एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी अच्छे-अच्छे

तस्वीर का शीर्षक ,

पूनम की सेक्सी: एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला, वे हेलीमा से बोलीं- जब तुम तीनों को चुदाई पूरी हो जाए और राज अपने फ्लैट में चला जाए, तो गेट बंद करके सो जाना.

सेक्सी पिक्चर हिंदी में जानकारी

लिंक भेजकर मैंने कहा- आपके पास मैंने जो लिंक भेजे हैं उनमें मेरी सेक्स कहानियां हैं. राजस्थान बीपी वीडियो सेक्सीफिर मैं बाथरूम के अन्दर चला गया, वहां से बाहर देखने के लिए मैंने दरवाजे को थोड़ा खुला रखा.

साथ में उसने अपने दोनों हाथों से मेरी गांड थामी हुई थी, जिसे वो सहला रही थी. सेक्सी फिल्म बड़े लंडजैसे जैसे वो उसकी कच्छी खींच रहा था वैसे वैसे सोनी अपना नीचे का हिस्सा उठा रही थी और इस तरह उसकी कच्छी निकल गयी.

मैंने भी लेटे-लेटे अपनी कमर को ऊपर उठाते हुए उसका मुँह चोदना चालू कर दिया.एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला: सेक्सी बीवी चुदाई स्टोरी के पिछले भागमेरी पत्नी ने मेरे दोस्त से खुलकर चूत चुदाई का मजा लियामें अब तक आपने पढ़ा था कि बाथरूम में सेक्स सीन चल रहा था.

सरिता- इतनी गन्दी चीजें पढ़ाई जाती हैं तुम लोगों को?और मुस्कराते हुए नीचे चली गई.मगर मीना बुआ ने मुझे उन दोनों के साथ सेक्स करने में मुझे टाल दिया था.

स्पेशल सेक्सी व्हिडिओ - एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला

अंदर मैंने क्या नजारा देखा … आप भी जानें।दोस्तो, कैसे हो सब? मैं आपको अपनी पैसे की मजबूरी में हुई घटना के बारे में बता रहा था.शादी की तैयारी को लेकर अंकल जी ने मुझसे कहा- तुम्हें ही सभी तैयारी करना है बेटा.

तुम्हारी सोहबत में रहेगी, तो तुम्हारी तरह ही बनेगी ना!मैं- अच्छा यह बात है, तो ठीक है. एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला तब जाकर संजू की नींद खुली और वो हम लोगों को देख कर गुडमॉर्निंग बोली.

मेरी गांड पीछे से और उठ गयी ताकि राज का लंड मेरी गांड में और अंदर तक रगड़ सके.

एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला?

इस सबमें आगे क्या क्या हुआ था ये सब जानने के लिए अन्तर्वासना के संपर्क में रहें. मेरी बेटी के नंगे चूतड़ मेरी तरफ थे और उसकी ढीली सी कच्छी लटक सी गयी थी. उनके हाथ लगने से लंड फिर से हिनहिनाने लगा और इस बार पूरा का पूरा लंड फ्रेंची में से बाहर आ गया.

इसलिए कुछ पुराने पाठकों को लगता है कि ऐसा तो मैं मेरी किसी कहानी मैं लिख चुका हूँ. वो- इतना भी टेस्टी नहीं है … और वैसे भी यहां होटलों में खाना अच्छा ही मिलता है. जैसे ही मेरा कच्छा नीचे हुआ, लंड एकदम से झटका लेते हुए उछलते हुए बाहर निकल आया.

थोड़ी देर बाद बड़ी बहन फ़ोन पर बात करती हुई बाहर आई और मेरी ओर देख कर अपनी चूत और बूब्स पर हाथ फेरते हुए बात करने लगी. मैं कहानी तो रेशमा की बता रहा था लेकिन चूत मुझे शगुफ्ता की दिखाई दे रही थी. तो मैंने सोचा कि चलो थोड़ी देर बालकनी में जाकर किसी लोंडे को ताड़ा जाये।लेकिन वहां कोई आया नहीं.

