बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,कविता जोशी की सेक्सी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

आंटी की सेक्सी कहानी: बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो, उन्होंने उस दिन मेरे दर्द को समझते हुए अपने लंड से मेरी चुत का भी मजा नहीं ले पाया था.

2022 की सेक्सी मूवी

हेमा लंड देखकर खुश हो गई और खुद ही झुककर उसे मुँह में लेकर चूसने लगी. सरिता भाभी का सेक्सीतो वो मुस्कुरा कर बोली- थैंक्स … पर क्या मतलब सुंदर दिखने का?मैंने तुरंत बोला- मतलब?शायद वो भी मुझसे प्रभावित हो रही थी, बोली- कुछ नहीं.

और फिर कुछ देर बाद मैंने भी उनके मुँह पर अपनी चूत रख दी और मम्मी मेरी चूत को चाटने लगी. सेक्सी गूगल वीडियोथोड़ी देर बाद उसने मेरी पैंट के अन्दर हाथ डाल दिया और चुत में उंगली करने लगा.

सुशीला और मानसी थोड़ा सहम गई मेरी भाषा सुन के!मैं- चलो चलते हैं कमरे में!हम सब चुपचाप कमरे में चले आये.बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो: लेकिन मैं बहुत खुश थी क्योंकि मुझे अनुप्रिया के साथ सेक्स भरपूर मिल ही रहा था.

मैं कान में धीरे से अंकल से बोली- मत करो अंकल … जरा भी किसी को शक हुआ सब गड़बड़ हो जाएगी.जब जी करे, फ़ोन करिये कुछ हेल्प चाहिए भी तो आप बता सकती हो, मेरा भी मन लगा रहेगा.

हिंदी पंजाबी सेक्सी ब्लू पिक्चर - बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो

नूरी खाला- मेरे राजा, पहले मेरी चुत चोदो … फिर जैसा चाहे वैसा कर लेना … लेकिन धीरे से चोदना … ताकि दर्द न हो.और फिर मैं उतर गई।मैं- थैंक्यू अमित, ड्रॉप करने के लिए।अमित- इसकी क्या ज़रूरत है.

दोस्तो, मैं अर्पिता एक बार फिर हाजिर हुई हूँ मेरी जवानी की प्यास की कहानी लेकर. बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो उस रात में सुमन चार बार झड़ी और मैं तीन बार झड़ी।और उसके बाद से सुमन और मैं रोज समलैंगिक मैथुन करके अपनी-अपनी चूत का पानी 1-1 बार निकलवा लेती हैं।आपको मेरी समलिंगी सेक्स स्टोरी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बतायें।फिर किसी से कोई सेक्सी शरारत करूँगी तो आपको जरूर बताऊँगी अंतरवासना पर सेक्स कहानी के माध्यम से![emailprotected].

पिछले भागमदमस्त काली लड़की का भोग-1में आपने पढ़ा कि ट्रेन में मिली काली सलोनी लड़की की तरफ आकर्षित होकर मैंने उसके साथ प्रेम संबंधों की बात छेड़ दी.

बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो?

मैं हमेशा यही सोचता कि कैसे मैं इसकी गांड को अपने हाथों से भींचू और मसलूँ … कब इसके मस्त छोटे पतले पतले और गुलाबी होंठ चूस लूँ. जेठ- नीतू, तुम्हारी चुत सच में बहुत स्वादिष्ट है, बहुत मीठा पानी है तेरी चुत का. अब अरुणा के मुँह में कोई शब्द नहीं था क्योंकि उसकी आंखें तो अंकल के लंड पे टिक गई थीं.

मैंने अपने दोस्त को आवाज दी, जब कोई जवाब नहीं आया, तो मैं उसे ढूंढते उसके घर घुस गया. कौशल्या जी आप में तो बहुत गर्मी है, लगता है, आपके पति देव ने कभी आपकी गर्मी ठीक से शान्त नहीं की. वैसे ही मुझे भी मालूम है कि तेरा लंड कैसे खड़ा करना है और इसका रस कैसे निकालना है.

प्लीज समझ भाई … तू मेरा भाई है, मैं तेरे सामने ऐसा थोड़ी कर सकती हूं. आ जाओ ना नीलूतुम्हारी कसम तुमसे बिछड़कर मैं दुनिया में अकेला हो गया हूँ जानू!अभिजीत देवले[emailprotected]. फिर मैंने और उसने दो दो पैग व्हिस्की ली, तो उसे थोड़ा थोड़ा नशा चढ़ने लगा.

