फिल्म की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी भेजो फुल

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी भेजना: फिल्म की बीएफ, और वो अपने दोनों हाथों से मेरी चूत के फलकों को फैलाते हुए अपनी नुकीली जीभ को चूत के अंदर बाहर करने लगा.

सेक्सी वीडियो बुड्ढे आदमी का

सुबह 10 के करीब मेरी आंख खुली और मैं नहाने चला गया। नहा-धो कर मैं श्वेता संग नाश्ता कर रहा था।इसी बीच मैंने श्वेता से पूछा- अरे श्वेता, वो नेहा क्या करती है?वो बोली- अभी तो वो नौकरी की तलाश में है. सेक्सी वीडियो डबल एक्स एक्स एक्सकहकर उसने एक बहुत ही सेक्सी डोरी नुमा पैन्टी और ब्रा मुझे पहनाने लगा.

जैसा कि मैंने बताया कि यह उसके साथ पहली बार था, तो मैंने चूत पर अपना थूक लगा कर चुत को रगड़ा. ब्लू पिक्चर एक सेक्सी फिल्मअपनी गांड में उंगलियां महसूस करते ही स्नेहा ज़ोर से चीखी- उई मां … मर गई … आआह … आऐईईई … निकाल हरामी.

फिर मैंने उसके और सोना के मिलने के लिए अपना रूम दे दिया और हम दोनों, मैं और अल्पना रूम के बाहर आ गए.फिल्म की बीएफ: जल्दी से अपनी बेटी की चूत दिला नहीं तो मैं तेरा वीडियो इंटरनेट पर डाल दूंगा.

उन्होंने फिर पूछा- और काम कितने दिन करना होगा?उसने कहा- आप जैसा चाहें, डेली भी कर सकते हैं.एक मिनट से भी कम समय में उसके मुँह से आंह उन्ह … की आवाज आने लगी और वो हल्के हल्के से बोलने लगी- आंह मेरी जान आदी … चाट लो मेरे राजा … अच्छे से चाट लो … आह शांत कर दे इस बुर को … साली बहुत तड़पाती है … आज मेरी इस कुंवारी बुर को अपने लंड का मज़ा दे दो जानू.

लागे सेक्सी - फिल्म की बीएफ

मैंने उससे पूछा- तुम्हारी चाची ने कुछ नहीं कहा?वो बोली- चाची से मेरी यारी है.जैसे ही मोहित अंकल ने मुझे घोड़ी बनाया, तो पूजा आंटी मेरे नीचे आ गईं और मेरा लंड चूसना जारी रखा.

फिर मैंने अपने लंड को पीछे से उसकी चूत में लगा दिया और उस पर झुकता चला गया. फिल्म की बीएफ ऐसा करते हुए अंकल ने लंड को चूत के छेद पर टिका दिया और जोर देते हुए अंदर डालने का प्रयास करने लगे। मगर लंड इतना मोटा था कि आसानी से अंदर नहीं जा रहा था।अब अंकल ने मेरे दोनों हाथों को जोर से पकड़ लिया और अचानक से एक धक्का लगा दिया।फच्च… की आवाज़ के साथ करीब 2 इंच लंड चूत में घुस गया.

अपनी मन की इच्छा पूरी करके उसने भी अपना लिंग मेरी योनि में घुसा दिया और मेरे कन्धों को दबा कर मेरी योनि को भेदने लगा.

फिल्म की बीएफ?

फिर हम दोनों दूसरे रूम में आ गए और ऐश्वर्या मेरे इस आलिशान रूम को देखते ही रह गईं … क्योंकि यह रूम सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ एकदम स्टाइलिश लुक में बनाया गया था. साथ ही वो दोनों हाथों से मेरे चूचे दबा रहा था। मेरे होंठों से हट कर उसने मेरी गर्दन चूमना शुरू कर दिया और अपने दोनों हाथ मेरे टॉप के अंदर घुसाकर मेरी ब्रा के ऊपर से मेरे चूचे दबाने लगा।मैंने भी उसकी शर्ट के बटन खोलने चालू किये और उसकी नंगी छाती पर हाथ फिराने लगी।तभी अचानक वो उठा और अपनी पैंट उतारने लगा. मैंने भाभी के करीब जाकर कहा- गांड से इतना काम करोगी … तो ऐसा ही होगा ना!उन्होंने कहा- मैं भी क्या करती … मेरे चूतिया पति का लंड नहीं उठेगा … तो मुझे तो रंडी बनना ही पड़ेगा ना.

