बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ

छवि स्रोत,मारवाड़ी सेक्सी वीडियो गांव का

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी चुदाई वाली सेक्सी: बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ, शिबू मेरे पीछे आया और मेरी काली ब्रा के ऊपर से मेरे बूब्स दबाने लगा.

ओल्ड सेक्स व्हिडिओ

मैं टहलते टहलते बाहर गया और अच्छा मौका देखकर मैंने वो पर्ची उठा ली. सेक्सी वीडियो देहाती सेक्सी वीडियोउसके बाद कई दफा जब भी मेरी नजर उससे मिलती तो हम दोनों एक दूसरे को देख कर मुस्करा देते थे.

उसे चाय पिलाई और उसके साथ बैठ कर सोफ़ा पर बात करने लगा। मैं उसे अपने बचपन की फोटो दिखाने लगा और उससे बातें करने लगा. निरहुआ रिक्शावाला भोजपुरी फिल्महां मैं दो साल से सेक्स लाइफ में खुश नहीं थी, लेकिन यह आईडिया तुम्हारे जीजा जी का था … क्योंकि वो मुझे इस हालत में नहीं देख सकते हैं.

उसकी चूचियां तेजी से हिल रही थीं क्योंकि उसकी सांसें बहुत तेजी से चल रही थीं.बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ: पापा के पास मां जाकर बोली- आशीष और लवली दोनों अब दिन में भी चुदाई करने लगे हैं.

लवली ने पीछे का दरवाजा खुला रखा हुआ था और मैं भी अपने बाप और अपनी रंडी बीवी की चुदाई के खेल को अपनी आंखों से लाइव देख रहा था.उसके कामुक जिस्म को देख कर मेरा लंड सेक्सी माँ बेटे का सेक्स आनन्द के लिए बार बार उछल रहा था.

ब्यूटी पार्लर कैमरा - बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ

फिर मैं अमन से छूटने की कोशिश करने लगी लेकिन उसने मुझे जकड़ रखा था.फिर अंजना मेरे लंड को लंड चूसने लगी और मेरा लंड की जोर-जोर से मुठ मारने लगी.

घर आने पर पिताजी ने मुझे कहा कि वे मेरे अध्यापक से मिले थे और मेरे लिए एक प्रस्ताव है. बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ अब मैंने दीदी की बाईं चूची का निप्पल मुंह में लेकर चूसना शुरू किया और दायीं निप्पल को अंगूठे और उंगलियों की सहायता से मसलने लगा.

मैंने आंटी से पूछा- आंटी आपके घर में और कौन कौन है?आंटी बोलीं- मैं अपने घर में अकेली ही रहती हूँ.

बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ?

लेकिन अब उनका विरोध शांत हो रहा था, वो बेमन से ही सही, बस मुझसे हटने के लिए कह रही थीं, मगर मैं लगा रहा. लग तो वो सेक्सी रही थी, पर मैंने सोचा कि आज तो इसकी पुंगी कोई और बजाएगा. एग्जाम देते वक़्त भी मेरे आंखों के सामने मेरी मौसी की चूत घूम रही थी.

उन्होंने बताया कि दो दिन बाद कुछ खास सगे सम्बंधियों को न्यौता दिया है, सो मुझे उन्हें खाना खिलाना है. अभी वो जा रहें है व रास्ते में गुरूजी की पत्नी व बालिका को बस अड्डे पर छोड़ देंगे. अभी मेरे लंड का सुपारा ही भाभी की चुत में अन्दर गया था कि वो चिल्लाने लगीं- आह दर्द हो रहा है थोड़ा धीरे करो … आह मर गई … बहुत मोटा सांप है.

उसको नीचे लिटा कर उसकी चूत पर अपने होंठों को रख दिया और उसकी चूत को जोर जोर से चूसने और चाटने लगे. यहां पर आपकी सेवा करने का मौका तो मिल रहा है कम से कम। इससे अच्छी बात और क्या हो सकती है?आंटी- बेटा अकेले क्यों? तुम्हारे घर वाले कहाँ हैं? और तुमने तो शादी भी की थी. प्रभा आंटी ललिता और स्मृति की मां कम बल्कि स्मृति की बड़ी बहन ही दिखती थीं.