वो अपनी जिन्दगी में व्यस्त और मैं अपने जीवन में… इसी तरह दिन गुजर रहे थे. यह सब बात सुनकर उस लड़के ने तपाक से मुझसे कहा- सर, आप बुरा ना माने, तो क्या मैं आपको छोड़ दूँ.

मेरे पति अपने काम में इतने अधिक व्यस्त रहने लगे थे कि उनको अब मुझसे कोई मतलब नहीं रह गया था.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… जब वह तुम्हारे इतने बड़े लंड से चुदेगी तो उनको जो मजा आने वाला है मैं उसकी अपनी चूत में अभी से फील करने लगी हूँ।सोनू के मुंह से ऐसी सेक्सी बातें सुन-सुनकर मेरा जोश हर पल और ज्यादा बढ़ता जा रहा था.

कुछ देर लंड को हिलाने के बाद मैंने चाची की मांग में अपना वीर्य छोड़ दिया और उसकी मांग को अपने वीर्य से भर दिया. वह दिखने में अच्छी है, गर्दाया हुआ जिस्म है, या यूं कहें कि किसी का भी लंड खड़ा कर सकती है. वह मेरे लिए पानी का गिलास लेकर आई, मैंने पानी पिया और कुछ पानी बच गया, तो गिलास मैंने उसे दे दिया.

वो मेरी चूत को कभी कभी धीरे धीरे चोद रहा था, तो कभी कभी मेरी चूत को चाट रहा था, जो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. मालिनी के पास कोई आप्शन नहीं था, वो मेरे पास आई और एक पत्नी की तरह मेरे पांव छुए. मेरे लंड का साइज़ काफी बड़ा है, ये 7 इंच लंबा और 2 इंच पाइप के जितना मोटा है.

मैंने उससे कहा- तुम जे बी टी कर सकती हो, मैं आसानी से भोपाल में तुम्हारा दाखिला करवा दूंगा.

वह बोल पड़ी- बस कर मादरचोद! अब क्या चाट-चाटकर ही गीली करेगा मेरी चूत को या अपना माल भी गिराएगा इसके अंदर?मैंने कहा- रंडी रुक, पेलता हूँ तुझे. उसके मुँह से एक आह निकली और उसने मेरे लंड को अपनी चूत में जज्ब कर लिया. मैं तड़पने लगी, दर्द से छटपटाने लगी, बहुत तेजी से दर्द हो रहा था, मेरी आंखों से आंसू निकलने लगे.

इस बार उसने जब दुप्पटा ऊपर किया, तब उसकी चुचियों का पॉईंट ज्यादा ही दिख गया था … इस बार निप्पल उभर कर आ गए थे और कड़क से दिख रहे थे. इसके बाद तो मैं जब तक वहां रहा, तक तक मैंने ललिता को कई आसनों में चोदा. चाची आज भी मुझे दिल से उतना ही चाहती हैं, जितना मैं उन्हें चाहता हूँ.

कुछ दिन और ऐसे ही बीत गए मगर कहीं पर भी किसी सेफ जगह का जुगाड़ नहीं हुआ.

मैं भाभी जी से डरता हुआ बोला- भाभी जी आपसे एक बात पूछूँ?भाभी जी बोलीं- पूछो. फिर उसको अचानक खांसी आने लगी तो मैंने लण्ड को बाहर निकाल लिया।मैंने देखा कि मेरा पूरा लण्ड ऊपर से नीचे तक उसकी लार में सन गया था।मैंने अब दोबारा से उसके चूचों को चूसना शुरू कर दिया.

बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो अब तक इस मस्त मस्त कहानी में आपने पढ़ा कि सुलेखा भाभी अपने शरीर को‌ कड़ा सा करके मेरे लंड को अपनी चुत के मुँह पर लगाकर झटके से मेरे खड़े लंड पर बैठ गईं. मैंने बात को संभालते हुए कहा- सरिता मुझे रोज़ अगर खाना मिले तो मैं किसी और की थाली में क्यों देखूंगा.

बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो मगर मैं तो मौके का फायदा उठाना चाह़ता था, मैंने उससे फिर पूछा- साइट का नाम तो बता दो. मैं तो उसके बारे में तुम्हें भी कुछ नहीं बताऊंगा, लेकिन पहले तुम मेरी उसके साथ कुछ बात तो करवा दो.

