हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम

छवि स्रोत,एडल्ट ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

বেঙ্গলি হট ভিডিও: हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम, तभी सोनाली की चूत ने गर्म चूतरस से मेरे लंड को नहलाना शुरू कर दिया.

गन यूट्यूब वीडियो डाउनलोड

अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि मैंने उसकी गांड कैसे मारी … और आज तक मैंने उसके साथ कितनी बार चुदाई की है. पूरी नंगी फिल्मये सुनकर भाभी एकदम खुश हो गईं और बोलीं- क्या सच में तुमने अभी तक सेक्स नहीं किया है?मैंने कहा- हां भाभी, आज मेरा पहली बार का सेक्स होने वाला है.

मेरे गर्म लावे का अहसास प्राची को इतना ज्यादा हुआ कि उसकी चूत ने एक और बार पानी छोड़ दिया. चूत की चोदा चोदीउन्होंने अपना हाथ और पेट धोया और मुझे तौलिया देकर कहा- अब बाहर जाओ, मुझे कपड़े धोने हैं.

हम बस अड्डे पहुंच गए और मैंने तुरंत होटल जाने के लिए रिक्शा किया।इसी बीच उसने भी अपने घर फोन कर दिया था कि रास्ते में बस खराब हो गयी थी तो अभी बस बस्ती पहुंची है, आने में शायद दोपहर हो जाएगी.हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम: सुबह मैंने जानबूझ कर उससे पूछा- कौन है वो लकी ब्वॉय?उसने हंसने वाली इमोजी भेज कर जवाब दिया कि वो तुम ही हो.

यह मेरा असली नाम नहीं है … यहां मैं कहानी के किसी भी किरदार का वास्तविक नाम नहीं लिखूंगा.वो कल वापस चली जाएंगी, इसलिए देर रात तक हम दोनों भाई-बहन बैठकर बात करेंगे.

चूत को चोदते हुए दिखाइए - हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम

इस तरह मैं पूरी रात उसके पास ही रहा और उस रात मैंने उसे 4 बार चोदा.वाइफ एक्सचेंज सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि दो कपल्ज़ ने मिल कर आपस में पति अदल बदल के और ग्रुप सेक्स का मजा लिया.

इस प्रकार दो कामुक महिलाओं ने मेरे लंड की सील तोड़ी और मुझे डर्टी Xxx मजा दिया. हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम मैं भी भाभी के चूचों के स्पर्श से पूरा चार्ज हो गया और मैंने भाभी को कमर के बल लेटने को कहा.

आगे मैंने घुटने से पैंटी नीचे की और अपने पैरों के सहारे पूरी पैंटी उसकी नीचे कर दी.

हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम?

उन्होंने कहा- केतन इतना क्या शर्मा रहे हो … आजकल तो ये सब नॉर्मल है. वहां वही पांच लड़के कुर्सी लगा कर इस तरह से बैठे थे कि उधर का भाग दूर से देखा न जा सके. मैं एक पढ़ने में कमजोर लड़का था और पीछे की बेंच पर बैठने वाला स्टूडेंट था, एग्जाम में नकल किया करता था.

शादी के बाद मैं उससे दो बार इस उम्मीद से मिला भी कि शायद वो मान जाए. जैसे ही मैंने अपनी शर्ट और पैंट को उतारा तो मेरा सात इंच लम्बा और दो इंच मोटा कड़क लंड उछल कर बाहर आ गया. शिवम पूरी नंगी करके माँ को वैसे चोद रहा है जैसे किसी रण्डी को चोद रहा हो!मां की विशालकाय चूचियां पानी की लहरों की तरह खेल रही थी.

उन्होंने अपनी गांड को हिला कर लंड को चूत में दबाया और चुत रगड़ने लगीं. हालांकि प्रोग्राम 10 दिन बाद था पर कार्ड बांटने मुझे उनके साथ जाने के लिए बुलाया गया था. दरअसल हुआ ये कि मेरे कॉलेज के अंतिम वर्ष के दौरान मेरे लिए रोजाना कॉलेज जाना बहुत दिक्कत वाला हो गया था.

