बीएफ सेक्सी सरदार

छवि स्रोत,सेक्सी चुदाई बहन भाई की

तस्वीर का शीर्षक ,

जोरदार सेक्सी दिखाइए: बीएफ सेक्सी सरदार, मैंने लंड उसकी गांड से निकाला और एक टांग हाथ में लेकर उसकी चुत में शॉट लगाने लगा.

हिंदी फिल्म बॉलीवुड सेक्सी

आप पहले आदमी हैं, जो मेरा चरित्र जानते हुए भी बहन बना कर बात कर रहा है. deshi bhabhi ki सेक्सीइधर मैंने भी उसको समझाया कि पहली बार जब चुत की सील खुली थी, तब दर्द हुआ था कि नहीं.

इसीलिए मैंने उनके एक चूचे को मुँह में लिया और दूसरे के चने को ऐसे दबाने लगा, जैसे वह कोई गुब्बारे की टोंटी हो. एक्स एक्स हिंदी सेक्सी वीडियो फिल्मसबसे पहले मैं अपने बारे में बता दूँ, मेरा नाम राज है और मैं जयपुर का रहने वाला हूँ.

जिस दिन चाचा जी को जाना था, तो उन्होंने मेरे घर फोन किया कि आज घर पर चाची और बेटा अकेले हैं तो आज हार्दिक को बोल दो कि वो इधर ही सो जाएगा.बीएफ सेक्सी सरदार: चाय पीते हुए बोली कि देख मैं जानती हूँ कि तेरी चुदाई बहुत जबरदस्त हुई है और तू उससे कम से कम 5 बार चुदी होगी, जिसका पूरे गधे जैसे लौड़ा है.

कुछ ही पलों में मैं सिर्फ ब्रा, जिसका कप सिर्फ मेरे मम्मों को नीचे से ही पकड़ कर रखता था और बाकी पूरी चूचियां साफ़ दिखती थीं.अर्पिता- इस बार प्लीज मत तड़पाना, मैं नहीं सहन कर पाऊँगी!मेरी जान, इस तड़प का मजा ही कुछ और है, क्यों मजा नहीं आया?”अर्पिता- पर इतना तड़पाना भी अच्छा नहीं होता।अच्छा बाबा नहीं तड़पाऊँगा.

भोजपुरी सेक्सी फिल्म एचडी वीडियो - बीएफ सेक्सी सरदार

अपने हाथों मेरी ब्रा निकाल कर मेरी चूचियों के निप्पलों को अपने मुँह में लेकर अपने अरमान पूरे कर लो.अब झड़ने को कतई तैयार आर्थर भैंसे की तरह कराहने लगा और नताशा के मुंह से अपना लंड बाहर निकाल कर दस कदम पीछे चल कर बोला- मुंह खोल अपना! जल्दी से खोल!! वहीं तक फव्वारा मारूंगा!!! चल दिखा अपने मोतियों जैसे सफ़ेद दांत… और देख मेरे लंड की ताकत!!!नताशा ने सब समझ कर उसके लंड की दिशा में अपना पूरा मुंह खोल दिया.

मुझे अपनी साली को अपने नीचे लाने के लिए जितनी क्सक्सक्स वीडियो रिकॉर्डिंग चाहिए थी, उतनी हो गई थी तो अब इस फिल्म का दि एंड करने का टाइम आ गया था. बीएफ सेक्सी सरदार पारुल बोली- अब मुझे लन्ड अपनी चूत में चाहिए; तुम कुछ भी करो!मैंने पारुल को बोला- दो घंटे के लिए किसी होटल में रूम ले लिया जाए तो कैसा रहेगा?पारुल ने कहा- बिल्कुल ठीक है!आगे कुछ दूर चल कर रास्ते मे एक होटल पर मैंने गाड़ी रोकी और कमरे का पता किया.

तभी रमेश अंकल के उन दोस्त का पानी निकल गया, जो अपना लंड मां की चूत में पेला हुआ था.

बीएफ सेक्सी सरदार?

उनका पूरा चेहरा वीर्य की बूँदों से सन गया और उनके होंठों पर लगे माल को वो जीभ निकाल कर चाटने लगीं. मैं- इसे मैं रख कर क्या करूंगा?रीमा- तु मुठ्ठी मार लिया कर अपना वीर्य इसमे छोड़ दिया कर. तब वो बोली- कोई बात नहीं… यह तो तुम पर ही है ना कि क्या करना है, हां मेरे को मेरे पैसे 2 महीने खत्म होने से पहले चाहिए.

साली की युवा बेटी संग यौनानन्द की रोमांटिक कहानी के पिछले भागस्त्री-मन… एक पहेली-2में आपने पढ़ा कि प्रिया मेरे घर में मेरे साथ अकेली है, रात हो चुकी है, वो एक बेडरूम में गयी और उसने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया. तो मैंने उसकी बुर में अपनी एक उंगली डाल दी और जोर जोर से अंदर बाहर करने लगा. मैंने पूछा- कुछ परेशान सी लग रही हो आप?तो उन्होंने बुझी सी आवाज में बोला- तुम नहीं समझोगे.