प्रमिला ने भी अपने अनुभव को साबित किया और झट से मेरे मूसल लंड को मुँह में लेके अन्दर बाहर करने लगी.

जानवर वाली हिंदी सेक्सी

वे वासना के कारण बोल पड़े- अरुणा तुम्हें ये मूवी पसंद हैं?तो अरुणा ने टालते हुए सुर में कहा- हां अंकल … पर अब आप जाइए प्लीज. मैं किसी भी तरह की झूठी कहानी लिखना नहीं चाहती थी इसलिए मैंने अपने पति के साथ अपनी सच्ची चुदाई की कहानी लिखना ठीक समझा. मैंने उन लोगों को ध्यान से देखा, वे सभी काफी हट्टे कट्टे और काले रंग के थे.

हम लोग बिल्कुल असामान्य क्रियाकलाप कर रहे थे, जिन्हें सोचकर भी हँसी आ जाए लेकिन यह सभी क्रियाकलाप मानो हमारी वासना की आग में घी डालने का काम कर रही थीं. अगले दिन पति का फ़ोन आया और उन्होंने कह दिया कि वो आज भी नहीं आने वाले हैं. आप में से जिन स्त्री पुरुषों का यौन जीवन एक ही साथी तक सीमित है, वे यौनांगों की विविधता और खूबसूरती से अनभिज्ञ हैं.

कुछ ही देर में हम घर पहुंच गए, जैसे ही हम घर में घुसने लगे, पीछे से आवाज आई तो देखा कि मकान मालकिन हाथ में चावल से भरा लोटा लेकर खड़ी थीं.

मैंने धीरे से अपने दोनों घुटने पास लाने शुरू कर दिये, उससे उनके स्तन मेरे घुटनों में दब गए. लेकिन नीरू अभी भी जब मायके आती है तो मुझसे खूब चुदवाती है, हम तीनों साथ एक साथ ही मजे करते हैं. इस बीच जब-जब प्रशांत से नीना की आंखें चार हुर्इं, तो दोनों ने अपनेआप में अजीब तरह का बदलाव पाया.

अगर कोई मुझे चुदाई के दौरान मजा बढ़ाने वाली सलाह भी देना चाहता है, तो वो भी लिख दीजिये. हम दोनों कुर्सी पर बैठकर चाय तो पीने लगे, लेकिन मेरी निगाहें बार बार उसकी नाइटी में से अन्दर झाँकने की कोशिश कर रही थीं, जिसकी सूचना पूजा को मेरे खड़े लंड ने दे दी थी … जो तौलिया में उठा हुआ साफ देखा जा सकता था. मुझे चोदने के इरादे से आये हुए मेरे जेठ जी ने अन्दर अंडरगारमेंट्स भी नहीं पहने हुए थे.

दिन भर घर के बाहर ही नहीं निकली और जब रात को टीवी देख रही थी, तभी दरवाजे की घंटी बजी. मेरी इस हरकत पर चाची की सिसकारी निकलना शुरू हो गई और चाची ने मेरे बालों को पकड़ कर मेरे होठों को चूसना शुरू कर दिया.

उसने अनु से बोला- चल रे साली कुतिया रंडी … मादरचोदी वेश्या … आज तुझे जन्नत की सैर कराऊंगा …उसने अनु की चूत में लंड को बड़ी जोर से आगे पीछे करना शुरू कर दिया. आजकल दो तीन दिन से मेरे पति ऑफिस के काम से दूसरे शहर गए थे, तब से मैं डर डर कर ही रह रही थी. मैं- गजब … क्या बात है और भैया कहां हैं?भाभी- वो आज घर पे नहीं हैं.

उसके चूचे क्या कमाल के थे … गारी से गोरे … गोल और एकदम तने हुए मम्मे देख कर लंड हिनहिनाने लगा.

मैंने मैम की साड़ी भी उतार दी, अब मैं उन्हें लाल रंग की ब्रा और पेंटी में देख कर पागल सा हो गया था. थोड़ी देर बाद मैंने महसूस किया कि वो धीरे धीरे मादक सिसकारियां ले रही है. अगले ही पल उसने उठ कर मेरी जीन्स भी उतार दी और अंडरवियर में तना हुआ मेरा लौड़ा देखने लगी.

चलो‌ मेरे लिए ये तो अच्छा ही हो गया‌ था‌ कि नेहा और प्रिया को भी सुलेखा भाभी के बारे में मालूम हो‌ गया‌ था. मैं उसको देखता ही रहा।मैंने भाभी को बताया कि ज्योति तो मेरे ही रूम में मेरे बेड पर सो गई है.

