नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,बुआ की चूत

तस्वीर का शीर्षक ,

नाईक सेक्सी व्हिडिओ: नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ, ऐसे करते करते वे कुछ ही देर में थक गयी- पापाजी बस … अब नांय है मेरे बस का.

इंडियन सेक्स video.com

आप इस फिगर से उस लड़की के बारे में जान ही गए होंगे कि वो बहुत स्लिम थी. xnxx हिंदीआप बताइये दोस्तों कि आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी? आप सब अपने अपने कमेंट्स कृपया मेरी मेल आईडी भेजें.

उन्होंने मुझे बांहों में जब उठाया तो मुझे अलग सा महसूस हुआ, मेरे दूध को चूम कर अंकल बोले- बड़ी मस्त है लग रही है तू मेरी गोद में, मेरी बाहों में तू वन्द्या!और ले जाकर बगल से जो बिस्तर था, उसमें मुझे पटक दिया. bf.xx वीडियो हिंदीमैं समझ गया था कि इसका होने वाला है और मैंने अपनी स्पीड बरकरार रखते हुए धक्के लगाता रहा, इसी बीच वो सिसकारी लेती हुई झड़ गयी.

मैंने जल्दी से दीदी की चुत को मुँह में भरा और बेताबी से चुत चाटने लगा.नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ: यह स्प्रिंग पीछे और आगे से जोर लगा कर चौड़ा करो तब अपने आप ये नीचे हो जाएगा.

यार… साला ये भोसड़ी का तो अपनी एकलौती बेटी के साथ खूब मज़ा करता होगा.उसने अपने दोनों हाथों से पद्मिनी की दोनों जांघों को दबाया और अपने लंड को चूत के छेद में घुसाने की कोशिश की.

நடிகைகளின் எக்ஸ் வீடியோ - नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ

दीदी समझ गई थीं, उन्होंने भी मेरे लंड के सुपारे पर जीभ घुमानी शुरू कर दी.कुछ देर तक ऐसे ही हमारी सामान्य सी बातचीत होने लगी और हम पार्क के एक किनारे पर रखी बेंच पर बैठ गए.

वो पूरे पागलों की तरह मेरे लंड को चूसे जा रही थी, उसने लंड चूसने की स्पीड और बढ़ा दी और मैं उस बीच झर गया, वो मेरे वीर्य को चाट चाट कर पूरा पी गयी. नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ राशिद ने कमरे की मेन बत्ती पहले ही बुझा रखी थी, बस कंप्यूटर की स्क्रीन की रोशनी हो रही थी।अब सब लोग कपड़े उतारो।” राशिद ने कपड़े उतारने की पहल करते हुए कहा।मम-मैं क्यों?”क्योंकि तुम्हें भी मजा लेना है। मुझसे शर्माओ मत.

मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसमें से एक कंडोम निकाल कर कंडोम में मुठ मारी.

नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ?

थोड़ी देर बाद जब मैं झड़ने को हुआ तो मुझे याद आया कि मैंने इस बार कंडोम तो लगाया ही नहीं. मैंने होंठों पर रेड कलर की लिपस्टिक लगाई थी, पूरी लिपस्टिक पीयूष के होंठों में लग गई. भाईजान अपने लंड को हाथ से पकड़ कर मेरे मुँह की ओर करे खड़े थे कि तभी उनके लंड ने एक तेज़ धार के साथ अपना सफेद गाढ़ा पानी मेरे मुँह के अन्दर डालना शुरू किया.

मैं रूम में डायरेक्ट घुस गया और चलते चलते ही कहा कि लीजिए आपका आम, खैर आपको ये पसंद नहीं आएगा क्योंकि आपके पास तो इससे भी मीठा आम वो भी बिना गुठलियों वाला है. मुझे आज पूरी उम्मीद हो गई थी कि रानी की चुत में मेरा लंड भी घुस जाएगा. मैंने कहा कि दीदी मैं खाना खा रहा हूँ, मैं अभी नहीं जाऊंगा और वैसे भी मैं आपको कई बार देख चुका हूं.

उसके जिस्म की गर्मी मेरा लन्ड भी नहीं झेल पा रहा था! मानो भट्टी में तप रहा हो. दो दिन पहले उसका फोन आया कि वो वापिस आ गई है और मुझे मेरी माँगी चुत को ले कर आएगी. वो नंबर देख कर चौंक गया क्योंकि यह जिस आदमी ने हमारी शिकायत की थी, उसी कमीने का नम्बर था.

वो मुझे बील्डिंग की छत पर ले गया और उसने मुझे नीचे बैठने का इशारा किया और जींस का बटन खोल दिया. मेरी गांड चुदाई की सेक्स कहानीनई जगह, नये दोस्त-3में मैंने आपको बताया कि मैं एक कस्बे में नौकरी पर गया तो मुझे वहां कैसे कैसे लौंडे, माशूक, गांडू मिले.