आरज़ू की आवाजें तेज होने लगीं- आह्ह्ह अब्बू … चोदो अपनी रानी को … आह्ह्ह ओहहह ऊव्वीईइ … उवीईईइ अम्मी मसल डाला मेरे बाप ने नाजुक कली को … आह्ह अब्बू ऊह्ह्ह अब्बू. वहीं पुरुषों को छेद के अलावा और कुछ नहीं दिखता।तो अगली बार जब वो मेरे बगल में बैठी तो मैंने मौका देखकर उसका हाथ पकड़ और फिर देर तक पकड़े रहा।एक सेकण्ड के लिए वह थोड़ा कसमसाई फिर मुस्कराने लगी। इससे मेरी हिम्मत और बढ़ गयी।अब मैं अपनी कोहनी से उसकी चूची हल्के से दबा देता। वह भी इतने पास सरक आयी कि मुझे उसकी चूची छूने के लिए ज़रा भी कोशिश न करनी पड़े.

देखते ही देखते दोनों के बदन पर अंडरगार्मेंट्स के सिवाय कुछ नहीं बचा.

उनकी चुदाई से जो फच-फच की आवाज हो रही थी वो पूरे कमरे में गूंज रही थी.

कोई दस मिनट की चुदाई के बाद दीदी हांफते हुए झड़ गईं, लेकिन मैं अभी भी बहन की चुदाई कर रहा था. कुछ देर बाद साले साब किसी काम से चले गए और मैंने भाभी से बातों का सिलसिला जारी रखा. उन लड़कों ने अपनी रंडी आंटी की चुदाई करके कैसे मजा लिया?नमस्कार मित्रो, मैं हाजिर हूँ मेरी रंडी आंटी कहानी का अगला भाग लेकर। इस कहानी में मैं आपको बताऊँगी कि सात लोग मिलकर कैसे मेरे नंगे जिस्म का मज़ा उठाते हैं और मेरी चुदाई कैसे होती है। दो कमसिन लड़कों ने अपनी रंडी आंटी को कैसे चोदा.

मैंने भाभी से कहा- आप खाना खा लो … और आपकी तबियत कैसी है?भाभी ने कहा- मेरी तबियत ठीक है. काफी देर तक चुदवाने के बाद वो बोले- साले, अब तो छोड़ दे, कितनी मारेगा?मैंने कहा- पहले मुंह में लो. जब मुझे मालूम चला तो मैंने भी जानबूझ कर अपनी जलवे दिखाने शुरू कर दिये.

ये बात गर्मियों के दिनों की है, मेरे कॉलेज की छुट्टियां चल रही थीं, तो मैं बिल्कुल फ्री था.

उसने भी मौका देख कर मुझे नंगी कर दिया और वहीं सड़क पर लिटा कर मेरी चूत और गांड दोनों चोद डाली. बुआ ने मेरे लंड को हाथ से सहलाया और उसकी चमड़ी को पीछे करते हुए सुपारे को निकाला. मेरी हिन्दी रियल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने पड़ोसन आंटी की सहेली को ऐसे चोदा कि वो बोल पड़ी ‘यह है असली चुदाई चूत की.

उनको देख कर कोई नहीं बता सकता था कि उनके अंदर इतना सेक्स भरा हुआ है. बस अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ कर मुठ मार लिया करता था और जवान लड़कियों, भाभियों और आंटियों के चूतड़ और चूची देख देख कर लंड हिलाता रहता था. मैं अपनी दीदी को मजे से चोद रहा था और दीदी चुदते हुए कामुक आवाज़ निकाल रही थीं.

हम दोनों भले ही एक छत के नीचे हैं लेकिन हम लोगों के रिश्ते अब बदल गये हैं.

मेरी हॉट गर्ल की बुर चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे बस में मेरी मुलाक़ात एक अच्छे लड़के से हुई. मां चिल्लाने लगी क्योंकि उसकी गांड में पहले से ही चोद चोद उस दूसरे आदमी ने दर्द कर दिया था.

बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ दोस्तो, आपको भाभी की सेक्सी नंगी चूत की चुदाई की यह स्टोरी पसंद आई होगी. ललिता तो चुदासी हो ही रही थी, मैं भी कुंवारी चूत चोदने को उत्सुक था इसलिए मैंने ललिता को गोद में उठाया और उसके बेडरूम में ले आया.

बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ उसने मेरी गांड के दोनों ओर अपनी टांगें लपेट लीं और नीचे से अपनी गांड को उठा उठा कर मेरी ओर करने लगी. मैंने पूरी ताकत लगा कर लंड को पूरा ठोकना शुरू कर दिया और मेरा लंड उसके पेट तक घुसने लगा.

मैं, मेरी बीवी और पापा ने मिल कर एक प्लान बनाया जिसके मुताबिक मैंने मेरी चालू बीवी की चुदाई मेरी मां के सामने करनी थी.

लैंड वाली लड़की

मैं सोच ही रही थी कि वो बोल पड़ा- क्या हम यहां पर थोड़ी देर बैठ सकते हैं?उसने छत पर एक तरफ बने स्टोर रूम की ओर इशारा करते हुए कहा. मैंने पूछा- काम हो गया क्या?वो मुस्कराकर बोली- हां, कुछ कुछ बन रहा है. तभी जीजा जी ने उंगलियों के इशारे से मुझे सुपर कहते हुए उत्साहित किया.

भाभी जब मेरे सामने कूद कर चुद रही थी उस वक़्त ऐसा लग रहा था जैसे कि मैं दो घाटियों के बीच तैर रहा हूं. एक तो इतनी चिकनी सफेद, ऊपर से सॉफ्ट … दिल कर रहा था कि आइसक्रीम की तरह खा जाऊँ।डेढ़ बज चुका था, रूम साफ हो चुका था. उन्होंने भी मुस्कुरा कर अपना एक हाथ आगे बढ़ाकर मेरी एक चूची दबा दी।फिर उठकर टीचर ने कहा- अब आप निश्चिंत रहे। आपका काम हो जाएगा। दो दिन बाद प्रिंसिपल साहब आ रहे हैं। मैं उनसे कहकर आपके बेटे का दाखिला करवा दूँगा।वो कपड़े पहनने लगे और मैं भी कपड़े पहनकर वहां से चल दी।ये मेरी रंडी बनने की कहानी का पहला भाग था.

अपनी दोनों टांगों को चौड़ी करके मैं पिक्चर देखने लगी और वो लड़की मेरीचूत की पिक्चरदेखने लगा.

मेरा लण्ड अब बेकाबू होने लगा था इसलिए मैंने रेखा की पैन्टी में हाथ डालकर उसकी चूत सहलाना शुरू किया तो रेखा ने अपने चूतड़ उचकाकर पैन्टी नीचे खिसका दी और अपनी टांगें फैला कर चूत का मुखद्वार खोल दिया. अगर इतनी प्यास थी तो मुझे बोल दिया होता?वो बोली- कोई भी मां अपने बेटे के साथ सेक्स संबंध नहीं बना सकती है. बस में पहुंचने से पहले मैंने एक होटल में खाना खाया और फिर बस के ऑफिस में गया.

मैं अन्दर जाकर बाथरूम में देखने लगा और आंटी को इमेजिन करने लगा कि कैसे आंटी बैठी होंगी और कैसे उन्होंने चूत खोल कर यूरिन निकाली होगी. उसे चाय पिलाई और उसके साथ बैठ कर सोफ़ा पर बात करने लगा। मैं उसे अपने बचपन की फोटो दिखाने लगा और उससे बातें करने लगा. मैंने अपनी जीभ से उसकी पूरी चूत को चाटा … आह मजेदार सा नमकीन स्वाद आ गया.

ये मेरे लिए हरी झंडी थी कि दोस्त की मम्मी की चुदाई की सहमति मिल गयी है. उनके जाने के बाद प्रीति ने मुझसे माफी मांगी, लेकिन मैंने अब सोच लिया था कि अब किसी को अगर चोदूंगा, तो पहले उसके इरादे जान लूंगा.

मौसा और मौसी की चुदाई को देख कर मुझे पूर्ण विश्वास हो गया था कि अगर मेरी चूत का उद्घाटन कोई करेगा तो वो मेरे मौसा ही करेंगे. मैं दिल्ली आया हुआ था तो आंटी ने कूरियर ब्वॉय की मेरी ड्यूटी लगा दी है. उन्होंने बताया कि अरे तुम आजकल आनन्द में हो, कल मुझे भी वहीं आना है.

और देवर की उंगली के तो कहने ही क्या … मेरे चूतड़ की दरार के बीच जाती और गांड के अन्दर जाने का भरकस प्रयास करती.