उसने अन्दर आने से पहले मुझसे पूछा- सर, क्या मैं अन्दर आ सकती हूँ?मैंने कहा- यस कम इन. पर पियू बोली कि वो कुछ नहीं खाएगी, उसे उल्टी होने से अच्छा नहीं लग रहा, वो थोड़ी देर और आराम करेगी. कल रात रवि मामा ने अपना लंड मेरे हाथों में देकर मानो मेरे दिलो दिमाग में हवस की चिंगारी डाल दी थी, जो कि इस सुनसान अंधेरी रात में अकेले रवि मामा के कड़क मज़बूत जिस्म और मस्त चुदाई सोचकर अब आग की तरह धधकने लगी थी.

ऑंटी सेक्सी ऑंटी सेक्स

मेरी मेल आईडी है[emailprotected]इस कहानी के बाद आप लोगों को बताऊंगा कि भाभी और उसकी सिस्टर को भी मैंने कैसे कैसे, किस किस स्टाइल में चोदा.

जब तक मालती दूसरा डिल्डो निकाल कर उसकी बेल्ट पूरी तरह से बाँधती, मेरी चूत फिर से अपनी पुरानी शक्ल में आने लगी. मम्मी ने मुझसे कहा था कि पहले चाचा के घर चले जाना, फिर वहां से रात को शादी में इकट्ठे एक साथ चले जाना. यह कहते कहते मैं अपनी लुगाई, अरे भाई … अपनी मामी जान के कमरे की तरफ चल पड़ा.

लेकिन मेरा मन बहुत करता था कि अपना लंड उसके मुंह में दे दूँ।मैंने सोचा कि आज तो हमारी सुहागरात है, आज प्रियंका मेरे लंड को मुंह में लेने से मना नहीं करेगी. उसके चूचे तो कमाल के तने हुए थे बिल्कुल रसीले आमों की सर उठाए … मानो कह रहे हों कि आओ जल्दी से मुँह में भर के चूस लो. सेक्सी वीडियो में अंग्रेजी मेंअब मैं अपना कंट्रोल खोती जा रही थी।धीरे-धीरे उनका दोस्त हाथ फिराते फिराते मेरी चूत तक आ गया.

इसी लिए हम लोगों ने मोटरसाइकिल को बिना स्टार्ट किये ही धकेलते हुए ही रवि मामा के फार्म हाउस तक जाने का निर्णय लिया. फिर हम बात करने लगे, उत्तेजना के वशीभूत हो मैंने पूछा- कविता भाभी, आप अकेले कैसे रह लेती हो? मुझसे तो नहीं रहा जाता.

अब मैंने उसकी आदत ऐसी बना दी है कि वह अपनी चूत में 2 लंड लेकर एक गांड में भी ले लेती है, मतलब मेरी बीवी अब एक साथ 3 लंड भी ले सकती है. उनके हर धक्के के साथ कामुक लहरें चुत से होकर पूरे बदन में फैल जाती थीं. मैंने पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पे किस किया, तो नैना सिहर उठी और आह करने लगी.

उन्होंने स्कर्ट की इलास्टिक पकड़कर पूरी नीचे उतार दी और बोले- यह समीज और अपना ऊपर की टी-शर्ट भी उतार दे. सर ने जैसे ही घुटने सोफे पर रखे, मैं आगे होने वाले दर्द की सोच से बिलख पड़ी- पिंकी … प्लीज़ … बचा ले मुझे!”सर ने मेरे आह्वान पर मुड़कर पिंकी को देखा तो मेरी भी नज़र उसी पर चली गयी. इसके अलावा आपको मुख चुदाई की कहानी कैसी लगी, क्या मेरी भाषा शैली सही है.

प्रिया की बहन नेहा की चुत को उस रात मैंने देखा तो नहीं था मगर हाथों से महसूस जरूर किया था.

बातों ही बातों में कब उसका हाथ मेरे हाथ के ऊपर आया, पता भी नहीं चला. मैंने नेहा को जोरों से भींच लिया और चार पांच किस्तों में अपना सारा लावा नेहा के मुँह में ही उगल दिया.

मैं अपनी भाभी के कमरे में लेटा था और मोबाइल पर वीडियो गाने सुन रहा था. वो बाथरूम में गयी और चेहरा साफ करके वापस आई और मुझे फिर से किस करने लगी. मैं उससे और भी बात करना चाहता था लेकिन वहाँ पर बातें करना ठीक नहीं था क्योंकि मेरा काम खत्म हो गया था और मुझे वहाँ से वापस आना था.