फिर मैंने उसको अपने पैरों के पास लिटा लिया और लंड चूसने के लिया बोला. कुछ दिन बाद सनी की गर्लफ्रेंड सोना अपने घर चली गई थी और ये एक बढ़िया अवसर था, जब सनी और अल्पना की चुदाई करवाई जा सकती थी. अल्पना एक घंटे बाद अपने घर निकल गई और मैं नहा कर कुछ खा कर फिर से सो गई.

ठंड के छोटे दिन होने के कारण शहर से कस्बे तक जाने में ही दिन डूब गया. फिर कुछ देर बाद मैं उसकी बगल में आ गया और नाज़नीन उठ कर बाथरूम में चली गयी. अब मुझे भी ये सब देखने में मज़ा आने लगा था क्योंकि ये सब मेरे लिए एकदम नया अनुभव हो रहा था.

मैं अपने भरे हुए चूचों को मसलते हुए विशाल के लंड की कल्पना करने लगी. मेरी बीवी मुझे चूत नहीं देती है, इसलिए मैं तेरे जैसी रंडी के पास जाता हूं चुदाई का मजा लेने।फिर उसने मुझे सीधा लेटा दिया और मेरी टांगों को चौड़ी करके मेरी चूत में लंड घुसा दिया.

मैं भाग कर उनके पास गया और बोला- ये क्या था?वो बोलीं- तुम कहां करोगे? जगह है?मैंने कहा- आप अपना नंबर दो … मैं थोड़ी देर में आपको कॉल करता हूं.

मीना मजा लेते हुए बोली- हितेश, आह तुमने आज मुझे लड़की से औरत बना दिया है … आंह … शादी के इतने दिनों के बाद आज पहली बार ऐसी चुदाई का मजा आया है.

मैं खूब मिलने की जिद करता, क्योंकि उसके अलावा मैंने किसी को भी छूना बन्द कर दिया था. वो तो लगभग 30 साल का पूरा आदमी लग रहा था। अब तो मेरा डर और भी ज्यादा बढ़ गया कि ये तो मुझसे बड़ा लड़का है. वो थोड़ी देर चुप हो गयी और फिर बोली- विक्की मैं भी तुम्हें पसंद करती हूं मगर डर लगता है कि किसी को कुछ पता चल गया तो क्या होगा?उसके हाथ को सहलाते हुए मैंने कहा- कुछ पता नहीं लगेगा किसी को, तुम उसकी चिंता मत करो.

मैंने उस समय तो फोन नहीं उठाया क्योंकि मैं शालिनी की चुदाई कर रहा था. दूसरे दिन सुबह ऐश्वर्या ने तैयार होकर अपने कपड़े पहन लिए और मेरा ड्राइवर ऐश्वर्या को उनके घर छोड़ आया. उसने कहा कि लेटेस्ट मूवी है और मुझे पसंद आयेगी और पसंद न आये तो वापस कर दूंगा.

बहाने से अपने लंड को बाहर निकाल कर ऐसे लटका लेते थे जैसे वो खुद ही बाहर निकल आया हो.

उसकी सिसकारियों में अब आनंद के साथ दर्द भी झलकने लगा- आह्ह … आईई … याह्ह … सस्स … आईया … आह्हह चोदो … ओह्ह … चोदते रहो … फाड़ दो मेरी चूत को मेरी जान. मामी की चूत के गीले होंठों को चूसते हुए जो आनंद मुझे उस वक्त आ रहा था मैं आपको क्या बताऊं दोस्तो। इससे पहले भी मैंने मामी की चूत चोदी थी लेकिन आज तो सरिता मामी की चूत कुछ ज्यादा ही स्वादिष्ट रस छोड़ रही थी जिसकी हर एक बूंद को मैं चाट कर पी जाता था. मैंने कहा- ये सब (कैमरे) किस लिए?योगेश जी बोले- पद्मा जी, सिर्फ अपनी यादों के लिए, हमारे पास दो चार दिन ये सामग्री रहेगी, फिर हम इन दृष्यों नष्ट कर देंगे.

अब पूजा आंटी ने मोर्चा संभाल लिया और वीडियो बनाने का काम मोहित अंकल कर रहे थे. उसे दर्द हुआ … मगर वो नशे में होने के कारण थोड़ी ही चीखी फिर मस्त चुदाई स्टार्ट हो गयी. मगर वो शायद मुझसे कुछ आकर्षित थी इसलिए मुझे दिखाने के लिए वो अपने मोबाइल लेने नीचे चली गयी.

जिससे उसकी चूत खुलकर मेरे सामने आ गई और मैंने अपनी जीभ सीधे उसके छेद में डाल दी.