मैं तो बस बैठने के लिए बैठा हुआ था और इंतजार कर रहा था कि कब मुझे कुछ करने का मौका मिले. फिर मैंने उसकी स्कर्ट में हाथ डाल दिया और पैंटी को एक तरफ करके उसकी चूत में उंगली करने लगा. मैं- दीदी सच में आपका सेक्सी फिगर देखकर मेरा लंड बेकाबू हो जाता है.

अंदर जाकर मैंने उनको बेड पर लेटाया और बोला- आप आराम करो, मैं चाय लेकर आता हूं. मैं बोला- लवली, तुम्हारी मां जाने के लिए बोल रही हैं और कह रही हैं कि लवली को कह दो कि मिल ले जाने से पहले.

शायद वो इससे पहले भी चुद चुकी थी इसलिए इतनी उतावली हो रही थी लंड लेने के लिए. अब वापस लौटने का कोई रास्ता नहीं था सिवाय दर्द को बर्दाश्त कर जाने के अलावा. ज्यादा दर्द हो रहा था क्या?जिया- मेरी जगह तुम होते तो तुम्हें पता चल जाता कि कितना दर्द हुआ और कितना नहीं.

दादा पोती की

फिर उन्होंने कहा- हां मुझे पता है इस उम्र में ऐसा होता है, पर फिर भी तुम्हें अपने आप पर कण्ट्रोल करना चाहिए … क्योंकि ये सब गलत है.

मोनिका ने पैंटी निकाल दी और मैंने उसे पोजीशन में लेकर उसकी चुत में अपना लंड अन्दर डाल दिया. लेकिन कसम से मस्त वो जबरदस्त फिल्मी माल है, चाहे जितना चोदो हमेशा तैयार चुदने के लिए!मैं उन दिनों को नहीं भूल पाऊंगा।वो अभी भी टच में है और इस साल तो उसकी मूवी भी आई थी।दोस्तो, और भी ऐसी कई लड़कियां मेरी जिन्दगी में आयी. क्या क्या हुआ बाप बेटे के बीच?आप सभी दोस्तों को मेरा दिल से नमस्कार। मेरा नाम राहुल शर्मा है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूं.

दीदी- तुम मेरे कौन हो?मैंने कहा- आपका भाई अपनी बहन की चुत चुदाई करना चाहता है. मौसा ने मेरी ब्रा को खोल दिया और मेरी अनछुई चूचियां पहली बार किसी अधेड़ उम्र के पुरूष के सामने तन कर खड़ी हो गयीं. सेक्सी वीडियो हॉट इंडियनमैंने मालूम किया तो पता चला कि वाशरूम डिनर हॉल से निकल कर दूसरी तरफ बने हुए थे.

मामा ने अपना जांघिया उतारा और हथेली में तेल लेकर अपने लण्ड पर मलने लगे. ट्रेन छोड़ने से पहले भाभी ने मुझसे मेरा नम्बर मांगा और जल्द ही चुदाई का मजा देने का वायदा किया.

कुछ पल का विराम देकर मैंने उसके मुंह पर हाथ रखे हुए उसकी चूत में उंगली को चलाना चालू रखा. हम दोनों भले ही एक छत के नीचे हैं लेकिन हम लोगों के रिश्ते अब बदल गये हैं. उस रोशनी में वही कत्थई रंग की साड़ी पहने हुए आंटी मदमस्त लग रही थीं.

वो फिर से मेरी जांघ पर सर रखकर सो गईं, लेकिन मेरे लंड महराज पुनः फनफनाने लगे. हिंदी इन्सेस्ट सेक्स स्टोरीज में पढ़ें कि कैसे मेरे फुफेरे भाई ने मेरी माँ को चोदा. मैंने उसका सारा पानी पी लिया।दीदी ने मदहोश होकर कहा- अनुज, आज यहां सिर्फ मैं और तुम हैं.

कुछ देर बाद मैंने एक ही झटके में पूरा लंड अपनी बेटी की गांड में पेल दिया.

मुझे एक बार ट्राई करके देखना चाहिए कि सेक्स में ऐसा क्या मजा आता है. मैं जिसके साथ बैठी थी वो तुरंत उठ कर उसके पास चला गया और कुछ देर तक उन दोनों में कुछ बातें हुईं और फिर वो पहले वाला लड़का आया और कुछ सामान निकाल कर उसको दे दिया.