वह दर्द से कराहने लगी लेकिन मैंने सोचा कि अब अगर रुक गया तो फिर दोबारा डालने में इसको और ज्यादा परेशानी होगी इसलिए मैंने एक झटका और मारा तथा 7. मैं अपने कपड़े नहीं पहन पाई थी इसलिए मैंने अपने आप को रजाई से ढक लिया. चाची के बाद अब तक मैं 2 कुंवारी लड़कियों और दो शादीशुदा महिलाओं के साथ सेक्स कर चुका हूँ.

बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो मैंने चाची की साड़ी और पेटीकोट को एक साथ ऊपर कर दिया और चाची की पेंटी, जो कि गीली हो चुके थी, उसे उतारने लगा. अब जैसे ही मैंने वहां हाथ लगाकर देखा तो मेरे रोंगटे खड़े हो गए क्योंकि उसकी चुत के पास से उसकी पेंटी व लोवर बिल्कुल भीगे हुए थे और ये सारा कामरस प्रिया की चुत ने मेरी और नेहा की चुदाई देखने के कारण उगला था.

ट्रिपल एक्स देसी सेक्सी व्हिडिओ

वह अब जोर से लंड चूस रही थी, मेरा हाथ भी उसके स्तन जोर से दबा रहा था. मैं सामने स्क्रीन पर देख रही थी।अमित- नेहा एक बात बोलूँ, तू जब से कॉलेज आयी है तब से सिर्फ तुझे ही चाहता हूँ ।मैं- मुझे पता है इसलिए तो मैं आई हूँ यहाँ।अमित – उफ्फ … मेरी जान।यह कहकर वह मेरे बूब्स को मसलने लगा और मैं कसमसाने लगी. जेठ जी ने फिर से अपने लंड को मेरी चुत के अन्दर डाल दिया और जोश से धक्के देने लगे.

मैं सोनू चूत में दोगुनी ताकत से धक्के मार रहा था और मेरा लंड उसके पेट में जाकर घुस जाता था. मैंने प्रिया के हाथ पकड़ लिये और वापस अपना मुँह उसकी चूत से लगा दिया … प्रिया को उसके मुकाम तक पहुंचाने के लिये मैंने अब अपना आखिरी दांव चला और अपनी जुबान को नुकीला करके उसके प्रवेशद्वार में घुसा दिया. गांव की सेक्सी खेत मेंफिर मैं उसको अपने घर की पानी की टंकी वाली जगह ले गया, वो छत से एक मंजिल और ऊपर ही था.

मैं एक हाथ से उसके कूल्हे सहला रहा था और दूसरा हाथ मैंने साड़ी के नीचे से ब्लाउज के अन्दर डाल दिया.

भाभी- ऊऊहू … ऐसा क्यों होगा जरा बताओ तो मुझे भी?मैं- अरे भाभी आप इतनी सुंदर और हॉट हो ना तो … सॉरी बुरा मत मानना, हॉट बोला इसलिए. दादाजी की उंगलियां अब सोनल की टांगों पर घूमने लगीं, फिर धीरे धीरे जांघों पर जा पहुँची.

मैंने भी भाभी के गाउन को उतार दिया उनकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को चूसना शुरू कर दिया. सच में राजीव बहुत हैंडसम थे।तनु, बहुत खूबसूरत हो तुम!” कहकर उसने मेरी जांघें सहलाना शुरू कर दिया. अंकल मौके को गंवाना नहीं चाहते थे, उन्होंने एक करारा झटका दे मारा और अपना आधे से ज्यादा लंड मेरी बीवी की चूत में उतार दिया.

इसलिए भाइयो, किसी से दिल मत लगाओ, जो मिले उसे चोद लो या उससे चुद लो.

यह कहकर उसने मेरी बीवी के बाल पकड़कर उसके आराम से उसके होंठ खाने लगा. कुछ देर ऐसे ही तूफानी चुदाई करने के बाद वह अचानक से रुक गई, शायद दादाजी का पानी सोनल की चूत में ही गिर गया था और सोनल भी उसी वक्त झड गयी थी. मैंने तुम्हारी नाभि को जैसे चूमना शुरू किया, वैसे ही तुम अपनी क़मर उठाने लगीं.