मैं किसी से भी चैट नहीं करूँगी, ना ही अपनी फोटो पेस्ट करूँगी और ना ही किसी को मेरा नंबर मिल सकता है.

इसके बाद मैंने उन्हें बेड पर लिटाया और पैर फैला कर चाची की चुत चाटने लगा.

मैंने कहा- इसकी कोई बात नहीं… यह देखेगा तो ट्रेन्ड हो जाएगा।जीजाजी- नहीं, मेरी वर्क शॉप में रहा तो ट्रेन्ड तो यारों ने कर दिया होगा। जैसी तुम्हारी इच्छा।उनका पैन्ट में से उचक रहा था, दिनेश ध्यान से देख रहा था, दिनेश किवाड़ लगाने लगा तो उन्होंने रोक दिया. मैंने मौसी को सेक्स की गोली देकर उनकी कामुकता जगाई और मौक़ा पाकर मैंने मौसी को चोद दिया. उसने मेरी टांगों को फैला दिया और मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा.

वो हमेशा ही मुझसे बोलती थीं कि सब्जी कम खाया कर और दूध ज्यादा पिया कर. उसने बताया कि वो दिल्ली से है और आर जे है, यहां वो अपनी फ्रेंड के साथ आई है. अब इसकी कोई आशंका नहीं थी क्योंकि रिपेयर करने वाली कंपनी की गारंटी थी कि राइफल की गोली की आवाज भी दीवार के पार नहीं पहुँच सकती थी!ऊऊऊऊऊ… आआआआ… ओओओओ… आआआ…” नताशा के मुंह से निकलने वाली चीखें अब मुझे जरा भी नहीं डरा रही थीं बल्कि मैं और… और ज्यादा उत्तेजित होता जा रहा था.

कुछ ही देर में भाभी की चुत का पानी निकल गया और वे एकदम से ढीली पड़ गईं.

फिर देवेश ने तेल से भीगी अपनी उंगलियां शशि की गांड में डाल दीं।मैं खिड़की के सुराख से देख रहा था. अब उसने मेरा लोअर निकाल दिया, अंडरवियर निकाल कर मेरे लंड को सहलाने लगी. मैं समझ गया था ये लड़की पहले से ही खेली खाई है, खूब चुदी चुदाई है, चालू माल है इसलिए मैं बिस्तर पर आया, अपनी बहन के नंगे बदन पर लेट कर उसे पूरा ढक लिया और उसके होंठों पर होंठ रखा कर प्रगाढ़ चुम्बन करने लगा.

वह ब़ड़े प्यार से अंडों को सहला रही थी और तेज़ तेज़ सिर को आगे पीछे करती हुई लंड को मुंह में अंदर बाहर, अंदर बाहर, अंदर बाहर कर रही थी. उसके चेहरे पर अब फिर वही सदाबहार मुस्कान लौट चुकी थी, उसकी गोरी मक्खन जैसी मुलायम गुलाबी गांड को चोदता हुआ आर्थर उत्तेजना से फटा जा रहा था और उसके मुंह से किसी भेड़िये जैसी गुर्राने वाली आवाज निकल रही थी. वह बोला- अब तो तुझे यही रोज मिलेगा, उसे भूल जाएगी तू!और उसने अपना लण्ड फिर से मेरे हाथों के पकड़ा दिया, उसका फिर से टाइट हो गया था.

फिर कुछ देर बाद मेरी भी तबियत ठीक हो गई और मैं भी अपने ऑफिस जाने लगा.

बेड की चादर पर भी ब्लड लग गया था जिसे हिमानी ने बाथरूम में ले जाकर तुरंत धो दिया और उसपर टोवल डाल दिया. यह कार्यक्रम लगभग चालीस मिनट तक चला और मैंने उनको चार अवस्थाओ में चोदा.

नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ थोड़ी देर बाद जीजाजी बाहर झाँकने लगे और मुझे टीवी देखता देख वापिस अन्दर चले गए. साली के चूचे कस कर जकड़ लिए और दोनों पंजे अकड़ा कर उँगलियाँ अंगूठे उनमें गाड़ कर ऐसे मसलने लगा जैसे सचमुच में उनका कीमा बनाना हो.

नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ ”साले भेड़िये… बोलती हूँ न अब छोड़ भी दे… नहीं तो दर्द की गोली लेनी पड़ेगी… जिस दिन मैंने तुझे पहली बार देखा ना तुम्हारी शादी में उसी वक़्त जूसी से जल भुन के मैं तो फुंक गई थी. मैंने थंक्स के जवाब में अपने होंठ उसके होठों पर रख दिए और दोनों एक दूसरे को किस करने लगे.

मैं अली बख्श का दोस्त दतिया से… अब बहुत दिन हो गए।वे मुझे ध्यान से देखते रहे बोले- हां याद है, कैसे भूल सकता हूं.