इतने में ही तेरे चाचू ने मेरे होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और मुझे किस करने लगा. फिर देखा कि पापा बाथरूम में थेजब मां रूम से बाहर आईं … तो जितेन्द्र मां को देखकर अपने लंड को सहलाने लगा.

फिल्म की बीएफ मैंने कहा- तुम्हें नहीं खाना है क्या? कुछ देर पहले तो भूख से मरी जा रही थी!वो बोली- बेशर्म इन्सान, ये तो बताना चाहिए कि कैसी बनी है? बस खाये जा रहे हो!मैं बोला- बहुत टेस्टी बनी है. कुछ देर की चुदाई के बाद मेरा दर्द कम हो गया और मैं बस उसके लंड के झटकों को सहने लगी.

फिल्म की बीएफ मैंने उसकी सलवार निकाल दी और अब वो सिर्फ ब्रा में थी क्योंकि उसने पेंटी नहीं पहनी थी. ससुर का मोटा लंड बहू ने अपनी चुत में लिया, तो वो एक बार को सिहर गई … मगर कुछ ही पलों बाद ससुर बहू में चुदाई का खेल शुरू हो गया.

घर से मैंने योगेश जी को कॉल करके बता दिया जो उन फाइनेंसर लोगों ने मुझसे बोलने के लिये कहा था.

हद फिल्म सेक्सी

मैं सोच रही थी कि चोट तो ऐसी जगह लगी है, जहां तो अब चाह कर भी ध्यान नहीं रख सकती. बातों ही बातों में मैंने उससे पूछ लिया- तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है क्या?वो मेरी ओर ऐसे देखने लगी जैसे पता नहीं मैंने उससे क्या पूछ लिया हो!मैं सोचने लगा कि शायद मैंने उससे ये सवाल करके गलती कर दी है. वो पागल हुए जा रही थीं और कामुक होकर कहने लगीं- प्लीज़ और मत तड़पाओ मेरी चुत को! अब तो इस चुत को फाड़ दो.

जैसे तैसे दर्द को बर्दाश्त करते हुए मैं उसके लंड को चूसती रही और पीछे से दूसरे लिंग के धक्कों को अपनी गांड में बर्दाश्त करने लगी. पल भर की देर किये बिना मौसी ने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी. नाज़नीन मेरे लंड का पागलों की तरह चूसने और चाटने में ऐसे लगी थी … जैसे कोई बहुत भूखी औरत को कोई मिठाई मिल गई हो.

मेरी बीवी के चुचों की साइज़ 32 इंच की थी, जो बहुत ही प्यारी लग रही थी.

फिर मैं उसके एक पैर के घुटने से किस करते हुए उसकी चूत के पास तक आया और एकदम मैंने उसकी चूत को अपने होंठों में भर लिया. अब दूसरी फैमिली मेरी बड़ी ननद की है, उनकी फैमिली का परिचय भी बता देती हूँ. सनी ने मेरी जींस का बटन खोले और मेरी पैंटी को खींच कर मेरी चुत को सहला दिया.

फिर मैंने उसके और सोना के मिलने के लिए अपना रूम दे दिया और हम दोनों, मैं और अल्पना रूम के बाहर आ गए. मैं कुछ समझ पाती, तब तक तीनों लड़कियां रिया, फ़रज़ाना और स्नेहा ने मुझे पकड़ लिया और बेड पर पटक दिया. मैंने भी पूछ लिया- दी, आपका दिल नहीं करता क्या सेक्स के लिए?इस पर उन्होंने सिर नीचे कर लिया और नजर उठा आकर मुझे देखने लगीं.

उसके मखमली होंठ कभी मेरे माथे को चूमते और कभी मेरे गालों को प्यार से किस कर रहे थे. वो फोन पर किसी से बात करते हुए आ रहे थे और बोल रहे थे- जल्दी आ, अगर आना है तो। माल बहुत गर्म है फिर ठंडा हो जायेगा.

ऐसे ही हम दोनों एक दूसरे के गुप्तांग मसलते रहे और आनन्द लेते हुए अन्दर हो रही सोना और सनी की चुदाई देखते रहे. उसका नाम नेहा था और वो हमारे घर पर किराएदार के रूप में रहने के लिए आयी थी. और सबने एक-एक बार मेरी चूत मारी, पूरन और प्रिंसीपल से मैंने गांड चुदाई।फिर हम सब साथ में नहाए, सबने मिलकर मुझे साफ किया।मैंने कपड़े पहने और मैं घर के लिए निकल गई।तो दोस्तो, ये थी मेरी चूत गांड चुदाई कहानी, रांड बनने की कहानी, मेरी और भी कहानियाँ है जिसे मैं आप तक जरूर पहुँचाऊंगी। तब तक के लिए ‘गुड बाय’।[emailprotected].