माधुरी दिक्षित की सेक्सी दिखाइएकुछ देर की चुदाई के बाद मुझे मेरी चूत में एकदम से अकड़न सी हुई और कुछ गीला गीला सा महसूस हुआ. ये सभी दृश्य मेरे दिमाग में खलबली मचाते हुए मुझे उकसा रहे थे और मुझे झकजोर रहे थे कि ये वही मर्द है, जिसके लंड और जिस्म की कल्पना भी तुझे पागल कर देती थी और जिसकी अंडरवियर भी तुझमे कामुकता पैदा कर देती थी.

हिंदी सेक्सी वीडियो चोदा चोदी वीडियो

उसने कहा- साली कुतिया … मेरी मर्जी जिधर गिराने की होगी … वहां छोडूंगा. वैसे ये अच्छा मौका भी था, मेरा वेतन भी काफी बढ़ रहा था और हमारा परिवार अब बढ़ने वाला भी था तो मैंने हां कह दी. लंड को जीभ से ऊपर से नीचे तक धुलाई करने के बाद नीना ने अपने गले में उतार लिया.

फिर मैं ही उठ गई किधर गयी चुड़ैल…” मैं मन ही मन उसे गाली देते हुए उसे ढूंढने लगी. नीचे की तरफ उनकी गाड़ी खड़ी हुई तो ड्राइवर बोला कि मालिक आपका बंगला आ गया. मुँह से मुँह लगा कर चुम्मी लेने से मेरा 7 इंच का लंड अब पूरा मोटा तंबू बना हुआ था.

मैंने भी अपने पूरे कपड़े उतार दिये और उसे बांहों में भर कर चूमने लगा. जैसा कि मैंने ऊपर ही लिखा था कि मेरा देवर शरीर से थोड़ा मजबूत है, इसलिए वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा था. मैंने प्रिया के हाथ पकड़ लिये और वापस अपना मुँह उसकी चूत से लगा दिया … प्रिया को उसके मुकाम तक पहुंचाने के लिये मैंने अब अपना आखिरी दांव चला और अपनी जुबान को नुकीला करके उसके प्रवेशद्वार में घुसा दिया.

दरअसल मेरी तनी हुई चूचियां और उठी हुई गांड ही मुझे सेक्सी बनाते हैं. तब मैंने लंड पर तेल लगाया और अपनी बेल्ट हाथ में ली और लंड धीरे-धीरे उसकी गांड में डाल दिया.

मैं बोली- हां अनवर मैं रखैल बनूंगी, तुमको मुझे जो बनवाना है, बनवा देना, पर अब मुझे मत तड़पाओ, मुझसे रहा नहीं जा रहा है.

मैंने तुमसे कहा था कि जान मेरे लंड को चूसो ना …तो तुमने कहा था कि हां जानू अभी लो …लंड चुसाई से मेरे लंड में उत्तेजना भरने लगी … और तुम्हारी चुदास बढ़ने लगी थी. इंडियन सेक्सी xxxxतेरे लिए ही तो तेरे साले इस पति के भागता फिर, इसे मनाया … इसे अपनी गाड़ी में घुमाया … सिर्फ तेरे लिए. सेक्सी हॉट मराठी”रुकिए मैं अभी चाय बनाकर लती हूँ, मास्टर जी आप हमेशा की तरह शक्कर ज्यादा ही लेंगे ना?”जी हां कौशल्या जी. तभी उसने टोकते हुए मुझे रोका और बोली- रुको!मैंने देखा कि वो थोड़ी गुस्से में लग रही थी.

अब ये बात शायद सुलेखा भाभी को मंजूर नहीं हुई, इसलिए भाभी ने मेरे होंठों को अब एक बार तो जोर से चूमा.

मैंने उनके जाने के लिए सब कुछ तैयार कर दिया और उनके सामान की पैकिंग में भी उनकी सहायता कर दी. एकता ने उससे पूछा- क्या बात है, घर पर कोई नहीं है क्या?प्रमिला बोली- हां यार ये अभी अभी ऑफिस निकल गए हैं … बोल रहे थे कि बाहर जाने का हो सकता है, फोन पर बता दूँगा … और आपके पति का तो आप ही ध्यान रखो. फिर थोड़ी देर के बाद घंटी बजी, मैसेज आया- सुन मैं क्या बोलती हूँ … आया आ जाएगी तो बेबी को संभाल लेगी.