कार्टून सेक्स वीडियो एचडी

तो मैंने उसके घर फोन करके कह दिया कि प्रदीप और पूजा आज रात यहीं रुक रहे हैं, सुबह को आयेंगे. मैं उसको हाथ लगा कर पकड़ने लगी, मगर मेरे हाथ लगाते ही उसमें बिजली का करंट दौड़ने लगा और उसका लंड एकदम से खड़ा होने कर झटके मारने लगा. जब कविता ने ज्योति को समझाया, तब वो मुझसे अपनी चूत की सील तुड़वाने को राजी हुई.

बस फिर क्या था वो कभी मेरे मम्मों को दबाता तो कभी मेरे गांड की छेद में उंगली करता. मेरे पास मोटे कपड़े थे, जब मैंने उनको डालना शुरू किया तो बोली- क्या यार, तुम भी कहाँ की दकियानूसी हो. अंत में साड़ी खुल गई तो मैंने पेटीकोट का इजारबंद खींच दिया और वो सरसराते हुए नीचे रहम की भीख मांग रहा था.

पूजा के जाने के बाद मैं सो गया और सुबह पूजा की बड़ी भाभी ने मुझे उठाया.

दिखने में गोरी हूँ और मेरी चूचिया बहुत टाइट है काई मर्दो ने मेरा शिकार करना चाहा लेकिन कोई नहीं कर सका। मेरे हसबैंड मुझसे उम्र में कुछ बड़े है।जो स्टोरी मैं आप लोगों को बताने जा रही हूँ, वो एकदम रियल है. थोड़ी देर मैं ऐसे ही नंगी लेती रही और थोड़ी देर बाद उसका लंड फिर से टाइट हो गया. उस समय वो बिना ब्रा की थीं, मेरे हाथ लगाने से वो स्तब्ध रह गईं और तुरंत पीछे मुड़ कर मेरे गाल पर जोरदार तमाचा जड़ दिया.

आपको बता दूँ कि मैं जानबूझ कर ऐसा नहीं करता था, लेकिन जब ऐसा होता था तो मुझे कभी दीदी के चूचे दिख जाते थे, तो कभी उसके नंगे चूतड़ दिख जाते थे. मैंने लंड हिलाया और कहा एक बार ले लोगी तो बार बार लेने के लिए मचलोगी. तभी उसने अपनी बेटी शबाना को बुलाया- शबाना बेटा यहां आ जाओ, सीट मिल गयी है.

बिल्कुल न घबरायें, ये तो दिल का काम है, आपको मजा न आये तो सारी मेहनत बेकार!यह ठीक है कि उनका लंड बड़ा था पर मैं उतना ही मस्त देवेश के लंड का मजा ले चुका था, दतिया में उस्ताद से मरवा चुका था।अब वे मेरे ऊपर चढ़ बैठे, उन्होंने अपना तेल से लिपटा लंड मेरी गांड पर टिकाया और धक्का दिया, उन्होंने सुपारा अंदर पेला, मैं आ आ आ करने लगा. एकता भी मेरी तरह निरीह भाव से देखने लगी तो डॉली ने कहा- अरे मैं हूँ ना हेल्प के लिए.

इस वक्त दारु के नशे में बापू को उसकी खूबसूरत जवान जांघों का क्या मस्त नज़ारा दिख रहा था. मैं पेशे से इंजीनियर हूँ और भारत भ्रमण पर ही रहता हूँ, गुरुग्राम मुश्किल से 10 दिन ही रुक पाता हूँ. क्या चाहते हो? मैं आत्महत्या कर लूँ? पासपोर्ट बनवाया है, मगर क्या बाहर जाना कोई इतना आसान है? उसके लिए बहुत से पापड़ बेलने पड़ते हैं.

अब हॉस्पिटल में सब फॉर्मलिटीज पूरी करने और उस आदमी को एडमिट करने में जितना वक़्त गुज़रा, तब तक उसका सारा नशा उतर गया.

उसने मेरे ऊपर आके मेरे लंड को अपनी चूत में लिया और धीरे धीरे हिलने लगी मगर उसको ऐसे जम नहीं रहा था. थोड़े देर में बापू आह आह करने लगा और बोला- आह बेटी, तुम तो बहुत मज़ा दे रही हो. मगर वो बिना कुछ बोले ही पड़ी रही क्योंकि उसमें हिलने की भी हिम्मत नहीं बची थी.

उन्होंने कसमसाते हुए मुझसे छूटने का ड्रामा किया और अंततः मेरा साथ देने लगीं. बट आगे से याद रखना अपनी ये वाली प्रॉमिस?”ओके बेटा जी … पक्का याद रखूंगा” मैंने कहा.