जब मेरा दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैंने अपनी गांड उठाकर उसे सिग्नल दे दिया.

तो दोस्तों ये मेरी सच्ची सेक्स कहानी थी, जो मैंने आप सभी के सामने रखी. कुछ दिन बाद मेरे एग्जाम शुरू होने वाले थे, तो मैंने दीदी को मुझे पढ़ाने के लिए बोला. मैंने अपनी जीभ को नुकीला करके पूरी उनकी चूत की गहराइयों में डालना शुरू कर दी.

फिर एक ने अपना लंड निकाल कर नानी की गांड में पेल दिया और नानी की गान मारने लगा. उसके पापा सब्जी बेचा करते थे और उसका भाई अपने पैसों से उसकी पढ़ाई का खर्च उठाता था.

पहले ही दिन मुझे कोचिंग में एक कॉलेज गर्ल मिली, जिसका नाम नम्रता था. मोहित अंकल ने मुझे देखा और बोले- डार्लिंग, तुम्हारा लौंडा गर्म हो गया है. देखने में काफी रसीला लग रहा था इसलिए नजर भी वहीं पर जैसे चिपक रही थी बार बार.

हिंदी कॉलेज का सेक्सी वीडियो

अब जिगर ने बेड पर मेरी बेटी को सीधा लेटा दिया और चूत में लंड सैट करके उसे चोदने लगा.

लाल रंग की सिल्क की ब्रा और पेंटी, लाल पेटीकोट, लाल ब्लाउज़, लाल साड़ी ज़री के काम वाली, लाल चूड़ियाँ, माँग टीका, चूड़ियाँ, गले का बड़ा सा हार, नथनी, पायल, कलाई से उंगली तक कड़े और अँगूठी के दो सेट, कमर की चेन, झुमके, कोहनी के ऊपर और ब्लाउज़ के नीचे टाइट बाँधने वाली चेन, एक गोल्डन कलर की हाइ हील का जोड़ा. कुछ ही देर में मैं भी झड़ गया लेकिन सोनी ने मेरे ऊपर अपनी पकड़ ढीली नहीं की. उनके सीने में चल रही तेज सांसों के साथ भाभी के मोटे मोटे स्तन ऊपर नीचे हो रहे थे जो मुझे पागल बना रहे थे.

जब मेरी गर्म सांसें मेरी बीवी की चूत में जा लगीं तो इससे वो फिर से उत्तेजित हो गयी. इसे दो दिन के लिए वहां छोड़ देना, हम सभी दोस्त दो दिन तक इसके बदन से खेलेंगे और दो दिन बाद आकर इसे और जितना साल भर में कमाते हो, उसका दुगना मुझसे ले जाना. साउथ फिल्म हीरोइन की सेक्सीमैं मथुरा का रहने वाला हूं और अन्तर्वासना की इंडियन क्सक्सक्स स्टोरी का बहुत बड़ा फैन हूँ.

थोड़ी देर बाद मैंने पूछा कि‌ क्या कल शुभम यहां पढ़ने के लिए आया था?वो बोली- मुझे क्या पता … आया होगा?मैंने कहा- आया होगा नहीं … वो आया था. अब इतने लम्बे चौड़े हब्शी से चुदवाने के लिए दारू का सहारा तो जरूरी था ही.

वो व्याकुलता से बोली- कौन?मैंने चुटकी लेते हुए बोल दिया- वही, जिसका तू उस दिन खिड़की से देखकर कह रही थी कि एकदम कड़क लंड है. मैं नाटक करके जाने लगा- भाभी, मुझे जाने दीजिए … मेरे जाने का टाइम हो गया है. हम दोनों एक बार की चुदाई में ही इतना अधिक पस्त हो गए थे कि दोबारा सेक्स करने की रात भर ज़रूरत नहीं पड़ी.

मैंने भाभी को छेड़ा- क्या करूं … साफ़ साफ़ बोलो न … मेरी समझ में नहीं आ रहा है. मैंने हंस कर उसकी टांगें फैला दीं और उसकी मक्खन सी मुलायम बुर पर अपनी जीभ लगा दी. मैंने मां की पैंटी को हल्के से साइड में किया और उसकी चूत पर होंठ रख दिये.

लेकिन एक दिन रात को जब मैं पढ़ने के लिये बैठी और अपने बैग से बुक निकाल रही थी.