मैंने उनको पीछे से पकड़ा और अपने लंड को उनके चूतड़ों पर अड़ा कर उनके गालों और ब्लाऊज पर गुलाल मसलने लगा. करीब 15 मिनट के बाद चाचा के खर्राटे की आवाज सुनाई देने लगी … तो मैं समझ गया कि वो लोग सो गए हैं. इसके बाद जगत अंकल ने सीधे मेरी पेंटी के ऊपर से, जहां मेरी चूत थी, वहां पर हाथ रख दिया.

பாய்ஸ் செக்ஸ் வீடியோ

साथ ही वो अपने मुँह से कुछ बड़बड़ाते हुए कहने लगी- आह … जानू चाट के खा जाओ. उसके बाद स्वीटी टांगें फैलाते हुए बोली- जानू अब नीचे भी कुछ करो न!मैं स्वीटी की चूत को चाटने लगा और स्वीटी बड़ी जोर-जोर से चिल्लाने लगी- आह … रॉकी और तेज से चूसो …कुछ देर उसकी चूत चूसने के बाद मुझे एक आईडिया आया. शायद उसके शौहर ने आज तक उसकी चूत नहीं चाटी थी, इसीलिए वो इस मदहोशी से पागल सी हो गयी.

यह कहकर दादा अंकल ने सीधे मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठों की जोरदार चुम्मी ले ली.

कम्बल के अंदर ही मैं उसकी चूत को रगड़ने लगा लेकिन तभी मुझे लगा कि ज्योति उठ गई है.

उसकी गर्दन पीछे की तरफ अकड़ गयी और भाबी जोर जोर से चिल्लाते हुए मुझे चोदने को बोले जा रही थी. मेरे फायनल साल की परीक्षा आने वाली थी, तो मैं रोज रात को बहुत देर तक अपने कमरे में पढ़ाई करता रहता था. सेक्सी मैसेज बंद करेंआज हम बात कर रहे हैं, शंकर कुमार झा की, जो स्कूल में शिक्षक तो हैं ही, साथ ही उनकी खुद की गौशाला भी है.

और जोर से बेटा आआह…”नामित ने अपनी स्पीड बढ़ा दी, मैं और चीखने लगी और सिसकारियां लेने लगी ‘ऊऊऊ हहहह अअअअ हहहह…’मुझे बहुत मजा आने लगा था. कुछ देर ऐसे ही चोदने के बाद मीनाक्षी खुद बोली- अब मुझे घोड़ी बनाकर चोदो. गुड़िया मेरी क्लासमेट थी, पर हमने कभी बात नहीं की थी और ना ही मैंने कभी उसकी तरफ ध्यान दिया था.

तभी अनवर ने मेरी चूत में अपनी जीभ को डाल दिया और मुझे बोला कि तेरी चूत इतनी गरम कैसे है. अब आगे …नेहा वैसे तो बिल्कुल शांत थी, मगर उसकी सांसें अब तेजी से चलने लगी थीं और मुँह से हल्की हल्की कराहें निकल रही थीं.

थोड़ी देर बाद स्कूटी की आवाज़ सुनाई दी, मैं समझ गया कि भाबी आ गयी है.

मैंने संडे के दिन उसके घर जाने का मन बना लिया क्योंकि संडे को हमारे ऑफिस की भी छुट्टी होती है. मेरी जीभ का स्पर्श अपनी चूत पर पा कर भाभी की मादक सीत्कारें निकलने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह…भाभी के मुँह से मादक और चुदासी आवाजें सुनकर मुझे बहुत जोश चढ़ रहा था. तभी रवि ने रिक्शा वाले से बोला- आज अपने लंड का रिक्शा मेरी बहन की चूत पर चढ़ा दे.

कान्हा सेक्सी हम दोनों ही किसी मौके के इंतज़ार में थे और अब तो हम दोनों ही उस दिन की कल्पना करते ही पागल से हो जाते थे. मैंने उसकी पूरी 30 मिनट तक चुदाई की और फिर अचानक मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ.

अचानक ही चाची ने मुझे बिना बताए ही अपनी चूत का पानी छोड़ दिया या फिर यूं कहें कि चाची के वश में ही नहीं रह गया था कि वह अपनी चूत के पानी को रोक कर रख सके. वह थॉन्ग (अंडरगार्मेंट का एक प्रकार)वाली पैंटी थी जिसकी पीछे वाली पट्टी गांड में घुस जाती है. जाने से पहले उपिंदर ने बांहों में भरा, होंठ चूसे और पूछा- अब कब आएगी मेरी मालिनी?‘जल्दी बहुत जल्दी.

