पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर

छवि स्रोत,भाई बहन की हिंदी में सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

पुरी की बीएफ: पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर, दो दिन ऐसे ही चला, तीसरे दिन आधी रात को मैं पेशाब करने के लिए उठा तो मम्मी गहरी नींद में सो रही थीं.

सेक्सी पिक्चर बोलते हुए

दिल्ली वाले फ्लैट में उसने बेडरूम में एक पोल भी लगवा रखा है जहां मुझे अक्सर उसके लिए पूर्णतया निर्वस्त्र पोल डांस करना पड़ता है. सेक्सी वि सेक्सी वीडियोमैंने कहा- चल!फिर रूम में मैंने गेट लॉक किया और रानी को उठाके अपने रूम में ले गया उसे बैड पर लिटा दिया और खुद उसके पास बैठ गया.

उसने मेरे एक दूध को मुँह में पकड़ कर बच्चे की तरह चूसना शुरू किया और दूसरे को मसलना जारी रखा. बट सेक्सीअब चिन्ना के हाथ करोना की नंगी पीठ पर थे जिन्हें वह आगे बढ़ाता हुआ उसकी बगलों के नीचे से होते हुए बेधड़क करोना की खुली चूचियों पर फिरने लगा.

वो अपनी गांड को बार बार ऊपर उठाते हुए मेरे मुँह को अपनी चूत के अन्दर और दबा रही थी.पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर: और बना दो लड़की से औरत! मैं कसम कहती हूँ कि बाहर जाकर किसी से कुछ नहीं कहूँगी.

फिर मैंने तेल की शीशी उठायी और अपने लंड पर बहुत सारा तेल चुपड़ दिया.उसने अपनी बॉडी पर साबुन लगाया और रेज़र उठा के अपनी चूत के छोटे छोटे बाल साफ़ करने लगी.

सेक्सी मटका ओपन - पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर

तब उसने कहा- हम तो खुश हैं ही, अब आप भी खुश है ना?मैंने उससे कहा- आप दोनों आज मिलने आई हैं तो मैं तो खुश हूँ ही!इसके बाद मैंने डेरी मिल्क के चॉकलेट ज्योति को खाने को दिया।ज्योति ने मुझसे कहा- जाइये जीजा जी, दीदी के साथ अकेले में आराम से मिल लीजिये.मैंने कहा- बहू, तुम कभी गाँव आओ तो वहां भी तुम्हारी ऐसी मस्त चुदाई करूँगा.

मैंने पूछा- क्या आप बता सकती हैं मुझे कि इस एड्रेस पर कैसे पहुंचा जा सकता है?फिर मुझे उसने मेरे को बताया कि यह पता तो काफी दूर है … उधर पहुंचने में आपको काफी समय लग जाएगा. पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर आस पास काफी अंधेरा था तो अंधेरे का फायदा उठाना तो बनता है।मैंने उसके कंधे में हाथ रखा.

अपनी बहन की चूत में लंड को डाले ही हम दोनों वैसे ही पड़े रहे और एक दूसरे को नंगे जी अपनी बांहों में पकड़े वैसे ही लेटे रहे.

पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर?

उनकी चूचियों में जो तनाव मैं इस वक्त महसूस कर रहा था वो मैंने सिनेमा हॉल में दीदी के साथ मूवी देखने के टाइम पर नहीं किया था. मैंने पूछा तो बोली- सच में आज जो मज़ा आया है, वो जिंदगी में कभी नहीं आया. दादा … दादा … क्या हुआ? दीजिये कपड़े!” रीना अपनी बांह को हिला कर थोड़ा जोर से बोली।अब भी बाहर से कोई आवाज़ या हरकत नहीं हुई.

उसने पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और एक ही झटके में पूरा अन्दर तक पेल दिया. मैंने उसकी टांगों को पकड़ लिया और जोर जोर से उसकी चूत में धक्के लगाने लगा. आज की रात मेरे लिए बहुत रंगीन होने वाली थी।उस दिन मेरा शाम को छुट्टी का टाइम आ ही नहीं रहा था … इंतजार की घड़ियां खत्म ही नहीं हो रही थी.

एक तो ड्रिंक का नशा और ऊपर से पूर्णतया निर्वस्त्र होने के बाद मेरे जिस्म में भी वासना की आग सुलग गई थी. मैंने उनको बेड पर से नीचे बैठाया और खुद खड़ा हो गया और अपना लंड अपने हाथ में लेकर आगे पीछे करने लगा. अब समय था रचना की चूत में अपना लौड़ा पेलने का! मैं रचना के दोनों जांघों के बीच में आ गया और अपने दोनों हाथों से रचना की कमर पकड़कर उसकी गांड उठा दी.

मैं माया से बात तो कर रहा था, लेकिन मेरी बार बार नज़र उसके चुचों पर जा रही थी. तुम लोग सिर्फ देखते हो या कुछ करते भी हो?”शगुन के घर में उसका चाचा रहता है, वो अपने चाचा के साथ करती है.

हमेशा की तरह मर्दों की कामुक निगाहें मेरी चूचियों और मेरी गांड को निहार रही थीं.

वैसे बाबूजी, मुझे लगता है आपकी बहू को भी ऐसे ही चुदाई चाहिए जो आपका बेटा उसे नहीं दे पाता है.

रूम में अंधेरा ही था और विशाल ने तुरंत अपना हाथ मेरे मुंह की ओर किया और मेरे मुंह को अपनी ओर करके मेरे होंठों को चूसने लगा. करीब बीस दिन निकले होंगे, पापा को किसी की डेथ पर आउट ऑफ़ स्टेशन जाना पड़ा. बहरहाल मैं ज्यादा समय नहीं लेते हुए एक पाठिका की समस्या यहां लिख रहा हूं जो उसने भी मुझे विस्तार से लिखी थी.

मुझे देखकर वो अपनी बांहें फैलाते हुए बोली- मोहित मुझे आज न जाने कितने दिन बाद बहुत अच्छा लगा. अगर कहानी के बारे में कुछ सुझाव देना चाहते हैं तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में भी अपने कमेंट लिख सकते हैं. मैं सोच रहा था कि आज तक कई लड़कों ने सपने में दीदी को चोदने के लिए मुठ मारी होगी, लेकिन आज मैं अपनी दीदी की इसी गर्म चुत में लंड घुसाने वाला हूँ.

आप लोगों का इस बारे में क्या कहना है, मुझे कमेंट्स करके जरूर बतायें.

मेरी बात सुनकर तनु बोली- जब तुम इतनी सारी चूत चोद चुके हो तो तुमने मेरी बेचारी बुर क्यों चोदी?मैंने कहा- जब मैंने तुम्हें पहली बार देखा तो तभी मेरा मन तुम्हें चोदने के लिए कर गया था. मेरी पत्नी के साथ जब से मेरा केस कोर्ट में गया था तब से ही मैं थोड़ा परेशान रहने लगा था. चाय मेरी ओर बढ़ाते हुए चाची ने कहा- तुम्हारी भैंस अब इतना ही दूध देती है.

अब तो वैसे भी वो चुदने के लिए मेरे नीचे मेरे कमरे में आ ही गई है तो मना नहीं कर पाएगी।उल्टा होकर वो लेटी ही थी, गांड लंड के सामने थी तो मैं उसके ऊपर लेट गया। अपने लंड को उसकी गांड पर स्पर्श करने लगा। मैंने उसकी गांड पर और अपने लंड पर अच्छे से थूक लगाया और अपना लंड उसकी गांड के छेद पर टिका दिया. मुझे उसने एक कमरे की तरफ इशारा करते हुए बोला- तुम जाकर चेंज कर लो और फ्रेश हो जाओ … ये मेरे पति का शॉर्ट्स है. मैंने जैसे ही एक हाथ से उसकी चूत को सहलाया, तो रूबी की बड़ी आह निकल गई.

फिर उसकी गांड की दरार में से होते हुए उसकी बुर तक पहुंचा, तो उसकी बुर गीली हो चुकी थी.

एक दूसरे से लिपटे हुए हम चूमाचाटी कर रहे थे तभी मैं 69 की पोजीशन में आ गया और नीलम की चूत पर जीभ फेरने लगा. इस बार मैं काफी देर तक तो अपने लंड को उसकी चूत और गांड पर घुमाता रहा.

पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर मगर फिर उसने मुझे पीछे की ओर धकेला और फिर मेरे अंडरवियर को निकाल दिया. उसकी चीख मुँह में ही घुट कर रह गयी और मेरे लंड का सुपारा घचाक की आवाज़ के साथ चुत की सील तोड़ कर लगभग 2 इंच अन्दर घुस गया.

पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर पर वो रट हुए बोल रही थी कि जय प्लीज लंड बाहर निकालो … बहुत दर्द हो रहा है. उसने देरी ना करते हुए उसे मुँह में ले लिया और मैं भी बहुत मज़े से उसको लंड मुँह में दिए जा रहा था.

मैंने उन्हें 5 बार चोदा, और उनकी चूत पर कभी आइसक्रीम, कभी शहद डाल कर चाटी.

औरत कुत्ता की सेक्सी वीडियो

लेकिन सेजल अब समझ गई थी कि अब गैर मर्द अगर घर पर आएंगे और लड़कियां बड़ी हो रही है तो उन पर एक गलत प्रभाव जाएगा. ऐसा लग रहा था जैसे मेरे सामने कोई न्यूड फोटोशूट वाली मॉडल खड़ी हुई है. उसके बाद क्या हुआ? मैंने उसे कैसे चोदा?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम आरव है.

करोना करीब 4 बार और झड़ कर जब थक गई तो बोली- अंकल, अब बस भी करो मेरी जान निकलोगे क्या?चिन्ना- नहीं बेटी, तुम तो मेरी जान हो. अब तो मैं आ ही गया। तुम्हारी इस चूत का पूरा रस निचोड़ लूंगा उसकी चिंता मत करो। पहले थोड़ा सा गर्म तो होने दो।मैंने उसे अपने पास सटा कर बैठाया और उसे अपनी बांहों में भरकर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. मैंने अपने लन्ड का पानी आज दिन में ही बाथरूम में पहले ही निकाल दिया था.

लंड बेताब होने लगा था और कुछ देर पहले उसकी पसीने से भीगी चूचियां मेरे लंड को खड़ा करने लगी थीं.

मैं उसके कमरे में जाता था तो उसकी बहन को देखकर मेरा मन मचल जाता था और कुछ कुछ चलने लगता था मेरे मन में!मैं उसकी तरफ देखता तो वह मेरी तरफ तिरछी नजरों से देखने लगती थी. वे यह कह रहे थे कि मेरे पराए मर्द के साथ संभोग को वे खुद देखना भी चाहते हैं. करीब दस मिनट के ऊपर हो गए और कल्पना नहीं आयी, तो मैंने उसे कॉल किया और पूछा- कहां हो तुम? मैं कब से यहां हूँ.

उसकी गर्दन को चूमा और फिर उसकी चूचियों को मुंह में लेकर हाथों से दबाते हुए पीने लगा. स्खलन के करीब पहुँचने के बाद चिन्ना के रोकने से गुस्से से फनफनाई भोली करोना अनमने भाव से अपने दोनों हाथों के अंगूठों और तर्जनी उंगली को तेल में डुबोकर उसके दोनों निप्पल्स के चारों तरफ उँगलियों से सर्किल बनाने लगी. मैंने समय बर्बाद ना करते हुए उसको हल्का सा ऊपर खींचा … वो जैसे ही ऊपर देखी … मैं उसको किस करने लगा … वो भी मेरा साथ दे रही थी … फिर मैंने उसकी 2 और पोजीशन में 45 मिनट कर चुदाई की.

उसने उठ कर मेरे सीने से लग कर मुझे चूमा और नशीली आंखों से कहा- मैं बहुत प्यासी हूँ. लंड से सारा वीर्य निकल जाने के बाद मैं आकांक्षा के बराबर में ही लेट गया.

उसने कहा- गुड … अब तू लेट जा … मैं तेरे मुँह पर बैठकर अपनी चुत चटवाने आऊंगी. वो मेरी दूर की बहन लगती है तो उसका मेरे परिवार में आना जाना रहता था. फिर जब वो मेरे लंड से उठी, तो उसकी चूत का पानी मेरी जांघों पर गिरने लगा.

लेकिन कहते हैं ना खुशियां बहुत देर तक नहीं रहती!ऐसा ही कुछ सेजल के साथ हुआ.

अब मैंने खुद ही उसकी पैंटी और लोवर को ऊपर कर दिया और बोला कि इसको साफ कर लिया करो … यहां के बाल को काट लिया करो … या रेज़र से साफ कर लिया करो. फिर मेरा लंड खुद ब खुद ही छोटा होकर उसकी चूत से निकल कर बाहर आ गया और सिकुड़ गया. उसके बाद मैंने भाभी को खड़ा कर दिया और उनकी जीन्स और पैंटी को निकाल दिया.

मेरे भैया उसी से शादी करना चाह रहे थे और मेरे घर वालों को भी इस बात से कोई आपत्ति नहीं थी. उसने भी कहा- हां भैया, पहले तो मुझे अच्छा नहीं लगा था, पर आपके लंड से जब कुछ खट्टा चिपचिपा सा मेरे मुँह में आया, तो मुझे भी अजीब सा नशा चढ़ गया है अब तो मुझे भी आपका लंड चूसना अच्छा लगने लगा है.

मैंने हनी से कहा- तुमने तो मेरा लण्ड चूस लिया, मैं भी तो तुम्हारी चूत चाट लूँ. मेरी कल्पना से लिखी कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी क्लास की एक लड़की को बहुत पसंद करता था मगर उसने मुझे ठुकरा दिया. अम्मी ने फिर हाथ में थोड़ा सा तेल लगाया और मेरे लंड की मालिश करने लगी.

यूट्यूब पर सेक्सी गाने

इस बार जब हम दोनों आपस में चिपके, तो नंगे बदन एक एक अंग आपस में सट गए … और ऐसा लगा जैसे हमने दुनिया का सबसे सुखद अहसास पा लिया हो … जो शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता.

उस दिन जब मैं बीच में ही चुपके से वापस आया तो वैसे ही पहले की तरह घर के सभी खिड़की और दरवाजे बंद थे. देखने से मालूम हुआ कि कोई प्रिया शर्मा (नाम बदला हुआ है) की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी. उस दिन मैंने टाइट जीन्स पहन रखी थी और सफ़ेद टॉप वो भी नाभि के ऊपर से … जिसमें मेरे चूचे साफ दिख रहे थे.

मैंने सोचा इस नाटक को ख़त्म करके असली खेल का मज़ा लेने का यही सही टाइम है, तो मैं नीद खुलने का बहाना बनाते हुए उठा और चौंकते हुए बैठ गया. यह स्पर्श किसी लड़की का पहला स्पर्श था।मेरे हाथ उसके पीठ को सहला रहे थे जबकि मेरा लिंग उसके पेट पर दस्तक दे रहा था. सेक्सी पोर्न हिंदी मूवीदादा … दादा … क्या हुआ? दीजिये कपड़े!” रीना अपनी बांह को हिला कर थोड़ा जोर से बोली।अब भी बाहर से कोई आवाज़ या हरकत नहीं हुई.

मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था, ऐसा लग रहा था, जैसे मैं सातवें आसमान पर उड़ रहा हूँ. मैंने पूछा- मॉम, कहाँ जा रही हो? कब तक आओगी?तो मॉम बोली- पुष्पा आंटी के घर जा रही हूं.

उसकी चूत पर रगड़ने से लंड के टोपे में जो सनसनाहट हो रही थी वो एक अलग ही मजा दे रही थी. मैंने उसके साथ साथ गांड में उंगली करने और करवाने का मजा भी लिया था. मैं इन्तजार करूंगी तुम्हारा।मैं बोला- ठीक है, मैं रात में आ जाऊंगा.

अब उसने मां के पीछे से उसकी चूत के छेद पर अपना लंड रखा और एक धक्के में अपना पूरा लंड मां की चूत के अंदर घुसा दिया. जैसे ही मैं आया, वो मुझे देख कर मुझसे लिपट कर रोने लगी क्योंकि उसकी बुआ जी की मृत्यु हुई थी. बेटा अपने दोस्तों के साथ और बहू अपनी कुछ फ्रेंड्स के साथ बिजी हो गयी.

मेरा बेटा सिर्फ अंडरवियर में था और मेरी बहू एक नाईटी में जो सिर्फ उसकी चूत तक आ रही थी.

मैं उससे चुदाई करवाने की सोचने लगी पर मुझे चुदाई से बहुत डर लगता था. फिर मेरा लंड खुद ब खुद ही छोटा होकर उसकी चूत से निकल कर बाहर आ गया और सिकुड़ गया.

अब इस तरह से काम चलने वाला नहीं था, सो मैं अपने आपको ठीक करके बैठ गया. आज इस रियल घटना को एक दिलचस्प सेक्स कहानी का रूप देकर मैं अन्तर्वासना के अपने साथी पाठकों को भेज कर रहा हूँ. इस तरह से एक हफ्ते में ही वो मुझसे पूरा खुल गई थी और अब तो वो भी नंगी होकर मुझे तेल मालिश करने लगी थी.

उसकी चुत इतनी टाइट थी कि मेरा थोड़ा सा लंड उसकी चुत में ही गया और उसकी मुँह से चीख निकल गयी. हनी की कमर पकड़कर लण्ड को अन्दर बाहर करते करते एक बार मैंने जोर से धक्का मारा तो पूरा लण्ड हनी की चूत के अन्दर हो गया. डिस्चार्ज का समय करीब आते आतेहनी भी पूरे जोश में आ गई और अपने चूतड़ उछाल कर कहने लगी- मारो फूफा जी … और जोर से मारो.

पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर दादा … दादा … क्या हुआ? दीजिये कपड़े!” रीना अपनी बांह को हिला कर थोड़ा जोर से बोली।अब भी बाहर से कोई आवाज़ या हरकत नहीं हुई. मैंने उनके सर को पीछे करके उनके होंठों को चूमा, कानों में गर्म सांसों को छोड़ा, इससे वो चुदवाने के लिए मचल उठीं.

अरेबियन सेक्सी

उसके बाद उसने अपनी जीभ मेरी मुह में डाल दी और मैंने उसकी जीभ चूसी।मैं अपने साथ एक गमछा साथ लाया था, मैंने उसे वहीं जमीन पर बिछा दिया और निधि के टीशर्ट को उतारने लगा तो निधि ने मुझे रोक दिया।वो बोली- कोई आ जाएगा तो दिक्कत हो जाएगी. मानवी ने लंड शब्द सुना, तो मेरी छाती पर मुक्का मार कर कहने लगी- इतनी क्या हवस है … तुमने कभी सेक्स नहीं किया क्या?मैंने कहा- किया होता, तो बात ही अलग होती. मगर तब तक उसकी उत्तेजना इतनी ज्यादा बढ़ गयी थी कि उसका वीर्य उसकी पैंट में ही निकल गया.

उससे बातें हुईं, तो पता चला कि वो एक स्कूल टीचर है और बरनाला पंजाब में अकेली रहती है. मैंने उसकी सलवार बिल्कुल निकाल दी और हम दोनों ही आगे नंगे हो चुके थे, हम दोनों ने ही नीचे कुछ भी नहीं पहना था. ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी बोलने वालीफिर उसमें से एक बोला- रेनू यार, क्या हम तेरे साथ फोटो ले सकते हैं?तो मॉम बोली- भोसड़ी के … मेरी चूत ले ली, मेरी गांड मार ली.

नवीन जी मेरी चुत का नमकीन पानी पी गए और मेरी चुत को चाट कर साफ़ लार दिया.

अगर मुझे पहले इस दर्द का पता होता तो मैं आपसे कभी अपनी चूत नहीं मरवाती. मैंने पूछा- बहू, दर्द हो रहा है तो निकल लूं?बहू बोली- डैडी, आपका लंड काफ़ी अंदर तक जा रहा है इसलिए थोड़ा दर्द हो रहा है.

उस डिब्बे में रात में जलने वाली नीली लाइटें शायद खराब थीं … इसलिए घुप्प अंधेरा हो गया था. समय देखते टी टी ने देख लिया और कहने लगा- जानेमन अभी एक घण्टा और बाकी है. दूसरी चाहत ये कि किसी दूध देने वाली भाभी या रंडी के मम्मे चूस कर दूध पियूं.

कोमल कहने लगी- ऐसा नहीं है, ये जो तुम सोच रहे हो ये तुम्हारे मन का वहम है.

चिन्ना की इस हरकत से करोना के बदन ने जोर का झटका खाया और ना चाहते हुए भी उसके मुँह से सिसकती लरजती आवाज मैं निकल गया- हाँ, बहुत मजा आ रहा है अंकल!चुदक्कड़ चिन्ना को तो बस इसी बात का इंतजार था. उसकी लम्बाई मेरे से बस थोड़ी ही छोटी थी। उसका नाप तो मुझे सही नहीं पता पर 32-26-30 तो आराम से होता उस वक़्त।उसका स्वभाव बहुत ही अच्छा था और वो बहुत ही सीधी थी क्योंकि जब भी दोस्तों के बीच कोई वयस्क मजाक होता था तो उसको समझ नहीं आता था। इस कारण हमारे बीच भी कभी ऐसी-वैसी बातें नहीं की हुई. तुम्हारे जैसा शरीर चोदने को मिले, तो मैं गांड में लंड डाल कर चुदाई शुरू कर दूंगा.

लाइव गर्लआंटी की गर्म और गीली चूत में लंड जाने के बाद मैंने तेजी से आंटी की चूत में धक्के लगाने शुरू कर दिये. वो मुझे जाने नहीं दे रही थीं … फिर भी मैंने जाने का निश्चय कर लिया था.

दाहोद गोधरा का सेक्सी वीडियो

क्या तुम्हें आज की चुदाई में मजा नहीं आया?वो बोली- मजा तो आया लेकिन दर्द भी बहुत हुआ. कभी विशु की जीभ माँ के मुख के अन्दर तो कभी माँ की जीभ मेरे दोस्त के मुँह में!वे दोनों इतने गर्म हो चुके थे कि एक दूसरे के अंदर मानो खो गए थे. भाभी ने गांड ढीले करके लंड को सैट किया, तभी मैंने लंड गांड के अन्दर पेल दिया.

मैं आपको बता दूँ कि ये मेरी ज़िंदगी के पिछली 7 सालों मतलब सन 2012 से अब तक की सच्चाई है, इसलिए ये कुछ लंबी हो सकती है और आपके सामने कई भागों में आएगी. नताशा- हां जय … मैं आज से तुम्हारी गुलाम हूँ … दासी हूँ तुम्हारी … और जोर से चोदो मेरे राजा … आज मैं जी भर कर तुमसे चुदना चाहती हूं … फाड़ डालो मेरी चूत को अपने लंड से … इसका भोसड़ा बना दो डार्लिंग … आई लव यू राजा ओह यस अपना सारा माल चुत में ही डालना जय ओहह यस. एक दिन उसने मुझे अपने घर बुलाया तो मैंने उसकी तन्हाई कैसे दूर की?प्यारे दोस्तो, मेरा नाम राजीव है.

उसके आगे आकर मैंने कहा- लो डार्लिंग, मेरे पेट को, मेरी छाती को और मेरे निप्पल को किस करो. अब वह बीच- बीच में अपने दोनों हाथ चिन्ना के हाथों पर रख कर उन्हें वहीं रोक लेती थी जैसे इशारा कर रही हो कि ‘प्लीज, मेरे निप्पलों को अपनी चुटकियों में पकड़े रहो. नीचे मेरा मुंह उसकी जांघों को चूस रहा था और ऊपर मेरे हाथ उसकी चूचियों और निप्पल्स को रगड़ रहे थे.

अब वे मेरे पीछे बैठ कर मेरे दोनों गोलों को अपने हाथ से और चौड़ा कर के खोलकर निहारने लगे. वो मेरी मां के ऊपर झुके हुए थे और अपने चूतड़ों को जोर जोर से मां की चूत की ओर धकेल कर उनकी चुदाई कर रहे थे.

घर के सब लोग अपने अपने काम में लगे थे तो मैं ज्योति को अपने रूम में लेकर आ गया.

भाभी भी शायद मूड में थीं तो वो भी बिंदास अपनी चूचियों को दिखा कर मजा ले रही थीं. बिहार वाली भाभी के सेक्सीमैंने उसकी पैंटी निकाली और देखा कि क्या मस्त उजला स्वर्ग सा नजारा था. फोटो लड़की का सेक्सी वीडियोदोनों की काफी देर तक चुदाई कर सकोगे?मैंने कहा- ठीक है … भाभी मैं तैयार हूं. बुआ ने अनिल को मेरे बारे में बताया और कहा- यह मेरी भतीजी पल्लवी है, और यहाँ पढ़ने के लिए आई है.

इसके साथ ही मध्य पूर्व की शादियों में इस तरह का चलन काफी आम रहा है.

फिर इसके बाद क्या हुआ, ये सब मैं आपको अपनी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा. मैं उसकी पूरी चूत को जुबान से चाटने लगा, उससे उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं. मैं भाईपना दिखाते हुए उसके पेट को दबाने लगा, जिसका उसने बिल्कुल भी विरोध नहीं किया.

बलविंदर साहब कभी एक हाथ से एक चूची मसलते तो कभी दूसरे हाथ से दूसरी चूची मसलते और इन्हीं सबके बीच में वह सेजल के चूची को चूस रहे थे सो अलग. सैम बहुत प्यार से और धीरे धीरे मेरे निपल्स को चूस रहा था और किस कर रहा था. अगले 2-3 मिनट में मैं झड़ने को हुआ, तो उसने बोला- आह साथ में ही आना … मैं भी बस झड़ने वाली हूँ … तुम मेरे अन्दर ही मेरे साथ झड़ जाओ … मैं तुम्हारा माल अपने अन्दर महसूस करना चाहती हूँ.

हिंदी भाषा में बोलने वाली सेक्सी वीडियो

यह कहानी एक ऐसी लड़की की है जिसे अपने अब्बू की मौत के बाद अपनी दो बहनों का पेट पालने के लिए घरों में काम करना पड़ा. मुझे तो मजा आ गया चाचू आपका लंड अपने अंदर लेकर!मैं बोला- मेरी जान, मैं तो कब से तुझे चोदना चाहता था, पर डरता था कि तू बुरा ना माँ जाए।अब हम लोग रोज रात में चुदाई का मजा लेने लगे। वो प्रेगनेट ना हो जाये इसके लिये उसके लिए ‘सहेली’ गोलियाँ लाकर रख ली थी, मैं उसे रोज गोली खिला देता था। अब कोमल मेरे साथ बहुत खुश थी. मैं बड़ा खुश हुआ।क्या बूब्स थे उसके … देखते ही सिर्फ़ चूसने का मन करता था। मैं गर्म होने लगा, अब मुझे हिलाना था.

मैंने अपने लंड को उसकी चूत की फांकों में घिस कर दरार में रखा और घुसेड़ दिया.

कुछ दिन बाद तो अंकित पहले जैसे क्लास में काफी देर आने लगा और देर तक रुकने की कोशिश करने लगा.

उसके साथ मैंने किस तरह से मस्ती की और उसकी गांड चुदाई करने का मेरा अनुभव कैसा रहा वो मैं आपको अपनी अगली कहानियों में बताऊंगा. टीवी में क्राइम पेट्रोल चल रहा था उसमें दिखा रहे थे कि कैसे मकान मालकिन के किराएदार से संबंध बन गए. दारू पिलाकर सेक्सी वीडियोअब उसको भी अच्छा लगने लगा और वो भी गांड आगे पीछे करके साथ देने लगी.

उसने वैसे ही मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी साड़ी ऊपर की और मेरे ऊपर चढ़ गया. मैं पहली बार इस तरह से अपने घर से बाहर अपने चाचा के यहां पर रहने के लिए गया था. मैं अपने पाठकों को बताना चाहूंगा कि ये मेरी फर्स्ट स्टोरी राइटिंग है.

आने वाली स्थिति की कल्पना से उसकी चूचियों में खुमारी भर गई, निप्पल सख्त हो गये, चूत पानी से लबरेज़ हो गई।कहानी का पिछला भाग:जवान लड़की और नेता जी-2धीरे धीरे करोना को होश सा आया. पांच मिनट बाद ही मैंने उसकी चूत को अपने रस से भर दिया और हम दोनों बेड पर ही लेट गए.

फिर मैं खड़ा हो गया और बहू ने अलमारी में से एक टाई निकली और मेरे गले में डाल के उसे नॉट बांधने लगी.

उसके मुंह से मस्त सेक्सी आवाजें आ रही थी- आह्ह … आह्ह … अम्म … ओह्ह. उसको अच्छे से मसाज करने के बाद मैंने उसके दूध जैसे सफेद बदन से चॉकलेट साफ़ करना शुरू किया, तो इससे वो और तड़पने लगी. इस बार मैंने उसे अपनी गोद में बिठा लिया और लंड पेल कर जोर जोर से झटके देने लगा.

देहाती सेक्सी वीडियो रोमांस यदि आप इस तरह के प्रयोग का मन बना चुकी हैं तो आप कुछ इस तरह से इसको आजमा सकती हैं-योनि पर कामोत्तेजक मेंहदी और योनि मसाज-योनि मसाज से सीधा तात्पर्य है कि आप अपनी स्त्रियोचित ऊर्जा को जगा रही हैं. इस बार मैंने मन में निश्चय कर लिया था कि इस बार जैसे भी हो, किले (नसरीन की चुत) के दरवाज़े को तोड़ देना है.

अपनी शादी खत्म होने के बाद से दीदी को शायद इस तरह से सेक्स करने का मौका नहीं मिला था. मैंने लाइफ में डिलडो पहली बार देखा था- ये क्या है रानी?वो बोली- बाबूजी, ये नकली लंड है जिसे आपकी बहू हमेशा अपनी चूत में लेती है. पापा मेरी मां की पीठ पर पीछे से चूम रहे थे और उसकी चूचियों को दबाते हुए उसकी चूत पर लंड को घिस रहे थे.

नंगी चुदाई सेक्सी हिंदी में

कुछ ही देर में वो फिर से गर्म हो गई और बोलने लगी- आंह साले कितना मस्त चोदते हो … आंह फाड़ दो आज मेरी चूत को … उन्ह भोसड़ा बना दो मेरी चूत का … रगड़ कर चोदो … आह … मुझे जी भरके चोदो. उसने देरी ना करते हुए उसे मुँह में ले लिया और मैं भी बहुत मज़े से उसको लंड मुँह में दिए जा रहा था. हे भगवान! सुबह के 4 बजे यह लड़की … यहां … मैंने अंदर बुलाया, गेट बंद किया।सीमा- क्यों जनाब कैसा लगा सरप्राइज?मैं- तुम पागल तो नहीं हो? इतनी रात में क्या कर रही हो?सीमा- आपसे मिलने आयी हूँ। लाइट ऑफ करो.

उसने मेरी पीठ पर नाखून गड़ा दिए और दर्द से कराहते हुए बोली- रुक तो जा मादरचोद … पानी तो आने दे. जब भी हमें अकेले में मौका मिलता, मैं कज़िन सिस्टर के साथ सेक्स का मजा लेता.

ऐसा करने पर वो ओर मचलने लग गई और बड़े प्यार से मुझे अपने मम्मे पिलाने लगी.

पापा ने मेरे पैरों को पकड़ा और घुटनों के बल मोड़ कर चौड़ा कर दिया … जिससे मेरी चूत की फांकें खुल गईं. मैंने पीछे से उसकी चूत में अपना लंड डाला और रेलगाड़ी की तरह उसको ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. मैंने उसको कुछ देर मसलने के बाद बोला- चलो अब वो काम करें, जिससे आग शांत हो जाती है.

हालांकि मैं चाय पी रहा था, लेकिन मेरी नज़र बार बार उसके चुचों पर जा रही थी. उसने कहा- हां चल इधर आ … तेरी फीस भी ले लेते हैं और तुझे पहनना भी सिखा देते हैं. मैंने यह बात सुनी और सिम्मी को मैसेज किया- कल से मुझसे बात करने की कोशिश मत करना।सिम्मी का फोन रात भर आता रहा पर मैंने कोई जवाब नहीं दिया।सिम्मी ने मुझे एक मैसेज किया- आप मेरी गलती की कुछ भी सजा दे दो पर प्लीज मेरे साथ बात करो।पर मैंने कुछ भी जवाब नहीं दिया।एक दिन मेरे ससुराल से फोन आया कि सिम्मी की दादी का निधन हो गया है.

पांच मिनट बाद हम दोनों साथ में झड़ गए और एक दूसरे को जोर से अपनी बांहों में भर लिया.

पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चर: मेरा नाम आयुष अग्रवाल है और मैं नैनीताल (उत्तराखंड) का रहने वाला हूं. तब मैंने कहा- देखो, यहां हम दोनों ही एक दूसरे का ख्याल रखने के लिए हैं.

उसके बाद विशु ने अपने एक हाथ से मां के एक बूब्स को दबाना चालू किया और अपने मुंह के अंदर मां के दूसरे बूब को भर लिया. तभी पहले टीटी ने मेरी गांड के छेद पर थोड़ा सा थूक लगाया और अपना 7 इंच का लंड मेरी गांड में पेल दिया. जब भी रचना की चूत का गर्म पानी मेरे लौड़े पर महसूस होता तो मेरी आग और भड़क जाती थी.

मैं- पर शुरुआत में दर्द होगा, ये पता है ना?शिल्पा- हाँ, इतना तो मुझे भी पता है … ऐसे ही इतनी बड़ी नहीं हो गई … और मुझे ये भी पता है कि हमारे पर कंडोम नहीं है तो मुझे शायद गोली भी खानी पड़े.

फिर मैंने स्कर्ट रूपी घूंघट को उठाया और अपनीं बहन की प्यारी सी गांड देख कर मुझे मजा आ गया. उसे देख कर वो एकदम चौंक गयी और मुझसे पूछा- आपको कुछ और भी हो रहा है?मैंने कहा- और क्या?तो उसने मेरे को वो रैपर दिखाया. उसने बताया कि उसके हसबैंड का लंड मेरे जितना बड़ा और मोटा नहीं है इसलिये मेरे से चुदवाने के लिये आती है।दोस्तो, कच्ची बुर की पहली बार चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी? बताना जरूर मुझे मेल करके।[emailprotected].