बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में

छवि स्रोत,महिला पुरुष सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की और जानवरों की बीएफ: बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में, इस आसन में मेरा लंड उसकी चूत में घुसता तो था, लेकिन बार बार निकल रहा था.

सुहागरात मूवी सेक्सी

मैंने भाबी के दोनों निप्पलों को अपने दोनों हाथों से जोर से खींचते हुए कहा- हां बिल्कुल ऐसे ही चूस रंडी … चूस साली अच्छे से … मेरी मस्त रांड लंड भी चूस और टट्टे भी चूस … ओह्ह गले के अन्दर तक ले मेरा लौड़ा … आह साली मादरचोद छिनाल … तेरी मां को चोदूं … बहन की लौड़ी. हिंदी वीडियो सेक्सी चुदाई वीडियोमैम गुस्सा हो गयीं और बोलीं- बाकी सब बेवकूफ हैं … जो क्लास कर रहे हैं.

मैं उनके साथ उनके रूम में गया तो उन्होंने मुझे कुछ टेस्ट कॉपीज़ दीं और सबको देने को बोल दिया. हिंदी सेक्सी हिंदी पिक्चर फिल्महोंठों पर वही लाल रंग की लिपस्टिक और आंखों के नीचे काजल लगाया हुआ था.

मैं- अच्छा तुम कोई इन्नर वियर लायी हो सेक्सी सा?प्रीति- नहीं जीजू, पहन कर सोने के लिए तो यही लोअर और टॉप लायी हूँ जो आज पहना हुआ था.बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में: बच्चे के पैदा होने के कुछ दिन बाद काम के चलते भैया को दुबई जाना था, तो वो निकल गए.

पर मैं शादी से खुश नहीं था क्योंकि अब मुझे लड़कों और आदमियों में इंटरेस्ट आने लगा था.मॉम अपनी गांड हिलाने लगीं और उनकी गांड की नीचे दबा विकी का हाथ मसलने लगीं.

देहाती लडकी सेक्सी - बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में

पापा ने मम्मी के होंठों पर किस करना जारी रखा और मैंने उसी समय अपनी मम्मी का एक दूध अपने मुँह में ले लिया.मैंने कहा- आज का क्या प्रोग्राम है?वो आंख दबाती हुई बोली- देखते हैं … जगह मिल गई तो बल्ले बल्ले पक्के में होगी.

आपके मेल मिलने के बाद अगली बार मैं आपको बताऊंगा कि मैंने कैसे सावी भाभी की गांड मारी. बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में तभी मम्मी ने कहा- तू सारा दिन फोन ही चलाता रह … घर में कौन आया, कौन नहीं … तुझे तो इस बात से कुछ लेना देना ही नहीं है.

तब मैंने प्रीति को व्हाट्सएप किया- बोलो जानेमन क्या कहना है?प्रीति- हाय जीजू, मेरे नीचे कुछ कुछ हो रहा है!मैं- नीचे कहाँ, सीधे सीधे बोलो ना कि चूत में कुछ हो रहा है.

बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में?

चूंकि यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, तो मेरी गलतियों को नजरअंदाज करके मजा लें. और उसकी टांगें ऐसे ही खुली हुई थी और उसकी चूत से कुछ पानी अभी भी बह रहा था. अगली सुबह जब सविता अपने भाई को जगाने गयी तो बेडरूम में क्या हुआ?भाई बहन ने मिलकर क्या किया?जो भी किया, इस आवाज वाली वीडियो में देखकर मजा लें.

तो उस दिन दोपहर में भाभी को देखने के बाद मेरा उनके प्रति देखने का नजरिया बदल गया. मैं दीदी के मम्मों को देखते हुए उनकी चूत से टपके चूतामृत को चखने के लिए बिस्तर को चाटने लगा. मुझे उसके बड़े बड़े मम्मों को खोल कर देखना था क्योंकि जब से मैं उसको देखने गया था, तब से उसके चूचे ही मेरी पहली पसंद थे.

बिलाल के अब्बू दुबई में जॉब करते हैं और करीब दो साल में एक बार भारत आ पाते हैं … वो भी केवल एक महीने के लिए ही. हल्के फुल्के जोक्स भी आने जाने लगे तो मैडम हंसने वाली स्माइली भी भेजने लगीं. अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, जो मैं आपके सामने पेश कर रहा हूँ.