थोड़ी देर के बाद अदिति अपनी गांड आहिस्ता आहिस्ता ऊपर नीचे करने लगी तो मैं समझ गया कि अब ये सामान्य हो गयी है. मेरे लौड़े को जोर जोर से हिलाते हुए उसने भी अपनी चूची मेरे मुँह में दबा दी.

मैंने 6-7 करारे शॉट मारे और अपने लंड का सारा माल कशिश दीदी की चूत के अन्दर छोड़ दिया.

तभी पूजा बुआ ने मुझे बुलाया और बोलीं- योगी आज तू मेरे पैरों की मालिश कर दे, मैं बहुत थक गई हूँ.

वे दोनों मिल कर पीते रहे।फिर एक कमरे में फर्श पर गद्दा बिछाकर हम तीनों लेट गये. यह कहकर उन्होंने दुबारा मेरा सिर पकड़ लिया और अपने लॉलीपॉप को मेरे मुँह में लगा दिया. प्लीज अब जल्दी निकाल लो अपना पानी! मेरी गांड के मजे फिर कभी ले लेना.

फिर उसकी चूचियों को दबाते हुए धीरे धीरे मैंने टोपे को हल्का हल्का अंदर बाहर किया और इस तरह पांच सात मिनट भाभी गांड के मजे लिए और फिर मैंने उनकी गांड के छेद में अपने लौड़े का पानी गिरा दिया. मैंने अपना लंड रूचिका आंटी के चूत में अन्दर उसी तरह पेले हुए ही सो गया. मैंने नीता से पूछा- और कितनी दूर तुम्हारा घर?उसने कहा- आगे हमारा गांव है, उससे पहले ही राईट मोड़ से जाने का रास्ता है, वो सीधे मेरे घर पर ही जाता है.

मैंने उनके सामने गिलास कर दिया और उन्होंने मेरे हाथ से गिलास पकड़ लिया.

मेरे लोअर में लण्ड का उभार अभी भी बना हुआ था और लोवर पर चूत और लण्ड के प्रीकम के गीले निशान बने हुए थे. चुदाई में तभी मजा आता है जब वो औरत खुद ही चुदवाने के लिए मन से इच्छा रखती हो. इसके बाद वह मेरे ऊपर चढ़ गई और खुद ही लंड चुत में फंसा कर गांड ऊपर नीचे करने लगी.

उसने जैसे ही लंड मुंह में लिया तो दोस्तो, मैं मानो सातवें आसमान में था. फिर मैंने उससे कहा- अब मुझे जाना चाहिए, अगर उसका प्लेन कुछ जल्दी आ गया, तब भी मैं उसको घर पर ही मिलूं. वो कभी मुँह में ही पूरा लिंग दबा लेती, मानो अंदर से वीर्य खीचना चाहती हो और इधर मेरी जीभ उसको नितंब उछालने पर विवश कर रही थी।मेरे अण्डकोषों को धीरे-धीरे सहलाकर वो मुझे उसकी योनि को दाँतों से काटने पर मजबूर कर देती थी। मैं भी उसकी योनि के दोनों होंठों को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा.

लंड को क्या चाहिए बस छेद … मैंने गीला सा लंड उसकी चूत पर पेल दिया और झटके देने लगा.

अब मैं भैया का लॉलीपॉप आगे पीछे करके चूस रहा था … पर इनका बड़ा वाला लॉलीपॉप मेरे मुँह में अन्दर नहीं जा रहा था. मगर इस बार मैंने चाची की एक ना सुनी बस उनकी गांड को जोरों से चोदने में लग गया.

एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला अब नज़रों के मिलते ही अपने आप एक दूसरे का नाम ज़ुबान पर आने को हो गया … मगर फिर अगले ही पल हमारे पैर एक दूसरे से दूर ले जाने लगे. ममता‌ का आशय मैं समझ‌ गया था इसलिए मैंने अब उनकी चुत को ही चूमना और चाटना शुरू कर दिया, साथ ही साथ ही मैंने ममता को खींचकर थोड़ा सा टेढ़ा भी कर लिया ताकि शायरा भी मुझे ममता की चुत को चाटते हुए अच्छे से देख सके.

एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला ममता जी के बिना मैं भी इस टुअर पर जाना तो नहीं चाहता था मगर एक तो मैंने फीस जमा कर दी थी. मैं भी उसे धकापेल चोदने लगा और उसकी पीठ पर चढ़ कर नीचे हाथ डाल कर उसकी चूचियों को मसलते हुए उसकी चुदाई करने लगा.

मैंने फिर से उसके होंठों को किस किया और कुछ मिनट तक हम दोनों एक दूसरे की जीभ को चूस कर अपनी वासना को और अधिक भड़काते रहे.

बीएफ मूवी चुदाई वाली हिंदी में

भाभी- हां पक्का … चलो मैं तैयारी करती हूँ और इन दोनों को भी बता देती हूँ. बच्चे हो जाने के बाद वे भर जाती हैं और उनका पति बाहर किसी जवान और कमउम्र की लड़की की चूत चोदने का जुगाड़ करने लगता है. मुझे देख कर मामी ने मुझसे आँखों के इशारे से पूछा कि हो गयी अर्चना की चुदाई?मैंने भी आँखों और होंठों से संतुष्टि का इशारा किया.

मगर अब मेरे लंड में कड़कपन इतना बढ़ गया था कि मेरा लावा किसी भी वक्त फूट सकता था. दोस्तो, मैं नींद से जाग गया था और एक बार फिर से अपनी मां की चुदाई करने की तैयारी करने लगा था. डॉक्टर मुझे देख कर एकदम से बोला- वाह क्या आइटम दिख रही हो … आज तो बहुत मज़ा आएगा.

इसलिए मामाजी के घर पहली बार अनु दीदी को लेकर मैं दोपहर को पहुंच गया.

कुछ देर की मस्ती के बाद उससे रहा नहीं गया और उसने अपनी एक टांग को अपने लोअर बाहर निकाल दिया और मेरे लंड में थूक लगा कर मेरे ऊपर चढ़कर बैठ गयी. मुझे पूरा विश्वास है कि तुमको जैसे ही वो नंगी देखेगा, तो पूरा फिसल कर तुम पर लट्टू हो जाएगा. पर उसने मेरा हाथ पकड़ कर जमीन पर गिरा दिया और मेरे ऊपर चढ़ कर मेरे होंठ जोर जोर से चूमने लगा.

मगर मैंने सोचा आज अगर मैं वीर्य बाहर निकाल देता हूँ, तो समीना मेरा वीर्य कभी नहीं पिएगी. फिर मैंने उसकी पैंटी को वापस सही किया और पैंटी समेत ही उसकी फुद्दी पर मुँह लगा दिया. इस बार देर न करते हुए मैं उसकी टांगों के बीच आ गया और मोर्चा संभाल लिया.

उसकी गांड और चूत पर मेरा सूखा वीर्य दिख रहा था और वो गांड के दर्द की वजह से ठीक से चल नहीं पा रही थी. लंड सरका तो उसके मुंह से दर्द भरी आवाज निकली- हाय मर गयी!उसको चुप कराते हुए मैं बोला- कुछ नहीं होगा.

मैं पीहू के पीछे खड़ा होकर हुक लगाने लगा तो मेरा खड़ा लंड उसकी गांड में टच होने लगा था. मैं रानी की ख़ुशी में जल्दी छत पर चला गया और अपने बिस्तर बिछा कर लेट गया. उसका शौहर शाईस्ता हमारी चुदाई को देखते हुए सामने बैठ कर अपने लंड को हिला रहा था.

इससे मेरी उत्तेजना सातवें आसमान पर पहुंच गयी और मैं एकदम से जंगली हो गयी.

इसी के साथ अर्चना बहन एकदम से चीख मार कर मुझसे छूटने के लिए छटपटाने लगी- अहह मेरीईई ईईई … फट गई … चुत भैनचोद … साले कुत्ते … हरामी … रुक ज़ाआअ … आह बाहर निकाल लो … उम्म्ह … अहह … हय … याह … मम्मी. मुझे लगा कि वो मेरा बहुत अच्छा दोस्त है तो मुझे उससे मदद मांगने के लिए ज्यादा सोचना नहीं पेड़गा और वो बिना किसी ब्याज वगैरह के ही पैसे में मेरी मदद कर देगा. आंटी देखने में गोल मोल सी माल किस्म की आइटम थीं, पर उनकी उम्र 35-40 के आस-पास की थी.

