बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई

छवि स्रोत,सेक्सी सेक्सी पिक्चर अंग्रेजी

तस्वीर का शीर्षक ,

ઓરલ સેક્સ વીડિયો: बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई, इतने में उनका लड़का बोल पड़ा- भैया आज यहीं सो जाइए ना … क्या हो जाएगा.

सेक्सी बड़ी चूची वाली

प्रियंका की आंखों में आंसू आने लगे और गगन भी बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था. सेक्सी पिक्चर लंड चुदाईपाटन आते ही मैंने फरियाल को कॉल किया- मैं पाटन आ गया हूँ, तुम अपने घर की जीपीएस लोकेशन भेज दो.

फिर रुबिका ने उसका सारा वीर्य पीने के बाद बाहर बहे हुए वीर्य को भी चाट चाट कर साफ किया. जंगल वाला सेक्सी वीडियो जंगल वालाउनका शरीर थोड़ा गठीला जरूर था, पर पूरे शरीर में बाल थे, पेट बाहर निकला हुआ था.

अच्छा एक बात बता, तेरी चूत में ऐसा कब से होने लगा … किसी को चुदते देख लिया क्या या किसी की चूत देख ली तूने? अच्छा बता आज तक तूने किसी की रियल में चुदाई देखी है?तन्वी- हां मैंने अपनी चाची को कई बार चुदवाते देखा है.बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई: हम दोनों जल्दी से अलग हुए और मैंने सिगरेट जलाई और सामने सोफे पर बैठ गया.

ओह्ह … चोद दो … अब सहन नहीं हो रहा है … आह्ह प्लीज मुझे चोद दो जेठ जी!उन्होंने मेरी टांगें फैलाईं और जाँघों पर चांटे मारने लगे। चांटे मार मार कर उन्होंने मेरी गोरी जांघों को लाल कर दिया और चूत को चूमने चाटने लगे।अब वो मेरी चूत को जैसे खाने को हो रहे थे.पूरे दिन की नींद के बाद जब हम दोनों उठे … तो भाभी बोलीं- बाहर मत रहा कर, कोरोना का खौफ चल रहा है.

ओपन बीपी सेक्सी पिक्चर मराठी - बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई

मैंने प्रशांत को अपने से अलग किया और उन दोनों को वासना भरी नजरों से देखने लगी.मैं उसकी तारीफ करने लगा- तुम तो बहुत ही खूबसूरत हो और बहुत मस्त हो.

शेखर- अरे नहीं! आज मैंने छुट्टी ले ली है, तबियत ठीक नहीं लग रही थी इसलिए. बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई एक दिन रीमा निखिल के कमरे से उसको पढ़ा कर अपनी गांड मटकाती हुई निकल रही थी.

अलीगढ़ में कोरोना कर्फ्यू के कारण मेरा, भाभी की दुकान पर कोल्ड ड्रिंक पीने आना जाना बढ़ गया था.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई?

कुछ देर की चूमा-चाटी के बाद मुझे उठाया और मेरी शर्ट निकालकर फेंक दी! अब नीचे हुयी और मेरी पेंट के उभार को चूमकर फिर छिटक गयी और मेरी स्टडी टेबल पर जा बैठी. ये सब गलती से हो गया।शीना- वो वो … मेरा फोन रह गया था प्लीज वो दे दो. वो बोले- तो वैसे ही चूस न … ये क्या कर रहा है!अब मुझे अच्छे से लंड चूसना था वरना और खेल बिगड़ जाता.

मैं भी गर्म हो गया और उसके सर को जोर से पकड़ कर अपनी चूचियों पर दबाने लगा. किचन साफ करते समय भाबी ने कई बार मेरे पोपट को टच किया, तो मैं समझ गया कि भाबी को मेरा मोटा लंड पसंद आ गया है. मैंने 2 मिनट तक उसके होंठों को किस किया और उसके मम्मों को दबाता रहा.