तो उसने पूछा- कौन सा खेल है जो नया है?तब मैंने उसे कहा कि वो मेरी तरफ पीठ करके लेट जाए और मैं अपनी उंगली से उसकी पीठ पर कुछ लिखूंगा, उसे महसूस करके उसको बताना है कि मैंने उसकी पीठ पर क्या लिखा है।उसे भी ये कुछ नया लगा तो वो राजी हो गई और मेरी तरफ पीठ करके लेट गई. हम वो सच में कब करेंगे?उसने कहा- जल्दी ही…उसने फ़ोन पर गुड नाईट कहा और फ़ोन रख दिया. ब्लॉउज के अन्दर से चूचे इतना मन मोह लेते हैं कि उन पर झपटने को दिल ललचाता है.

घरवाली की सेक्सी

फिर मैंने एक और ज़ोर का धक्का दिया तो पूरा लंड भाभी की चूत में समा गया.

इतनी ही देर में ही घर की घंटी बजी और वो एकदम से उठ गयी और कहती- काम वाली आ गयी!मैंने कहा- अब?तो कहने लगी- अब गेट खोलना ज़रूरी है, ना कि अभी सेक्स करना!मैंने कहा- ठीक है!और हम दोनों सास जवाँई अलग हो गये और वो जाकर गेट खोलने लगी. अच्छा लग रहा था।” मैंने सिसकारते हुए कहा।बस यह जो अच्छा लगना होता है न यही मुनिया की खुजली होती है। अकेले ही मजे लोगी क्या… मुझे भी तो दो। उस दिन देखा था न राशिद को मुझे रगड़ते, सहलाते, चूमते-चूसते. उसके बाद सब लड़कों और लड़कियों ने अपने अपने कपड़े निकाल कर ऐसे फैंक दिए, जैसे वो सब फालतू हों.

मैं बड़े आराम से उसके होंठों को चूमता रहा, वो नीचे दर्द की अधिकता से मचलती और तड़फती रही. मेरी बहन थोड़ा चौंकी, उसने मुझसे पूछा- भैया ये सब क्या है? आप दोनों अकेले यहाँ आये हो? अंकुश नहीं आया क्या?मज़बूरी में मैंने सारी बात अपनी बहन रीनू को बताई. அப்பா மகள் செஸ் வீடியோफिर वो कमरे में जाकर अपने बच्चे को पानी पिलाकर अच्छे से सुलाकर आ गई.

फिर बहूरानी अचानक मुझसे खुद को छुडाने लगी- पापाजी … देखो आठ चालीस हो गये, चाचा जी आने वाले ही होंगे. फूफा जी के अचानक जाग जाने से मैं थोड़ा सा घबराई तो थी मगर जब फूफा जी भी मेरी जवानी को मसल मसल कर चाटने लगे तो मेरी घबराहट ख़त्म हो गयी और मैं भी फूफा जी से लिपट कर अपनी जवानी लुटाने लगी.

तू अपनी चूत की सील इस लड़के से ही तुड़वा ले क्योंकि बड़े और मोटे लंड से सील तुड़वाने का जो मजा है, वो पतले और छोटे लंड से नहीं आता. कभी उनसे मिलने भी जाता था, तो कभी हम दोनों साथ में फिल्म भी देखने जाते. थोड़ी देर बाद आपका लन्ड झड़ गया और आप सो गए और मैं सारी रात तड़फती रही अपनी चूत रगड़ती रही.

मैं यह कह कर जाने लगा तो उसने मुझे आवाज देकर रोका और बोली- आज मेरे हसबैंड आउट ऑफ इंडिया हैं, क्या तुम हमारे साथ साइबर हब गुरुग्राम चलोगे?मैंने कहा- मैं वहीं रहता हूँ, आप अपनी कार से आ जाएं, तब तक मैं आपको वहीं मिलूंगा, क्यूंकि मेरे पास भी अपनी कार है. एक निपुण मूर्तिकार द्वारा घड़ी गयी किसी हसीन मूर्ति सी पतली कमर, उसके नीचे ग्रेसफुली फैलता हुआ नितम्ब तक का बदन, फिर उतना ही ग्रेसफुली टांगों तक जाता हुआ साटिन सा चिकना शरीर. अपने चुचों के मसलने से मॉम एकदम मस्ती से भर उठीं और ज़ोर ज़ोर से सीत्कारने लगीं- आाह.

चूंकि बिंदु अभी गरम नहीं हुई थी इसलिए उसकी चुत भी गीली नहीं थी, इसलिए लंड को चुत में जाने के लिए काफ़ी कोशिश करनी पड़ रही थी.

उस दिन पति नहीं बचते तो मैं कैसे सुहागन की जिंदगी जीती और बच्चों की परवरिश कर पाती. फिर मैंने दाएँ तरफ वाली ड्रॉज खोली तो उसमें भी बहुत सी सीडी पड़ी थीं.

