बीएफ लेटेस्ट

छवि स्रोत,राजस्थानी स्कूल की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मारवाड़ी फिल्म सेक्स: बीएफ लेटेस्ट, बड़ी देर तक दोनों ने एक दूसरे की जीभ चूस चूस कर एक दूसरे की थूक को भी चाट लिया.

सेक्सी सीमा की चुदाई वीडियो

मैं उसके पास जाने को हुई पर मुझे भाभी की आवाज सुनाई दी किसी से बात करते हुए।तो मैं दूसरे कमरे की तरफ जाने लगी. हिंदी सेक्सी सेक्सी वीडियो हिंदीतीसरे दिन मैंने उसको कॉल करके बोला- मैं तुमको कॉलेज लेने आ रहा हूँ … तैयार रहना.

अगले दिन जब वो काम पर आई, तो मैं उस समय उसके बारे में सोचते हुए ब्लू फिल्म देख रहा था. इंग्रजी सेक्सी व्हिडिओ दाखवापिछली हॉट फॅमिली सेक्स कहानीमौसी और उनकी जेठानी का लेस्बियन सेक्समें आपने पढ़ा कि मैंने मौसी और उनकी जेठानी को आपस में पूरी तरह से खोलने के लिए उन दोनों का लेस्बियन सेक्स करवा दिया.

जब कुछ देर बाद शहज़ाद आता दिखा, तो जल्दी से जाकर मैं आटा गूंथने लगी.बीएफ लेटेस्ट: जब भी लण्ड का सुपारा नीचे से ऊपर जाता तो कुछ क्षण के लिए छेद पर अटक जाता और छेद की चौड़ाई को हर बार बढ़ाने लगा.

वो मुझे घूरते हुए बोला- सच में कितनी हॉट हो दीदी आप और आपके चूचे कितने तने हुए हैं.मैंने धकापेल शुरू कर दी और काफी देर तक भाभी की चुत में लंड अन्दर बाहर करता रहा.

छोटे बच्चो की सेक्सी व्हिडिओ - बीएफ लेटेस्ट

फिर अंकल ने मेरी गांड चूमते हुए एक उंगली गांड में डाल दी, मैं चिहुँक उठा.उनकी बेटी के साथ खेलने जाता था और वो भी उसके साथ मेरा खेलना पसंद करती थीं.

तू बता, तू कैसी है … सब कैसे हैं, फूफाजी, स्नेहा और चिराग?मैं- सब, सब बढ़िया हैं. बीएफ लेटेस्ट मैंने अपनी पूरी जीभ उनके मुँह डाल दी और वो कुतिया की तरह चूसने लगीं.

मैंने उसको बोला- मुझे लगा नहीं था कि तुम पहली बार में अपने आप पर कंट्रोल कर पाओगे.

बीएफ लेटेस्ट?

अब मैं समझ गया कि पिछले सारे बदले लेने वाली है ये!मैं बिस्तर के पास पहुंचा तो वो एकदम मेरी तरफ पलटी और मेरे खड़े-खड़े ही लंड को मुंह में भरकर चूसने लगी. सूरज भईया ने मुझसे भाभी को अकेले में तब मिलवाया, जब सब मेहमान चले गए. अब मैंने आंटी की सलवार भी उतार दी और मेरे सामने उनकी पीली पैंटी आ गई थी, जो कि आंटी की चुत के पानी से गीली हो गई थी.

हहह अहह अअम्म अओअ अऊऊऊ मादरचोद लौड़ा डाल दे रे चुत में … आह विराज प्लीज जल्दी से लंड डाल भैन के लौड़े. मुझे उम्मीद है कि ये हॉट यंग इंडियन चुदाई कहानी पढ़ते पढ़ते ही लंड वालों का हाथ अपने लंड पर … और चुत वालियों की उंगली बुर की छेद में जरूर होगी. इसलिए अब मैं उनके शरीर के एक एक अंगों को चूमने लगा और अंततः मैंने उनके कानों के पास किस किया.

मैं लगा रहा तो एक मिनट बाद वो फिर से चार्ज हो गई और चुदाई का मजा लेने लगी. अच्छा एक बात बता, तेरी चूत में ऐसा कब से होने लगा … किसी को चुदते देख लिया क्या या किसी की चूत देख ली तूने? अच्छा बता आज तक तूने किसी की रियल में चुदाई देखी है?तन्वी- हां मैंने अपनी चाची को कई बार चुदवाते देखा है. चूंकि वह पतली दुबली लड़की थी इसलिए उसकी गांड थोड़ी सी ही बाहर को निकली हुई थी.

उसने पार्सल लेकर हमारे पास छोड़ा … फिर उस डिलीवरी बॉय के पास जाकर उसकी पैंट निकाल दी और उसका लंड चूसने लगी. मैंने लंड पेलते हुए कहा- शन्नो अब तू मेरी रंडी है … और मैं तुझे रोज ऐसे ही चोदूंगा.