किचन में जाने के लिए उनके बेडरूम के सामने से जाना पड़ता है, जो उनके बेडरूम के बाद बगल में है. फिर भाभी और नीचे आ गईं और मेरे लोअर के ऊपर से ही लंड को किस करने लगीं. मैं पासवान अंकल … एक बार फिर से गांव में मेरी पड़ोसन बहू की बेटी की चुत चुदाई की कहानी में स्वागत है.

मेरे मन में लड्डू फूट रहे थे कि आज भाभी से बात करने का मौका मिलेगा. फिर मैंने एक झटका दिया तो एक बार में ही आधा लंड चूत में घुस गया और आंटी की चीख निकल गयी- आईईई ओह्ह माँ … मैं मर गयी!मैं थोड़ा सा रुका और मैंने दूसरा झटका दे दिया.

मैं और तेज़ी से अन्दर-बाहर करने लगा उसकी चूचियां को जोर जोर से दबाने लगा.

तभी बाजू वाले कमरे से उसकी सहेली की आवाज आई- शोर कम करो … बाजू में और लोग भी रहते हैं.

कुछ देर बाद मुझे रोहन का मैसेज आया- हेलो राज जी, मैं आपसे कॉल पर बात कर सकता हूं क्या?मैंने हामी भर दी. देसी लड़कियों की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी एक्स गर्लफ्रेंड ने 2 और लड़कियों को बुलाकर कैसे उनकी चूत दिलायी और ग्रुप सेक्स का मजा लिया. मैंने भी सुपारा सैट होते ही ठोकर मार दी और लंड का सुपारा चुत में फंस गया.

ये सुनकर भाभी ने गैस को बंद कर दिया और मेरे सामने घुटनों के बल बैठकर मेरे लंड को हिलाने लगीं. मैं इस सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको विस्तार से पूरी चुदाई लिखूंगा. जैसे ही वह खुला, उसने तुरंत उठते ही मेरे बाल पकड़ लिए और मेरे होंठों पर किस करना शुरू कर दिया और अपने हाथ से मेरे को बहुत जोर जोर से दबाने लगा.

तब मैंने अपना लंड एक बार में पूरा अन्दर डाल दिया जिससे वो जोर से आहें भरने लगी.

वह बहुत धीरे-धीरे और प्यार से मेरी चुदाई कर रहा था जो मुझे बहुत पसंद आई. वो चुत का रस चाटता चला गया और उसने मेरी चुत चाट कर एकदम क्लीन कर दी. मैं बोली- पैसे गिन लो, पूरे है ना!मेरी बात सुनकर उसको होश आया और वो खड़ा हो गया.

थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझसे पूछा कि मज़ा आ रहा है!मैंने हां में सर हिला दिया. फिर दोनों मेरी चूत की एक एक पंखुड़ियों को चूसने लगे, जिससे मेरे अन्दर कामवासना की नई तरंग दौड़ने लगी. टॉयलेट सेक्स के बाद हम दोनों एक दूसरे को जकड़ कर थोड़ी देर खड़े रहे, अपनी सांसों को संभालने के बाद हमने एक दूसरे को अलग किया और हांफने लगे.

और उधर धारा ने अपनी बांहें ऊपर करके शेखर के गले में उल्टी तरफ़ से डाल दी थीं और शेखरे के बालों को खींच कर अपनी उत्तेजना का इजहार कर रही थी.

अब मेरी गांड फट गयी कि कहीं इसे मौसी के बारे में पता तो नहीं चल गया. एक दिन मैं उर्वशी के पास बैठा था और सार्थक बोल कर कहीं चला गया था कि उसे 15 मिनट का कुछ काम है.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई अब मैंने लंड फिर से चुत में चलाना शुरू किया, तो भाभी मुझे रोकने लगीं. लेकिन मेरे हाथों की मजबूत पकड़ उसकी कमर के चारों तरफ से होते हुए उसके चूतड़ों तक थी जो उसकी कोशिश को नाकाम कर रही थी.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई जो फरियाल तस्वीर में इतनी प्यारी लग रही थी, मगर अब मेरे सामने खड़ी थी तो वो प्यारी नहीं, एक कयामत लग रही थी. वासना के अभिभूत मुझे महसूस हुआ कि इस कामुक जिस्म का भोग जितनी जल्दी कर लिया जाए उतना ही उत्तम होगा.