मुझसे भी रहा नहीं गया और उनकी पीठ सहलाते हुए उन्हें शांत कराने लगा. भाभी अपनी गांड मेरे लंड की तरफ करके मेरे मुँह पर बैठी थी और उसकी पीठ के पीछे हमारे लंड महोदय कुछ इस कदर तन्नाए हुए खड़े थे कि कुतुबमीनार भी शर्मा जाए.

वो आकर मेरे बगल वाले सोफे पर बैठ गई और अपना हाथ मेरी तरफ बढ़ा कर बोली- लो ये मैं तुम्हारे लिए लाई हूँ, लेकिन क्या मिलता है इन्हें खाकर?मैं- कुछ नहीं बस हल्का सा कसैलापन और मीठेपन का मिक्स वाला टेस्ट आता है.

फिर उन्होंने मुस्कुराते हुए मुझे गले से लगाया और हम बातें करने लगे.

अब जब भी भाभी के पति बाहर जाते हैं, तो वो हॉट लेडी सेक्स के लिए मुझे बुला कर खूब चुदती हैं. जब वो अपने भाई के लिए पानी लाई तो उसके पास थोड़ी गुलाब की पत्तियां भी थीं. उसके साथ ही मैंने कच्छी के ऊपर से ही उसकी फुद्दी पर एक चुम्मा कर दिया.

अब आपको मेरी इस सच्ची नंगी सेक्सी लड़की की Xxx कहानी पर क्या कहना है, मुझे मेल करके बताएं. अम्मी ने हम दोनों को मिलवाया और वो हम दोनों को कमरे में छोड़ कर चली गईं. उन्हें लगा कि पानी की आवाज में इन आवाजों को कोई सुन नहीं सकता, तो वो बिना किसी की परवाह किए बिना मुँह से कामुक आवाजें निकाल रही थीं.

चुत के अन्दर रस भरा हुआ था और उनकी फांकों के बीच में दाना एकदम कड़क दिख रहा था.

अम्मी ने इठलाते हुए कहा- तो अब क्या सोचना … आओ मुझे इतना चोदो कि मैं दुनिया भूल जाऊं. तभी एक 40-42 साल की महिला आई और बोली- बेटा, मुझे मुम्बई जाना है लेकिन मेरी टिकट कंफर्म नहीं हो रही है।दिखने में औरत ठीक ठाक लग रही थी, उसने सफ़ेद रंग की साड़ी पहनी हुई थी।मैंने उनको बोला- ठीक है, आप मेरे साथ इस सीट पर बैठ जाइए. इस बात से पता नहीं, उसको क्या समझ में आया, वो बोली- तुम सही कह रहे थे, तुम पर विश्वास किया जा सकता है.

देसी भाभी देवर सेक्स स्टोरी के पहले भागलाइव चुदाई शो का नजारा आँखों के सामनेअब तक आपने पढ़ा था कि मेरे भैया की अगले हफ्ते से दिन रात वाली पूरे एक हफ्ते की ड्यूटी शुरू होने वाली थी और मैं भाभी के साथ मजा लेने का इन्तजार कर रहा था. मुझे जब भी कोई मस्त लौंडा दिखाई दे जाता था तो बस यही मन करता था कि उसे रोककर अपने घुटनों पर बैठ जाऊं; फिर उसकी पैंट खोल कर उसका लंड हाथों में लेकर अपनी जीभ से पूरी उसकी लम्बाई चौड़ाई नाप लूं. इसके आगे फिर क्या हुआ वो आप अगले भाग में पढ़ सकते हैं।कहानी के बारे में अपनी राय देना न भूलें।आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा। आप इस ईमेल पर मैसेज करके अपनी राय जरूर बतायें।[emailprotected]लड़के की गांड चुदाई हिंदी कहानी का अगला भाग:एक अनोखी शादी- 2.

ये सोचते सोचते रात हो गयी और मुझे ख्याल आया कि क्यों न मैम को फेसबुक पर ऐड कर लूं, इससे उनसे बात करने में आसानी होगी.

इस तरह मैंने अमित और उसकी इस दूसरी सैटिंग की सारी बातें अपने फोन में रिकॉर्ड कर लीं. मेरी मॉम- अह ह्ह उह्ह कम ऑन विकी … अब डाल भी दो अन्दर … मैं और नहीं रुक सकती.

बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में क्योंकि पके हुए आम को चूसने में जितना मज़ा आता है, मुझे इस समय उससे कहीं ज्यादा मज़ा आ रहा था. डॉक्टर ने मेरी क्लिट को रगड़ते हुए एक उंगली मेरी चूत में डाल दी, जिससे मेरे शरीर में बुरी तरह से वासना जाग गई और मेरा शरीर मेरा साथ न देते हुए अपने आप उंगली को पूरा अन्दर लेने के लिए ऊपर उठने लगा.

बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में मैंने बोला- दारू ही तो पीता था … और क्या करता था?वो बोली- वो साला नंगा होकर दारू पीता था. सेक्स खत्म होने के बाद मैंने उससे बोला- यार मैंने कभी थ्रीसम नहीं किया है, मेरा बहुत मन है.

अब कोमल रांड बन गई थी और चिल्ला रही थी- आह फाड़ दो मेरी चुत … भोसड़ा बना दो इसका.

राजस्थानी फुल सेक्सी पिक्चर

अब उमैय्या भी हमारे साथ रहने लगी तो उससे मेरी कुछ ज्यादा बातचीत होने लगी. ये सुनकर मेरा लंड तन गया और कार्लोस की खुशी का कोई ठिकाना ही नहीं था. तभी मैंने फटाफट शिवानी को नीचे लेटा दिया और जल्दी से फिर से उसकी सलवार के नाड़े को खोलकर सलवार और पैंटी दोनों एक साथ निकाल दिए.

और तब मैंने अपने लन्ड को दूसरे गियर में डाल दिया।आंटी सिसकारियाँ भरने लगी. अगर आप अपनी जिंदगी का सही मजा लेना चाहती हो … तो आज रात 11 बजे मेरे रूम में अपनी लाल साड़ी में आ जाना. हिन्दी सेक्स स्टोरी साईट पर कहानी के अगले भाग में बताऊंगा कैसे मैंने सावी की चुत चोद चोद कर उनका भुर्ता बनाया.

मैं उनके करीब गया और उनके घूंघट उठा कर उनके रूप सौंदर्य में खो गया.

लगता था कि तुम मेरी चूत फाड़ ही डालोगे।विजय बोला- फाड़ तो देता पर फिर तुम संजीव को क्या जवाब देतीं। बस इसी तरह चोरी छिपे हम मजे लेते रहें. जैसे ही मैंने तुम्हारे लंड को अपनी चूत में डालना शुरू किया तो मुझे शुरू में थोड़ा बहुत दर्द जरूर हुआ क्योंकि तुम्हारा लंड बहुत मोटा और लंबा है. मैंने उनके हाथ से दूध का पतीला लेकर किचन की पट्टी पर रखा और भाबी के पीछे खड़ा हो गया.

उसने मुझे हिम्मत दी और कहा- देखो शनाया किसी न किसी दिन तुम्हें चुदना ही पड़ेगा, चाहे तुम कुछ भी कर लो. तो मेरी बीवी मजाक से बोली- रहने दे प्रीति, इन्होंने आज दूसरी कॉफ़ी पी हुई है. सेक्स विद डिल्डो गर्ल्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी बहन की सहेली, उसकी बड़ी बहन और उसकी एक सहेली के साथ ग्रुप में चूत गांड सेक्स का मजा लिया.

मैं उसकी बात काटते हुए बोला- अरे धीरज छोड़ ना क्या तू भी … चल खाना खा, इंटरवल का समय पूरा हो जाएगा!हम दोनों ने खाना खाया और इधर उधर की बात करने लगे. झड़ने से मुझे एकदम से बेहोशी सी आ गई और मैं उनके ऊपर ही कब सो गया, मुझे मालूम ही नहीं चला.

मैं भी लंड की तलाश में थी तो मुझे भी ससुर जी का लंड लेना सबसे उत्तम लगा. अभी तक उसकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया न होने की वजह से मैं खुश था … क्योंकि वो गहरी नींद में थी. अब मैं सलईका की दोनों टांगों के बीच में आ गया और अपने लंड को बुर के मुँह के छेद के बाहर रख दिया.

मैंने देखा कि सावी भाभी सुबह सुबह किसी कंपनी में काम के लिए जाती थीं.