मैं लंड को बाहर खींचना चाहता था, पर माँ ने मुझे अपनी टांगों की कैंची से दबा रखा था. जैसे ही मैंने ये जाना कि अब मुझे चूमना छोड़ देना चाहिए और बाकी चीजों पर ध्यान देना चाहिए, तो मैंने उसके होंठों से धीरे धीरे चूमते हुए कान की ओर अपना रुख मोड़ लिया. उसके नाख़ून मेरी बाँहों में घुसे जा रहे थे- राजे ले जा मुझे आसमान की सैर पर… कस कस के ठोक… मर्दन कर दे मेरे बदन का.

सच में तुम दोनों के लन्ड मुझे छोटे लग रहे हैं। फिर भी जोर से चोदो तुम दोनों कुत्ते पूरा का पूरा अपना अपना लन्ड मेरी गान्ड और चूत में घुसा दो, फाड़ दो मेरी चूत और गांड दोनों, अगर दम है तो!मैंने जो भी सेक्सी कहानियों में पढ़ा था वो सब अपने आप मेरे मुंह से निकलने लगा. तो मैंने हमारे गांव के पास वाले किले को चुना, वहां शाम को कोई नहीं जाता था.

प्रिया के मुंह से निकली सिसकारी ने बता दिया कि प्रिया की समस्त चेतना अभी उस के बाएं उरोज़ पर केंद्रित थी, मैंने अपने लिंग को हल्का सा पीछे खींच कर ज़रा ज़ोर से आगे को किया.

वो मेरे लिए खाना लाया, मेरी इच्छा नहीं थी तो उसने अपने हाथों से थोड़ा खिलाया.

शायद मधु झड़ चुकी थी।मैंने दाने को चाटते हुए उंगली अन्दर डाल दी और आगे-पीछे करने लगा। मधु तड़प उठी और अपनी हिंदी चुत को भींच दिया और मेरे सर को चूत पर दबा दिया। मैंने उंगली की रफ्तार बढ़ा दी जिससे थोड़ी देर में ही मधु के पैर काँपने लगे और चूत ने पानी छोड़ दिया, मधु के मुँह से आह. पूरे रूम में मिरर ऐसे लगे हुए थे कि अपनी झलक एक के बाद एक नजर आ रही थी. एक काम करोगे?वो- बताओ चाची जी?मैं- बेटा मेरी गांड में बहुत खुज़ली हो रही है.

इस पर भाभी ने मुझसे एकदम से बोल दिया- भैया रूको थोड़ा… आज नहीं, यह सब बाद में करेंगे, यहाँ कोई आ जाएगा!और भाभी खाना बना कर मुझे अपना मोबाइल नंबर देकर चली गयी और मुझे यह बोल कर गयी कि मैं कल मायके जा रही हूँ, और आपको कॉल करूँगी वहाँ से!तो मैं मन ही मन में खुश होने लगा और उस रात को मैं भाभी की नाम की मुठ मार के सो गया. तो उसने मुझसे कहा कि उसकी जान पहचान का एक रेस्टोरेंट है, जहां से उसने कई बार ड्रेस चेंज की है. वो मेरी चुचियों को इस तरह से दबा रहा था कि जैसे वो उन्हें दबा कर छोटा करना चाहता हो.

तो अब उससे भी नहीं रहा जा रहा था, उसने मुझे ऊपर की तरह खींच लिया था और मैंने अपना खड़ा हुआ लंड उसकी चूत के ऊपर 5-10 मिनट तक रगड़ा.

फ़िर वो रस्सी के टुकड़े उठा के अपने पास रखे और एक टुकड़ा लेकर उनको बेड के किनारे बाँधा और फ़िर झटके के साथ उनके हाथ को खींच के उनको रस्सी से बाँधने लगा. भाई और भाभी अपने रूम के बेड पर सो रहे थे और हम दोनों ने नीचे बिस्तर लगाया हुआ था. उन्होंने पूरी तरह से मेकअप भी किया लग रहा था डार्क रेड कलर की लिपस्टिक लगाई हुई थी.

आप इस कहानी को पढ़िए… मजे लीजिये और पसंद आए तो अपने मेल्स के जरिये जरूर बताइएगा कि कहानी कैसी लगी. पर लंड भी पूरा बहनचोद बन चुका था, वो साला फिर से दीदी की चूत की तरफ फिसल गया. उसने भी एक हाथ से मेरा अंडरवियर नीचे किया और मेरे कड़क लंड देख कर एकदम से खुश होकर बोली- वाउ इतनी कम उम्र में इतना मस्त लंड.

पर लड़कों को भी यह ख्याल रखना चाहिए कि हाँ, एक बार मतलब बस एक बार, बाद में जब वो चाहे तभी उसको छुए.

मैंने सोचा अब तो मेरी बैंड बज गई, घबरा गया मैं… मुझे लगा कि ये भाई और भाभी को सब बता देगी. उसकी बात फ़ोन पर खत्म हुई और वह खड़ा हुआ तो उसकी हाईट और चोदू अंदाज़ का मैं कायल हो गया.

