मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो पिक्चर फिल्म सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी नंगी बफ: मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो, मैंने राजकुमारी पूजा की एक टांग उठा कर अपने कंधे पर रखी और उसकी चूत पर अपने लौड़े को सैट कर दिया.

सेक्सी पिक्चर दिखाएं सेक्सी पिक्चर

हम दोनों अपने फ्रेंड्स के साथ पार्टी करते और बहुत बार रात को एक दूसरे के घर भी रहते. घोडा वाला सेक्सीकुछ देर बाद वो लड़का राहुल उस लड़की हुर्रेम का मुँह पकड़ कर उसका मुँह चोदने लगा.

मैंने भाभी से पूछा कि आपके पति ऐसा क्या काम करते हैं, जो उन्हें एक सप्ताह के लिए बाहर जाना पड़ा. सटका मटका420इतना बोल कर वो भी उसी झाड़ी के पीछे चली गई और वहां से एक बार पलट कर देखा कि भैया देख रहे हैं कि नहीं.

तो क्या मैं आपसे कुछ व्यक्तिगत बात पूछ सकती हूँ?मैंने सोचा कि होगी कोई बात … मैंने कहा- हां पूछो?गीता बोली- आपकी कितनी गर्लफ्रेंड हैं या थीं?मैंने कहा- आज तक पत्नी के अलावा मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो: मैं जैसे ही उसके बेड के पास गया, तो देखा कि उसकी नाईटी उसकी जांघों तक उठी हुई थी.

लगभग 20 मिनट तक चूत और लंड में पेलम-पाली चली, फिर मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.मैं अपने स्तन खोलकर उनको दूध पिलाने लगी थी और उसी हालत में मैं धीरे से जमीन पर लेट गई.

इंग्लैंड सेक्स वीडियो - मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो

इससे मेरा लंड खड़ा हो गया था और मेरे लोवर में उभरकर साफ दिख रहा था.मनीष ने भी उसकी चूत अपने वीर्य से भर दी।शिखा समझ गयी कि मनीष क्यों परेशान है; उसने हँसते हुए कहा- मत घबराओ, हम दोनों ने ही कॉपर टी लगवा रखी है।रात के 3 बज गए थे।दीपा वशरूम से फ्रेश होकर आई और बाहर जाते हुए बोली- अब तुम दोनों सो जाओ, मुझे भी नींद आ जाएगी.

पहले तो स्वागत हुआ फिर मृणालिनी बाहर चली गयी, वो मेरे लिए बाजार से कुछ नाश्ते का सामान लेने गयी थी. मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो ये सब मैं बहुत जोर जोर से कर रहा था ताकि भाभी जी जल्दी गर्म हो जाएं और मुझे लंड डालने के लिए खुद ही बोल दें.

अब मैंने अपने हाथ पर थूका और लण्ड के सुपारे पर मलकर लण्ड को निशाने पर रखा, उसकी दोनों जांघें फैला कर ठोंका तो टप्प की आवाज से सुपारा अन्दर हो गया.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो?

मैंने जल्दी से चड्डी भी उतार दी, मेरे लंड पर मां की नज़र गड़ी की गड़ी रह गयी. काफ़ी देर तक यूं ही एक दूसरे को मजे देने के बाद मैंने दीदी से कहा- अब मुझसे रहा नहीं जा रहा दी, मुझे चुत चोदनी है. इस सेक्स कहानी में इतना ही हुआ था, मगर बाद में होटल लौटने के बाद हमारे साथ टूर पर आई लड़कियों के साथ चुदाई का क्या मजा हुआ, वो मैं अपनी अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा.

फिर उन्होंने वो खीरा भी अपनी गांड से निकाल लिया जो वो काफी देर से अंदर लिये हुए थे. उन्होंने रोहन अंकल के लंड को अपने माथे से लगाया और मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. तो चाय पीने के बाद कोठी का एक एक कोना दिखाते हुए अंत में वो अपने बेडरूम में पहुंची.

वो थोड़ी देर के लिये शांत हो गयी तो मैंने उसके हाथ में लंड दे दिया. चाची सिसयाने लगीं- प्लीज … आहह इस्स आहह … मजाह आ गया ऊऊह … आआह यार मेरी चुत और जोर जोर से चाटो. उसी दौरान उसने मेरे लोअर में हाथ डालकर मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया.