बीवी अपने पति के दफ्तर में गयी तो वहां उसने चपरासी को बाथरूम में मुठ मारते देखा.

भाई बहन की बुर चुदाई

मैंने कहा- हां मुझे मालूम है बेबी … मगर मैं पूरा मैदान देखने के बाद काम भी शुरू करता हूँ. मैं उसे जब तक कहता कि दूध पीने का मन है, वो रसोई घर में जाकर कॉफी बनाने लगी. फिर उसने जैसा जया के साथ किया था, वैसा ही वो चमेली के साथ करने लगी.

आज वो किताब में देखी तस्वीरों में निखिल और अपनी चुदाई की कल्पना कर रही थी. मुझे देख कर अम्मा मुझसे अपने पोते को लेकर कहने लगीं- ये पढ़ता नहीं है … सारा दिन मोबाइल में घुसा रहता है. धारा इस लगातार हो रहे खेल से 2 मिनट के अंदर ही फिर से गर्म होने लगी लेकिन इस बार वो यूँ उंगलियों से झड़ना नहीं चाहती थी.

एक रात मैंने शन्नो को अपने रूम में बुलाया … वो सेक्स कहानी मैं बाद में बताऊंगा.

बस अभी आप मेरे साथ लेटो और सेक्स करने का अगर तुम्हारा मन है, तो मेरे लंड पर बैठ जाओ. मैंने टेलर के पास कपड़ा लेकर जाने के लिए एक बहुत ढीली टी-शर्ट बिना ब्रा के पहनी और नीचे स्कर्ट बिना पैंटी के पहन ली. भाभी देखने में इतनी मस्त माल हैं कि उनकी मचलती जवानी को देख कर बुड्ढों का भी लंड पानी फैंक दे!यह घटना इसी मार्च महीने की तेईस तारीख की है.

मैंने जैसे ही अपनी पैंटी पहनी … उन्होंने आकर मेरी पैंटी उतार दी और मेरी चूत में अपनी दो उंगली डाल दी जिससे कि मेरी आह निकल गई. अगले दिन सुबह जागकर उसने फिर से उसी तरह से मेरी गांड में दवाई लगाई और शाम को भी. मैंने उसका हाथ पकड़ते हुए बोला- अभी तो कुछ और पीने का मन है।नेहा शर्माती हुई बोली- अच्छा क्या पीने का मन है?उसके इतना पूछते ही मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके गालों पर व गर्दन पर किस करने लगा.

अब बंगालन भाभी ने फिर से कहा- रोहित तुम अपनी भाभी को दर्द से निजात दिलाओगे, तो ये एक पुण्य का काम होगा. वो मेरी चुत में उंगली भी कर रहा था जिससे मैं और भी ज्यादा मजे में अपनी गांड मरवा रही थी.

जब उसकी मां नहाने गईं … तो उसकी मां की सारी वीडियो हमारे पास आ गयी. फिर मैंने भाभी से कहा- भाभी मैंने घर तो बोल दिया … मगर इसे कैसे शांत करूं?भाभी बोलीं- उसे मैं शांत कर दूंगी. अब धारा ने अपने दोनों हाथों से शेखर के घुटने को थोड़ा ऊपर से थामा और फिर अपनी नाक से गर्म साँसें छोड़ते हुए उसकी जाँघों को चूमते हुए ऊपर की तरफ़ बढ़ी.

इस चुदाई स्टोरी में एक लड़की अपनी सहेली को अपने चाचा चाची की चुदाई का आँखों देखा हाल बता रही है.

अगली कड़ी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे आने वाले भविष्य में संगीता ने हमसे चुदाई करवाई. कुछ देर बाद मुझे रोहन का मैसेज आया- हेलो राज जी, मैं आपसे कॉल पर बात कर सकता हूं क्या?मैंने हामी भर दी. जीन्स और टॉप पहने हुए इतनी मस्त लग रही थी मानो अभी हां बोले, तो साली को अभी लेटा कर चोद दूं.

