देसी भाई बहन के बीएफ

छवि स्रोत,मनोरंजन वीडियो कॉमेडी

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी भौजी की चुदाई: देसी भाई बहन के बीएफ, वो मेरे इस कदम से एकदम से शॉक्ड हो गई और कहने लगी- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- यार मेरे होते हुए तुझे सीढ़ियां चढ़ने की क्या ज़रूरत है, मैं हूँ ना तुम्हारे लिए.

महाराजा लॉटरी रिजल्ट

साथ ही उनकी नाइट कंधे से उतार कर नीचे कर दी और उनकी चुचियों को दबाने लगा. एनिमल सेक्स एनिमल सेक्सकुछ दिनों में हम दोनों की आँखों ने एक दूसरे की चाहत को समझ लिया था.

पहले तो थोड़ी दिक्कत हुई, पर धीरे धीरे जीवन की गाड़ी पटरी पर आ गयी. हिंदी में बीपी सेक्सीकह के भाभी के एक मम्मे पर अपना मुंह लगाकर चूसने लगा और दूसरे मम्मे को अपने हाथ से दबाने लगा।भाभी बोली- मैं भी चार दिन से चुदी नहीं हूं, अब फटाफट चोद दो बस।भाभी भी मस्ती में आकर बोल रही थी- ऊऊउह्ह हाआआ … और जोर से चूसो रमेश … बहुत अच्छा लग रहा है.

अगर आपको कोई दिक्कत न हो, तो मैं 5 मिनट में वाशरूम में जाकर वहां से आपको कॉल करूँ?कल्पना- ठीक है, आप मुझे कॉल करो.देसी भाई बहन के बीएफ: भाभी की तबीयत ठीक ना होने के कारण मैंने ही दूध गर्म किया और भाभी और मैं साथ में दूध पीकर सो गए.

डॉली को मैंने अपने आगे बैठाया और उसके मम्मों को मैं पानी और बॉडीवाश से साफ करने लगा.मैंने अपने लंड को हाथ से पकड़ कर हिलाया और अपने अंडरवियर को उतार दिया.

ન્યુ વિડિયો - देसी भाई बहन के बीएफ

जब मैं 22 साल का था तब मेरी भाभी ने मुझे मुट्ठ मारते हुए देख कर रंगे हाथ पकड़ लिया था.वो मेरे लंड को सहलाने लगी और मेरी गोटियों को अपनी ज़ुबान की नोक से बिल्कुल नीचे से ऊपर तक मेरे लंड के सुराख तक चाटती हुई ऊपर आई.

आप सब मेरी कहानी के बारे में मुझे जरूर बताना कि आपको मेरी कहानी कैसी लगी. देसी भाई बहन के बीएफ मुझे बहुत मजा आ रहा था, मेरा लंड मीशा की चूत में कसा कसा जा रहा था.

मैंने तेजी के साथ उसके मुंह को चोदना शुरू किया और कुछ ही धक्कों के बाद मैं उसके मुंह में ही झड़ने लगा.

देसी भाई बहन के बीएफ?

कभी जब बहुत मन करता है तो रात भर नींद नहीं आती और मैं चूत में उंगली से कर लेती हूँ. मेरे अन्दर एक बेचैनी थी कि मैं एक लड़के के साथ अपने घर में अकेली हूँ. दोनों ने एक एक घूंट भरा, फिर राजिंदर बोला- अब अपने ग्लास में अपने मर्द का फिल्टर प्रसाद ले ले.

बस एक आधा मिनट की पुल्ल पुल्ल वाली चुदाई करके प्रीतम लुढ़क गए और सोने के लिए लेट गए. अब हम दोनों पूरी तरह से नंगे हो चुके थे। उसने मेरे दोनों चूचों को दोनों हाथों से पकड़ा, फिर उन्हें गौर से देखते हुए बोले कि भाभी आपके चूचे कितने गोल और बड़े हैं. अब मेरे भी मन में अजीब तरह की खुशी होने लगी, सोचा चलो अब उंगली से काम नहीं चलाना पड़ेगा.

मैंने कहा- मुझसे अभी भी गुस्से में हो यार?वह बोला- नहीं गुस्सा नहीं हूं. एकता की चुत का पानी मेरे पूरे लंड और गोटियों और मेरी गांड को तर-बतर कर रहा था … जिसे प्रमिला बड़े मजे से चाट रही थी. ”बस ऐसे ही बातें शुरू हुई तो मूवी की तरफ ध्यान कम हो गया और बातें होने लगी। उसने बताया कि वो दिल्ली यूनिवर्सिटी में बी.