तभी दूसरे ने कहा- अरे, पहले कुछ फोरप्ले तो हो जाए?उसने कहा- अबे हम यहां सेक्स नहीं कर रहे है, एक कार्य में भाभी से सहयोग ले रहे हैं. वो किसी रंडी की तरह मादक आवाज़ निकालने लगीं- आह आह आह मर गयी जान … आह मम्मी मर गयी.

रमेश ने मेरी दीदी की चूचियों को मसलते हुए और अपना लंड दीदी की चुत पर रगड़ते हुए कहा- तुम बहुत हॉट आइटम हो यार … फोटो शूट के समय ही मेरा तुमको चोदने के मूड बन गया था.

अब हमने एक दूसरे को देख भी लिया था … तो अब हमारी बातें कुछ बढ़ने लगीं.

मैंने भी चॉकलेट को पूजा के मम्मे, नाभि, गर्दन, मुँह और चूत के अन्दर तक मला, हम एक दूसरे को चाटने लगे. जब मां ब्लाउज़ पहनने लगीं, तो मां के ब्लाउज का हुक बंद नहीं हो रहा था. अपनी हैदराबाद सेक्स कहानी में मैं आप सभी पाठकों का स्वागत करता हूँ.

तुझे तो अपनी पर्सनल रखैल बनाऊंगा मेरी छिनाल, बनेगी रखैल बोल साली बोल!ममता- हां बनूंगी तेरी रखैल आआआई बनूंगी तेरी रंडी. आप मुझे कमेंट्स करके बताएं कि आपको मॉम बेटा सेक्स कहानी कैसी लगी?आपका राजू मादरचोद. वो एक तरफ मेरी दीदी की चूचियों को भींचे हुए था और दूसरी तरफ दीदी की गांड में लंड रगड़ कर मजा ले रहा था.

मेरा मोटा लंड अब मामी जी की चूत की दीवारों से बुरी तरह से रगड़ ख़ाता हुआ तेज़ी से अन्दर बाहर होने लगा और मामी जी के बदन में फिर से मस्ती छाने लगी.

जोया ने कहा- नहीं, अब बहुत हुआ … मैं तुम्हारा लंड नहीं चूसूंगी … मुझे जाने दो. मम्मी ने ओके कह दिया और जब वो जाने लगीं, तो मेरी मम्मी ने मुझसे बोला कि मैं उन्हें उनके घर छोड़ आऊं. दीदी- ये क्या बोल रहे, तुमने तो सिर्फ दो-तीन फोटो लेने का ही कहा था और तुम यह सब क्या मुझे बोल रहे हो?रमेश- ऐसा कुछ भी नहीं है यार … तू मेरे दोस्त की बहन है और मैं तुम्हारे बारे में बुरा नहीं सोच सकता.

” मैंने कहा और आगे हाथ लेजाकर बहू को मम्में दबोच लिए और उन्हें चोदने लगा. फिर मैंने उसकी गांड के छेद में उंगली की और उसी के साथ आंड चाटने लगी. जब कुछ मिनट तक मैंने सिर्फ दूध चूसने में ही मन लगाया तो मामी तड़फ उठीं- राहुल, मुझसे अब बर्दाश्त नहीं होता … अब जोर जोर से चोद भी डालो मुझे.

अब मैंने अपना हाथ उनके सीने से हटा दिया और उनसे थोड़ी दूर होकर बैठ गया.

दोस्तो, इस तरह मैंने एक आंटी शन्नो को रात भर चोदा और उसके साथ सुहागरात मनाई. दस मिनट तक मैं उसके होंठों का रस पीता रहा, फिर मैंने उसकी चड्डी में हाथ डालकर चुत में उंगली करना शुरू कर दिया.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो मैंने जया के माथे, गालों को चूमने के बाद उसके होंठों पर होंठ रख दिये. वो बोले- जान … गंदी गंदी बातें कर। बोल कि मुकेश मेरी चूत की चुदाई करो … मेरी चूत फाड़ दो, मेरी चूत रगड़ कर चोद दो.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो मेरे झड़ने के करीब आने से रफ्तार तेज हो गई तो मैंने उसकी ताबड़तोड़ चुदाई शुरू कर दी. उन्होंने एक चुस्त सफेद पैंट पहनी थी, जिसमें से उनका मोटा लंड साफ़ फूला हुआ दिख रहा था.

जल्दी ही सादिका मेरा लंड निकाल कर हिलाने लगी और मुँह में लेकर जोर जोर से लंड चूसने लगी.