तब से मुझे भी मन हुआ कि मेरी बीवी भी किसी मर्द से चुदे और मैं देखूं उसे. इसी तरह उस भीड़ को पार करते हुए शहज़ाद का लंड मेरी गांड से बार बार टकराने और रगड़ने के कारण एकदम टनटना गया और मुझे कुछ ज्यादा ही गड़ने लगा.

वह बोली- सर, देख लिया, अब बदल लूँ?मैं- इंटरव्यू में फेल होना चाहती हो क्या?फ़लक ने नीचे का हाथ हटाकर अपना मुँह छिपा लिया. अब तो उसे भी एक साथ अपनी चूत और गांड में हथियार लेना बहुत पसंद आने लगा है. घर पर मां ने मस्त खाना बनाया था और वो खाना परोसते वक्त सैम को मुस्कुराती हुई देख रही थीं.

एक्सvideos

मैंने कहा- क्या हुआ?उसने कहा- तुझे अच्छा लग रहा हो तो मैं आगे कुछ और करूं.

धारा ने उसे सम्भालने का बिल्कुल मौक़ा नहीं दिया और उसकी जाँघों पर चढ़ बैठी. शेखर- आपको कैसे पता चला? मैंने तो अभी तक अपना नाम बताया भी नहीं है।धारा- ललित हमेशा इस चैट रूम की बातों को सेव करके रखते हैं. उसने अपने लंड की फोटो भेजी और मुझे लंड दिखा आकर कहा- पहले से देख लोगे तो डर कम हो जाएगा.

मैं भी अब हाथ चलाने लगा था, उनके पीछे से बालों को पकड़ के मुँह को और अन्दर तक ले आता था. दफ़्तर से घर तक पहुँचते-पहुँचते शेखर को क़रीब डेढ़ घंटे का समय लग गया. चायनीज व्हिडीओ सेक्सीमैंने भी घुटनों पर बैठ कर फरियाल की बेबीडॉल उठाई और उसकी नंगी चूत को चूमते हुए कहा- ओके डार्लिंग.

मगर इसका एक फ़ायदा शेखर को और हुआ, अब तक शेखर की हथेली में धारा की चूत का आधा हिस्सा था लेकिन धारा के पैर फ़िलाने की वजह से अब उसकी हथेली पूरी तरह से उसकी चूत को अपनी गिरफ़्त में ले चुकी थी. अब टेलर मास्टर ने अपना मुँह पीछे करके मेरी गांड के छेद को चाटना शुरू कर दिया और उसमें अपनी उंगली को भी अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.

आठ दस धक्के मारने के बाद उसका पानी निकल गया, नीरू फिर प्यासी रह गयी. पहले तो मैं हैरान हो गया कि ऐसे तो ये नखरे कर रही थी और अब खुद गांड मरवाना चाहती है. ये देख कर मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा.

मेरे से रहा नहीं गया और मैंने भाभी से पूछा- महीने में कितनी बार चुदाई कर लेती हो?उन्होंने कहा- महीने में तो क्या साल में भी एक चुदाई हो जाए तो वो भी मेरे लिए बहुत है. मैंने भाभी को किचन की पट्टी पर घोड़ी बना कर लंड चुत के अन्दर डालने की कोशिश की, तो भाभी बोलने लगीं- आज नहीं … फिर कभी कर लेना अभी काफी देर हो गई है. फिर लाजवाब अन्दर धंसे पेट से होते हुए मेरा लंड पहाड़ों और घाटियों के बीच जा पहुंचा और सुंदर वादियों में खो जाने के लिए मचल उठा.

इस उम्र में कमसिन लौंडिया की चुत चुदाई का मजा क्या होता है, ये सोच सोच कर ही मुझे बेहद सनसनी हो रही थी.

मेरा हाथ लगते ही उसने टांगें फैला दीं और मुझे दूध पिलाते हुए अपनी चुत को जोर से रगड़वाने की कोशिश करने लगी. अब निखिल ने समय ना गंवाते हुआ रीमा को अपनी बांहों में ले लिया और उसे चूमने लगा.