होश संभाला, तब ही से पेट भरने की जुगत में लगे रहे और इसी कशमकश में कब 29 साल के हुए हमें पता ही नहीं चला. अब वाणी बोली- मैं तो तैयार हूँ, तू तैयार है क्या?गीता भी बोली- हां, मैं भी तैयार हूँ.

मैं उसके पूरे बदन को चूमा और जल्दी ही उसकी दोनों टांगों के बीच में आ गया.

जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने एक और ज़ोरदार धक्का मारा जिससे कि मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत में घुस गया। वो दर्द के मारे कराह रही थी। फिर मैं कुछ देर तक रुका रहा, जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैं अपना लण्ड अंदर-बाहर करने लगा.

तो दोनों एक दूसरे को देख कर हंसने लगीं और बोलीं- नहीं ऐसी कोई बात नहीं है. ” सर ने अपनी मजबूरी जता दी।जी ठीक है …” मैं कहकर बाहर निकली और ऑफिस के सामने पहुँच गयी. मैं अब जहां खड़ी हुई थी, वहां पर भी मेरी टांगों के नीचे से 5-6 बूंद मेरी चूत का रस गिर गया.

मैं थोड़ा रुका और फिर एक ज़ोर का धक्का लगाया, जिससे मेरा लंड भाभी की चुत फाड़ता हुआ सीधा अन्दर घुस गया. कुछ देर बाद वो बोली- मैं चुदना चाहती हूँ … प्लीज़ तुम जल्दी से मेरे अन्दर आ जाओ. रास्ते में हल्की फुल्की बातें भी हुईं हमारी और प्रीति के बारे में उसने बताया कि अभी एक हफ्ते के लिए वो आने वाली है.

इसके बाद सुबह करीब 4 बजे मेरे शरीर में हलचल होने के कारण मेरे आंख खुली तो देखा तो कि मेरे दोनों हाथ फिर से बंधे हैं.

मैंने भाभी के ब्लाउज के ऊपर से भाभी की बाईं चूची को थोड़ा सा दबाया और उसको सहलाना शुरू कर दिया. मैंने सुनील जी को जवाब दिया कि मैं इस शहर (यहां नाम नहीं बता सकती) की रहने वाली हूं और मुझे आपका लंड बहुत ही ज्यादा पसंद आया है. सुजाता अजय को बोलने लगी- रमेश जी को तुमने क्या बोला है मेरे बारे में?अजय बोलने लगा- दोस्ती की बात दोस्तों ही को तो बोलते हैं यार.

वैसे रात में जब मेरे पति आए, तो मैंने उनको बोल दिया कि भैया का कॉल आया था, वो जग को यहां भेजने की बात कर रहे थे. उसने थोड़े ही टाइम में मेरी चूत में ही अपना माल छोड़ दिया और खुद मेरे ऊपर ढेर हो गया. डाल दे तू तेरा पूरा लंड … आज फाड़ दे मेरी गांड को … ये गांड तेरी है … अब आआआ ऊमः उम्हउसने बीस मिनट तक मेरी गांड मारी.

पर जो कशिश जो मजा आशीष के चुत चाटने पर मदहोशी मुझे छाई, उसे मैं शब्दों में बता नहीं सकती.

उसने भी मेरा साथ दिया और वो अपना हाथ मेरे हाथ के ऊपर रखके जोर जोर से अपने दूध दबवाने लगी. एक दिन मेरी बीवी ने मुझसे कहा कि बिग बॉस की रिश्तेदारी में शादी है और वह मुझे भी चलने को कह रहे हैं.

देसी भाई बहन के बीएफ मैंने तभी अपना लंड बाहर निकाल लिया, तो वो बोली- क्या कर रहे हो?मैंने उसे सीधा लेटने को बोला. भैया बोले- क्या नहीं … दो साल से इस दिन की मैं राह देख रहा हूँ और तुम कहती हो नहीं.

देसी भाई बहन के बीएफ अब आगे:माँ के रिश्ते के बारे में सब कुछ पता चलने के बाद मैं पूरी तरह से उत्तेजित हो गया था और कहा कि मैं भी हर रोज घर आने से पहले यहाँ मुठ मारने आता था।मम्मी ने मुझे देखा और कहा- मुझे पता था कि तुम हमारे रिश्ते को जल्द से जल्द समझ जाओगे और हम लोग इसके लिए तैयार थे।यह सुनकर मैंने खुद को समझाया कि करण के साथ चुदाई के बाद माँ एक असली चुदक्कड़ हो गई है. मैं गया तो आंटी ने घर के लोगों से मिलवाया और सब को ये भी बता दिया कि मैं उनकी दूध की डेरी को देखने के लिए आया हूँ.

इसका फायदा उठाते हुए निहाल ने अपना हाथ आगे तरफ मेरी नंगी पेट में नाभि में रख दिया.

के वीडियो

”अरे कुछ नहीं होगा मेरी जान!”मैंने थोड़ी जबरदस्ती की, थोड़ा सा थूक उसकी गांड पे लगाया और लंड को हल्के से उसकी गांड के छेद पे रख कर घुसा दिया. अब वह मेरे लंड को सुपारे से ले कर टट्टों तक उछल-उछल कर चुदवा रही थी. आधे घंटे बाद उन दोनों में किस चालू हुआ और वे 10 मिनट तक किस करते रहे.

जब मेरा मुरझाया लंड उसकी चूत से बाहर निकल आया, तो मैंने उसकी बगल में लेट कर सिगरेट जला ली. दोस्तो, सोना की कहानी सुनकर मुझमें बदलाव आए और अब मैं उन महिलाओं की मदद करना चाहता हूँ, जो एड्स की शिकार हैं. बुआ ने मुझे भी अपने घर चलने को कहा, पहले तो मैं दिखावा करने लगा लेकिन जब रिंकी ने मेरा हाथ पकड़ा तो मैंने भी हाँ कह दिया.

कुत्ता भी उस पर चढ़ गया और अपनी कमर हिला हिला लिंग को उसकी योनि में प्रवेश कराने का प्रयास करने लगा.

लेकिन जैसे जैसे मैं बढ़ती गई, वैसे ही मेरे जीवन में हर बार एक अलग आदमी आता गया. मैंने उत्तेजना में वहां बीती मेरी बहन की सहेली रंजना दीदी के सीने पर हाथ रख कर उनके दूध दबा दिए. उसने थोड़े गुस्से में कहा कि मैंने अन्दर करने को मना किया था न?इस पर मैंने कोई जवाब नहीं दिया और मुस्कुरा दिया.

इधर उसने भी मुझे फोन पर यही बताया कि वो भी डर रही थी कि मम्मी ने मुझे क्यों बुलाया है।मैंने सोचा कि कोई बात नहीं, अब पकड़े गए तो जाना तो पड़ेगा ही. वो एक सीत्कार के साथ मेरे सर को और जोर से दबाने लगी और बोली- हां ऐसे ही जोर से चूसो और काटो … अच्छा लग रहा है. अपनी कुंवारी बीवी ज़रीना को इसी तरफ़ देखता देख, मैंने अपनी सारा की बुर में उंगली करना शुरू कर दिया और सारा जो अब काफ़ी हद तक गरम हो चुकी थी, वह चुदवाने को बेक़रार थी.

शंकर जी- क्या कौशल्या … कुछ भी बोलती हो, ठीक है सर मैं शाम को आपके घर आता हूँ. मैं उनके पीछे जाकर खड़ा हो गया और उनकी कमर में हाथ डालकर खड़ा हो गया.

मुश्किल से 5 मिनट भी नहीं हुए होंगे … क्लास में पीऊन आकर बोला- उस लड़की को प्रिन्सिपल मैडम बुला रही हैं जिसको अभी शीट मिली थी. उसके बाद मैंने अपनी चुदाई तेज कर दी और जोर जोर से उसकी चूत को चोदने लगा. वो बोली- तुम बताओ मैं क्या करूं, हस्बैंड घर में भी पुलिसिया रौब में रहते हैं.

लेकिन उनका कमरा सेक्टर में नहीं बल्कि सेक्टर के साथ लगते एक गांव में था.

मैंने उस सेठ के लौंडे की तरफ देखा तो उसी ने उनको मेरे बारे में बताना शुरू कर दिया कि यही वह लड़की है, जो उस दिन स्टोर पर मिली थी और मैंने आपको इसी की फोटो दिखाई थी. उन लोगों ने मुझे अपनी गाड़ी से उसी शादी के पंडाल के पास पहुंचा दिया. उन्हें मैंने बहुत प्यार से समझाया और गले लगा कर कहा- मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ भाभी … मैं आपको रोते हुए नहीं देख सकता.

वह सब पी जाये और फिर मेरे बाल पकड़ कर, मुझे गालियां देते, पूरी बेरहमी से अपना मूसल जैसा लिंग मेरी कसी हुई योनि में उतार कर फाड़ दे मेरी योनि को। मैं चीखती चिल्लाती रहूं और वह पूरी बेरहमी से धक्के लगाते मेरी योनि का कचूमर बना दे। एकदम सख्त क्रूर मर्द बन कर मुझे एक दो टके की रंडी बना के रख दे। धीरे-धीरे सुलगती आकांक्षायें यूं ही और आक्रामक होती गयीं।सुलगना क्या होता है यह कोई मुझसे पूछे. तब तक प्रशांत की बाइक आंगन में रुकी और भाग कर वह अपने फ्लैट में गया.

लंड सलहज की बच्चेदानी पर बार बार टकराता और वो सिसकारी लेती, इससे मेरा जोश और बढ़ जाता. उसकी भरी हुई जाँघें … वाह … जैसे ही उसको चाटा और चूमा, सलोनी ने जोर से सिसकारी भरी- आआआ … ह्ह्ह ह्ह्ह्ह … उफ्फ … बस राहुल बस, उफ्फ …सलोनी पागलों की तरह अपनी कमर को उचका रही थी. रमीज मुझसे बोला- वन्द्या, मैं लौड़ा घुसा दूं तेरी गांड में?मैं बोली- हां रमीज डाल दो.

सेक्सी चायना

मैंने भाभी से पूछा- यह सब क्या है?भाभी ने मेरे मुंह पर हाथ रखा और कहा- आज हमने मंदिर में शादी की है और अब सुहागरात है.

दो लंड से मेरी चूत और गांड की चुदाई चल रही थी बाकी दो लंड में से, एक मेरे मुँह में घुसा था और एक मेरे मम्मों के बीच में रगड़ खाए जा रहा था. उसने फिर किस करना स्टार्ट कर दिया मैंने अपनी शर्ट उतार दी, वह मेरी निप्पल्स दबाने लगा, मुझे बहुत मजा आ रहा था और साथ ही थोड़ा थोड़ा दर्द भी हो रहा था. संध्या तो सातवें आसमान पर पहुंच गई थी क्योंकि उसकी बहुत दिनों की इच्छा पूरी हो रही थी, एक साथ 2 लोगों के साथ चुदने की.

फिर वह बोल भी दिया- यह तुम्हारी पेंटी है ना?मैं डर के मारे घबराहट में थी, पर हां में सर हिलाया, तो जो उनके बगल से बैठा था, वह बोला- यार कहीं कुछ बताना नहीं इसके बारे में … नहीं तो लड़की बदनाम हो जाएगी. उसके बाद मैंने कहा- ठीक है, जैसे तुम पहले हाथ से कर रही थी वैसे ही कर दो. सेक्सी वीडियो मास्टरउधर से सारा की आवाज़ आयी- हिम्मत ना करना उसके अन्दर निकालने की, अपना लंड निकालो और मेरी चूत में डाल दो और मुझे चोदो और बस चोदते जाओ और अपना सारा पानी मेरी चूत में डाल दो.

उन दोनों ने भी कपड़े उतारे और कहने लगीं- अगर सरप्राइज़ चाहिये तो एक बार आंखें बन्द करो … और जब हम बोलें तभी खोलना. कौशल्या कौशल्या आई लव यू मेरी रानी, तुम कमाल की हो … काश मेरे जीवन में तुम पहले आती, तुम्हें जिंदगी की हर ख़ुशी देता … ओह आह्ह मेरी जानू उम्ह्ह्ह उम्ह्ह्ह …”आई लव यू टू मेरे स्वामी … मेरे राजा आह्ह ह्ह्ह मास्टर ओ मास्टर आमार दुस्टो रोजा एक्टू धीरे धीरे ओरे बाबा मोरे जेबो आह्ह उम्ह्ह …”की होलो कौशल्या आमार मिष्टी दोही, भालो लगछे हम्म …”मैंने चुदाई जारी रखी.

उसे पता नहीं था कि लंड जब पहली बार चूत जाता है तो चूत में बहुत दर्द होता है, सील फट जाती है. ऊपर दोनों की मादक सीत्कारें आना शुरू हो गईं- आआहह … माय एस … फिंगरिंग डीप माय बेबी …दोनों ‘भड़वे साले चोदू घोड़े … अच्छे से रास्ता बना … तेरा मूसल हमारी गांड को फाड़ न दे … साले भड़वे रंडीबाज़ … तेरे मूसल को देख कर तुझे अपनी गांड भी तुझे दे दी है … बजा दे इसका बाजा. ऋतु- क्या?मैं- क्या सर? गांड मारने का?रवि- हां …मैं- पर सर ऋतु ने आज तक कभी गांड नहीं मरवाई है.

उनमें से कुछ के लिए अपने फिगर की वजह से, तो कुछ के लिए पढ़ाई की वजह से. उसे देख कर लग रहा था कि वह अभी ज़रीना को हटा कर खुद चुदवाने की इच्छा रखती हो. मैं उसका मुँह अपनी गांड में और तेजी से दबा देती ‘आह्ह किशोर आह्ह्ह … करते रहो आह्ह आह्ह्ह्ह.

दो घंटे की दौड़ लगाने के बाद और दूध ब्रेड लेकर जब वापस आया, तो मेरी सास उठकर नहाने गयी हुई थीं.

लेकिन अब उसने मुझे साफ़ मना कर दिया और बात करने से मना कर दिया और मैं चुपचाप आ गया. उन्होंने मुझे देखा, तो देखते ही मेरे पास आके मुझे गले लगा लिया और मुझे गाल पर किस करने लगीं.

उस दिन मैं सारी रात सोनू और उसके यौवन के बारे में सोचता रहा और सोचता रहा कि वह मेरा इतना मोटा लंड अपनी चूत में कैसे लेगी?अगले रोज शाम के 6:00 बजे आकाश में काली घटाएं छाई हुई थीं. तब मैंने भैया से बोला- भैया पेट खराब है … और मुझे वहां जाना है … तो कहां जाऊं, बताओ?भैया झुंझला कर बोले- अरे आदी, तू भी किसी भी टाइम?मैंने आंखों से विनती सी की. मैं मामी की चूचियों को इतनी जोर से मसल रहा था कि उनकी चूचियां एक की दो हो गई थीं.

अगले ही पल लेट कर अपने छातिया नंगी करके मम्मों को सहलाने लगी और साड़ी घुटनों से ऊपर कर कूल्हे ऊपर करके ऐसे उछालने लगी, जैसे लंड को और अन्दर लेने के लिए मरी जा रही हो. मैं पिछले 10 साल से तड़प रही हूँ और तुम भी पिछले तीन साल से अकेले हो. मम्मी ने रोते हुए कहा- वर्षा तेरे पापा को कुछ भी रहम नहीं, मेरी बच्ची को जालिमों की तरह मारा, भगवान उसे कभी माफ़ नहीं करेगा.

देसी भाई बहन के बीएफ तो एक 22 साल की लड़की मिली और उसके साथ जब मज़े करके हम बात कर रहे थे, तो वो बोली कि अभी एक और सरप्राइज़ है आपके लिये!और इतना कह कर वो वहां से चली गयी. शाम को आंटी मेरे घर आई और बोलने लगी- अजय दो महीने से मेरी हालत बहुत खराब है, तुम बस मुझे 15 दिन का टाइम और दे दो.

चोदने वाला दिखाइए

तभी जगत अंकल बोले- यार वहां बगल वाली कार में, जिसमें इसकी मम्मी है वह खड़ी है. उसने मेरा टी-शर्ट अन्दर हाथ डाले और मेरे स्तनों को मसलने लगा और बोला- मेरी जान तेरे लिए मैं जान दे सकता हूं. मैं- अब मैं क्या करूँ मम्मी जी? मेरी तो कुछ भी समझ में ही नहीं आ रहा है.

लिहाजा आंखों के इशारे से परमिशन लेकर प्रशांत ने नीना को गोद में उठाकर सीधे चुदाई के बेड पर पटक दिया. उसने आगे बोला- मुझे पता है कि तुमने अब तक सिर्फ अपने पति से और नामित से ही चुदाई करवाई है. हेलो सेक्सी वीडियोजब उसे दर्द कम महसूस हुआ तो वो अपनी चूत को आगे करने लगी और अपने नाखून मेरी पीठ पर गड़ाने लगी.

उसने लिप्स किस करते हुए अपना हाथ मेरी गांड पर रख दिया और मेरा हाथ अपने लंड पर रख दिया.

यह शायद वायग्रा का ही असर था कि मेरा लंड कुछ ही मिनट के बाद फिर से खड़ा होना शुरू हो गया था. अपनी पढ़ाई पूरी करके मैं अपने सभी रिश्तेदारों से मिलने अपने गाँव गया.

रंजना दीदी बोली- अरे छोड़ मरवाएगी क्या सोनू … लाइट आ जाएगी, कोई देखेगा तो क्या कहेगा. मेरा लंड पहले ही अकड़ा हुआ था, उसके हाथ लगने से मेरे लंड का रस निकलने वाला ही था. मैं बरेली का रहने वाला हूँ और अपने घर से दूर एक कमरा लेकर अपनी ग्रेजुएशन पूरी कर रहा हूँ.

फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और खुद घोड़ा बनकर पीछे से उसकी चुत में लंड घुसा दिया और जमकर चोदने लगा.

लेकिन मेरे पापा का लंड तो आपके लंड के आधे साइज से भी छोटा और पतला है. कहानी पर अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए नीचे दी गई मेल आई-डी का प्रयोग करें. फिर मैंने उसके सिर को पकड़ कर नीचे की तरफ धकेल दिया और वह मेरा इशारा समझ गई.

लड़कियों का मोबाइल नंबरइधर अभी तक काम करते-करते मेरी जोरू नीना बरामदे और आंगन के बीच आ-जा रही थी. तो दीदी बोली- सोनू कंट्रोल कर यार … नहीं तो तू पीछे चली जा, उधर कई जेंट्स हैं.

ग्वालियर सेक्सी वीडियो

दो मिनट बाद रिशु ने मिशिका की चूत पर लंड को रखा और एक धक्का दे दिया. मैंने अपना हाथ नीचे ले जाकर उसकी पैंट के ऊपर से ही उसके लंड को सहलाना शुरू कर दिया. मैंने सुषी के बूब्स को पकड़ लिया और उनको दबाते हुए उसकी चुदाई करने लगा.

वह जोर जोर से आवाजें निकाल रही थी- आह्ह … ऊऊऊ … आआआ … उम्म … ओह्ह … अम्म … मा … उफ्फ … करती हुई वह चुदाई का मजा लेने लगी. मैंने दूध पिया और कुछ ड्राई फ्रूट खाए, गर्म दूध पीने के बाद मेरे अंदर फिर जोश पैदा हो गया, मैंने भाभी को उठाकर अपनी गोद में बैठा लिया और प्यार करने लगा. फिर उसने अपना कुरता उतार के नीचे फ़ेंक दिया और झुक के उसने मेरे लंड को चूम लिया.

वो मुझे दीवानों की तरह छाती पे किस कर रही थी और मेरे निप्पल से खेल रही थी. वैसे एक बात बोलूँ, आप हो बहुत बेदर्द इंसान, लेकिन आपकी ये बेदर्दी और नशे से भरा जोश मुझे बहुत पसंद आया. मैं एक हाथ से उनके मम्में दबा रहा था, वो बहुत गर्म हो गयी थी, मेरा हाथ पकड़ कर ज़ोर से दबा रही थी.

उन्होंने हंसते हुए कहा- बस पानी?वो गांड मटकाते हुए अन्दर चली गईं, उनका मस्त फिगर देख कर तो जी मचल रहा था, मन कर रहा था कि पकड़ कर गोद में बिठा लूँ. तो कैसी रही ये रात मेरी रोसोगुल्ला, मजा आया ना?”बहुत मजा आया मेरे सोना, आज से जब मन करे आ जाना मेरे पास … अब तो मुझे बस आपकी होके रहना है.

पर शुरू के कुछ पल तो ऐसे हिचकी लेने जैसा उठता और फिर लटक जाता और मैं बुरी तरह से गर्म होकर व्याकुल हुए जा रही थी कि कब ये खड़ा होगा और मेरे भीतर आएगा.

मैंने वह सारी बात बता दी जब वह मेरे ऊपर गिरी थी, मैंने उनको बताया कि हेमा भाभी ने आपसे बात छुपा ली थी. सेक्स वीडियो खतरनाकबाकी अगर कोई हरकत करेगी, तो वो मेरे दोस्त सभी को तेरी पूरी झाड़ी के पीछे की करतूत सबको बता देंगे … वो भी तुझे सामने खड़ी करके सबसे कहेंगे. लिख दो मेरे रोम रोम मेंइस बार मैं उस जगह बैठ गई थी, जिधर से मुझे अपनी मम्मी की हरकतें दिखने वाली थीं. इस पर नामित और निक एक साथ बोले- सर हम भी गर्म हैं, चलो सब साथ ही खेलते हैं.

तो मुझे लगा कि यहाँ पर कोई भट्टी तप रही है।फिर हम 69 में होकर एक-दूसरे के अंगों को चाटने और चूसने लगे। ऐसे ही करीब 15-20 मिनट बाद उसने पहली बार बोला- मामा अब बस करो और अपने लण्ड से मुझे चोद दो।मैंने फिर उसकी गाण्ड उठा कर उसके नीचे तकिया रखा और पहली बार उसके होंठों पर होंठ रखे.

उसने मेरी गांड में लंड डाले हुए आने हाथ आगे बढ़ाए और मेरी चोली के ऊपर से ही मेरे दूधों को पकड़ कर जोर जोर से दबाने लगा. मैं भाभी के ऊपर लेटा हुआ उनके मम्मों को चूसने लगा और गांड सहलाने लगा. तभी सामने से आशीष आ गया और मुझसे बोला कि तुम कहां चली गई थीं? मैं इधर उधर तुम्हें देख रहा था.

इस पर उन्होंने कहा- किसी और के पास जाना होता तो मैं तुम्हारे पास क्यूँ आती. उसके बाद हम दोनों तबेले की तरफ वापस आ गये और आंटी ने मेरे डिब्बे में दूध भर दिया. उसने डॉगी स्टाइल में मुझे काफी देर तक चोदा और फिर खड़ा हो कर भी चोदा.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म

यह कहानी मेरी और मेरी बुआ जी की है जो आपको एक खूबसूरत सफर पर ले जाएगी. अन्तर्वासना की सेक्स कहानी पढ़ते रहिए और लंड और चूत का ध्यान रखते रहिए … बस यही कहना चाहूंगा कि अपना हाथ जगन्नाथ ही आड़े वक्त में काम आता है. तभी प्रमिला ने बोला- ओ मेरे घोड़े … गांड में लिए बहुत दिन हो गए हैं.

पूरा लंड लीलने के बाद उसने मेरे सीने पर हाथ जमा कर कुछ ठहर कर मेरे लंड को अपनी चूत में जज्ब किया.

’जैसे ही मैं अपनी जीभ उसकी चूत के छेद पर रगड़ने लगा, उसने मेरे सर को जोर से अपनी चूत पर दबा दिया.

मार्च का रोमांटिक गुलाबी महीना और उन दिनों बेमौसम की बरसात तो उसे कुछ अधिक ही तड़पा रही थी. मेरा पति मेरा मुँह देख रहा था और जब उसको पता लगा कि आज किस चूत को उसने चोदना है तो वो उछल पड़ा. सेक्सी वीडियो हिंदी में इंडियनअब मैंने उसकी पैंट को गांड के नीचे कर लिया और उसकी गांड को किस करने और चाटने लगा.

लगभग दस मिनट उसको कुतिया वाली पोज में चोदने के बाद अब मेरे लंड ने भी और ज्यादा टाइट होना शुरू कर दिया और मैं जल्दी ही झड़ने वाला था. मैं- हैलो!सामने से किसी महिला की आवाज आई- हैलो, आप आर्यन बोल रहे हैं?मैं- हां, मैं आर्यन बोल रहा हूँ, पर आप कौन?महिला- हाय, मैं कल्पना (काल्पनिक नाम) बोल रही हूँ, अँधेरी से. मैं उसके ऊपर लेट कर बोला- आज तो बहुत मजा आया!सीमा ने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया.

मेरी उंगलियों की मेहनत की वज़ह से लंड चार इंच से ज्यादा अन्दर चला गया और मैं एकता की कमर को पकड़ के नीचे ऊपर करने लगा. दोस्तो, किसी नवयौवना का चेहरा जैसे शर्म से गुलाबी होता है, ऐसी गुलाबी उसकी चूत थी.

सांसें तेज हो गईं, मैं उसके माथे को अपने स्तनों पे दबाने लगी- आह्ह मेरी जान और चूसो आह्ह आह्ह.

वो मेरी चूची को अपने लंड से चोद रहा था, तो उसके लंड का पानी मेरी चूची में लग रहा था. एक मिनट तक ऐसे ही रहने के बाद मैंने लंड को बाहर निकाला और बेड पर किनारे पर खुद लेट गया. कुछ देर बाद मुझे छत पर किसी के कूदने के आवाज आई और मैं समझ गई कि पंकज आ गया है.

चांद के पार चलो गाना वो बोली- तुम उधर ही रुको, मैं दस मिनट में उधर से ही निकलने वाली हूँ. इतने में मैं बहुत अलग तरीके से हांफने लगी, तो रंजना दीदी कान में बोली- सोनू, तू तो बहुत सेक्सी लड़की है.

अब देखना यह था कि मेरे लंड को किसकी चुत मिलती है, बुआ की या फिर बहन रिंकी की. नैना बहुत खुश थी, वो बोली- आज का दिन मेरे लिए हमेशा मेमोरेबल रहेगा, इससे पहले कभी भी इतना प्यार, ऐसा सेक्स नहीं मिला और ऐसे बर्थडे सेलिब्रेट नहीं किया. अब भी मेरी सलवार का नाड़ा खुला था … और जैसे ही मैंने अपनी करवट बदली, तो मेरी पीछे से गांड बाहर दिखने लग गई.

गूगल आपका पति का नाम क्या है

सारा काम छोड़कर उसने मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया और वो लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसते हुए अप-डाउन करने लगी. मैं बोली- हां … वन्द्या नाम है मेरा … मैं अभी मौसी के यहां उनकी बेटी की शादी में आई हूं … कनका गांव है, वैसे सतना जिले की हूं. मेरी इस हरकत पर उन्होंने कुछ नहीं कहा, तो मैंने उनको और भी टाईटली पकड़ लिया और उनकी गांड से चिपक गया.

कौशल्या और गर्म हो गयी- आह्ह आअह्ह हम्म …फिर उसने मेरी धोती खोली और मेरे लंड को बड़े प्यार से चूसने लगी. शाम को करीब छह बजे मेरी आँख खुली, मैंने थोड़ा हाँथ-मुँह धोया और बाहर चाय पीने के लिए निकला.

फोन उठाते ही मैंने कहा- आप आ रहे हो क्या?उसने कहा- हां, बस 10 मिनट में पहुंच रहा हूँ।अब यहां पर डिसीजन लेना और ज्यादा मुश्किल हो गया.

चूँकि घर पर मैं था, तो किसी को भाभी के घर पर रुकने से कोई ऐतराज़ नहीं हुआ. मैं इसे अपने हाथ में लेकर देख लूं क्या?” उसने मासूम सा चेहरा बना कर पूछा. आंटी कुछ ही देर के बाद जोर से चीखती हुई झड़ गई और मेरा लंड अब पूरी तरह आंटी की चूत के रस से नहा गया था.

उस पर उनकी उछलती हुई चूचियां और बिना बालों के उनके हाथ और चौड़े कंधे और उत्तेजना बढ़ा रहे थे. उस दिन रात को मामा खाने के बाद अपने दोस्त की शादी में शहर से बाहर चले गए. ये कहानी जरा लम्बी है तो ताप मेरे साथ थोड़ा सब्र रखिए, मुझे उम्मीद है कि आपको मजा आएगा.

भाभी मेरे कान के पास बोलीं- रोहित प्लीज चुत चाट न … इसके पहले कभी ऐसा एहसास किसी ने नहीं दिया था.

देसी भाई बहन के बीएफ: जब लौड़ा उसकी गांड और चूत में जाएगा, तो सारी सर्दी भाग जाएगी, उसकी भी और मेरी भी. मैंने भी अपने फ़ोन के कैमरे को ऐसे एंगल पर होल्ड किया कि वो मुझे अच्छे से देख सकें.

मैं तो था ही नशे की हालत में, थोड़ा उटपटांग बोल गया- पत्नी क्या … मैं तो अपनी सहकर्मी (देवी) को भी बहुत खुश रखता हूँ भाभी जी, कभी आप भी मौका दीजिये सेवा का. फिर उस औरत ने मेरी बीवी को अपने साथ लिया और मेरी बीवी को लेकर घर आ गई. जैसे सब लड़कियां शुरुआत में लंड चूसने से मना करती हैं, अविका भी मना कर रही थी.

अब मुझे ऐसा लगने लगा कि मैं थोड़ी ही देर में अपना सारा पानी उड़ेल दूंगी.

उसने जब आते वक्त लाईट और कुंडी लगाने का कहा, तो मैं समझ गया कि वो मुझे बेडरूम में चुदाई के लिए बुला रही है. उसने मेरी चूत को चाटने के बाद अपना लंड मेरी चूत पर रखा दिया और लंड के सुपारे को मेरी चूत की फांकों पर रगड़ने लगा. मैंने अपने एक हाथ से भाभी को उठाये रखा और दूसरा हाथ उनके पेट पर फिराने लगा.