मैंने उनसे कहा कि ठीक है, मैं अभी आपको आपके घर छोड़ देता हूँ और उधर देख भी लेता हूँ कि कैसा मोहल्ला है.

भाभी से रहा नहीं जा रहा था तो उन्होंने मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत पर दबा दिया.

मैं बोला- भाभी लंड मुँह में लो न!भाभी झट से लंड मुँह में लेकर उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं. अब मेरी चूत में और मेरी गांड दोनों में उंगली कर रहा था और कभी-कभी हाथ नीचे ले जाकर मेरे बूब्स भी दबा रहा था. आपको ये समझ नहीं आया है कि मैं किसलिए पूछ रही हूँ?मैंने कहा- देखो प्रिया … मैं तुमको बहुत पसंद करता हूँ मगर मुझे लगता है कि हमारे परिचितों के कारण मुझे तुमसे दोस्ती नहीं करना चाहिए.

इसी तरह हम घर आ गये।फिर रात को मैंने इसी सब को याद करके अपनी चूत में उंगली की और सो गई।इसी तरह दिन बीत गए लेकिन मैं उसको सेक्स के लिए नहीं बोल पाई थी।वो भी मेरे बदन को अकेले में याद करके मुठ मारता था और अक्सर मुझे मेरी ब्रा और पैंटी पर वीर्य के धब्बे दिखाई देते थे. उसने जैसे ही हाथ बढ़ाया, मैंने जान बूझकर पैसे गिरा दिए और बोली- ओह्ह सॉरी … मैं उठा देती हूं. थोड़ी देर बाद सब नॉर्मल हो गया और मेरी गांड और चूत की जमकर चुदाई होने लगी.

इस सेक्स कहानी में मैंने अपने घर के पास रहने वाली एक पंजाबी आंटी की चूत चोदी थी.

उस चपरासी की तो जैसे लॉटरी लग गई हो … वो आंखें खोलकर सोनम को देखने लगा. करीब दस मिनट बाद एक कम्पाउंडर आया और वो दोनों हम दोनों को अन्दर ले गया. मैंने अपने धक्के लगाना शुरू किए, जिसमें ट्रेन के हिचकोले भी मेरी मदद कर रहे थे.

दोस्तो, यह थी मेरी टॉयलेट सेक्स कहानी!शायद आप में से बहुत से पाठकों को यह काल्पनिक लगेगी या बहुत लोग इस पर विश्वास नहीं कर पाएंगे … लेकिन आप सभी जानते हैं कि मैं केवल वास्तविक कहानियां ही आपको पढ़ने के लिए अंतर्वासना पर अपनी लेखनी के माध्यम से रुचिकर बनाकर आपके समक्ष प्रस्तुत करता हूं. शेखर- ओहो … मतलब अब दो सप्ताह तक हर दोपहर आपसे बात हो सकेगी!धारा- नहीं जी।शेखर- क्यूँ … क्या आप मुझसे बात नहीं करना चाहतीं?धारा- ऐसा मैंने कब कहा? मैं तो बस ये कह रही हूँ कि दोपहर में बात करने की क्या ज़रूरत है, बातें तो रात में भी हो सकती हैं ना!धारा का इशारा समझ कर शेखर की बांछें खिल गयीं, उसे अगली कई रातों तक होने वाली मस्ती के ख़्याल आने लगे. तभी रीतू ने मचलते हुए कहा- चन्दर, मेरी प्यास बुझा दो … मैं भीतर से तप रही हूँ.

मैं ऊपर और वो नीचे!मैंने शुरू किये धक्के देने और तमन्ना ने लंबी-लंबी आहें- जा…न… आ…ह… जा…न!कहते-कहते उसने मेरा चेहरा पकड़ा और मेरे होंठ अपने होंठों में दबा कर झड़ने लगी.

रज्जी- आई लव यू टू जान … लेकिन किसी को हमारे प्यार के बारे में पता नहीं चलना चाहिए. वो बोलीं- इधर क्यों, कमरे में कर ना!मैंने कहा- आंटी, मुझे खुले में आपको चोदने का मन है.

बीएफ लेटेस्ट हालांकि इसके बाद मैंने कई मर्तबा अपनी गांड में बड़े बड़े लंड लिए हैं मगर जब तक आपकी पसंद मालूम नहीं होगी, मेरा उन देसी गे सेक्स कहानियों को लिखना बेमानी होगा. फिर भी उसने धारा को कुरेदने के लिए सवाल किया- अरे हाँ … ये तो मैंने सोचा ही नहीं.

बीएफ लेटेस्ट थोड़ी देर बाद सैम ने मां की चूचियों को भींचना शुरू कर दिया और मेरी मां की घुटी हुई आवाजें निकलने लगीं. मगर जैसे ही अंकल स्पीड में आए, उनका लंड भी पूरा जाने लगा और मुझे सांस लेने में तकलीफ होने लगी.

मैंने कहा- तभी तो तुम दिन में नंगी होकर सेक्सी मूवी देखकर अपनी चूत में उंगली करती हो.

सनी लियोन की सेक्सी वीडियो खुला

मैंने उसकी तारीफ़ करना शुरू किया और मौली को बताया कि मैं पहले दिन ही तुमको पसंद करने लगा था. अरुणिमा[emailprotected]इंडियन कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:मुझे अपनी चुत गांड चुदवाने को लंड चाहिए- 2. कभी-कभी कुछ समय के लिए गार्डन में ही मिलते थे; लेकिन उधर खुला होने के कारण हम दोनों के बीच में कुछ नहीं हो पा रहा था.

एक दिन उसने बातों ही बातों में मिलने की इच्छा ज़ाहिर की तो तय हुआ कि तीन दिन घूम-फिर भी लेंगे और पूरे मजे लूटेंगे. इस चुदाई की कहानी में आपको मालूम हो चुका था अपने पड़ोसी और सहकर्मी रितेश के साथ मीरा ने चुदने के लिए, रात के डिनर में अपने भतीजे निखिल को और रितेश की भतीजी रीमा को आइसक्रीम में नींद की दवा देकर सुला दिया था और उसके बाद सुबह चार बजे तक मीरा ने रितेश के साथ चुदाई का मजा ले लिया था. सुबह 8:00 बजे के करीब मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि चारों लड़के अभी भी नंगे ऐसे ही सोए हुए हैं.

मैंने उसे चूमते हुए कहा- मुझे सब मालूम है कि तुम दोनों को एक साथ कैसे चोदना है.

मौसी- अच्छा जी, क्या होगा देख कर?मैं- जानू तुम्हें चूत के रस का रंग ने कैसे गीला किया है, पैंटी को कैसे भिगोया हुआ है और कितना बड़ा धब्बा लगा है … ये देखना है. नमस्कार दोस्तो, सेक्स कहानी के पिछले भागजवान लड़के को जिस्म दिखा के पटा लियामें अब तक आपने पढ़ा था कि रीमा और निखिल के बीच भी चुदाई का खेल शुरू हो गया था. जब कुछ देर बाद शहज़ाद आता दिखा, तो जल्दी से जाकर मैं आटा गूंथने लगी.

वो मजे से लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत के अन्दर जीभ डाल कर चुत चूसने लगा. मगर अब भी कुछ उलझनें शेखर के मन में टहल रही थीं; वो असली बात जानना चाहता था. अब तक आपने पढ़ा था कि सभी नौजवान लड़के लड़कियों में प्यार मुहब्बत चल रही थी.

कुछ देर बाद मैंने फिर से धक्का लगाया, जिससे मेरा पूरा लंड चुत की गहराई में अन्दर तक घुसने लगा था. वह आकर पीछे से मुझसे चिपट गया और धीरे से उसने अपना हाथ मेरी गांड पर रख दिया और उंगली को चलाने लगा.

मेरी शादी को अभी डेढ़ साल ही हुआ है, मैं अपने पति से पूरी तरह से संतुष्ट हूँ और हम दोनों बिस्तर में हर तरह से मजे करते हैं. फरियाल हंसने लगी और बोली- पंकज, इस तिल को कभी मेरे शौहर ने नहीं देखा … अब तक बस वो आते हैं … लंड चुत में डालते हैं और जल्दी से पानी निकाल कर सो जाते हैं. मेरा संदेश पाकर वो चहक उठी और उसने तुरंत रिप्लाई किया- बहुत जल्दी रेस्पॉन्स कर दिए साहब.

उसने ऋतु को डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से लंड पेल कर उसे चोदने लगा और उसकी गांड में थप्पड़ मारने लगा.

नर्म मुलायम उंगिलयों का स्पर्श शेखर को झकझोर गया, शेखर एकदम से चौंक गया. मैंने बोला- भाभी जब लौड़ा लेना था … तो नाटक क्यों कर रही थीं?भाभी- चुप कर मादरचोद … बकचोदी करने नहीं बुलाया है तुझे यहां. धारा की बातें पढ़ कर शेखर को जहां जोश आ गया था वहीं उसके मन में ये विचार भी आ रहा था कि धारा की उम्मीदों पर वो खरा उतर पाएगा भी या नहीं क्यूँकि धारा शेखर के अंदर एक साथी की झलक देख रही थी.

तो क्या तुम उसके साथ सेक्स कर चुके हो?गौतम बोला- नहीं दीदी, अभी तो नहीं किया है. मां तेरे लंड की बहुत तारीफ करती हैं, जब तू उनको गुस्से में चोदता है.

वो आंख मारते हुए बोली- किधर?मैंने समझ लिया कि बंदी को लंड पसंद आ गया. तू कल भी आना कल भी तेरी चूत मारूँगा, आ कुतिया और धक्के दे नीचे से!इसी धकापेल में उसने अपना सारा माल निकाल दिया शिखा की चूत में!माल ज्यादा नहीं था, वो भी दो-तीन बार पहले निकाल चुका होगा।शिखा ने मुसकुराते हुए उसे लिप किस किया और गुडनाइट बोल के टिशू से अपनी चूत पौंछते अपने सोफ़े पर आई।अब जाने का टाइम हो गया था. हीरे सा तराशा गया उनका बदन, जिस पर दो खूबसूरत 5-5 किलो के चुचे उगे थे.

बंगाली सेक्सी भेजो सेक्सी

जीन्स और टॉप पहने हुए इतनी मस्त लग रही थी मानो अभी हां बोले, तो साली को अभी लेटा कर चोद दूं.

मौसी मेरी बातों को सुन कर पागल हुई जा रही थीं- अब ब्रा को खोल दे न!मैं- नहीं अभी तो ज़ोर से चूसते चूसते ऐसा करूंगा कि निप्पल का रस मेरे मुँह में पहुंच जाए. पर जब मैंने पहली सर्विस दी … तो उससे दिन मेरी शुरुवात पांच हज़ार से की थी. मैंने फ़लक की चूत में पूरा लण्ड जड़ तक ठोक कर उसके होठों पर अपने होंठ रख दिये.

मैंने लंड मां की गांड के बीच में सैट किया और डरते डरते मां के पेट पर हाथ रख दिया. मुझे उसकी हरकत थोड़ी अजीब लगी, वो दरवाजे पर गयी तो देखा कि एक गबरू जवान लड़का खड़ा था. आदिवासी सेक्सी भाभी वीडियोउस वक़्त मुझे बहुत दर्द महसूस हो रहा था अपनी चूत में, लेकिन फिर अनामिका मेरी तरफ मुंह करके समीर के मुंह पर अपनी गांड रख कर उसको चटवाने लगी.

आठ दस धक्के मारने के बाद उसका पानी निकल गया, नीरू फिर प्यासी रह गयी. थोड़ी देर बाद हम पेग लगा कर फ्री हुए तो नीरू का पति पेशाब करने वाशरूम गया और शीना किचन में समान रखने जाने लगी.

थोड़ी देर बाद नार्मल हो कर नेहा बोली- चल आ जा अब मेरी बारी!ममता- रहने दे यार … मेरी चूत को लंड की आदत पड़ गई है. फिर मैंने उन्हें कंधों से पकड़ कर नीचे बैठने का इशारा किया, तो वो घुटनों पर बैठ गईं और लंड चूसने लगीं. उसने तुरंत मेरी ब्रा फाड़ दी और मुझे उल्टा करके मेरी पैंटी भी निकाल कर मुझे पूरी तरीके से नंगी कर दिया और मेरी गांड पर बहुत जोर से थप्पड़ मारने लगा.

अब मैंने अपने भाई के साथ गांड मरवाने का मन बनाया है और आजकल मैं अपनी गांड में मोमबत्ती डाल कर इसे लंड के लायक कर रही हूँ. उसके लंड में मस्ती सी भर गयी थी; बस अब उसे धारा के जवाब का इंतजार था।यह हॉट चैट स्टोरी आपको कैसी लग रही है … इस बारे में अपने विचार जरूर बतायें। आप मुझे ईमेल या कमेंट बॉक्स में लिख कर बता सकते हैं।मेरा ईमेल आईडी है-[emailprotected]हॉट चैट स्टोरी का अगला भाग:वासना की धारा- 4. आंटी एक बार को सकपका गईं लेकिन वो खुद ही ये सब चाहती थीं … तो कुछ नहीं बोलीं.

अब संगीता की एक टांग को हवा में उठा लिया और गांड में लंड डालकर तेज गति से चुदाई शुरू कर दी.

जाने से पहले भाभी ने अपनी एक सहेली से मेरी मुलाकात करवाई थी, जिसे मैंने बहुत चोदा. मेरे हाथ खराब हैं इसलिए मैं तुमसे कह रही हूँ, नहीं तो मैं खुद ही कर लेती.

मैंने नाश्ता उठा कर एक तरफ रखा और अपना एक हाथ शन्नो की मैक्सी में डाल कर उसकी चूचियों को मसलने लगा. उनकी उंगली मेरी चूत को चोद रही थी और चूत से पच पच की आवाज हो रही थी. मगर मैंने देख लिया था कि उसकी मम्मी जाग रही थीं और अपनी टांगों के बीच अपने हाथ से कुछ रगड़ रही थीं.

मैं सिर झुकाए उनकी बगल से जाने के लिए निकली, मगर उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया. मैंने दुःख जताया तो वो बोले- हमारे घर से किसी का जाना जरूरी है क्योंकि शर्मा जी के यहां से हमारे बहुत घरेलू संबंध हैं. पानी पौंछ लेने के बाद उसने मेरी तरफ देखा तो मैंने उससे कहा- बेटा मेरा एक और काम कर दो, जरा मेरे बाल बांध दो.

बीएफ लेटेस्ट रीमा इस बात को सुनकर बड़ी खुश हुई कि उसने एक कुंवारे लंड का शिकार किया है. मैंने उनके बारे में कभी भी गलत नहीं सोचा था क्योंकि मुझे पता था कि भाभी देंगी तो हैं नहीं.

सेक्सी पिक्चर हिंदी में नंगी नंगी

वह लड़की कभी इशारे से कभी धीरे धीरे बोलकर कर अपना नंबर बोलने लगी लेकिन ट्रेन की आवाज और लोगों के शोरगुल में कुछ समझ नहीं आ रहा था. रुचि चुत खोल कर लेट गयी और साथ ही चंचल और ऋतु अपने में मगन हो गयी अर्थात वो दोनों एक दूसरे के मम्मों को दबा रही थी, तो कभी चुत में उंगली डाल रही थी … तो कभी एक दूसरे को चाट रही थी. वो मुझे देख कर रुक गया और हमने एक दूसरे को रंग लगाया और बच्चों को ‘बाद में चलते हैं’ बोल कर मुझे घर में ले कर आ गया.

शहज़ाद ने तुरंत मेरे दूध लपक कर पकड़ लिए और मेरे निप्पलों को अपनी उंगलियों में लेकर मींजने लगा. अब मेरा पूरा लंड फिर से उस गरम लड़की की चूत की गहराई में घुस गया था. राजस्थानी नंगी सेक्सी चुदाईअब मेरी गांड फट गयी कि कहीं इसे मौसी के बारे में पता तो नहीं चल गया.

जाते जाते उसने रघु को कह दिया कि शायद वो आज रात वापस ना आए तो वो खाकर सो जाए.

वो अपने भाई की चुदाई से इतनी ज्यादा बार झड़ गई थी कि उसकी चुत गांड सूज गई थी. एक दिन मेरी एक बहुत पुरानी सहेली का फ़ोन मुंबई से आया तो उसने ये बताने के लिए फ़ोन किया था कि अगले हफ्ते उसकी बेटी की शादी थी और हम दोनों को बुलाया था.

एक दिन में जिम से वापस घर आ रहा था तो भाभी और उनके पति दोनों बाहर ही खड़े थे. संगीता ने तुरंत हम दोनों के लौड़े हाथों में लिए और जोर जोर से हिलाने लगी. तन्वी आगे बोली- चाची भी हमेशा ऐसी ही लोकट गले की टी-शर्ट के साथ स्किन टाईट लेगिंग या शार्ट ड्रेसेस ही पहनती हैं.

मेरे पति के सोने के बाद रात में मेरा नौकर मेरा बिस्तर गर्म करता था.

स्टोरी ऑफ़ सेक्स इन रिलेशनशिप के पिछले भागमाँ समान औरत ने मेरी वासना जगायीमें आपने पढ़ा कि एक रात चाची ने मुझे अपने बिस्तर पर बुलाकर अपनी चूची चुसवायी, फिर मेरा लंड पकड़ने लगी. शेखर अब ज़्यादा देर रुक नहीं सकता था, उसने धारा की चूचियों को छोड़ा और उठा कर धारा के दोनों पैरों को अपने कंधे पर टिकाया और लगा बमपिलाट धक्के मारने. रोहन ने मेरे लन्ड को बाहर कर मुंह में पानी भर लिया और फिर मेरे लन्ड को चूसने लगा।मैं रोहन की लन्ड चूसने की कला का आनंद ले रहा था.

मोती वाली सेक्सीअगर आप बताना चाहो तो बता सकती हो, पर एक बात जरूर बोलूंगा कि मैं भी आपसे कुछ कहना चाहता हूँ. एक छोटे बैग में अपने दो जोड़ी कपड़े रखे ताकि अगर कोई इमरजेंसी हो तो बदलने के लिए हो जाएंगे.

बलात्कार सेक्सी चुदाई

जब वो अपने मामा के घर गयी थी तो क्या हुआ?हाय दोस्तो,पूरा परिवार लंड चुत गांड चुदाई का रसियासे ही जुड़ी हुई दूसरे शीर्षक से प्रस्तुत इस रसीली सेक्स कहानी में आपका एक बार फिर से स्वागत है. कुछ दूरी चलने के बाद भाभी प्यार से बोलीं- मेरा घर आ गया, यहीं रोक दो. लेकिन कॉलेज में प्रेसिडेंट, वाईस प्रेसिडेंट के चुनाव में दोनों लड़के प्रतिद्वंद्वी हो गए.

भाभी एकदम मस्त होकर तड़पने लगीं और कहने लगीं- अब बस करो मेरे देवर राजा … जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो राजा … नहीं तो मैं मर जाऊंगी. मयंक अब संगीता के ऊपर जोर लगाकर लेट गया और उसकी दोनों चूचियों को दबाने लगा. फिर क्या हुआ?नमस्कार दोस्तो,मैं राकेश अपनी एक और कामुक और सच्ची फ्री सेक्स स्टोरी हिंदी आप लोगों के समक्ष ले कर आया हूँ, आशा करता हूँ कि आप सब लोग मेरी इस कहानी को भी उतना ही पसंद करोगे जितना आपने मेरी पिछली कहानियों को किया.

देसी लड़कियों की चुदाई कहानी के पहले भागतीन जवान लड़कियां नंगी मेरे साथमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने एक ही बिस्तर पर तीन नंगी हसीनाओं की चुदाई का ताना-बाना बुनना शुरू कर दिया था. भाभी ने भी मेरे लौड़े का सारा रस खा लिया और चाट चाट कर लंड साफ कर दिया. पीछे से चाची के चिकने गोल चूतड़ और पीछे से बाहर की ओर निकली हुई, आपस में चिपकी हुई दो मोटी फांकें, सुडौल पट और चिकनी कमर बहुत ही सुंदर लग रही थी.

आह … क्या कामुक नशा था उसमें!मैंने भाभी की पैंटी के ऊपर से ही कचौड़ी सी फूली हुई चूत पर हाथ रख दिया. जब प्रिया ने जाया की चूत के अंदर ही जोर से अपनी मुट्ठी बंद करने की कोशिश की तो जया की तेज आवाज निकल गई- आह मर गई … साली चुत उखाड़ेगी क्या?इस पर सब लोग हंस पड़े.

लैपटॉप को वैसे ही खुला छोड़ कर शेखर चाय की चुस्कियाँ लेने लगा और बीच-बीच में स्क्रीन की तरफ़ देख कर जवाब का इंतज़ार करने लगा.

फिर मैंने उसकी कच्छी के ऊपर से उसकी चूत पर जैसे ही अपनी उंगली फेरी उसे जैसे होश आया हो और वो मेरा हाथ झटक कर खड़ी हुई औऱ दरवाजा खोल कर भाग गई. अंग्रेजों की सेक्सी पिक्चर फिल्मवो बोली- कितने सवाल करते हो, तुम्हें तुम्हारा गिफ्ट चाहिए या नहीं!इस पर मैं कुछ नहीं बोला और एक हल्की सी स्माइल करके चुप ही बना रहा. हिंदी में सेक्सी फिल्म देवर भाभी कीदोस्तो, ये था सेक्स विद माय स्टेप मॉम … अब तक मैं अपनी मां के साथ सेक्स करने लगा था और मां भी मेरे साथ सहज हो गई थीं. स्नेहा- और बता साली … बस में क्या क्या किया?ज्योति- तुझे क्यों जानना है.

तभी चाची को मोमबत्ती मिल गई और उन्होंने गैस के पास पड़ी माचिस से जला दी.

वो मेरे कंधों को बहुत अच्छे से दबाने लगी और फिर मुझे सीधा लेटाकर मेरे लंड पर अपना शरारती हाथ फेरने लगी. मैंने उससे कहा- फरियाल, मैं कार से आपके यहां आ रहा हूँ, तो कब आना है … ये बताओ. आज ही फोन आया है उस सेक्सी टीचर का!अगले महीने आ रही है वो मेरे पास! इस बार पूरे दस दिनों के लिये!आपको ये सेक्सी टीचर हॉट स्टोरी कैसी लगी, मुझे जरूर बतायें!मेरी मेल आईडी है[emailprotected].

वो ज़ोर ज़ोर से कराहने लगीं- आह आह आह उई उई मम्मी मर गई आ ऊ ऊह!उनकी तेज तेज आवाज आने लगी और कमरे में ‘फच फच फच. अगर आपको ये सब मंजूर हो, तो मैं आपके साथ रिलेशन में रहूँगी, नहीं तो हम मां बेटे बनकर रहेंगे और हमारा शारीरक रिश्ता भी आगे नहीं होगा. कुछ देर बाद उसका दर्द जैसे ही कम हुआ, मैंने एक और झटका लगाया तो पूरा लंड गांड में घुस गया.

सेक्सी वीडियो मारवाड़ी राजस्थान सेक्सी

उस बीच भाभी ने मेरे होंठों पर अपने होंठों को जमा दिया और वो मुझे ज़ोर ज़ोर से किस करने लगीं. अनायास ही मेरी नजर पड़ गई, तो क्या देखती हूँ कि चाचा पूरे नंगे थे और चाची उनकी गोद में पूरी नंगी बैठी थीं. जिसे मैंने तुरंत पहन लिया।रूपाली मेरे पास आयी- जाइये, नीतू आपका इन्तजार कर रही है.

करीब 6 बजे मैं नहाकर अपने कमरे में आई और आज मैंने साड़ी पहनने का फैसला किया क्योंकि शहज़ाद को मैं साड़ी में बहुत अच्छी लगती थी.

उसके बाद वो सीधे सामने वाले कमरे में चली गयी, जहां शहज़ाद एकदम चित लेटा था.

सुम्मी ने गगन को अपनी बहन की तीन दिन तक खुलेआम चुदाई करने का आदेश दे दिया था. मैंने कहा- मुझे तेरी गांड मारना है … आसानी से मरवाओगे तो ठीक … नहीं तो जबरी मार दूँगा. ब्लू पिक्चर मूवी सेक्सी वीडियोफिर जैसे ही मैंने अपने हाथों को ऊपर किया तो उसने एक झटके में मेरी स्कर्ट खींच कर उतार दी और बोला- अब सही नाप आएगा.

पहले मैंने चूचुक और पूरे घेराव में लंड को घुमाया, फिर घाटी की ओर लंड फिसलाने लगा. भाबी ने तेज स्वर में चिल्लाते हुए मेरा सिर पकड़ कर अपनी चुत पर ही दबा दिया. ”मैंने उनकी टांगों को थोड़ा फैलाते हुए लंड का थोड़ा दबाव देते हुए कहा.

धारा- चलिए फिर, फ़िलहाल तो आप ऑफ़िस में होंगे, रात में बात करते हैं. मुझे नहीं पता कि आप और ललित एक-दूसरे की मर्ज़ी से ये सब करते हैं या फिर किसी मजबूरी में मगर मेरे लिए सेक्स का मतलब सिर्फ़ और सिर्फ़ अपनी तृष्णा बुझाना नहीं होता.

यहां से मुझे कुछ ऐसे दोस्त मिले, जिन्होंने अपने अलग अलग तरह के कई किस्से साझा किए.

हर वक्त मुझे चाची के गुदाज़, गर्म शरीर का स्पर्श याद आ रहा था, चाची के मस्त बूब्स, चाची की फूली हुई चूत का स्पर्श… इन सबकी याद दिमाग से निकल ही नहीं रही थी. अब बारी थी असली चुदाई की! धारा ने शेखर के लंड को हाथों में पकड़ कर आगे सरकाते हुए अपनी चूत के ठीक नीचे सेट किया और एक बार फिर से लंड के सुपारे को चूत की पूरी दरार पर ऊपर से नीचे तक रगड़ा. मैंने उन्हें गले से चूमते हुए उनके चुचे पीने लगा और उनके निप्पल को दांत से दबाते हुए जीभ को चारों ओर घुमाने लगा.

सेक्सी पिक्चर सेक्सी नंगी पिक्चर सेक्सी अंकल गुर्रा कर बोले- मुँह खोल भोसड़ी के!मैंने मुँह खोला और उन्होंने अपने एक हाथ से लंड पकड़ कर मेरे मुँह के अन्दर कर दिया. ”मैं लेट गया तो सितारा आई और मेरे लण्ड व गोटियों पर हाथ फेरने लगी, फिर मेरी गोटियों पर जीभ फेरी और मेरा लण्ड चूसने लगी.

संगीता सर मोड़ कर बड़ी गौर से मयंक के लौड़े को देख रही थी और मेरे लौड़े को अपनी चूत में घुसाए हुए उचक रही थी. मेरे देवर जी ने सेक्स पॉवर वाली गोली खा कर और मुझे भी खिला कर रात भर में मुझे बाजारू रंडी सा बना दिया था. थोड़ी देर बाद वो फिर से रूम में किसी काम से आईं तो मैंने उन्हें भी अपने पास बैठा लिया.

सेक्सी बीपी के

तुम्हारी माँ को जब मैं पहली बार चोदने लगा तब भी उसकी चूत पर बहुत बाल थे. लेखक की पिछली कहानी:रंडी क्लासमेट ने मुझे कॉलबाय बनायामेरा नाम रवीश कुमार है, मैं रांची झारखंड से हूं. रीतू मंत्र मुग्ध सी बस लिंग को देख रही थी कि कब इस लिंग से उसकी योनि का उद्धार हो.

चूंकि भाभी मेरे ऊपर लदी सी थीं तो उनकी जांघ से खड़ा लंड टच कर रहा था. मैंने कहा- हां ये तो आप सही कह रही हो मगर केएलपीडी का पूरा अर्थ क्या होता है, वो जानती हो?भाभी बोलीं- नहीं … वो क्या होता है?मैंने उन्हें बताया कि केएलपीडी का मतलब होता है कि खड़े लंड पर धोखा.

इस तरह मैंने रोहन और नेहा से मुलाकात कर रोहन के कहने पर नेहा को पराये मर्द का सुख दिया.

मैं- आपका बॉयफ्रेंड था क्या शादी से पहले?भाभी थोड़ा सोचने के बाद बोलीं- किसी को बताओगे तो नहीं ना?मैं बोला- क्या आपको मुझ पर भरोसा नहीं है?भाभी बोलीं- पूरा भरोसा है … हां था एक. मेरा संदेश पाकर वो चहक उठी और उसने तुरंत रिप्लाई किया- बहुत जल्दी रेस्पॉन्स कर दिए साहब. और फिर वही लोग हमें यहाँ वापस छोड़ देंगे।दोपहर के लगभग 4 बजे भाभी के 2 दोस्त भी आ गए।वो हम लोगों से अच्छे से मिले और थोड़े चाय नाश्ते के बाद हम लोग शादी के लिए जाने लगे।मुझे थोड़ा अजीब इसलिए लगा की दोनों लड़के ही थे।उनके नाम अजय और कुणाल थे।हम सब गाड़ी के पास आए तो भाभी बोली- अरे नेहा, मैं अपना फोन चार्जिंग पे लगा ही भूल आई, ले आ यार प्लीज।मैंने कहा- कोई नहीं भाभी, मैं ले आती हूँ.

मैं भी उनके जैसा ही था, अपनी पत्नी से अलग होने के बाद मैं भी अकेला ही रहता था. मैंने पूछा- क्या हुआ? छुओगी नहीं इसको?शीना- अंकल, आप का लन्ड तो बहुत लम्बा और मोटा है. स्कर्ट उतारते हुए गौतम बोला- दीदी आप इतनी हॉट हो और इतनी छोटे छोटे कपड़े पहनती हो, तो सनी भैया ने आप पर कभी ट्राई नहीं किया!मैं शराफत से बोली- सारे भाई तुम्हारे जैसे ठरकी नहीं होते कि तुम अपनी बहन को ही चोदने में लगे हो.

रुचि ने लाल रंग की ट्रांसपरेंट ब्रा और पैंटी पहन रखी थी, तो चंचल ने भी काली ब्रा और पैंटी डाल रखी थी.

बीएफ लेटेस्ट: पहले पहल तो मुझे गुदगुदी हुई … फिर मजा आने लगा तो मैंने अपनी गांड के छेद को ढीला छोड़ दिया. पापा ने मां से पूछा कि तुम चलोगी?मां ने कहा कि मुझे ट्रेवलिंग से प्रॉब्लम होती है.

चलो किसी ब्लूफिल्म में तीन की चुदाई देख कर बताऊंगी कि हम तीनों में खेल कैसे हो सकेगा. भैया के जाने के बाद भाभी ने कहा- दीपक, आप अपना नम्बर मुझे दे दो, किसी काम की जरूरत होगी, तो मैं आपको कॉल कर दूंगी. मीरा ने निखिल से पूछा- कैसा लगा बेटा अपनी मौसी की चुत और गांड का स्वाद?निखिल बोला- आज बहुत मज़ा आया, अगर पहले पता होता कि मेरी मौसी इतनी रसीली है, तो मैं कब का आपकी चुत और गांड का बाजा बजा चुका होता.

काफी विचार विमर्श के बाद पता चला कि ये गलत हुआ है और प्रिया को इसकी सजा मिलनी चाहिए.

अब मैं नीचे था और वो ऊपर!ये देखकर मेरी हंसी छूट गयी!उसने लंड को पकड़ा और चूत में घुसाकर उछलते हुये हंसने लगी!मैं उसकी हिलती चूचियां पकड़कर दबाने लगा और वो झुककर मेरी नाक से नाक लड़ाने लगी!मैंने उसका चेहरा पकड़ा और किस करने लगा!अचानक उसने चेहरा छुड़वाया और मेरी छाती पर हाथ रखकर जोर-जोर से आहें भरती हुयी उछलने लगी. मैं उसकी इतनी लम्बी बड़बड़ाहट सुनकर खुद चकित था और ताबड़तोड़ लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर करे जा रहा था. डॉक्टर साहब का नाम रोहित था; उनसे मम्मी का चैकअप कराने का दूसरे दिन का अपॉइंटमेंट ले लिया.