आप इनको काटते क्यों नहीं हो?वो मेरी बात पर हंसने लगे और खुद ही मेरे से चिपक गये. मैंने शादीशुदा चचेरी बहन को चोदा उनके घर में! कैसे?नमस्कार दोस्तो, मैं अनुज एक बार फिर से अपनी बड़ी दीदी की चुदाई कहानी आपके लिए लाया हूं. मुझे अमिता एक पल के लिए दिखी, मेरी चालू बीवी बिस्तर पर नंगी दोनों टांगें फैला कर पड़ी थी.

बुआ ने भी मुझे आगे खींच लिया और खुद कुर्सी से उठ कर मुझे बिठा कर मेरी गोद में बैठ गईं. तब उसने बातों ही बातों में कहा कि मैं आपको एक ऐसा गिफ्ट दूंगी, जो मैं भी कभी दुबारा आपको नहीं दे पाऊंगी।मैं समझ गया कि ये किसी ख़ास तोहफा देने की बात कर रही है. लेकिन थोड़ा वीर्य मेरी स्कर्ट पर भी लग गया था जिसे मैंने साफ किया।अब मैंने नीरव की तरफ देखा। उसकी आंखों में भी कामवासना के डोरे लहरा रहे थे.

बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ मौसी भी मेरी पीठ पर अपने नाखूनों को चुभा रही थी जिससे पता चल रहा था कि मौसी को मेरा लंड लेने में कितना मजा आ रहा था. ललिता की चूत की झिल्ली फाड़कर मेरा लण्ड उसकी चूत की गहराई तक उतर गया था.

लड़कियों की नमाज का तरीका

हम एक दूसरे के हाथ में हाथ थाम कर बैठे बैठे कुछ बातों के बाद मैंने उसके माथे किस से शुरूआत की … फिर होंठों पर उसे चूमा. फिर आधे घंटे के बाद मुझे ध्यान आया कि मैंने उनको चार्जर तो दिया ही नहीं. निगार आंटी लाल लहंगे में क्या मस्त माल लग रही थीं … किसी परी की तरह दिख रही थीं.

इस बीच मैं उसे किस करता रहा और और उसके थनों को निचोड़ता और चूसता रहा. उसने अपने अंडरवियर को भी उतार दिया और वो नंगा होकर फिर से मुझ पर टूट पड़ा. bhagyalaxmi चार्टजिस समय की ये घटना है उस वक्त मेरे चाचा का लड़का अपने ननिहाल में रह कर पढ़ाई कर रहा था.

मैंने उनके दोनों हाथों को ऊपर कर दिया और चूतड़ों के नीचे तकिया रख कर भाभी की दोनों टांगों को फैलाकर अपने लंड को भाभी की चूत पर सैट कर दिया.

मेरी चालू बीवी धीरे धीरे अपने कपड़े उतारने लगी और पूरी तरह नंगी होकर बिस्तर पर लेट गई. ये सोचकर कि इतनी खूबसूरत औरत मेरे इतने करीब है और मैं चूतियों सा लेटा हुआ हूँ.

दोस्तो, वॉशरूम में अपनीसेक्सी गर्लफ्रेंडके साथ ये खेल खेलते हुए जो मजा आ रहा था वो केवल आपको प्रैक्टिकल करके ही अनुभव हो सकता है. खिड़की से बाहर झांककर देखा मैंने कि कोई है तो नहीं … और बेख़ौफ़ होकर अपना लौड़ा निकाल कर आंटी के सामने ही हिलाने लगा. मैं उसको उठा कर बाथरूम में ले गया, उसे ब्रश कराया, चाय बना कर दी और दर्द निवारक दवा दी.

शनिवार की रात को मैंने पूजा से कहा- अब इस राज से पूरा पर्दा उठाने का टाइम आ गया है.

मैं- हां दीदी?दीदी- सुनो राज … मुझे आने में देर लगेगी, इसलिए तुम खाने के लिए बाहर से कुछ ऑर्डर कर लेना. इस दौरान मुझे जब भी मौका मिला, मैंने करिश्मा के तने हुए चूचों को बड़ी कामुकता से देख कर अपनी आंखों से नई भाभी की चुदाई की. फिर उसने मुझे बेड पर पटक लिया और मेरी टाइट पाजमी के ऊपर से ही मेरी जांघों के बीच में चूत पर किस करने लगा.