दीदी बोलीं- उसमें कहने की क्या बात है … मैं तो खुद तुमसे कहने वाली थी कि यहीं रुक जा. तो कॉलेज से पहले ही बस छोड़ कर नीचे उतर जाते और सुनसान सड़क पर बातें करते हुए चलते.

एक तरह से ये हो गया था कि अब मैं उन दोनों के लिए एक जुगाड़ बन गई थी. लेकिन सुबह में फिर एक बार लंड चूत का खेल हुआ और दोस्तों वो खेल अब हफ्ते में एक या दो बार हो ही जाता है. मेरी बीवी ने उसके लंड के उभार पर हाथ फेर दिया तो उसका लंड फनफनाने लगा.

देखने में काफी रसीला लग रहा था इसलिए नजर भी वहीं पर जैसे चिपक रही थी बार बार. फिर मैंने पेटीकोट को वापस नीचे कर दिया। अब हम खेत से बाहर आने लगे। मामी जी मेरे आगे आगे चल रही थी। उसकी मटकती हुई गांड मुझे दीवाना बना रही थी. मुझे नहीं लगता था कि मैं हिरोईन बन सकती थी इसलिए मैंने उसे इस बाबत पूछा कि उनको मेरे अंदर ऐसा क्या दिखा जो वो मुझे हिरोइन के रूप में लेना चाहते हैं?उसने कहा- मुझे ऐसी लड़की चाहिए जो यहां के मूल निवासी के जैसे दिखे और मंदाकिनी के जैसे जब अपने बदन को दिखाये तब लोग आकर्षित हों.

फिल्म की बीएफ रात में खाना खाने के बाद मैं मम्मी से बोला कि आज रीता को पूरी रात चोदूंगा. कोई बीस मिनट तक रवीन्द्रनाथ ने मां की चुत चोदी और उनकी चुत में ही झड़ गए.

खुला खुली सेक्सी सेक्सी

फिर मैंने उसके और सोना के मिलने के लिए अपना रूम दे दिया और हम दोनों, मैं और अल्पना रूम के बाहर आ गए. दस मिनट की मस्त चुदाई के बाद मैंने अपना पूरा वीर्य लता आंटी की चुत में ही छोड़ दिया और उनके ऊपर ही ढेर हो गया. (मैं वादा करता हूं)वो बोली- इस वक्त तुम्हारे बॉस को तुमसे बहुत जलन हो रही होगी.

इस तरह से करीब आधे घंटे तक मैं उसकी चूत और चूची को छेड़ छेड़ कर खेलता रहा. अल्पना एक घंटे बाद अपने घर निकल गई और मैं नहा कर कुछ खा कर फिर से सो गई. अमेरिकन सेक्सी हिंदीतीसरे दिन अचानक उनके पति मेरे कमरे में आए और मुझसे बोले- यह सब कुछ सही नहीं हो रहा मानव.

ये हमारे लिये सब कुछ करेगा लेकिन इसकी शर्त है कि ये तेरे साथ सुहागरात मनायेगा.

मैं उनको किस करने लगा और जैसे ही भाभी का ध्यान भटका, मैंने नीचे से उनकी पैंटी को जोर से खींच कर निकाल दिया. तो उन्होंने मुझे एक पल रुकने को कहा और खुद लंड पर कूद कूद कर गांड मरवाने लगीं.

’जिगर बोला- क्या धीमे? तेरी गांड फाड़ दूँगा मादरचोद … ले और तेज ले कुतिया. जिस मामी जी ने कभी मुझे गोद में उठाया होगा, उसी मामी जी को आज मैंने मेरी बांहों में उठा रखा था। मामी जी चुपचाप मेरी बांहों में लेटी हुई थी. क्रॉसड्रेसर सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मुझे लड़कियों के कपड़े पहनने का शौक था तो मैं अपने लिए ब्रा पेंटी और नाईटी कैसे खरीदता था.

मेरे हाथ जिया के जिस्म को सहला रहे थे और मेम मेरे बदन पर हाथ फिरा रही थी.

मेरे पति मेरी चुदाई रोज नहीं करते तो मैंने अपनी चूत की प्यास जरूर मिटाऊँगी. पहले पहल तो मैंने मना किया, पर बाद में कुछ दिन बाद मैं भी उसका लंड चूसने लगी. मैंने ठान लिया कि यही लंड लूंगी अपनी चूत में!सभी दोस्तो को मेरा हैलो। मेरा नाम ज्योति है.

सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो दिखने वालातब तक मेरी नानी ने मां की चुत रवीन्द्रनाथ के अलावा भी कई लोगों से चुदवा दी थी. आपको मैंने पिछली सेक्स कहानी में बताया था कि मैं अपनी दीदी के घर जाती रहती थी.