पड़ोसन की चुदाई सेक्सी वीडियो

इधर जगत अंकल ने मेरे मुँह में अपना लंड डाल ही दिया था, तो मेरी चीख भी बंद हो गई थीं. एक तरफ ये भी ख्याल आया कि अगर नैना खुद ही मेरे साथ सोना चाहती है, तो क्या दिक्कत है. वो अपनी चूत पर मस्त खुशबू लगा कर आई थी, जो चाटते वक्त किसी मीठी चॉकलेटी स्वाद दे रही थी.

जाने से पहले उपिंदर ने बांहों में भरा, होंठ चूसे और पूछा- अब कब आएगी मेरी मालिनी?‘जल्दी बहुत जल्दी. सोनल की खुलती बंद होती चूत को दादाजी ने अपनी एक हाथों की उंगलियों से खोल कर रखा था और दूसरा हाथ उसकी चूत की तरफ बढ़ा दिया.

मौसी ने मान लिया और करने दिया।मैं फिर मौसी के बूब्स को सहलाता रहा और मैं देखा कि मौसी ने आंखें बंद कर ली है, उनको अच्छा लगने लगा है। फिर मुझे महसूस हुआ कि मौसी ने हाथ से नीचे मेरा लन्ड पकड़ा हुआ है और वो भी उसको सहला रही हैं। तो मुझे भी मस्त लगने लगा और मैं मौसी के बूब्स को और जोर से दबाने लगा, फिर मौसी के बूब्स पर किस करने लगा.

जब वो स्कूल से कॉलेज गयी, तो हर महीने कोई न कोई लड़का उसको चोदता रहता था. नेहा- अरे बैठी क्या है … इधर आके लेट जा ना … तेरे साथ मुझे भी देखनी है. लंड ने चूत की चिकनाई से अपनी जगह बना ली तो मेरे जेठ जी ने धीरे धीरे अपनी स्पीड बढ़ा दी.

सर ने जैसे ही घुटने सोफे पर रखे, मैं आगे होने वाले दर्द की सोच से बिलख पड़ी- पिंकी … प्लीज़ … बचा ले मुझे!”सर ने मेरे आह्वान पर मुड़कर पिंकी को देखा तो मेरी भी नज़र उसी पर चली गयी. तुम कहने लगी थीं- चोद ना लवड़े, मेरी चुत में लंड डाल साले …तुम्हारे इस वाक्य पर मेरी रिएक्शन तुम्हारी तूफ़ान चुदाई करने की थी, तो मैंने तुम्हारी चुत की पुत्तियां फैलाईं और अपने लंड का टोपा तुम्हारी चुत के मुँह पर रख दिया. और दूसरा मेरी बहुत टाइट गांड में घुसे हुए थे और वह दोनों सांड राक्षस की तरह दिखने वाले नीग्रो बेदर्दी से मुझे चोद रहे थे.

फिर मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी चूत पे टिकाया और हल्का सा एक धक्का दे मारा.

बीएफ जीएफ सेक्सी वीडियो: नुपूर मेरे पास आ कर बैठ गई और मुझसे कहने लगी- राज, मुझे ज्यादा दर्द तो नहीं होगा न?तो मैंने कहा- तुम चिंता मत करो, मैं बहुत ही आराम से करूँगा. मैंने भी सोचा मौका है, मैंने मालिनी को बांहों में लिया और कहा- मालिनी तो मेरी जान है.

पापा मम्मी को किस करने लगे और मम्मी पापा को! काफी देर तक उनकी चुम्मा चाटी चलती रही. मेरे गले लगाने और उनकी पीठ को सहलाने पर भाभी ने मुझे कुछ नहीं कहा तो मैं अपना हाथ उनकी पूरी पीठ पर फेरने लगा. पुनीत ने देखा और मुझे बोला कि वन्द्या तुझे यह दोनों सील पैक माल समझ रहे हैं.

वह उठी और अपनी साड़ी से चूत को पौंछते हुए उसे नीचे की और फिर नीचे बैठ गयी.

उस रोज़ सोनू ने बहुत ही सेक्सी स्लीवलेस टॉप पहना था और नीचे एक मैचिंग टाइट, छोटी स्कर्ट पहन रखी थी. उसकी छटपटाहट एकदम से उस तरह की हो गयी थी, जैसे मछली को पानी से बाहर निकाल लिया हो. मैं गाड़ी भगा रहा था और बाइक को एक सुनसान रास्ते से ले गया, जहां किसी का आना जाना नहीं होता था.