मैंने अपनी दोनों बांहें उसकी कमर पे डाली और उसके कामुक बदन को सहलाने लगा. सफ़ेद पजामा और हल्के नीले रंग का ढील ढाला स्लीवलेस टॉप जो उसके बदन पर खूब फब रहा था. एक रात ऐसे ही मैं घर के बाहर निगरानी कर रही थी कि अचानक बारिश आ गई.

फोटोग्राफर ने सबको दाएं बाएं सरका कर एडजस्ट किया ताकि सबकी फोटो आ जाए. एक दिन वह दरवाजे पर खड़ा था, मैं कमरे से बाहर निकली तो उसने स्माइल की, मैंने भी स्माइल की, इस तरह दोनों में धीरे धीरे बात का सिलसिला प्रारंभ हो गया. अब भी वो दोनों रोज नाइट में मेरे घर आते हैं और मेरी वाइफ की चुत में लंड डालते हैं.

नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ उधर आशीष पूरी इंजीनियरिंग करके बंगलोर में ही किसी कंपनी में जॉब करने लग गया. अब तो आलम ये हो गया है कि सुबह उठते ही पहले एक स्टोरी पढ़ कर लंड हिलाओ, उसके बाद कोई दूसरा काम देखा जाएगा.

लेडीस कपड़ा

अपना रस किधर निकालूँ?उन्होंने कहा कि उनकी चुत प्यासी है उसी में झड़ जा. यह कह कर वो मुझसे आकर लिपट गया और मेरे होंठों को उसने पहली बार किस किया. नेहा दीदी ने मेरी बांह पर हाथ फेरते हुए कहा- क्यों नहीं है? तुम तो इतने हॉट लड़के हो.

अब हम तीनों एक दूसरे गर्म कर रहे थे और कामुक सिसकारियां भी भर रहे थे. भाभी की मादक कराहें निकलने लगीं- आहा ह्ह्ह्ह आह्ह ह्ह्ह ऊह्ह्ह ह्ह… ये बहुत बड़ा है. ট্রিপল এক্স বাংলাइतने में चाची बोलीं- तुमने मुझे कैफे में देख लिया था न?मैंने पूछा- हां, वो लड़का कौन था?उन्होंने बिंदास कहा- वो मेरा ब्वॉयफ्रेंड था.

ये कह कर उसने मुझे कुतिया की तरह बना दिया, मतलब दोनों हाथ और घुटनों के बल खड़ा कर दिया.

मैं एक बार को तो डर गया कि क्या हुआ साला किसी गलत जगह तो लंड नहीं घुसेड़ दिया. मुझे देखते ही वो बोला- तो मेरी चुदक्कड़ रानी अब विदेशों में उड़ना चाहती है.

अब पद्मिनी का बाप उस आदमी का जान पहचान वाला था और उस बेचारे ने विनती की कि वह उसके साथ हॉस्पिटल चल चले… क्योंकि उस वक़्त कोई भी उस के साथ जाने वाला नहीं था. वासना के कारण उसकी चूत से रस निकलने लगा था, उसकी सलवार गीली सी हो चली थी. वो बोला- अभी तो किसी कॉल गर्ल या रंडी का कोई कॉंटॅक्ट नम्बर नहीं है.

एक दिन जब मैं भाभी को चोद रहा था, तभी उनकी बहन यानि मेरी फ्रेंड आ गई.

फिर उसके चूतड़ों की दरार में अपना लंड रगड़ कर माल निकाल कर सो गया था. मैंने पूछा- क्यों क्या बात है?वो बोली- मुझे अकेले सोने की आदत नहीं है. मेरी साली की चूत रस से बिल्कुल तर बतर थी, इसलिये मेरा लौड़ा बड़े आराम से उसके भीतर घुसता चला गया और सुपारा जाकर रेखा रानी की बच्चेदानी को चूमने लगा.

भाई और बहन की सेक्सी वीडियोतभी दीदी ने टोका कि क्या देख रहे हो?तब मुझे होश आया और मैंने हड़बड़ाते हुए कहा- कुछ नहीं दीदी. मैंने अपने हाथों से अपनी चुत को भाईजान के लिए फैला रखा था, जिससे वे मेरी चुत को आराम से चाट सकें.

सेक्सी फुल वीडियो पंजाबी

मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, तो सोचा क्यों न अपनी भी एक कहानी बताई जाए, जो मेरे जीवन में घटित हुई है. मैंने अभिलाषा को अपने सीने से लगा लिया, मेरा लंड उसकी चूत से टकराने लगा. रेखा बहुत गोरी चिट्टी थी परन्तु जूसी रानी जैसी अँगरेज़ सरीखी गोरी नहीं.