बीएफ सेक्सी सरदार मैं जब से कॉलेज में हूँ, तब से बस एक ही ख्वाहिश थी कि पूरे कॉलेज के सामने गांड मरवाऊं. दीदी बोलीं- पर तू तो राहुल है ना?मैंने बोला- आपको मेरा चेहरा दिख रहा है क्या?वो बोलीं- नहीं.

बीएफ सेक्सी सरदार कई बार उसकी उँगलियों ने अण्डों और गांड के बीच के मुलायम भाग को दबाया, जिससे मज़े से मेरी किलकारियां निकल गयी; सी सी करता हुआ मैं झड़ने के क़रीब जाने लगा; उसका सिर पकड़ कर जो मैंने चार तगड़े धक्के मारे हैं तो लंड धम्म से झड़ा. जैसे ही वो किस करके हटी, मैंने सबसे पहले घर का गेट लॉक कर दिया और हम दोनों मेरे बेडरूम में जाके बैठ गए.

उस दिन मैंने उसको 1000 रूपये दे दिए थे क्योंकि वह एक ग़रीब घर से थी.

देसी गण्ड

खैर बताइए किस काम से आपका आना हुआ?जब मैंने उसे बताया अपने आने के मकसद के बारे में तो मुँह में बुदबुदाया कि साले ने अपनी बहन को भेज दिया. उन्होंने भी मुझे रंगते हुए मेरी चूचियों को मसल दिया तथा हाथ डालकर सहला भी दिया. लेकिन दूसरे दिन मैंने अभिलाषा से पूछा कि क्या तुम मुझे प्यार करती हो?उसने हां कहा और चली गई.

एक दिन मैं उनके घर गया तो देखा वो रो रही थी तो मैंने पूछा- भाभी, क्या हुआ? रो क्यों रही हो?तो उन्होंने कहा- यार अमन, अब मुझसे पापा की हालत देखी नहीं जा रही है और मैं उनकी सेवा कर कर के थक गयी हूँ, और अब नहीं कर सकती, मैं चाहती हूँ कि पापा को अब मौत आ जाए और सबको उनके दुख से निजात मिल जाए।मैंने कहा- भाभी जी, आप चिंता मत करिए, सब ठीक हो जाएगा!और कुछ दिन बाद सच में उनके पापा की मौत हो गयी. अब मैंने उसको कान के पीछे किस करने लगा तो वो थोड़ी देर में ही मचलने लगी और उसने कहा- मुझे कुछ हो रहा है प्लीज़ ऐसे मत करो. कुछ देर चोदने के बाद विनय नीचे लेट गया और मैं उसके ऊपर बैठ कर चुदवाने लगी.

किसी सेक्सी लड़की से कम नहींआज की आगे की कहानी भी मैं एक लड़की की तरह ही लिखूंगा.

जिससे उसकी चूचियां बाहर को उभर आईं और बिल्कुल उसके चेहरे के पास अपना चेहरा ले गया।अब उसकी चूचियां मेरी छाती से थोड़ा दब गईं; उसकी साँसें तेज होती जा रही थीं. तभी मैंने दोनों की टी-शर्ट को निकाल दिया और पेंट उन दोनों ने खुद ही निकाल दी. वो- उफ़…!मैं- मुझे कितना कुछ कहने का मन कर रहा है लेकिन डर भी लग रहा है कि कहीं तुम्हें किसी बात का बुरा ना लगे, इसलिए नहीं कह रहा हूँ.

शुरू शुरू में तो मुझे बड़ा अजीब सा लगता था, पर जब से मेरी चुदास बढ़ी तो मुझे वो एक आइटम लगने लगा. बाथरूम में जाकर पहले अपनी चूत को अन्दर बाहर से साबुन से अच्छी तरह धो लो. रोशनी फिर से उछल पड़ी और गुस्से में आ गई- तुम तो क्लिट्स ढूंढ रहे थे, तुमने कहा था कि क्लिट चूत के ऊपर वाले हिस्से में होती है.

उसकी साड़ी खोलने के बाद उसने मेरे सामने ही मेरी वाइफ को पूरी नंगी कर दिया और बोला- वाह भाबी, आप तो बहुत हॉट माल हो. उसने मोबाइल नंबर दिया और कहा- जब कानपुर पहुँच जाना तो कॉल करना, उससे पहले मत करना.

इसी चक्कर में मैंने रुचिका चौधरी की सेलरी बढ़ा दी, जिससे वो समझ गई क्योंकि वो मेरे और नीति मैडम के बारे में सब जानती थी. थोड़ी देर बाद सैम बोला- शालू यहाँ की लहरों का मज़ा नहीं लोगी क्या?मैं- लूँगी. मैं अगले दिन का वेट करने लगा और सुबह हुई तो मैंने जल्दी से रेडी होकर गुंजन को कॉल किया.