अब कल्पना के लिए कोई चेहरा भी होना चाहिए जो कि मेरे विचार में था ही नहीं. हीरे सा तराशा गया उनका बदन, जिस पर दो खूबसूरत 5-5 किलो के चुचे उगे थे. रात के क़रीब 9 बज चुके थे।रोहिणी मेट्रो स्टेशन के नीचे खड़े-खड़े शेखर धारा के मैसेज का इंतज़ार कर रहा था.

मतलब अब नीतू भी मज़ा लेने लगी थी।अभी मैं अपने काम में लगा हुआ था कि पीछे से मौसी की आवाज आई- अरे ओ चूत के नाई … इनका हो जाये तो हमारी भी सेवा कर देना. चाची मेरे कान में फुसफुसाई- राज, फुद्दी मारेगा?मैं- क्या?चाची- बर्थडे गिफ्ट लेगा?मैं- क्या दोगी?चाची- चूत लेगा?मैं- दे दो. भाभी से रहा नहीं जा रहा था तो उन्होंने मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत पर दबा दिया.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई मां- तू पहले नहा ले और अब तू मुझे मां मत बोल, मेरा नाम लिया कर!मैं- क्यों मां ग़ुस्सा हो क्या?मां- गुस्सा नहीं, तुम पहले नहा लो. वो बोली कि कल मुझे अपने बॉयफ्रेंड के साथ बाहर जाना था … लेकिन वैक्सिंग न होने की वजह से मैं गई ही नहीं.

सनी लियोन सेक्स वीडियोस

मुझको सार्थक से ही काम होता था और मैं उर्वशी को अपनी बड़ी बहन की तरह मानता था तो मेरे मन में उसके लिए कोई गलत फीलिंग नहीं थी. मेरी मम्मी ने इठलाते हुए कहा- आज तक कोई रस चूसने वाला मिला ही नहीं. इस चैट से समझ आ रहा था कि सेक्स चैट में वो लड़का नहीं बल्कि मेरी बेटी उसके पीछे लगी थी.

चाची अपनी चूत की नर्म छोटी कोमल पत्तियों को रगड़ते हुए मेरे टोपे पर आगे पीछे होने लगी. समीर ने मेरी पीठ पर हाथ रख कर बोला कि मालकिन आप चिंता मत करो, मैं आपका नाम वहां खराब नहीं होने दूंगा. ओड़िया वीडियो सेक्सीमेरे ऐसा करने से उनके मुँह से सिसकारी निकलने लगी- अह ऊहह रवि … तुम क्या कर रहे हो … प्लीज अब चोदो ना … म्महहा ऊऊफ़्फ़ अब बर्दाश्त नहीं होता.

कुछ देर बाद प्रियंका ने अपने भाई से कहा- भाई एक बार फिर से गांड में लंड डालो … हो सकता है कि अब दर्द न हो.

लेकिन आप एक बात बताइए क्या किसी को चाहना बुरी बात है या फिर किसी से अपने दिल की बात बताना बुरी बात है! आप बस इतना जान लीजिए कि आप मुझे अच्छी लगती हैं, चाहे हम आपको अच्छे लगें या न लगें. मैं सटासट उसकी चूत चोदने लगा।प्राची की दोनों टांगें हवा में फैली हुई थीं.

या फिर तुम मेरे मुंह को बंद करके मुझे चोदो! नहीं तो रूपाली मेरी आवाजे सुन लेगी. तभी उसने हाथ बढ़ा कर बैग में से डिल्डो निकाला और खुद अपनी गांड में डालने लगी. सेक्स और यौन वासना से परिपूर्ण पाॅर्न कॉमिक्स के माध्यम से कामुक भाभी 2009 से लेकर अब तक हम सभी के दिलों पर राज कर रही हैं.

अब आगे हॉट चुदाई का मजा:मैंने पूछा- दीदी, आपने अपने रेट कैसे तय किए और उस ब्यूटीपार्लर वाली भाभी ने आपको पहली बार ग्राहक के सामने कैसे सैट किया?दीदी- भाभी एक शॉट के हजार रुपये लेती थीं, जिसमें से कमरा किराये पर देने के लिए दो सौ रुपये खुद रखती थीं और आठ सौ रूपये उस लड़की को देती थीं, जिसकी चुदाई होती थी.

फिर मैंने अपनी बियर खत्म की और शीना को बेड से उठाया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर चूमने लगा. मेरी आंखें मजे में बंद हो गई थीं और मैं उसकी उंगलियों से अपनी गांड की खुजली को शांत करवाते आनन्द ल रहा था. धारा ने अब बिना देर किए सुपारे को पूरी ताक़त से थामा और अपनी चूत के छेद में अटका कर उस पर अपने बदन का भार देने लगी.

हिंदी राजस्थानी वीडियो सेक्सीवो मेरी नंगी चुचियों को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और अपने हाथ से दबाने लगा. आज फ़ाड़ दे मेरी, और तेज़ तेज़!मैं भी जोश में आ गया और क़मर पकड़कर तेजी से झटके पे झटके लगाने लगा.

तेरा साथ है तो मुझे क्या कमी है भजन

चुदाई इतनी जोर से हो रही थी कि लंड के घर्षण से चाची की चूत सुलगने लगी और चाची तरह-तरह की आवाजें निकालने लगी. थोड़ी देर बाद मैंने पलट कर देखा तो लकी की मम्मी बिल्कुल नंगी नहा रही थीं. तो भाभी बोलीं- आज मेरे हाथ की चाय पीकर देखो … न जाने चाय से क्या दुश्मनी पाल रखी है.

वो मेरे पास आया और मुझे बांहों में भर कर मेरे होंठों पर होंठ रख दिए. ससुराल से वापस आते हुए मैंने रास्ते से एक बोतल ले ली ताकि रात को आराम से पी कर मस्ती कर सकें. मैंने जल्दी से ताई की चुत में 5-10 झटके मारे और सारा वीर्य उनकी चुत में डाल दिया.

बंगालन भाभी- कैसा पाप, हमारे यहां जब बच्चा होने के बाद दूध जल्दी नहीं निकलता है … तब देवर को बुलाकर भाभी के दूध चूसने को बोला जाता है, ये कोई पाप नहीं है. अपने तने हुए लंड को शन्नो की गीली चूत में घुसा दिया और उसे चोदने लगा. इतने में नीरू के पति ने नीरू को आवाज लगाई तो नीरू मुझसे बोली- आप शीना से बात करो, मैं आती हूँ.

अब आगे लेडीज़ टेलर सेक्स कहानी:आप इस कहानी को लड़की की आवाज में भी सुन सकते हैं. बात फाइनल हो गई कि मैं और मां घर रुकेंगे और बाकी सब लोग मौसी के घर शादी में जाएंगे.

ऊपर बेडरूम में जाकर मैंने पूछा- जब आपके पति यहाँ होते हैं तो आप लोग दिन में कितनी बार सेक्स करते हैं?दिन में कितनी बार? क्या पूछ रहे हैं, सर.

साली तेरी दीदू चुद गई थी … जो तू आ गई थी … नहीं तो आज मेरी सुहागरात ही हो जाती जानेमन. सेक्सी चीन की वीडियोमैं अपने लंड को आशारा के बदन पर सैर कराते हुए उसके नितंबों तक आ पहुंचा. पिंटू सेक्सी वीडियोअगर उस वक्त शेखर की आँखें खुली होतीं तो शायद वो धारा की इस अदा पर मर मिटता. मैंने पैंटी को एक पल में उतार दिया और बेदाग मस्त उभरे हुए कूल्हों को देखकर पहले से सख्त लंड और फुंफकार उठा.

उसने मुझे एक बार में बिठाया और हम दोनों ने दो दो पैग स्कॉच के खींचे फिर घर आ गए.

मयंक ने अब संगीता की गांड से लंड को निकाल दिया और संगीता के दोनों चूतड़ों पर थप्पड़ लगाकर उसे कमर से पकड़ कर खींच लिया. अब अमित और विशाल मेरे अगल बगल चल रहे थे, वे कभी मेरे बूब्स दबा देते, कभी मेरी गांड दबा रहे थे. निखिल को बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने करवट बदल ली और गहरी नींद के बहाने से मीरा के चुचों में मुँह घुसा दिया.

मगर मेरी चुत में से पानी की धार लगातार निकलती रही जो मेरी जांघों को बेहद गीली कर चुकी थी. वो बेताबी से बोली- अब तो बिल्कुल भी इंतजार नहीं होता … इसे जल्दी से अन्दर डालो प्लीज. वो मेरे हाथ की तरफ देखते हुए बोला- आज अपने किस रंग की पहनी है?मैं बिंदास बोली- आज पिंक है.

दिल्ली की लड़कियों की

मैं मोना भाभी जैसी भरी हुई माल को तो गलती से भी नहीं खोना चाहता था, इसलिए कोई भी जल्दी नहीं कर रहा था. मगर कामुक आवाजों के चलते उसकी वासना बढ़ गई थी और रोमांटिक भाभी की वासना जाग उठी, उसकी चुत में लंड के लिए कुछ चिंगारियाँ भी भड़क गई थीं. लेकिन मैंने उसका लंड चूत से नहीं निकाला क्यूंकि उसने कंडोम पहना हुआ था.

उन्होंने अंडरपैंट मेरी तरफ उछाल दी और कहा- अब तू मेरा नाम लिया कर!मैं- क्यों मां?मां- वो सब हम बाद में बात करेंगे.

खैर … अब मुझे बस ये देखना था कि भाभी का तब क्या रिऐक्शन होगा, जब उन्हें थैले में कंडोम का पैकेट मिलेगा.

फिर मैं उंगली निकालकर सूंघने लगा और उनके सामने ही की चूत के रस से भीगी हुई उंगलियां चाटने लगा. फिर मैंने बिना कुछ बोले उसके एक निप्पल को अपने होंठों में दबाया और चूसना शुरू कर दिया. गुजराती देहाती सेक्सी पिक्चरपड़ोस के जवान लड़के ने मांगी चूतअब तक आपने पढ़ा था कि गौतम मुझे चोदने की जिद कर रहा था, वो मेरे पैरों पर गिर गया था.

पता ही नहीं चला कब मेरा एक हाथ नीचे चला गया और अपना लंड मैंने उनकी गीली चूत में घुसा कर फिर से झटके लगाने शुरू कर दिए. रीमा से अब रुका नहीं जा रहा था; वो निखिल के पास आई और अपने होंठ निखिल के होंठों से मिला कर चूमने लगी. दूसरी बात ये कि अगर चोदने के लिए ही किसी को पटाना है, तो उस औरत को पटाओ … जिसके पति उससे दूर रहते हों.

यदि भाभी का मूड ठीक लगता तो मुझे आगे की बात पता चल जाएगी कि भाभी से सैटिंग हो पाएगी या नहीं. अब वो भी मेरी जीभ को अपने मुँह में खींच कर चूसने लगी थीं और साथ देने लगी थीं.

वो बोला- पैंटी मतलब क्या?मैंने उसकी हिंदी में समझाया कि मेरी काले रंग की एक चड्डी थी, वो नहीं मिली.

ऑफिस में सभी लोग मुझे घूर घूर कर देख रहे थे क्योंकि मेरी टॉप में से मेरे बूब्स के निप्पल साफ दीखाई दे रहे थे. मेरा एक हाथ अपने आप मेरी चूत में घुस गया और दूसरा हाथ मेरे निप्पलों को सहलाने लगा. मैं और खूब कस कस कर चूत चोदने लगा और भाभी की मलाई की गर्मी से मैं भी झड़ने की कगार पर आ गया.

साउथ हीरोइन का सेक्सी वीडियो एचडी तन्वी- मुझे पता है क्या हुआ था तुझे!पल्लवी- क्या, क्या हुआ था मुझे?तन्वी- तूने ये सब उस छिनाल ज्योति के कारण किया. कुछ कमाने के लिए मैंने जयपुर की एक आलीशान बिल्डिंग में कंप्यूटर जॉब का काम शुरू कर दिया.

इसके बाद अब मम्मी का या मेरा कोई भी काम होता, तो मैं ही उसके पास जाती. थोड़ी देर में मैं लेटा और तमन्ना लंड पर बैठी हुयी अपनी कमर हिलाने लगी. मैं कुछ देर बाद अपने घर आ गया और रात को सोते समय मैं सोचने लगा कि आंटी वो सब क्यों देख रही होंगी.

गांव लड़कियों के चूद पर बाल xxx

जैसे ही उसके नंगे सीने पर मेरी चुचियों की नोक गड़ी और जब मैं उससे एकदम से चिपक गई, तो उसका लंड भी हिलने लगा. ’मैं मंद मंद मुस्कुराने लगा और उन्हें ओके लिख कर ऑफिस के लिए तैयार होने लगा. जब वो अपनी गांड मटकाती हुई और बलखाती हुई चलती है, तो सच में मेरा मुँह खुला का खुला ही रह जाता है.

मैंने उसकी चुचियों को उसके टॉप के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया … तो वो गर्म होने लगी. एक तरफ मेरी गांड मसली जा रही थी और दूसरी तरफ मेरे होंठों को अंकल खाए जा रहे थे.

फिर मैं धीरे से नेहा की पीठ पर चाटते हुए उसकी कमर पर जा पहुँचा और फिर धीरे धीरे उसकी गाँड पर चूमने लगा.

मैंने कहा- फ़लक, जो मैं कह रहा हूँ वही करो, जैसे भी हैं तुम बाहर आ जाओ, मैंने देखना है कि यह कितने छोटे हैं और तुम्हें कौन सा साइज चाहिए?फ़लक बोली- सर, इन कपड़ों के बटन ही बंद नहीं हो रहे हैं. मैंने कहा- तभी तो तुम दिन में नंगी होकर सेक्सी मूवी देखकर अपनी चूत में उंगली करती हो. मुझे तो, खैर कोई भी माल हो, उसकी बस चुत चूची और गांड ही दिखाई देती हैं.

मैंने कैसे उसकी सील तोड़ी?कहानी के पिछले भागऑफिस में जूनियर लड़की के नखरे ढीले कियेमें आपने पढ़ा कि कैसे मैंने ऑफिस की कश्मीरी लड़की को उसके घर में चोदा. एक ऑटो में किसी तरह समीर घुसा तो उसमें पहले से चार लोग उधर और इधर भी तीन लोग बैठे थे. मैंने शहज़ाद का सीधे तरफ वाला हाथ इस तरह से पकड़ लिया, जैसे कोई प्रेमी जोड़ा वाली लड़की अपने ब्वॉयफ्रेंड का हाथ पकड़ती है.

हॉट बिजनेस वुमन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे कंप्यूटर सेंटर में एक अमीर लड़की कम्प्यूटर सीखने आयी.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती चुदाई: ये पहली बार था जब मैंने अच्छे से उसका लंड देखा था … उसका 6 इंच का काला मोटा लंड देख कर मैं सोचने लगा कि मैंने इस मोटे लंड को अन्दर कैसे ले लिया है. कुछ देर बाद शहज़ाद मेरे घर आया और हम दोनों साथ घर से ऑटो से बस अड्डे तक आए और बस देखने लगे.

आज एक बार फिर मैं तुझे गोद में लेने वाला हूं लेकिन आज तुझे खिलाऊंगा नहीं बल्कि तुझे अपने लंड पर झुलाऊंगा. थोड़ी देर की चुसाई के बाद वो दोनों झड़ गए और नंगे ही लिपट कर बातें करने लगे. मैं उसके खेड़े लंड को अपनी गांड की दरार में महसूस करते हुए गर्म हुई जा रही थी.

उसने मेरे लंड को चूसा और अंततः उसे पकड़ कर अपने चुत में सैट करके उस पर उछलने लगी.

अब उसने मुझे सोफे पर बिठाया और मेरी चूत में ग्लिसरीन लगाकर एक जोर का झटका दे मारा. उसने मेरे बाजू में बैठ कर अपनी पूरी कहानी बताना शुरू की कि कैसे उसका उसके पति से तलाक हुआ. गर्म लड़की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की एक जवान लड़की मेरे साथ पढ़ायी करती थी.