शाम को तबस्सुम का फोन आया कि तुम आज सेक्टर 7 में चली जाना और मैं बस स्टॉप पर तुम्हें लेने के लिए गाड़ी नम्बर 7819 आएगी. बिंदु बोली- कोई ग़रीब नहीं होता, जब जवान हो तो उसके लिए यही काम सबसे बढ़िया होता है. ऐसे खूबसूरत जवान नग्न बदन को देख कर किसी की भी कामवासना जागृत हो जाए.

अब यह समझ लो कि मैं एक लड़का हूँ और तुम उसके लंड को अपने मुँह में लेकर चूस रही हो. 5-6 मिनट बाद जब उसका दर्द कम हुआ तो वो अपने आप से अपनी गांड आगे पीछे करने लगी, मैं भी झटका दे दे कर उसे चोदने लगा. एक दिन जब मैं भाभी को चोद रहा था, तभी उनकी बहन यानि मेरी फ्रेंड आ गई.

उनके जाने के बाद मैंने अपने लंड को हाथ से समझाया और उसका पानी निकाला. तब मैंने उसे कहा- बेबी मेरा लोलीपोप तो चूस कर तैयार कर ले!वो मेरा लंड पकड़ कर फिर से चूसने लगी, करीब दस मिनट मेरा लंड चूसती रही, जब मेरा लंड पूरे लोहे की तरह कड़क हो गया तब उसे मैंने घोड़ी बनने को कहा, वो तुरंत घोड़ी बन गयी, मैं उसकी बुर देख कर हैरान हो गया, क्या बुर थी उसकी… एकदम नर्म कोमल गुलाब की पंखुड़ी की तरह गुलाबी और खूब फूली हुयी!मैं देख कर पानी पानी हो गया.

तो मैं अनजान बनते हुए ऐसे कहा- मैं कुछ समझा नहीं?तो उसने कहा- तुम्हारा हाथ कहाँ था आज?मैंने कहा- कहीं नहीं… क्यों क्या हुआ?तो उसने कहा- तुम्हारा हाथ आज मेरे सीने पे था.

मैंने आंटी का कुर्ता खोला, उन्होंने अंदर ब्रा नहीं पहनी थी, उनकी बड़ी बड़ी चूचियां देखकर मैं पागल हो गया. एक्स एक्स एक्स मराठी बीपीवो दोनों मेरी वाइफ की चुचियों को बुरी तरह से चूस रहे थे और मेरी वाइफ को भी मज़ा आ रहा था. चोदने की वीडियो सेक्सीकहीं कोई शर्म नहीं। वह कोई नयी उम्र की लड़की नहीं थी, बल्कि खूब खेली खायी एक औरत थी और अपनी ज़रुरत को लेकर एकदम मुखर और स्पष्ट थी।अब तक वह जैसे भोग्या वाले रोल में थी और हम दोनों जैसे उसे भोग रहे थे लेकिन अब उसे यह मंज़ूर नहीं था। उसने खुद से आगे बढ़ कर मुझे चिपका लिया और मुझे रगड़ने लगी।होंठों से जैसे मेरे होंठ चूसे डाल रही थी, अपनी जीभ मेरे मुंह में घुसा दे रही थी और मेरी जीभ खींच-खींच कर चूस रही थी. वही तो मैं कह रही हूँ कि कैसे भी नहीं घुस सकता, मुझे उल्लू न बनाओ। बड़े होशियार बनते हो।”अरे बाबा, तेरे सवाल का जवाब ही दे रहा हूं, जो पूछ रही थी कि कपड़े क्यों उतारे। यह ऐसे नहीं घुस सकता, जब तक अहाना की मुनिया में चिकनाई न आ जाये।”और वह कैसे आयेगी?” मैंने संशक स्वर में कहा।ऐसे!” कहने के बाद राशिद अहाना पर लद गया और उसे सहलाने लगा.

पहले ये बताओ?मैंने कहा- मुझे ये मालूम है कि लड़कियां बिना कुछ कहे मर्द के मन की सब बात समझ लेती हैं, तो क्या मैं ये समझ लूँ कि तुम मेरे सवाल के पीछे छिपे भाव को समझ गई हो?इस पर वो कुछ नहीं बोली और बस मुस्कुरा कर कहने लगी कि मुझे कुछ नहीं बताना है यदि तुम मेरे लिए कुछ भी सोचते हो तो सोचते रहो.

थोड़ी देर बाद उसे सीधा लेटाकर उसकी जुबान अपने मुँह में ले ली और भयंकर तरीके से चूसते हुए उसको किस करने लगा. अब चूंकि गीता हिल नहीं सकती थी इसलिए सिवा चुत को हिलाने के और कुछ नहीं कर पा रही थी. इस बार उनके साथ मैं भी उनकी चुत में झड़ गया और हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर वैसे ही लेटे रहे.