सेक्सी वीडियो डॉट कॉम डाउनलोड

वो कुछ नहीं बोला तो मैंने उसे ताना मारते हुए कहा- ला मुझे दे मोबाइल … मैं पढ़ती हूँ. मैं क्या कहूंगी उनसे कि मैं किससे चुदवा कर आई हूँ, अपने ही सगे भाई से? अब मेरा क्या होगा भैया? गलती मेरी ही थी, मेरी बुर में बहुत आग लगी थी … ले भुगत साली. थोड़ी देर बाद अहमद के खर्राटे गूंजने लगे, मैं समझ गई कि अब वो नहीं उठने वाले.

इधर मेरी सगी भाभी भी बेड पर आ गयी थीं; हमारे दृश्य देखकर भाभी की चुत भी गीली हो गयी थी. लोग तो अपने मजे के अपनी पत्नियों को दूसरे लोगों के साथ शेयर करते हैं. बहुत अकेली हो गई हूँ मैं!मैंने डिब्बी से थोड़ा सा सिन्दूर ले कर उसकी मांग में भर दिया।तब मैंने डिब्बी साइड में रखी, मोबाइल का म्यूजिक बंद किया। मैंने उसकी पैंटी को अपने गले से निकाला और जोर से फूंक मारी.

पीछे से रोहन अंकल आए और उन्होंने बिस्तर पर बैठ कर मेरी मॉम का घूँघट उठाया.

तब मैंने कहा कि मैं आंटी से बात करूंगा, यदि वो राजी हो गईं तो हम दोनों मिलकर चुदाई का मजा लेंगे. अब आगे बहू सेक्स की कहानी:आधे से ज्यादा मेहमान तो वरमाला होते रात में ही निकल लिए थे; बस वर वव्हू पक्ष के कुछ नजदीकी खास रिश्तेदार ही विदाई होने की प्रतीक्षा में रुके हुए थे. बीच रास्ते में मुझे अपने फोन की याद आई तो मैं उसे लेने के लिए घर वापस आ गया.

मैंने आज तक कभी भी इन्हीं तीनों के अलावा किसी को बुलाया भी नहीं है. मैंने नशीली आवाज में अंकल से सवाल किया- आह इस्स … आप यह क्या कर रहे हो?अंकल मेरी आंखों में आंखें डालकर बोले- एक छोटे बच्चे की तरह तुम्हारा दूध पी रहा हूं. निखिल अपनी मौसी के करीब गया और उससे बोला कि आप योजना के अनुसार 30 मिनट बाद मेरे कमरे में आ जाना, तब तक मैं रीमा को तैयार कर लूंगा.

ये सारी बातें उसने मुझे बाद में बताई थीं मगर उससे पहले हमारे बीच में बहुत कुछ हुआ था और वही सब मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूं. इसी लिए तीसरे दिन अंकल ने मुझे आधा घंटे पहले काम पर आने की बात कही थी.

वो बोले- सहलाओ इसको जान!मैं धीरे धीरे सहलाने लगी उनके लंड को!वो मेरे दूध को दबाने लगे. उनके घर का दो मिनट का रास्ता था तो मैंने भाभी के घर के पहले ही उन्हें मोबाइल पर घंटी दे दी, उन्होंने आकर मेन गेट खोल दिया. अब कामिनी भी लंड को तेज तेज चूसने लगी।थोड़ी देर बाद कामिनी अपनी चूत को मेरे मुंह पर दबाने लगी.

थूक थूक कर गीला करती और उसकी लारें चाटती और उनको अपने गालों पर मसल देती.

थोड़ी देर बाद उन्होंने लंड निकाला और मैं घुटनों पर बैठकर लंड को चाटने लगी. थोड़ी देर बाद जब उसे अच्छा लगने लगा, तो उसने अपनी गांड उठा कर मुझे इशारा किया. मेरे ऐसा करते ही उन्होंने भी अपने एक हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया और हिलाने लगीं.

वो एक बेंच पर बैठ गईं और कुछ देर बाद मैं भी उनके सामने वाली बेंच पर जाकर बैठ गया. अरे नहीं तो ऐसा कुछ नहीं है बेटा, चल अब चलें!” मैंने अपने मनोभावों को भरसक छिपाते हुए कहा.

मैंने अब पूनम के सिर पर हाथ रख कर उनके सिर को नीचे धकेलना शुरू किया. मैंने अपनी दोनों बांहों को उनकी ओर फैला दिया था और अंकल जी मेरे आगोश में फिर से कैद हो गए थे. मैं- बारहवीं कक्षा से अब तक तो तू और तेरा खूबसूरत बदन मुझे भी तो तड़पाये जा रहा था.

கேரளா செஸ் வீடியோ கேரளா செஸ் வீடியோ

मैं- अपना रस आप खुद पीना चाहोगी?चाची कराहते हुए मीठी आवाज में बोलीं- हां पी लूंगी हरामी … मगर जल्दी से मेरी प्यासी चुत में अपना मुँह फिर से लगा.

[emailprotected]फैंटेसी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:मॉम की गदरायी जवानी की काल्पनिक कहानी- 2. कॉलेज में जब भी तीन चार दिन या अधिक की छुट्टी होती तो संगीता अपने घर चली जाती. वो तेजी से सिसकार रही थी- आह्ह … आह्ह … ओह्ह नो … नो … ओह्ह … विशाल … वि.

जिसके प्रतिउत्तर में नीतू भी रूपाली की चूत को अपने दांतों से कुतर देती।दोनों ने एक दूसरे के बदन पर अपनी अपनी अमिट छाप छोड़ दी थी।इस खेल को शुरू हुए बहुत समय हो गया था और मैं भी अब कभी भी झड़ने वाला था. थोड़ा यकीन करने लगी मुझ पर।अब वो रिश्तेदारों के पास चली जाती थी मुझे छोड़कर।तभी इन लोगों ने सलाह की कि ऊपर के हिस्से में जो लकड़ी का काम होने वाला है, वो अब पूरा करवा लिया जाए।सासू मां बोली- हां, पूरा करवा कर पीछे सीढ़ियां चढ़वा दो और उसको किराये पर दे दो. हिंदी पिक्चर फिल्म डाउनलोडमैंने उनकी चुत की तारीफ़ करते हुए कहा- वाउ दादी, आप तो नेशनल हाईवे जैसी लग रही हैं … हजारों ट्रक गुजर गए आप के ऊपर से तो.

उसके मुंह से फिर से आहहह ओहह इसस ह्म्म्म ऊ ऊ ओहह ह्म्म्म की आवाज़ें आनी शुरू हो गयी. आंटी का शरीर मम्मी से काफी भारी था, यही कोई लगभग 36-40-38 का रहा होगा.

मेरा छह इंच लम्बा मोटा लंड देखकर उसकी आंखों में वासना के डोरे तैरने लगे. ये सुनकर मीरा खुश हो गयी क्योंकि वो अभी रीमा को रात भर रोकने की तरकीब सोच ही रही थी. इसके बाद हनीप्रीत के कॉलेज से वापस लौटने तक मैंने उस कॉलेज गर्ल से तीन बार सेक्स किया.

सच बताऊं तो औरतों का सबसे ज्यादा फेवरेट पोजीशन भी यही है, जिसमें उन्हें सबसे ज्यादा आनन्द आता है. फिर वो मेरा लंड चूसने लगी।काफी देर साथ में नहाने और चूमा चाटी के बाद हम दोनों उसके बेड पर आ गए. मेरा लण्ड बहार की बुर में जाने को तैयार था लेकिन मैं बहार की पहल पर आश्रित रहना चाहता था.

अब वो आगे नहीं जा सकती थी तो मैंने पूरी ताकत से उसकी बुर में लंड पेलना चालू कर दिया.

मौसी ने मुझसे बॉक्सर छीना और कुर्सी पर फैंक कर बोलीं- ऐसे ही सो जाओ. मैंने मां को समझाया- मां, यहां शहर में आपसे भी बड़ी उम्र ही औरतें ऐसे ही कपड़े पहनती हैं.

चूचियों के निप्पल के चारों तरफ के घेरे में जीभ चलाते हुए जब दूसरे हाथ से मामी जी की चूची को पकड़ कर दबाते हुए मैंने निप्पल को चुटकी में पकड़ कर खींचा तो मस्ती में मामी जी की सिसकारी निकल गयी- आह राहुल … उफ्फ और ज़ोर से मसलो … मेरे चूचियों को ओह्ह्ह उंह अहह अह्ह्ह्ह राहुल मेरे सैंया!मामी जी अपनी कमर को हिलाते हिलाते सिसकारी भर रही थीं … और अपने दोनों हाथों को मेरी कमर पर दबा रही थीं. अब न उसे सब्र था न मुझे; सो चुदाई का वो द्वन्द्व युद्ध सात आठ मिनट से ज्यादा न चल पाया और मेरे लंड से रह रह कर वीर्य की पिचकारियां से छूटने लगीं. फिर घूंघट उठा मेरे होंठों को धीरे से चूमते हुए बोले- वाह … क्या खूबसूरती की मूरत हो।धीरे धीरे कपड़े बदन से हटते गए और मुकेश ने मुझे बांहों में कस लिया।उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और अपने अकड़े लंड पर रख दिया.

और हां याद रखना तुम्हें उसे बस दूध पिलाना है, चुत चुदवाने के बारे में सोचना भी मत!उधर से शायद हामी भरी गई और फोन कट गया. कुछ देर बाद जब मां ने कोई हरकत नहीं की तो मैं अपने पैर को भी मां के पैरों पर रख उनका पेटीकोट और ऊपर सरकाने लगा. उसने मेरी तौलिया निकाल अलग फेंक दी और मेरी एक टांग उठा कर किचन की स्लैब पर रख कर मेरी चूत में लंड पेल दिया.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो वो एक कोने में ले जाकर मेरे हाथ में लंड दे देते थे और मेरे होंठों को किस करते थे. पिछली सेक्स कहानी में मैंने आपसे पूछा था कि आप लोग मेरे बारे में जो जानना चाहते हैं, वो बताएं.

सेक्सी वीडियो हिंदी mp4

सर मेरे लंड को देखकर बोले- देख शबनम साली रांड देख इसका लंड कैसा टनटना रहा है. हैलो भाई लोगो और चुदक्कड़ भाभियो, मैं पंकज आपको आज अपनी माँ बेटे का सेक्स कहानी सुनाने जा रहा हूँ. लंड चुत में लेते ही मामी बहुत तेज़ी से मेरे लंड के ऊपर उछलने लगी थीं और अजीब अजीब सी आवाजें निकाल रही थीं.

ममता मुँह फाड़े अभय को देख रही थी- मैं नहीं मानती … आप सफेद झूठ बोल रहे हो, ये इम्पॉसिबल है. मेरे ऊपर आते ही उसने मुझे भूखी शेरनी की तरह देखा और मेरे होंठों पर, मेरे गले पर और मेरी छाती पर बेतहाशा चूमने लगी. लोकल सेक्सी वीडियो एचडीफिर मैं झड़ गया।उसके बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटाकर दोनों टांगों को अलग कर अपना लंड उसकी चूत पर रखा और ऊपर से ही रगड़ने लगा।मैं उसकी चूची पीने लगा और लंड से चूत को सहलाता रहा.

अब मैंने उसका गाउन उतार दिया और उसकी ब्रा उतार कर उसे पूरी नंगी कर दिया.

जब हम दोनों की सांसें थमी, तो मुझे होश आया कि दारू के नशे में अमित ने बिना कंडोम लगाए ही मुझे चोद दिया था. उस बोतल का पानी ठंडा था, मैंने अपने हाथ से चाची को थोड़ा पानी पिलाया और पानी से मधुमक्खी के काटे के स्थान को धोया.

नगमा ने अपनी टांगें खोल कर मुझे अपनी गांड ऑफर कर दी और मैंने सीधे ही अपना लंड गांड में घुसा दिया. अम्मी अभी 38 साल की ही तो है … तुझे मादरचोद बनने में भी बड़ा मज़ा आएगा. मैं चुपचाप सुनता रहाफिर वो बोली- तुमने मुझमें क्या खराबी देखी, जो तुम उसके पास चले गए.

‘पापा जी मैं आपके साथ हूं न …’ यह कुछ शब्द अभी भी मेरे मन में कौतुहल मचा रहे थे … क्या है इन शब्दों का अर्थ?क्या बहूरानी ने यहीं ट्रेन में चुदवाने का कुछा सोचा रखा है?क्योंकि ग्वालियर से दिल्ली का सफ़र तो लगभग पांच घंटों का होगा.

वो मुझे चोदने लगा और कुछ ही देर में मैं कूल्हे उठा उठाकर उसका साथ देने लगी।वो जोश में आकर चूत का भोसड़ा बनाने लगा. तीन दिन बाद भाभी ने फोन पर बताया कि एक दो दिन में मेरे पति किसी काम से देहरादून जाने वाले हैं. ’तो मैंने रिप्लाई किया- जब तुम मुझको पसंद ही नहीं करती हो, तो ऐसा क्यों बोल रही हो?रीना का जवाब था कि वो भी मुझको पसंद करती है, लेकिन उसको थोड़ा टाइम चाहिए.

राशी सेक्सचूंकि एक बार मैं उसकी चूत में खाली हो चुका था तो अबकी बार मुझे माल छूट जाने का भी ज्यादा डर नहीं था. मुझे अदिति को देखे हुए (उसे चोदे हुए) साल भर से ऊपर ही हो गया था क्योंकि इस दिवाली पर वो आ नहीं सकी थी.

डॉग सेक्सी वीडियो गर्ल्स

मां की बातें सुन मुझे हिम्मत मिलने लगी और मैंने आज रात और ज्यादा आगे बढ़ने की सोच ली. हम चुदाई के समय कहानी में लिखे डायलॉग बोलकर एक दूसरे का जोश बढ़ाते थे. दोस्तो, आप सभी को मेरी मामी की चुदाई Xxx फॅमिली कहानी में रस आ रहा होगा.

मैं भाभी की चूचियों के पास अपने होंठ ले गया और उसका निप्पल अपने मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगा. अदिति बेटा, ये दिल्ली नहीं है अभी तो आगरा आया है; चल परेशान मत हो, मुझे सोने दे. मेरे कदमों की आवाज सुनते ही कमरे में उन तीनों की गुप-चुप बंद हो गई.

विवेक- अगर तुम बाहर जाकर मुकर गईं तो!हुर्रेम- मैं झूठ नहीं बोल रही हूं. किस करते करते मेरे हाथ उसकी मदमस्त जवानी की निशानी यानि उसकी चूचियों पर चले गए और मैंने उसकी एक चूची पकड़ कर जोर से दबा दी. उर्वशी ने मुझे कसके कमर पर से पकड़ा हुआ था और वो मेरी कमर और बालों में हाथ फिरा रही थी.

चूमते चाटते हुए मैंने दोनों चूतड़ों को फैला दिया जिससे उनकी चूतड़ों की बीच की खाई में भूरे रंग की मामी जी की गोल सिकुड़ी हुई गांड का छेद नज़र आ गया. पूरी उम्मीद में चूसे जा रही थी कि यह मुझे एक सम्पूर्ण औरत बना देगा.

वो बोलीं- जो भी तुझे करना है, जल्दी कर ले … कोई जाग गया तो सब खेल खराब हो जाएगा.

उसके पीछे से हिचकोले खाते चूतड़ों को देखकर मेरा दिल बेईमान हो गया और मैं पीछे पीछे बाथरूम में चला गया. साउथ हीरोइन के सेक्सीमेरे लंड ने चूत में सैट होना शुरू कर दिया, दो चार झटकों के बाद उसकी चूत ने लंड को घोंटना चालू कर दिया. शिल्पा शेट्टी की नंगी तस्वीरेंह्म्म्म … क्या मस्त टाइट चूत है मेरी डार्लिंग की …” मैं अब पूरे जोश में चुदाई करते हुए बोला. हैलो फ्रेंड्स, मैं विशाल आपको अपनी सगी मां के साथ सेक्स रिश्तों पर आधारित सेक्स कहानी सुना रहा था.

वो पेटीकोट का नाड़ा खोलने लगीं और मैं अपनी मां का परिपक्व बदन देखे जा रहा था.

दूसरे दिन मैं नहा रहा था कि तभी चाची घर आ गईं और मम्मी से बोलीं- क्या हुआ मेरी जान, रात को चुदाई देखी थी?मम्मी ने कहा- हां देखी थी … मगर मुझे तुमसे बात नहीं करनी है तुम अकेले अकेले ही मज़ा ले रही हो, तुम्हें मेरा तो कुछ ख्याल ही नहीं है. दो मिनट किस करने के बाद हम दोनों अलग हुए और टॉयलेट से निकलकर नीचे चले गए. मैं अन्तर्वासना का पाठक हूँ और अपनी सेक्स कहानी भेजने की प्रेरणा भी अन्तर्वासना को पढ़ कर ही मिली.

मेरी भाभी की बात सुनकर बंगालन भाभी बड़ी खुश हुई और मेरे लंड को लहराते हुए देख कर बंगालिन भाभी बुदबुदाती हुई बोलीं- अरे मेरे देवर राजा … काश में तेरी सगी भाभी होती. उनकी गालियां सुनकर मुझे और मेरे लंड को भी जोश आ गया और मैंने मम्मी को बेड पर चित लिटाया और लंड सहलाते हुए कहा- साली कुतिया रंडी भैन की लौड़ी तेरी चुत में बहुत खुजली मची है न मादरचोदी रंडी … आज मैं तेरी चुत के सारे कीड़े निकाल दूँगा छिनाल … ले अब अपने बेटे के लंड से चुदाई का मजा ले मां की लौड़ी साली रंडी. उसने मेरा नंबर और पता लिखा और बोला- ठीक है जाओ।मैं रूम में आकर फ्रेश हुआ और अंडरवियर बनियान उतार कर लोवर टी-शर्ट पहन कर लेट गया।तभी मेरे नंबर पर एक फोन आया; तेज़ आवाज़ में लड़की बोली- तूं राज बोल रा है?मैंने कहा- हां, आप कौन हो?वो बोली- मैं मालती।मैंने कहा- कौन मालती?वो बोली- हरियाणा पुलिस मालती धाकड़.

चुदाई की ऑडियो कहानियां

जिस कारण मैं भी न जा सका और मैंने ऑफिस में फोन करके झूठ बोल दिया कि मेरी तबियत खराब हो गयी है … तो मुझे थोड़ी और छुट्टी चाहिए. राजू बोला- साली रंडी, समझ ले अब से तेरी भी किस्मत चमक गयी है … तुझे भी जब चाहिए होगा, मेरा लंड मिल जाएगा. तो प्रस्तुत है मेरी उसी ऑफिस Xxx हिंदी कहानी का अगला भाग:यामिना को उसके घर के पास छोड़ने के बाद मैं अपने रूम पर आ गया और उसकी बेटी फ़लक की चुदाई की कल्पना करते हुए रात को सो गया.

ममता- और बता … कोई बीएफ बनाया या अभी तक अपना हाथ ही चला रही है?मैं- नहीं यार … मैं इन चक्करों में नहीं पड़ती.

जूस का गिलास मुझे पकड़ाते हुए बहार बोली- जीजू, आप जब से दिल्ली आये हो, मैं आपसे गिफ्ट पाने का इन्तजार कर रही हूँ, अब आप मना न करना.

वो भी मेरे लिप किस का भरपूर मजा ले रही थी और मेरा पूरा साथ दे रही थी. सेल्समैन ने क्या हेराफेरी की, यह तो मैं नहीं समझ पाया लेकिन इतना कन्फर्म था कि मेरी बाइक में 200 रूपये का पेट्रोल नहीं डाला गया. रक्षाबंधन बताइएमेरा दिल तो कर रहा था कि जीजा जी को पकड़ कर चूम लूं और उनसे बोल दूँ कि चढ़ जाओ मेरे ऊपर और बना दो मुझे भी सेक्सी.

करीब दस मिनट के धक्कों बाद कृति अपने दोनों पैरों से मुझे चूत में दबोचने लगी और कांपने लगी. सुम्मी अपने आपको अकेलेपन से दूर रखने के लिए रोज रोज नए बहाने ढूंढती थी. मेरे निढाल पड़ते ही वो अपनी कमर को चलाने लगा, तो मैंने उसको रुकने के लिए इशारा किया.

उन्होंने एक पल भी नहीं गंवाया और मेरा लंड सहलाकर उसको हल्के से चूमा. मैंने बिना देरी किए अपने लंड पर थूक लगाया और थोड़ा थूक अपनी उंगलियों पर लेकर मां की चूत पर लगाने लगा.

मैंने बोला- मां, मुझे आपके मम्मों का साइज पता था और मैं जानबूझकर छोटी साइज का ब्लाउज लाया हूं, ताकि आपके दूध ब्लाउज से बाहर झलकें और आप कुछ ज्यादा कामुक लगें.

फिर करीब 10:00 बजे हमारी आंख खुली तो मैंने भाभी से घर चलने के लिए कहा. ये सब देख सुन कर मैंने एक दिन पूछ लिया- क्या हुआ दी?तो दीदी फट से बोलीं- ये गुड़िया मेरे निप्पल खींचती है न … तो दर्द सा होने लगता है. मैंने काफी दिनों से लंड नहीं लिया था, तो मुझे अपनी चुत में हल्की हल्की जलन हो रही थी.

𝙬𝙬𝙬 𝙭𝙭𝙭 𝙨𝙭𝙚 ‘मेरे ऊपर चढ़ कर आप क्या करोगे?’अंकल- वो ही करूंगा, जो एक मर्द औरत के ऊपर चढ़ कर करता है. मैं पूनम के चेहरे पर थोड़ी परेशानी के भाव स्पष्ट देख सकता था, तो मैंने उनसे बात करनी शुरू कर दी- अब परेशान क्यों हो?पूनम- कई सालों के बाद लंड ले रही हूँ राहुल … कुछ मत बोलो.

अब तो अदिति बिटिया की चुदाई और सिर्फ चुदाई होगी बस!” मैंने बहू को आश्वस्त किया. इतनी देर में मेरे लंड में भी तनाव बढ़ने लगा था जिसे मामी ने अपनी गांड पर महसूस कर लिया था. दीदी की कामुक आवाजें सुनकर मुझे भी दीदी को चोदने का बहुत मन कर रहा था.

അനുഷ്ക സെക്സ്

उस दिन रात को भाभी फिर से अपनी चुत में उंगली कर रही थीं और मेरा नाम ले रही थीं. ममता- मुझे नहीं पता!अभय- अभी तो मेरा लंड कितना स्वाद ले लेकर चूस और चाट रही थीं और अब शर्मा रही है. चाची अपनी कमर उचकाने लगीं और सिसकारी लेने लगीं- आहह इस्स आह आह ओह ओहआहह.

वो भी अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े से लंड लेने लगी।उसकी चूचियों को पकड़ कर मैं मसलने लगा और दोनों तरफ से बराबर झटके पे झटके लगाने लगे।अब पूरे कमरे में चुदाई की आवाज आने लगी थी।हम दोनों भूल गए कि हम क्या हैं और कहाँ है. देसी रंडी हिना अब चुपचाप मेरी गांड चाट रही थी और उसकी बड़ी बहन नगमा मेरा लवड़ा चूसने लगी थी.

उसको पता भी नहीं चलना चाहिए कि मैं अभी तक इस तरह की ब्रा पैंटी पहनती हूँ.

मैंने कहा- ऐसा क्यों कह रही ही रागिनी … मैं तो तुम्हें काफी पसंद करने लगा हूँ. मगर मैं पूजा की प्यासी गांड को छोड़कर राजकुमारी मीना को किस करते हुए मजा लेने लगा. वो बोले- मैं किसी को भेजता हूँ। मैं तो बहुत दूर हूँ।पिता जी भी बाहर थे तो इन्होंने लड़का सुनील भेज दिया शोरूम से.

वो अपने भाई के हाथ को महसूस करके गर्मा उठी और उसकी चूत लगातार पानी छोड़े जा रही थी जिससे अभय का हाथ गीला होने लगा. दोस्तो, मैं अपनी Xxx मामी की कहानी के पहले भागगर्म मामी की गांड चाट कर चूत चुदाईमें आपको अपनी मामी की चुदाई बता रहा था. ’तो मैंने रिप्लाई किया- जब तुम मुझको पसंद ही नहीं करती हो, तो ऐसा क्यों बोल रही हो?रीना का जवाब था कि वो भी मुझको पसंद करती है, लेकिन उसको थोड़ा टाइम चाहिए.

दीदी टांगें फैला कर अपनी चुत रगड़ाई और चूची मसलाई के पूरे मज़े ले रही थीं.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो: मैंने भी जम कर ठोका उसे!कहानी के पिछले भागजवान मौसी की चूत गांड चाटीमें आपने पढ़ा कि मैंने मौसी को पूरी नंगी करके उनकी चूत गांड चाट कर उन्हें झड़वा दिया. पर औरत जबरदस्त थी, बोली- साले भड़वे … बोल तो देता … तेरे लंड में ताक़त तो है अब दिखा … मैं भी देखती हूँ भैन के लंड … तू कितना टिकता है.

अंदर आते ही फ़लक ने मुझे गुड मॉर्निंग की और हाथ मिलाने के लिए अपनी सुन्दर नाजुक उँगलियों वाली हथेली मेरी ओर कर दी. जब उनको लगा कि उनका कहीं मुँह में ना छूट जाये तो लंड को उन्होंने बाहर खींच लिया और बोले- सीधी लेट कर टाँगें उठा मेरी जान!उन्होंने अपने होंठ मेरी चूत पर टिका दिए. जब तक मेरे माल की आखिरी बूंद उसके अन्दर नहीं चली गई, मैंने अपना लंड बाहर नहीं निकाला.

आपा मैं तो यह भी सोच रहा हूँ कि यह कैसे चुदाई हुई कि मैंने आपको पूरी तरह से चोद लिया … लेकिन आपकी चुत देखी भी नहीं.

अब गांड पर मेरी जाँघों की थप थप थप थप थप की सैक्सी आवाज से पूरा कमरा गूंजने लगा।ऐसा लग रहा था कि मैं कोई घोड़ी चोद रहा हूं. ये कह कर उसने ममता का सिर लंड पर दबा दिया- चल अब तेरी बारी … लंड चूस कर ठंडा कर दे चल जल्दी से अपने भैया का लंड ले ले. अन्दर मेरी बेटी रुबिका और मुझे चोदने वाला लड़का दोनों एक दूसरे को बेतहाशा चूम और चाट रहे थे.