीछे ही घर से निकल गया.

क्योंकि मैं जानता था कि अभी लंड निकाल लिया, तो ये फिर से डालने नहीं देंगी, इसलिए मैंने लंड बाहर नहीं निकाला. फिर एक दिन शाम को रिया का फोन आया- जल्दी आ जाओ, आज घर पर कोई नहीं है, दो दिन के लिए मकान मालिक की फैमिली बाहर जा रही है. फ़िर वाणी ने भी बात ना खींचते हुए बताया- तुम सही बोल रहे हो, यह मेरी सहेली है और इसके और मेरे पति दोनों साथ में काम करते हैं इस वक्त दोनों साथ में टूर पर गये हैं.

ट्रिपल एक्स मूव्ही हिंदी मैंने इशारे से पूछा- कैसा लग रहा है?तो भाभी ने बदले में मेरे माथे पर किस कर दिया और मुझसे लिपट गयी. मैं इसके बाद उसकी तरफ जाकर थोड़ा पास में को खड़ी हो गई ताकि वह बात कर सके.

मेरे घर के पास एक परिवार रहता है जिस में एक बेहद सुन्दर लड़की रहती है. मैं महीने के बाद ही आ सकता हूँ … बताओ?भाभी- ठीक है, जैसी तुम्हारी मर्जी वैसे जब तुमने पैसे दे ही दिए हैं, तो तुम रूम तो कभी भी छोड़ सकते हो न … भले महीना पूरा हो या ना हो?मैं- अच्छा देखता हूँ यार. जैसे ही मैं बेड से नीचे उठी, मेरे पूरे बदन में आगे पीछे बहुत ज्यादा तकलीफ लगी.

सेक्सी फिल्म वीडियो में राजस्थानी

भाभी ने नीचे बैठ कर मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया और फिर से लंड ने अपना भीमकाय रूप धर लिया. पेल दे अपना लंड मेरी फुद्दी में … कब से तेरे लंड के लिए तड़प रही थी. लड़का देखने में काफी अच्छा था और यह पता लगने के बाद भी कि मैं एक लड़का हूँ, जब मैंने उससे मिलने की रिक्वेस्ट की तो वह आसानी से मान भी गया.

लेकिन जब मैं पहले काफ़ी बनाने आया था, तब मैंने ये पैकेट नहीं देखा था. लोहे और लावा से गर्म लार पाकर प्रिया होश खोने लगी और ‘आआह … ऊऊओह … उफफफ्फ़ … में मर गई…’ कहने लगी.

और मुझसे घर वापस जाने और उसके आने का इंतजार करने को कहा।मैं निराश हो गया और घर वापस आया.

इस वक़्त मेरी सास मुझे आदर्श औरत लग रही थी, जो कि हर तरह से एक मर्द को खुश कर सकती थी. भगवान का शुक्र और सर की मेहरबानी से मैं परीक्षा में फर्स्ट क्लास से पास हुई। घरवाले बहुत खुश थे। पिंकी भी सेकेंड क्लास से पास हुई थी। मेरी अधिकतर सहेलियाँ जल भुन गई थीं. इसके चलते वो एक बार को तो जोर से चीख उठी और डॉगी स्टाइल से हट कर वापस बैठी सी हो गयी.

उस दिन सुजाता की तीन बार चुदाई हो गई और सुजाता रमेश काफ़ी देर तक ऐसे ही नंगे पड़े रहे. मेरी यह पहली सेक्स स्टोरी है जो मैं आप सब लोगों को बताने जा रहा हूँ जो एक सच्ची घटना है कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड और उसकी मम्मी को चोदा।जब मैं स्कूल में था उस वक्त मुझे अपने ही स्कूल की एक लड़की बहुत पसंद थी. उसकी गांड का तो कहना ही क्या! इतनी सम्मोहित करने वाली गांड थी कि अगर कोई छक्का भी देख ले तो उसका भी औजार तनकर नब्बे डिग्री के एंगल पर खड़ा हो जाये।दिखने में भले ही वो कटरीना कैफ न हो परंतु सेक्सी इतनी थी कि उसे देखते ही उसकी गांड में अपना लंड डालने का मन हो उठे। वैसे मेरा और निहारिका के बीच सेक्स बहुत छोटी ही उम्र से चलता आ रहा था। मगर यह शरीर तक नहीं पहुंचा था.

भाभी- तो तू उसमें रोज मुट्ठ मरता है?फिर मैंने बात काटते हुए कहा- अच्छा भाभी, मैं आपको फिर फोन करूंगा, बाय!भाभी- अरे सुन … अच्छा ये बता, घर कब आना होगा तेरा?मैं- अभी तो 3-4 महीने के बाद ही आ पाऊंगा.

सेक्सी मूवी बीएफ सेक्सी वीडियो: मेरे घर में जब भी कभी कुछ अच्छा बनता है, तो मैं उसके रूम पर जाकर उसको दे देती हूँ और वो बड़े स्वाद से खा लेता है. मैंने बहुत लड़कियों की गांड मारी, पर जो मस्त मजा तेरी गांड चोदने में मिल रहा है, इसका दस प्रतिशत भी उन लड़कियों की गांड में नहीं मिला था.

नम्रता भी मस्त फटका आईटम लगती थी, बिल्कुल मेरी दोनों इन्हीं माल की तरह. फिर राहुल का लण्ड अपने मुंह से निकाल कर वह सीधी बेड पर लेट गयी और कहने लगी- अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है. लगभग 5 से 7 मिनट जमकर रवि ने मेरी चूत को पेलम पेल चोदा, फिर अचानक मुझसे लिपट कर रवि मेरे दूधों को काटने लगे और बोले- आह.

रात को खाना खाने के बाद उसका रिप्लाई आया, उस वक्त लगभग 9 बजे होंगे.

उनकी पत्नी यानि मेरे पति की भाभी यानि मेरी जेठानी मुझसे बोली- रेशमा, संजय तो तीन महीने बाद आएगा और तेरे जेठ जी भी शायद एक महीने बाद आएंगे, तब तक तुम क्या करोगी?मैंने कहा- मैं क्या कर सकती हूँ?भाभी बोली- ठीक है मैं ही कुछ करती हूँ. पर मैंने उसे हिलने या बचने का मौक़ा दिए बिना खचाखच लंड को उसकी गांड में पेलना शुरू किया. मैंने उनसे पूछा- क्या आपको जाने की जल्दी है?उन्होंने कहा- नहीं बस उनका ध्यान रखना पड़ता है … ज्यादा ड्रिंक न करें, नहीं तो ऊपर लाना मुश्किल होगा.