वर्टिगो का देसी इलाजकुछ ही मिनट बाद कोमल दीदी ने मामला समझ लिया और उन सब छात्रों की छुट्टी कर दी. लेकिन जैसा मैं बोलूं, तुम वैसा करोगी … तो तुम्हारे बॉयफ्रेंड बनने में कोई दिक्कत नहीं आएगी.

देसी राइफल

मैं आंटी को कुतिया बना कर उनके मम्मों को दबाते हुए उनकी गांड मारने में लगा हुआ था. मेरे पास कंडोम था लेकिन मैं उसे बिना कंडोम के चोदना चाह रहा था।करीब तीन बज रहे होंगे. मेरी मदमस्त सेक्स कहानी आपको कैसी लग रही है, प्लीज़ कमेंट्स करना न भूलना.

आंटी साइन करने के लिए थोड़ी झुकीं, तो उनकी साड़ी का पल्लू नीचे गिर गया. मैं जैसे ही खड़ा हुआ, पिंकी ने मेरा लंड देखकर बोला- यह आपको क्या हो गया साहब?मैंने कामुक स्वर में कहा- एक जवान लड़के को अपने बड़े बड़े बूब्स दिखाओगे, नंगी चिकनी चुत दिखाओगी, तो यही हाल तो होगा. वो हल्का सा नीचे हुआ और उसने मेरी चूत के मुंह पर अपना लन्ड सेट किया और लंड के पहले ही धक्के में उसने मेरी चीख निकाल दी.

जो तुम विजेता रही तो तुम जो कहोगी हम दोनों करेगे और मैं जीता तो आज हम दोनों में से कोई एक आज रात को तुम्हारी गांड चोदेगा. आग की तरह तपते रेखा के होंठों ने मेरे जिस्म में आग भर दी और मेरा लण्ड पैन्ट से बाहर आने के लिए फुफकारने लगा. जिसमें कि एक चार बच्चों की मां चूत मरवा रही थी या एक कर्नल की बीवी नौकर से मरवा रही थी.

आप एक काम करो, सबसे पहले आप हमारी ननद को चोद कर फ्री करो, जिससे हम दोनों अपने घर जा सकें क्योंकि घर से निकले हुए हम दोनों को बहुत देर हो गई है. वो बोली- तो मेरे यहां से ले गये होते?मैंने बोला- हां भाभी, बस यही तो गलती कर दी.

ये सब देख कर अब मां को और ज्यादा शक होने लगा कि हम दोनों के बीच में कुछ न कुछ गड़बड़ जरूर है.

पर आज भी जब उसका कानपुर आना होता है तब हम मिलते हैं और चुदाई भी करते हैं।तो दोस्तो, यह थी मेरी सच्ची इंडियन हिंदी सेक्स स्टोरी।आपको कैसी लगी, ज़रूर बताइयेगा।[emailprotected]. मद्रासी सेक्सी वीडियो ओपनएक बार जब वो झुकीं, तो मैंने सबकी निगाह बचाते हुए उनके कान में कह दिया- मैं अपने दोस्त की सास की चुदाई करने आया हूँ. डॉग और गर्ल की सेक्सइसके बाद मैंने होटल के काउन्टर पर फोन करके एक ब्लैक लेबल की बोतल मंगाई और सिगरेट की डिब्बी मंगा ली. अब मैंने सीमा के बूब्स को दोनों हाथों में भर लिया और उसकी चूत को चोदने लगा.

मेरे लण्ड से फव्वारा छूटा तो मैंने चुदाई रोकी नहीं बल्कि डिस्चार्ज की आखिरी बूंद तक पिस्टन चलता रहा.

ऐसा लग रहा था कि उसकी चूत चोदने से भी ज्यादा मजा तो वो मेरे लंड से चुदने का ले रही थी. कुछ कुछ उड़ती हुई बातें भी मुझे उनके कमरे में झाँकने के लिए मजबूर कर रही थीं. मैं बोला- लवली, तुम्हारी मां जाने के लिए बोल रही हैं और कह रही हैं कि लवली को कह दो कि मिल ले जाने से पहले.

तब से मेरी माँ बहुत अकेली रहने लगी।अब मैं आपको अपनी माँ के बारे में बताता हूँ. मगर ज्यादा देर तक इस तरह गेट खोल कर मैं लंड को नहीं हिला सकता था क्योंकि मेरी सीट नीचे वाली थी. मां बोली- तो तुमने उसको अब क्यों नहीं बताया कि पूजा तुम्हारी बहन है बीवी नहीं?मैं बोला- मुझे ध्यान नहीं रहा.

बिग पोर्न

मैंने कहा- तो मुझे भी खेलने दे नौटंकीबाज! बता जल्दी क्यों बहाने कर रही है अब? वरना मैं तुझे चोद दूंगा अभी. और तीसरी आवाज माँ के पैरों में पड़ी पायलों के बजने से आ रही थी।हम दोनों अपनी अपनी पूरी ताकत लगा रहे थे. मनोहर को मैं भी पसंद करती थी इसलिए जब उसके होंठ मेरी चूचियों को चूस रहे थे तो मुझे भी उस पर बेपनाह प्यार आ रहा था.

मुझसे बोला- यहीं पर रुको तुम, मैं उसको भेजता हूं।कुछ देर बाद वो दूसरे वाले लड़के को लेकर आया और उसको अंदर करके उसने बाहर से दरवाज़े को ताला मार दिया और वो चला गया। अब उस बन्द कमरे में हम दोनों अकेले थे और उसने दूसरे वाले लड़के ने मुझसे पहले बातें की.

पर कुछ दिनों बाद कोमल दीदी ने ट्यूशन पढ़ाते हुए बताया कि उनकी मम्मी किसी रिश्तेदार के घर शादी में जाने वाली हैं और कुछ दिनों तक वहीं रहेंगी.

वो पीछे हटी और उसने कहा- खाने में कुछ था क्या?मैंने कहा- आज मेरी तुम्हारी इस घर में फर्स्ट नाईट हो … बस मैं यही चाहता हूँ. दरअसल पहली बार जब उसको देखा तो उसके स्तन देख कर ही उससे प्यार हो गया था. महिला संगीत का संचालनजब तक मैं कुछ समझ पाता और उसके आगे कुछ रिएक्ट कर पाता, तब तक मेरा लंड, मंजू के मुँह में था और वो लगातार कोशिश कर रही थी कि वो मेरा पूरा लंड निगल जाए और लंड को डीप थ्रोट का मजा दे.

मेरी पोज़िशन ऐसी हो गयी थी, जैसे कोई गर्ल चुदने से पहले घोड़ी बनती है. लेकिन वो थी कि मुझे छोड़ने को तैयार ही नहीं थी।मैंने बड़ी मुश्किल से उसको छुड़ाया।उसका भाई छोटा था. मैंने अपना मुँह उनकी चुत पर और हाथ उनके दूध से भरे मम्मों पर रख दिया.

मुझे तकलीफ में देख कर अमन थोड़ी देर वैसे ही मेरे ऊपर पड़ा रहा और मुझे किस करने लगा. पापा बोले- पहले चुदाई का मजा तो ले लो हमारे साथ में! बाजार में बाद में चले जाना.

मुझे दसियों बार रिजेक्ट किया गया है लेकिन तुमसे चुदवाते ही मेरी शादी तय हो गई.

फिर जब मैं ये बता रहा था कि मैम ने मुझे सेक्सी का खिताब दिया तो उसने मुझे पूछा- मैं सेक्सी हूँ?मैंने जानबूझकर मुँह बनाते हुए कहा- देखना पड़ेगा. सब को बिठाने के बाद मैं सामान वगैरह सेट करवा कर मैं खुद भी पीछे की ओर चला गया. बाजुओं से फिसलते हुए और उन्हें पकड़ कर उसके हाथों को मैंने ऊपर उठा दिया.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो में मैंने उसकी तरफ से खुद को नजरअंदाज करते हुए अपनी गर्ल फ्रेंड की चुदाई करना शुरू कर दी. लेखक की पिछली कहानी:पत्नी की सहेली की चुदाईअपने बेटे की शादी के बाद दिये शानदार रिसेप्शन के अगले दिन मैं मेहमानों द्वारा दिये गए शगुन के लिफाफे खोल रहा था.