सेक्सी वीडियो सावधान

अब अविकार से माँ बेटा सेक्स स्टोरी जानिए:दोस्तो, मेरा नाम अविकार है. लड़की सेक्स की देसी कहानी में पढ़ें कि मेरी कॉलोनी में आयी नयी लड़की मुझे देखती थी. अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसकी सहेली से प्रिया के बारे में पूछा.

गले से लेकर किस करने लगा और उनको जोर जोर से उनके लिप्स पर किस करने लगा. उन्होंने एक ही झटके में पूरा लंड मां की चूत में उतार दिया और उसकी कमर को पकड़ कर जोर जोर से मेरी मां की चुदाई करने लगे. तो उसने सिर्फ इतना कहा- फिर कभी!और इतना कह के वो बगल में लेट गई।मैंने एक हाथ जल्दी से उसके वक्ष पर डाला लेकिन अभी ब्रा बची हुई थी। मेरे लन्ड में आग ऐसी लगी थी कि अब खेलने का मन नहीं था; बस पेलने का मन था।मैंने अँधेरे में उसकी ब्रा के हुक खोलने की कोशिश की। ब्रा बहुत टाइट थी उसकी। थोड़ी देर में ब्रा खुल गई.

मुझे लगा कि अब मेरे अन्दर का सारा पानी निकलने वाला है।इधर रोहित भी तेजी दिखानी शुरू कर चुका था।फिर वो रूकते हुए बोला- भाभी, पलंग पर सीधी लेट जाओ।मैं बिल्कुल सीधी लेट गयी।मेरे मुंह में अपने लंड को देते हुए बोला- भाभी, जैसे अभी तुम मेरे लंड को चूस रही थी, उसी तरह चूसो. मैंने उससे पूछा, तो उसने मुझे बताया कि उसके लड़के ऑपरेशन से हुए हैं. मैं भी जोश में आ गया- ले साली मेरी चूत रानी … ये ले बहनचोदी … ले लंड ले छिनाल … साली रंडी तेरी मां को चोदूं!मस्त धकापेल चुदाई होने लगी थी.

पर रोहित कहां मानने वाला था … उसने मेरे कूल्हे को अच्छे से और कसकर पकड़ लिया और अपनी जीभ मेरी चूत के अन्दर डालकर चाटने लगा।मेरा कंट्रोल खत्म हो गया था और मेरे अन्दर का फव्वारा छुट चुका था।इधर मेरी भी इच्छा उसके अन्दर से निकलने वाले वीर्य रस को अपने मुंह में लेने की नहीं हो रही थी और मैं उसके लंड को अपने मुंह से निकाल ही रही थी. मगर मुझे हैरानी इस बात को लेकर हुई कि मेरी बहन रानी भी उस लड़के का पूरा सहयोग दे रही थी.

मेरी चूत की सील मेरे कॉलेज के छात्र संघ के अध्यक्ष, जो अभी अंतिम वर्ष में था, ने तोड़ी थी.

मैं फिर से सोफे के किनारे पीठ टिकाकर और अपने पैर फैलाकर बैठ गई। मेरी नज़र चूत पर गई तो देखा कि मेरी चूत से उसका गाढ़ा वीर्य बह रहा था. दिल्ली की ब्लू सेक्सी फिल्मकमरे में पहुँच कर उन्होंने मुझे अपने पलंग पर बिठाया और खुद भी मेरे सामने खड़े हो गए। जेठजी ने झुक कर मेरी कुर्ती को मेरी कमर पर किनारों से पकड़ कर ऊपर करना शुरू कर दिया. सेक्सी हिंदी वीडियो बीपी सेक्सीपल भर की देर किये बिना मौसी ने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी. मैंने अपने कपड़े उतारकर उनके कपड़े भी अलग कर दिया और कुत्ते की तरह उनकी गांड के छेद में मैंने अपनी लंबी जीभ डाल दी और गांड चाटने लगा.

उसने झुक कर मेरे सामने ट्रे की, तो मैंने उसके दूध देखते हुए कप उठा कर उसे थैंक्स कहा.

लेकिन कुछ ही शॉट मारने के बाद शुभम का लंड ढीला पड़ गया और दोनों लेट गए. जिस कंपनी में मैं काम करता हूं, वह कंपनी एक साल पहले किसी प्रोजेक्ट पर काम कर रही थी. उसकी चूत को नंगी करके मैंने उसकी चूत में जीभ से चाटना शुरू कर दिया.