तीनों खेती और पशुपालन सीखने के लिए सरकारी संस्थानों में भरती हो गए. वो बोला- ठीक है, तुम क्या चाहती हो?वो बोली- भाई साहब, प्यार और सेक्स ठीक है.

मॉम बेड के एक किनारे पर घुटनों के बल लेट गई और मैं जमीन पर खड़ा होकर पोजीशन में आ गया.

खैर … आप तो हस्बैंड वाइफ सेक्स कहानी पढ़ने के लिए बेकरार होंगे, तो आपको ज्यादा नहीं तरसाऊंगी.

मोहिनी और सोनम ने बारी बारी रवि के ऊपर बैठकर, उसका लंड अपनी चूत में डाला और उचक उचक का रवि को चोदा. मैं फिर से भाभी को चोदने लगा और और उनकी चूची को हाथ से मुँह से चूसता रहा, दबाता रहा. मैंने उससे पूछा- तो क्या ख्याल है किधर मिलना चाहोगी?वो बोली- मैं अपने घर में ही तुमसे मिलना चाहती हूँ.

लेकिन उन दोनों का सील नहीं टूटी है, वो तुम्हारे लंड को सहन नहीं कर पाएंगी. मैं अपने रिश्तेदारों के यहां अपने माता पिता को छोड़ कर घर वापस आने की तैयारी कर रहा था. हमारे पास लगेज के नाम पर सिर्फ एक एक लैपटॉप वाला बैग था जो हमने पीछे लटकाया हुआ था.

मैंने कुछ नहीं कहा और अपनी नाईटी उतार कर अपनी वोडका की बोतल को मुँह से लगा कर खाली किया और सीधे बाथरूम में घुस गई.

दीदी जोर से सिसकारने लगी- आह्ह … सैम … क्या कर रहा है … आह्ह … तेज तेज चोद … आह्ह. रीना भी हसित के लंड को सहला रही थी और एक हाथ से हसित की पीठ और उसके बालों को पकड़ कर अपने ऊपर खींच रही थी. हम दोनों के अंग एक दूसरे से रगड़ खाने लगे और दोनों में ही सनसनी भरने लगी.

वही बात मुझे याद आ गयी कि मोनू झोटे की तरह दमदार है, आज ये कोमल का बुरा हाल करेगा. थोड़ी देर बाद ऐसे ही गांड मारने के बाद उन्होंने अपनी पकड़ ढीली कर दी. मेरा 7 इंच का लंड मेरे अंडरवियर में से बाहर झांक रहा था जिस पर वो हाथ फिरा रही थी.

आज मुझे बस ये हैरानी होती है कि जिसे हद से ज़्यादा प्यार करो, दिल से चाहो, वो मिलता क्यों नहीं है.

सभी दरवाजे खुले थे और कोई भी दिखाई नहीं दे रहा था।मेरे ससुराल का घर दो मंजिला बना हुआ है. मेरा लंड उसके गले तक उतरा हुआ था तो लंड से निकली हुई वीर्य की सारी पिचकारियां एक एक करके सीधे उसके गले से नीचे उतर रही थीं.

हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम मैंने कहा- मेरा रस आने वाला है भाभी!भाभी ने कहा- बाहर निकालना वरना बच्चा हो जाएगा. शब्बो की कामुक सिसकारियां वीरू को और उकसा रही थीं, उसका लौड़ा अब शब्बो की चूत में घुसने को बेताब था मगर शब्बो की गीली नंगी चूत से निकल रहा रस वीरू को उसकी चूत को लगातार चाटते रहने के लिए मजबूर कर रहा था।उसने अपनी जबान को उसकी चूत के पूरे अंदर तक धकेल दिया और भूखे भेड़िये की तरह वो उसकी चूत का पानी पीने लगा.

हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम फिर धीरे से एक हाथ नाइटी के अन्दर डाल कर ब्रा के ऊपर से ही बोबे सहलाने लग गया. मेरा सर विलियम के कंधे पर था और उसने अपना एक हाथ मेरे गाल पर लगा दिया.

फिर मैंने अपना एक हाथ सलवार के ऊपर से ही उनकी चूत पर रखा तो पाया कि वो एकदम गीली हो गई थीं.

सेक्सी हिंदी देहात का

भैया को भाभी ने फोन करके पूछा- आप कब तक आओगे?तो भैया ने बोला- आज मुझे घर आने में कुछ ज्यादा देरी हो जाएगी, हॉस्पिटल में मरीज ज्यादा हैं. मैंने कहा- हमारे यहां से तुम्हारे कॉलेज का रास्ता तो दो घंटे का होगा!शिल्पा- हां … और आपका गांव कहां है?मैंने उसको अपने गांव का नाम पता आदि बताया. फिर तूने मना किया तो खड़े लंड को शांत करने के लिए तेरी मां चोदने का मूड बन गया.

फिर मैंने एक और झटका लगाया और मेरा पूरा 6 इंच का तगड़ा लंड आंटी की चूत में चला गया. लेकिन मेरा लंड चुत में अन्दर नहीं गया, वो फिसल कर गांड की तरफ चला गया. आधा लंड चूत में जाने के बाद मेरी टांगें चूत में हो रहे दर्द से कांपने लगीं.

उन्हें ये नहीं पता था कि वो जिसकी बात कर रहे हैं, वो मेरी मम्मी है.

फिर वो उठी, उसने अपने कपड़े ठीक किए और बाथरूम में जाकर अपने हाथ और चूत धोकर आ गई. उसने खुद अपने हाथों से अपनी ब्रा अलग कर दी तो उसके दोनों दूध मेरे सामने फुदकने लगे. मैं अपने लंड को भाभी के कपड़ों के ऊपर से ही उनकी चुत पर रगड़ने लगा और किस करता रहा.

मैं जब भी मैं फोन करती हूं तो पूछती हूं कि शालिनी से बात हुई या नही? तो वह हमेशा यही जवाब देता है ‘दीदी सच कहूं तो बहुत ही बिजी हूँ, बात ही नहीं हो पा रही है किसी से भी! नई जॉब में बहुत ही वर्कलोड बढ़ गया है मेरा, शालिनी भी शायद नाराज हो गई है लेकिन क्या करूँ काम बहुत है. फिर वो पल आ गया जब मेरे प्यारे पति का तगड़ा लंड मेरी कोमल गुलाबी नाजुक चुत को चीरता हुआ अन्दर दाखिल होने के लिए झटके मारने लगा था. पिछली कहानीदोस्त ने मेरे बड़े लंड से गांड मरवाईमें अब तक आपने पढ़ा था कि भाभी ने मुझे जगाया और मुझसे चुदने की जिद करने लगी.

मैंने तुरंत से हां बोल दी- हां हां भाभी मेरे साथ चलें … क्या दिक्कत है. कुछ देर में मेरी उत्तेजना अपने चरम पर आती महसूस करने लगी और एक बार फिर से मेरी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया.

खाने के बाद मैंने उसकी तरफ आशा की नजरों से देखा तो उसने हंसते हुए बाई कह दिया- अब जाओ, नहीं तो रात भर दोनों को जागना पड़ेगा. प्राची मेरे नजदीक आकर मेरे लंड को सहलाती हुई पूछने लगी- किसका फोन था?मैंने उसे मनीष के फोन के बारे में बता दिया. चूंकि मैं बहुत ज्यादा उत्तेजित था तो जल्द ही उसके मुँह में झड़ गया.

रमेश ने हज़ीरा की एक चूची को अपने मुँह में भर लिया और उसे खींच कर चूसने लगे.

अब मुझसे भी रहा नहीं जा रहा था, मैं भी फूफा जी की जांघ पर अपना हाथ रख देती. तब भी वो नहीं हटी और उल्टा अपने हाथों से मेरे चूतड़ों को कस कर पकड़ लिया. फिर उसने मुझे रुकने का इशारा किया और मेरा लंड पकड़ कर अपने हाथों से अपनी चूत पर सैट कर दिया.

मैंने अम्मी से कहा- अम्मी मुझसे बहुत बड़ी गलती हो गयी, आगे से नहीं होगा प्लीज़ माफ कर दो. तभी फिल्म में एक डरावना सीन आया, उसने पूरी तरह से मेरी तरफ झुक कर मुझे अपने गले से लगा लिया और मुझसे कसके चिपक गयी.

वो बोली- ठीक है, आज मैं घर जरा देर से आ पाऊंगी क्योंकि आज स्कूल में मीटिंग है. कुछ दस मिनट हो गए थे तो मेरे पति की मदभरी आवाजें निकलने लगीं और वो कहने लगे- आहा और चोदो जोर से … मेरा पानी निकलने वाला है … आंह जोर से. फूफा जी जब ये बातें कह रहे थे, तब मैं हर चेहरे को पढ़ने की कोशिश कर रहा था कि किसका कैसा रिएक्शन था.

ऐश्वर्या राय की सेक्सी सेक्सी वीडियो

तभी मैं अपना एक हाथ उसकी पीठ पर फेरने लगा और दूसरे हाथ से उसके कूल्हों को सहलाने लगा.

मैं अपनी वो कुंवारी गर्लफ्रेंड हॉट सेक्स कहानी आपको बता रहा हूं, जिसमें मैंने अपनी गर्ल फ्रेंड की सील तोड़ी थी. अब आगे बाथरूम Xxx चुदाई कहानी:फिर मैं बेड से नीचे उतर कर सोनाली से बोला- मुझे जोर से मुत्ती आ रही है. तभी जिया दीदी मुझे रोक दिया- अब ज्यादा मत खेल … वर्ना मेरा फिगर लूज हो जाएगा.

शिल्पा कुछ शर्मा रही थी क्योंकि वो पहली बार किसी और से चुदने वाली थी. मेरी बीवी ने गांड उठाते हुए कहा- आप उससे पूछ सकते हैं … और अगर वह भी राजी है, तो मुझको कोई समस्या नहीं है. ब्लू पिक्चर चोदने वाला सेक्सीवो बोली- ठीक है, क्या करना है?हसित ने कहा- रीना तुम अपनी साड़ी हटा दो, ख़राब हो जाएगी.

उसने मुँह पीछे की ओर कर लिया जिससे उसकी लंबी गर्दन और उभर कर सामने आ गई. बच्चे आ जाएंगे!भैया बोले- वे नहीं आ पाएंगे क्योंकि दोनों का एग्जाम है.

मैं उसके होंठों को चूस रहा था, रसपान कर रहा था … वो भी मेरा साथ दे रही थी. जब दोनों काफी करीब आ गए, तो मैंने सीमा से रात में मिलने की बात कही. फूफा जी ने भी अपनी पैंट जल्दी से उतार दी और मेरे दोनों टांगों के बीच आ गए.

उसने अपने हाथों से मेरा हाथ पकड़ा और अपने बोबे को जोर से दबवाने में लग गयी. मैंने भी अब देर न करते हुए अपने लंड को लगभग बाहर निकाला और झटके में पूरा लंड चूत में गाड़ दिया. सीमा भी सोचने लगी कि मैं भी तो उनकी चुदाई देख रही हूँ लेकिन मैं बाधा नहीं बनूंगी सर, बस हमें भी चुदाई का मौका दीजिए न.

पर शायद इसके बाद मुझे कोई दूसरा मौका न मिले इसलिए मैंने आखिरी बार तेज चलती हुई सांसों को रोककर आखिरी खतरा मोल लेने का निश्चय किया।इसके लिए मैं पांव दबाने में तेजी लाया और आखिरकार पांव दबाते मैंने अपना हाथ उनकी चूत पर रख दिया।पांव दबाते दबाते जब मैंने 2-3 बार चूत पर हाथ रखा तो चूत पर उगी उनकी कंटीली झांटें पैंटी के ऊपर से हाथ में आ गयी.

फिर उन्होंने मेरे सामने ही तौलिया के नीचे हाथ डालकर अपनी पैंटी पहनी. ये कहते हुए वो अपनी चूत पर रखे एक हाथ को, जिसकी वजह से ही लंड चूत में पूरा न जा सका, हरकत में ले आई.

1- कोई भी मर्द किसी भी लड़की या औरत को चोद सकता है, अगर वो 19 साल के ऊपर हो गई हो. अब उन्होंने अपने दोनों हाथ पीछे लाकर अपनी ब्रा का हुक खोला और उसे पेटीकोट के ऊपर से निकाल दिया. मोनू के वीर्य की मात्रा बहुत ज्यादा थी जिससे कोमल के बाल मुँह छाती सब जगह वीर्य से सन गया था.

अब मैंने एक हाथ उसकी कमर पर रखा और एक हाथ से कभी उसके बाल पकड़ कर खींचता, कभी कुछ करता. भाभी- मुझमें ऐसा क्या ख़ास है!मैं- आप ये बताएं भाभी जी कि आपमें क्या ख़ास नहीं है!मेरी बात पर भाभी शर्मा गईं और बोलीं- मगर आपके भैया को मेरी कोई कद्र ही नहीं है. धीरे धीरे हमारे बीच हंसी मजाक की बातें होने लगीं और न जाने कब सेक्स चैट होने लगी, पता ही न चला.

हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम दोस्तो, मेरा नाम सौरभ है और मैं 20 साल का काले रंग का लड़का हूँ, पर मुझे लड़कियों की तरह रहना बहुत पसंद है. मैंने उन दोनों को भी निकलवा दिया और उसको पूरी की पूरी नंगी कर दिया.

रक्षा सेक्सी

मेरा मन कर रहा था कि अंकल का लंड मुँह में ले ही लूं लेकिन अंकल बूब्स को चोद रहे थे. उसके चार दिन बाद सीमा कॉलेज के बहाने से घर से निकली और दोनों बस में बैठकर चंडीगढ़ आ गए. मैंने उसका चेहरा ऊपर किया और कहा- जो काम उधर सड़क पर अधूरा रह गया था, उसे पूरा करना भी तो ज़रूरी है.

रवि ने लंड हिलाया और मेरी टांगों के बीच में आ गया और उसने अपना लंड मेरी चूत पर रख कर रगड़ने सहलाने लगा. पति का लण्ड तो थोड़े थोड़े अंतराल में मिल ही रहा था लेकिन कोई मोटा, ताजा और लगड़ा लण्ड लिए हुए 6 महीनों से ज्यादा हो गया था. देसी कट्टेमैं अपने लंड को उन पर घिसने लगा और मैंने चूचियों गर्दन गाल और पेट को चूमना शुरू कर दिया.

फिर जब पूरा लौड़ा घुस गया तो मैंने बाहर लंड को निकाला और इस बार एक झटके में अन्दर डाल दिया.

फिर मैंने उसे बताया- हां मेरी एक फ्रेंड है और मैंने उसे किस किया है, उससे ज्यादा कुछ नहीं. जैसे ही जोर से वो मेरी बहन के मम्मों को अपने दोनों हाथ से दबाता, कोमल सिहर उठती.

जब तक मैं अपने पति का लंड चुत में लेकर चुदवा ना लूं, मुझे नींद आती ही नहीं थी. मैंने उससे कहा- सुनो गुलाब, प्रेम और युद्ध में हर बात जायज होती है. [emailprotected]सेक्स फंतासी स्टोरी का अगला भाग:सेक्स की नगरी की रसीली चुदाई की कहानी- 2.

मैंने उनकी चूची को जोर से दबा दिया तो भाभी का मुँह खुल गया और मैंने लंड मुँह में पेल दिया.

मैं- क्यूं दीदी, लंड देखकर आप अपनी चूत में उंगली कर सकते हो लेकिन उसी लंड को अपने हाथ में लेकर नहीं हिला सकते?दीदी- अगर किसी ने गलती से भी देख लिया तो बहुत बदनामी होगी. बस एक काम करना … जब उसका मन होगा अपने प्रेमी से प्यार करने का तो वो मायके जाने को कहेगी. उसके बाद पूरे रास्ते में ज़्यादा बातें नहीं हुई और फिर हमको जहां पर उतरना था वो मुकाम आ गया।मुझे कुछ सोचने के लिए वक़्त चाहिए।” जब हम अलग हुए तब सीमा ने मुझे कहा।कुछ दिन यूं ही गुज़र गये.

सैकसी विडियो1- कोई भी मर्द किसी भी लड़की या औरत को चोद सकता है, अगर वो 19 साल के ऊपर हो गई हो. ब्रीफ नीचे खिंचते ही मेरा तना हुआ लंड उछल कर बाहर आ गया और फड़फड़ाने लगा.

भाषा सेक्सी फिल्म

आज जीजाजी के बदले मैं अपनी जिया दीदी के गुलाबी होंठों को चूम रहा था. भाभी अपने पैर आपस में रगड़ने लगीं, इससे मुझे पता चल गया था कि अब भाभी भी पूरी चार्ज हो गयी हैं. दोस्तो, आपको मेरी ये गे फ्रेंड सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है … प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं.

जब तक तू यहां है, तब तक मुझे चूसकर मजे लेने दे … फिर ना जाने फिर तुम कब आओगे. उससे मेरी एक दो बार बस हैलो हाय हुई … हुई क्या, मैंने ही उससे हाय कहा. भाभी मस्ती में बोलीं- बात क्या करना है … साली को पकड़ कर रगड़ दो यार!मैंने बरमूडा पहना और बाहर आ गया.

[emailprotected]हॉट कॉलेज गर्ल Xxx कहानी का अगला भाग:मेरे कुंवारे जिस्म में जल रही वासना की ज्वाला- 2. मुझे इस बात का अहसास बेहद सनसनी दे रहा था … और शायद दीदी को अहसास मजा देने लगा था. थोड़ी देर बाद वो मुझे हटाने लगी और कान में बोली- ये आप क्या कर रहे हो जीजू?मैंने कहा- प्यार.

लंड चूत से बाहर निकला ही था कि लंड ने पिचकारी छोड़ दी और मेरी जांघों पर वीर्य गिर गया. वो सभी यही सब बातें कर रहे कि एक औरत आई है, बहुत ही हॉट फिगर वाली खूबसूरत माल है.

दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और अपनी जीभ एक दूसरे के मुँह में देने लगे.

कुछ देर बाद हनी बोला- प्लीज़ सोहल … थोड़ा रुक जाओ यार … मेरी टांगें दर्द होने लगी हैं. घड़ी नंगी पिक्चरदीदी की गर्म चूत की गहराई में जीभ देकर मैं भी पागल सा होने लगा था अब!वो सिसकारते हुए बोली- आह्ह … चूसो और जोर से चूसो. आज का ताजा सेक्सदीदी- वाह …गर्लफ्रेंड के साथ सेक्सकिया नहीं और अपनी ऑफिस की लड़की से सेक्स कर लिया!मैं- दीदी, उसका पति मर्चेंट नेवी में है. हमने तो सही से अपनी रिश्तेदारी भी नहीं पता कि हम भाई बहन लगते कैसे हैं.

उसकी चूत बहुत गीली हो चुकी थी जिससे लंड आसानी से अन्दर जा रहा था और बाहर आ रहा था.

मुझे देखकर मां बोली- उठ गया बेटा? आज बहुत देर तक सोया है तू? रात में देर से सोया था क्या?मां मेरी तरफ देख रही थी और मुझे घबराहट सी हो रही थी क्योंकि मां ऐसे सवाल अक्सर नहीं पूछा करती थी. आपको ये सेक्स चेंज स्टोरी कैसी लगी कृपया[emailprotected]पर जरूर लिखें. जितना लंड अन्दर जा चुका था, फिलहाल मैं उसी को आगे पीछे करके उसके चेहरे पर आते जाते भावों को समझ रहा था.

मुझे लग रहा था कि जीजाजी ने जिया दीदी की चुत को अब तक चोद कर भोसड़ा बना कर रख दिया होगा लेकिन मेरी सोच जितनी जिया दीदी की चुत खुली हुई नहीं थी. मैंने भाभी को लिटा दिया, उनके बूब्स दबाने लगा और उनकी गर्दन पर किस करने लगा. उसने कहा- आप भी बहुत खूबसूरत हो!मैं थोड़ा शरमा गई और मुस्कुराने लगी.

सेक्सी ब्लू फिल्म देखना है हिंदी में

प्रकाश ने अपना लंड नहीं निकाला, वह सोनम के होंठ और निप्पल चूसने लगा. हम दोनों औरतें एक दूसरे में इतनी खो गई थीं कि हमें वहां कोई और भी मौजूद है, इस बात का ख्याल ही नहीं रहा. जब मैं अपनी गांड हिलाने लगा तो सोनाली ने भी कमर ऊपर नीचे करके लंड को अन्दर बाहर किया.

मम्मी ने भाभी से पूछा कि दिव्या क्या बात है … तेरा मूड ऑफ सा कैसा दिख रहा है?भाभी ने बताया कि मार्केट से ज़रूरी सामान लाना था, पर डॉक्टर साब को हॉस्पिटल से फुर्सत ही नहीं है, वो नहीं आएंगे तो बाजार कैसे जा सकती हूँ.

शायद वीडियो कॉल पर उन्हें मेरा लंड पसंद आ गया था और उनकी दबी हुई वासना मेरे साथ मुखर होने लगी थी.

फिर मेरा ध्यान बगल की मेज पर गया जिस पर कुछ दवाएं, जग और ग्लास रखा था।मुझे लगा कुछ गड़बड़ है।मैं मौसी मां को डिस्टर्ब नहीं करना चाहता था, मैं तुरंत भाग कर दीदी के पास गया. मैं- तो कैसा हूँ भाभी?भाभी- अच्छा … भाभी भी बना लिया!मैं- तो और बताओ … क्या बनना है?भाभी एकदम से हड़बड़ा कर बोलीं- नहीं, भाभी ही ठीक है. नॉटी अमेरिका डॉट कॉमरमेश मुस्करा कर बोला- और हम दोनों की चुदाई देखकर चोदने को बोलेगी, तो तुम क्या करोगी?हज़ीरा कुछ सोचती हुई बोली- आप मेरे बाद उसको भी चोद देना मेरी जान.

जब सोनम ने प्रकाश के खड़े लंड की लंबाई और मोटाई देखी, तब उसे समझ में आया कि उसे गांड मरवाने में इतना दर्द क्यों हुआ. आज पहली बार वो मेरे नीचे थी और मैं उसकी पैंट उतारने की कोशिश करने में लगा था. दोस्तो, ये मेरी रियल कॉलेज स्टूडेंट सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मेल करें.

जब मैं नहा धोकर बाहर आया तो दीदी अभी भी वैसे ही चूत फैलाये हुए लेटी हुई थी. अब मेरा 6 इंच का लंड कड़क हो गया था और भाभी के मुँह में जाने को तैयार था.

वो मेरे लंड से हुए दर्द से आगे की तरफ होने लगीं पर मेरी पकड़ भी मजबूत थी इसलिए वो हिल भी नहीं पाईं.

दोनों बहुत जोरदार चुदाई करते हैं ओरल सेक्स के बाद!सभी को मेरा नमस्कार. तभी धक्कों की रफ़्तार बढ़ी और उसका गर्म गर्म वीर्य … मैंने अपने मुँह में महसूस किया. वो राजी हो गईं, मगर उनका मन ये था कि लंड चुत से बाहर नहीं निकलना चाहिए.

किशन होटल की चाय पिला दे अंजलि भाभी बोलीं- बस करो, तुम दोनों काम करोगे या नहीं, मुझे तो लग रहा है लड़ाई जरूर पहले ही कर लोगे. वो मेरे कान में अपनी गर्म हवा छोड़ती हुई बोली- तू क्या ठंडा है?ये सुनकर मेरा भेजा घूम गया.

यह सेक्स फंतासी स्टोरी आपको एक ऐसी दुनिया में ले जाएगी, जिधर सिर्फ सेक्स ही सेक्स भरा पड़ा है. बाथरूम पहुंचने से पहले ही मेरा आधा मुट्ठ लोवर में निकल गया बाकी मुट्ठ बाथरूम में गिराकर साफ किया।मुट्ठ से थोड़ा लोवर भीग गया था. अब वो कुछ शांत होकर बैठी और अपनी कातिलाना नज़रों से मुझे देखती हुई बोली- तुम मुझे तड़पा तड़पा कर मारोगे.

थैंक्यू सेक्सी वीडियो

अब मैंने सोचा कि किसी तरह से भाभी की चुदाई देखने का जुगाड़ किया जाए. जिससे यह बात मेरी मम्मी को पता चल गई और उनको अहसास हो गया कि मैंने कुछ गलत किया है. शायद अब उससे भी सहन नहीं हो रहा था, उसने अपने लण्ड को पकड़ा और हल्का हल्का मेरी उंगलियों पर टच करने लगा.

तो मैंने भी सोचा कि एक दिन कॉलेज में अनुपस्थित रहने से बाधा नहीं आएगी. भाभी मस्ती में बोलीं- बात क्या करना है … साली को पकड़ कर रगड़ दो यार!मैंने बरमूडा पहना और बाहर आ गया.

उसकी बात मानते हुए कामवाली शब्बो ने भी अपनी गांड को उसके हवाले कर दिया।वीरू ने उसकी 44 के आकर की गांड देख कर उसको सहलाया और एक तड़तड़ाता हुआ थप्पड़ उसकी गांड पर जमा दिया.

जब भी मैं सीमा को भाभी बोलता तो वह नाराज हो जाती और सिर्फ नाम लेकर बुलाने को बोलती. ये देख कर मुझे और भी ज़्यादा मस्ती चढ़ने लगी, तो मैंने उससे कहा- यार मुझे गर्मी लग रही है. फिर मैंने एक हाथ से दोनों उंगलियों से सरिता की चुत की दरार को पसारा और अपने दूसरे हाथ में लंड पकड़कर उसकी चुत की दरार में ऊपर से नीचे तक सुपारे को रगड़ने लगा.

लैला छात्रा और मजनूं सर की चुदाई की आवाजों को सिर्फ सीमा सुन पा रही थी … क्योंकि यह स्थान सुनसान और दूर था. क्यूट भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि बस स्टॉप पर मिली भाभी से दोस्ती के बाद उसे मैंने पहली बार अपने ही घर में कैसे चोदा. उसके चेहरे पर ऐसे भाव आ गए थे, जैसे उसने ये सब कई महीनों बाद जिया हो.

मैंने नीचे अपनी ईमेल आईडी दी है, आप सभी मुझको ईमेल करके जरूर बताएं कि आपको मेरी ये Xxx भाभी सेक्स कहानी कैसी लगी.

हिंदी बीएफ फर्स्ट टाइम: भाभी बहुत खुश हुईं और उन्होंने मुझे धन्यवाद कहते हुए कहा- थैंक्यू सो मच … तुम मेरे लिए भगवान की तरह हो. फिर मैंने पूछा- तुम्हारा गांव और कॉलेज कहां है?शिल्पा ने अपने गांव का नाम बताया और कॉलेज का पता बताया.

वो बोले- मैंने उस लड़के को अच्छे से समझा दिया है, वो अब कुछ नहीं कहेगा. क्या शनाया इस बात के लिए राजी हो जाएगी?मैंने कहा- हां मैं उसे मना लूंगा, पर पहले तू शिल्पा को तो राजी कर ले. चाची अपनी कमर उठा कर उंगली से चूत चुदवा रही थीं और आह उहआह की आवाज कर रही थीं.

मेरी पड़ोसन भाभी, जिनके साथ मैंने पहली बार सेक्स किया था, वो दिखने में बेहद खूबसूरत और कमाल की हैं.

मैंने कहा- मुझे तो पुसी का मतलब बिल्ली मालूम है … सही सही नाम बताओ न?भाभी गाली देती हुई बोलीं- पूरे हरामी हो … तुम सब जानते हो फिर भी मुझसे पूछ रहे हो. मैंने जल्दी से आंटी के बदन से पैंटी को भी अलग कर दिया और उनकी चूत पर अपना मुँह लगाया. मेरी दोनों टांगें बिस्तर पर नीचे तक फैली हुई थीं और मैं अपना मुँह चाची के दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसता हुआ चाची की चुत चोद रहा था.