जब मैंने भाभी का गॉउन उतारा तो देखा कि भाभी ने तो पैंटी ही नहीं पहनी थी.

उसका गाँव दूर था तो रोज आना जाना सम्भव नहीं था इसलिए वो यहीं एक रूम किराए से लेकर रहता था. मैंने बेल बजाई अन्दर से एक लगभग 50 साल का बुड्ढा सा आदमी दरवाजा खोलने आया. वो बोला- अब तुम अपनी चुत फैला कर मेरे लंड पर चढ़ जाओ और अब तुम मेरी चुदाई करो.

मैं उसके एकदम पास को गया, अब मेरा लंड अंडरवियर के अन्दर तम्बू बना कर खड़ा हो गया और उसके बड़े बड़े उभारों को टच करने की कोशिश करने लगा. मैंने देर न करते हुए उसकी चूचियों के निप्पल पर अपनी जीभ सहलाना शुरू कर दी.

मेरी गरम सेक्स कहानी के पिछले भागशादी से पहले पति के सामने चुत चुदाई-1में आपने पढ़ा कि कैसे मेरी लालची माँ ने मेरा रिश्ता तय कर दिया. मैं अपने पूरे शरीर की ताक़त लगा के पागलों की तरह उसे चोदने लगा और सोचने लगा कि ये साली 40-45 किलो की औरत मेरे वजन को सह कैसे पा रही है. मैंने कहा- छोड़ो यार… तुम कौन सा मेरी गोद में चढ़ कर जाओगे… इसी गाड़ी में तो जाना है, फिर क्या प्राब्लम.

एक्स एक्स एक्स व

मैंने भाभी को फिर बांहों में भर लिया, वो बोलीं- अभी मन नहीं भरा क्या?मैंने कहा- भाभी, तुम हो ही इतनी मस्त कि मन भर ही नहीं सकता.

फिर थोड़ी देर बाद उसने आँख खोलीं और बोली- भैया आपको नींद नहीं आ रही है क्या?अब उसको कैसे बोलूँ कि तुम पास में ऐसी हरकत करोगी तो कैसे नींद आएगी. तो मैंने अपना मोबाइल निकाला और फुल एचडी मोड में वीडियो रिकॉर्डिंग स्टार्ट कर दी. मेरी गरम सेक्स कहानी के पिछले भागशादी से पहले पति के सामने चुत चुदाई-1में आपने पढ़ा कि कैसे मेरी लालची माँ ने मेरा रिश्ता तय कर दिया.

फिर जैसे ही मैंने उसकी स्कर्ट और पिंक कलर की पेंटी को नीचे उतारा तो ब्राउन कलर की झांटें और चूत खुली हुई पिंक कलर की दिख रही थी. अब तो भाभी मेरी रखैल रंडी बन चुकी हैं, जब भी मौका मिलता है, मैं उनको चोद देता हूँ. ऑडियो सेक्सी स्टोरीजवो- ओह… क्या सोच रहे थे?मैं- जब मैं तुम्हें देखता हूँ तो लगता है तुझमें पूरा पागल होकर समा जाऊं.

तभी उसने मेरी बेल्ट खोली और मेरी जीन्स का हुक खोल कर पैन्ट को नीचे कर दिया. वो भी कुछ नहीं बोली, शायद उसे भी नशे में मजा आने लगा था और अच्छा लग रहा था.

मेरा अब भी उससे बात करने को बहुत मन कर रहा था मगर मेरे पास उसका नंबर नहीं था. मैंने उसकी गांड से लंड खींचा और उसको फर्श पर चित लिटा कर उसकी चूत में लंड पेल दिया. मैं धीरे धीरे उंगली अन्दर करता गया, आधी उंगली उसकी चुत के अन्दर चली गई थी.

तभी मैंने देखा कि मेरी बीवी बाहर निकली और उसके साथ बहुत अच्छे डील डौल का बंदा भी बाहर आया और तभी एक बड़ी कार आकर रुकी शायद ड्राइवर गाड़ी का ड्राइवर था जो गाड़ी उस बन्दे के लिये लाया था जो कामिनी के साथ निकला था उसने कार का दूर खोला और वो कामिनी से बात करता रह और गाड़ी में बैठ के जाने लगा. दीदी के बड़े बड़े बूब्स ब्लू रंग की ब्रा में जकड़े हुए थे… ब्रा इतनी टाइट लग रही थी कि मानो बीच से अभी टूट जाएगी और दीदी के चुचे अभी ब्रा से बाहर कूद पड़ेंगे. तेरी मेरी दोस्ती यहीं तक… चल बाय…ये बोल कर दीदी झूट मूठ का खामोश हो गईं.

मैं पूरी मस्ती से जोर जोर से उनको चोद रहा था और वो मादक आवाजें कर रही थीं.

छोटी भाभी के जाते ही पूजा मुझे गेस्टरूम में घसीट ले गई और जाते ही उसने मुझसे पूछा- क्या चोद दिया भाभी को?मैं बोला- हाँ तुमने ही तो कहा था… और अब मैं तुम्हारे हवाले हूँ. दिल कर रहा था कि मैं इन जवान जिस्मों को चूम लूं और उनके जिस्म की मस्तानी महक को अपने अंदर भर लूँ.