ये सब देख वो जाने लगी और तब विक्रम ने कहा- रुक साली, कहाँ जा रही है?? तब वो डरकर वहीं रुक गयी. हम एक दूसरे को बेहद प्यार करते हैं और हम एक दूसरे के साथ खुश भी रहते हैं. मुझे भी अच्छा लगता है कि इतना हट्टा-कट्टा आदमी मेरी अम्मी का बॉयफ्रेंड है.

मैंने उसका हाथ अपने लंड पर रख दिया क्योंकि मैं बहुत देर से खुद पर कंट्रोल कर रहा था और अगर उस वक्त मेरा पानी निकल जाता तो अंडरवियर भी उस सुनामी को तबाही मचाने से नहीं रोक पाता. जब मैं उसके लौड़े को गले तक निगलता तो उसकी आंह निकल जाती और मेरे नाक के नथुनों में उसकी झांटों की खुशबू मदहोश करने लगती.

गोरे गोरे गाल, रसीले होंठ, बड़े बड़े चुचे … बिल्कुल किसी बॉल की तरह गोल और सामने को तने हुए. चुत चुदाई के बाद शाजिया के चेहरे पर साफ साफ़ संतुष्टि दिखाई दे रही थी. जब मैं वापस आया तो देखा कि मैडम ने मेरी शर्ट पहन ली थी और वो बेड के किनारे पर बैठी थीं.

सेक्स फिल्म फिल्म फिल्म

उमैय्या आंखें नचाती हुई बोली- मुझे तो नहीं ज़्यादा चढ़ी थी, पर तुम्हें ज़रूर नशा हो गया था.

हमने फर्स्ट क्लास एसी का टिकट करवाया था। हमें दो बर्थ वाला कूपे मिला था. आज उन्होंने एक भूरे रंग का झीना सा सूट पहना हुआ था जिसमें उनकी गांड को गिरफ्त में लिए हुए उनकी पैंटी साफ दिख रही थी. मैंने धीरे से उनका हाथ हटाया और उनकी उस चूची को ऊपर से ही दबाने लगा.

अब सावी भाभी की दोनों टांगें चौड़ी करके उनकी चुत पर अपने लौड़े को घिसने लगा. अब तक मुझे अंदाज़ा हो गया था कि मेरे फोन की रोशनी देखते ही वो मेरे पास खिंची चली आएगी. पंजाबी सेक्सी चोदने वाली वीडियोउसके मस्त चूचे मेरी छाती पर धंस गए जिस से मेरा लन्ड खड़ा हो गया, जिसे शायद प्रीति ने भी महसूस किया.

अब मेरे सामने भाभी की चुत खुली हुई लपलप कर रही थी और मेरा लंडभाभी की चुत चीरने की चाहतमें फनफना रहा था. मैंने उससे पूछा- एक्स्ट्रा ड्रेस लाई हो?वो बोली- एक्स्ट्रा ड्रेस क्यों?मैंने कहा- यदि हम दोनों ऐसे ही सब करेंगे तो इस ड्रेस की हालात खराब हो जाएगी.

मैं बहुत उत्तेजित हो गया था तो उसका हाथ लगते ही मैं खुद को रोक नहीं पाया और झड़ गया. और राहुल अपने कमरे में चला गया।आंटी मेरे पास बाथरूम में आयी और मुझसे बोली- बेटा, अब तुम्हें अपने घर जाना चाहिए. मैंने उनके कानों में सरसराहट भरी आवाज में अपनी ख्वाहिश कही- मैं आपको ऊपर से नेचुरली देखना चाह रहा हूँ.

मैं छत पर इयरफोन लगाकर बस प्रकृति का नजारा देख रहा था, तभी किसी ने मेरे कान का इयरफोन हटा दिया. डैड ने ओके कहने के साथ ये भी कहा- वो लोग अपने परिवार से बहुत पहले से जुड़े हैं … यदि तुम हां में जवाब दोगे तो सभी को अच्छा लगेगा. मेरी कमर को जोर से पकड़ कर अपनी चूत मेरे लंड पर ऊपर से रगड़ने लगीं.

मगर जब मैं बोला कि जानू जैसे लॉलीपॉप को चाटती हो, इसे वैसे चाटो ना.

हम दोनों ने कैसे सेक्स शुरू किया?हैलो फ्रेंड्स, मैं नील आपको अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड उमैय्या के साथ हुई सेक्स कहानी को सुना रहा था. चुदाई की पोजीशन में बैठ कर राजेश जी ने अपना मोटा लंड दीदी की नाजुक छूट पर रगड़ना शुरू कर दिया.