उसने अपने दोनों हाथ मेरी गर्दन के पीछे ले जाकर बांध लिये और अपनी दोनों टांगों से मेरी कमर को कसकर पकड़ लिया. बॉस की बीवी के साथ सेक्स करने के ख्याल से ही मैं रोमांचित हो रहा था. आप बड़े हैं, समझदार हैं, प्रोटेक्शन का ध्यान रखिये तो मुझे आपकी बात मानने में मुझे कोई आपत्ति नहीं.

मेरी भाभी की सेक्सी वीडियो

निकल गई। दीदी कुछ देर ऐसा ही करती रही और कुछ देर बाद उसने धीरे धीरे मेरा पूरा लण्ड अपने मुंह में गले तक डाल दिया।इससे मैं पागल हो गया और मैंने दीदी का सर पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से आगे पीछे करना शुरू कर दिया. मैं झट से कपड़े पहन कर उठा और पास के ठेके से स्ट्रॉंग बीयर की दो बोतलें लेकर आ गया. इससे पहले कि मामी संभल पाती और मुझे हटाने की कोशिश करती, मैंने मामी को जोर जोर से किस करना शुरू कर दिया.

मुझे चोद दीजिये दादा जी।ये सुन कर विजय बोला- देखा दादाजी, कितनी तड़प रही है साली लंड लेने के लिये! इसे तो पीछे बाड़े में ले चलते हैं.

मैं लंड हिलाते हुए बोला- अच्छा हुआ कि आप मिल गईं … नहीं तो मुझे मुठ मार के सोना पड़ता.

उन्होंने बोला- बेटा अभी तो कोई है नहीं … आप ऐसा करो मेट्रो स्टेशन पर जाओ और टोकन लेकर मेट्रो से आ जाओ. थोड़ी देर बाद शमशेर ने अपना अंडरवियर उतार दिया और मेरी बेटी की पैंटी भी उतार दी. सेक्सी जानवर की मूवीकोई पैसे के लिए बनता है, कोई मजे के लिए!पर मेरे जैसे कोई फंसाए जाते हैं, शादी का वादा करके और प्यार के चक्कर में फांस कर.

अब आगे की इंडियन गर्ल xxx स्टोरी:उन दोनों ने मेरी नानी की गांड मारने के बाद रविन्द्रनाथ से पूछा- ये लड़की कौन है. वह बोली कि सच पूछो तो मैं भी तुमसे प्यार करने लगी हूँ। बस फिर क्या था, हम दोनों एक दूसरे के गले मिल गए और एक दूसरे को हग कर लिया. जिस दिन वो मेरे गांव आया, उस दिन मैंने कॉलेज की छुट्टी मार दी और उसके साथ चली गयी.

तो मैंने बोला- एक बार मैं अपने फ्रेंड से पूछ तो लूं।दुकानदार हंसते हुए बोला- मैडम, इस नाईटी में आपको देखकर तो आपका बॉयफ्रेंड खुशी से पागल हो जाएगा।दरअसल वह नाईटी कुछ महंगी थी और मेरे पास इतने पैसे नहीं थे. आप यकीन नहीं करोगे, उस वक़्त मेरी बॉडी किसी भी तरह से समीर के जिस्म के लिए कमसिन लड़की जैसी नहीं थी.

मैं साइड में हो गया और जिया ने अपनी पैंटी को निकाल कर एक तरफ डाल दिया.

मैं सोचती थी कि जब हाथ लगाने से ये हाल है तो इन्हें पहनने के बाद कैसा लगेगा?अगले दिन मैं और जल्दी चली गई. उसने लंड पूरी तरह से गीला कर दिया और वो लंड को अपने मुँह के अन्दर चूसने लगी. मेरे लंड का हर शॉट उसकी चूत की दीवारों को खोलते हुए बच्चेदानी के अन्दर तक टक्कर मार रहा था.

हिंदी सेक्सी चुदाई का सेक्स सो उसके लेटते ही मैं उसके ऊपर उछलने लगी। कुछ ही देर में मेरा शरीर अकड़ने लगा और मैं फिर से एक बार झड़ गई।वो भी ज्यादा देर नहीं टिका और फिर से मेरी चूत में उसने गाढ़े वीर्य की बाढ़ ला दी। हम दोनों जम़ीन पर कुछ देर तक लेटे रहे। फिर मैं उठी और देखा तो आठ बजने ही वाले थे।हम दोनों जल्दी से बाथरूम में गए और एक-दूसरे को साफ किया। फिर मैंने उसके सामने ही कपड़े पहने. मैं पहले से ही गर्म थी और तेरे चाचू के होंठों को किस करने से और ज्यादा गर्म हो गयी और बस… उसके बाद से ये सब शुरू हो गया.