मैंने उससे कहा कि तुम बाहर क्यों आ गईं?तो वो बोली- मैं उधर बोर हो रही थी इसलिए बाहर आ गई. मैंने भी उसका साथ देते हुए उसके निचले और ऊपर के होंठों को काटते हुए चूमना शुरू कर दिया. दो दिन बाद डॉक्टर ने मुझे घर भेज दिया और बोला- इससे कोई छेड़छाड़ ना करना और दो दिनों बाद आकर इसकी जांच करवा जाना.

वे मेरे पास आकर बैठ गए और मुझे समझाने लगे और कहने लगे कि तुम अच्छी पढ़ने वाली लड़की हो, अगर तुम फेल हो जाओगी तो तुम्हारा भविष्य भी खराब हो जाएगा. कि तभी अचानक बिजली की स्पीड से एकदम मेरी चूत में एक बहुत बड़ा सा सख्त मोटा कुछ बहुत तेजी से पूरे जोर ताकत से एक झटके में मेरी चूत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया. अभी एक कुंवारी लड़की की बुर में लंड घुसाया ही था कि मेरे दोस्त की बीवी वहाँ आ गई और थोड़ा नाराज होने के बाद वो भी हमारे चुदाई के खेल में शामिल हो गई.

बीएफ सेक्सी सरदार मैंने स्पीड बढ़ाने की कोशिश की तो बुआ चिल्ला दीं और बोलीं- धीरे कर पागल. वो बोले साड़ी ही पहननी थी तो इंडिया में ही किसी तीर्थ स्थल पर चल लेते.

સ્કુલ સેક્સ

प्लीज़ बस करो।पर उसने मेरी एक ना सुनी बल्कि उस साले ने अपनी स्पीड और तेज कर दी। उसके आंड मेरी गांड से खूब जोर से टच हो रहे थे। उसने अपने हाथ आगे लाकर मेरे मम्मों को पकड़ लिया और अपनी स्पीड बढ़ा दी।फिर थोड़ी देर बाद उसके मुँह से ‘अहह. मॉम लम्बी लम्बी आहें भरते हुए नवीन का का पानी अपनी चुत में डलवा रही थीं मानो मॉम को अनंत सुख मिल रहा हो. इसके बाद जब मैं झड़ने को था तो मैंने दिव्या को बताया कि मैं आने वाला हूँ तो उसने कहा- मामा जी, आप मेरी चूत में ही अपना माल छोड़ दो! मेरे पास इसका इलाज है.

मैंने दिव्या को काफी देर तक चोदा और उसे चुत चुदाई पूर्ण आनन्द दिलाया. पता नहीं आज मेरा क्यों नहीं निकल रहा था… शायद ड्रिंक की वजह से जल्दी नहीं निकल रहा था. सेक्सी वीडियो चुदाई एचडी फुलकरीब 10 मिनट बाद भाभी का शरीर अकड़ने लगा और चीखती हुई झड़ गयी, और मैंने भाभी की चुत का सारा रस पी लिया जो बहुत ही टेस्टी था.

माँ ने मुझे पीठ की तरफ से पकड़ा था, जिस कारण उनके स्तन मेरी पीठ से चिपके हुए थे और चूत का हिस्सा मेरे गांड से सटा था.

विनय ने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरे ऊपर लेट कर मेरे होंठों को अपने होंठों में फंसा लिया. कि तभी घर की घंटी बजी, चूंकि मैं लुंगी में ही था और कहानी पढ़ रहा था तो मेरा लंड तना हुअ था। घर की घंटी लगातार बज रही थी तो मैं झल्लाहट में यह भूल गया था कि मैं केवल लुंगी में ही हूं और कहानी पढ़ने के कारण लंड तना हुआ था, मैं गुस्से में उठा और कौन है कहकर मैंने दरवाजा खोल दिया.

विक्की ने जवाब दिया कि तू ज्यादा जोश में मत आ, वो तेरे पास नहीं है, केवल रोशनी दीदी के पास है. आंटी साड़ी पहनती हैं इसलिए आंटी की सेक्सी कमर और मम्मों के मजे सबको देखने मिलते थे. फिर मैंने भाभी से थोड़ी थोड़ी बात शुरू की लेकिन उस समय भी मेरे मन में उनके प्रति ऐसी कोई इच्छा नहीं थी।फिर एक दिन हुआ यह कि मेरे घर पर कोई नहीं था और मेरी मम्मी ने उसी भाभी को मेरे लिए खाना बनाने का बोल दिया और चली गयी।मम्मी पापा तो चले गये, मैं भी भाभी का इंतजार कर रहा था और थोड़ी देर में भाभी आ गयी।भाभी आकर मुझसे बात करने लगी.

एक दिन मेरे पति अपने किसी पुराने दोस्त को खाने पर लाए, खूब बातें वगैरह हुईं, वो बहुत अमीर था.

हम हमेशा साथ में रहने लगे और घूमने लगे, ऑफिस में इस के बारे में बातें होने लगी पर मेरे सीनियर होने के कारण मुझे कोई बोल नहीं रहा था. दो दिन कोई बात ना हो पाई, तीसरे दिन मेरे सेल पर उसका मैसेज आया ‘हाई…’मैंने पूछा तो पता चला कि अभिलाषा थी. दोस्तो, मेरा नाम अखिल (बदला हुआ नाम) है, मैं तीन कॉलेज यानि महाविद्यालय का कर्ता धर्ता हूँ.

सेक्सी फिल्म तिरंगामैंने रोशनी को रोज 10 बजे से 12 बजे तक उसके घर अंग्रेज़ी पढ़ाना शुरू कर दिया. इस बीच मां की आह्ह हल्की सी सुनाई दी, मैं रोमांचित हो उठा और मेरे झटके तेज हो गए… धप धप धप धप.

ब्लू पिक्चर नंगी सेक्स

’ की आवाजें भी रूम में गूँज रही थीं, रूम का माहौल एकदम रंगीन हो गया था. हम दोनों ने लंड और चुत की चुसाई की और थोड़ा प्यार करने के बाद उसका लंड फिर से तैयार हो गया. मैंने धीरे धीरे हिलना चालू रखा और इसी तरह पूरा लंड चाची की चूत के अन्दर चला गया.

और मेरी तरफ देख कर बोला- क्यों सही कहा ना?मैंने कहा- जी!बोले- अरे मैडम की बर्थडे है, शैम्पेन वगैरा नहीं खोलोगे?मैंने- नहीं… है नहीं!वो बोला- मैं लाया हूँ!और मुझसे बोले- नीचे मेरी कार खड़ी है, ड्राइवर है, उससे ले लीजिए!मैंने कामिनी की तरफ देखा तो वो बोली- अरे सर कह रहे हैं जाओ ना!और मैं मजबूरी में कार से बोतल लाने चला गया. थोड़ी देर तक बात करने के बाद भाभी हमारी किचन में खाना बनाने के लिए चली गयी और वो बीच बीच में मुझसे बात भी कर रही थी, आवाज लगा कर मुझसे रसोई के सामान का भी पूछ रही थी कि कौन सा सामान कहाँ रखा है. चाची को भी अब दर्द नहीं हो रहा था, वो भी मेरे साथ गांड उठा कर लंड के मजे कर रही थीं और मेरा साथ दे रही थीं.

उसकी पैन्ट फूली सी दिखी तो मैंने महसूस किया कि इसका लंड तो एकदम बड़ा लंड सा होना चाहिए. जिस पिछवाड़े को ठोकने की बात ये आदमी कह रहा है उसे मैं अभी तक फिजूल की बात समझ कर नजरअंदाज करती रही और आज यही फिजूल की बात मुझे कर्ज से मुक्ति दिलाने में सहायक हो रही है। मैं मन ही मन राजी होने लगी और खुश भी हो रही थी।दिखावे के लिए पहले तो मैं एकदम से डर गई, मैंने ऐसे मुँह बनाया कि मुझे कुछ भी समझ में ही नहीं आ रहा हो. फिर मैं उसकी जालीदार पेंटी को भी धीरे धीरे उतारने लगा तो वो इसमें भी मान गई और उतार दी.

उस दिन मैंने उसको 1000 रूपये दे दिए थे क्योंकि वह एक ग़रीब घर से थी. फिर मैंने अपने लंड पर भी तेल लगाया और उसकी बुर में लंड को डालने लगा.

इस बार दोनों लंड मेरी चूत और गांड में थे, पर जब एक मेरी चूत में धक्का लगाता, तब दूसरा रुक जाता और उसके बाद दूसरा लंड धक्का मेरी गांड में लगाता.

मैं उनकी स्कूटी के पास गया, तो वो नीचे उतर कर एक तरफ हो गईं और उन्होंने मुझे स्कूटी दे दी. सेक्सी वीडियो gaana.comभैया ने कहा- नहीं यार, तुम मत जाओ, रिया तुम्हें नंगी होने की ज़रूरत नहीं है, तुम खाली अपनी पेंटी उतार लो और साड़ी ऊपर कर लो, बाकी मैं कर लूंगा, उन्होंने ऐसा ही किया. हीरोइन सेक्सी वीडियो पिक्चरवो अपने मम्मे हिलाते हुए बोलीं- मुझे तो नहीं… और किसी चीज को देख कर मस्त बोल रहे थे. फिर मैंने उसको उसका रूम दिखा कर बोला- तुम चाहो तो अपनी माँ को भी यहाँ ला सकते हो.

वे लोग पति पत्नी ही थे, साथ में उन आंटी का कोई भतीजा भी कुछ दिनों के लिए रहने आया था.

हम दोनों ने काफी बातें की जिनका रुख थोड़ा थोड़ा अश्लीलता की ओर मुड़ने लगा था. उसकी टाँगें अपनी कंधे पे रख दीं और अपने लंड का टोपा उसकी चुत के मुँह पर लगाकर एक करारा धक्का दे मारा. तो रेहाना मसाज रूम में आ गई और हम दोनों को नंगा देख कर वो बोली- दीदी, आप वीशु जी से अपनी चुदाई करवा रही हो?तो पायल बोली- नहीं, अभी फ़िलहाल लंड चूस कर बीज पीयूँगी क्योंकि इनका बीज बहुत स्वादिष्ट है.

अब मैं अपने एक हाथ से उसकी गांड और दूसरे हाथ से उसके मम्मों को सहला रहा था. जब दीदी बेसुध पड़ी रहीं तो धीरे से अपने हाथों को पजामे से बाहर निकाल लिया. जैसे ही मैंने उसके एक निप्पल को दांत से मसला, वो तड़प उठी और बोली- नो बेबी ऐसे नहीं.

ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म ब्लू

मैंने झट से अपनी ड्रेसिंग टेबल से वैसलीन की डिब्बी उठाई और और उसकी चूत और मेरे लंड पर बहुत सी वैसलीन लगा दी. दोस्तो, आपको भी बताना चाहता हूँ कि कभी आपको भी ऐसा कोई मौका मिले तो उसी टाइम आपको भी उसे मस्त करना शुरू कर देना चाहिए कि उसे सोचने का मौका ही ना मिले और उसका रिएक्शन भी पता चल जाए. मैंने धीरे से निप्पल को चूमा और हल्के से उस के आसपास अपनी जीभ फेरी.

मैंने धीरे धीरे उसकी ब्रा को अलग किया तो उसके दोनों मम्मे उछल कर बाहर आ गए.

फिर कुछ देर के बाद मैंने मैंने खुद को थोड़ा सा नीचे को मोड़ा ताकि मेरी रानी के मम्मे मेरे मुंह के पास आ जाएं.

अब मैं वापस रूम में आया और अन्दर से लॉक कर दिया और इस बार मैंने अपना पूरा पेंट और अंडरवियर उतार कर शर्ट को ऊपर करके कहा- रोशनी हम तीनों का लंड देख कर बताओ, किसका बड़ा है?इतने में पिंकी ने मेरी एल शेप की झांट देखकर एकदम से बोली- सर ये आपने कैसे बनाई?मैंने हँसकर कहा- तुम्हारी दीदी की भी वी शेप में बनाई हैं. क्षण भर के लिए प्रिया के चेहरे पर उलझन की बदली सी छायी… लेकिन जैसे ही उस को बात समझ में आयी तो उस के चेहरे पर मुस्कान आ गयी, चेहरे पर हया की लाली छा गयी और उसने दोनों हाथों से अपना चेहरा छिपा लिया. नंगी सेक्सी वालामैंने कहा- मैं क्यों किसी से कहूँगा, मैं तो यहाँ से दो तीन दिन बाद चला जाऊंगा.

सुहानी बोली- आपके बारे में सब पता चल गया है… पूजा ने सब बता दिया है. मैंने अपने अंगूठे और तर्जनी ऊँगली से गोला बना कर अपनी पत्नी को आंख मारते हुए कहा- शानदार!!जवाब में मेरी नताशा झेंप कर मुस्कुराने लगी. मेरी चीख निकलने को हुई, पर सर का मुँह मेरे मुँह पर ढक्कन जैसा लगा हुआ था.

लेकिन पवन ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोला- बेटा, क्या हो रहा है?मैं कुछ बोलता, इससे पहले अजय ने मेरी गांड को मसलना शुरू कर दिया और पवन ने मेरा हाथ अपने लंड पे रखवा दिया, वो मेरे होंठों को चूमने लगा. मैं उसे नोट्स लाकर देने लगा तो देखा कि वो मेरी बुक्स के बीच में पड़ी एडल्ट पिक्स वाली बुक को ध्यान से देख रही थी.

ये सोचते सोचते ही पता ही नहीं चला कि मेरे हाथों ने उनके मम्मों को कब धीरे धीरे दबाना शुरू कर दिया.

फिर मैंने भाभी को सीधा कर दिया और उनके होठों को किस करने लगा। कसम से भाभी इतनी गर्म थी, मुझे पता नहीं था. नवीन आगे बढ़ा और मॉम की साड़ी को पीछे से उठा कर उनकी कमर पे रख दिया, जिससे मॉम की गांड बिल्कुल नंगी हो गई. मैं- तो मैं पूछ रहा था कि तुमको मर्द के शरीर का कौन सा हिस्सा पसंद है?स्वाति- अरे… इसमें पूछने वाली क्या बात है… मेरे जैसे जवान और सेक्सी लड़की को आप जैसे जवान मर्द में सबसे ज्यादा क्या पसंद आयेगा? बेशक आपक लिंग। मुझे लगता है कि यह काफी बड़ा और मजबूत है.

सेक्सी वीडियो आदिवासी 2021 मैं सीधे घर के हॉल में आ गया और आवाज लगाई- आंटी कहां हो?किसी ने आवाज नहीं दी तो मैं अन्दर चला गया तो देखा आंटी नहाकर अभी आई थीं और बेडरूम में कपड़े बदल रही थीं. मैंने सोचा अब तो मेरी बैंड बज गई, घबरा गया मैं… मुझे लगा कि ये भाई और भाभी को सब बता देगी.

तभी मैंने जोर से उनकी चूत पे चांटा मारा… सेजू डार्लिंग के मुँह से एक घर को हिला देने वाली चीख निकली, दर्द से कराहते हुए वो बोलीं- भैनचोद आ शु कर छो तू? तारी माँ ने चोदूँ… खोल मने…मैंने 8-10 थप्पड़ उनकी चूत पर मारे. उसने कमरे की लाइट जलाई और बोली- राहुल राहुल!मैं कुछ नहीं बोला, वो वापस कमरे में चली गई. मैं- मैं गुस्सा क्यों करूँगा? आपकी लाइफ है, जैसे आपको अच्छा लगे, वैसे एंजाय करो.

ट्रिपल एक्स सेक्सी ऑंटी

अपना लंड उसके हाथ में देते हुए कहा- क्यों साली साहिबा, क्या इसे लेने का इरादा पक्का कर लिया है. मुझे मालूम नहीं था कि ये लव था या आकर्षण था, लेकिन मैं उसको बहुत पसंद करता था. अब विनय सीधा होकर मेरे ऊपर लेट गया और मेरी चूत के ऊपर अपना लंड रगड़ने लगा.

उसने मेरे बाल पकड़ लिए और मेरे पूरे चेहरे को अपने मम्मों पे खींच लिया. मैं खड़ा हुआ और चेयर पर ही उसकी एक टांग को पकड़ कर लंड को चुत पर सैट किया.

विनय मेरी झूलती और थिरकती हुई चुचियों को मुँह में लेकर पीने लगा, जो मुझे और उत्तेजित कर रहा था.

आपको गुस्सा नहीं आएगा?मैं बोला- नहीं आएगा… क्या पता वो तुम्हें मुझसे अच्छी तरह से चोदे. मैंने आव देखा ना ताव, अपने मुँह से उसके एक चूचे को भर लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. उनके द्वारा एकदम से लंड पेल देने से मां की चीख निकल गई और वे एकदम से चिल्लाने लगीं- हाय मर गई… मेरी चूत फट गई आह… निकला लो प्लीज़ तुम्हारा बहुत मोटा लंड है.

मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे कोई जलती हुयी अंगीठी मेरे लिंग के पास पड़ी हो. एक रात की बात थी, मॉम गहरी नींद में सोई हुई थीं, मैंने धीरे धीरे उनकी मैक्सी को ऊपर करना चालू किया और धीरे धीरे मैक्सी को मॉम के मम्मों के ऊपर तक कर दिया. दोस्तो, मैं आकाश एक बार फिर आपके सामने अपनी एक और नई पोर्न कहानी लेकर हाजिर हूँ.

आंटी ने आँखें तो पहले ही मूंद रखी थी और तब भी उन्होंने ज्यादा शर्माते हुए कहा- कल मैं तुमसे इसी लिए तो एक घंटे का समय मांग रही थी.

बीएफ सेक्सी सरदार: जब उसका लंड कुछ देर तक खड़ा नहीं हुआ तो मैंने दोबारा से उसके लंड को मुँह से चूसना शुरू कर दिया. दो पल बाद मैं भी जन्नत की सैर कर रही थी कि उसने अपने उंगली गांड में से निकाल कर थोड़ा और नीचे करनी चालू कर दी और इससे पहले मैं कुछ कर पाती, उसकी उंगलियां चूत की तलाश में मेरे लंड से जा टकराईं.

अब मैंने उसको वापस मेरी तरफ घुमा लिया और उसके मुलायम होंठों पे एक किस कर लिया. हालांकि मेरा मन तो नहीं था, फिर भी मैंने स्मिता से कहा- चलें यहां से?उसने कहा- नहीं थोड़ी देर और रुकते हैं. मैंने उसकी ब्रा पेंटी उतारी और उसके सारे अंगों को कपड़ों छुटकारा दे दिया.

मुझे फिगर का अनुमान लगाने में देर न लगी क्योंकि हम लोग कॉलेज में अधिकतर लड़कियों को देख के फिगर का ही अनुमान लगाते फिरते थे.

काफी देर तक मेरे दोनों निप्पलों को चूसने के बाद विनय ने निप्पल चूसते हुए ही मेरी जींस के बटन को खोल दिया और निकलने लगा. चाची ने मुझसे बोला कि अगर थोड़ी देर और टीवी देख़ना है तो मेरे रूम ही देख लेना. न केवल मेरा शरीर बलिष्ठ है बल्कि मेरा लंड भी पूरे 8 इंच लंबाई का है और मोटा भी किसी लड़की की कलाई जितना है.