मैं- कितना लकी है वो और आप भी कि आपको इतनी अच्छी ऐन्ड्रा भाभी मिलीं हैं. मगर जब प्रीति उठी, तो उसने जैसे तैसे लड़खड़ाते हुए उठ कर अपने नंगे जिस्म पर चादर लपेटी. उसके हिम्मत देने के बाद मार्च के महीने में एग्जाम के टाइम मैंने अपने पति के खिलाफ घरेलू हिंसा का केस दर्ज करवा दिया जिसके बदले में मेरे पति मनीष ने मुझे घर से निकाल दिया.

सेक्सी गंदी वीडियो

मां की झांटों का मेरे बदन से रगड़ खाना मेरे पूरे जिस्म में एक गुदगुदी पैदा कर रहा था. सबके साथ साथ मुझे भी समझ आ गया कि वो अपने लंड को अन्दर खाली कर रहा था. पांच मिनट बाद मैंने उससे कहा- आप अगर ऊपर वाली सीट ले लें तो कोई प्रॉब्लम होगी क्या?वो बोला- लेकिन आपको ऊपर वाली सीट में क्या प्रॉब्लम है?मैं बोली- ये साथ वाली सीट पर मेरे पति और मेरा बेटा है.

दीदी- आहह ओहह भाई … ओहह यस याह उहह उम्म कितना मजा आ रहा है … आह चोदो अपनी बहन की चुत फाड़ दो … आह!हम दोनों धकापेल चुदाई में लगे ही थे कि किसी ने बाहर से दरवाज़ा नॉक किया. मैंने अपने हाथ को उसके लंड पर हल्के से रख दिया और उसका लंड अब मेरी हथेली के नीचे आ गया.

उसके बाद जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने उसके मुंह से लंड निकाल लिया और उसको नीचे पटक लिया.

वो बोलीं- तुम इतने गेम्स खेलते हो … ऐसा हो ही नहीं सकता कि अब तक कोई चिड़िया फंसी ही न हो. कभी कभी ऐसे बोलता- और क्या हाल है छोकरिया? कैसी है मेरी बिटिया? क्या चल रहा है लाडो?मैं उसकी बातों को इग्नोर कर देता था. फिर मैं अपने ससुराल गया तो मैंने अपनी सास की चुदाई अपनी आंखों के सामने होते हुए देखी.

थोड़ी देर बाद भाभी ने मेरा हाथ अपने ब्लाउज से निकाल कर हटा दिया और धीरे से बोलीं- ये क्या कर रहे हो तुम?उनकी इस अचानक हुई प्रतिक्रिया से मैं तो एकदम से डर गया और उनसे अलग हो गया. अभी मैंने उसकी तरफ देखा ही था कि तभी उसके हाथ से एक कपड़ा नीचे गिर गया. वहां जाने के बाद एक दिन मां ने मुझसे कहा कि इस लड़की के लिए कोई लड़का देख लो.

हम जीजा-साले इधर-उधर की बातें करने लगे, तभी दीदी ने खाना खाने के लिए आवाज दे दी.

बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ: वो फिर भी मना करने लगीं, पर मैं नहीं माना और अपना लंड मामी के मुँह में दे दिया. मैंने उसको फिर से मेरा लंड पीने के लिए बोला तो उसने एक बार फिर से मेरे लंड को मुंह में भर लिया और चूसने लगी.

अब मैंने दीदी की बाईं चूची का निप्पल मुंह में लेकर चूसना शुरू किया और दायीं निप्पल को अंगूठे और उंगलियों की सहायता से मसलने लगा. उसे मेरा साथ पसंद आया और उसके साथ ही हमारी दोस्ती शुरु हो गई।उस दिन के बाद से रोज हमारी रात भर बात होती और दिन में रोज़ घूमने जाते थे. कम्बल के अंदर मौसी ने मेरे लंड को मुंह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी.

ये सब राज ही रहेगा और किसी के साथ करूंगी, तो रिस्क हमेशा बना रहेगा.

मैंने कहा- मामी, अभी मेरा कमीनापन आपने देखा कहां है … वो तो अब देखोगी. अब मामी जी को भी चुदाई में मज़ा आ रहा था और वो भी अपनी गांड उछाल उछाल कर बहुत मजे से चुदवा रही थीं. शिबू- अब बन गई मेरी शोनू रंडी … तुझे मैं ऐसे ही चुदता हुआ देखना चाहता था … तुझे मैं बाजारू रंडी बना दूंगा.