रोहन ने आव देखा ना ताव, झट से उठ कर मुझे पूरी नंगी कर दिया और मेरी चुत को चूसने लगा. फिर वो मुझसे बोलीं- क्या आप यहीं कहीं नजदीक में रहते हो?मैंने कहा- हां.

मैं एक बार और उसकी चूत मारना चाहता था लेकिन मेरी बीवी रिंकू के आने का समय भी हो गया था इसलिए रिस्क लेना ठीक नहीं समझा. वो मुझसे मेरी पढ़ाई और बाकी चीज़ों के बारे में पूछने लगे और मेरी चूचियों को ताड़ते रहे. इसी बीच सोनी की एक बचपन की सहेली, जो हम दोनों के बारे में शुरू से जानती थी, उसने भी सोनी को समझाया कि वो अपने पापा से बात करे.

गंदी-गंदी बीएफ सेक्सी

लंड के किनारे से मेरा पानी भी निकलने लगा और मैंने अपनी पकड़ ढीली कर दी.

बेडरूम में मेरे पलंग के पास मेज़ पर रखे कंडोम के पैकेट को देख कर बोलीं- अच्छा, ये सब भी होता है यहां!‘निर्मला जी, प्रोटेक्शन तो ज़रूरी है ही. भाभी बोलीं- मैंने आज तक किसी का लंड मुँह में नहीं लिया, लेकिन तूने मुझे अपना इतना दीवाना बना दिया है कि आज से मैं तेरी गुलाम हूँ. उसने मेरे बूब्स की, मेरी नंगी चूत की और मेरी नंगी फोटो ली, और हम दोनों ने भी साथ में बहुत सारी नंगी फोटोज ली.

तब रागिनी ने भाभी को प्यार से बिस्तर पर बिठाया और उनके आंसू पौंछते हुए कहा- भाभी, आप मुझसे बड़ी हैं. अपने हाथों से उसने मेरी पैंटी को उतार दिया और मुझे पूरी तरह से नंगी कर दिया. दंगल मूवी सेक्सीमैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये और लुंगी लपेटकर मामी के पीछे लेट गया.

आपको जितना मज़ा चूत मरवाने में आएगा, उससे ज्यादा गांड मरवाने में आएगा. उसके सीने को चूमते व काटते हुए मैं उसकी पैंट के ऊपर से उसके लंड को सहलाने लगी.

मैंने आपा को बेड पर सीधा लेटा दिया और आपा ने अपने दोनों पैर खोल दिए. उसने धीरे से अपना सिर भी उसकी छाती पर टिका लिया जैसे कि वो कोई और नहीं बल्कि उसका पति ही हो. भाभी- हां पक्का … चलो मैं तैयारी करती हूँ और इन दोनों को भी बता देती हूँ.

मैं भाभी की दोनों चूचियों को मसलने लगा और धक्कों की रफ़्तार बढ़ा दी. मैं अपना लंड उनकी टांगों के अन्दर घुमाने लगा कि अचानक मेरा लंड आंटी की गर्म ज्वालामुखी जैसे लपलपाती चुत में घुसता चला गया. वो बोले- मस्त तैयार होना और जल्दी बुला लेना!मैंने उन्हें बोला- आप 8 बजे आ जाना।ये बोलकर मैं भी अंदर आ गयी.

देसी आंटी सेक्स कहानी का अगला भाग:कोटा में कोचिंग और चुदाई साथ साथ- 2.

उसके माँसल नितंबों के बीच से लिंग अंदर-बाहर जाना मुझे रोमांचित कर रहा था। जिन नितंबों की कल्पना में मैंने कितनी बार वीर्य बहाया था, आज उन दोनों माँसल नितंबों के ऊपर मेरा अधिकार था. मैंने अपने मुँह से भाभी की पैंटी की खींच कर निकाल दी और उनकी जाघें चाटने लगा.

मीटिंग से आने के बाद सोनी ने मुझे बताया कि उसे लड़का पसंद नहीं आया और उसे लगता है कि ये रिश्ता भी कैंसल हो जाएगा. मैं भाभी छत पर चल दिया, पड़ोसन भाभी छत पर थाली बजा रही थीं और मेरी तरफ देख कर स्माइल कर रही थीं. मैं चाय बनाने लगा और उससे पूछा- चाय के साथ क्या लोगी बिस्किट या नमकीन?उसने बोला- बिस्किट मैं नहीं खाती और आप ख़ुद नमकीन हैं.

क्या करूं जान? बहुत दिनों का प्यासा हूँ ना … इसलिए सब्र ही‌ नहीं हो रहा. मैं उसके कोमल स्तनों को दबाते हुए उसकी चूत में लंड अन्दर बाहर कर रहा था. वो चारों इठलातीं बलखातीं … म्यूजिक सिस्टम पर कमर नचातीं किसी अप्सराओं के जैसी लग रही थीं.

एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला मैं कभी उनके एक गाल पर होंठ रख कर चूमता तो कभी दूसरे गाल पर किस करने लगता. अदिति उठकर तकिए पर बैठ गयी, तो बचा हुआ हम दोनों का कामरस बाहर आ रहा था.

सेक्सी बीएफ गाना पर की

मैं उसके बदन से लिपट गया और अपना लंड उसकी चूत पर लगाकर उसकी गर्दन और आस पास के एरिया में चूमने लगा. हम पति-पत्नी दोनों इधर उधर एक हफ्ते तक हाथ पैर मारते रहे मगर रूपए नहीं मिले. मैंने तभी सुरेश को फ़ोन पर बता दिया कि हम राजी हैं और वो हमें पचास हजार दे दे.

इस सबसे अनामिका से रहा नहीं गया और वो कामातुर होकर बोली- जीजू, मेरी चूत पानी पानी हो रही है. जिसे देख चाची मेरे लंड को पकड़ कर हंसने लगीं और बोलीं- ये तो फिर से खड़ा हो गया … खैर, इसे मैं अभी ढीला कर देती हूँ. हिंदी फिल्म की हीरोइन का सेक्सी वीडियोपरमजीत अपने हाथों से मेरी जांघों को रोकते हुए मेरे लंड को रोकने का प्रयास करने लगी.

ऊपर से पकड़ने में क्या हो रहा है तुझे?फिर मैंने उसके हाथ में लंड पकड़ा दिया और उसने अबकी बार हाथ नहीं हटाया.

उन दोनों को निबटा कर मैंने अपना बैग खोला और दारू की और पानी की बोतल बाहर निकाली. मैंने- सही है … फिर भी निर्मला जी, आज यहां कैसे आना हुआ!अब मैंने आंटी जी की जगह निर्मला जी कहना शुरू कर दिया था.

ज़ारा- मुझे बहुत डर लगता है जुदाई का सोचकर!इसलिये जीना चाहती हूं आपके साथ एक-एक पल को!मैं- और मैं तुम्हें इसलिये दूर रखने की कोशिश करता हूं ताकि तुम्हारी आने वाली जिंदगी में तुम्हें कोई तकलीफ ना हो. वह एक कश्मीरी लेडी थी जिसके दूध जैसे गोरे रंग पर सेब की तरह लाल गाल थे. मैं गया तो उन्होंने मुझे पहचान लिया, पर मैंने उनसे कहा- आप मेरे दोस्त को नहीं बताना.

हिंदी सेक्स सेक्स Xxx कहानी के पिछले भागननद की अन्तर्वासना का इलाज कियामें अब तक आपने पढ़ा था कि मनोज ने मेरी ननद को खूब चोदा था.

इसका मतलब था कि घर में ना तो‌ कोई उठा था … और ना ही कोई घर से बाहर गया था. मैंने चूत के दाने को चूसना शुरू कर दिया और 5 मिनट में ललिता भाभी की चूत का झरना बहने लगा, जिसे मैं पी गया. मैंने करीब 5 मिनट तक उसके बूब्स को चूसना चालू रखा और उसके बाद वह मेरे अपॉजिट लेट गई.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो एचडी कॉमअब आपको मैं बताती हूँ कि आखिर वो क्या सामान था, जिसकी वजह से हमें शर्म आ रही थी. मैं सिमरन … आप सबने मेरी पिछली कहानीइंडियन बीडीएसएम गर्ल का कॉर्पोरेट बॉय संग मजापढ़ कर मजा लिया.

एक्स एक्स एक्स हिंदी चुदाई बीएफ

ममता के ऊपर लेटकर मैंने एक बार फिर से अपना सिर उनकी जांघों के बीच घुसा दिया और उनकी चुत को‌ चाटने लगा. मैं भूरा की गांड में उसका लम्बा मोटा मस्त हथियार अंदर बाहर होते देख रहा था. फिर अचानक से वो मेरे बालों को पकड़कर मुझे अपने ऊपर खींचने लगी और बोलने लगी- आह भैयाय्य्या … मैं मर जाऊंगी … कुछ्ह्ह्ह करो.

लंड सरकता हुआ चुत के अन्दर चला गया … और अनामिका की मीठी आह निकल गई. मैं उसे रूकने के लिए कहने लगा क्योंकि मेरा पेशाब ऐसे बाहर नहीं निकल रहा था. मैं उनकी बातें सुनकर खुश हो गया, लेकिन मैंने अपनी ख़ुशी को संभाला और फूफा जी से कहा कि फूफा जी, मैं अपने घर पर बात करके बताता हूँ.

मैंने चाची को उठा कर उन्हें घोड़ी बना दिया और उनके पीछे से उनके चुचे पकड़ कर लंड को उनकी उभरी हुई गांड में फंसा दिया. वो मेडिसिन लेने के लिए कमरे में जाने लगीं, उस दिन भाभी के पति की नाइट शिफ्ट थी और बच्चे सो गए थे. फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ से मजा देने लगा.

लंड को बुर में लेने में उसे तकलीफ़ हो रही थी लेकिन वो चुदना भी चाह रही थी. प्रियंका भी उसी टाइम बाथरूम से शॉवर लेकर चमक कर नंगी ही कमरे में आ गई थी.

विक्रम का तो समझ में आता है कि वो कई दिन का प्यासा था, परंतु संजू में कितनी गर्मी भरी हुई है, ये मुझे आज पता चल रहा था.

फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ से मजा देने लगा. घोड़ा की और औरत की सेक्सी वीडियोफिर अचानक से मैंने उसे रोकते हुए कहा- बस अब और नहीं, अब तो चोद ही दो मुझे … अब मैं और नहीं रुक सकती. डॉग सेक्सी वीडियो सेक्सीमैं बहुत खुश हुआ और बहुत जल्द ही तैयार होकर चुदाई की परिकल्पना करते हुए उस पते पर चला गया. वो जिस गति से उछल रही थी उसके वक्ष भी उसी गति से उछल कर मुझे पागल बना रहे थे।मैंने दोनों हाथों से उसके नितंबों को दबाना शुरू किया। अब हम दोनों स्खलन की ओर बढ़ रहे थे.

अब आगे बाप बेटी सेक्स कहानी:उस दिन शिवम ने मां को चोदा तो मां बोली- ये तुम दोनों ने क्या कर दिया है.

!”मैंने ममता पर से उठते हुए कहा और उनके पैरों की तरफ से उठकर उनकी बगल में लेट गया. मैंने आंखों का इशारा किया तो वो शर्म से लाल हो गयी और आगे देखने लगी. फिर भाभी बुरी तरह थक गयी थी, बोली- दीपू यार, अब पैर दर्द करने लगे हैं.

तीसरे दिन मैंने उससे कहा कि आज अशोक वापिस आ जाएगा, इसलिए आज तुम ना आना. शादी के 12-15 दिन बाद वो मुझे भी शादी करने के लिए समझाने लगी मतलब उसने अपना इरादा बदल दिया था, पर वो अभी भी मेरे साथ यौन संबंध रखना चाहती थी. मैं उठा तो देखा कि दिव्या मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूस रही थी.

12 साल की लड़कियों की सेक्सी बीएफ

अब लंड और चूत एक दूसरे को चोदने लगे।वो सिसकारने लगी- राज चोदो … आह्ह … और चोदो … मेरी चूत में लंड का पूरा मजा दे दो. चूत को हथेली से रगड़ते ही उसने अपनी चूत को मेरी हथेली पर जोर लगाकर दबाना शुरू कर दिया और वो सिसकारते हुए बोली- कर दो यार … कर दो प्लीज … अब मेरे से बर्दाश्त नहीं हो रहा है. बस इतना बोलते हुए अंकल मुझसे एकदम से सट गए और उन्होंने अपने हाथों को मेरे पेट से ले जाते हुए मुझे जकड़ सा लिया.

अब आगे हॉट गर्ल Xxx हिंदी कहानी:रात को तीन बजे मेरे डेकोरटर ने फोन किया.

फिर कुछ ही देर में मैं उसकी चूत के अंदर ही झड़ गया।कुछ देर उसके ऊपर ऐसे ही लेटे रहने के बाद हम दोनों उठे.

वो खुद मदहोश सी होने लगी थी और मेरे जिस्म को अपने बाहुपाश में कसे हुए थी. परन्तु उनके चूचे इतने बड़े थे कि ब्रा पूरा टाईट हो रही थी।मैं अपना हाथ ब्रा के नीचे से उसमें डालने लगा।मेरा हाथ उनके ब्रा में चला तो गया परन्तु इतना टाईट हो गया कि मेरे हाथ में उनकी चूची पूरी दबी हुई थी।शायद इस दबाव की वजह से चाची ने आंखें खोल दी और मेरा हाथ पकड़ लिया. फुलवारी सेक्सी वीडियोमैं दरवाजा बंद करने लगी तो उन्होंने मुझे पीछे से बांहों में ले लिया और ब्लाउज के ऊपर से मेरे बूब्स दबाने लगे.

मेरे हर धक्के के साथ मेरी जांघें अदिति की गोरी मांसल जांघों से टकरा रही थीं. तो बुआ आह करते हुए बोलीं- आह इसी को ठीक से मसल दे … मेरे पूरे शरीर का दर्द यहीं है. मेरे मन में भी विजय के लिए अब इज्जत बढ़ गई थी और प्यार उमड़ने लग गया.

अंतत: उसने अपनी टांगें ढीली छोड़ दीं और मैंने उसी पल फट से कब्ज़ा कर लिया. अदिति की पेशाब निकलना बंद हो गयी तो वो बोली- हर्षद, अब तुम्हारी बारी है.

मैं- ठीक है, आप यामिना को देकर गेस्ट हाउस के रूम नंबर 1 में भेज दें.

मैंने मन में सोचा कि इसने तो कुछ घास ही नहीं डाली, मगर किया भी क्या जा सकता था. उसकी गर्म गर्म सांसें मुझे महसूस हो रही थीं, जो मुझे पागल कर रही थीं. जैसे ही मैंने साड़ी हटाया, मैंने देखा कि आज ताई जी ने नीचे कुछ भी नहीं पहना है.

आंध्रा बंडी सेक्सी व्हिडिओ समय समय पर मैं उनसे वार्तालाप करता रहता था ताकि नाता जुड़ा रहे और जरूरत पड़ने पर चूत मिल सके. धीरे धीरे वो पैंटी के ऊपर से ही अपनी उंगली मेरी चूत घुसाने को बेताब थे.

मैं चाह रही थी कि उसके गर्म लंड को हाथ में पकड़ कर देखूं मगर फिर मैंने सोचा कि ये अब दो मिनट बाद खुद ही पूरा नंगा हो जायेगा. ममता तो इसके लिए पहले से ही तैयार थी, इसलिए मेरे ऊपर आते ही उन्होंने भी अपनी टांगों को फैलाकर मुझे अपनी दोनों जांघों के बीच में ले लिया. भाभी- आआ आआहह आअहहा कसम से तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और तुम बस मेरी चुदाई जल्दी जल्दी करते रहो.

बीएफ सेक्सी हिंदी मध्ये

मेरा किसी व्यक्ति के साथ कोई दिली सम्बंध नहीं है … और ना ही मेरी ज़िंदगी में कोई कल के पहले था. चाहे वो किसी रूप में करे, गुरु बनकर या रति के रूप में। मेरे लिये वो एक मार्गदर्शक बन गयी।मगर इतने वर्षों के बाद आज भी हम दोनों आपस में बेहद खुले हुए बहुत अच्छे मित्र थे किंतु फिर भी बात नहीं कर पाते थे।यही सोचता रहा कि मित्रता पर वासना का बोझ पड़ गया तो वो संबंध कहीं टूट न जाये. विजय ने मेरी पैंटी में हाथ डाल दिया और मेरी चूत को अपने हाथों में भर लिया.

उस साली रंडी पर भी मेरी नज़र है चुदैल!और वो बस ‘उफ्फ ले साली … और ले … आःह्ह’ करते हुए मुझे चोदे जा रहे थे।मैं बस ‘आराम से कर चूतिये … वर्ना मेरी फट जाएगी. वसुंधरा भाभी ने मुझे चाय देते हुए, शरारतपूर्ण मुस्कान के साथ घर में रुकने का विकल्प दिया जिसे रागिनी के जोर देने के कारण सभी ने मान लिया.

भाभी बताती रही- मैं तो आज ये सोच कर आयी थी कि चाहे आज कुछ भी हो जाये, मैं आज तुमसे चुद कर ही जाऊँगी.

हम दोनों का बदन फलों का रस, आइसक्रीम और चॉकलेट की वजह से चिपचिपा हो गया था. उन्होंने बाथरूम का दरवाजा पूरा बंद नहीं किया था, लगभग 6 इंच खुला था. मैंने कहा- हां, तभी तो तुम्हारी बहू और तुम मेरे लौड़े की दीवानी हो।हम दोनों कुछ देर तक एक दूसरे अंगों को सहलाते रहे.

अब आगे:शायरा का साथ मिलते ही मेरे हाथ तो जैसे एक जगह ठहर ही नहीं रहे थे. फिर धीरे धीरे करके मैंने उनके पीछे जाकर उनके घर तक जाना शुरू कर दिया. वो बोली- अगर तुमको कुछ ऐतराज ना हो, तो मैं तुम्हारे साथ हर रोज आ सकती हूँ क्या? मैं आपको महीने के पैसे दे दूंगी.

सोनी की चूत से कुछ खून जैसा बह रहा था हालाँकि वो काफी कम मात्रा में था.

एक्स एक्स बीएफ चोदने वाला: उसकी गान्ड पैंटी में समा नहीं रही थी।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके होंठों को चूसने लगा. अगर आपको ठीक लगे, तो मैं इसको अपने घर ले जाता हूं … ये वहीं पर सो लेगा.

कुछ देर उसकी चूचियों को पीने के बाद मैंने उसे अब 69 में कर लिया और हम दोनों अब 69 में आ चुके थे. ब्रो सिस सेक्स के बाद कपड़े ठीक करके दोनों मुस्कराते हुए बाहर निकल आए. ये कहकर मैंने जैसे ही दो धक्के मारे तो मेरे लंड से वीर्य का शॉट निकला और मैंने उसकी चूत को अपने माल से भर दिया.

चाची जी अचानक से बोलीं- दीपक जी ये लोवर उतार दो और ये क्रीम नीचे लगा लो, नहीं तो जलन न बढ़ जाए … उठो जल्दी से.

शैली खुश थी, उसका दर्द अब खत्म हो चुका था … अब रह गई थी तो बस उसकी सीत्कारें. भाई ने मां की साड़ी, ब्लाउज़, पेटीकोट उतार कर फैंक दिया और मां पूरी तरह नंगी हो गयी. उसने मेरे चूतड़ों पर हाथ लगाया और मुझे अपनी ओर खींचा।मेरी चूत लार और कामरस से एकदम गीली और चिकनी हो रही थी।उसने अपने लंड को मेरी चूत पर सटा दिया.