मैं धीरे से उठा और कमरे का दरवाजा खोलकर पहले मैं छत पर गया और सावी भाभी को फोन लगाया. ‘कोई बात नहीं बाबा, आप आई को ही तो चोद रहे हैं न, किसी ओर को तो नहीं. फरीना ने एक टांग मेरे कंधे पर रख कर अपनी चुत को और खोल दी और मेरे लंड को आगे जाने का रास्ता दे दिया.

वो छटपटा रही थी लेकिन मेरी पकड़ मजबूत थी तो न तो वो हिल पा रही थी और न ही आवाज निकाल पा रही थी. विकी ने उसी समय अपनी गांड पीछे को की, तो मॉम विकी की कमर में हाथ डालकर उससे एकदम चिपक गई थीं. मेरे जीवन की कहानी में मोड़ तब आया, जब मेरी नजर हमारे घर की कामवाली शीला दीदी पर पड़ी.

बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में मैंने कहा- अब इस समय मैं कुर्ता पजामा किधर से लाऊं?वो हंस दी और बोली- मेरे पास है. फिर उसने वाशरूम में जाकर मुँह साफ किया और कमरे में आकर एक बार फिर से मेरे बिना कहे लंड को मुँह में लेकर चुसाई को एन्जॉय किया.

मराठी सेक्स वीडियो ओपन

पर तेरे भैया कहते हैं कि तेरी नींद तो इतनी गहरी है कि अगर भूचाल भी आ जाए तो तुझे पता ही नहीं लगेगा. बस चल पड़ी थी … एक घंटे बीत जाने के बाद भी कोई नहीं आया तो मैं थोड़ी मायूस हो गयी. मैंने धीरे से थोड़ा प्रेशर लगाया, लंड का सुपारा चुत की फांकों में फंस गया और शायद थोड़ा अन्दर भी चला गया था.

फिर मैंने धीरे धीरे उसके शरीर की तारीफ करते हुए उसके 36 के बूब्स से बनी सुंदर घाटी की तारीफ करने लगा. कुछ देर बाद उसने आंखें खोलीं तो मैंने उसके सिरहाने आकर उसके मुँह में अपना लंड दे दिया. सेक्सी खालीकॉलेज स्टूडेंट्स सेक्स कहानी में पढ़ें कि चार लड़कियों और 6 लड़कों ने चुदाई का मजा लेने के लिए एक गेस्ट हाउस बुक किया। वहां उन्होंने क्या क्या गुल खिलाये?लेखिका की पिछली कहानी:मैं चुदी हुई लड़कियां चोदता हूँयह कहानी सुनकर आनन्द लीजिये.

कभी उसके बालों की, तो कभी उसके गर्दन की, तो होंठों की तारीफ करने लगा.

लंड के झटकों से चूत का झरना बहने लगा और गीला लंड सटासट सटासट फच्च थपथप फच्च फच्च करके अंदर बाहर होने लगा।अब लंड की रफ्तार अपने चरम पर पहुंच गई और बच्चादानी तक जाने लगा।मैंने आंटी को लिटा दिया और चोदने लगा. उन्होंने मेरी पीठ पर हाथ फेरते हुए कहा- मैं तुम्हें पैसे भी दे दूंगा.

कुछ ही पलों बाद मैं उमैय्या की कच्छी को वहां से चाटने लगा, जहां उसकी चूत और गांड का छेद लगता था. अब मैं शिवानी को चोदने की खुशी में लंड मसलता हुआ घर आ गया और कल शिवानी को चोदने की खुशी में पूरी रात सो ही नहीं पाया. भाभी बहुत देर तक बिना कपड़े के ही खड़ी खड़ी अपनी चूत को सहला रही थीं और दीवार के पास खड़ी होकर अपने मम्मों को दीवार से चिपकाकर बहुत ज़ोर से दबा रही थीं.

अब मैंने रूपाली आंटी को गर्म किया और घोड़ी बना कर लंड पर तेल लगा लिया.

उमैय्या आती हुई बोली- कैसे हो नील … कितनी देर के आए हो?मैंने कहा- ठीक हूँ उमैय्या … बस अभी आता ही जा रहा हूँ. फिर मैं वहां से दिल्ली चला गया, जहां लॉकडाउन में कजिन दीदी को चोदा. अब मैं सीधा बैठ गया और उसको अपनी गोद में अपनी तरफ मुँह करके बैठा लिया.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो चुदाई कीनीचे गांड का जलवा घायल कर देता, तो ऊपर चूचियां किसी को चूसने और मसलने को बेकाबू कर देती. कई बार उन्होंने मुझे देखने की कोशिश भी की कि मैं कहीं जाग तो नहीं रहा हूँ.

हिंदी में साड़ी वाली

मैं आपको क्या बताऊं … मेरी मॉम की चुत को देखकर तो मेरा भी लंड खड़ा होने लगा था. एक दिन मैंने पूछा- तुम्हारी चूचियों की साइज़ क्या है?वो बोली- मेरे बहुत बड़े बड़े हैं. दिन में बहुत सारी सवारियों को अपनी बाइक पर बिठाकर उनको उनकी मंजिल तक पहुंचाता हूं.

माधवी सोनू की ओर मुड़ी और उससे कहा- एक मिनट सोनू बेटा अपनी आंखें बंद करना तो!इस पर सोनू ने ‘जी आई …’ कहते हुए आंखें बंद कर लीं. मैं भाभी की जवानी का नज़ारा देख रहा था कि तभी भाभी ने मुझसे कहा- बाबू मेरी ब्रा का हुक नहीं खुल रहा है, जरा मेरी हेल्प कर दो. खबर बड़ी है, सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कनिका कपूर लंदन से लौटी थीं और लखनऊ के एक पार्टी में पहुंची थीं, जहां वो लगभग 400 लोगों से मिली थीं.

साथ ही मैंने अपना एक हाथ उसकी पैंटी में डाल दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा. इधर शिवानी मेरे बदन से चिपक कर बुरी तरह से कांप रही थी, उसके रसीले होंठ थरथरा रहे थे. भाभी ने जवाब दिया- वो मैं बाद में बताऊंगी और मेरी आंख से आंसू का कारण आपके लंड की साइज़ है.

मैं उसके रसीले होंठों को चूसने लगा, कभी ऊपर वाले होंठ को, तो कभी नीचे वाले होंठ को. उस वक्त तो लग रहा था कि किसी भी तरह मोनिका को चोद दूं, पर अब वो जोश का भूत खत्म हो गया था और मैं कुछ सोच में पड़ गया था.

मैं मैम से बात करते करते चलने लगा, बातों में ध्यान होने की वजह से पता ही नहीं चला कि आगे एक बड़ा गड्ढा है और अचानक से बाइक उसमें जाने से हम दोनों ही अपना संतुलन खो बैठे.

मैंने फिर से देखा तो मॉम बिस्तर पर चित लेट गई थीं और उन्होंने अपनी चड्डी पर चूत वाले हिस्से पर आइसक्रीम लगा ली थी. लाइव सेक्सी बीपी वीडियोमैं आग में घी डालते हुए कहा- आप समझ रही हैं ना मेरे कहने का मतलब! अगर मेरी जरूरत घर में ही पूरी हो जाए, तब कहीं जाकर मैं अपने घरवालों को दूसरी शादी नहीं करने के लिए कह सकता हूँ. सेक्सी पिक्चर हिंदी में नए-नएइस बात मैंने उनकी तरफ देखा, तो उन्होंने आंख दबा कर फिर से मुस्कान बिखेर दी. उनकी कमर पतली है और कसी हुई साड़ी बांधने से उनकी गांड बहुत ही टाइट और सेक्सी दिखती है.

मुझे उस वक्त चुदास चढ़ गई थी और मैं उसे इसी पोजीशन में चोदने की सोचने लगा.

मैं आपको बता दूं कि मेरा मकान मालिक जगप्रीत 45 साल का एक बहुत हट्टा-कट्टा मर्द है, उसकी हाइट छह फुट एक इंच है. मैं बहुत खुश था क्योंकि मुझे ये बहुत अच्छा मौका नजर आ रहा था क्योंकि मैं और मेरी बहन एक साथ लेटने वाले थे. इधर मैंने भी कल्पना भाभी से जानना चाहा कि उनकी अमित के साथ शुरूआत कैसे हुई.

मैंने बोला- पति से अलग होने के बाद चुदाई का मन नहीं करता था क्या?वो बोली- हां करता था, तो अपनी नौकरानी से ही अपनी चूत को चटवा लेती थी या फिर खीरा बैगन चुत में डाल कर शांत हो जाती थी. फिर वो बोला- आज से तुम मेरे लिए रतन नहीं, रति हो!मैंने पैर छूकर सुनील को प्रणाम किया।मैं मानसिक तौर पर नारी बन गया (ऑफिस में मैं लड़कियों जैसे कोई हाव भाव नहीं रखता हूं।)सुनील कुर्ते पाजामे में अच्छा लग रहा था. तो क्या तू मेरा साथ दे सकता है?मैं बिल्कुल चुप रहा और मैंने शर्म से अपनी नजरें झुका लीं.

जानवर फुल सेक्स

कुछ ही देर में भाभी एकदम बिंदास हो गई थीं और मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर बात करने लगी थीं. डॉक्टर ने मेरी क्लिट को रगड़ते हुए एक उंगली मेरी चूत में डाल दी, जिससे मेरे शरीर में बुरी तरह से वासना जाग गई और मेरा शरीर मेरा साथ न देते हुए अपने आप उंगली को पूरा अन्दर लेने के लिए ऊपर उठने लगा. थोड़ा सोचने के बाद वो बोली- ठीक है एक काम करो तुम अपनी टी-शर्ट उतार कर टांग दो.

सावी भाभी ने एक पल सोचा और फिर कहा कि ठीक है बाबा, ठीक है … जब मैं फ्री रहूंगी, तब तुम्हें कॉल कर दूंगी.

पतली कमर और उठी हुई गांड की कमनीयता मुझे बेहद कामोत्तेजित कर रही थी.

इस बार उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और डांटती हुई बोलीं- ये क्या कर रहे हो?मेरी तो हालात खराब हो गयी, फिर भी मैंने हिम्मत करके कहा- चाचा आपके साथ जो रात को करते हैं. मैंने भी देर ना करते हुए नफीसा आंटी के बड़े बड़े बूब्स दबाने शुरू कर दिए. सेक्सी वीडियो सविता भाभी कार्टूनफिर कुछ शहद मैंने उसकी चूत पर लगा दिया औरचुत को चाटा, तो उसे भी बहुत मजा आया.

मैंने ट्रैक चेंज करना जरूरी समझा और आसमान की तरफ देखते हुए कहा- मैडम, आज मौसम कितना अच्छा है ना!अरे भुवनेश्वर में ऐसा ही मौसम रहता है … तुम नए आए हो ना … आदत हो जाएगी. यह तो मेरा हक भी है कि मुझे जन्म देने वाले मम्मी पापा को नंगा देखूं. ये देख मां बोलीं- बहू तेरा दूध पीने के कारण देख मेरे बेटे का लंड कैसे बड़ा हो गया है.

बाहर से आती रोशनी में मैं उसकी चूचियों को हिलता देख रहा था और चूत में अपने लंड को अन्दर बाहर कर रहा था. मैंने उसकी टांगों को मेरे कंधों से उतार दीं और उसकी गोरी गोरी कलाइयों को पकड़कर गांड हिला हिलाकर लंड चूत में ठोकने लगा.

तो मेरी बीवी मजाक से बोली- रहने दे प्रीति, इन्होंने आज दूसरी कॉफ़ी पी हुई है.

मेरी चड्डी पूरी वीर्य से सन गई थी और लोअर भी ऊपर की तरफ थोड़ा गीला हो गया था. उसके मुँह से मस्ती भरी आवाजें निकलने लगीं- आह … उह … नो … यस आह और जोर से पेलो. विकी ने मॉम के चुचों को देख कर अपनी आंखों को फैलाया ही था कि मेरी मॉम ने अपनी गांड को उठा कर विकी के हाथ पर रख दी.

हॉट सेक्सी वीडियो बिहार मैंने उसके बारे में पूछा, वो अहमदाबाद की रहने वाली थी और यहां सिर्फ स्टडी के लिए आई थी. [emailprotected]सेक्सी कहानी हिंदी में अगला भाग:सरकारी अधिकारी मैडम की चुत गांड चोदी- 2.

फोन काटने से पहले उसका ब्वॉयफ्रेंड उससे फोन पर किस मांगने लगा और वो मना करने लगी. पूरी बुर क्लीन करने के बाद मैंने फिर से उसकी बुर में अपनी जीभ घुसा दी. फिर अन्तर्वासना के पटल पर अन्य लेखकों को ये सब बिंदास लिखते देखा तो मैं भी अपना मन पक्का कर लिया और अपने साथ घटी एक सच्ची सेक्स कहानी को लिखने का मन बना लिया.

सेक्सी वीरा

इन बाजारू औरतों को घर लाना और उनके साथ संबंध बनाना आपके लिए घातक है. शादी से पहले जब आपने मुझसे मेरे वर्जिन होने की बात पूछी थी, तब मैं बड़ी खुश थी कि मुझे ऐसे लड़के से शादी करना मिल रही है … जो इस बात को बड़ी खुल कर स्वीकार कर रहा है. खबर बड़ी है, सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कनिका कपूर लंदन से लौटी थीं और लखनऊ के एक पार्टी में पहुंची थीं, जहां वो लगभग 400 लोगों से मिली थीं.

मैम की टाइट होती जांघों और मांसपेशियों से साफ पता लग रहा था कि थोड़ी देर में वो अपनी चुत से पानी छोड़ देंगी. अभी के लिए इतना ही, आपको मेरी ये अन्तर्वासना मस्तराम कहानी अगर पसंद आयी हो, तो मुझे मेरी मेल आईडी पर अपने मेल जरूर भेजें.

मैंने पूछा- और ऑफिस?वो बोली कि मैंने ऑफिस से भी दो दिन की छुट्टी ले रखी है.

मैंने ‘वाह वाह …’ करते हुए उसको कसके जकड़ लिया और उसकी गोरी गोरी कमर में हाथ डाल कर उसे अपनी तरफ ऐसे खींचा कि वो पूरी मेरे ही ऊपर आ कर गिर गयी. उसने कॉटन से मेरे पेट पर लगा रस साफ़ किया और मैं उठ कर अपने कपड़े पहनने लगी. उसने अपना एक हाथ मेरे लोअर के अन्दर डाल दिया और चड्डी के अन्दर हाथ डालकर मेरा लंड सहलाने लगी.

मैं उसे पसंद करता था। उसकी शादी असफल रही और उसकी वासना मैंने समझी और मजा दिया. वो कराहती हुई बोली- सूरज, पूरे दो साल के बाद मैं अपने पति के बाद तुमसे ही चुद रही हूँ, तो मुझे अपनी पहली चुदाई याद आ रही है. क्या बताऊं भाई उसके बारे में …वो एक मस्त गदराई हुई हसीन माल लग रही थी.

आज 7 साल बाद उसकी चूत और गान्ड को लंड का सुख मिला है।अब मैं और जोश में आ गया और तेज़ तेज़ लंड अंदर बाहर करने लगा.

बीएफ पिक्चर चुदाई हिंदी में: आकांक्षा अपने पापा को दूध का गिलास देकर कमरे में सोने का कह कर आ गई. अब मैं रोज़ सिर्फ मैम की क्लास में आने लगा था और सबसे पीछे वाली सीट की जगह सबसे आगे बैठने लगा था.

उमैय्या को अपने इतना क़रीब सोच कर और मेरे होंठों पर जो उसकी पैंटी का स्वाद था. मैं हंस दी और पूछा- कब मिलना है?काशिफ बोला- बताता हूँ … पर तू इस बार साड़ी नहीं … जीन्स टॉप पहन कर आना. मैं दीदी के मम्मों को देखकर मुस्कुराने लगा और दीदी से बोला- दीदी, क्या बिना कपड़ों के ही रहने का इरादा है?ये सुनकर दीदी ने अपने मम्मों को भी चादर से ढक लिया था.

वो बोलीं- ऋषि, तेरा हथियार तो बहुत ही तगड़ा लग रहा है … देख ना कितना कड़क हो गया है … एकदम पत्थर के जैसा.

उसी समय मैंने सोचा क्यों न नई बिकनी खरीद ली जाए ताकि वो अपने हुस्न को गोवा के बीच में खुलकर दिखा सके और मैं मज़े ले सकूं. अपनी दीदी के मुँह से बच्चों जैसी बात सुनकर मुझे हंसी आ गई और मैं बोला- ठीक है दीदी … चलो आज ही सिखा देता हूँ. मैंने कहा- सावी मेरी जान, मैंने भी जब से आपको देखा है ना … तभी से आपसे प्यार करने लगा हूँ.