मैं बेड पर लेट गया और वो मेरी टांगों के बीच में आकर मेरे लंड को देखने लगी. कुछ देर बाद हम दोनों यूं ही बिस्तर पर लेटे हुए एक दूसरे को चूमते और प्यार करते रहे. अब मैंने उन्हें ज्यादा परेशान करना ठीक न समझा और मैंने करवट बदल ली अब मेरी पीठ व गांड उनकी तरफ थी.

जिओगेम्स खोलो

किसी ने लिखा कि कहानी बिल्कुल बेकार और बकवास है… कुछ ने मुझे धंधा करने वाली तक कह डाला. कभी कभी मैं ही अंकल को कहा देती- अंकल, आज आप मम्मी को पहले चोद दीजिये. सुबह जमाई जी चले गए, मेरी चूत भी सूज आयी पर मैं खुश थी।15 दिन बाद जमाई जी मेरे घर आये और मुझे ले जाने, बेटी ने बुलाया था.

उसके घर में दो भाई-भाभी, माँ-बाप के अलावा और कोई नहीं था, सब अपने-अपने कमरे में जाकर सो गए.

पद्मिनी की जांघों के पास बैठ कर बापू ने हल्के से अपना हाथ उसकी कोमल, मुलायम नाज़ुक जांघों पर फेरा.

मैंने उससे कहा- कब आ रही हो मेरे पास?उसने कहा- कल सोमवार है, कल आऊँगी. दोस्त ने अपनी गर्लफ्रेंड की चुत पर हाथ लगाया, उसकी चुत का पानी उसके हाथ में लग गया. સેક્સી નગ્ન દેશી ફોટોक्या नशा था जब वो मेरी दीदी, जन्नत की परी बन कर मुझे प्यार कर रही थीं.

मुझे फिर अजीब तरह का लग रहा था, तकलीफ होने लगी तो मैंने एक धक्का मार कर उसे नीचे उतारा मगर साली फिर से मेरे ऊपर चढ़ने के लिए पागलों की तरह करने लगी मगर मैंने उसे चढ़ने नहीं दिया. कैसी बात कर रहे हैं आप?” वह एकदम से भड़क गयी और उसने फोन काट दिया।मुझे लगा गड़बड़ हो गयी. सुबह उन्होंने मुझे यह सीडी देकर कहा कि अगर इसे रखना हो तो रख लो, वरना हम इसे संभाल लेंगे.

मुझे नहीं पता कि तबस्सुम ने उससे क्या कहा, मगर उसका उत्तर था- हां हां बिल्कुल जितना हो सकेगा, पक्का करूँगा. मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भागफ़ेसबुक पे पटा कर चंडीगढ़ में चोदा-1में आपने पढ़ा कि फेसबुक पर मेरी दोस्ती एक लड़की से हुई, बात आगे बढ़ी और मिलने तक पहुंची, मिलने के बाद सेक्स तक पहुंची और आखिर हम दोनों पहुँच गए होटल के कमरे में!अब आगे:और फिर आरुषि ने मुझे अपने ऊपर खींचते हुए दोबारा से मेरे होंठ जकड़ लिए अपने होंठों में और आँखों ही आँखों में मेरे ऊपर आने की इच्छा जताई.

वो अंकुश से बोली- अब से मैं पापा के साथ उनके रूम में ही सोया करुँगी.

फिर उस दिन हम दोनों किस किया, मैंने उसके बूब्स खूब दबाये और फिर वहाँ से चला आया. दो चार दफा जब कोशिश करने पर जब मेरी पकड़ ढीली न हुई तो उसने फिर कहा- प्लीज़ मुझे छोड़ दीजिये न… आप ऐसा गलत काम क्यों कर रहे हैं… मैं ऐसी वैसी लड़की नहीं हूँ… आप जाइये अपने घर. यह जो बैंगन है, यही समझ लड़के की मुनिया है और यही मेरी मुनिया की खुजली मिटायेगा, लेकिन यह भी तब जायेगा जब अंदर चिकनाई हो।”अब यहां कैसे चिकनाई लाओगी.

वीडियो सेक्स ब्लू वीडियो मैं सुन्न हो गया… मानो मैं कुछ हूँ ही नहीं! मैं तो बेवजह ही उछाल भर रहा था, मंजू तो मुझे अपना पति समझ रही थी. फिर वो निप्पलों को मुँह में लेकर कभी चाटता था, कभी काटता था कभी उंगलियों से मरोड़ देता था.

लेकिन अभी कुछ समय पहले मेरे साथ एक ऎसी घटना घटित हुई जो मेरे व्यवहार के एकदम विपरीत थी. मगर यह बात किसी से भी ना बताना क्योंकि जब भी कोई अच्छा काम सोचा जाता है तो बहुत सी अड़चनें आ जाती हैं. मेरी वाइफ बोली- तू भी मेरे अन्दर ही निकल जा… तुम दोनों के माल से प्रेग्नेट होना है.

𝙄𝙡𝙚𝙖𝙣𝙖 𝙣𝙪𝙙𝙚

एक बार ऐसा हुआ जब मैं उनके दूध देख रहा था और वे मुझे मजे से चूचों के दीदार करा रही थीं, तब हम दोनों की नजरें मिल गई. कभी सील पैक होगी, अभी हम लोगों को चोदने को इसलिए मिली है, क्यों कि चाचा खुद वन्द्या को दो लड़कों से चुदाई करते पा चुके हैं. ये तो आपने पढ़ ही लिया था कि मेरी बहन सोनिया मौसी की लड़की बहुत सेक्सी है और उसके बड़े बड़े मम्मे हैं.

तो क्यों न हम लोग भी मस्ती करें, टेंशन लेकर क्या फायदा! सब लोग मिलकर मम्मी को नंगी कर के खूब मज़े लेंगे और फिर भैया इसकी कोख में अपना बच्चा भी टिकायेंगे!इतना कहकर शीतल सुनील की गोदी में में जाकर बैठ गयी! उसने भी झपट लिया उसे और शीतल की जाँघें सहलाने लगा. बड़ी चाची हमारे पास आ कर बोलीं- आज फ़िल्म में जो भी होगा, वही हम भी करेंगे.

मैं भी उससे चुदवा कर खुश थी, मैं उसको बोली- मैं भी चुदवाना चाहती थी.

उसने देर न करते हुए अपनी उंगलियों को पद्मिनी की पेंटी पर ठीक चूत के पास फेरा. अपने चुचों के मसलने से मॉम एकदम मस्ती से भर उठीं और ज़ोर ज़ोर से सीत्कारने लगीं- आाह. ना चाहते हुए भी गीता को अपनी चुत उछालनी पड़ रही थी, क्योंकि अभी अभी उसके जिस्म का बुरा हाल हो चुका था.

थोड़ी देर बाद मैंने लंड को निकाल कर एकता की गांड में डाल दिया और अन्दर बाहर करने लगा. तो मैंने उसे नाम, जगह और संबंधित एक्टिविटीज बदल कर सुना दी, जिससे गौसिया की आइडेंटिटी कहीं से भी जाहिर न हो।वह मुतमइन हो गयी. फिर उसने मुझसे सारा का सारा ही झूठ बोला था और मुझे फंसा कर और पैसे वापस मांगने की धमकी दे कर राज़ी किया था.

मैं उछल उछल पड़ती थी, जाने क्या हो रहा था, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था.

नेपाली सेक्स वीडियो बीएफ: मैंने भी उनसे प्रेम से कराई थी तो वे बहुत आभारी थे, बोले- तुमने जैसे कराई, वैसे भी कोई नहीं कराता, फिर तुम जैसे माशूक लौंडे मिलते कहां हैं!उन्होंने एक बार और मेरा चुम्बन लिया, हम पोखर पर गए, लेट्रिन साफ की और मैं कमरे पर लौटा।उन भाई साहब का नाम रमेश था, वे गांव के समृद्ध किसान परिवार से थे. फिर नेहा और मुझे जब भी मौका मिलता, वो मुझसे अपनी गांड और चूत मरवा लेती.

फिर मम्मों को पकड़ पकड़ का ऐसे खींचता था, जैसे कि किसी बॉल से कोई खेल रहा हो. एकता अब स्पीड से ऊपर नीचे होने लगी थी और उसकी चुत से रस बहने लगा था, जो उसकी गांड तक और लंड पर पता चल रहा था. मैं तैयार थी, मैंने लाल साड़ी पहनी थी, जमाई जी के साथ ट्रेन में बैठ गयी। मेरे बगल में जमाई जी बैठे थे जमाई जी मेरी कमर में हाथ डाल दी.

शीतल प्रभा के मुँह पे बैठ गयी और प्रभा ने अपनी जीभ शीतल की चूत में घुसा दी और मैंने चढ़ के मम्मी को चोदने लगा कस कस के!करीब 15 मिनट बाद मेरा गिरने वाला हुआ तो मैंने शीतल को कहा- बहन, मेरा गिरने वाला है!शीतल ने तुरंत ही मुझे लिप किस किया और बोली- अंदर ही गिरा दो भैया मम्मी की चूत में, रोज़ अंदर ही गिराना इस साली के… जब तक इसकी कोख में तुम्हारा बच्चा नहीं टिक जाता.

उसने गुस्से से चोकोलेट फेंक दिया और कहा- मैंने ये नहीं लाने को कहा था. उसी वक्त मैंने सोच लिया कि आज मौका अच्छा है, घर पे कोई नहीं है, आपा को चोदने का इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा. मैंने अपनी दोनों बांहें उसकी कमर पे डाली और उसके कामुक बदन को सहलाने लगा.