मैं सोच रही थी कि बड़े भैया एक बार फिर से मेरी चूत को रगड़ेंगे और मुझे फिर से ऐसा ही सुख देंगे. चूंकि थोड़ी देर पहले मैंने उसकी अम्मी को चोदा था, इसलिए मैं थोड़ा आराम से कर रहा था. अगले दिन जब मैं लाइब्रेरी गया, तो वहां नम्रता अकेले बैठे पढ़ रही थी.

सेक्सी फोटो नंगी सेक्सी फोटो नंगी

दोस्तो, मैं उसकी चुदाई करने के साथ-साथ उसकी चूचियों को भी हल्का-हल्का दबा रहा था. किस करते हुए ही मैंने उसकी शर्ट उतार दी। फिर वो मुझे सोफ़े पर ले कर गया. फिर अगली सुबह मैंने अपना लैपटॉप ओपन किया, तो देखा कि उन्होंने मेरी रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली थी और मैसेंजर पर हाय लिख कर भेजा हुआ था.

खासकर मुझे औरतों की चूत चाटना और गांड में जीभ डालना, उनकी बगलों को चाटना और उनका पेशाब पीना. पैन्टी ब्रा पहनाने के बाद वो बोला- भाभी, आप इस सेक्सी पैन्टी ब्रा में और सेक्सी लग रही हो.

मेरी लंबाई 5 फीट 6 इंच है और मेरे लंड की लंबाई 5 इंच और मोटाई 2 इंच है।बात उस समय की है जब मैं फर्स्ट ईयर में पढ़ता था। उस समय मेरे घर में बहुत सारे किराएदार लोग रहते थे। उन किरायेदारों में से एक लड़की का नाम निशा था।निशा 6 महीने से मेरे घर में किराये पर रह रही थी।वो कमरे में अकेली ही रहती थी.

और तुम मेरी चाय क्यों पियोगे, तुमने आज सोना के बूब्स जो मसल मसल कर जो पिये थे. मगर भाभी की पैंटी मेरे झटका देने के बावजूद उनके घुटने तक आ पायी थी. मैंने उसको पीछे के रास्ते से घर में एंट्री करवायी ताकि किसी को शक न हो.

देवर भाभी रोमांस सेक्स स्टोरी के पिछले भागदेवर से लिया चुदाई का असली मजा- 1में आपने पढ़ा कि मुझे अपने पति की रूखी चुदाई में मजा नहीं मिला. मैंने अपनी बीवी के मुँह में मुँह डाल दिया और एक जोर का धक्का देकर लंड उसकी चूत में घुसा दिया. इतना रस बह रहा था कि मेरा पूरा हाथ गीला हो गया। मैंने धीरे धीरे तीन उँगलियाँ अपनी बीवी की चूत में डाल दीं और दोनों नंगे होकर एक दूसरे से चिपके रहे।मेरा इस बीच एक बार और निकल गया।बीवी ने फिर धीरे से मेरे कान में कहा- आज ही शाम 4 बजे हम दोनों ने प्यार किया है।ये सुनकर तो मेरी वासना चरम पर पहुंच गयी कि मेरी बीवी ने हरी के साथ कुछ खेल खेला है.

मैं जान गई थी कि माया दीदी को मेरे भाई के लंड से चुदवाने का मन हो रहा था.

फिल्म की बीएफ: थोड़ी देर तक तो वो मेरे लंड को अपने हाथों से सहलाती रहीं, बाद में उन्होंने भी मेरे लंड को मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. फिर कमरे के बाहर दरवाजे के छेद से मोबाइल सैट करके वीडियो बनाने लगा.

इसलिए मैं अपने लिए कमाई का एक स्थायी जरिया ढूंढने लगी और मुझे एक नौकरी की जरूरत महसूस होने लगी. मैंने पूछा- वो अगली बार कब आएगी?वो हंस दी- बेताब हो गए हो?मैंने कहा- हद से ज्यादा. इतना कह कर उसने अपने दोनों हाथों से मेरे स्तनों को पकड़ा और मसलने लगा.

थोड़ी ही देर में महसूस हुआ कि उसके गहने दिखाने की स्पीड में गिरावट आ गई थी.

तवायफ का रोना सुनने को भी किसी को वक्त नहीं होता जनाब … उसे हर दम अपने गम भुलाकर अपने यार को खुश जो करना होता है. नहाने के बाद उसने बाहर आकर खाना लगाया और दोनों ने साथ में खाना खाया. दोस्तो, मैंने नजमी को कैसे चोदा और अपनी रखैल बनाया, ये अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा.